मंगलवार, 10 सितंबर 2019

गलती से अकाउंट में आए पैसे, की मौज

दिल्ली। अगर किसी के अकाउंट में गलती से पैसे आ जाएं तो आदमी क्या क्या कर सकता है। इसका एक उदाहरण अमेरिका में देखने को मिला।


दरअसल यहां एक कपल के बैंक अकाउंट में गलती से करीब 1 लाख 20 हजार डॉलर यानी करीब 72 लाख रुपये आ गए। अकाउंट में इतने पैसे आने पर इस कपल ने जीभरकर पैसे उड़ाए और इतनी शाहखर्ची की कि मौज मस्ती में सारे पैसे फूंक डाले। अमेरिका के पेनन्सिलवानिया के कपल रॉबर्ट विलियम्स और टिफनी विलियम्स के खिलाफ अब पुलिस ने धोखाधड़ी, अवैध तरीके पैसे खर्च करने का मामला दर्ज कर गिरफ्तारी करने की तैयारी कर रही है।


कार्यपालिका,विधायिका की समझ नहीं

कृष्ण मोहन कुमार


अम्बिकापुर। प्रदेश से एकमात्र मोदी सरकार में मंत्री रेणुका सिह ने अब कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिह ने कांग्रेस आलाकमान पर तंज कसते हुए कहा है कि उन्होंने आदिवासी बाहुल्य इस प्रदेश को टी 20 मैच का ग्राउंड समझ लिया है और ढाई साल की पारी के बाद मुख्यमंत्री बदलने की घोषणा की है। वही केंद्रीय राज्य मंत्री ने प्रदेश के एक मंत्री पर भी निशाना साधा है। दरअसल सरगुजा लोकसभा क्षेत्र से सांसद व मोदी सरकार में केंद्रीय अनुसूचित जाति, जनजातीय मामलों की राज्य मंत्री रेणुका सिह ने कांग्रेस आलाकमान के उस फैसले पर अपनी टिप्पणी दी है कि कांग्रेस छत्तीसगढ़ को क्रिकेट मैच का पिच समझ रही है। यही वजह है कि कांग्रेस पूर्ण बहुमत पाने के बाद अब प्रदेश में टी 20 का मैच खेल रही है। ढाई साल भूपेश बघेल और ढाई साल टीएस सिंहदेव और कांग्रेस की इस राजनीति में प्रदेश की जनता पीस रही है। विकास तो ठप्प ही है। वही केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिह ने कवासी लखमा के उस पॉलिटिकल सीख पर भी कहा कि कांग्रेस की राजनीति की बुनियाद वही है।एक ऐसे अनपढ़ को मंत्री बनाया जिसे कार्यपालिका और विधायिका तक समझ मे नही आती हैं।बता दे कि रेणुका सिह इन दिनों छत्तीसगढ़ प्रवास पर है।उन्होंने दंतेवाड़ा सीट पर हो रहे उपचुनाव में भी चुनाव भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार किया है।


जेटली की श्रद्धांजलि सभा में बोले मोदी

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की श्रद्धांजली सभा से पीएम मोदी के द्वारा सभा को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा- अरुण जेटली मेरे घनिष्ठ मित्र थे। उनके अंतिम दर्शन मैं नहीं कर पाया, इसका बोझ मुझ पर हमेशा बना रहेगा। जेटली सर्वमित्र थे, सर्वप्रिय थे। वह अपनी प्रतिभा, पुरुषार्थ और प्रभाव के कारण जिसके लिए उपयोगी हो सकते थे, वे हमेशा उपयोगी होते थे। उनका व्यक्तित्व और निजी जीवन जन समर्पित एवं राष्ट्र समर्पित रहा है। ऐसे ओजस्वी व्यक्ति को ऐसे, ओजस्वी मित्र को खो देना एक अभूतपूर्व घटना है। जिसका मैं शब्दों में वर्णन नहीं कर पा सकता हूँ। वह डायबिटीज से लेकर कई समस्याओं से जूझते रहे। आखिरी समय तक उनसे पूछने पर भी वह ना अपनी बात बताते थे, ना ही स्वास्थ्य के बारे में बात करते थे। वह हमेशा देश के लिए बात करते थे। उनका मन देश के लिए रम गया।


आयकर की रडार पर है कई प्रत्याशी

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनाव में आयकर विभाग की रडार पर चुनाव में ज्यादा पैसा खर्च करने वाले प्रत्याशियों पर है | इसके लिए आयकर विभाग ने अपनी तैयारियों को पूरा कर लिया है, राज्य में वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में संपत्ति का विवरण देने में गड़बड़ी करने वाले करीब 60 उम्मीदवारों को आयकर विभाग के इन्वेस्टिगेशन विंग ने सूचीबद्ध कर नोटिस भेजा है और उन्हें संपत्ति का सही विवरण देने के लिए कहा है। नोटिस उन्हीं उम्मीदवारों को भेजा गया है, जिनके शपथपत्र में संपत्ति का विवरण कुछ और है तथा विवरणी में संपत्ति की जानकारी कुछ और है। आईटी के इन्वेस्टिगेशन विंग ने जिन्हें नोटिस भेजा है, उसमें चुनाव जीतने वाले करोड़पति प्रत्याशियों के साथ ही पराजित और निर्दलीय प्रत्याशियों के नाम शामिल हैं।


मिडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत निर्वाचन आयोग ने आयकर विभाग को विधानसभा चुनाव में अपनी पैनी नजर गड़ाए रखने के निर्देश दिया गया था, आयकर विभाग उन सभी ट्रांजेक्शन पर अपनी कड़ी नजर रखा था, जो ज्यादा लेनदेन बैंकों से हो रहे हैं, इसके साथ ही साथ उन सभी प्रत्याशियों का डाटा आयकर विभाग के पास रहेगा जो चुनावी मैदान में अपनी विधानसभा में कितना रुपया खर्च कर रहे हैं | प्रदेश के सभी जिलों में अपने एक्सपर्ट अधिकारियों बैठा दिया गया था। संदेह के दायरे में आने की वजह से आयकर विभाग ने प्रत्याशियों को चल-अचल संपत्ति, जमा किए जाने वाले टैक्स, आय के स्रोत और पैन कार्ड नंबर की जानकारी मांगी है। जो चुनाव में ज्यादा रुपए खर्च किये हैं, उनके रिटर्न फाइल पर भी नजर रहे हुए है | इसमें जाना जाएगा कि कहीं प्रत्याशी द्वारा रिटर्न ज्यादा तो फाइल नहीं की जा रहा है, आयकर अफसर के मुताबिक, विभाग विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है और प्रदेश के सभी जिलों में प्रशासनिक अमला पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है।


कृपया यात्रीगण ध्यान दें, 14 ट्रेन रद्द

ट्रेन यात्री सावधान!..रायगढ़-बिलासपुर मेमू 11 से 27 सितंबर तक रहेगी रद्द, 14 एक्सप्रेस ट्रेनें भी प्रभावित


रायगढ़। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर रेल मंडल में चांपा-रायगढ़ रेल खंड पर स्थित भूपदेवपुर-रॉबर्टसन रेलवे स्टेशनों के मध्य नवनिर्मित तीसरी रेललाइन पर नॉन इंटरलॉकिंग काम की वजह से 11 से 27 सितंबर तक बिलासपुर-रायगढ़-बिलासपुर मेमू 17 दिन व अन्य 14 एक्सप्रेस ट्रेनें अलग-अलग दिनों में रद्द रहेंगी। नॉन इंटरलॉकिंग के तहत तीसरी नई लाइन को दूसरी लाइन से जोड़ा जा रहा है।


यह ट्रेनें होंगी प्रभावित


बिलासपुर-रायगढ़ मेमू 68738 बिलासपुर से 11 से 27 सितंबर तक 17 दिन।
रायगढ़-बिलासपुर मेमू 68737 रायगढ़ से 11 से 27 सितंबर तक 17 दिन।
बिलासपुर-गेवरारोड मेमू 68734 बिलासपुर से 16 से 27 सितंबर तक 12 दिन।
गेवरारोड -बिलासपुर मेमू 68733 गेवरारोड से 16 से 27 सितंबर तक 12 दिन।
संबलपुर-रायगढ़ स्पेशल 02409 संबलपुर से 25 से 28 सितंबर तक 04 दिन।
रायगढ-संबलपुर स्पेशल 02410 रायगढ़ से 24 से 27 सितंबर तक 04 दिन।
पुणे- हटिया एक्सप्रेस 22845 पुणे से 15 व 18 सितंबर को 02 दिन।
हटिया-पुणे एक्सप्रेस 22846 हटिया से 16 व 20 सितंबर 02 दिन।
इंदौर-पुरी एक्सप्रेस 19317 इंदौर से 17 सितंबर को 01 दिन।
पुरी-इंदौर एक्सप्रेस 19318 पुरी से 17 सितंबर को 01 दिन रद्द रहेगी।


भागवत की सेवा से गदगद हुआ समाज

संघ प्रमुख मोहन भागवत का अभिनंदन कर गदगद है माहेश्वरी समाज। 
पुष्कर के विकास के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को ज्ञापन। 
पुष्कर स्थित माहेश्वरी सेवा सदन में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत का माहेश्वरी समाज की ओर से अभिनंदन किया गया। पुष्कर के इसी सेवा सदन में संघ की अखिल भारतीय समन्वय बैठक भी सम्पन्न हुई। हालांकि बैठक 7 से 9 सितम्बर के  बीच हुई, लेकिन संघ प्रमुख 4 सितम्बर को ही पुष्कर आ गए। चूंकि भागवत भी सेवा सदन में रुके, इसलिए माहेश्वरी समाज को सात दिनों तक भागवत की मेहमाननवाजी करने का अवसर मिला। बैठक में भाग लेने वाले 200 पदाधिकारी और संघ के सैकड़ों कार्यकर्ताओं का जमावड़ा भी सेवा सदन में रहा। हालांकि भागवत की सुरक्षा एवं अन्य सुविधाओं का दायित्व स्वयं सेवकों पर ही था, लेकिन माहेश्वरी समाज ने भी अपने सेवा सदन में सुविधाएं उपलब्ध करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। समाज में धनाढ्य माने जाने वाले माहेश्वरी समाज के प्रतिनिधि संघ प्रमुख की सादगी से प्रभावित हुए। समाज के प्रतिनिधियों ने भागवत के लिए शानदार डायनिंग टेबल को हटवा दिया और रसोई घर के निकट ही सामान्य स्वयं सेवक की तरह भोजन ग्रहण किया। समाज के प्रतिनिधियों को लगा ही नहीं कि भागवत इतने बड़े और ताकतवर संगठन के मुखिया है। 9 सितम्बर  की रात को भी अभिनंदन समारोह में माहेश्वरी समाज मोती, फूल आदि की बड़ी बड़ी मालाएं, शॉल आदि पहनाना चाहाता था। ऐसी सामग्री लाई भी गई, लेकिन स्वयं सेवकों ने साफ कर दिया भागवत इस तरह अभिनंदन नहीं करवाएंगे। सिर्फ एक प्रतिनिधि श्रीफल भेंट कर सकता है। यही वजह रही कि अखिल भारतीय माहेश्वरी सेवा सदन के राष्ट्रीय अध्यक्ष जुगल किशोर बिड़ला ने भागवत को श्रीफल भेंट किया। बिड़ला ने सेवा सदन की जानकारी देते हुए बताया कि देश के प्रमुख तीर्थ स्थलों पर ऐसे सेवा सदन बने हुए हैं, जिनमें एक साथ हजारों लोग ठहर सकते हैं। अभिनंदन समारोह का संचालन करते हुए सेवा सदन के कार्यालय मंत्री और संघ के एकल विद्यालय के जिला संयोजक सुभाष काबरा ने कहा कि संघ प्रमुख का अभिनंदन कर माहेश्वरी समाज स्वयं को गौरवांवित समझ रहा है। आज समाज में संघ की महत्वपूर्ण भूमिका है। संघ की वजह से इस मौके पर भागवत ने कहा कि समाज के जरूरतमंद व्यक्ति को ऊपर उठाने की जरूरत है। समाज में जब समानता होगी तभी राष्ट्र मजबूत बनेगा। भागवत ने भी माहेश्वरी समाज का आभार जताया। समारोह में सेवा सदन के महामंत्री रमेश चन्द्र छापरवाल, कमल मूंदड़ा, रमेश राठी, जयकिशन बल्दुआ, केके सोनी आदि भी उपस्थित रहे। 
पुष्कर विकास पर नड्डा को ज्ञापन:
संघ की समन्वय बैठक में भाग लेने आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को माहेश्वरी समाज की ओर से पुष्कर विकास के लिए एक ज्ञापन दिया गया। अध्यक्ष जुगल किशोर बिड़ला, महामंत्री रमेशचंद छापरवाल और कार्यालय मंत्री सुभाष काबरा की ओर से दिए गए ज्ञापन में नड्डा से आग्रह किया गया कि पुष्कर तीर्थ के धार्मिक और अंतर्राष्ट्रीय महत्व को ध्यान में रखते हुए विकास की बड़ी योजना बनवाई जाए। पूर्व में पुष्कर बाईपास के पास 200 फुट एनएच रोड 89 के लिए भूमि अधिग्रहण हेतु 86 लाख रुपए केन्द्र सरकार ने स्वीकृत किए थे, लेकिन यह राशि  अभी तक भी नहीं मिली है। अजमेर पुष्कर के मार्ग को फोरलेन करवाने की महत्ती आवश्यकता है। पुष्कर शहर की बढ़ती आबादी और आने वाले तीर्थ यात्रियों की संख्या को देखते हुए चारों तरफ रिंग रोड का निर्माण भी किया जाए। ज्ञापन में मांग की गई कि एक हजार करोड़ रुपए का विशेष पैकेज पुष्कर विकास के लिए दिया जाए। अजमेर पुष्कर रेल लाइन को मेड़ता तक बढ़ाया जाए। पुष्कर विकास के संबंध में और अधिक जानकारी मोबाइल नम्बर 9829071696 पर सुभाष काबरा से प्राप्त की जा सकती है। नड्डा ने समाज के लोगों को भरोसा दिलाया है कि पुष्कर विकास के लिए केन्द्र सरकार उचित कार्यवाही करेगी। 
एस.पी.मित्तल


ट्रंप का बयान कूटनीति का हिस्सा

पाकिस्तान को काबू में रखने के लिए डोनाल्ड ट्रंप दे रहे मध्यस्थता का बयान। 
यह भारत की कूटनीति भी हो सकती है।
न्यूयॉर्क। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का एक बार फिर कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता करने का बयान सामने आया है। ट्रंप ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान चाहेंगे तो वे कश्मीर पर मध्यस्थता करने को तैयार हैं। ट्रंप ने यह कथन तब दोहराया है जब पिछले दिनों ट्रंप की मौजूदगी में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि कश्मीर पर हम किसी तीसरे देश को कष्ट नहीं देना चाहते हैं। हमारा आपसी विवाद हम दोनों देश सुलझा लेंगे। असल में यह पहला अवसर नहीं है, जब ट्रंप ने मध्यस्थता की बात कही है। ट्रंप पहले भी ऐसे प्रस्ताव रख चुके हैं। 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधान हटाने के बाद भी ट्रंप ने ऐसा प्र्रस्ताव किया था। इससे पहले भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अमरीका दौरे के वक्त भी ट्रंप ने मध्यस्थता की बात की थी। तब तो ट्रंप ने यहां तक कह दिया कि भारत के पीएम ने मध्यस्थता का आग्रह किया है। सब जानते हैं कि जम्मू कश्मीर से 370 के प्रावधान हटाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पिछले 33 दिनों में पांच बार परमाणु हमले की धमकी दे चुका है। पाकिस्तान सरकार ने ऐसा माहौल बनाया कि भारत पर किसी भी वक्त हमला किया जा सकता है। इमरान खान अपने पाकिस्तान की ओर से सेनाध्यक्ष कमर जावेद बाजवा अपने सैनिकों की स्थिति को अच्छी तरह समझते हैं, इसलिए ये दोनों तो हमला नहीं करेंगे, लेकिन पाकिस्तान में जो चरमपंथी बैठे हैं वे कुछ भी कर सकते हैं। 10 सितम्बर को विभिन्न आतंकी संगठनों की बैठक पाकिस्तान में हुई। इस बैठक में भारत के खिलाफ रणनीति बनाई गई। ऐसे माहौल में पाकिस्तान को काबू में रखना जरूरी है। ट्रंप जैसे नेताओं के बयानों से पाकिस्तान को काबू में रखा जा सकता है। पाकिस्तान जैसे देश को खुला और अकेला छोडऩा भी खतरनाक है। माना कि युद्ध होने पर पाकिस्तान को नुकसान होगा, लेकिन पाकिस्तान की नादानी की वजह से भारत को बड़ा नुकसान हो सकता है। अब युद्ध सीमा पर जवान नहीं लड़ेंगे, बल्कि मिसाइल से युद्ध होगा। भारत को जम्मू कश्मीर में जो करना था वो कर दिया, अब पहली प्राथमिकता पाकिस्तान को काबू में रखने की है। भारत की कूटनीति का ही परिणाम है कि कश्मीर पर पाकिस्तान को एक भी मुस्लिम देश का समर्थन नहीं मिला है। इससे भी पाकिस्तान निराश और हताश है। ट्रंप का ताजा बयान भी भारत की कूटनीति का हिस्सा हो सकता है। 
एस.पी.मित्तल


अवैध घुसपैठ को कानूनी ढंग से निपटायगें

नई दिल्ली। केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एनआरसी का विरोध करने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा। उन्होंने मंगलवार को कहा कि केन्द्र में भाजपा नेतृत्व वाली सरकार देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। अवैध घुसपैठ को कानून के अनुसार निपटा जाएगा।


केन्द्रीय मंत्री ने एनआरसी पर कहा कि कोई भी भारतीय नहीं छूटेगा, हम देश के नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। एनआरसी का विरोध करने को लेकर ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि यह अवैध घुसपैठ पर उनके रुख के विरोधाभास को दर्शाता है। मुख्यमंत्री द्वारा केन्द्र सरकार की योजनाओं का विरोध करना जग-जाहिर है।


ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी का आक्रामक रवैया राज्य के लोगों को केन्द्र सरकार द्वारा मुहैया कराए जाने वाले लाभों से वंचित रख रहा है, जो कि किसानों, महिलाओं और बच्चों को मिल सकते थे। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा उद्योगों की स्थापना रोक दी गई है… पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के नतीजे दिखाते हैं कि लोगों को राज्य में बदलाव चाहिए।


बम सहित पांच नक्सलवादी किए गिरफ्तार

बीजापुर। बीजापुर जिले के बासागुड़ा इलाके से सीआरपीएफ 168 और कोबरा 204 बटालियन ने पांच फरार वारंटी नक्सलियों को पकडऩे में सफलता हासिल की है। गिरफ्तार नक्सलियों के कब्जे से प्रेशर कुकर, वायर व अन्य सामान बरामद किए गए हैं। 
बस्तर आईजी विवेकानंद सिंहा ने बताया कि पकड़ाए नक्सलियों में जनताना सरकार अध्यक्ष पेगड़ापल्ली के पूनेम बुधराम, मिलिशिया सदस्य राकेश पोटाम, ओयाम सन्नू, ताती सोना और माड़वी बसंत शामिल हैं। 
उन्होंने बताया कि पकड़ाए नक्सली लम्बे समय से एरिया कमेटी में जुड़कर कार्य कर रहे थे। उक्त नक्सली मुख्य रूप से संतरी ड्यूटी, सड़क खोदने, ग्रामवासियों को नक्सलियों की मीटिंग में बुलाने एवं रेकी करने का कार्य करते थे। गिरफ्तार सदस्य नक्सली संगठन में ग्रामीणों को जोड़कर रखने, नक्सलियों के लिए भोजन व्यवस्था करने, गांव के युवक-युवतियों को संगठन में जोडऩे, लीडरों के इशारे पर बम लगाकर पुलिस को क्षति पहुंचाने, गांव-गांव में केम्प लगाकर वर्दी सिलाई करने, ग्रामीणों को नक्सली मीटिंग में बुलाने के अलावा नक्सलियों को दवाइयां व अन्य दैनिक सामान उपलब्ध कराने का काम करते थे।


देशवासियों की आजीविका पर लटकी तलवार

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था में सुस्ती और वाहनों की बिक्री में गिरावट को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि आखिर सरकार मंदी पर अपनी आंखें कब खोलेगी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अर्थव्यवस्था मंदी की गहरी खाई में गिरती ही जा रही है। लाखों हिंदुस्तानियों की आजीविका पर तलवार लटक रही है।अर्थव्यवस्था मंदी की गहरी खाई में गिरती ही जा रही है। लाखों हिंदुस्तानियों की आजीविका पर तलवार लटक रही हैं। प्रियंका ने कहा कि ऑटो सेक्टर और ट्रक सेक्टर में गिरावट 'प्रोडक्शन-ट्रांसपोर्टेशन' में नकारात्मक विकास और बाजार के टूटते भरोसे की निशानी है। उन्होंने सवाल किया कि सरकार कब अपनी आंखें खोलेगी ? क्या देशवासी इस लचर अर्थ अर्थव्यवस्था में अपने व्यापार और अपने संबंधों को सुरक्षित रख पाएंगे। आखिर सरकार जनता से क्या चाहती है। जनता को इस प्रकार से प्रताड़ित करने का क्या उद्देश्य है। देश की जनता आपकी अपनी जनता है। उसके बावजूद आप जनता के कष्ट और पीड़ा को समझने का प्रयास क्यों नहीं कर रहे हैं।


मोहर्रम पर दुल्ले का जुलूस निकाला

मोहर्रम पर दुलले का जुलूस निकाला गया*                        वाराणसी। भेलुपूर थाना अंतर्गत रेवाड़ी तालाब चौकी स्थित जुम्मा शाह ग्यानी बाबा के आस्थाने से दुलले का जुलूस निकाला गया। जमील अहमद के पुत्र सोनू को कमेटी द्वारा दुलला बनाया गया। दुलले का जुलूस अपने परम्परागत मार्ग रेवाड़ी तालाब, अशफाक नगर से होता हुआ अंसार नगर पार्क से होते हुए मालती बाग अल्लू की मस्जिद मलंग शाह बाबा पर सलामी देते हुए मदनपुरा रोड से पाण्डेय हवेली इमाम चौक पर दर्शन देते हुए गोलचबूतरा ताड़ तल्ला देवनाथपुरा ताजिया को सलामी देते हुए पंच फोड़वा सदानंद बाज़ार से होते हुए जुम्मा शाह बाबा के मज़ार पर देर रात्रि ठंडा होने के बाद सम्पन्न हुआ। दुलले के जुलूस मे भारी संख्या मे लोगो ने सारे रास्ते पर एक ही आवाज बुलंद की या हुसैन या हुसैन या हुसैन ।दुलले के जुलूस मे मुख्य अतिथि जनाब हाजी डॉक्टर महफूज आलम साहब व हज़रत कपूर शहीद बाबा के खादिम राशिद जमाल साहब, कर्मठ नेता लाले व आदि लोग उपस्थित थे। दुलला कमेटी सदस्य हिलालुददीन शाह ,शकील अहमद ,अंसार आलम उर्फ (पप्पू ) व अन्य मेम्बरान मौजूद थे। वाराणसी मे दुलले के जुलूस मे अनेक थाने के प्रभारी व भारी संख्या मे पुलिस बल के साथ सक्रिय भूमिका निभाई। मुख्य रूप से दशाशवमेध थाना प्रभारी सिध्दार्थ मिश्रा व अन्य संगठन द्वारा आठ तारीख को रेवाड़ी तालाब का एतिहासिक दूलले का जुलूस शान्ति पूर्वक सम्पन्न हुआ। शासन प्रशासन पूरी तरह सक्रिय भूमिका अदा की।


संवाददाता वसीम रेयाज़


'मिर्ची गैंग' ने की थी भाजपा नेता की हत्या

हापुड। धौलाना पुलिस को मिली सफलता बीजेपी नेता की हत्या का खुलासा 24 घंटो के अंदर हत्यारोपियों को पुलिस ने किया गिरफ़्तार किया।मिर्ची गैंग के बदमाशो ने की थी राकेश शर्मा की हत्या। धौलाना पुलिस ने 4 आरोपियों को किया गिरफ़्तार आरोपियों ने 4 माह पूर्व भी बीजेपी के पन्ना प्रमुख चंद्रपाल की हत्या की थी। बीजेपी के दोनों नेताओं की हत्या का हुआ खुलासा। रुपयों के लेनदेन में की थी चंद्रपाल की हत्या। राकेश शर्मा को पैरवी करने पर उतारा था मौत के घाट। पिस्टल तमंचे कारतूस बरामद। धौलाना पुलिस ने किया खुलासा।


इटावा में उन्नाव गैंगरेप की पुनरावृति

रिपोर्ट-प्रेमकुमारशाक्य


इटावा। आज शाम सैफई के लोक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव जनता की समस्याएं सुन रहे थे। उसी समय ऊसराहार की एक युवती अपने माता-पिता के साथ शिवपाल सिंह से मिलने आई उसने बताया कि शौच के लिए जाते समय 2 युवकों ने उसे पकड़ लिया और नशीला पदार्थ सुंघा दिया और उसे अगवा करके दिल्ली ले गए। जहां उसे 2 दिन बाद होश आया तो देखा कि एक कमरे में थी। जहां मेरे साथ चार लोगों ने बलात्कार किया। लेकिन पुलिस ने अभी तक एक भी आरोपी को गिरफ्तार नही किया और ना ही मेरी रिपोर्ट लिखी गई। पीड़िता ने कहा कि पुलिस उल्टा मुझे व मेरे पिता को धमका रही है इस मामले में जब युवती के पिता से बात की तो उसने बताया थाने के दरोगा संजय सिंह ने मदद करने के नाम पर 25000 ले लिए हैं और अभी तक रिपोर्ट भी नहीं लिखी।


पीड़िता ने बताया कि थानाध्यक्ष उसराहार मेरी रिपोर्ट लिखने के बजाय मुझे धमका रहे हैं कि अगर ज्यादा नेतागिरी करोगे तो फर्जी मुकदमे में जेल भेज दूंगा। विधायक शिवपाल सिंह यादव ने रेप पीड़िता को आश्वासन दिया हर तरीके से आपके साथ हैं। अगर 24 घंटे में एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो इस मामले में उच्चाधिकारियों से कार्रवाई कराएंगे।


एक साल में 721 बच्चे लापता, अपहरण

सतना। सतना ज़िले में साल में 721 बच्चे लापता, अपहरण और हत्या से दहला हुआ है ज़िला कानून व्यवस्था पर ग्रहण लग गया है। लगातार अपराध पर अपराध हो रहे।अपराध भी ऐसे जो पूरे समाज और मानवता को झकझोर कर रख देते है। सबसे ज्यादा चिंताजनक स्थिति मासूमों की है। अपराधी नाबालिगों को निशाना बना रहे हैं। अपहरण फिरौती और कत्ल जैसे गंभीर अपराध का ग्राफ बढ़ गया है। अपहरण का तो जैसे उद्योग चल रहा है। सबसे नया मामला हरसेड गांव का है। जहां सात लाख के इनामी बदमाश बबली कोल गिरोह ने किसान अवधेश समदड़िया का अपहरण कर 50 लाख की फिरौती मांगी है। तीन दिन बाद भी किसान का पता नहीं चल पाया है।


हाथी और हाथ, कितना चलेगा साथ

हाथी और हाथ, कितना निभेगा साथ
चंडीगढ़। हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी हलचल अब तेज हो गई हैं। मुख़्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश के सभी 90 हलकों में जन आशीर्वाद यात्रा निकाल चुके हैं l पन्ना प्रमुखों के नाम पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रोहतक में एक राजनैतिक रैली कर चुके है इस से पूर्व amit शाह भी हरियाणा में अपना कार्यक्रम कर चुके हैं l भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह जहां प्रदेश के नेताओं के साथ विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने में जुट गए हैं, तो वहीं कांग्रेस ने भी राज्य की सत्ता में वापसी के लिए कोशिशें शुरू कर दी हैं। इस बीच सूत्रों के हवाले से सबसे बड़ी खबर ये आ रही है कि हरियाणा के विधानसभा चुनाव में भाजपा से मुकाबले के लिए कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी साथ मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं। हरियाणा में विधानसभा की 90 सीटें और इस साल के अंत में प्रदेश के विधानसभा चुनाव होने हैं। फिलहाल हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है।


कुकर की सीटी आंख-सिर के बीच फंसी

रांची। खाना बनाने के दौरान एक महिला के साथ ऐसी घटना हुई, जिसमें उसकी जान पर बन आई। हालात ऐसे हो गए उस महिला को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। हुआ यूं कि महिला प्रेशर कूकर में कुछ बना रही थी, काफी देर तक सीटी नहीं होने पर महिला कूकर चेक करने के लिए गई। उसने जैसे ही कूकर की सीटी को छुआ, वह उछलकर महिला की बाईं आंख और सिर के बीच वाले हिस्से में जा घुसी। कूकर की सीटी फंसने से गंभीर रूप से घायल महिला को तुरंत ही अस्पताल लेकर जाया गया, जहां डॉक्टरों ने इतने गंभीर मामले में जांच की और फिर तुरंत ही ऑपरेशन शुरू कर दिया। जानिए, फिर क्या हुआ।


कूकर में दाल बना रही थी महिला


पूरा मामला खूंटी जिले के मुरहू इलाके की है। बताया जा रहा कि 57 वर्षीय बिरसी मुंडा अपने घर में प्रेशर कुकर में दाल बना रही थी। काफी देर होने के बाद भी कूकर की सीटी नहीं होने पर बिरसी मुंडा उसे देखने के लिए गई। सीटी को हल्का ऊपर उठाते ही ये उछलकर महिला की बायीं आंख के ऊपर वाले हिस्से में जा घुसी। परिजन तुरंत ही महिला को स्थानीय अस्पताल में ले गए। जहां डॉक्टरों ने महिला के जांच शुरू की। जांच में पता चला कि कूकर की सीटी महिला की आंख और सिर के बीच वाले हिस्से में फंसी हुई थी।


आंख और सिर के बीच वाले हिस्से में फंसी कूकर की सीटी


आंख और सिर के बीच वाले हिस्से में कुकर की सीटी फंसने का पता चलते ही, डॉक्टरों ने उसका सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया। ऑपरेशन के बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि महिला के आंखों और सिर की हड्डी के बीच फंसी प्रेशर कुकर की सीटी को निकाल लिया गया है। डॉक्टरों ने बताया कि ये बेहद मेजर ऑपरेशन था। जिसमें महिला की बाईं आंख पूरी तरह से खराब हो गई है।


जा सकती थी महिला की जान, डॉक्टरों ने ऐसे किया 'चमत्कार'


अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि ये मामला बेहद जटिल इसलिए था क्योंकि अगर कूकर की सीटी ऑपरेशन करके नहीं निकाली जाती तो इससे इंफेक्शन हो सकता था। उन्होंने बताया कि सीटी ऐसी जगह फंसी थी जो कि दिमाग के बेहद नजदीक ही था। ऐसे में महिला को कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता था। अगर ऑपरेशन करने में देरी होती तो महिला की जान भी जा सकती थी। फिलहाल महिला की स्थिति अभी ठीक है।


नेग से नाराज किन्नरों ने पीटकर मार डाला

सूरत। किसी के घर बच्चा जन्म लेता है या शादी जैसा कोई शुभ अवसर होता है तो किन्नर अपना नेग लेने पहुंच जाते हैं। वहीं कई बार ऐसा मामला भी सामने आता है कि जब उन्हें उनके इच्छानुसार पैसे या नेग नहीं मिलता तो किन्नर गुंडागर्दी पर भी उतारू हो जाते हैं। एक ऐसा मामला गुजरात के सूरत से सामने आया है। जहां बच्चे के जन्म लेने पर किन्नरों को मनचाहा नेग नहीं मिला तो , उन्होंने नवजात बच्चे के पिता को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। इसके बाद नवजात बच्चे के पिता को फ़ौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।


दरअसल, सूरत के रहने वाले गहरीलाल खटिक के घर दो बेटियां हैं, हाल ही में उनके घर बेटे का जन्म हुआ। परिवार में बेटे के जन्म की खुशी को अभी चंद दिन ही बीते थे कि किन्नरों ने उसे गम में तब्दील कर दिया। सूरत शहर के गोड़ादरा इलाके में स्थित मानसरोवर सोसाइटी में किराए के घर में रह रहे गहरीलाल खटिक के घर में बेटे के जन्म की खुशी में तीन किन्नर नेग लेने पहुंचे थे। बताया जाता है किन्नरों ने गहरीलाल खटिक से 11 हजार रुपये की डिमांड की थी। लेकिन मजदूरी कर अपने परिवार का भरण-पोषण करने वाले गहरीलाल के घर में 11 हजार रुपये देने के लिए नहीं थे तो उन्होंने किन्नरों को 2100 रुपये देने की बात कही। इस बात पर किन्नर भड़क गए और उन्होंने उत्पात मचाना शुरू कर दिया। किन्नरों ने बेशर्मी की हद पार करते हुए अपने कपड़े उतार दिए।


इसके बाद घर में खुशी के माहौल को बरकरार रखने के लिए खटिक परिवार ने पड़ोसियों से सात हजार रुपये उधार लिए और किन्नरों के हाथ में थमा दिए। लेकिन फिर भी किन्नर नहीं मानें और उन्होंने नवजात के पिता को पीटना शुरू कर दिया। जब लोग बीच बचाव करने के लिए बीच में आए तो किन्नरों ने गहरीलाल के सिर को दीवार पर पटक दिया। जिससे उनके दिमाग की नसें फट गईं और उन्हें आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया। घटना के बाद किन्नर मौके से फरार हो गए। किन्नरों की गुंडागर्दी के बाद पीड़ित परजिनों ने इसकी शिकायत सूरत थाने में दर्ज कराई है। जिसके आधार पर पुलिस ने गुंडागर्दी करने वाले तीनों किन्नरों को खोजबीन कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।


अवैध सबमर्सिबल पर नहीं लग रहा अंकुश

लुधियाना। निगम से अवैध सबमर्सीबल लगने के काम पर अंकुश नहीं लग रहा है। साशन और प्रसाशन की मिलीभगत से लुधियाना की छाती में आऐ दिन छेद किऐ जा रहे हैं। कल भी जालंधर बाईपास पर सबमर्सीबल लग रहा था सुचना देने के बावजूद आज भी पूरा दिन मशीन वहीं खड़ी प्रसाशन का मुंह चिढ़ाती रही। लेकिन किसी ने जब्त करने की जहमत नहीं उठाई। आज भामियां की जैन रीयल इस्टेट में न्या अवैध सबमर्सीबल लग रहा था। मौके पर पहुंच इसकी सुचना जोन बी जोनल कमिश्नर के साथ ओ एंड एम एसडीयो कोलोकेशन भेजी गई। लेकिन मामला हदबंदी का कह टाल दिया गया। डिप्टी कमिश्नर और गलाडा कमिश्नर को बताया गया लेकिन कोई रिप्लाई नहीं मिला। निगम कमिश्नर और एस सी ने फोन ही उठाने की जहमत नहीं उठाई।


चैलेंज हमें दें कमान अगर एक भी सबमर्सीबल लगा तो जो सज़ा दोगे होगी मंजूर हमे


इस पर सोशल वर्कर रिंकू कुमार ने डिप्टी कमिश्नर निगम कमिश्नर और मेयर को चैलेंज कर कहा कि मात्र एक माह के लिऐ हमें चार्ज दो । अवैध सबमर्सीबल पर कैसे कार्रवाई होती है हम बताऐंगे। मात्र पंद्रह दिन के बाद एक भी बोरिंग मशीन ज़िला में नहीं रहेगी। इसके लिए ईमानदारी से काम करना होगा। रिंकू कुमार ने कहा इस खबर के जरीऐ ही चैलेंज किया जा रहा है अगर प्रसाशन ईमानदारी से इस अवैध काम को रोकना चाहता है तो संपर्क कर सकता है। हमारा मकसद शहर से गलत काम को जड़ से खत्म करना है। हमने चैलेंज कर पहल कर दी अब प्रसाशन ने देखना है कि इस चैलेंज को कबूल करता है या भ्रष्टाचार का ही साथ देना है। अगर हम एक महीने बाद अवैध सबमर्सीबल रोकने में कामयाब नहीं हो पाऐ तो जो सजा दोगे तह दिल से मंजूर होगी।


स्कूल बस ड्राइवर ने की बच्ची के साथ हरकत

लुधियाना। हंबडां रोड पर स्थित अंम्रित इंडो कैनेडियन ऐकेडमी के बस ड्राईवर ओर कंडक्टर द्वारा शर्मनाक हरकत की गई। मामला बीते शुक्रवार की है । एकेडमी की नर्सरी की स्टुडैंट रोजाना की तरह स्कूल से वापिस स्कूल बस में 12:15 की जगह 12:40 पर घर पहुंची। बच्ची की मां बस से उसे रिसीव करने पहुंची ।तो देखा बच्ची सो रही है ओर बस में अकेली है। ओर कोई बच्चा नहीं था। बच्ची पूरा दिन और रात भर सोती रही। मां ने कई बार फीवर चैक किया और दवा देती रही। इसी बीच अगले दिन सुबह बस ड्राईवर का फोन साढे छह बजे आया कि बच्ची स्कूल नहीं पहुंची। मां ने कहा कि आपको पता होना चाहिऐ आज शनीवार है इस दिन छुट्टी रहती है फिर आपने फोन क्युं किया। उसके कुछ देर बाद बच्ची नींद से जागी ओर वाशरूम जाने पर तोतली जुबान में कहा कि मुझे शु शु में ” हाई ” होती है। इस पर मां का माथा ठनका और उसी वक्त क्लास इंचार्ज हरदीप मैडम को फोन कर कहा कि मेरी बच्ची कल आधा घंटा लेट घर पहुंची है और मुझे बस की सीसीटीवी फुटेज चैक करनी है। थोड़ी देर बाद बताया गया कि प्रिंसीपल मैडम आपसे दस बजे मिलेंगीं आप स्कूल आ जाओ। बच्ची की मां आधा घंटा पहले ही पहुंच गई। लेकिन मिटिंग का बहाना बना तीन घंटे कोई नहीं मिला। उसके बाद मिटिंग कर सारी बात बताई तो प्रिंसीपल जसकिरत कौर ने मां को बाहर बैठा कर ड्राईवर सुरजीत सिंह से एक घंटा मीटिंग की। इसी दौरान क्लास इंचार्ज मां के पास बैठ उसे बातों में लगाऐ रही। उसके बाद प्रिंसीपल ने कहा कि हमारी सभी बसों की सीसीटीवी ठीक है लेकिन हादसे वाली बस नंबर दस का मैमरी कार्ड टूट चुका है। इस पर बच्ची की मां का शक यकीन में बदला ओर वह बच्ची को जगराओं सिवल हस्पताल चैकिंग के लिऐ ले गई लेकिन डा. आराधा ने मैडीकल करने से मना कर दिया फिर बच्ची को प्राईवेट डाक्टर को दिखाया तो डाक्टर ने कहा बच्ची से रेप की कोशिश की गई है। लेकिन कामयाबी ना मिलने पर छोड़ दिया गया है। कल इसकी शिकायत थाना मुल्लांपुर दाखा को दी गई । लेकिन बच्ची की मां के मुताबिक पुलिस खबर लिखे जाने तक बीच बचाव की कोशिश में लगी है। लेकिन मां अकैडमी पर मामला दर्ज कराने पर अडी हुई है। इसी दौरान बच्ची की मां ने एक वाईस मैसेज सोशल मीडीया पर डाल न्नही परी की ईज्जत से खिलवाड़ के दोशियों के खिलाफ पब्लिक से गुहार लगा मदद मांगी है कि न्नही बेटी के लिए उनका साथ दिया जाऐ। 


पवन ट्रांसपोर्ट मैनेजर


जब इस घटना के बारे में हमारे मीडिया कर्मी ने बात की तो उनसे पूछा की इस घटना की बस में लगे सीसीसीटीवी कैमरे फुटेज़ चैक की तो उन्होंने कहा कि हमें जनाब ने अंदर बुलाया है। ऐसे केह कर फोन काट दिया।


नगर-निगम का बड़ा घोटाला आया सामने

गुरुग्रा। हरियाणा में ज्यादा राजस्व देने वाले साइबर सिटी गुरुग्राम के नगर निगम में एक बड़ा घोटाला सामने आया है। गुरुग्राम नगर निगम में बीते दिनों हुई ऑडिट हुई थी जिसमें पाया गया की निगम में प्रति माह 2100 कर्मचारियों की सैलरी दी जाती हैं, लेकिन असल मे सिर्फ 1800 कर्मचारी ही निगम में काम करते हैं।


जांच में सामने आए आंकड़ों के मुताबकि 300 कर्मचारियों की फर्जी सैलरी हर महीने दी जा रही हैं। ऐसे में निगम को बड़ी चपत लगाई जा रही है। वही मामले को लेकर हरियाणा के कैबिनेट मंत्री राव नरबीर सिंह ने गुनाहगारों पर सख्त कारवाई करने की बात कही है। बता दें गुरुग्राम नगर निगम में आउटसोर्सिंग पर कर्मचारी रखे गए हैं, जिसमें आरोप है कि ठेकेदार और निगम अधिकारियों मिलीभगत कर करोड़ों की सैलरी का गबन कर रहे हैं। फिलहाल इस मामले की जांच की जा रही है। आपको बता दें कि गुरुग्राम नगर निगम में घटाले की ये कोई पहली खबर नहीं है। इससे पहले भी निगम में दर्जनों घोटाले की खबर आ चुकी है। अवैध विज्ञापन का मामला हो या बिल्डिंग प्लान बनाने की, हर क्षेत्र में घपला ही घपला नजर आता है। ऐसे में अब कर्मचारियों को लेकर एक अहम खुलासा हुआ है। हालांकि इस मामले की जांच की जा रही है, ऐसे में जांच के बाद ही पता चलेगा कि इस पूरे खेल में किस-किस अधिकारी की मिलीभगत है।


हरियाणा :युवा कर्मचारी होगें बर्खास्त

चंडीगढ़। कुछ महीने पहले ही हरियाणा सरकार ने ग्रुप-डी के 18,218 पदों की भर्ती पूरी की है। बिना पर्ची खर्ची का ढोल पीटते हुए सरकार ने खूब वाहवाही लूटी थीं। लेकिन अब इन्हीं 18218 पदों में से स्पोर्ट्स कोटे से पुरानी खेल पॉलिसी के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफिकेट के आधार पर नौकरी लगे युवाओं को बर्खास्त किया जाएगा। बर्खास्तगी की प्रक्रिया कुछ विभागों ने शुरू भी कर दी है। इससे उन युवाओं में हड़कंप मच गया है, जो पुरानी खेल पॉलिसी के अनुसार ग्रेडेशन सर्टिफकेट बनवाकर नौकरी लगे थे।


इस समय पशुपालन विभाग और पीडब्ल्यूडी में कई युवाओं को बाहर का रास्ता दिखाया जा चुका है। अन्य विभागों में भी ऐसे युवाओं से ग्रेडेशन सर्टिफिकेट की पुष्टि के लिए 31 अगस्त तक का समय दिया गया था, जो निकल चुका है। वहीं, 8 माह बाद नौकरी से हटाए जाने पर कई युवा हाईकोर्ट में चले गए हैं। हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की ओर से पिछले साल भर्ती प्रक्रिया शुरू कर जनवरी में जींद उपचुनाव से पहले ही इन पदों पर जॉइनिंग दी गई थी।


580 सर्टिफिकेट ही बने थे तो 1518 को जॉइनिंग क्यों


अब सवाल उठता है कि जब सरकार ने नई पॉलिसी लागू कर दी तो पुरानी पॉलिसी के अनुसार बने ग्रेडेशन सर्टिफिकेट वाले युवाओं को नौकरी क्यों दी गई। देखने वाली बात यह भी है कि नई पॉलिसी के अनुसार इस भर्ती तक केवल 580 ग्रेडेशन सर्टिफिकेट ही बने थे। ऐसे में जॉइनिंग के वक्त ही यह क्यों नहीं देखा गया कि जब 580 सर्टिफिकेट ही बने हैं तो 1518 की जॉइनिंग कैसे हो गई। क्या जींद उपचुनाव में मतदाताओं को लुभाने के लिए सबकुछ ताक पर रखकर जल्दबाजी में किया गया?


यूपी में योजनाओं को लग रहा पलीता

गोरखपुर। सरकार एक ओर जहां आम जनमानस के बेहतर स्वास्थ्य एवं शुखि जीवन ब्यतीत करने के लिए तरह-तरह की जन कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। जैसे 'स्वछ भारत स्वस्थ भारत' के तहत हर घर शौचालय, प्रधान मंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना आदि अनेकों प्रकार के ऐसी जन कल्याणकारी योजनाएं चला कर स्वस्थ भारत स्वछ भारत के सपने को साकार करने में लगी हुई है। वहीं जिम्मेदारों को भी सख्त निर्देश दे रखा है कि सरकार की जो भी योजनायें हैं। वो जनता के बीच जरूर पहुँचे ।लेकिन कुछ गैर जिम्मेदारों की मिली भगत से सरकार की मंशा पर पानी फेरा जा रहा है और सरकारी धन की बंदर बाँट की जा रही हैं । जिसके कारण सरकार के धन का जनता के बीच सदुपयोग न होकर दुरपयोग हो रहा है ।ऐसा ही मामला सहजनवां तहसील क्षेत्र के सहजनवां ब्लॉक अंतर्गत ग्राम सभा पचौरी में देखने को मिला। जहाँ गाँव में जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है । ग्रामीणों का कहना है कि हमारे यहाँ सफाई कर्मी तो हैं और आते भी हैं। लेकिन प्रधान के यहाँ हाजिरी लगाकर चले जाते हैं। जिसके कारण सफाई व्यवस्था खराब है। स्‍थानीय निवासी सुनीता ने कहा कि गंदगी के कारण बच्चे अक्सर बीमार पड़ जाते हैं ।दवा कराते-कराते हम लोग थक जा रहे हैं ।अशलम ने बताया कि प्रधान से कई बार शिकायत किया गया लेकिन सुनते ही नहीं हैं। इस दौरान ग्राम प्रधान से बात करने की कोसिस की गई तो उन्होंने कहा कि हम कोई जवाब नहीं देंगे ।आप को जो भी लिखना हो लिखिए। हमारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ पायेगा। नाराज ग्रामीणों ने गांव में प्रदर्शन किया प्रदर्शन करने वालों में असलम ,नाजिर ,साकिर आफताब ,मुमताज ,अलाउद्दीन ,लालजी सुनीता, नाजिर, शाहनाज सहित भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। इस बावत डीपीआरओ हिमांशु शेखर ठाकुर का कहना था कि मामला संज्ञान में आया है। जिसकी जाँच की जाएगी। जिन लोगों के पास शौचालय नहीं है उन लोगों को आधार कार्ड के साथ  कार्यालय पर भेज दीजिये सबको शौचालय मिल जाएगा।


100 फुट ऊंचा विशाल ताजिया बनाया

महाराजगंज कोठी भार थाना क्षेत्र के ग्राम सभा भारत खंड पकडी में बना विशाल ताजिया


महाराजगंज। अंतर्गत कोठी भार थाना क्षेत्र के ग्राम सभा भारत खंड पकडी में प्राथमिक विद्यालय के पास ग्राम सभा के तरफ से विशाल ताजिया का निर्माण किया गया है। जिसकी लंबाई 50 फीट चौड़ाई 40 फीट तथा ऊंचाई 100 फिट की है l विगत वर्षों की भांति इस वर्ष भी भारत खंड पकडी मे विशाल ताजिया का निर्माण कराया जा रहा है। ताजिया निर्माता मीर हसन तथा संरक्षक इम्तियाज मंसूरी ने बताया कि ताजिया यादगारे इमाम हसन हुसैन के नाम से मनाया जाता है। ताजिया निर्माण में तबरेज हुसैन, साबिर, शहादत, साहिल, बिस्मिल्लाह मंसूरी, सगीर अली, सोनू, कौशल, आदि कार्यकर्ताओं का विशेष योगदान रहा है l
रिपोर्ट-संजय कुमार


कल्याण सिंह पर कसेगा सीबीआई का शिकंजा

नई दिल्ली। कल्याण सिंह जब तक राजस्थान के राज्यपाल के पद पर थे तो अनुच्छेद 351 के तहत संवैधानिक पद पर होने के चलते उन्हें कानूनी कार्रवाई से छूट मिल रही थी, लेकिन अब वो राज्यपाल के पद नहीं हैं, इसलिए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में उनकी मुसीबत बढ़ सकती है।
बता दें कि सीबीआई ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कल्याण सिंह को बतौर आरोपी फिर से कोर्ट में पेश करने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की है। सीबीआई की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने 19 अप्रैल 2017 को आदेश दिया था, जिसमें कल्याण सिंह के अलावा इस केस में पूर्व डिप्टी पीएम लालकृष्ण आडवाणी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी, पूर्व सीएम उमा भारती, साध्वी ऋतंभरा, महंत नृत्यगोपाल दास, विनय कटियार, सतीश प्रधान, चंपत राय बंसल, विष्णु हरि डालमिया, नृत्य गोपाल दास, सतीश प्रधान, आरवी वेदांती, जगदीश मुनि महाराज, बीएल शर्मा, धर्मदास को आरोपी मानते हुए मुकदमा चलाने की बात कही थी। कल्याण सिंह को छोड़कर बाकी आरोपियों को कोर्ट से जमानत मिली हुई है। इन सारे नेताओं के खिलाफ अयोध्या में बाबरी विध्वंस के लिए आपराधिक षडयंत्र करने का आरोप है, जो धारा 120 (बी) के तहत चल रहा है। गौरलतब है कि सीबीआई की अपील को स्वीकृत मिलने बाद यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को एक बार फिर कानूनी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। कल्याण सिंह को 3 सितंबर 2014 को राजस्थान का राज्यपाल बनाया गया था। 5 साल तक पद पर होने के कारण कल्याण को अदालत की ओर से तलब नहीं किया गया। बता दें कि अयोध्या मामले के लिए लिब्राहन आयोग का गठन 16 दिसंबर 1992 में किया गया था। आयोग ने अपनी रिपोर्ट में बाबरी विध्वंस को सुनियोजित साजिश करार देते हुए 68 लोगों को दोषी माना था। लिब्राहन आयोग ने कहा था कि कल्याण सिंह ने घटना को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया।बता दें कि 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद के विध्वंस के समय कल्याण सिंह यूपी के मुख्यमंत्री थे। आरोप है कि यूपी के सीएम रहते कल्याण सिंह ने राष्ट्रीय एकता परिषद की बैठक में कहा था कि वह अयोध्या में विवादित ढांचे को कोई नुकसान नहीं होने देंगे, लेकिन कार सेवा आयोजित होने के दौरान अयोध्या में मस्जिद को गिरा दिया गया था। इसके बाद सीएम कल्याण सिंह ने मामले की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।


38 साल की उम्र में 20 वीं बार गर्भवती

बीड। ये बेहद चौका देने वाला मामला महाराष्ट्र के बीड जिले से सामने आया है। जहाँ एक  महिला 20वीं बार बच्चे को जन्म देने जा रही है। जी हां चौकिये नहीं ये सच है। जानकारी के लिए बताते चले इस मामले में डॉक्टरों ने जानकारी देते हुए बताया कि 38 साल की यह महिला इससे पहले अब तक 19 बार प्रेग्नंत हो चुकी है। अब वह सात माह की गर्भवती है।


मीडिया रेपर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के बीड जिला के सिविल सर्जन डॉ. अशोक थोराट ने बताया, इस वक्त उसके 11 बच्चे हैं और 38 साल की उम्र में वह 20वीं बार मां बनने वाली है। अन्य डॉक्टर ने बताया कि जब हमें उसके गर्भावस्था का पता चला तो उसे सरकारी अस्पताल लाया गया और सभी जरूरी जांच की गई। वह 20वीं बार गर्भवती हुई है। जच्चा और बच्चा अब तक स्वस्थ हैं. उसे दवाइयां दी गई हैं और संक्रमण से बचने के लिए स्वच्छता और अन्य बातों की सलाह दी गई है। वही इस मामले में महिला थोराट ने कहा, 'पहली बार वह अस्पताल में बच्चे को जन्म देगी। इससे पहले उसने घर पर ही बच्चे को जन्म दिया था। किसी भी खतरे से बचने के लिये हमने उसे स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी है। बीड जिले के एक अधिकारी ने बताया कि वह गोपाल समुदाय से संबंधित है जो आमतौर पर भीख मांगने या मजदूरी अथवा छोटे-मोटे काम करते हैं। वे एक जगह से दूसरी जगह पर जाते रहते हैं।


झोलाछाप चला रहा है नर्सिंग होम

शिवगढ़। क्षेत्र के बसंतपुर सकतपुर में झोलाछाप डॉक्टर फर्जी तरीके से नर्सिंग होम चला रहा है। जिसकी शिकायत गांव के एक युवक ने जिलाधिकारी से की विदित हो कि शिवगढ़ क्षेत्र में कई ऐसे झोलाछाप क्लीनिक और नर्सिंग होम संचालित हैं जिनके डॉक्टर मनमानी तरीके से भोली-भाली जनता से पैसा मनमाने ढंग से लेते हैं। क्षेत्र के लोगों की माने तो जितने भी फर्जी तरीके से नर्सिंग होम संचालित हो रहे हैं उसमें स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों की मिलीभगत से संचालित हो रही हैं। जिसको लेकर हरिकेश शाहपुर मजरे बसंतपुर सकतपुर ने शिकायत की है कि बसंतपुर में एक फर्जी डॉक्टर नर्सिंग होम चला रहा है। जिसके पास डिग्री भी नहीं है जनता को गुमराह करके नकली दवाएं देकर पैसा लेते है। इतना ही नहीं सरकारी अस्पताल से उसका अच्छा संबंध है,और सरकारी अस्पताल की दवाएं भी रखता है जिसकी जांच होनी चाहिए। इस बारे में जब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डा.एलपी सोनकर से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि सूची बनाई जा रही है जो फर्जी अस्पताल संचालित है ,उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


खड़े हाईवा से टकराई पिकअप, 23 घायल

आरंग। राष्ट्रीय राजमार्ग 53 में आरंग के ग्राम पारागांव के पंचायत भवन के पास तेज रफ़्तार पिकअप वाहन सड़क किनारे खड़ी हाइवा गाड़ी से जा भिड़ी है। जिससे जबरदस्त हादसा हुआ है। हादसे में पिकअप में सवार एक व्यक्ति की दर्दनाक मौत हो गई. जबकि 23 लोग घायल हो गए। जिनमें 18 लोगो की हालत गंभीर होने से रायपुर के मेकाहारा में भर्ती कराया गया है ये घटना सोमवार- मंगलवार की दरम्यानी रात की है।


बताया जा रहा है पिकअप में सवार लोग महासमुंद जिले के बागबाहरा के घुचापाली से डांस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए ग्राम सम्भर से रायपुर के टेकारी के लिए निकले थे। रात करीब ढाई बजे आरंग के पारागांव में पिकअप का चालक रोड में बैठे मवेशियों को बचाने के चक्कर मे गाड़ी का संतुलन खो बैठा और वाहन रोड के किनारे खड़ी हाइवा से जा टकराई।आरंग के आसपास सड़कों में आवारा मवेशियों का जमावड़ा लगा रहता है जिस पर प्रशासन का ध्यान नहीं जा रहा है और आयए दिन लोग हादसों का शिकार हो रहे हैं। इस सड़क हासे से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।


अनियंत्रित बस पेड़ से टकराई, 6 घायल

धमतरी। जिले के नेशनल हाइवे में एक तेज रफ्तार यात्री बस अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई। इस हादसे में 6 यात्री घायल हो गए है, इसमें से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। घायल यात्रियों को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।


जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह मनीष ट्रेवल्स की बस क्रमांक सीजी 07-2050 बैलाडीला से राजधानी रायपुर के लिए निकली थी, तभी राष्ट्रीय राजमार्ग में धमतरी से 13 किलोमीटर दूर गागरा पुल के पास चालक को झपकी आ गई और बस अनियंत्रित होकर लहराते हुए सीधे सड़क के नीचे एक पेड़ में जा घुसी। इस दुर्घटना के बाद यात्रियों में अफरा तफरी मच गई। आस-पास के ग्रामीणों और राहगीरों ने घायल यात्रियों को बस से बाहर निकाला। हादसे में 6 यात्री बुरी तरह से घायल हुए हैं, जिनमें से तीन की हालत गंभीर है, सभी घायलों को धमतरी के जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया हैं। घायल यात्री में सुरेंद्र साहू (48 साल) राम शक्ति नगर दुर्ग, छोटू सिंह (30 साल) शंकर नगर रायपुर, जय गुप्ता (37 साल) पथरागुड़ा जगदलपुर, उसकी पत्नी बबीता गुप्ता (32) जगदलपुर, बस का हेल्पर बबलू पंसारी (30) राम नयापारा राजिम और कैलाश गुप्ता (44) गीदम है। इधर घटना की जानकारी मिलते ही एडिशनल एसपी मनीषा ठाकुर, डीएसपी अरुण जोशी समेत पुलिस के अन्य अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों को त्वरित उपचार मुहैया कराया और घटना की जांच पड़ताल में जुट गए।


वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से पाइपलाइन का उद्घाटन

पीएम मोदी व नेपाल के पीएम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पेट्रोलियम पाइपलाइन का किया उद्घाटन


नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी व नेपाल के पीएम केपी ओली ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भारत-नेपाल पाइपलाइन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि विकास के लिए हमारी साझेदारी को और सक्रिय बनाने और नए क्षेत्रों में सहयोग को और बढ़ाने के लिए हमने नए अवसरों का लाभ उठाया है। हमारे संयुक्त प्रयासों का उद्देश्य है कि हमारे लोगों को लाभ मिले, उनका विकास हो। पीएम मोदी बोले कि पिछले पांच वर्षों में हमने महत्वपूर्ण द्विपक्षीय परियोजनाओं को पूरा किया है और कई अन्य इनिसिएटिव के परिणाम जल्दी प्राप्त किए हैं। पिछले साल हमने संयुक्त रूप से पशुपतिनाथ धर्मशाला और आईसीपी वीरगंज का उद्घाटन किया था।


पीएम मोदी ने कहा कि यह बहुत संतोष का विषय है कि दक्षिण एशिया की यह पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी हुई है। इसका श्रेय आपके नेतृत्व को, नेपाल सरकार के सहयोग को और हमारे संयुक्त प्रयासों को जाता है। 2015 के विनाशकारी भूकंप के बाद जब नेपाल ने पुनर्निर्माण का बीड़ा उठाया, तो भारत ने पड़ोसी और निकटतम मित्र के नाते अपना हाथ सहयोग के लिए आगे बढ़ाया।


कमलनाथ को जेल भेजने का पहला कदम

दिल्ली। सरकार ने कांग्रेस के उन नेताओं के खिलाफ शिकंजा कसना शुरु कर दिया है जो कभी न कभी उसके लिए मुसीबत का सबब बने हैं।


जांच एजेंसियों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम, डी. के. शिवकुमार को जेल भेजकर अपने मंसूबे जाहिर कर दिये हैं। अब इस कड़ी में ताजा नाम मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जुड़ने वाला है। गृह मंत्रालय ने कमलनाथ के खिलाफ 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले को दोबारा खोल दिया है। कमलनाथ पर सिख विरोधी दंगों में शामिल होने का आरोप है। कमलनाथ के खिलाफ ताजा सबूतों पर विचार करते हुए केस नंबर 601/84 को दोबारा खोलने का नोटिफिकेशन जारी किया है। माना जा रहा है ये कमलनाथ को जेल भेजने की तैय्यारियों का पहला कदम है।


रणनीति के तहत नक्सलवाद से लोहा लेंगे

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पहली बार मानसून में सुरक्षा बलों द्वारा हर साल की अपेक्षा इस बार सबसे ज्यादा आपरेशन चलाए गए। जिसमें जवानों को कई बड़ी सफलताएं मिली है। अब लगभग मानसून खत्म होने जा रहा है। इसके साथ ऑपरेशन मानसून भी खत्म हो गया है। अब आने वाले दिनों मे नया नाम देकर नक्सलियों के खिलाफ नई रणनीति के साथ सुरक्षा बल के जवान जंगल में उतरेंगे। इसको लेकर रणनीति तैयार कर ली गई है।
मानसून के इन तीन माह में सुकमा जिले में सुरक्षा बल के जवानों ने करीब 20 नक्सल ऑपरेशन किए हैं, जिसमें उन्हें काफी कामयाबी मिली है। जवानों की सर्तकता और सर्चिंग के कारण जवानों ने करीब 18 आईईडी रिकवर की है। जगरगुंडा मुख्य मार्ग हो या फिर एर्राबोर साप्ताहिक बाजार जहां पर जवानों को क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से नक्सलियों ने आईईडी लगाई थी। जिसे जवानों ने डिफ्यूज कर दिया। यदि ये ब्लास्ट हो जाते तो जवानों को काफी नुकशान हो सकता था। नक्सलियों के खिलाफ लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन के कारण नक्सलियों पर काफी दबाव बना है। लिहाजा नक्सली सरेंडर कर रहे हैं। इन मानसून के महिनों में करीब 55 नक्सलियों ने संगठन से मोहभंग कर पुलिस के समक्ष हथियार डाले है। इसके अलावा 45 नक्सलियों को जिले के विभिन्न इलाकों से गिरफ्तार किया गया। क्योंकि अंदरूनी इलाकों में सरेंडर नक्सलियों ने भी प्रचार-प्रसार किया था। साथ ही लगातार सर्चिंग व गश्त से भी नक्सलियों पर दबाव बना है। 


सुकमा के एसपी शलभ सिन्हा के मुताबिक इन 20 ऑपरेशन में सिर्फ नक्सलियों के साथ आमने-सामने 5 मुठभेड़ हुई है, जिसमें जवानों ने बिना किसी नुकशान के 4 नक्सलियों को मार गिराया है। जिनके शव भी बरामद कर दिए गए। हालांकि पुलिस ने दावा किया है कि कई नक्सली घायल हुए है और मारे भी गए हैं, लेकिन उनके शव या नक्सली नहीं मिले है। वही पुलिस ने इन मुठभेड़ों में 7 हथियार बरामद किया है। जिसमें एक इंसास रायफल शामिल है वही जवानों ने एक नक्सली कैम्प भी ध्वस्त किया था।


कैंसर का इलाज कराकर लौटे ऋषि कपूर

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर कैंसर का करीब एक वर्ष तक विदेश में इलाज कराने के बाद स्वदेश लौट आए हैं। ऋषि कपूर पिछले लगभग एक साल से न्यूयार्क में उपचार करा रहे थे। वह बीती देर रात पत्नी नीतू कपूर के साथ स्वदेश लौटे। नीतू कपूर इलाज के दौरान उनके साथ देश में ही रहीं।
उन्होंने स्वदेश लौटने की जानकारी स्वयं ट्विटर पर दी। उन्होंने लिखा, “11 माह 11 दिन बाद घर वापसी। सभी को धन्यवाद।” वह न्यूयार्क में इलाज के दौरान भी ट्विटर पर सक्रिय रहे और अपने प्रशंसकों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारी देते रहते थे।
विदेश में रहने के दौरान उन्होंने अपने काम को मिस किया, लेकिन उनके परिवार और करीबियों ने उन्हें कभी अकेला महसूस नहीं होने दिया। उनके बेटे रणबीर और बेटी रिद्धिमा अक्सर ही उनसे मिलने न्यूयॉर्क पहुंच जाया करते थे। इंडस्ट्री में उनके जानने वाले और करीबियों ने भी समय-समय पर वहां जाकर उनसे मुलाकात की। अब जब ऋषि सबके बीच वापस अपने देश में हैं तो ये सभी के लिए खुशी का पल होगा।


क्रिकेट टीम ने पाक जाने से किया मना

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीमों की मेजबानी करने के पाकिस्तानी प्रयास को श्रीलंका के खिलाड़ियों ने बड़ा झटका दिया है। श्रीलंका के दस प्लेयरों ने पाकिस्तान के आगामी दौरे पर जाने से मना कर दिया है। यह दौरा इसी महीने प्रस्तावित है। प्रस्तावित कार्यक्रम के मुताबिक दोनों टीमों के बीच तीन टी-20 और 3 वनडे मैच खेले जाने हैं। पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच यह सीरीज 27 सितंबर से शुरू होना है। लेकिन श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने, लसिथ मलिंगा और एंजेलो मैथ्यूज जैसे 10 प्रमुख खिलाड़ियों के पाकिस्तान दौरे पर जाने से इनकार कर दिया है।


यात्रा का आनंद प्राप्त होगा: धनु

राशिफल


मेष-अप्रत्याशित लाभ की संभावना है। किसी लंबी मनोरंजक यात्रा की योजना बनेगी। मित्रों के साथ समय सुखद व्यतीत होगा। घर-बाहर से सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। विवेक का प्रयोग करें। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जोखिम न लें।


वृष-अकारण विवाद की स्थिति निर्मित हो सकती है। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। बनते काम बिगड़ सकते हैं। परिवार में तनाव रह सकता है। शारीरिक कष्ट संभव है। कार्य के प्रति जवाबदारी में वृद्धि होगी। आय में निश्चितता रहेगी। व्यापार ठीक चलेगा।


मिथुन-बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। लाभ में वृद्धि होगी। यश बढ़ेगा। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। शारीरिक कष्ट की आशंका है। मित्रों के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे। लाभ होगा।


कर्क-सुख के साधनों पर व्यय होगा। मनोरंजन के लिए समय निकाल पाएंगे। परिवार के साथ सुखद अहसास होगा। आर्थिक उन्नति के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। लंबी यात्रा का मन बनेगा। प्रमाद न करें।


सिंह-किसी धार्मिक स्थल तथा पूजा-अनुष्ठान का कार्यक्रम बन सकता है। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का मार्गदर्शन व सहयोग प्राप्त होगा। नए काम मिल सकते हैं। जीवनसाथी के स्वास्‍थ्य की चिंता रहेगी।


कन्या-दुश्मनों से सावधान रहें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। शारीरिक हानि की आशंका है। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। महत्वपूर्ण निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। आय में निश्चितता रहेगी।


तुला-वाणी में हल्के हंसी-मजाक से बचें। बात बिगड़ सकती है। धनलाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार पर व्यय हो सकता है। किसी विशिष्ट व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होने की संभावना है।


वृश्चिक-शारीरिक पीड़ा से बाधा संभव है। स्वास्थ्य को नजरअंदाज न करें। चिंता तथा तनाव रहेंगे। शत्रुओं का पराभव होगा। सुख के साधनों पर व्यय होगा। संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं, भरपूर प्रयास करें। रोजगार में वृद्धि के योग हैं।


धनु-धन प्राप्ति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। स्वादिष्ट भोजन की प्राप्ति सहज ही होगी। मित्रों तथा पारिवारिक सदस्यों के साथ समय सुखद व्यतीत होगा। रचनात्मक कार्यों में मन लगेगा। सफलता मिलेगी। प्रमाद न करें।


मकर-धन प्राप्ति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। स्वादिष्ट भोजन की प्राप्ति सहज ही होगी। मित्रों तथा पारिवारिक सदस्यों के साथ समय सुखद व्यतीत होगा। रचनात्मक कार्यों में मन लगेगा। सफलता मिलेगी। प्रमाद न करें।


कुंभ-यात्रा मनोरंजक रहेगी। नेत्र पीड़ा की आशंका है। लापरवाही न करें। सुख के साधन जुटेंगे। मनोरंजन के अवसर प्राप्त होंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। मेहनत का फल प्राप्त होगा। किसी विशिष्ट व्यक्ति से सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार अच्छा चलेगा।


मीन-किसी भी तरह के विवाद-बहस इत्यादि में न पड़ें। स्वाभिमान को चोट पहुंच सकती है। शारीरिक कष्ट भी आशंका है। अत: लापरवाही न करें। दूर से सुखद समाचार की प्राप्ति होगी। घर में अतिथियों का आगमन होगा। आत्मसम्मान में वृद्धि होगी। लाभ होगा।


छध्‍म वैज्ञानिक चिकित्सा पद्धति

होम्योपैथी एक छद्म-वैज्ञानिक चिकित्सा पद्धति है। होम्योपैथिक तैयारी किसी भी स्थिति या बीमारी के इलाज के लिए प्रभावी नहीं हैं; बड़े पैमाने पर किए गए अध्ययनों में होमियोपैथी को प्लेसीबो से अधिक प्रभावी नहीं पाया गया है। होम्‍योपैथी चिकित्‍सा छद्म-विज्ञान के जन्‍मदाता सैमुएल हैनीमेन है। यह चिकित्सा के 'समरूपता के सिंद्धात' पर आधारित है जिसके अनुसार औषधियाँ उन रोगों से मिलते जुलते रोग दूर कर सकती हैं, जिन्हें वे उत्पन्न कर सकती हैं। औषधि की रोगहर शक्ति जिससे उत्पन्न हो सकने वाले लक्षणों पर निर्भर है। जिन्हें रोग के लक्षणों के समान किंतु उनसे प्रबल होना चाहिए। अत: रोग अत्यंत निश्चयपूर्वक, जड़ से, अविलंब और सदा के लिए नष्ट और समाप्त उसी औषधि से हो सकता है जो मानव शरीर में, रोग के लक्षणों से प्रबल और लक्षणों से अत्यंत मिलते जुलते सभी लक्षण उत्पन्न कर सके।


होमियोपैथी पद्धति में चिकित्सक का मुख्य कार्य रोगी द्वारा बताए गए जीवन-इतिहास एवं रोगलक्षणों को सुनकर उसी प्रकार के लक्षणों को उत्पन्न करनेवाली औषधि का चुनाव करना है। रोग लक्षण एवं औषधि लक्षण में जितनी ही अधिक समानता होगी रोगी के स्वस्थ होने की संभावना भी उतनी ही अधिक रहती है। चिकित्सक का अनुभव उसका सबसे बड़ा सहायक होता है। पुराने और कठिन रोग की चिकित्सा के लिए रोगी और चिकित्सक दोनों के लिए धैर्य की आवश्यकता होती है। कुछ होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति के समर्थकों का मत है कि रोग का कारण शरीर में शोराविष की वृद्धि है।


होमियोपैथी चिकित्सकों की धारणा है कि प्रत्येक जीवित प्राणी हमें इंद्रियों के क्रियाशील आदर्श को बनाए रखने की प्रवृत्ति होती है औरे जब यह क्रियाशील आदर्श विकृत होता है, तब प्राणी में इस आदर्श को प्राप्त करने के लिए अनेक प्रतिक्रियाएँ होती हैं। प्राणी को औषधि द्वारा केवल उसके प्रयास में सहायता मिलती है। औषधि अल्प मात्रा में देनी चाहिए, क्योंकि बीमारी में रोगी अतिसंवेगी होता है। औषधि की अल्प मात्रा प्रभावकारी होती है जिससे केवल एक ही प्रभाव प्रकट होता है और कोई दुशपरिणाम नहीं होते। रुग्णावस्था में ऊतकों की रूपांतरित संग्राहकता के कारण यह एकावस्था प्रभाव स्वास्थ्य के पुन: स्थापन में विनियमित हो जाता है। विद्वान होम्योपैथी को छद्म विज्ञान मानते हैं।


यमाचार्य नचिकेता वार्ता (धर्मवाद)

गतांक से...


राजा जानवी ने बहुत पुरातन काल में कहा था मेरे यहां मेरे राष्ट्र में भोगवाद नहीं है। मेरे राज्‍य में तो केवल शिष्टाचार है। मेरे राष्ट्र में यज्ञ होते हैं और यह भी भिन्न-भिन्न प्रकार के, माता-पिता यह चाहते हैं कि हमें संतान को जन्म देना। हमें संतान को उत्पन्न करना है तो माता-पिता चिंतन करते हैं और चिंतन करने के पश्चात वह अपनी अपनी हवी को अपने अपने आसन पर परिणीत कर देते हैं। उससे सुसन्‍तान का जन्म होता है और वह जो संतान है वह ग्रह को ऊंचा बनाती है। और जो माता-पिता अपने बालक को ऊंचा नहीं बना सकते महान नहीं बना सकते ब्रह्मचारीष्‍यमी नहीं बना सकते। उन माताओं का जीवन न होने के तुल्य कहलाता है। वह माता सौभाग्य नहीं होती है। जो माता अपने गर्भ स्थल में माता मदालसा की भांति अपने प्यारे पुत्र को गर्भाशय में ब्रह्मा का उपदेश देने वाली है। वह ग्रह धन्य होते हैं वह राष्ट्रीय धन्य होता है। जिस राजा के राष्ट्रीय चिंतन होता है। प्रत्येक ग्रह अपने आश्रम में ब्रह्म का चिंतन करने वाले हो और उसके पश्चात वह देव पूजा करने वाले हो देव पूजा कौन करता है। देव पूजा में माता-पिता करते हैं जिनके ग्रह में सुगंधी होती है। बालक ऊंचे बनते हैं माता-पिता प्रातः कालीन देव पूजा करते हैं। देव पूजा किसे कहते हैं संमिधा को अग्‍न्‍यधान किया अग्नि प्रदीप्त हो गई और उसमें स्‍वाहा कहते हैं अपनी वाणी को अग्नि की तरंगों पर विश्राम करा करके वह दोनों को प्राप्त हो जाता है। वह दो लोक में प्रवेश कर जाती है वह देव पूजा कैसी स्वच्छ हृदय से होती है। परमात्मा की वाणी से कहता आचार्य अद्भुत स्‍वाहा, अग्नि मानव अद्भुत कहता है और स्‍वाहा कह रहा है। दग्‍ध होने वाली अग्नि अंतरिक्ष में रमण करने वाली है। लोको का प्राप्त होने वाली है। वह माता पिता धन्य है जो अपनी वाणी को ब्रह्मलोक में पहुंचा देते हैं। अंतरिक्ष में पहुंचा देते हैं अग्नि की धाराओं पर विद्यमान हो करके यह वाणी अपने स्वरूप को लेकर के 2 लोक प्राप्त कर लेती है। परिणाम क्या देवताओं का दूत कौन है वह देवताओं का दूत ही अग्नि कहलाती है अग्नि महान। तृतीय जो संमिधा है जो जीवन में प्रदीप्त होती है। वह अतिथि की सेवा है अतिथि की सेवा किसे कहते हैं। बुद्धिमान गृह में आता है और बुद्धिमान का स्वागत करते हैं और बुद्धिमान का जब स्वागत होता है तो बुद्धिमान प्रसन्न होता है। योगेश्वर प्रसन्न होता है और जब वह प्रसन्न में होता है तो देखो अपने ज्ञान को दे कर के वहां से प्रस्थान करता है। जो उसने अध्ययन किया है, शिक्षाओं का व्रत किया है। उस शिक्षा को ग्रह को देख कर के मैं अपने आसन को प्रस्थान करता है। तो मुनिवरो, उस समय महाराजा जानवी ने जब यह ब्रह्मवेताओं को कहा तो उन्होंने कहा धन्य है प्रभु। उन्होंने कहा प्रभु, हम तो आत्मा की समाधि को जानना चाहते हैं। जिससे आत्मकथा बनता है यह तो हमने साधारण उपदेश आपसे पाया है। परंतु हम यह जानना चाहते हैं कि आत्मा का उत्थान कौन सी अग्नि से कौन सी समिधा से होता है? जिससे हम आत्मत्‍व बने और आत्मा में प्रवेश करते हुए आत्मा को प्राप्त होते रहे। मेरे प्यारे महाराजा जानवी ने कहा कि आत्मा का उत्थान करना है। हे ब्रह्म, जिज्ञासा है आत्मा कि यदि आज तुम चाहते हो कि हर आत्मा का कल्याण चाहते हैं। आत्मा को उधरवागति में ले जाना चाहते हैं। तो बेरसिया में उत्तर बिरलोका आज मैं तुम्हें एक ही वाक्य प्रकट करा देता हूं। जहां यह जो ब्रह्मा की ॠचा है ॠचा जो हमारे शरीर में प्रवास है गति कर रहा है। इसको प्राण के द्वारा प्राण रूपी तरकश से तीर की भांति इसका संधान करा दो। उससे आत्माओं का एक ही लक्ष्य रहता है कि आत्मा को जानना है। जब उस धनुष पर तीर रख लिया जाता है तो उसका लक्ष्य ब्रह्म को प्राप्त करना, वह ब्रह्म का यह प्राणायाम करना और प्राण के द्वारा इस आत्मा को जानना। क्योंकि मन को आत्मा के आत्मा मन को पुराण रूपी तरकस के ऊपर तीर कि आप हमें अभ्यस्त करा देना चाहिए। जिससे आत्मा में प्रवेश कर जाए और आत्मात्‍व हो। यह आत्मा का ज्ञान ही संसार में एक मानवता को प्रवास प्रवेश करा देता है। आत्मज्ञान है तो राष्ट्र को ऊंचा बनाता है आत्मज्ञान है। जो मोक्ष ले जाता है। आत्मा का जो बलिष्ठ प्राणी होता है वह संतान से हीन नहीं होता है। वह अपने जीवन में ऊंचे कर्मों से हिनता को प्राप्त नहीं होता है। इसलिए मैंने बहुत पुरातन काल में अपने प्यारे महानंद जी के प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा था कि मानव को अपनी आत्मा को उधरवा बनाना चाहिए। आत्मक जो पुरुष होता है उसके शरीर में वीर्य होता है और जो होता है वह देखो रचना करता है। जहां योग में सफलता को प्राप्त होता है। मैंने बहुत पुरातन काल में अपने वाक्यों को प्रकट करते हुए कहा था। इस संसार में मानव को अपने जीवन को ऊंचा बनाना है। अपने जीवन में आत्म तत्व को प्राप्त कराना है। आत्म लोको को प्राप्त करना है। आज का हमारा यह वाक्य कह रहा है। आज मैं महाराजा जानवी के वाक्यों को प्रकट कर रहा हूं। महाराजा जानवी जहां-जहां राष्ट्र में कुशल थे वह आत्म को जानते थे। वह भी कह जाते ब्रह्मा वाक प्रकट किया। तो उसने कहा महाराज आत्मा, संतान का क्या संग्रह हैं?


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


september 11, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1.अंक-39 (साल-01)
2.बुधवार,11सितबंर 2019
3.शक-1941,भादप्रद शुक्‍लपक्ष द्वादशी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 5:58,सूर्यास्त 6:42
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-36+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, उमस बनी रहेगी बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


कोच लोधगर का दिल का दौरा पड़ने से निधन हुआ

मिनाक्षी लोढी        कोलकाता। पश्चिम बंगाल के पूर्व स्पिनर और मिजोरम अंडर-19 टीम के मुख्य कोच मुर्तजा लोधगर का शुक्रवार की रात को विशाखापट्ट...