मंगलवार, 2 जनवरी 2024

मौनी अमावस्या का विशेष महत्व, जानिए

मौनी अमावस्या का विशेष महत्व, जानिए 

सरस्वती उपाध्याय 
शास्त्रों में मौनी अमावस्या का विशेष महत्व है। माघ माह में पड़ने वाली अमावस्या को मौनी अमावस्या और माघ अमावस्या भी कहते हैं। वहीं इस दिन ऋषि मनु का जन्म हुआ था। आपको बता दें कि इस दिन व्रत और दान करने का महत्व है। इस दिन दान करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। वहीं यह तिथि पितरों को समर्पित भी मानी गई है। इस दिन लोगों को तर्पण और श्राद्ध करना चाहिए, जिन लोगों की कुंडली में पितृ दोष है। साथ ही इस दिन भगवान शिव और भगवान विष्णु का पूजन करना बेहद शुभ होता है। आइए जानते हैं मौनी।

अमावस्या शुभ मुहुर्त और तिथि…

मौनी अमावस्या तिथि 2024
वैदिक पंचांग के अनुसार मौनी अमावस्या तिथि 9 फरवरी को सुबह 8 बजकर 1 मिनट से आरंभ होगी, जो अगले दिन 10 फरवरी सुबह 4 बजकर 29 मिनट पर समाप्त होगी। इसलिए मौनी अमावस्या 9 फरवरी को मनाई जाएगी।

मौनी अमावस्या शुभ मुहूर्त 2024

ब्रह्म मुहूर्त- 05:21 AM से 06:13 AM

सर्वार्थ सिद्धि योग- 07:05 AM से 11:29 PM

अभिजित मुहूर्त- 12:13 PM से 12:58 PM

विजय मुहूर्त- 02:26 PM से 03:10 PM

अमृत काल- 02:17 PM से 03:42 PM

इन चीजोंं का करें दान

अमावस्या के दिन पितरों का तर्पण और श्राद्ध करना चाहिए। ऐसा करने से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। साथ ही जीवन में सुख- समृद्धि बनी रहती है। वहीं अमावस्या के दिन तिल, तिल के लड्डू, तिल का तेल, वस्त्र और आंवला दान में करना शुभ माना जाता है। ऐसा करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। वहीं अगर आपकी कुंडली में पितृ या सूर्य दोष है तो आप एक लोटे में जल लेकर उसमें लाल पुष्प और काले तिल डालें। फिर पितरों का ध्यान करते हुए इस जल को सूर्यदेव को अर्पित कर दें। ऐसा करने से आपको सूर्य देव और पितरों का आशार्वाद प्राप्त होगा।

मौनी अमावस्या का धार्मिक महत्व

सभी अमावस्या तिथियों में मौनी अमावस्या को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। साथ ही इस दिन स्नान दान करने और मौन व्रत रहने की परंपरा है। ऐसा करने से मन को शांति मिलती है। वहीं इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने का विधान है। इस दिन पर ओम नमो भगवते वासुदेवाय, ओम खखोल्काय नम:, ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करना चाहिए।

सरकार की नीतियों के चलते, बढ़ रही बेरोजगारी

सरकार की नीतियों के चलते, बढ़ रही बेरोजगारी

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) ने देश के अंदर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में लगातार आ रही गिरावट पर चिंता जाहिर करते हुए मंगलवार को कहा कि मोदी सरकार की नीतियों के चलते देश में बेरोज़गारी बढ़ रही है। ‘आप’ की मुख्य प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने संवाददाता सम्मेलन में कहा,“ साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि झारखंड की महिलाओं को रोजगार के लिए दिल्ली में आकर काम करना पड़ता है।
आज यह स्थिति है कि पूरे देश के लोग रोजगार की तलाश में दिल्ली आते हैं। साल 2014 में प्रधानमंत्री मोदी ने 'मेक इन इंडिया' नाम की योजना निकाली थी। इसके प्रचार के लिए 450 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए गए। इस योजना का लक्ष्य साल 2022 तक देश की जीडीपी में मैन्युफैक्चरिंग का योगदान 25 फीसदी करना था और इस क्षेत्र में 10 करोड़ नौकरियां पैदा करनी थी। हालांकि, सबकुछ इसके विपरीत हुआ।”
मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में 10 करोड़ रोजगार पैदा करने की बात तो दूर आज देश पिछले पाँच दशक में सबसे अधिक बेरोजगारी के दौर से गुजर रहा है। साल 2014 में जहां देश की जीडीपी में मैन्युफैक्चरिंग का योगदान 17 फीसदी था। कोविड-19 महामारी से पहले साल 2019 में यह योगदान 13.60 फीसदी रह गया। इसके बाद भी इस क्षेत्र में लगातार गिरावट देखने को मिली। कोविड़ के बाद साल 2022 में यह आंकड़ा महज 13.32 फीसदी रह गया।
सुश्री कक्कड़ ने कहा कि साल 2020 में केंद्र सरकार ने प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) योजना निकाली। इसका भी देश भर में जोर-शोर से प्रचार किया गया और कहा गया कि अगर कोई देश में मैन्युफैक्चरिंग करना चाहेगा तो सरकार उनको सब्सिडी प्रदान करेगी जबकि यह पूरी तरह से झूठ साबित हुआ।
विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के नियम के अनुसार, पीएलआई भारत में मैन्युफैक्चरिंग में नहीं दिया जा सकता है, केवल यहां असेंबलिंग करने पर ही दिया जा सकता है। देश में ऐसे व्यापारियों की संख्या बेहद कम हैं, जो चीन से माल आयात कर देश में असेंबल कर पाएं। ऐसे में इनकी पीएलआई योजना भी बुरी तरह से फेल हो गई।
देश में एफडीआई जहां साल 2004 से लेकर 2014 तक 2.4 प्रतिशत था, जबकि आज यह आंकड़ा 1.72 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि एमएसएमई देश में करीब 12 करोड़ लोगों को रोजगार प्रदान करता है। मैन्युफैक्चरिंग का देश की जीडीपी में जितना भी योगदान है, उसमें सबसे अधिक एमएसएमई से है। इसके बावजूद केंद्र सरकार ने एमएसएमई की पूरी तरह से उपेक्षा की है।
भाजपा ने आज देश में माहौल इतना खराब कर दिया है कि आज व्यापारी किसी मुस्लिम, दलित को रोजगार देने से डरता है। हालत यह हो गई है कि पिछले 10 साल में करीब 16 लाख भारतीय नागरिकता छोड़कर देश से बाहर जा चुके हैं। ‘आप’ नेता ने कहा कि केंद्र सरकार ने धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) में संसोधन किया, जिसके तहत बिना किसी सबूत के लोगों को जेल में लंबे समय तक रखा जा सकता है।
कल केंद्र में ऐसी सरकार आ जाए जो कहे कि एक करोड़ रुपये इलेक्ट्रॉरियल बॉन्ड में दो, नहीं तो पीएमएलए लगा दिया जाएगा। ऐसे में आम इंसान या व्यापारी किस तरह से व्यापार कर पाएगा। भाजपा अगर सच में मैन्युफैक्चरिंग के आंकड़ों को लेकर संजीदा है तो एक तिमाही के आकंड़ों पर खुशी जताने की बजाए सत्य को स्वीकार करे।

तटरक्षक विमान की टक्कर, 5 लोगों की मौत

तटरक्षक विमान की टक्कर, 5 लोगों की मौत 

अखिलेश पांडेय 
टोक्यो। नए साल पर भीषण भूकंप के बाद अब एयरलाइंस के एक विमान के साथ एक तटरक्षक विमान की टक्कर हो गई। इस जोरदार टक्कर के बाद टोक्यो के हानेडा हवाई अड्डे के रनवे पर आग लग गई। बताया जा रहा है कि ये हादसा जापान में हुआ है। तटरक्षक विमान में 6 लोग सवार थे। जिनमें से एक शख्स बचकर भाग निकला। लेकिन 5 लोगों की मौत हो गई है। निप्पॉन टीवी ने इसकी जानकारी दी है।
मिली जानकारी के अनुसार रनवे पर उतरते वक्त जापान के टोक्यो में स्थित हनेडा एयरपोर्ट में मंगलवार को जापान एयरलाइंस के जेट की तटरक्षक विमान के साथ टक्कर हो गई। इसके बाद एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लागू कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि फ्लाइट में 379 यात्री सवार थे। वहीं, तटरक्षक विमान में 6 लोग सवार थे, जिनमें से एक भागने में कामयाब रहा, लेकिन पांच लोगों की मौत हो गई है।हादसे के तुरंत बाद फ्लाइट की वीडियो और तस्वीरें सामने आ गई, जिसको देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितना बड़ा हादसा टला है।

बस के पलटने से 19 लोग घायल, दो गंभीर

बस के पलटने से 19 लोग घायल, दो गंभीर 

मनोज सिंह ठाकुर 
रायसेन। मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में मंगलवार तड़के कोहरे के कारण एक तेज रफ्तार निजी बस के पलट जाने से 19 लोग घायल हो गए, जिनमें से दो की हालत गंभीर है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि हादसा भोपाल-विदिशा बाईपास रोड पर सुबह करीब चार बजे हुआ।
एसडीएम मुकेश सिंह ने बताया कि 29 यात्रियों को लेकर बस इंदौर से सतना जा रही थी, तभी कोहरे के कारण चालक ने वाहन से नियंत्रण खो दिया, जिससे वह पलट गई। उन्होंने बताया कि सत्रह यात्रियों को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार दिया गया और छुट्टी दे दी गई, जबकि गंभीर रूप से घायल दो लोगों को आगे के इलाज के लिए भोपाल रेफर किया गया। घायल यात्रियों में से एक अंकित दुबे ने कहा कि बस चालक तेजी से और लापरवाही से गाड़ी चला रहा था।

स्थिरता एवं शांति के लिए 'ठोस कदम' उठाएं, आग्रह

स्थिरता एवं शांति के लिए 'ठोस कदम' उठाएं, आग्रह

इकबाल अंसारी 
इंफाल। मणिपुर में चार व्यक्तियों की गोली मारकर हत्या के एक दिन बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने मंगलवार को वहां की स्थिति को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा और सरकार से पूर्वोत्तर राज्य में सभी हितधारकों से बात करके स्थिरता एवं शांति के लिए ''ठोस कदम'' उठाने का आग्रह किया।
मणिपुर के थोउबल जिले के अल्पसंख्यक बहुल लिलोंग चिंगजाओ इलाके में अज्ञात हमलावरों ने चार ग्रामीणों की गोली मारकर हत्या कर दी। प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘मणिपुर में चार लोगों की हत्या कर दी गई। कई लोग घायल हैं, कई जिलों में कर्फ्यू है। आठ महीने से मणिपुर के लोग हत्या, हिंसा और तबाही झेल रहे हैं। यह सिलसिला कब रुकेगा?’’
उन्होंने कहा, ‘‘मणिपुर की सभी पार्टियों के नेताओं के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली आकर प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा था लेकिन उन्होंने आज तक समय नहीं दिया। न वे मणिपुर गए, न मणिपुर के बारे में बात की, न संसद में जवाब दिया, न कोई ‘एक्शन’ लिया। क्या मणिपुर को यही नेतृत्व चाहिए, या विज्ञापनों की ताकत महान बताने के लिए पर्याप्त है।
सरकार को अब बिना देर किए मणिपुर के सभी पक्षों से बातचीत करके, उन्हें विश्वास में लेकर, स्थिरता और शांति लाने के लिए ठोस कदम उठाने शुरू करने चाहिए।’’ मणिपुर में हिंसा कांग्रेस की 'भारत न्याय यात्रा' से कुछ दिन पहले हुई है, जो 14 जनवरी को राज्य से शुरू होने वाली है और मार्च में मुंबई में समाप्त होगी।
मई में उच्च न्यायालय के एक आदेश के बाद मणिपुर में अराजकता और अनियंत्रित हिंसा भड़क उठी, जिसमें राज्य सरकार को गैर-आदिवासी मेइती समुदाय को अनुसूचित जनजातियों की सूची में शामिल करने पर विचार करने का निर्देश दिया गया था। इस आदेश के कारण आदिवासी कुकी और गैर-आदिवासी मेइती समुदायों के बीच बड़े पैमाने पर जातीय झड़पें हुईं।
तीन मई को राज्य में पहली बार भड़की जातीय हिंसा के बाद से 180 से अधिक लोग मारे गए हैं और कई सौ अन्य घायल हुए हैं, जब बहुसंख्यक मेइती समुदाय की अनुसूचित जनजाति के दर्जे की मांग के विरोध में पहाड़ी जिलों में 'आदिवासी एकजुटता मार्च' आयोजित किया गया था।

हमला करने वाले तत्वों के खिलाफ कार्रवाई होगी

हमला करने वाले तत्वों के खिलाफ कार्रवाई होगी 

इकबाल अंसारी 
इंफाल। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने मंगलवार को कहा कि राज्य सरकार सुरक्षा कर्मियों और नागरिकों पर हमला करने वाले तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी। सिंह ने जोर दिया कि सरकार ऐसी धमकियों और दबाव के आगे नहीं झुकेगी तथा ऐसी उग्रवादी गतिविधियों का मुकाबला करने के लिए आवश्यक कदम उठायेगी।
उन्होंने कानून को अपने हाथ में लेने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ दृढ़ता से कार्रवाई के अपने रुख को दोहराया और कहा कि सरकार चुप नहीं रहेगी और कड़े कदम उठायेगी। मुख्यमंत्री ने लोगों से प्रदेश के दुश्मनों को पहचानने और एकजुट होकर उनका मुकाबला करने का आह्वान किया।
उन्होंने लोगों से कानून को अपने हाथ में न लेने का आग्रह करते हुए उनसे कहा कि अगर उन्हें कुछ भी संदिग्ध लगे तो वे संबंधित अधिकारियों को सूचित करें या शिकायत करें, ताकि आवश्यक कार्रवाई की जा सके। गौरतलब है कि नये साल के आगमन के साथ ही राज्य में हिंसा भड़क उठी और थौबल जिले में अज्ञात हथियारबंद व्यक्तियों ने चार नागरिकों की हत्या कर दी।
सीमावर्ती शहर मोरेह में मणिपुर पुलिस और बीएसएफ कर्मियों पर हमला किया गया। पिछले 48 घंटों में तेंगनौपाल जिले के मोरेह में संदिग्ध कुकी उग्रवादियों के हमले में मणिपुर पुलिस के सात जवान और बीएसएफ का एक जवान घायल हो गये। तलाशी अभियान और तलाशी अभियान जारी है और अतिरिक्त बल भी भेजा गया है। मुख्यमंत्री ने दो अस्पतालों का दौरा किया जहां पुलिस और नागरिक दोनों घायल लोगों का इलाज चल रहा है।

58 वाहनों का फ्लैग ऑफ कर रवाना किया

58 वाहनों का फ्लैग ऑफ कर रवाना किया

पंकज कपूर 
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय से ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के अन्तर्गत देहरादून शहर में वेस्ट मैनेजमेंट के लिए 58 डोर-टू-डोर वाहनों का फ्लैग ऑफ कर रवाना किया। इस अवसर पर उन्होंने सेग्रिगेशन पर आधारित गीत का विमोचन भी किया।
मुख्यमंत्री ने जिन 58 डोर-टू-डोर वाहनों का फ्लैग ऑफ किया। उनसे नगर निगम देहरादून के सात विधानसभा से वेस्ट मैनेजमेंट का कार्य किया जायेगा। डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्रीकरण की व्यवस्था को मजबूत करने के लिए 3.98 करोड़ रूपये की धनराशि से स्पेशल असिस्टेंस स्कीम में नगर निगम द्वारा ये 58 वाहन खरीदे गए हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि इन वाहनों की उपलब्धता से नगर निगम को वेस्ट मैनेजमेंट में काफी सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में स्वच्छता की दिशा में लगातार कार्य किए जा रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन में हम सबको अपना पूरा योगदान देना है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-74, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. बुधवार, जनवरी 02, 2024

3. शक-1945, पौष, कृष्ण-पक्ष, तिथि-षष्ठी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:48, सूर्यास्त: 05:18।

5. न्‍यूनतम तापमान- 11 डी.सै., अधिकतम- 25+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई

'भाजपा' ने दस साल में महंगाई, बेरोजगारी बढ़ाई संदीप मिश्र  लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार न...