शनिवार, 25 जुलाई 2020

सावन में शिव व्रत मंगलकारी होता है

शिवजी की कृपा दिलाता है प्रदोष व्रत




प्रदोष व्रत अति मंगलकारी और शिव कृपा प्रदान करने वाला है। यह व्रत प्रत्येक महीने के कृष्ण व शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी को रखा जाता है, इसलिए इसे वार के अनुसार पूजन करने का विधान शास्त्र सम्मत माना गया है। प्रत्येक वार के प्रदोष व्रत की पूजन विधि अलग-अलग मानी गई है। व्रती ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नानादि से निवृत्त होकर श्रद्धा और विश्वास के साथ भगवान का ध्यान करते हुए व्रत आरंभ करते हैं। इस व्रत के मुख्य देवता शिव माने गए हैं। उनके साथ पार्वती जी की भी पूजा की जाती है। इस दिन निराहार रहकर सायंकाल स्नान करने के बाद सफेद वस्त्रों में संध्या आदि करके शिव का पूजन किया जाता है। प्रदोष व्रत को करने से हर प्रकार का दोष मिट जाता है।





व्रत महात्म्य



इस व्रत के महात्म्य को गंगा नदी के तट पर किसी समय वेदों के ज्ञाता और भगवान के भक्त श्री सूत जी ने सौनकादि ऋषियों को सुनाया था। सूत जी ने कहा है कि कलियुग में जब मनुष्य धर्म के आचरण से हटकर अधर्म की राह पर जा रहा होगा, हर तरफ अन्याय और अत्याचार का बोलबाला होगा, मानव अपने कर्त्तव्य से विमुख होकर नीच कर्म में संलग्न होगा, उस समय प्रदोष व्रत ऐसा व्रत होगा जो मानव को शिव की कृपा का पात्र बनाएगा और नीच गति से मुक्त होकर मनुष्य उत्तम लोक को प्राप्त होगा। त्रयोदशी की रात्रि के प्रथम प्रहर में जो व्यक्ति किसी भेंट के साथ शिव प्रतिमा का दर्शन करता है, वह सभी पापों से मुक्त हो जाता है। सूत जी ने सौनकादि ऋषियों को यह भी कहा कि प्रदोष व्रत के पुण्य से कलियुग में मनुष्य के सभी प्रकार के कष्ट और पाप नष्ट हो जाएंगे। यह व्रत अति कल्याणकारी है, इस व्रत के प्रभाव से मनुष्य को अभीष्ट की प्राप्ति होगी। इस व्रत में अलग-अलग दिन के प्रदोष व्रत से क्या लाभ मिलता है, यह भी सूत जी ने बताया। सूत जी ने सौनकादि ऋषियों को बताया कि इस व्रत के महात्म्य को सर्वप्रथम भगवान शंकर ने माता सती को सुनाया था। मुझे यही कथा और महात्म्य महर्षि वेदव्यास जी ने सुनाया और यह उत्तम व्रत महात्म्य मैंने आपको सुनाया है।


प्रदोष व्रत विधान


सूत जी ने कहा है कि प्रत्येक पक्ष की त्रयोदशी के व्रत को प्रदोष व्रत कहते हैं। सूर्यास्त के पश्चात रात्रि के आने से पूर्व का समय प्रदोष काल कहलाता है। इस व्रत में महादेव भोले शंकर की पूजा की जाती है। इस व्रत में व्रती को निर्जल रहकर व्रत रखना होता है। प्रातःकाल स्नान करके भगवान शिव की बेलपत्र, गंगाजल, अक्षत, धूप, दीप सहित पूजा करें। संध्या काल में पुनः स्नान करके इसी प्रकार से शिव जी की पूजा करना चाहिए। इस प्रकार प्रदोष व्रत करने से व्रती को पुण्य मिलता है।


महत्त्व


सप्ताह के सातों दिन के प्रदोष व्रत का अपना विशेष महत्त्व है। रविवार के दिन प्रदोष व्रत आप रखते हैं तो सदा निरोग रहेंगे। सोमवार के दिन व्रत करने से आपकी इच्छा फलित होती है। मंगलवार को प्रदोष व्रत रखने से रोग से मुक्ति मिलती है और आप स्वस्थ रहते हैं। बुधवार के दिन इस व्रत का पालन करने से सभी प्रकार की कामना सिद्ध होती है। बृहस्पतिवार के व्रत से शत्रु का नाश होता है। शुक्रवार प्रदोष व्रत से सौभाग्य की वृद्धि होती है। शनिवार प्रदोष व्रत से पुत्र की प्राप्ति होती है। जो व्रत करना हो, उस वार को पड़ने वाली त्रयोदशी का चयन करें तथा उसी वार के अनुसार कथा पढ़ें-सुनें।


रवि त्रयोदशी प्रदोष व्रत


किसी समय सभी प्राणियों के हितार्थ परम् पुनीत गंगा के तट पर ऋषि समाज द्वारा एक विशाल सभा का आयोजन किया गया, जिसमें व्यास जी के परम् प्रिय शिष्य पुराणवेत्ता सूत जी महाराज हरि कीर्तन करते हुए पधारे। सौनकादि अट्ठासी हजार ऋषि-मुनिगण ने सूत जी को दंडवत् प्रणाम किया। सूत जी ने भक्ति भाव से ऋषिगण को आशीर्वाद देकर अपना स्थान ग्रहण किया। ऋषिगण ने विनीत भाव से पूछा, ‘हे परम् दयालु! कलियुग में शंकर भगवान की भक्ति किस आराधना द्वारा उपलब्ध होगी? कलिकाल में जब मनुष्य पाप कर्म में लिप्त हो, वेद-शास्त्र से विमुख रहेंगे।


दीनजन अनेक कष्टों से त्रस्त रहेंगे। हे मुनिश्रेष्ठ! कलिकाल में सत्कर्म में किसी की रुचि न होगी, पुण्य क्षीण हो जाएंगे एवं मनुष्य स्वतः ही असत् कर्मों की ओर प्रेरित होगा। इस पृथ्वी पर तब ज्ञानी मनुष्य का यह कर्त्तव्य हो जाएगा कि वह पथ से विचलित मनुष्य का मार्गदर्शन करे, अतः हे महामुने! ऐसा कौन-सा उत्तम व्रत है जिसे करने से मनवांछित फल की प्राप्ति हो और कलिकाल के पाप शांत हो जाएं?’ सूत जी बोले, ‘हे सौनकादि ऋषिगण! आप धन्यवाद के पात्र हैं। आपके विचार प्रशंसनीय व जनकल्याणकारी हैं। आपके हृदय में सदा परहित की भावना रहती है, आप धन्य हैं। हे सौनकादि ऋषिगण! मैं उस व्रत का वर्णन करने जा रहा हूं जिसे करने से सब पाप और कष्ट नष्ट हो जाते हैं तथा जो धन वृद्धि-कारक, सुख प्रदायक, संतान व मनवांछित फल प्रदान करने वाला है। इसे भगवान शंकर ने सती जी को सुनाया था।’ सूत जी आगे बोले, ‘आयु वृद्धि व स्वास्थ्य लाभ हेतु रवि त्रयोदशी प्रदोष का व्रत करें। इसमें प्रातः स्नान कर निराहार रहकर शिव जी का मनन करें। मंदिर जाकर शिव आराधना करें। माथे पर त्रिपुण धारण कर बेल, धूप, दीप, अक्षत व ऋतु फल अर्पित करें। रुद्राक्ष की माला से सामर्थ्यानुसार ‘ओउम नमः शिवाय’ जपें। ब्राह्मण को भोजन कराएं और दान-दक्षिणा दें। तत्पश्चात्त मौन व्रत धारण करें। संभव हो तो यज्ञ-हवन कराएं। ‘ओउम हृं क्लीं नमः शिवाय स्वाहा’ मंत्र से यज्ञ-स्तुति दें। इससे अभीष्ट फल की प्राप्ति होती है। प्रदोष व्रत में व्रती एक बार भोजन करे और पृथ्वी पर शयन करे। इससे सर्व कार्य सिद्ध होते हैं। श्रावण मास में इस व्रत का विशेष महत्त्व है। सभी मनोरथ इस व्रत को करने से पूर्ण होते हैं।’


व्रत कथा


एक ग्राम में एक दीन-हीन ब्राह्मण रहता था। उसकी धर्मनिष्ठ पत्नी प्रदोष व्रत करती थी। उनके एक पुत्र था। एक बार वह पुत्र गंगा स्नान को गया। दुर्भाग्यवश मार्ग में उसे चोरों ने घेर लिया और डराकर उससे पूछने लगे कि उसके पिता का गुप्त धन कहां रखा है। बालक ने दीनतापूर्वक बताया कि वे अत्यंत निर्धन और दुःखी हैं। उनके पास गुप्त धन कहां से आया? चोरों ने उसकी हालत पर तरस खाकर उसे छोड़ दिया। बालक अपनी राह हो लिया। चलते-चलते वह थककर चूर हो गया और बरगद के एक वृक्ष के नीचे सो गया। तभी उस नगर के सिपाही चोरों को खोजते हुए उसी ओर आ निकले। उन्होंने ब्राह्मण-बालक को चोर समझकर बंदी बना लिया और राजा के सामने उपस्थित किया। राजा ने उसकी बात सुने बगैर उसे कारावास में डलवा दिया। उधर बालक की माता प्रदोष व्रत कर रही थी। उसी रात्रि राजा को स्वप्न आया कि वह बालक निर्दोष है। यदि उसे नहीं छोड़ा गया तो तुम्हारा राज्य और वैभव नष्ट हो जाएगा। सुबह जागते ही राजा ने बालक को बुलवाया। बालक ने राजा को सच्चाई बताई। राजा ने उसके माता-पिता को दरबार में बुलवाया। उन्हें भयभीत देख राजा ने मुस्कराते हुए कहा, ‘तुम्हारा बालक निर्दोष और निडर है। तुम्हारी दरिद्रता के कारण हम तुम्हें पांच गांव दान में देते हैं।’ इस तरह ब्राह्मण आनंद से रहने लगा। शिव जी की दया से उसकी दरिद्रता दूर हो गई।          


शिवांशु 'निर्भयपुत्र'








'नासा' अंतरिक्ष मिशन की दिशा में बढ़ी

वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा एक नए महत्वाकांक्षी मिशन की तरफ कदम बढ़ा रहा है। इसके तहत स्टेडियम जितने बड़े गुब्बारे में 8.4 फुट का एक दूरबीन पृथ्वी के स्ट्रैटोस्फीयर में भेजा जाएगा। इस मिशन का नाम एसथ्रोस रखा गया है। यह दूरबीन इंफ्रारेड रोशनी और ज्यादा वेबलेंथ वाली रोशनी का अध्ययन करेगा। 


क्या है खासियत
यह गुब्बारा 150 मीटर चौड़ होगा और इसका आकार फुटबॉल के एक स्टेडियम के समान होगा। यह गुब्बारा 130,000 फीट की ऊंचाई पर जा सकता है। यह ऊंचाई हवाईजहाजों की ऊंचाई से चार गुना ज्यादा है। हालांकि, ये अंतरिक्ष तक नहीं जा सकेगा लेकिन पृथ्वी के स्ट्रैटोस्फीयर में जाकर अंतरिक्ष से पृथ्वी की तरफ आने वाली रोशनियों का अध्ययन करेगा। गुब्बारे में एक ऐसा उपकरण भी लगाया जाएगा जो नए सितारों के आसपास मौजूद गैस की गति को मापेगा। गुब्बारे के नीचे लगाए गए एक गोंडोला में दूरबीन और सारे उपकरण लगाए जाएंगे।           


16 देशों के लोगों की जांच करेंगा फ्रांस

हाई रिस्क वाले 16 देशों के यात्रियों का टेस्ट करेगा फ्रांस


पेरिस। फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कास्टेस्क ने घोषणा की है कि देश 1 अगस्त से कोरोनावायरस महामारी से अत्यधिक प्रभावित 16 'रेड जोन' देशों से आने वाले यात्रियों का टेस्ट करेगा। इसमें भारत भी शामिल है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने शुक्रवार को यहां चार्ल्स-डी-गॉल हवाईअड्डे के दौरे के दौरान दिए गए कैस्टेक्स के बयान के हवाले से बताया कि, फ्रांसीसी सरकार ने वायरस के पुनरुत्थान के हाई रिस्क के कारण सीमाओं पर सैनिटरी सुरक्षा को मजबूत करने की योजना बनाई है। भारत के अलावा, अन्य हाई रिस्क वाले देश अमेरिका, ब्राजील, अल्जीरिया, बहरीन, इजरायल, दक्षिण अफ्रीका, कुवैत, कतर, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, पनामा, पेरू, सर्बिया, तुर्की और मेडागास्कर हैं। कास्टेक्स ने संवाददाताओं से कहा कि, हालांकि फ्रांसीसी सीमा इन देशों के लिए बंद है, इसलिए यह उपाय सिर्फ उन फ्रांसीसी नागरिकों पर लागू किया जाएगा जो वहां रहते हैं या जो इन देशों के यात्री हैं और फ्रांस में स्थाई तौर पर निवास करते हैं। उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि इन देशों में टेस्ट की कोई रणनीति नहीं है और टेस्ट कराने के लिए उन तक पहुंचना मुश्किल है, इसलिए हमने आगमन के बाद उनका सामान्य टेस्ट करने का निर्णय लिया है।" कास्टेक्स ने आगे कहा, "स्पेन के लिए फ्रांसीसी सीमा खुली रहती है, लेकिन दोनों देशों के बीच यातायात प्रवाह को सीमित करने पर चर्चा चल रही है।" उन्होंने कहा, "कैटालोनिया में बिगड़ते सैनिटरी व्यवस्था और वहां की स्थिति को देखते हुए हम फ्रांसीसी नागरिकों को वहां जाने से बचने की सलाह देते हैं, वह भी तब तक के लिए जब तक कि वहां स्वास्थ्य में सुधार न हो।" फ्रांस में कोविड-19 के अब तक 217,797 मामले दर्ज किए जा चुके हैं, जिसमें शुक्रवार को सामने आए नए मामले 1,130 शामिल है। मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 10 नई मौतों के साथ यहां अब तक 30,192 लोगों ने वायरस के कारण अपनी जान गंवा दी है।           


हथियार परीक्षण का दावा खारिज किया

मॉस्को/ वाशिंगटन डीसी/ लंदन। रूस ने अमेरिका और ब्रिटेन के उन दावों को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि उसने अंतरिक्ष में उपग्रह रोधी हथियार का परीक्षण किया है। इसके साथ ही रूस ने कहा कि ये आरोप साबित करते हैं कि अमेरिका खुद अंतरिक्ष में हथियार तैनात करने का इरादा रखता है।


अमेरिका और ब्रिटेन के अधिकारियों ने गुरुवार को दावा किया था कि 15 जुलाई को उपग्रह रोधी हथियार के परीक्षण से संकेत मिलता है कि रूस ऐसी प्रौद्योगिकी विकसित करने का प्रयास कर रहा है जो अंतरिक्ष में अमेरिका और उसके सहयोगी राष्ट्रों की संपत्ति के लिए खतरा पैदा कर सकता है।रूस के विदेश मंत्रालय ने आरोपों को खारिज करते हुए एक बयान में कहा कि 15 जुलाई के परीक्षण से अंतरिक्ष में किसी तरह का खतरा पैदा नहीं हुआ है और यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन करते हुए किया गया। बयान में यह भी कहा गया कि रूस की अंतरिक्ष गतिविधियों और शांतिपूर्ण अभियानों को लेकर दुष्प्रचार किया जा रहा है।         


27 जुलाई से वैक्सीन का मानव परीक्षण

मॉस्को। पहली संभावित कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में सफलता के बाद रूस अब दूसरी कोरोना वैक्सीन बनाने में जुट गया है। समाचार एजेंसी ने शुक्रवार को रूस की उपभोक्ता सुरक्षा निगरानी का हवाला देते हुए बताया कि साइबोरियन वेक्टर इंस्टीट्यूट द्वारा विकसित रूस की दूसरी संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण(मानव ट्रायल) किया जाएगा। इसकी शुरुआत 27 जुलाई से होगी। 


गौरतलब है कि मॉस्को में गेमालेया संस्थान द्वारा विकसित एक वैक्सीन के मानव ट्रायल का प्रारंभिक चरण इसी महीने पूरा हुआ, जो सफल रहा। रूस ने पिछले दिनों घोषणा की थी कि उसने कोरोना वैक्सीन बनाने की दिशा में मानव ट्रायल को सफलतापूर्वक पूरा किया है। रूस के वैज्ञानिकों ने इस वैक्सीन के रिजस्ट पर खुशी जताई। रूसी अधिकारियों ने इस वैक्सीन इस बड़े पैमाने पर उत्पादन की योजना बनानी शुरू कर दी है।           


जैविक युद्ध क्षमताओं के बीच समझौता

बीजिंग/ इस्लामाबाद। ‘जैविक युद्ध क्षमता’ बनाने के लिए चीन और पाकिस्तान के बीच एक समझौते की खबर आई है, और इस समझौते से जुड़े दावों के केन्द्र में वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी है। ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार एंथनी क्लैन, जो एक वेबसाइट क्लेक्सॉन के सम्पादक हैं, ने एक खबर में इस समझौते का खुलासा किया है। क्लैन के मुताबिक, ये समझौता चीन की वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और पाकिस्तान की डिफेंस, साइंस और टेक्नोलॉजी ऑर्गनाइजेशन के बीच हुआ है। ऐसा लगता है कि ये केवल ज्वॉइंट रिसर्च के लिए किया गया एक समझौता होगा, जो ‘उभरती संक्रामक बीमारियो’ पर होगी, लेकिन एंथनी क्लैन दावा करते हैं कि ये समझौते से ज्यादा एक कुटिल एजेंडा है। ये प्रोग्राम पूरी तरह चीन द्वारा वित्तपोषित है, और इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है क्योंकि चीन पाकिस्तान में काफी कुछ निवेश करता रहा है। इस समझौते के तहत चीन को चीन की सीमाओं के बाहर यानी पाकिस्तान में भी जैविक एजेंट्स पर परीक्षण करने की इजाजत मिल गई है।


रिपोर्ट के मुताबिक, ये एक गुप्त सौदा है, जिसकी जानकारी दुनियां से छुपाई जा रही है। पाकिस्तान में एक सीक्रेट जगह है जहां रोग फैलाने वाले घातक कीटाणुओं (पैथोजेन) से जुड़े कई रिसर्च प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं। पैथोजेन एंथ्रेक्स की तरह हैं, जिनका इस्तेमाल जैविक हथियार के रूप में किया जा चुका है। इससे पहले शुक्रवार को ज़ी न्यूज के सहयोगी चैनल (wion) ने एंथनी क्लैन से बातचीत की, उसने कहा कि नई दिल्ली को इस तरफ ध्यान देना चाहिए क्योंकि ये मसला भारत के लिए सीधा और बड़ा खतरा है।         


2 वाटर स्प्रिंकलर मशीनों का उद्घाटन

प्रयागराज। माननीय महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते प्रकोप के दृष्टिगत नगर निगम परिसर में नगर निगम के कर्मचारियों को फेस शील्ड तथा सेट का वितरण किया गया। तत्पश्चात नगर निगम द्वारा निर्मित कराई गई दो वाटर स्प्रिंकलर मशीन का उद्घाटन किया गया। यह मशीन एन.जी.टी. के दिशा-निर्देश के अनुसार वायु में धूल के कण को समाप्त करने, वृक्षों की धुलाई का कार्य, कीटनाशक का छिड़काव तथा सैनिटाइजेशन का कार्य करती है। माननीय महापौर के द्वारा उक्त का संचालन स्वयं की देखरेख में शहर के चौक क्षेत्र कोतवाली से प्रारंभ करते हुए, लोकनाथ चौराहा, मीरगंज, बताशा मंडी, गुड़ की मंडी, ऊंचा मंडी, सुलकी चौराहा, बहादुरगंज,कोठा पार्चा डाट का पुल से रामबाग, चंद्रलोक चौराहा, रामभवन चौराहा, मुट्ठीगंज होते हुए ई.सी.सी. कॉलेज, कटघर, कल्लू कचौरी चौराहा, हटिया, मोती पार्क होते हुए मानसरोवर चौराहा, चंद्रलोक चौराहा, साउथ मलाका, हीवेट रोड, जानसेनगंज चौराहा से लीडर रोड होते हुए बड़ी स्टेशन, नखाश कोना से पुनः चौक कोतवाली आदि तक कराया गय। इस अवसर पर श्री रवि रंजन नगर आयुक्त प्रयागराज, श्री सतीश कुमार मुख्य अधिशाषी अभियंता, श्री पुरुषोत्तम अधिशासी अभियंता, श्रीमती कुसुमलता व अनूप मिश्रा पार्षद, श्री सुरेंद्र नाथ पांडेय अवर अभियंता, श्री वीरेंद्र पांडेय फोरमैन कर्मशाला, श्री अश्विनी वर्मा सफाई निरीक्षक व डी. पी. सिंह, मनोज श्रीवास्तव, गौरव मिश्रा, हर्ष केसरी, विवेक साहू, गुड्डू साहू, नितिन केसरवानी, आदि लोग उपस्थित रहे।


रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


प्रशासनिक अधिकारियों ने किया निरीक्षण

एसपी-डीएम ने हॉटस्पॉट का किया निरीक्षण
भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। जनपद में कोरोना वायरस के आंकड़ों में जहां लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है, तो वहीं प्रशासन भी सख्त नजर आ रहा है। एसपी विनीत जसवाल डीएम शामली जसजीत कौर ने हॉटस्पॉट इलाकों का निरीक्षण किया। वह हॉटस्पॉट इलाकों में रह रहे लोगों से उपलब्ध सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।पुलिस कर्मियों को शक्ति से लॉक डाउन का पालन कराने के निर्देश दिए। शामली के गुरुद्वारा तिराहे पर सीओ शामली जितेंद्र कुमार ने खुद गाड़ियां रोक कर चेक की और लोगों को कोरोना से बचने के बारे में जागरूक किया वह फेस मास्क ना पहनने वालों पर कार्रवाई की।


 दरअसल आपको बता दें जनपद शामली में कोरोनावायरस ने अपने पैर पसार ने एक बार फिर शुरू कर दिए हैं। जनपद शामली में रोज कई मामले कोरोनावायरस के निकल कर आ रहे हैं, तो वहीं प्रशासन भी सख्त सख्त रवैया से लोगों से लॉकडाउन के नियमों का पालन करा रहा है। जनपद शामली के एसपी द्वारा नगर के विभिन्न चौराहों पर एडवरटाइजिंग के माध्यम से लोगों से अपील की जा रही है। कोरोनावायरस के नियमों का पालन करें, फेस मास्क लगाएं, आपस में 2 गज की दूरी बनाए रखें, जनपद शामली के एसपी डीएम ने आज हॉटस्पॉट इलाकों का निरीक्षण किया, और हॉटस्पॉट में रह रहे लोगों से बातचीत की। डीएम एसपी जवाहर गंज पहुंचे और हॉट स्पॉट क्षेत्रों में भ्रमण किया। वह हॉटस्पॉट में रह रहे लोगों से जानकारी ली। एसपी डीएम शामली ने सभी हॉटस्पॉट इलाकों में निरीक्षण किया, और हॉटस्पॉट पर निगरानी रख रहे पुलिसकर्मियों से हॉटस्पॉट इलाकों पर निगरानी रखी।              


अग्रसेन समिति द्वारा मेधावियोंं को सम्मान

जिला मेधावियों को महाराजा अग्रसेन सेवा समिति ने किया सम्मानित


भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। जनपद में शनिवार को महाराजा अग्रसेन सेवा समिति शामली द्वारा जनपद के मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित योजना के अंतर्गत वर्ष 2020 के जिला टॉपर कक्षा 12 में 98.6 प्रतिशत अंक लाने वाले अग्रवाल समाज के योद्धा - अभिनव गोयल (सिल्वर बेल्स स्कूल शामलीं का छात्र) को समिति टीम ने महाराजा अग्रसेन जी का पटका पहनाकर स्वागत किया और सम्मानित करते हुए ट्रॉफी प्रदान की गई।साथ ही अभिनव गोयल को व उसके माता पिता को शुभकामनाएं भी दी। साथ मे वार्ड 23 सभासद पति निशिकांत संगल जी का भी पटका पहनकर अभिनंदन नन्द किशोर मित्तल जी ने किया। मेधावी छात्राओ के सम्मान में कक्षा 10 की जिले की टॉपर सी0 बी0 एस0 सी0 की सिल्वर बेल्स स्कूल की छात्रा अग्रवाल समाज का शामली में नाम रोशन करने वाली अपूर्वा तायल को समिति के जिलाध्यक्ष मनीष मित्तल ने पटका व ट्रॉफी देकर सम्मानित करते हुए शुभकामनाये भी दी।अग्रवाल समाज के लिए गौरव की बात है कि इन दोनों मेधावियों ने अग्रसेन भगवान के आशीर्वाद से समाज मे गौरव बढ़ाया है। महाराजा अग्रसेन सेवा समिति के जिला उपाध्यक्ष नन्द किशोर मित्तल ने अभिनव गोयल को ऑफिसर बनने की शुभकामनाएं प्रेषित की व आगे की पढ़ाई में लगाकर करने की प्रेरणा दी। दिल्ली यूनिवर्सिटी से अभिनव गोयल बी कॉम की आगे की पढ़ाई करेगा।छात्रा अपूर्वा तायल टॉपर को समिति की टीम ने शुभकामनाएं दी।            


बेटी की हत्या में पिता को जेल भेजा

अतुल त्यागी


 बेटी की हत्या में पिता गिरफ्तार, भेजा जेल


हापुड़। प्रेमी ने दर्ज करवाई थी प्रेमिका के परिजनों पर रिपोर्ट
हापुड़ संदिग्ध परिस्थितियों में हुई एक युवती की मौत के मामलें में प्रेमी द्वारा अपनी प्रेमिका पत्नी की हत्या का आरोप लगाते हुए परिजनों पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। मामलें में आज पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया । जिससे परिवार में कोहराम मच गया।
जनपद के सिम्भावली क्षेत्र निवासी एक युवती बबीता का एक युवक दिनेश से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिसका परिजन विरोध कर रहे थे। जून माह में संदिग्ध परिस्थितियों में युवती की मौत हो गई और परिजनों ने युवती का अंतिम संस्कार कर दिया।  मौत से अगले दिन प्रेमी दिनेश ने थाना सिम्भावली में परिजनों पर आनन किलिंग का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज करवाई थी और पुलिस को बताया था कि फरवरी माह में आर्यसमाज में उसने प्रेमविवाह कर लिया था। थानाध्यक्ष महेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि मामलें में पुलिस ने मृतका के आरोपी पिता रामचंद्र को गिरफ्तार कर लिया है।इससे पूर्व दोनों भाई मनोज व सनोज को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।           


सटोरियों पर पुलिस ने कसा शिकंजा

अतुल त्यागी


क्रिकेट सटोरियों के पर कुतरने की तैयारी


हापुड़। आईपीएल क्रिकेट मैच शुरु होने से पहले ही पुलिस ने क्रिकेट सटोरियों के पर कुतरने की तैयारी शुरु कर दी है।
पुलिस ने हापुड़ कोतवाली व थाना हाफिजपुर में दर्ज क्रिकेट सटोरियों की कुंडली खंगालनी शुरु कर दी है कि कौन-कौन क्रिकेट सटोरिया कब-कब जेल गया और वर्तमान में मुकद्दमों का स्टेटस क्या है। इसके अतिरिक्त किस-किस सटोरिएं ने गठजोड़ करके गिरफ्तारी से बच गया और जमानत पा ली।
बता दें कि हापुड़ के कुख्यात क्रिकेट सटोरियों ने लोगों को धोखा देकर अथाह सम्पत्ति का साम्राज्य स्थापित किया है और कई परिवारों को बर्बाद किया है तथा कई लोग आत्महत्या कर चुके है।           


लाटरी-धंधेबाजो की संपत्ति होगी जब्त

अतुल त्यागी


लाटरी धंधेबाजों की सम्पत्ति होगी जब्त


हापुड़। जनपद के लोगों को मोटे ब्याज का लालच देकर अथाह सम्पत्ति डकारने के आरोपियों की सम्पत्ति जब्त होना निश्चित माना जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने सूबे के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि जिन्होंने अपराध से अथाह सम्पत्ति एकत्र की है। उसे जब्त करने की कार्रवाई की जाए। नई शिवपुरी के रजनीश अग्रवाल व सुशील अग्रवाल तथा पटेल नगर के कृष्ण कुमार अग्रवाल पर आरोप है कि तीनों सगे भाइयों ने अवैध तरीके से अथाह सम्पत्ति एकत्र की है। आजकल तीनों भाई गैंगस्टर के तहत डासना जेल में बंद है।
पता चला है कि खुफिया तंत्र आरोपियों की सम्पत्ति का ब्यौरा खंगाल रहा है। शिवपुरी के घर पर ताला लटका है।                               


एसएचओ सहित 3 वाहनों को टक्कर मारी

अतुल त्यागी


एसएचओ की गाड़ी समेत तीन वाहनों को ट्रक ने मारी टक्कर


हापुड़। शनिवार को जनपद में एक अनियंत्रित ट्रक ने हापुड़ कोतवाली की गाड़ी समेत तीन वाहनों को टक्कर मार दी। हालांकि इस दौरान कोई जानहानी नहीं हुई लेकिन दो लोग ज़ख्मी हो गए। मामला सुबह लगभग 10 बजे मेरठ रोड बस अड्डे के बाहर का है, जहां मेरठ रोड तिराहे से मेरठ की ओर जा रहे ट्रक ने पहले एक मयूरी को टक्कर मारी। उसके बाद हापुड़ कोतवाली की गाड़ी में साइड मारते हुए सड़क किनारे खड़ी गाड़ी में टक्कर मार दी। बेकाबू ट्रक को काबू में करने के लिए वहां मौजूद महिपाल अपनी जान की बाजी लगाकर चलते ट्रक में चढ़ गया और उसके ब्रेक लगा दिए। हादसा इतना खतरनाक था कि मयूरी के दो हिस्से हो गए। एक टुकड़ा तो मौके पर ही रह गया जबकि दूसरा ट्रक के साथ कुछ मीटर की दूरी तक घिसटता चला गया। इस हादसे में मयूरी चालक और उसके रिश्तेदार को चोटें आई हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने ट्रक चालक पर शराब के नशे में होने का आरोप लगाया है। अगर महिपाल अपनी जान की बाजी न लगाता तो ये हादसा और भी बड़ा और बेहद खतरनाक हो सकता था।             


तेजी से बढ़ रहे हैं 'कंटेनमेंट जोन'

अतुल त्यागी


अतरपुरा में कोरोना मरीज मिलने के बाद ये इलाके हुए बफरज़ोन घोषित


हापुड़। एक जून को गोल मार्किट में कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद आसपास के गली-मौहल्लों में कोरोना संक्रमित मरीज लगातार मिल रहे हैं। सोमवार को जिला प्रशासन को मौहल्ला अतरपुरा से एक तीस वर्षीय व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद इन इलाकों को पुन: नियंत्रण में लेकर बफर ज़ोन घोषित किया गया है। ये मौहल्ले हैं: गोल मार्किट, माता मौहल्ला, साधना मार्किट, कृष्णा गली, गांधी गंज, पाटिया मंडी, सत्तीवाड़ा, अतरपुरा, प्रेमपुरा, खुर्जा पेच, पक्का बाग मंडी, भगवती गंज, जवाहर गंज, भोला गंज, गंज मौहल्ला, सर्राफा बाजार, खाई, बूरा गली, पुराना बाजार, चाहे कमाल, बराही मौहल्ला, नगर पालिका, कबाड़ी बाज़ार, कसेरठ बाज़ार, बुर्ज मौहल्ला, सब्जी मंडी, ब्रह्मनान, शिवपुरी, कासिमपुरा, नवज्योति कॉलोनी, शिवचरणपुरा, घनश्यामपुरा, कोठीगेट, महेशपुरी, पीरवाउद्दीन, पुरानी चुंगी, शास्त्री नगर, मुजफ्फरपुरा को नियंत्रण में लेकर बफर ज़ोन घोषित किया गया है।           


यूपी में युवक का सिर कुचल कर हत्या की

जौनपुर। जौनपुर के खुटहन थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव में शुक्रवार की रात बरात में गए युवक का सिर कूचकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने शनिवार को हत्या का खुलासा कर दिया। इस मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। घटना का खुलासा करते हुए जौनपुर एसपी सिटी  संजय कुमार ने बताया कि बोलेरो में मिले शव की पहचान अशोक कुमार के रूप में हुई थी। उन्होंने बताया कि मृतक अशोक कुमार (40) की पत्नी का अवैध संबंध एक युवक से हो गया था। जिसकी जानकारी मृतक अशोक को थी। दोनों के बीच अक्सर विवाद भी होता था। इसी कारण पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर हत्या करवा दी। बता दें कि मृतक अशोक अपनी पत्नी और बच्चों के साथ रहता है। इसी मकान में पत्नी रिशु ब्यूटी पार्लर चलाती है। पति बोलेरो संचालक था। जो खुद अपना वाहन चलाया करता था अवैध संबंधों की शक में युवक की हत्या कर शव उसी के वाहन मे फेंका गया है। मृतक की पत्नी रीशू देवी ने बताया कि शुक्रवार की रात लगभग आठ बजे अशोक घर से जफराबाद एक बरात में शामिल होने की बात कहकर अपनी बोलेरो खुद चलाते हुए निकले थे।


इसके बाद वह नहीं लौटे। आज सुबह बगल के गांव महमदपुर में इमामपुर मार्ग पर खेत में खड़ी बोलेरो में अशोक का शव पाया गया। ग्रामीणों ने शव की शिनाख्त के बाद सूचना पुलिस और परिजनों को दी। शव की स्थिति देख सिर पर किसी वजनी वस्तु से प्रहार कर हत्या की बात स्पष्ट हो रही है।फिलहाल पुलिस मृतक की पत्नी से पूछताछ में जुटी है।


विद्यार्थियों के लिए 'दीक्षा आरंभ' कार्यक्रम

नई दिल्ली। कोरोना वैश्विक महामारी के दौर में उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिले के लिए ऑनलाइन सहायता मुहैया कराई जाएगी। दाखिला लेने में कोई दिक्कत न हो, इसके लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय, छात्रों और शिक्षण संस्थानों के बीच ऑनलाइन सामंजस्य स्थापित करेगा।दरअसल, सीबीएसई समेत विभिन्न बोर्ड 12वीं के नतीजे घोषित कर चुके हैं। इसके उपरांत अब लाखों छात्र विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों की दाखिला प्रक्रिया में शामिल हो रहे हैं। वहीं पीएचडी, एमबीए, इंजीनियरिंग और मेडिकल संकाय से संबंधित उच्च शिक्षण संस्थानों में भी प्रवेश परीक्षाएं आरंभ होने वाली है।


स्कूल की पढ़ाई पूरी करके कॉलेज में दाखिले की तैयारी कर रहे इन लाखों छात्रों के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक विशेष कार्यक्रम ‘दीक्षा आरंभ’ तैयार किया है। ‘दीक्षा आरंभ’ नामक इस कार्यक्रम के अंतर्गत छात्रों को देश के विभिन्न कॉलेजों में दाखिले की प्रकिया से लेकर अन्य सभी समस्याओं का समाधान उपलब्ध कराया जाएगा। कॉलेजों में दाखिले के लिए छात्रों हेतु आरंभ किए गए इस कार्यक्रम के विषय में जानकारी देते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा , “स्कूल लाइफ से निकलकर कॉलेज के माहौल में प्रवेश करना छात्रों के लिए कठिन होता है। इसलिए ‘दीक्षा आरंभ’ लॉन्च किया गया है। इसमें ऐसे प्रोग्राम शामिल किए गए हैं, जो कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया के दौरान छात्रों के लिए मददगार साबित होंगे।” उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश के लिए आने वाले छात्र किसी प्रकार की दुविधा, असमंजस अथवा कठिनाई में उलझ कर न रह जाए, इसके लिए उन्हें अध्यापक के रूप में एक गाइड मुहैया कराया जाएगा। इस प्रक्रिया को सफल बनाने के लिए देश भर के 32 अलग-अलग विश्वविद्यालयों के अध्यापकों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है।


उच्च शिक्षण संस्थानों में दाखिले के दौरान छात्रों की मदद के लिए 32 विश्वविद्यालयों के 1650 अध्यापकों को ‘दीक्षा आरंभ’ कार्यक्रम के अंतर्गत विशेष ट्रेनिंग दी गई है। इसके साथ ही उच्च शिक्षा के 40 विभिन्न संस्थानों ने छात्रों की दाखिला प्रक्रिया शुरू करने का निर्णय भी ले लिया है।विश्वविद्यालयों के अकादमिक कैलेंडर को तैयार करने वाली यूजीसी की कमेटी ने अपनी सिफारिश में कहा, “देशभर के सभी कॉलेजों में सप्ताह में 6 दिन पढ़ाई होनी चाहिए। परिस्थिति को देखते हुए देश में उच्च शिक्षा के लिए नया सत्र जुलाई के बदले सितंबर से होना चाहिए। यह कमेटी शनिवार को भी कॉलेज चालू रखने की पक्षधर है।”           


खाई में गिरा अनियंत्रित वाहन, 3 की मौत

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल में शुक्रवार देर रात अंत्येष्टि में शामिल होकर वापस घर लौट रहे लोगों का वाहन अनियंत्रित होकर गहरी खाई मेंं गिरकर दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें बागेश्वर के तीन लोगों की मौत हो गयी है। खैरना पुलिस चौकी की प्रभारी आशा बिष्ट ने बताया कि दुर्घटना रात को लगभग साढ़े ग्यारह बजे हुई है। मृतक बागेश्वर जनपद के थरप गांव के निवासी था।


बताया जाता है कि सभी हल्द्वानी के चित्रशिला घाट से उसकी अंत्येष्टि में शामिल होकर वापस बागेश्वर लौट रहे थे। भवाली-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुयालबाड़ी के पास उनका वाहन अनियंत्रित होकर लगभग 150 से 200 मीटर गहरी खाई में जा गिरा। वाहन में तीन लोग धीरेन्द्र नगरकोटि, मोहन सिंह और हीरा प्रकाश नगरकोटि सवार थे। तीनों की मौके पर ही मौत हो गयी। दुर्घटना की सूचना मिलते ही राज्य आपदा प्रबंधन बल एवं क्वारब चौकी की पुलिस की ओर से राहत एवं बचाव अभियान चलाया गया। इसी दौरान मृतकों के परिचित अन्य लोग भी मौके पर जुट गये। वे भी अन्य वाहनों से इनके साथ बागेश्वर लौट रहे थे। रात के अंधेरे में बारिश के बीच ही सभी ने मिलकर राहत एवं बचाव अभियान चलाया। आखिरकार दो लोगों के शव रात को ढूंढ लिये गये थे जबकि हीरा प्रकाश नगरकोटि लापता थे। आज सुबह परिजनों की ओर से मौके पर पुनः ढूंढखोज की गयी। उन्हें लापता हीरा प्रकाश का शव कोसी नदी के किनारे पड़ा दिखायी दिया। एसडीआरएफ को मौके पर बुलाया गया और तीसरे शव को भी नदी से बाहर निकाला गया। पुलिस पंचनामा भरने के साथ ही अन्य कार्यवाही में जुट गयी थी।                 

मर्यादा पुरुषोत्तम के भाइयों को आसन

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को श्रीरामजन्मभूमि में मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम के भाइयों को नये आसन पर विराजमान कराया। पांच अगस्त को होने वाले भव्य राम मंदिर के शिलान्यास की तैयारियों का जायजा लेने मुख्यमंत्री आज दोपहर अयोध्या पहुंचे और अस्थायी मंदिर में विराजमान रामलला का दर्शन पूजन किया। इस मौके पर उन्होने लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न की प्रतिमाओं को नये आसान पर विराजमान कराया।


एक दिवसीय संक्षिप्त दौरे के दौरान सीएम योगी पांच अगस्त को प्रस्तावित भूमि पूजन के कार्यक्रम की समीक्षा करेंगे और आमंत्रित मेहमानों की सूची को अंतिम रूप देंगे। मुख्यमंत्री हनुमानगढ़ी भी जायेंगे और बाद में संतों और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बातचीत करेंगे। गौरतलब है कि पांच अगस्त को दोपहर 1215 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। भूमि पूजन काशी, प्रयागराज और अयोध्या के आचार्य वैदिक मंत्रो द्वारा करेंगे।               

श्रीराम 'निर्भयपुत्र'

गरीब के आशियाने पर दबंगों की नजर

गरीब को जमीन बनाने से दबंगों ने खदेड़ा


कौशाम्बी। सैनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत सिराथू तहसील के गरई गांव में गरीब की पुस्तैनी भूमि पर गाँव के दबंगों ने तांडव कर गरीब को जमीन बनाने से खदेड़ दिया। गरीब धर्मपाल पुत्र स्वर्गीय बृजपाल निवासी छुटकी गरई ने जिला अधिकारी को शिकायती पत्र देकर जांच कर दबंगो के विरुद्ध कार्यवाही की मांग किया है! 
धर्मपाल न्याय के लिए अधिकारियों की चौखट पर दौड़ लगा रहा है! लेकिन अभी तक गरीब को न्याय नहीं मिला है। सूचना के अनुसार घटनास्थल पर तहसील दार हल्का लेखपाल मैं फोर्स सहित मौके पर पहुँचे है और प्रकरण की जांच कर  निर्देशित किया है!जिस पर गरीब अपनी भूमि पर मकान निर्माण करवा रहा था गांव के अराजक तत्व महेंद्र कुमार पुत्र सुखराम ,धर्मेंद्र कुमार पुत्र  सुखराम ,राजेंद्र कुमार पुत्र सुखराम, रामनरेश पुत्र देशराज , देश राज पुत्र जगदीश, नितिन पुत्र धीरेंद्र आदि लोग जमीन पर पहुंचकर गरीब को लाठी-डंडों से पीट-पीटकर खदेड़ दिया! धर्मपाल स्थानीय पुलिस में शिकायत दिया लेकिन पुलिस ने भूमि का मामला होने के कारण कोई कार्यवाही नहीं किया जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर धर्मपाल ने जांच कर दबंगो के विरुद्ध कार्यवाही की मांग किया है।


धर्मेंद्र सोनकर


यमुना में नहाने गए 2 बच्चे डूबे

सुनील पुरी


फतेहपुर। यमुना नदी में नहाने गए दो बच्चे नदी में डूबे।*
नाग पंचमी पर गुड़िया कूटने के बाद दोस्तो के साथ यमुना में नहाने गए थे बच्चे। 11 वर्षीय सीता और 14 साल का पवन नहाते समय यमुना में डूबे।


स्थानीय गोताखोरों के साथ पुलिस बच्चों की तलाश में जुटी।अभीतक नही लग पाया नदी में डूबे बच्चों का पता।
चांदपुर थाना क्षेत्र के दपसौरा गांव की घटना। 


4 करोड़ फिरौती मांगी, 7 अरेस्ट किए

गोंडा। गोंडा जिले से अपहृत हुए बच्चे की सशकुशल बरामदगी करने वाली पुलिस और एसटीएफ टीम को एडीजी ने एक-एक लाख के इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि ऑडियो भेजकर चार करोड़ की फिरौती मांगने वाली महिला समेत छह लोगों को पुलिस मुठभेड़ के दौरान पकड़ा है। 
सीओ के मुताबिक शुक्रवार से पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही थी। शनिवार को अपहरणकर्ताओं की भौरीगंज रोड पर सर्विलांस से लोकेशन मिली थी। इसके बाद एसटीएफ और पुलिस टीम ने उनका पीछा किया तो कार एक खंभे से जा टकराई। कार टकराने के बाद भागने के लिए बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायर करना शुरू कर दिया। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग शुरू कर दी, दो बदमाश बुरी तरह घायल हो गए। पुलिस ने बच्चे को सशकुल बरामद कर लिया। मुठभेड़ के बाद लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंनें बच्चे की सकुशल बरामदगी पर पुलिस और एसटीएफ की टीम को एक-एक लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। 
जांच कराकर अन्य दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई
एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि मुठभेड़ मामले में जो भी व्यक्ति संलिप्त है उसके खिलाफ जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी। साथ उन्होंने मीडिया को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ के दौरान एक पुरुष और एक महिला को भी गिरफ्तार किया गया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। 
महिला बोली-चार करोड़ भेजो नहीं तो बच्चे की उम्मीद छोड़ो
गोंडा जिले के करनैलगंज से कारोबारी के पोते की किडनैपिंग के बाद कारोबारी के पास एक ऑडियो आया। जिसमें किडनैपिंग में शामिल महिला कारोबारी को धमकी दे रही है। महिला बोली-बच्चे की सलामती के लिए चार करोड़ की व्यवस्था करो। नहीं तो बच्चे की उम्मीद छोड़ दो। 
एक महिला समेत छह लोग मुठभेड़ में गिरफ्तार 
मुठभेड़ का खुलासा करते हुए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि शनिवार को हुई पुलिस और एसटीएफ की मुठभेड़ में एक महिला समेत छह लेागों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में सूरज पांडे निवासी शाहपुर थाना परसपुर, हाल मुकाम सकरोरा थाना करनैलगंज, छवि पांडे पत्नी सूरज पांडे, राज पांडेय, उमेश यादव निवासी सकरोड़ा पूर्वी थाना करनैलगंज, दीपू कश्यप निवासी सोनवारा थाना करनैलगंज को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया गया है। सभी लोग गोंडा जिले के रहने वाले हैं। उनके पास से अपहरण में प्रयोग की गई एक कार, एक 32 बोर की पिस्टल, दो अदद कारतूस, 315 बोर का तंमचा भी बरामद किया गया है।             


अंतरिक्ष में दिखाई देगा अद्भुत नजारा

नई दिल्ली। आसमान में प्रकृति की आतिशबाजी देखना एक जबरदस्त और अद्भुत अनुभव होता है। यह अद्भुत नजारा 28-29 जुलाई की रात को आसमान में देखा जा सकता है। जब प्रति घंटे 15-20 उल्का पिंड और कुल मिलाकर 50 या उससे अधिक उल्का पिंडों की बारिश होगी। रात 12 से 1 बजे के बीच इस अनोखी खगोलीय घटना का लुत्फ नंगी आंखों से उठाया जा सकेगा।
वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला के खगोलविद् अमर पाल सिंह ने बताया कि पृथ्वी अपने अक्ष  पर घूमते हुए सूर्य का चक्कर लगाने के दौरान सोलर सिस्टम में मौजूद छोटे खगोल पिंडों के मलबे पृथ्वी के वायुमंडल में घुसने की कोशिश करते हैं। धरती के वायुमंडल में प्रवेश के दौरान ये घर्षण की वजह से जलने लगते हैं। जिस वजह से ये नजारा देखने लायक होता है।उन्होंने बताया कि उस दिन चांद का आकार 66 फीसद होने कारण उल्का वृष्टि के नजारे को चंद्रमा के अस्त होने के बाद ही बखूबी देखा जा सकेगा। कोरोना महामारी के चलते प्रदूषण का स्तर भी घटा है, जिसके बाद आकाश में होने वाली ये खगोलीय घटनाएं और साफ नजर आने लगीं हैं।              


दिल्ली-यूपी में बारिश की भारी संभावना

राजधानी दिल्ली में गर्मी से राहत, मौसम सुहावना


बिहार-असम में बाढ़ से मचा हाहाकार, लोग बेहाल


नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में बाढ़ का सिलसिला जारी है, तो पहाड़ों पर भारी बारिश के बाद भूस्खलन से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार देर शाम हुई बारिश के बाद से मौसम सुवाहना है। वहीं, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश में भी बारिश से मौसम का मिजाज बदला है।


मौसम विभाग के अनुसार, आज यानी 25 जुलाई को भी दिल्ली-एनसीआर में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।मौसम अभी पूरी तरह शुष्क नहीं होगा। भारतीय मौसम विभाग विभाग (IMD) ने 25-26 जुलाई को बारिश का पूर्वानुमान लगाया है। दिल्ली के साथ एनसीआर के शहरों में भी झमाझम बारिश हो सकती है।       


महाप्रबंधक के आवेदन आमंत्रित किए

नई दिल्ली। बीसीसीआई ने सबा करीम के क्रिकेट संचालन के प्रभारी के रूप में इस्तीफे के बाद महाप्रबंधक (जीएम)- खेल विकास के पद के के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इस आवेदन की अंतिम तिथि सात अगस्त हैं। बोर्ड के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी का त्यागपत्र स्वीकार करने के बाद करीम को इस महीने के शुरू में इस्तीफा देने के लिए कहा गया था। खेल विकास प्रमुख पद पर पिछली बार रत्नाकर शेट्टी थे।शेट्टी मार्च 2018 में सेवानिवृत्त हुए थे। भारत के पूर्व खिलाड़ी करीम को दिसंबर 2017 में महाप्रबंधक क्रिकेट संचालन के रूप में नियुक्त किया गया था।


आवास योजना में 1,57,815 बनेंगे मकान

रायपुर। छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में एक लाख 57 हजार 815 मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है। योजना के संचालक एस. प्रकाश ने सभी जिला पंचायतों के मुय कार्यपालन अधिकारियों को परिपत्र जारी कर इसके लिए प्राथमिकता निर्धारित कर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।


उन्होंने सभी जिलों को इस वर्ष योजना के तहत बनने वाले मकानों की जानकारी भी भेजी है। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत इस वर्ष प्रदेश में बनने वाले कुल एक लाख 57 हजार 815 मकानों में अनुसूचित जनजाति वर्ग के हितग्राहियों के 74 हजार 696, अनुसूचित जाति वर्ग के 20 हजार 042, अल्पसंयक वर्ग के 850 और अन्य वर्गों के हितग्राहियों के 62 हजार 227 मकान शामिल हैं।             


अयोध्या पहुंच कर योगी ने की समीक्षा

हरिओम उपाध्याय


आयोध्या/ लखनऊ। मुख्य मंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार योगी आदित्यनाथ आज (शनिवार) दोपहर लगभग 2 बजे अयोध्या पहुँच कर वहाँ चल रही भूमि पूजन की तैयारियों की समीक्षा करेंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुँच कर सबसे पहले हनुमानगढ़ी मंदिर जाकर हनुमान जी के दर्शन करेंगे। 


5 अगस्त को होगा भव्य शिलान्यास


भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या में आगामी 5 अगस्त को शिलान्यास का भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।  इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के विभिन्न भागों से आए प्रमुख संत और धर्मगुरु भाग लेंगे।               


बदमाशों से पहले पुलिस को सुधारें

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराधों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त तेवर दिखाए हैं। मुख्यमंत्री की यह नाराजगी कानपुर के बिकरू कांड के बाद लैब टेक्नीशियन के अपहरण व हत्या तथा गाजियाबाद में पत्रकार की हत्या को लेकर है। कानपुर में युवक संजीत की अपहरण के बाद हत्या के मामले में नाराजगी प्रदर्शित करते हुए मुख्यमंत्री ने वहां के एएसपी व सीओ सहित 11 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया। कानपुर में हुई यह कार्रवाई पुलिस कार्रवाई में लापरवाही, अपराधियों के बच निकलने, बदमाशों द्वारा फिरौती वसूलने को लेकर है। लेकिन सवाल यह है कि क्या मुख्यमंत्री की नाराजगी से पुलिस अधिकारियों में कोई खौफ पैदा होगा या फिर यह बस एक घटना बनकर रह जाएगी। क्योंकि इसमें कोई दो राय नहीं है कि हमारे पुलिस सिस्टम में भ्रष्टाचार और अवैध उगाही का ऐसा दीमक घुस गया है जो अब अपने और पराये का भेद करना भी भूल गया है। उसी का परिणाम है कि एक पुलिस इंस्पेक्टर बदमाशों की मुखबिरी कर आठ पुलिस वालों को मरवा देता है। बार-बार शिकायत करने के बावजूद गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी को गली के गुंडों के हाथों मरने के लिए छोड़ दिया जाता है।


आम जनता में सरकार की इच्छा शक्ति एवं मुख्यमंत्री योगी की मंशा को लेकर कोई संदेह नहीं है। लेकिन उसी जनता को यूपी पुलिस पर रत्ती भर भरोसा नहीं है। बात चाहे कानपुर की हो या गाजियाबाद की या फिर राजधानी लखनऊ की। हर जगह पुलिस ने एक मोटी खाल ओढ़ रखी है, जिसके भीतर से वह बदमाशों की पैरोकारी से लेकर उसे संरक्षण तक देती है। लेकिन मासूम और मजलूम जनता की आवाज और दुख-दर्द उनकी खाल को नहीं भेद पाते। इस मोटी खाल को भेदने के लिए योगी सरकार को जोरदार हंटर चलाना पड़ेगा। यह हंटर सिपाही, दरोगा पर नहीं बल्कि एसपी, एसएसपी एवं उनके ऊपर के अधिकारियों पर चलाने की जरूरत है। यदि जिले का कप्तान मजबूत इच्छाशक्ति वाला हो तो भले ही अपराध पर पूरी तरह अंकुश ना लगे लेकिन अपराधों का ग्राफ काफी हद तक नीचे चला आता है। ऐसे उदाहरण हमने कई दफा देखा है।           


दूध-दही चंदन से पूजा कर मनी 'पंचमी'

दूध दही चंदन से पूजा कर मनाई नाग पंचमी...


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद।  हनुमान मंगलमय परिवार के संस्थापक व विश्व ब्राह्मण संघ के प्रवक्ता बीके शर्मा हनुमान  ने सावन माह की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नागपंचमी के रूप में मनाया गया इस दिन नाग देवता की पूजा का विधान है। मान्यता है कि इस दिन  पूजा करने से नाग देवता प्रसन्न होते हैं। इसलिए यह खास तिथि पर सरपो को दूध पिलाने की भी परंपरा है। नाग पंचमी के दिन वासुकी नाग शेषनाग की पूजा की जाती है। इस दिन लोग अपने घरों के द्वार पर नागों की आकृति भी बनाकर पूजा करते हैं। इस बार नाग पंचमी का त्योहार 25 जुलाई शनिवार के दिन मनाया जा रहा है क्योंकि शनिवार के दिन नाग पंचमी की पूजा करने का विशेष योग है। नाग पंचमी की पूजा करते समय नाग के लिए विशेष रूप से जल पुष्प चंदन दूध दही घी शहद चीनी का पंचामृत लड्डू और मालपुए आदि नाग को अर्पण करा कर पूजा अर्चना की गई है। इसके बाद प्रसाद स्वरूप सेवई और चावल बना कर लकड़ी के पटरी पर साफ लाल या पीले रंग का कपड़ा बिछाए कर उस पर नाग देवता की प्रतिमा स्थापित करके मान्यता है कि ऐसा करने से आपके घर की बुरी शक्तियों से रक्षा होती है। आज सपेरे  से नाग को खरीद कर उन्हें मुक्त भी कराया गया जीवित सर्प को दूध पिला कर भी नाग देवता को प्रसन्न किया जाता है। आज के दिन नाग नागिन की पूजा से भगवान महादेव और पार्वती का पूजन भी किया गया इसके समस्त बाधाओं से मुक्ति के लिए प्रार्थना की गई मान्यता है हिंदू पुराणों के अनुसार ब्रह्मा जी के पुत्र ऋषि कश्यप की 4 पत्नियां थी मान्यता यह है कि उनकी पहली पत्नी से देवता दूसरी पत्नी से गरुड़ और चौथी पत्नी से देतय लेकिन उनकी जो तीसरी पत्नी कुद्रो थी जिनका ताल्लुक नाग वंश से था उन्होंने नागों को उत्पन्न किया नागदेव गुप्त धन की रक्षा करते हैं। इस कारण से यह माना जाता है कि नाग पंचमी के दिन नागों की पूजा करने से जीवन में धन समृद्धि का भी आगमन होता है। इस दिन व्रती को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। जिस व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष होता है तो उसे इस दोष से बचने के लिए नाग पंचमी का व्रत करना चाहिए इस अवसर पर परिवार व मोहल्ले वालों ने मिलकर के नाग पंचमी का पूजन किया मुख्य रूप से रीता शर्मा ,बबीता शर्मा, शैलजा शर्मा ,नव्या शर्मा, मिष्टी शर्मा, अयान, वियान  शर्मा आदि मौजूद थे।          


चेन लूट के मामले में नहीं हो रहा मुकदमा

साहिबाबाद में मुकदमा दर्ज कराने के लिए भाजपा नेताओं की मदद लेनी पड़ रही हैं।


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। थाना साहिबाबाद के चौकी शालीमार गार्डन क्षेत्र में हो रही चेन लूट के मामले में पुलिस मुकदमा दर्ज नही कर रही हैं।
विक्रम एन्क्लेव निवासी महेश चौहान की बाइक सवार दो बदमशोने सुबह घर के बाहर से दो टोले की चेन लूट लिया था मगर आज तक साहिबाबाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज नही किया पीड़ित भाजपा कार्यकर्ता हैं मगर उसके बाद भी मुकदमा दर्ज नही हो रहा हैं अब एक भाजपा पार्षद को लेकर थाने गया हैं पीड़ित देखना हैं कि क्या मुकदमा दर्ज हो पाता हैं की नही क्या पुलिस इसी तरह अपराध का आंकड़ा कम करेगी जब मुकदमा दर्ज नही तो क्षेत्र में अपराध नही मगर मुकदमा दर्ज ना होने से अपराध बढ़ता हैं अपराधियो को बढ़ावा मिलता हैं।               


सभी श्रद्धालु चारधाम के कर सकेंगे दर्शन

देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने बाबा केदारनाथ, बाबा बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री चारों धाम के दर्शनों पर लगा प्रतिबन्ध अब समाप्त कर दिया गया है और देश के सभी श्रद्धालुओं के लिए भी सशर्त चारधाम यात्रा खोल दी गई है। इससे पहले अभी तक केवल राज्य के श्रद्धालुओं को ही यात्रा की अनुमति थी।


सरकार ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि इस दौरान कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर अन्य सामान्य आदेश भी लागू रहेंगे। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने आज यह घोषणा की है। उन्होंने बताया कि अब राज्य में बाहरी श्रद्धालुओं को भी चारधाम यात्रा पर आने की अनुमति होगी, लेकिन उनके पास उत्तराखंड आने के 72 घंटे पहले तक की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट होनी चाहिए। इसके साथ ही वे श्रद्धालु भी यात्रा कर सकते हैं, जो उत्तराखंड पहुंचकर निर्धारित क्वारंटीन अवधि को पूरा कर चुके होंगे। यात्रा पर आने वाले श्रद्धालु देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण करेंगे। उन्हें पंजीकरण के साथ अपना पहचान पत्र (आईडी), कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट भी वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी। इसके अलावा वेबसाइट पर अपलोड किए गए दस्तावेजों की मूल प्रति अपने पास रखना भी अनिवार्य होगा। क्वारंटीन अवधि पूरी करने वाले श्रद्धालु वेबसाइट पर फोटो आईडी अपलोड कर अपना पास प्राप्त करेंगे और मंदिरों में जा सकेंगे। सरकार ने यह कदम तीर्थांटन एवं पर्यटन कारोबार को मजबूती देने के उद्देश्य से उठाया है।               

दिक्कतें कम करने के लिए लिया फैसला

राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। पंजाब में कोरोना वायरस के चलते किए गए लॉकडाउन के दौरान लोगों को आ रही मुश्किलों को देखते हुए पंजाब सरकार ने लोगों की दिक्कत को देखते हुए पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि रविवार को आवाजाही पर रोक नहीं होगीँँ। पर बिना वजह घर से न निकला जाए जिसको जरूरी काम हो वो ही घर से निकले । वही कैप्टन अमरिंदर सिंह के दिशा निर्देशों के बाद जालंधर के डीसी घनश्याम थोरी ने बताया कि जरूरत की  दुकाने खोली जाएंगी। वहीं रविवार को धारा 144 लागू रहेगी बाजार व अन्य दुकानें बंद रहेंगी। वहीं पब्लिक ट्रांसपोर्ट आम दिनों की तरह चलती रहेगी।             


स्वतंत्रता दिवस को लेकर एडवाइजरी जारी

नई दिल्ली। गृह मंत्रालय की तरफ से सभी राज्यों को स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। इसमें कहा गया है कोरोना काल में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ मास्क और सैनिटाइजेशन के इस्तेमाल को भी सुनिश्चित किया जाये।
एडवाइजरी के मुताबिक, लाल किले पर सुरक्षा में तैनात पुलिस PPE किट पहनकर रहेगी। मेहमानों के बीच बैठने की दूरी भी बढ़ा दी जाएगी। हर साल लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस पर जश्न के दौरान 1000 के करीब विशेष अतिथि बुलाए जाते हैं, लेकिन इस बार इस संख्या को 250 के करीब तक सीमित रखा जाएगा। वेब कास्ट के जरिए कार्यक्रम के प्रसारण की सलाह।
मंत्रालय ने सभी राज्यों से कहा है कि कार्यक्रम के दौरान तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया जाए। तकनीक के इस्तेमाल से ज़्यादा लोगों तक कार्यक्रम को पहुंचाया जा सकता है। मसलन, वेब कास्ट के जरिए कार्यक्रम के प्रसारण से लोगों की भीड़ भी कम होगी और कार्यक्रम की पहुंच भी ज़्यादा होगी।





सरकार की कोशिश कोरोना वरियर्स को प्रोत्साहित करने की रही है। गृह मंत्रालय ने सबसे महत्वपूर्ण सलाह राज्यों को देते हुए स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर कोरोना वारियर्स, डॉक्टर, हेल्थ वर्कर को विशेष तौर पर बुलाने को कहा है। इसके अलावा कार्यक्रम के दौरान कोरोना को हराकर वापस लौटने वालों को भी बुलाने की सलाह दी गई है। गृह मंत्रालय ने सलाह दी है कि मिलिट्री बैंड के रिकॉर्ड किए गए वीडियो को 15 अगस्त के दिन बड़े स्क्रीन पर दिखाया जाये। कोशिश हो कि डिजिटल तरीके से कार्यक्रम को सफल बनाया जाए। स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर हर साल हर राज्य के राजभवन में एट होम कार्यक्रम की परंपरा रही है। इस कार्यक्रम में राजभवन में राज्य के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ मंत्रियों समेत कई गणमान्य लोग भाग लेते हैं, लेकिन इस साल कोरोना के चलते एट होम कार्यक्रम कराने या नहीं कराने का फ़ैसला राज्यपालों पर छोड़ दिया गया है। सलाह दी गई है कि अगर एट होम कार्यक्रम होता है तो सोशल डिस्टेंसिंग के साथ -साथ मास्क भी सुनिश्चित किया जाये।             


नीति के तहत मीडिया संस्थानों पर संकट

मीडिया जगत के लिए एक के बाद एक बुरी खबरें आती जा रही हैं, 
नई मीडिया पॉलिसी से छोटे समाचार पत्रों पर एक बड़ा संकट।
नई दिल्ली। एक तरफ जीएसटी के चलते अनेक पत्रकारों और मीडिया कर्मियों की नौकरियां जाती रही वहीं दूसरी तरफ वर्ष 2020 में कोरोना के चलते कई मीडिया संस्थान बंद हो गए और जो बच गए उन मीडिया संस्थानों ने मीडिया कर्मियों को मिलने वाले वेतन में भारी कटौती कर दी।


इन सब विपदाओं के बावजूद मीडिया संस्थान किसी न किसी तरीके से अपने अस्तित्व को बचाए रखकर समाज के लिए एक चौथे स्तंभ के रूप में कार्य कर रहे थे परंतु भारत सरकार द्वारा 1 अगस्त 2020 से संशोधित प्रिंट मीडिया पॉलिसी 2020 लागू की जा रही है, इस पालिसी में किये गए संशोधन को देखने के उपरांत ये स्पष्ट है कि जो समाचार पत्र जीएसटी के बावजूद अपना वजूद बचा कर रख पाए थे अब उन संस्थानों पर भी ताला लग जाएगा, भारतीय समाचार पत्र और खासतौर से छोटे समाचार पत्र जो समाज का आईना होते हैं, जो गांव, चौपाल, गली, मोहल्ले की खबरों को लिखते हैं, उनकी पीड़ा को, उनके दर्द को अपने अखबार के माध्यम से सरकार की नुमाइंदगी कर रहे अधिकारियों के सम्मुख प्रस्तुत करते हैं अब ऐसे समाचार पत्र का अस्तित्व ही मिट जाएगा।


डॉ मोहम्मद कामरान       


राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी

जयपुर। राजस्थान में बरसात की दस्तक ने कुछ जिलों में आमजन को गर्मी से राहत दिलाई वंही किसानेां को भी इससे राहत मिली है। किसानों ने बारानी खेतेां में बिजाई का काम भी शुरु कर दिया है। इसी बीच मौसम विभाग ने आज प्रदेश के 11 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के अनुसार उदयपुर, राजसमंद, भीलवाड़ा, चित्तौडगढ़, सिरोही, प्रतापगढ़, बाडमेर, पाली, जोधपुर, नागौर और जालौर जिलों में भारी बरसात की चेतावनी जारी की गई है।


यंहा होगी भारी बरसात 
का कहीं कम तो कही अधिक बरसात हो रही है और इसकी चेतावनी मौसम विभाग ने भी जारी की है। इस दौरान कुछ इलाकों में भारी बारिश तो कुछ में मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है। इस बार प्रदेश में बारिश का यह दौर 27 जुलाई तक जारी रहने के आसार हैं। प्रदेश में राजधानी जयपुर सहित कई जिलों में बरसात हुई। तेज मेघगर्जना के साथ बिजली चमकने का दौर जारी रहा, पर कुछ जिलों में बरसात का इंतजार ही बना रहा।



सावन में भी बरसात का इंतजार
इस बार कोरोना काल, सावन का महीना और मानसून एक साथ होने से कई परेशानियों का सामना भी लोगों को करना पड़ रहा है। ना तो सावन के झूले है और ना ही बरसात का कहर, इससे सावन का आनंद किरकिरा हेा गया है। कोरोना के कहर ने लेागों को सावन के झूले से भी अनछुआ कर दिया है। मौसम विभाग की चेतावनी से अधिकतर जिलो में बरसात हो सकती है। बरसात से ही मौसम खुशनुमा हो सकेगा, तभी चारों तरफ हरियाली ही नजर आएगी।           


757 लोगों की मौत, 48,916 संक्रमित

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 48,916 नए मामले सामने आए और 757 लोगों की मौत हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 48,916 नए मामले सामने आए हैं और 757 लोगों की मौत हुई है। इसके बाद देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 13,36,861 हो गई है, जिनमें से 4,56,071 सक्रिय मामले हैं, 8,49,432 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 31,358 लोगों की मौत हो चुकी है।


31 दिसंबर तक 'वर्क फ्रोम होम' सुविधा

केंद्र सरकार ने वर्क फ्रॉम होम की सुविधा 31 दिसंबर तक बढ़ाई


 

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच आईटी, बीपीओ डॉक्टर और अन्य सेवा प्रदाता कंपनियों के कर्मचारी अब 31 दिसंबर तक वर्क फ्रॉम होम यानी घर से काम कर सकेंगे। दूरसंचार विभाग ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं।

आईटी कंपनियों में करीब 90 फीसदी कर्मचारी अभी घर से काम कर रहे हैं। इसकी अवधि 31 जुलाई को खत्म हो रही थी। नैसकॉम की अध्यक्ष देबजानी घोष ने कहा, इससे कारोबार जारी रहेगा और कर्मचारी भी सुरक्षित रहेंगे। कंपनियों को दूसरे व तीसरे दर्जे के शहरों में बिहार कर्मचारी तलाशने का भी मौका मिलेगा।           


27 को पीएम की मुख्यमंत्रीयों से बैठक

नई दिल्ली। देश में लॉकडाउन हटाए जाने के बाद से कोरोना वायरस बहुत तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना संक्रमण के कई राज्‍यों में रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। अब सरकार एक बार फिर से देश में लॉकडाउन लगाने पर गंभीरता से विचार कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जुलाई को तीन राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ कोरोना वायरस के हालात पर बातचीत करेंगे। 27 जुलाई को महाराष्‍ट्र, पश्चिम बंगाल और उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की वर्चुअल मीटिंग होगी। गौरतलब है कि महाराष्ट्र कोरोना संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित है और यूपी व बंगाल में बेहद तेज गति से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन भी शामिल होंगे। चीफ सेक्रेटरी और स्‍वास्‍थ्‍य सचिव भी मुख्‍यमंत्रियों के साथ मौजूद रहेंगे। प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह सातवीं बैठक है। इस बैठक में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए अगले चरण की रणनीति पर चर्चा होने की संभावना है। देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन को लेकर राय भी लेगी।           


दमघुटने से 50 गौवंशों की मौत

रायपुर/बिलासपुर। तखतपुर ग्राम पंचायत में 50 गायों की मौत से हड़कंप मच गया है। बता दें कि घटना मेड़पार बाजार गांव की है। जानकारी के मुताबिक पुराने पंचायत भवन में करीब 100 गायों को एक साथ रखा गया था। भवन में एक साथ इतनी गायों को रखने के कारण दमघुटने से 50 गायों की मौत की आशंका व्यक्त की जा रही है। इतना ही नहीं सूत्रों की माने तो गायों के लिए खाने-पीने के साथ हवा की पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। घटना के बाद अब प्रशासन के आला-अधिकारी मौके पर पहुंच गए है।                   


जिलें में संक्रमण को लेकर प्रशासन सख्त

कलेक्टर ने कोविड-19 के बचाव उपायों का कड़ाई से पालन कराने अधिकारियों को दिये निर्देश

अब नहीं मानी बात तो होगी जुर्माने सहित होगी कड़ी कार्यवाही

कलेक्टर ने की जिले की समस्त जनता से सहयोग की अपील

कोरिया। कलेक्टर श्री एस एन राठौर ने आज यहां जिला कलेक्ट्रेट के स्वान कक्ष में वीसी के माध्यम से जिले के सभी एसडीएम, सीईओ जनपद, आयुक्त नगर निगम चिरमिरी एवं सभी सीएमओ को उनके क्षेत्र अंतर्गत कोविड-19 के बचाव उपायों जैसे मास्क पहनना, सार्वजनिक एवं भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचना तथा सोशल डिस्टनसिंग का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिये। इस दौरान एसपी श्री चंद्रमोहन सिंह, सीएमएचओ तथा ब्लॉक मेडिकल टीम भी शामिल हुए कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि लोगों को जागरूक करने बार-बार मुनादी कराई जाये। अंतर्राज्यीय नाकों पर विशेष ध्यान दें। सैंपल टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाये। जिले में ट्रूनाट लैब के जरिये पॉज़िटिव या नेगेटिव केस की शीघ्र पहचान करने की सुविधा उपलब्ध है। इसके साथ ही उन्होंने राजस्व एवं पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर जिले में निगरानी करने तथा उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना के साथ कड़ी कार्यवाही के भी निर्देश दिये। 

उन्होंने जिले की समस्त जनता से सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि आम जन कोरोना महामारी से चल रही इस जंग में जिला प्रशासन का सहयोग करें। आपके सहयोग और जागरूकता से ही जिले में कोविड-19 के प्रसार को रोका जा सकता है।           

गृह मंत्रालय के आदेश पर की कार्रवाई

रायपुर। राजनांदगांव जिले में हत्या का मामला संज्ञान में आते ही प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने संबंधित अधिकारियों को तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश देने के बाद पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी 24 घंटे के भीतर कर ली है। गौरतलब है कि राजनांदगांव-अम्बागढ़ चौकी के रायसिंह पिता स्व.आनंद सिंह पटेल ने 22 जुलाई की सुबह थाने आकर रिपोर्ट लिखाई की रात में सभी खाना खाकर सोए थे। सुबह उसके छोटे बेटे अनुज पटेल की लाश बिस्तर पर मिली। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू की और पोस्टमार्टम में गला घोंटकर कर हत्या करना पाया। जांच के दौरान घटना स्थल कातुलवाहि जाकर सूक्ष्मता से पूछताछ करने पर मृतक का बड़ा भाई अन्नू पटेल जो शादी शुदा था। उसने अपना जुर्म कबूल किया और बताया कि मृतक अनुज खेत के काम में मदद नहीं करता था। इतना ही नहीं वह नशे का आदी था। पहले दोनों के बीच दो बार झगड़ा हो चुका था। वह उसकी पत्नी से भी मारपीट करता था। मौका देखकर अपनी पत्नी के साथ गमछे से नाक मुँह दबाकर उसकी हत्या कर दी। निरीक्षक आशीर्वाद रहटगांवकर ने वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में 12 घंटे में ही हत्या की गुत्थी सुलझाने में सफलता प्राप्त की। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।           


एमपी सीएम वायरस से संक्रमित हुए


भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। सीएम ने अपने संपर्क में आए लोगों से कहा है कि वह खुद की कोरोना जांच करवाएं। साथ ही एहतियात बरतते हुए खुद को अन्य लोगों से अलग कर लें। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के कोरोना संक्रमित होने पर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विज सिंह ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि आपने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल नहीं रखा, मुझ पर तो भोपाल पुलिस ने  ऐसा नहीं करने पर एफआईआर दर्ज कर ली थी, लेकिन आप पर कैसे करते।


दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की खबर मिलते ही सीएम आवास पर एक एंबुलेंस पहुंच गई है। शिवराज को जल्द ही अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। 
बता दें कि, मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'मेरे प्रिय प्रदेशवासियों, मुझे कोविड-19 के लक्षण आ रहे थे, टेस्ट के बाद मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी सभी साथियों से अपील है कि जो भी मेरे संपर्क में आए हैं, वह अपना कोरोना टेस्ट करवा लें। मेरे निकट संपर्क वाले लोग क्वारंटीन में चले जाएं।

वायरस पर मायावती ने चिंता व्यक्त की

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामलों में वृद्धि को देखते हुए बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने चिंता व्यक्त की है। उन्होंने सरकार से अस्पतालों और कोविड केन्द्रों पर साफ-सफाई की मांग उठाई है। मायावती ने ट्वीटर के माध्यम से लिखा है, “देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी के दिन-प्रतिदिन बढ़ने से यहां की जनता जिस प्रकार से काफी चिन्तित व त्रस्त है। उसके मद्देनजर कोरोना टेस्टिंग, अस्पतालों में सुविधा व कोविड केन्द्रों की साफ-सफाई आदि पर सरकार तुरन्त उचित ध्यान दे, बीएसपी की यह मांग है।” इससे पहले भी कोविड केन्द्रों की साफ-सफाई को लेकर वह ट्वीट कर चुकी हैं। उन्होंने लिखा था कि कोरोना बीमारी से रोकथाम के लिए यूपी में बनाये गये सरकारी कोविड केन्द्रों में से अधिकतर वहां पर उचित साफ-सफाई व रख-रखाव आदि के अभाव के कारण कहीं वे बीमारी के नए केन्द्र न बन जायें, सरकार इस पर भी गंभीरता से ध्यान दे तो यह बेहतर होगा।               


विधानसभा सत्र बुलाने पर राजनीति गरमाई

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा सत्र बुलाने के मुद्दे पर राजनीति गरमा गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में शुक्रवार को राजभवन में दिये गये धरने के कारण राज्यपाल ने मंत्रिमंडल की बैठक में कुछ बिन्दुओं पर स्पष्टीकरण मिलनेपर विधानसभा का सत्र बुलाने का आश्वासन दिया था। इसके बाद देर रात तक मंत्रीमंडल की बैठक हुई जिसमें छह बिन्दुओं पर चर्चा कर प्रस्ताव तैयार किया गया है।


यह प्रस्ताव आज राज्यपाल को भेजा जायेगा। इस बीच कांग्रेस ने आज जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन का कार्यक्रम रखा है। विधानसभा अध्यक्ष द्वारा व्हिप का उल्लंघन करने के मामले में 19 विधायको को दिये गये नोटिस पर अदालत की रोक के बाद इस मुद्दे पर 27 जुलाई को उच्चतम न्यायालय में सुनवाई होगी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अब खुलकर कांग्रेस को जबाव देने का फैसला किया है। भाजपा का मानना है कि कांग्रेस में अंदरूनी खींचतान का दोष भाजपा पर मढ़ा जा रहा है जबकि कांग्रेस विधायक खरीद फरोख्त में शामिल केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत का नाम ले चुकी है। इसके अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नजदीकी लोगों पर प्रवर्तन निदेशालय तथा केन्द्रीय जांच ब्यूरों सीबीआई की कार्यवाही की है। कांग्रेस ने अपने विधायकों को एक पंच सितारा होटल में ठहरा रखा है जिस पर भी भाजपा ने एतराज जताया है। इधर उपमुख्यमंत्री पद से निष्कासित कांग्रेस के 19 विधायकों ने भी बंधक बनाने से इनकार करते हुए पार्टी की अंदरूनी खींचतान को उजागर किया है। कांग्रेस बहुमत होने का दावा कर रही है जिस पर राज्यपाल का कहना है कि कांग्रेस के पास बहुमत हो तो फिर सत्र बुलाने की क्या जरूरत है। राज्यपाल ने जिन छह बिन्दुओं पर केबिनेट की राय जानने की बात कही थी उनमें सत्र बुलाने की तारीख, अल्पसूचना पर सत्र बुलाने का औचित्य, विधायकों की स्वतंत्रत आवागमन की सुनिश्चितता तथा कोरोना को देखते हुए सत्र बुलाने के जरूरी प्रबंधन के बिन्दू शामिल है।           

सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर

श्रीनगर। श्रीनगर के बाहरी इलाके रणबीरगढ़ पंजीनारा में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं। आईजी पुलिस विजय कुमार ने बताया है कि मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं। मारे गए आतंकवादियों की पहचान का अभी तक पता नहीं चल पाया है। सुरक्षा बलों ने एक विशिष्ट खुफिया इनपुट मिलने के बाद सुबह ऑपरेशन शुरू किया था। पुलिस, सीआरपीएफ और सेना की एक संयुक्त टीम ने आतंकवादियों के छिपने की जगह की घेराबंदी की। इसके बाद उन पर हुई भारी गोलीबारी से मुठभेड़ शुरू हो गई। मारे गए आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है।             


यूपी में 'नो टेस्ट नो कोरोना' की पॉलिसी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना मामलों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। प्रियंका ने लिखा है कि लगता है आपकी सरकार ने ‘नो टेस्ट नो कोरोना’ को मंत्र मान कर लो टेस्टिंग की पलिसी अपना रखी है। प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि उप्र में कल कोरोना के 2500 केस आए और लगभग सभी महानगरों में कोरोना मामलों की बाढ़ सी आई है। अब तो गांव देहात भी इससे अछूते नहीं है। साफ प्रतीत होता है कि आपकी सरकार ने ‘नो टेस्ट नो कोरोना’ को मंत्र मानकर लो टेस्टिंग की पालिसी अपना रखी है। अब एकदम से कोरोना मामलों के विस्फोट की स्थिति है। जब तक पारदर्शी तरीके से टेस्ट नहीं बढ़ाए जाएँगे तब तक लड़ाई अधूरी रहेगी व स्थिति और भी भयावह हो सकती है। उन्होंने लिखा कि यूपी में क्वारंटीन सेंटर और अस्पतालों की स्थिति बड़ी दयनीय है। कई जगह की स्थिति इतनी खराब है कि लोग कोरोना से नहीं, सरकार की व्यवस्था से डर रहे हैं। इसी कारण लोग टेस्ट के लिए सामने नहीं आ रहे हैं। कोरोना का डर दिखाकर पूरे तंत्र में भ्रष्टाचार भी पनप रहा है। जिस पर अगर समय रहते लगाम न कसी गई तो कोरोना की लड़ाई विपदा में बदल जाएगी।


प्रियंका ने आगे लिखा कि सरकार ने दावा किया था कि 1़5 लाख बेड की व्यवस्था है लेकिन लगभग 20,000 सक्रिय संक्रमित केस आने पर ही बेडों को लेकर मारामारी मच गई है। अगर अस्पतालों के सामने भयंकर भीड़ है तो मैं यह नहीं समझ पा रही हूं कि यूपी सरकार मुंबई और दिल्ली की तर्ज पर अस्थाई अस्पताल क्यों नहीं बनवा रही है? चिकित्सीय सुविधा पाना हर नागरिक का मौलिक अधिकार है। प्रियंका ने लिखा, प्रधानमंत्री बनारस के सांसद हैं और रक्षामंत्री लखनऊ के, अन्य भी कई केंद्रीय मंत्री उत्तर प्रदेश से हैं। आखिर बनारस, लखनऊ और आगरा में अस्थाई अस्पताल क्यों नहीं खोले जा सकते हैं। महोदय, स्थितियां गंभीर होती जा रही हैं। आपसे आग्रह करती हूं कि सिर्फ प्रचार करके यह लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती है। उन्होंने लिखा कि दिल्ली में स्थापित केंद्रीय सुविधाओं का प्रयोग सीमवर्ती जिलों के लिए भी किया जा सकता है। वहां के अस्पतालों का अधिकतम उपयोग अभी नहीं हो पा रहा है। होम आइसोलेशन एक अच्छा कदम है परंतु इसे भी आनन-फानन में आधा अधूरा लागू नहीं किया जाए।


उन्होंने आगे लिखा, मुझे इस बात का एहसास है कि अक्सर आपकी सरकार को लगता है कि हमारे सुझाव सिर्फ राजनीतिक ²ष्टिकोण से दिए जाते हैं। पैदल चल रहे यूपी के मजदूरों के लिए हमारी तरफ से बसें चलाने के प्रयास के दौरान आपकी सरकार की प्रतिक्रिया से यह स्पष्ट जाहिर होता था। मैं एक बार फिर से आपको विश्वास दिलाना चाहती हूं कि उत्तर प्रदेश की जनता के स्वास्थ्य और जीवन की रक्षा में हमारी सबसे बड़ी भावना है। इस समय जबकि महामारी तेजी से बढ़ रही है। इस युद्घ में कांग्रेस पार्टी यूपी की जनता के साथ खड़ी है और आपकी सरकार को पूरी सहायता देने के लिए तैयार है।             


अपहृत बालक को सकुशल वापस लौटाया

गोंडा। उत्तर प्रदेश के गोंडा में अपरहण हुए किराना व्यवसायी के 8 वर्षीय बच्चे को शनिवार तड़के पुलिस और एसटीएफ टीम ने मुठभेड़ के बाद सकुशल बरामद किया। इस दौरान दो अपहर्ताओं के पैर में गोली लगी। मुठभेड़ में महिला समेत कुल पांच बदमाश गिरफ्तार हुए हैं।             


बताया गया कि कार सवार बदमाश बच्चे को वहीं से अगवा कर भाग निकले। कुछ देर बाद बच्चा वापस घर नहीं लौटा तो परिवारजनों ने खोजबीन शुरू की। तभी हरी गुप्त के मोबाइल पर फोन करके बदमाशों ने 4 करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की। साथ ही पुलिस को जानकारी न देने की धमकी भी दी।व्यवसायी पुत्र आरुष उर्फ नमो के अपहरण की पूरी वारदात सीसी कैमरे में कैद हो गई है। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई थी। इसके बाद पुलिस ने पूरी मुस्तैदी से मामले में कार्रवाई करना शुरू किया। इस घटना को लेकर यूपी एसटीएफ को तुरंत अलर्ट किया गया। गोंडा जिले की सारी सीमाएं सील कर दी गईं।           


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस   (हिंदी-दैनिक)


 जुलाई 26, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-347 (साल-01)
2. रविवार, जुलाई-26, 2020
3. शक-1943, श्रावण,शुक्ल-पक्ष, तिथि- षष्ठी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:27,सूर्यास्त 07:23।


5. न्‍यूनतम तापमान 25+ डी.सै.,अधिकतम-39+ डी.सै.। भारी बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


www.universalexpress.in


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)               


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...