गुरुवार, 2 मई 2024

हैदराबाद ने जीता टॉस, बल्लेबाजी का फैसला किया

हैदराबाद ने जीता टॉस, बल्लेबाजी का फैसला किया 

इकबाल अंसारी 
हैदराबाद। इंड‍ियन प्रीम‍ियर लीग (IPL) 2024 सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) और राजस्थान रॉयल्स (RR) के बीच मुकाबला खेला जा रहा है। यह मैच हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में हो रहा है। जिसमें हैदराबाद टीम के कप्तान पैट कमिंस ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। यदि संजू सैमसन की कप्तानी वाली राजस्थान टीम यह मैच जीतती है, तो वो 18 पॉइंट्स के साथ प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की कर लेगी। इसी के साथ वो प्लेऑफ में पहुंचने वाली इस सीजन की पहली टीम भी बन जाएगी। फिलहाल राजस्थान 16 अंक के साथ टॉप पर काबिज है। दूसरी ओर सनराइजर्स टीम 5वें नंबर पर फिसल गई है। उसने अपने पिछले 2 मैच लगातार हारे हैं। अब हैदराबाद टीम अपने घर में यह मैच जीतकर प्लेऑफ की रेस में मजबूती से आगे बढ़ना चाहेगी। हारने पर उसकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। राजस्थान और हैदराबाद दोनों ही टीमों ने अब तक 9-9 मुकाबले खेले हैं। इस दौरान राजस्थान ने 8 मुकाबले जीते और एक हारा है। दूसरी ओर हैदराबाद ने 5 ही जीते हैं। 4 में उसे हार झेलनी पड़ी है।

पीएम के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे 'कॉमेडियन' श्याम

पीएम के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे 'कॉमेडियन' श्याम 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मिमिक्री कर पूरी दुनिया में लोकप्रिय बन चुके श्याम रंगीला अब पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। श्याम रंगीला वाराणसी लोकसभा सीट से पीएम मोदी के खिलाफ निर्दलीय नामांकन दाखिल करेंगे। जानकारी के मुताबिक वे इस सप्ताह के अंत तक नामांकन दाखिल कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल करके नाम कमाने वाले राजस्थान के 29 वर्षीय श्याम रंगीला ने एक्स पर पोस्ट कर इसकी घोषणा की है।
श्याम रंगीला ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट X पर लिखा, “वाराणसी से मैं चुनाव लड़ूंगा, क्योंकि आजकल किसी का भरोसा नहीं कौन कब नामांकन वापस ले ले।” श्याम रंगीला ने कहा कि वे जनता को सन्देश देना चाहते हैं कि चुनाव होगा और उन्हें भी वोट किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि वे जल्द वाराणसी जाएंगे। श्याम रंगीला ने कहा, “मैं इसलिए चुनाव लड़ रहा हूं, ताकि लोकतंत्र खतरे में न आए।
उन्होंने साफ कहा कि उनका चुनाव लड़ना प्रतीकात्मक नहीं है बल्कि वे पूरे मन से चुनाव लड़ेंगे।श्याम रंगीला ने कहा कि लोगों को वोट का विकल्प मिलेगा। सूरत और इंदौर जैसी स्थिति नहीं होगी। गौरतलब है कि सूरत और इंदौर में कांग्रेस प्रत्याशी ने ऐन वक्त पर अपना नामांकन वापस ले लिया, जिसकी वजह से बीजेपी की जीत सुनिश्चित हो गई, श्याम ने कहा कि सभी लोग नामांकन वापस ले लेंगे तो भी उनका पर्चा वहीं रहेगा।
श्याम रंगीला ने आगे कहा कि मैं ईडी से नहीं डरता, मेरे अकाउंट में कुछ नहीं मिलेगा, मैं ही असली फकीर हूं जी, जो झोला उठाकर चल देगा। आपको बता दें कि पीएम मोदी के 2016 के एक भाषण में खुद को फकीर बताया था।रंगीला ने कहा कि वे 2017 तक वे मोदी के कट्टर प्रशंसक हुआ करते थे, लेकिन उसके बाद उनके ऊपर प्रतिबंध लगना शुरू हो गया। वे उस काम को भी नहीं कर पाए जो वे करना चाहते थे।
श्याम कहते हैं, ”मुझे टीवी शो के ऑफर मिलते थे… लेकिन एक बार जब मैं वहां पहुंचता, तो मुझे पता चलता कि मेरे स्क्रिप्ट को मंजूरी नहीं मिल रही है। फिर मुझे एक के बाद एक शो से हटाया जाने लगा।” श्याम ने आगे कहा कि जब ऐसा बार-बार हुआ तो मुझे आभास हुआ कि कॉमेडी में राजनीति है। श्याम रंगीला ने कहा कि जब लोग राजनीति के नाम पर कॉमेडी कर रहे हैं तब मैं कॉमेडी के नाम पर राजनीति करूंगा ताकि लोगों को एहसास हो कि मैं खोखले वादे नहीं कर रहा हूं। श्याम ने ये भी कहा कि लगभग 2 साल पहले उनकी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात हुई थी। इसके बाद उन्होंने राजस्थान में आम आदमी पार्टी में शामिल होने का फैसला किया लेकिन राजस्थान में आम आदमी पार्टी फ्लॉप हो गई।
अब उन्होंने किसी भी राजनीतिक दल के बिना निर्दलीय चुनाव लड़ने का फैसला किया है। अब वह अपने मालिक खुद हैं। श्याम रंगीला ने कहा कि वे सिर्फ कॉमेडी करते हैं। लेकिन बनारस में वे राजनीति करने के लिए जा रहे हैं। श्याम ने कहा कि उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए वाराणसी को चुना है क्योंकि पूरे देश की निगाहें वहीं पर टिकी हुई हैं। इसके अलावा जो भी वहां पीएम मोदी के खिलाफ लड़ रहे हैं, उन्हें लेकर कोई माहौल नहीं है। लोग उन्हें क्यों वोट देंगे, इस पर रंगीला कहते हैं, “अगर लोग मोदी जी के प्यार में पड़ सकते हैं, तो वे उन्हें भी वोट दे सकते हैं।”

जनता की समस्याओं की जनसुनवाई की: एसपी

जनता की समस्याओं की जनसुनवाई की: एसपी 

आम जनता की समस्याओं को एसपी ने सुना

कौशाम्बी। लोकसभा चुनाव की व्यस्तता के बाद भी आम जनता की समस्याओं को सुनकर उसका समाधान करना पुलिस अधीक्षक ने लगातार जारी रखा है। पुलिस अधीक्षक कौशाम्बी द्वारा पुलिस कार्यालय में गुरुवार को आम जनमानस की समस्याओं की जनसुनवाई की गई। इस दौरान पुलिस कार्यालय में आने वाले फरियादियों की समस्याओं को उन्होंने सुना तथा उनकी समस्याओं के समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण हेतु संबन्धित को आवश्यक आदेश-निर्देश दिए।
सुबोध केसरवानी

मैनपुरी में सीएम का रोड शो, 14 बुलडोजर मंगाए

मैनपुरी में सीएम का रोड शो, 14 बुलडोजर मंगाए

संदीप मिश्र 
मैनपुरी। लोकसभा चुनाव 2024 के तीसरे चरण में यूपी की सबसे चर्चित सीट मैनपुरी के लिए सात मई को मतदान होगा। यहां से एक ओर भाजपा प्रत्याशी ठाकुर जयवीर सिंह चुनाव मैदान में हैं, तो वहीं दूसरी और सपा से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव हैं। इस सीट पर भाजपा सेंध लगाना का हर संभव प्रयास कर रही है। इसी के चलते यहां अब सीएम योगी का रोड शो है।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र में रोड शो है। इसके लिए विशेष रूप से 14 बुलडोजर मंगाए गए हैं। यह कदम उनके द्वारा अपनाई गई ‘बुलडोजर राजनीति’ के प्रतीक के रूप में देखा जा रहा है, जिसे अवैध निर्माण और अपराध के खिलाफ सख्त नीति के रूप में देखा जाता है।

अंतरराष्ट्रीय गिरोह के 9 आरोपितों को अरेस्ट किया

अंतरराष्ट्रीय गिरोह के 9 आरोपितों को अरेस्ट किया 

पंकज कपूर 
देहरादून। देहरादून पुलिस ने आईपीएल मैचों में ऑनलाइन सट्टा लगाने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों के पास से बड़ी संख्या में मोबाइल फोन, लैपटॉप और नौ लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं। वहीं, उनके खातों से 20 करोड़ रुपए के ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के भी साक्ष्य पुलिस के हाथ लगे हैं। 
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि राजपुर थाना पुलिस को क्षेत्र में आईपीएल मैचों में ऑनलाइन सट्टा लगाने की सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर पुलिस टीमों ने पुरकुल रोड स्थित ब्राह्मणवाला में बने एक फ्लैट में दबिश देखकर नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया।
एसएसपी ने बताया कि ऑनलाइन सट्टे का पूरा नेटवर्क दुबई से शुभम नाम का व्यक्ति संचालित कर रहा था। वहीं देहरादून में सट्टे का काम सिराज मेनन देख रहा था। आरोपित मोबाइल फोन के जरिए ऑनलाइन सट्टे की साइट लेजर टाइगर तथा ऑल पैनल पर जाकर सट्टा खिलवा रहे थे। ऑनलाइन सट्टे की लिंक की आईडी व लिंक शुभम निवासी छत्तीसगढ़ उपलब्ध करवा रहा था।
आरोपितों की पहचान सिराज मेनन निवासी सिविल लाइन निकट साइन मंदिर जिला दुर्ग थाना सिविल लाइन छत्तीसगढ़, सौरव निवासी जिला चिलवाड़ा छत्तीसगढ़, विवेक अधिकारी निवासी कोरबा जिला कोरबा छत्तीसगढ़, लोकेश गुप्ता निवासी पीपल चौराहा मध्य प्रदेश, सोनू कुमार निवासी औरंगाबाद बिहार, मोनू निवासी अंबिकापुर जिला सरगवा छत्तीसगढ़, विकास कुमार निवासी थाना टिकरापारा जिला रायपुर छत्तीसगढ़ और शत्रुघ्न कुमार निवासी सरैया जिला मुजफ्फरपुर बिहार के रूप में हुई है।
पूछताछ में गिरफ्तार सट्टेबाजों ने बताया कि ऑनलाइन सट्टे का पूरा नेटवर्क दुबई से शुभम नाम के व्यक्ति संचालित करता है तथा देहरादून में सट्टे का काम सिराज मेनन देखता है, आरोपी मोबाईल फोन के जरिये ऑनलाइन सट्टे की साइट, लेजर, टाइगर तथा ऑल पैनल पर जाकर आँनलाईन सट्टा खिलवाते है तथा लोगो से पैसे लेकर बुकी का काम करते है। आनलाईन सटटे की साइटों की आईडी एंव लिंक अभियुक्तों को शुभम, निवासी छत्तीसगढ़ ने मोबाइल फोन के जरिये उपलब्ध करायी जाती है। शुभम पैसे लेकर अभियुक्तों को सटटे के ऑनलाइन प्वांइन्टस उपलब्ध कराये जाते है, जिन्हें आरोपी आगे लोगो को ऑनलाइन बेचकर उनसे पैसे लेकर सट्टा खिलवाया जाता है, जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो जाता है। सटटे की सारी धनराशि ऑनलाईन गूगल पे के माध्यम से ली जाती है। आज भी अरोपी आईपीएल मैच में ऑनलाइन सट्टा लगाकर लगभग 9 लाख रुपए का क्लैक्शन किया था तथा पूरे मैच में आरोपी लगभग 1 करोड का क्लैक्शन करते, परन्तु मैच समाप्त होने से पूर्व ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। वर्तमान में चल रहे आईपीएल मैचो के दौरान पिछले एक माह में आरोपियों के खातों मंे लगभग 20 करोड़ रूपये के ट्राजेक्शन की पुलिस टीम को जानकारी प्राप्त हुई है। जिसके सम्बंध में विस्तृत जानकारी की जा रही है।

कोरोना वैक्सीन मामला, स्वत: संज्ञान लेने की मांग

कोरोना वैक्सीन मामला, स्वत: संज्ञान लेने की मांग

संदीप मिश्र 
लखनऊ। कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड का निर्माण करने वाली एस्ट्रेजेनेका द्वारा वैक्सीन से थक्के पडने और उससे जान जाने की स्वीकारोक्ति के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राम गोविंद चौधरी ने जानलेवा कोरोना वैक्सीन मामलें को लेकर सुप्रीम कोर्ट से स्वत: संज्ञान लेने की मांग करते हुए दोषी लोगों पर नरसंहार का मुकदमा चलाने की डिमांड उठाई है। बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि जान बचाने के लिए जरूरी बताकर पूरे देश को जानलेवा कोरोना वैक्सीन लगवा देने का मामला नरसंहार जैसा गंभीर अपराध है। इस अपराध में देश की बड़ी शक्तियाँ शामिल हैं। 
इसलिए, सुप्रीम कोर्ट इसे स्वतः संज्ञान में लेकर जांच कराए और उन सभी लोगों पर नरसंहार का मुकदमा चलाए जो इसमें लिप्त रहे हैं। गुरुवार को अपने आवास पर समाजवादी साथियों और पत्रकारों से बातचीत में उत्तर प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष रहे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव रामगोविंद चौधरी ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस वैक्सीन को लेकर उसी समय कहा था कि उन्हें भारतीय जनता पार्टी पर भरोसा नहीं है। इसलिए वह इस वैक्सीन को नहीं लगवाएंगे और उनका अनुसरण करते हुए मैंने भी वैक्सीन नही लगवाया। उन्होंने बताया है कि उस समय सम्पूर्ण गोदी मीडिया ने इस जानलेवा वैक्सीन को लगवाने की समर्थक शक्तियों के इशारे पर अखिलेश यादव को जनविरोधी साबित करने की नाकाम कोशिश की। उन्होंने कहा है कि अब वैक्सीन की मूल निर्माता कम्पनी ने ही कबूल कर लिया है कि यह वैक्सीन सेहत के हनिकारक है। इससे हार्ट अटैक हो सकता है। फिर भी गोदी मीडिया इसे लेकर चुप है। प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि इस वैक्सीन की वजह से सैकडों जाने जा चुकी हैं। लगातार हार्ट अटैक होने की सूचनाएं मिल रही हैं। लेकिन कौन कार्रवाई करेगा? इस जानलेवा वैक्सीन वाली कम्पनी ने इसके लिए भारतीय जनता पार्टी को पचास करोड़ रुपया दिया है। उन्होंने कहा है कि इसलिए इस मामले में सत्तारूढ़ दल से कोई उम्मीद नहीं की जा सकती है। वह खुद इसमें लिप्त है। इसलिए मैं सुप्रीम कोर्ट से आग्रह कर रहा हूँ कि वह इस जानलेवा मामले को स्वतः संज्ञान में ले। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि सम्पूर्ण देश में भारतीय जनता पार्टी का क्रूर, करप्ट और गरीब विरोधी चेहरा उजागर हो चुका है। पुलिस मदद नहीं करे तो भाजपा के प्रत्याशी बहुतेरे क्षेत्रों में गांवों में घुसने की स्थिति में नहीं है। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के संयुक्त उम्मीदवारों के पक्ष में जनता खुद खड़ी है। 
उन्होंने कहा है कि इस स्थिति को बदलने के लिए भाजपा कहीं पर्चा खारिज करा रही है तो कहीं अपने प्रत्याशियों से माफी मंगवा रही है। इसे लेकर उसकी अंतिम कोशिश रहेगी ईवीएम का दुरूपयोग और गिनती में धांधली। इसलिए हमको, आपको और जो संविधान तथा लोकतन्त्र में विश्वास रखते हैं, उन सभी को चार जून तक सावधान रहना होगा। इस अवसर पर पार्टी के जिला प्रवक्ता सुशील पाण्डेय "कांहजी"अंचल यादव, आशीष सिंह,अशोक यादव, छोटक राजभर, सुनील कुमार, राजू खरवार आदि उपस्थित रहे।

बेसिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक संपन्न

बेसिक शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक संपन्न 

इकबाल अंसारी 
गाज़ियाबाद। मुख्य विकास अधिकारी अभिनव गोपाल की अध्यक्षता में विकास भवन गाज़ियाबाद के दुर्गावती देवी सभागार में बेसिक शिक्षा विभाग की माह अप्रैल की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। 
वहीं, बैठक में सभी अध्यापकों और छात्रों की नियमित डिजिटल अटेंडेंस लगवाना सुनिश्चित करने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी और खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया गया। उन्होंने निर्देशित किया कि नये शैक्षिक सत्र में 6 से 14 वर्ष की आयु का कोई भी विद्यार्थी बिना विद्यालय नामांकन के ना रहे। इसके लिए हाउसहोल्ड सर्वे को प्राथमिकता के आधार पर पूरे जनपद के प्रत्येक ग्रामपंचायत और नगर में संचालित किया जाए प्रत्येक घर का सर्वे समयबद्ध रूप से पूर्ण कर लिया जाए। सभी बच्चों को स्कूल में आने के लिए प्रेरित करने और नवीन नामांकन को बढ़ाने के लिए स्कूल चलो अभियान संचालित किया जाए। 
लिहाजा, कक्षा 1, 2, 3 के छात्रों को भाषा और गणित में निपुण बनाने के लिए आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका आधारित शिक्षण सुनिश्चित किया जाए। वहीं, बैठक में सेंट्रल स्क्वायर फाउंडेशन की निपुण कार्ययोजना का प्रस्तुतिकरण एसआरजी देवांकुर द्वारा किया गया। इसके अलावा बैठक में डाइट वरिष्ठ प्रवक्ता शाहीन, डीआ ओएस राजेश कुमार श्रीवास, बीएसए ओपी यादव, खंड शिक्षा अधिकारी जमुना प्रसाद, सर्वेश कुमार, इशक लाल, नरेंद्र कुमार, अभिषेक, डीसी रुचि त्यागी, अरविन्द, टिंकू कंसल, राकेश कुमार, कुणाल मुद्गल, एसआरजी पूनम शर्मा, विनीता त्यागी व देवांकुर सहित सभी एआरपी आदि उपस्थित रहें।

6 को दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगी 'राष्ट्रपति'

6 को दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगी 'राष्ट्रपति' 

श्रीराम मौर्य 
धर्मशाला। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू हिमाचल प्रदेश में छह मई को यहां केंद्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगी। सुश्री मुर्मु दीक्षांत समारोह में 709 छात्रों को उपाधियां प्रदान करेंगे। इससे पहले कुलपति आचार्य सत प्रकाश बंसल ने बुधवार को दीक्षांत समारोह स्थल का निरीक्षण किया और विश्वविद्यालय के अधिकारियों को कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। यह तीसरा अवसर है जब कोई राष्ट्रपति मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत समारोह को संबोधित करेंगे। वर्ष 2014 में पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और 2022 में पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत समारोह में शामिल हुए थे।

दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मचारियों को हटाया

दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मचारियों को हटाया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। लेफ्टिनेंट गवर्नर वीके सक्सेना की ओर से लिए गए एक बड़े फैसले के अंतर्गत दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। उपराज्यपाल की ओर से लिए गए इस बड़े फैसले से अब प्रशासन में हड़कंप मच गया है। बृहस्पतिवार को राजधानी दिल्ली के लेफ्टिनेंट गवर्नर वी के सक्सेना की ओर से जारी किए गए आदेशों के बाद दिल्ली महिला आयोग से 223 कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। आरोप है कि हटाए गए 223 कर्मचारियों की नियुक्ति दिल्ली महिला आयोग की तत्कालीन अध्यक्ष स्वाति मालीवाल द्वारा नियमों के खिलाफ जाकर बगैर किसी अनुमति के की गई थी। उल्लेखनीय है कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष रही स्वाति मालीवाल ने वर्ष 2024 के जनवरी महीने में आयोग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की ओर से इसके बाद स्वामी माली वाल का नॉमिनेशन राज्यसभा में सांसद के लिए किया गया था।

आजाद ने विभाजनकारी रणनीति की निंदा की

आजाद ने विभाजनकारी रणनीति की निंदा की 

इकबाल अंसारी 
श्रीनगर। डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को प्रतिद्वंद्वी दलों द्वारा कथित तौर पर अपनाई जाने वाली विभाजनकारी रणनीति की निंदा की और धर्म और जाति के आधार पर कलह पैदा करने की उनकी कोशिशों की निंदा की। राजौरी जिले में रोड शो करते हुए, विकास, एकता और प्रगति पर केंद्रित अपने मुख्य एजेंडे को व्यक्त करते हुए, उन्होंने विभाजनकारी राजनीति के खतरों को रेखांकित किया, यह बताते हुए कि कुछ पार्टियों ने ऐतिहासिक रूप से लोगों को धार्मिक आधार पर विभाजित किया है, अब वे जाति-आधारित का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने क्षेत्र के भविष्य पर इस तरह की विभाजनकारी रणनीति के हानिकारक प्रभाव पर प्रकाश डाला, और इस बात पर जोर दिया कि केवल सामुदायिक संबद्धता के आधार पर सांसदों का चुनाव अनिवार्य रूप से अन्य समुदायों की उपेक्षा और हाशिए पर जाने का कारण बनेगा। उन्होंने क्षेत्र और राज्य की प्रगति और समृद्धि के लिए एकता के महत्व पर जोर देते हुए मतदाताओं से राजनीति के इस ब्रांड को खारिज करने का आग्रह किया।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-195, (वर्ष-11)

पंजीकरण:- UPHIN/2014/57254

2. शुक्रवार, मई 03, 2024

3. शक-1945, बैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दशमी, विक्रमी सवंत-2079‌‌। 

4. सूर्योदय प्रातः 06:03, सूर्यास्त: 06:43।

5. न्‍यूनतम तापमान- 31 डी.सै., अधिकतम- 19+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना

अगले 4-5 दिनों तक तेज 'हीटवेव' की संभावना  अकांशु उपाध्याय  नई दिल्ली। इस समय देश में सभी देशवासियों का गर्मी से हाल बेहाल है और अभी...