सोमवार, 20 दिसंबर 2021

यूके: कोरोना वायरस के 11 नए मामलें सामने आए

यूके: कोरोना वायरस के 11 नए मामलें सामने आए

पंकज कपूर         देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना को लेकर फिलहाल, राहत बनी हुई है। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। राज्य के 3 जनपदों में आज कोरोना वायरस के नये मामले सामने आए है। जबकि एक कोरोना मरीज की मौत हो गई। राज्य में सोमवार को कोरोना के कुल 11 नए मामले सामने आए है। इसी के साथ राज्य में कोरोना का आंकड़ा 344602 पहुंच गया है। जबकि राज्य में आज 08 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए इस तरह अब तक 3,30,828 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। जिनमें देहरादून जिले से 7 ,हरिद्वार से 3 , नैनीताल जिले से 0, उधमसिंह नगर से 1 , पौडी से 0, टिहरी से 0, चंपावत से 0 , पिथौरागढ़ से 0 , अल्मोड़ा 0, बागेश्वर से 0, चमोली से 0, रुद्रप्रयाग से 0, उत्तरकाशी से 0 सैंपल पॉजिटिव मिले हैं।

राज्य में कोरोना से संक्रमित अब तक कुल 3,44,602 मरीजों में से 3,30,828 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। 6,188 संक्रमित राज्य से बाहर जा चुके हैं। 7,414 संक्रमित की मौत हो चुकी है। राज्य में वर्तमान में कोविड-19 के एक्टिव केस 170 है। इधर रिकवरी रेट 96.01 प्रतिशत पहुंच गया है।

बरौनी को तृतीय पुरस्कार से नवाजा: बिहार

अविनाश श्रीवास्तव         बेगुसराय। बरौनी रिफाइनरी द्वारा संचालित नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, बरौनी को क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय (पूर्व क्षेत्र) के अंतर्गत “क” क्षेत्र में संघ सरकार की राजभाषा नीति के उत्कृष्ठ कार्यान्वयन हेतु वित्त वर्ष 2019-20 के लिए तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 18 दिसंबर 2021 को डिब्रूगढ़ में आयोजित क्षेत्रीय राजभाषा सम्मेलन में सचिव राजभाषा विभाग श्रीमती अंशुलि आर्य ने संयुक्त सचिव, राजभाषा डॉ. मीनाक्षी जौली और अन्य गणमान्य की उपस्थिति में शील्ड और सदस्य सचिव, नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, बरौनी को प्रशस्ति पत्र प्रदान करके सम्मानित किया गया।

नराकास बरौनी की ओर से शील्ड राजेंद्र कुमार झा, मुख्य महाप्रबंधक (तकनीकी सेवा एवं एचएसई) ने और प्रशस्ति पत्र शरद कुमार, वरिष्ठ हिन्दी अधिकारी सह सदस्य सचिव, नराकास-बरौनी ने ग्रहण किया। यह विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि नराकास, बरौनी के गठन के बाद से पहली बार बरौनी रिफाइनरी को राजभाषा कार्यान्वयन के लिए क्षेत्रीय राजभाषा पुरस्कार प्राप्त हुआ है। इस उल्लेखनीय उपलब्धि को हासिल करने पर अध्यक्ष नराकास बरौनी सुश्री शुक्ला मिस्त्री ने अपनी शुभकामनाएं दी हैं और सभी सदस्य कार्यालयों से आगे भी सहयोग की अपेक्षा व्यक्त की और बेगूसराय नगर में राजभाषा कार्यान्वयन को और आगे ले जाने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया। वर्तमान में नराकास बरौनी में कुल 30 सदस्य कार्यालय हैं। हर वर्ष जुलाई और दिसंबर माह में इसकी बैठकें आयोजित की जाती हैं। बताते चलें कि बेगूसराय नगर में नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति के संचालन का दायित्व इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड की बरौनी रिफाइनरी को प्रदान किया गया है। बरौनी रिफाइनरी के कार्यपालक निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख इसके पदेन अध्यक्ष हैं और बरौनी रिफाइनरी में पदस्थापित हिन्दी अधिकारी/प्रभारी इसके पदेन सदस्य सचिव हैं।

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय सरकार के देश भर में फैले हुए कार्यालयों/उपक्रमों/बैंकों आदि में राजभाषा के प्रगामी प्रयोग को बढ़ावा देने और राजभाषा नीति के कार्यान्‍वयन के मार्ग में आ रही कठिनाइयों को दूर करने के लिए एक संयुक्‍त मंच प्रदान करने के उद्देश्य से सभी नगरों में जहां केंद्रीय सरकार के 10 या इससे अधिक कार्यालय हों, नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समितियों का गठन किया गया है। समिति का गठन राजभाषा विभाग के क्षेत्रीय कार्यान्‍वयन कार्यालयों से प्राप्‍त प्रस्‍तावों के आधार पर भारत सरकार के सचिव(राजभाषा) की अनुमति से किया जाता है।

इन समितियों की अध्‍यक्षता नगर विशेष में स्थित केंद्रीय सरकार के कार्यालयों/उपक्रमों/बैंकों आदि के वरिष्‍ठतम अधिकारियों में से किसी एक के द्वारा की जाती है। अध्‍यक्ष को राजभाषा विभाग द्वारा नामित किया जाता है। समिति के सचिवालय के संचालन के लिए समिति के अध्‍यक्ष द्वारा अपने कार्यालय से अथवा किसी सदस्‍य कार्यालय से एक हिंदी विशेषज्ञ को उसकी सहमति से समिति का सदस्‍य-सचिव मनोनीत किया जाता है। इन समितियों की वर्ष में दो बैठकें आयोजित की जाती हैं। इन समितियों की बैठकों में नगर विशेष में स्थित केंद्रीय सरकार के कार्यालयों/उपक्रमों/बैंकों आदि के प्रशासनिक प्रधान भाग लेते हैं। राजभाषा विभाग (मुख्‍यालय) एवं इसके क्षेत्रीय कार्यान्‍वयन कार्यालय के अधिकारी भी इन बैठकों में राजभाषा विभाग का प्रतिनिधित्‍व करते हैं।


उपभोक्ता विभाग के निरीक्षक पदों पर भर्ती, मंजूरी 
श्रीराम मौर्य         शिमला। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग में निरीक्षक के तीन पदों को सीधी भर्ती के माध्यम से भरने को मंजूरी मिली है। यह पद अनुबंध के आधार पर भरे जाएंगे। बैठक में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा के पांच पदों को हिमाचल प्रदेश संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा-2021 के माध्यम से नियमित आधार पर भरने की स्वीकृति प्रदान की गई।
सिरमौर जिले के शिलाई विधानसभा क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला हलहन का नाम शहीद कल्याण सिंह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला शहीद कल्याण सिंह के सम्मान में करने को अपनी स्वीकृति प्रदान की।
कैबिनेट बैठक में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला करसोग क्षेत्र के महोग, मंडी जिले के कामद एवं कुल्लू जिले के बंजार क्षेत्र के गुशैनी में विज्ञान की कक्षाएं तथा सोलन जिले के अर्की क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बथलंग में वाणिज्य की कक्षाएं शुरू करने को अपनी स्वीकृति प्रदान की। कैबिनेट ने मंडी जिले के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों सियानजी, बग्गी, नगवैन, सेरी कोठी और तालयार में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने का निर्णय लिया।

जिला उपाध्यक्ष के पद पर खलीक की नियुक्ति की

जिला उपाध्यक्ष के पद पर खलीक की नियुक्ति की
फैज अहमद          
कौशाम्बी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के निर्देशन पर कौशांबी जिला अध्यक्ष दयाशंकर यादव ने जिला उपाध्यक्ष के पद पर खलीक अहमद उर्फ निक्के की नियुक्ति की है। उन्होंने आशा जताई है कि पार्टी हित में वह काम करेंगे और संगठन को मजबूत करेंगे।
जैसे ही खालिक अहमद उर्फ निक्के को जिला उपाध्यक्ष बनाए जाने की जानकारी पार्टी नेताओं और उनके समर्थकों को हुई जोरदार तरीके से माल्यार्पण कर खालिक अहमद उर्फ निक्के का जोरदार तरीके से स्वागत किया गया है। इस मौके पर सपा नेताओं ने कहा कि खालिक अहमद को समाजवादी पार्टी में उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद समाजवादी संगठन को मजबूती मिलेगी और आने वाले विधानसभा चुनाव 2022 में इसका सीधा लाभ पार्टी प्रत्याशी को मिलेगा। नेताओं ने कहा कि खालिक अहमद के मिलनसार स्वभाव के चलते क्षेत्र की जनता के बीच उनके गहरे संबंध हैं। लोगों ने कहा कि खालिक अहमद के बेहतर स्वभाव और अच्छे ब्यवहार के चलते इलाके के लोग उनकी बातों पर भरोसा करते हैं। जिसका सीधा लाभ विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को मिलेगा स्वागत करने वालों में परवेज अख्तर अंसारी, पूर्व विधायक कुंडा, दयाशंकर यादव, जिला विधानसभा अध्यक्ष मान सिंह पटेल, प्रदीप चौधरी, इस्तेखार अहमद सैफी, मसूद अहमद आदि लोग उपस्थित रहे।

गाजियाबाद: कोरोना वायरस संक्रमितों की जांच जारी
अश्वनी उपाध्याय         गाजियाबाद। ओमिक्रॉन वेरिएंट की दहशत के बीच गाज़ियाबाद में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लगातार सक्रिय है। रेलवे स्टेशन, बस अड्डों, सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों और अस्पतालों के अतिरिक्त जगह-जगह कैंप लगाकर टीकाकरण के साथ संभावित कोरोना संक्रमितों की जांच जारी है। जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दैनिक रिपोर्ट के अनुसार गाज़ियाबाद में रविवार को 6,385 लोगों की जांच के बाद केवल एक नया संक्रमित मिला है। 

रविवार को मिली संक्रमित महिला क्रॉसिंग रिपब्लिक की रहने वाली हैं और अपने संक्रमित बेटे के संपर्क में आने के बाद संक्रमण का शिकार हुई हैं। इस बीच नेहरू नगर के रहने वाले ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित दंपति के स्वास्थ्य में तेज़ी से सुधार हो रहा है। दंपति होम आइसोलेशन में है और जिला स्वास्थ्य विभाग लगातार उनके संपर्क में हैं।

स्लोगन व पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन: यूपी

हरिओम उपाध्याय        देवरिया। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के निर्देशन में जनपद में चलाए जा रहे मतदाता जागरूकता हेतु स्वीप कार्यक्रम के अंतर्गत आज रुद्रपुर तहसील के प्राथमिक विद्यालय जोकहा खास में छात्र-छात्राओं के बीच मतदाता जागरूकता संबंधित स्लोगन एवं पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। छात्रों ने मतदान संबंधी विभिन्न स्लोगन एवं पेंटिंग बनाकर लोगों को मतदान हेतु जागरूक किया। छात्रों एवं अभिभावकों को मतदाता शपथ दिलाने के बाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कार्यक्रम की संयोजिका नम्रता सिंह ने सभी को विधानसभा निर्वाचन में अपने मतदान का प्रयोग करने और अपने घर, आस पास के दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं को बूथ पर ले आने की बात कही। प्रतियोगिता में नंदिनी ,खुशी, गुड़िया,अभय, प्रियांशु, विनीता, दिनेश, नंदनी, प्रिंस, खुशबू अमित,सनी ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। 

इस अवसर पर प्रधानाध्यापक अशोक कुशवाहा, सुशीला सिंह, नम्रता सिंह समेत विद्यालय के समस्त स्टाफ एवं प्रबंध समिति के समस्त सदस्य उपस्थित रहे।
विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष सचिव एवं ग्राम प्रधान का ब्लॉक स्तरीय संगोष्ठी एवं उन्मुखीकरण कार्यक्रम में आज भटनी विकासखंड में आयोजित कार्यक्रम में उपजिलाधिकारी महेंद्र प्रसाद ने समस्त ग्रामप्रधान, एसएमसी के सदस्यों एवं प्रधानाध्यापकों को मतदान की शपथ दिलाई एवं आगामी विधानसभा चुनावों में सबको अपने मताधिकार का प्रयोग करने की बात कही। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि लोकतंत्र में नागरिक और चुनाव उसकी आत्मा है। अतः हम सभी को प्रयास करना चाहिए कि सभी लोग बढ़-चढ़कर मतदान प्रक्रिया में हिस्सा लें। इस अवसर पर खंड शिक्षा अधिकारी बीरबल राम,बीरबल राम विशाल सिंह,अवनीश दीक्षित, मारुति नंदन मिश्र,अजय कुमार दीक्षित,मधुकर सिंह,पूजा गुप्ता,उर्मिला दीक्षित आदि उपस्थित रहे।


व्यवस्था के विरोध में हड़ताल पर रहें ऑटो चालक
अश्वनी उपाध्याय        गाज़ियाबाद। जनपद पुलिस ने शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए शहर में ऑटो रिक्शा के लिए रूट निर्धारित करने आरंभ कर दिए हैं। पुलिस की इस नई व्यवस्था के विरोध में आज गाज़ियाबाद के ऑटो चालक हड़ताल पर रहे। बिना किसी पूर्व सूचना के ऑटो चालकों के हड़ताल पर जाने से गाज़ियाबाद में दिनभर यात्री परेशान रहे। गाज़ियाबाद आटो रिक्शा चालक संघ के अध्यक्ष दिलशाद अहमद ने बताया कि आटो को लोनी, मोदीनगर और सदर तहसील का परमिट मिलता है। आटो चालक अपने क्षेत्र में कहीं की भी सवारी छोड़ सकते हैं। लेकिन हर आटो को सिर्फ एक रूट तक सीमित करने से यात्री परेशान होंगे। लोग आटो बुक कर अस्पताल, बैंक, स्कूल और आफिस जाते हैं। लेकिन रूट निर्धारण के बाद आटो चालक यात्रियों को गंतव्य तक नहीं छोड़ पाएंगे। इस योजना से आटो चालकों को आर्थिक नुकसान भी होगा।
ऑटो चालकों ने आरोप लगाया कि कलेक्ट्रेट पर धरने की सूचना के बावजूद जिलाधिकारी उनसे मिलने नहीं आए। ऑटो ट्रेड यूनियन से जुड़े राजेंद्र सिंह ने चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगो पर विचार नहीं किया गया तो वे 23 दिसंबर को गाज़ियाबाद में चक्का जाम कर देंगे।

जिंदगी से बेहतर हैं कफन 'संपादकीय'

जिंदगी से बेहतर हैं कफ़न     'संपादकीय'

बेहतर है मौंत फिर भी कि देती तो है कफ़न,
अगर ज़िन्दगी का बस चले, कपड़े उतार लेंं।

देश के बदलते सियासी परिवेश में जिस विशेष ब्यवस्था का संचालन हुआ। जो भी कुछ देश को मिला, वह आजकल हास्यस्पद बनकर दुनिया के फलक पर चर्चित हो गया है। एक साल तक चलता रहा किसान आन्दोलन। जगह-जगह होता रहा धरना-प्रदर्शन। मगर, सरकार झुकने को, किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं थी। तुगलकी फरमान जारी करने वाली सरकार आखिर चारों खाने चित्त हो गयी ? अपने ही जाल में फंस कर बुरी तरह फंस गयी ? हुआ वहीं, जो अन्नदाता चाह‌ रहे थे, सरकार को अपनी जीद्द छोड़नी पडी। इस मुद्दे पर सरकार की पूरे देश में किरकीरी भी हुई। कश्मीर में आर्टिकल 370 हटने के क़रीब ढाई साल बाद भी कश्मीर घाटी मे बाहरी लोगों ने एक भी घर नहीं खरीदा और न बनाया। एक भी प्लाट नहीं खरीदा, कश्मीरी पंडितों की भी नहीं हुयी घर वापसी फिर भी बटोर रहे हैं वाहवाही। 
56 इंच सीना वाले साहब शाबाश। नोटबंदी से सरकार आतंकवादियों की कमर तोड़ देने के दावे कर रही थी। लेकिन आतंकवाद नहीं रूका, इतना जरुर हुआ कि पत्थरबाजों का खात्मा हो गया। जीएसटी से देश और व्यापारियों की स्थिति सुदृढ़ होने के दावे बालू की दीवार सरीखे धाराशाही हो गये। 
तबाही में देश के व्यापारी और ब्यवसाई हो गये। आस्था के प्रवाह में मोदी की चाह मेअर्थव्यवथा चौपट हो गयी। प्रधानमंत्री, गृहमंत्री तथा वित्तमंत्री आपके दावों का क्या हुआ, न खातों में पैसा आया, न काला धन वापस आया, न देश की तकदीर बदली, न सीमा पर सैनिकों की शहादत रुकी। ढपोरशंखी सरकार के संचालकों ने जिस माहौल का निर्माण किया। उसमें उसमें केवल बैमनश्यता के पौधे हर जगह लहलहाने लगे हैं। झूठ-फरेब के सहारे जनता के दुलारे बनने का सपना अब धरातल पर कदम ताल ठोकने लगा है। ऑक्सीजन और दवा के अभाव में हजरो लोग तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिए। गोमती, सरयू और गंगा के किनारे हजारों शव बगैर अंतिम क्रिया, बिना कफ़न दफन हो गये ? धारा में बहा दिए गए। दहशत के आलम मे परिजन दहाड़े मार कर रोते रहे, अपनों को आंखों के सामने खोते रहे। हजारों परिवार अपने परिजनों को तलासते रह गये, किसी का पता तक नहीं चल सका।
राष्ट्रवादी लुटेरे तब भी मौका-ए-कब्रिस्तान और श्मशान से दूरी बनाते रहे। सियासत के सिपाही घरों में दुबके पड़े थे। गरीबों के मसीहा बनने वाले लापता थे। भला हो उस स्वाभिमानी पुलिस की वर्दी का, जो आखरी समय का साथी बनी। शवों को कन्धा देने से लेकर भूखे मरते लोगों के घरों में खाना देने तक का काम जान जोखिम में डालकर बेखौफ करती रही। सियासत के शागिर्द इस दर्द की दोपहरी में बिलुप्त हो गये। 
आखिर क्यो? 
ये तमाम सवाल अब यक्ष प्रश्न बनकर लोगों के जहन में है। महंगाई, बेरोजगारी, बेकारी और महामारी ने सामाजिक संतुलन को विखन्डित कर दिया है। हर आदमी सिसक रहा है, शिक्षा-दिक्षा व परीक्षा इस सरकार में सदियों के रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया है। झूठ की बुनियाद पर नव बिहान में तरक्की की इबारत तहरीर करने वाली मक्कार‌ सरकार। हर जगह फिजाओं में तैर रहे हैं दुख, हर आदमी मर्माहत है। आहत है, पेट्रोल से कमाए आठ लाख करोड़। बैंकों से कॉर्पोरेट के लोन राइट ऑफ कर गवाये छ: लाख करोड़। लगातार टैक्स बढ़ाकर लोगों के सर पर कर्जे चढ़ा कर भी हाथ तंग है। यह जान-सुनकर देश वासी दंग है। सब कुछ बिक रहा है, रेल बिका, भेल बिका, खेल बिका, मंहगा तेल बिका, अब जेल बिका, लाल किला बिका, कल कारखाने और मयखाने बिके। खेती किसानी के पैमाने बिके। अब सार्वजनिक बैंकों पर शनि की वक्र दृष्टी कायम है। अडानी व अम्बानी की दोस्ती का सवाल है ?
उनके सामने हर नाजायज काम जायज है। बस पूरे देश में यही बढ़ रहा बवाल है ? गजब साहब दोस्ती की मिसाल भी कमाल है। इस सदी में इतिहास रच दिया। दोस्तों का दामन इतना भर दिया है कि रस्क होने लगा है। काश कोई एक दोस्त अपना भी ऐसा होता। यह हर उद्योगपति के जहन में उठ रहा सवाल है ? देश के परिवेश में जिस तरह‌ के सियासी वातावरण का निवेश लगातार किया जा रहा है। निश्चित रुप से छांव के बाद धूप वाली बात को चरितार्थ कर रहा है। यह तो शास्वत सत्य है, बदलाव होना है। फिर जो बीज बोया है, उसे ही काटना है।
जो गड्ढा खोद रहे हो, उसे भी पाटना है।
इतिहास गवाह है, वजूद सबका मिटा है। 
चाहे तानाशाह हो या सत्यवादी शहंशाह हो। दुनिया उनके कर्मो को याद करती है। मगर हद से आगे जाकर केवल पश्चाताप ही हासिल होता है। जिसने भी सर्वे भवन्तु: सुखिन; सर्वे भवन्तु निरामय का तिरस्कार किया। उसका इतिहास भी विकृत हुआ है। बसुधैव कुटुंबकम् का सूत्र हमेशा इस समाज को प्रतिबिंबित करता रहा है। वर्तमान में हिन्दुस्तान की सियासी जमीन में दल दर-दर भटक रहा है। जिसका परिणाम आने वाले कल में काफी घातक हो सकता है। 'सबका साथ सबका विकास' तो कहीं नहीं दिखता। अब फिर नये-नये नारे बनाने का क्या फायदा ?  सर्वनाश का इतिहास इस सदी में हमेशा चटकारे लेकर पढा जायेगा।
साये की तरह बढ़ न कभी, कद से ज्यादा।
थक जायेगा अगर भागेगा, हद से ज्यादा।
जगदीश सिंह      

2023 को पाकिस्तान लौटेगी 'न्यूजीलैंड' क्रिकेट टीम

2023 को पाकिस्तान लौटेगी 'न्यूजीलैंड' क्रिकेट टीम    

मोमीन मलिक        इस्लमाबाद। इस साल दौरा रद्द करने वाली न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम अप्रैल 2023 में सीमित ओवरों के दस मैचों के लिये पाकिस्तान लौटेगी। न्यूजीलैंड ने इस साल रावलपिंडी में पहले वनडे के लिये टॉस होने से ठीक पहले सुरक्षा कारणों से सीमित ओवरों का दौरा रद्द कर दिया था।

इसके बाद टी20 विश्व कप से ठीक पहले इंग्लैंड ने भी संक्षिप्त दौरा रद्द कर दिया। अप्रैल 2023 में न्यूजीलैंड के पाकिस्तान दौरे पर पांच वनडे और पांच टी20 मैच खेलेगी। तारीखों और वेन्यू को लेकर अभी फैसला नहीं लिया गया है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि न्यूजीलैंड टीम दिसंबर 2022 में पाकिस्तान दौरा करके दो टेस्ट खेलेगी। जो विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा होंगे।

कच्ची हल्दी का सेवन करना फायदेमंद, जानिए

मो. रियाज        कच्ची हल्दी का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होता है। हल्दी में कई पोषक तत्व होते हैं। कच्ची हल्दी में करक्यूमिन नाम का तत्व पाया जाता है। इसके अलावा हल्दी में एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जिससे इंफेक्शन और सूजन में भी आराम मिलता है। इसके अलावा हल्दी में मैंगनीज, आयरन, पोटैशियम और विटामिन सी भी पाए जाते हैं। जो स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। लेकिन कच्ची हल्दी के उपयोग की कुछ सावधानियां भी हैं। कच्ची हल्दी के उपयोगा और सावधानियों के बारे में बता रहे हैं आयुर्वेदाचार्य डॉ राहुल चतुर्वेदी। 

1. सूजन कम करने में फायदेमंद: कच्ची हल्दी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। कच्ची हल्दी का इस्तेमाल घाव होने पर या जोड़ों में दर्द होनेे पर भी किया जाता है। कच्ची हल्दी फ्री रेडिक्लस को कम कर नैचुरल सेल्स को बढ़ावा देता है, जिससे गाठिया के दर्द में आराम मिलता है। इसके अलावा सर्दियों में अन्य किसी सामान्य दर्द में भी लोग कच्ची हल्दी का सेवन कर सकते हैं या उसे दर्द वाले हिस्से में लगा सकते हैं।

2. डायबिटीज रोगियों के लिए असरदार: सर्दियों में कच्ची हल्दी डायबिटीज रोगियों के लिए भी बहुत अच्छी मानी जाती है। इसकी मदद से खून में इंसुलिन और शुगर के स्तर को नियंत्रित रखता है। लेकिन अगर आपको शुगर लेवल अधिक बढ़ा हुआ है या आप हाई डोज ले रहे हैं तो कच्ची हल्दी खाने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए क्योंकि उस स्थिति में इसके नुकसान भी हो सकते हैं।

3. इम्यून सिस्टम को बनाए मजबूत: हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो शरीर को रोग से लड़ने के लिए सक्षम बनाता है। इसके सेवन से आपकी इम्यूनिटी अच्छी रहती है। इसके अलावा फंगल इंफेक्शन होने पर या वायरल फीवर होने पर भी कच्ची हल्दी का सेवन कर सकते हैं। 

एक्ट्रेस उर्फी ने अपनी बोल्ड तस्वीरें शेयर की: मुंबई

एक्ट्रेस उर्फी ने अपनी बोल्ड तस्वीरें शेयर की: मुंबई
कविता गर्ग             
मुबंई। फैशन क्वीन उर्फी जावेद सिर्फ ग्लैमरस और ब्यूटीफुल ही नहीं हैं। बल्कि काफी ज्यादा बोल्ड और बिंदास भी हैं। यह बात तो आप अब तक जान ही चुके होंगे, तभी तो हर बार ट्रोल होने के बावजूद भी उर्फी हार नहीं मानती। बल्कि अपनी कुछ और बोल्ड तस्वीरें शेयर करके ट्रोलर्स को करारा जवाब देती हैं। बिकिनी तस्वीरों और अतरंगी आउटफिट्स पर ट्रोल होने के बाद उर्फी ने बीते दिन ब्लू प्रिंटेड मोनोकनी में अपनी कुछ नई तस्वीरें शेयर कीं। मोनोकनी में उर्फी की तस्वीरें वाकई बेहद सिजलिंग और बोल्ड हैं। ओरा ब्लैक मोनोकनी में आई नजर, कातिलाना अंदाज में एक्ट्रेस ने कैमरे के सामने दिए पोज एक्ट्रेस के कुछ फैंस को तो उनके हर लुक की तरह मोनोकनी फोटोज भी काफी पसंद आईं। लेकिन कई सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें बोल्ड तस्वीरें शेयर करने पर एक बार फिर से ट्रोल करना शुरू कर दिया। कई यूजर्स तो उर्फी को धर्म याद दिला रहे हैं। 
एक यूजर ने उर्फी को ट्रोल करते हुए लिखा- मुस्लिम होकर कैसे कपड़े पहन रही है। मजहब की तो थोड़ी शर्म कर लेती। एक यूजर ने लिखा- यह लुक बिल्कुल अच्छा नहीं है। ट्रोलिंग का सिलसिला यहीं तक नहीं थमा। कुछ यूजर्स ने तो उर्फी के फोटो के कमेंट सेक्शन में उन्हें पोर्न वीडियो बनाने की सलाह तक दे डाली और उन्हें मिया खलीफा से कंपेयर किया। यूजर ने लिखा- पोर्न वीडियो बना लो जाकर, बिल्कुल तैयार हो, मिया खलीफा 2.0. ट्रोल किया। दरअसल, उर्फी की मोनोकनी में यह तस्वीरें पूल की हैं। उर्फी के लुक की बात करें तो वो ब्लू मोनोकनी में पूल में खड़े होकर काफी सिजलिंग पोज दे रही हैं। एक्ट्रेस ने न्यूड ग्लॉसी मेकअप के साथ अपने बालों को खुला रखा है। सनक्सिस्ड तस्वीरों में उर्फी अपने जलवे बिखेर रही हैं। उर्फी जावेद अब आगे किस लुक में नजर आती हैं यह देखने वाली बात होगी। 
एक्ट्रेस मोनालिसा ने इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर की
कविता गर्ग    
मुबंई। भोजपुरी सेंसेशन मोनालिसा आए दिन अपनी फोटो और वीडियो के जरिए सुर्खियां बटोरती हुई नजर आती हैं। एक बार फिर से ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है। हाल ही में मोनालिसा ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर की है। मोनालिसा की इस फोटो ने सोशल मीडिया पर हड़कंप मचा दिया है। फोटो में मोनालिसा का बेहद ही सिजलिंग लुक देखने को मिल रहा है। एक्ट्रेस की इस फोटो से नजरें हटा पाना भी मुश्किल हो जाएगा। फैंस मोनालिसा की इस फोटो पर जमकर लाइक्स और कमेंट्स की बौछार करते हुए दिखाई दे रहे हैं। आप भी मोनालिसा की लेटेस्ट फोटो देख उनके फैन बन जाएंगे। आई नजर, कातिलाना अंदाज में एक्ट्रेस ने कैमरे के सामने दिए पोज मोनालिसा ने इंस्टाग्राम पर अपनी जो फोटो शेयर की है। उसमें वो व्हाइट क्रॉप टाप और ब्लैक डेनिम हॉट पैंट पहने हुए नजर आ रही हैं। फोटो में मोनालिसा सोफे पर दिलकश पोज देती हुई नजर आ रही हैं। मोनालिसा का ये कातिलाना लुक देखकर फैंस क्रेजी होते हुए नजर आ रहे हैं। मोनालिसा ने अपनी फोटो को कुछ देर पहले ही शेयर की है। 
इतनी देर में ही 35 हजार से भी ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं। इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि फैंस एक्ट्रेस की फोटो को कितना पसंद कर रहे हैं। इंस्टाग्राम पर मोनालिसा की शानदार फैन फॉलोइंग देखने को मिलती है। इंस्टाग्राम पर 4.9 मिलियन फॉलोवर्स मोनालिसा  को फॉलो करते हैं। मालूम हो भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री का मोनालिसा  एक बड़ा नाम है। अपने करियर में एक्ट्रेस  ने कई सपुरहिट फिल्में दी हैं। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अपना करियर बनाने के बाद मोनालिसा ने छोटे पर्दे की तरफ रुख कर लिया। सबसे पहले मोनालिसा को सलमान खान  के शो बिग बॉस 10 में देख गया था। बिग बॉस के घर में ही मोनालिसा ने अपने बॉयफ्रेंड विक्रांत संग शादी कर ली।

वार्ड बाय बनाने के नाम पर ठगी, शिकायत दर्ज की

वार्ड बाय बनाने के नाम पर ठगी, शिकायत दर्ज की
दुष्यंत टीकम 
रायपुर। छत्तीसगढ़ एम्स में वार्ड बाय बनाने के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। ठगी की शिकायत एसपी प्रशांत अग्रवाल से की गई है। शिकायत में प्रार्थी जिवराखन पटेल और उसके तीन अन्य सफाईकर्मी साथियों को वार्ड बाय बनाने का झांसा देकर रकम ले ली। इसके बाद न तो नौकरी लगवाई और न ही रकम वापस की। 
जब पीड़ितों ने रकम वापसी का दबाव बनाया तो ठग भाइयों ने रकम लेन-देन का एग्रीमेंट कर अप्रैल, 2021 में रकम वापसी की बात कही, लेकिन रकम नहीं लौटाई। इस पर पीड़ितों ने मिलकर पुलिस में शिकायत की। ठगी भी एम्स में सफाई कर्मचारियों के साथ हुई है। चार लोगों से ठगों ने 5.70 लाख रुपये लिए हैं। मामले में एसएसपी ने संबंधित थाना प्रभारी को जांच के निर्देश दिए हैं।

तमंचा व कारतूस के साथ अभियुक्त गिरफ्तार किया
संदीप मिश्र       
बस्ती। सोमवार को एक तमंचा 315 बोर व एक कारतूस 315 बोर के साथ अभियुक्त फैजान कुरैशी पुत्र फरियाद कुरेशी निवासी मोहम्मदपुर थाना कलवारी जनपद बस्ती को गिरफ्तार किया गया। 
जिसके सम्बन्ध में थाना कलवारी जनपद बस्ती पर मु.अ.स, धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत कर माननीय न्यायालय बस्ती रवाना किया गया।
गिरफ्तार करने वाली टीम में उ.नि राम वशिष्ठ थाना कलवारी जनपद बस्ती,हे.का. अरविन्द यादव थाना कलवारी जनपद बस्ती,का. धीरज पाण्डेय थाना कलवारी जनपद बस्ती रहे।

कोरोना टीके की अतिरिक्त खुराक देने की अपील

कोरोना टीके की अतिरिक्त खुराक देने की अपील     

अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। ओमीक्रोन के खतरे के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि शहर में कोरोना वायरस के सभी नए मामले जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे। उन्होंने केंद्र से स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अन्य लोगों के लिए कोविड रोधी टीके की अतिरिक्त खुराक की अनुमति देने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि ओमीक्रोन स्वरूप के मद्देनजर घबराने की कोई बात नहीं है। केजरीवाल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पिछले कुछ दिनों से शहर में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं। कल (रविवार को), यह 100 से ज्यादा थे। हमें नहीं पता कि यह किस तरह के कोविड मामले हैं, सामान्य या ओमीक्रोन स्वरूप के मामले हैं। 

इसलिए यह पता लगाने के लिए सभी संक्रमित मामलों के नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे।” उन्होंने केंद्र सरकार से ओमीक्रोन जैसे कोरोना वायरस के नये स्वरूपों से लड़ने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों और अन्य नागरिकों के लिए अतिरिक्त खुराक की मंजूरी देने का भी आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि विशेषज्ञों ने सोमवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में कहा कि ओमीक्रोन बहुत तेजी से फैलता है लेकिन इसके लक्षण हल्के होते हैं। केजरीवाल ने कहा, “हम घरों में एकांतवास (होम आइसोलेशन) की व्यवस्था को मजबूत करेंगे क्योंकि ज्यादातर मामलों में अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होगी। ओमीक्रोन स्वरूप को देखते हुए घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि अगर कोई प्रसार होता है तो अस्पतालों में हमारे पास पर्याप्त व्यवस्था है।”

दिल्ली में सोमवार को ओमीक्रोन स्वरूप के दो और मामले सामने आने के बाद इस स्वरूप से संक्रमित लोगों की संख्या 24 हो गई। केजरीवाल ने लोगों से अपनी सुरक्षा कम नहीं करने और वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मास्क पहनना शुरू करने की अपील की।

ओबीसी को दिया जाने वाला आरक्षण निरस्त, चिंता

मनोज सिंह ठाकुर      भोपाल। मध्यप्रदेश में आगामी पंचायत चुनाव में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को दिया जाने वाला आरक्षण उच्चतम न्यायालय की ओर से निरस्त किए जाने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने इस पर चिंता जताते हुए कहा है कि उन्होंने इस बारे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात की है और राज्य सरकार को इस मामले में रास्ता निकालना चाहिए। उमा भारती ने आज इस बारे में अपने ट्वीट करते हुए कहा कि पंचायत चुनावों में ओबीसी आरक्षण पर लगी हुई न्यायिक रोक चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस विषय में आज सुबह मुख्यमंत्री चौहान से फोन पर बात की। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि ओबीसी आरक्षण के बिना राज्य में पंचायत का चुनाव मध्यप्रदेश की लगभग 70 फीसदी आबादी के साथ अन्याय होगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत चुनाव में पिछड़े वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित करने का समाधान किए बिना पंचायत चुनाव ना हों, इसका रास्ता राज्य सरकार को निकालना ही चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री चौहान ने जानकारी दी है कि वे इस विषय पर विधि विशेषज्ञों से परामर्श कर रहे हैं। पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण को लेकर इस समय राज्य में राजनीति जोरों पर है। भारतीय जनता पार्टी ने इसका ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ते हुए कहा है कि कांग्रेस ने उच्चतम न्यायालय में गलत तर्क पेश किए, जिसके चलते न्यायालय ने ओबीसी आरक्षण पर रोक लगा दी।

लोकप्रियता को कुचलने का प्रयास कर रहीं सरकार
कोच्चि। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने सोमवार को कहा कि केरल सरकार दो नेताओं की हत्या में शामिल लोगों को बचाने सहित कई तरह के हथकंडे अपनाकर दक्षिणी राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की बढ़ती लोकप्रियता को कुचलने का प्रयास कर रही है। नित्यानंद राय, दिवंगत भाजपा नेता रंजीत श्रीनिवास को श्रद्धांजलि देने केरल पहुंचे हैं। श्रीनिवास की रविवार सुबह अलप्पुझा में उनके घर के अंदर हमलावरों के एक समूह द्वारा हत्या कर दी थी। श्रीनिवास, राज्य में पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चे के सचिव थे। पुलिस ने कहा था कि ऐसा संदेह है कि शनिवार को सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के राज्य सचिव केएस शान की हत्या के प्रतिशोध में श्रीनिवास की हत्या की गई।

केन्द्रीय मंत्री ने पत्रकारों से कहा कि केरल में कानून-व्यवस्था की स्थिति ‘खराब’ है जिसके चलते हत्या की ये घटनाएं हो रही हैं। मंत्री ने कहा, ” राज्य सरकार हरेक तरीके से, भाजपा की बढ़ती लोकप्रियता और उसके लिए जनता के बढ़ते समर्थन को कुचलने की कोशिश कर रही है। ऐसा करने के लिए वह हत्या में शामिल लोगों को बचा रही है।

मंत्री ने कहा कि वह केवल राज्य सरकार से यही कहना चाहते हैं कि वह इन मामलों की उचित तरीके से जांच करे और दोषियों को गिरफ्तार करे। इन घटनाओं के बाद अलप्पुझा जिले में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है और सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। जिला अधिकारियों ने बताया कि सर्वदलीय बैठक सोमवार की दोपहर में होगी।


सुविधा प्रदान करने पर चर्चा, कार्यस्थगन का नोटिस 
अकांशु उपाध्याय         नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख के सीमावर्ती इलाकों में स्थानीय लोगों को चारागाह भूमि तक निर्बाध पहुंच की सुविधा प्रदान करने पर चर्चा कराने की मांग को लेकर सोमवार को लोकसभा में कार्यस्थगन का नोटिस दिया। लोकसभा महासचिव को दिए गए नोटिस में कांग्रेस नेता ने आग्रह किया है कि सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों के चारागाह के अधिकार के महत्वपूर्ण विषर्य पर चर्चा की जाए।

उन्होंने कहा कि जहां तक पारंपरिक रूप से लोग चारे के लिए जाते थे वहां तक निर्बाध पहुंच सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाएं। उधर, कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कानून मंत्रालय की ओर से मुख्य चुनाव आयुक्त और चुनाव आयुक्तों को ‘तलब किए जाने’ के विषय को लेकर कार्यस्थगन का नोटिस दिया।

महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री देवेंद्र होगें: शिवसेना

कविता गर्ग      मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का यह दावा “वास्तविकता से बहुत दूर” है कि उन्होंने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह स्पष्ट कर दिया था कि 2019 के राज्य विधानसभा चुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के देवेंद्र फडणवीस ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे। राउत ने दिल्ली में संवाददाताओं से बातचीत में आरोप लगाया कि वह भाजपा थी जिसने सत्ता में बड़ी हिस्सेदारी के लिए शिवसेना को ‘धोखा’ दिया था। शिवसेना के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी हिंदुत्व को कभी नहीं छोड़ेगी। उद्धव ठाकरे नीत पार्टी ने 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा से नाता तोड़ लिया था जब मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर दोनों दलों के बीच मतभेद उभर आए थे।

भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद शिवसेना ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर राज्य में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार बनाई। शाह ने रविवार को अपने पुणे दौरे पर कहा कि उन्होंने और प्रधानमंत्री मोदी ने साफ कर दिया था कि 2019 के विधानसभा चुनाव के बाद फडणवीस ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। ठाकरे और शिवसेना पर निशाना साधते हुए, शाह ने कहा था, “क्योंकि आपको मुख्यमंत्री बनना था, इसलिए आपने भाजपा को धोखा दिया और सत्ता के लिए हिंदुत्व से समझौता कर मुख्यमंत्री बन गए।

'ओमीक्रोन' के संक्रमितों की संख्या-19 हुईं: महाराष्ट्र

बेंगलुरु। कर्नाटक में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के पांच नए मामले सामने आए हैं और इसी के साथ राज्य में इस नए स्वरूप से संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 19 हो गई है। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के. सुधाकर के अनुसार, ये पांच मामले शिवमोगा जिले के धारवाड़ तथा भद्रावती और उडुपी एवं मंगलुरु में रविवार को सामने आए।

उन्होंने बताया कि धारवाड़ में 54 वर्षीय एक व्यक्ति, भद्रावती में 20 वर्षीय एक युवती, उडुपी में 82 वर्षीय व्यक्ति और 73 वर्षीय एक महिला और मंगलुरु में 19 वर्षीय एक युवती ओमीक्रोन से संक्रमित मिली। विभाग ने बताया कि इनमें से किसी में बीमारी के लक्षण नहीं है।

अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे 'चुनाव' आयुक्त

पंकज कपूर       देहरादून। प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लगने की तारीख नजदीक आ गई है। इस संबंध में केंद्रीय चुनाव आयोग ने तैयारियों को अंतिम रूप देने का मन बना लिया है। उत्तराखंड में मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा 23 दिसंबर को देहरादून पहुंचेंगे। वह यहां 2 दिन तक प्रवास करेंगे। इस दौरान वह मुख्य चुनाव आयुक्त आला अधिकारियों तथा पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। चुनाव आयोग की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार 23 दिसंबर को शाम 5:00 बजे देहरादून पहुंच कर वह राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करेंगे इसके बाद वह सभी 13 जिलों के डीएम एसएसपी समेत मुख्य चुनाव अधिकारी के साथ बैठक कर चुनाव के संबंध में रोड मैप की जानकारी लेंगे।

24 दिसंबर को ही वह मुख्य सचिव चुनाव व्यय एवं निगरानी अधिकारी तथा डीजीपी के साथ बैठक करेंगे। प्रशासनिक अमले के साथ हुई तैयारी के बारे में वह 24 तारीख को शाम को पत्रकार वार्ता करेंगे उसके बाद वह दिल्ली को रवाना हो जाएंगे। चुनाव आयोग की सक्रियता के बाद राजनीतिक दोनों ने अपने चुनावी अभियान मैं तेजी ला दी है। सरकार भी शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रमों की लगातार झड़ी लगाए हुए हैं तथा सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं के साथ ही प्रधानमंत्री गृह मंत्री और रक्षा मंत्री के दोनों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

3 करोड़, 93 लाख रूपए की राशि जारी की: सीएम

दुष्यंत टीकम        रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 20 दिसम्बर को दोपहर 12 बजे अपने निवास कार्यालय में आयोजित गोधन न्याय योजना के राशि अंतरण कार्यक्रम में पशुपालक ग्रामीणों, गौठानों से जुड़ी महिला समूहों और गौठान समितियों को 3 करोड़, 93 लाख रूपए की राशि ऑनलाइन जारी करेंगे। जिसमें एक दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक राज्य के गौठानों में पशुपालक ग्रामीणों, किसानों, भूमिहीनों से गोधन न्याय योजना के तहत क्रय किए गए गोबर के एवज में 2 करोड़ 63 लाख रूपए भुगतान तथा गौठान समितियों को 79 लाख और महिला समूहों को 51 लाख रूपए की लाभांश राशि शामिल हैं। मुख्यमंत्री इस अवसर पर गौठान मेप एप का भी शुभारंभ करेंगे। इस ऐप के माध्यम से गौठान में संचालित समस्त गतिविधियों जैसे गोबर खरीदी ,भुगतान, गौठान से जुड़ी महिला स्व सहायता समूह की आय मूलक गतिविधियों के तहत उत्पादित सामग्री, दर एवं विक्रय की अद्यतन जानकारी मिल सकेगी।

यहां यह उल्लेखनीय है कि गोधन न्याय योजना के तहत गौठानों में ग्रामीणों से 2 रूपए की दर से गोबर की खरीदी की जा रही है। राज्य में इस योजना की शुरूआत 20 जुलाई 2020 को हरेली पर्व से हुई थी। 20 जुलाई 2020 से लेकर 15दिसम्बर 2021 तक की स्थिति में 58.32 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है, जिसके एवज में गोबर बेचने वालों को अब तक 114 करोड़ रूपए का भुगतान भी किया जा चुका है। गौठानों में गोबर से महिला स्व सहायता समूह बड़े पैमाने पर वर्मी कम्पोस्ट, सुपर कम्पोस्ट, सुपर कम्पोस्ट प्लस एवं अन्य उत्पाद तैयार कर रही हैं।

महिला समूहों द्वारा गौठानों में अब तक 9 लाख 69 हजार क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट तथा 4 लाख 21 हजार क्विंटल से अधिक सुपर कम्पोस्ट खाद का निर्माण किया जा चुका है, जिसे सोसायटियों के माध्यम से शासन के विभिन्न विभागों एवं किसानों को रियायती दर पर प्रदाय किया जा रहा है। महिला समूह गोबर से खाद के अलावा गो-कास्ट, दीया, अगरबत्ती, मूर्तियां एवं अन्य सामग्री का निर्माण एवं विक्रय कर लाभ अर्जित कर रहीं हैं। गौठानों में महिला समूहों द्वारा इसके अलावा सब्जी एवं मशरूम का उत्पादन, मुर्गी, बकरी, मछली पालन एवं पशुपालन के साथ-साथ अन्य आय मूलक विभिन्न गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है |

जिससे महिला समूहों को अब तक 48 करोड़ 20 लाख रूपए की आय हो चुकी हैं। राज्य में गौठानों से 9321 महिला स्व सहायता समूह सीधे जुड़े हैं, जिनकी सदस्य संख्या लगभग 67,272 है। गौठानों से जुड़ने और गोधन न्याय योजना से महिला समूहों में स्वावलंबन के प्रति एक नया आत्म विश्वास जगा है। गौठानों में क्रय गोबर से विद्युत उत्पादन की शुरूआत की जा चुकी है। गोबर से प्राकृतिक पेंट बनाने के लिए कुमारप्पा नेशनल पेपर इंस्टिट्यूट जयपुर, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय भारत सरकार के खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड एवं छत्तीसगढ़ गौ सेवा आयोग के मध्य एमओयू हो चुका है।

राज्य में गोधन के संरक्षण और सर्वधन के लिए गांवों में गौठानों का निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। गौठानों में पशुधन देख-रेख, उपचार एवं चारे-पानी का निःशुल्क बेहतर प्रबंध है। राज्य में अब तक 10584 गांवों में गौठानों के निर्माण की स्वीकृति दी गई है, जिसमें से 7836 गौठान निर्मित एवं संचालित हैं। जिसमें से 2029 गौठान आज की स्थिति में स्वावलंबी हो चुके हैं। गोधन न्याय योजना से लगभग 2 लाख ग्रामीण, पशुपालक किसान लाभान्वित हो रहे हैं। गोबर बेचकर अतिरिक्त आय अर्जित करने वालों में 45 प्रतिशत संख्या महिलाओं की हैं। इस योजना से 89 हजार 892 भूमिहीन परिवार भी लाभान्वित हो रहे हैं।

प्रवास पर टिकैत की स्थानीय नेताओं से मुलाकात

दुष्यंत टीकम         रायपुर। केंद्र सरकार के कृषि कानून विरोधी आंदोलन का प्रमुख चेहरा रहे भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत छत्तीसगढ़ प्रवास पर हैं। एक निजी कार्यक्रम में शामिल हाेने आए टिकैत ने कांग्रेस के स्थानीय नेताओं, किसान संगठनों के प्रतिनिधियों और सिख संगठनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने दो टूक कहा, सरकार जिन फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करती है उसे लीगलाइज कर दे। बाद में दूध और सब्जियों की एमएसपी पर भी बात होती रहेगी। कांग्रेस विधायक कुलदीप जुनेजा के यहां पत्रकारों से चर्चा में राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली का कार्यक्रम सफल रहा। यहां के लोगों का भी उसमें बड़ा सहयोग रहा। संयुक्त किसान मोर्चा में जो तय होता था, उसके आधार पर रायपुर और छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों में कार्यक्रम होते थे।

टिकैत ने कहा, अभी भी एमएसपी का एक बड़ा सवाल बचा हुआ है। मीडिया और सरकारों के जरिए यह बात जनता के बीच पहुंच गई है। अब आगे सरकार से बातचीत कर उसका समाधान निकालेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार अभी जितनी फसलों के लिए एमएसपी घोषित करती है उसे ही लीगलाइज कर दे। एक बार वह हो गया तो आगे दूध और सब्जियों पर भी बात होगी। केंद्र सरकार की ओर से तीनों कानून वापस लेने की वजह पूछे जाने पर टिकैत ने कहा, सरकार ने हमारा काम कर दिया। खामखां सरकार के कान में उंगली डालकर नहीं खुजाया करते।

एमएसपी देने से कृषि उत्पादों की कीमतें बढ़ जाने के कुछ विशेषज्ञों के दावों से जुड़े सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा, ऐसे विशेषज्ञों को हम भी ढूंढ रहे हैं। ये कौन लोग हैं। हमें तो ऐसे एक भी विशेषज्ञ नहीं मिले। टिकैत ने कहा, हमें एमएसपी दिलवा दो सरकार को टैक्स भी ज्यादा मिलेगा। हम सरकार को यह गणित बता देंगे। उन्होंने कहा, ऐसे ही विशेषज्ञ सरकार को गलत राय दे रहे हैं।

स्थानीय प्राधिकरणों में हड़ताल, 6 माह प्रतिबंध 

संदीप मिश्र         लखनऊ। योगी सरकार ने यूपी में छह माह के लिए हड़ताल पर प्रतिबंध लगा दिया है। अपर मुख्य सचिव कार्मिक डा. देवेश कुमार चतुर्वेदी ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। इसमें कहा गया है कि उत्तर प्रदेश के राज्य कार्य-कलापों से संबंधित किसी लोक सेवा, निगमों और स्थानीय प्राधिकरणों में हड़ताल पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। इसके बाद भी हड़ताल करने वालों के खिलाफ विधिक व्यवस्था के तहत कार्रवाई की जाएगी। बता दें इसी साल मई में यूपी सरकार ने छह महीने के लिए हड़ताल पर प्रतिबंध लगाया था. उस दौरान कोरोना संकट जारी था।

सीएम योगी ने कोविड की समस्याओं को देखते हुए एम्सा एक्ट लागू करके हड़ताल पर प्रतिबंध लगा दिया था। योगी सरकार के इस फैसले के बाद लोक सेवाएं, प्राधिकरण, निगम समेत सभी सरकार विभागों में काम कर रहे।कर्मचारियों की ओर से समय-समय पर होने वाली हड़ताल पर रोक लगा दी गई थी। अधिनयिम 1966 के तहत यूपी सरकार की ओर से लागू किए गए एस्मा एक्ट को राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद लागू किया जाता है। एम्सा एक्ट प्रदर्शन और हड़ताल करने वालों के लिए बनाया है।

इसके लागू होने के बाद प्रदेश में कहीं भी प्रदर्शन या हड़ताल पूरी तरह बैन कर दिए जाते हैं। इस एक्ट को पिछले साल यूपी सरकार ने लागू किया था, जिसे नवंबर पिछले साल ही नवंबर में छह महीने के लिए आगे बढ़ाया गया था। एस्मा एक्ट लगने के बाद भी अगर कोई कर्मचारी हड़ताल या प्रदर्शन करते पाया जाता है तो हड़ताल करने वालों को एक्ट का उल्लंघन के आरोप सरकार की ओर से बिना वारंट के गिरफ्तार करके कानूनी कार्रवाई की जाती है।


नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई 

कविता गर्ग      मुंबई। कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के फैलने की आशंका के बीच, बृहन्मुंबई नगरपालिका (बीएमसी) के आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने नागरिकों से आगामी क्रिसमस त्योहार और नए साल के दौरान सभाओं तथा पार्टियों से बचने की अपील की है और नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में ओमीक्रोन स्वरूप के अब तक 54 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 22 मामले मुंबई में सामने आए हैं जिनमें से कुछ का यहां अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर जांच के दौरान पता चला। रविवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति में, चहल ने कहा कि नए वायरस स्वरूप ओमीक्रोन के कारण दुनिया के कई देशों में स्थिति एक बार फिर नियंत्रण से बाहर हो गई है और लॉकडाउन जैसे हालात पैदा हो गए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए सरकार और प्रशासन द्वारा बार-बार अपील करने के बावजूद, अधिकतर स्थानों पर दिशानिर्देशों का ठीक से पालन नहीं किया जा रहा है। विशेष रूप से शादी समारोहों और अन्य समारोहों में, और ऐसे आयोजनों में बढ़ती भीड़ को रोकने की आवश्यकता है।

चहल ने नागरिकों से शादियों और अन्य समारोहों में उपस्थिति के संबंध में नियमों का सख्ती से पालन करने को कहा। नगरपालिका आयुक्त ने कहा, “किसी भी प्रकार की भीड़भाड़ से बचें, मास्क पहनें और कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करें। सभी नागरिकों को पूरी तरह से टीका भी लगवाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि लोगों को होटलों, रेस्तरां, मॉल और अन्य स्थानों पर भी सभी नियमों का पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बीएमसी निकाय ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए वार्ड स्तर पर दस्ते तैनात किए हैं। चहल ने कहा, “कोविड​​-19 नियमों का उल्लंघन करने वालों से बीएमसी की वार्ड स्तर की टीमों के साथ-साथ मुंबई पुलिस प्रशासन द्वारा सख्ती से निपटा जाएगा।


विधानसभा अध्यक्ष की अध्यक्षता में बैठक संपन्न हुईं

मनोज सिंह ठाकुर       भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा का पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र आज से प्रारंभ हो रहा है। सत्र के पहले कल विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक संपन्न हुईं। बैठक में सरकार के कई मंत्री और विपक्ष के नेता शामिल हुए। 

विधानसभा के शीतकालीन सत्र के हंगामेदार रहने की संभावना जताई जा रही है। सत्र के दौरान पंचायत चुनाव में पिछड़ा वर्ग आरक्षण और राज्य में खाद की आपूर्ति जैसे विषयों पर हंगामा होने की पूरी संभावना है।

21 दिसंबर को प्रयागराज का दौरा करेगें 'पीएम'

अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 दिसंबर को प्रयागराज का दौरा करेंगे और दो लाख से अधिक महिलाओं की मौजूदगी वाले एक अनोखे कार्यक्रम में भाग लेंगे। उनके कार्यालय ने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने बताया कि यह कार्यक्रम महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए विशेष रूप से जमीनी स्तर पर, उन्हें आवश्यक कौशल, प्रोत्साहन और संसाधन प्रदान करने के प्रधानमंत्री मोदी के दृष्टिकोण के अनुरूप आयोजित किया जा रहा है।

पीएमओ ने कहा कि वह स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) के खातों मे 1000 करोड़ रुपये की राशि हस्तांतरित करेंगे जिससे लगभग 16 लाख महिला सदस्यों को लाभ पहुंचेगा। उसने बताया कि यह हस्तांतरण दीनदयाल उपाध्याय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई) के तहत किया जाएगा ,जिसमें 80,000 एसएचजी को प्रति एसएचजी 1.10 लाख रुपये का सामुदायिक निवेश कोष (सीआईएफ) प्राप्त होगा और 60,000 एसएचजी को प्रति एसएचजी 15,000 रुपये की चक्रीय (रिवॉल्विंग) निधि प्राप्त होगी।

मीडिया की स्वतंत्रता के लिए सड़कों पर लोग: रक्षा

मीडिया की स्वतंत्रता के लिए सड़कों पर लोग: रक्षा  

सुनील श्रीवास्तव       वारसा। पोलैंड की दक्षिणपंथी सरकार द्वारा निशाना बनाए जा रहे अमेरिकी स्वामित्व वाले एक टेलीविजन चैनल के बचाव में और मीडिया की स्वतंत्रता की रक्षा के लिए समूचे देश में लोग रविवार को सड़कों पर उतर आए। प्रदर्शनकारियों में बुजुर्ग भी शामिल थे, जिन्होंने दशकों पहले देश के साम्यवादी शासन का विरोध किया था और जो इस बात से चिंतित हैं कि जिस लोकतंत्र की स्थापना में उन्होंने मदद की, वह अब खत्म होता जा रहा है। कई नागरिक मानते हैं कि पोलैंड की जनवादी दक्षिणपंथी सरकार देश को पश्चिम सभ्यता से दूर कर रही है और अदालतों पर राजनीतिक नियंत्रण लगाने तथा आलोचनात्मक मीडिया को चुप कराने के प्रयासों के साथ तुर्की या रूस से करीब समझे जाने वाले एक सत्तावादी मॉडल को अपना रही है।

मुख्य विपक्षी दल के नेता डोनाल्ड टस्क ने देश के नागरिकों से एकजुटता दिखाने और नेतृत्व बदलने का आह्वान किया। संसद ने डिस्कवरी इंक को पोलैंड के सबसे बड़े टेलीविजन नेटवर्क टीवीएन में अपने नियंत्रण वाले हिस्से को बेचने के लिए मजबूर करने संबंधी एक विधेयक शुक्रवार को पारित किया था, जिसके बाद विरोध प्रदर्शन किए गए।

खड्ड में गिरा लोगों का समूह, 23 लोग घायल: हादसा

अखिलेश पांडेय      मेक्सिको सिटी। दक्षिणी मेक्सिको में पैदल यात्रियों के लिए बनाए गए पुल के रविवार को ढहने से क्रिसमस की पार्टी में जा रहा लोगों का एक समूह खड्ड में गिर गया, जिससे 23 लोग घायल हो गए। प्रशांत तटीय राज्य ओक्साका के नागरिक सुरक्षा कार्यालय के अनुसार, क्रिसमस पार्टी में जा रहे सैंटोस रेयेस नोपाला के निवासी पुल से गुजर रहे थे, तभी वह ढह गया।

कार्यालय के अनुसार, घायलों में 12 व्यस्क और 11 बच्चे शामिल हैं, जिन्हें प्योर्टो एस्कोंडिडो के पास एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मेक्सिको में अधिकांश पुल स्टील की केबल और लकड़ी के तख्तों से बने हैं, लेकिन कुछ रस्सियों से भी बने हैं। यह पुल किस प्रकार का था, इसका अभी पता नहीं चल पाया है।

सरकार के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया: राष्ट्रपति

सुनील श्रीवास्तव      सैंटियागो। चिली में वामपंथी गेब्रियल बोरिक ने राष्ट्रपति चुनाव में जीत दर्ज की। ग्रेबियल ने 56 प्रतिशत मत हासिल किए और दक्षिणपंथी नेता जोस एंतोनियो को मात दी। जोस ने परिणाम स्पष्ट होने के तुरंत बाद अपनी हार स्वीकार की और ग्रेबियल को फोन कर जीत की बधाई दी। इसके बाद वह स्वयं ग्रेबियल के चुनाव प्रचार कार्यों से जुड़े मुख्यालय गए और अपने प्रतिद्वंद्वी से मुलाकात भी की।

इस बीच, निवर्तमान राष्ट्रपति सेबास्टियन पिन्येरा ने ग्रेबियल के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस की और सत्ता हस्तांतरण के दौरान उनकी सरकार के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। समर्थकों की भारी भीड़ के बीच ग्रेबियल एक मंच पर पहुंचे और वहां से उन्होंने स्वदेशी ‘मापुचे’ भाषा में हजारों युवा समर्थकों के लिए एक उत्साहजनक विजयी भाषण दिया।

'ओमीक्रोन' का प्रकोप, बच्चों का टीकाकरण कराए

अखिलेश पांडेय       येरूशलम। इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने देशवासियों से अनुरोध किया है कि वे कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर अपने बच्चों का टीकाकरण कराएं। इस बीच, इजराइल के अधिकारी यात्रा प्रतिबंधों को विस्तार देकर अमेरिका को भी इस दायरे में लाने की तैयारी कर रहे हैं।बेनेट ने रविवार को टेलीविजन के माध्यम से देश को संबोधित करते हुए कहा कि देश में नए स्वरूप के मामले अपेक्षाकृत कम हैं और इसका कुछ हद तक श्रेय अधिकतर देशों से यात्रियों का प्रवेश प्रतिबंधित करने के शुरुआती कदमों को जाता है, लेकिन मामले बढ़ने में देर नहीं लगेगी। उन्होंने कहा, ”पांचवी लहर शुरू हो गई है।”

उन्होंने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि माता-पिता अपने बच्चों का टीकाकरण कराएं। इजराइल में पिछले महीने पांच साल से 12 साल तक के बच्चों का टीकाकरण शुरू हो गया था, लेकिन प्राधिकारियों का कहना है कि इस आयुवर्ग में टीकाकरण की दर निराशाजनक रूप से कम है।” बेनेट ने कहा, ”बच्चों को टीका लगाना सुरक्षित है और टीकाकरण कराना माता-पिता की जिम्मेदारी है। जिन माता-पिता ने तीनों खुराक ले ली है, उन्हें अपने बच्चों को भी सुरक्षित करने की आवश्यकता है।” इजराइल में इस साल की शुरुआत में टीकाकरण आरंभ होने के बाद से देश की कुल 93 लाख आबादी में से 41 लाख से अधिक लोगों ने फाइजर/बायोएनटेक टीके की तीसरी खुराक ले ली है। देश में ओमीक्रोन संक्रमण के अब तक 134 मामले सामने आ चुके हैं।

नए डेरिवेटिव अनुबंध शुरू नहीं करने का निर्देश: सेबी

नए डेरिवेटिव अनुबंध शुरू नहीं करने का निर्देश: सेबी

अकांशु उपाध्याय        नई दिल्ली। बाजार नियामक सेबी ने सोमवार को शेयर बाजारों को अगले आदेश तक गेहूं, कच्चे पाम तेल, मूंग और कुछ अन्य जिंसों में नए डेरिवेटिव अनुबंध शुरू नहीं करने का निर्देश दिया। एक विज्ञप्ति के अनुसार ये निर्देश तत्काल प्रभाव से लागू होंगे। धान (गैर-बासमती), गेहूं, सोयाबीन, कच्चे पाम तेल और मूंग के लिए नए अनुबंधों की शुरूआत पर नियामक ने अगले आदेश तक रोक लगा दी है।

सूची में चना, और सरसों के बीज और इसके डेरिवेटिव भी शामिल हैं। इन जिंसों में डेरिवेटिव अनुबंधों को इस साल की शुरुआत में निलंबित कर दिया गया था। पहले से चल रहे अनुबंधों के संबंध में कोई भी नया सौदा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी और केवल सौदे को पूरा करने की अनुमति होगी। बयान के मुताबिक ये निर्देश एक साल के लिए लागू होंगे।

तत्काल प्रभाव से स्कूल-कॉलेज खोलने की अनुमति
अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने वायु गुणवत्ता में सुधार और मौसम विज्ञान संबंधी पूर्वानुमान को देखते हुए दिल्ली-एनसीआर में निर्माण और विध्वंस गतिविधियों पर पाबंदियां सोमवार को हटा दीं। केंद्रीय वायु गुणवत्ता समिति ने शुक्रवार को दिल्ली-एनसीआर में छठी और उससे ऊपर की कक्षाओं के छात्रों के लिए स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान तत्काल प्रभाव से फिर से खोलने की अनुमति दे दी है।

उसने यह भी कहा था कि पांचवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए स्कूल 27 दिसंबर से खोले जा सकते हैं। समिति ने सोमवार को ट्वीट किया, ”वायु गुणवत्ता में सुधार और मौसम विज्ञान संबंधी पूर्वानुमान को देखते हुए सीएक्यूएम ने एनसीआर में निर्माण एवं विध्वंस गतिविधियों को बहाल करने तथा दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश को तत्काल प्रभाव से अनुमति दे दी है।”

 ओमीक्रोन की जांंच, परीक्षण ​​किट तैयार की 

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप का पता लगाने के लिए एक परीक्षण ​​किट तैयार की है और इसके विकास तथा व्यावसायीकरण के लिए प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण की खातिर किट निर्माताओं से अभिरुचि पत्र आमंत्रित किया है। आईसीएमआर-क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र, डिब्रूगढ़ ने सार्स-सीओवी2 के नए स्वरूप ओमीक्रोन (बी.1.1.529) का पता लगाने के लिए नयी तकनीक की आरटी-पीसीआर जांच किट विकसित की है। यह केंद्र आईसीएमआर, नयी दिल्ली के संस्थानों में से एक है। अभिरूचि पत्र (ईओआई) दस्तावेज में कहा गया है कि आईसीएमआर किसी भी अंतर्निहित बौद्धिक संपदा और व्यावसायीकरण अधिकारों के साथ इस नयी तकनीक का मालिक है।

इसके साथ ही आईसीएमआर कानूनी रूप से उपयुक्त समझौते के जरिए प्रौद्योगिकी हस्तांतरण सहित चयनित निर्माताओं के साथ कोई भी समझौता करने का हकदार है। दस्तावेज में कहा गया है कि ईओआई के बाद, समझौते को विभिन्न निर्माताओं के साथ “गैर-विशिष्ट” आधार पर निष्पादित करने का प्रस्ताव है।

दिल्ली: कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या-24 हुईं

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। दिल्ली में ओमीक्रोन के दो नए मामले सामने आने के बाद कोरोना वायरस के इस नए स्वरूप से राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 24 हो गई है। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि इन 24 लोगों में से 12 लोगों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।

एक सूत्र ने कहा, ”दिल्ली में ओमीक्रोन के दो और मामलों की पुष्टि हुई है। उनके नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा गया था, जिनमें उनके ओमीक्रोन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से 47 वर्षीय एक व्यक्ति ब्रिटेन से और 22 वर्षीय दूसरा व्यक्ति घाना से आया था।” सूत्रों ने बताया कि ओमीक्रोन से संक्रमित अधिकतर मरीजों में बीमारी के लक्षण नहीं हैं।

दिल्ली: 3.2 डिग्री सेल्सियस तक गिरा न्यूनतम तापमान

अकांशु उपाध्याय       नई दिल्ली। दिल्ली में शीत लहर का प्रकोप बना हुआ है और सोमवार को तापमान 3.2 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। जो अभी तक इस मौसम का सबसे कम न्यूनतम तापमान है। सफदरजंग वेधशाला ने यह जानकारी दी, जिसके आंकड़ों को शहर के लिए आधिकारिक मानक माना जाता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग में वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने बताया कि एक के बाद एक दो पश्चिमी विक्षोभों और इसके कारण मंगलवार रात से सर्द उत्तरपश्चिमी हवाओं के मंद होने से न्यूनतम तापमान बढ़ जाएगा। पश्चिमी दिल्ली के जाफ्फरपुर गांव में मौसम केंद्र ने न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 2.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

लोधी रोड मौसम केंद्र ने औसतन सात डिग्री सेल्सियस तापमान के मुकाबले न्यूनतम तापमान 3.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, ज्यादातर अन्य स्थानों पर न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस से छह डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। जेनामणि ने बताया कि 22 और 25 दिसंबर के बीच ”एक के बाद एक” दो पश्चिमी विक्षोभों के प्रभाव से न्यूनतम तापमान छह से सात डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने की संभावना है। आईएमडी ने 21 दिसंबर तक उत्तरपश्चिमी भारत के कई हिस्सों में शीतलहर चलने का अनुमान जताया है। हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और हिमाचल में भी हाड़ कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। राजस्थान के चुरू में रविवार को सबसे कम शून्य से 2.6 डिग्री सेल्सियस नीचे न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-63, (वर्ष-05)
2. मंगलवार, दिसंबर 21, 2021
3. शक-1984, मार्गशीर्ष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:48, सूर्यास्त 05:24।
5. न्‍यूनतम तापमान -6 डी.सै., अधिकतम-19+ डी.सै.।  
बर्फबारी व शीतलहर के साथ कहीं- कहीं तेज बारिश की संभावना।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवाशुं के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं

यूके: कोरोना एक्टिव केसों की संख्या-30,927 हुईं पंकज कपूर            देहरादून।  राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 7 संक्रमितों की मौत ह...