रविवार, 17 अप्रैल 2022

प्रदेशाध्यक्ष शर्मा के नेतृत्व में मीटिंग का आयोजन

प्रदेशाध्यक्ष शर्मा के नेतृत्व में मीटिंग का आयोजन   


संदीप मिश्र           

भोपुरा। रविवार को भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष पं. सचिन शर्मा के नेतृत्व में जिला अध्यक्ष अमित कसाना के निवास भोपुरा में एक मीटिंग का आयोजन किया गया। मीटिंग में यूनियन के पदाधिकारियों ने शिरकत की‌। मीटिंग को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष पं सचिन शर्मा ने कहा कि लंबे समय से धरने के बाद किसान आंदोलन को लेकर सरकार ने वादा किया था, कि किसानों की सभी समस्याओं पर गौर की जाएगी। लेकिन, आंदोलन के खत्म होने के पश्चात अभी तक सरकार ने किसानों की मुख्य समस्याओं पर भी किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं की है। इसी चीज को देखते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ऋषि पाल अंबावता के आदेश अनुसार पर आने वाली 19 तारीख (अप्रैल) को प्रदेश के समस्त जिलों में जिला मुख्यालय पर सभी किसान इकट्ठा होकर जोरदार प्रदर्शन करेंगे।

उन्होंने सभा में आए हुए सभी किसानों को 19 तारीख को अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर इस प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए आह्वान किया। इस अवसर पर गाजियाबाद के जिला अध्यक्ष अमित कसाना सभा को संबोधित करते हुए कहा आज की तारीख में पूरे देश का किसान जागृत हो चुका है और वह अपनी संगठित शक्ति को पहचान चुका है और वह तब तक अपना आंदोलन जारी रखेगा। जब तक उसकी सभी मांगे सरकार के द्वारा पूरी नहीं की जाती उन्होंने आए हुए।सभी किसानों को का आह्वान करते हुए कहा कि हमें अपनी पूरी शक्ति से प्रदर्शन को सफल बनाना है। सभा में आए हुए अनेक पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार व्यक्त किए और किसानों को संगठित होकर अपने संवैधानिक अधिकारों को प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया। आए हुए सभी किसान भाइयों ने प्रदर्शन को लेकर अपनी सहमति जताते हुए कहा कि हम प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए सभी प्रयास करेंगे।

मीटिंग में किसानों के साथ सहमति बनाते हुए जिला अधिकारी के सम्मुख निम्न मांगों को रखा जाएगा। नंबर 1 सरकार के द्वारा एमएसपी की गारंटी दी जाए नंबर दो बढ़े हुए बिजली के बिल वापस लिए जाएं नंबर 3 किसानो के करजा माफ किए जाएं नंबर 4 किसानों के बच्चों को शिक्षा मुफ्त दी जाए। नंबर 5 गन्ने का बकाया भुगतान तत्काल किया जाए।नंबर 6 खाद पर सब्सिडी उन्हें बहाल की जाए। इस मौके पर प्रमुख रूप से राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण शर्मा, नीटू जिला उपाध्यक्ष, धर्मेंद्र गौतम, जिला महासचिव सुभाष प्रजापति, जितेंद्र कसाना, महावीर कसाना, गजराज कसाना, महेश जाटव, अजय कुमार, करण कुमार, रवि कुमार, योगेंद्र चौधरी, यशपाल चौधरी, मदन चौधरी, जगबीर पहलवान मजदूर उपस्थित रहे।

विधायकों की पेंशन छोड़ने के बयान पर कसा तंज

विधायकों की पेंशन छोड़ने के बयान पर कसा तंज     

राणा ओबरॉय          
करनाल‌। हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी शैलजा ने ऐलनाबाद से इनेलो विधायक अभय चौटाला के विधायकों की पेंशन छोड़ने के बयान पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि ये तो अपने-अपने नंबर बनाने की बात है। ट्रेंड सा चला हुआ है। इससे पहले चौटाला यहीं पर थे। शैलजा रविवार को करनाल में पूर्व हल्का अध्यक्ष ओमप्रकाश सलूजा को पार्टी में जॉइन करवाने पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि सलूजा कांग्रेस के परिवार में जुड़े हैं। पार्टी में आस्थाएं इनकी बहुत समय से थी। कई बार हालात ऐसे बन जाते हैं। उन्होंने कहा मै कांग्रेस में इनका बहुत स्वागत करती हूं। उन्होंने कहा इनके साथ जुड़े हुए बहुत लोग हैं, जो साथ में हैं उन सभी का भी कांग्रेस में स्वागत करती हूँ। 
पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष बदलने की चर्चाएं पर उन्होंने कहा इस तरह की चीजें चलती है। समय पर सब क्लीयर हो जाएगा। मैं चाहूंगी कि कुछ भी हो पर कांग्रेस पार्टी का भला होना चाहिए। हमारा नेतृत्व सोनिया और राहुल मजबूत होने चाहिए। आप पार्टी के बारे में पूछने पर कहा बहुत लोगों की अंदर में महत्त्वकांक्षा होती है। जो टिकट की प्रॉमिस में उस पार्टी में जा रहे हैं। पड़ोस के चुनाव में अचानक ऐसा हुआ। उन्होंने कहा अभी हरियाणा में 2 साल का समय है। काफी परिवर्तन होंगे। हरियाणा में कांग्रेस का संगठन खड़ा न होने पर सैलजा ने कहा यह वर्कर का दर्द है और सच्चाई भी है। एक ओहदा वर्कर की पहचान होती है। अब भी वर्कर काम कर रहे हैं। फिर भी पार्टी में यह एक कमी है। जो मुझे भी महसूस होती है। महंगाई के सवाल पर शैलजा ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा अब भाजपा चुप क्यो है। उन्होंने कहा महंगाई पर कपड़े उतारकर प्रदर्शन करने वाले भाजपाई कहां गए। 
सब चुप हैं। करनाल सीएम सिटी है। हर व्यक्ति पर महंगाई की मार पड़ रही है। किसान परेशान है। युवा बेरोजगार है। करनाल में जितना भ्रष्टाचार है। इस पर क्या सीएम आंख मूंदे बैठे हैं। उन्होंने कहा छोटी मछलियों को पकड़ने से कुछ नहीं होगा। उन्होंने कहा यहां पर तो आम आदमी के लिए कुछ नही हो रहा है।

आईपीएल: पंजाब किंग्स ने बदला अपना कप्तान

आईपीएल: पंजाब किंग्स ने बदला अपना कप्तान     


मोमीन मलिक               

आईपीएल 2022 का 28वां मैच सनराइजर्स हैदराबाद और पंजाब किंग्स के बीच मुंबई के डीवाई पाटिल क्रिकेट स्टेडियम में हो रहा है। इस मैच में पंजाब किंग्स ने एक बड़ा बदलाव किया है। टीम की प्लेइंग एक्सआई में तो हमेशा बदलाव देखने को मिलते ही हैं। लेकिन, इस मैच में पंजाब किंग्स को अपना कप्तान भी बदलना पड़ा है।सीजन 15 में पंजाब की कप्तानी मयंक अग्रवाल संभाल रहे थे, मगर हैदराबाद के खिलाफ टीम की कमान मयंक की जगह एक दिग्गज बल्लेबाज को दी गई है।

पंजाब की टीम ने बदला कप्तान...

इस मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया है। लेकिन टॉस के वक्त पंजाब की तरफ से शिखर धवन मैदान पर आए। दरअसल, मयंक अग्रवाल चोट की वजह से बाहर हैं और शिखर धवन उनकी जगह पंजाब की कप्तानी कर रहे हैं। मयंक की जगह टीम में प्रभसिमरन सिंह को शामिल किया गया है। बतौर कप्तान मयंक ने इस सीजन में अभी तक 5 में से 3 मुकाबले जीते हैं और 2 मैचों में हार का सामना किया है‌। टॉस के समय धवन ने कहा,’ शनिवार को ट्रेनिंग के दौरान मयंक के पंजे में चोट लग गई थी, लेकिन अगले मैच तक वे फिट हो जाएंगे।

पंजाब के पास टॉप 2 में पहुंचने का मौका...

पंजाब किंग्स ने इस सीजन में अभी तक काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया है। अगर पंजाब इस मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को हरा देती है तो टीम टॉप-3 टीमों में जगह बनाने में कामयाब हो जाएगी और मुकाबला बड़े मार्जिन से जीत जाती है तो दूसरे नंबर पर भी पहुंच सकती है।

उद्घाटन: 23 अप्रैल तक लगेंगे 'मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप'

उद्घाटन: 23 अप्रैल तक लगेंगे 'मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप'   

संदीप मिश्र/सत्येंद्र पंवार      

लखनऊ। मेरठ सहित पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग द्वारा 18 अप्रैल से लेकर 23 अप्रैल तक मेगा मेला स्वास्थ्य कैंप लगाए जाएंगे। जिसमें कोई भी अपने स्वास्थ्य की जांच करवा सकता है। ये मेगा कैंप प्रदेश के सभी ब्लाकों में लगाए जाएंगे। मेरठ के करीब 12 ब्लाकों में ये स्वास्थ्य कैंप लगेंगे। रविवार को मेरठ में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डाक्टर मनसुख मंडाविया ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रजपुरा में स्थापित हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का उद्धाटन किया।

इस दौरान सेंटर में आयोजित योगा कार्यक्रम में भी उन्होंने भाग लिया। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रजपुरा का निरीक्षण कर वहां मरीजों से मिल रही सुविधाओं के बारे में भी बात की। उन्होंने मरीजों से उनका कुशल क्षेम जाना व उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 117000 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर संचालित हैं। उन्होंने बताया कि 18 से 23 अप्रैल तक ब्लॉक स्तरीय मेले आयोजित किए जा रहे हैं। आमजन इन दिनों का लाभ लेकर स्वास्थ्य लाभ ले।

अगर किसी को कोई स्वास्थ्य संबंधी परेशानी है तो वह इस कैंप का लाभ जरूर उठाएं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ मेरठ हापुड से सांसद राजेंद्र अग्रवाल भी थे। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि केंद्र और प्रदेश की सरकार का उदेश्य देश की हर जनता के पास तक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना है। उन्होंने कहा कि सुलभ चिकित्सा ​सुविधा तभी उपलब्ध हो सकती है। जबकि इसके लिए उनके पास ही स्वास्थ्य केंद्र हो। इसी को ध्यान में रखते हुए हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर स्थापित किए गए हैं। जिससे कि लोगों को स्वास्थ्य और चिकित्सा सुविधा आसानी से उपलब्ध हो सके।

पेट्रोल-डीजल के लेटेस्ट रेट अपडेट किए: कंपनी

पेट्रोल-डीजल के लेटेस्ट रेट अपडेट किए: कंपनी   

अकांशु उपाध्याय        

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव के बीच भारतीय तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के लेटेस्ट रेट अपडेट कर दिए हैं। राष्ट्रीय बाजार में (रविवार), 17 अप्रैल 2022 को लगातार 11वें दिन पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) के दामों में कोई बदलाव नहीं किया गया हैै। भारतीय तेल कंपनियों ने बीते 11 दिन से पेट्रोल-डीजल के भाव स्थिर रखे हैं। ऐसे में वाहन ईंधन (Fuel Price) पेट्रोल-डीजल पर महंगाई की मार से परेशान लोगों को अब कीमतें स्थिर रहने से मामूली राहत मिली है। हालांकि, पेट्रोल का भाव 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर है। बता दें कि 22 मार्च से 6 अप्रैल तक वाहन ईंधन पेट्रोल और डीजल 10 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हुआ है‌‌। जबकि 6 अप्रैल से लगातार दाम स्थिर हैं।

मध्य प्रदेश के बालाघाट में 120 रुपये के पार पेट्रोल...
मध्य प्रदेश के इंदौर में पेट्रोल 118.26 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 101.29 रुपये प्रति लीटर है। बालाघाट में सबसे महंगा पेट्रोल और डीजल बिक रहा है। बालाघाट में पेट्रोल 120.48 रुपये जबकि डीजल 103.32 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गया है। इसके अलावा एमपी की राजधानी भोपाल में पेट्रोल 118.07 रुपये जबकि डीजल 101.09 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

भारतीय पेट्रोलियम विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOCL) के लेटेस्ट अपडेट के अनुसार, देश की राजधानी दिल्ली में 17 अप्रैल 2022 को पेट्रोल (Petrol) 105.41 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल (Diesel) 96.67 रुपये प्रति लीटर पर टिका है‌। वहीं, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 120.51 रुपये लीटर और डीजल 104.77 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

'ईस्टर' पर्व के अवसर पर बधाई व शुभकामनाएं दीं

'ईस्टर' पर्व के अवसर पर बधाई व शुभकामनाएं दीं


अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव      


नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। भारत समेत दुनियाभर में रविवार को ईस्टर का पर्व मनाया जा रहा है। इस मौके पर सुबह से ही दुनियाभर के चर्चों में लोग खास प्रार्थना सभा आयोजित कर रहे हैं। और एक दूसरे को बधाई भी दे रहे हैं। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई लोगों ने देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्विटर पर सभी को ईस्टर की बधाई दी। उन्होंने इस त्योहार को जश्न मनाने का अवसर और क्षमा, बलिदान और प्रेम के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करने वाला बताया।


वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि हैप्पी ईस्टर! हम यीशु मसीह के विचारों और आदर्शों और सामाजिक न्याय के साथ-साथ करुणा को याद करते हैं। हमारे समाज में खुशी और भाईचारे की भावना बढ़े।


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ईस्टर के पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि प्रभु यीशु मसीह की शिक्षाएं हमारे समाज में सद्भाव, प्रेम और करुणा की भावना को आगे बढ़ाए


रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ईस्टर के अवसर पर बधाई देते हुए लिखा कि हमारे चारों ओर शांति और सद्भाव बना रहे।


आपको ईसाई मान्यताओं के अनुसार प्रभु यीशु भगवान के पुत्र थे और वे लोगों को एक-दूसरे से प्रेम करने और आपस में समरसता रखने की शिक्षा देते थे। कुछ लोग जो उनकी इन बातों के विरुद्ध थे, उन्होंने गुड फ्राइडे पर यीशु को यातनाएं देते हुए सूली पर चढ़ा दिया गया था। इसके बाद संडे को प्रभु यीशु पुन: जीवित हो गए थे। यीशु के दोबारा जीवित होने की खुशी में ईसाई समुदाय के लोग इस दिन को खुशियों के तौर पर मनाते हैं। इसे ईस्टर पर्व कहा जाता है।

ईसाई मान्यताओं के अनुसार यीशु भगवान के पुत्र थे और इसलिए फांसी लगने के 3 दिन बाद वे पुन: एक बार जीवित हो गए। जिस दिन उन्हें फांसी दी गई, उसे गुड फ्राइडे और जिस दिन वे पुनर्जीवित हुए उसे ईस्टर कहा जाता है। ईस्टर पर दोबारा जीवित होने के बाद यीशु ने 40 दिनों तक अपने शिष्यों को सत्य के रास्ते पर चलने का संदेश दिया था। 

लाउडस्पीकर: 5 जून को अयोध्या जाएंगे ठाकरे

लाउडस्पीकर: 5 जून को अयोध्या जाएंगे ठाकरे   

कविता गर्ग            
मुंबई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे 5 जून को अयोध्या जाएंगे। साथ ही उन्होंने अपनी अगली जनसभा 1 मई को औरंगाबाद में करने का ऐलान किया है। ठाकरे ने कहा कि हम महाराष्ट्र में दंगे नहीं चाहते। नमाज अदा करने का किसी ने विरोध नहीं किया, लेकिन अगर आप इसे (मुसलमान) लाउडस्पीकर पर करेंगे तो हम भी लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करेंगे। राज ठाकरे ने कहा कि मुसलमानों को समझना चाहिए कि धर्म कानून से बड़ा नहीं है। उन्होंने कहा कि 3 मई के बाद, मैं देखूंगा कि क्या करना है। दिल्ली के जहांगीरपुरी की हिंसा पर ठाकरे ने कहा, “मुझे लगता है कि इस तरह की बातों का ऐसे ही जवाब दिया जाना चाहिए, नहीं तो वो लोग नहीं समझेंगे।
राज ठाकरे ने देश के तमाम हिंदू हिंदुओं से अपील की है कि वे तैयार रहें। अगर 3 मई तक मुस्लिम समाज के लोग मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाते हैं तो हम भी उन्हें लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा लगाएंगे। उन्होंने कहा कि लाउडस्पीकर की वजह से सिर्फ हिंदुओं को ही तकलीफ नहीं हो रही है। बल्कि इसके शिकार मुस्लिम समाज के लोग भी हो रहे हैं।
वहीं, शिवसेना नेता व मंत्री आदित्य ठाकरे बीजेपी को हिंदुत्व के मुद्दे पर उसी के गढ़ में जाकर जवाब देने की तैयारी में हैं। आदित्य ने शनिवार को ऐलान किया कि वह जल्द ही अयोध्या जाएंगे। वो मई महीने की शुरुआत में अयोध्या जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अयोध्या दौरे को लेकर उनकी सांसद संजय राउत से बातचीत हुई है। अयोध्या दौरे को लेकर जल्द ही कार्यक्रम की घोषणा होगी।

भाजपा को शिकस्त, टीएमसी की जीत: उपचुनाव

भाजपा को शिकस्त, टीएमसी की जीत: उपचुनाव

संदीप मिश्र        
लखनऊ/कोलकाता। उत्तर प्रदेश में पहले विधानसभा और फिर विधान परिषद चुनाव में हार का सामना करने वाले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मिली शिकस्त और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की जीत से खुशी मिली है। सपा अध्यक्ष को उपचुनाव में सभी सीटों पर भाजपा की हार में बड़ा संकेत दिखा है।
अखिलेश यादव ने रविवार को ट्विटर पर अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा के साथ तस्वीर शेयर करते हुए उन्हें और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बधाई दी। अखिलेश यादव ने लिखा, ”टीएमसी के प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा जी ने आसनसोल लोकसभा से 3 लाख से भी अधिक वोटों के अंतर से भाजपा प्रत्याशी को हराकर जो ऐतिहासिक जीत हासिल की है उसके लिए उन्हें और सुश्री ममता बनर्जी जी के कुशल नेतृत्व को हार्दिक बधाई! भाजपा का विधानसभा उपचुनाव की सभी सीटें हारना बड़ा संकेत है।
गौरतलब है कि कभी भाजपा के वरिष्ठ नेता रहे शत्रुघ्न सिन्हा पिछले दिनों कांग्रेस छोड़कर टीएमसी में शामिल हो गए। ममता बनर्जी ने उन्हें आसनसोल लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दौरान ममता बनर्जी ने समाजवादी पार्टी के लिए वोट की अपील की थी। चुनाव के बीच वह दो बार यूपी आईं और अखिलेश यादव के साथ मंच साझा किया था। हालांकि, सपा को भाजपा से मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा।
देश की एक लोकसभा और चार विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजों में तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने जीत हासिल की है जबकि भाजपा के खाते में एक भी सीट नहीं आई। तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में आसनसोल लोकसभा सीट और बालीगंज विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की, जबकि कांग्रेस ने महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में एक-एक सीट और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने बिहार की एक सीट पर जीत दर्ज की जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) खाली हाथ रही।

तानाशाही-क्रूरता को रोकने के लिए याचिका दाखिल

तानाशाही-क्रूरता को रोकने के लिए याचिका दाखिल

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भाजपा शासन वाले राज्यों में अपराध की रोकथाम की आड़ में मुसलमानों को तबाह करने के उद्देश्य से बुलडोज़र की जो ख़तरनाक राजनीति शुरू हुई है। उसके खिलाफ कानूनी संघर्ष के लिए भारतीय मुसलमानों का प्रतिनिधि संगठन जमीअत उलमा-ए-हिंद ने इस तानाशाही और क्रूरता को रोकने के लिए मौलाना अरशद मदनी के विशेष आदेश पर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है। जिसमें जमीअत उलमा-ए-हिन्द क़ानूनी इमदादी कमेटी के सचिव गुलज़ार अहमद आज़मी वादी बने हैं, इस याचिका में अदालत से यह अनुरोध किया गया है कि वह राज्यों को आदेश दे कि अदालत की अनुमति के बिना किसी का घर या दुकान को गिराया नहीं जाएगा।
उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में बुलडोज़र की राजनीति पहले से जारी है, लेकिन अब यह सिलसिला गुजरात और मध्य प्रदेश में भी शुरू हो चुका है। हाल ही में राम नवमी के अवसर पर मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में जुलूस के दौरान अति भड़काऊ नारे लगाकर पहले तो दंगा किया गया और फिर राज्य सरकार के आदेश से एकतरफ़ा कार्रवाई करते हुए मुसलमानों के घरों और दुकानों को ढा दिया गया, राज्य सरकार की इस क्रूरता की न्यायप्रिय लोगों की ओर से कड़ी निंदा की जा रही है, वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश सरकार अपनी इस क्रूर कार्रवाई का बचाव कर रही है।याचिका में केन्द्र सरकार के साथ साथ उतर प्रदेश, मध्य प्रदेश और गुजरात राज्यों को पार्टी बनाया गया जहां हाल के दिनों में मुसलमानों के साथ दुर्व्यवहार किया गया।
याचिका ऐडवोकेट सारिम नवेद ने सीनीयर ऐडवोकेट कपिल सिब्बल से सलाह-मश्वरा करने के बाद तैयार की है जबकि ऐडवोकेट आन रिकार्ड कबीर दीक्षित ने इसे ऑनलाइन दाखिल किया है, अगले चंद दिनों में याचिका पर जल्द सुनवाई के लिए चीफ़ जस्टिस आफ़ इंडिया से अनुरोध किया जा सकता है।पिछले कुछ समय से देश भर में नफ़रत और सांप्रदायिकता का जो बर्बर खेल जारी है उस पर अपनी गहरी चिंता व्यक्त करते हुए मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि धार्मिक उग्रवाद और नफ़रत की एक काली आंधी पूरे देश में चलाई जा रही है, मुसलमानों को भयभीत करने की जगह-जगह साज़िशें हो रही हैं।उन्होंने कहा कि मुस्लिम मुहल्लों में मस्जिदों के बिलकुल सामने उकसाया जा रहा है, पुलिस की उपस्थिति में लाठी डंडे लहरा लहरा कर दिल दहला देने वाले नारे लगाए जा रहे हैं और सब मूक दर्शक बने हुए हैं। ऐसा लगता है जैसे देश में अब न तो कोई क़ानून रह गया है और न ही कोई सरकार जो उन्हें पकड़ सके।
मौलाना मदनी ने कहा कि सांप्रदायिकों द्वारा मुसलमानों का जीना दूभर किया जा रहा है और केन्द्र सरकार इस तरह ख़ामोश है जैसे यह कोई बात ही है।राम नवमी के अवसर पर देश के कई राज्यों में विशेषकर मध्य प्रदेश के खरगोन में सांप्रदायिक दंगा, उसके बाद सरकार और प्रशासन की ओर से मुसलमानों के मकानों और दुकानों के तोड़े जाने पर मौलाना मदनी ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि जो काम अदालतों का था अब सरकारें कर रही हैं। ऐसा लगता है कि भारत में अब क़ानून का राज समाप्त हो गया है, सज़ा देने के सभी अधिकार सरकारों ने अपने हाथों में ले लिए हैं, उस के मुंह से निकलने वाला शब्द ही क़ानून है और घरों को गिरा कर मौक़े पर ही फैसला करना संविधान की नई परंपरा बन गई है। ऐसा लगता है अब न देश में अदालतों की ज़रूरत है और न ही जजों की।खरगोन शहर में जिस आपराधिक ढंग से पुलिस और प्रशासन ने ग़ुंडागर्दी करने वालों के हित में कार्रवाई की है, इससे मालूम होता है कि क़ानून का पालन करना उनका उद्देश्य नहीं रहा।पुलिस और प्रशासन ने अगर थोड़ी भी संविधान के साथ वफ़ादारी दिखाई होती तो न करौली (राजिस्थान) में मुसलमानों को निशाना बनाया जाता और न ही खरगोन में उनके मकानात और तिजारत को ख़त्म किया जाता।
मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि पूरे देश के मज़लूमों को न्याय दिलाने, देश के संविधान और लोकतंत्र को बचाने और क़ानून का शासन बनाए रखने के लिए हमने सुप्रीमकोर्ट का रुख किया है। इस उम्मीद के साथ कि अन्य मामलों की तरह इस मामले में भी न्याय मिलेगा, इससे पहले सीएए और एनआरसी के खि़लाफ़ शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर यूपी सरकार ने जो जुर्माना लगाया था सुप्रीमकोर्ट उसे खारिज कर चुकी है और सरकार को इसके लिए फिटकार भी लगा चुकी है।
उन्होंने आगे कहा कि जब सरकार संवैधानिक कर्तव्य निभाने में असफल हो जाए और मज़लूमों की आवाज़ सुनकर भी ख़ामोश रहे तो अदालतें ही न्याय के लिए एकमात्र सहारा रह जाती हैं।अतीत में हमें न्यायालय से न्याय मिला है इसलिए पूर्ण विश्वास है कि इस अहम मामले में भी दूसरे मामलों की तरह सर्वोच्च न्यायालय से हमें न्याय मिलेगा और अदालत धर्मनिरपेक्षता की रक्षा के लिए कड़ा फ़ैसला करेगी, हमारा क़ानूनी संघर्ष सकारात्मक परिणाम आने तक जारी रहेगा।मौलाना मदनी ने कहा कि शासकों ने भय और आतंक की राजनीति को अपना आदर्श बना लिया है, मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि सरकार भय और आतंक से नहीं बल्कि न्याय से ही अच्छी सरकारें चला करती हैं। ऐसी स्थिति में देश के मुसलमानों को संतुष्ट करना प्रधानमंत्री की संवैधानिक एवं नैतिक ज़िम्मेदारी है, क्योंकि प्रधानमंत्री पूरे देश का होता है न कि किसी एक पार्टी, समुदाय या धर्म का बल्कि पूरे देश का होता है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर देश में संविधान और क़ानून की सर्वोच्चता समाप्त हुई और धामर्मिक सद्भाव का ताना-बाना टूट गया और धर्मनिरपेक्ष संविधान को निष्क्रिय कर दिया गया तो यह बात देश के लिए बेहद हानिकारक हो सकती है। देश के विकास के लिए क़ानून और संविधान की सर्वोच्चता अति आवश्यक है।

2 दिवसीय दौरे पर 21 को काशी आएंगेे पीएम

2 दिवसीय दौरे पर 21 को काशी आएंगेे पीएम    

संदीप मिश्र            

वाराणसी। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ दो दिवसीय दौरे पर 21 अप्रैल को काशी आएंगेे। इससे पहले वह जनवरी 2019 में काशी में आयोजित 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन के मुख्य अतिथि थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मॉरीशस के प्रधानमंत्री का स्वागत उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगेे। इस संबंध में विदेश मंत्रालय का पत्र प्राप्त होने के बाद वाराणसी का पुलिस और प्रशासनिक अमला मॉरीशस के प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियों में जुट गया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आमंत्रण पर मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ अपनी पत्नी कोबिता जगन्नाथ और उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ आठ दिवसीय दौरे पर आज दिल्ली पहुंचेंगे। भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार मॉरीशस के प्रधानमंत्री की यात्रा का उद्देश्य दोनों देशों के जीवंत संबंध को और मजबूत बनाना है। मॉरीशस के प्रधानमंत्री वाराणसी में गंगा दर्शन के साथ ही बाबा विश्वनाथ के दरबार में हाजिरी लगाएंगे। मॉरीशस के ज्यादातर लोगों की जड़ें उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल से ही जुड़ी हुई हैं। प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ के पूर्वज भी बलिया जिले के रसड़ा क्षेत्र के ही मूल निवासी थे। ऐसे में उत्तर प्रदेश से व्यापार सहित अन्य महत्वपूर्ण मसलों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मॉरीशस के प्रधानमंत्री की द्विपक्षीय वार्ता भी होगी।

धन दोगुना करने का झांसा, पिता-पुत्र गिरफ्तार

धन दोगुना करने का झांसा, पिता-पुत्र गिरफ्तार  

संदीप मिश्र       
लखनऊ। एसटीएफ लखनऊ व पलिया कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम ने रविवार को धन दोगुना करने का झांसा देकर ठगी करने वाले पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों गोंडा जिले के थाना तरबगंज क्षेत्र के रहने वाले हैं। आरोपियों के पास से पुलिस ने 22 लाख 39 हजार रुपये, बोलेरो और कई केमिकल बरामद किए हैं। पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र का चालान कर कोर्ट में पेश किया, जहां से अदालत ने दोनों को जेल भेज दिया। पुलिस लाइन सभागार में एएसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि तीन अप्रैल 2022 को पलिया के मोहल्ला अहिरान निवासी मुख्तार सिंह पुत्र महेंद्र सिंह से दो व्यक्तियों की मुलाकात हुई। दोनों ने धन दोगुना करने का झांसा दिया।
झांसे में आए मुख्तार सिंह को आरोपी पलिया से बोलेरो गाड़ी में बैठाकर गोंडा ले गए। वहां उनसे ढाई लाख रुपये की ठगी कर ली गई। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर अज्ञात दो लोगों के खिलाफ अमानत में खयानत, धोखाधड़ी आदि की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। इधर लखनऊ एसटीएफ की टीम भी इंस्पेक्टर दिलीप कुमार तिवारी के नेतृत्व में आरोपियों की तलाश में जुटी हुई थी।
एएसपी ने बताया कि रविवार को पलिया पुलिस व एसटीएफ लखनऊ की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर पलिया के टेहरा तिराहा के पास घेराबंदी की और धन दोगुने करने का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह के गोविन्द निषाद पुत्र बाबा जवाहर दास और गणेश निषाद पुत्र गोविन्द निषाद निवासी निषाद नगर टेंपरा चांदपुर थाना तरबगंज जिला गोंडा को गिरफ्तार कर लिया।
गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 22,39,800 रुपये की नगदी, घटना में प्रयुक्त बोलेरो गाड़ी, केमिकल/ पाउडर सहित अन्य उपकरण व सामग्री बरामद की है। एएसपी ने बताया कि गिरफ्तार पिता-पुत्र काफी शातिर दिमाग के व्यक्ति हैं। वह धन दोगुना करने का झांसा देकर लोगों से रुपये ठग लेते थे। पुलिस ने रविवार को आरोपियों का चालान कर कोर्ट में पेश किया, जहां से अदालत ने दोनों को जेल भेज दिया।

टीम में यह लोग रहे शामिल...
एसटीएफ लखनऊ इंस्पेक्टर दिलीप कुमार तिवारी, एसआई मनोज कुमार पांडेय, हेड कांस्टेबल संतोष सिंह, रुद्र नारायण उपाध्याय, हेड कांस्टेबल अंजनी यादव, सिपाही विजय वर्मा, कौशलेन्द्र प्रताप सिंह, पलिया कोतवाली के एसआई नागेन्द्र कुमार पांडेय व सिपाही अनूप कुमार शामिल थे।

चर्चा का विषय बना क्रमोसा, सूची में शामिल किया

चर्चा का विषय बना क्रमोसा, सूची में शामिल किया  

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर आपने मुंह में पानी लाने वाले स्वादिष्ट व्यंजनों के वीडियो और फोटो देखे होंगे। पिछले कुछ दिनों से इंटरनेट पर वीयर्ड फूड कॉम्बिनेशन देखने को मिल रहे हैं। इन दिनों एक ऐसा ही ‘वीयर्ड फूड’ इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। इसे समोसे का नया वर्जन कहा जा रहा है। इसका नाम ‘क्रमोसा’ है। इसे इंटरनेट के सबसे अजीब भोजन की सूची में शामिल किया गया है।
क्रमोसा बना चर्चा का विषय...
यह एक तरह से मिंट डिप वाला समोसा है। दिल्ली एयरपोर्ट पर बिकने वाला क्रमोसा लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। सबसे हैरान करने वाली बात है इसकी कीमत। आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि एक क्रमोसा की कीमत 170 रुपये है। समोसा तो आपने जमकर खाया होगा, लेकिन अब लोग क्रमोसा खाने की बात कर रहे हैं। इंटरनेट पर इसकी तस्वीर सामने आने के बाद लोग इसके बारे में जमकर बातें कर रहे हैं।
जहां समोसा देश के कोने-कोने में बिकता है। देश के हर गली मोहल्ले में आपको बड़ी संख्या में लोग समोसा खाते दिख जाते हैं। वही क्रमोसा दिल्ली एयरपोर्ट पर बिकता दिखाई दिया। सोशल मीडिया यूजर्स इसे समोसे का नया वर्जन कह रहे हैं। इसकी तस्वीरें इंटरनेट पर जमकर शेयर की जा रही हैं और इसकी कीमत के बारे में बात किया जा रहा है। आमतौर पर समोसे त्रिभुजाकार होते हैं, लेकिन क्रमोसा अलग ही आकार का है।
क्रमोसा दिल्ली एयरपोर्ट पर बिकने वाले सबसे महंगे स्नैक्स में से एक है। इसकी कीमत 170 रुपये रखी गई है। आपको समोसा आमतौर पर 5 से 10 रुपये में मिल जाता है। लेकिन क्रमोसा खाने के लिए आपको अपनी जेब ढीली करने पड़ेगी। इसकी कीमत जानकर लोगों को दिमाग खराब हो गया है।

तेज धमाके के साथ फटा टैंकर, ट्रक ड्राइवर की मौंत

तेज धमाके के साथ फटा टैंकर, ट्रक ड्राइवर की मौंत 

संदीप मिश्र        
मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के टीपी नगर थाना क्षेत्र में रविवार को एक टैंकर वेल्डिंग करते समय अचानक तेज धमाके के साथ फट गया। इस हादसे में ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई और वेल्डिंग कर रहा व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।टीपी नगर में जगन्नाथ पुरी कॉलोनी के पीछे वेल्डिंग करने वालों की दुकान है। रविवार सुबह करीब 9 बजे गबाना, अलीगढ़ का रहने वाला ट्रक ड्राइवर 40 वर्षीय बबलू अपने केमिकल के कैंटर में वेल्डिंग करा रहा था।
बताया गया कि वेल्डिंग के दौरान अचानक टैंकर तेज धमाके के साथ फट गया। बबलू और वेल्डिंग कर रहा आसिफ गंभीर रूप से घायल हो गए। धमाके की आवज सुन वहां अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां बबूल को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। आसिफ का अभी इलाज जारी है।

मुस्लिम समुदाय से जुड़े मुद्दों पर चुप्पी साधने के आरोप

मुस्लिम समुदाय से जुड़े मुद्दों पर चुप्पी साधने के आरोप 

संदीप मिश्र        
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी और उसके अध्यक्ष अखिलेश यादव पर मुस्लिम समुदाय से जुड़े मुद्दों पर चुप्पी साधने के आरोप लग रहे हैं। सपा के वरिष्ठ नेता और रामपुर के विधायक आजम खान के कुछ समर्थकों ने खुलकर इस तरह के आरोप लगाए हैं। इसी मसले पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य कमाल फारूकी ने अपनी बेबाक राय रखी है।
क्या हाल के कुछ घटनाक्रमों को देखते हुए यह कहना सही होगा कि मुसलमानों का सपा से मोहभंग हो रहा है। यह सच्चाई है कि मुसलमानों का ‘राजनीतिक नैपकिन’ की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। इस बारे में मुस्लिम समुदाय के सदस्यों को भी सोचना पड़ेगा कि क्या उन्होंने ऐसी पार्टियों का समर्थन करने का ठेका ले रखा है, जो मुसलमानों के बारे में बोलती तक नहीं हैं। आज मुस्लिम समुदाय में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो इस बारे में सोच रहे हैं। अगर सपा को 100 से अधिक सीटें मिली हैं तो इसमें सबसे बड़ा योगदान मुस्लिम समुदाय का है। अखिलेश यादव को इस बात अंदाजा नहीं हो रहा है कि अगर वह बोलेंगे नहीं तो उनका राजनीतिक वजूद खतरे में आ सकता है।
आखिर अखिलेश मुस्लिम समुदाय से जुड़े मुद्दों पर खुलकर क्यों नहीं बोलते। जबकि हालिया चुनाव में उन्हें इस समुदाय का व्यापक समर्थन मिला। यह अवसरवाद की एक जिंदा मिसाल है। जब चुनाव का मौका होता है तो मुसलमानों के लिए बातें करते हैं, लेकिन चुनाव के बाद कुछ नहीं बोलते। यानी अब उन्हें अगले चुनाव में मुसलमानों की याद आएगी। उनका यह रवैया बहुत ही अवसरवादी है। वोट की बात छोड़िए, उसूल नाम की कोई चीज है या नहीं। जयंत चौधरी ने अपनी बात रखी है। उन्होंने कम से कम हिम्मत तो दिखाई है। अखिलेश बिल्कुल खामोश हैं।
क्या यही स्थिति रही तो उत्तर प्रदेश जैसे राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य में मुस्लिम मतदाता दूसरा विकल्प तलाश सकते हैं। अगर समाजवादी पार्टी का यही रवैया रहा तो मुसलमान जरूर दूसरा विकल्प देखेंगे। मुसलमानों को इस बारे में सोचते भी रहना चाहिए। मुसलमान इस वक्त मुश्किल में हैं और वे इससे जरूर बाहर निकलेंगे। मेरा मानना है कि उन्हें राजनीतिक विकल्प के बारे में सोचते रहना चाहिए और वे सोच भी रहे हैं। अगर अखिलेश की आंखें नहीं खुलीं तो उनका बुरा हाल होगा। क्या उत्तर प्रदेश के मुसलमान मौजूदा राजनीतिक हालात में एआईएमआईएम जैसा कोई विकल्प चुन सकते है। मुसलमानों के पास विकल्प कम हैं, लेकिन मेरा अब भी यह मानना है कि मुसलमान किसी भी सूरत में सांप्रदायिक राजनीति के चक्कर में नहीं पड़ेंगे। इस बार के चुनाव में उन्होंने यही साबित किया है। एआईएमआईएम ने पूरी कोशिश की। मुसलमान देश के बारे में सोचते हैं, इसलिए उन्होंने धर्म के नाम पर वोट नहीं दिया। मुझे नहीं लगता कि आगे भी ओवैसी साहब को कामयाबी मिलेगी। मुसलमानों के लिए एकमात्र रास्ता यही है कि वे देश की सलामती के लिए धर्मनिरपेक्ष ताकतों का साथ दें। मुसलमानों को जज्बाती सियासत में पड़ने की जरूरत नहीं है।
ऐसे में क्या कांग्रेस या फिर किसी सूरत में भाजपा भी विकल्प हो सकती है। मुझे अभी भी कांग्रेस जैसी पार्टी से उम्मीद है। कोई एक बार बहुत नीचे चला जाता है तो ऊपर उठता है। हो सकता है कि कांग्रेस के लोगों को अक्ल आए, वे फिर से उठने की पूरी कोशिश करें, लेकिन फिलहाल उत्तर प्रदेश में कांग्रेस मुसलमानों के लिए विकल्प नजर नहीं आती। आगे का कुछ नहीं कह सकता। मुझे लगता है कि समय आने पर कोई न कोई विकल्प जरूर खड़ा होगा। जहां तक भाजपा का सवाल है तो मुसलमान कभी खुदकुशी नहीं करेंगे। भाजपा का एजेंडा साफ है। उसे मुसलमानों से कोई लेना-देना नहीं है। पार्टी को ध्रुवीकरण के जरिये वोट हासिल करना है।ऐसे में मेरी राय में मुसलमान धर्मनिरपेक्ष विकल्प के साथ ही रहेंगे।

4 दिन की छुट्टी के बाद 18 से खुलेंगे शेयर बाजार

4 दिन की छुट्टी के बाद 18 से खुलेंगे शेयर बाजार    

कविता गर्ग    
मुंबई।‌ 4 दिन की लंबी छुट्टी के बाद सोमवार (18 अप्रैल) से शेयर बाजार खुलेंगे। एक्सपर्ट के मुताबिक, पिछले तिमाही नतीजों का हिसाब ही शेयर की दिशा तय होगी। रिपोर्ट के मुताबिक, वैश्विक रुख से उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है। 
कोविड​​​​-19 की स्थिति भी बाजार का आगे का रुख तय कर सकती है‌। 2022 में समाप्त तिमाही के लिए एकल शुद्ध लाभ 22.8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,055.2 करोड़ रुपये था। वही भारत की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा कंपनी इन्फोसिस का मार्च तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ सालाना आधार पर 12 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 5,686 करोड़ रुपये था। कंपनी ने 2022-23 में अपने कारोबार में 13-15 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान पेश किया है। मुताबिक ‘‘घरेलू और वैश्विक मोर्चे पर कोई बड़ा घटनाक्रम नहीं होने की वजह से इस सप्ताह बाजार की दिशा कंपनियों की ‘कमाई’ से तय होगी। बाजार में शेयर विशेष गतिविधियां देखने को मिल सकती है।
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर के मुताबिक आमदनी के सीजन की शुरुआत के साथ आने वाले दिनों में घरेलू बाजार में क्षेत्र विशेष गतिविधियां देखने को मिल सकती है।
विश्लेषक बता रहे है कि सेमवार को बाजार खुलते ही विदेशी संस्थागत निवेशकों के निवेश के रुझान, रुपये और कच्चे तेल के उतार-चढ़ाव पर बाजार की निगाह रहेगी।

लाउडस्पीकर चालू, मंदिर के माइक क्यों बंद हैं ?

लाउडस्पीकर चालू, मंदिर के माइक क्यों बंद हैं ? 


संदीप मिश्र        

उज्जैन। महाकाल मंदिर की व्यवस्था सवाल खड़े करते हुए संत डॉ. अवधेशपुरी महाराज ने कहा है कि महाकाल मंदिर जाने पर अजान की आवाज आती है, आरती व मंत्रों की मंगल ध्वनि सुनाई ही नहीं देती है। जब मंदिर के आसपास स्थित मस्जिदों के लाउडस्पीकर चालू हैं, तो मंदिर के माइक क्यों बंद हैं ?

 इसी तरह आह्वान अखाड़े के महामंडलेश्वर अतुलेशानंद महाराज ने महाकाल मंदिर के बाहर मुस्लिम समाज के होटलों पर सवाल उठाए हैं।दरअसल लाउडस्पीकर को लेकर देशभर में छिड़ी बहस के बाद उज्जैन के संत भी इसमें शामिल हुए हैं। संत डॉ. अवधेशपुरी महाराज ने कहा है कि मस्जिदों की मीनारों पर आठ-आठ लाउडस्पीकर लगे हैं। इनके माध्यम से प्रतिदिन पांच बार अजान की आवाज आती है। इसके परिणाम स्वरूप आसपास के रहवासी क्षेत्र में हजारों विद्यार्थियों को पढ़ाई में व्यवधान होता है। बीमार व्यक्यिों को भी आराम करने में परेशानी होती है।

महाकाल मंदिर प्रशासन माइक व लाउडस्पीकर का संधारण तक नहीं करा पा रहा है। प्रशासन को इस ओर ध्यान देना चाहिए, ताकि श्रद्धालु आरती व मंत्रोच्चार की ध्वनि सुनकर धर्मलाभ ले सकें। इसके चलते महाकाल मंदिर के नजदीक जाने पर भी अजान की आवाज तो आती है, लेकिन महाकाल की भस्मआरती की नहीं। इसलिए प्रशासन को चाहिए कि हिंदुओं के साथ इस प्रकार का भेदभाव न करे। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर के शिखर के ऊपर चलने वाला तुरई लाउडस्पीकर पिछले कई साल से बंद हैं।

आह्वान अखाड़े के महामंडलेश्वर अतुलेशानंद महाराज ने भी इसका समर्थन किया है और दोनों संतों ने कहा कि महाकाल मंदिर के नजदीक जाने पर भी अजान की आवाज तो आती है, लेकिन महाकाल की भस्मआरती की नहीं। इसलिए महाकाल मंदिर के विकास पर हजारों करोड़ खर्च करने वाले प्रशासन को चाहिए कि हिंदुओं के साथ इस प्रकार का भेदभाव न करे। उन्होंने कहाकि तेज बजते लाउडस्पीकर से विद्यार्थी ही नहीं ह्रदय रोगी भी परेशान होते हैं।

आह्वान अखाड़े के महामंडलेश्वर अतुलेशानंद ने मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकर के साथ महाकाल मंदिर के बाहर मुस्लिम समाज के होटलों पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि मंदिर के आसपास करीब 180 होटल ऐसे हैं जो मुस्लिम, हिन्दू नाम से चला रहे हैं। संतों ने शासन से निवेदन किया है कि नाम हिन्दी में करने के साथ मालिकों के नाम व नंबर स्पष्ट रूप से भी बोर्ड पर दर्शाए जाएं। संत ने चेतावनी दी है कि मांग नहीं मानी जाती तो हर हिंदू के घर लाउडस्पीकर फुल वॉल्यूम में बजेगा। उन्होंने वीडियो जारी कर कहा है कि महाकालेश्वर मंदिर के बाहर आरती की जगह नमाज सुनाई पड़ती है। आरती की आवाज तो दबी रह जाती है, दिन में 5 बार मंदिर के आसपास करीब 2000 लाउडस्पीकर बजते हैं। इसकी वजह से साधु संत अपनी तपस्या पूर्ण नहीं कर पाते हैं।

सीएम ठाकुर की घोषणा से पीएम मोदी नाराज हुए

सीएम ठाकुर की घोषणा से पीएम मोदी नाराज हुए   

श्रीराम मौर्य        
शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश में बिजली और पानी मुफ्त देने की घोषणा की है। इस ऐलान से जनता तो खुश है। लेकिन इस फैसले से दिल्ली दरबार में नाराजगी है। दरअसल, सीएम ठाकुर ने ग्रामीण क्षेत्रों में मुफ्त पानी और पूरे प्रदेश में 125 यूनिट बिजली मुफ्त देने का ऐलान किया है। साथ हीं एचआरटीसी की बसों में महिलाओं को किराए में 50 फीसदी की छूट देने का भी ऐलान किया है। लेकिन इस घोषणा की वजह से अब उन्होंने पीएम की नाराजगी मोल ले ली है। हाल ही में पीएम ने जयराम के काम की प्रशंसा की थी, लेकिन इस ऐलान से अब मोदी नाराज बताए जा रहे हैं। आलाकमान की अनुमति या उनसे विचार-विमर्श किए बिना मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने खुद ही फैसला ले लिया। अब इस फैसले को लेकर भाजपा शासित अन्य राज्यों पर भी मुफ्त सेवाएं देने का दबाव बन रहा है। बताया जा रहा है कि इस मसले पर प्रधानमंत्री मोदी ने बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी बात कर नाराजगी जाहिर की है।
चर्चाओं के बाजार में ये भी बात चल रही है कि प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा जिस तरह से आम आदमी पार्टी को ही टार्गेट में लेकर चल रही है, उससे अमित शाह भी नाराज हैं। भाजपा के नेता लगातार आप नेताओं को टार्गेट कर रहे हैं। शीर्ष नेताओं का मानना है कि ऐसा करके बीजेपी के नेता AAP को अपना मुख्य विरोधी मानकर उसे कुछ ज्यादा ही तवज्जो दे रहे हैं। जबकि प्रदेश की सियासत में उनकी एंट्री कुछ दिन पहले ही हुई है।
बता दें कि वर्तमान में 18 राज्यों में बीजेपी की सरकार है। अब हिमाचल में मुफ्त सेवाएं देने के बाद अन्य प्रदेशों पर भी इसका दबाव पड़ने लगा है। अन्य राज्यों को छोड़ भी दें तो गुजरात में साल के अंत में चुनाव होने हैं, यहां पर ऐसी किसी सेवाओं को लागू करने का दबाव बन सकता है। ये दबाव कहीं गुजरात में बीजेपी के परेशानी का सबब ना बन जाए।
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश में 125 यूनिट तक मुफ्त बिजली, हिमाचल प्रदेश पथ परिवहन निगम (HRTC) की बसों में महिलाओं को किराए में 50% छूट और ग्रामीण क्षेत्रों में पानी के बिल माफ करने की घोषणा की है। जबकि मुफ्त सेवाओं को लेकर भाजपा नेता अक्सर आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते रहते हैं।

अस्पताल पहुंचने में देरी, 8 महीने के बच्चे की मौंत

अस्पताल पहुंचने में देरी, 8 महीने के बच्चे की मौंत  

इकबाल अंसारी      
अमरावती। आंध्र प्रदेश में मासूम की मौत की घटना सामने आई है। जहां आंध्र प्रदेश की नवनियुक्त महिला एवं बाल कल्याण मंत्री उषा श्रीचरण के जुलूस के लिए कथित तौर पर ऑटो रिक्शा को रोकने पर अस्पताल पहुंचने में देरी के कारण 8 महीने के बच्चे की मौत हो गई।
जानकारी के अनुसार महिला और बाल कल्याण मंत्री उषा श्रीचरण के विजय जुलूस के दौरान यह बड़ी दुर्घटना घटी। जब ट्रैफिक जाम में पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद कल्याणदुर्ग में एक 8 महीने के शिशु की मौके पर मौत हो गई। घटना शुक्रवार रात की बताई जा रही है। नवजात की मौत से परिजन बेहद गुस्से में है ‌और उसने मंत्री ऊषा श्रीचरण के खिलाफ आरोप लगाया है।
8 महीने की नवजात बच्ची के माता पिता ने महिला एवं बाल कल्याण मंत्री ऊषा श्रीचरण के विजय काफिले को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि कल्याणदुर्ग में एक आटो-रिक्शा में अस्पताल ले जाने के दौरान बच्ची की मौत हो गई।
जिसे पुलिस ने मंत्री के विजय काफिले के कारण बीच रास्ते में रोक दिया था। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने इन आरोपों से साफ इनकार किया है।
इस मामले में एसपी अनंतपुर ने फकीरप्पा कागिनेली को सूचित कर कहा, ‘मंत्री का विजय जुलूस और जिस आटो में लड़की को ले जाया जा रहा था, वह 3.5 किमी दूर था और विजय जुलूस भी शाम 5:45 बजे शुरू हुआ, जबकि लड़की को शाम 7:18 बजे डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया था। पुलिस अधिकारियों ने बिना किसी रुकावट के परिवार को तुरंत एक वैकल्पिक मार्ग पर ले जाया गया, पुलिस विभिन्न कारणों की जांच कर रही है।
वहीं मृतक बच्ची के परिजन जमकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और इस मामले में न्याय की मांग कर रहे हैं। इस पूरे प्रकरण को पुलिस ने संज्ञान में लेते हुए जांच शुरू कर दी है।

मालगाड़ी मैनेजर के पद पर भर्ती, आवेदन आमंत्रित

मालगाड़ी मैनेजर के पद पर भर्ती, आवेदन आमंत्रित  

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा अवसर आया है। दरअसल, भारतीय रेलवे के साउथ वेस्‍टर्न रेलवे डिवीजन ने मालगाड़ी मैनेजर के पद पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन पदों पर इच्छुक अभ्यर्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
साउथ वेस्‍टर्न रेलवे की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार कुल 147 पदों पर भर्ती होनी है, जिसके लिए उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता स्नातक पास तय की गई है। रिक्त पदों पर आवेदन के लिए 25 अप्रैल तक का समय दिया गया है।

यात्रा: पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे जॉनसन

यात्रा: पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे जॉनसन    

सुनील श्रीवास्तव           
लंदन/नई दिल्ली। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अगले सप्ताह भारत की यात्रा करेंगे और नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। इसकी जानकारी डाउनिंग स्ट्रीट ने रविवार को दी।
डाउनिंग स्ट्रीट ने कहा,'यह यात्रा 21 अप्रैल को अहमदाबाद में प्रमुख व्यवसायियों से मिलने और ब्रिटेन तथा भारत के बढ़ते वाणिज्यिक, व्यापार और लोगों के संबंधों पर चर्चा करने से शुरू होगी। ऐसा पहली बार होगा जब ब्रिटेन के कोई प्रधानमंत्री गुजरात का दौरा करेंगे।
श्री जॉनसन गुजरात में विज्ञान, स्वास्थ्य और प्रौद्योगिकी परियोजनाओं के साथ-साथ ब्रिटेन और भारत में प्रमुख उद्योगों में बड़े निवेश की घोषणा कर सकते हैं।
उन्होंने कहा,' इसके बाद प्रधानमंत्री श्री जॉनसन 22 अप्रैल को प्रधानमंत्री श्री मोदी से नयी दिल्ली में मुलाकात करेंगे। दोनों नेताओं ब्रिटेन और भारत की रक्षा, राजनयिक और आर्थिक साझेदारी पर गहनता से बातचीत करेंगे, जिसका उद्देश्य दोनों देशों के बीच घनिष्ठ साझेदारी को मजबूत करना और इंडो पैसिफिक क्षेत्र में सुरक्षा सहयोग को आगे बढ़ाना है।
ब्रिटेन की सरकार के अनुसार, श्री जॉनसन भारत यात्रा के दौरान मुक्त व्यापार समझौते पर बातचीत को आगे बढ़ाएंगे, जिससे वर्ष 2035 तक सालाना 28 बिलियन पाउंड (36.5 अरब डॉलर) तक द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।
 जॉनसन ने रविवार को कहा,'भारत की मेरी यात्रा उन क्षेत्रों को गति प्रदान करेगी जो, दोनों देशों के लोगों के लिए रोजगार सृजन और आर्थिक विकास से लेकर ऊर्जा सुरक्षा और रक्षा तक वास्तव में मायने रखती हैं।'
उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन और भारत ने आधिकारिक तौर पर जनवरी में अपनी मुक्त व्यापार समझौता वार्ता शुरू की। पिछले वर्ष मई में श्री मोदी और श्री जॉनसन द्वारा घोषित रणनीतिक योजना के तहत दोनों देश 2030 तक द्विपक्षीय व्यापार को दोगुना करने पर सहमत हुए हैं।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,150 नए मामलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,150 नए मामलें   

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। देश में जानलेवा कोरोना वायरस  महामारी के नए मामलों में रविवार को बढ़ोतरी दर्ज की गई है। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1,150 नए मामलेें सामने आए हैं और 4 लोगों की मौत हो गई। 
जानिए देश में कोरोना की ताजा स्थिति क्या है ?
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, अब एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 11 हजार 558 हो गई है। वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 5 लाख 21 हजार 751 हो गई है। 
आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक 4 करोड़ 25 लाख 8 हजार 788 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। देश में अबतक कोरोना से 4 करोड़ 30 लाख 31 हजार 958 लोग संक्रमित हो चुके हैं।
राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोरोना वायरस रोधी टीकों की 186 करोड़ से ज्यादा खुराक दी जा चुकी हैं। 

संपत्ति चोरी करने के मामलें में महिला कर्मचारी दोषी

संपत्ति चोरी करने के मामलें में महिला कर्मचारी दोषी  

अखिलेश पांडेय         
त्बिलिसी। जॉर्जिया में एक महिला कर्मचारी को अपने संस्थान से तीन अरब रुपये से अधिक की संपत्ति चोरी करने के मामले में दोषी पाया गया। उसने लग्जरी लाइफस्टाइल बिताने के लिए अरबों रुपये के सामान चोरी किए थे। चोरी के सामान को बेचने के बाद जो पैसे उसे मिले, उससे उसने महंगी कारें और प्रॉपर्टीज खरीदीं।
कोर्ट ने महिला को 23 साल तक की जेल की सजा सुनाई जा सकती है। जॉर्जिया की रहने वाली इस कर्मचारी का नाम जेमी पेट्रोन है, जो 42 साल की है। जेमी याले स्कूल ऑफ मेडिसिन में काम करती थी, जहां से उसने संस्थान के लिए कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक्स से जुड़े सामान खरीद में अरबों का घपला और चोरी किए। जेमी पेट्रोन को हाल ही में धोखाधड़ी और टैक्स चोरी के मामले में दोषी ठहराया गया है।
बयानों के अनुसार, याले यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में काम करने वाली पेट्रोन के पास वित्त और प्रशासन का जिम्मा था। पेट्रोन को संस्थान के फंड से 7 लाख रुपये तक की खरीदारी करने के लिए अधिकृत किया गया था। लेकिन उसने नियमों को ताक पर रखते हुए इससे कई गुना कीमत के सामान ऑर्डर कर दिए। लेकिन बात यहीं खत्म नहीं हुई, टैबलेट, आईपैड सहित इलेक्ट्रॉनिक्स के लाखों डॉलर का जो ऑर्डर आया था, पेट्रोन ने बाहर बेच दिया।

दक्षिण कैरोलिना मॉल में शूटिंग, 12 घायल, 3 अरेस्ट

दक्षिण कैरोलिना मॉल में शूटिंग, 12 घायल, 3 अरेस्ट   

अखिलेश पांडेय            

बोगोटा/वाशिंगटन डीसी। अमेरिका में कोलंबिया के दक्षिण कैरोलिना मॉल में एक शूटिंग के बाद 12 लोग घायल हो गए और तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। कोलंबिया के पुलिस प्रमुख विलियम होलब्रुक ने कहा कि यह घटना कोलंबियाना सेंटर मॉल के परिसर में हुई। उन्होंने बताया कि गोलीबारी से किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। तीन हथियारबंद लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। आगे उन्होंने कहा यह स्पष्ट नहीं है कि वास्तव में कितने लोगों ने हथियार चलाए। 

उन्होंने कहा कि पुलिस का मानना है कि गोलीबारी कोई आकस्मिक हमला नहीं था। आगे उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि हथियारबंद लोग एक-दूसरे को जानते थे और कुछ प्रकार के संघर्ष हुए, जिसके परिणामस्वरूप गोलियां चलीं।

सीएम ने 'ईस्टर पर्व' की बधाई व शुभकामनाएं दी

सीएम ने 'ईस्टर पर्व' की बधाई व शुभकामनाएं दी  

दुष्यंत टीकम      
रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को, विशेष रूप से मसीही समुदाय के लोगों को ईस्टर पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी है। बघेल ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि ईस्टर के पवित्र दिन यीशु मसीह पुनर्जीवित हुए थे, ऐसी मान्यता है। 
यह दिन हमें यीशु मसीह की शिक्षाओं की याद दिलाता है। बघेल ने ईस्टर के अवसर पर यीशु मसीह द्वारा दी गई प्रेम, त्याग और करूणा की शिक्षाओं से प्रेरणा लेते हुए लोगों से मानवता की भलाई के लिए काम करने का आह्वान किया है।

6.52 सेंटीमीटर तक मुंह खोल सकती हैं, रिकॉर्ड

6.52 सेंटीमीटर तक मुंह खोल सकती हैं, रिकॉर्ड   

अखिलेश पांडेय       
वाशिंगटन डीसी। एक महिला के बारे में दावा किया जाता है, उनका मुंह दुनिया में सबसे बड़ा है। यानी ये महिला अपना मुंह सबसे ज्‍यादा खोल सकती हैं।
वह अपनी जिंदगी से जुड़े तमाम अपडेट सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं। उनका मुंह इतना खुल सकता है, जिसकी कल्‍पना करना भी मुश्किल है।
अपने बड़े मुंह के कारण उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है, वह सबसे बड़े मुंह वाली महिला हैं। उनके बारे में ये रिकॉर्ड है कि उनका मुंह 6.52 सेंटीमीटर तक खुल सकता है। महिला इस महिला का नाम समांथा राम्‍सडेल है। उनकी उम्र 32 साल है।
बड़े मुंह के कारण उनका गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था। समांथा अमेरिका के Connecticut स्‍टेट के Stamford की रहने वाली हैं। महिला टिकटॉक स्‍टार भी है। महिला के टिकटॉक पर 30 लाख से ज्‍यादा फॉलोअर्स हैं।
वैसे पिछले साल उनका नाम जब गिनीज वर्ल्‍ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था।‌ तो इसको वेरिफाई करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड की टीम समांथा के पास साउथ नोरवॉक अमेरिका पहुंची थी। दौरान गिनीज का आधिकारिक निर्णायक मंडल भी वहां मौजूद था। Dr. Elke Cheung ने तब उनका मुंह डिजिटल कैलिपर्स से नापा था। इस दौरान टीम ने देखा था कि वह मुंह कितना खोल सकती हैं।
डेलीमेल की रिपोर्ट के मुताबिक, समांथा को गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड का खिताब पाने से पहले ये भी साबित करना पड़ा था कि उन्‍होंने कोई सर्जरी तो नहीं करवाई है। समांथा अपने कई मुंह के साथ कलाकारी करते हुए कई तरह के फोटो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्‍ट करती रहती है।

आतंकवादियों के लिए मुसीबत बनें सीसीटीवी कैमरे

आतंकवादियों के लिए मुसीबत बनें सीसीटीवी कैमरे 

इकबाल अंसारी          
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में लोगों की सुरक्षा और आपराधिक गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए लगाए गए सीसीटीवी कैमरे आतंकवादियों के लिए मुसीबत बन गए हैं और आतंकी सीसीटीवी कैमरों से पूरी तरह डरे हुए हैं। वे लोगों को सीसीटीवी कैमरे न लगाने की धमकी दे रहे हैं। आतंकियों ने धमकी देते हुए कहा कि इनसे दूर रहो, अन्यथा परिणाम भुगतने को तैयार रहें। वे इसे आम कश्मीरी औरतों की निजता के साथ जोड़ते हुए कह रहे हैं कि इनमें हमारी मां-बहनों की तस्वीरें कैद हो जाती हैं। इस बीच, पुलिस ने आतंकी धमकियों का संज्ञान लेते लोगों को पूरी सुरक्षा का यकीन दिलाते हुए कहा कि धमकी देने वाले जल्द पकड़े जाएंगे। जहां सीसीटीवी कैमरा होगा, वहां पकड़े जाने के डर से आतंकी नहीं आएंगे।
प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में विशेषकर कश्मीर घाटी में आतंकियों द्वारा बीते दिनों भीड़ भरे इलाकों में ग्रेनेड हमले किए जाने और  नागरिकों को उनके घरों में दाखिल होने पर मौत के घाट उतारे जाने की  घटनाओं का संज्ञान लेते हुए सभी भीड़ भरे स्थानों, धर्मस्थलों, सभी प्रमुख व्यापारिक प्रतिष्ठानों और बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया है। निर्देश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। इसके साथ ही पुलिस ने भी प्रदेश के विभिन्न शहरों व कस्बों में करीब 500 नए सीसीटीवी कैमरे जो क्षेत्रीय और जिला नियंत्रण कक्ष के साथ जुड़े रहेंगे, स्थापित करने का फैसला किया है।
आइजीपी कश्मीर विजय कुमार के मुताबिक, लाल चौक के साथ सटे हरि सिंह हाई स्ट्रीट में गत 2 मार्च को हुए ग्रेनेड हमले और उससे पहले जनवरी में हुए ग्रेनेड हमलों में लिप्त आतंकियों को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चिन्हित कर पकड़ा गया है। इसके अलावा मैसूमा में इसी माह सीआरपीएफ के जवानों पर हमले में लिप्त आतंकियों व उनके ओवरग्राउंड वर्कर की निशानदेही भी घटनास्थल के पास स्थापित एक सीसीटीवी कैमरे से ही हुई है। श्रीनगर से बाहर भी कई अन्य जगहों पर आतंकी वारदातों में शामिल आतंकियों को पकड़ने में सीसीटीवी कैमरों की भूमिका अहम रही है।
सिर्फ आतंकी वारदातों की बात नहीं हैं, अन्य असामाजिक तत्वों और अपराधियों को पकड़ने में भी यह मददगार साबित होते हैं। इसलिए सभी को सीसीटीवी कैमरे लगवाने की सलाह दी गई है। सीसीटीवी कैमरों के प्रति आम लोगों में बढ़ती जागरुकता से परेशान आतंकियों ने इनका विरोध शुरु कर दिया है। उन्होंने इंटरनेट मीडिया का सहारा लेते हुए लोगों को धमकाते हुए कहा कि जो भी सीसीटीवी लगवाने की सोच रहा है, वह अपने अंजाम के लिए तैयार रहे। जिन्होंने भी सीसीटीवी कैमरा लगाया है, वह उसे बंद कर दें और उतार दें,अन्यथा हम खुद कार्रवाई करेंगे और किसी को नहीं बख्शेंगे। आतंकी संगठन ने कहा है कि यह सिर्फ हमारे लोगों का मसला नहीं है, कश्मीर की बहू-बेटियों का भी मसला है, सीसीटीवी कैमरों में उनकी तस्वीरें भी कैद हाे जाती हैं। इसलिए सभी को अंतिम चेतावनी दी जाती है कि वे सीसीटीवी कैमरे न लगवाएं,अन्यथा उन्हें सबक सिखाया जाएगा।
जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि बाजार एसोसिएशनों और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठानों के संचालकों व आम लोगों द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने से आतंकी घबरा गए हैं। उन्हें लगता है कि अब वे कहीं नहीं छिप सकते और न वारदात को अंजाम देकर भाग सकते हैं, क्योंकि सीसीटीवी कैमरे में उनकी तस्वीर कैद हो जाएगी। आतंकियों के ओवरग्राउंड वर्कर भी सीसीटीवी कैमरों से खौफ खाए हुए हैं।कई ओवरग्राउंड वर्करों ने अपने हैंडलरों से कहा है कि वे अब उनके लिए काम नहीं कर सकते, क्योंकि सीसीटीवी में अगर वे कहीं किसी विघटनकारी गतिविधि में शामिल नजर आए तो उन्हें कानून के पंजे से कोई नहीं छ़ुड़ा पाएगा। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को वह नहीं झुठला सकते। यह उनके गुनाहों का सबसे बड़ा गवाह होता है। इसलिए वह अब लोगों को धमका रहे हैं। उन्होंने कहा कि आतंकियों ने पहले स्थानीय किसानों को अपने बागों की तारबंदी न करने का फरमान सुनाया था, क्योंकि आतंकी बाग और खेतों में छिपते थे। किसानों खुद बाग में जाने से डरते थे,लेकिन जब बागों की तारबंदी शुरु हुई तो किसान बेखौफ होकर अपने बागों में जाने लगे,क्योंकि आतंकियों के लिए एक अवरोधक लग चुका था।

अभिनेत्री रुबीना ने इंस्टाग्रम पर तस्वीरें शेयर की

अभिनेत्री रुबीना ने इंस्टाग्रम पर तस्वीरें शेयर की  

कविता गर्ग         
मुंबई। 'बिग बॉस 14' विनर अभिनेत्री रुबीना दिलैक सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है। एक्ट्रेस द्वारा शेयर की गई हर पोस्ट फैंस को काफी पसंद आती है। इसी कड़ी में अभिनेत्री रुबीना ने कुछ ऐसी दिलकश तस्वीरें इंस्टाग्रम पर शेयर की हैं। जिन्हें देख फैंस तारीफें करते नहीं दिख रहे हैं।
आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि रुबीना दिलैक ने लाल रंग की साड़ी पहनी है। जिसमें वो काफी हॉट लग रही हैं। रुबीना ने अपनी इस साड़ी को थाई हाई स्लिट डिजाइन में बंधा है। उनके अलग स्टाइल में साड़ी बांधने का तरीका फैंस को काफी पसंद आ रहा है। रुबीना दिलैक के फैंस उनकी इन तस्वीरों को दिल खोलकर लाइक्स कर रहे हैं। इंस्टाग्राम पर निया शर्मा के 7.8 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-191, (वर्ष-05)
2. सोमवार, अप्रैल 18, 2022
3. शक-1984, वैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2078‌। 
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 25 डी.सै., अधिकतम-41+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया 

एससी ने सभी महिलाओं को 'गर्भपात' का हक दिया  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। गुरुवार को देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्...