शुक्रवार, 11 सितंबर 2020

सेवा के 103 कार्यक्रम आयोजित हुए

भानु प्रताप उपाध्याय 


गौ सेवा भोजन सेवा का 103 वा कार्यक्रम पशु पक्षी जीव जंतु गौ माता सेवा समिति ने आयोजित किया


शामली। आज दिनाक 11 सितंबर को नगर की बड़ी गौशाला में गोवंशों गौमाताओ व मार्ग में मिलने वाले बेजुबान पशुओ को समिति ने भोजन सेवा की। समिति टीम भोजन वाहन गाड़ी द्वारा विभिन्न स्थानों पर जाकर हरा चारा आटा चोकर मिलाकर मूक जानवरो को सेवा कार्य किया गया।आज कार्यक्रम का 103 वा दिवस रहा। जमीन में चीटियों के भोजन हेतु गोला पेड़ के नीचे दबाया गया। पक्षियो को दाना खिलाया गया।यह सेवा कोरोना संकट काल से निरन्तर जारी है। आओ हम सब गौ सेवा व रक्षा अभियान में अपना योगदान अर्पित कर कर्तव्य पालन करे। समिति महामंत्री नन्द किशोर मित्तल गौ सेवा भोजन कार्यक्रम हेतु समर्पित भाव से सयोजन कर रहे है। कोरोना योध्या बनकर इनकी सेवा कोरोना महामारी में भी जारी हर दिन रही अब भी सेवा कार्य को बराबर देख रेख में कर रहे है। ट्रस्ट संस्थापक अमरीश संगल जी ने आज कार्यक्रम के दौरान अपने विचार रखे। आज के गौपालक समिति अध्यक्ष सतीश गोयल,सरक्षक अरुण जैन मैनेजर इंडियन बैंक,डॉ राजेन्द्र गोयल,सोनू सैनी, अर्पित मित्तल,ट्रस्ट अध्य्क्ष आशीष संगल,नत्थू सिंह गर्ग बुढ़ाना ,टेक चंद मित्तल ,नरोत्तम दास गर्ग,नीरज जैन गढ़ी पुख्ता,पराग संगल,उपस्थित रहे।       


भारत-चीन में 5 मुद्दों पर बनी सहमति

नई दिल्ली/ बीजिंग। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को मॉस्को में अपने चीनी समकक्ष वांग यी से लद्दाख में जारी गतिरोध पर चर्चा की। दोनों नेताओं ने एससीओ के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर आमने सामने बैठकर करीब 2 घंटे बातचीत की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच 5 मुद्दों पर सहमति बनी है। बैठक के बाद दोनों देशों की ओर से शुक्रवार सुबह जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों मंत्रियों ने भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के साथ-साथ भारत-चीन संबंधों पर हुए घटनाक्रमों पर एक स्पष्ट और रचनात्मक चर्चा की।




दोनों मंत्रियों ने सहमति व्यक्त की कि दोनों पक्षों को भारत-चीन संबंधों को विकसित करने को लेकर नेताओं की आम सहमति की श्रृंखला से मार्गदर्शन लेना चाहिए, जिसमें मतभेदों को विवाद नहीं बनने देने पर सहमति बनी थी। दोनों विदेश मंत्रियों ने इस बात पर सहमति जताई कि सीमावर्ती क्षेत्रों में मौजूदा स्थिति किसी भी पक्ष के हित में नहीं है। इसलिए वे सहमत हुए कि दोनों पक्षों के सीमा सैनिकों को अपना संवाद जारी रखना चाहिए, जल्दी से अग्रिम चौकियों पर तैनाती हटानी चाहिए, उचित दूरी बनाते हुए तनाव कम करना चाहिए।

 दोनों मंत्रियों ने सहमति व्यक्त की कि दोनों पक्ष चीन-भारत सीमा मामलों पर सभी मौजूदा समझौतों और प्रोटोकॉल का पालन करेंगे, सीमा क्षेत्रों में शांति और सामान्य स्थिति बनाए रखेंगे और ऐसी हरकतों से बचेंगे जिससे स्थिति और ज्यादा बिगड़े। दोनों पक्षों ने भारत-चीन सीमा प्रश्न पर विशेष प्रतिनिधि तंत्र के माध्यम से बातचीत और संचार जारी रखने के लिए भी सहमति व्यक्त की। उन्होंने इस संदर्भ में भी सहमति व्यक्त की कि भारत-चीन सीमा मामलों पर परामर्श और समन्वय के लिए बने कार्य तंत्र (डबल्यूएमसीसी) को भी अपनी बैठकें जारी रखनी चाहिए।

 

मंत्रियों ने इस बात पर सहमति जताई कि जैसे ही स्थिति ठीक हो, दोनों पक्षों को सीमा क्षेत्रों में शांति और सामान्य स्थिति बनाए रखने और बढ़ाने के लिए नए कॉन्फिडेंस बिल्डिंग उपायों पर तेजी से काम करते हुए उन्हें अमल में लाना चाहिए। माना जा रहा था कि दोनों नेताओं की इस बैठक का मुख्य उद्देश्य लगातार वार्ता प्रक्रिया को जारी रखना है ताकि सीमा विवाद कोई बड़ा रूप ना ले ले। 

 इससे पहले विदेश मंत्री जयशंकर ने रूस के विदेश मंत्री सरगेई लावरोव और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ त्रिपक्षीय वार्ता भी की थी। इसमें जारी संयुक्त वक्तव्य में आपसी सहयोग को बढ़ावा देने की बात कही गई थी जिससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति और स्थिरता कायम रह सके।           




सभी देशो को वैक्सीन देना चाहते हैंः रूस

मॉस्को। रूस की कोरोना वायरस को भले ही दुनियाभर में शक की निगाह से देखा जाता हो, वह हर देश को यह वैक्सीन देना चाहता है। रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) के CEO किरिल दिमित्रीव का कहना है कि बिना किसी भेदभाव के रूस हर देश को वैक्सीन देना चाहता है। उन्होंने कहा है कि दूसरे देशों के साथ पार्टनरशिप करके वैक्सीन बनाई जा सकती है। उन्होंने दूसरे देशों के साथ काम करने की रूस की इच्छा पर भी जोर दिया।
अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ कर रहे हैं काम
दिमित्रीव ने कहा है, 'रूस का रुख काफी खुला है, अंतरराष्ट्रीय कंपनियों से पार्टनरशिप और सहयोग के लिए। हम GAVI और CEPI के साथ-साथ WHO और अग्रणी अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ समझौते कर रहे हैं जो वैक्सीन बनाते हैं और रिसर्च-डिवेलपमेंट में काम करते हैं।' Sputnik V को रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने 11 अगस्त को रजिस्टर किया था। यह रजिस्टर होने वाली दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन है।             


चीन को लेकर ट्रंप ने बाइडेन पर बोला हमला

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने देश के राष्ट्रपति पद के चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी एवं डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन पर चीन के मामले में ‘‘कमजोर’’ रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनका परिवार सीधे चीनी सेना को देश ‘‘बेच रहा’’ है।


ट्रम्प ने गुरुवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘बाइडेन चीन को लेकर कमजोर हैं। इस बात का कल खुलासा हुआ कि एक ऐसी कंपनी ने एक बड़े चीनी सैन्य रक्षा ठेकेदार को मिशिगन की एक ऑटो पार्ट्स निर्माता कंपनी की बिक्री संभव बनाई, जिसका आंशिक मालिकाना हक जो बाइडेन के बेटे हंटर के पास है।           


ट्रंप की चेतावनी पर मंत्रालय ने दी प्रतिक्रिया

बीजिंग/ वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने टिकटॉक (TikTok) की स्वामित्व वाली कंपनी बाइटडांस (Bytedance) को साफ शब्दों में कह दिया है कि या तो 15 सितंबर से पहले किसी अमेरिकी कंपनी को अपना कारोबार बेच दो या फिर बोरिया-बिस्तर बांधकर चीन लौट जाओ। इस पर चीन की तरफ से प्रतिक्रिया आई है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन (Zhao Lijian) ने कहा है कि अमेरिका अपनी राष्ट्रीय शक्ति का उपयोग करके अन्य देशों की विशिष्ट कंपनियों पर अत्याचार करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा की अवधारणा का दुरुपयोग करने और अन्य देशों की विशिष्ट कंपनियों पर अत्याचार करने के लिए अपनी राष्ट्रीय शक्ति का उपयोग करने के अमेरिका के प्रयासों का चीन विरोध करता है।


ट्रंप की टिकटॉक को चेतावनी


इससे पहले ट्रंप ने अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने और इसे किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने की समय सीमा बढ़ाने से साफ इनकार कर दिया है। ट्रंप ने कहा है कि टिकटॉक डेडलाइन के भीतरअपना स्वामित्व किसी अमेरिकी कंपनी को सौंपे नहीं तो अमेरिका में यह ऐप पूरी तरह से बंद कर दी जाएगी।             


अमेरिका के जंगलों में लगी भयानक आग


एस्टाडा। अमेरिका के उत्तर पश्चिमी प्रशांत (पैसिफिक नॉर्थवेस्ट) के जंगलों में लगी भीषण आग तेज हवाओं के कारण फैल गई और ओरेगन स्थित सैकड़ों घर जलकर खाक हो गए। इस भयावह घटना में एक बच्चे समेत सात लोगों की मौत हो चुकी है। ओरेगन और कैलिफोर्निया में इसका असर ज्यादा है। ओरेगन में कार से सफर कर रहे दो लोग इसकी चपेट में आ गए। तेज हवा के कारण आग उन तक इतनी तेजी से पहुंची कि उन्हें बाहर निकलने का मौका तक नहीं मिल सका। 14 हजार फायर फाइटर्स आग बुझाने में जुटे हैं। उनकी सहायता के लिए 60 से ज्यादा हेलिकॉप्टर लगाए गए हैं। लेकिन, 40 से 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाएं इंतजामों को नाकाम कर रही हैं। इस बीच ओरेगन की गवर्नर केट ब्राउन ने गुरुवार को आगाह किया कि जंगलों में लगी आग के कारण राज्य के इतिहास में जानमाल का अभी तक का सबसे अधिक नुकसान हो सकता है। दमकल कर्मियों को आग पर काबू पाने में बहुत परेशानी हो रही है, क्योंकि वहां 80 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही आंधी के कारण आग ने भीषण रूप ले लिया है। ओरेगन के पश्चिम में कुछ इलाकों में लोगों को तत्काल घर खाली करने को कहा गया है। सभी सतर्क रहें। आने वाले कुछ दिन बेहद कठिन होने वाले हैं। जंगलों में लगी आग के कारण राज्य के इतिहास में जानमाल का अभी तक का सबसे अधिक नुकसान हो सकता है।






चीनी घुसपैठ से पीडित जापान ने मदद मांगी

चीन की टाइपिंग से परेशान जापान ने भारत से मदद मांगी।
 
नई दिल्ली / टोक्यो। कोरोना काल में चीन अपने जियादतर पड़ोसियों के खिलाफ विस् अवतारवाद की नीति अपनाए हुए हैं, जिसके बारे में दुनिया की उसपर कड़ी नजर है। ताइवान, फिलीपिंस, भारत और जापान पूरी तरह से ड्रैगन के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। ऐसे में चीन की तेजी से परेशान जापान ने भारत से मदद की गुहार लगाई है।
पूर्वी चीन सागर में चीनी युद्धपोतों की बढ़ती संख्या के साथ जापान ने भारत के साथ सहयोग बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है। जापान के रक्षा मंत्री तारो कोनो ने कहा कि चीन जापान की सुरक्षा के लिए एक बड़ा खतरा बन गया था। जापानी विदेश मंत्री का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। उन्होंने चीन की विस्तारवादी नीतियों का मुकाबला करने के लिए एक व्यापक क्षेत्रीय तंत्र स्थापित करने के लिए भारत की सिफारिश की है।
जापान ने कहा कि चीन अपने प्रभाव का विस्तार करने और रणनीतिक वर्चस्व स्थापित करने के लिए कोरोना महामारी का भी उपयोग कर रहा है। यह जापान और इस क्षेत्र के लिए एक बड़ा खतरा है। पूर्वी चीन सागर को लेकर चीन का सभी पड़ोसी देशों के साथ विवाद है। इसे दबाने के लिए चीनी नौसेना क्षेत्र में लगातार युद्धाभ्यास भी कर रहा है। जिसके कारण आसपास के देशों को सटकर समुद्र में जाने से रोका जा रहा है।
उन्होंने कहा कि चीन की क्षमता और इरादे दोनों गलत तरीके से हैं, जिससे चीन को आंतरिक नियमों और मानकों का उल्लंघन करने के लिए कुछ अतिरिक्त कीमत चुकानी पड़ रही है। उन्होंने यह भी कहा कि जापान और अमेरिका अकेले ऐसा नहीं कर सकते। जापानी प्रधानमंत्री के इस्तीफे के बाद कानो के पीएम बनने की उम्मीद है।                


चीनी फाइटर जेट ने फिर की घुसपैठ

चीनी फाइटर जेट ने की घुसपैठ, ताइवान ने फिर भगाया।      


बीजिंग। चीन के जंगी जहाज लगातार दो दिन ताइवान के एयरस्पेस में दाखिल हुए। ताइवान की एयरफोर्स ने उन्हें खदेड़कर बाहर किया।
चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने ताइवान को धमकाना नहीं छोड़ा है। लगातार दूसरे दिन ताइवान के एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन में गुरुवार तड़के चीन के फाइटर जेट जा पहुंचे। देश के रक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने यह तो नहीं बताया कि कितने चीनी एयरक्राफ्ट वहां पहुंचे थे। हालांकि, यह बताया गया कि एसयू-30 लड़ाकू विमान और वाई 8 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट ताइवान के दक्षिणी एडीआईजेड में दाखिल हो गए।
बाहर निकालकर लिया दम
इसके बाद ताइवान की वायुसेना ने ‘उपयुक्त और असरदार’ प्रतिक्रिया दी। जब तक ये जेट एडीआईजेड से बाहर नहीं हो गए, उन्हें मॉनिटर किया जाता रहा। इसी बीच मंत्रालय ने चीन के बार -बार जंगी जहाज भेजने की निंदा की है। ताइवान का कहना है कि इस हरकत से क्षेत्रीय शांति और स्थिरता पर प्रभावित होती है और ताइवान के लोगों के मन में चीन के प्रति नकारात्मक भावनाएं पैदा हो सकती हैं।
‘नहीं डरेंगे’
इससे पहले बुधवार को भी मंत्रालय ने बताया था एसयू-30 फाइटर और चेंगडू जे-10 के फाइटर दक्षिणपश्चिम एडीआईजेड में दाखिल हुए थे। ताइवान की सेना ने उन्हें तब भी बाहर का रास्ता दिखाया था। ताजा घटना के बाद ताइवान के विदेश मंत्रालय ने चीन की निंदा की है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अलर्ट रहने के लिए कहा है। ताइवान ने कहा है, ‘हम मजबूती से खड़े रहेंगे और डरेंगे नहीं।’
‘दूसरों के पीछे भी आ सकता है चीन’
चीन दो करोड़ 30 लाख की आबादी वाले ताइवान को अपना क्षेत्र मानता है और लगातार सैन्याभ्यास और हवाई गश्ती के साथ सैन्य शक्ति के दम पर इसे अपने क्षेत्र में मिलाने की बात कह चुका है। चीन ने अपने हजारों सैनिक भी सीमा पर इसके लिए तैनात कर रखे हैं। ताइवान ने यह भी कहा है कि चीन अभी ताइवान के पास सैन्य अभ्यास कर रहा है। आने वाले वक्त में दूसरे देशों को धमकाने के लिए वह ऐसा उनकी सीमा के पास भी कर सकता है।               


चोरी की घटना का 24 घंटे में निस्तारण

थाना कैराना पुलिस द्वारा दुकान में हुई चोरी की घटना का 24 घंटे में किया निस्तारण
भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। आपको बता दें कि कैराना पुलिस द्वारा 24 घंटे के अंदर मोहल्ला खेल कला में एक दुकान से हुई चोरी की घटना का कैराना पुलिस ने किया सफल अनावरण करते हुए कैराना पुलिस को एक अभियुक्त को दुकान से चोरी के माल सहित गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई है। गिरफ्तारी बरामदगी के संबंध में थाना कैराना पर आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जा रही है, आपको बता दें पीड़ित ने 09: 09: 2020 को दुकानदार आबिद पुत्र हमीद निवासी मोहल्ला खेल कला थाना कैराना जनपद शामली द्वारा थाना कैराना पर लिखित तहरीर सूचना दी कि मोहल्ला खेल कला में उसकी दुकान है। दिनांक08/09/092020 की रात्रि में अज्ञात चोर द्वारा दुकान का ताला तोड़कर सामान की चोरी कर ली तहरीर के आधार पर थाना कैराना पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया गया चोरी की घटना के शीघ्र अनावरण हेतु पुलिस अध्यक्ष शामली द्वारा थाना कैराना पुलिस को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए थे जिसका पालन करते हुए। कैराना घटना के 24 घंटे बाद ही घटना का खुलासा कर दिया इसी में पकड़े गए अभियुक्त ने अपना नाम नदीम पुत्र सलीम निवासी मोहल्ला छड़ियान थाना कैराना जनपद शामली बताया।                           


लाखों के मादक पदार्थ के साथ 3 गिरफ्तार

 


लाखो की गांजा व चरस के साथ तीन गिरफ्तार
भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। थाना आदर्शमण्डी पुलिस द्वारा मादक पदार्थ गांजा व चरस की तस्करी करते तीन अभियुक्त गिरफ्तार, कब्ज़े से 25 कि0ग्रा0 गांजा एवं 600 ग्राम चरस तथा तस्करी में प्रयुक्त कैंटर व हुंडई वर्ना कार बरामद।
शामली श्री विनीत के कुशल निर्देश में थाना आदर्शमण्डी पुलिस द्वारा एसटी तिराहा पर संदिग्ध वाहन/व्यक्ति तथा ओवरलोड वाहनों की चैकिंग के दौरान मुखबिर की सटीक सूचना पर एक कैंटर नंबर PB65 AW 2116 में लदी हुंडई वर्ना कार न0- DL 4CND 3626 में म्यूजिक सिस्टम के अन्दर व पीछे बम्फर के अन्दर बनी खाली जगह में छिपाकर मादक पदार्थ गांजा व चरस की तस्करी करते हुए तीन अभियुक्तों सलमान पुत्र फैयाज निवासी बसी चुंधिहारी थाना झिंझाना जनपद शामली।
संदीप पुत्र सप्पल निवासी शामली-शामला थाना झिंझाना जनपद शामली।
मनोज पुत्र मांगेलाल निवासी बापू धाम कालोनी थाना सैक्टर-26 , चंडीगढ को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है। गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से 25 किलोग्राम अवैध गांजा व 600 ग्राम चरस बरामद हुई तथा एक अभियुक्त नफीस पुत्र लईक निवासी टांडा थाना छपरौली जनपद बागपत मौके से फरार हो गया 
बरामदगी के संबंध में थाना आदर्शमण्डी पुलिस द्वारा सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। 
 गिरफ्तार अभियुक्तगण से की गई पूछताछ में उन्होंने बताया है कि अभियुक्तगण बरामद गांजा व चरस को विशाखापट्टनम से लेकर हरियाणा में सप्लाई करने जा रहे थे । तीनों गिरफ्तार अभियुक्तों से गहन और विस्तृत पूछताछ की जा रही है तथा इस पूरे ड्रग तस्करी नेटवर्क के संबंध में अहम जानकारियां एकत्रित की जा रही है।             


एससी ने केंद्र से निर्णय लेने को कहा

लोन मोरेटोरियम 28 सितंबर तक बढ़ा, एससी ने केंद्र से दो हफ्ते में स्पष्ट निर्णय लेने को कहा।


नई दिल्ली। लॉकडाउन में आरबीआई की तरफ से दिए गए लोन मोरेटोरियम की सुविधा अगस्त के अंत के साथ ही खत्म हो गई है।अब लोन मोरेटोरियम की सुविधा और कुछ माह के लिए मिलेगी या नहीं इसके लिए 28 सितंबर तक का इंतजार करना होगा। इस मामले को लेकर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई।वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस अशोक भूषण, आर सुभाष रेड्डी और एम आर शाह की तीन जजों की बेंच ने सुनवाई की।
कोर्ट ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की तरफ से दिए गए लोन मोरेटोरियम मामले को लेकर केंद्र सरकार को ठोस फैसला लेने के लिए 2 हफ्ते का समय दिया है। जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली तीन जजों की बेंच ने कहा कि मोरेटोरियम पर फैसला लेने के लिए केंद्र सरकार और आरबीआई को यह अंतिम मौका दिया जा रहा है। साथ ही कोर्ट ने लोन मोरेटोरियम को 28 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया है। बेंच ने कहा कि इस अवधि तक बैंक किसी भी लोन की किस्त न चुकाने पर एनपीए घोषित न करें।इस मामले पर अगली सुनवाई 28 सितंबर को की जाएगी। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने रिजर्व बैंक से कंपाउंड इंटरेस्ट यानि ब्याज पर ब्याज वसूलने और मोरेटोरियमे के दौरान पीनल इंटरेस्ट लगाने पर भी जवाब मांगा है। सुप्रीम कोर्ट में अलग अलग सेक्टर्स की ओर से दलीलें रखी जा चुकी हैं। सरकार को आज अपना जवाब कोर्ट में दाखिल करना था लेकिन कुछ मोहलत की मांग की गई।
एएनआई के मुताबिक, याचिकाकर्ताओं के वकील राजीव दत्ता ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लाखों लोग अस्पताल में हैं। लाखों लोगों के आय का साधन खत्म हो गया है। केंद्र सरकार को अपना रुख साफ करना होगा कि वह ईएमआई के भुगतान पर छूट दे रही है या नहीं।उन्होंने कहा कि लोन की रिस्ट्रक्चरिंग से फायदा क्या हुआ।अगर ये करना ही था तो पहले क्यों नहीं किया गया।
राजीव दत्ता ने कहा कि लोन पर चक्रवृद्धि ब्याज अभी भी जारी है। पिछली सुनवाई में याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया था कि इस फैसले से लोन लेने वालों पर दोहरी मार पड़ रही है क्योंकि उनसे चक्रवृद्धि ब्याज इंट्रस्ट लिया जा रहा है।ब्याज पर ब्याज वसूलने के लिए बैंक इसे डिफॉल्ट मान रहे हैं। यह हमारी ओर से डिफ़ॉल्ट नहीं है.सभी सेक्टर बैठ गए हैं लेकिन आरबीआई चाहता है कि बैंक कोरोना के दौरान मुनाफा कमाए।
ठोस योजना के साथ कोर्ट आएं
सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले को बार-बार टाला जा रहा है।अब इस मामले को सिर्फ एक बार टाला जा रहा है वो भी फाइनल सुनवाई के लिए। इस दौरान सब अपना जवाब दाखिल करें और मामले में ठोस योजना के साथ कोर्ट आएं. सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा, उच्चतम स्तर पर विचार हो रहा है। राहत के लिए बैंकों और अन्य हितधारकों के परामर्श में दो या तीन दौर की बैठक हो चुकी है और चिंताओं की जांच की जा रही है।केंद्र ने दो हफ्ते का समय मांगा था इस पर कोर्ट ने पूछा था कि दो हफ्ते में क्या होने वाला है? आपको विभिन्न क्षेत्रों के लिए कुछ ठोस करना होगा।
बता दें कि मोरेटोरियम सुविधा खत्‍म होने के बाद लोगों के पास बैंकों से ईएमआई चुकाने के लिए मैसेज, फोन कॉल्‍स और ई-मेल्‍स आने शुरू हो गए हैं। इससे लोगों को अपने बैंक लोन अकाउंट को नॉन परफॉर्मिंग एसेट घोषित किए जाने का डर सता रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में ग्राहकों को अंतरिम राहत दी है।


लक्ष्य से बेडमिंटन जगत में फिर जमाई धाक

सीएनई रिपोर्टर


अल्मोड़ा। बै​डमिंटन जगत में पिछले पांच सालों से अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में शानदार जीत दर्ज करते आ रहे अल्मोड़ा के लक्ष्य सेन ने एक बार फिर सनसनी फैला दी है। अब लक्ष्य डेनमार्क में प्रतिष्ठित थॉमस एवं उबेर कप टूर्नामेंट में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। भारतीय टीम में उनका चयन हो गया है। इतना ही नहीं डेनमार्क ओपन व डेनमार्क मास्टर्स टूर्नामेंटों के लिए भी भारतीय टीम में उनका चयन हुआ है।
अल्मोड़ा के लक्ष्य सेन ने बै​डमिंटन के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हासिल कर खुद को स्थापित किया है। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में एक के बाद एक जीत देश को दिलाते हुए देश—प्रदेश व गृह जनपद अल्मोड़ा को नई पहचान दी है। अब आगामी अक्टूबर माह में 3 से 11 तारीख तक आयोजित होने वाली प्रतिष्ठित थॉमस एवं उबेर कप के लिए अल्मोड़ा निवासी लक्ष्य सेन का भारतीय टीम में चयन हुआ है। लक्ष्य सेन एकल वर्ग की जिम्मेदारी श्रीकांत व पारुपल्ली कश्यप के साथ निभाएंगे। यह जानकारी देते हुए उत्तरांचल स्टेट बैडमिंटन संघ के सचिव बीएस मनकोटी ने बताया कि लक्ष्य का चयन सुपर 750 डेनमार्क ओपन व सुपर 750 डेनमार्क मास्टर्स के लिए भी हुआ है। जो डेनमार्क में ही थॉमस एवं उबेर कप के बाद क्रमश: 13 से 18 अक्तूबर तथा 20 से 25 अक्तूबर के मध्य आयोजित होंगे। गौरतलब है कि मार्च 2020 के बाद कोविड19 के कारण विश्व में कोई भी टूर्नामेंट आयोजित नहीं हो सके। कोविड 19 से पहले लक्ष्य ने अपना आखिरी टूर्नामेंट आल इंग्लैंड खेला। लम्बे अंतराल के बाद प्रस्तावित टूर्नामेंट खेलने के लिए लक्ष्य काफी उत्साहित हैं। वर्तमान में वह प्रकाश पादुकोण अकादमी में कठिन ट्रेनिंंग ले रहे हैं।             


सोने में ₹500 की गिरावट दर्ज हुई


नई दिल्ली। वायदा बाजार में आज सोने की कीमतों में गिरावट देखी जा रही है। आज सुबह सोना 51,431 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर खुला, जो गुरुवार को 51,774 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ था। यानी आज सोना 343 रुपये प्रति 110 ग्राम की गिरावट के साथ खुला। ये गिरावट बढ़कर 493 अंकों तक जा पहुंची। शुरुआती कारोबार के दौरान ही सोने ने 51,281 का न्यूनतम स्तर छू लिया, जबकि सोना अपने ओपनिंग प्राइस से ऊपर नहीं जा सका। यानी कि सोने में गिरावट लगातार जारी रही।





गुरुवार को वायदा बाजार में गिरा सोना


कमजोर हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा बाजार में बृहस्पतिवार को सोना 0.07 प्रतिशत की गिरावट के साथ 51,364 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर महीने में डिलीवरी सोना अनुबंध की कीमत 38 रुपये यानी 0.07 प्रतिशत की गिरावट के साथ 51,364 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इसमें 12,398 लॉट के लिये कारोबार हुआ। अंतरराष्ट्रीय बाजार, न्यूयॉर्क में सोना 0.16 प्रतिशत की नरमी के साथ 1,951.80 डॉलर प्रति औंस चल रहा था।



महीने भर में 5500 रुपये सस्ता हुआ सोना


पिछले महीने 7 अगस्त को सोने ने वायदा बाजार में अपना उच्चतम स्तर छुआ था और प्रति 10 ग्राम की कीमत 56,200 रुपये हो गई थी। तब से लेकर अब तक यानी महीने भर में सोने की कीमतों में करीब 5500 रुपये की गिरावट आई है। यानी कि महीने भर में सोना 10 फीसदी तक गिर गया। यानी सोने की कीमतों में इतनी तगड़ी गिरावट आई है कि ये वक्त सोना खरीदने का सुनहरा मौका है।




5000 रुपये से अधिक गिरावट के बावजूद तगड़ा डिस्काउंट


इतनी तगड़ी गिरावट के बावजूद डीलर्स ने डिस्काउंट देने बंद नहीं किए हैं। अगस्त महीने में डीलर्स ने ग्राहकों को खूब डिस्काउंट दिए हैं। यहां तक कि आखिरी कारोबारी हफ्ते में ही ग्राहकों को 40 डॉलर प्रति औंस का डिस्काउंट मिला है। सोने की कीमतों में भारी उतार-चढ़ाव की एक ये भी वजह हो सकती है। बता दें कि भारत में सोने की कीमतों में 12.5 फीसदी आयात शुल्क और 3 फीसदी जीएसटी जुड़ा होता है।



इन सबके बावजूद इस साल 30% चढ़ा सोना


आखिरी तीन कारोबारी दिनों में सोने की कीमतें 800 रुपये तक गिरीं और महीने भर में इसमें 5500 रुपये तक की गिरावट दर्ज की गई, लेकिन बावजूद इसके सोने में निवेश करने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। सोने की कीमतें इतनी गिरावट के बावजूद इस साल 30 फीसदी चढ़ी हैं। यानी सोने की कीमतें भले ही इन दिनों गिर रही हैं, लेकिन पिछले साल के मुकाबले में इसमें ग्रोथ हुई है।           




नेता समेत 200 लोगों पर मुकदमा दर्ज

पटना। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग ने गाइडलाइंस जारी की हुई है। लेकिन कुछ नेता चुनाव आयोग के इन दिशा-निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए सरेआम दिख रहा हे। ऐसा ही एक मामला बिहार के वैशाली से आया है, जहां पर जनप्रतिनिधि जनसंपर्क अभियान में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता मुकेश राहान अपने संसदीय क्षेत्र में सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ एक रोड शो में पहुंचे।



मुकेश राहान के यहां पहुंचने पर हजारों की भीड़ जमा हो गई और सड़क जाम हो गई। कोरोना अवधि के दौरान जैसे ही पुलिस को रोड शो की सूचना मिली, पुलिस ने कार्रवाई की और राजद नेता सहित 200 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। मामला वैशाली के महनार विधानसभा क्षेत्र का है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार, राजद के युवा नेता डॉक्‍टर मुकेश राहान अपने समर्थकों के साथ विधानसभा क्षेत्र महनार गए थे। जनसंपर्क और रोड शो के दौरान सैकड़ों बाइक और चार पहिया वाहनों की लंबी कतार थी। इसके चलते महनार में बहुत लंबा जाम लग गया। प्रशासन ने महामारी विज्ञान अधिनियम के आधार पर महामारी विज्ञान अधिनियम के तहत युवा नेता डॉक्‍टर मुकेश राहान सहित 200 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।



जब महनार एसडीपीओ से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। हालांकि, अन्य मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार, राजद नेता मुकेश राहान सहित 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ बिना अनुमति के रोड शो करने और कोरोना नियमों का उल्लंघन करने के लिए प्राथमिकी दर्ज की गई है।               


'पेट्रोल-डीजल' की मांग में बड़ी गिरावट

नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है। लेकिन बहुत दिन बाद, कल तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में कमी की थी। अगर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल के दाम की बात करें तो आज 81.99 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 73.05 रुपये प्रति लीटर है। कल पेट्रोल की कीमत में 09 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 11 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई थी। आपको बता दें कि इस महीने लगातार कई बार डीजल के दाम में कमी गई है।


आपको बता दें कि रोजाना सुबह 6 बजे से ही नई दरें लागू हो जाती है। पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है।               


राज्य के एक-दो स्थानों पर हुई बारिश

रायपुर। राजधानी रायपुर सहित आसपास के इलाकों में आगामी चौबीस घंटों के दौरान गरज-चमक के साथ छींटे पडऩे अथवा हल्की से मध्यम वर्षा संभावित है। वहीं राज्य में एक-दो स्थानों पर तेज मेघ गर्जना के साथ आकाशीय बिजली गिरने तथा भारी वर्षा के आसार बने हुए हैं।
मौसम विभाग के नियमित रिपोर्ट की माने तो इस समय मानसूनी द्रोणिका अमृतसर, रोहतक, टिकमगढ़, सीधी, जमशेदपुर, बालासोर, बांकूरा, दीर्घा होते हुए पूर्वी दिशा में बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। वहीं कल पूर्वी उत्तरप्रदेश और विदर्भ के ऊपर से गुजर रही द्रोणिका आज बिहार से होकर झारखंड को पार करते हुए दक्षिणी छत्तीसगढ़ तक ऊपरी हवा में 1.5 किलोमीटर की ऊंचाई से गुजर रही है। मौसम विभाग ने आगामी दो दिनों के भीतर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने की उम्मीद जताई है जो कि पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी से लेकर आंध्रप्रदेश् के तटीय इलाके के ऊपर सक्रिय हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले चौबीस घंटों के दौरान राजधानी रायपुर सहित आसपास के इलाकों में तेज गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे अथवा हल्की से मध्यम वर्षा के आसार बने हुए हैं। वहीं राज्य में एक-दो स्थानों पर तेज मेघ-गर्जना के साथ भारी वर्षा होने अथवा आकाशीय बिजली गिरने की संभावना बनी हुई है।               


चेतावनीः अनजान ऐप्स इंस्टॉल ना करें


नई दिल्ली। अगर आप अपने स्मार्टफोन पर कोई नया ई-वॉलेट या मोबाइल पेमेंटट्स ऐप इंस्टॉल करने जा रहे हैं तो सतर्क रहें। ध्यान रखें कि हमेशा ऑफिशल गूगल प्ले या iOS ऐप स्टोर से ही ऐप्स को डाउनलोड करें। गृह मंत्रालय की साइबर सेफ्टी और साइबरसिक्यॉरिटी अवेयरनेस डिविजन यूजर्स को इस बारे में यूजर्स को चेतावनी दे रही है। सरकार का कहना है कि ईमेल, एसएमएस या सोशल मीडिया के जरिए मिलने वाले किसी भी लिंक से कोई पेमेंट ऐप इंस्टॉल ना करें।




सरकार के CyberDost ट्विटर हैंडटल के ट्वीट के मुताबिक, ‘अपने स्मार्टफोन पर हमेशा ऐप स्टोर से वेरिफाई करके ही ऑथेंटिक ई-वॉलिट ऐप्स इंस्टॉल करें। ईमेल, एसएमएस या सोशल मीडिया पर शेयर किए गए किसी लिंक के जरिए ई-वॉलिट ऐप्स को इंस्टॉल ना करें।’


साइबरदोस्त ट्विटर हैंडल से लोगों को यह भी चेतावनी दी गई है कि सस्पीशस ईमेल्स में आने वाले किसी लिंक पर क्लिक ना करें। चाहें वे देखने में ऑथेंटिक लगें, ऐसा करने से आप मैलिशस वेबसाइट्स पर रीडायरेक्ट हो सकते हैं। फिशिंग स्कैम में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और फ्रॉड इंटरनेट यूजर्स को नए-नए तरीके से धोखाधड़ी का शिकार बना रहे हैं। ऑनलाइन साइबर क्रिमिनल्स के लिए फिशिंग, धोखाधड़ी का सबसे पॉप्युलर टूल है। इसके जरिए पहचान उजागर नहीं होती और यह आसान है व खर्चा भी कम होता है। इसके अलावा टेक्निकली भी यह कोई स्कैम नहीं है। इसके जरिए फ्रॉड यूजर बिहेवियर ट्रैक करते हैं और उनसे चालाकी से निजी जानकारी निकलवा लेते हैं।










निजी लैब में 1600 रुपयो में होगा टेस्ट

बृजेश केसरवानी


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना से जूझ रहे लोगों को बड़ी राहत दी है। सरकार ने प्राइवेट लैब में कोरोना टेस्ट के लिए लगने वाले शुल्क को कम कर दिया है। अब निजी लैब केवल 1600 रुपये ही वसूल सकेंगे, जबकि पहले यह राशि 2500 रुपये थी। सरकार ने गुरूवार को जारी आदेश में यह भी स्पष्ट किया है कि यदि प्राइवेट लैब निर्धारित शुल्क से ज्यादा वसूलते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि यदि निजी लैब द्वारा 1600 रुपये से ज्यादा शुल्क वसूलने की शिकायत मिलती है, तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।


मुख्यमंत्री ने की समीक्षा बैठक
वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनलॉक की समीक्षा को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को पॉजिटिव मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दिया जाये। CM ने कहा कि परीक्षण प्रयोगशालाओं को सभी COVID-19 मानदंडों का पालन करते हुए पूरी क्षमता के साथ काम करना चाहिए। राज्य में 1.49 लाख से अधिक COVID टेस्ट का संज्ञान लेते हुए योगी ने RTPCR और रैपिड एंटीजन टेस्ट में तेजी लाने को भी कहा।

इन जिलों पर ज्यादा ध्यान
सीएम ने लखनऊ, कानपुर नगर, गोरखपुर और प्रयागराज जिलों पर अतिरिक्त ध्यान देने और इन जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए कार्य योजना तैयार करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने प्रयागराज में COVID बेड बढ़ाने के भी आदेश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज में कुंभ के दौरान स्थापित इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (ICCC) को अब COVID कमांड और कंट्रोल सेंटर के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए।


मरीजों को परेशानी न हो
सावधानी और सुरक्षा पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि COVID -19 के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए निरंतर अभियान चलाये जाने चाहिए। उन्होंने यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि गंभीर रोगियों को अस्पतालों में भर्ती होने में कोई समस्या नहीं आनी चाहिए।


आबकारी निरीक्षक ने बरामद की अवैध शराब

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
जिलाधिकारी हापुड अदिति सिंह द्वारा दिये गये आदेशों के क्रम में जिला आबकारी


हापुड़। अधिकारी महेंद्र नाथ सिंह के  निर्देशन में विशेष अभियान के अन्तर्गत बीति शाम को आबकारी निरीक्षक सीमा कुमारी व समस्त स्टाफ तथा गढमुकतेशवर पुलिस टीम के सब इंस्पेक्टर महेंद्र पाल शर्मा के द्वारा शाहपुर चौधरी, अबदुलापुर,  नया गाँव,रेत वाली मडैया ,भगवंतपुर  आदि गाँवो में दबिश दी गई ।दबिश के दौरान नया गाँव  कृष्ण पुत्र जयसिंह से लगभग 40 लीटर अवैध कच्ची शराब बरामद कर आबकारी  अधिनियम की धारा में  थाना गढमुकतेशवर में  मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। मदिरा की रोकथाम हेतु इस प्रकार का अभियान निरंतर जारी रहेगा।                 


प्रदूषण से परेशान है लोग, शिकायत की

अतुल त्यागी, प्रवीण कुमार


जनपद में जोरों से चल रहा है अवैध मावे का कारोबार प्रदूषण से परेशान हैं लोग मुख्यमंत्री से की शिकायत।


हापुड़। मामला जनपद के थाना धौलाना क्षेत्र के गांव सपनावत का है। जहां कुछ लोगों ने अवैध भटिया लगाकर मावे का कार्य कर रहे हैं। मावे की भाटियों से निकलने वाला धुआं लोगों को नुकसान पहुंचा रहा है। लोगों ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल एप पर की है। वहीं लोगों का कहना है। मुख्यमंत्री पोर्टल एप पर शिकायत करने के बाद जांच के लिए आई पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है अब देखना यह है। अधिकारी अवैध मावा और मिठाई बनाने वाले लोगों के खिलाफ़ जांच कर क्या कर करते हैं।


 


यूएन ने पाक को एक बार फिर लताड़ा

यूएन में भारत ने एक बार फिर पाकिस्‍तान को लगाई लताड़।
वाशिंगटन डीसी। बार-बार बेइज्‍जत होने के बाद भी पाकिस्‍तान बाज आने का नाम नहीं लेता। भारत ने एक बार फिर पाकिस्तान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में अयोध्या राम मंदिर निर्माण मुद्दा उठाने पर उसको लताड़ लगाई है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्‍तान पर हिंसा की संस्कृति फैलाने और अल्पसंख्यकों के अधिकारों को दबाने का आरोप लगाया।
भारत के संयुक्त राष्ट्र मिशन की एक काउंसलर पौलोमी त्रिपाठी ने कहा, “पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल द्वारा ‘शांति की संस्कृति’ की बात करना कुछ और नहीं बल्कि अल्पसंख्यकों के प्रति अपने खुद के शर्मनाक रिकॉर्ड से ध्यान हटाने के लिए हथकंडा है। उसने अपने घर में और अपनी सीमाओं पर ‘हिंसा की संस्कृति’ को जारी रखा है।
उन्होंने पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम की अयोध्या और कश्मीर के बारे में की गई टिप्पणी के जवाब में कहा, “भारत के खिलाफ बेतुके आरोप लगाने से पहले, जहां सभी धर्मों के लोगों के समान अधिकारों की गारंटी संविधान द्वारा दी गई है, पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल को अपनी प्रणाली और अल्पसंख्यकों की रक्षा के रिकॉर्ड को देखना चाहिए।”
पौलोमी त्रिपाठी ने अकरम पर शांति की संस्कृति पर असेंबली के उच्च-स्तरीय फोरम का ‘भारत के खिलाफ नफरत फैलाने वाले मंच’ के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान के खराब मानवाधिकारों के रिकॉर्ड और धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों के भेदभावपूर्ण व्यवहार अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए लगातार चिंता का कारण है।
पौलोमी ने कहा कि पाकिस्तान में ईश-निंदा कानूनों का इस्तेमाल धार्मिक अल्पसंख्यकों जैसे कि हिंदू, ईसाई और सिखों के खिलाफ किया जाता है, उनके मानवाधिकारों और सम्मान का उल्लंघन किया जाता है। महिलाओं और लड़कियों को अगवा करके दुष्कर्म किया जाता है, जबरन धर्मांतरित किया जाता है और उनके साथ वहशीपन करने वालों के साथ ही उनकी शादी करा दी जाती है।
अकरम ने कहा कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद को ढहाना और वहां एक हिंदू मंदिर का निर्माण ‘अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों का गंभीर उल्लंघन है।’ उन्होंने जोर देकर कहा कि ‘भाजपा-आरएसएस के चरमपंथियों’ ने सैकड़ों अन्य मस्जिदों और ऐतिहासिक इस्लामिक धार्मिक स्थल को नष्ट करने की धमकी दी है।
जिसका जवाब देते हुए पौलोमी त्रिपाठी ने कहा कि दुनिया ने (कोविड-19) महामारी के दौरान हिंसा, और भेदभाव में वृद्धि देखी है। हम भारत में धर्मों, संस्कृतियों और जनजातीय समूहों के बीच संवाद को बढ़ावा देने के महत्व को समझते हैं। उन्होंने कहा कि इसी भावना से हम दुनिया भर में समझ की भावना के साथ सेतु का निर्माण (कोविड -19) संकट से उबरने और बेहतर दुनिया की नींव तैयार करने के सभी प्रयासों का समर्थन करने के लिए तैयार हैं।            


4 दिन बाद नाले से आतंकी का शव निकाला

कश्मीर में चार दिन बाद नाले से निकाले गए आतंकवादी का शव था।


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच चार दिन पहले हुई मुठभेड़ में घायल होने के बाद नाले में कूदे आतंकवादी का शव निकाल लिया गया है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने शुक्रवार को बताया कि 7 सितंबर की सुबह बडगाम जिले के कावसा खलीसा में घेराबंदी और तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई है।
कालिया ने बताया कि मुठभेड़ में घायल एक आतंकवादी पास के सुखनाग नाले में कूद गया था। नाले में आतंकवादी की तलाश के लिए व्यापक अभियान चला गया है और इसमें निवेश गोताखारों को भी शामिल किया गया। उन्होंने बताया कि कई दिनों की खोज के बाद शुक्रवार सुबह आतंकवादी का शव बरामद किया गया। अभियान समाप्त कर दिया गया है।               


'आपदा में अवसर' पत्नी ने रंगे हाथ पकड़ा

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। मुरादाबाद में तैनात इस अधिकारी ने प्रधानमंत्री मोदी के “आपदा में अवसर” वाले नारे को गंभीरता से लेकर उसपर अमल भी शुरू कर दिया।  यह अधिकारी पिछले कई दिनों से अपने घर नोएडा स्थित नहीं जा रहा था। कारण पूछने पर अधिकारी ने अपनी पत्नी को बताया था कि उसे कोरोना हो गया है और वो होम आइसोलेशन में हैं। पत्नी लगातार उनसे फोन पर बात करती रही। इसी बीच किसी ने पत्नी को फोन कर बताया कि अधिकारी किसी दूसरी महिला के साथ गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन में अपने दूसरे मकान में रह रहा है। इसके बाद पत्नी राजनगर पहुंच गई और पति को महिला के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया। आरोप है कि पकड़े जाने पर अधिकारी ने मौके पर ही अपनी पत्नी के साथ मारपीट की है। पत्नी ने इस बारे में डीजीपी और राज्यपाल को ट्वीट कर शिकायत की है।


अधिकारी की पत्नी ने आरोप लगाया है कि अधिकारी इन दिनों मुरादाबाद में तैनात हैं और खुद को कोरोना पाजिटिव बताकर नोएडा स्थित अपने आवास पर नहीं जा रहे थे। जबकि उनके पत्नी बच्चे नोएडा में रह रहे हैं। पीड़िता ने बताया कि वह मूल रूप से गुजरात की रहने वाली है। 28 साल पहले उसकी शादी मुजफ्फरनगर के मूल निवासी एक अधिकारी के साथ हुई थी। महिला के पिता सेवानिवृत्त आईएएस और भाई पीसीएस हैं। उनकी एक 25 वर्षीय बेटी और एक 20 वर्षीय बेटा है। बेटी विदेश में पढ़ रही है। अधिकारी का राजनगर और नोएडा के सेक्टर- 52 में मकान है।


पत्नी ने बताया कि वह अपने बच्चों के साथ नोएडा में रह रही है। पति खुद को कोरोना पॉजिटिव बताकर नोएडा स्थित आवास पर नहीं जा रहे थे। पति ने राजनगर अपने मकान पर एक युवती को रखा हुआ था। पड़ोसियों ने उनसे युवती के घर पर रहने की सूचना दी थी। बताया था कि उनके पति हफ्ते में दो दिन सरकारी गाड़ी से मुरादाबाद से राजनगर आवास पर आते थे। इसी क्रम में वह सोमवार की रात नौ बजे अपनी सरकारी गाड़ी से राजनगर पहुंचे। सूचना मिलने पर वह भी नोएडा से गाजियाबाद आ गई और घर में घुसी तो अंदर उसके पति आपत्तिजनक स्थिति में एक महिला के साथ मौजूद थे। उन्होंने विरोध किया तो उसके पति ने मारपीट की। उन्होंने युवती को खदेड़ कर घर में ताला लगा दिया। हालांकि उक्त अधिकारी ने पत्नी द्वारा लगाए गए आरोपों को खारिज किया है।


पीड़ित पत्नी ने लगाया आय से अधिक संपत्ति का आरोप
पीड़ित पत्नी ने बताया कि उनके पति ने दो मकान अवैध संपत्ति से खरीदे हैं। इसके अलावा उन्होंने कई स्थानों पर संपत्ति खरीद रखी है। वह अपने साथ सरकारी चपरासी को भी लेकर चलते हैं। उनके सास-सासुर की मौत हो चुकी है।             


गाजियाबाद डीएम ने छात्रों का सम्मान किया

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। केंद्र सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आज (शुक्रवार को) कलेक्ट्रेट सभागार में यूपी बोर्ड की हाईस्कूल परीक्षा में जिले की टॉप टेन व बारहवीं की चार मेधावी छात्राओं को सम्मानित किया गया।  जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय व सीडीओ अस्मिता लाल ने मेधावी छात्राओं को सम्मानित किया। सम्मानित छात्राओं को पांच हजार का चेक, स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र दिया गया। समारोह में छात्रा मंताशा, आंचल, स्नेह गर्ग, आंशिका, आयुषा, हिमांशी शर्मा, रिया, तराशा, अलिना, रितु कुशवाहा, फलक निशा, भारती शर्मा, शालिनी सिंह व अंशिका शर्मा को सम्मानित किया गया। चौदह में से एक छात्रा तराशा अनुपस्थित रहीं।


जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने इस मौके पर छात्राओं से कहा कि किसी भी परीक्षा में सफलता प्राप्त करना मेहनत का नतीजा है, लेकिन उस सफलता को भविष्य में बनाए रखना सभी मेधावी छात्राओं के लिए बड़ी चुनौती है। उन्होंने मेधावी छात्राओं से कहा कि आपको सम्मानित करने से समाज में जो संदेश जाता है वह यह है कि आप एक रोल मॉडल हैं, आपको देखकर दूसरे बच्चे भी इस सम्मान को प्राप्त करना चाहेंगे। ऐसे में सम्मानित छात्राएं इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आगे पढ़ाई में और भी अच्छे नंबर लाएं।            


तालिबानी हमले में 16 सैनिकों की मौत

तालिबान के हमले में 16 अफगान सैनिकों की मौत


काबुल। अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत में तालिबान के अफगान सुरक्षा बलों की चौकियों पर किए गए हमले में 16 सैनिक मारे गए और कई अन्य घायल हो गए हैं। स्थानीय सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने नांगरहार प्रांत के खोगयानी जिले के गंडुमक क्षेत्र में अफगानिस्तान की सेना और पुलिस की चौकियों को निशाना बनाकर हमले किए।
सूत्रों के अनुसार हमले में तीन सुरक्षा चौकियां नष्ट हो गई। यह हमला अफगानिस्तान और तालिबान द्वारा अपने कैदियों की रिहाई के लिए शनिवार को कतर में शुरू होने वाली बहुप्रतीक्षित अंतर-अफगान शांति वार्ता से पहले हुआ है।
इस बातचीत के दौरान अफगानिस्तान में करीब दो दशकों से चले आ रहे युद्ध और विद्रोह के बाद स्थाई शांति और संघर्ष विराम पर ध्यान केन्द्रित होगा।              


कच्च में एक करोड़ रूपयो के पिस्ता की लूट

गुजरात: कच्छ में एक करोड़ रुपये के पिस्ता की लूट


गांधीधाम। गुजरात में कच्छ जिले के अंजार क्षेत्र में एक करोड़ रुपये से अधिक के पिस्ता की लूट का मामला सामने आया है। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर निवासी ट्रक चालक लावकुश रा. निसाध (32) ने मामाला दर्ज कराया है कि वह अदाणी सौराष्ट्र पोर्ट सीएफ से ट्रक में 1,44,27,336 रुपये कीमत के 25,110 किलोग्राम पिस्ता भरकर मुंबई की ओर जा रहा था।             


भारतीय डाक विभाग की फाइव स्टार योजना

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। आज भी कई राज्य के गांवों में डाक उत्पादकों और सरकार की सेवाओं को लेकर आम जन में जागरूकता का अभाव है। इसी कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने महाराष्ट्र में एक नई योजना का शुभारंभ किया है। डाक विभाग ने देश के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रमुख डाक योजनाओं का देश के सभी हिस्सों में पुहंचाने के लिए, फाइव स्टार गांवों के नाम से एक योजना शुरू की है। फाइव स्टार गांवों की योजना के तहत सभी डाक उत्पादों और सेवाओं को ग्रामीण स्तर पर उपलब्ध कराया जाएगा। शाखा कार्यालय ग्रामीणों की सभी संबंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए वन-स्टॉप शॉप के रूप में कार्य करेंगे।


फाइव स्टार योजना


बचत बैंक खाते, आवर्ती जमा खाते, एनएससी/केवीपीप्रमाण पत्र, सुकन्या समृद्धि खाते / पीपीएफखाते। वित्त पोषित डाकघर बचत खाता भारतीय डाक पेमेंट बैंक खाते, पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी / ग्रामीण डाक जीवन बीमा पॉलिसी और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना खाता / प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना खाता।


इस योजना के अंतर्गत कोई भी गांव इन चार योजनाओं के लिए सार्वभौमिक कवरेज प्राप्त करता है, तो उस गाँव को फोर-स्‍टार दर्जा दिया जाएगा। और अगर कोई गांव तीन योजनाओं को पूरा करता है, तो उस गाँव को थ्री-स्‍टार दर्जा दिया जाएगा। ये योजना अभी महाराष्ट्र में प्रारंभिक आधार पर शुरू की जा रही है। इसके बाद इसे देश भर में लागू किया जाएगा। डाकघर की NSC योजना में अभी सालाना 6.8 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। इस स्कीम का टेन्योर 5 साल का है। हालांकि मेच्योरिटी पूरा होने पर इसे और 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इस योजना के तहत पूरे महाराष्ट्र राज्य को शामिल किया जाएगा. शुरू करने के लिए, प्रत्येक क्षेत्र के लिए दो ग्रामीण जिलों / क्षेत्रों की पहचान की गई है।




नागपुर क्षेत्र में अकोला और वाशिम; औरंगाबाद क्षेत्र में परभणी और हिंगोली; पुणे क्षेत्र में सोलापुर और पंढरपुर; गोवा क्षेत्र में कोल्हापुर और सांगली; और नवी मुंबई क्षेत्र में मालेगाँव और पालघर। इस योजना को गांव-गांव पहुंचाने के लिए पांच ग्रामीण डाक सेवकों की टीम बनेगी, जिन्हें डाक विभाग के सभी उत्पादों, बचत और बीमा योजनाओं के विपणन के लिए एक गाँव सौंपा जाएगा। डाक निरीक्षक टीम की प्रगति पर निगरानी रखेंगे। ग्रामीण डाक सेवकों की टीम घर घल जाकर ग्रामीणों को सभी योजनाओं के बारे में बतायेंगी। और शाखा कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर सूचना दी जायेगी। पंचायत कार्यालयों, स्कूलों, ग्राम औषधालयों जैसे प्रमुख स्थानों पर विज्ञापन लगाए जाएंगे।             

मुजफ्फरनगर में 123 नए संक्रमित मिले

अरविंद कुमार


मुजफ्फरनगर। जिले में आज फिर से कोरोना ने बड़ा हमला बोला है। आज कोरोना के 123 नए मरीज मिले हैं, जिसके बाद अब कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1026 हो गई।


अपर जिलाधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि आज कोरोना टेस्ट के लिए भेजे गए 260 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई, इनमें आरटी पीसीआर के जरिए 6 लोगों के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई है। इसके अलावा एक के ट्रूनेट, 91 के रैपिड टेस्ट तथा 25 के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि प्राइवेट लैब के जरिए हुई है। जनपद में आज 55 और कोरोना मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है, जिसके बाद जनपद में कोरोना के टोटल एक्टिव केसों की संख्या 1026 हो गई है। जनपद में अब तक कोरोना की कुल 1976 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है।               


नकली सीमेंट फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया

अरविंद कुमार


मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश की मुजफ्फरनगर पुलिस ने रामपुर तिराहे के निकट नकली सीमेंट फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए पांच लोगो को गिरफ्तार कर बड़ी संख्या में नकली सीमेंट और उसके बनाने की सामग्री आदि बरामद की।


पुलिस अधीक्षक (क्राईम) दुर्गेश कुमार सिह ने गुरुवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिला पुलिस ने अपराध पर रोकथाम व अपराधियो की गिरफ्तारी के लिए चला रही मुहिम के तहत क्राईम ब्रान्च की टीम और छपार पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए एक स्थान पर छापा मारकर रामपुर तिराहा मार्ग पर नकली सीमेंट बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश किया। उन्होंने बताया कि मौके से पुलिस ने मुदस्सर, मारूफ, मुन्व्वर,आशिक और अनिल को गिरफ्तार किया।               


विवाद में दंपत्ति ने खाया जहर, दोनों की मौत

हाथरस। यूपी के हाथरस जिले से सनसनीखेज मामला सामने आया है। जहां आपसी विवाद के चलते पति -पत्नी ने जहरीला पदार्थ खा लिया जिसके बाद अलीगढ़ में उपचार के दौरान दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।


मामला हाथरस जिले के थाना सासनी क्षेत्र के गांव रघनियां का है। जानकारी के मुताबिक, मृतक दंपति में पति का नाम अरविन्द है और पत्नी का नाम प्रीति है।अरविन्द गांव में भेलपूड़ी का ठेला लगाकर अपने परिवार का भरणपोषण करता था। पति के जहरीला पदार्थ खाने के बाद हालत बिगड़ने पर उसे मंगलवार को जिला अस्पताल लाया गया था। थोड़ी ही देर बाद उसकी पत्नी भी एक पेड़ के पास अचेत पड़ी मिली जिसके बाद उसे भी इलाज के लिए अस्पताल लाया गया। जांच में पाया गया कि उसने भी जहरीले पदार्थ का खाया था। अस्पताल से दोनों को ही अलीगढ़ रेफर किया गया था. उपचार के दौरान बुधवार को अलीगढ़ के अस्पताल में दोनों की मौत हो गई. इस मामले में डीएसपी ने बताया है कि पति-पत्नी में आपस में विवाद हुआ था जिसमें पति ने जहर खा लिया। उसकी पत्नी जब अस्पताल आई तो उसे पति की हालत और अलीगढ़ रैफर करने की जानकारी हुई।


इसके बाद अस्पताल के बाहर जाकर पत्नी भी जहर खा लिया।डॉक्टरों ने उसे भी इलाज के लिए अलीगढ़ भेज दिया लेकिन वहां दोनों की मौत हो गई। डीएसपी का कहना है कि गांव के लोगों ने बताया है कि उनमें आपसी विवाद बना रहता था। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।               


एचसी ने अनुदेशकों के वेतन पर मांगा जवाब

बृजेश केसरवानी


प्रयागराज।इलाहाबाद हाई कोर्ट ने गुरुवार को एक महत्वपूर्ण फैसला देते हुए यूपी के प्राइमरी स्कूल में नियुक्त अनुदेशकों को 7 हजार रुपये मानदेय देने के मुद्दे पर राज्य सरकार से 3 हफ्ते में जवाब मांगा है। कोर्ट ने अनुदेशकों का मानदेय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के न्यूनतम वेतन से भी कम होने के विषय पर सरकार से जवाब तलब किया है। हाईकोर्ट ने गोरखपुर में नियुक्त अनुदेशकों को 100 से कम छात्र संख्या होने के कारण स्कूल से हटाने के आदेश पर रोक लगा दी है और सातों याची अनुदेशकों को 31 जनवरी 2013 के शासनादेश के तहत कार्य करने देने और मानदेय का भुगतान करने का निर्देश दिया है।


यही नहीं अनुदेशकों को मानदेय चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के न्यूनतम वेतन से भी कम सिर्फ 7 हजार रुपये होने के मुद्दे पर भी हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से 3 हफ्ते में जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति पंकज भाटिया ने प्रभुशंकर और 6 अन्य की याचिका पर सुनवाई के बाद यह आदेश दिया है। याचियों का कहना है कि संविधान के अनुच्छेद 21ए के तहत केन्द्र सरकार ने अनिवार्य शिक्षा कानून बनाया। शिक्षकों की जरूरत पूरी करने के लिए मानदेय पर 11 माह के लिए नवीनीकृत करने की शर्त के साथ अनुदेशकों की नियुक्ति की व्यवस्था की गई है।               


सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, निकलेंं संक्रमित

अतीश द्विवेदी


लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में थाना सदर कोतवाली क्षेत्र में एक सेक्स रैकेट में 5 महिलाएं और 5 पुरुषों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसमें शामिल एक महिला और एक पुरुष की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद सेक्स रैकेट को पकड़ने वाली पुलिस टीम और महिला के संपर्क में आने वाले लोगों में हड़कंप मच गया।


दरअसल, लखीमपुर सदर कोतवाली पुलिस ने बुधवार को मुखबिर की सूचना पर एक सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था। लखीमपुर खीरी जिले के एसपी सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सेक्स रैकेट पकड़ने वाली टीम में शामिल लोगों की कोरोना वायरस का टेस्ट किया जा रहा है। एसपी सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना काल में जो भी अभियुक्त को जेल भेजा जाता है, एहतियात के तौर पर उनका कोरोना टेस्ट कराया जाता है। इस कोरोना वायरस टेस्ट में सेक्‍स रैकेट में पकड़े गए एक लड़के और एक लड़की की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद इस रैकेट का खुलासा करने वाली पुलिस टीम के सभी सदस्यों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि लड़की और लड़के को कोविड-19 केयर सेंटर भेज दिया गया है।


सिंगरौलीः शिक्षक ने छात्रा से किया दुष्कर्म

जिला मुख्यालय के चितरंगी थाना क्षेत्र के शिक्षक ने किया नाबालिक छात्रा का रेप, चितरंगी पुलिस ने अपराधी शिक्षक को गिरफ्तार कर न्ययालय पेश कर जेल भेज दिया गया।


सिंगरौली। जिला मुख्यालय से 70किलोमीटर दूर चितरंगी थाना क्षेत्र के स्थित एक गांव में एक शिक्षक द्वारा अपने ही नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है। बताया जाता है कि- आरोपी शिक्षक ट्यूशन पढ़ाने के बहाने बच्ची को अपने कमरे में बुलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया फिलहाल शिकायत पुलिस के पास पहुंची इसके बाद पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया है गुरुवार को आरोपी की मेडिकल जांच कराने के उपरांत पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया।


घटना के बारे में बताया जाता है कि- आरोपी टीचर जोगनी देवसर थाना चितरंगी, गांव में ही स्कूल संचालित कर रहा था वह पांच लड़को को और तीन लड़कियों को स्कूल में ही एक ग्रुप में बैठाकर ट्यूशन पढाया करता था। घटना वाले दिन भी छटवीं कक्षा की 10 वर्षीय बालिका आधा घंटा लेट पहुची, ट्यूशन पढ़ाने का हवाला देकर वह अपने घर ले गया। इसके बाद घटना को अंजाम दिया, बच्ची जब जोर जोर से रोने लगी तो आरोपी ने उसके पिता को फोन करके बुलाया और वापस घर भेज दिया।                 


भाजपा ने अमेरिका शाखा को चिट्ठी लिखी

नई दिल्ली/ वाशिंगटन डीसी। भारतीय जनता पार्टी के विदेश मामलों के प्रभारी विजय चौथाईवाला ने ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी’ की अमेरिकी शाखा को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने कहा है कि पार्टी से जुड़ा कोई भी आदमी अमेरिका में भाजपा के नाम पर वोट नहीं मांगेगा और भाजपा के सदस्य के तौर पर किसी पार्टी का प्रचार नहीं करेगा। चाहे रिपब्लिकन यानी डोनाल्ड ट्रंप के लिए वोट मांगें या डेमोक्रेट यानी जो बाइडेन के लिए वोट मांगें, यह काम निजी तौर पर करें, पार्टी के नाम पर नहीं। उन्होंने कमला हैरिस के उप राष्ट्रपति पद का डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बनने पर खुशी भी जताई पर साथ ही कहा कि भाजपा अमेरिकी चुनाव के मामले में तटस्थ रहना चाहती है। ध्यान रहे भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने भारतीय मां की संतान कमला हैरिस के उम्मीदवार बनने पर आधिकारिक प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया था, जबकि कमला हैरिस के पिता के देश जमैका ने इस पर न सिर्फ खुशी जताई थी, बल्कि उनका समर्थन भी किया था।


बहरहाल, सवाल है कि ऐसी चिट्ठी इस समय लिखने की क्या जरूरत आन पड़ी? क्या भारतीय जनता पार्टी को अमेरिका में हवा के बदलते रुख का अंदाजा हो गया है? क्या केंद्र की सरकार कुछ अलग हवा बहती महसूस कर रही है और इसलिए पार्टी को ऐसा स्टैंड लेना पड़ा है? खुल कर ट्रंप का समर्थन करने और ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ का नारा लगाने वाले अगर तटस्थ हो रहे हैं तो यह बड़े बदलाव का संकेत है।


जो हो यह दिलचस्प घटनाक्रम है। अभी तक भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार पूरी तरह से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ खड़ी दिख रही थी। खुद ट्रंप ने अपने प्रचार का जो पहला वीडियो जारी किया है उसमें उन्होंने पिछले साल ह्यूस्टन में हुए ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम और इस साल अहमदाबाद में हुए ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम की वीडियो इस्तेमाल की है। उन्होंने अपने प्रचार में कहा है कि नरेंद्र मोदी उनके दोस्त हैं और भारतीय अमेरिकी उनके लिए वोट करेंगे। क्या ‘ओवरसीज फ्रेंड्स ऑफ बीजेपी’ की तरह भाजपा या भारत की सरकार ट्रंप को कह सकते हैं कि आप अपनी प्रचार सामग्री से प्रधानमंत्री मोदी का नाम और उनकी फोटो हटाएं? वैसे सोशल मीडिया में एक मजाक यह भी चल रहा है कि कोरोना वायरस अब सिर्फ दो ही जगह है- एक ट्रंप के यहां और एक नमस्ते ट्रंप के यहां!


बहरहाल, अमेरिका में हवा बदल रही है। चुनाव में दो महीने से भी कम समय रह गए हैं। पोस्टल बैलेट से मतदान शुरू भी हो गया है और तमाम सर्वेक्षण डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन की बढ़त बता रहे हैं। उन्होंने अपनी रनिंग मेट यानी उप राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर भारतीय अमेरिकी मूल की कमला हैरिस को चुना है। इतने भर से भले तमाम भारतीय अमेरिकी मतदाता डेमोक्रेटिक पार्टी के समर्थक नहीं हो जाएंगे पर अब यह वोट बंटने की वास्तविक संभावना दिख रही है।


ट्रंप और मोदी से पहले आमतौर पर भारतीय अमेरिकी बाकी प्रवासियों की तरह डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए ही वोट करते रहे थे। ट्रंप से नरेंद्र मोदी की कथित दोस्ती और ट्रंप के मुस्लिम विरोधी रुख ने भारतीय अमेरिकियों के एक बड़े समूह को उनके साथ जोड़ा है पर पढ़ाई से लेकर काम करने तक के लिए मिलने वाले अमेरिकी वीजा के नियमों को ट्रंप ने जैसे बदला है, उससे भारतीय अमेरिकी सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। कारोबार के मामले में भारत को मिला विशेष दर्जा भी उन्होंने खत्म कर दिया है और भारतीय उत्पादों पर लगने वाले आयात शुल्क में बढ़ोतरी कर दी है। इससे भी भारतीय कारोबारियों के हित प्रभावित हुए हैं। सो, ट्रंप ने भारत को लेकर जुबानी जमाखर्च जो किया हो पर वास्तविकता में भारत या भारतीयों को उनसे कोई फायदा नहीं हुआ है। उलटे उनके सहयोगी के तौर पर अपनी पोजिशनिंग करके भारत ने अपने दुश्मन ही बढ़ाए हैं। चीन की आक्रामकता का एक कारण अमेरिका के साथ भारत की बढ़ती निकटता भी है।


सो, यह अच्छा है जो भारतीय जनता पार्टी ने ट्रंप का प्रचारक दिखने से अपने को दूर किया है और अपने समर्थकों, सदस्यों से कहा है कि वे जिसके लिए भी प्रचार करें, निजी तौर पर करें। पर सवाल है कि क्या भारत सरकार और भारतीय जनता पार्टी ने अमेरिका के साथ और खास कर ट्रंप के साथ संबंधों में जिस तरह का आचरण किया है वह इतनी आसानी से अनडू हो जाएगा? क्या जो बाइडेन और कमला हैरिस मान लेंगे कि भारत तटस्थ हो गया है? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले चार साल में अपने को ट्रंप से इतना करीब दिखाया है कि बहुत आसानी से उस अतीत से पीछा नहीं छुड़ाया जा सकता है।


असल में भारत सरकार ने पिछले छह साल में जिस तरह से घरेलू राजनीति के सारे स्थापित नियमों, व्यवस्थाओं, परंपराओं से परे जाकर मनमाने तरीके से काम किया वैसा ही काम कूटनीति और वैश्विक संबंधों के मामले में भी किया है। ट्रंप के साथ जब प्रधानमंत्री दोस्ती बढ़ा रहे थे और ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में जा रहे थे तब भी उनको आगाह किया गया था कि देशों के रिश्ते इस तरह से नहीं चलते हैं। कूटनीति में राष्ट्राध्यक्षों या शासनाध्यक्षों के निजी संबंध कम महत्व रखते हैं और देशों व सरकारों के संबंध अहम होते हैं, जो दोपक्षीय हितों पर आधारित होते हैं। ट्रंप ने तो अमेरिकी हितों को प्रमुखता देते हुए ही काम किया पर मोदी प्रशासन ने दोनों देशों के संबंधों को मोदी-ट्रंप के निजी संबंधों में बदलने का प्रयास किया, जिसका खामियाजा भारत अभी भुगत रहा है और आने वाले दिनों में ज्यादा भुगतना पड़ सकता है। अगर अमेरिका में प्रशासन बदलता है। डेमोक्रेटिक पार्टी की जीत होती है तो भारत के लिए नए प्रशासन के साथ कदमताल करते हुए चलना बहुत आसान नहीं होगा। एक तो अमेरिका वैसे भी मानवाधिकार, धार्मिक स्वतंत्रता और कश्मीर के मुद्दे पर ऐसा रुख रखता है, जो भारत की मौजूदा सरकार के अनुकूल नहीं है। ऊपर से अगर बाइडेन-हैरिस की जोड़ी सरकार में आती है तो इन मुद्दों पर अमेरिका का रुख और सख्त होगा, जो भारत के मौजूदा प्रशासन के लिए अच्छी बात नहीं होगी। हो सकता है कि प्रवासी भारतीयों के लिए बाइडेन-हैरिस की जोड़ी अच्छी साबित हो, वीजा नियमों में बदलाव हो जाए और भारत का विशेष दर्जा भी बहाल हो जाए पर कश्मीर से लेकर धार्मिक स्वतंत्रता और मानवाधिकार के मुद्दों पर बाइडेन प्रशासन का रुख भारत से बिल्कुल उलटा होगा। ट्रंप प्रशासन के साथ मोदी सरकार का पुराना अतीत और सरकार की नीतियां दोनों देशों के संबंधों को और जटिल बना सकते हैं। फिर भी अच्छा है, जो चुनाव से पहले ही भाजपा ने अमेरिकी राजनीति में एक पक्ष बनने की बजाय तटस्थता दिखानी शुरू कर दी है। उम्मीद करनी चाहिए कि यह नीति बाकी देशों के साथ कूटनीति में भी कंटीन्यू की जाएगी। आखिरकार चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गले लगने और झूला झूलने की कूटनीति दोनों देशों के संबंधों को कहां ले आई है, वह सब देख रहे हैं।             


बरेलीः कोर्ट में पेश किये 'दलाल', जेल भेजा

बरेली। विशेष न्यायाधीश पीसी कोर्ट सेकंड मोहम्मद अहमद खान की अदालत में पुलिस ने शाहजहांपुर उप संभागीय परिवहन कार्यालय में गुरुवार को पकड़े 18 दलाल 2 कर्मचारियों को रिमांड के लिए पेश किया। बता दें, पुलिस, प्रशासन और विजिलेंस टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए भ्रष्टाचार के मामलों में लिप्त 20 लोगों को पकड़ा था। टीम ने इनके पास से चार लाख रूपये नगद, 14 मोबाइल फोन, 7 लैपटाप, 8 ड्राइविंग लाइसेंस, 46 आर सी व अन्य सुसंगत दस्तावेज बरामद किये थे।


छापा मारने वाली टीम में विजिलेंस के अपर पुलिस अधीक्षक, अरविंद यादव, पुलिस उपाधीक्षक, शैलजा मिश्रा, 7 इंस्पेक्टर, 1 सब इस्पेक्टर, 9 हेड कान्स्टेबल, 6 कान्सटेबल व जिला पुलिस से एसपी सिटी संजय कुमार, सीओ सिटी, प्रवीन कुमार यादव, सिटी मजिस्ट्रेट, राजेश कुमार व इंस्पेक्टर सदर बाजार मय फोर्स शामिल थे।             


कोरोना न फहलें, गोली मारने का आदेश

प्योंगयांग। दक्षिण में अमेरिकी सेनाओं के कमांडर के मुताबिक, उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमित शख्स के चीन से देश में प्रवेश करने से रोकने के लिए शूट-टू-किल (देखते ही गोली मारने के आदेश) जारी किए हैं। उत्तर कोरिया ने अभी तक देश में एक भी कोरोना केस की पुष्टि नहीं की है।


प्योंगयैंग ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चीन से सटे बॉर्डर को जनवरी में ही बंद कर दिया था। जुलाई में राज्य मीडिया ने कहा कि इसने अपने आपातकाल की स्थिति को अधिकतम स्तर तक बढ़ा दिया है। US फोर्स कोरिया (USFK) के कमांडर रॉबर्ट अब्राहम्स ने कहा कि बॉर्डर बंद होने की वजह से सामानों की तस्करी बढ़ गई है, जिसके चलते अब प्रशासन को हस्तक्षेप करना पड़ा है।


स्थगित हुए ओलंपिक को आयोजित करेंगे

टोक्यो। जापान की ओलंपिक मंत्री सेको हाशिमोतो का मानना है कि कोरोना वायरस के कारण स्थगित किए किए टोक्यो ओलंपिक को किसी भी कीमत पर अगले साल आयोजित करना चाहिए। जापान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, हाशिमोतो ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ” खेलों से जुड़े सभी लोग इसकी तैयारी के लिए एक साथ मिलकर काम कर रहे हैं। एथलीट भी उन परिस्थितियों के तहत अगले वर्ष को ध्यान में रखकर काफी प्रयास कर रहे हैं, जो उन्हें सौंपे गए हैं।”


उन्होंने कहा, ” मुझे लगता है कि हमें किसी भी कीमत पर खेलों को आयोजित करना ही होगा। मैं कोरोना वायरस के खिलाफ किए गए उपायों के सभी प्रयासों पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहती हूं।” हाशिमोतो का बयान अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के उपाध्यक्ष जॉन कोट्स के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने हाल ही में कहा था कि अगले साल ओलंपिक खेलों का आयोजन होगा चाहे तब तक कोविड-19 महामारी रहे या न रहे। उन्होंने कहा था कि अगले साल 23 जुलाई से ओलंपिक प्रतियोगिता शुरू हो रही है। टोक्यो ओलंपिक खेलों का आयोजन इस साल जुलाई-अगस्त में होना था, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसे अगले साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।            


चौथी बार जीता 'टूर्नामेंट' का खिताब

त्रिनिदाद। त्रिनबागो नाईट राइडर्स ने सेंट लूसिया जॉक्स को कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) के फाइनल मुकाबले में आठ विकेट से हराकर चौथी बार इस टूर्नामेंट का खिताब जीता। मुकाबले में त्रिनबागो नाईट राइडर्स की ओर से सलामी बल्लेबाज लेंडल सिमंस (नाबाद 84) और डेरेन ब्रावो (नाबाद 58) रन की अर्धशतकीय पारी और कप्तान किरोन पोलार्ड (30 रन देकर चार विकेट) झटककर शानदार प्रदर्शन किया।


टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सेंट लूसिया 19.1 ओवर में 154 रन ही बना सकी। टीम की ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज आंद्रे फ्लेचर ने 27 गेंदों में चार चौकों और दो छक्कों की मदद से सर्वाधिक 39 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी नाईट राइडर्स ने सिमंस के 49 गेंदों में आठ चौकों और चार छक्के की मदद से नाबाद 84 और ब्रावो के 47 गेंदों में दो चौकों और छह छक्कों के सहारे नाबाद 58 रन की पारी की बदौलत 18.1 ओवर में दो विकेट पर 157 रन बनाकर मैच तथा खिताब अपने नाम कर लिया।


सिमंस को मैन ऑफ द मैच और किरोन पोलार्ड को प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया। नाईट राइडर्स टूर्नामेंट की पहली टीम है जिसने सीपीएल के सभी 12 मुकाबले जीते। नाईट राइडर्स का यह चौथा सीपीएल खिताब है। इससे पहले वह 2015, 2017 और 2018 में इस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम कर चुकी है। पहले बल्लेबाजी करने उतरी सेंट लूसिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही और अली खान ने रखीम कॉर्नवाल को आउट कर 10 रन के स्कोर पर पहला झटका दिया। कॉर्नवाल ने सात गेंदों में दो चौकों की मदद से आठ रन बनाए।                 


अलर्टः सीमा पार से रची जा रही साजिश

नई दिल्ली। करीब छह माह से भारत-नेपाल सीमा पर चल रहे तनाव का असर रिश्ते और कारोबार पर तो पड़ा ही है, आगामी विधानसभा चुनाव को भी प्रभावित करने की साजिश सीमा पार से रची जा रही है। सुरक्षा एजेंसियों के पास सूचना आई है कि कोसी-सीमांचल के इलाके में चुनाव के दौरान सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश हो सकती है। इसके लिए विभिन्न प्रतिबंधित संगठनों के स्लीपर सेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। ये सेल कोसी-सीमांचल में समय-समय पर अपने करतूत को अंजाम देते रहे हैं।


एसएसबी के डीआईजी एसके सारंगी बताते हैं कि भारत-नेपाल के रिश्ते में खटास के बीच एसएसबी सतर्क और सजग है। सीमाई इलाकों में 24 घंटे नजर रखी जा रही है। वह बताते हैं कि नेपाल ने सीमा क्षेत्र में सेना और पुलिस की संख्या में इजाफा कर दिया है। वहां की सेना प्रोफेशनल नहीं है। वह भीड़ को नियंत्रित नहीं कर पाती है। यही वजह है कि अक्सर बड़ी घटनाओं के समय नेपाली सेना विफल रहती है। आगामी चुनाव के दौरान भारतीय सीमा में सुरक्षा तगड़ी होगी। लोगों की आवाजाही बढ़ेगी। उस हालात में नेपाली सेना असहज होगी। इसका फायदा नापाक इरादों वाले लोग उठा सकते हैं। खासतौर से वे लोग जो भारत-नेपाल में अच्छे रिश्ते नहीं चाहते।                   


लामबंद कर चुनावी बिगुल फूकेंगे 'नड्डा'

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पार्टी कार्यकर्ताओं को लामबंद करने के लिए आगामी 12 सितंबर को मुजफ्फरपुर आएंगे। वे यहीं से बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे। भाजपा पिछले चुनावों की तरह मुजफ्फरपुर से ही चुनाव अभियान शुरू करेगी। पार्टी के पदाधिकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष के कार्यक्रम की तैयारी में जुट गए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद डॉ. संजय जायसवाल मुजफ्फरपुर पहुंच रहे हैं।


जिला भाजपा उपाध्यक्ष मनीष कुमार ने राष्ट्रीय अध्यक्ष के आगमन की पुष्टि करते हुए बताया कि कार्यक्रम में आंशिक संशोधन किया गया है। पहले वे पारू विधानसभा क्षेत्र में मणिकपुर के साथ-साथ मुजफ्फरपुर शहर में भी आने वाले थे। राष्ट्रीय अध्यक्ष शहर में पार्टी पदाधिकारियों एवं प्रमुख कार्यकर्ताओं को संबोधित करने वाले थे, परन्तु अब वे मणिकपुर से ही हेलिकॉप्टर से रवाना हो जाएंगे।             


छत्तीसगढ़ में 20 तक लॉकडाउन जारी

बेमेतरा। जिले में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए कलेक्टर ने लॉक डाउन लगा दिया है। बता दें कि कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। यहीं कारण है कि कलेक्टर ने अपने विशेषाधिकारों का प्रयोग कर जिले में लॉक डाउन लगाया है।  ये लॉकडाउन एक सप्ताह का होगा। 13 सितंबर से 20 सितंबर तक ये लॉकडाउन होगा। कलेक्टर ने बताया कि इस निर्देश के बाद 13 सितंबर से जिले के सभी शासकीय, अर्धशासकीय, अशासकीय कार्यालय बंद हो जायेंगे और कर्मचारी वर्क फॉर होम करेंगे।


2 गुटके खाने से 5 की मौत, 4 घायल

महासमुंद। तुमगांव थाना क्षेत्र में जमीन के नाम पर खूनी खेल सामने आया है। दो गुटों में हुए आपसी विवाद में तीन लोगों की मौत हो गई। वही 4 लोग घायल हो गए है। मरने वालो और घायलों में बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं। घटना के बाद गांव में सनसनी फैल गई है। मामला जोबा गांव का है। मिली जानकारी के अनुसार गांव में जमीन विवाद को लेकर आज तड़के एक ही परिवार के दो पक्षों में जमकर विवाद ने हुआ। एक पक्ष दूसरे पक्ष के घर में घुसकर धारदार हथियार फरसा से हमला बोल दिया जिसे 3 लोगो की मौत हो गई वही 4 लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए है। मृतको में 1 बच्चा, 1 महिला और 1 किशोरी शामिल है। मृतकों के नाम जागृति गायकवाड़, मीना कुमारी और मनीष कुमार बताये जा रहे है। घायलों में ओष कुमार, ओमान, गीतांजलि और अनार बाई बुरी तरह जख्मी है जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


घटना की जानकारी मिलते ही तुमगांव पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई है। पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के मुताबिक मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनो आरोपी रिश्ते में बाप बेटा है। आरोपी परसराम 3 महीने पहले ही हत्या के एक अन्य मामले में जेल से छूटकर आया है।


ग्रामीणों के मुताबिक दोनों पक्ष एक ही परिवार के हैं। जमीन को लेकर लंबे समय से दोनों के बीच विवाद चल रहा है। इस पर कोर्ट का फैसला भी आ चुका था। कोर्ट ने अपना फैसला पीड़ित के पक्ष में सुनाया है। जिससे नाराज होकर परसराम और उसके बेटे बृजसेन ने आज तड़के पीड़ित परिवार पर हमला बोल दिया।               


2 अलग-अलग स्थानों पर हुई मुठभेड़

रायपुर/सुकमा। जिले में दो अलग-अलग स्थानों पर सुरक्षा बलों व नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें जवानों ने एलारमडग़ू एवं भेजी में नक्सली कैम्प ध्वस्त कर नक्सल सामग्री बरामद करने में सफल हुई है। वहीं दूसरी घटना में नक्सलियों द्वारा बड़ी संख्या में ग्रामीणों को लाकर किस्टाराम से पालोड़ी सड़क काटने की सूचना मिलने पर किस्टाराम व पालोड़ी से डीआरजी, एसटीएफ एवं 208 कोबरा की टीम सूचना स्थल के लिए रवाना हुई थी। पुलिस पार्टी को अपनी ओर आता हुआ देख नक्सलियों द्वारा फायरिंग किया गया। पुलिस पार्टी की ओर से भी जवाबी फायरिंग की गई।


फायरिंग रूक-रूककर लगभग 2 घण्टे तक चली। इसके बाद नक्सली जंगल का फायदा उठाकर भाग निकले। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नक्सली कैम्प की सूचना पर एलारमडग़ू एवं भेजी से डीआरजी, एसटीएफ एवं 202 वाहिनी कोबरा की पार्टी ग्राम एंटापाड़ की ओर निकली थी। सर्चिंग के दौरान पुलिस पार्टी ने एंटापाड़ जंगल के पास नक्सलियों का कैम्प देखा। जवानों को देखकर नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस पार्टी के तरफ से भी जवाबी कार्यवाही कर कैम्प को ध्वस्त किया गया। नक्सली जंगल और पहाड़ी की आड़ लेकर भाग निकले। मौके पर सर्चिंग करने पर नक्सली कैम्प से 1 बायनाकुलर, नक्सली टैंट, दैनिक उपयोगी सामाग्री बरामद किया गया।               


जमीन विवाद में 3 की हत्या, 4 घायल

महासमुन्द। जमीन विवाद के चलते शुक्रवार को तुमगांव थाना क्षेत्र के ग्राम जोबा में बाप-बेटे ने मिलकर अपने ही परिवार के तीन व्यक्तियों की निर्मम हत्या कर दी। वहीं 4 व्यक्तियों पर प्राण घातक हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया है। तुमगांव पुलिस ने आरोपी बाप बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। तुमगांव पुलिस इस निर्मम हत्या की जांच कर रही है। जमीन विवाद को लेकर यह हत्या की गई है। दोनों आरोपियों से एक आरोपी इससे पहले भी हत्या के आरोप में जेल जा चुका है और तीन महीने पहले ही जेल से जमानत पर छुट कर गांव पहुंचा था।


आज सुबह तुमगांव पुलिस थाना क्षेत्र के ग्राम जोबा में सुबह साढ़े 4 बजे के लगभग आरोपी परसराम गायकवाड़ 62 साल अपने बेटे ब्रजसेन गायकवाड़ के साथ मिलकर अपने चचेरे भाई के परिवार के घर कुल्हाड़ी और फरसा लेकर पहुचे। आरोपियों बाप बेटे ने इस हत्या की प्लानिंग कल रात्रि में ही कर ली थी। सुबह साढ़े 4 बजे वह अपने चचेरे भाई ओषकुमार के घर पहुंचे उस वक्त  जागृति गायकवाड़ अपने घर में चाय बना रही थी। आरोपियों ने अपने हाथ में रखे मिर्ची पावडर को जागृति के आंख में छींट कर उस पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया, जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद आरोपियों की नजर कुमारी टीना गायकवाड़ 17 साल पर पड़ी जो अपने घर के अंदर ही थी। आरोपी बाप बेटे घर के अंदर पहुंच कर 17 साल की मासूम बालिका पर जानलेवा हमला कर उसे भी मौत के घाट उतार दिया। बाजू के कमरे में मनीष गायकवाड़ 10 साल भी सो रहा था जिसे भी हत्यारे बाप बेटे ने कुल्हाड़ी, फरसा से वार कर हत्या कर दी।


हत्यारे पिता पुत्र की इतने से भी जी नहीं भरा और पूरे परिवार को जान से मारने की नियत से पहुंचे आरोपियों ने घर के अन्य सदस्य की तलाश शुरू कर दी। इस वक्त आसपास ही कुछ कर रहे थे उन पर आरोपियों की नजर पड़ी तो हत्यारे पिता पुत्र ने ओषकुमार पर हमला बोल दिया, लहूृ-लूहान ओषकुमार ने जान बचाने के लिए गांव वालों को आवाज लगाना शुरू कर दिया। आरोपियों के हमले से घायल ओषकुमार ने गांव की ओर दौड़ लगा दी। आरोपी पिता पुत्र ने ओषकुमार को छोडक़र अनार बाई गायकवाड़ 60 साल की तरफ दोड़ कर उस पर भी जानलेवा हमला कर दिया। गांव वाले गायकवाड़ परिवार को बचाने पहुंच पाते तब आरोपी परसराम गायकवाड़ अपने पुत्र ब्रजसेन गायकवाड़ के साथ मिलकर गीतांजली गायकवाड़ 15 साल और ओम कुमार गायकवाड़ पर 12 साल पर हमला कर गंभीर रुप से घायल कर दिया था। गायकवाड़ के जिन्दा बचे परिवार के चारों सदस्यों गांव वालों को बचाव-बचाव कर मदद के लिए चिख पुकार करने लगे।


गांव के लोगों ओषकुमार गायकवाड़ के घर पहुंचे तो घर के आंगन में जागृति, घर के अंदर टीना और घर के बाड़ी में मनीष की लाश खुन से लथपथ पड़ी मिली। गांव के लोगों को देखकर आरोपी पिता पुत्र फरार हो गये। मामले की जानकारी ग्रामीणों ने तत्काल तुमगांव पुलिस को दी। पुलिस ने तत्तकाल ग्राम जोबा पहुंच कर सभी को 112 की मदद से अस्पताल पहुंचा जहां तीन लोगों को डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया, वहीं 4 गंभीर व्यक्तियों को प्रारंभिक ईलाज कर जिला चिकित्सालय रिफर किया गया है जहां उनका ईलाज चल रहा है। बहरहाल 4 की स्थिति गंभीर है। पुलिस ने हत्यारे पिता पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी पिता पुत्र के खिलाफ 452, 307, 302, 34 का मामला दर्ज कर मामले में आगे की जांच में लगी है। स्थानीय कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर ने प्रेस को मामले की जानकारी दी है।


             


16 साल के लड़के ने घर में लगाई फांसी

जांजगीर-चाम्पा। अकलतरा थाना क्षेत्र के तरौद गांव में 16 साल के लड़के ने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। खुदकुशी के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। अकलतरा थाने के टीआई रविन्द्र अनन्त ने बताया कि घटना गुरुवार को करीबन रात 9 बजे की है। तरौद गांव में 16 साल के लड़के ने घर पर फांसी लगा कर अपनी जान दे दी है। पुलिस को सूचना मिलते ​ही मौके पर पहुंचकर जांच कर रही है। खुदकुशी के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। शव का पोस्टमार्टम शुक्रवार को कराया जाएगा।                 


कंगना ने वायरल किया बाला का वीडियो

मुंबई। कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच विवाद काफी तूल पकड़ चुका है। BMC ने कंगना का ऑफिस तोड़ा उसके बाद से वह काफी नाराज हैं। वह लगातार इस बारे में ट्वीट्स कर रही हैं। अब उन्होंने बाला साहब का एक पुराना वीडियो शेयर किया है। साथ में लिखा है कि ग्रेट बाला साहब मेरे फेवरिट आइकन थे। इसके साथ ही उन्होंने सोनिया गांधी के लिए भी ट्वीट किया है और लिखा है कि क्या उन्हें ये सब देखकर तकलीफ नहीं होती?


कंगना ने शेयर किया बाला साहब का पुराना वीडियो
कंगना ने वीडियो ट्वीट करके लिखा है, ग्रेट बाला साहब ठाकरे, मेरे फेवरिट आइकन्स में से एक थे, उनका सबसे बड़ा डर था कि शिवसेना किसी दिन गुटबंधन कर लेगी और कांग्रेस बन जाएगी। मैं जानना चाहती हूं कि अपनी पार्टी की ये दशा देखकर उनको आज क्या महसूस हो रहा होगा? यह वीडियो तब भी खूब वायरल हुआ था जब महाराष्‍ट्र में बीजेपी का साथ छोड़ श‍िव सेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ म‍िलकर सरकार बनाया।


कंगना ने सोनिया गांधी से किया सवाल
इतना ही नहीं कंगना ने सोनिया गांधी के लिए भी ट्वीट किया हैं कि एक महिला होने के नाते क्या उन्हें तकलीफ नहीं होती कि कंगना के साथ महाराष्ट्र सरकार ऐसा सुलूक कर रही है? कंगना ने सवाल किया, क्या आप अपनी पार्टी से नहीं कह सकतीं कि वह संविधान के सिद्धांतों को बनाए रखें जो हमें डॉक्टर आम्बेडकर ने दिए थे।


कंगना ने उद्धव ठाकरे को सख्त भाषा में दिया था मेसेज
बीते दिनों BMC ने कंगना के मुंबई ऑफिस में अवैध निर्माण बताते हुए वहां काफी तोड़फोड़ की थी। कंगना इस बाद से बेहद खफा हैं। गुस्से में उन्होंने उद्धव ठाकरे के खिलाफ वीडियो ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने उद्धव ठाकरे को सख्त भाषा में मेसेज दिया था। उन्होंने कहा था, आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा। इसके बाद सीएम उद्धव ठाकरे के खिलाफ गलत भाषा का इस्तेमाल करने पर उनके खिलाफ केस भी दर्ज हो गया।


कंगना ने बताया-नहीं हैं पैसे, टूटे ऑफिस से ही करेंगी काम
कंगना ने बॉम्बे हाई कोर्ट में बीएमसी के खिलाफ अर्जी दी थी। जिस पर सुनवाई टाल दी गई है। कंगना अपने ऑफिस का जायजा लेने भी गई थीं। टूटा ऑफिस देख उनके चेहरे पर निराशा साफ नजर आ रही थी। इसके बाद कंगना ने ट्वीट किया था कि उनके पास ऑफिस रेनोवेट करवाने के लिए पैसे नहीं हैं और वह टूटे-फूटे ऑफिस से ही काम करेंगी।                 


मुंबईः यूनीसेफ के एडवोकेट बने आयुष्मान

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना यूनीसेफ इंडिया के सेलेब्रिटी एडवोकेट के तौर पर चुने गए हैं, जो बाल हिंसा को खत्म करने की दिशा में अपना योगदान देंगे। आयुष्मान हैशटैगफॉरएवरीचाइल्ड के लिए अधिकारों पर बात करते नजर आएंगे। अभिनेता का कहना है कि उन्हें उस हर बच्चे की फिक्र है, जो एक सुरक्षित बचपन के अनुभव से वंचित रहे हैं।आयुष्मान ने कहा, “सेलेब्रिटी एडवोकेट के तौर पर यूनीसेफ के साथ जुड़कर मुझे बेहद खुशी हो रही है। मुझे लगता है कि जिंदगी में एक अच्छी शुरुआत के सभी हकदार होते हैं। जब घर पर मैं अपने बच्चों को एक सुरक्षित व खुशनुमा माहौल में खेलते हुए देखता हूं, उस वक्त मुझे हर उस बच्चे का ख्याल आता है, जिन्हें एक सुरक्षित बचपन का अनुभव कभी नहीं मिल पाया है और जो घर या बाहर हिंसा के माहौल में बड़े हो रहे हैं।”


अभिनेता का कहना है कि वह इन्हीं मासूम बच्चों के अधिकारों को अपना समर्थन देने के लिए तैयार हैं, ताकि वे भी हिंसा से मुक्त एक बेहतरीन माहौल में एक खुश, स्वस्थ और शिक्षित नागरिक के तौर पर अपनी जिंदगी में आगे बढ़ें।             


ड्रामा फिल्म में काम करेंगे 'टाइगर श्रॉफ'

मुंबई। बॉलीवुड के एक्शन स्टार टाइगर श्राफ स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म में काम करते नजर आ सकते हैं। बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म ‘गणपत’ में काम करने जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस फिल्म में टाइगर बॉक्सर का किरदार निभाते नजर आयेंगे। यह फिल्म दो भागों में बनेगी।


बताया जा रहा है कि टाइगर ने इस फिल्म को लेकर तैयारी शुरू कर दी हैं। निर्देशक विकास बहल पिछले कुछ दिनों से फिल्म ‘गणपत’ की स्क्रिप्ट को अंतिम तैयारी देने में व्यस्त थे। जैसे ही स्क्रिप्ट तैयार हुई उन्होंने ऐसे हीरो की तलाश शुरू कर दी जो बॉक्सर के रोल में फिट बैठे। टाइगर श्रॉफ का नाम ही उनके दिमाग में था और इसलिए उन्होंने टाइगर को ही यह रोल ऑफर किया। स्क्रिप्ट सुनते ही टाइगर ने तुरंत हां कह दिया और फिल्म की तैयारियां शुरू कर दीं। लॉकडाउन के दौरान ही टाइगर ने अपनी फिजिक पर काम शुरू कर दिया। वे ऐसी बॉडी बना रहे हैं जो बॉक्सर की लगे। फिल्म में बॉक्सिंग के कई मैचेस भी दिखाए जाएंगे इसलिए बॉक्सिंग की तकनीक पर भी टाइगर काम कर रहे हैं। वे कई बॉक्सिंग मैचेस भी देख रहे हैं। यह फिल्म मुंबई पर आधारित है।               


महाराष्ट्र मे 8 बार भूकंप की तीव्रता मापी

मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर जिले में शुक्रवार सुबह चार घंटे के भीतर आठ बार भूकंप आया और भूकंप के झटकों की तीव्रता 2.2 से 3.6 तक मापी गई। अधिकारियों ने बताया कि जिले की डहाणू और तलासरी तहसीलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए और इस दौरान किसी के हताहत होने की अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है।


जिला आपदा नियंत्रण प्रकोष्ठ के प्रमुख विवेकानंद कदम ने कहा, ‘‘गुरुवार देर रात तीन बजकर 29 मिनट पर 3.5 तीव्रता का भूकंप आया। इसके बाद, तड़के तीन बजकर 57 मिनट और सुबह सात बजकर छह मिनट पर क्रमश: 3.5 और 3.6 तीव्रता के भूकंप आए।’ डहाणू उपमंडलीय अधिकारी आशिमा मित्तल ने कहा, ‘‘3.0 तीव्रता से अधिक के इन तीन भूकंपों के अलावा गुरुवार रात तीन बजे से सुबह सात बजे के बीच पांच अन्य भूकंप आए।


खुले मैदान में तंबू लगाकर रहने को मजबूर हुए लोग


कदम ने बताया कि स्थानीय तहसीलदारों को गांवों में निरीक्षण करने को कहा गया है। मित्तल ने कहा कि भूकंपों के कारण इन तहसीलों के गांवों में खुले मैदानों में बड़े तंबू लगाए गए हैं, ताकि घरों में असुरक्षित महसूस होने पर स्थानीय निवासी वहां जा सके। डहाणू और तलासरी में पिछले सप्ताह भूकंप आने के बाद कई मकानों की दीवारें ढह गई थीं और कई दीवारों में दरारें पड़ गई थीं।


भूकंप के खतरे को लेकर सतर्क रहने को कहा जिला प्राधिकारियों ने


मित्तल ने बताया कि गांवों के स्तर पर आपदा समन्वय समितियां बनाई गई हैं और असैन्य सुरक्षा कर्मियों को सहायता के लिए तैयार रहने को कहा गया है. इस बीच, जिला प्राधिकारियों ने एक ऑडियो संदेश जारी करके डहाणू क्षेत्र के गांवों में रहने वाले लोगों से भूकंप के खतरे के कारण सतर्क रहने को कहा। डहाणू में नवंबर 2018 के बाद से इस प्रकार के भूकंप आ रहे हैं। इससे पहले, राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (एनसीएस) ने पालघर में शुक्रवार तड़के दो बार भूकंप आने की जानकारी दी थी।               


बच्चों को परीक्षा से ना करें मूल्यांकन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिक्षा को स्कूलों की चारदीवारी से बाहर निकालने की वकालत की है। उन्होंने कहा है कि जब शिक्षा को आस-पास के परिवेश से जोड़ दिया जाता है तो, उसका प्रभाव विद्यार्थी के पूरे जीवन पर पड़ता है, पूरे समाज पर भी पड़ता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्क (अंक) और मार्कशीट (अंकपत्र) से विद्यार्थियों की प्रतिभा को मापने को अनुचित ठहराया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक टेस्ट, एक मार्क्‍सशीट क्या बच्चों के सीखने की, उनके मानसिक विकास की पैरामीटर (पैमाना) हो सकती है? आज सच्चाई ये है कि मार्क्‍सशीट, मानसिक प्रेशरशीट बन गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पढ़ाई से मिल रहे इस तनाव से अपने बच्चों को बाहर निकालना राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख उद्देश्य है। परीक्षा इस तरह होनी चाहिए कि छात्रों पर इसका बेवजह दबाव न पड़े। कोशिश ये होनी चाहिए कि केवल एक परीक्षा से विद्यार्थियों को मूल्यांकन न किया जाए।


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, सीख तो बच्चे तब भी कर रहे होते हैं जब वो खेल रहे होते हैं, जब वो परिवार में बात कर रहे होते हैं, जब वो बाहर आपके साथ घूमने जाते हैं। लेकिन अक्सर माता-पिता भी बच्चों से ये नहीं पूछते कि क्या सीखा? वो यही पूछते हैं कि मार्क्‍स कितने आए? हर चीज यहीं आकर अटक जाती है। प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में छात्रों को कोई भी विषय चुनने की आजादी दी गई है। ये सबसे बड़े सुधार में से एक है। अब हमारे युवा को विज्ञान, कला या कॉमर्स के किसी एक ब्रेकैट में ही फिट होने की जरूरत नहीं है। देश के छात्रों की प्रतिभा को अब पूरा मौका मिलेगा।


प्रधानमंत्री मोदी ने शिक्षा व्यवस्था में आसान और नए-नए तौर-तरीकों को अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमारे ये प्रयोग, न्यू एज लर्निंग का मूलमंत्र होना चाहिए। हमारे देश भर में हर क्षेत्र की अपनी कुछ न कुछ खूबी है, कोई न कोई पारंपरिक कला, कारीगरी, प्रोडक्ट्स हर जगह के मशहूर हैं। विद्यार्थी उन हथकरघों में जाकर देखें आखिर ये कपड़े बनते कैसे हैं? स्कूल में भी ऐसे कारीगरों को बुलाया जा सकता है।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कितने ही प्रोफेशन हैं जिनके लिए गहरे हुनर की जरूरत होती है, लेकिन हम उन्हें महत्व ही नहीं देते। अगर विद्यार्थी इन्हें देखेंगे तो एक तरह का भावनात्मक जुड़ाव होगा, उनका सम्मान भी करेंगे। हो सकता है बड़े होकर इनमें से कई बच्चे ऐसे ही उद्योगों से जुड़ें, उन्हें आगे बढ़ाएं।             


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...