सोमवार, 3 मई 2021

सिलेंडर में बंद ऑक्सीजन 'संपादकीय'

मधुकर कहिन 
कोरोना के दौरान ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर आपके हर सवाल का जवाब !!!
प्लांट से अस्पतालों तक सिलेंडर पहुंचने वाले लोगों का अब तक नहीं हुआ है वैक्सीनशन 
सुबह से लेकर शाम तक सैकड़ों फोन उठाता हूँ। हर फोन पर सिर्फ एक ही सवाल होता है और एक ही मुद्दा - साहब 'ऑक्सीजन' का सिलेंडर नहीं है, दिला दो , साहब 'ऑक्सीजन' गैस कहां से लाऊं ?  साहब 'ऑक्सीजन' का सिलेंडर कब तक मिलेगा ? मेरे पास न कोई जवाब होता है और न ही कोई हल।
मैंने सोचा आज यह ब्लॉग लिख कर सारे जवाब एक साथ ही दे डालूँ। सभी लोगों को बता दूँ की मैं कोई सुपर मैन नहीं हूँ। भाई ! मैं भी एक आम इंसान ही हूँ। बस पत्रकार हूँ इसलिए ज़रा ज्यादा मुखर हूँ। जितना ज्ञान इस विषय पर मैंने इन दिनों अर्जित किया है उतना आप तक पहुंचा रहा हूँ।
तो साहब ! जिस 'ऑक्सीजन' की हम बात कर रहे हैं। वह 'ऑक्सीजन' कोविड-19 के मरीजों को जिंदा रखने और उपचार के दौरान दी जाने वाली संजीवनी बूटी की तरह है। जिसे सैकड़ों लोग रोज़ 'ऑक्सीजन' प्लांट से लेकर अस्पतालों तक ले जा रहे हैं। जिनका खुद का वैक्सीनशन अब तक नहीं हुआ है। है न कमाल ?

 खैर, लोगों के अक्सर जो सवाल होते है वो कुछ ऐसे हैं ...
पहला सवाल - मैं कोरोना पॉजिटिव हूँ। मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई है। क्या मुझे 'ऑक्सीजन' की जरूरत तुरंत  पड़ेगी ?
जवाब है कि  - अगर आप की रिपोर्ट पॉजिटिव है , तो आपको तुरंत 'ऑक्सीजन' की ज़रूरत नहीं है। यदि आपकी HRTC रिपोर्ट 10 से ऊपर है तो आपको तुरंत ऑक्सीजन की जरूरत पड़ेगी। आपकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही आपको ऑक्सीजन की जरूरत नहीं है। इसलिए पॉजिटिव आते ही दवाइयों पर और डॉक्टर की सलाह पर निर्भर रहें। जल्दबाजी न करें डॉ की सलाह पर दवाई लेते रहें। इस से क्या होगा कि आप यदि व्यवस्थाओं में माहिर है तो सिलेंडर और ऑक्सीजन अपने घर तो ले आएंगे। लेकिन वह आपके काम नहीं आएगी और उसके साथ-साथ किसी और ज्यादा जरूरतमंद के भी काम नहीं आएगी। अधिकांश मामले नियमित दवाई और चिकित्सकों की गाइडेंस से ठीक हो रहे हैं।
दूसरा सवाल - आखिर मुझे 'ऑक्सीजन' मिलेगी कहाँ से ?
जवाब है कि - आपको 'ऑक्सीजन' सिलेंडर उसी अस्पताल में भर्ती होने पर मिलेगा। जिस अस्पताल से आप का उपचार चल रहा है और वही अस्पताल आपको भर्ती तो कर देगा।, लेकिन 'ऑक्सीजन' पर तभी लेगा। जब आपकी मेडिकल HRCT 10 से ज्यादा दिखाई देगी। उससे पहले वह भी आपको आईसीयू एडमिट नहीं करेगा।
तीसरा सवाल -किस अस्पताल में जाएँ जहाँ 'ऑक्सीजन' की दिक्कत न आये ?
जवाब है - हर उस अस्पताल में आप जा सकते हैं जिसे कोविड अस्पताल घोषित कर दिया गया है। उसमें आप जा सकते हैं और इलाज ले सकतें है। बात 'ऑक्सीजन' की तो हर अस्पताल को प्रशासन की ओर से रोज़ ऑक्सिजन सिलेंडर अलॉट किये जाते हैं । ( अनुमानित संख्या )
जैसे कि
 1300 से 2200 सिलेंडर रोज जेएलएन अस्पताल 
 55 से 100 सिलेंडर चर्चित गैस एजेंसी सिविल लाइन्स 
 55 से 100 सिलेंडर फेयर डील मेडिकल आर्यनगर 
 35 से 40 सिलेंडर क्षेत्रपाल अस्पताल
 18 से 22 सिलेंडर मित्तल अस्पताल
 45 सिलेंडर सेटेलाइट अस्पताल
 12 सिलेंडर आरएस अस्पताल
और इसी तरह से जितने भी निजी और सरकारी कोविड अस्पताल हैं। सब के पास 'ऑक्सीजन' उनके कोटा अनुसार उपलब्ध है। 
परंतु ऑक्सीजन आपको तभी मिल पाएगी जब आपको उसकी जरूरत होगी। इसलिए बेवजह सिलेंडर के पीछे ना भागे। घर में रहे और अपना उपचार जारी रखें।
चौथा सवाल क्या मुझे 'ऑक्सीजन' कंसंट्रेटर पर निर्भर रहना चाहिए ? 
इसका जवाब है कि 'ऑक्सीजन' कंसंट्रेटर मात्र 5 किलो ऑक्सीजन वायुमंडल से बनाकर देता है। जो कि केवल एक हद तक मददगार है । यदि आप कोविड-19 के शिकार हो गए और आपको 'ऑक्सीजन' की जरूरत है तो यह कंसंट्रेटर आपको कुछ प्रतिशत तक ही घरेलू लाभ पहुंचा सकता है। परंतु आपके लिए उम्मीद करना कि यह कंसंट्रेटर 'ऑक्सीजन' सिलेंडर की 98% गैस की तरह राहत देता है तो आपकी सोच गलत है।  
पाँचवा सवाल - 'ऑक्सीजन' हेतु आखिर एक मरीज़ के पास क्या क्या विकल्प हैं ?
जवाब है - संक्रमण के स्तर को देखते हुए तीन तरह की मशीनें साफ तौर पर मार्केट में दिखाई दे रही है। प्रथम तरह की मशीन है 'ऑक्सीजन' कंसंट्रेटर जो, कि आपकी सांस लेने की क्षमता को 5% बढ़ाता है। कंसंट्रेटर की कीमत लगभग 66 हज़ार तक कि होती है। 
उसके बाद है, बाई पेप मशीन जो कि 50 से 55% तक आपकी क्षमता बढ़ाएगा। इसकी कीमत 90 हजार के आसपास है।
और अंततः वेंटिलेटर जिसकी कीमत लगभग 70 से 80 लाख है। जहां 'ऑक्सीजन' सिलेंडर लगने पर आपकी सांस लेने की क्षमता 98 परसेंट तक बढ़ जाती है।
 तीनों ही तरह में कंसंट्रेटर ही एक ऐसा जुगाड़ है जो आपको प्राथमिक स्तर पर लाभ पहुंचा सकता है। परंतु यदि आप यह उम्मीद करते हैं कि जिस मरीज को वेंटीलेटर की जरूरत है। उसका काम कंसंट्रेटर से चल जाएगा तो यह उम्मीद आपको भारी पड़ सकती है।
 छठा सवाल - मेरा मरीज घर पर है। मुझे डॉक्टर ने 'ऑक्सीजन' सिलेंडर लिखकर दे दिया है। परंतु फिर भी मुझे सिलेंडर प्राप्त नहीं हो रहा है। ऐसे में मैं क्या करूं ?
 इसका जवाब है कि ऐसे में आप अपने मरीज को टैब तक डिस्चार्ज न करवाये, जब तक चिकित्सक न कहे। और सरकारी चिकित्सक से पर्चा लिखवाकर जिला कलेक्टर अथवा एडीएम और सीएमएचओ के कार्यालय को संपर्क करें। उनसे निवेदन करें और इमरजेंसी का आवेदन लगाकर कुछ हद तक मदद की उम्मीद कर सकते हैं। गैस डीलर और प्लांट धारकों के यहॉं भीड़ लगाने से कुछ लाभ नहीं होगा। क्योंकि अजमेर के प्रशासन द्वारा इन लोगों को अनुमति अब तक नहीं है कि ये सीधे गैस सिलेंडर या 'ऑक्सीजन' किसी को दे सकें।
इसके अलावा भी अगर किसी के मन में कोई सवाल या मेरे बताए हुए तथ्यों में कोई शंका या त्रुटि हो तो वह मुझसे जरूर इस नंबर पर व्हाट्सएप करके पूछे ...
मैं 'ऑक्सीजन' भले ही नहीं उपलब्ध करवा पा रहा हूँ लेकिन फिर भी जहां तक हो सकेगा, आपके सवालों का जवाब तो मैं उपलब्ध करवाने की कोशिश कर ही सकता हूँ। ताकि आपकी उम्मीद बनी रहेंं।
घर पर रहिए और अपना ख्याल रखिय।
बाहर सिलेंडर मिलेंं न मिलेंं कोरोना ज़रूर मिल जाएगा।
 नरेश राघानी

ओसामा बिन लादेन की 10वीं बरसी पर बयान दिया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने घोषणा की है, कि वो अफगानिस्तान में चले सबसे लंबे युद्ध को खत्म कर रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अफगान से अमेरिकी सेना की अंतिम टुकड़ी को बुलाने का आदेश दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा, ''जैसा कि हम अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध को समाप्त करने जा रहे हैं। अमेरिका अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की अंतिम टुकड़ी को वापस बुला रहे हैं। अब अल कायदा वहां लगभग खत्म ही हो चुका है। लेकिन इसके बाद भी अमेरिका उन आतंकवादी समूहों के खतरे को लेकर हमेशा सतर्क रहेगा। जो दुनिया भर में एक कैंसर की तरह थे।'' अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यह बयांंन ओसामा बिन लादेन की 10वीं बरसी पर दिया।

मौतों की खबरें चैनलों पर प्रसारित, याचिका खारिज

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों की खबरें समाचार, चैनलों पर प्रसारित करने पर रोक लगाने से जुड़ी याचिका सोमवार को खारिज कर दी। ललित वालेचा ने न्यायालय में एक याचिका पेश करके कहा था कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर जब से आयी है तब से समाचार चैनल न्यूज आर्टिकल और अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से बहुत नकारात्मक चित्र और खबरें अत्यंत गैरजिम्मेदाराना तरीके से प्रसारित कर रहे हैं। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति जसमीत ने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण होने वाली मौतों की जनता को जानकारी देना नकारात्मक खबरें नहीं है। इसके बाद दोनों ने यह याचिका खारिज कर दी। न्यायालय ने कहा कि जब खबरें सही होंगी तो उन पर कोई रोक नहीं लगायी जा सकती।

भारत को 13 देशों से प्राप्त हुईं सहायता सामग्री

अकांशु उपाध्याय               

नई दिल्ली। भारत में कोविड महामारी से मुकाबले के लिए अब तक 13 देशों से सहायता सामग्री प्राप्त हुई है। जिनमें नौ ऑक्सीजन जेनेरेटर, 2116 ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर, 1379 सिलेंडर एवं 965 वेंटीलेटर एवं सहायक उपकरण तथा करीब एक लाख 36 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन शामिल हैं। सरकार के आंकड़ों के अनुसार ब्रिटेन, मॉरीशस, सिंगापुर, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, आयरलैंड, रोमानिया, अमेरिका, थाईलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम और इटली से सहायता सामग्री आयी है। रूस से करीब डेढ़ लाख स्पूतनिक-5 वैक्सीन भी भेजी है।

टोकन सिस्टम लेकर आएं जिला प्रशासन के अधिकारी

अश्वनी उपाध्याय          

गाज़ियाबाद। जिलें के निवासियों को ऑक्सिजन की निर्बाध सप्लाई देने में नाकाम जिला प्रशासन के धुरंधर अधिकारी अब टोकन सिस्टम लेकर आए हैं। आपको बता दें कि जिला प्रशासन पर ऑक्सिजन की कालाबाजारी से लेकर भाई-भतीजावाद के आरोप लग चुके हैं। लोनी से भाजपा विधायक नन्द किशोर गुर्जर ने तो बाकायदा जिलाधिकारी को एक पत्र लिखकर एडीएम सिटी के खिलाफ संगीन धाराओं में एफ़आईआर दर्ज कराने की मांग तक कर डाली है। ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के आज उद्देश्य से कोविड-19 के नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी ने जीडीए के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक की। इस बैठक में पंडियन ने अधिकारियों को जिले के सभी अस्पतालों में निरंतर ऑक्सिजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने इस संबंध में ऑक्सीजन के सभी डिस्ट्रीब्यूटर्स को स्पष्ट रूप से निर्देशित करते हुए कहा कि उनके द्वारा अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई के संबंध में नियमित सूचना नगर आयुक्त को उपलब्ध करानी होगी।

यूपी: 24 घंटें में 288 कोरोना संक्रमितों की मौत हुईं

हरिओम उपाध्याय               

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 288 संक्रमितों की मौत हो गई। जबकि 29,192 नये मरीज चिन्हित किये गये हैं। अपर मुख्‍य सचिव स्‍वास्‍थ्‍य अमित मोहन प्रसाद ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि राज्य में कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 288 संक्रमितों की मौत हो गयी और अब तक कुल 13,447 संक्रमितों ने अपनी जान गंवाई है। उत्तर प्रदेश में 29,162 नये संक्रमितों के पाये जाने के बाद अब कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 13,42,413 हो गई है। पिछले 24 घंटे में मिले नये संक्रमितों के सापेक्ष 38,687 मरीज संक्रमण मुक्त हुये। अभी तक राज्य में 10,43,134 कोरोना के मरीज पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुके हैं।

भारत में संक्रमण के हालात से बेहद चिंतित: फाइजर

अकांशु उपाध्याय                     

नई दिल्ली। वैश्विक दवा विनिर्माता कंपनी फाइजर के चेयरमैन और सीईओ अल्बर्ट बोर्ला ने सोमवार को कहा कि कंपनी भारत में फाइजर-बायोएनटेक टीका उपलब्ध कराने की खातिर उसे जल्दी मंजूरी दिलाने के लिए भारत सरकार के साथ बीतचीत कर रही है। उन्होंने यह भी बताया कि फाइजर अपने अमेरिका, यूरोप और एशिया स्थित वितरण केंद्रों से सात करोड़ डॉलर (करीब 510 करोड़ रुपये) की दवाएं भारत भेज रही है। उन्होंने फाइजर इंडिया के कर्मचारियों को भेजे मेल में कहा, ”हम भारत में कोविड-19 के हालात से बेहद चिंतित हैं और दिल से आपके प्रियजनों और भारत के सभी लोगों के साथ हैं।” उन्होंने यह मेल लिंक्डइन पर पोस्ट किया है। बोर्ला ने कहा, ”हम इस बीमारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में भागीदार बनने के लिए प्रतिबद्ध हैं और अपनी कंपनी के इतिहास में सबसे बड़ी मानवीय राहत के लिए तेजी से काम कर रहे हैं।”

तीसरी बार बंगाल की 'सीएम' ममता लेंगीं शपथ

कोलकाता। ममता बनर्जी 5 मई को तीसरी बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगी। उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने सोमवार को यह जानकारी दी। पार्टी महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि नव-निर्वाचित विधायकों ने यहां हुई बैठक में बनर्जी को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया। तृणमूल विधायकों ने मौजूदा विधानसभा के अध्यक्ष विमान बनर्जी को नयी विधानसभा का कार्यवाहक अध्यक्ष चुना है। चटर्जी ने विधायकों की बैठक के बाद यहां पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से कहा, ”नव-निर्वाचित सदस्य छह मई को विधानसभा में शपथ लेंगे।”

लॉकडाउन: हरियाणा रोडवेज की बसें नहीं होगीं बंद

राणा ओबराय           
चंडीगढ़। हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन के चलतेें हरियाणा रोडवेज की बसें बंद नहीं की गई हैं और भविष्य में भी बसें बंद करने का सरकार का कोई इरादा नहीं है। आज यहां जारी एक बयान में मूलचंद शर्मा ने कहा कि प्रदेश में सरकार द्वारा कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए जारी की गई हिदायतों के अनुसार, पात्र श्रेणियों के व्यक्तियों के लिए 50 प्रतिशत क्षमता के साथ बसें चलाई जा रही हैं।
उन्होंने कहा कि हरियाणा रोडवेज की बस आमजन के लिए परिवहन का सस्ता और विश्वसनीय साधन है। इसलिए बसों को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है कि लॉकडाउन के दौरान केवल वही लोग बसों में यात्रा कर सकेंगे। जिन्हें सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार छूट मिली हुई है। बसों में यात्रा के दौरान उन्हें चेहरे पर मास्क लगाकर रखना होगा और उचित दूरी का भी पालन करना होगा। साथ ही, बसों में सैनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रखा जाएगा।

समर्थकों ने हुड़दंग मचाया तो कार्रवाई की जाएंगीं

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी            

हापुड़। जनपद के डीएम अनुज सिंह एवं जनपद एसपी नीरज कुमार जादौन ने तत्काल सख्त आदेश दिएं। जनपद में प्रत्याशियों के हुड़दंग और विजय जुलूस पर विशेष पैनी नजर। अगर किसी भी प्रत्याशी ने इस तरह का कोई भी हथकंडा अपनाया एवं विजय जुलूस निकाला और प्रत्याशियों के समर्थकों ने हुड़दंग मचाया तो तत्काल उनके विरुद्ध कानूनी और दंडनीय सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोविड-19 की चेन तोड़ने के लिए जनपद के दोनों आला अधिकारियों का एक महत्वपूर्ण कदम।

हापुड़: सुनीता ने सभी का आभार प्रकट किया

अतुल त्यागी                
हापुड़। जनपद के ग्राम अछेजा से ग्राम प्रधान का चुनाव जीतने पर श्रीमती सुनीता त्यागी ने समस्त ग्राम वासियों का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि यह जीत संपूर्ण ग्राम की जीत है। वह अपने कार्यकाल में सबको साथ लेकर कार्य करेंगी। उनके द्वारा ग्राम के लिए नई-नई योजनाएं लाकर ग्राम को आगे बढ़ाना उनका मुख्य उद्देश्य। इस अवसर पर अतुल त्यागी, मीडिया प्रभारी सुमित त्यागी, आरटीवाईएस संस्था अध्यक्ष, मनोज त्यागी, सुधीर सुधाकर, राहुल, नितिन, अभिनव, टीटू दीपक आदि मौजूद रहे।

बालू से लदे पोत से टकराईं नौका, 26 लोगों की मौत

ढाका। बांग्लादेश में क्षमता से अधिक भरी हुई एक स्पीड नौका बालू से लदे एक पोत से टकराने के बाद पलट गई। इस घटना में कम से कम 26 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई अन्य लापता हैं। पुलिस के अनुसार, यह नौका कथित रूप से अनुभवहीन नाबालिक लड़का चला रहा था। यह हादसा सोमवार सुबह बांग्लाबाजार फेरी घाट पर हुआ। जब क्षमता से अधिक भरी स्पीड नौका की पोत से टक्कर हो गई। पुलिस के एक अधिकारी ने मौके पर पत्रकारों को बताया, “ हमने 26 शवों को निकाला है और पांच लोगों को जीवित बचाया है। लेकिन स्पीड नौका की कई सवारियों के लापता होने की आशंका है। इसलिए खोज अभियान जारी है।”

एनईईटी की परीक्षा को 4 महीनें तक स्थगित किया

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कोविड-19 से निपटने के लिए पर्याप्त मानव संसाधन की बढ़ती जरूरतों के कारण की गई समीक्षा के बाद सोमवार को एनईईटी-स्नातकोत्तर की परीक्षा को अगले चार महीने तक स्थगित करने के साथ ही चिकित्सा प्रशिक्षुओं को महामारी प्रबंधन कार्यों के लिए तैनात करने का फैसला लिया गया। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 से निपटने के लिए चिकित्साकर्मियों की उपलब्धता बढ़ाने संबंधी अहम फैसलों को आज अंतिम रूप दिया। पीएमओ ने बयान में कहा कि एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्रों का कोविड-19 के हल्के लक्षण वाले मरीजों की निगरानी और टेली-मेडिसीन में उपयोग किया जा सकता है जबकि चिकित्सा प्रशिक्षु अपने संकाय के अधीन ऐसे मामलों में उपचार कर सकेंगे।बयान में कहा गया कि इससे कोविड-19 मरीजों के इलाज में जुटे मौजूदा चिकित्सकों का बोझ कम होगा। बयान के मुताबिक बीएससी नर्सिंग या जीएनएम पास नर्सों को वरिष्ठ चिकित्सकों और नर्सों की निगरानी में कोविड-19 मरीजों की सेवा में पूर्णकालिक उपयोग किया जा सकता है। पीएमओ के बयान में कहा गया कि कोविड प्रबंधन में काम करने वालों को 100 दिनों का अनुभव होने के बाद आगे सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी।
100 दिन के अनुभव के बाद ऐसे सभी चिकित्साकर्मियों को भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कोविड राष्ट्रीय सेवा सम्मान दिया जाएगा। चिकित्सा छात्रों और पेशेवरों को कोविड संबंधी कामकाज में तैनात करने से पहले उनका टीकाकरण किया जाएगा। साथ ही उन्हें चिकित्साकर्मियों के लिए मिलने वाले सरकारी बीमा योजना का लाभ भी दिया जाएगा। बयान में कहा गया कि एनईईटी की स्नातकोत्तर की परीक्षा कम से कम चार महीने के लिए स्थगित की जा रही है और यह परीक्षा 31 अगस्त से पहले आयोजित नहीं की जाएगी।

24 घंटें में 12,10,347 लोगों ने लगवाईं वैक्‍सीन

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दैनिक बुलेटिन के अनुसार देश में इस समय 34,13,642 एक्टिव केस हैं। इस दौरान देश में 3,68,147 नए संक्रमित मिले। जबकि 3,00,732 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। हालांकि संक्रमण से मरने वालों की संख्या सरकारी आंकड़ों से कई गुना ज्यादा है। मगर आधिकारिक रूप से पिछले 24 घंटों में 3,417 मरीजों की मृत्यु दर्ज की गई है। अच्छी बात यह है कि पिछले 24 घंटे में 12,10,347 लोगों ने वैक्‍सीन लगवाई है।
नए मरीजों के सामने आने के बाद अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्‍या दो करोड़ के करीब पहुंचने वाली है। देश के 12 राज्‍यों में संक्रमण की स्थिति सबसे ज्यादा गंभीर है, बनी हुई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक 150 जिलों में संक्रमण दर 15 फीसदी से भी ज्यादा है। जबकि 250 जिलों में संक्रमण दर 10 से 15 फीसदी के बीच है।

विलेज सोसायटी कंटेनमेंट जोन घोषित की, सील

अश्वनी उपाध्याय                     
इंदिरापुरम। जिला प्रशासन ने आज सुबह ट्रांस हिंडन क्षेत्र स्थित इंदिरापुरम के न्यायखंड की आम्रपाली विलेज सोसायटी को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए सील कर दिया गया। सोसायटी के दोनों गेट बंद कर दिए गए हैं। लेकिन आवश्यक सामानों की आपूर्ति की अनुमति है। अपर नगर मजिस्ट्रेट विनय कुमार ने सोसायटी की एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक कुमार को दिए नोटिस में निर्देशों के सख्त पालन का आदेश है। एसोसिएशन के अध्यक्ष के अनुसार, 11 ब्लॉक वाली आम्रपाली विलेज सोसायटी में गत 10 अप्रैल से अब तक कोविड-19 संक्रमण के कारण 8 मौतें हो चुकी हैं। 1002 फ्लैटों वाले इस सोसायटी में अभी करीब 300 संक्रमण के मामले हैं। हालांकि यहां के कुछ निवासी घर में ही आइसोलेशन में रह कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्वस्थ भी हुए हैं।

कैदियों की अदला-बदली समझौते से इनकार किया

तेहरान। ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद खातिबजादेह ने सोमवार को अमेरिका और ईरान के बीच कैदियों की अदला-बदली समझौते संबंधी मीडिया रिपोर्ट से इनकार किया है। गौरतलब है कि लेबनान के प्रसारक ए1 मायादीन ने ईरान के सूत्रों के हवाले से रविवार को खबर दी थी कि दोनों देश अपने यहां कैद एक-दूसरे के नागरिकों की अदला-बदली की योजना बना रहे हैं।रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका ने ईरान में जब्त पड़ी उसकी सम्पत्ति के बदले में सात अरब डालर देने का भी वादा किया है। अमेरिकी विदेश विभाग इस रिपोर्ट को पहले ही खारिज कर चुका है।खातिबजादेह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “ अमेरिका के साथ कैदियाें की अदला-बदली संबंधी रिपोर्ट सही नहीं हैं। कैदियों का मसला था और है, यह एक मानवीय मुद्दा है और यह ईरान के एजेंडे में हमेशा रहा है। परमाणु समझौते पर हुई वार्ता से पृथक इसकी निगरानी की गयी है।
इसी वर्ष ईरान ने अमेरिका के साथ कैदियों की अदला-बदली की अपनी इच्छा व्यक्त की थी। ईरान की यह टिप्पणी ईरान के राजनीतक मामलों के जानकार एवं स्कॉलर कवेह लॉटफोलाह अफरासियाबी को एफबीआई द्वारा नके मैसाच्यूट्स स्थित घर से इस्लामिक रिपब्लिक का ‘अपंजीकृत एजेंट’ होने के आरोप में गिरफ्तारी के बाद आयी थी। ईरान के कैदियों की अदला-बदली के मार्च में आये प्रस्ताव पर टिप्पणी करते हुए अमेरिकी विदेश विभाग के उप प्रवक्ता जलिना पोर्टर ने कहा था कि अमेरिका इस मसले पर वार्ता के लिए तैयार है।

24 संक्रमितों की मृत्यु को लेकर सवाल: राहुल

अकांशु उपाध्याय                          
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक के चामराजनगर में ऑक्सीजन की कमी से 24 मरीजों की मृत्यु को लेकर सरकार से सवाल किया है कि वह बताए कि इस घटना के पीड़ित मरे हैं या मारे गए हैंराहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि मर गए या मारे गए? उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। ‘सिस्टम’ के जागने से पहले ऐसा और कितना दुख सहन करना पड़ेगा।कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस घटना पर सवाल उठाया और कहा कि यह हत्या येद्दियुरप्पा सरकार की लापरवाही से हुई। स्वास्थ्य मंत्री इस्तीफा दें। क्या मुख्यमंत्री येद्दियुरप्पा जी इन मौतों की नैतिक जिम्मेदारी लेंगे।

तीन नगर निकास क्षेत्रों में 13 तक संपूर्ण लाॅकडाउन

हरिओम उपाध्याय                        
जौनपुर। जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा ने जिले में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते हुए मामलेे को देखते हुए तीन नगर निकास क्षेत्रों में 13 मई तक संपूर्ण लाॅकडाउन घोषित कर दिया है। इसमें सभी दुकानें और बाजार बंद रखकर केवल आवश्यक सेवाओं को चालू करने का आदेश दिया गया है।
सोमवार को जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार ने बताया कि कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिये बड़े भौगोलिक क्षेत्र जैसा कि शहर या जिला अथवा इस प्रकार के अन्य स्थान जहां ऐसे मामले बहुत अधिक हैं और लगातार उसमें बढ़ोतरी हो रही है, को भौतिक रूप से कंटेंन का निर्माण किए जाने के लिये जिला मजिस्ट्रेट को अधिकार प्रदान किए गए हैं। जिसके अंतर्गत नगर पालिका परिषद जौनपुर में 122, नगर पालिका परिषद शाहगंज में 11, नगर पंचायत मछलीशहर में 6 सक्रिय मरीज होने के कारण संक्रमण दर 13 से 15 प्रतिशत है।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 में प्रसार के कारण प्राण का संकट बना हुआ है। जिसके कारण भौतिक वृहद कंटेन बनाए जाना आवश्यक है। उक्त शासनादेश के अनुपालन में नगर पालिका परिषद जौनपुर में के प्रकरणों पर नियंत्रण के जिला मजिस्ट्रेट द्वारा 30 अप्रैल से 13 मई 2021 दिन तक संपूर्ण नगर पालिका परिषद जौनपुर, थाना क्षेत्र कोतवाली व लाइन बाजार, नगर पंचायत मछलीशहर, थाना क्षेत्र मछलीशहर, नगरपालिका परिषद शाहगंज, थाना क्षेत्र शाहगंज का आदेश पारित किया है।
नगर पालिका परिषद आवश्यक सेवाओं तथा मतगणना कार्यों से जुड़े कार्यो के अलावा अन्य किसी आवागमन की अनुमति नहीं होगी। नगर पालिका परिषद एवं फायर ब्रिगेड के द्वारा अभियान चलाकर व्यापक रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य किया जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की

कोलंबो। श्रीलंका के आलराउंडर और पूर्व कप्तान थिसारा परेरा ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से तुरंत प्रभाव से संन्यास लेने की घोषणा की। श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) को भेजे पत्र में परेरा ने कहा कि उन्होंने लगता है कि यह उनके संन्यास लेने और युवा खिलाड़ियों को मौका देने का सही समय है।
परेरा 32 साल के हैं। उन्होंने छह टेस्ट, 166 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 84 टी20 अंतरराष्ट्रीय में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व किया। उनके दुनिया भर में फ्रेंचाइजी क्रिकेट में खेलने की उम्मीद है। परेरा ने एसएलसी को लिखे पत्र में कहा, ‘‘मुझे गर्व है कि मैं सात क्रिकेट विश्व कप में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व कर पाया और बांग्लादेश में भारत के खिलाफ 2014 टी20 विश्व कप में टीम की जीत में योगदान दिया। यह मेरे जीवन का अहम पल रहा।एसएलसी ने भी राष्ट्रीय टीम की सफलता में परेरा के योगदान को स्वीकार किया। एसएलसी के सीईओ एश्ले डिसिल्वा ने बयान में कहा, ‘‘थिसारा परेरा शानदार आलराउंडर थे, जिन्होंने एक खिलाड़ी के रूप में श्रीलंका क्रिकेट को काफी योगदान दिया और देश के शानदार क्रिकेट लम्हों में भूमिका निभाई।

पाकिस्तानी सैनिकों ने सांबा सेक्टर में गोलीबारी की

सांबा। पाकिस्तान अपनी हरकतों से कभी बाज नहीं आ सकता। सोमवार सुबह पाकिस्तानी सैनिकों ने सांबा सेक्टर में सीमा से सटे रामगढ़ इलाके में गश्त लगा रहे बीएसएफ जवानों के गश्ती दल को निशाना बनाते हुए अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। इस गोलीबारी में किसी भारतीय जवान को नुकसान नहीं पहुंचा है। भारतीय जवानों ने भी पाकिस्तानी गोलीबारी का कड़ा जवाब दिया। भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई के बाद गोलीबारी का यह सिलसिला कुछ ही समय तक चला। उसके बाद पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलीबारी बंद कर दी। इस गोलीबारी के बाद सीमांत इलाकों में एकबार फिर दहशत का माहौल है।

आयोग पर हत्या का मुकदमा, याचिका पर सुनवाईं

अकांशु उपाध्याय                      
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट की निर्वाचन आयोग पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मौखिक टिप्पणी के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए निर्वाचन आयोग से कहा है। कि इसे सही परिप्रेक्ष्य में लीजिए। जस्टिस एमआर शाह ने निर्वाचन आयोग से कहा कि आप हाईकोर्ट की टिप्पणी को उसी तरह लीजिए जैसे डॉक्टर की कड़वी दवाई को लिया जाता है।
सुनवाई के दौरान निर्वाचन आयोग के वकील राकेश द्विवेदी ने कहा कि हमें सुने बिना, यह जाने बिना कि आपदा प्रबंधन किसका काम है, मद्रास हाईकोर्ट ने आयोग के खिलाफ टिप्पणी कर दी। तब जस्टिस शाह ने पूछा कि आयोग का क्या काम है। तब द्विवेदी ने कहा हमारे पास इतना फोर्स नहीं होता कि हर कार्यक्रम पर अंकुश लगाएं। इसपर जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि जज को सवाल करते समय सावधान रहना चाहिए। लेकिन यह नहीं कह सकते कि मीडिया जज की टिप्पणी को रिपोर्ट न करे। अक्सर सिर्फ लिखित आदेश नहीं जज की टिप्पणी भी लोगों के मन में भरोसा जगाती हैं। तब द्विवेदी ने कहा कि हम सिर्फ इस टिप्पणी की बात कर रहे हैं। इसका केस से कोई संबंध नहीं था।
जस्टिस शाह ने कहा कि हर जज का अलग स्वभाव होता है। कई बार टिप्पणी भी सार्वजनिक हित में की जाती है। इसे सही सन्दर्भ में लेना चाहिए। लेकिन चुनाव आयोग पर लोगों की हत्या का आरोप लगाना अनुचित है। जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा हम आपकी बात समझते हैं। पर हम हमारे हाईकोर्ट को हतोत्साहित भी नहीं करना चाहते हैं। जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि ऐसा नहीं कि जज सोचकर आते हैं कि यह बोलना है। बात के क्रम में कई बात कही जाती है। हम एक संवैधानिक संस्था के रूप में चुनाव आयोग का सम्मान करते हैं। द्विवेदी ने कहा कि जो टिप्पणी हुई उसका केस से संबंध नहीं था। यह टिप्पणी भी नहीं थी, एक तरह से हमारे खिलाफ फैसला था।

वैक्सीनेशन ड्राइव का तीसरा चरण 1 मई से शुरू हुआ

अकांशु उपाध्याय                          
नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन ड्राइव का तीसरा चरण 1 मई से शुरू हो चुका है। इस दौरान 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। जबकि अरविंद केजरीवाल सरकार ने तीसरे चरण में कोरोना वैक्‍सीनेशन को तेज करने के लिए दिल्ली के 77 सरकारी स्कूलों को वैक्सीनेशन सेंटर बनाने का ऐलान किया है।
जानकारी के मुताबिक, 18-44 साल के लोगों के कोरोना वैक्‍सीनेशन के लिए दिल्‍ली सरकार ने जिन 77 सरकारी स्‍कूलों का चयन किया है, उनको नजदीकी अस्पताल से अटैच किया गया है। बता दें कि दिल्‍ली सरकार ने स्कूलों के अंदर वैक्‍सीनेशन सेंटर इसलिए बनाए हैं, ताकि टीका लगवाने के लिए ज्यादा संख्या में लोग आ जाएं तो कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा कम हो।
दिल्‍ली के जिन सरकारी स्‍कूलों को वैक्‍सीनेशन सेंटर बनाया गया है उनमें केवी एयरफोर्स तुगलकाबाद (संगम विहार), सर्वोदय कन्या विद्यालय (बसईदारपुर), शहीद हेमू कलानी जीएसबीवी (लाजपत नगर), सरकारी गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल 2 (उत्तम नगर), सर्वोदय विद्यालय (मानसरोवर गार्डन), सर्वोदय बाल विद्यालय( वेस्ट पटेल नगर), ईशानी सरकारी कन्या विद्यालय( साकेत) और सर्वोदय विद्यालय सेक्टर 3 रोहिणी सहित कई अन्य स्कूल शामिल हैं।
यही नहीं, इस दौरान दिल्ली के न्यू अशोक नगर के एक वैक्सीनेशन सेंटर पर 18 साल से अधिक उम्र के लोग कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे हैं। जबकि एक व्यक्ति ने बताया, ‘मेरा स्लॉट 10-12 बजे के बीच है लेकिन मैं थोड़ा पहले आ गया हूं। वैक्सीन लेना बहुत जरूरी है। सभी लोगों को वैक्सीन लगवानी चाहिए।

सीएम भूपेश ने केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला को लिखा पत्र

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण को पत्र लिखकर प्रदेश में वर्तमान में 9 अप्रैल से 6 मई की सुबह तक कंटैनमेंट जोन घोषित होने के कारण राज्य के लघु और मध्यम व्यवसायियों की परेशानियों को देखते हुए उन्हें वांछित राहत प्रदान करने का अनुरोध किया है। श्री बघेल ने छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कामर्स एण्ड इण्डट्रीज के अनुरोध पर केन्द्र सरकार से मांग की है कि व्यवसायियों द्वारा विभिन्न प्रकार की विवरणियों को प्रस्तुत करने की अप्रैल एवं मई माह की तिथियों को दो माह के लिए बढ़ाया जाए साथ ही व्यवसाय संचालन हेतु लिए गए ऋण के मूलधन और ब्याज की किश्तों के भुगतान की समय-सीमा को कम से कम 3 माह की स्थगन अवधि प्रदान करने पर विचार किया जाए।
मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय वित्त मंत्री को पत्र में लिखा है कि - कोविड-19 महामारी की दूसरी और अधिक घातक लहर को रोकने के अंतिम प्रभावी कदम के रूप में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित लगभग सभी जिलों में दिनांक 9 अप्रैल से प्रारंभ कर 6 मई की सुबह तक पूर्ण कटेनमेंट जोन घोषित किये जाने के कारण राज्य में आर्थिक गतिविधियां एवं व्यापार-व्यवसाय लगभग बंद है। इससे राज्य में लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यवसायियों के समक्ष आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है। छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने इस आर्थिक परेशानी में उनकी सहायता के उद्देश्य से कुछ फौरी राहतों की मांग की गई है, जिन पर मैं आपका ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूँ।

छत्तीसगढ़ में कुल 56,22,933 डोज वैक्सीन लगीं

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में रविवार शाम तक  कुल 56 लाख 22 हजार 933 डोज वैक्सीन लग चुकी है। जो कि जनसंख्या के अनुपात में 19.6 फीसदी है। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ से ऊपर हिमाचल प्रदेश, गोवा और केरल ही हैं परंतु हिमाचल प्रदेश और गोवा की आबादी 1 करोड़ भी नहीं है। इस प्रकार एक करोड़ से अधिक आबादी वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ वैक्सीनेशन के मामले में केरल के बाद दूसरे नंबर पर है। कोविड टीकाकरण के क्षेत्र में अनेक बड़े राज्य जैसे उत्तरप्रदेश, बिहार, तमिलनाडु, पंजाब, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली, राजस्थान आदि छत्तीसगढ़ से पीछे हैं।
राज्य स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार  छत्तीसगढ़ में अब तक 72 लाख, 70 हजार से ज़्यादा टेस्ट हुए हैं। जो जनसंख्या के अनुपात में 25.1 प्रतिशत हैं। छत्तीसगढ़ में टेस्ट की संख्या बढ़ाये जाने की अभी गुंजाइश शेष है। हालांकि पंजाब, उड़ीसा, महाराष्ट्र, बिहार, हिमाचल प्रदेश, झारखण्ड, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, पं.बंगाल व मध्यप्रदेश जैसे राज्य छत्तीसगढ़ से कहीं पीछे हैं।
छत्तीसगढ़ में कोविड से अब तक कुल 9 हजार, 009 लोगों की मृत्यु हुई है । छत्तीसगढ़ से ज़्यादा मृत्यु दर वाले राज्यों में पंजाब, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, दिल्ली, पं.बंगाल, गोवा, गुजरात और तमिलनाडु शामिल हैं। छत्तीसगढ़ में  कुल 7 लाख, 44 हजार 602 मामलों में से वर्तमान में 1 लाख, 21 हजार 99 सक्रिय हैं और 6 लाख 14 हजार 693 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

एलपीजी: कंपनियों ने सिलेंडरों की कीमतों में कटौती की

अकांशु उपाध्याय                       
नई दिल्ली। एलपीजी सिलेंडरों की कीमतों में सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों ने इस महीने 45.50 रुपए कटौती की है। यह राहत आम लोगों को नही, बल्कि, छोटे दुकानदारों और होटल मालिकों को दी गई है।
एलपीजी सिलेंडरों की कीमतों में यह कटौती केवल 19 किलो वाले कामर्शियल सिलेंडर में की गई है। वहीं, 14.2 किलोग्राम वाले घरेलू सिलेंडर के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। 19 किलो वाले कमर्शियल सिलेंडर के नए रेट एक मई से लागू हो गए हैं।
बता दे कि पिछले महीने घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम में 10 रुपए की कटौती की गई थी। आज अभी दिल्ली में LPG सिलेंडर का दाम 809 रुपए है। जबकि इस साल जनवरी में LPG सिलेंडर का दाम 694 रुपए था, जिसे फरवरी में बढ़ाकर 719 रुपए प्रति सिलेंडर किया गया। इसके बाद 15 फरवरी को दाम 769 रुपए हो गए। 25 फरवरी को एलपीजी सिलेंडर के दाम 794 रुपए कर दिए गए। वहीं मार्च में LPG सिलेंडर की कीमत 819 रुपए कर दी गई थी।

अभिनेत्री ने एक-दूसरे को मदद करने की अपील की

कविता गर्ग                              
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री सुष्मिता सेन ने कोरोना महामारी संकट के समय सुरक्षित रहने और एक-दूसरे को मदद करने की अपील की है। कोरोना महामारी से देश भर में हाहाकार मचा हुआ है।इस कठिन समय में बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के कलाकार लोगों की मदद के लिये आगे आ रहे हैं। सुष्मिता सेन ने अपने इंस्टाग्राम पर एक भावुक पोस्ट लिखा है। सुष्मिता ने अपनी एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, “मेरा दिल उन लोगों के लिए बैठ जाता है जो एक-एक सांस के लिए लड़ रहे प्रियजनों के निधन पर शोक जता रहे हैं। जिंदा रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। दिहाड़ी मजदूरों की दुर्दशा। सभी कोविड वॉरियर्स, चिकित्सा और स्वयंसेवकों, दोनों लगातार लाचारी से लड़ रहे हैं। फिर भी मानवता हर समय आगे रहती है। यह देखना अच्छा लगता है जब सभी क्षेत्रों, सभी धर्मों और सभी जगहों के लिए लोग इस महामारी में बिना शर्त के मदद के लिए आगे आ रहे हैं। पूरी तरह से मानवता से संचालित।” सुष्मिता ने लिखा, “मैं खुशकिस्मत हूं कि मैं ऐसे फैन्स, परिवारवालों, दोस्तों और स्वास्थ्यकर्मियों से घिरी हुई हूं जो दूसरों की मदद करने में मेरी हेल्प कर रहे हैं।मैं उन सभी लोगों को सलाम करती हूं जो थोड़ा-बहुत भी कर रहे हैं। आप जानते भी नहीं होंगे यह लोगों की जिंदगियों में बहुत मदद करता है।हम सबकी अपनी चुनौतियां हैं। कुछ दूसरों से ज्यादा मुश्किल हैं लेकिन इन सबसे गुजरते हुए हम कर लेंगे, साथ में। कृपया सुरक्षित रहिए, स्वस्थ रहिए, साफ-सुथरे तरीके से रहिए और अपने दिमाग को शांत रखने की कोशिश करिए। मास्क पहनिए और नियमों का सम्मान करिए, जो कि शायद आपको पिजड़े की तरह लगे लेकिन असल में वो हमारी जिंदगियों को सुरक्षित कर रही हैं। आप सभी मेरी प्रार्थनाओं में शामिल हैं।मैं उन सभी लोगों को सलाम करती हूं जो थोड़ा-बहुत भी कर रहे हैं। आप जानते भी नहीं होंगे यह लोगों की जिंदगियों में बहुत मदद करता है।हम सबकी अपनी चुनौतियां हैं। कुछ दूसरों से ज्यादा मुश्किल हैं लेकिन इन सबसे गुजरते हुए हम कर लेंगे, साथ में। कृपया सुरक्षित रहिए, स्वस्थ रहिए, साफ-सुथरे तरीके से रहिए और अपने दिमाग को शांत रखने की कोशिश करिए। मास्क पहनिए और नियमों का सम्मान करिए, जो कि शायद आपको पिजड़े की तरह लगे लेकिन असल में वो हमारी जिंदगियों को सुरक्षित कर रही हैं। आप सभी मेरी प्रार्थनाओं में शामिल हैं।

किसी भी फिल्म के रीमेक में काम नहीं करना चाहते हैं

कविता गर्ग                                
मुंबई। बॉलीवुड के रॉकस्टार रणबीर कपूर अपने पिता ऋषि कपूर की किसी भी फिल्म के रीमेक में काम नहीं करना चाहते हैं। वर्ष 2020 में रणबीर कपूर के पिता और अभिनेता ऋषि कपूर का निधन हो गया था। अब तक पूरा कपूर परिवार उन्हें हर वक्त याद करता है। रणबीर कपूर का एक इंटरव्यू सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें वह अपने पिता की फिल्मों के बारे में बात कर रहे हैं। रणबीर कपूर से पूछा गया। कि क्या वह अपने पिता की किसी फिल्म के रीमेक में काम करेंगे इस सवाल के जवाब में रणबीर कपूर ने कहा, “मेरे पिता ऋषि कपूर मेरे फेवरेट एक्टर्स में से एक थे। वो अपने हर रोल के लिए बहुत मेहनत करते थे, मैं खुद को इस काबिल नहीं समझता, और ना ही मुझे ऐसा लगता है कि मैं उनकी किसी फिल्म के साथ इंसाफ कर पाऊंगा।रणबीर कपूर ने कहा कि मुझे लगता है। कि फिल्म ‘जमाने को दिखाना है। को यदि फिर से बनाया जाए तो वह दर्शकों को काफी पसंद आएगी। क्योंकि इस फिल्म में ऋषि कपूर की कॉमिक टाइमिंग बहुत जबरजस्त थी।

ऑक्सीजन की कमी के कारण 24 संक्रमितों की मौंत

चामराजनगर। कर्नाटक के चामराजनगर जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण विभिन्न अस्पतालों में 24 कोरोना मरीजों की मौत हो गयी। चामराजनगर के उपायुक्त रवि ने कहा कि इनमें से 23 मरीजों की मौत सरकारी अस्पतालों में हुई। जबकि एक अन्य मरीज ने निजी अस्पताल में दम तोड़ा। उन्होंने बताया कि मरीजों की मौत रविवार को आठ बजे से सोमवार के आठ बजे के बीच हुई।
इसके अलावा 11 अन्य मरीजों की मौत विभिन्न प्रकार की गंभीर बीमारियों के कारण होने की रिपोर्टें सामने आई हैं। डा. रवि ने कहा कि जिन मरीजों की मौत हुई वे सभी वेंटिलेटर पर थे। उन्होंने कहा कि इन मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई हों यह जरूरी नहीं हैं। चामराजनगर में कोरोना रोगियों की मौत के कारण यहां पास के क्षेत्रों के लोगों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर दहशत फैल गई है। उन्होंने कहा कि रविवार से सोमवार की सुबह तक 24 कोरोना रोगियों की मौत हुई है।

बंगलौर में होने वाले मैच के कार्यक्रम को बदला

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के बीच सोमवार को बेंगलोर में होने वाले मैच के कार्यक्रम को बदल दिया गया है। क्योंकि केकेआर टीम के दो सदस्य वरूण चक्रवर्ती और संदीप वारियर कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के सूत्र ने इसकी पुष्टि की। इस मुकाबले का आयोजन 30 मई को समाप्त होने वाले इस टूर्नामेंट के दौरान किसी अन्य दिन किया जाएगा। बीसीसीआई ने अब तक कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है। लेकिन पता चला है कि लेग स्पिनर चक्रवर्ती और तेज गेंदबाज वारियर वायरस से संक्रमित खिलाड़ी हैं। ये दोनों 30 बरस के हैं। इन दोनों में से वारियर को मौजूदा सत्र में अब तक केकेआर के सात मैचों में से एक में भी खेलने का मौका नहीं मिला है। सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि दल के दो सदस्य पॉजिटिव पाए गए हैं। लेकिन हमें उनके दूसरे परीक्षण की रिपोर्ट का इंतजार है। जिससे कि गलत नतीजे की संभावना को खारिज किया जा सके जैसे दिल्ली कैपिटल्स के एनरिच नोर्ट्जे के साथ हुआ था। केकेआर ने अपना पिछला मुकाबला 29 अप्रैल को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अहमदाबाद में खेला था और पॉजिटिव नतीजे आने के बाद टूर्नामेंट में घबराहट की स्थिति हो सकती है। सूत्र ने कहा, ‘‘अब दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ियों का भी परीक्षण होगा।  और चक्रवर्ती तथा वारियर के संपर्क में आने वाले प्रत्येक खिलाड़ी की ऐप के जरिए पहचान की जाएगी।
उन्होंने कहा कि केकेआर दल के अन्य सदस्य नेगेटिव पाए गए हैं। लेकिन इन दोनों की दूसरी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट का नतीजा शाम से पहले नहीं आएगा इसलिए मैच का आयोजन नहीं हो पाएगा। पता चला है कि केकेआर के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ पैट कमिंस ने आईपीएल के सभी आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को इसकी जानकारी दी है।
माना जा रहा है कि चक्रवर्ती जब कंधे के स्कैन के लिए अस्पताल गए थे।  तो इस वायरस से संक्रमित हुए। चक्रवर्ती ने मौजूदा सत्र में केकेआर के सभी मैचों में हिस्सा लिया है। और सात विकेट के साथ टीम के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक हैं। आईपीएल की शुरुआत से पहले भी कुछ खिलाड़ी पॉजिटिव पाए गए थे। जिसमें अक्षर पटेल और देवदत्त पड्डिकल जैसे खिलाड़ी शामिल थे।

देश में कोरोना के 3,68,147 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय                       
नई दिल्ली। देश में सोमवार को कोविड-19 के 3,68,147 नए मामले आए और 3417 और मरीजों की मौत हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 1,99,25,604 जबकि मृतक संख्या 2,18,959 हो गयी है। देश में एक मई को संक्रमण के रिकॉर्ड 4,01,993 नए मामले आए थे। वहीं दो मई को 3,92,488 मामले सामने आए। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 34,13,642 हो गयी है जो संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 प्रतिशत है।  वहीं कोविड-19 से ठीक होने की दर 81.77 प्रतिशत हो गयी है। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में 1,62,93,003 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि मृत्यु दर 1.10 प्रतिशत हैं। देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी। वहीं कोविड-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी।

यूपी में 4 से 6 मई तक लागू रहेंगा कर्फ्यू: सीएम

हरिओम उपाध्याय                            
लखनऊ। यूपी सरकार ने सप्ताहांत पर लगाए गए कोरोना कर्फ्यू की अवधि सोमवार को दो और दिनों के लिए बढ़ा दी। सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया कि सरकार ने पिछले शुक्रवार रात आठ बजे से मंगलवार सुबह सात बजे तक लागू किए गए कोरोना कर्फ्यू को सोमवार को दो और दिनों के लिए बढ़ा दिया है। अब यह कर्फ्यू चार से छह मई सुबह सात बजे तक लागू रहेगा। उन्होंने बताया कि फिलहाल यह व्यवस्था इसी हफ्ते के लिए की गई है। सहगल ने बताया कि राज्य सरकार ने फैसला प्रदेश में कोरोना संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने के अपने प्रयासों के तहत लिया है।

लॉकडाउन लगाने पर विचार करें सरकार: एससी

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना संक्रमण को काबू में करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों से लॉकडाउन पर विचार करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वे लोक कल्याण के हित में दूसरी लहर के वायरस पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन लगाने पर विचार कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा कि लॉकडाउन लगाने से पहले सरकार ये भी सुनिश्चित करे कि इसका सामाजिक और आर्थिक प्रभाव कम पड़े। जिन लोगों पर लॉकडाउन का असर पड़ सकता है, उनके लिए खास इंतज़ाम किए जाएं। कोरोना वायरस की दूसरी लहर में स्थिति को गंभीर होते देख सुप्रीम कोर्ट ने खुद ही मामले को संज्ञान लेते हुए कहा है कि अगर किसी मरीज के पास किसी राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश का स्‍थानीय पता प्रमाण पत्र या आईडी प्रूफ नहीं है तो भी उसे हॉस्पिटल में भर्ती करने और जरूरी दवाएं देने से मना नहीं किया जा सकता है।

सिमी ने नये अंदाज में ममता को जीत की बधाईं दी

कोलकाता। पश्च‍िम बंगाल में ममता बनर्जी ने बंगाल की जनता पर अपने भरोसे का ट‍िकट एक बार फिर जीत लिया है। इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए ममता ने बहुत मेहनत की उन्होंने चुनावी रैलियां की और इस बीच उनके पैर में चोट भी लगी। फिर भी उन्होंने अपने कोशिशें जारी रखीं। वहीं दूसरी ओर अमेर‍िका के राष्ट्रपति जो बाइडेन को भी चुनावों के दौरान पैर में चोट लगी थी। चोट के बावजूद वे आगे बढ़ते रहे और जीत हास‍िल की। ये मजेदार इत्तेफाक ही है, जब चुनावी दांव खेल रहे दो राजनीत‍िक शख्स‍ियत की चोट भी एक जैसी और जीत भी एक समान रही। इसी पर सिमी ग्रेवाल ने अपने अंदाज में ममता बनर्जी को जीत की बधाई दी है।
सिमी ग्रेवाल ने लिखा- ‘उन्होंने कैंपेन के दौरान अपना एंकल (टखना) फ्रैक्चर कर लिया था. जो बाइडेन को भी कैंपेन के समय टखने में चोट लगी थी- दोनों जीत गए! सोचें इसपर… ‘लाठी और पत्थर मेरी हड्डी तोड़ सकती है पर मेरी लड़ाई जारी रहेगी…और मैं जीतूंगा..’ सिमी ने एक ट्वीट की फोटो भी साथ में शेयर की है। इस फोटो में फुटबॉल के ऊपर प्लास्टर लगे पैर की फोटो है, जो कि प्रतीकात्मक तौर पर ममता बनर्जी के लिए है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण    
1. अंक-261 (साल-02)
2. मंगलवार, मई 4, 2021
3. शक-1984,चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि- सप्तमी, विक्रमी सवंत-2078। इक्कीसवां रोजा, सहरी 04:13, इफ्तार 06:57। 21 रमजान, हिजरी 1442।
4. सूर्योदय प्रातः 06:20, सूर्यास्त 06:50।
5. न्‍यूनतम तापमान -15 डी.सै., अधिकतम-39+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

नये सिरे से चुनाव प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए

अकांशु उपाध्याय        नई दिल्ली। भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ(एनआरएआई) के मोहाली में होने वाले चुनावों से एक दिन पहले खेल मंत्रालय ने निशानेब...