शनिवार, 7 दिसंबर 2019

खाई में गिरे दंपत्ति दोनों मरे, 'बच्चा' जीवित

जशपुर मुनादी! जशपुर जिले के बगीचा थाने में हॄदयविदारक घटना घटित हुई है! खबर है कि स्कूटी से अपने ससुराल जा रहे एक दम्पत्ति की मौत हो गयी। घटना बगीचा थांना क्षेत्र के मरोल घाटी में घटित हुई है।बगीचा थाना प्रभारी विकास शुक्ला ने बताया शनिवार की दोपहर करीब ढाई तीन बजे मरोल निवासी सुधीर टोप्पो अपनी पत्नी और 9 साल की बच्ची के साथ ससुराल पुटुकेला जा रहा थाा! तभी मरोल घाटी के पास उनकी स्कूटी अनबैलेंस हो गयो और तीनो एक साथ खाई में गिर पड़े। खाई कई फीट की थी लिहाजा नीचे आते ही दम्पत्ति की घटनास्थल पर मौत हो गयी! जबकि बच्ची को खरोंच तक नही आया। बच्ची पैर और जुबान से दिव्यांग बतायी जा रही है।


5 वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार

दरभंगा! सदर थाना अंतर्गत खरुआ मोड़ के निकट शुक्रवार की रात एक ऑटो चालक ने 5 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। जख्मी को परिजनों ने देर रात डीएमसीएच में भर्ती कराया है। पुलिस ने देर रात आरोपी ऑटो चालक को गिरफ्तार कर लिया है। उसका नाम तेतर सहनी है, जो भगवानपुर का रहनेवाला है।
पुलिस ने ऑटो को भी जब्त कर लिया है। 


बताया जाता है कि दो बच्ची सड़क किनारे आग ताप रही थी। वहां ऑटो चालक भी था। इस बीच दोनों बच्चियां ऑटो पर चढ़ कर खेलने लगी। चालक ने दोनों को अपने ऑटो पर बिठाकर कुछ दूर ले गया और एक तीन वर्षीय बच्ची को कुछ दूरी पर उतार दिया। वह 5 वर्षीय बच्ची को साथ ले जाकर बगल के भुइया स्थान के निकट दुष्कर्म किया। बच्ची जख्मी हो कर बेहोश हो गई। परिजनों ने उसकी तलाश कर उसे बरामद किया और डीएमसीएच में भर्ती कराया है। बच्ची की हालत गंभीर है।


आतंकवादी हमले में 8 लोगों की मौत

नैरोबी। केन्या की वाजीर काउंटी में आतंकवादियों ने एक बस पर हमला किया जिसमें पुलिस अधिकारी सहित कम से कम आठ लोगों की मौत हो गयी। राष्ट्रपति कार्यालय ने यह जानकारी दी। राष्ट्रपति कार्यालय ने बताया कि आतंकवादी संगठन अल कायदा से जुड़े अल शबाब के आतंकवादियों ने गुप्त सुरक्षा एजेंट और सरकारी कर्मचारी को ले जा रही बस पर हमला किया जिसमें पुलिस अधिकारियों सहित 10 लोगों की मौत हो गई।


उल्लेखनीय है कि पूर्वी अफ्रीकी देश केन्या में अक्टूबर 2011 से सरकार द्वारा आतंकवाद विरोधी लड़ाई के कारण आतंकवादी अक्सर सेना को निशाना बनाते रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावरों ने बस के बाहर सभी पीडि़तों को पास से गोली मारी है लेकिन पुलिस और सरकार ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है।


महिला सुरक्षा पर देहरादून में नई पहल

देहरादून! महिलाओं के साथ घटित हुए जघन्य अपराधों के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिये जनपद देहरादून में नई पहल की शुरूआत की गयी है। जिसके तहत पुलिस सहायता नम्बर 112 पर प्राप्त होने वाली शिकायतों पर कार्यवाही के अतिरिक्त 112 द्वारा रात्रि के समय किसी भी महिला के द्वारा ट्रांसपोर्ट की सुविधा न मिलने सम्बन्धित सूचना पर तत्काल् सम्बन्धित थाने को अवगत कराते हुए नजदीकी पीसीआर वैन के माध्यम से उक्त महिला को उसके गन्तव्य तक पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे।


साथ ही दिन के समय प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर सम्बन्धित थाना पुलिस द्वारा सूचना देने वाली महिलाओं के लिये पब्लिक ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जायेगी। इसके अतिरिक्त प्रभारी कन्ट्रोल रूम को निर्देशित किया गया कि इस सम्बन्ध में प्राप्त हाने वाली फोन काॅलों/सूचनाओं सेे सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी/थाना प्रभारी को तत्काल् सूचित करते हुए उनका निस्तारण कर सम्बन्धित कालर से पुलिस द्वारा उपलब्ध करायी गयी सहायता के सम्बन्ध में उनकी प्रतिक्रिया लेना भी सुनिश्चित करेंगे।


स्टैचू ऑफ यूनिटी ने स्टेचू-लिबर्टी को पछाड़ा

नई दिल्ली । अनावरण के सालभर बाद ही स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को रोजाना देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या अमेरिका के 133 साल पुराने स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी के पर्यटकों से ज्यादा हो गई है। गुजरात स्थित इस स्मारक को देखने औसतन 15000 से अधिक पर्यटक रोज पहुंच रहे हैं।
सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड ने अपने एक बयान में बताया है कि पहली नवंबर, 2018 से 31 अक्टूबर, 2019 तक रोजाना आने वाले पर्यटकों की संख्या में औसतन 74 फीसदी वृद्धि हुई है और अब दूसरे साल के पहले महीने में पर्यटकों की संख्या औसतन 15036 पर्यटक प्रतिदिन हो गई है। बयान में कहा गया है सप्ताहांत के दिनों में पर्यटकों की संख्या 22,430 हो जाती है। 
अमेरिका के न्यूयार्क में स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी को देखने रोजाना 10000 पर्यटक पहुंचते हैं। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी देश के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा है। यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। यह प्रतिमा गुजरात में केवड़िया में नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बांध के समीप स्थापित की गई है। भारतीय मूर्तिकार रामवी सुतार ने इसका डिजायन तैयार किया है। 
पहली बार सन 2010 में इस परियोजना की घोषणा की गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर, 2018 को उसका अनावरण किया था। सरदार सरोवर नर्मदा निगम लिमिटेड ने इस स्मारक के पर्यटकों की संख्या में वृद्धि का श्रेय जंगल सफारी, बच्चों के न्यूट्रीशन पार्क, कैक्टस गार्डन, बटरफ्लाई गार्डन, एकता नर्सरी, नदी राफ्टिंग, बोटिंग आदि जैसे नए  पर्यटक आकर्षणों को दिया है। इन अतिरिक्त पर्यटक आकर्षणों से नवंबर, 2019 में पर्यटकों की रोजाना संख्या में उछाल आया है। इस साल 30 नवंबर तक केवडिया में 30,90,723 पर्यटक पहुंचे और 85.57 करोड़ रूपए का राजस्व मिला।


खेत में आग लगने से, 30 क्विंटल जला धान

डोंगरगढ़। लालबहादुर नगर में एक किसान के खेत में आग लगने से हड़कंप मच गया। वहीं, कुछ ही मिनटों में 30 30 क्विंटल से ज्यादा धान जलकर खाक हो गया। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस की टीम पहुंची।
बताया जा रहा है ?कि चिचोला पुलिस चौकी के लालबहादुर नगर निवासी किसान धान को जमा कर रखा हुआ। बेचने की तैयारी चल रही थी। इस बीच अचानक खेत में आग लगने से करीब 30 क्विंटल से ज्यादा धान आग की चपेट में आ गया। मौके पर कुछ लोगों ने बुझाने की कोशिश की। तब तक पूरा धान जल गया। अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है।


प्याज के भाव में नरमी का संकेत नहीं

नई दिल्ली! प्याज के भावमें नरमी का कोई संकेत नहीं दिख रहा है। स आयात के जरिये बाजार में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के सरकार के प्रयासों के बावजूद यह शुक्रवार को कोवा और कुछ जगह प्याज 160-165 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया। संसद में सरकार ने बताया कि आयातित प्याज की खेप 20 जनवरी तक देश में आना शुरू हो जाएगी।


उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा रखे जाने वाले आंकड़ों के अनुसार देश के ज्यादातर शहरों में, प्याज की खुदरा कीमत बाजारों में 100 रुपये प्रति किलोग्राम से अधिक था, जबकि प्याज के प्रमुख उत्पादक केन्द्र, महाराष्ट्र के नासिक में शुक्रवार को इसकी दर 75 रुपये किलो थी। पणजी (गोवा) में खुदरा प्याज की कीमतें 165 रुपये प्रति किलोग्राम और मायाबंदर (अंडमान) में 160 रुपये किलो और केरल के तिरुवनंतपुरम, कोझीकोड, त्रिसुर और वायनाड में शुक्रवार को यह कीमत 150 रुपये किलो थी।


मंत्रालय द्वारा विभिन्न शहरों के बारे में जुटाई गई सूचना के अनुउसार कोलकाता, चेन्नई तथा केरल एवं तमिलनाडु के कुछ स्थानों पर प्याज का भाव 140 रुपये किलो था जबकि भुवनेश्वर और कटक (ओडिशा) में कीमत 130 रुपये किलो, गुड़गांव (हरियाणा) और मेरठ (उत्तर प्रदेश) में कीमत 120 रुपये किलो तथा देश के अधिकांश शहरों में कीमत 100 रुपये किलो रही।


उपभोक्ता मामलों मंत्रालय में राज्य मंत्री दानवे रावसाहेब दादाराव ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान कहा, ''इस बात में कोई शक नहीं कि प्याज की कीमतें बढ़ रही हैं। प्याज की कमी का मुख्य कारण बरसात की वजह से प्याज फसल को होने वाला नुकसान है। देश के प्रमुख उत्पादक राज्य महाराष्ट्र में प्याज की अधिकांश फसल बर्बाद हो गयी है। हालांकि सरकार ने अपने बफर स्टॉक से प्याज की आपूर्ति की है! और सरकारी व्यापार एजेंसी एमएमटीसी को प्याज का आयात करने को कहा है जो 20 जनवरी तक पहुंचना चाहिये।''


उन्होंने कहा कि सरकार ने जारी मूल्य वृद्धि को रोकने के लिए 1.2 लाख टन तक प्याज आयात को मंजूरी दी है। सरकारी स्वामित्व वाली एमएमटीसी को वैश्विक और देश-विशिष्ट वाले आयात निविदाओं के माध्यम से एक लाख टन प्याज आयात करने का निर्देश दिया गया है।


गुरुवार को अमित शाह ने मंत्री समूह के साथ की थी बैठक
गुरुवार को गृह मंत्री अमित शाह की अगुवाई में मंत्रियों के एक समूह ने प्याज की कीमत की स्थिति और प्याज के आयात में हुई प्रगति की समीक्षा की। सरकार ने एमएमटीसी के माध्यम से 21,000 टन से अधिक प्याज आयात के लिए अनुबंध किया है। आयातित प्याज के जल्द आगमन को आसान बनाने के लिए इसकी निविदा और धुम्र-उपचार मानदंडों में ढील दी गई है। सरकार ने पहले ही प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है। आखिरी बार वर्ष 2015-16 में इसी तरह की स्थितियों में 1,987 टन प्याज आयात किया गया था।


मायावती ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

लखनऊ! रेप की बढ़ती वारदातों और बिगड़ती क़ानून व्यवस्था को लेकर बीएसपी प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन को ज्ञापन सौंपा है।
उन्होने ख़ुद एक महिला होने के नाते और राज्यपाल को भी एक महिला होने के नाते राज्य में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार को सख्त कदम उठाने के निर्देश देने की मांग की।
शनिवार को बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमारी मायावती ने उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर हो रहे उत्पीड़न, अत्याचार और कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा।
उहोने हैदराबाद पुलिस एंकाउंटर को लोगों द्वारा स्वीकार करने को रेप को लेकर लोगों की नाराज़गी की वजह बताया।


बदले की भावना और न्याय में अंतर

जोधपुर! हैदराबाद में गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर में मारे जाने की घटना की आलोचना की है। जोधपुर में एक कार्यक्रम में जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने कहा कि न्याय कभी भी आनन-फानन में किया नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो अपना मूल चरित्र खो देता है।


न्याय में जल्दबाजी नहीं:जोधपुर में राजस्थान हाईकोर्ट की नई इमारत के उद्घाटन समारोह में जस्टिस एस ए बोबड़े ने कहा, “मैं नहीं समझता हूं कि न्याय कभी भी जल्दबाजी में किया जाना चाहिए, मैं समझता हूं कि अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो ये अपना मूल स्वरूप खो देता है”। उन्होंने कहा कि न्याय को कभी भी बदले का रूप नहीं लेना चाहिए।


एनकाउंटर में मारे गए थे 4 आरोपी:बता दें कि हैदराबाद की एक पशु चिकित्सक युवती से सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। इस कांड के चार आरोपियों को पुलिस ने शुक्रवार को एक मुठभेड़ में मार गिराया था। रिपोर्ट के मुताबिक हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर शादनगर के पास चटनपल्ली में पुलिस से ये आरोपी हथियार छीनने की कोशिश के बाद भाग रहे थे। इस दौरान पुलिस की कार्रवाई में ये चारों आरोपी मारे गए। पुलिस ने कहा कि दुष्कर्म की रात मौका-ए-वारदात का क्राइम सीन समझने के लिए वो इन आरोपियों को लेकर वहां गई थी!


हाई कोर्ट के नये भवन का उद्घाटन
राजस्थान उच्च न्यायालय के जोधपुर स्थित नए भवन का उद्घाटन आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया। इस मौके पर भारत के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे भी मौजूद थे। हाईकोर्ट का मुख्य भवन 22।61 बीघा क्षेत्र में बनाया गया है। इस इमारत में मुख्य न्यायाधीश के न्यायालय कक्ष सहित कुल 22 न्यायालय कक्ष है, जहां अलग-अलग मुकदमों की सुनवाई होगी।। नियमित रूप से सुनवाई करने वाली अदालतों के अलावा दो कक्ष लोक अदालत के लिए भी बनाए गए हैं।


केले की टेप आकृति, 85.81 लाख में बिकी

रोम! दीवार पर टेप से चिपके एक केले (Banana)की कलाकृति इन दिनों सुर्ख़ियों में है। इसमें एक केले को डक्ट टेप (Tape)से चिपकाया गया है। सबसे अजीब बात तो ये है कि इस केले को 85.81 लाख रुपए में बेचा गया। हालांकि,ये नहीं बताया गया है कि ये केला कितने दिन में खराब हो जाएगा। इसे इटली के मशहूर कलाकार मौरिजियो कैटेलन (Maurizio Catalan)ने बनाया है। कैटेलन अपने होटल के कमरे में लटकाने वाले किसी स्कल्पचर को बनाने की सोच रहे थे, जो उन्हें हमेशा प्रेरणा दें। उन्होंने पहले तांबे और तांबे के रंग से पेंट किए हुए केलों को तैयार किया। इसके बाद असली केले को टेप लगाकर प्रदर्शित किया।


पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगी, कर ली शादी

नई दिल्ली। हर पत्नी (Wife) चाहती है कि उसका पति ऐसा हो जो उसे खुद से ज्यादा प्यार (Love) से अपनी जरूरतों से पहले उसकी जरूरतों का ध्यान रखे। लेकिन ऐसा करना एक पुरुष को महंगा पड़ गया। पति ने अपनी पत्नी को अपनी पढ़ाई (Study) छोड़कर पढ़ाया भी लेकिन उसकी पत्नी की जैसे ही नौकरी लगी वह अपने ऑफिस में ही काम करने वाले एक युवक के साथ प्रेम में पड़ गई और उसने पति को छोड़कर दूसरी शादी भी कर ली। अब पत्नी पति से भरण भोषण की मांग कर रही है।


पति का कहना है कि पत्नी की जैसे ही नौकरी (Job) लगी, पति और पत्नी में झगड़ा रहने लगा और कई बार छोटी-मोटी बातों पर विवाद पैदा हो जाता। पति ने अपने हिस्से की पूरी कहानी बताते हुए कहा कि अब उसकी पत्नी उसे छोड़कर चली गई है। पति का कहना है कि उन दोनों के बीच अभी कोई तलाक नहीं हुआ है लेकिन उसकी पत्नी ने दूसरी शादी कर ली है। पति ने अब तलाक की मांग की है।


महिलाओं का 'शादी और बच्चों' से परहेज

सियोल! जहां हमारे देश में एक उम्र के बाद महिलाओं की शादी होना तय होता है वहीं दुनिया का एक देश ऐसा भी जहां महिलाएं शादी और बच्चों से परहेज कर रही हैं। यहां की महिलाओं का मानना है कि सिंगल रहने में ज्यादा ख़ुशी है। महिलाओं ने सोशल मीडिया पर 'हैशटेग नो मैरिज वुमन'अभियान की शुरुआत भी कर दी है। इस अभियान के जरिए महिलाएं 4 चीजों से बचने की सलाह दी जा रही है। इसमें नो डेटिंग, नो सेक्स, नो मैरिज और नो चिल्ड्रन शामिल हैं। ये देश है द. कोरिया। एक यह कारण भी है इस देश में जन्मदर भी घटती जा रही है।


महिलाओं के शादी न करने की वजह से द. कोरिया में कई मैरिज हॉल बंद हो गए हैं। इतना ही नहीं इसका असर स्कूलों पर भी पड़ रहा है। यहां सरकार इस संकट से इतनी चिंतित है कि युवाओं को शादी के लिए प्रोत्साहित कर रही है और पैसा दे रही है। द. कोरिया में हालत कितने बिगड़ गए हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक दशक पहले लगभग 47 फीसदी महिलाएं मानती थी कि शादी जरूरी है। लेकिन पिछले साल यह आंकड़ा 22.4 फीसदी तक गिर गया। यहां सरकार शादी करने और पिता बनने के लिए प्रोत्साहन योजना चला रही है। यहां के कई प्रांतों में तो सरकार महिलाओं से उनकी लंबाई, वजन, फोटो और बायोडाटा मांग रही है।


बाबा से मिली अवैध नगदी, जांच जारी

राजगढ़। सोलन और सिरमौर जिले की सीमा पर यशवंतनगर पुलिस ने एक बाबा से लाखों रुपये कैश बरामद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने बाबा से 8.99 लाख रुपये की करंसी पकड़ी। बाबा के वाहन से मिली नकदी के मामले में पुलिस जांच में जुट गई है। मामले की जानकारी आयकर विभाग को भी दी गई है। जानकारी के अनुसार बाबा अपने सेवादारों के साथ एक वाहन (डीजे12डीएस-2314) में चायल से लेकर दिल्ली की ओर जा रहा था। बताया जा रहा है कि बाबा राशि लेकर गुजरात जा रहा था।


यशवंतनगर पुलिस चौकी की टीम ने गिरिपुल में लगाए नाके के दौरान वाहन रोका। तलाशी के दौरान बाबा के कब्जे से हजारों रुपये की गड्डियां बरामद की। सामान चेक किया, तो उन्हें उसमें रुपयों की गड्डियां भी बरामद हुईं। इसका बाबा और उसके सेवादार को दस्तावेज अथवा अन्य कोई सबूत पेश नहीं कर पाए। गाड़ी को शंकर भारती (35) निवासी तहसील अभरा जिला कच्छ गुजरात चला रहा था। गाड़ी में 6 लोग सवार थे। इस पर देर रात ही पुलिस ने बाबा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। मामले की पुष्टि एसपी अजय कृष्ण शर्मा ने की है। उन्होंने बताया यशवंत नगर पुलिस ने बाबा से 8,99,991 रुपये बरामद किये है। बाबा और उसके सेवादार इसका कोई दस्तावेज पेश नहीं कर सके। मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है।


 


महिला सुरक्षा पर योगी सरकार का फैसला

योगी सरकार का फैसला, टैक्सी ना मिले तो डायल करें 112, पुलिस छोड़ेगी घर 


लखनऊ! रात नौ बजे के बाद अगर टैक्सी ना मिले तो महिलाओं को परेशान होने की जरूरत नहीं पुलिस को कॉल करें। पुलिस आप को सुरक्षित घर छोड़कर आएगी। महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है। इस संबंध में आदेश होने के बाद एडीजी रेंज जय नारायण सिंह ने पुलिस को ऐसी कॉल को गंभीरता से लेने और मदद के लिए तुरंत पहुंचने का आदेश जारी किया है।
महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध को देखते हुए डॉयल 112 का दायरा बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। अब अपराध होने की दशा में ही नहीं बल्कि देर रात टैक्सी ना मिलने या महिला को खुद को असुरक्षित महसूस करने की दशा में भी पुलिस मदद के लिए पहुंचेगी। नई व्यवस्था का सबसे ज्यादा फायदा कामकाजी महिलाओं को मिलेगा। एडीजी रेंज जय नारायण सिंह ने बताया कि यदि किसी भी महिला, छात्रा को जरूरत महसूस हो तो पुलिस से मदद मांगें, पुलिस तत्काल पहुंचेगी।


मंडल अध्यक्षों को किया गया सम्मानित

जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि ने मंडल अध्यक्ष व जिला प्रतिनिधि को किया सम्मानित


कौशाम्बी! जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि वा भाजपा नेता जगजीत सिंह ने अपने जिला पंचायत कार्यालय में नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष एवं जिला प्रतिनिधियों को माल्यार्पण कर अंगवस्त्र भेंटकर सम्मानित किया! जिसमें चायल मंडल अध्यक्ष गुलाब सिंह पटेल, मंझनपुर मंडल अध्यक्ष महेश लोधी, करारी मंडल अध्यक्ष दिलीप अग्रहरी, म्योहर मंडल अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह पटेल, कौशांबी मंडल अध्यक्ष मिश्रीलाल सरोज, सिराथू मंडल अध्यक्ष दिलीप सिंह पटेल, कसिया मंडल अध्यक्ष तिलक तिवारी, कड़ा मंडल अध्यक्ष कमलेश निषाद, अझुवा मंडल अध्यक्ष राम राज मौर्य तथा नवनिर्वाचित जिला प्रतिनिधि दिनेश सोनकर, पवन कुमार मौर्य, खुद्दा लाल दिवाकर, संजय शुक्ला, बिंदेश्वरी पाल, अश्वनी तिवारी ,सतीश चंद्र केसरवानी ,सोमदत्त मिश्र ,कमल कुशवाहा, उधोश्याम वर्मा, दिनेश पांडे को सम्मानित किया गया!


कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे हैं जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जगजीत सिंह पटेल ने नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्षों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सबकी कुशल नेतृत्व निश्चित तौर पर पार्टी को एक नई ऊर्जा मिलेगी! भारतीय जनता पार्टी एक राजनीतिक दल है! जहां पर बूथ का कार्यकर्ता राष्ट्रीय अध्यक्ष और  प्रधानमंत्री बन सकता है इस कार्यक्रम में भाजपा नेता विवेक केसरवानी हिमांशु जायसवाल विमल गुप्ता राहुल शुक्ला आदि मौजूद रहे!


सुबोध केशरवानी


मूलतंत्र का विरोध (संपादकीय)

मूलतंत्र का विरोध   (संपादकीय)
हैदराबाद में 25 वर्षीय डॉक्टर से हैवानियत करने वाले, सभी 'चारों आरोपियों' को पुलिस के द्वारा ढेर कर दिया गया है! इस प्रकरण में पुलिस सभी के, सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है! पुलिस ने एक ऐसी पटकथा तैयार की है, जिसमें सभी सवालों के संतुलित जवाब अंकित है! हो सकता है जिससे सभी को संतुष्ट करने में सफलता हासिल हो सके! लेकिन यह स्पष्ट है की जन-प्रदर्शन और आक्रोशित जनता से प्रभावित पुलिस और सरकार ने इस घटना को अंजाम दिया है! घटना से देश के बड़े तबके में प्रसन्नता महसूस की जा रही है! हृदय विदारक इस घटना से पूरे देश में आक्रोश व्याप्त हो गया था ! पुलिस की कार्रवाई से क्षुब्ध प्रदर्शनकारियों एवं भीड़ को  काफी हद तक संतुष्टि मिली है! इस प्रकरण से प्रदर्शनकारियों के हाथों में 'स्लोगन' लिखी तख्तियां गिर गई है! लेकिन अपराधिक पुनरावृत्ति स्थिर बनी हुई है! जनता की संतुष्टि अत्यधिक महत्वपूर्ण हो गई थी! राष्ट्रव्यापी  प्रदर्शन के रूप में जनता सड़क पर उतर रही थी! उसकी जड़ें उखाड़ने के लिए यह कार्य सराहनीय हो सकता है! लेकिन  इस घटना से 'संविधान के मूलतंत्र' के विरोध की आभा से मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है! न्यायपालिका के अस्तित्व को क्षति पहुंची है! दुर्दांत अपराधियों के लिए 'मृत्युदंड' सर्वथा उचित है! लेकिन संविधान के दायरे से बाहर कोई भी कार्य, देश के नागरिक किस प्रकार स्वीकार कर सकते है?  पुलिस के द्वारा लिए गए इस निर्णय से पुलिस की कार्यशैली पर भी कई प्रश्न-चिन्ह अंकित होते हैं! देश की जनता चाहती है,अपराधों पर नियंत्रण होना चाहिए! जिसका मूल आधार  संविधान में निहित होना चाहिए!  अपराध की परिभाषा के अनुसार  दंड का विधान, समय की मांग के अनुसार निर्धारित किया जाना चाहिए! यदि इसके विरुद्ध देश की जनता ऐसी व्यवस्था की कल्पना करती है और सरकार भी उसका समर्थन करती है! तो न्यायपालिका के होने का कोई महत्व ही नहीं बनता है! पुलिस को ऐसे अधिकार प्रदान किए जाएं! जिससे पुलिस के द्वारा त्वरित न्याय प्रदान किया जा सके! इस प्रकार की व्यवस्था से देश में न्यायपालिका के व्यवस्थित तंत्र पर खर्च होने वाला काफी धन भी बच सके सकेगा! अपेक्षाकृत कम समय में न्याय भी प्राप्त हो सकेगा!


राधेश्याम 'निर्भय-पुत्र'


सपा का सरकार बर्खास्त करने का ज्ञापन

मोदी-योगी सरकार बरखास्त करो के नारे के साथ सपाईयों ने ज़िलाधिकारी आवास घेरा


प्रयागराज! केन्द्र व प्रदेश सरकार को क़ानून व्यवस्था और बढ़ती बलात्कार की घटना को रोकने मे नाकाम रहने पर महामहिम राष्टरपति से बरखास्त करने की मांग को लेकर सपा ने ज़िलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन!
समाजवादीपार्टी ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने आज जबर्दस्त धरना-प्रदर्शन कर देश एवं प्रदेश में बढ़ रही, बलात्कार, अत्याचार की घटनाओं को रोकने में विफल प्रदेश की भाजपा सरकार को भंग करने की मांग की है l सपा नेताओं एवं कार्यकर्ताओं द्वारा महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन भी सौंपा l
उन्नाव की घटना को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के विधानसभा भवन लखनऊ के सामने धरना देकर बैठने की खबर पाते ही, स्थानीय सपा नेताओं में जबर्दस्त उबाल आ गया! सैकड़ों की संख्या में सपा कार्यकर्ताओं के साथ निवर्तमान ज़िला अध्यक्ष कृष्णमूर्ति सिंह यादव एवं महानगर अध्यक्ष सैयद इफ्तिखार हुसैन, एमएलसी बासुदेव यादव, पंधारी यादव, पूर्व विधायक रामसेवक पटेल, साबिहा मोहानी, विनोद चंद्र दुबे, नरेंद्र सिंह, राजेन्द्र पटेल आदि नेतागण आज दोपहर में जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना देकर बैठ गए l
धरना दे रहे सपाईयों ने केंद्र एवं प्रदेश सरकार पर कानून व्यवस्था ध्वस्त होने, बलात्कार के बाद हत्या की घटनाओं में बाढ़ आने तथा सरकार द्वारा कोई ठोस कदम न उठाने पर गुस्सा जाहिर करते हुए प्रधानमन्त्री से इस्तीफे की मांग और राज्य सरकार को तत्काल भंग करने की मांग महामहिम राष्टपति से की गईl धरना प्रदर्शन के दौरान केंद्र एवं प्रदेश सरकार विरोधी नारेबाजी कर सपा जनो ने सरकार को चेताया l 
धरने के दौरान सर्व श्री कृष्णमूर्ति सिंह यादव, सैय्यद इफ्तिखार हुसैन,बासुदेव यादव, पंधारी यादव, नरेंद्र सिंह, राजेन्द्र पटेल, विनोद चंद्र दुबे, रामसेवक पटेल, निधि यादव, दूधनाथ पटेल,डॉ मान सिंह,रविन्द्र यादव, सन्दीप यादव, दान बहादुर सिंह मधुर,सै०मो०अस्करी, नाटे चौधरी, महबूब उसमानी,ननकऊ यादव,हीरामणि पटेल,जॉन्टी यादव,राकेश सिंह, सुशील कुमार एडवोकेट, श्रीमति मंजू यादव,सबिहा मोहानी , रवींद्र यादव रवि, विक्रम सिंह पटेल,मो०ग़ौस,शाहिद प्रधान,आक़िब जावेद खान,संत लाल वर्मा, आर. एन. यादव, अदील हमजा, अजीत सिंह, अनिल यादव,सै०आबिद अली,दिनेश यादव,राकेश सिंह आदि नेतागण मौजूद थे l वहीं बालसन चौराहे पर समाजवादी छात्र सभा ने बालसन चौराहे पर छात्र सभा के निर्वतमान महानगर अध्यक्ष आक़िब जावेद के नेत्रित्व तो वहीं सुभाष चौराहे पर सपा नेत्रि मंजू पाठक के नेत्रित्व मे प्रदेश की बिगड़ी क़ानून व्यवस्था और बलात्कार की घटना मे बेटियों के साथ न्याय न मिलने पर धरना दिया धरना में प्रमुख रुप से देव बोस यथांश केसरवानी,नेहा यादव,पुजा मिश्रा सहित अन्य लोग मौजूद थे।


बृजेश केसरवानी


2019 में 'उन्नाव' में रेप के 86 मामले

आदिल अहमद


उन्नाव! कभी भाजपा के विधायक रहे और बाद में पार्टी से निकाले गए विधायक कुलदीप सेगर पर बलात्कार के आरोप लगने के बाद उन्नाव जनपद चर्चा का केंद्र बना था। इसके बाद फिर रेप पीडिता की कार के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद उन्नाव दुबारा चर्चा में आया था। इसकी चर्चाये ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही है और टाउनशिप के मामले में किसानो के ऊपर लाठीचार्ज करने की घटना ने एक बाद फिर उन्नाव को चर्चा में स्थान दिया था। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और कानपूर के बीच लगभग पड़ने वाला उन्नाव एक बार फिर इस प्रकरण में चर्चा का केंद्र बना हुआ है। एक रेप पीडिता को केस की पैरवी में जाते समय आरोपियों द्वारा किरोसिन का तेल छिड़क जिंदा जलाने का प्रयास किया गया।


उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित, कानून मंत्री बृजेश पाठक और भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज सहित प्रदेश के कुछ शीर्ष नेता उन्नाव से ही आते हैं। उसी उन्नाव में कानून व्यवस्था की स्थिति दिन प्रतिदिन बिगडती जा रही है। कभी भारत का मेनचेस्टर कहे जाने वाले कानपुर से मात्र 25 किलोमीटर दूर उन्नाव में बलात्कार की प्रदेश में सबसे अधिक सामने आये है।


खबर के मुताबिक इस वर्ष 2019 में जनवरी से लेकर नवंबर तक 86 दुष्कर्म के मामले सामने आए हैं। 31 लाख की जनसंख्या वाले इस जिले में महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न के 185 मामले भी सामने आए हैं। कुलदीप सिंह सेंगर दुष्कर्म मामले और गुरुवार को महिला को आग लगाने के मामले से इतर कुछ अन्य महत्वपूर्ण मामले भी हैं, जिसमें पुरवा में एक महिला के साथ हुए दुष्कर्म में प्राथमिकी इस साल एक नवंबर को लिखी गई।


उन्नाव के असोहा, अजगैन, माखी और बांगरमऊ में दुष्कर्म और छेड़खानी के मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से अधिकतर मामलों में आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें या तो जमानत पर रिहा कर दिया गया, या फिर वे फरार चल रहे हैं। स्थानीय लोग राज्य में हो रहे इन मामलों के लिए पुलिस को दोष देते हैं।


विजेताओं को मिलेगा 'परीक्षा पे चर्चा' में मौका

नई दिल्ली! स्टूडेंट्स के बोर्ड परीक्षाओं का समय नजदीक आ गया है! परीक्षाओं के नजदीक आते ही छात्रों में अपनी तैयारियों को लेकर बेचैनी भी बढ़ती जाती है! सीबीएसई, आईसीएसई और यूपी और बिहार बोर्ड के अलावा कई अन्य राज्यों में भी बोर्ड परीक्षाएं जल्द ही शुरू होने वाली हैं! अपनी परीक्षाओं को ध्यान में रखकर छात्र जमकर मेहनत कर रहे हैं! कई स्कूल्स में एक्स्ट्रा क्लोसेज की भी व्यवस्था की गई है! कई स्कूलों ने अपनी प्री- बोर्ड परीक्षाएं भी लेनी शुरू कर दी हैं!


इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आने वाली परीक्षाओं को ध्यान में रखकर एक अहम घोषणा की है! प्रधानमंत्री ने 9वीं से लेकर 12वीं तक के छात्रों के लिए एक कॉन्टेस्ट की घोषणा की है! दरअसल, इन दिनों छात्रों में परीक्षाओं को लेकर तनाव बहुत ज्यादा रहता है! छात्रों के इसी तनाव को कम करने के लिए ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री ने ये जानकारी साझा की है! अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, ”परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं! और 'परीक्षा पे चर्चा भी'! परीक्षाओं के तनाव को कम करने के लिए चलो मिलकर काम करते हैं! 9वीं से लेकर 12वीं कक्षा तक के बच्चों के लिए एक दिलचस्प प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है! जो भी छात्र विजेता रहेंगे उन्हें 2020 की शुरुआत में होने वाली 'परीक्षा पे चर्चा' में हिस्सा लेने का मौका मिलेगा! आपको बता दें कि इस 'परीक्षा पे चर्चा' की शुरुआत 2018 में की गई थी! जिसमें परीक्षाओं को लेकर छात्र-छात्राओं के तनाव के साथ-साथ उनके परिजनों से भी बातचीत की जाती है! प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में ये कहा है कि जो छात्र इस प्रतियोगिता में विजेता रहेंगे उन्हें 2020 में होने वाली परीक्षा पे चर्चा में हिस्सा लेने के साथ-साथ उनसे मिलने का भी मौका मिलेगा! प्रतियोगिता से परीक्षा पे चर्चा में पहुंचे छात्र पीएम मोदी से मनचाहे सवाल भी पूछ सकते हैं! परीक्षा में चर्चा के तहत बोर्ड की परीक्षाओं के अलावा अन्य परीक्षाओं में शामिल होने वाले युवा छात्रों के तनाव को कम करने में मदद की जाएगी!


महिलाओं को कमजोर कहने पर 'लताड़'

मुंबई! कलर्स टीवी के विवादित रिएलिटी शो 'बिग बॉस 13' में सिद्धार्थ शुक्ला और आसिम रियाज मौजूदा कंटेस्टेंट्स हैं! दर्शकों ने पहले इन दोनों कंटेस्टेंट्स की दोस्ती देखी थी, अब वहीं दर्शक इन दोनों की दुश्मनी के भी गवाह हैं! हर एक मौके पर आसिम और सिद्धार्थ एक दूसरे को नीचा दिखाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं! बीते एपिसोड में देखने को मिला की कप्तानी की दावेदारी के लिए हुए टास्क में सिद्धार्थ शुक्ला ने आसिम को धक्का दिया था! जिसके बाद काफी हंगामा मचा था! बिग बॉस ने भी इसके लिए सिद्धार्थ शुक्ला की निंदा की थी और दंड स्वरूप उन्हें घर से बेघर होने के लिए दो हफ्तों के लिए सीधे-सीधे नॉमिनेट कर दिया!


अब, बिग बॉस की एक्स कंटेस्टेंट रह चुकीं काम्या पंजाबी ने सोशल मीडिया आसिम की बातों को गलत ठहराते हुए अपनी बातें रखती नजर आईं! काम्या पंजाबी ने कहा कि आसिम को बात करने के दौरान अपनी जुबान पर काबू रखने की जरूरत हैं, और कुछ कहते समय उचित शब्दों का चयन करना चाहिए है! सिद्धार्थ और असीम की एक हालिया लड़ाई में, काम्या ने बेहद तल्खी भरे ट्वीट में महिलाओं को 'कमजोर' कहने पर आसिम की बातों से नाराजगी जाहिर की है! बात करें आसिम की तो आसिम फिलहार शो के अंदर हिमांशी खुराना के साथ नजदीकियों को लेकर चर्चा में हैं! हालिया एपिसोड में अपनी प्रेम कहानी को और आगे ले जाते हुए आसिम रियाज, हिमांशी खुराना से कहते हैं कि वह उनकी जिंदगी में आईं इसके लिए वह आसिम उन्हें धन्यवाद देना चाहते हैं! आसिम ने बताया हिमांशी के साथ रहने पर जो वाइब्स आती हैं! उसके वह हमेशा उनके आसपास रहना चाहेंगे. हिमांशी मजाक करती हैं! और आसिम से कहती हैं! इस तरह लोग उन्हें 'मजनू' कहेंगे!


यूपी पुलिस ने सार्वजनिक किए आंकड़े

लखनऊ! हैदराबाद पुलिस ने गैंगरेप के सभी 4 आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया और ये चारों आरोपी शुक्रवार को मारे गए! हैदराबाद पुलिस की इस कार्रवाई पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने एनकाउंटर की तारीफ करते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस को तेलंगाना पुलिस से सीख लेने की नसीहत दी थी! इस नसीहत के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपने एनकाउंटर के आंकड़े जारी कर दिए! यूपी पुलिस ने ट्वीट करते हुए का दावा किया कि दो साल में 103 अपराधियों का एनकाउंटर किया गया! यूपी पुलिस ने अपने ट्विटर पर लिखा, 'आंकड़े अपने आप बोलते हैं! जंगल राज अतीत की बात है अब नहीं है! पिछले 2 सालों में 5178 मुठभेड़ की घटनाएं हुई हैं, जिसमें 103 अपराधी मारे गए और 1859 घायल हुए. 17745 अपराधियों ने आत्मसमर्पण किया या जेल जाने के लिए अपनी खुद की बेल रद्द कर दी!'


सीख ले यूपी पुलिसः मायावती
पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने एनकाउंटर पर कहा, 'अपनी पार्टी के लोगों को भी हमने जेल भेजा था, जिन पर किसी तरह के आरोप लगे थे. मेरा उत्तर प्रदेश की सरकार से कहना है कि हैदराबाद की पुलिस से यूपी पुलिस को सीख लेनी चाहिए और अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. बसपा प्रमुख मुख्यमंत्री ने कहा कि दुख की बात ये है कि दिल्ली-यूपी में पुलिसकर्मी आरोपी लोगों को सरकारी मेहमान बनाकर रखे हुए हैं, दिल्ली पुलिस और यूपी पुलिस को बदलना होगा! तभी बलात्कारी लोगों की हरकतें रुक सकती हैं, लोगों में कानून का खौफ नहीं हैै!


जताई ख़ुशी:मायावती ही नहीं कई अन्य नेताओं ने भी इस एनकाउंटर की तारीफ की है! आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि हैदराबाद में जो कुछ भी हुआ उससे आज देश की जनता में संतोष है! लोगों में खुशी है कि उन चारों दरिंदों जिन्होंने हैवानियत की थी उनको पुलिस ने मार गिराया! हालांकि AIMIM प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार हर मुठभेड़ की जांच की जानी चाहिए! इस मामले में राज्य सरकार बहुत सक्रिय थी! हमें महिला सुरक्षा के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस घटना पर खुशी जताई! हैदराबाद की घटना से लोगों में संतोष और ख़ुशी है। ये चिंता का विषय है कि देश की कानून व्यवस्था पर लोगों का विश्वास टूट चुका है। हम सब को मिलकर हमारी कानून व्यवस्था और जांच प्रणाली को मजबूत करना होगा ताकि लोग दोबारा इस व्यवस्था पर विश्वास करने लगे और हर पीड़ित को जल्द न्याय मिल पाए.पुलिस का कदम बिल्कुल सही


वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस मामले पर कहा कि पुलिस का कदम बिल्कुल सही है, मानवाधिकार के नाम पर कभी आतंकी, तो कभी देशद्रोही और ऐसे जघन्य अपराधी को बचाया जाता रहा है! क्या ये मानवाधिकार अपराधियों के प्रति ही जागता है? मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस ने जो एनकाउंटर किया है, उन्हें एक्ट के तहत इसका अधिकार है!


'शिक्षकों' के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला

आजमगढ़! बेसिक शिक्षा विभाग ने फर्जी डिग्री पर नौकरी पाए 29 शिक्षकों के खिलाफ शुक्रवार को सिधारी थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया गया। सभी को पहले ही बर्खस्त किया जा चुका है। एफआईआर दर्ज करने के बाद अब सभी से वेतन की भी रिकवरी की जाएगी।


वर्ष 2015-16 में परिषदीय विद्यालय में सहायक अध्यापकों की हुई भर्ती में फर्जीवाड़े की शिकायत मिलने पर बेसिक शिक्षा विभाग ने अपने स्तर से नियुक्त शिक्षकों की डिग्री का संबंधित बोर्ड से सत्यापन कराया था। सत्यापन के दौरान जिले में पिछले एक वर्ष के दौरान 29 शिक्षकों की डिग्री फर्जी पाई गई थी। इस पर सभी को विभिन्न तिथियों में बर्खास्त कर दिया गया था। बर्खास्तगी के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने पुलिस अधीक्षक को पिछले माह एफआईआर दर्ज कराने के लिए पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजा था। इस पर गुरुवार को पुलिस  अधीक्षक के निर्देश पर सिधारी थाने की पुलिस ने सभी फर्जी शिक्षकों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया।


इन पर हुआ मुकदमा 
बर्खास्त किए गए फर्जी शिक्षकों में हरैया ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय झनझन का पूरा पर तैनात रहे सहायक अध्यापक भाष्कर राय, ठेकमा के हरईपुर प्राथमिक विद्यालय पर तैनात रही करूणा राय, चंद्रभानपुर विद्यालय पर तैनात पीयुष कुमार श्रीवास्तव, जिवली विद्यालय की सरिता राय, मार्टीनगंज ब्लाक के महुजा नेवादा विद्यालय के नवनीत कुमार श्रीवास्तव, प्रियंका अस्थाना शामिल है। इसके अलावा अहरौला ब्लाक के दमदियवना विद्यालय पर तैनात रहे शिक्षक मिथिलेश श्रीवास्तव, ह्दय नारायण शुक्ला, तहबरपुर ब्लाक के लिलारी विद्यालय की चित्रा मिश्रा, गढ़वा विद्यालय के बृजेश कुमार राय, गोविंदपुर विद्यालय के अमित कुमार श्रीवास्तव, मेहमौनी विद्यालय के सौरभ, महुवारा विद्यालय की लक्ष्मी तिवारी, पश्चिमपट्टी विद्यालय के रवि राय, जहानागंज ब्लाक के बरही विद्यालय की पूनम श्रीवास्तव शामिल है। फर्जी शिक्षकों में मिर्जापुर ब्लाक के दुर्वासा के संजय कुमार श्रीवास्तव,राजापुर सिकरौर विद्यालय के अमितेश कुमार राजभर,बस्ती विद्यालय के उमेश प्रसाद शर्मा, महराजगंज ब्लाक में शिवपुर विद्यालय के सत्येंद्र कुमार राय, लालगंज ब्लाक में राजेपुर विद्यालय की मीना सिंह, मेहनगर ब्लाक में गौरा प्रथम विद्यालय के उज्जवल नारायण राय,बिलरियागंज ब्लाक में पठ विसंभर विद्यालय की सीमा, पवई ब्लाक में सलारपुर विद्यालय के अरविंद राय, मुहम्मदपुर ब्लाक में ईश्वरपुर विद्यालय पर तैनात रही कुसुमलता राय, रानी की सराय ब्लाक में दिलौरी विद्यालय की रंजना सिंह, लालगंज ब्लाक में नाऊपुर विद्यालय की सुनीता चौबे,सठियांव ब्लाक के पुसड़ा आइमा विद्यालय के जैश कुमार सिंह, तरवा ब्लाक में बीबीगंज विद्यालय की पुष्पा देवी शामिल है।


राम रहीम केस में 'जज' बदलने की मांग

राम रहीम के केस में जज बदलने की मांग
पंचकूल! पंचकूला साध्वी यौनशोषण और पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के दोषी गुरमीत राम रहीम के एक सहयोगी और आरोपित कृष्ण लाल ने विशेष सीबीआई अदालत में एक याचिका लगाई है। इसमेें उसनेे मांग की है कि डेरा प्रबंधक रंजीत सिंह हत्या मामले में वह सीबीआई  के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह से इस मामले की सुनवाई नहीं करवाना चाहता।
इसलिए की है जज बदलने की मांग:बचाव पक्ष ने कहा कि गुरमीत राम रहीम के खिलाफ पहले ही दो मामलों में जगदीप सिंह सजा सुना चुके हैं, इसलिए तीसरे मामले में वह किसी और जज से सुनवाई कराना चाहते हैं। इस मामले में सीबीआई ने अपना जवाब दाखिल करते हुए याचिका में जो बातें कही हैं उन्हें पूरी तरह झूठा करार दिया है और मामले में जानबूझकर देरी करवाने की बात कहीं है।
आज हुई थी इस मामले सुनवाई:साध्वी यौन शोषण मामले में सजा काट रहे दोषी गुरमीत राम रहीम पर चल रहे डेरा के मैनेजर रंजीत मर्डर मामले ने आज पंचकूला स्थित विशेष सीबीआई अदालत में सुनवाई हुई। सुनवाई में गुरमीत राम रहीम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश हुए। बाकी आरोपित प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए। सुनवाई में आज फाइनल बहस शुरू होनी थी जोकि नहीं हो पाई।


आज की सुनवाई में बचाव पक्ष ने विशेष सीबीआई कोर्ट में एक याचिका लगाई। याचिका लगाकर बचाव पक्ष ने सीबीआई कोर्ट से मांग की कि वे इस मामले की सुनवाई सीबीआई कोर्ट में नहीं करवाना चाहते। बल्कि किसी और कोर्ट में करवाना चाहते हैं। बचाव पक्ष द्वारा लगाई गई याचिका पर सीबीआई विशेष कोर्ट ने सीबीआई से जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई अब 10 दिसंबर 2019 को होगी।


गणराज्य का वास्तविक स्वरूप (विचार)

देश की जेलों में सजा काट रहे हैं एक लाख से ज्यादा बलात्कारी


हैदराबाद की वैटर्नरी डॉक्टर के गैंगरेप और मर्डर के चारों आरोपियों पर अदालत में मुकद्दमा चलने से पहले उनका पुलिस ने एनकाऊंटर कर दिया। यह एनकाऊंटर सही था कि गलत? यह एक अलग विषय है, लेकिन कानून व्यवस्था को लेकर देश में मचा बवाल थम-सा गया। सोशल मीडिया पर सभी इस एनकाऊंटर की सराहना कर रहे हैं। 
अदालतों में लाखों रेप के केस विचाराधीन
रेप के अभियुक्तों को जेल होने पर किसी भी पीड़िता के परिजनों को कितना सुकून मिलता है! इसका अंदाजा लगाना तो मुश्किल है! लेकिन देश में भारतीय संविधान की धारा के तहत सजा काट रहे एक लाख से ज्यादा कैदियों में 10,892 बलात्कारी हैं। अदालतों में रेप के लाखों केस विचाराधीन हो सकते हैं क्योंकि नैशनल क्राइम ब्यूरो (एन.सी.आर.बी.) का 2017 तक का महिला अपराध का आंकड़ा साढ़े 3 लाख पार कर चुका है। विडंबना तो यह है कि महंगाई, बेरोजगारी, कानून और अर्थव्यवस्था की बेहाली के बीच आम जनता एक समय में एक ही मुद्दे पर ध्यान देती है। बाकी मुद्दों पर सियासतदान पर्दा नहीं बल्कि कफन डालने का प्रयास करते हैं।
किस जुर्म में कितने बंद:एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक 2017 तक आईपीसी के तहत 1 लाख 21 हजार 997 कैदी जेलों में सजा काट रहे हैं। इनमें सबसे ज्यादा 84 फीसदी (102535) मामले मानव शरीर को नुक्सान पहुंचाने और कत्ल के हैं। ऐसे मामलों में सिर्फ  कत्ल के मामलों की संख्या 68.4 फीसदी यानि 70,170 है। अब रेप के मामलों की बात की जाए तो 10.6 फीसदी (10,892) बलात्कारी जेलों में सजा काट रहे हैं। दहेज उत्पीडन के मामलों में 29.7 फीसदी (5,448) सजा काट रहे हैं। ये आंकड़े 31 दिसम्बर 2017 तक के हैं। यहां सिर्फ उन मामलों की बात हो रही है जिनमें अपराधियों को सजा हो चुकी है।
महिला अपराधों का बढ़ रहा ग्राफ:देश में महिलाओं की हर क्षेत्र में जहां भागीदारी बढ़ती जा रही है वहीं सरकारें इनके प्रति बढ़ते हुए अपराधों को लेकर गंभीर नहीं दिखाई पड़ती हैं। बीते माह एन.सी.आर.बी. की पब्लिक डोमेन पर डाली गई रिपोर्ट के मुताबिक भी देश की महिलाओं की स्थिति कुछ अच्छी नहीं है। महिलाओं के प्रति अपराध कम नहीं हो रहे हैं बल्कि बढ़ते जा रहे हैं। एन.सी.आर.बी. की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 में 50 लाख 07 हजार 44 मामले दर्ज किए गए हैं जिनमें से 3 लाख 59 हजार 849 मामले महिलाओं के खिलाफ  अपराध संबंधी हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2015 में महिलाओं के प्रति अपराध के 3 लाख 29 हजार 243 मामले दर्ज किए गए। 2016 में यह आंकड़ा में 3 लाख 38 हजार 954 तक पहुंच गया था।


आंकड़ों के मकडजाल में सरकार:थॉमसन रायटर्स फाऊंडेशन ने 2018 में एक जनमत सर्वेक्षण किया था! जिसमें कहा गया था कि भारत महिलाओं के लिए सबसे खतरनाक देश है। यह घोषणा किसी रिपोर्ट या आंकड़ों पर नहीं बल्कि एक जनमत सर्वेक्षण पर आधारित है। इस संस्था के दावे को भारत सरकार ने सिरे से खारिज कर दिया था। सरकार महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने रैंकिंग को एक अवधारणा बताया था। यह मात्र 6 प्रश्नों के जवाब पर आधारित है। इसके अतिरिक्त इस सर्वेक्षण में मात्र 548 लोगों को शामिल किया गया है। रायटर्स के अनुसार ये व्यक्ति महिला संबंधी मामलों के विशेषज्ञ हैं। यहां इस बात से भी इन्कार नहीं किया जा सकता है कि महिलाएं देश में कितनी सुरक्षित हैं। यह बताना भी जरूरी है कि 2015-16 में कराए गए राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 में इस बात का उल्लेख किया गया है कि भारत में 15.49 आयु वर्ग की 30 फीसदी महिलाओं को 15 साल की आयु से ही शारीरिक हिंसा का सामना करना पड़ता है।


यादगार के लिए हेलीकॉप्टर की डोली बनाई

सोनीपत। हरियाणा के गोहाना में शादी को यादगार बनाने के लिए अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर में लेकर गांव में दूल्हा पहुंचा। गांव महमूदपुर निवासी रमेश की बेटी सोनिया की डोली की विदाई हेलीकॉप्टर में हुई। गांव में हेलीकॉप्टर उतरने के बाद उसे देखने वालों का तांता लग गया। जब सोनिया हेलीकॉप्टर में बैठकर उड़ी तो दिखाई देने तक गांव वाले हेलीकॉप्टर को ही देखते रहे। वहीं दूल्हा गोहाना के जागसी गांव की रहने वाला है।  गांव जागसी में आज तक कोई युवक अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर में लेकर नहीं आया था। सुमित के पिता श्याम ने हेलीकॉप्टर में अपने बेटे की दुल्हन लाने की ठानी और अपने इस सपने को साकार किया। जागसी निवासी श्याम खेती-बाड़ी का काम करता है। उसका इकलौता बेटा सुमित देहरादून में पानी की सप्लाई और फाइनेंस का काम करता है। श्याम की इकलौती बेटी सीमा आस्ट्रेलिया में पढ़ाई कर रही है। सुमित के पिता श्याम ने अपने इकलौते बेटे की शादी को यादगार बनाने के लिए कुछ अलग करने की ठानी। उसने गांव के बुजुर्गों से बातचीत की तो पता चला कि गांव का कोई युवक अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर में लेकर नहीं आया है। इस पर श्याम ने अपने बेटे सुमित व बहू के परिवार वालों से बातचीत की और दुल्हन को हेलीकॉप्टर से लाने का फैसला लिया। वहीं दुल्हन सोनिया ने बताया कि हर लड़की का सपना होता है कि उसे अच्छा परिवार मिले। सोनिया ने कहा कि आज उसका सपना पूरा हो रहा है कि उसका पति उसे हेलीकॉप्टर से लेने के लिए आया है। बेटी की हेलीकॉप्टर से विदाई पर परिवार के लोग भी काफी खुश नजर आए। इस शादी से दूल्हे और दुल्हन दोनों के परिवार काफी खुश हैं। गांव में हेलीकॉप्टर के उतरने के बाद देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। दूल्हा-दुल्हन को देखने के लिए ग्रामीणों के साथ बच्चे व महिलाएं भी पहुंचे।


शवों को ना जलाया जाए,न दफनाए:एचसी

हैदराबाद! तेलंगाना हाईकोर्ट ने हैदराबाद में मारे गए बलात्कार आरोपितों के शवों के अंतिम संस्कार को रोक दिया है। हाईकोर्ट ने एक आदेश जारी कर कहा कि चारों आरोपितों के शव सोमवार (दिसंबर 9, 2019) तक सुरक्षित रखे जाएँ। उस दिन शाम 8 बजे तक इन शवों को जलाया या दफनाया नहीं जा सकेगा। कोर्ट ने इस सम्बन्ध में तेलंगाना सरकार को आदेश दिया है। अब कोर्ट द्वारा निर्धारित समय तक आरोपितों के शवों को उनके परिवार को भी नहीं सौंपा जा सकेगा। लिहाजा  हैदराबाद की महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और उसकी हत्या के आरोपियों का अंतिम संस्कार करने के लिए अब लंबा इंतजार करना पड़ सकता है!


सोमवार को सुनवाई करेगा हाई कोर्ट शुक्रवार देर शाम आपात सुनवाई के दौरान कोर्ट ने अधिकारियों को आरोपियों के शवों को नौ दिसंबर तक संरक्षित करने का निर्देश दिया है! नौ दिसंबर को मुख्य न्यायाधीश आर. एस. चौहान विभिन्न संगठनों द्वारा दायर की गई याचिकाओं पर सुनवाई करेंगे! इन याचिकाओं में पुलिस के हाथों हुई 'न्यायेतर हत्या' की जांच की मांग की गई है! इस एनकाउंटर को फ़र्ज़ी बताते हुए कोर्ट में पीआईएल भी दाखिल की गई है। सोमवार को इस पर सुनवाई होगी। हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि चारों आरोपितों के शवों के पोस्टमॉर्टम प्रक्रिया की वीडियोग्राफ़ी कराई जाए।


महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और उसकी हत्या के चारों आरोपी शादनगर में शुक्रवार तड़के पुलिस मुठभेड़ में मारे गए थे! पोस्टमार्टम के बाद चारों शवों को महबूबनगर स्थित सरकारी अस्पताल में शवगृह में संरक्षित किया गया है! राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की टीम आज अस्पताल का दौरा करेगी! इस दौरान टीम शवों को देखने के साथ ही संबंधित अधिकारियों और फोरेंसिक विशेषज्ञों से जानकारी एकत्र कर सकती है!


एनकाउंटर करने वालों के खिलाफ 'याचिका'

हैदराबाद! तेलंगाना के हैदराबाद में गत सप्ताह दुष्कर्म और बेरहमी से हत्या के आरोपियों का पुलिस के द्वारा एनकाउंटर करने का मामला, जिस प्रकार प्रसिद्ध हो रहा है! उसी प्रकार उसके खिलाफ कानूनी लड़ाई का दायरा भी बढ़ रहा है! पशुचिकित्सक के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में शामिल रहे, पुलिस कर्मियों के खिलाफ एफआईआर, जांच और कार्रवाई की मांग करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई। सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता जीएस मणि और प्रदीप कुमार यादव ने कहा कि शीर्ष अदालत के 2014 के दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया।


डिजिटल लेनदेन के लिए,आरबीआई का तोहफा

नई दिल्ली! डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंक ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है। आरबीआई ने 16 दिसंबर से ग्राहकों को 24 घंटे नेशनल इले‍क्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) के जरिए लेनदेन की सुविधा प्रदान करने की घोषणा की है। आरबीआई ने कहा है कि 16 दिसंबर से एनईएफटी सेवा 24 घंटे और 365 दिन उपलब्‍ध होगी। इसका मतलब है कि अवकाश के दिन भी एनईएफटी के जरिए ट्रांजैक्शन किया जा सकेगा।
आरबीआई ने बैंकों को दिया निर्देश
आरबीआई ने शुक्रवार को एक विज्ञप्ति जारी कर सभी बैंकों से 24 घंटे एनईएफटी सुविधा के लिए आवश्‍यक कदम उठाने और जरूरी तैयारियां करने का निर्देश दिया है। डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए यह फैसला लिया गया है। बैंकों से कहा गया है कि वे ग्राहकों को इसका फायदा दें। मौजूदा समय में ग्राहक इस सेवा का लाभ महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर प्रत्‍येक कार्य दिवस पर सुबह आठ बजे से लेकर शाम 7:45 बजे तक उठा रहे हैं।
क्या है एनईएफटी?
नेशनल इले‍क्‍ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) देश में बैंकों के जरिए फंड ट्रांसफर करने की एक ऑनलाइन सुविधा है। इंटरनेट के जरिए 2 लाख रुपए तक के लेनदेन के लिए एनईएफटी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है। इसके लिए भेजने वाले और पैसा पाने वाले, दोनों के पास इंटरनेट बैंकिंग सेवा का होना जरूरी है। अगर दोनों खाते एक ही बैंक के हैं तो सामान्य स्थिति में कुछ समय के भीतर पैसा ट्रांसफर हो सकता है।


यौन अपराधों पर होगी त्वरित कार्रवाई

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर निर्देश दिया है कि यौन अपराधों के मामलों में गंभीरता से त्वरित कार्रवाई की जाये। केंद्रीय गृह सचिव ने कहा है कि यौन और संज्ञेय अपराधों की प्राथमिकी (जीरो एफआईआर) किसी भी थाने में दर्ज कराई जा सकती है। प्राथमिकी दर्ज नहीं करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दंडात्मक कार्ऱवाई की जाएगी। पत्र में कहा गया है कि महिलाओं और बालिकाओं को सुरक्षा मुहैया कराना सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। सरकार ने कानूनों को सख्त बनाया है लेकिन जरूरत इस बात की है कि पुलिस ऐसे अपराधों के संबंध में त्वरित कार्ऱवाई करे।


रूखी त्वचा का घरेलू उपचार

सर्दियों में लिप्स के साथ-साथ स्किन का फटना आम बात है। फटने के साथ-साथ स्किन काफी डल भी हो जाती है, जिसकी वजह से चेहरा बदसूरत लगने लगता है। इसलिए जरूरी है कि चाहे सर्दी हो या गर्मी, स्किन की नियमित रूप से और सही तरह से देखभाल की जाए। वैसे तो स्किन की ड्राईनेस को दूर करने के लिए मार्केट में कई तरह के मॉइश्चराइजर व अन्य प्रॉडक्ट्स मौजूद हैं।


लेकिन आज हम आपको मॉइश्चराइजर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप घर पर आसानी से बना सकती हैं। यह ड्राई स्किन पर असरदार है। इसके लिए कुछ चीजों की जरूरत होगी, जैसे कि 1 कप एलोवेरा जेल या फिर उसकी पत्तियों का गूदा, 7-8 चम्मच मधुमक्खी वाला मोम (बीज़वैक्स), 2 चम्मच नारियल का तेल और 2 चम्मच बादाम का तेल।
मॉइश्चराइजर बनाने का तरीका 
एक पैन में मोम को पिघला लें और उसमें ऐलोवेरा को पीसकर मिक्स करें। बाकी चीजें भी डालें और सभी को अच्छी तरह से मिला लें। मिश्रण को तब तक चलाएं जब तक कि वह क्रीमी न हो जाए। अब इसे आप एक बोतल या फिर जार में स्टोर करके रखें। पहले तो कुछ घंटों के लिए इस फ्रिज में रख दें ताकि ये सेट हो जाए। बाद में आप इसे इस्तेमाल के लिए बाहर सामान्य तापमान पर भी स्टोर करके रख सकती हैं। 
अब रोजाना इसे चेहरे के साथ-साथ पूरी बॉडी पर लगाएं। बेहतर होगा कि इस मॉइश्चराइजर को रात को सोने से पहले लगाएं। कुछ दिनों में स्किन की ड्राईनेस गायब हो जाएगी और चेहरा एकदम ग्लोइंग और खिला-खिला होगा।
स्किन के लिए एलोवेरा क्यों है बेस्ट? 
एलोवेरा में ऐंजाइम, विटमिन ए और सी के अलावा कुछ ऐंटी-इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती हैं जो स्किन की जलन, दाग-धब्बे दूर करती हैं। वहीं इसमें मौजूद ऐंजाइम स्किन के लिए एक एक्सफोलिएटर का काम करती हैं और डेड स्किन को निकालने में मदद करती हैं। साथ ही यह रिंकल्स और पिंपल को भी दूर रखती हैं।


मेथी के बीज,मेथी-पत्ता लाभदायक

सर्दियों में हरी सब्जियों की भरमार होती है। इनमें मेथी काफी अहम है। मेथी सिर्फ स्वाद में ही नहीं, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होती है। मेथी को कई बीमारियों के इलाज के लिए अच्छा माना जाता है। मेथी के पत्ते हों या फिर बीज दोनों ही अलग-अलग फायदों की वजह से जाने जाते हैं। वैसे तो मेथी के दानों को आप किसी भी सीजन में खा सकते हैं लेकिन मेथी का साग सिर्फ सर्दियों के मौसम में आता है। लिहाजा इस दौरान मेथी का सेवन कितना फायदेमंद है, यहां जानें।
हार्ट को हेल्दी रखती है मेथी
मेथी हृदय को स्वस्थ बनाने में मदद करती है। इसमें पोटैशियम और सेलेनियम की अच्छी मात्रा होती है। इसलिए आप सर्दियों में जितना हो सके मेथी का सेवन करें। मेथी शरीर में बैड कलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार है। इसमें मौजूद लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कलेस्ट्रॉल के स्तर कम करने में मदद करता है और आपको दिल संबंधी बीमारियों से दूर रखता है। इसके अलावा हरी मेथी में गैलेक्टोमनैन होता है, जो हेल्दी हार्ट हेल्थ के लिए अच्छा होता है। मेथी ब्लड सर्कुलेशन को भी बेहतर रखने में मदद करती है, जिससे आर्टरी ब्लॉकेज का खतरा भी कम होता है।
डायबीटीज में फायदेमंद
डायबीटीज के रोगियों के लिए मेथी के बीज हों या मेथी की सब्जी, दोनों ही फायदेमंद है। इसके लिए आप मेथी के बीज रात को पानी में भिगोकर रखें और सुबह उसी पानी की चाय बनाकर रोजाना 1 कप पिएं। इससे आपको ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलेगी और वजन भी नियंत्रित रहेगा। इसमें मौजूद अमिनो ऐसिड इंसुलिन का उत्पादन बढ़ाने में मदद करेगा।
जोड़ों व हड्डियों के दर्द में असरदार
हरी सब्जियां कई पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जो हमारी कई बीमारियों से लडऩे और उन्हें काटने में मदद करती हैं। ठीक इसी तरह मेथी भी है। यह आपके जोड़ों के दर्द और हड्डियों के दर्द यानि गठिया या ऑस्टियोपोरोसिस के रोगियों के लिए फायदेमंद होती है। मेथी कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और फॉस्फॉरस से भरपूर होती है।
पाचन बढ़ाने में सहायक
मेथी पाचन ठीक करने में भी सहायक मानी जाती है। यह कब्ज, अपच और पेट में दर्द की समस्या को दूर करती है। रोजाना मेथी के बीज की चाय या मेथी की सब्जी का सेवन करते हैं तो आपकी पाचन प्रक्रिया दुरुस्त रहेगी और पेट भी साफ रहेगा।
इम्यूनिटी होगी स्ट्रॉन्ग
आयुर्वेदाचार्य ए के मिश्र कहते हैं मेथी, हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्यूनिटी यानी रोगों से लडऩे की क्षमता को मजबूत करने में भी सहायक होती है। मेथी में कई विटमिन्स और मिनरल्स भी होते हैं और इसलिए भी मेथी हमारे लिए कई तरह से फायदेमंद है।


द्विपक्षीय संबंधों की स्थिरता पर प्रतिबद्धता

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नई दिल्ली में मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ के साथ मुलाकात की। प्रधानमंत्री जुगनाथ अपनी पत्नी कोबिता जुगनाथ के साथ भारत की निजी यात्रा पर हैं।


प्रधानमंत्री मोदी ने शानदार जनादेश के साथ दोबारा चुनाव जीतने पर प्रधानमंत्री जुगनाथ को हार्दिक बधाई दी। प्रधानमंत्री जुगनाथ ने मोदी को धन्यवाद देते हुए आपसी भाईचारे को और मजबूत तथा घनिष्ठ बनाने तथा दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को टिकाऊ बनाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया। प्रधानमंत्री जुगनाथ ने मॉरीशस में लागू की जा रही अनेक विकास परियोजनाओं जैसे मेट्रो एक्सप्रेस परियोजना, ईएनटी अस्पताल, सामाजिक आवास परियोजना में सहयोग के लिए भारत की बहुत प्रशंसा की। इन परियोजनाओं से लोगों को वास्तविक लाभ हुआ है।


प्रधानमंत्री जुगनाथ ने कहा कि मॉरीशस के समग्र विकास की गति बढ़ाने और भारत के साथ सहयोग का दायरा मजबूत बनाना उनके नए कार्यकाल की प्राथमिकताएं होंगी। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि भारत इस प्रयास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मॉरीशस की सरकार और वहां के लोग अपने देश को अधिक सुरक्षित, टिकाऊ और समृद्ध बनाने की अपनी आकांक्षाओं में भारत के पूर्ण समर्थन और सतत एकजुटता पर पूरा भरोसा कर सकते हैं। दोनों नेताओं ने नजदीकी विविध द्विपक्षीय संबंधों का निर्माण करने और उन्हें मजबूत बनाने तथा आपसी हितों की प्राथमिकताओं के आधार पर नए जुड़ाव क्षेत्रों का पता लगाने के बारे घनिष्ठता से काम करने पर सहमति व्यक्त की।


अब डीएल, आरसी भी कराना होगा लिंक

नई दिल्ली! GCअब वाहनों के दस्तावेजों यानी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी), ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल), पॉल्यूशन सर्टीफिकेट समेत अन्य को मोबाइल नंबर से लिंक कराना जरूरी हो जाएगा। यह नियम एक अप्रैल 2020 से लागू होगा। इस संबंध में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी कर इस पर लोगों की राय मांगी है।


इस संबंध में लोग 30 दिन के अंदर यानी 29 दिसंबर तक अपने सुझाव सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय को भेज सकते हैं। यह मामला उस समय सामने आया, जब बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट ने पर्सनल डेटा प्रोटेक्शन बिल को मंजूरी दी। इस बिल का मकसद पब्लिक और प्राइवेट कंपनियों के लिए पर्सनल डेटा को रेगुलेट करने की व्यवस्था करना है।


माना जा रहा है कि वाहन के दस्तावेजों से मालिक के मोबाइल नंबर के लिंक होने से गाड़ी चोरी होने की जानकारी जुटाने में मदद मिलेगी। वाहन दस्तावेजों के साथ मोबाइल नंबर लिंक होने से गाड़ी की चोरी, खरीद-फरोख्त पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।इसके अतिरिक्त वाहन डाटा बेस में मोबाइल नंबर दर्ज होने से जीपीएस के अलावा मोबाइल नंबर की मदद से किसी भी व्यक्ति की लोकेशन का पता किया जा सकता है। इसमें विशेषकर सड़क दुर्घटना, अपराध को अंजाम देने के बाद पुलिस उक्त व्यक्ति का तुरंत पता लगा सकती है और भ्रष्टाचार से भी राहत मिलेगी।


साथ ही केंद्र सरकार और अन्य सरकारी संस्थाओं के पास सभी वाहनों और ड्राइविंग लाइसेंस का पूरा डाटा, मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध होगा। अगर जरूरत पड़ी तो पुलिस, आरटीओ या कोई अन्य एजेंसी आसानी से वाहन चालक या उसके मालिक से संपर्क कर सकती है। जबकि बड़े महानगरों में इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट को लागू किया जा सकेगा।


महिला टीचर ने गोद लेकर, किया शोषण

न्यू जर्सी! एक शादीशुदा महिला टीचर पर आरोप लगा है कि उन्होंने 15 साल के छात्र को इसलिए गोद लिया ताकि वह उसके साथ शारीरिक संबंध बना सके। ये मामला अमेरिका के न्यू जर्सी के ट्रेन्टन का है! टीचर के क्लास लेने पर बैन लगा दिया गया है। 15 साल के लडक़े को जब अपने घर से निकाल दिया गया तब 45 साल की टीचर रायना कल्वर उसकी लीगल गार्जियन बन गई। लडक़े का दावा है कि कई महीनों तक टीचर ने रोज उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए।


इस मामले में अभी ट्रायल चल रहा है. गिरफ्तारी के बाद से ही टीचर छुट्टी पर थीं, लेकिन अब उनके स्कूल जाने पर तब तक बैन लगा दिया गया है जब तक कोर्ट का फैसला नहीं आ जाता।बच्चे का भविष्य खराब करने और यौन शोषण के मामले में टीचर पर मुकदमा चलाया जा रहा है। कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक, बच्चे की कस्टडी लेने से पहले से ही टीचर उसके काफी करीब हो गई थी।


शुरुआत में टीचर गलत तरीके से उसे छूती थी, लेकिन लडक़ा इसके बारे में अधिक सोच नहीं पा रहा था! बाद में लडक़े ने जब टीचर को संबंध बनाने से मना किया तो उन्होंने दबाव बनाया। प्रॉसेक्यूटर के मुताबिक, पीडि़त लडक़े को यह लगने लगा था कि उसे घर में जगह देने के पीछे टीचर का मकसद उसके साथ संबंध बनाना ही था।


किन्नर प्रत्याशी जुटी चुनाव प्रचार-प्रसार में

कोरबा! नामांकन की प्रक्रिया कल पूरी होने के बाद जैसे-जैसे मतदान की तिथि नजदीक आती जा रही है! शहरी सत्ता का यह मुकाबला और भी दिलचस्प होता जा रहा है! हालांकि इस बार कितने चुनावी योद्धा मैदान में है! यह नाम वापसी के बाद ही तय हो सकेगा! बावजूद इससे पहले ही सियासी दलों के अधिकृत और निर्दलीय प्रत्याशियों ने अपना प्रचार-प्रसार अपने वार्डो में शुरू कर दिया! प्रचार के लिए निकलने वालो में वार्ड क्रमांक 02 साकेत नगर से कांग्रेस की अधिकृत उम्मीदवार मालती किन्नर उर्फ़ दिनेश मालती भी शामिल है!


प्रत्याशी मालती ने चर्चा की शुरुआत में छग विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत, क्षेत्रीय सांसद श्रीमती ज्योत्स्ना महंत, शासन में राजस्व मंत्री और कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल व मौजूदा महापौर श्रीमती रेणु अग्रवाल का आभार जताया है! उन्होंने कहा जिले के बड़े नेताओ ने उनपर फिर से एकबार भरोसा जताया है! इसके लिए वह उन्हें धन्यवाद ज्ञापित करती है! वह उनकी उम्मीदों पर पूरी तरह खरा उतरेंगी और बड़े मार्जिन से जीत दर्ज करेंगी! उन्हें इस बात की भी बेहद ख़ुशी है की मौजूदा चुनाव में वह राज्य की अकेली किन्नर प्रत्याशी है! जिसे देश की सबसे बड़ी सियासी पार्टी ने पार्षद का टिकट दिया है!


दिनेश मालती ने बताया की पूर्व की तरह ही इस बार भी उन्हें वार्ड के आम मतदाताओं और लोगो का अभूतपूर्व समर्थन हासिल हो रहा है! वह आज से प्रचार- प्रसार पर निकल पड़ी है! उन्हें पूरी उम्मीद है की निगम में इस बार कांग्रेस के ज्यादा से ज्यादा पार्षद चुनकर पहुंचेंगे और लगातार तीसरी बार निगम की सत्ता कांग्रेस के हाथ में होगी! उनका मानना है की वार्ड में बुनियादी समस्याएं बनी हुई है! इनका निराकरण करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी! वह कम वक़्त पर ही सघन जनसम्पर्क कर ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचकर उनसे सीधी चर्चा कर पाए यह उनकी कोशिश होगी!


मैन ऑफ द मैच,वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी

हैदराबाद! हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनैशनल स्टेडियम में खेले गए धमाकेदार टी-20 इंटरनैशनल मुकाबले में भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज को 6 विकेट से हरा दिया। मेहमान टीम ने 5 विकेट पर 207 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था, जिसे कप्तान विराट कोहली की सर्वश्रेष्ठ पारी ने बौना साबित कर दिया। फैन्स के बीच 'किंग कोहली' नाम से मशहूर भारतीय कप्तान ने 50 गेंदों में 6 चौके और 6 छक्के की मदद से नाबाद 94 रनों की पारी खेली। विनिंग पारी खेलने के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया।


वर्ल्ड रेकॉर्ड बराबर:टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में यह 12वां मौका था जब उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसके साथ ही विराट ने टी-20 इंटरनैशनल में सर्वाधिक 'मैन ऑफ द मैच' जीतने का वर्ल्ड रेकॉर्ड बराबर कर लिया है। अफगानिस्तान के मोहम्मद नबी और विराट के नाम संयुक्त रूप से यह रेकॉर्ड हो गया है। दोनों के नाम यह सम्मानित अवॉर्ड 12-12 हैं। इस लिस्ट में अगला नंबर पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी का है, जिन्होंने 11 बार यह कारनामा किया है।


रोहित के नाम हैं 9 अवॉर्ड:भारतीयों की बात करें तो इस फॉर्मेट में हिटमैन रोहित शर्मा ने 9 बार मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीते हैं। उनके बाद ऑलराउंडर युवराज सिंह का नंबर आता है, जिन्होंने 58 मैचों में 7 बार प्लेयर ऑफ द मैच अपने नाम किया।


कोहली का सर्वश्रेष्ठ स्कोर:उल्लेखनीय है कि इस मैच में कोहली ने 50 गेंदों पर छह चौकों और इतने ही छक्के की मदद से नाबाद 94 रन बनाए, जो इस प्रारूप में उनका सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 90 रन था। उनके और राहुल के बीच 100 रनों की साझेदारी हुई, जिसने 207 रनों के लक्ष्य का आसान कर दिया। यह लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की रेकॉर्ड जीत भी है। इससे पहले उसने श्रीलंका के खिलाफ 2009 में मोहाली में 207 रन का लक्ष्य हासिल किया था।


पुलिस प्रताड़ना से दुखी,दोबारा जहर खाया

सिवनी! मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में बेहद ही चौका देने वाली घटना सामने आई है! बता दें कि सिवनी की कान्हीवाड़ा पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर एक युवक ने दो बार जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया है!


पूरा मामला


कबीर वार्ड निवासी पीड़ित हीरा जंघेला ने कान्हीवाड़ा टीआई दिलीप पंचेश्वर पर आरोप लगाते हुए बताया है कि टीआई उसे बीते 2 सितंबर के दिन हुए एक एक्सीडेंट केस में फंसाने के लिए तीन महीने से परेशान कर रहा है! युवक ने यह भी बताया कि उसने पुलिस को अपने बेगुनाह होने के सारे सबूत तक दिखा दिए, पर पुलिस यकीन करने को तैयार नहीं है!


इतना ही नहीं पीड़ित युवक ने पुलिस द्वारा प्रताड़ित करने की शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों से भी की है, लेकिन मामले में अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है! लिहाजा, पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर युवक पहले भी एक बार जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास कर चुका है, तब परिवार ने उसे बचाया था!


अधिकारियों ने साधी चुप्पी


अब इस बार फिर से युवक ने फिर जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की है! फिलहाल, युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है! वहीं पुलिस अधिकारियों ने इस पूरे मामले में चुप्पी साध रखी है!


रेप पीड़िता के परिजनों से मिली 'प्रियंका'

उन्नाव! उत्तर प्रदेश के उन्नाव में सड़क पर जिंदा जलाए जाने के बाद गैंगरेप पीड़िता की दिल्ली के सफदरगंज में इलाज के दौरान मौत हो गई है! उसके पार्थिव शरीर को उन्नाव लाया जा रहा है! इस बीच लखनऊ के दो दिन के दौरे पर आईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अचानक अपना कार्यक्रम बदल दिया है! वह सीधे पीड़ित परिवार से मिलने उन्नाव पहुंच गई हैं! इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, प्रमोद तिवारी, अन्नू टंडन आदि भी मौजूद रहे! उधर मौके सैकड़ों की संख्या में लोग उमड़ पड़े हैं, जिन्हें नियंत्रित करने के लिए पुलिस प्रशासन कड़ी मशक्कत कर रहा है! मुलाकात के दौरान प्रियंका गांधी ने परिवार के सदस्य का हाथ पकड़ा और बात करने के लिए उनके साथ घर के अंदर चली गईं! इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर योगी सरकार पर सवाल उठाए हैं! उन्होंने कहा कि यूपी में रोज महिलाओं पर अत्याचार हो रहा है, सरकार क्या कर रही है? प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा है, "उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका FIR दर्ज करने से मना किया उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?"


संभल, मैनपुरी के बाद अब उन्नाव
प्रियंका गांधी ने कहा, 'सरकार का कर्तव्य होता है कि वह कानून-व्यवस्था को कायम रखे! उन्नाव में पिछले 11 महीनों में 90 बलात्कार हुए हैं! सरकार को फैसला करना पड़ेगा कि वह महिलाओं के पक्ष में है या फिर अपराधियों के पक्ष में? उन्होंने कहा कि उन्नाव में जो पिछला मामला हुआ था, उसमें सरकार ने आरोपी की तब तक सुरक्षा की जब तक उस महिला का परिवार खत्म नहीं हो गया! उन्नाव के बाद संभल, मैनपुरी में आपने देखा और अब फिर उन्नाव में गुरुवार को नया मामला हुआ है!"


'मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत'
हालांकि 90 प्रतिशत से भी ज्यादा जल चुकी यूपी की इस 'निर्भया' ने आखिरी वक्त तक भी हार नहीं मानी थी! गुरुवार रात 9 बजे तक वह होश में थी! जब तक होश में थी कहती रही- मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत! फिर नींद में चली गई, डॉक्टरों ने पूरी कोशिश की, वेंटिलेटर पर रखा लेकिन वो नींद से नहीं उठी, और फिर दुनिया छोड़ कर चली गई. न्याय की जंग लड़ते-लड़ते एक और निर्भया जिंदगी की जंग हार गई!


मासूम पर पेट्रोल डाल,जलाने की कोशिश

नई दिल्ली! दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल के बाहर उन्नाव दुष्कर्म केस के खिलाफ प्रदर्शन कर रही एक महिला ने अपनी छह साल की बेटी पर पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की।
हालांकि वक्त रहते ही उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया और बच्ची को इलाज के लिए इमरजेंसी वार्ड में भेज दिया।


गौरतलब है कि उन्नाव दुष्कर्म मामले की पीड़िता की मौत हो जाने के बाद इसके विरोध में एक महिला सफदरजंग अस्पताल के बाहर प्रदर्शन कर रही थी। इसी दौरान उसने अपनी छह साल की बेटी पर पेट्रोल डालकर उसे आग लगाने की कोशिश की लेकिन पुलिस की सजगता के चलते वह कामयाब न हो सकी। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया और बच्ची का इलाज चल रहा है।


पूर्व सीएम का 'विधानसभा' के बाहर धरना

लखनऊ! उन्नाव की रेप पीडि़ता की बीती रात दिल्ली में मौत के बाद प्रदेश का सियासी पारा एकाएक चढ़ गया है। मृत पीडि़ता के परिवारीजनों को इंसाफ दिलाने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जहां उन्नाव के लिए रवाना हो गई, वहीं सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानभवन के सामने धरने पर बैठ गए।
प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था, महिलाओं के प्रति अपराधों में वृद्धि पर आक्रोश जताने के लिए अखिलेश यादव 11 बजे विधानभवन के सामने पहुंचे और प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल व राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी के साथ धरने पर बैठ गए।
इससे पहले उन्होंने दो मिनट का मौन रखकर दुष्कर्म पीड़िता को श्रद्धांजलि दी। अखिलेश के धरने पर बैठने की सूचना मिलते ही कार्यकर्ताओं का विधानभवन पहुंचना शुरू हो गया। सपा नेताओं ने कहा कि भाजपा राज में महिलाएं, बच्चियां सुरक्षित नहीं है। सपा पीडि़ता के परिवार को न्याय दिलाने के लिए लड़ाई लड़ेगी।
इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा उन्नाव की घटना बेहद दुखद और निंदनीय है। उन्होंने कहा कि उन्नाव की बेटी जिंदा रहना चाहती थी, लेकिन डॉक्टरों की कोशिश के बाद भी वह नहीं बची। बीजेपी सरकार में यह पहली घटना नहीं है। बीजेपी सरकार में बेटियां न्याय मांग रही हैं।
अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार में बेटियों के खिलाफ अपराध बढ़ा है। अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी कानून व्यवस्था ठीक होने का दावा करती है। राज्य सरकार एक बेटी की जान नहीं बचा पाई।


बुलंदशहर में नाबालिग को बंधक बना 'गैंगरेप'

बुलंशहर! उत्तर प्रदेश में लगातार सामने आ रहे बलात्कार के मामलों ने राज्य की कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं! ताजा मामला बुलंदशहर का है जहां खेत में सब्जी तोड़ने गई? एक 14 साल की नाबालिग किशोरी को तीन युवकों ने खेत में बंधक बनाकर, उसके साथ गैंगरेप किया! आरोपियों ने गैंगरेप का वीडियो भी बनाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया!
आनन-फानन में पुलिस ने मामला दर्ज कर, जहां पीड़िता को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला महिला चिकित्सालय भेज दिया है! वहीं गैंगरेप के तीन नाबालिग आरोपियों और वीडियो वायरल करने वाले चौथे आरोपी को भी पकड़ लिया है! 
 इससे पहले शुक्रवार रात को उन्नाव में आग के हवाले की गई दुष्कर्म पीड़िता की शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई!
करीब 90 फीसदी झुलस चुकी पीड़िता को गुरुवार को एअरबस से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था! अस्पताल की ओर से बताया गया कि शुक्रवार (6 दिसंबर) को रात 11:40 बजे पीड़िता ने आखिरी सांस ली! 
पीड़िता को शुक्रवार रात को 11:10 बजे कार्डियक अरेस्ट आया, जिसके बाद डॉक्टरों की टीम उसे संभालने में जुट गए, लेकिन जान नहीं बचाई जा सकी! पीड़िता ने शुक्रवार सुबह में डॉक्टर से पूछा था कि क्या मैं बच जाऊंगी?' उसने अपने भाई से कहा था कि अगर उसकी मौत हो जाती है तो दोषियों को नहीं छोड़ना!


'हैवानो' को दौड़ा दौड़ा कर मारा जाए: पिता

नई दिल्ली! उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने शुक्रवार की रात 11.40 बजे सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता सफदरजंग अस्पताल में जिंदगी के लिए करीब 44 घंटे तक जूझी, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।पीड़िता की मौत के बाद उसके पिता का बयान आया है, उन्होंने एक टीवी चैनल से बात करते हुए प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए। पिता ने योगी सरकार से मांग की है कि बेटी के साथ हैवानियत करने वालों को दौड़ा-दौड़ाकर मारा जाए। 


पीड़िता के पिता ने मांग कि है कि जैसे हैदराबाद में पुलिस ने आरोपियों को मारा, वैसे ही हमारी बेटी से दरिंदगी करने वालों को दौड़ा-दौड़ाकर मौत के घाट उतारा जाना चाहिए, नहीं तो आरोपियों को फांसी पर लटका देना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि आरोपियों को सजा मिलने के बाद ही बेटी की आत्मा को शांति मिल पाएगी। 


उन्नाव पीड़िता की भावुक अपील, मैं मरना नहीं चाहती


मौते से पहले सफदरजंग अस्पताल में भर्ती 90 फीसदी जली उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने आरोपियों को सजा देने की गुहार लगाई। गले और श्वास नली में सूजन के कारण ठीक से आवाज नहीं निकल पाने के बावजूद उसने टूटी आवाज और इशारों में कहा, मैं बच तो जाऊंगी ना। मैं मरना नहीं चाहती। उसने पास खड़े भाई से यह भी कहा कि उसके साथ दरिंदगी करने वाला कोई भी बचना नहीं चाहिए। 
 ये है पूरा मामला


 उन्नाव में गुरुवार को दुष्कर्म पीड़िता पर आरोपियों ने पेट्रोल डालकर उसे जलाकर मारने की कोशिश की। इसमें पीड़िता 90 फीसदी जल गई थी। चश्मीदीदों के मुताबिक पीड़िता आग लगने के बाद करीब एक किमी तक मदद की गुहार लगाते हुए दौड़ती रही थी। यहां तक की उसने खुद ही 112 पर फोन कर पुलिस को घटना की जानकारी दी थी, जिसके बाद वहां पुलिस की टीम और एंबुलेंस पहुंची थी।


1901 के बाद सबसे गर्म महीना 'नवंबर'

नई दिल्ली। नवंबर 2019 का महीना 1901 के बाद से अब तक का तीसरा सबसे गर्म महीना है। छिटपुट बारिश और बादलों से ढके होने के कारण इस साल नवंबर का महीना औसत तापमान से अधिक रहा। इस साल नवंबर का तापमान औसत से 0.72 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। 1901 के बाद से अब तक सबसे गर्म नवंबर 2015 रहा जब औसत से तापमान 0.87 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। औसत तापमान में वृद्धि1901 से अभी तक दूसरा सबसे गर्म महीना 1979 का रहा था जब औसत तापमान 0.86 डिग्री औसत से अधिक रहा। भारतीय मौसम विभाग पुणे के क्लाइमेट रिसर्च डिविजन के अरविंद कुमार श्रीवास्तव ने कहा, अगर सिर्फ औसत तापमान की बात की जाए तो इस साल नवंबर का महीना 1901 के बाद का सबसे गर्म महीना रहा।
दिल्ली का न्यूनतम तापमान सामान्य 2.1 डिग्री अधिक
पिछले महीने का न्यूनतम तापमान सामान्य से 1.5 डिग्री अधिक रिकॉर्ड किया गया जबकि 1979 में यह 1.64 डिग्री अधिक था। दिल्ली में औसत न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.1 डिग्री अधिक रहा।
इस कारण गर्म रहा नवंबर
पुणे की सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और पर्यावरणविद अल्का गाडगिल ने तापमान में वृद्धि के कारण बताए। उन्होंने कहा, अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने लो प्रेशर सिस्टम और साइक्लोन का असर नवंबर के तापमान पर पड़ा। लो प्रेशर और साइक्लोन के कारण देश के कई हिस्सों में बारिश हुई और बादल छाए रहे। रात के वक्त में बादलों की मौजूदगी के कारण तापमान में कमी तो आती है, लेकिन वातावरण से उनकी मौजूदगी खत्म नहीं होती।


 


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


दिसंबर 08, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-124 (साल-01)
2. रविवार, दिसंबर 08, 2019
3. शक-1941, मार्गशीर्ष- शुक्लपक्ष, तिथि- द्वादशी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:50,सूर्यास्त 05:45
5. न्‍यूनतम तापमान -9 डी.सै.,अधिकतम-21+ डी.सै., कोहरा छाया रहने की संभावना ।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित


दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...