शनिवार, 28 मार्च 2020

संगीन धाराओं के 4 कैदी हुए फरार

राणा ओबराय


लुधियाना। ताजपुर रोड स्थित स्थानीय केंद्रीय जेल में बीती रात चार खतरनाक कैदियों के फरार होने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार यह कैदी अलग-अलग संगीन मामलों का सामना कर रहे थे। ये चारों बीती रात दीवार फांदकर फरार हो गए। घटना का पता प्रातःकाल लगा जब कैदियों की संख्या हुई तो चार कैदी कम पाए गए, जिस कारण जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। जानकारी के अनुसार अलग -अलग मामलों में जेल में बंद उक्त 4 कैदी कंबल के सहारे पहले महिला जेल में कूदे और वहां से जेल कंपलैक्स में से होते हुए फरार हो गए। जेल आधिकारियों को इस घटना की सूचना कई घंटों के बाद मिली तो उनके हाथ-पैर फूल गए। जेल अधिकारी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रहे हैं। फिलहाल पुलिस इनकी तलाश में जुटी हुई है। इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संकट को देखते पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के जस्टिस-कम-कानूनी सेवाएं अथॉरिटी पंजाब चेयमरैन आर.के. जैन के निर्देशों पर गठित समिति में अतिरिक्त सैशन जज मुनीष अरोड़ा ने सैंट्रल जेल, कुलभूषण कुमार ने ब्रोस्टल जेल व आब्जर्वेशन होम से मैजिस्ट्रेट किरण ज्योति ने कोर्ट में कैम्प लगाकर सैंट्रल जेल से 127, महिला जेल से 11 व ब्रोस्टल जेल से 17, आब्जर्वेशन होम से 1 कैदी को रिहा करने के आदेश जारी किए थे।..जिला कानूनी सेवाएं अथॉरिटी की सचिव-कम-चीफ ज्यूडीशियल मैजिस्ट्रेट प्रीति सुखीजा ने बताया कि जेलों में कैदियों की रिहाई के लिए प्रतिदिन अतिरिक्त सैशन जज द्वारा कोर्ट लगाई जाएगी जिसमें हाईकोर्ट के निर्देशानुसार अलग-अलग कैटागिरी के कैदियों के मामलों को देखकर कानूनी प्रक्रिया पूरी करके रिहा किया जाएगा। लुधियाना की जेलों से प्रतिदिन वीडियो कान्फै्रंसिंग के माध्यम से कैदियों-हवालातियों की समस्याओं को भी सुना जाएगा। इसके अतिरिक्त किसी बंदी को नि:शुल्क कानूनी सहायता या मैडीकल सुविधा की आवश्यकता है तो वह भी शीघ्र उपलब्ध करवाई जाएगी। आज रिहा होने वाले कैदियों में 7 वर्ष की सजा वाले व अन्य मामलों के चलते जेलों बंद थे।


रतन टाटाः ₹500 करोड़ की मदद

नई दिल्ली। भारत में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। देश में अबतक 873 लोग इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। जबकि 19 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में अभी इलाज के लिए वेंटिलेटर, मास्क से लेकर सैनिटाइजर तक की जरूरत है। ऐसे हालत में कई तरफ से मदद के हाथ भी उठने शुरु हो गये हैं। देश के जाने-माने उद्योगपति टाटा संस के मानद चेयरमैन रतन टाटा ने ट्वीट कर टाटा की तरफ से 500 करोड़ रुपये की सहायता की घोषणा की है। रतन टाटा ने ट्वीट कर कहा है,” इस दौड़ में COVID 19 संकट सबसे कठिन चुनौतियों में से एक है। टाटा समूह की कंपनियां हमेशा ऐसे समय में देश की जरूरत के साथ खड़ी हुई है. इस समय देश को हमारी जरूरत अधिक है।”


गौरतलब है कि अमेरिका ने भी कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने में मदद करने के मकसद से भारत समेत 64 देशों को 17.4 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त आर्थिक सहायता देने की शुक्रवार को घोषणा की थी। इस राशि में से 29 लाख डॉलर मदद के तौर पर भारत को दिए जांएगे। यह फरवरी में अमेरिका की ओर से घोषित 10 करोड़ डॉलर की मदद के अलावा है। फिलहाल घोषित की गई नयी राशि रोग नियंत्रण एवं बचाव केंद्र (सीडीसी) समेत विभिन्न विभागों एवं एजेंसियों के विशाल अमेरिकी वैश्विक प्रतिक्रिया पैकेज का हिस्सा है। यह वित्तीय मदद वैश्विक महामारी के खतरे का सामना कर रहे सबसे ज्यादा जोखिम वाले 64 देशों के लिए है।


हापुड़ बना लोगों की पदयात्रा में संजीवनी

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, राजेन्द्र कुमार 


पैदल चल रहे लोगों को लगातार संजीवनी दे रहा हापुड़ प्रशासन


सभी को सेनीटाइज करके भोजन खिला कर उनके गंतव्य को रोडवेज बसों में कर रहे रवाना


हापुड़। भारतवर्ष में चल रहे लॉक डॉन को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने पब्लिक व सरकारी ट्रांसपोर्ट के संचालन पर लगाई हुई है। जिसके चलते शहरों में काम करने वाले लोग वापस अपने गांव की तरफ सैकड़ों किलोमीटर की दूरी तय लखनऊ,रायबरेली,बिहार की रहने वाले लोग पैदल ही पलायन कर रहे हैं। लोगों को परेशानियों को देखते हुए हापुड़ एसडीएम,एएसपी, बाबूगढ़ थाना निरीक्षक ने ऐसे लोगों को सेनेटाइज करा कर उनके भोजन की व्यवस्था कराई तथा रोडवेज बसें मंगा कर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया।
 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानुसार समस्त जनपदों के जिलाधिकारी पैदल चलने वाले लोगों के लिए समुचित खाने की व्यवस्था व उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए सभी उचित व्यवस्था करा रहे हैं। इन से लोगों को परेशानी का सामना ना करना पड़े शासन प्रशासन के इस कार्य से लोग भूरी भूरी प्रशंसा कर रहे हैं।


कच्ची शराब का निर्माण, 3 गिरफ्तार

अतुल त्यागी जिला प्रभारी, मुकेश सैनी रिपोर्टर, रिंकू सैनी रिपोर्टर 


थाना बहादुरगढ़ पुलिस के हत्थे चढ़े कच्ची शराब बनाते तीन अभियुक्त 


हापुड़। बहादुरगढ़ पुलिस को मिली बड़ी सफलता लॉक डाउन के चलते कुछ लोग कच्ची शराब बनाकर अपनी चांदी काट रहे हैं। लोगों की जान की परवाह ना करते हुए यह लोग सिर्फ अपने और अपने भले में लगे हैं। थाना बहादुरगढ़ पुलिस के द्वारा तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया ग्राम सदरपुर निवासी यह तीनों अभियुक्त कच्ची शराब बनाकर लोगों को सप्लाई कर रहे थे। मुखबिर की सूचना पर उपनिरीक्षक अजहर हसन, विकास कुमार व आस मोहम्मद के द्वारा इन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया। जिनके कब्जे से 29 लीटर कच्ची शराब 88 लीटर लहन तथा शराब बनाने के उपकरण पुलिस ने बरामद किए। गिरफ्तार युवक वीरपाल पुत्र हरस्वरूप निवासी ग्राम सदरपुर थाना बहादुरगढ़ जनपद हापुड़ तथा सुंदर पुत्र वीरपाल सिंह तथा कपिल पुत्र सतपाल तीनों अभियुक्त एक ही ग्राम के रहने वाले हैं। तीनों अभियुक्तों पर पहले भी अनेकों धाराओं में मुकदमे दर्ज है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया।


दो किराना स्टोर पर ठोका जुर्माना

अतुल त्यागी जिला प्रभारी


बांट माप अधिकारी की बडी कार्यवाही दो किराना स्टोर पर ठोका जुर्माना


हापुड। लाॅकडाउन के चलते अनियमितताओं को रोकने के लिए बाट माप विभाग लगातार कार्यवाही कर रहा है शनिवार को जिलाधिकारी के निर्देश अनुसार बाट माप विभाग के वरिष्ठ निरीक्षक जेपी द्विवेदी ने मोदीनीर  रोड तथा स्वर्ग आश्रम रोड में दो किराना स्टोर पर निरीक्षण करके कार्यवाही की। जहां आटे के पैकेट पर निर्धारित मूल्य से अधिक रुपए में ग्राहक को बेच रहे थे। जबकि पैकेट पर मूल्य वजन तथा पैकिंग तिथि भी अंकित नहीं थी। इस पर अधिकारी ने तुरंत पैकेट को जप्त कर के पैकिंग करने वाली फर्म पर पैकेज्ड कमोडिटी नियम के तहत मौके पर ही चालान किया और भारी समन शुल्क भी लगाया। निरीक्षक अधिकारी ने बताया कि प्रशासन व विभाग द्वारा दुकानदारों को लगातार चेतावनी दी जा रही है। लेकिन फिर भी कुछ लोग कालाबाजारी व अधिक मुनाफाखोरी करने से बाज नहीं आ रहे। ऐसे समय में लोगों को एक दूसरे की मदद करनी चाहिए लेकिन कुछ लोग ऐसी स्थिति में लोगों की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। जिसको लेकर प्रशासन काफी सतर्क है। ऐसे विक्रेताओं के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की गई है और आगे भी की जाएगी।


उत्तराखंड रोडवेज बस हुई हादसा ग्रस्त

देहरादून। सहारनपुर की ओर आ रही उत्तराखंड रोडवेज की एक अनुबंधित बस संख्या Uk 07PA 4066 मोहण्ड के जंगल में अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई जिससे बस में सवार करीब एक दर्जन से अधिक यात्रियों को गम्भीर चोट लगी है जिनमें तीन की हालत अत्यंत गंभीर बताई जा रही है। बिहारीगढ़ थानाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह के मुताबिक उत्तराखंड रोडवेज की अनुबंधित बस देहरादून से लगभग 20 सवारी लेकर सहारनपुर जा रही थी रास्ते में किसी वाहन को ओवरटेक करते हुए अनियंत्रित होकर बस पेड़ से जा टकराई जिससे काफी लोगों को गंभीर चोट लगी है सभी घायलों को तुरंत सीएचसी फतेहपुर भिजवा दिया गया पुलिस जांच एवं कार्रवाई में जुटी हुई है।


तमिलनाडु में बच्चे सहित 3 की मौत

कन्याकुमारी। देशभर में मौतों की संख्या में इजाफा हो रहा है। तमिलनाडु में शनिवार को कोरोना आइसोलेशन वार्ड में भर्ती तीन लोगों की मौत हो गई। यह वार्ड कन्याकुमारी में है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य सचिव आईएएस डॉ. बीला राजेश ने कहा, ‘सभी तीन रोगियों की और भी मेडिकल हिस्ट्री थी।


हम उनके कोविड -19 के टेस्ट्स के रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार मृतकों में 2 वयस्कों समेत एक 2 साल का बच्चा भी था। जानकारी के अनुसार 66 वर्षीय मृतक की मेडिकल हिस्ट्री में पाया गया कि वह किडनी और लिम्फोमा की बीमारी से जूझ रहे थे। वहीं 24 वर्षीय शख्स निमोनिया से पीड़ित था, जबकि 2 वर्षीय बच्चा ओस्टियोपेट्रोसिस से पीड़ित था। तमिलनाडु में शनिवार को दो और लोग कोरोना वायरस से संक्रमित इस बीच राज्य में शनिवार को दो और लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। इसके साथ ही राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 40 हो गई है। दोनों व्यक्ति हाल ही में विदेश से लौटे थे. कुंभकोणम निवासी 42 वर्षीय व्यक्ति वेस्टइंडीज से यहां लौटा था, जबकि 49 वर्षीय दूसरा शख्स ब्रिटेन से लौटा था। कुंभकोणम निवासी का तंजावुर सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज चल रहा है और दूसरे शख्स का वेल्लोर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, तमिलनाडु ने अपने टि्वटर हैंडल पर कहा कि दोनों व्यक्ति पश्चिम एशिया से गुजरे थे।


पूर्वी तट से टकराया बुलबुल चक्रवात

कोलकाता। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात बुलबुल के पश्चिम बंगाल के तट से टकरा गया हैं। तूफान के चलते कोलकाता हवाई अड्डे को अगले 12 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है। इस चक्रवाती तूफान को बहुत खतरनाक माना जा रहा है। इससे पहले ही राज्य में भारी बारिश और तेज हवाओं का सिलसिला शुरू हो गया है।


मौसम विभाग की ओर से मुहैया कराई गई जानकारी के अनुसार रविवार रात 00.30 बजे बुलबुल तूफान का दबाव, सुंदरबन नेशनल पार्क से 30 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की ओर राज्य के तटीय इलाकों के ऊपर है। माना जा रहा है कि रविवार सुबह तक यह तूफान दक्षिण 24 परगना जिले के आगे बांग्लादेश के उत्तर पूर्व में मुड़ जाएगा। यहां तूफान कमजोर पड़ सकता है। रविवार रात 12 बजे के बाद तूफान के कट से टकराने की प्रक्रिया शुरू हुई जिसके उत्तर पूर्वी क्षेत्र की ओर बढ़ने की बहुत संभावना है। तूफान शनिवार की रात 11 बजे के बाद पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप और पड़ोसी देश बांग्लादेश के खेपूपारा से टकराने की संभावना है। इन सबके बीच राज्य की सीएम ममता बनर्जी कंट्रोल रूम पहुंचीं जहां से हालात पर नजर रखी जा रही है।


किर्गिस्तान में 500 छात्र, पीएम को पत्र

पंकज


रायपुर। छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने प्रधानमंत्री को पत्र भेजकर किर्गिस्तान में फँसे छत्तीसगढ़ के 500 मेडिकल छात्रंो को भारत वापस लाने का अनुरोध किया है /भगत ने प्रधानमंत्री को भेजे गए अपने पत्र में लिखा है कि किग्रिस्तान मेडिकल कालेज में छत्तीसगढ़ राज्य के लगभग 500 छात्र-छात्राएं मेडिकल कालेज में अध्ययनरत हैं । दुनियाभर में लगातार कोरोना वायरस कोविड-19 कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए वहां पर अध्ययनरत छत्तीसगढ़ के लगभग 500 छात्र-छात्राएं वापस आना चाहते हैं । अत किग्रिस्तान मेडिकल कालेज में अध्ययनरत छत्तीसगढ़ राज्य के सभी छात्रों को भारत वापस लाने के लिए समुचित कार्यवाही करने का आग्रह किया है । पत्र के साथ छात्रों की सूची भी संलग्न भेजा गया है ।


भगत ने बताया कि किर्गिस्तान मेडिकल कालेज में छत्तीसगढ़ के अध्ययनरत छात्रों में बलरामपुर विधायक बृहस्पत सिंह का पुत्र भी शामिल है। भगत ने वीडियो कॉल के माध्यम से छात्रों से बात करके उनका हाल जाना, उन्हें ढांढस बँधाया और उन्हें बताया कि वे छात्रों को वापस लाने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में मंत्री अमरजीत भगत ने पीएमओ और विदेश मंत्रालय में भी बात की ।


पुलिस से मारपीट,15 के खिलाफ केस

बृज बिहारी दुबे


संभल। भारत में कोराना वायरस के लगातार बढ़ रहे खतरे को देखते हुए इन दिनों पूरा देश लॉकडाउन कर दिया गया है। यूपी के संभल ज़िले के एक गांव में एक दुकान पर लोगों को इकट्ठा होने से मना करने पर पुलिस के सिपाहियों के साथ कथित तौर पर मारपीट की गई जिससे एक सिपाही घायल हो गया। घटना सामने आने के बाद पुलिस ने सात नामजद और आठ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है।
15 लोगों के खिलाफ केस दर्ज
बहजोई के कोतवाल रविन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि शुक्रवार को क्षेत्र के चितनपुर गांव में लॉकडाउन की व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो सिपाही विनय कुमार और आदेश कुमार ड्यूटी पर तैनात थे। एक दुकान पर भीड़ जुटी देख सिपाहियों ने लोगों को इकट्ठा होने से मना किया। सिंह के अनुसार, कुछ लोगों ने इसका विरोध किया जिसके बाद उनके और सिपाहियों के बीच कहा सुनी हो गई। इस बीच, ग्रामीणों ने सिपाहियों पर कथित तौर पर हमला कर दिया जिसमे एक सिपाही विनय कुमार घायल हो गया। उन्होंने बताया कि विनय कुमार को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया। सिंह ने बताया कि इस मामले में आरिफ, यासीन सहित सात नामजद और आठ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
यूपी में संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 50
उत्तर प्रदेश में 7 और नए मामले आने के बाद अब तक 50 मरीज कोरोना से संक्रमित (50 Patient COVID-19 Positive) पाए गए हैं। यूपी के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। सात नए मामलों में नोएडा में 4, गाजियाबाद में 2 और आगरा में एक नए मामले सामने आए हैं।


हरियाणा सीएम से बीमा कवर की मांग

हरियाणा प्रैस क्लब रजि ने की मुख्यमंत्री हरियाणा से की कोरोना कवरेज करने वाले पत्रकारों व छायाकारों को बीमा कवर देने की मांग
अम्बाला। सरकार ने स्वास्थ्य सेवा में लगे कर्मियों को 50 लाख व 20 लाख का कवर देने की घोषणा की है। हरियाणा प्रैस क्लब रजि ने वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए की एक मीटिंग में यह निर्णय किया कि माननीय मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर को कोरोना मिशन की कवरेज कर रहे पत्रकारों व छायाकारों को भी बीमा कवर देने हेतु ज्ञापन दिया जाए। इसको लेकर आज अम्बाला उपायुक्त कार्यालय में हरियाणा प्रैस क्लब के सदस्य जिला प्रधान प्रदीप मसीह के नेतृत्व में पहुंचे व ज्ञापन दिया। इस अवसर पर शहर अध्यक्ष स्वर्ण सिंह, प्रभारी पूर्ण सैनी, सिटी मीडिया मुख्य संपादक नरिंदर सिंह भाटिया, संजय सैनी, राकेश काका, गुलशन गुलाटी मौजूद रहे।


गरीब लोगों की मदद, पहुंचाया राशन

दिहाड़ी मजदूरी वाले लोगो के घर पहुँचाया राशन


क्षेत्रधिकारी राजकुमार पांडे ने भी करी गरीब लोगों की मदद,पहुँचाया राशन


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद/लोनी। कोरोना वायरस के चलते देश में पूरी तरह से लागू लाॅक डाउन है ऐसे में खासतौर से वह लोग ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। जो कि रोजाना कमाने वाले रोजाना खाने वाले होते हैं। हालांकि सरकार द्वारा भी गरीब लोगों को हर तरह की मदद के लिए घोषणा की गई है। क्षेत्र में कई सामाजिक संगठन भी इस कार्य में लगे हुए है। कि जरूरतमंद लोगों को उनकी आवश्यकता अनुसार राशन मुहैया करा दिया जाए। वहीं पुलिस प्रशासन भी इस पूरे मामले में मुस्तैद नजर आ रहा है ।


लोनी कोतवाली के प्रभारी बिजेंद्र सिंह भड़ाना* उस क्षेत्र में रहने वाले ऐसे 20 मजदूरों के परिवार को राशन मुहैया कराया गया। जिनके पास ना तो पैसे थे और ना ही उनके पास खाने का राशन था। इसकी जानकारी कोतवाली प्रभारी को मिली तो उन्होंने  मानवता का परिचय देते हुए स्वयं मौके पर जाकर 20 परिवारों को राशन मुहैया कराया। लोनी कोतवाली के प्रभारी बिजेंद्र भड़ाना ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी। कि कोतवाली क्षेत्र के टोली मोहल्ला एवं लोनी तिराहे के पास कुछ ऐसे मजदूर अपने परिवार के साथ रहते हैं ।जो दिहाड़ी मजदूर करते हैं और इन परिवारों के मुखिया रोजाना काम धंधा कर अपने परिवार का पालन करते हैं। लेकिन अब लॉक डाउन के चलते उनका काम धंधा बिल्कुल चौपट हो गया है और अब उनके पास ना ही तो खाने के लिए पैसे हैं और न ही उनके पास अब राशन है। जैसे ही उन्हें यह सूचना मिली तो उन्होंने ऐसे सभी लोगों की लिस्ट बनाई जिनमें 20 परिवार ऐसे पाए गए जिनके पास राशन नहीं था। उन्होंने तत्काल प्रभाव से सभी 20 परिवारों को स्वयं मौके पर जाकर राशन मुहैया कराया। जिसके बाद उन 20 परिवारों के द्वारा बेहद राहत महसूस की गई। 
क्षेत्रधिकारी राजकुमार पांडे ने बताया कि वह आगे भी इस बात का ख्याल रखेंगे ,कि इन परिवारों को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो । इसके अलावा और भी इस क्षेत्र में ऐसे परिवारों की जानकारी करेंगे जो बेहद जरूरतमंद है और उनकी वह भरपूर मदद करेंगे।उधर पुलिस द्वारा किए गए इस कार्य की स्थानीय लोग जमकर सराहना कर रहे हैं।


भोजन, दूध-दवा न मिलने पर करें फोन

सौरभ शुक्ला


लखनऊ। विधि एवं कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि ऐसी सूचनाएं आ रही हैं कि रोज कमाई करने वाले कई भाई-बहनों को राशन-भोजन की दिक्कत है। अपने क्षेत्र के ऐसे लोगों की मदद के लिए 24 घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम शुरू किया है। मंत्री के घर पर खुला यह कंट्रोलरूम चौबीस घंटे चालू रहेगा। इसमें मंत्री बृजेश पाठक और उनके निजी सचिव एक रोटेशन के तहत लगातार समय सुनने के लिए मौजूद रहेंगे। कंट्रोल रूम में शिकायत सुनने के लिए एक रजिस्टर भी रखा गया है जिसमे शिकायत सुनने वाला शिकायतकर्ता का नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज करेगा। यह जानकारी वह अधिकारियों को देकर उनसे तुरंत मदद करने को करके उनसे सरकारी मदद के बारे में फीडबैक लेंगे।


27 मार्च को 50 से अधिक लोगों ने मंत्री के कंट्रोल रूम पर फोन करके उनसे मदद मांगी थी। इनमें से कई वो लोग थे जो दूसरे जिलों में रह रहे हैँ और लखनऊ में फंस गए हैं. ऐसे लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए मंत्री ने संबंधित अधिकारियों से व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। पाठक कहते है, “भोजन, बच्चों के दूध और दवा की समस्या को लेकर भी मध्य विधानसभा क्षेत्र के निवासी फोन कर सकते हैं। इसे प्रशासन की तरफ से या फिर स्वयं से उपलब्ध कराऊंगा।


कंट्रोल रूम के लिए दो नंबर 0522- 2239999 व 7007842947 दिए गए हैं। जिसे भी भोजन, दवा और बच्चों के लिए दूध की समस्या हो वह इन नंबर पर फोन कर सकता है।


हादसे में एसआई की मौत, ईटीओ गंभीर

दीपक सैनी


जालंधर। जालंधर-अमृतसर हाईवे पर स्थित लम्मा पिंड चौक और चौगिट्टी फ्लाईओवर पर 2 दर्दनाक हादसों का समाचार प्राप्त हुआ है। Curfew डयूटी पर अमृतसर से जालंधर GST भवन में तैनात ETO चेकिंग करने जा रहे रणधीर सिंह की हौंडा सिटी गाड़ी बिजली के खम्भे से टकरा कर दुर्घटना ग्रस्त हो गई और ETO गम्भीर घायल हो गया, जिसे निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया। दूसरा हादसा चौगिट्टी फ्लाईओवर पर हुआ यहां बारिश के पानी की वजह से स्विफ्ट गाड़ी बेकाबू होकर दुर्घटना ग्रस्त हो गई। इस हादसे में लुधियाना CURFEW डयूटी पर जा रहे ASI की मौत हो गई। मृतक की पहचान रिचर्ड मसीह निवासी अमृतसर के रूप में बताई जा रही है। घटनाओं की सूचना मिलते ही थाना रामामंडी की पुलिस ने मौके पर पहुंच जांच शुरू की।


कोरोना की लड़ाई में आर्थिक मदद करें

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में करें आर्थिक सहयोग : नरेंद्र मोदी
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना के 149 मामले सामने आने के साथ ही देश में अब कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 873 हो गई है। लेकिन, देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ पहले ही जंग छेड़ दी है। पूरे देश में लॉक डाउन लागू है। ऐसे में पीएम मोदी ने देशवासियों से कोरोना वायरस के खिलाफ इस जंग में आर्थिक सहयोग देने की अपील की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, "PM-CARES फंड सूक्ष्म दान को भी स्वीकार करता है। यह आपदा प्रबंधन क्षमताओं को मजबूत करेगा और नागरिकों की सुरक्षा पर अनुसंधान को प्रोत्साहित करेगा। आइए हम अपनी भावी पीढ़ियों के लिए भारत को स्वस्थ और अधिक समृद्ध बनाने में कोई कसर न छोड़ें।" इसके साथ ही इस ट्वीट में पीएम मोदी ने PM-CARES की बैंक डिटेल्ट भी जारी की, जिमें लोग अपनी ओर को आर्थिक योग दान दे सकते हैं


24 घंटे में 345 की मौत, 1 लाख संक्रमित

वाशिंगटन। दुनिया भर में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। कोरोना वायरस से दुनियाभर के देशों की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है। अमेरिका में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की चपेट में आकर 345 लोगों की मौत हो गई है, जबकि यहां 18000 नए मामले सामने आए हैं। दुनिया में अब तक पांच लाख से अधिक कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। अमेरिका, इटली, स्पेन, फ्रांस, चीन आदि जैसे देश वायरस के संक्रमण से सबसे ज्यादा पीड़ित हैं। भारत में भी कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। बता दें कि अमेरिका में कोरोना से संक्रमित कुल मरीजों की संख्या 1,00,000 पार कर गई है।


अमेरिका ने कोरोना केस के मामले में चीन, इटली और स्पेन को पीछे छोड़ दिया है। मिली जानकारी के अऩुसार अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 18,000 कोरोना वायरस के नए मामलों की पुष्टि हुई है। जबकि यहां 345 लोगों की मौत 24 घंटे में हुई है। अमेरिका अब कोरोना से प्रभावित दुनिया का सबसे बड़ा देश है। अमेरिका में अब इटली से 15,000 और चीन से 20,000 हजार ज्यादा मामले हैं। हालांकि इटली के मुकाबले अमेरिका में मृत्यु दर कम है।


इटलीः 24 घंटे में 669 लोगों की मौत

रोम। इटली के डॉक्टर एसोसिएशन ने शुक्रवार शाम बताया कि कोरोना संक्रमण से अब तक 51 डॉक्टरों की भी मौत हुई है। सीएनएन के मुताबिक, गुरुवार से शुक्रवार के बीच यहां 969 लोगों की मौत हुई। कुल मौतों का आंकड़ा 9,134 हो चुका है। सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी के मुताबिक, गुरुवार को 4,401 नए मामले सामने आए।न्यूयॉर्क : 512 पुलिसकर्मी संक्रमित
वॉशिंगटन. दुनिया के सभी 195 देश कोरोनावायरस की चपेट में हैं। 5 लाख 85 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। 26 हजार 826 लोगों की मौत हो चुकी है। एक लाख 31 हजार से ज्यादा मरीज ठीक भी हुए हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन शुक्रवार को कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए। कुछ देर बाद ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैन्कॉक ने भी खुद के संक्रमित होने की जानकारी दी। इससे पहले, गुरुवार को प्रिंस चार्ल्स में भी संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इटली में गुरुवार से शुक्रवार के बीच 969 लोगों की मौत हुई। 51 डॉक्टर भी जान गंवा चुके हैं। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अमेरिका में बीते 24 घंटे में कोरोनावायरस के 18 हजार नए मामले सामने आए हैं।


न्यूयॉर्क पुलिस के एक सीनियर अफसर ने सीएनएन को बताया कि 512 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हालांकि, आधिकारिक तौर पर ये संख्या 161 ही बताई गई है। मोदी ने जॉनसन से कहा- आप योद्धा, इस चुनौती को भी मात देंगे
ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन के कोरोना संक्रमित होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट किया। ब्रिटिश पीएम को टैग करते हुए मोदी ने लिखा, “डियर पीएम जॉनसन, आप एक योद्धा हैं। आप इस चुनौती पर भी जीत दर्ज करेंगे। इस मुश्किल से बाहर निकलेंगे। ” प्रधानमंत्री ने जॉनसन के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की। इसके लिए उन्हें अग्रिम शुभकामनाएं भी दीं। ब्रिटेन के अलावा स्पेन में भी संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। यहां 64 हजार 59 लोग संक्रमित हैं और 4 हजार 900 मौतें हो चुकी हैं। पिछले 24 घंटे में संक्रमण की वजह से 769 लोगों की मौत हुई है।


फल, साग-सब्जी मंडी तक पहुंचने दे

मंडी तक पहुंचने वाले किसानों को ना रोके पुलिस--सांसद


सांसद ने कहा कि जनसामान्य के आवश्यकताओं के समान की कमी न होने पाए और आम जनता को उनकी जरूरत का सामान बराबर आसानी से उपलब्ध कराया जाता रहे


कौशाम्बी। कोरोनावायरस के संभावित प्रकोप को लेकर केंद्र सरकार द्वारा 21 दिन का लॉक डाउन घोषित किया जाने के बाद आम जनता के बीच उपयोगी सामानों की कमी न होने पाए इसके लिए आज कौशाम्बी सांसद विनोद सोनकर ने मुंडेरा स्थित फल सब्जी मंडी समिति का निरीक्षण किया और मंडी समिति के सचिव से वार्ता की साथ ही साथ सांसद कौशाम्बी विनोद सोनकर ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक कौशाम्बी से वार्ता करके उन्होंने कहा कि मंडी में सामान ले जाने वाले किसानों को ना रोका जाए जिससे जन सामान्य की उपयोगिता की वस्तुओं की कमी न होने पाए 


अधिकारियों से वार्ता करते हुए सांसद विनोद सोनकर ने कहा कि नियम बनाकर किसानों को मंडी सामान ले जाने की अनुमति दी जाए साथ ही किसानों को समान ले जाने के संसाधनों को भी उन्हें उपलब्ध कराया जाए जिससे जनसामान्य के आवश्यकताओं के समान की कमी न होने पाए और आम जनता को उनकी जरूरत का सामान बराबर आसानी से उपलब्ध कराया जाता रहे।


सुशील केसरवानी


व्यापारी बंधुओं ने प्रशासन को सौंपी मदद

कलेक्ट्रेट पहुँच कर ब्यापारी बंधुओ ने सौंपी मदद की रकम


कोरोना सम्भावित पीड़ितों की मदद के लिए बाबा टीवीएस के मालिकानों ने निजी कोष से दिया दो लाख की चेक


कौशाम्बी। कोरोनावायरस से संभावित पीड़ितों की मदद के लिए दो लाख रुपये की रकम दिए जाने की घोषणा के बाद आज व्यापारी बंधु कलेक्ट्रेट पहुंचे और मदद की दो लाख रुपये की रकम प्रशासन को सौंप दी है। जिले के भरवारी कस्बे में बाबा टीवीएस बाइक के एकमात्र ऐसे व्यवसाई हैं जिन्होंने कोरोना वायरस के संभावित पीड़ितों की मदद लोगों को वायरस से बचाव के लिए अपनी निजी गाढ़ी कमाई से दो लाख की रकम देने की घोषणा की थी। 
बाबा टीवीएस के मालिकानों के इस पहल की लोगों ने खुले मन से सराहना की है। 


जानकारी के मुताबिक नगर पालिका परिषद भरवारी के बाबा चौराहे पर बाबा टीवीएस एजेंसी है और इस एजेंसी के मालिक परसरा गांव निवासी लाल जी केसरवानी के पुत्र अमित केसरवानी उर्फ गुड्डू और कपिल केसरवानी उर्फ पिंटू हैं। पूरे विश्व में कोरोनावायरस की महामारी को लेकर लोग परेशान चिंतित हैं और इस वैश्विक मुसीबत में बाबा टीवीएस के मालिकानो ने पीड़ितों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है। दो दिन पूर्ब ही उन्होंने रकम देने की घोषणा की थी आज यह रकम कलेक्ट्रेट पहुँच कर उन्होंने प्रशासन को सौप दी है यह जिले के ऐसे पहले व्यापारी हैं जिन्होंने अपनी गाढ़ी कमाई का निजी कोष से दो लाख रुपये की रकम कोरोना वायरस के संभावित पीड़ितों की मदद के लिए सौंप दिया है। दो लाख रुपये की सहायता राशि की रकम सौपते हुए बाबा टीवीएस के मालिकानों ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो वह और सहयोग देने के लिए हमेशा तैयार है।


बाबा टीवीएस के मालिकानों की यह पहल दूसरे लोगों के लिए प्रेरणा बनेगी और बाबा टीवीएस द्वारा दी गयी दो लाख रुपये की सहायता राशि से कोरोना वायरस के संभावित पीड़ितों की मदद में प्रशासन को ताकत मिलेगी। बाबा टीवीएस के मालिकान अमित केसरवानी उर्फ गुड्डू और कपिल केसरवानी उर्फ पिंटू द्वारा प्रशासन को दो लाख की रकम कोरोना वायरस के संभावित पीड़ितों की मदद के लिए दिए जाने पर बैजनाथ केशरवानी सुभाष केशरवानी गुलाम हुसैन महेन्द्र केशरवानी मनीष जायसवाल संजीव सोनकर पंकज जायसवाल सहित जनपद के तमाम व्यापारियों ने खुले मन से इन ब्यापारी बंधुओं की प्रशंसा की है और कहा कि  इन व्यापारियों ने समाज हित में जो कार्य किया है। उसकी जितनी सराहना की जाए उतनी कम है।


सुशील केसरवानी


आपत्ति काल में बड़ा अंधेरे का साम्राज्य

आपत्ति काल में अंधेरे से जूझ रहा है ग्राम सभा चक थांभा का मजरा सेवकूपुर


कौशाम्बी। मंझनपुर तहसील के ग्राम सेवकूपुर के ग्रामीण अधिशासी अभियंता बिधुत कौशांबी से ग्रामीणों ने बात करके पूरी जानकारी से अवगत हुए उन्होंने ग्रामीणों को आश्वासन भी दिए ग्राम सेवकूपुर आपत्ति काल में अंधेरे से जूझ रहा है


 गांव के कुछ विशेष लोगो के यहां 20 घंटे की सप्लाई जा रही है जो कि दूसरा फीडर है और गांव की सप्लाई 10 घंटे से है। बस गांव की जनता में त्राहि-त्राहि मची हुई है कोरोना से कैसे गांव के लोग बचेंगे पानी पीने के लिए तरस रहे हैं भोजन की बात छोड़िए बिजली विभाग से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा है। आज अभी तक गांव के लोगो को शाम 5:00 बजे से सुबह 8:00 बजे तक अंधेरे में ही रहना पड़ता है जिससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश है।


शशि भूषण सिंह उर्फ बब्बू पटेल


कौशांबी सांसद ने दिए डेढ़ करोड़, वेतन

कोरोनावायरस से निपटने को फिर सांसद ने दिया एक करोड़


एक माह का वेतन और सांसद निधि से पचास लाख पहले भी दे चुके है कौशाम्बी सांसद



कौशांबी। पूरे विश्व में कोरोनावायरस की महामारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है इससे भारत के साथ-साथ पूरा विश्व चिंतित है कोरोना वायरस की इस गम्भीर महामारी को तोड़ने की कोशिश पूरा देश कर रहा है इसमें सरकार के साथ-साथ आम जनता का भी भरपूर सहयोग व्यवस्था को मिल रहा है। कौशाम्बी सांसद विनोद सोनकर ने तीस लाख रुपये कौशाम्बी जिला अधिकारी को और बीस लाख रुपये प्रतापगढ़ जिला अधिकारी को कोरोना वायरस से निपटने के लिए सांसद निधि से पहले ही दे दिया है। कौशाम्बी सांसद विनोद सोनकर ने दुबारा फिर सांसद निधि से एक करोड़ रुपये जिलाधिकारी को सौंपा है उन्होंने कहा कि इस गम्भीर महामारी से निपटने की चुनौती है और संपूर्ण तरीके से समाप्त किया ही जाएगा इसके लिए जहाँ भी जरूरत पड़ेगी वह हमेशा जनता के हित मे खड़े मिलेंगे उन्होंने कहा कि जहां भी जरूरत हो वह सरकार और प्रशासन के साथ खड़े रहेंगे उन्होंने कहा कि उनकी निधि से दिए जा रहे रुपए का उपयोग कोरोना वायरस के संभावित पीड़ितों की मदद और कोरोना वायरस की रोक थाम में खर्च किए जाए।


राजकुमार


पत्रकारों को ₹6000 माह पेंशन

सीएम नीतीश ने दी बड़ी सौगात, बिहार के पत्रकारों को आज से हर महीने मिलेगा 6000 का पेंशन



पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के पत्रकारों को बड़ी सौगात दी है। सीएम नीतीश ने शुक्रवार को पत्रकार सम्मान पेंशन योजना को शुभारंभ किया। इसके तहत पेंशन के रूप में पत्रकारों को प्रति माह छह हजार रुपए मिलेंगे। पेंशन 2019 के 14 नवंबर से प्रभावी की गयी है। पेंशन पाने वाले पत्रकारों को राशि का भुगतान एरियर के साथ होगा।फिलहाल फरवरी तक की पेंशन राशि खाते में स्थानांतरित कर दी गई है। जिन पत्रकारों के पेंशन की स्वीकृति मार्च से दी गयी है उनके खाते में पेंशन की राशि अगले महीने स्वीकृति के एक माह पूरा होने पर जाएगी।पेंशन की राशि अंतरित किए जाने के मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय. कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, मुख्य सचिव दीपक कुमार, डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव  अनुपम कुमार वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।


7 वर्ष से कम सजा, पैरोल पर रिहा

हल्द्वानी। वैश्विक संकट कोरोना वायरस के संक्रमण से देश के कारागारों मे निरूद्व कैदियों का इस वायरस से संक्र्रमित होेने से बचाव के लिए माननीय सर्वाेच्च उच्च न्यायालय द्वारा पहल की गई है। जानकारी देते हुये सिविल जज सीनियर डिवीजन इमरान मो0 खान ने बताया कि इस सन्दर्भ मे माननीय उच्च न्यायालय उत्तराखण्ड द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए है। इस क्रम में जिला जज/सदस्य सचिव उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण उच्च न्यायालय डा0 जे.के. शर्मा ने बताया कि सात वर्ष या उससे कम सजा काट चुके कैदियों को पैरोल पर रिहा करने को लेकर उत्तराखण्ड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश ने राज्य मे एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया था। इसमें न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया, उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यपालक अध्यक्ष, प्रमुख सचिव गृह, महानिदेशक कारागार को इस कमेटी के सदस्य बनाये गये हैं। सर्वाेच्च न्यायालय की ओर से गठित उच्च स्तरीय समिति द्वारा लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुये उन्होने बताया कि पैरोल या अन्तरिम जमानत का प्रार्थना पत्र जेल प्रशासन की ओर से राज्य सरकार या सम्बन्धित न्यायालयों को भेजे जायेंगे। यह फार्म आॅनलाइन भरे जायेंगे ताकि न्यायालयों तथा शासकीय कार्यालयों मे भीड-भाड न हो। जिला न्यायाधीश की ओर से लाभान्वित कैदियों के माध्यम से जमानत प्रार्थना पत्रों की आॅनलाइन सुनवाई के लिए व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। सजायाप्ता और विचाराधीन कैदियों को पैरोल पर अन्तरिम जमानत उनके व्यक्तिगत बाॅंड पर बिना किसी बंधपत्र के दें ताकि सोशल डिस्टैनसिंग नीति का पालन किया जा सके। उन्होने बताया कि जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पैरोल पर रिहा होने वाले कैदियों को कारागार से उनके घर तक पहुचाने की व्यवस्था करेंगे। इससे सरकार की ओर से लाकडाउन और सोशल डिस्टैनसिंग की नीति का अनुपालन किया जा सके। जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारी पैरोल पर रिहा होने वाले कैदियों की पूर्ण चिकित्सकीय जांच करेें।


दिल्ली ना छोड़े, कोई कमी नहींः एके

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बीच दिल्ली समेत देश के कई स्थानों से प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है। दिल्ली से मजदूरों के पलायन पर के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपील की है कि जो जहां हैं, वहीं रहें। केजरीवाल ने सभी तरह के इंतजामों का भरोसा दिलाते हुए कहा कि इंतजामों की कमी नहीं है, साथ ही और इंतजाम कर रहे हैं। स्कूल में नाइट शेल्टर बनाए जा रहे हैं, जहां खाने पीने का पूरा इंतजाम है।


उन्होंने कहा लोगों से निवेदन है कि वो घर न जाएं। 1000 दुकानों में राशन पहुंच गया है और 7.5 प्रति किलो प्रति व्यक्ति राशन 71 लाख लोगों को मिलेगा। अगर इतनी बड़ी संख्या में शहर छोड़कर जाएंगे तो कोरोना के मामलों में तेज़ी आएगी।


जहां है वहीं रहे, रखेंगे ख्यालः योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न राज्यों में कार्यरत श्रमिकों से लाॅकडाउन अवधि में अपनी आजीविका वाले स्थान पर बने रहने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि सरकार उनकी दिक्कतों के समाधान के लिये संबधित राज्यों के संपर्क में बनी हुयी है।मुख्यमंत्री योगी ने शनिवार को कहा कि कोरोना वायरस एक संक्रामक बीमारी है। इसके मद्देनजर लाॅकडाउन के दौरान श्रमिकों की यात्रा उनके तथा उनके परिवार समेत अन्य सम्बन्धियों तथा गृह जिले के लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा को जोखिम में डाल सकती है।


उन्होंने अन्य राज्यों में निवासरत प्रदेश के श्रमिकों से अनुरोध किया है कि वे केन्द्र सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए अपने निवास के वर्तमान राज्य में लाॅक डाउन को सफल बनाने के लिए स्थानीय प्रशासन का सहयोग करें। राज्य सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है कि विभिन्न प्रदेशों में रह रहे उत्तर प्रदेश के लोगों को किसी असुविधा का सामना न करना पड़े।


मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर उनके राज्यों में प्रदेश के निवासियों को सभी व्यवस्थाएं यथा स्थान उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि कहा कि विभिन्न प्रदेशों में रह रहे उत्तर प्रदेशवासियों की दिक्कतों का समाधान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा वरिष्ठ प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की नोडल अधिकारियों के रूप में तैनात किया गया है।


यह नोडल अधिकारी सम्बन्धित प्रदेशों में निवास कर रहे उत्तर प्रदेशवासियों की भोजन, निवास जैसी आवश्यक जरूरतों से जुड़ी समस्याओं का स्थानीय राज्य सरकार व प्रशासन से संवाद कर समाधान कराएंगे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न प्रदेशों के लिए वरिष्ठ प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की नोडल अधिकारियों के रूप में तैनाती का सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। उन्होंने अवशेष राज्यों के लिए भी नोडल अधिकारियों की तैनाती कर उनके फोन नम्बर सार्वजनिक करने के निर्देश दिये।


उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी सम्बन्धित राज्यों में रह रहे प्रदेशवासियों को लाॅकडाउन की अवधि के दौरान वहीं रुकने के लिए प्रोत्साहित करें। नोडल अधिकारी सम्बन्धित राज्यों में निवास कर रहे उत्तर प्रदेश के लोगों की भोजन, निवास जैसी आवश्यक जरूरतों से जुड़ी समस्याओं का समाधान राज्य सरकार व प्रशासन से संवाद करके करें।


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन जैसी जरूरी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए जिला प्रशासन पास जारी करें। उन्होंने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य की अध्यक्षता में गठित कमेटी को निर्देश दिये कि कोविड-19 से बचाव व उपचार से सम्बन्धित सामानों की आवश्यकतानुसार खरीद सुनिश्चित करें। नोएडा में कोरोना पाॅजिटिव मामलों की संख्या सर्वाधिक है। नोएडा और गाजियाबाद में स्वास्थ्य और स्वच्छता आदि सुविधाओं को और सुदृढ़ किया जाए।


सीएम योगी ने कहा कि राजकीय कर्मियों व पेंशनरों को उनके वेतन व पेंशन का भुगतान कराया जाए। वृद्ध, निराश्रित महिला व दिव्यांगजन को दी जाने वाली पेंशन का भुगतान भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अपर मुख्य सचिव गृह की अध्यक्षता में गठित कमेटी को जमाखोरी, कालाबाजारी, मुनाफाखोरी रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने, अपर मुख्य सचिव राजस्व की अध्यक्षता की कमेटी को जल्द कंट्रोल रूम स्थापित कर सूचनाओं का आदान-प्रदान सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये।


अपर मुख्य सचिव वित्त की अध्यक्षता में गठित कमेटी को योगी ने ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ का शीघ्रता से क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने, प्रमुख सचिव पंचायतीराज व ग्राम्य विकास की अध्यक्षता में गठित कमेटी को स्वच्छता गतिविधियों में तेजी लाने, प्रमुख सचिव पशुपालन की अध्यक्षता में गठित कमेटी को पशुओं के चारे की व्यवस्था को सुचारु बनाने तथा आवश्यक दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराने, प्रमुख सचिव कृषि की अध्यक्षता में गठित कमेटी को गेहूं आदि फसलों के प्रोक्योरमेंट की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये।


भाजपा सांसद-विधायक दान करेंगे वेतन

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की रोकथाम से जुड़े सरकार के कार्यो में मदद के लिये भाजपा के सभी सांसद और विधायक अपने एक माह का वेतन और भत्ते केंद्रीय राहत कोष में देंगे। बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को बताया कि इसके अलावा बीजेपी के सभी सांसद अपनी सांसद निधि से एक करोड़ रुपए भी केंद्रीय सहायता कोष में देंगे।


नड्डा ने ट्वीट में कहा, ”कोविड-19 के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी के सभी सांसद और विधायक अपने एक माह का वेतन केंद्रीय राहत कोष में दान करेंगे।” उन्होंने कहा कि इसका उपयोग वायरस की रोकथाम और जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों में किया जायेगा।


बीजेपी अध्यक्ष ने एक और ट्वीट में कहा कि ”सभी भाजपा सांसद कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों में मदद करने के लिए अपनी सांसद निधि से एक करोड़ रुपय केंद्रीय सहायता कोष में देंगे।”


कर्नाटक में संक्रमितो की संख्या 74

बेंगलुरू। कर्नाटक में 10 नए लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे प्रदेश में कोविड-19 के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है। इसकी जानकारी शनिवार को एक अधिकारी ने दिया। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, “अब तक कोरोना वायरस के 74 मामलों की पुष्टि की गई है जिसमें तीन मौतें हुई हैं और पांच को ठीक कर छुट्टी दे दी गई है।”


कर्नाटक के 65वां पॉजिटिव मामला उत्तर कन्नड़ की एक 54 वर्षीय महिला का है। यह महिला कोरोना वायरस पॉजिटिव की पत्नी है जो दुबई से 18 मार्च को मुंबई के रास्ते भारत लौटा था। 65 वर्षीय व्यक्ति की 28 वर्षीय बेटी को भी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया।


इसी तरह, उनकी दूसरी बेटी जो 23 वर्षीय महिला है उसे भी कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया। इसे राज्य के 67वें मामले के रूप में देखा गया इसके बाद, बेंगलुरू के एक 21 वर्षीय व्यक्ति को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया जो हाल ही में लंदन से लौटा था। वह 17 मार्च को भारत आया था। 25 वां मामला बेंगलुरू के 51 वर्षीय व्यक्ति का था जो 13 मार्च को लंदन से लौटा था।


19 वें मामले के संपर्क में आए आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले के हिंदूपुर का एक 23 वर्षीय व्यक्ति 69वें मामले के रूप में पॉजिटिव पाया गया। 19 वां मामला चिक्कबल्लापुरा के 31 वर्षीय व्यक्ति का थो 14 मार्च को मक्का, सऊदी अरब से भारत लौटा था।


कश्मीर के श्रीनगर में शनिवार को कोरना वायरस के सात नए मामले सामने आए हैं, जिससे जम्मू-कश्मीर में इस बीमारी के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा “अप्रिय समाचार का अग्रदूत बनना मुश्किल होता है, लेकिन जानकारी देकर तैयारी की जा रही है।


श्रीनगर में आज कोरोना के सात और पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। उनमें से चार का पहले से ही कोरोना पॉजिटिव धार्मिक समूह के साथ निकट संपर्क का इतिहास है, अन्य तीनों का जम्मू-कश्मीर से बाहर की यात्रा का इतिहास है। इनके संपर्क में आने वाले लोगों का पता लगाया जा रहा है।”


वायरसः बेली सेतु का निर्माण युद्ध स्तर पर

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से उत्पन्न महामारी के खतरे के बावजूद सीमा सड़क संगठन के कर्मचारी अरूणाचल के सुबांसीरी जिले में 450 गांवों के लिए जीवन रेखा माने जाने वाले बेली सेतु का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर कर रहे हैं और उसे तय समय सीमा में पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।


सीमा सड़क संगठन ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि कोरोना महामारी के खतरे के बावजूद कर्मचारी स्थानीय प्रशासन के अनुरोध पर दिन रात इसके काम में जुटे हैं क्योंकि मौजूदा ब्रिज की हालत बिल्कुल खस्ता हो चुकी है। इस ब्रिज को चीन की सीमा पर तैनात जवानों और क्षेत्र के 451 गांवों में संपर्क के लिए जीवन रेखा माना जाता है।संगठन ने कहा है कि कोरोना के कारण उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर सभी एहतियात बरते जा रहे हैं और इस काम को तय समय सीमा में पूरा कर लिया जायेगा। इसके अलावा संगठन के कर्मचारी उत्तरी भारत के मनाली-लेह मार्ग पर भी दिन रात बर्फ हटाने के काम में लगे हैं। इस मार्ग पर बर्फ पड़ने से लाहौल और लद्दाख घाटी में कोरोना के कारण उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए राहत सामग्री पहुंचाने में बाधा आ रही है। रोहतांग दर्रे और बारालाचा दर्रे पर भी बर्फ हटाने की मशीनों के साथ चार टीमें काम में जुटी हैं। इन लोगों को हवाई मार्ग से वहां पहुंचाया गया है।


31 मार्च से पहले जनता कर्फ्यू का आह्वान

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की चुनौतियों का सामना करने के लिए रविवार को यूपी के 15 सहित देश के जिन 75 जिलों में कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं उन्हें भी 31 मार्च तक लॉकडाउन रखने का फैसला हुआ है। जरूरत पड़ने पर 31 मार्च से पहले फिर से जनता कर्फ्यू का आह्वान किया जा सकता है। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में राज्यों के कैबिनेट और मुख्य सचिवों की उच्चस्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में कोरोना के रूप में आई महामारी को हर हाल में तीसरे चरण में आने से रोकने पर गंभीर मंथन हुआ। इसमें विभिन्न राज्यों की स्थिति का आकलन किया गया और कोरोना प्रभावित लोगों की संख्या बढने पर ऐसी स्थिति से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया गया। बैठक में 75 जिलों में लॉकडाउन, एक से दूसरे राज्यों को जोड़ने वाली बस सेवाओं को 31 मार्च तक स्थगित करने का निर्णय लिया गया। पीएमओ सूत्रों के मुताबिक पीएम ने जनता कर्फ्यू का दिन भर फीडबैक लिया। इसे मिली सफलता से पीएम खुश हैं। माना जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर 31 मार्च से पहले पीएम फिर जनता कर्फ्यू की अपील कर सकते हैं। पीएम के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में हुई राज्यों के मुख्य सचिवों की बैठक में भी सभी राज्य सरकारों से अपने अपने राज्यों के स्थिति के अनुरूप लॉक डाउन, धारा 144 सहित अन्य जरूरी फैसले लेनो को कहा गया। **** अर्धसैनिक बलों की मूवमेंट 5 तक स्थगित **** इस बीच, अर्धसैनिक बलों ने अपने दस लाख जवानों की सभी मूवमेंट को तत्काल प्रभाव से पांच अप्रैल तक स्थगित कर दिया है। जवानों को निर्देश दिया गया है कि वे जहां हैं, वहीं रहें। बलों ने सभी जवानों पर अधिकारियों को घोषणा पत्र भरकर यह बताने को कहा उनके परिवार में से किसी ने हाल में विदेश की यात्रा नहीं की है। अगर किसी ने विदेश यात्रा की है तो उनकी जांच कराई जाए और मामला दर मामला उन्हें आइसोलेशन में रखा जाए। सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी और एनएसजी मुख्यालय ने इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं, ताकि कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके । **** थर्ड स्टेज न आने देने पर मशक्कत **** दरअसल, भारत में कोरोना वायरस का कहर फिलहाल दूसरे चरण में है। तीसरे चरण में आने पर स्थिति संभालना बेहद मुश्किल होगा। यही कारण है कि सरकार इस वायरस के कहर को किसी भी सूरत में तीसरे चरण में प्रवेश नहीं करने देना चाहती। खासतौर से रविवार को जिस प्रकार बिहार में कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हुई और पहली बार दो ऐसे कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए जो विदेश से आने वालों के संपर्क में नहीं थे, उससे सरकार का चिंतित होना स्वाभाविक है। गौरतलब है कि तीसरे चरण में यह वायरस सामुदायिक संपर्क से फैलता है जिसका शिकार चीन के बाद इटली और ईरान हुआ। एलआईसी ने प्रीमियम भुगतान की समयसीमा 15 तक बढ़ाई कोरोना वायरस के चलते प्रीमियम न भर पाने वाले बीमाधारकों को राहत देते हुए लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (एलआईसी) ने प्रीमियम भरने की समयसीमा 15 अप्रैल तक बढ़ा दी है। कंपनी की ओर से रविवार को कहा गया, देश में कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई अभूतपूर्व परिस्थितियों के मद्देनजर जहां ग्राहक ऑनलाइन या अन्य माध्यमों से प्रीमियम का भुगतान करने में असमर्थ हैं, वे अब 15 अप्रैल तक प्रीमियम भर सकते हैं। अब आगे क्या? आगे क्या होगा यह कोरोना वायरस की स्थिति पर निर्भर करता है। अगर इसका प्रभाव बढ़ा तो जिन राज्यों ने लॉकडाउन किया है, वहां इसकी अवधि बढ़ेगी जबकि दूसरे राज्य लॉकडाउन की घोषणा करेंगे। स्थिति नियंत्रण में रहने पर जनता कर्फ्यू, धारा 144 जैसे प्रयोग आजमाए जाएंगे। कोरोना के संदर्भ में इस महीने के बाकी बचे 9 दिन बेहद अहम हैं। ऐसे में सरकार इस अवधि के लिए कोई खतरा नहीं उठाना चाहती।


तुर्की-ईरान मे भूकंप, 8 मौत 21 घायल

इस्तांबुल। तुर्की-ईरान सीमा पर रविवार को आए भूकंप में कई इमारतें ध्वस्त हो गईं। इनमें दबने से आठ लोगों की मौत हो गई। हादसे में 21 लोग घायल हो गए हैं। तुर्की के गृह मंत्री ने कहा- बचाव दल मौके पर पहुंच गए हैं। मंत्री सुलेमान सोयलू के अनुसार, मरने वालों में तीन बच्चे भी शामिल थे। आपदा में 1,066 इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई हैं।


तुर्की का वान प्रांत सबसे ज्यादा प्रभावित है। यूरोपीय-भूमध्यसागरीय भूकंपीय केंद्र के अनुसार, तुर्की-ईरान सीमा पर 5.7 तीव्रता का भूकंप का झटका महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र दोनों देशों की सीमा पर पांच किलोमीटर की गहराई में था। भूकंप से 43 गांव प्रभावित हुए हैं। यहां पहले भी कई बार शक्तिशाली भूकंप आते रहे हैं। एक ईरानी अधिकारी ने बताया कि हमारी बचाव टीमों को प्रभावित क्षेत्र में भेज दिया गया है। अभी तक हमारे पास उस क्षेत्र में नुकसान या किसी के मरने की खबर नहीं मिली है। भूकंप ईरान के पश्चिम अजरबैजान प्रांत में महसूस किया गया, जहां की आबादी काफी कम है। हालांकि, अन्य सूत्रों ने नुकसान की आशंका जताई है। ईरान और तुर्की दुनिया के सबसे ज्यादा भूकंप वाले देशों में से एक हैं। पिछले महीने तुर्की में आए भूकंप में 40 लोगो मारे गए थे।


रोहित के पास रिकॉर्ड बनाने का मौका

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड के ईडन पार्क में टी-20 सीरीज का दूसर मुकाबला खेला जाएगा। इस मुकाबले में टीम इंडिया के ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा के पास एक खास रिकॉर्ड बनाने का मौका होगा।


रोहित अगर इस मुकाबले में 56 रन बना लेते हैं तो वह इंटरनेशनल क्रिकेट में बतौर ओपनर 10000 रन पूरे कर लेंगे। तीनों फॉर्मेट में अब तक ओपनिंग करते हुए वह 9946 रन बना चुके हैं। अब तक इंटरनेशनल क्रिकेट में तीन ही ओपनिंग बल्लेबाज ही बतौर ओपनर 10000 या उससे ज्यादा रन बनाए हैं। बता दें कि पहले टी-20 मुकाबले में 6 गेंदों में पर सिर्फ 7 रन की पारी ही खेल सके थे। इसके अलावा उनके पास 14000 इंटरनेशनल रन पूरे करने का भी मौका होगा। इस आंकड़े को छूने के लिए उन्हें 104 रनों की दरकार है। इसके अलावा रोहित (355) दो छक्के मारते ही टी-20 क्रिकेट में छक्के मारने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में डेविड वॉर्नर (356) को पछाड़कर नौंवे नंबर पर पहुंच जाएंगे ।


पाकिस्तान में 7 की मौत, 1000 पॉजिटिव

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में भी कोरोना का कहर तेजी से फैल रहा है। कोरोना वायरस ने दुनिया के 195 देशों में कोहराम मचा रहा है। आतंकवाद का गढ़ बन चुका पाकिस्तान भी कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा हैं। पहले से भी आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान भी कोरोना से खौफ खाया हुआ है।


अब तक पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1000 के पार हो गई है और इस वायरस से सात लोगों की मौत हो चुकी है। पाकिस्तान सरकार के मुताबिक पाकिस्तान में 7 मौतों सहित कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1000 हुई। पूरी दुनिया की बात करें तो अब तक कोरोना संक्रमण के चार लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं वहीं, 18606 लोगों की मौत हो चुकी है। साथ ही 108312 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं।


घर पर रहे,मदद के लिए संपर्क करें

विजय भाटी


गाजियाबाद। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने लोगों से अनावश्यक ही आवागमन न करने के लिए अपील की है। एसएसपी ने कहा है कि जो लोग अभी परेशानी में है उनको राहत पहुंचाने के लिए पुलिस तत्पर है। उनको हर सम्भव मदद पहुंचाई जा रही है सभी आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं में व्यक्तियों एवं वाहनों को लाॅकडाउन के दौरान आवागमन में राहत दी गई है। एसएसपी ने जनता से अपील की है कि राहत कार्य सिर्फ सड़क पर मजबूरीबस विपदा में फंसे जरूरतमंद के लिए है, अनावश्यक सड़क पर घुमने वालों के लिए नहीं हैं, पासेस को स्टेटस सिंबल ना बनाएं जनता। बिना आवश्यकता के पास की मांग ना करें।  ऐसा करने वालों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।


साथ ही एसएसपी कलानिधि नैथानी ने दिल्ली उत्तर प्रदेश के बॉर्डर से सटे स्थानों, आनंद विहार, कौशांबी बस स्टैंड, यूपी गेट एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों आदि का भी जायजा लिया है। जनपद वासियों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए एसएसपी नैथानी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार की सहायता, सेवा या आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति के लिए "डायल-112" पर कॉल करें या हेल्पलाइन नंबर "0120-2965757, 0120- 2965758" पर भी कॉल कर सकते हैं, गाजियाबाद पुलिस सहायता के लिए हर समय तैयार है।


महामारी से निपटने को हुए चाक-चौबंद

लखनऊ। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां योजना भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के 24 राजकीय तथा 27 निजी मेडिकल कॉलेजों के चीफ एग्जीक्यूटिव एवं प्रधानाचार्यो को कोरोनावायरस से निपटने तथा उनकी तैयारियों के संबंध में निर्देश दिया। सुरेश कुमार खन्ना ने निर्देश दिया कि आइसोलेशन एवं क्वारेन्टाइन के संबंध में जो भी लक्ष्य दिया गया है उसको हर हाल में पूरा किया जाए। श्री खन्ना ने कहा कि किसी भी प्रकार की कमी कोरोना वायरस से निपटने में हमारे लिए बाधा नहीं बनेगी। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को दूसरे की सेवा करनी चाहिए। उन्होने कहा कि हमे आप सभी डाक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ तथा स्वास्थ्य से जुडे़ हुए कर्मचारियों पर गर्व है आप सभी पूर्ण मनोयोग से आपने दायित्वों का निर्वह्रन करते हुए करते हुए इस संकट की घड़ी में अपना पूरा योगदान दे। उन्होने कहा कि ऐसी परिस्थिति बार बार नहीं आती है इस महामारी से निजात दिलाना हमारी और आपकी बहुत बड़ी जिम्मेदारी है और इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाए, यही हमारी आप लोगों से अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि अभी तक जो हमारे सामने मरीजों की स्थिति के अनुसार 49 कोरोना पॉजिटिव पेशेंट डिक्लियर किए गए हैं उनमें से 14 मरीज ठीक होकर घर भी चले गए। हम निश्चित रूप से यह बात कह सकते हैं कि आवश्यकता से ज्यादा हमारी तैयारी है। समय रहते हुए इसके लिए और अधिक तैयारी कर लें ताकि मरीजों की यदि संख्या बढ़ती है तो हम हर प्रकार से उनको सुविधा दे सकें। निश्चित रूप से उत्तर प्रदेश में इस बीमारी के फैलाव को रोकने के लिए अभी तक हम कामयाब हुए हैं और आगे भी हम कामयाब होंगे और प्रदेश में हर स्तर से सतर्कता बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेजों से निरंतर संपर्क स्थापित किया जा रहा है जहां भी कोई मरीज आता है उसके समुचित इलाज की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कुल आठ डायग्नोसिस सेंटर काम कर रहे हैं और तीन अन्य डायग्नोसिस सेंटर स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। वर्तमान में स्थापित 8 प्रयोगशालाओं में से बीएचयू और अलीगढ़ भारत सरकार की हैं बाकी पांच राज्य सरकार की जिसमें से केजीएमयू, पीजीआई, सैफई मेडिकल कॉलेज, गोरखपुर मेडिकल कॉलेज और मेरठ मेडिकल कॉलेज में डायग्नोसिस सेंटर बनाया गया है। इसके साथ ही प्रदेश में आर्मी की भी एक प्रयोगशाला है। इसके साथ ही प्रदेश में डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल लखनऊ, झांसी मेडिकल कॉलेज और प्रयागराज मेडिकल कॉलेज में भी शीघ्र ही डायग्नोसिस सेंटर के रूप में स्थापित हो जाएंगे। इस प्रकार हमारी टेस्टिंग फैसिलिटी कुल मिलाकर 11 हो जाएगी। प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे ने कहा कि इस समय हम सब पूरे स्टाफ के लिए कर्म योगी बनने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि जिस परमात्मा से संपूर्ण प्राणियों की प्रवृत्ति और उत्पत्ति होती है, जिसमें सारा संसार व्याप्त है उस परमात्मा का अपने मानव सेवा के द्वारा पूजन करके मनुष्य सिद्धि को प्राप्त करता है। सेवा भाव एवं मानव मात्र कि सेवा से ही परमपिता परमात्मा की सिद्धि प्राप्त हो होती है। मानव सेवा ही असली सेवा है और पूजा भी है ।


योगी सरकार ने जारी की कई छूट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दी प्रदेश के किसानों को राहत
कंबाइन, हार्वेस्टर और कृषि कार्य में लगे श्रमिकों को भी मिलेगी छूट
कृषि निवेश उपलब्ध कराने वाली कंपनियों और आपूर्ति करने वाले वाहनों को भी मिलेगी छूट
फाईज़ अली सैफी | 


नई दिल्ली/गाज़ियाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने प्रदेश के किसानों को बड़ी राहत दी है। लाॅकडाउन के दौरान भी बीज-खाद कृषि रक्षा रसायनों की थोक और फुटकर दुकाने पहले की तरह खुली रहेंगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शासन द्वारा इस संबंध में सभी मंडलायुक्तों, डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश जारी किए गए हैं कि सुचारू रूप से इनकी आपूर्ति जारी रहे।वहीं, इसके लिए इनको बनाने वाली कंपनियों, लोडिंग एवं अनलोडिंग में लगे श्रमिको और इनके परिवहन में लगे वाहन भी छूट के दायरे में आएंगे। इसी तरह की छूट कटाई में प्रयुक्त कंबाइन, हार्वेस्टर और इस दौरान जरूरी श्रमिकों पर भी होगी। मालूम हो कि इस साल फरवरी-मार्च को अप्रत्याशित मौसम की मार से यूं ही किसान परेशान है और मौजूदा समय में उनकी सरसों, आलू, मटर और चना की फसले या तो खेत में है, या फिर खलियान में है।


वहीं, गेहूं की फसल भी तैयार होने को है तो ऐसे में किसानों को यह चिंता थी कि लाॅकडाउन की स्थिति में हम अपनी उपज को कैसे घर सुरक्षित पहुंचाएं। दरअसल, चिंता उन किसानों को भी थी जो इस समय खाली हुए या होने वाले खेतों में खरीफ के पूर्व कम समय में होने वाली उड़द, मूंग और पशुओं के लिए हरे चारे की बुवाई करते हैं, सरकार के इस फैसले से परंपरागत किसानों के साथ सब्जी बोने वाले किसानों को भी राहत मिली है।


संकट में फंसे लोग, गंतव्य तक पहुंचाएंगे

दिल्ली-NCR में यहां किराएदारों को नहीं देना होगा 1 महीने का किराया



नोएडा। कोरोना वायरस से फैल रही महामारी को रोकने के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। इससे सबसे अधिक परेशानी रोज कमाने खाने वालों को हो रही है। इसी बीच नोएडा के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने किराए के मकान में रह रहे लोगों को बड़ी राहत देते हुए किसी भी मकान मालिक को एक महीने तक किराया ना लेने को कहा है। डीएम की ओर से जारी आदेश में  कहा गया है कि कोई मजदूर या कर्मचरी जो किसी भी कंपनी या कार्यालय में काम करते हैं। उनसे किसी भी दशा में एक महीने तक किराया नहीं मांगा जाए। अगर कोई ऐसा करता हुआ मिला तो उस पर कार्रवाई होगी। 


यूपी गेट पर आकर फंसे हजारों हजार लोगों को जिला प्रशासन गाजियाबाद ने बसों में भर कर कौशांबी डिपो भेजना शुरू कर दिया है। कौशांबी डिपो से इन लोगों को दूसरी बसों में बैठाकर यूपी के विभिन्न शहरों में भेजा जाएगा। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि कौशांबी डिपो में उत्तर प्रदेश के दर्जनों शहरों के लिए बसें आकर लग गई है। बस भरते ही उन्हें रवाना करने का काम शुरू कर दिया है। इधर, यूपी गेट से भी लोगों को बसों में बैठाकर कौशांबी डिपो भेजा जा रहा है। इससे यूपी गेट पर धीरे धीरे भीड़ कम होने लगी है। उधर, यूपी गेट पर भीड़ की सूचना पर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया समेत कई अधिकारी पहुंचे।


घरों में रहने वाले ही असली हीरो

मुंबई। बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार का कहना है कि कोरोनावायरस की कड़ी को तोडऩे के लिए पूरे देश में किए गए लॉकडाउन की इस घड़ी में जो अपने घर में रहेगा, वही सुपरस्टार होगा। अक्षय ने व्यापार विशेषज्ञ जोगिंदर टुटेजा के एक ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए यह बात कही। दरअसल, जोगिंदर ने किसी एक वीडियो को ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने इस बारे में बात की कि किस तरह से टाइगर श्रॉफ रैंबो, हीरोपंती 2 और बागी 4 जैसी अपनी आने वाली फिल्मों से सुपरस्टार बनने के लिए तैयार हैं।
इस पर अक्षय ने कहा, जोगिंदर तुम्हारी इस बात से मैं पूरी तरह से सहमत हूं कि टाइगर श्रॉफ आने वाले समय में धमाल मचाने वाले हैं, लेकिन इस वक्त एकमात्र वही व्यक्ति सुपरस्टार होगा, जो अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए घर में रहेगा। मैं हर एक से सुपरस्टार बनने की अपील करता हूं।
अक्षय लगातार सोशल मीडिया पर 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान अपने सभी देशवासियों से घर में रहने और सरकार संग सहयोग करने का आग्रह करते नजर आ रहे हैं, ताकि कोरोनावायरस को जड़ से उखाड़कर इससे जंग को जीता जा सकें।


 


ये मोहब्बतः क्वॉरेंटाइन से भागा पेशेंट

मदुरै। कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ रहा है। इस वायरस से निपटने के लिए कई देशों में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। लोगों को घर पर ही रहने की सलाह दी जा रही है। विदेश से लौटे लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। लेकिन इस महामारी के बढ़ते प्रकोप के बावजूद कुछ लोग लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं।
दरअसल तमिलनाडू के मदुरै जिले में एक मामला सामने आया है जहां एक युवक अपनी गर्लफ्रैंड की शादी रुकवाने के लिए दुबई से भारत लौटा। विदेश से लौटने पर उसे क्वारंटाइन रहना था लेकिन वह अपनी प्रेमिका से मिलने शिवगंगा चला गया, जहां उसने गर्लफ्रैंड के साथ समय बिताया।
प्रेमी से संपर्क में आने के बाद प्रेमिका को भी आइसोलेट कर दिया गया है। इसी बीच पुलिस और स्वास्थ्य अधिकारियों ने युवक की तलाश शुरु कर दी। पुलिस युवक और उसकी प्रेमिका को मदुरै लेकर आ गई जहां दोनों को क्वारंटाइन कर दिया गया है।


अगले 20 घंटे ज्यादा अहमः डब्ल्यूएचओ

नई दिल्ली। भारत में कोराना वायरस के लगातार बढ़ रहे खतरे को देखते हुए के उपाय सुझाए जा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर अफवाहों का बाजार भी तेजी से गर्म हो रहा है। ऐसी ही एक अफवाह व्हाट्सएप ग्रुप में बहुत तेजी से फैल गया है। व्हाट्सएप ग्रुप में भेजे जा रहे इस मैसेज में कहा गया है कि भारत के लिए अगले 20 घंटे बहुत ही भारी होंगे। खास बात तो यह है कि ऐसा कहने के लिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन यानी डब्ल्यूएचओ और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर का हवाला दिया गया है।


डब्ल्यूएचओ और आईसीएमआर के हवाले से जारी इस संदेश के जरिए कहा गया है कि शनिवार की रात तक का समय भारत वासियों के लिए बहुत भारी होने वाला है। यदि भारतीय अपनी आदत में बदलाव नहीं लाते और घरों से बाहर निकलना यूं ही जारी रखते हैं तो भारत में कोरोना का संक्रमण थर्ड स्टेज में पहुंच जाएगा। थर्ड स्टेज यानी कम्युनिटी ट्रांसमिशन और इसे रोक पाना भारत के लिए बहुत ही खतरनाक होगा।


अगले 20 घ॔टे भारत के लिए भारी
WHO ICMR की भारत को चेतावनी
WHO ICMR ने कहा है कि यदि 20 घ॔टे में भारतीय नहीं सुधरे तो भारत कल रात 11 बजे के बात ‘THIRD STEP” यानी ” कम्युनिटी ट्रांसमिशन” में प्रवेश कर जायेगा और अगर भारत कल रात तक थर्ड स्टेज यानी कम्यूनिटी ट्रांशमिशन में जाता है तो भारत मे 15 APRIL तक लगभग 50000(पचास हजार) तक मौतें हो सकती हैं, क्योकि अन्य देशों की अपेक्षा भारत का जनसंख्या घनत्व बहुत अधिक है परन्तु भारतीय अभी तक इसकी गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं।


ईश्वर से दुआ करो


सभी नागरिकों से निवेदन प्लीज मस्ती मजाक सलाह कोरेना से सम्बंधित खबर छोड़ आज रात तक जितना हो ये फैलाओ की कुछ भी हो जाये 72 से 108 घण्टा बिल्कुल भी न निकले क्योकि कल भारत 3 स्टेज में शायद जा सकता है। प्लीज सभी को अंदर रहने के लिये प्रेरीत करो…


माइक्रोबायोलॉजिस्ट ने बताया फर्जी


इस मैसेज की सत्यता जांच ने के लिए ने आईसीएमआर और डब्ल्यूएचओ की वेबसाइट पर जा कर यह देखने की कोशिश की कि क्या इस तरीके का कोई अलर्ट इन दोनों ही एजेंसियों के द्वारा जारी किया गया है या नहीं। लेकिन इस तरीके का कोई भी अलर्ट इन दोनों ही एजेंसियों के द्वारा जारी नहीं किया गया है। माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉ अंकुर ने बताया कि इस तरीके का कोई भी प्रेडिक्शन कोरोनावायरस के संबंध में जारी नहीं किया जा सकता. यह तथ्यात्मक तौर पर गलत है। साथ ही मैसेज की जो भाषा है उसी से पता चल जाता है कि मैसेज फर्जी है।


उन्होंने यह भी जोड़ा कि इससे डरने की जरूरत नहीं है लेकिन यह जरूर है कि लॉकडाउन का पूरी तरीके से पालन किया जाए। किसी को भी सिर्फ शनिवार की रात ही नहीं बल्कि जब तक लॉकडाउन का समय है तब तक घरों से नहीं निकलना चाहिए। बता दें कि भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या हर रोज बढ़ रही है। यह एक सच्चाई है और इसी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी जो 14 अप्रैल को पूरा हो रहा है।


पूरे भारत में कोरोना से 19 लोगों की मौत


दुनिया में इस बीमारी से प्रभावित देशों में मरीजों की संख्या दिनोंदिन बढ़ रही है। ऐसे में भारत सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा बार-बार यह हिदायत दी जा रही है कि सोशल डिस्पेंसिंग के जरिए ही इस वायरस के संक्रमण को रोका जा सकता है। Covid19india.org वेबसाइट के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश मे अभी तक कुल 892 कोरोना के पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 76 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके है जबकि 19 लोगों की मौत हो चुकी है।


प्रोफेसर ने विकसित किया टीका, टेस्ट बाकी

हैदराबाद/दिल्ली। देश में कोरोनावायरस से लड़ाई के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। हैदराबाद यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर ने कोरोनावायरस से लड़ने का टीका विकसित किया है। जिसकी टेस्टिंग होनी शेष है।
दरअसल, हैदराबाद यूनिवर्सिटी की बायोकेमिस्ट्री विभाग के स्कूल ऑफ लाइफ साइंसेज की प्रोफेसर डॉक्टर सीमा मिश्रा ने कोरोनावायरस से लड़ने वाला टीका विकसित किया है। उन्होंने सेल एपिटोप्स नामक टीके को तैयार किया है जो नोवल कोरोनोवायरस के सभी संरचनात्मक और गैर-संरचनात्मक प्रोटीनों के खिलाफ लड़ने में सक्षम है।
ये वैक्सीन छोटे कोरोनवायरल पेप्टाइड्स हैं, जो अणुओं की कोशिकाओं द्वारा उपयोग किया जाता है। इन वायरल पेप्टाइड्स को नुकसान पहुंचाने वाली कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता तैयार की जा सके। कम्प्यूटेशनल सॉफ्टवेयर के साथ शक्तिशाली इम्यूनोइंफोर्मेटिक्स का उपयोग करते हुए डॉक्टर सीमा मिश्रा ने इन संभावित एपिटोप्स को इस तरह से डिजाइन किया है कि पूरी आबादी को इसका टीका लगाया जा सकता है।
हैैदराबाद यूनिवर्सिटी ने जानकारी देते हुए बताया कि हमने महज दस दिनों में इस वैक्सीन को बनाया है। अब सिर्फ इस टीके की टेस्टिंग होनी शेष है। टेस्टिंग के नतीजों के बाद सरकार की हरी झंडी मिलते ही इसे आम आदमी के उपयोग के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा। अगर सबकुछ सही रहा तो कोरोनावायरस से लड़ने में ये भारत की महत्वपूर्ण उपलब्धि होगी।


नर्स के निजी मोबाइल पर पीएम की काल

नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात निराली है। खासकर देश में अच्छे कार्यो करने वालों के लिए हौसला-अफजाई में कोई कसर नहीं छोड़ते। ऐसा ही एक वाक्या शुक्रवार दोपहर को फिर सामने आया। जब उन्होंने महाराष्ट्र के सरकारी अस्पताल नायडू की वरिष्ठ नर्स को उनके निजी मोबाइल पर कॉल किया और उनके कार्यो की प्रशंसा की।


कर्मचारी को जब यह पता चला कि उनके नंबर पर कोई नहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, तो वह आश्चर्यचकित हो गई। बतादें पुणे में कोविड-19 के इलाज के लिए नामित आइसोलेशन वार्ड में से नायडू अस्पताल के प्रभारी और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ संजीव वावरे ने कहा, ‘नायडू अस्पताल में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के रोगियों की देखभाल करने के लिए कुल 60 नर्स शामिल हैं। जब नायडू अस्पताल में काम करने वाली नर्सों की जानकारी के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने गुरुवार को हमसे संपर्क किया, तो हमने उन्हें कुछ नाम दिए।


उन्होंने बताया, शुक्रवार को प्रधानमंत्री ने उनमें से एक नर्स छाया जगताप को फोन किया। वह नायडू अस्पताल में बीते 20 सालों से नर्स का काम कर रही हैं। उन्होंने उनसे बात की और देश भर में उनके काम और अग्रिम पंक्ति पर काम करने वाली कई अन्य नर्सों की सराहना की, जो इतनी बहादुरी से अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रही हैं और अपनी देखरेख में इलाज करवा रहे मरीजों का मनोबल बढ़ा रही हैं।’


स्कंदमाता पांचवा नवरात्र

भगवान स्कंद 'कुमार कार्तिकेय' नाम से भी जाने जाते हैं। ये प्रसिद्ध देवासुर संग्राम में देवताओं के सेनापति बने थे। पुराणों में इन्हें कुमार और शक्ति कहकर इनकी महिमा का वर्णन किया गया है। इन्हीं भगवान स्कंद की माता होने के कारण माँ दुर्गाजी के इस स्वरूप को स्कंदमाता के नाम से जाना जाता है।


 स्वरूपःमाता की चार भुजाएँ हैं। इनके दाहिनी तरफ की नीचे वाली भुजा, जो ऊपर की ओर उठी हुई है, उसमें कमल पुष्प है। बाईं तरफ की ऊपर वाली भुजा में वरमुद्रा में तथा नीचे वाली भुजा जो ऊपर की ओर उठी है उसमें भी कमल पुष्प ली हुई हैं। इनका वर्ण पूर्णतः शुभ्र है। ये कमल के आसन पर विराजमान रहती हैं। इसी कारण इन्हें पद्मासना देवी भी कहा जाता है। सिंह भी इनका वाहन है।


महत्वः नवरात्रि-पूजन के पाँचवें दिन का शास्त्रों में पुष्कल महत्व बताया गया है। इस चक्र में अवस्थित मन वाले साधक की समस्त बाह्य क्रियाओं एवं चित्तवृत्तियों का लोप हो जाता है। वह विशुद्ध चैतन्य स्वरूप की ओर अग्रसर हो रहा होता है।


साधक का मन समस्त लौकिक, सांसारिक, मायिक बंधनों से विमुक्त होकर पद्मासना माँ स्कंदमाता के स्वरूप में पूर्णतः तल्लीन होता है। इस समय साधक को पूर्ण सावधानी के साथ उपासना की ओर अग्रसर होना चाहिए। उसे अपनी समस्त ध्यान-वृत्तियों को एकाग्र रखते हुए साधना के पथ पर आगे बढ़ना चाहिए।


माँ स्कंदमाता की उपासना से भक्त की समस्त इच्छाएँ पूर्ण हो जाती हैं। इस मृत्युलोक में ही उसे परम शांति और सुख का अनुभव होने लगता है। उसके लिए मोक्ष का द्वार स्वमेव सुलभ हो जाता है। स्कंदमाता की उपासना से बालरूप स्कंद भगवान की उपासना भी स्वमेव हो जाती है। यह विशेषता केवल इन्हीं को प्राप्त है, अतः साधक को स्कंदमाता की उपासना की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। सूर्यमंडल की अधिष्ठात्री देवी होने के कारण इनका उपासक अलौकिक तेज एवं कांति से संपन्न हो जाता है। एक अलौकिक प्रभामंडल अदृश्य भाव से सदैव उसके चतुर्दिक्‌ परिव्याप्त रहता है। यह प्रभामंडल प्रतिक्षण उसके योगक्षेम का निर्वहन करता रहता है।


हमें एकाग्रभाव से मन को पवित्र रखकर माँ की शरण में आने का प्रयत्न करना चाहिए। इस घोर भवसागर के दुःखों से मुक्ति पाकर मोक्ष का मार्ग सुलभ बनाने का इससे उत्तम उपाय दूसरा नहीं है।


उपासनाः प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में पाँचवें दिन इसका जाप करना चाहिए।


या देवी सर्वभू‍तेषु माँ स्कंदमाता रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।


अर्थ : हे माँ! सर्वत्र विराजमान और स्कंदमाता के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे सब पापों से मुक्ति प्रदान करें। इस दिन साधक का मन 'विशुद्ध' चक्र में अवस्थित होता है। इनके विग्रह में भगवान स्कंदजी बालरूप में इनकी गोद में बैठे होते हैं।


सर्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सावधानी बरतें, सतर्क रहें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


मार्च 29, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-230 (साल-01)
2. रविवार, मार्च 29, 2020
3. शक-1942,चैैत्र-शुक्ल पक्ष, तिथि-पंचमी, संवत 2077


4. सूर्योदय प्रातः 06:20,सूर्यास्त 06:40
5. न्‍यूनतम तापमान 14+ डी.सै.,अधिकतम-27+ डी.सै., बरसात की संभावना बनी रहेगी।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


यौन शोषण के केस में 20 साल कैद की सजा सुनाईं

हैदराबाद। तेलांगना में बच्चे के यौन शोषण के मामले में एक महिला को 20 साल कैद की सजा सुनाई गई है। 27 साल की इस युवती को बच्‍चे का यौन शोषण कर...