गुरुवार, 18 अप्रैल 2019

बीजेपी के राजकुमार कांग्रेस में शामिल होंगे

 बीजेपी के राजकुमार कांग्रेस में होंगे शामिल


रतनगढ़ ! लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राजस्थान की वसुंधरा सरकार में देवस्थान मंत्री और रतनगढ़ से तीन बार विधायक रहे राजकुमार रिणवा अब कांग्रेस का हाथ थामने जा रहे हैं। विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने रिणवा का टिकट काट दिया था और वो निर्दलीय चुनाव में उतरे और पराजित हुए थे।राजकुमार गुरुवार को अपने समर्थकों के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल होंगे। राजकुमार रिणवा ने कहा है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को जिताने के लिए काम करूंगा। अविनाश पांडे, सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट से बात हुई है, तीनों नेताओं ने कांग्रेस में आने का न्योता दिया universalexpress.page


डीएम ने सांसद भोला सिंह को किया नजरबंद

डीएम ने सांसद भोला सिंह को किया नजरबंद



बुलंदशहर ! जिलाधिकारी ने भाजपा सांसद, एंव प्रत्याशी को नज़रबन्द करने का किया फैंसला।
 डीएम अभय सिंह ने भाजपा प्रत्याशी को नज़रबंद करने की कही बात।
भाजपा प्रत्याशी का बूथ में जाने का वीडियो हुआ था वायरल, वीडियो में सांसद, मतदाता से कांधे पर हाथ रखे आ रहे हैं नज़र।
दावा किया जा रहा है कि सांसद मांग रहे हैं मतदाता से आश्रीवाद।
डीएम ने प्रत्याशी के खिलाफ जारी किया नोटिस, प्रत्याशी को किया गया नज़रबंद


तूफान में मरने वालों के परिजनों को 6-6 लाख की सहायता

तूफान मे मरने वालों के परिजनों को 6-6 लाख रुपए 


राजस्थान! राजस्थान में तूफान-बारिश में हताहतों के लिए केंद्र और राज्य सरकार की ओर से सहायता राशि की घोषणा की गई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अनुसार मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. वहीं केंद्र सरकार की ओर से भी 2-2 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की ऐलान किया गया है. इस तरह से इस प्राकृतिक आपदा का शिकार परिवारों को कुल 6-6 लाख रुपए आर्थिक सहायता मिलेगी.


जानकारी के अनुसार शाम तक प्राकृतिक आपदा में 21 लोगों की मौत की पुष्टि हुई थी जो अब बढ़कर 25 होना बताया जा रहा है. सर्वाधिक हताहत झालावाड़, उदयपुर और जयपुर से हैं. बता दें कि राजस्थान में 60 किमी की रफ्तार से आई आंधी और फिर बारिश और ओलावृष्टि ने मंगलवार को जबरदस्त तबाही मचाई. मौसम के इस कहर में बुधवार सुबह तक 18 लोगों की मौत की पुष्टी हुई. करीब 150 पशुओं के मारे जाने की भी पुष्टि की गई है. प्रदेशभर में मची तबाही में कहीं दीवारें गिरीं तो कई छतें भी उड़ गईं. कई जगह बिजली के खंभे उखड़ गए. अकेले जयपुर में दो दर्जन से अधिक स्थानों पर पेड़ उखड़ कर रास्तों, घरों और बिजली के खंभों पर गिर गये!


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...