बुधवार, 26 अक्तूबर 2022

भाई-बहन के स्नेह को सुदृढ़ करता है 'भैयादूज'

भाई-बहन के स्नेह को सुदृढ़ करता है 'भैयादूज'

सरस्वती उपाध्याय

भाई दूज या भैयादूज का पर्व भाई-बहन के स्नेह को सुदृढ़ करता है। भाईदूज का पर्व कार्तिक मास की द्वितीया को मनाया जाता है। यह पर्व भाई-बहन के स्नेह को सुदृढ़ करता है। यह पर्व दीवाली के दो दिन बाद मनाया जाता है। इस दिन विवाहित महिलाएं अपने भाइयों को घर पर आमंत्रित कर उन्‍हें तिलक लगाकर भोजन कराती हैं। वहीं, एक ही घर में रहने वाले भाई-बहन इस दिन साथ बैठकर खाना खाते हैं। मान्‍यता है कि भाईदूज के दिन यदि भाई-बहन यमुना किनारे बैठकर साथ में भोजन करें तो यह अत्‍यंत मंगलकारी और कल्‍याणकारी होता है।

भाई दूज अन्य सभी त्योहारों से बहुत अलग माना जाता है। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस त्योहार में किसी देवी-देवता की उपासना आदि क्रियाओं की बजाय स्वयं ही अपने भाई को तिलक करने का विधान है। प्राचीन काल से यह परंपरा चली आ रही है कि भाई दूज के दिन बहनें अपने भाई की लंबी उम्र, सुख-समृद्धि और धन-धान्य में वृद्धि के लिए तिलक लगाती हैं। कहते हैं कि कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा के दिन जो बहन अपने भाई के माथे पर भगवान को प्रणाम करते हुए कुमकुम का तिलक करती है उनके भाई को सभी सुखों की प्राप्ति होती है।

भाईदूज को यम द्वितीया भी कहा जाता है। इस दिन मृत्‍यु के देवता यम की पूजा का भी विधान है।भाईदूज पर बहनें भाई की लम्बी आयु की प्रार्थना करती हैं। इस दिन को भ्रातृ द्वितीया भी कहा जाता है। इस पर्व का प्रमुख लक्ष्य भाई तथा बहन के पावन संबंध एवं प्रेमभाव की स्थापना करना है।भाईदूज के दिन बहनें रोली एवं अक्षत से अपने भाई का तिलक कर उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए आशीष देती हैं। साथ ही भाई अपनी बहन को उपहार देता है।

भाईदूज के दिन भाई की हथेली पर बहनें चावल का घोल लगाती हैं उसके ऊपर सिन्दूर लगाकर कद्दू के फूल, पान, सुपारी मुद्रा आदि हाथों पर रखकर धीरे-धीरे पानी हाथों पर छोड़ते हुए कहती हैं जैसे गंगा पूजे यमुना को यमी पूजे यमराज को, सुभद्रा पूजा कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई की आयु बढ़े। इस दिन शाम के समय बहनें यमराज के नाम से चौमुख दीया जलाकर घर के बाहर रखती हैं। इस समय ऊपर आसमान में चील उड़ता दिखाई दे तो बहुत ही शुभ माना जाता है। माना जाता है कि बहनें भाई की आयु के लिए जो दुआ मांग रही हैं उसे यमराज ने कुबूल कर लिया है या चील जाकर यमराज को बहनों का संदेश सुनाएगा।

भाईदूज के दिन बहनें बेरी पूजन भी करती हैं। इस दिन बहनें भाइयों को तेल मलकर गंगा यमुना में स्नान भी कराती हैं। इस दिन गोधन कूटने की प्रथा भी है। गोबर की मानव मूर्ति बनाकर छाती पर ईंट रखकर स्त्रियां उसे मूसलों से तोड़ती हैं। स्त्रियां घर-घर जाकर चना, गूम तथा भटकैया चराव कर जिव्हा को भटकैया के कांटे से दागती भी हैं।

भाई दूज का त्योहार देश भर में धूम-धाम से मनाया जाता है। हालांकि इस पर्व को मनाने की विधि हर जगह एक जैसी नहीं है। उत्तर भारत में जहां यह चलन है कि इस दिन बहनें भाई को अक्षत और तिलक लगाकर नारियल देती हैं वहीं पूर्वी भारत में बहनें शंखनाद के बाद भाई को तिलक लगाती हैं और भेंट स्वरूप कुछ उपहार देती हैं। मान्यता है कि इस दिन बहन के घर भोजन करने से भाई की उम्र बढ़ती है। बिहार में भाईदूज पर एक अनोखी परंपरा निभाई जाती है। इस दिन बहनें भाइयों को डांटती हैं और उन्हें भला बुरा कहती हैं और फिर उनसे माफी मांगती हैं। दरअसल यह परंपरा भाइयों द्वारा पहले की गई गलतियों के चलते निभाई जाती है। इस रस्म के बाद बहनें भाइयों को तिलक लगाकर उन्हें मिठाई खिलाती हैं।

पौराणिक कथा के अनुसार, भाईदूज के दिन ही भगवान श्री कृष्ण नरकासुर राक्षस का वध कर द्वारिका लौटे थे। इस दिन भगवान कृष्ण की बहन सुभद्रा ने फल,फूल, मिठाई और अनेकों दीये जलाकर उनका स्वागत किया था। सुभद्रा ने भगवान श्री कृष्ण के मस्तक पर तिलक लगाकर उनकी दीर्घायु की कामना की थी। इस दिन से ही भाई दूज के मौके पर बहनें भाइयों के माथे पर तिलक लगाती हैं और बदले में भाई उन्हें उपहार देते हैं।

भैयादूज के दिन यमराज तथा यमुना जी के पूजन का विशेष महत्व है। धर्मग्रंथों के अनुसार, कार्तिक शुक्ल द्वितीया के दिन ही यमुना ने अपने भाई यम को अपने घर बुलाकर सत्कार करके भोजन कराया था। इसीलिए, इस त्योहार को यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है। यमराज ने प्रसन्न होकर यमुना को वर दिया था कि जो व्यक्ति इस दिन यमुना में स्नान करके यम का पूजन करेगा, मृत्यु के बाद उसे यमलोक में नहीं जाना पड़ेगा।

भगवान सूर्य नारायण की पत्नी का नाम छाया था। उनकी कोख से यमराज तथा यमुना का जन्म हुआ था। यमुना यमराज से बड़ा स्नेह करती थी। वह उससे बराबर निवेदन करती कि इष्ट मित्रों सहित उसके घर आकर भोजन करो। अपने कार्य में व्यस्त यमराज बात को टालते रहे। कार्तिक शुक्ला का दिन आया। यमुना ने उस दिन फिर यमराज को भोजन के लिए निमंत्रण देकर, उसे अपने घर आने के लिए वचनबद्ध कर लिया।

यमराज ने सोचा कि मैं तो प्राणों को हरने वाला हूं। मुझे कोई भी अपने घर नहीं बुलाना चाहता। बहन जिस सद्भावना से मुझे बुला रही है, उसका पालन करना मेरा धर्म है। बहन के घर आते समय यमराज ने नरक निवास करने वाले जीवों को मुक्त कर दिया। यमराज को अपने घर आया देखकर यमुना की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उसने स्नान कर पूजन करके व्यंजन परोसकर भोजन कराया। यमुना द्वारा किए गए आतिथ्य से यमराज ने प्रसन्न होकर बहन को वर मांगने का आदेश दिया।

यमुना ने कहा कि भद्र! आप प्रति वर्ष इसी दिन मेरे घर आया करो। मेरी तरह जो बहन इस दिन अपने भाई को आदर सत्कार करके टीका करे, उसे तुम्हारा भय न रहे। यमराज ने तथास्तु कहकर यमुना को अमूल्य वस्त्राभूषण देकर यमलोक की राह की। इसी दिन से पर्व की परम्परा बनी। ऐसी मान्यता है कि जो आतिथ्य स्वीकार करते हैं, उन्हें यम का भय नहीं रहता। इसीलिए भैयादूज को यमराज तथा यमुना का पूजन किया जाता है।

स्वच्छता कर्मियों को जलपान कराया, मिष्ठान वितरण 

स्वच्छता कर्मियों को जलपान कराया, मिष्ठान वितरण 

पंकज कपूर 

हल्द्वानी। एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था मार्गदर्शक पूजा लटवाल, सदस्य यश सिंह के नेतृत्व में संस्था के माध्यम से दीपावली पर्व के तत्पश्चात् संस्था पदाधिकारियों ने हल्द्वानी नगर निगम के वार्ड नंबर उनतालीस के स्वच्छता कर्मियों को जलपान कराकर मिष्ठान वितरण किया‌‌। इस दौरान एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था अध्यक्ष योगेन्द्र कुमार साहू मार्गदर्शक पूजा लटवाल ने संयुक्त रूप से कहा, कि संस्था की जिस दिन से स्थापना हुई है, उसी दिन से संस्था लगातार समाजहित एवं भारतहित में कार्य कर रही है। क्योंकि, लोकमंगल की कामना ही हमारे जीवन का उद्देश्य होना चाहिए। क्योंकि, केवल अपने सुख की चाह हमें मानव होने के अर्थ से पृथक करती है। इसलिए मानव होने के नाते जब तक हम दूसरे के दु:ख दर्द में साथ नहीं निभाएंगे, तब तक इस जीवन की सार्थकता सिद्ध नहीं होगी।

वैसे तो हमारा परिवार भी समाज की ही एक इकाई है, परन्तु इतने तक ही सीमित रहने से सामाजिकता का उद्देश्य कभी पूरा नहीं हो सकता। हमारे जीवन का अर्थ तभी पूरा हो सकेगा, जब हम समाज को ही अपना परिवार माने तभी मानवता में सज्जानता निहित है, जो सदाचार का पहला लक्षण है और मनुष्य की यही एक शाश्वत पूंजी है। इस दौरान मिष्ठान वितरण करने में संस्था मार्गदर्शक पूजा लटवाल, आशा शुक्ला, यश सिंह, रितिक साहू, सूरज मिस्त्री, सुशील राय, मुकेश कुमार आदि लोग उपस्थित रहे।

सीएम ने दिलीप को ₹200000 का चेक प्रदान किया

सीएम ने दिलीप को ₹200000 का चेक प्रदान किया

संदीप मिश्र 

लखनऊ/गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के अंतर्गत आने वाले गोरखपुर जिले के काजीपुर निवासी दिलीप शाह जो कि जोकि कई दिनों से गंभीर बीमारी से पीड़ित है। जिसकी सूचना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जब मिली तो उन्होंने दिलीप साहब को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से ₹200000 प्रदान किए, जिसके लिए मुख्यमंत्री ने ₹200000 का चेक प्रदान किया और साथ ही साथ उनको हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।

आध्यात्मिक सोच विकसित करने की जरूरत, बल दिया

आध्यात्मिक सोच विकसित करने की जरूरत, बल दिया 

अकांशु उपाध्याय/नरेश राघानी 

नई दिल्ली/जयपुर। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने बुधवार को देश से अनैतिकता, अनैतिक आचरण और नकारात्मकता को जड़ से खत्म करने के लिए व्यक्तियों, परिवारों और समाज के बीच आध्यात्मिक सोच विकसित करने की आवश्यकता पर बल दिया। “आध्यात्मिकता के बिना जीवन अधूरा है” ये विचार प्रकट करते हुए धनखड़ ने कहा कि अगर लोगों की जिंदगियों में आध्यात्मिकता को प्रवाहित किया जाए तो उन तकनीकी बदलावों का लोगों के जीवन पर और भी अच्छा असर पड़ेगा जो अभी दुनिया भर में हो रहे हैं।

राजस्थान के माउंट आबू में ब्रह्माकुमारी के वैश्विक मुख्यालय में ‘सशक्त, समृद्ध और स्वर्णिम भारत की ओर’ की थीम पर आयोजित ब्रह्माकुमारी की 85वीं वर्षगांठ और दीपावली समारोह को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने ये बातें कहीं। इस अवसर पर धनखड़ ने आध्यात्मिकता को “एक व्यक्ति को संपूर्ण व्यक्ति बनाने के लिए” हमारी शिक्षा का एक अनिवार्य हिस्सा बताया और दुनिया भर में आध्यात्मिकता और धर्म को बढ़ावा देने के लिए ब्रह्माकुमारी संस्थान की सराहना की। भारतीय विचारों और हमारे सभ्यतागत मूल्यों पर जोर देने के लिए नई शिक्षा नीति- 2020 की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि “सही शिक्षा, सही सोच और सही ज्ञान ही हमें एक राष्ट्र के रूप में शक्तिशाली बना सकता है।”

धनखड़ ने ब्रह्माकुमारी संस्थान को भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों का केंद्र बताते हुए कहा कि “विश्व कल्याण और विश्व के सुख के विचार यहीं से निकलते हैं।” उन्होंने जलवायु परिवर्तन से निपटने हेतु 20 लाख से ज्यादा पौधे लगाने के लिए ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, “इस संगठन के विशाल आयाम हैं और ये न केवल मानवता के बल्कि इस ग्रह पर मौजूद सभी जीवित प्राणियों के सबसे मूल्यवान पहलुओं और गुणों की एक मिसाल है।” हाल के वर्षों में सकारात्मक कदमों और दूरदर्शी पहलों की एक श्रृंखला का उल्लेख करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत अभूतपूर्व तरीके से आगे बढ़ रहा है और उन्होंने मीडिया से आग्रह किया कि वो “भारत की इस प्रगति का उत्सव मनाए” और इसे रेखांकित करे।

‘उच्च सदन’ के रूप में राज्यसभा की भूमिका का उल्लेख करते हुए धनखड़ ने कहा कि हमारे संविधान निर्माताओं ने कल्पना की थी कि राज्यसभा अपने आचरण और दूरदर्शिता से देश को एक नई दिशा प्रदान करेगी। उन्होंने सांसदों से ऐसे निजी और सामूहिक आचरण का प्रदर्शन करते हुए आम जनता के लिए मिसाल कायम करने का आग्रह किया जिसका अनुकरण आम जनता कर सके। इस आयोजन के बाद उपराष्ट्रपति ने डॉ. सुदेश धनखड़ के साथ आज राजस्थान के दिलवाड़ा मंदिरों और नाथद्वारा मंदिरों का भी दौरा किया।

इस अवसर पर राजस्थान सरकार के वन और पर्यावरण राज्य मंत्री सुखराम बिश्नोई, ब्रह्माकुमारी की अतिरिक्त प्रमुख राजयोगिनी बीके जयन बहन, ब्रह्माकुमारी के अतिरिक्त महासचिव राजयोगी बीके बृज मोहन, ब्रह्माकुमारी की संयुक्त प्रमुख राजयोगिनी डॉ. बीके मुन्नी बहन, ब्रह्माकुमारी के कार्यकारी सचिव राजयोगी डॉ. बीके मृत्युंजय, ब्रह्माकुमारी के मल्टीमीडिया प्रमुख राजयोगी बीके करुणा और अन्य हस्तियों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

खड़गे ने नेताओं व कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया

खड़गे ने नेताओं व कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया


अकांशु उपाध्याय 


नई दिल्ली। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यभार संभाल लिया है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यभार संभालने के बाद उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि वह देश को झूठ और छल की राजनीति से बचाने के लिए काम करेंगे।

‘कांग्रेस की विरासत को आगे बढ़ाना मेरे लिए गर्व की बात’

पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए खड़गे ने कहा कि आज मेरे लिए भावुक पल है। एक मजदूर के बेटे, एक साधारण कार्यकर्ता को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। कांग्रेस की विरासत को आगे बढ़ाना मेरे लिए गर्व की बात है। उन्होंने आगे कहा कि मैंने 1969 में एक ब्लॉक कमेटी प्रमुख के रूप में यह यात्रा शुरू की थी, आज आप इसे इतनी ऊंचाइयों पर ले गए हैं। कांग्रेस की विरासत को आगे बढ़ाना मेरे लिए सौभाग्य और गौरव की बात है।

अध्यक्ष पद संभालने के बाद बोले खड़गे

खड़गे ने कहा कि महात्मा गांधी, नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, सरदार पटेल, मौलाना आजाद, बाबू जगजीवन राम, इंदिरा और राजीव गांधी के नेतृत्व वाली महान राजनीतिक पार्टी की जिम्मेदारी को संभालना मेरे लिए सौभाग्य और गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में अपने कार्यकर्ताओं की देखभाल करना मेरा परम कर्तव्य होगा।

हम इस देश के संविधान को बनाए रखेंगे- मल्लिकार्जुन

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे आगे कहते हैं कि हम साथ मिलकर एक ऐसे भारत का निर्माण करेंगे, जो प्रत्येक नागरिक के लिए प्रबुद्ध, सशक्त और समान होगा। हम इस देश के संविधान को बनाए रखेंगे, सभी के अधिकारों का सम्मान करेंगे। उन्होंने कहा कि नफरत फैलाने वालों को हराएंगे और महंगाई, बेरोजगारी और भूखमरी से लड़ेंगे।

खड़गे ने की सोनिया गांधी की तारीफ

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की तारीफ की। खड़गे ने कहा कि सोनिया गांधी हमेशा सच्चाई के रास्ते पर चलती हैं। उन्होंने बलिदान की एक मिसाल कायम की है, राजनेताओं के इस युग में उनके जैसा कोई दूसरा व्यक्ति मिलना मुश्किल है।

हम महात्मा गांधी के सैनिक हैं- खड़गे

हिमाचल प्रदेश और गुजरात में आगामी चुनावों के बारे में बोलते हुए खड़गे ने कहा कि जनता इन राज्यों में बदलाव चाहती है। हमें इन चुनावों में अपनी पार्टी की ताकत दिखानी होगी। अगर हम सभी कड़ी मेहनत और समर्पण के साथ काम करते हैं तो हम सफलता हासिल करेंगे। हम महात्मा गांधी के सैनिक हैं। हम किसी से नहीं डरते हैं।

भारत के संविधान पर आधारित है कांग्रेस की विचारधारा’

कांग्रेस के नए अध्यक्ष ने कहा कि आधुनिक भारत के निर्माण में कांग्रेस पार्टी का योगदान अतुलनीय है। उन्होंने आगे कहा कि यह कठिन समय है और कांग्रेस द्वारा स्थापित लोकतंत्र को बदलने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारा देश झूठ और छल की राजनीति देख रहा है। कांग्रेस देश में व्याप्त झूठ और नफरत के घेरे को तोड़ देगी। कांग्रेस की विचारधारा भारत के संविधान पर आधारित है और देश के लोग इस पर विश्वास करते हैं।

भाजपा पर भी साधा निशाना

केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए खड़गे ने कहा कि एक नया भारत बनाने के लिए वे कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं, क्योंकि वे जानते हैं कि जब तक कांग्रेस है, वे ऐसा नहीं कर सकते और हम ऐसा नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि सरकार सो रही है और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और आयकर (आईटी) 24 घंटे काम कर रही है।

समिति के सदस्यों, महासचिवों व प्रभारियों का इस्तीफा 

समिति के सदस्यों, महासचिवों व प्रभारियों का इस्तीफा 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। मल्लिकार्जुन खड़गे के कांग्रेस के नए अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने के तुरंत बाद कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सभी सदस्यों, महासचिवों और प्रभारियों ने नयी टीम बनाने में उनकी मदद के लिए अपने पदों से इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस में नए अध्यक्ष के चयन के बाद पार्टी के सभी पदाधिकारियों के इस्तीफा देने की परंपरा रही है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव के सी वेणुगोपाल ने कहा, सीडब्ल्यूसी के सभी सदस्यों, एआईसीसी के महासचिवों और प्रभारियों ने कांग्रेस अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। कांग्रेस पार्टी के संविधान के अनुसार, खरगे के निर्वाचन की पुष्टि पार्टी के पूर्ण सत्र में की जाएगी, जो इस साल मार्च-अप्रैल में होने की संभावना है।

सीडब्ल्यूसी, जो कांग्रेस की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था है, खड़गे द्वारा पूर्ण सत्र के तुरंत बाद पुनर्गठित की जाएगी। पार्टी संविधान के मुताबिक, सीडब्ल्यूसी के 11 सदस्य मनोनीत किए जाएंगे और 12 सदस्य निर्वाचित होंगे। इसके अलावा, संसद में पार्टी के नेता और कांग्रेस अध्यक्ष भी कार्य समिति के सदस्य होंगे। हालांकि, जब तक खड़गे के निर्वाचन की पुष्टि नहीं हो जाती है, तब तक नए पार्टी प्रमुख द्वारा एक नयी संचालन समिति का गठन किया जाएगा, जो पूर्ण सत्र तक सीडब्ल्यूसी के रूप में कार्य करेगी।

विभाग ने 294 स्थलों पर स्वच्छता अभियान चलाया

विभाग ने 294 स्थलों पर स्वच्छता अभियान चलाया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रक्षा उत्पादन विभाग ने देश भर में 294 स्थलों पर स्वच्छता अभियान चलाया है। विभाग ने इस अवधि के दौरान संसद सदस्यों से 9 लंबित मुद्दों, प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा बताई गई 1 लोक शिकायत और 231 आम जनता की शिकायतों का भी निपटारा किया है। लगभग 850 भौतिक फाइलों की समीक्षा की जा चुकी है, इनमें से 322 फाइलों को हटा दिया गया है। कबाड़ की बिक्री से अब तक राजस्व में 10,72,00,960 बनाए गए हैं और 75,145 वर्ग फुट जगह खाली कर दी गई है।

रक्षा उत्पादन विभाग दिनांक 2 अक्टूबर 2022 से नई दिल्ली में स्थित अपने कार्यालयों और सभी क्षेत्रीय कार्यालयों एवं स्थानीय इकाइयों में स्वच्छता पर विशेष अभियान 2.0 चला रहा है। 14 सितंबर से 30 सितंबर, 2022 तक इस अभियान का प्रारंभिक चरण शुरू हुआ, जिस दौरान अभियान अवधि के लिए लक्ष्य निर्धारित किए गए। इस वर्ष फील्ड/ बाहरी कार्यालयों पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पब्लिक इंटरफेस और सर्विस डिलीवरी के लिए जिम्मेदार कार्यालयों को प्राथमिकता दी जा रही है।

विशेष अभियान 2.0 के दौरान स्वच्छता अभियान के लिए चिन्हित कुल 358 बाहरी स्थलों में से 294 स्थलों को पहले ही कवर किया जा चुका है। ऐसे बाहरी स्थलों में 16 रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम और कारखाना इकाइयां आदि शामिल हैं। रक्षा उत्पादन विभाग विशेष अभियान 2.0 की कुशल निगरानी सुनिश्चित करने के लिए रक्षा मंत्रालय द्वारा विकसित एक ऑनलाइन डैशबोर्ड/ पोर्टल में भी योगदान दे रहा है।

344 विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित होगी 

344 विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित होगी 

नरेश राघानी 

जयपुर। राजस्थान में 344 अवासीय विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित होगी और सरकार ने इसके लिए 36.56 करोड़ रूपए मंजूर किए हैं। सरकारी बयान में इसकी जानकारी दी गई है। सरकारी बयान के अनुसार राज्य सरकार शिक्षा क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय कर रही है और आज के परिदृश्य में डिजिटल लर्निंग के महत्व को समझते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के 344 आवासीय विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित करने के लिए 36.56 करोड़ रूपए की आर्थिक सहमति प्रदान की है।

इस स्वीकृति से जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, अल्पसंख्यक मामलात, स्कूल शिक्षा विभाग आदि के अधीन संचालित विभिन्न आवासीय विद्यालयों, बहुउद्देशीय हॉस्टल तथा कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में अत्याधुनिक सुविधा से लैस डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित हो सकेंगी।

उल्लेखनीय है कि वित्त एवं विनियोग विधेयक 2022-23 की चर्चा के दौरान की गई घोषणा की अनुपालना में मुख्यमंत्री ने यह स्वीकृति प्रदान की है। गहलोत ने आज के परिदृश्य में डिजिटल लर्निंग के महत्व को देखते हुए अल्प आय वर्ग के विद्यार्थियों को भी इसका लाभ दिलाने की दृष्टि से विभिन्न विभागों के अधीन आवासीय शिक्षण संस्थानों एवं चयनित विद्यालयों में 9वीं से 12वीं की कक्षाओं के लिए डिजिटल लाइब्रेरी एवं अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए वित्तीय प्रावधान की घोषणा की थी।

सुरक्षाबलों ने एक विदेशी आतंकवादी को मार गिराया

सुरक्षाबलों ने एक विदेशी आतंकवादी को मार गिराया

इकबाल अंसारी 

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा के पास सुदपोरा में सुरक्षाबलों ने एक विदेशी आतंकवादी को मार गिराया है। पुलिस ने आज यहां बताया कि कुपवाडा जिले में नियंत्रण रेखा के पास सुदपोरा मेें एक विदेशी आतंकवादी मारा गया है। सुरक्षाबलों को उसके पास से हथियार, गोला बारूद और आपत्तिजक सामग्री बरामद हुई है।

कश्मीर पुलिस ने ट्वीट पर लिखा, " कुपवाड़ा में एलओसी के पास सुदपोरा में एक विदेशी आतंकवादी मारा गया। हथियार और गोला-बारूद सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुआ है। तलाशी अभियान जारी है।" उन्होंने कहा कि विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है।

अभिनेता टाइगर ने वर्कआउट वीडियो शेयर किया

अभिनेता टाइगर ने वर्कआउट वीडियो शेयर किया

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्राफ ने सोशल मीडिया पर अपना वर्कआउट वीडियो शेयर किया है। टाइगर श्रॉफ अपनी फिटनेस का काफी ख्याल रखते है। टाइगर अपनी फिटनेस को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। टाइगर अक्सर सोशल मीडिया पर अपने वर्कआउट के दौरान की वीडियो साझा करते रहते हैं। टाइगर ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वर्कआउट वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में टाइगर अपने ट्रेनर के साथ किक बॉक्सिंग करते हुए नजर आ रहे हैं।

इस वीडियो को देख फैंस टाइगर की फिटनेस की जमकर तारीफ कर रहे हैं। टाइगर जल्द ही फिल्म 'गणपत' में नजर आएंगे। इस फिल्म में उनके साथ कृति सैनन होंगी। इसके अलावा टाइगर बागी 4 और रैंबो में भी नजर आएंगे।

मुजफ्फरनगर: विधि-विधान से मनाया 'गोवर्धन' पर्व 

मुजफ्फरनगर: विधि-विधान से मनाया 'गोवर्धन' पर्व 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर जिले में बुधवार को गोवर्धन पर्व विधि-विधान से मनाया जा रहा है। गोवर्धन पूजा के लिए जगह-जगह गोवर्धन की आकृति बनाई गई। गोवर्धन पर गाय की पूजा करने का विशेष महत्व है। खतौली में श्री विश्वकर्मा मंदिर में दोपहर के समय पूजा-अर्चना की गई। पंडित राजकुमार शर्मा का कहना है कि इस दिन विधि विधान से गोवर्धन की पूजा करने से एवं गायों को गुड़ व चावल खिलाने से भगवान श्रीकृष्ण की कृपा बनी रहती है। नई मंडी गोशाला के कार्यक्रम संयोजक संजय मित्तल ने बताया कि गोवर्धन पूजा व गौमाता पूजन शाम छह बजे पंडित द्वारा होगा।

इस दौरान मुख्य अतिथि राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, उद्यमी भीमसेन कंसल, भाजपा नेता गौरव स्वरूप, राकेश बिंदल और सतीश गोयल होंगे। वहीं, मेरठ 185 स्थानों पर आयोजन होंगे। इनमें से 35 स्थानों पर सामूहिक आयोजन होंगे। बताया गया कि बाबा औघड़नाथ मंदिर और सुपरटेक आदि स्थानों पर आयोजन किए जाएंगे।

डाबर इंडिया लिमिटेड का शुद्ध लाभ 490.86 करोड़ रहा

डाबर इंडिया लिमिटेड का शुद्ध लाभ 490.86 करोड़ रहा

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। रोजमर्रा के उपभोग का सामान बनाने वाली कंपनी डाबर इंडिया लिमिटेड का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी जुलाई-सितंबर की तिमाही में 2.85 प्रतिशत घटकर 490.86 करोड़ रुपये रह गया। डाबर इंडिया ने बुधवार को शेयर बाजार को भेजी सूचना में यह जानकारी दी। इससे पिछले वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में कंपनी ने 505.31 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था।

हालांकि, कंपनी की परिचालन आय 2022-23 की दूसरी तिमाही में छह प्रतिशत बढ़कर 2,986.49 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 2,817.58 करोड़ रुपये थी। इसके अलावा डाबर इंडिया का कुल खर्च भी आलोच्य तिमाही में 8.94 प्रतिशत बढ़कर 2,471.28 करोड़ रुपये हो गया। एक साल पहले की इसी अवधि में यह 2,268.47 करोड़ रुपये था।

सीएम ने भैयादूज और गोवर्धन पूजा की बधाई दी

सीएम ने भैयादूज और गोवर्धन पूजा की बधाई दी

संदीप मिश्र 

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भैयादूज और गोवर्धन पूजा की सभी प्रदेशवासियों को बधाई दी है और सभी के लिए मंगल कामना की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भाई-बहन के स्नेह और अटूट विश्वास के प्रतीक, सनातन परंपरा के वाहक, पावन पर्व ‘भैया दूज’ की समस्त प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाई। प्रेम, समर्पण व कर्तव्यपरायणता का यह पर्व सभी के जीवन में अपार खुशियां लाए, यही कामना है।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि प्रकृति-प्रेम व परोपकार की भावना से परिपूर्ण गोवर्धन पूजा की समस्त प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। लोक-आस्था का यह पर्व सभी के जीवन में नव ऊर्जा व बंधुत्व का संचार करे, हर घर धन-धान्य से परिपूर्ण हो, प्रभु श्रीकृष्ण से यही कामना है।

दरोगा के बेटे की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला 

दरोगा के बेटे की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला 

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के टीला मोड़ थाना इलाके में दिल्ली पुलिस से सब इंस्पेक्टर के पद से सेवानिवृत्त दरोगा कुंवरपाल के बेटे वरुण की पीट-पीटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। घटना देर रात की है। पुलिस का कहना है कि वरुण अपने दोस्तों के साथ एक होटल पर खाना खाने गया था। वहां पर गाड़ी पार्किंग को लेकर दूसरे युवकों से विवाद हो गया। इस पर कहासुनी के बाद मामला बढ़ गया।

आरोप है कि कार सवार युवकों ने वरुण को पीट-पीटकर मौके पर ही मार डाला। इसका वीडियो वायरल भी हुआ है। थाना पुलिस ने वरुण के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। फरार आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है। सेवानिवृत्त दरोगा ने टीला मोड़ थाने में अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर दरोगा के परिवार और रिश्तेदारों ने टीला मोड़ थाने का घेराव किया है।

बैंगन के पकोड़े बनाने की रेसिपी, जानिए

बैंगन के पकोड़े बनाने की रेसिपी, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय 

बैंगन के पकोड़े बनाने की रेसिपी: हमारे यहां के देसी स्नैक्स की बात होती है तो पकोड़ो का नाम सबसे पहले आता है। पकोड़े कई तरह से बनाए जाते हैं. आलू के पकोड़े हो या फिर प्याज के पकोड़े, गिल्की के पकोड़ों से लेकर गोभी के पकोड़ों तक इनकी लंबी रेंज है। आज हम आपको बैंगन के पकोड़े बनाने की रेसिपी बताने जा रहे हैं। आपने बैंगन की सब्जी तो कई बार खायी होगी लेकिन क्या कभी बैंगन के पकोड़ों का स्वाद चखा है? अगर नहीं तो हमारी बताई रेसिपी की मदद से आप बेहद आसानी से बैंगन के पकोड़े तैयार कर सकते हैं।

बैंगन के पकोड़े स्वाद में लाजवाब होते हैं। नरम बैंगन पर बेसन की चढ़ी कुरकुरी परत इसका स्वाद काफी बढ़ा देती है। बैंगन के पकोड़े सुबह नाश्ते में या फिर दिन में स्नैक्स के तौर पर खाए जा सकते है। आइए जानते हैं बैंगन के पकोड़े बनाने की बेहद आसान रेसिपी।

बैंगन के पकोड़े बनाने के लिए सामग्री

बैंगन – 3-4

बेसन – 1 कप

अदरक कद्दूकस – 1 टी स्पून

हरी मिर्च – 2

हरा धनिया – 2 टेबलस्पून

लाल मिर्च पाउडर – 1/4 टी स्पून

अजवाइन – 1/4 टी स्पून

तेल – तलने के लिए

नमक – स्वादानुसार

बैंगन के पकोड़े बनाने की विधि

स्वाद से भरपूर बैंगन के पकोड़े बनाने के लिए सबसे पहले एक बर्तन में बेसन डालें और उसमें थोड़ा-थोड़ा कर पानी डालते हुए बेसन का गाढ़ा घोल तैयार कर लें। घोल बनाने में लगभग पौन कप पानी लग जाएगा। बेसन के घोल को तब तक फेंटे जब तक कि उसकी सारी गांठें खत्म हो न हो जाएं। इसके बाद बेसन के घोल में लाल मिर्च पाउडर, हरा धनिया, अजवाइन, कद्दूकस अदरक और स्वादानुसार नमक डालकर सभी सामग्रियों को अच्छे से मिला दें।

इसके बाद बैंगन को लेकर उसके पतले-पतले गोल टुकड़े काट लें। इन्हें एक बाउल में काटकर अलग रख दें। अब एक कड़ाही में तेल डालकर उसे मीडियम आंच पर गर्म करने के लिए रख दें। जब तेल गर्म हो जाए तो अब एक बैंगन का टुकड़ा उठाएं और उसे बेसन के घोल में अच्छी तरह से डुबोकर गरम तेल में डाल दें। इसी तरह एक-एक कर कड़ाही की क्षमता के हिसाब से बैंगन के टुकड़े बेसन में डुबोकर डीप फ्राई करें।

बैंगन के पकोड़ों को दोनों ओर से पलट पलटकर तब तक फ्राई करें जब तक कि इनका रंग गोल्डन ब्राउन न हो जाए। ऐसा होनें में 2-3 मिनट तक का वक्त लग सकता है। जब बैंगन के पकोड़े कुरकुरे हो जाएं तो उन्हें कड़ाही में से निकालकर एक प्लेट में रख दें। इसी तरह सारे बैंगन के टुकड़ों के पकोड़े तैयार कर लें। अब स्वादिष्ट बैंगन के पकोड़ों को हरी धनिया की चटनी या टमाटर सॉस के साथ सर्व करें।

रहीम ने हनीप्रीत का नाम बदलकर रूहानी दीदी किया 

रहीम ने हनीप्रीत का नाम बदलकर रूहानी दीदी किया 

अकांशु उपाध्याय/राणा ओबरॉय 

नई दिल्ली/चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख गुरमीत राम रहीम इन दिनों 40 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर आया है। हरियाणा में पंचायत और आदमपुर विधानसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव से पहले राम रहीम को मिली पैरोल पर विपक्ष सवाल उठा रहा है। इस बीच सामने आया है कि राम रहीम ने हनीप्रीत का नाम बदलकर रूहानी दीदी कर दिया है। पैरोल पर बाहर आए राम रहीम से डेरे की गद्दी बदले जानी की अटकलों को लेकर भी सवाल पूछे गए। इस दौरान राम रहीम ने कहा,'हम हैं, हम थे और हम ही गद्दी पर रहेंगे।

ये दोनों घोषणा राम रहीम ने उत्तर प्रदेश के बागपत में स्थित बरनावा आश्रम में साद संगत को संबोधित करते हुए की। हरियाणा में आगामी निकाय चुनाव को देखते हुए कई नेता गुरमीत राम रहीम के सत्संग में पहुंचकर आशीर्वाद ले रहे हैं। राम रहीम ने जेल से निकलते ही सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो अपलोड कर अपने अनुयायियों को संदेश दिया। दो बार सोशल मीडिया के जरिए सत्संग किया। सत्संग को यूपी, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश आदि प्रांतों और विदेशों में रह रहे अनुयायियों ने यू-ट्यूब पर सुना।

राम रहीम ने यूपी से ऑनलाइन सत्संग किया। सत्संग में करनाल जिला में साध संगत ने इकट्ठे होकर सत्संग सुना। इस दौरान जिले के पंचायती चुनाव में खड़े होने वाले उम्मीदवारों ने भी आशीर्वाद लिया। इनमें करनाल नगर निगम मेयर रेणु बाला गुप्ता, जिला अध्यक्ष योगेंद्र राणा, डिप्टी मेयर नवीन कुमार और सीनियर डिप्टी मेयर राजेश ने भी गुरमीत राम रहीम के संबोधन के दौरान अपनी हाजिरी लगाई और करनाल आने का न्योता दिया। भाजपा नेताओं का मर्डर और यौन मामले में सजायाफ्ता राम रहीम के सामने नतमस्तक होना, चर्चा का विषय बना हुआ है। सत्संग में शामिल हुए सीनियर डिप्टी मेयर ने कहा था कि बाबा जी का सत्संग था। उन्हें साधु संगत ने सत्संग में बुलाया था। यूपी से ऑनलाइन सत्संग किया गया। बुलावे पर पहुंच कर संगत के साथ मिलना जुलना हुआ।

मेरे वार्ड के काफी लोग बाबा के साथ जुड़े हुए हैं। उनका कार्यक्रम था उन्होंने आगे कहा था कि हम सामाजिक नाते से कार्यक्रम में पहुंचे थे। इसमें भारतीय जनता पार्टी और चुनाव का कोई संबंध नहीं है। डिप्टी मेयर नवीन ने कहा कि करनाल का बड़ा सत्संग था। जिस-जिस को सत्संग के बारे में सूचना मिली, वह वहां पर पहुंच गए। चुनाव में जीतने के लिए राम रहीम का आशीर्वाद लेने के सवाल पर नवीन ने कहा कि जनता ने उन्हें अपने वार्ड से चुना है। जनता ही इस चीज का फैसला करती है। जनता का आशीर्वाद होना जरूरी है।

फिर विवादों में राम रहीम

गौरतलब है कि गुरमीत राम रहीम बरनावा के आश्रम में पैरोल का समय काट रहा है, उसके साथ मुंह बोली बेटी हनीप्रीत और परिवार के अन्य सदस्य भी हैं। राम रहीम के भक्त डेरा प्रमुख के आश्रम में काफी संख्या में पहुंच रहे हैं। प्रशासन और आश्रम के लोग किसी भी अनजान व्यक्ति को प्रवेश नहीं दे रहे हैं। केवल सदस्यों को ही अंदर जाने की अनुमति है। ऐसे में गुरमीत राम रहीम के बाहर आने पर पहले ही यह विवाद खड़ा हो गया है कि खट्टर सरकार उसे अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है और बार-बार उसे पैरोल दिया जा रहा है। हाल ही में हरियाणा में आदमपुर सीट पर उपचुनाव और पंचायती चुनाव होने जा रहा है।

अनिल विज ने दिया बयान

इस मामले में हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने भी बयान दिया था. उन्होंने कहा कि दोषी नेता गुरमीत राम रहीम पैरोल पर ऑनलाइन 'सत्संग' कर रहे हैं। जेल विभाग द्वारा पैरोल दी जाती है। मेरा इससे कोई लेना-देना नहीं है। अगर करनाल का कोई व्यक्ति गुरमीत राम रहीम पर विश्वास करता है और उसे देखने गया है, तो आदमपुर चुनाव से क्या संबंध है?

भारतीय करेंसी पर लक्ष्मी-गणेश की फोटो, मांग 

भारतीय करेंसी पर लक्ष्मी-गणेश की फोटो, मांग 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भारतीय करेंसी पर गांधीजी के साथ लक्ष्मी और गणेश जी की फोटो लगाने की मांग की है। उन्होंने अर्थव्यवस्था की बेहतर स्थिति और देश को विकसित बनाने के लिए ‘देवी-देवताओं के आशीर्वाद’ की जरूरत बताते हुए ऐसा कहा है। केजरीवाल ने यह भी कहा कि नोट के एक तरफ गांधी जी की तस्वीर रहने दी जाए और दूसरी तरफ लक्ष्मी-गणेश की फोटो हो। वह इसके लिए पीएम मोदी को लेटर भी लिखने जा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि अगर एक तरफ गांधी जी की तस्वीर होगी और दूसरी तरफ लक्ष्मी गणेश जी की फोटो होगी तो इससे पूरे देश को उनका आशीर्वाद मिलेगा।

केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर बुधवार को कहा कि हम सब देख रहे हैं कि हमारी अर्थव्यवस्था बहुत नाजुक दौर से गुजर रही है। हम देख रहे हैं कि डॉलर के मुकाबले रुपया दिन प्रतिदिन कमजोर होता जा रहा है। यह सब की मार आम आदमी को भुगतनी पड़ती है। इसमें सुधार करने के लिए मेरी केंद्र सरकार से अपील है कि बड़ा फैसला ले। दिल्ली के सीएम ने कहा कि दिवाली की रात पूजा करते समय उनके मन में यह विचार आया। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी कई लोगों से बातचीत हुई है और इस पर किसी को ऐतराज नहीं होना चाहिए। डॉलर के मुकाबले रुपए की कमजोरी का जिक्र करते हुए केजरीवाल ने कहा कि कोशिशें तब कामयाब होती हैं जब देवी-देवताओं का आशीर्वाद साथ हो।

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘हम सब चाहते हैं कि भारत अमीर देश बने और हर भारतवाशी अमीर परिवार बने। इसके लिए बहुत सारे कदम उठाने की जरूरत है। हमें बड़ी संख्या में स्कूल खोलने हैं, अस्पताल बनाने हैं। इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करना है। लेकिन कोशिश तभी कामयाब होगी जब हमारे ऊपर देवी देवताओं का आशीर्वाद होता है। कई बार देखते हैं कि कोशिश का परिणाम नहीं आ रहा है तब लगता है कि देवी देवताओं का आशीर्वाद हो तो नतीजे आने लगते हैं।’

मुंबई: अपना 48वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही है टंडन 

मुंबई: अपना 48वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही है टंडन 

कविता गर्ग 

मुंबई। बॉलीवुड की जानी-मानी अभिनेत्री रवीना टंडन बुधवार को 48 वर्ष की हो गई। महज 17 साल की उम्र से बॉलीवुड में एंट्री करने वाली रवीना 90 के दशक की हॉट एक्ट्रेस में शुमार हैं। कई फिल्मों से दर्शकों के दिलों पर छा जाने वाली रवीना बुधवार को अपना 48वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। रवीना टंडन का जन्म 26 अक्टूबर 1974 को मुंबई में हुआ। पिता रवि और मां वीणा टंडन के नाम को मिलाकर उनका नाम रवीना टंडन रखा गया। रवीना को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनके पिता जाने-माने फिल्म निर्माता थे।

रवीना ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के जमनाबाई स्कूल से पूरी की। इसके बाद उन्होंने मुंबई के मशहूर मिट्ठीभाई कॉलेज में दाखिला लिया। इस दौरान उनकी मुलाकात निर्देशक शांतनु शोरी से हुयी। उन्होंने रवीना को फिल्मों में काम करने की सलाह दी। इसके बाद कॉलेज में पढ़ाई छोड़कर रवीना फिल्मों में अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखने लगी। रवीऩा ने अपने सिने करयिर की शुरूआत वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ‘पत्थर के फूल’ से की। जी.पी. सिप्पी निर्मित इस फिल्म में नायक की भूमिका सलमान खान ने निभाई थी। यह फिल्म हालांकि टिकट खिड़की पर सफल नहीं हो सकी लेकिन रवीना टंडन के अभिनय को दर्शकों ने काफी सराहा।

इसके साथ ही वह नवोदित अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयी। वर्ष 1994 रवीना के सिने करियर के लिये अहम वर्ष साबित हुआ। इसी वर्ष उनकी ‘मोहरा’, ‘लाडला’, ‘दिलवाले’ और ‘अंदाज अपना -अपना’ जैसी सुपरहिट फिल्में प्रदर्शित हुयी। ‘लाडला’ में दमदार अभिनय के लिये रवीना अपने करियर में पहली बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित की गयीं।

वर्ष 1994 में ही प्रदर्शित फिल्म ‘मोहरा’ रवीना टंडन के करियर की सर्वाधिक सुपरहिट फिल्म साबित हुई। मारधाड़ और एक्शन से भरपूर इस फिल्म में रवीना पर फिल्माया यह गीत ‘तू चीज बड़ी है मस्त मस्त’ उन दिनों श्रोताओं के बीच क्रेज बन गया था। इसके बाद रवीना फिल्म इंडस्ट्री में ‘मस्त-मस्त गर्ल ’के नाम से मशहूर हो गई।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-381, (वर्ष-05)

2. बृहस्पतिवार, अक्टूबर 27, 2022

3. शक-1944, कार्तिक, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:25, सूर्यास्त: 05:44। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम-34+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी। 

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया

बैठक: महाप्रबंधक ने निरंजन पुल का निरीक्षण किया महाप्रबन्धक श्री सतीश कुमार ने किया निरंजन पुल का निरीक्षण अधिकारियों के ...