सोमवार, 7 दिसंबर 2020

सालों बाद 'अंतरिक्ष' में होगा चमत्कार

400 साल बाद अंतरिक्ष में होगा चमकत्कार, दिखेगा ये दुर्लभ नजारा


इस साल 21 दिसंबर को अंतरिक्ष में ऐसा चमकत्कार होगा जो इससे पहले 1623 ईस्वी में हुआ था। दरअसल एक दुर्लभ खगोलीय घटना होगी जिसमें बृहस्पति और शनि इस दिन एक दूसरे के बेहद करीब दिखाई देंगे। इस दौरान यह चमकदार तारे की तरह लोगों को नजर आएंगे। यह अद्भुत संयोग करीब 400 साल बाद बना है। और अगर आप इसे देखने से चूक गए तो इसके लिए फिर आपको 60 साल इंतजार करना होगा 1623 ईस्वी के बाद से दोनों ग्रह इतने करीब कभी नहीं रहे हैं। और इसलिए इसे एक महान संयोजन बताया जा रहा है। एमपी बिड़ला तारामंडल के निदेशक देबी प्रसाद दुआरी ने अपने बयान में कहा कि यह बेहद दुर्लभ संयोग है। जो हजारों वर्षों में एक बार बनता है।
उन्होंने कहा अगर दो खगोलीय पिंड पृथ्वी से एक दूसरे के करीब दिखाई देते हैं। तो इसे एक संयुग्मन कहा जाता है। और अगर शनि और बृहस्पति के ऐसे संयोग बनते हैं। तो इसे महान संयुग्मन कहते हैं। दुआरी ने कहा 21 दिसंबर की रात इन दोनों ग्रहों की भौतिक दूरी लगभग 735 मिलियन किमी होगी इसके बाद ऐसा अद्भुत संयोग 15 मार्च, 2080 को बनेगा उन्होंने कहा कि 21 दिसंबर को दोनों ग्रह एक-दूसरे के करीब आते दिखाई देंगे 21 दिसंबर के दिन भारत भर के अधिकांश प्रमुख शहरों में सूर्यास्त के बाद इस अद्भुत नजारे को लोग अपनी आंखों से आसानी से देख सकते हैं।                                 


सोना निखरा, चांदी की चमक फीकी पड़ीं

सोना निखरा या चांदी की चमक पड़ी फीकी,जानें-आज की कीमतों का ताजा अपडेट


वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी अर्थव्यवस्था में राहत पैकेज की उम्मीदों और कोरोना वैक्सीन की अच्छी संभावनाओं की वजह से गोल्ड और सिल्वर की कीमतों में इजाफा दर्ज किया गया। इसका असर घरेलू मार्केट में भी पड़ा और यहां भी एमसीएक्स में गोल्ड के दाम 0.20 फीसदी यानी 98 रुपये बढ़ कर 49,310 रुपये प्रति दस ग्राम की ऊंचाई पर पहुंच गए। वहीं सिल्वर की कीमत 103 रुपये की गिरावट आई और यह 63710 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। जबकि अहमदाबाद में गोल्ड हाजिर की कीमत 50,700 रुपये प्रति दस ग्राम रही। 6 दिसंबर को इसकी कीमत 50,690 रुपये थी।


दिल्ली मार्केट में गिरा सोना


दिल्ली मार्केट में सोमवार को गोल्ड की कीमत 142 रुपये घट कर 47,483 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गई. वहीं पिछले सत्र में यह 47,625 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ था। चांदी में भी 701 रुपये की गिरावट आई और यह 57,808 रुपये प्रति किलो ग्राम पर पहुंच गई। इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड 1781.50 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड कर रहा है, वहीं सिल्वर की कीमत है 22.29 डॉसर प्रति औंस।
भारत में हाजिर बाजार में सोने की कीमतें कम होने की सबसे बड़ी वजह कोरोना वैक्सीन के मोर्चे पर अच्छी खबरों का आना है। इंटरनेशनल मार्केट में गोल्ड में थोड़ी सी बढ़त दिखी और 1842 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेड करता दिखा। वहीं सिल्वर 24.20 डॉलर प्रति औंस पर सपाट रहा। दरअसल डॉलर में गिरावट की वजह से गोल्ड के दाम में लगातार बढ़त दिख रहा है।                                   


शिलान्यास की अनुमति, निर्माण की नहीं

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत बनने वाले नये संसद भवन के शिलान्यास को सोमवार को हरी झंडी तो दे दी, लेकिन वहां फिलहाल कोई भी निर्माण कार्य शुरू नहीं करने का निर्देश दिया। न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की खंडपीठ ने थोड़े अंतराल पर दो बार हुई सुनवाई के बाद कहा, ”केंद्र सरकार को इस महत्वाकांक्षी परियोजना की कागजी कार्रवाई और 10 दिसंबर को प्रस्तावित नए संसद भवन के शिलान्यास समारोह की अनुमति होगी लेकिन वह निर्माण या तोड़फोड़ संबंधी कार्यों को अंजाम नहीं दे सकती।”                                                                   


देश में संक्रमितों की संख्या- 96 लाख हुई

देश में अबतक 96 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित, 24 घंटे में आए करीब 32 हजार केस, 39 हजार ठीक हुए


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 96 लाख के पार पहुंच गई है। लगातार आठवें दिन 40 हजार से कम नए मामले दर्ज किए गए। देश में पिछले 24 घंटे में 32,981 नए संक्रमित मरीज आए हैं। वहीं 391 लोग कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए अच्छी बात ये है। कि बीते दिन 39,109 मरीज कोरोना से ठीक भी हुए हैं। कोरोना मामले बढ़ने की ये संख्या दुनिया में अमेरिका और ब्राजील के बाद सबसे ज्यादा है। वहीं मौत की संख्या दुनिया में सातवें नंबर पर है।
संक्रमितों की कुल संख्या 96 लाख पार पहुंची...
स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार भारत में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 96 लाख 77 हजार 203 हो गए हैं। इनमें से अब तक एक लाख 40 हजार 577 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। कुल एक्टिव केस घटकर तीन लाख 96 हजार 729 हो गए। अब तक कुल 91 लाख 39 हजार 901 लोग कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 42,533 मरीज कोरोना से ठीक हुए।
 6 दिसंबर तक हुए टेस्ट
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के मुताबिक 6 दिसंबर तक कोरोना वायरस के लिए कुल 14,77,87,656 सैंपल टेस्ट किए गए, जिनमें से 8,01,081 सैंपल कल टेस्ट किए गए
26 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक्टिव केस 20,000 से कम हैं। और 9 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक्टिव केस 20,000 से ज्यादा हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ( आईसीएमआर) के अनुसार देश में 2 दिसंबर तक कोरोना वायरस के लिए कुल 14 करोड़ 58 लाख सैंपल टेस्ट किए गए, जिनमें से 11.57 लाख सैंपल कल टेस्ट किए गए. पॉजिटिविटी रेट सात फीसदी है।
मृत्यु दर और रिकवरी रेट
महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में कोरोना वायरस के एक्टिव केस, मृत्यु दर और रिकवरी रेट का प्रतिशत सबसे ज्यादा है। राहत की बात है। कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। इसके साथ ही भारत में रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ रहा है। फिलहाल देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.45 फीसदी है। जबकि रिकवरी रेट 94 फीसदी है। एक्टिव केस 5 फीसदी से भी कम है। सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं। एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का सातवां स्थान है। कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है। रिकवरी दुनिया में सबसे ज्यादा भारत में हुई है। मौत के मामले में अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत का नंबर है।                                         


ऑस्ट्रेलिया को टी-20 सीरीज में हराया

विराट कोहली की कप्तानी में जीत मिली तो आया रोहित शर्मा का बयान


नई दिल्ली/ सिडनी। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को टी-20 सीरीज़ में हरा दिया है। तीन मैचों की सीरीज़ के दूसरे मैच में रविवार को भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से करारी शिकस्त दी भारत को अब 3 मैचों की सीरीज़ में 2-0 की अजेय बढ़त मिल गई है। टीम इंडिया की इस जीत की हर तरफ तारीफ हो रही है। आखिरी 5 ओवर में भारत ने 54 रन बनाकर हर किसी को हैरान कर दिया। खास बात ये रही कि इस सीरीज़ में रोहित शर्मा जैसे दिग्गज ओपनर नहीं खेल रहे थे। सीरीज़ जीतने के बाद रोहित ने टीम के सारे खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की क्या बोले रोहित शर्मा आईपीएल में मुंबई इंडियंस को चैंपियन बनाने के बाद से रोहित शर्मा बिल्कुल शांत हो गए थे। चोट के चलते वो ऑस्ट्रेलिया नहीं जा सके थे। अब पहली बार टी-20 सीरीज़ में जीत दर्ज करने के बाद रोहित ने ट्विटर पर लिखा है, ‘टीम इंडिया के लिए सीरीज़ में ये जबरदस्त जीत है। जिस अंदाज़ में टीम इंडिया को ये जीत मिली वो देखकर काफी अच्छा लगा हर किसी को बहुत-बहुत बधाई।                                     


जम्मू: पीओके की 2 लड़कियों को वापस भेजा

गलती से भारतीय क्षेत्र में पहुंचीं पीओके की दो लड़कियों को वापस भेजा


श्रीनगर। नियंत्रण रेखा पारकर भूलवश जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आ पहुंची पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की दो बहनों को सोमवार को वापस भेज दिया गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। लैबा जाबैर (17) और उनकी बहन साना जाबैर (13) को रविवार को भारतीय सैनिकों ने नियंत्रण रेखा के इस पार भटकते हुए देखा और उन्हें हिरासत में ले लिया। दोनों पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के कहुटा की रहने वाली हैं। रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ”पुंछ में पीओके के फारवार्ड कहुआ के अब्बासपुर की दो लड़कियां भटककर भारतीय क्षेत्र में आ गयी थीं। उन्हें आज चक्कन दा बाग (सीडीबी) सीमाचौकी से वापस भेज दिया गया। ”उन्होंने बताया कि सीडीबी चौकी पर दोनों बहनों को पाकिस्तान के असैन्य एवं सैन्य अधिकारियों की उपस्थिति में सौंप दिया गया। सद्भावना के तौर पर उन्हें भारतीय सेना ने सौगात एवं मिठाइयां प्रदान कीं।                                                                           


'भारत बंद' को लेकर राज्यों में एडवाइजरी जारी

‘भारत बंद’ को लेकर राज्यों में एडवाइजरी जारी, सुरक्षा कड़ी करने के निर्देश


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने किसान संगठनों के आह्वान पर मंगलवार को देश भर में ‘भारत बंद’ के मद्देनजर सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने और शांति बनाये रखने को कहा है। मंत्रालय के अनुसार केन्द्रीय गृह सचिव ने सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को परामर्श जारी कर कहा है कि मंगलवार को किसान संगठनों ने देश भर में भारत बंद का आह्वान किया है। इस बंद को विपक्षी दलों और कई अन्य संगठनों तथा ट्रेड यूनियनों ने भी समर्थन दिया है। राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से कहा गया है कि वे बंद के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करें तथा कानून व्यवस्था की स्थिति बनाये रखें। परामर्श में कहा गया है कि राज्य सरकारों का हर संभव प्रयास करने चाहिए कि कहीं भी किसी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो और सब जगह शांतिपूर्ण स्थिति बनी रहे। इसके अलावा राज्य प्रशासन से यह भी कहा गया है कि वे कोरोना महामारी को देखते हुए देश भर में कोविड के संबंध में जारी राष्ट्रीय दिशा निर्देशों का पूरी तरह पालन सुनिश्चित करें। इस तरह के सभी उपाय किये जायें जिससे कि कोविड संबंधी निर्देशों का उल्लंघन न होने पाये। उल्लेखनीय है कि किसान हाल ही में बनाये गये तीन कृषि विधेयकों का विरोध कर रहे हैं और पिछले दस दिनों से राजधानी में कूच करने के लिए दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं। किसान संगठनों के प्रतिनिधियों तथा सरकार के बीच पांच दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन इसमें कोई नतीजा नहीं निकला है। किसानों ने अपने विरोध को देश भर में पहुंचाने के लिए मंगलवार को भारत बंद का आह्वान किया है। विपक्षी दल और कई अन्य संगठन तथा ट्रेड यूनियनों ने भी बंद का समर्थन करने की घोषणा की है।                                  


राष्ट्रपति भवन तक खिलाड़ियों का पैदल मार्च

किसान आंदोलन: पुरस्कार लौटाने को राष्ट्रपति भवन की ओर खिलाड़ियों का मार्च, पुलिस ने रोका


नई दिल्ली। एशियाई खेलों के दो बार के स्वर्ण पदक विजेता पूर्व पहलवान करतार सिंह की अगुआई में पंजाब के कुछ खिलाड़ियों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर रहे किसानों के प्रति एकजुटता दिखाते हुए ’35 राष्ट्रीय खेल पुरस्कार’ लौटाने के लिए राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च किया लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक दिया।
वर्ष 1982 में अर्जुन पुरस्कार और 1987 में पद्म श्री से नवाजे गए करतार के साथ ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता टीम के सदस्य पूर्व हॉकी खिलाड़ी गुरमेल सिंह और महिला हॉकी टीम की पूर्व कप्तान राजबीर कौर आदि शामिल थे। गुरमेल को 2014 में ध्यानचंद पुरस्कार से सम्मानित किया गया जबकि राजबीर को 1984 में अर्जुन पुरस्कार मिला।
एशियाई खेल 1978 और 1986 में स्वर्ण पदक जीतने वाले करतार ने कहा, ”किसानों ने हमेशा हमारा साथ दिया है। हमें उस समय बुरा लगता है जब हमारे किसान भाईयों पर लाठीचार्ज किया जाता है, सड़कें बंद कर दी जाती हैं। किसान अपने अधिकारों के लिए कड़कड़ाती सर्दी में सड़कों पर बैठे हुए हैं।” उन्होंने कहा, ”मैं किसान का बेटा हूं और पुलिस महानिरीक्षक होने के बावजूद अब भी खेती करता हूं।” करतार ने कहा, ”मैं सरकार से आग्रह करता हूं कि इस क्रूर कानून को वापस लें। पूरा देश जब कोरोना के डर से सहमा हुआ है तब उन्होंने दोनों सदनों में यह विधेयक पारित करा लिया और राष्ट्रपति से स्वीकृति ले ली।” उन्होंने पूछा, ”मैं सहमत हूं कि कृषि कानूनों में बदलाव की जरूरत है लेकिन जब हमारे बच्चे खुश नहीं हैं तो सरकार की प्राथमिकता होनी चाहिए कि उन्हें खुशी दें… आखिर क्यों ये सरकार किसानों पर जबरन विवादास्पद कानून को स्वीकार करने पर जोर दे रही है?” मार्च करने वाले खिलाड़ियों ने दावा किया कि उन्हें कई अर्जुन पुरस्कार और अन्य राष्ट्रीय खेल पुरस्कार विजेताओं का समर्थन हासिल है। इससे पहले खेल रत्न पुरस्कार विजेता और मुक्केबाजी में भारत के पहले ओलंपिक पदक विजेता विजेंदर सिंह ने भी किसानों के समर्थन में अपना पुरस्कार लौटाने की धमकी दी थी। नए कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर एक हफ्ते से अधिक समय से डटे हुए हैं।                                                                                                                                                                        


नैनीतालः कार्यों की गहनता से समीक्षा की गई

नैनीताल- जिले के विकास कार्यों से काफी खुश हुए मंडलायुक्त ,डीएम को दी शाबाशी


नैनीताल। आयुक्त कुमाऊ मण्डल अरविन्द सिह हृयांकी ने निर्धारित रोस्टर के अनुसार सर्किट हाउस सभागार मे जनपद नैनीताल में संचालित किये जा रहे विकास कार्यो की गहनता से समीक्षा की। जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा जनपद मे अभिनव प्रयोग कर शासकीय चिकित्सालयो तथा दूरदराज के सरकारी विद्यालयों में स्मार्ट टीचिंग तथा दूरदराज के अस्पतालों में आशाघर, अल्टासाउन्ड, वैंटीलेटर, एचडीयू, आईसीयू के अलावा शौचालय निर्माण सुन्दर वाॅलपेंटिंग, हिलांस कैन्टीन, नैनीझील संरक्षण-सत्त निगरानी कार्य, बेतालघाट में टेलीमेडिसन व्यवस्था के लिए बधाई दी। उन्होने कहा इस प्रकार के जनहित एवं जनस्वास्थ्य के कार्यो के लिए जिलाधिकारी सविन बधाई के पात्र है। उन्होने कहा कि सविन वैलडन। आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल श्री हयांकी ने जनपद में संचालित हो रहे विकास कार्यों जिला योजना, राज्य सैक्टर, केन्द्र पोषित व वाह्य सहायतित योजनाओं में आवंटित बजट के सापेक्ष व्यय तथा लम्बित बजट की समीक्षा की गई। उन्होने कहा कि वित्तीय वर्ष की समाप्ति में काफी कम समय शेष है ऐसे में आवंटित धनराशि का सदुपयोग करते हुये विकास कार्यो को धरातल पर उतारा जाए।
बैठक में आयुक्त ने कहा कि वर्तमान समय में कोराना संक्रमण के कार्यों के कारण विकास कार्यों की गति धीमी हुई है लेकिन अब विकास कार्यों को पूर्ण गति देने के लिए सम्बन्धित अधिकारी लम्बित निर्माण कार्यों को गति देते हुए उन्हें धरातल पर उतारना सुनिश्चित करें ताकि आम लोगो को योजनाओं का लाभ मिल सके। आयुक्त ने निर्देश दिये कि जिन विभागों ने जिला योजना व अन्य मदो में व्यय नही किया है वे शीघ्र टेण्डर निकाल कर व्यय करना सुनिश्चित करें। उन्होंने विशेषकर लोक निर्माण विभाग, समाज कल्याण, कृषि, उद्यान, चिकित्सा, पशुपालन, पर्यटन, मत्स्य, गन्ना विकास, लद्यु उद्योग, युवा कल्याण, उरेडा, पंचायतीराज, जलसंस्थान, जिला पंचायत व पेयजल निगम के अधिकारियों को स्वीकृत बजट को तत्परता से व्यय करने के निर्देश दिये।


आयुक्त श्री हृयांकी ने पेयजल निगम के अधीक्षण अभियन्ता ओपी सिह द्वारा बजट की विस्तृत जानकारी समीक्षा बैठक मे ना दे पाने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी। शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुये मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री केके गुप्ता को निर्देश दिये कि जनपद मे 16 विद्यालयो जो जीर्णशीर्ण अवस्था मे है मरम्मत हेतु कार्यदायी संस्था से सामंजस्य स्थापित कर शीघ्र टेंडर निकालने के निर्देश दिये ताकि ससमय आवंटित बजट का उपयोग हो सके। आयुक्त ने उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि बीज हम खुद पैदा कर सकते है इसके लिए हमें बाहरी राज्यो ंसे बीज खरीदने के लिए निर्भर नही रहना है। अगर हम बीज का उत्पादन स्वयं करेंगे तो किसानो को बीज के लिए कोई परेशानी नही होगी। उन्होने पूल्ड आवास की समीक्षा के दौरान नाराजगी व्यक्त की कि नियोजन की कमी के कारण बजट व्यय नही हो पा रहा है। उन्होने अधिकारियों को पूल्डआवास योजना के तहत शीघ्र टेंडर कराने के साथ ही योजनाओं के क्रियान्वयन पर कार्य करने के निर्देश दिये ताकि ससमय बजट का उपभोग हो सके। युवा कल्याण की समीक्षा के दौरान श्री हृयांकी ने युवा कल्याण अधिकारी दीप्ति सिह को निर्देश दिये कि जनपद मे युवक मंगल दलों को जो खेल सामग्री कोविड 19 के चलते वितरित नही हुई थी उसकी व्यवस्था कर वितरण सुनिश्चित किया जाए।


आयुक्त श्री हृयांकी ने कहा कि कोविड 19 का खतरा पूरी तरह टला नही है लेकिन वाबजूद इसके जनमानस में कोविड 19 के प्रति उदासीनता एवं लापरवाही बरती जा रही है। शादी, विवाह व अन्य समारोह मेे स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासनिक अधिकारियो को चाहिए कि वह सामाजिक दूरी, मास्क व सेनेटाइजेशन व्यवस्था का निरीक्षण करें मानको के अनुसार वैकेट हाल, विवाह एवं समारोह आयोजकों द्वारा कोविड 19 के सम्बन्ध मे दिये गये दिशा निर्देशो का यदि अनुपालन ना रहा होतो नियमाुनसार कार्यवाही अमल मे लाई जाए। उन्होने कहा कि जिला योजना मद से कोेविड 19 के तहत सरकारी अस्पतालों की बेहतरी के लिए कार्य किया जाए।


आयुक्त श्री हृयांकी ने रोजगार परक योजनाओं की समीक्षा करते हुये उद्योग, पर्यटन नगर निकाय विभागो की जो स्वरोजगार योजनायें संचालित हैं उसका लाभ लाभार्थी तक पहुचाने के लिए दूर क्षेत्रो मे जाकर लोगो को जानकारी दें। जितने भी आवेदन समिति द्वारा स्वीकृत किये जा रहे है सम्बन्धित बैक से समन्वय कर लाभार्थियों को ऋण उपलब्ध कराने लिए समन्वय की भूमिका का निर्वहन करें साथ ही जो भी प्रवासी जनपद मे वापस आये हैं उन्हें स्थानीय स्तर पर ही स्वरोजगार से जोडने के लिए उद्योग विभाग पूर्ण तत्परता से कार्य करे। उन्होने जिला पर्यटन अधिकारी को होमस्टे को बढाये जाने हेतु नये पंजीकरण करने के भी निर्देश दिये। श्री हृयांकी ने उरेड विभाग को निर्देश दिये कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत लाभ लेने के लिए लोगों को प्रेरित करें तथा प्राप्त आवेदनो को तत्काल आॅनलाइन करते हुये शीघ्र कार्य प्रारम्भ करायें। उन्होनेे कहा कि ग्रोथ सेन्टरो ंके माध्यम से स्थानीय लोगो विशेषकर महिलाओ की आर्थिकी विकास किया जा सकता है ऐसे मे उद्योग एवं ग्राम विकास विभाग को संयुक्त रूप से ग्रोथ सेन्टर के माध्यम से आजीविका बढाने के कार्य करने चाहिए।


बैठक मे आयुक्त कुमाऊ श्री हृयांकी ने कि राजस्व व अन्य विभागो मे विभिन्न कार्मिेको के लम्बित पेंशन, पदोन्नित, विभिन्न देयको आदि की समीक्षा करते हुये ऐसे प्रकरणों को निस्तारित किया जाए। उन्होने कहा कि किसी भी कार्मिक का अहित ना हो तथा उसे सेवा के दौरान समय पर पदोन्नित सहित सेवानिवृत्ति तत्काल सभी भुगतान प्राप्त के साथ ही समय पर पेंशन का लाभ मिले इस हेतु सम्बन्धित अधिकारी पूरी जिम्मेदारी से कार्य करें। इस कार्य मे सम्बन्धित कोषागारो को भी अपनी सकारात्मक भूमिका निभानी होगी।


श्री हृयांकी ने कहा कि सीएम हैल्प लाइन के अन्तर्गत प्राप्त शिकायतो एवं जनसमस्याओ का तत्परता से निराकरण करने को कहा। उन्होने कहा कि सीएम हैल्प लाइन की अधिकांश कार्यवाही एल-1 स्तर पर लम्बित रहती है जो कि उचित नही है। समीक्षा के दौरान आयुक्त ने सभी विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों को निर्देश दिये है कि वह अनिवार्य रूप से अपने कार्यस्थल पर रहे ताकि लोगों को कठिनाई ना हो और लोगों को अपने कार्यो के लिए जिला कार्यालय या आयुक्त कार्यालय ना आना पडे।


आयुक्त ने कहा कि कहा कि कोर्ट केसों के निस्तारण में तेजी लायें क्योंकि लाकडाउन के चलते कोर्ट केसों के निस्तारण की गति ठहर गई थी, लिहाजा कोर्ट केसों के निस्तारण को अपनी प्राथमिकता मे शामिल करते हुये अधिक से अधिक संख्या मे लम्बित केसों का निस्तारण करें। उन्होनेे कहा कि वादो के निस्तारण होने से वादकारियों को राहत होती है।


समीक्षा दौरान जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने बताया कि जनपद में जिला योजना के अन्तर्गत 46.72 करोड अनुमोदित परिव्यय के सापेक्ष शासन से 38.61 करोड अवमुक्त हुये हैं जिसके सापेक्ष कोविड के चलते 12.98 करोड व्यय हुये है। इसी तरह राज्य सेेक्टर में 283.27 करोड के सापेक्ष 145.46 करोड अवमुक्त हुआ है जिसमें से 108.82 करोड व्यय हुये हैं। केन्द्र पोषित सेक्टर में 354.56 करोड के सापेक्ष 198.75 करोड के सापेक्ष 136.83 करोड व्यय हुये हैे। इसी तरह वाहृय सहायतित सेक्टर में 27.52 करोड के सापेक्ष 14.55 करोड अवमुक्त हुआ है जिसके सापेक्ष 13.50 करोड व्यय हुआ है। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 250 लक्ष्य के सापेक्ष 505 प्रार्थना पत्र बैंकों को स्वीकृत हेतु भेजे गये। जिसमे से बैकों द्वारा 125 प्रार्थना पत्रो पर ऋण स्वीकृत करते हुये 91 प्रार्थना पत्रो पर ऋण वितरित कर दिया गया है। वीरचन्द्र गढवाली योजना के अन्तर्गत 30 प्राप्त लक्ष्य के सापेक्ष 32 प्रार्थना पत्र बैको को भेजे गये। जनपद में 332 होमस्टे संचालित हैं जबकि 101 होमस्टे पर कार्य प्रगति पर है। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत 114 लक्ष्य के सापेक्ष 736 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुये हैं, जांच के उपरान्त 117 प्रार्थना पत्र ऋण स्वीकृति हेतु विभिन्न बैकों को भेजे गये जिसमे से 96 लाभार्थियो को ऋण वितरित किया गया है। उन्होने बताया कि उद्यमिता विकास के लिए उद्यमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न व्यवसायों हेतु 450 लोगो ंको प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होने बताया कि जनपद मे 7 ग्रोथ सेन्टर प्रस्तावित हैं जिसमे ंसे 6 स्वीकृत हो चुके है, 1 ग्रोथ सेन्टर संचालित है तथा 5 ग्रोथ सेन्टरो का निर्माण कार्य गतिमान है जिनको शीघ्र संचालित किया जायेगा। श्री बंसल ने बताया कि जलजीवन मिशन के अन्तर्गत कार्य त्वरित गति से किया जा रहा है, किसान सम्मान निधि का लाभ पात्र किसानो को दिया जा रहा है। उन्होने बताया कि जनपद में स्वास्थ्य व शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। चिकित्सालयों के अपग्रेेडेशन के साथ ही आधुनिक उपकरण व जांच लैब स्थापित किये गये हैं वही चिकित्सालयों मे जनस्वास्थ्य हेतु आईसीयू, एसएनसीयू व एचडीयू यूनिटेें भी स्थापित की गई हैैं। शिक्षा की गुणवत्ता बढाने एवं ई-लर्निग को बढावा देने के प्रयास किये जा रहे हैं सभी विद्यालयो मे बिजली,पानी की व्यवस्था के साथ ही स्मार्ट टीवी, व्हाइटबोर्ड लगाये गये है तथा प्रयोगशाला एवं लाइब्र्रेरी की स्थापना की गई है।


बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी नरेन्द्र सिह भण्डारी, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, उपजिलाधिकारी विवेक राय,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भागीरथी जोशी,अधीक्षण अभियन्ता जल संस्थान ए.एस अंसारी, अधीक्षण अभियन्ता सिचाई संजय शुक्ला, अघीक्षण अभियन्ता नलकूप संजय कुशवाहा, महाप्रन्धक उद्योग विपिन कुमार, अधिशासी अभियन्ता दीपक गुप्ता, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्व, मुख्य उद्यान अधिकारी भावना जोशी, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, उपनिदेशक अर्थ संख्या राजेन्द्र तिवारी, जिला अर्थ संख्या अधिकारी एलएम जोशी, एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, मुख्य कृषि अधिकारी धनपत कुमार, जिला पर्यटन अधिकारी अरविन्द गौड, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन के अलावा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।                              


सुरक्षा के साथ शांति सुनिश्चित की जाएंं

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। किसान संगठनों और उनके समर्थन में विपक्षी दलों द्वारा आहूत ‘भारत बंद को देखते हुए केंद्र सरकार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि बंद दौरान सुरक्षा कड़ी की जाए और साथ ही शांति सुनिश्चित की जाए। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जारी देशव्यापी परामर्श में कहा कि राज्य सरकारों तथा केंद्र शासित प्रदेश के प्रशासकों को सुनिश्चित करना चाहिए कि कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन किया जाए और सामाजिक दूरी बनाए रखी जाए।                                      


गाजियाबादः मतदाता सूची में नाम शामिल करें

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। स्थानीय निकाय एवं पंचायत चुनाव की मतदाता सूची में नाम शामिल करने के लिए युवाओं को मौका दिया गया है। निर्वाचन आयोग की ओर से जारी दिशा निर्देशों के तहत डीएम अजय शंकर पाण्डेय ने आज आदेश जारी किया है। जिसके अनुसार एक जनवरी 2021 को 18 साल की आयु पूरी करने वाले युवाओं को नाम मतदाता सूची में शामिल हो सकेगा। मतदाता पुनरीक्षण अभियान के इस चरण में सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी एंव डीएम अजय शंकर पांडे ने पूर्व में जारी सूचना के आधार पर संशोधित सार्वजनिक सूचना जारी करते हुए कहा कि युवाओं के साथ वो सभी अब अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज करवा सकते हैं। जो अभी तक किन्हीं कारणों से अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं करवा पाया है।                                       


विद्युत विभाग की लापरवाही से 1 की मौत

बिजली विभाग की लापरवाही से घट रही घटना


कौशांबी। विद्युत करंट की चपेट में आने से एक महिला की मौत हो गई है, मामला कोखराज थाना क्षेत्र का है। सूचना पुलिस को दे दी गई है। जानकारी के मुताबिक कोखराज थाना क्षेत्र के ग्राम महमदपुर निवासी गुड़िया देवी निषाद पत्नी प्रमोद 28 वर्ष की बिजली का करेंट लगने से मौके पर ही मौत हो गई। वह अपने घर पर टीवी चलाने के लिए प्लक लगा रही थी तभी अचानक टीवी में आग लग गयी।और वह विजली करंट की चपेट में आ गई। जिससे गुड़िया देवी की मौत हो गई है।गुड़िया का पति राज कोट में एक प्राइवेट कम्पनी में काम करता हैं। जबकि महिला की शादी सात वर्ष पूर्व हुई थी ।ग्रामीणों ने बताया कि गॉव के अंदर ग्यारह हजार की सप्लाई है। जिसके कारण यह घटना घटी हैं। पुलिस को दी गयी सूचना लेकिन घंटो बीते मौके पर पुलिस नही पहुँची है।


अजीत कुशवाहा


रेलवें लाइन पर अज्ञात महिला का शव मिला

रेल लाइन पर मिला महिला का शव


कौशांबी। सैनी कोतवाली क्षेत्र के गरई ग्राम सभा के पास हावड़ा दिल्ली रेल लाइन के डाउन लाइन पर एक अज्ञात महिला का शव मिला है। महिला की उम्र लगभग 60 वर्ष बताई जाती है। रेल लाइन के पास महिला के शव पाए जाने की जानकारी मिलते ही आसपास के तमाम ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। लेकिन काफी प्रयास के बाद भी महिला के शव की शिनाख्त ग्रामीण नहीं कर सके हैं। सूचना पर पहुँचे चौकी प्रभारी सिराथू हेमंत मिश्र ने महिला की लाश की शिनाख्त का प्रयास करवाया लेकिन खबर लिखे जाने तक महिला के शव की शिनाख्त नही हो सकी है। पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।


सन्तलाल मौर्य


हापुड़ः किसान आंदोलन का किया गया समर्थन

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


हापुड़। सैनी महासभा उत्तर प्रदेश के तत्वाधान में आज एक सभा का आयोजन मंडल कार्यालय पर किया गया। भारत एक कृषि प्रधान देश है, देश की अधिकांश जनसंख्या का भरण-पोषण कृषि के कारण ही होता है। देश के विकास में कृषि क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान हैं। वर्तमान सरकार की गलत नीतियों के कारण देश का किसान बर्बादी के कगार पर खड़ा हुआ है।
सैनी महासभा उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सैनी ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि सैनी समाज का मुख्य व्यवसाय कृषि है तथा कृषि से ही उसकी अर्थव्यवस्था चलती है। इसलिए सैनी समाज कृषि किसान आंदोलन का समर्थन करता है तथा केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कानूनों का विरोध करता है। उनहोने केंद्र सरकार से मांग की है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य का दायरा बढ़ाकर इसमें सभी फसलों को शामिल किया जाए और सरकार सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करें ताकि सभी किसानों को इसका लाभ मिल सके।
मेरठ मंडल अध्यक्ष डॉ मुकेश सैनी ने कहा कि किसानों को न्यूनतम मूल्य की गारंटी होनी चाहिए ताकि उसको पता हो कि उसकी लागत का उसको न्यूनतम मूल्य तो मिल ही जाएगा कारण न्यूनतम मूल्य न मिलने के कारण आज किसानों की आर्थिक स्थिति अत्याधिक कमजोर होती जा रही है। मेरठ जिला अध्यक्ष दिनेश सैनी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जो 1955 में लाए गए कानून को पुनः लागू किया जा रहा है जिसके तहत कोई भी भंडारण कितना भी कर सकता है यह उचित नहीं है इससे कालाबाजारी अत्याधिक पड़ेगी इसलिए इस कानून को तुरंत रद्द करना चाहिए भंडारण की एक निश्चित सीमा होनी चाहिए जो वर्तमान में चल रही है। युवा जिला अध्यक्ष हापुर योगेंद्र सैनी ने कहा कि किसान देश की रीढ़ है और यदि किसान ही बिक गया तो देश में क्या बचेगा जब किसान को अपना फसलों का उचित दाम व्यापारी नहीं देगा तो वह कहां जाएगा। इसलिए वर्तमान कानून पूर्ण रूप से रद्द किए जाने चाहिए। इस अवसर पर अनिल सैनी रोशन लाल सैनी कौशल सैनी मुकेश सैनी पदम सैनी गणपत सैनी ओम प्रकाश सैनी आदि उपस्थित रहे सभी ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि किसान आंदोलन में सैनी महासभा शामिल होगी।                               


किसानों के समर्थन में निकाली गई यात्रा को रोका

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी, प्रवीण कुमार 


हापुड़। धौलाना विधानसभा अचपलगड़ी में किसानों के समर्थन में निकाली गई यात्रा को धौलाना के अचपलगड़ी में
रोका। जहां धक्का-मुक्की हुई और 167 साथियों के साथ गिरफ्तारी दी गई। जिसमें समाजवादी पार्टी युवजन सभा के जिला अध्यक्ष संजय गहलोत व वरिष्ठ सपा नेता रामनरेश गौतम के नेतृत्व में महा जनसैलाब के साथ किसानों की आएंं।बढ़ाओ खेती बचाओ यात्रा निकाली गई और हापुड़ तहसील व हापुड़ कोतवाली के बाहर माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की गिरफ्तारी व जिला अध्यक्ष हापुड़ तेजपाल प्रमुख की गिरफ्तारी के बाद धरना प्रदर्शन किया।                                     


भ्रष्टाचारः केंद्र को 40,000 शिकायतें मिलींं

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते संक्रमण से पूरा देश परेशान है, लेकिन इस बीच रिश्वतखोर और भ्रष्टाचारी इसका फायदा उठाने में लगे हैं। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार को कोरोना वायरस से संबंधित भ्रष्टाचार की 40 हजार शिकायतें मिली हैं, इसमें रिश्वतखोरी, सरकारी अधिकारियों द्वारा गबन और सरकारी अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न के मामले शामिल हैं।



अब तक कुल 1.67 लाख से अधिक शिकायतें मिली

सरकार ने कोरोना वायरस से संबंधित शिकायतों के तुरंत समाधान के लिए इस साल अप्रैल में एक पोर्टल बनाया था। इस पर अब तक कुल 1.67 लाख से अधिक शिकायतें मिली हैं, जिनमें से लगभग 1.5 लाख शिकायतों को देखा गया है। इन शिकायतों को प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग की वेबसाइट पर डाला गया है।

'प्रगति' की बैठक में सामने आया मामला

हिंदुस्तान टाइम्स ने एक अधिकारी के हवाले से बताया है कि यह मुद्दा सबसे पहले 25 नवंबर को 'प्रगति' की बैठक में सामने आया था। 'प्रगति' (प्रो-एक्टिव-गवर्नेन्स एंड टाइमली इम्प्लीमेंटेशन) में विभिन्न मंत्रालय शामिल हैं और यह सरकार की प्रशासनिक सुधार के लिए की गई पहल है, जिसे साल 2015 में शुरू किया गया था।

पीएम ने अधिकारियों से की ये मांग

अधिकारी ने कहा, 'बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) यह जानना चाहते थे कि भ्रष्टाचार के बारे में कितनी शिकायतें मिली हैं और उन्हें कैसे संभाला गया। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मांगे गए डेटा को समेटा जा रहा है और सोमवार को बैठक में उनके सामने पेश किया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि पीएम शिकायतों की प्रवृति जानना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने तीन पी (3P)- पर्सन, प्रोसेस और पॉलिसी के बारे में जानकारी मांगी है.


किस तरह की शिकायतें आईं सबसे ज्यादा


रिपोर्ट में बताया गया है कि अधिकांश शिकायतें वीजा की मंजूरी, विदेश में फंसे भारतीयों को वापस लाने और आवश्यक सेवाओं की उपलब्धता को लेकर हैं। जिन श्रेणियों के तहत शिकायतें दर्ज की जाती हैं, उनमें अस्पतालों में अपर्याप्त सुविधाएं, PMCares निधि के लिए दान करने में समस्या, आवश्यक आपूर्ति नहीं करना, विदेश से भारतीयों को लाने की अपील, लॉकडाउन में कहीं फंस जाना, उत्पीड़न, लॉकडाउन का पालन न करना, परीक्षा-संबंधी और क्वारंटाइन-संबंधी जैसी समस्याएं हैं।                    


सर्वोच्च खेल सम्मान लौटाना होगाः बिजेंदर

आनंद भट्टाचार्य


नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में किसानो का प्रदर्शन लगातार जारी है। इस आंदोलन को राष्ट्रीय नेताओं के साथ साथ स्थानीय नेता और खेल, सिनेमा जगत से जुड़े हस्तियों का भी समर्थन मिल रहा है। इसके साथ ही कृषि कानूनों के खिलाफ अब अवार्ड वापसी का सिलसिला भी शुरू हो गया है। इसी बीच कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों का समर्थन करने के लिए बॉक्सर विजेंद्र सिंह सिंघु बॉर्डर पहुंचे। उन्होंने सरकार से खेल का सबसे बड़ा सम्मान राजीव गांधी खेल पुरस्कार वापस करने की चेतावनी भी दी।


बता दें कि मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले सिंह राष्ट्रीय स्तर के प्रोफेश्नल बॉक्सर हैं। उन्होंने 2008 Beijing Olympics, 2009 World Championships और 2010 Commonwealth Games में ब्रोंज मेडल व साल 2006 और 2014 Commonwealth Games में सिल्वर मेडल (सभी मिडलवेट डिविजन में) में अपने नाम किए थे। उन्हें बॉक्सिंग में शानदार प्रदर्शन के लिए पद्म श्री, कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स के सम्मानों ने नवाजा जा चुका है। वही केंद्र सरकार ने उसे 2009 में राजीव गांधी खेल रत्न सम्मान से सम्मानित किया था।                                  


बालू ट्रैक्टर से पुलिस कर रही अवैध वसूली

बालू लदे ओवरलोड ट्रैक्टर से पुलिस कर रही अवैध वसूली


आखिर किसके सह पर चल रहा है चरवा पुलिस के अवैध वसूली का यह खेल


कौशांबी। संगठित अपराध पर रोक लगाने का निर्देश बार-बार पुलिस अधिकारी दे रहे हैं। लेकिन पुलिस अधिकारियों का यह निर्देश केवल भाषण बाजी तक सीमित रह गया है। डीजीपी से लेकर एडीजी तक बार-बार यह निर्देश जारी कर रहे हैं, कि जिन थानेदारों के क्षेत्र में संगठित अपराध से वसूली होती है। उन थानेदारों पर कठोर कार्यवाही होगी लेकिन बेखौफ तरीके से  संगठित अपराध से वसूली करने वाले थाना पुलिस पर कार्यवाही होती नहीं दिख रही है। जिससे आला अधिकारियों के निर्देशों पर भी राजनीति समझ में आने लगी है। ताजा मामला चरवा थाना क्षेत्र का है। जहां खुलेआम  चरवा थाने की पुलिस अवैध तरीके से बालू परिवहन में लगे ट्रैक्टर चालकों से वसूली कर रही है। अवैध बालू लदे ट्रैक्टर चालको से वसूली के लिए चरवा थाने से बाकायदा सिपाही होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जाती है लेकिन यह सब खुलेआम होने के बाद भी चरवा पुलिस की वसूली पर कार्यवाही नहीं हो रही है। आखिर कागजों पर कब तक पुलिस आला अधिकारी निर्देश देकर पुलिसिया व्यवस्था चलाएंगे यह योगी सरकार पर बड़ा सवाल है। चरवा थाना अंतर्गत ग्राम सभा सैयद सरावा से होकर गुजर रहे ओवरलोड बालू लदे ट्रैक्टर से पुलिस द्वारा अवैध वसूली की जा रही है। पुलिस की अवैध वसूली का यह नजारा शनिवार रविवार और सोमवार तीनों दिन खुलेआम देखने को मिला है। क्या प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं है या फिर जानकारी है, तो प्रशासन क्यों मौन है। सैयद सरावा चौराहे से होकर प्रतिदिन 25 से 30 ओवरलोड बालू लदा ट्रैक्टर गुजरते हैं जिनसे सिपाहियों के द्वारा मोटी रकम वसूला जाता है। चरवा पुलिस की यह अवैध वसूली बड़ी जांच का विषय है और जांच हुई तो जिम्मेदारों पर गाज गिरना तय है।


सुशील केसरवानी


कौशांबीः सपाइयों की पुलिस से झड़प हुई

किसान यात्रा निकाल रहे सपाइयों की पुलिस से झड़प


सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया


कौशाम्बी। किसान आंदोलन को समर्थन देने और सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे समाजवादी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को चरवा थाना व पिपरी थाना में सोमवार को बड़ी संख्‍या में गिरफ्तार किया गया है। चरवा थाना व पिपरी थाना क्षेत्र में किसान यात्रा निकाल रहे चंद्रबली सिंह पटेल समेत करीब 50 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हंगामे और झड़प के बीच पुलिस सपाइयों को पुलिस लाइन ले गई।सपा के पूर्व प्रत्यासी चंद्रबली पटेल के नेतृत्व में बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता दोपहर को धरना प्रदर्शन करने जा रहे थे  जिस पर चरवा भरवारी रोड पर तैनात पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया। इसे लेकर सपा कार्यकर्ताओ और सीओ चायल श्यामकांत में झड़प शुरू हो गई। जिसे लेकर सीओ ने पिपरी , पुरामुफ्ती चरवा थाना पुलिस फ़ोर्स के साथ सभी सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया।


गणेश साहू


सपा कार्यकर्ता, अधिकारियों की गिरफ्तारी

कृषि बिल के विरोध और किसान आन्दोलन के समर्थन में सपा का शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों मे भारी विरोध-किए गए गिरफ्तार


भाजपा सरकार की कृषि नीतियों के विरोध एवं आंदोलनरत किसानों के समर्थन में उतरे सपाईयों को पुलिस ने जार्ज टाउन से जबरन गिरफ्तार किया


सपा के जिला कार्यालय जॉर्ज टाउन के सामने सुबह से ही बना रहा पुलिस का घेरा-ज़िला कार्यालय बना पुलिस की छावनी
कार्यालय से जिला कचेहरी आते सपाईयों को रास्ते में रोककर पुलिस ने किया गिरफ्तार, पुलिस लाइन में बैठाए गए सभी सपाई


भाजपा ने किसानों के साथ धोखा किया,मंगलवार को भारत बंद का पूरा समर्थन रहेगा – योगेश यादव


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। भाजपा सरकार की कृषि विरोधी नीतियों और दिल्ली में आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में  सड़क पर उतरे सपा नेताओं, पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को पुलिस ने जबरन गिरफ्तार कर लिया l सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आज सपा जिला अध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव के नेतृत्व में सपाईयों का जत्था “किसान विरोधी कानून वापस लो, “ किसानों के साथ अन्याय बंद करो “, किसानों के सम्मान में – सपा उतरी मैदान में “समाजवादीपार्टी जिन्दाबाद आदि नारे लगाते हुए हाथ में सपा का झंडा लहराते हुए जैसे ही पार्टी के जिला कार्यालय जॉर्ज टाउन से निकल कर कचेहरी की ओर कूच किया तो पहले से ही तैनात पुलिस फोर्स सक्रिय हो गई और आगे बढ़ने से रोकने का प्रयास किया l सपाई पुलिस को धक्का दे आगे बढ़े, कुछ कार्यकर्ता जमीन पर बैठ कर नारे लगा रहे थे और वरिष्ठ नेताओं से पुलिस और प्रशासन के लोग आगे न बढ़ने की हिदायत दे कहासुनी करने लगे l  जिलाध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव, महानगर अध्यक्ष सैयद इफ्तेख़ार हुसैन,स्नातक एम एल सी डॉ मान सिंह यादव, विधानपरिषद सदस्य राम वृक्ष यादव, पूर्व सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल, पूर्व मंत्री हीरामणि पटेल, संदीप पटेल, राम मिलन यादव अनिल यादव, दान बहादुर मधुर आदि सहित सैकड़ों की संख्या में सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने आगे बढ़ने से रोका, हल्का धक्का मुक्की भी हुई लेकिन शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने निकले सपाईयों को पुलिस ने जबरन गिरफ्तार कर विभिन्न वाहनों में बैठा पुलिस लाइन उठा लाई l युवजन सभा के नि वर्तमान जिला अध्यक्ष संदीप यादव ट्रैक्टरों के जुलूस के साथ आ रहे थे उन्हें सी एम पी के पास रोक कर गिरफ्तार कर लिया गया l अदील हमज़ा को उनके आवास से ही गिरफ्तार किया गया।विक्रम पटेल,अभिमन्यू पटेल ने धुमनगंज में कृषि क़ानून के विरोध में निकिला साईकिल जुलूस,यथांश केसरवानी के साथ बड़ी संख्या में युवाओं ने अखिलेश यादव की गिरफ्तारी पर सुभाष चौराहे पर किया प्रदर्शन
गिरफ्तारी के पहले पत्रकारों से बातचीत में सपा जिला अध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव ने कहा कि भाजपा सरकार कृषि नीतियों ने किसानों को अपने जमीन गिरवी रखने और खुद को मालिक से मजदूर बनने के लिए मजबूर किया है l यह किसानो के साथ बहुत बड़ा धोखा है l आज देश में किसान आत्महत्या करने के लिए मजबूर है l श्री यादव ने धान की खरीद न होने, बिचौलियों के मालामाल होने, भाजपा की जन विरोधी के खिलाफ हजारों किसानों के आंदोलन रत होने का मुद्दा उठाया l कहा कि सपा किसानो के साथ संघर्ष में खड़ी है और किसानों के आंदोलन के समर्थन में लगातार प्रदर्शन जारी रहेगा जब तक किसानों के साथ उचित हल नहीं निकल रहा l   सपा जिला अध्यक्ष श्री योगेश चन्द्र यादव ने मंगलवार को भारत बंद का समर्थन किया है l 
सपा के जिला प्रवक्ता दान बहादुर मधुर के अनुसार राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर पूरे जनपद की सभी विधानसभाओं में किसान यात्रा निकलने की तैयारी की गई थी इसी क्रम में सपा जिला कार्यालय से जिला कचेहरी तक ट्रैक्टर से किसान यात्रा निकलने के लिए पार्टी के लोग इकट्ठा हुए थे l मगर पुलिस ने ट्रैक्टरों को नहीं आने दिया, जगह जगह सपा कार्यकर्ताओं को रोका गया, कुछ नेताओं को उनके घरों में नजरबंद किया गया l 
   सपा प्रवक्ता श्री मधुर ने दावा किया की पुलिस, प्रशासन के भारी दबाव के बावजूद जिले में  मेजा, हंडिया, प्रताप पुर, फूलपुर, सोराव, फाफामऊ, बारा, कोराव, कर छना दो दर्जन से अधिक जगह “किसान यात्राएं “निकाली गई है l जगह जगह हज़ारों की संख्या में सपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी l 
गिरफ्तार होने वालों में सर्व श्री योगेश चन्द्र यादव, सैयद इफ्तेख़ार हुसैन, डॉ मानसिंह यादव, राम वृक्ष यादव, नागेन्द्र पटेल, हीरामणि पटेल, संदीप पटेल, रवींद्र यादव, महावीर यादव, रवि मिश्रा, दिनेश यादव, श्रीमति कमला यादव, मंजू पाठक, सत्य भामा मिश्रा, मंजू यादव,मो०शारिक़,अखिलेश गुप्ता, महबूब उस्मानी, राजेश गुप्ता, रवींद्र यादव,मुशीर अहमद,वीरु पासी,अरुण यादव,रेहान अहमद,शिबू यादव,पवन पासी,आलोक मिश्रा, मुर्शिद, कल्लू यादव, रक्षा मंत्री, रवि यादव, संतलाल वर्मा,शिव यादव,मुराद अली मंसूरी,टीपू सुलतान,नाटे चौधरी, राकेश सिंह, लालाजी एडवोकेट, रामा यादव, डॉ एस पी सिंह पटेल, सुरेश यादव,राकेश यादव,जी एस यादव,यथांश केसरवानी सहित 50 से अधिक सपा नेता एवं कार्यकर्ताओं को पुलिस लाइन में रखा गया है l              


अस्तित्व की लड़ाई, विपक्षी आंदोलन में कूदे

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। भाजपा ने नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा लागू किये गए कृषि सुधारों के खिलाफ विपक्षी दलों के रुख के लिये उनकी आलोचना की और उन पर “शर्मनाक दोहरे मापदंड” अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व में उन्होंने नए कानून के कई प्रावधानों का समर्थन किया था। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आरोप लगाया कि किसानों का एक वर्ग “निहित स्वार्थ” वाले कुछ लोगों के चंगुल में है और सरकार सुधारों को लेकर उनके बीच फैलाये गए भ्रम को दूर करने पर काम कर रही है। किसानों का एक वर्ग इन नए कृषि कानूनों को लेकर विरोध में है। राजनीतिक दलों को अपने प्रदर्शन से नहीं जुड़ने देने के लिये कृषक संघों की सराहना करते हुए प्रसाद ने कहा कि अपना अस्तित्व बचाने के लिये भाजपा के विरोधी उनके प्रदर्शन में कूद पड़े हैं जबकि विभिन्न चुनावों में देश की जनता उन्हें बार-बार खारिज कर चुकी है।                                           


टीवी कलाकार दिव्या भटनागर का निधन

मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। सोमवार सुबह टीवी इंडस्ट्री को जोरदार झटका लगा है। खबर है, कि पिछले कुछ दिन से वेंटिलेटर पर जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही एक्ट्रेस दिव्या भटनागर का निधन हो गया है। उन्हें कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस हुआ था। जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए गोरेगांव के एसआरवी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आपको बता दें दिव्या भटनागर ने टीवी सीरियल ये रिश्ता क्या कहलाता है। में गुलाबो का किरदार निभाने के बाद अपनी टीवी इंडस्ट्री में एक अलग पहचान बनाई थी।                                  


एमपीः महिला आयोग 9 को सुनवाई करेगा

महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक 9 दिसम्बर को करेंगी प्रकरणों की सुनवाई


असीम अग्रवाल 
मुंगेली। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमति किरणमयी नायक 9 दिसम्बर को प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में महिलाओं के उत्पीडन से संबंधित प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई करेगी। राज्य महिला आयोग के सचिव ने बताया कि सुनवाई के दौरान सभी पक्षकार अपने निर्धारित समय में उपस्थित होगे। उपस्थिति हेतु सोशल डिस्टेसिंग का पालन करेंगे। चेहरे, मुह और नाक को ढकते हुए तीन लेयर वाले मास्क या मोटा कपडे़ का रूमाल बांध कर आएंगे। सुनवाई के दौरान पक्षकारो के लिए सेनेटाईजर एवं अन्य सुविधाओं की व्यवस्था की जाएगी।                                   


पेट्रोल 30 पैसे, डीजल 26 पैसे महंगा हुआ

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। शादियों के सीज़न के बीच पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को लगातार छठे दिन भी तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की है। सरकारी कंपनियों ने आज पेट्रोल के दाम में 30 पैसे प्रति लीटर और डीजल के दाम में 26 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया है। रविवार को ही पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था। कि अमेरिका के राष्ट्रपति चुनावों और कुछ दूसरे देशों की अंदरूनी समस्याओं की वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल काम दाम में बढ़ा है।
महानगरों में क्या हैं। आज पेट्रोल-डीजल के भाव...
आज की बढ़ोतरी के बाद राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल का भाव 83.71 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। जबकि, डीजल का भाव 73.83 रुपये हो गया है। इसी प्रकार आज आर्थिक राजधानी मुंबई मे पेट्रोल का भाव 90 रुपये प्रति लीटर के पार जा चुका है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट अपडेट जानकारी के मुताबिक, मुंबईवासियों को आज 90.34 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल खरीदना होगा यहां डीजन का आज नया भाव 80.51 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है।
कोलकाता और चेन्नई में आज पेट्रोल के दाम की बात करें तो आज की बढ़ोतरी के बाद यह क्रमश: 85.19 रुपये और 86.51 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इसी प्रकार इन दोनों महानगरों में आज डीजल का भाव 77.44 रुपये और 79.21 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है।
कच्चे तेल का भाव कम होने की उम्मीद...
रविवार को धर्मेंद्र प्रधान ने अनुमान जताया कि पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन के कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने के हाल के फैसले के बाद ईंधनों के दामों में स्थिरता आएगी। प्रधान ने कहा ओपेक ने दो दिन पहले ही फैसला किया है। कि वह कच्चे तेल का पांच लाख बैरल उत्पादन हर रोज बढ़ाएगा इसका हमें फायदा मिलेगा और हमारा अनुमान है। कि (ईंधनों के) दाम स्थिर होंगे। जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ते हैं। तो यहां (भारत में) भी (ईंधनों के) दाम बढ़ते हैं। 
हर दिन 6 बजे बदलती है। कीमत...
बता दें कि प्रति दिन सुबह छह बजे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। सुबह छह बजे से ही नए रेट्स लागू हो जाती हैं। पेट्रोल व डीजल के दाम में कीमत में एक्साइज ड्यूटी डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है।
ऐसे चेक करें पेट्रोल-डीजल के दाम...
आप एसएमएस के जरिए पेट्रोल-डीजल की कीमत का पता लगा सकते हैं. पेट्रोल डीजल की कीमतें रोजाना सुबह 6 बजे अपडेट हो जाती हैं। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक आपको आरएसपी के साथ अपने शहर का कोड टाइप कर 9224992249 नंबर पर एस एम एस भेजना होगा। हर शहर का कोड अलग होता है। ये आप आईओसीएल की वेबसाइट से देख सकते हैं। वहीं बीपीसीएल कस्टमर लिखकर 9223112222 और एचपीसीएल कस्टमर लिखकर 9222201122 मैसेज भेजकर अपने शहर में पेट्रोल-डीजल की कीमत जान सकते हैं।                                 


किसानों के मन की बात सुनें सरकारः कांग्रेस

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कांग्रेस ने किसान संगठनों की ओर से आहूत ‘भारत बंद’ से एक दिन पहले सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार को ‘अहंकार छोड़कर’ किसानों के मन की बात सुननी चाहिए और कृषि से संबंधित ‘काले कानूनों’ को वापस लेना चाहिए। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि सरकार को कृषि कानूनों को रद्द करना होगा और इससे कम, कुछ भी मंज़ूर नहीं होगा। कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘देश का किसान राजनीतिक दायरे से ऊपर उठकर एकजुट है। हरित क्रांति में नेतृत्व की भूमिका निभाने वाले पंजाब ने खेती व्यापारीकरण के खिलाफ क्रांति की है। हमें गर्व है कि कांग्रेस किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है।’’                               


छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार से मान्यता प्राप्त गाज़ियाबाद जिले के सभी हाई स्कूल/इंटर कॉलेज/ डिग्री/ तकनीकी/ व्यावसायिक/ शैक्षणिक संस्थानों एवं उनमें पढ़ने वाले पिछड़ी जाति के कक्षा 9-10 व 11-12 के छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत पुनः जारी समय सारिणी के अनुसार पूर्व दशम छात्रवृत्ति के अनुसार छात्रों द्वारा ऑनलाइन आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 7 दिसंबर तथा संस्था द्वारा छात्रों द्वारा प्राप्त आवेदन पत्रों को फॉरवर्ड करने की अंतिम तारीख 14 दिसंबर 2020 है। पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग दशमोत्तर छात्रवृत्ति के लिए छात्रों द्वारा ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तारीख 15 दिसंबर तथा संस्था द्वारा आवेदन फॉरवर्ड करने की अंतिम तिथि 29 दिसंबर है।                                 


एमपी में यूपी से सख्त होगा लव जिहाद कानून

लखनऊ/ भोपाल। लव जिहाद के बढ़ते मामलों को भाजपा शासित राज्यों ने काफी गंभीरता से लिया है और राज्य इसके खिलाफ कानून बना रहे हैं। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कानून बनाकर इस अमल करना भी शुरू कर दिया और कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया है। अब मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार लव जिहाद पर उत्तर प्रदेश से भी कड़ा कानून लाने जा रही है।                                     


सीएआइटी नहीं ले रही 'भारत बंद' में भाग

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। भारत के सबसे बड़े व्यापारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स और ट्रांसपोर्ट सेक्टर के बड़े संगठन ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएन का कहना है कि की देश का व्यापारी और ट्रांसपोर्ट 8 दिसंबर को हो रहे भारत बंद में शामिल नहीं है। कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि कल दिल्ली समेत देशभर के बाज़ार पूरी तरह से खुले रहेंगे। व्यापारी दुकानों पर अपना माल बेचेंगे और ट्रांसपोर्ट की गाड़ियां भी चलेंगी। वहीं ऐटवा के राष्ट्रीय चैयरमैन प्रदीप सिंघल और अध्यक्ष महेंद्र आर्य ने भी यह ऐलान किया है।


समझेंं भिंडी की खेती, करें लाभ अर्जित

परिचय:- भिंडी एक लोकप्रिय सब्जी है। इसे लेडी फिंगर या ओकरा के नाम से भी जानते हैं। इसकी अगेती फसल से अधिक लाभ अर्जित कर सकते है। इसकी खेती भारत के हर राज्यों में की जाती है। भिंडी की खेती वर्ष में दो बार होती है, इसलिए लगभग वर्ष भर भिंडी उपलब्ध रहता है। भिंडी में भरपूर पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह अनेक बीमारियों में भी उपयोगी है।


खेत की तैयारी:- बीज के अंकुरण के लिए 27 से 30 डिग्री से.ग्रे. तापमान उपयुक्त माना जाता है। तापमान में अधिक कमी होने पर अंकुरण नहीं होता है। अच्छी जल निकासी वाली किसी भी भूमि में भिंडी की खेती की जा सकती हैं


लवणीय या छड़ीय भूमि इसके लिए उपयुक्त नहीं है। खेत तैयार करने के लिए खेत को दो–तीन जुताई के बाद पाटा चला कर समतल कर मिट्टी को भुरभुरी बना लें।


विकशित प्रजातियाँ


पूसा ए – 4 पैदावार ग्रीष्म में 10 टन व खरीफ में 15 टन प्रति हेक्टयर है। परभनी क्रांति पैदावार 9–12 टन प्रति हैक्टेयर है।


पंजाब – 7 पैदावार 8–12 टन प्रति हैक्टेयर है।


अर्का अभय, अर्का अनामिका, वर्षा उपहार, हिसार उन्नत, वि.आर.ओ.- 6 कुछ अन्य प्रजातियाँ हैं जो दोनों ऋतुओं में पाई जाती है।


बुआई एवं बीज की मात्रा:- खेत को तैयार करने के बाद खेतों में भिंडी की बुआई की जाती है। वर्षा कालीन भिंडी के लिए कतार से कतार की दुरी 40 – 45 से.मी. तथा पौधों की बीच की दुरी 25 – 30 से.मी. का अंतराल उचित रहता है। ग्रीष्मकालीन भिंडी की बुआई भी कतारों में उचित दूरी के साथ करें।


बुआई का समय:- ग्रीष्मकालीन भिंडी की बुआई फ़रवरी–मार्च वर्षकालीन भिंडी की बुआई जून-जुलाई भिंडी की व्यापारिक रूप से लगातार फसल लेने के लिए तिन सप्ताह के अंतराल पर फ़रवरी से जुलाई के मध्य अलग – अलग खेतों में भिंडी की बुआई करनी चाहिए।


खाद व उर्वरक:- प्रति हेक्टयर 15 से 20 टन गोबर की खाद दे सकते हैं। रासायनिक खाद में 80 किलोग्राम नाईट्रोजन, 60 किलोग्राम फास्फोरस, तथा 60 किलोग्राम पोटाश प्रति हेक्टयर देना उचित है। नाईट्रोजन की आधी मात्रा, फास्फोरस तथा पोटाश के साथ बुआई से पहले भूमि में दे। शेष नाइट्रोजन को दो भागों में 30 से 40 दिनों के अंतराल पर दे।


भिंडी की सिंचाई, खरपतवार नियंत्रण तथा रोग उपचार।


खरपतवार नियंत्रण:- भिंडी की फसल में खरपतवार नियंत्रण आवश्यक है। अतः बुआई के 15 से 20 दिन बाद प्रथम निराई-गुडाई करना आवश्यक है।


फ्लूक्लोरेलिन की 1.0 कि.ग्रा. प्रति हैक्टेयर की दर से खेत में बीज बोने के पूर्व मिलाने से खरपतवार नियंत्रण किया जा सकता है। लेकिन खरपतवार नियंत्रण के लिए इसका उपयोग जितना कम करें उचित होगा।


सिंचाई:- सिंचाई मौसम के आधार पर आव्यशकता अनुसार करना चाहिए। मार्च महीने में 10 से 12 दिन, अप्रैल माह में 7 से 8 दिन और मई – जून में 4 से 5 दिन के अंतराल पर सिंचाई की जा सकती है। वर्ष ऋतू में सिंचाई करने की जरुरत नहीं हैं।


भिंडी की बीज खरीदते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए की बीज रोगरोधी हो।


पीत शिरा रोग – रोकथाम के लिए 20 प्रतिशत एस. पी. की 5 मिली./ग्राम मात्रा प्रति 15 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।


चूर्णिल आसिता – इस रोग की रोकथाम के लिए प्रतिशत ई.सी. की 1.5 मिली. मात्रा प्रति लीटर पानी में घोलकर 2 या 3 बार 12-15 दिनों के अंतराल पर छिड़काव करना चाहिए।             


गुरु नानक का 551वां प्रकाश पर्व मनाया

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। सामाजिक समरसता मंच द्वारा राजेन्द्र नगर के राधेश्याम पार्क में गुरु नानक देव का 551 वे प्रकाश पर्व को मनाया गया। कार्यक्रम में गाजियाबाद सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के अध्यक्ष सरदार मंजीत सिंह ने मुख्य अतिथि के रुप उपस्थित थे। सरदार मंजीत सिंह ने उपस्थित लोगों को गुरु नानक देव जी के जीवन और उनके दिखेगा गए मार्ग के बारे में विस्तार से बताया।                                           


ताबूत की आखिरी कील 'संपादकीय'

ताबूत की आखिरी कील    'संपादकीय'
8 दिसंबर का दिन इतिहास में भाजपा के कुशासन और कुनितियों के कारण सदैव स्मरण किया जाएगा। सरकार के विरुद्ध देश का किसान, छोटे-बड़े राजनीतिक दलो के साथ-साथ छोटी-बड़ी गैर सरकारी संस्थाएं भी अन्नदाताओं के साथ आंदोलन में खड़ी हो चुकी है। कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे पिछले 11 दिनों से किसान शांतिपूर्वक ढंग से आंदोलन कर रहे हैं। इस बीच किसान और सरकार के बीच वार्तालाप का लंबा दौर भी चला। 5 बार भाजपा के शीर्ष नेतृत्व और आंदोलनकारी किसानों के नेताओं के बीच बातचीत भी हुई। लेकिन परिणाम स्वरूप किसान वहीं का वहीं खड़ा है, जहां से शुरुआत हुई थी। सरकार कि निष्ठुरता और हठधर्मिता यह स्पष्ट कर रहे हैं कि सरकार अहंकार और सत्ता के मद में किसान प्रदर्शनकारियों का मजाक बना रही है। यह मजाक सरकार को कितना भारी पड़ेगा ? इसका तो ठीक-ठीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। परंतु सरकार की चूल हिलना निश्चित हो गया है।
सरकार की किसान विरोधी नीतियों के कारण देश की जनता सरकार के पाले को छोड़कर किसानों की टोली में मिल गई है। जिसके परिणाम स्वरूप राष्ट्रव्यापी बंद और आंदोलन का रूप और अधिक विकराल हो जाएगा। यह सरकार की नींद हराम करने के लिए नहीं, वरन सरकार को और भाजपा को धूमिल करने का काम करेगा। किसान आंदोलन के कारण सरकार की नीतियों और किए गए कार्यों की हर तरफ भर्त्सना होगी। यह आम हो जाएगा, आखिर देश के करोड़ों किसानों की हितकर बातें क्यों नहीं सुनी गई, क्यों नहीं मानी गई ?
सरकार स्वार्थ में अंधी और बहरी हो गई है, जो किसानों के खिलाफ मोर्चा खोलने को तैयार है। हालांकि यह आंदोलन भाजपा नेतृत्व वाली सरकार के 'ताबूत की आखिरी कील' साबित होगा। यह मात्र आंदोलन नहीं है, बेलगाम सरकार पर अंकुश भी है। 
राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'                  


दिल्लीः एंट्री प्वाइंट्स पर कैसी आवाजाही ?

किसानों का आंदोलन जारी, सोमवार सुबह दिल्ली के एंट्री प्वाइंट्स पर कैसी है आवाजाही?


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। किसानों की ओर से केंद्र सरकार के किसी कानून का लगातार विरोध किया जा रहा है। किसान केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में पिछले कई महीनों से सड़कों पर उतरे हुए हैं। हालांकि अब करीब 10 दिनों से किसान दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं। और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। वहीं किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण दिल्ली के कई एंट्री प्वाइंट्स पर आवाजाही प्रभावित देखने को मिल रही है। दिल्ली बॉर्डर पर नाराज किसान डटे हुए हैं। और केंद्र सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। किसानों का कहना है। कि जब तक केंद्र सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेते हैं। तब तक ये विरोध जारी रहेगा। इस बीच दिल्ली बॉर्डर पर आम यातायात भी काफी प्रभावित देखने को मिल रहा है। सोमवार की सुबह भी दिल्ली के अलग-अलग एंट्री प्वाइंट्स पर वाहनों की भारी भीड़ देखने को मिली है।
कई बॉर्डर पूरी तरह से बंद
किसान आंदोलन में सिंघु बॉर्डर उन बॉर्डर में शामिल है। जो पहले दिन से ही बंद पड़ा हुआ है। किसानों के प्रदर्शन के कारण सिंघु बॉर्डर पूरी तरह से सील है। इसके साथ ही यहां भारी सुरक्षाबल तैनात हैं। इसके अलावा दिल्ली और हरियाणा को जोड़ने वाले टिकरी बॉर्डर पर भी किसानों की ओर से लगातार प्रदर्शन चल रहा है। यहां भी आवाजाही काफी प्रभावित हैं। इसके अलावा नोएडा-दिल्ली को जोड़ने वाले चिल्ला बॉर्डर भी किसानों ने डेरा डाला हुआ है। चिल्ला बॉर्डर के रास्ते ट्रैफिक थप्प हो चुका है।
इन बॉर्डर पर आवाजाही
वहीं दिल्ली-यूपी को जोड़ने वाले गाजीपुर बॉर्डर पर भी किसानों का विरोध जारी है। यहां भी यातायात प्रभावित है। दूसरी तरफ बदोसराय बॉर्डर से केवल दो पहिया और कार को आने-जाने की इजाजत है। झटीकरा बॉर्डर पर सिर्फ दो पहिया वाहन को आवाजाही की इजाजत है। हालांकि दिल्ली-नोएडा को जोड़ने वाला डीएनडी बॉर्डर, जीटी रोड पर अप्सरा बॉर्डर, वजीराबाद में भोपुरा बॉर्डर पर आवाजाही खुली है। वहीं कालिंदी कुंज बॉर्डर, सूरजकुंड बॉर्डर और बदरपुर बॉर्डर खुले हैं।                                   


कारोबारियों के लिए क्यूआरएमपी योजना

जीएसटी: छोटे कारोबारियों के लिए सरकार ने शुरू की क्यूआरएमपी योजना, जानिए किसको होगा फायदा


हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। सरकार ने माल एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के तहत छोटे करदाताओं के लिए तिमाही रिटर्न दाखिल करने और करों के मासिक भुगतान (क्यूआरएमपी) की योजना शुरू की है। ऐसे करदाता जिनका पिछले वित्त वर्ष में वार्षिक कारोबार पांच करोड़ रुपये तक रहा है और जिन्होंने अपना अक्तूबर का जीएसटीआर-3बी (बिक्री) रिटर्न 30 नवंबर 2020 तक जमा कर दिया है, इस योजना के पात्र हैं। एक जनवरी 2021 से मिलेगी अनुमति...
जीएसटी परिषद ने बैठक में कहा था कि पांच करोड़ रुपये तक के कारोबार वाले पंजीकृत लोगों को एक जनवरी 2021 से अपना रिटर्न तिमाही आधार पर दाखिल करने और करों का भुगतान मासिक आधार पर करने की अनुमति दी जा सकती है। क्यूआरएमपी योजना को पांच दिसंबर को पेश किया गया है। करदाताओं को मिलेगा ये विकल्प...
इससे पांच करोड़ रुपये के कारोबार वाले करदाताओं को जनवरी-मार्च से अपना जीएसटीआर-1 और जीएसटीआर-3बी रिटर्न तिमाही आधार पर दाखिल करने का विकल्प मिलेगा। करदाता प्रत्येक माह चालान के जरिए मासिक देनदारी के स्व-आकलन या पिछले दाखिल तिमाही जीएसटीआर-3बी रिटर्न की शुद्ध नकद देनदारी के 35 फीसदी के बराबर जीएसटी का भुगतान कर सकते हैं। तिमाही जीएसटीआर-1 और जीएसटीआर-3बी रिटर्न एसएमएस के जरिए भी जमा कराया जा सकता है।                                         


दिलीप कुमार की देखभाल कर रही है बानो

सायरा बानो ने दिया दिलीप कुमार का हेल्थ अपडेट, कहा- ‘उनकी सेहत ठीक नहीं है, उनके लिए दुआ करें’


मुंबई। बॉलीवुड की दिग्गज अदाकारा सायरा बानो और दिलीप कुमार बॉलीवुड के उन कपल्स में से हैं, जिनके प्यार की मिसाल दी जाती है। दोनों की शादी को 54 साल हो चुके हैं और आज भी दोनों एक-दूसरे का साथ निभा रहे हैं। दोनों के प्यार में आज भी कोई कमी नहीं दिखती है। दिलीप कुमार की सेहत पिछले कई सालों से ठीक नहीं है, ऐसे में सायरा बानो ही हैं, जो सालों से पति दिलीप कुमार की देखभाल कर रही हैं। सायरा बानो ने अब हाल ही में दिलीप कुमार का हेल्थ अपडेट दिया है। उन्होंने बताया कि दिलीप कुमार इन दिनों काफी कमजोर हो चुके हैं। उनकी इम्यूनिटी भी बेहद कम हो गई है। उन्होंने इस दौरान यह भी कहा कि वह इसलिए दिलीप कुमार का ख्याल नहीं रखतीं कि उन पर किसी तरह का दवाब है। वह तो उनका ख्याल इसलिए रखती हैं क्योंकि वह दिलीप कुमार से बेहद प्यार करती हैं और उन्हें उनकी देखभाल करना अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि, वह यह नहीं चाहतीं कि लोग उनकी तारीफ करें। सायरा बानो ने कहा, ‘मेरा यह मकसद बिल्कुल भी नहीं है कि कोई मेरी तारीफ करे और कहे कि मैं एक डेडिकेटेड वाइफ हूं। वह इन दिनों काफी कमजोर हैं, उनकी इम्यूनिटी भी कम है। कई बार वह हॉल तक आते भी हैं और फिर वापस कमरे में चले जाते हैं। उनकी अच्छी सेहत के लिए दुआ करें। वह आगे कहती हैं, ‘मैं यह सब दवाब में नहीं, बल्कि दिलीप साहब के प्यार में करती हूं. मुझे तारीफ नहीं चाहिए। उनका साथ होना और उनके साथ रहना ही मेरे लिए काफी है। मैं उनसे बहुत प्यार करती हूं। वह मेरी सांस हैं.’ बता दें, इसी साल दिलीप कुमार ने अपने 2 भाईयों को कोरोना की वजह से खो दिया। ऐसे में दोनों ने 11 अक्टूबर को अपनी शादी की सालगिरह भी नहीं मनाई थी।                                       


जाह्नवी का क्लासिकल डांस, हुआ वायरल

जाह्नवी कपूर ने किया क्लासिकल डांस


कविता गर्ग


मुंबई। फिल्म एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर अपनी दमदार अभिनय क्षमता के लिए जानी जाती है। इसके अलावा वह सोशल मीडिया के माध्यम से अपने प्रशंसकों को जीवन के कुछ अनमोल क्षणों से भी अवगत कराती रहती हैं। इसके चलते जाह्नवी कपूर की सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा फॉलोअर्स है और जाह्नवी कपूर लगातार अपडेट कर अपने प्रशंसकों के संपर्क में रहती है। जाह्नवी कपूर ने एक वीडियो शेयर किया हैस इसमें वह कत्थक का अभ्यास कर रही हैस वह फिल्म शुभ मंगल सावधान के गाने पर डांस कर रही हैस इस वीडियो को शेयर करते हुए जाह्नवी कपूर ने लिखा, आप सभी लोग मेरी इस पर परफॉरमेंस से मेरी बहन से भी ज्यादा खुश होंगे। जाह्नवी कपूर डांस परफॉर्मेंस के डांस से आप प्रभावित नजर आएंगे। जान्हवी की छोटी बहन खुशी भी इस वीडियो में नजर आ रही हैं।                               


बलरामपुरः छात्रा के साथ सामुहिक दुष्कर्म

9वीं की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म, एक घर में 15 दिन तक, 8 लोगों ने दिया अंजाम, दो गिरफ्तार, पढ़िए पूरी खबर


बलरामपुर। 15 दिन से लापता नाबालिग लड़की जब परिजनों को मिली तो उसकी हालत अस्त-व्यस्त थी। उसने अपने परिजनों को बताया कि उसके साथ 8 लड़कों में सामूहिक दुष्कर्म किया है। इसके बाद परिजन उसे लेकर थाने गए और एफआईआर दर्ज कराई। पोलिवे ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और 6 अभी भी फरार हैं। मामला बलरामपुर जिले के का है जहां की निवासी एक 9वीं की छात्रा 20 नवंबर से लापता थी। परिजनों ने उसके गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी। उसके बाद उन्हें पता चला कि नाबालिग लड़की अम्बिकापुर के गांधी नगर में अपने सहेली के घर है, जहां पहुंचकर परिजन उसे घर ले आये।नाबालिग पीड़िता ने अपने परिजनों को बताया कि उसके साथ 8 लड़कों ने बारी बारी से दुष्कर्म किया है इसीलिए वह डर के कारण घर नहीं आ रही थी। उसने बताया कि 22 वर्षीय आरोपी सिद्धांत उसे अपने घर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद 7 और लोगों ने बलात्कार किया जिस में वह मनीष सागर और आलम साय नामक आरोपी को जानती है बाकी के 5 आरोपियों को वह नहीं जानती। पुलिस ने पीड़िता के शिनाख्त पर सिद्धांत और आलम साय को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है। चूंकि पीड़िता 5 आरोपियों को नहीं जानती इसलिए पुलिस पकड़े गए दोनों आरोपियों से उनके बारे में पूछताछ कर रही है।                                 


सीरम ने मांगी वैक्सीन के उपयोग की मंजूरी

फाइजर के बाद अब सीरम ने मांगी वैक्सीन के उपयोग की इमेरजेंसी मंजूरी, बनी पहली स्वदेशी कंपनी


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) रविवार को भारत में ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ के आपातकालीन उपयोग की औपचारिक मंजूरी प्राप्त करने के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) के समक्ष आवेदन करने वाली पहली स्वदेशी कंपनी बन गई। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।सूत्रों ने बताया कि कंपनी ने महामारी के दौरान चिकित्सा आवश्यकताओं और व्यापक स्तर पर जनता के हित का हवाला देते हुए यह मंजूरी दिये जोन का अनुरोध किया है।इससे पहले फाइजर ने मांगी थी अनुमति इससे पहले शनिवार को अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी फाइजर की भारतीय इकाई ने उसके द्वारा विकसित कोविड-19 टीके के आपातकालीन इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी के लिए भारतीय दवा नियामक के समक्ष आवेदन किया था। फाइजर ने उसके कोविड-19 टीके को ब्रिटेन और बहरीन में ऐसी ही मंजूरी मिलने के बाद यह अनुरोध किया था। आईसीएमआर के कोविशील्ड के तीसरे चरण का किया ट्रायल वहीं, एसआईआई ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के साथ मिलकर रविवार को देश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सफोर्ड के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ के तीसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण भी किया। आधिकारिक सूत्रों ने एसआईआई के आवेदन का हवाला देते हुए कहा कि कंपनी ने बताया है कि क्लीनिकल परीक्षण के चार डाटा में यह सामने आया है कि कोविशील्ड लक्षण वाले मरीजों और खासकर कोविड-19 के गंभीर मरीजों के मामले में खासी प्रभावकारी है। चार में से दो परीक्षण डाटा ब्रिटेन जबकि एक-एक भारत और ब्राजील से संबंधित है।                                         


सीएम केजरीवाल ने किसानों से की मुलाकात

सीएम केजरीवाल ने सिंघू बाॅर्डर पर किसानों से की मुलाकात कहा, किसानों की मांग बिल्कुल जायज और हमारी पार्टी इनके साथ


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को सिंघू बाॅर्डर का दाैरा किया जहां हजारों किसान नए कृषि कानूनों का लगातार 11 दिन से विराेध कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और दिल्ली सरकार के अन्य मंत्रियों ने सिंघु बॉर्डर के पास गुरु तेग बहादुर मेमोरियल में किसानों से मुलाकात की और उनके लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सीएम केजरीवाल का यह दाैरा आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा 8 दिसंबर को किसान संगठनों द्वारा बुलाए गए ‘भारत बंद’ को समर्थन दिए जाने के ऐलान के एक दिन बाद हुआ है। इस दाैरे को लेकर सीएम केजरीवाल ने कहा कि मैंने व्यवस्थाओं की जांच की। हमारी पार्टी के विधायक और मंत्री यह सुनिश्चित करने में जुटे हैं कि किसानों को कोई असुविधा न हो। हम ‘सेवादार’ की तरह काम कर रहे हैं। यहां मैं किसानों की सेवा करने के लिए एक मुख्यमंत्री के रूप में नहीं आया हूं। किसानों को समर्थन देना हमारी जिम्मेदारी है।                                                                             


मायावती ने किया 'भारत बंद' का समर्थन

मायावती ने किया भारत बंद का समर्थन


लखनऊ। मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर भारत बंद का समर्थन किया है।
ट्वीट में उन्होंने लिखा- कृषि से सम्बंधित तीन नये कानूनों की वापसी को लेकर पूरे देश भर में किसान आन्दोलित हैं व उनके संगठनों ने दिनांक 8 दिसम्बर को ”भारत बंद” का जो एलान किया है, बी.एस.पी उसका समर्थन करती है। साथ ही, केन्द्र से किसानों की माँगों को मानने की भी पुनः अपील।                                     


महाराष्ट्र: अर्शी खान ने खोली राखी की पोल

अर्शी खान ने खोली राखी सावंत की पोल


मनोज सिंह ठाकुर
मुंबई। सलमान खान का रियलिटी शो बिग बॉस 14 जल्द खत्म होने वाला है। इस बार हुए वीकेंड का वार में बिग बॉस 14 में छह नए चैलेंजर्स की एंट्री हुई। इन चैलेंजर्स में बिग बॉस के पूर्व कंटेस्टेंट्स कश्मीरा शाह, अर्शी खान, राखी सावंत, विकास गुप्ता, राहुल महाजन और मनु पंजाबी का नाम शामिल है। रविवार को सलमान खान ने इन सभी चैलेंजर्स को दर्शकों से रूबरू करवाया। वहीं बिग बॉस के सेट पर पहुंचकर राखी सावंत और अर्शी खान के बीच नोंक-झोंक देखने को मिली। इतना ही नहीं यह दोनों एक-दूसरे की पोल भी खोलते नजर आए। दरअसल अर्शी खान और राखी सावंत को 'फ्रेनेमी' टास्क दिया गया, जिसमें इन दोनों को एक-दूसरे के सवालों को सही जवाब देना था और गलत जवाब होने पर उसे थप्पड़ मिलता। इस सवाल-जवाब के बीच अर्शी खान ने राखी से उसकी शादी को लेकर सवाल कर दिया। अर्शी खान राखी से सवाल करते हुए पूछा, 'आपने अपनी जिंदगी में कितनी शादियां की है। इस पर राखी ने कहा, 'मेरे पति मिस्टर इंडिया हैं, पर नहीं है'। मैंने चार शादियां की हैं, तीन सलमान सर की सुरक्षा कर रहे हैं और जो एक है वह जिंदा है'। राखी सावंत का ऐसा जवाब सुनकर अर्शी खान ने आगे कहा, 'मतलब है' इसके बाद राखी भी मुस्कुराने लगती हैं। विवादित बयान के बाद सैफ अली खान ने मांगी माफी राखी सावंत ने इशारों में अपनी शादी का अधूरा सच कह दिया। हालांकि उनका यह जवाब मजाक था या सच यह कह पाना मुश्किल है। इनके अलावा बिग बॉस के वीकेंड का वार में बाकि अन्य कंटेस्टेंट्स ने भी टास्क किए और शो के होस्ट सलमान खान के साथ काफी मस्ती भी की। बात करें बिग बॉस 14 की तो अब शो में कुल चार कंटेस्टेंट्स रुबीना दिलैक, अनुभव शुक्ला, जैस्मीन भसीन और एजाज खान बचे हैं। यह चारों कंटेस्टेंट्स शुरू से भी बिग बॉस के घर का हिस्सा हैं। इस हफ्ते बिग बॉस के घर से निकलने वालों में निक्की तंबोली और राहुल वैद्य हैं। निक्की तंबोली को जनता के वोट के आधार पर निकाला गया जबकि राहुल वैद्य ने खुद से बिग बॉस 14 का शो छोड़ने का फैसल किया जिसके बाद उन्हें शो से निकलने पड़ा गया। हालांकि सोशल मीडिया पर उनके फैसले को गलत बताया जा रहा है।                                                       


सीएम योगी करेंगे लेस यूनिट का उद्घाटन

योगी करेंगे चीनी मिल में सल्फर लेस यूनिट का उद्घाटन


हरिओम उपाध्याय


लखनऊ। उत्तर-प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ नौ दिसम्बर को मुण्डेरवा चीनी मिल के सल्फर लेस यूनिट का उद्घाटन करेगे। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सदर विधायक दयाराम चौधरी ने सोमवार को यहां कहा कि मुण्डेरवा चीनी मिल के सल्फर लेस यूनिट का उद्घाटन बुद्धवार को योगी आदित्यनाथ करेंगे जिसकी तैयारी तेजी से चल रही है। उन्होने बताया कि मुण्डेरवा चीनी मिल परिसर में कार्यक्रम की तैयारी के सम्बंध मे अधिकारियो,कर्मचारियो को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किया गया है।                                


'भारत बंद' में व्यापारियों से मांगा समर्थन

किसान यूनियन ने 8 दिसंबर को भारत बंद में व्यापारियों से मांगा समर्थन


गदरपुर। भारतीय किसान यूनियन ने एक मीटिंग का आयोजन किया जिसमें गदरपुर व्यापार मंडल राइस मिल एसोसिएशन और अनाज मंडी समेत अन्य संगठनों से भारत बंद का समर्थन मांगा। इस दौरान व्यापारियों ने भारतीय किसानों के 8 दिसंबर को भारत बंद के ऐलान को पूर्ण समर्थन दिया। गदरपुर भारतीय किसान यूनियन के ब्लॉक अध्यक्ष राजेंदर सिंह मक्कड़ और किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष राजकुमार भुड्डी एवं गदरपुर के अन्य संगठनों से भारत बंद का समर्थन मांगा। सभी संगठनों ने एकमत होकर किसानों के मांगों को सही ठहराते हुए आठ दिसंबर भारत बंद में पूर्ण समर्थन दिया। उन्होंने कहा अन्नदाता के वजह से चलता है। व्यापार। यहां व्यापार मंडल अध्यक्ष पंकज सेतिया, राइस मिल एसोसिएशन अध्यक्ष अनिल नारंग कांग्रेस नगरअध्यक्ष सिद्धार्थ भूसरी, सुभाष बेहड़, प्रीत ग्रोवर, किशन लाल सुधा टीकम खेड़ा, विनोद भूसरी, मनु चौधरी, विनोद गुंबर आदि रहे।                                                       


सरकार के पास किसानों के लिए पैसा नहीं

सरकार के पास गन्ना किसानों के लिए पैसा नहीं: प्रियंका


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है। कि मोदी सरकार अनाप-शनाप खर्चा कर रही है। लेकिन उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों के भुगतान के लिए उसके पास पैसा नहीं है।
उन्होंने कहा कि आश्चर्य यह है। कि सरकार पूंजीपतियों के बारे में खूब सोचती है। और उनको लाभ देने की योजनाएं बनाती है। लेकिन अन्नदाता के बारे में विचार के लिए उसे फुर्सत ही नहीं है। इसलिए गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान भी नहीं किया जा रहा है। प्रियंका गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा भाजपा सरकार के पास 20,000 करोड़ का नया संसद कॉरिडोर बनाने, 16,000 करोड़ का पीएम के लिए स्पेशल जहाज खरीदने का पैसा है। लेकिन उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों को 14,000 करोड़ भुगतान कराने का पैसा नहीं है। 2017 से गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ा है। ये सरकार केवल अरबपतियों के बारे में सोचती है।
उन्होंने गांव कैंनेक्शन नाम से एक पोस्टर भी लिंक किया है। जिसमें लिखा है। गन्ना किसानों का 12,994 करोड़ रुपए का बकाया जिनमें सबसे ज्यादा 10 हजार करोड़ रुपए का बकाया उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों का रुका है।


                                                                                   


योगदान के लिए नाहटा को अवार्ड्स से नवाजा

लीजेंड दादा साहब फाल्के अवार्ड्स से ज्योतिष दिलीप नाहटा सम्मानित


ज्योतिष के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए नाहटा को अवार्ड्स से नवाजा


ब्यावर। राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित ब्यावर शहर के ज्योतिषी दिलीप नाहटा को ज्योतिष के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए 5 दिसंबर 2020 को मुंबई में आयोजित बॉलीवुड फिल्म फेस्टिबल अवार्ड्स के सम्मान समारोह में लीजेंड दादा साहब फाल्के अवार्ड्स से सम्मानित किया गया है। मुंबई के अंधेरी स्थित मयुर हॉल में 05 दिसंबर 2020 को आयोजित बॉलीवुड फिल्म फेस्टिबल अवार्ड्स के सम्मान समारोह में भारत के एकमात्र ज्योतिषी दिलीप नाहटा को ज्योतिष में हस्तरेखा के क्षेत्र में विश्व की पहली पोर्टेबल साइंटिफिक हस्तरेखा मशीन बनाने पर एवं 2011 से लेकर 2020 तक राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर की 250 से अधिक भविष्यवाणियां सत्य साबित होने पर एवं देशभर में कई जगहों पर निशुल्क कैंप देने पर बॉलीवुड फिल्म जगत के सर्वोच्च सम्मान कृष्णा चौहान फाउंडेशन के बैनर के अंतर्गत लीजेंड दादा साहब फाल्के अवार्ड्स से नवाजा गया है। 
गौरतलब है। कि देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है। कि मुंबई फिल्म जगत ने फिल्मी दुनिया से हटकर देश के किसी ज्योतिषी को ज्योतिष के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए इस अवार्ड्स से नवाजा हो इस अवार्ड कार्यक्रम में मुम्बई फिल्मी जगत की कई बड़ी-बड़ी हस्तियां मौजूद थी। लेकिन देश में बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण के कारण सरकारी निर्देशों की पालना करते हुए एवं सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए इतना बड़ा अवार्ड मिलने के बावजूद भी नाहटा ने 05 दिसंबर 2020 को मुंबई में आयोजित बॉलीवुड फिल्म फेस्टिबल के इस अवार्ड कार्यक्रम में ब्यावर से मुंबई जाकर इस आयोजन में शामिल होना अनुकल नहीं समझा अत नाहटा की अनुपस्थिति में म्यूजिक डायरेक्टर दिलीप सेन ने उनके नॉमिनी के तौर पर फिल्म अभिनेत्री अनु कश्यप एवं राजस्थानी फिल्म के सुपरस्टार अरविंद वाघेला को यह अवार्ड प्रदान किया एवं बॉलीवुड की इन हस्तियों ने दादा साहब फाल्के अवार्ड्स को अपने हाथों में लेकर नाहटा को मिले इस अवार्ड्स का न केवल सम्मान बढ़ाया है। अपितु पूरे ब्यावर शहर वासियों का सम्मान बढ़ाकर राजस्थान का नाम देश भर में रोशन किया है। नाहटा फिल्म अभिनेत्री अनू कश्यप एवं राजस्थानी फिल्म के सुपरस्टार अरविंद वाघेला का तह दिल से एवं हृदय से बहुत-बहुत आभार व्यक्त करते हैं। इसके अलावा पूर्व में कुछ महत्वपूर्ण  सम्मान एवं अवार्ड्स भी नाहटा को मिल चुके हैं। जैसे 2015 में चंडीगढ़ के राज्यपाल  कप्तान सिंह सोलंकी से सम्मान मिलना 2017 में गाजियाबाद में विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह से सम्मान मिलना , 26 जनवरी 2018 को गणतंत्र दिवस पर अजमेर जिला कलेक्टर  गौरव गोयल से सम्मान मिलना , 2019 में जयपुर में राजस्थान राज्य परिवहन मंत्री  प्रताप सिंह खाचरियावास से सम्मान मिलना एवं 2020 में कुरुक्षेत्र में नास्त्रेदमस अवार्ड मिलना , अंतिम कड़ी में नाहटा ने इस अवार्ड्स को अपने ईस्ट गुरु जैन आचार्य 1008  हस्ती मल जी महाराज साहब के चरण कमलों में एवं उनके निमाज गांव स्थित पावन-धाम पर यानी उनके समाधि-स्थल पर समर्पित किया है।                             


शहरवासी कर रहे प्रवासी पक्षियों का इन्तजार

अठखेलियां देखने को उत्सुक अजमेर शहरवासी, कर रहे हैं प्रवासी पक्षियों का इन्तजार


अजमेर। सर्दी का समय है और दिसम्बर माह शुरू हो चुका है। लेकिन अब भी जिले में प्रवासी पक्षियों का इंतजार है। अजमेर की आना सागर और फायसागर झील समेत किशनगढ की गुंदोलाव झील, ब्यावर के बिचड़ली तालाब में हर साल इस समय प्रवासी पक्षियों की आवक हो जाती थी। लेकिन इस बार नहीं हुई है। हाल ही में तैयार किया गया बर्ड पार्क भी सूना ही है। पर्यावरण विदों की माने तो इस साल सर्दी देरी से शुरू हुई है। और उतनी सर्द भी नहीं है। साथ ही जलाशयों का जल स्तर अन्य सालों के मुकाबले इस बार ज्यादा है। यही कारण है। कि प्रवासी पक्षियों की आवक नहीं हुई। लेकिन माह के अन्त तक प्रवासी पक्षियों की आवक होने की उम्मीद है।
ये प्रवासी पक्षी आते है यहां
अजमेर की आनासागर व फायसागर झील सहित किशनगढ के गुंदोलाव झील व ब्यावर के बिचडली तालाब में जिले में मुख्यत हवासील (ग्रेट व्हाइट व डेल​मेशियन पेलिकन), किंगफिशर (पाइड), पनडुब्बी (डेवचिक) टिकडी आरी (कूट), सीखपर (पिनटेल), राजहंस (फ्लेमिगो), बगुला, जल चिडिय़ा (जेकाना पिहूया), सारसक्रेन, टिटहरी, स्टाईल्ड, पेटेड स्टॉर्क (जान्हिल), क्रेन (कुरजां) एवं डोमेसायल क्रेन आदि प्रवासी पक्षी आते है।
लगभग तैयार है बर्ड पार्क
सर्द मौसम में अजमेर की ऐतिहासिक आनासागर झील में आने वाले प्रवासी पक्षियों के लिए बर्ड पार्क भी लगभग तैयार है। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत वैशाली नगर स्थित सागर विहार कॉलोनी के पीछे 90 लाख रूपये की लागत 26 हजार 400 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बर्ड पार्क में मिट्टी के सात – आठ प्राकृतिक टीलों का निर्माण किया गया है। बर्ड पार्क में चारों तरफ पांच फीट ऊंचाई की चार दीवारी का निर्माण, इस पर दो फीट रेलिंग लगाई गई है। पार्क का मुख्य द्वार भी तैयार किया गया है। वर्तमान में पार्क की कच्ची भूमि पर घास लगाने का काम जारी है। बर्ड पार्क में सौ से अधिक विभिन्न किस्म के पेड़-पौधे लगाए जाएंगे।
मौसम में बदलाव के साथ आते है पक्षी
यहां पक्षी बारिश के बाद सर्दियों में आना प्रारंभ होते है। यह पक्षी पूर्वी यूरोप, साइबेरिया, मंगोलिया, पोलैण्ड सहित अन्य देशों से आते है। झीलों में पक्षियों को भोजन भी आसानी से मिल जाता है। मौसम भी पक्षियों के लिए अनुकूल है। शिकार की संभावना भी नगण्य है। अक्टूबर से ही मेहमान पक्षी यहां आना शुरू होते हैं। और फरवरी में वापसी शुरू होती है। पक्षी विशेषज्ञों ने बताया कि यूरोप सहित विदेशों में अक्टूबर, नवंबर में बर्फ जम जाती है। ऐसे में पक्षियों को सबसे बड़ी समस्या भोजन की हो जाती है। ऐसे में ये हजारों किलोमीटर की उड़ान भरकर भारत की तरफ आते हैं।                                                                                                                              


सालों पुरानी बुद्ध की प्रतिमा लौटाने के आदेश

चीन की अदालत ने दिए 1000 साल पुरानी बुद्ध की प्रतिमा लौटाने के आदेश


जिनचेंग। 2015 में हंगरी के एक प्रदर्शनी में यह मूर्ति दिखाई दी था। चीन के सैंमिंग इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट ने डच कलेक्टर को 1995 में गायब हुई बुद्ध की प्रतिमा को वापस करने का आदेश दिया है। चीन की अदालत ने डच कलेक्टर ऑस्कर वैन ओवरिम के नाम आदेश जारी करते हुए 30 दिनों के भीतर प्रतिमा वापस करने को कहा है।
फुजियान के दक्षिण-पूर्व में स्थित यांगचुन गांव के लोगों का कहना है। कि यह मूर्ति 1000 साल पुरानी है। जो साल 1995 में चोरी हो गई थी। वहीं डच कलेक्टर का कहना है। कि उन्होंने यह मूर्ति हांगकांग से साल 1996 में खरीदी थी। यह वो मूर्ति नहीं है। जिसके मालिकाना हक का दावा यांगचुन गांव लोग कर रहे हैं। ग्रामीणों के मुताबिक, गायब हुई प्रतिमा में झांग गोंग झूशी और पैट्रिआर्क झांग गोंग के अवशेष हैं। जो सोंग राजवंश के दौरान बीमारियों के इलाज में मदद करने के लिए इस्तेमाल होते थे। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी के अनुसार 2015 में हंगरी के एक प्रदर्शनी में यह मूर्ति दिखाई दी थी। 3 साल तक चली इस कानूनी लड़ाई के बाद यह फैसला लिया गया कि यांगचुन गांव के लोगों को मूर्ति का मालिकाना हक दिया जा सकता है।                                   


कानूनों के खिलाफ ब्रिटेन में प्रदर्शन, कई अरेस्ट

भारत के कृषि कानूनों के खिलाफ लंदन में प्रदर्शन, कई गिरफ्तार


लंदन। ब्रिटेन के मध्य लंदन में रविवार को भारतीय उच्चायोग के बाहर भारत में तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में किए गए प्रदर्शन के दौरान स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया।
स्कॉटलैंड यार्ड ने भारतीय उच्चायोग के बाहर ब्रिटेन के अलग-अलग हिस्सों से प्रदर्शनकारियों के जमा होने से पहले चेतावनी दी थी। मध्य लंदन में हम पंजाब के किसानों के साथ खड़े है।प्रदर्शन को नियंत्रित करने के लिए कई पुलिसकर्मी सड़क पर उतरे और चेताया कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कड़े नियम लागू हैं। और अगर 30 से ज्यादा लोग जमा होते हैं तो गिरफ्तारी की जा सकती है। और जुर्माना लगाया जा सकता है। मेट्रोपोलिटन पुलिस के कमांडर पॉल ब्रोगडेन ने कहा कि अगर आप निर्धारित 30 लोगों से अधिक की संख्या में एकत्र होकर नियम तोड़ते हैं। तो आप अपराध कर रहे हैं। जो दंडनीय है। और जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने लोगों से प्रदर्शन में शामिल नहीं होने की अपील भी की।
प्रदर्शन में मुख्य रूप से ब्रिटिश सिख शामिल थे। जो तख्तियां पकड़े हुए थे। जिनपर किसानों के लिए न्याय जैसे संदेश लिखे थे। भारतीय उच्चायोग के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह जल्द स्पष्ट हो गया कि लोगों के जमवाड़े की अगुवाई भारत विरोधी अलगाववादी कर रहे थे। जिन्होंने भारत में किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने के नाम पर भारत विरोधी अपना एजेंडा चलाया। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन भारत का आंतरिक मामला है और भारत सरकार प्रदर्शनकारियों से बात कर रही है।                               


अमेरिका के कई शहरों में सिखों का प्रदर्शन

कृषि कानूनों के विरोध में अमेरिका के कई शहरों में सिखों का प्रदर्शन


वाशिंगटन डीसी। भारत में कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों के समर्थन में अमेरिका के कई शहरों में सिखों ने शांतिपूर्वक विरोध रैलियां निकालीं। कैलिफोर्निया में प्रदर्शनकारियों की कारों के काफिले के सैन फ्रांसिस्को में भारतीय वाणिज्य दूतावास की ओर बढ़ने से बे ब्रिज पर लंबा ट्रैफिक जाम लग गया। इसके अलावा इंडियानापोलिस में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी इकट्ठा हुए और किसानों के समर्थन में नारे लगाए। यहां प्रदर्शन कर रहे गुरिंदर सिंह खालसा ने कहा किसान देश की आत्मा हैं। हमें अपनी आत्मा की रक्षा करनी होगी। सिख नेता दर्शन सिंह दरार ने कहा हम भारत सरकार से कानूनों का वापस लेने का आग्रह नहीं कर रहे हैं। बल्कि यह हमारी मांग है। इससे पहले शिकागो में सिख अमेरिकी समुदाय के लोगों ने इकट्ठा होकर भारतीय दूतावास के सामने रैली निकाली थी। सिखों ने बे एरिया की तरह ही न्यूयार्क, ह्यूस्टन मिशिगन शिकागो और वाशिंगटन डीसी में भी रैली निकालने की चेतावनी दी है।                                   


दिल्ली इलाके से 5 आतंकी गिरफ्तार किएं

दिल्ली के शकरपुर इलाके से पांच आतंकवादी गिरफ्तार


शकरपुर। दिल्ली के शकरपुर इलाके से सोमवार को पांच आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। इन पांचों को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। इनमें से दो पंजाब और तीन कश्मीर से ताल्लुक रखते हैं। आतंकियों के पास से हथियार और अन्य दस्तावेज बरामद किए गए हैं। वहीं अन्य आतंकियों के छिपे होने की जानकारी भी मिली है। 
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के कार्यालय में आतंकियों से पूछताछ जारी है। स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने कहा दिल्ली के शकरपुर इलाके में मुठभेड़ के बाद पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से दो पंजाब के तीन कश्मीर के हैं। उनके पास से हथियार और दस्तावेज बरामद किए गए हैं।                                     


आंदोलनः लखनऊ में सपा कार्यालय सील

किसान आंदोलन, लखनऊ में सपा कार्यालय सील


लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा हर जिले में किसानों के समर्थन में यात्रा आयोजित करने के आह्वान के बाद लखनऊ में सोमवार सुबह सपा कार्यालय से लेकर अखिलेश यादव के घर तक पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया। वहीं कन्नौज में जिलाधिकारी ने अखिलेश यादव के किसान मार्च को मंजूरी नहीं दी।
लखनऊ में विक्रमादित्य मार्ग पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। और किसी भी प्रदर्शन से निपटने की पूरी तैयारी की गई। पुलिस प्रशासन हाई अलर्ट पर है।                                      


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...