हिमाचल प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
हिमाचल प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, 7 सितंबर 2021

हिमाचल में बारिश व आंधी की संभावना जारी की

श्रीराम मौर्य            

शिमला। हिमाचल प्रदेश में दक्षिणी पश्चिमी मानसून के सक्रिय होने के चलते आज से भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान के मुताबिक अगले चार दिनों तक भारी बारिश और आंधी को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है। आज सुबह से मौसम खराब रहा और प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश का दौर शुरू हो गया। पिछले चौबीस घंटों में प्रदेश के नैना देवी में 125 मिलीमीटर, हमीरपुर 72, झंडुता 72, नाहन 29, जोगिद्रनगर 26, आरएल 1700 में 23, मंडी 22, भोरंज और भरारी में 18, घुमारंवी 7, खीरी, पालमपुर, पावटा साहिब और महरे में 6 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड हुई।मौसम विशेषज्ञों ने बिलासपुर, ऊना, मंडी जिला के सुंदरनगर व मंडी शहर, सिरमौर जिला के पांवटा साहिब व नाहन, हमीरपुर व सोलन जिला के बद्दी व कसौली में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा शिमला, कांगड़ा व कुल्लू में भी बारिश की संभावना है और पहाड़ों पर बर्फबारी हो सकती है। किन्नौर व लाहुल स्पीति को छोड़ बाकी दस जिलों में तीन दिनों तक भारी बारिश और आंधी तथा भूस्खलन की आशंका जताई है। विभाग के इस अलर्ट के बाद प्रशासन ने लोगों को सतर्क किया है व अगर बहुत जरूरी न हो तो यात्रा टालने की राय दी है, ताकि कोई नुकसान न हो।

प्रदेश में न्यूनतम और अधिकतम तापमान सामान्य से दो से तीन डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है। उना में सबसे अधिक 32.2, नाहन 29.3, सोलन 28.5, बिलासपुर और कांगडा 29.5, हमीरपुर और चंबा में 28.3, शिमला में 22.6, सुंदरनगर 27.5, भुंतर 30.4, किन्नौर जिले के कल्पा में 23.6 डिग्री, धर्मशाला में 28.6 डिग्री, चंबा जिले के डलहौजी 19.2, और लाहौल स्पीति जिले के केलांग में 21.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है।

गुरुवार, 26 अगस्त 2021

सेब के दाम गिरा देने से बागवान मालिक पर संकट

श्रीराम मौर्या                 
शिमला। पहाङी राज्य हिमाचल में सेब कारोबार से जुङे अडानी ग्रुप ने अचानक सेब के दाम गिरा देने से पहाङी बागवान मालिक संकट में आ गए हैं। इससे अरबों का कारोबार प्रभावित होने की आशंका हो गई है। बीते 15 दिनों के भीतर सेब के दाम 1000 से 1200 रुपये प्रति पेटी (25 से 30 किलो) तक गिर चुके हैं। मंडियों में रेट गिरने पर बागवान निजी कंपनियों से अच्छे रेट की उम्मीद लगाए बैठे थे, लेकिन सेब खरीद करने वाली अडानी की कंपनी ने इस साल 10 साल पुराने रेट खोले हैं। 2011 में अडानी ने 65 रुपये प्रति किलो रेट पर सेब खरीद की थी। इस साल भी कंपनी करीब इसी रेट पर सेब खरीद शुरू करने जा रही है। इस साल प्रदेश में करीब साढ़े चार करोड़ पेटी सेब उत्पादन का अनुमान है। करीब 3 करोड़ पेटी सेब अभी मंडियों में जाना बाकी है। सरकार की ओर से भी कोई राहत न मिलने से बागवान निराश हैं।
ओलावृष्टि और बेमौसम बर्फबारी के कारण इस साल फसल बुरी तरह प्रभावित हुई है।
मार्केट में रेट गिरने और निजी कंपनियों के शोषण से आहत बागवान सेब के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू करने की मांग उठा रहे हैं। सेब बागवानों ने निजी कंपनियों के बहिष्कार के लिए सोशल मीडिया पर अभियान भी शुरू कर दिया है। सेब के रेट गिरने के बाद बागवानों ने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में भी आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी है। बागवानों का कहना है कि सरकार ने निजी कंपनियों को करोड़ों रुपये अनुदान दिया है। बावजूद इसके कंपनियां बागवानों को राहत देने के स्थान पर शोषण करने पर उतारू हैं।

सोमवार, 12 जुलाई 2021

सभी पर्यटकों के कार्यक्रम स्थगित करने की सलाह

श्रीराम मौर्य             

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने बारिश बारिश के कारण हुई तबाही के मद्देनजर 13 जुलाई तक धर्मशाला आने वाले सभी पर्यटकों को फिलहाल अपना कार्यक्रम स्थगित करने की सलाह दी है। डॉ. जिंदल ने आज यहां कहा कि धर्मशाला तथा इसके आसपास के पर्यटक स्थलों में पहले से ही पहुंचे पर्यटकों को भी जहां हैं। वहीं पर रूकने की सलाह दी गई है। भारी बारिश के चलते सड़कों आदि को काफी नुकसान हुआ है। जिससे आवागमन में दिक्कत हो सकती है।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से धर्मशाला तथा इसके आसपास के क्षेत्रों में रूके पर्यटकों की सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए जा रहे हैं। इसलिए किसी भी तरह की जल्दबाजी न करें और प्रशासन का सहयोग करें और किसी भी तरह की दिक्कत होने पर आपदा नियंत्रण कक्ष पर टॉल फ्री नम्बर 1077 पर सम्पर्क कर सकते हैं, जो 24 घंटे खुला है।

गुरुवार, 27 मई 2021

उपभोक्ताओं को जून में नहीं मिलेगा रिफाइंड और तेल

शिमला। हिमाचल प्रदेश के राशनकार्ड उपभोक्ताओं को जून में रिफाइंड तेल नहीं मिलेगा। उपभोक्ताओं को रिफाइंड के बदले दो लीटर सरसों तेल ही दिया जाएगा। खाद्य आपूर्ति निगम ने रिफाइंड तेल का टेंडर नहीं किया है। उपभोक्ताओं को अगले माह से वैसे भी सरसों तेल 57 रुपये महंगा मिलेगा। विभाग ने इसकी जानकारी पहले ही दे दी है। एपीएल उपभोक्ताओं को 160 और बीपीएल को 155 रुपये प्रतिलीटर तेल मिलेगा।

हिमाचल में साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता हैं। इनमें 12.50 लाख एपीएल और 4.45 लाख बीपीएल उपभोक्ता हैं। सरकार की ओर से उपभोक्ताओं को सब्सिडी पर राशन उपलब्ध कराया जाता है। सरकार उपभोक्ताओं को एक लीटर रिफाइंड और एक लीटर सरसों तेल उपलब्ध कराती है। बताया जा रहा है कि रिफाइंड तेल के दाम में भारी उछाल आया है। इसके चलते अगले महीने दो लीटर सरसों तेल ही देने का फैसला लिया गया है।

सोमवार, 8 मार्च 2021

हिमाचल: 1 दिन में 2 बार आया भूकंप, तीव्रता मापी

चंबा। हिमाचल के जिला चंबा में एक बार फिर धरती कांपी है। आज चंबा में दो बार भूकंप आया है। आज सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर 3.6 तीव्रता का भूकंप आया। भूकंप का केंद्र चंबा में जमीन से 5 किलोमीटर अंदर था। इसके करीब 18 मिनट बाद एक बार फिर धरती कांपी। इस बार 3.5 तीव्रता का भूकंप आया है। इस बार भी भूकंप का केंद्र जमीन से पांच किलोमीटर अंदर था। हालांकि, भूकंप के चलते किसी प्रकार के जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है। वहीं, दिन का समय होने और लोगों के कार्यों में व्यस्त रहने के चलते भूकंप के झटके महसूस भी नहीं जा सकें हैं। बता दें कि इस वर्ष चंबा जिला मेें पहले भी भूकंप के झटके महसूस किए जा चुके हैं।

मंगलवार, 16 फ़रवरी 2021

शिक्षक संघ ने उठाई शिक्षा खंड को बांटने की मांग

प्राथमिक शिक्षक संघ स्वारघाट ने उठाई शिक्षा खंड को दो भागों में बांटने और केंद्र पाठशाला को पुनर्गठित करने की मांग
राकेश चंदेल
 बिलासपुर। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बस्सी में आयोजित जन मंच कार्यक्रम में प्राथमिक शिक्षक संघ स्वारघाट ने ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी को अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा। संघ ने मुख्य तौर पर प्राथमिक शिक्षा खंड स्वारघाट को दो भागों में विभाजित करके स्वारघाट और श्री नैना देवी के नाम से अलग-अलग शिक्षा खंड बनाए जाने की मांग रखी। इसके अतिरिक्त संघ ने केंद्र पाठशाला व्यवस्था को एक केंद्र पाठशाला के साथ तीन अधीनस्थ पाठशाला की तर्ज पर पुनर्गठित करने की मांग रखी।
 प्राथमिक शिक्षक संघ ने  ऐसी पाठ शालाओं  जो या तो खड्डो नालों जंगलों इत्यादि के किनारे स्थित हैं या दुर्घटना उन्मुख क्षेत्र में है उनके लिए सीमा दीवार हेतु बजट का प्रावधान करने, शिक्षकों के खाली पड़े हुए लगभग 60 पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरने, प्राथमिक स्तर पर कंप्यूटर शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर केंद्रीय पाठ शालाओं में कंप्यूटर प्रिंटर इंटरनेट जैसे मूलभूत संसाधनों की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग उठाई। संघ के खंड प्रधान अनिल शर्मा ने बताया कि यह शिक्षा खंड एक सिरे से दूसरे सिरे तक 100 किलोमीटर से भी अधिक लंबाई में फैला हुआ है जिसकी प्रशासनिक और अकादमिक व्यवस्था का प्रबंधन एक अति दुष्कर कार्य है। इसे दो अलग-अलग खंडों में विभाजित करके बेहतर प्रशासनिक व्यवस्था और अकादमिक परिणामों की प्राप्ति की जा सकती है ।
इसके अतिरिक्त अध्यापकों के अत्यधिक रिक्त पदों की वजह से शिक्षा की गुणवत्ता और बच्चों के नामांकन पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है इन पदों को अति शीघ्र भरा जाना चाहिए। ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी तथा   श्री नैना देवी क्षेत्र के पूर्व विधायक रणधीर शर्मा ने इन मांगों को शीघ्र पूर्ण करने का पूरा प्रयास करने का आश्वासन दिया तथा  शिक्षा खंड को  विभाजित  करने और केंद्र पाठशाला व्यवस्था को पुनर्गठित करने का मामला शीघ्र उपयुक्त चैनल में भेजने का विश्वास दिलाया ।

इस अवसर पर प्राथमिक शिक्षक संघ के महासचिव राजीव शर्मा कोषाध्यक्ष सुखदेव शर्मा जिला मुख्य संरक्षक रणजीत सिंह मुख्य सलाहकार अमरनाथ शर्मा जिला उप प्रधान जोगिंदर पाल शर्मा जिला सचिव महेंद्र पाल महालेखाकार बलवीर सिंह राज्य उपप्रधान रमेश शर्मा बचित्तर सिंह पुष्पराज नरेंद्र कुमार इत्यादि उपस्थित रहे।

शुक्रवार, 15 जनवरी 2021

हिमाचलः तेंदुए ने सड़क पर लोगों से किया प्यार

तेंदुए ने सड़क पर आकर लोगों से किया प्यार

कुल्लू। तेंदुए द्वारा पालतू जानवर और लोगों पर हमले की खबरें, वीडियो और तस्वीरें तो आपने बहुत देखीं और सुनी होंगी। लेकिन हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले की तीर्थन घाटी से जो वीडियो सामने आया है वो वाक्य हैरान कर देने वाला है। दरअसल, यहां एक तेंदुए का शावक सड़क पर निकल आया। इस दौरान तेंदुए के शावक को देख लोगों की भीड़ जुट गई और सड़क पर जाम लग गया। तेंदुए (Leopard) के शावक के साथ लोग खेलने लगे और उसके साथ सेल्फी लेनी शुरू कर दी। इस दौरान तेंदुआ वहां करीब एक घंटे तक घूमता रहा और लोग भी तेंदुए को देखने के लिए गाड़ियों से उतर आए। जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जानकारी के मुताबिक, यह वायरल वीडियो कुल्लू जिले के तीर्थन घाटी की शरची पंचायत के बंदल स्थित नगलाड़ी-शरची सड़क का है। सुबह करीब सात बजे के आसपास लोगों ने तेंदुए को देखा। बिना किसी डर के सड़क पर घूमते तेंदुए को देखने के लिए जहां आसपास गांव के लोगों को तांता लगा गया, वहीं सड़क पर भी गाड़ियों की लंबी लाइन गई। इस दौरान कई लोग गाड़ियों से बाहर आए और तेंदुए को बिस्कुट फैंकने लगे। सड़क के करीब 300 मीटर पर तेंदुए ने करीब एक घंटे तक डेरा जमाए रखा और लोग उसके वीडियो बनाते रहे।

सोमवार, 4 जनवरी 2021

हिमाचलः सैकड़ों लोगों की जान आफत में फंसी

हिमाचल में हुआ कुछ ऐसा कि सैकड़ों लोगों की जान आफत में फंसी

किन्नौर। किन्नौर जिले में नाको के निकट मालिंग नाला क्षेत्र में सोमवार को हुए भूस्खलन के चलते किन्नौर-काज़ा राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध हो गया और सैकड़ों लोग फंस गए। जिले के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। हिमपात के बाद हुए भूस्खलन के कारण किन्नौर जिले के अनेक गांवों में तथा लाहौल स्पीति जिले के काज़ा उपसंभाग में सड़क संपर्क अन्य हिस्सों से कट गया। सीमा सड़क संगठन मलबा हटाने और किन्नौर-काज़ा मार्ग को साफ करने के प्रयास कर रहा है। अधिकारी ने बताया कि भूस्खलन के कारण सड़क के दोनों ओर सैकड़ों वाहन फंस गए।

हिमाचलः डीसी कांगड़ा ने रखी आपातकालीन बैठक

कांगड़ा। जिला कांगड़ा के अंतर्गत तहसील फतेहपुर के पौंग झील क्षेत्र में रहस्यमय ढंग से करीब 1200 प्रवासी पक्षियों के मृत पाए जाने के बाद प्रशासन के हाथ-पांव फूले हुए हैं। डीसी कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति ने फतेहपुर, ज्वाली और देहरा के एसडीएम को अलर्ट कर दिया है। बर्ड फ्लू फैलने की आशंका के चलते डीसी कांगड़ा ने सोमवार को फतेहपुर, ज्वाली और देहरा के एसडीएम के साथ हालात पर काबू पाने को लेकर आपातकालीन बैठक रखी। बैठक के दाैरान वन्य जीव प्राणी और पशुपालन विभाग के अधिकारी भी हिस्सा लेंगे। डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने बताया कि फतेहपुर, ज्वाली और देहरा के एसडीएम को अलर्ट कर दिया गया है। अभी तक सिर्फ प्रवासी पक्षियों की ही मौत हुई है। हो सकता है कि इन पक्षियों की मौत बर्ड फ्लू की वजह से हुई हो। प्रवासी पक्षियों के सैंपल की रिपोर्ट सोमवार को आ सकती है। इससे पता चलेगा कि आखिर पक्षियों की मौत हुई कैसे। फिलहाल, बर्ड फ्लू की आशंका के चलते हमने एसडीएम को अलर्ट कर दिया है। पौंग झील के किनारे एक किलोमीटर तक के एरिया को मानव गतिविधियों के लिए प्रतिबंधित किया गया है।झील के आसपास करीब 11 किलोमीटर के एरिया को निगरानी में रखा जा रहा है। पौंग झील में अभी तक 1177 प्रवासी पक्षियों की मौत की पुष्टि हुई है। बारिश की वजह से रविवार को मृतक पक्षियों की गणना नहीं की जा सकी। उधर, बर्ड फ्लू की आशंका के चलते झील के आसपास के इलाके के लोग नॉनवेज खाने से भी परहेज करने लगे हैं।

कई दिनों से पेयजल की समस्याओं से जूझते लोग

पांवटा साहिब। जहां एक और मुख्यमंत्री करोड़ों रुपए के पेयजल योजनाओं की घोषणाएं करने जुटे है। वही आईपीएच विभाग के अधिकारी धरातल पर मुख्यमंत्री की मिट्टी पलीत कराने में जुटे हुए हैं। ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी शहर के वार्डो में उम्मीदवार पक्ष में वोट मांगते फिर रहे हैं। वही वार्डों के लोग सुखराम चौधरी को धोबी पछाड़ देने की तैयारी कर रहे हैं। क्योंकि पिछले 7 दिनों से शहर के कई वार्डों में पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा वही आईपीएच विभाग कुंभकर्ण की नींद सोया हुआ है तथा बार-बार फोन करने पर भी नहीं जाग रहा वहीं शहर के कई लोगों ने जाकर दफ्तरों में भी सोए हुए अधिकारियों को उठाने की कोशिश की परंतु शायद काली कमाई का ज्यादा हिस्सा घटक कर अधिकारियों के पेट फूल गए हैं।तथा नशा दिमाग में चढ़ गया है ठेकेदारों के साथ मिलीभगत कर आई पी एच के अधिकारी शहर की जनता को तंग करने में जुटे हैं। बताया यह भी जा रहा है, किआईपीएच विभाग के अधिकारी शहर में करोड़ों रुपए की कोठियां डाल रहे हैं तथा अपने निजी बोर करवाए हुए हैं। वही विजिलेंस वी इन भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही करने में अभी तक नाकाम साबित हुआ है। वहीं गत दिवस अवैध बोर का भी मामला सामने आया था। क्योंकि गंदी राजनीति के चलते उन जगह बोर करा दिए गए। जहां पर बोर करवाने की जरूरत ही नहीं थी। वहीं अब बद्रीपुर इलाके के लोग दूसरों के घर से पानी भरकर लाने को मजबूर है।

रविवार, 3 जनवरी 2021

हिमाचल में 300 से अधिक पर्यटकों को बचाया गया

शिमला। सर्दियों के दिनों में ऊपरी क्षेत्र पर बर्फबारी का दौर चल रहा है और निचले क्षेत्रों में बारिश की बूंदा बांदी के साथ शीत लहर का भी प्रकोप बढ़ गया है। पर्यटक बर्फबारी का आनंद लेने के लिए पर्यटक रोहतांग अटल सुरंग की तरफ से जा रहे हैं परंतु इतनी ज्यादा बर्फबारी होने के कारण रोहतांग अटल सुरंग के रास्ते शनिवार को बंद हो गए थे पुलिस प्रशासन ने मुस्तैदी दिखाते हुए ताजा बर्फबारी के बाद रोहतांग में अटल सुरंग के पास फंसे 300 से अधिक पर्यटकों को बचाया है। बचाव अभियान शनिवार शाम को शुरू हुआ और आधी रात के बाद जारी रहा।

हिमाचल: चुनावों की तैयारियों में जुटा 'प्रशासन'

शिमला। हिमाचल प्रदेश में इन दिनों पंचायती राज चुनाव को लेकर माहौल गरमाया हुआ है। प्रशासन भी तैयारियों में जुटा हुआ है, ताकि चुनाव के दौरान किसी भी प्रकार से कोविड नियमों की अवहेलना न हो सके। साथ ही मास्क का प्रयोग व दो गज की दूरी को लेकर भी लोगों बताया जा रहा है। लोग आराम से अपने मत का प्रयोग कर सके। उधर, इन दिनों परवाणू में चुनावों की तैयारियां जोरों से चली हुई है। नगर परिषद के चुनावों के लिए सामान परवाणू पहुंचना शुरू हो गया है और चुनावों के लिए सोमवार को रिहरस्ल भी होनी है। पोलिंग स्टेशनों पर भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है। बता दें कि नगर परिषद के चुनाव 10 जनवरी को होने है। चुनावों के लिए सभी उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह आबंटित किए जा चुके है। उपमंडलाधिकारी कसौली डा. संजीव कुमार धीमान का कहना है कि चुनाव के लिए परवाणू में चुनाव का सामान पहुंचना शुरू हो गया है। सोमवार को रिहरस्ल होनी है। साथ ही पोलिंग स्टेशनों पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मतदान के लिए लोगों को कोई असुविधा न हो और आराम से लोग अपना मत कर सके इस बात पर भी पूरी तरह से नजर बनाई गई है। कोविड नियमों की उललंघना न हो इस पर भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

सीएम जयराम ने पीएम मोदी को दी बधाई

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अमरीका की डाटा फर्म मॉर्निंग कंसल्ट द्वारा देश में कोविड-19 महामारी को प्रभावी ढंग से नियंत्रित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया भर में सर्वश्रेष्ठ और सबसे लोकप्रिय राजनेता आंका जाने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि मॉर्निंग कंसल्ट की तरफ से किए गए सर्वेक्षण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अनुमोदन रेटिंग विश्व के नेताओं में सबसे अधिक है। यह उनके सक्षम नेतृत्व का प्रमाण है और सभी भारतीयों के लिए गर्व का विषय है। उन्होंने कहा कि यह इस डाटा फर्म द्वारा ट्रैक किए गए विश्व के किसी भी अन्य नेता की तुलना में उच्च रेटिंग है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोविड-19 संकट के विभिन्न मुद्दों और कुशल प्रबंधन के लिए एक बार फिर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में उभरे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा लिए गए प्रभावी और समयबद्ध निर्णयों के कारण ही भारत कोरोना संकट से प्रभावी रूप से निपटने में सक्षम हुआ। उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रधानमंत्री के गतिशील और कुशल नेतृत्व में देश प्रगति और समृद्धि के मार्ग पर निरंतर आगे बढ़ता रहेगा।

दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...