शनिवार, 16 दिसंबर 2023

लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोच लिया

लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोच लिया
इकबाल अंसारी 
अंबेडकरनगर। एंटी करप्शन की टीम ने 20 हजार की रिश्वत लेते अकबरपुर तहसील के एक लेखपाल को रंगे हाथों दबोच लिया। वह लेखपाल संगठन का अकबरपुर तहसील अध्यक्ष भी है। गिरफ्तारी के बाद अकबरपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने के साथ ही आरोपी को स्थानीय पुलिस की सुपुर्दगी में दे दिया गया। दरअसल इस मामले का न्याय क्षेत्र गोरखपुर ही है, लिहाजा आज गोरखपुर कोर्ट में पेश किया गया।
अकबरपुर तहसील में कार्यरत लेखपाल रूपेश यादव ने सोमवार दोपहर करीब सोनगांव निवासी हरेंद्र कुमार को फोन कर चनवा चौराहे पर आने को कहा। वह वहां एक मेडिकल स्टोर पर मौजूद था। एक निर्माण जारी रखने के लिए उसने जैसे ही हरेंद्र से 20 हजार रुपये लिए, वहां मौजूद एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को पकड़ लिया। वह उस समय अपनी कार में मौजूद था। उसने हरेंद्र को भी मेडिकल स्टोर पहुंचने के बाद अपनी कार में बैठा लिया था। उसी में रकम लेने के बाद पहले से घेराबंदी कर रही टीम के हाथ कामयाबी लग गई।
एंटी करप्शन टीम के प्रभारी अयोध्या से आए निरीक्षक रायसाहब द्विवेदी के नेतृत्व में टीम ने लेखपाल को फौरन अपने वाहन में बैठाया और अकबरपुर कोतवाली लेकर आ गए। यहां रायसाहब की तहरीर पर भ्रष्टाचार का मुकदमा लिखा गया। आरोपी लेखपाल को कोतवाली पुलिस की सुपुर्दगी में दे दिया गया। उधर तहसील अध्यक्ष की गिरफ्तारी होते ही एसडीएम, सीओ व तहसीलदार भी अकबरपुर कोतवाली पहुंचे। कई लेखपालों के साथ पहुंचे जिलाध्यक्ष अभिषेक वर्मा ने कहा कि लेखपाल को साजिशन फंसाया गया है। नियम के अनुसार घूस देने वाले पर भी कार्रवाई हो। ऐसा न हुआ तो संगठन आंदोलन करेगा।
यह है पूरा मामला
सोनगांव निवासी सुरेंद्र कुमार यादव व संजय कुमार निषाद ने बीते दिनों शिकायत की थी कि उन्होंने गांव निवासी सितई निषाद से भूमि का बैनामा लिया है। उस पर निर्माण करा रहे हैं। लेखपाल द्वारा निर्माण जारी रखने के लिए अवैध रकम मांगी जा रही है। अधिकारियों से की गई शिकायत में कहा गया कि बगल में पुलिसकर्मी की भूमि होने का हवाला देकर लेखपाल द्वारा दबाव बनाया जा रहा जबकि पुलिसकर्मी ने स्पष्ट कर दिया है कि उसकी बैरीकेडिंग के बाहर निर्माण हो रहा है। इसी मामले में अब सुरेंद्र के भाई हरेंद्र द्वारा 20 हजार रुपये रिश्वत देते लेखपाल को गिरफ्तार कर लिया गया।

पश्चिम प्रदेश की मांग, केन्द्रीय मंत्री को दिया ज्ञापन

पश्चिम प्रदेश की मांग, केन्द्रीय मंत्री को दिया ज्ञापन
भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। पश्चिम प्रदेश संयुक्त निर्माण मोर्चा के द्वारा 9 दिसंबर को मां शाकुंभरी देवी से एक यात्रा का शुभारंभ किया गया था। जिसमें 27 जनपदों से यात्रा होकर गुजरेगी। पश्चिम प्रदेश निर्माण की इस यात्रा के द्वारा मांग की जा रही है।
केंद्रीय राज्य मंत्री आज संजीव बालियान के आवास पर यात्रा पहुंची। अलग प्रदेश निर्माण को लेकर एक ज्ञापन केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान को भी सौपा। संयुक्त मोर्चे के लोग काफी समय से अलग प्रदेश की मांग कर रहे हैं। जिस तरह से उत्तराखंड को अलग प्रदेश बनाया गया।
ऐसे ही संसद में यह प्रस्ताव पास हो पश्चिम निर्माण प्रदेश बने। 9 साल से संगठन के लोग संघर्ष कर रहे हैं। इस यात्रा का समापन गाजियाबाद में होगा। 27 सांसदों से इस यात्रा के दौरान बात की जाएगी।

हत्या में चार आरोपियों को आजीवन कारावास

हत्या में चार आरोपियों को आजीवन कारावास
संदीप मिश्र 
कानपुर। मामले की सुनवाई अपर जिला जज 13 पॉक्सो एक्ट बाकर शमीम रिजवी की अदालत में चल रही थी। अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए बुधवार को सभी चारों आरोपियों को दोषसिद् ठहराया था।
यूपी के घाटमपुर क्षेत्र में करीब तीन साल पहले संतान की चाहत रखने वाले दंपती ने तांत्रिक के कहने पर एक मासूम की हत्या कर कलेजा खाया था। इसमें दंपती का भतीजा व उसका दोस्त भी शामिल था। दुष्कर्म, हत्या, पॉक्सो का मामला अपर जिला जज की अदालत में चला। शनिवार को अदालत ने चारों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही अर्थदंड भी लगाया है।
सहायक शासकीय अधिवक्ता राम रक्षित शर्मा, प्रदीप पांडेय प्रथम व अजय कुमार त्रिपाठी ने बताया कि घाटमपुर क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें बताया था कि उसकी सात वर्षीय मासूम पुत्री 14 नवंबर 2020 को घर के बाहर खेलते समय कहीं गायब हो गई थी। अगले दिन उसकी लाश क्षतविक्षत हालत में गांव के बाहर खेत में मिली थी।
मामले में पुलिस ने पीड़ित पिता की तहरीर के आधार पर गांव के रहने वाले अंकुल, वंशलाल, कमलराम, बाबूराम और सुरेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर विवेचना शुरू की थी। दौरान विवेचना पुलिस ने वीरेन और अंकुल उर्फ हूला के खिलाफ मासूम से दुष्कर्म, हत्या करने और दंपती परशुराम और सुनैना के खिलाफ संतान प्राप्ति के लिए तंत्र विद्या के लिए मासूम की हत्या करने में सहभागी बनने के साक्ष्य पाते हुए उनके खिलाफ आरोप पत्र अदालत में पेश किए थे। वहीं अन्य आरोपियों में वंशलाल, कमलराम, बाबूराम व सुरेश के खिलाफ घटना में शामिल होने के कोई साक्ष्य न मिलने पर उनका नाम विवेचना में हटा दिए थे।
मामले की सुनवाई अपर जिला जज 13 पॉक्सो एक्ट बाकर शमीम रिजवी की अदालत में चल रही थी। अदालत ने मामले की सुनवाई करते हुए बुधवार को सभी चारों आरोपियों को दोषसिद्ध ठहराया था। शनिवार को सजा के बिंदु पर सुनवाई करते हुए दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद दोषी अंकुल उर्फ हूला और वीरन को हत्या, दुष्कर्म के आरोप में अंतिम समय का आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही प्रत्येक दोषी पर 25 हजार रुपये अर्थदंड भी लगाया है। वहीं दोषी दंपती परशुराम व सुनैना को हत्या, साजिश में आजीवन कारावास की सजा के साथ ही बीस हजार रुपये अर्थदंड भी लगाया है।

सवारी से भारी निजी बस में युवती से दुष्कर्म

सवारी से भारी निजी बस में युवती से दुष्कर्म
नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में सनसनीखेज मामला सामने आया है। कानोता थाना इलाके में एक युवती के साथ रेप का केस दर्ज हुआ है। युवती के साथ रेप चलती बस में हुआ है। बताया जा रहा है कि बस को कंडक्टर चला रहा था। इस दौरान बस ड्राइवर ने केबिन में बैठी युवती के साथ रेप किया। इस घटना के दौरान बस में सवारी भी बैठी थी। पुलिस ने बताया चलती बस में ड्राइवर ने एक युवती के साथ रेप किया है। कंडक्टर बस चलाता रहा और ड्राइवर स्पीकर की तेज आवाज के बीच युवती के साथ रेप करता रहा।
पुलिस ने मामला दर्ज करते ही तत्कालीन आरोपी कंडक्टर आरिफ खान को गिरफ्तार कर लिया है। मेन आरोपी ड्राइवर ललित कुमार घटना के बाद से फरार है। दोनों ही आरोपी यूपी के रहने वाले हैं। पुलिस ने बताया कि यह पुरा मामला 9 दिसंबर की शाम का है। पीड़िता यूपी के कानपुर की रहने वाली है। मामले की शिकायत जयपुर के कानोता पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है। इस पुरे मामले की जांच एसीपी फूलचन्द मीणा कर रहे हैं।
ये है पूरा मामला
पुलिस ने बताया कि 19 वर्षीय युवती ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई है। मामले की पूरी जानकारी पुलिस को दी है। पीड़िता के मुताबिक 9 दिसंबर को शाम सात बजे वह कानपुर से जयपुर आने के लिए एक प्राइवेट बस में बैठी थी। बस रवाना होने के करीब आधा घंटे बाद ड्राइवर ने युवती से कहा कि आपकी सीट के पास शराबी युवक बैठे हैं। आप मेरे पास केबिन में बैठ जाओ। इस पर युवती केबिन में बैठ गई।
सवारियों की मौजूदगी में रेप
पीड़िता ने बताया कि वह केबिन में बनी स्लीपर सीट पर बैठ गई। रात करीब दो बजे चालक उसके पास आया और सो गया। ड्राइवर उसके साथ जबरदस्ती करने लगा। इस दौरान कंडक्टर बस चालाता रहा। कंडक्टर ने बस में लगे स्पीकर की तेज कर दी और केबिन का दरवाजा अंदर से बंद कर दिया। इसके बाद चालक ने उसके साथ रेप किया।
सवारियों ने की आरोपी की पिटाई
पीड़िता ने बताया कि जब वह जोर से चिल्लाई तो सवारियों ने केबिन का दरवाजा खुलवाया। सवारियों ने ही पीड़िता को चालक के कब्जे से छुड़वाया और उसकी पिटाई की। पुलिस ने 1आरोपी को गिरफ्त में लेकर मामले की जांच कर रही है।

पुलिस भर्ती, 6 लाख 51 हजार आवेदन मिलें

पुलिस भर्ती, 6 लाख 51 हजार आवेदन मिलें
अविनाश श्रीवास्तव 
पटना। बिहार पुलिस एसआई भर्ती परीक्षा का आयोजन राज्य भर में निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर 17 दिसंबर 2023 को किया जाएगा। परीक्षा का आयोजन बिहार पुलिस सबोर्डिनेट सर्विस कमीशन की ओर से किया जाएगा। बिहार पुलिस में एसआई के कुल 1275 पदों पर भर्तियों के लिए परीक्षा का आयोजन दो पालियों में किया जाएगा। एडमिट कार्ड पहले ही जारी किया जा चुका है। जिन अभ्यर्थियों ने अभी तक परीक्षा प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं किया है। वह आधिकारिक वेबसाइट bpssc.bih.nic.in के जरिए हाॅल टिकट डाउनलोड कर सकते हैं।
बता दें कि पहली पाली में परीक्षा का आयोजन सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली में दोपहर 2.30 बजे से शाम 4.30 बजे तक होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एग्जाम में 6 लाख 61 हजार से अधिक कैंडिडेट्स शामिल होंगे।
और जानें
इतने समय बाद नहीं होगी एंट्री
कमीशन की ओर से जारी दिशा-निर्देश के अनुसार एग्जाम शुरू होने के 30 मिनट पहले परीक्षा केंद्र का गेट बंद कर दिया जाएगा। गेट बंद होने के बाद किसी भी अभ्यर्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। ऐसे में कैंडिडेट निर्धारित समय पर ही एग्जाम सेंटर पर पहुंचे नहीं तो परीक्षा छूट जाएगी। प्रारंभिक परीक्षा में कुल 200 नंबरों के 100 सवाल पूछे जाएंगे। परीक्षा का समय दो घंटे निर्धारित किया गया है। परीक्षा संबंधी अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी गाइडलाइंस को चेक कर सकते हैं।
इसे ले जाना है अनिवार्य
हाॅल टिकट के साथ परीक्षार्थियों को एक वैध फोटो आईडी जैसे कि आधार कार्ड, पैन कार्ड या वोटर आईडी लेकर जाना होगा। एडमिट कार्ड से फोटो आईडी की पहचान की जाएगी और फिर अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
इन पर है प्रतिबंध
परीक्षा केंद्र में मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि चीजें लेकर जानें पर प्रतिबंध लगाया गया है। अगर से चीजें किसी भी अभ्यर्थी के पास से बरामद होती हैं, तो उसे तुरंत परीक्षा केंद्र से बाहर कर दिया जाएगा।

यौन उत्पीड़न के साथ जीना सीखें भारतीय महिला

यौन उत्पीड़न के साथ जीना सीखें भारतीय महिला
हरिओम उपाध्याय 
बांदा। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में तैनात ने एक महिला जज ने मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ को खत लिखकर एक जिला न्यायाधीश  पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया। साथ ही महिला जज ने सीजेआई से सम्मानजनक ढंग से अपना जीवन खत्म करने की अनुमति मांगी।
खत के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामला का संज्ञान लेते हुए सीजेआई ने इलाहाबाद हाईकोर्ट प्रशासन से स्टेटस रिपोर्ट मांगी। सूत्रों के अनुसार, सीजेआई जस्टिस चंद्रचूड़ ने बृहस्पतिवार देर रात सुप्रीम कोर्ट के महासचिव अतुल एम कुरहेकर को इलाहाबाद हाईकोर्ट प्रशासन से स्टेटस रिपोर्ट मांगने को कहा।
कुरहेकर ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र लिखकर महिला जज की सारी शिकायतों की जानकारी मांगी है। साथ ही शिकायत से निपटने वाली आंतरिक शिकायत समिति के समक्ष कार्यवाही की स्थिति के बारे में पूछा है। सूत्रों का कहना है कि हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश ने भी सार्वजनिक पत्र का संज्ञान लिया है।
इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 13 दिसंबर को महिला जज की याचिका खारिज कर दी थी। कोर्ट का कहना था कि आंतरिक समिति इस मामले को देख रही है, लिहाजा इसमें दखल देने का कोई कारण नजर नहीं आता। आठ सेकंड के अंदर अपनी याचिका खारिज होने से दुखी महिला जज ने सीजेआई के नाम दो पेज का खत लिखा।
इसमें लिखा कि उन्होंने आत्महत्या करने की कोशिश की, लेकिन उनका पहला प्रयास असफल रहा। सीजेआई को ‘सबसे बड़े अभिभावक’ के रूप में संबोधित करते उन्होंने अपना जीवन समाप्त करने की अनुमति मांगी, और उन्होंने लिखा कि मेरे जीवन का कोई उद्देश्य नहीं बचा है।
महिला जज ने आरोप लगाया कि बाराबंकी में तैनाती के दौरान एक विशेष जिला न्यायाधीश और उनके सहयोगियों ने मेरा शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न किया। मुझे रात में जिला जज से मिलने के लिए कहा गया। मैंने 2022 में इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और प्रशासनिक न्यायाधीश (हाईकोर्ट के न्यायाधीश) से शिकायत की लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।
किसी ने भी मुझसे यह पूछने की जहमत नहीं उठाई कि क्या हुआ, आप परेशान क्यों हैं? उन्होंने लिखा कि वह केवल निष्पक्ष जांच चाहती थीं और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर उन्होंने इस महीने सुप्रीम कोर्ट में जो याचिका दायर की थी, उसे बुधवार को आठ सेकंड के अंदर खारिज कर दिया गया।
‘मेरे साथ बिल्कुल कूड़े जैसा व्यवहार किया गया है। मैं किसी कीड़े जैसी महसूस कर रही हूं और मैं दूसरों को न्याय दिलाना चाहती थी। मैं कितनी भोली हूं! मैं भारत की सभी कामकाजी महिलाओं से कहना चाहती हूं, यौन उत्पीड़न के साथ जीना सीख लें। यह हमारे जीवन का सच है।

5 साल बाद कोर्ट ने राहुल को तलब किया

5 साल बाद कोर्ट ने राहुल को तलब किया
आदर्श श्रीवास्तव 
सुल्तानपुर। सुल्तानपुर की एमपी/एलएलबी कोर्ट ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को तलब किया है। अमित शाह पर टिप्पणी मामले में 5 साल पूर्व याचिका दर्ज हुई थी। सुल्तानपुर की एमपी/एलएलबी कोर्ट ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अमित शाह पर 5 वर्ष पूर्व अभद्र टिप्पणी के मामले में पुनः 6 जनवरी को तलब किया है।
18 नवंबर को कोर्ट में तलबी बहस हुई थी और 16 दिसंबर को इसका फैसला आना था। याची के अधिवक्ता संतोष पाण्डेय ने बताया कि बीते 18 नवंबर को एमपी/एलएलबी कोर्ट के जज योगेश यादव ने तलबी पर सुनवाई की थी। बहस पूरी होने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखते हुए 27 नवंबर की तिथि नियत की थी। जज योगेश यादव ने फैसला सुनाते हुए 16 दिसंबर को राहुल गांधी को तलब किया था। परंतु राहुल गांधी आज न्यायालय के सामने उपस्थित नहीं हुए।
याचिका वर्ष 2018 में पड़ी थी और सुनवाई पूरी होने में पूरे पांच वर्ष लग गए। अगस्त 2018 में याचिका दायर हुई थी। बता दें कि कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के हनुमानगंज निवासी सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन विजय मिश्र ने राहुल गांधी के खिलाफ 4 अगस्त 2018 को मानहानि का वाद दायर किया था। आरोप है कि एक वीडियो फुटेज में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की गई थी।

2 पीसीएस सहित 28 के खिलाफ मुकदमा दर्ज

2 पीसीएस सहित 28 के खिलाफ मुकदमा दर्ज
श्रीराम मौर्य 
हरिद्वार। उत्तराखंड में शासन ने बड़ा एक्शन लिया है। बताया जा रहा है कि विजिलेंस ने तत्कालीन दो पीसीएस अधिकारी सहित 28 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। ये मुकदमा हरिद्वार के ज्वालापुर क्षेत्र में शत्रु संपत्ति को खुर्द-बुर्द करने के मामले में किया गया है। विजिलेंस की टीम मामले की जांच में जुट गई है, इनमें कुल 10 लोकसेवक हैं। इस मामले में मुकदमा दर्ज होने और पूर्व पीसीएस के नाम सामने आने पर शासन और प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।
मीडिया रिपोर्टस के अनुसार हरिद्वार जिले के ज्वालापुर क्षेत्र में 21 बीघा शत्रु संपत्ति थी, जिसे सरकार में निहित किया जाना था। लेकिन, कुछ तत्कालीन पीसीएस अफसरों ने भू-माफिया से उस संपत्ति को सरकार में निहित करने के बाद खुर्द-बुर्द करने के लिए गठजोड़ कर लिया। मामले में फर्जी तरीके से 10 से अधिक रजिस्ट्रियां करवा दी गईं। इसकी सूचना किसी ने विजिलेंस को दे दी। प्रारंभिक जांच में मामला सही पाया गया। जिसके बाद विजिलेंस के देहरादून सेक्टर ने 28 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

प्रधानाध्यापक ने अश्लील हरकत की, निलंबित किया

प्रधानाध्यापक ने अश्लील हरकत की, निलंबित किया 
श्रीराम मौर्य 
चमोली। उत्तराखंड के चमोली से एक शर्मनाक खबर सामने आ रही है। यहां पर प्रधानाध्यापक ने छात्र-छात्राओं के साथ अश्लील हरकत की, जिस बाद शिक्षा विभाग ने आरोपित प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही विभाग ने प्रकरण की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की है। जिसने जांच शुरू कर दी है। मामला जूनियर हाईस्कूल सिमल्ट का है। यहां आसपास के गांवों के 18 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं जिन्हें पढ़ाने के लिए आरोपित प्रधानाध्यापक बिजेंद्र कुमार कांबोज निवासी छुटमलपुर सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) सहित तीन शिक्षक तैनात हैं।
उत्तराखंड में चमोली जिले के एक सरकारी विद्यालय में छात्र-छात्राओं के शारीरिक उत्पीड़न का मामला सामने आया है। नौनिहालों ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक पर कमरे में बुलाकर अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया है। इसी मंगलवार को विद्यालय में कुछ छात्र-छात्राओं ने प्रधानाध्यापक पर अश्लीलता करने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। छात्र-छात्राओं की इस शिकायत पर उनके अभिभावकों भी विद्यालय पहुंचे थे। उस समय आरोपित प्रधानाध्यापक माफी मांगकर वहां से खिसक गया और फिर विद्यालय नहीं पहुंचा।
जब प्रकरण जिलाधिकारी हिमांशु खुराना के संज्ञान में आया तो उन्होंने शिक्षा विभाग को जांच के निर्देश दिए। इस पर शुक्रवार को राजकीय इंटर कॉलेज कर्णप्रयाग के प्रधानाचार्य जीसी डिमरी के नेतृत्व में उपशिक्षा अधिकारी कार्यालय के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी और प्रधान सहायक की तीन सदस्यीय टीम विद्यालय पहुंची और छात्र-छात्राओं समेत अन्य शिक्षकों के बयान दर्ज किए। खंड शिक्षा अधिकारी ने बताया कि आरोपित प्रधानाध्यापक वर्ष 2009 से इस विद्यालय में तैनात है और अगले वर्ष सेवानिवृत्त होने वाला है।

राघव को आप पार्टी का नेता नियुक्त किया: राज्यसभा

राघव को आप पार्टी का नेता नियुक्त किया 
अकाशुं उपाध्याय 
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने सांसद राघव चड्ढा को राज्यसभा में संजय सिंह के स्थान पर पार्टी का नेता नियुक्त किया है। पार्टी की ओर से राज्यसभा चेयरमैन को लिखे गए एक पत्र में कहा गया है कि संजय सिंह ‘स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं’ का सामना कर रहे हैं। इसलिए उनकी गैरमौजूदगी में राघव चड्ढा उच्च सदन में पार्टी के नेता होंगे। बता दें कि संजय सिंह इस समय दिल्ली शराब नीति मामले में जेल में बंद हैं। राज्यसभा सचिवालय में सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि चड्ढा को फ्लोर लीडर नियुक्त करने को लेकर आम आदमी पार्टी की ओर से एक पत्र प्राप्त हुआ है। राघव चड्ढा राज्यसभा के सबसे युवा सदस्यों में से एक हैं और पार्टी के सदन में 10 सदस्य हैं।
बता दें कि बीती चार दिसंबर को ही चड्ढा का राज्यसभा से निलंबन समाप्त हुआ था। इस दौरान वह 115 दिन कर उच्च सदन से निलंबित रहे थे। उनके ऊपर यह कार्रवाई दिल्ली सेवा बिल पर एक प्रस्ताव में पांच सांसदों के फर्जी हस्ताक्षर करने के आरोप में की गई थी। इसे लेकर उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में आम आदमी पार्टी के पास राज्यसभा में कुल 10 सांसद हैं। भाजपा, कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के बाद आप के पास राज्यसभा में सबसे ज्यादा सदस्य हैं।

आम चुनावों के लिए कार्यक्रम जारी किया: पाक

आम चुनावों के लिए कार्यक्रम जारी किया: पाक
अखिलेश पांडेय 
इस्लामाबाद। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के फैसले के कुछ घंटों बाद ही पाकिस्तान चुनाव आयोग (ECP) ने 2024 को होने वाले आम चुनावों के लिए चुनाव कार्यक्रम जारी कर दिया। मतदान प्रक्रिया 19 दिसंबर को शुरू होगी, जब रिटर्निंग अधिकारी (RO) एक सार्वजनिक नोटिस जारी करेंगे। जल्द ही ईसीपी रिटर्निंग ऑफिसर्स और डिस्ट्रिक्ट रिटर्निंग ऑफिसर्स की ट्रेनिंग शुरू करेगा। ईसीपी ने कहा कि यह चुनाव कार्यक्रम नेशनल असेंबली के साथ ही पंजाब, सिंध, खैबर पख्तूनख्वा और बलूचिस्तान की चार प्रांतीय विधानसभाओं में महिलाओं और गैर-मुसलमानों के लिए आरक्षित सीटों पर भी लागू होता है। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, लाहौर उच्च न्यायालय ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विपरीत जाते हुए कार्यकारी शाखा से आरओ और डीआरओ की नियुक्ति के लिए निर्वाचन आयोग की अधिसूचना को निलंबित कर दिया था।
लाहौर हाई कोर्ट का फैसला पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) द्वारा दायर एक याचिका पर जारी किया गया था। पीटीआई ने ही सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में समय पर चुनाव कराने की मांग की थी। विस्तृत विचार-विमर्श के बाद, निर्वाचन आयोग ने लाहौर एचसी के आदेश को रद्द करने की मांग करते हुए शीर्ष अदालत में एक याचिका दायर की थी। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने याचिका स्वीकार की और समय पुर आम चुनाव कराने का आदेश देते हुए लाहौर हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया।
बता दें कि पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सलाह पर नेशनल असेंबली को उसके 5 साल के कार्यकाल के पूरा होने से 3 दिन पहले भंग कर दिया था। पूर्व सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए निचले सदन को समय से पहले भंग कर दिया कि पाकिस्तान के संविधान के अनुरूप चुनाव 90 दिन बाद निर्धारित हों। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ, क्योंकि ईसीपी ने 90 दिनों की समय सीमा का पालन करने में असमर्थता जताई।
ईसीपी ने कहा कि काउंसिल ऑफ कॉमन इंटरेस्ट्स (सीसीआई) द्वारा 2023 डिजिटल जनगणना के परिणामों को मंजूरी देने के बाद उसे निर्वाचन क्षेत्रों के नए सिरे से परिसीमन पर काम करना था। ईसीपी के फैसले के बाद, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) और कई अन्य ने समय पर चुनाव कराने की मांग करते हुए शीर्ष अदालत में याचिका दायर की। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, उसी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने ईसीपी और राष्ट्रपति को आपस में विचार-विमर्श करने का आदेश दिया, जिसके परिणामस्वरूप 8 फरवरी 2024 तक चुनाव संपन्न कराने पर आम सहमति बनी।

बड़े ने छोटे भाई की गोली मारकर हत्या की

बड़े ने छोटे भाई की गोली मारकर हत्या की
अश्वनी उपाध्याय 
हापुड़। यूपी के हापुड़ जनपद के धौलाना तहसील क्षेत्र के थाना कपूरपुर में शनिवार को गांव सपनावत में मामूली झगडे के चलते बड़े भाई ने सगे छोटे भाई पर लाइसेंस पिस्टल से गोली चला दी। जिसमें छोटा भाई के पेट व पैर में गोली लगने से घायल हो गया। आनन-फानन में मौके पर पहुँची पुलिस ने घायल को हापुड़ के गढ़ रोड स्थित देवनंदनी अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।जानकारी के अनुसार बीते वर्ष 2019 में धौलाना थाना क्षेत्र के गांव करनपुर जट्ट के राकेश शर्मा की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश आशु जाट का नाम सामने आया था। बताया गया था कि यह हत्याकांड आशु जाट ने अपनी गैंग के गुर्गों से कराया था।
इस हत्याकांड में राकेश शर्मा की हत्या में गांव सपनावत के जुगल किशोर शर्मा मुख्य गवाह बने थे। जिसके बाद न्यायालय के आदेश के बाद उनकी सुरक्षा के लिए शासन ने उन्हें एक लाइसेंसी पिस्टल और एक सुरक्षा गार्ड उपलध कराया हुआ था। आज यानी शनिवार कि सुबह जब जुगल किशोर की पड़ोस में रहने वाले अपने भाई सोनू से बिजली के तार लटकने को लेकर मामूली कहासुनी हो गई। तो इस दौरान बात इतनी बढ़ गई कि जुगल किशोर ने अपने छोटे भाई सोनू पर लाइसेंस पिस्टल से गोली चला दी। एक गोली सोनू के पेट व दूसरी उसके पैर में लगी। इस कारण वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गया। घटना के बाद से ही आरोपी मौके से फरार हो गया। अपर पुलिस अधीक्षक राजकुमार अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि घायल को देवनंदनी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस टीम बनाकर फरार आरोपी की तलाश की जा रही है।

राममंदिर मुहूर्त: 1000 स्पेशल रेल चलाएगा रेलवे

राममंदिर: 1000 स्पेशल रेल चलाएगा रेलवे
दीपक राणा 
नई दिल्ली। अगले साल यानी 22 जनवरी 2024 को अयोध्या में राममंदिर का उद्घाटन होना है। जिसको लेकर देश भर से लाखों रामभक्त अयोध्या पहुंचेंगे। इन राम भक्तों को अयोध्या पहुंचने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए रेलवे ने खास तैयारी की है। 
इस दिन को अधिक भव्य बनाने के लिए भारतीय रेलवे भक्तों के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से 1,000 से अधिक विशेष ट्रेनें चलाने जा रही है। इन ट्रेनों का संचालन 19 जनवरी से शुरू होगा और भव्य उद्घाटन के अगले 100 दिनों तक चलेगा ताकि अधिक से अधिक श्रद्धालुओं को पवित्र शहर की यात्रा करवाई जा सके। ये विशेष ट्रेनें तीर्थयात्रियों के लिए दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, पुणे, कोलकाता, नागपुर, लखनऊ और जम्मू सहित प्रमुख शहरों से अयोध्या तक चलेंगी।
स्टेशन पर बढ़ाई जाएगी यात्रियों की क्षमता
रेल मंत्रालय ने बताया कि अयोध्या रेलवे स्टेशन के रिडेवलपमेंट का काम दो चरणों में किया जा रहा है। 240 करोड़ रुपये की लागत के पहले चरण का काम इस साल 31 दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। इसमें स्टेशन की मौजूदा 5 हजार यात्रियों की क्षमता को बढ़ाकर एक लाख यात्री तक किया जा रहा है।
रेल अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल स्टेशन 3 प्लैटफॉर्म का है, लेकिन 422 करोड़ रुपये के दूसरे चरण में निर्माण में इसे बढ़ाकर 6 प्लैटफॉर्म का किया जाएगा। ताकि यहां से अधिक से अधिक ट्रेनों का संचालन संभव हो सके। ग्राउंड फ्लोर के अलावा स्टेशन की दो और मंजिल बनाई गई हैं।
इस बीच, भारतीय रेलवे खानपान व पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) इस अवधि के दौरान बड़ी संख्या में अयोध्या आने वाले तीर्थयात्रियों की जरूरतों को पूरा करने के लिए चौबीसों घंटे खानपान सेवाएं प्रदान करने की तैयारी कर रहा है। मांग को पूरा करने के लिए कई खाद्य स्टाल स्थापित किए जाएंगे। भगवान राम की जन्मभूमि की यात्रा करने के अलावा, तीर्थयात्रियों को अब पवित्र सरयू नदी पर इलेक्ट्रिक कैटामारन (यॉट) पर सवारी का आनंद लेने का अवसर भी मिलेगा।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-57, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. रविवार, दिसंबर 17, 2023

3. शक-1945, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:36, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 21+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा अखिलेश पांडेय  ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस...