गुरुवार, 6 अगस्त 2020

कोरोनाः स्पेन में दोबारा लगा लॉकडाउन

मेड्रिड। पूरी दुनिया में दहशत फैला चुके कोरोना वायरस का खौफ अब तक कम भी नहीं हुआ था कि यूरोप में इसकी दूसरी लहर भी दिखने लगी है। कोरोना वायरस के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए स्पेन में दोबारा लॉकडाउन लगाया गया है। वहीं, ग्रीस में कोरोना संक्रमण के केस तीन महीने के उच्चतर स्तर पर पहुंच गए हैं। अबतक पूरी दुनिया में 1.8 करोड़ लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं, यूरोप में कोरोना की दूसरी लहर दुनियाभर की चिंता बढ़ा सकती है। 


स्पेन में स्थिति हुई गंभीर
सबसे पहले अगर स्पेन की बात करें तो, यहां जून के शुरुआती दिनों में मौत का आकंड़ा शून्य हो गया था, हालांकि कोरोना के केस जरूर सामने आ रहे थे। स्पेन में  1 जून को कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले 2 लाख 39 हजार 638 थे। कुल मौतों की संख्‍या 27 हजार 127 थी। लेकिन जुलाई के बाद से हर रोज स्‍पेन में कारोना वायरस संक्रमण के 1000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। स्पेन की कई शहरों में फिर से लॉकडाउन लग गया है, जिससे ये संक्रमण और फैलने का खतरा बढ़ गया है। ताजा आकंड़ों पर नजर डालें तो स्‍पेन में कोरोना से कुल मौतों का आंकड़ा 28 हजार 499 हैं, साथ ही कुल 3 लाख 52 हजार 847 केस अबतक सामने आ चुके हैं।


कोरोना के दूसरे चरण में है जर्मनी
जर्मनी में भी कोरोना की स्थिति भयावह होती जा रही है। जर्मनी के डॉक्टर्स एशोसिएशन के अध्यक्ष सुजैन जोहना ने भी सचेत करते हुए कहा कि, 'लोगों नें सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उठा रखी है, इसलिए ये देश पहले से ही कोरोना के दूसरे फेज में है'। बता दे कि, जर्मनी में हर दिन लगभग 730 मरीज कोविड पॉजिटिव पाए जा रहे है। जबकि 2 हफ्ते पहले ये आकंड़ा 460 था। जर्मनी में अबतक कोरोना से 2 लाख 11 हजार 281 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 9 हजार 156 मरीजों की मौत हो चुकी है।


फ्रांस में बढ़े कोरोना के मामले
फ्रांस में भी कोरोना के ताजा मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है,  पिछले 1 हफ्ते के अंदर 7 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। हर दिन 1 हजार से 12 सौ तक मामले सामने आ रहे हैं। फ्रांस के वैज्ञानिकों का कहना हैं कि, पहले स्थिति नियंत्रण में थी। लेकिन सर्दियों में कोरोना का दूसरा फेज देखा जाएगा।


ग्रीस में खतरा बढ़ने की चेतावनी
कोरोना को लेकर ग्रीस के प्रधानमंत्री ने साफ चेतावनी दी कि, यदि कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने की बेहद जरुरत है, नहीं तो स्थिति गंभीर हो सकती हैं। हालांकि बारिश के मौसम में ग्रीस ने कोरोना पर नियंत्रण करने में बेहतर काम किया था।         


वैक्सीन ट्रायल में 100 फीसदी हुई सफल

मास्को। रूस ने दावा किया है कि उसकी कोरोना वायरस वैक्सीन क्लिनिकल ट्रायल में 100 फीसदी सफल रही है। इस वैक्सीन को मॉस्को स्थित रूसी स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़ी एक संस्था गेमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ने बनाया है। वैक्सीन का ट्रायल 42 दिन पहले शुरू हुआ था। ट्रायल रिपोर्ट के मुताबिक, जिन वॉलंटियर्स को वैक्सीन की खुराक दी गई उनमें वायरस के खिलाफ इम्युनिटी विकसित हुई है। किसी वॉलंटियर्स में निगेटिव साइडइफेक्ट नहीं मिले। ट्रायल के परिणाम के बाद रशिया सरकार ने वैक्सीन की तारीफ की है। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वैक्सीन के इस्तेमाल को लेकर चेताया है। वहीं ब्रिटेन ने भी रशिया वैक्सीन के इस्तेमाल करने से इनकार कर दिया। रूस सरकार का दावा है कि ये वैक्सीन अगस्त में रजिस्टर हो जाएगी और सितंबर में इसका मास-प्रोडक्शन भी शुरू हो जाएगा। साथ ही अक्टूबर से देशभर में टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा।        


फ्रांस और अन्य देश बेरुत की कर रहे मदद

मास्को/ लेबनान/ पेरिस। बेरुत की फ्रांस कर रहा मदद। रूस के आपात राहत अधिकारियों ने बताया कि उनका देश राहत सामग्रियों के साथ पांच विमान बेरूत भेजेगा जहां मंगलवार को धमाके में कम से कम 100 लोगों की मौत हुई है और हजारों लोग घायल हुए हैं। रूस के आपात स्थिति मामलों का मंत्रालय बचावकर्मी, चिकित्सा कार्यकर्ता और अस्थायी अस्पताल के साथ कोविड-19 जांच के लिए प्रयोगशाला भी लेबनान भेजेगा। फ्रांस, जॉर्डन और अन्य देशों ने भी कहा कि वे भी मदद भेज रहे हैं।         


स्पेनः बढ़ते मामलों के बीच टेनिस टूर्नामेंट रद्द

मेड्रिड। स्पेन में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सितंबर में होने वाला मैड्रिड ओपन टेनिस टूर्नामेंट रद्द कर दिया गया है। महिला और पुरुष संयुक्त टूर्नामेंट मूल रूप से मई में होना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के बीच इसे सितंबर तक स्थगित कर दिया गया था। आयोजकों ने पिछले सप्ताह बताया कि स्थानीय प्रशासन ने उन्हें कोरोना के बढते मामलों के कारण इसका आयोजन नहीं करने की सलाह दी थी। इस पर अमल करते हुए ही यह फैसला लिया गया। स्पेन कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से है। यहां स्थिति पर नियंत्रण पा लिया गया था, लेकिन हाल ही में नए मामले सामने आए हैं।              



आंकड़ा कलेक्ट करने में नाकाम गाजियाबाद

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। कभी फोन पर कोविड मरीजों से फोन पर बातें करने और कभी स्वच्छ अस्पतालों के वीडियो शेयर कर सुर्खियां बटोरने वाला गाज़ियाबाद का चिकित्सा विभाग प्रदेश शासन द्वारा केवल 20 रेमडेसिविर मिलने पर फूला नहीं समा रहा है। अब तक कोरोना से हुई मौतों को प्रशासन के रेकॉर्ड में अपडेट करने में नाकाम जिला चिकित्सा विभाग ने कुछ चुनिन्दा चहेते पत्रकारों को बताया कि उन्होंने गाज़ियाबाद जिले को 20 रेमडेसिविर इंजेक्शन  दिलाने में सफलता प्राप्त कर ली है।आपको बता दें कि फेफड़ों में कोरोना वायरस के संक्रमण के पहुंचने पर राम बाण का काम करने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की एक वायल से तीन मरीजों की एक बार की डोज़ बनती है। सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि ये इंजेक्शन सिर्फ तीन माह में एक्सपायर हो जाते हैं। इसीलिए कम संख्या में भेजे गए हैं। जरूरत पड़ने पर और इंजेक्शन मिल जाएंगे।रेमडेसिविर एक एंटीवायरल दवा है, जो गंभीर मरीजों की जिंदगी बचाने में मददगार होती है। एक मरीज को छह डोज देनी होती हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक गाजियाबाद में ऐसे करीब 25 मरीज हैं। सीएमओ ने बताया कि संजयनगर स्थित संयुक्त जिला चिकित्सालय में चल रहे एल-2 और संतोष मेडिकल कॉलेज के एल-3 अस्पताल को 1-1 मरीज के लिए इंजेक्शन दिए गए हैं। इसके अलावा आठ इंजेक्शनों को आरक्षित रखा गया है। उन्होंने बताया कि ये इंजेक्शन अक्टूबर के अंत तक एक्सपायर हो जाएंगे। इससे पहले ही इनका प्रयोग जरूरत के अनुसार किया जाएगा।             


महिलाओं की 68,164 समस्याओं का निस्तारण

अकांशु उपाध्याय


लखनऊ। वीमेन पावर लाइन-1090 द्वारा विशेष अभियान चलाकर बीते माह जुलाई में महिलाओं के प्रति विभिन्न प्रकार के उत्पीड़न से सम्बन्धित 68,164 शिकायतों का निस्तारण किया गया है। इनमें सबसे अधिक मामले वे थे जिनमें महिलाओं को सोशल मीडिया या मोबाइल के माध्यम से पीड़ित किया जा रहा था।अपर पुलिस महानिदेशक  (वीमेन पावर लाइन, 1090) सुश्री नीरा रावत ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि इस अभियान के जुलाई-2020 में 1,64,918 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें से 1,05,238 शिकायतें फोन बुलिंग एवं साइबर बुलिंग से संबंधित थीं। इन शिकायतों में से 68,164 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है साथ ही बाकी बची शिकायतों का निस्तारण भी प्राथमिकता के आधार पर किया जा रहा है। स्टाकिंग एवं अपराध से संबंधित पाये जाने वाले 59,680 शिकायतों को जनपदीय पुलिस, जीआरपी तथा यू0पी0 112 को अंतरित किया गया है।



37 जिलों की महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाले गिरफ्तार


सुश्री नीरा रावत ने बताया कि 1090 टीम द्वारा, महिलाओं के साथ अश्लील हरकत करने व ब्लैकमेल कर रुपये ऐंठने वाले 2 शातिर अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए इनके विरूद्ध भादवि एवं आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के अन्तर्गत थाना-बाघराय, जनपद प्रतापगढ़ में अभियोग पंजीकृत कराकर अभियुक्तों को गिरफ्तार कराया गया। इन अभियुक्तों के विरूद्ध प्रदेश के विभिन्न जनपदों से 37 शिकायतें महिलाओं/लड़कियों द्वारा 1090 में दर्ज करायी गयी थी। वीमेन पावर लाइन-1090 में दर्ज शिकायतों में से ऐसी शिकायतें जिसमें सामान्य काउन्सलिंग के उपरान्त भी आरोपी द्वारा पीड़िता को परेशान किया जाना पाया गया उन शिकायतों का निस्तारण 1090 की विशेष टीम द्वारा आरोपी के एफ़एफ़आर (फैमिली, फ्रेण्ड्स एवं रिलेटिव) काउन्सलिंग के माध्यम से किया गया। माह जुलाई, 2020 में इस प्रकार की प्राप्त कुल 435 शिकायतों में एफ़एफ़आर काउन्सलिंग कर पीड़िताओं को राहत पहुंचायी गयी है।           


बच्चों की शिक्षा में सरकार बनी बाधा

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जनपद समेत पूरे देश में स्कूल बंद हैं और बच्चे शिक्षा के लिए ऑनलाइन क्लासों पर ही निर्भर हैं। अब गाज़ियाबाद के सरकारी स्कूलों में भी क्लासें ऑनलाइन ही चल रही हैं। जहां एक ओर निजी स्कूलों के अभिभावक जैसे-तैसे अपने बच्चों को मोबाइल फोन और लैपटॉप दिला रहे हैं वहीं दूसरी ओर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले गरीब बच्चे संसाधन न होने के कारण ऑनलाइन क्लासों से वंचित हो रहे हैं। ऐसे ही बच्चों की मदद के लिए अब रोटरी क्लब ऑफ गाजियाबाद ग्रेटर ने अपने हाथ बढ़ाए हैं।  क्लब के सरदार जोगेंद्र सिंह ने बताया कि प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में बडी संख्या में ऐसे बच्चे हैं जिनके पास मोबाइल या लैपटाप नहीं है। इससे वे ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। क्लब ने ऐसे बच्चों की मदद के लिए मिशन शिक्षा शुरू किया है। इसके तहत बच्चों को स्मार्ट मोबाइल व लैपटॉप उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए क्लब 100 मोबाइल फोन खरीदेगा। सभी फोन अच्छी क्वालिटी व अच्छी कंपनी के होंगे जिससे बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करते समय किसी प्रकार की कोई दिक्कत ना आए। बच्चों को मोबाइल का बिल भी दिया जाएगा जिससे मोबाइल में कोई कमी दिखाई देने पर वे उसे सही करा सके। सरदार जोगेंद्र सिंह ने बताया कि पढाई मिशन से प्राइवेट स्कूलों को भी जोडा जाएगा और उनसे भी सहयोग लिया जाएगा ताकि अधिक से अधिक बच्चों की मदद हो सके। उन्होंने लोगों से भी की अगर उनके पास कोई अतिरिक्त या पुराना मोबाइन व लैपटॉप है तो वे लिट्रेरसी चेयर प्रशांत राज शर्मा से संपर्क कर सकता है। कोई बच्चों को नया मोबाइल या लैपटॉप देना चाहे तो वह भी दे सकता है। सभी मोबाइल व लैपटॉप जिला विद्यालय निरीक्षक रविदत्त शर्मा को दिए जाएंगे और वे ही ऐसे बच्चों का चयन कर उनका वितरण करेंगे।           


गाजियाबाद डीएम की पढ़ाई-लिखाई फुर्र

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय भले इस जिले के अस्पतालों में उपलब्ध सुख सुविधाओं के बारे में लाख दावे करते रहें मगर जिले में तैनात अधिकारियों को ही सरकारी सुविधाओं पर भरोसा नहीं है।  यही कारण है कि जिले में कोरोना संक्रमित होने वाले सभी अधिकारी निजी अस्पतालों में अपना उपचार करवा रहे हैं। ताजा मामला जिले के एक सरकारी अस्पताल से जुड़ा है। अस्पताल के मुखिया कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए। उन्हें नोएडा के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। जिले में कोरोना संक्रमितों के उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी प्रकार की व्यवस्थाएं की गई हैं। जिले में एल-1, एल-2 और एल-3 स्तर के अस्पताल हैं। इसके अलावा जिले के 10 निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों का उपचार किया जा रहा है, जिनके 20 प्रतिशत बेड स्वास्थ्य विभाग ने रिजर्व किए हैं। इसके बावजूद जिले से गंभीर मरीजों को रेफर किया गया। शासन स्तर से फटकार पड़ने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों को मेरठ और दिल्ली रेफर करना बंद किया।


प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग आम जनता के लिए भले ही जिले में सभी व्यवस्थाएं होने के दावे कर रहा है लेकिन, सरकारी अधिकारियों को ही सरकारी व्यवस्थाओं पर भरोसा नहीं है। जिले में कोरोना संक्रमण की शुरूआत में ही एक सरकारी डॉक्टर संक्रमित हुए थे, जिन्हें एल-2 संयुक्त अस्पताल में भर्ती करके उपचार किया गया था। हालांकि उन्होंने अस्पताल में अव्यवस्थाओं की शिकायत शासन तक कर दी थी। पिछले दिनों जिले में तैनात कई अधिकारी कोरोना संक्रमण का शिकार हुए। सभी को निजी अस्पतालों में ही भर्ती करवाया गया। जिले में तैनात एडीएम भी कोरोना संक्रमित हुए, उन्हें कौशांबी के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया फिलहाल वे संक्रमण मुक्त हो चुके हैं।         


गाजियाबाद निगम के भ्रष्टाचार का खुलासा

अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। नगर निगम के टैक्स विभाग में कितना बड़ा भ्रष्टाचार चल रहा है, इसका उदाहरण आज भाजपा पार्षद राजेंद्र त्यागी ने पत्रकारों के सामने दिया। पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि निगम के टैक्स विभाग में तैनात कर्मचारियों की वजह से निगम को हर साल करोड़ों रुपये का नुकसान हो रहा है। शहर के सभी पांच जोन में सैकड़ों संपत्तियों पर अभी तक कर निर्धारण नहीं हुआ है। वहीं जिन संपत्तियों पर कर निर्धारण किया गया है उनमें काफी गड़बड़ी है। मसलन कॉमर्शियल संपत्तियों पर साधारण टैक्स लगाया जा रहा है। दूसरी ओर एक परिसर में स्थित संपत्तियों पर कर लगाने में दोहरा मापदंड अपनाया गया है। इस मामले में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ,  प्रमुख सचिव, नगर आयुक्त को पत्र लिखकर जांच कराने को कहा है।


सर्वे पर खर्च हुए लाखों पर कोई फायदा नहीं 
पूर्व निगम कार्यकारिणी सदस्य ने कहा कि नगर निगम ने एक दशक में दो से तीन बार पूरे शहर में संपत्तियों का सर्वे कराया है। इसमें नगर निगम के लाखों रुपये खर्च हुए हैं। इसके बावजूद निगम के हर जोन में अलग-अलग हजारों सपंत्तियां ऐसी हैं जिनमें आज तक कर नहीं लगाया गया। उन्होंने कहा कि निगम के जोनल कार्यालयों में तैनात कर अधीक्षक एवं अन्य कर्मचारी भ्रष्टाचार में पूरी तरह से लिप्त हैं। ऐसे लोग निगम का कर निर्धारण मानकों के हिसाब से नहीं करते हैं। लोगों को नोटिस भेजकर पैसा ऐंठते है। यही नहीं कॉमर्शियल संपत्तियों को टैक्स निर्धारण करते समय भी एक परिसर में कुछ दुकानों पर संपत्ति कर लगाया जाता है। जबकि उसी परिसर में अन्य दुकानों और संपत्तियों पर कर नहीं लगाया जाता। इसमें भी कर्मचारी बड़ा खेल करते हैं। उन्होंने कहा कि वसुंधरा जोन में हजारों संपत्तियों पर कॉरपेट एरिया पर टैक्स लगाने की बजाय कवर्ड एरिया पर टैक्स लगाया जा रहा है। इससे करोड़ों रुपये राजस्व का नुकसान निगम को हो रहा है। दूसरी ओर निगम के कर्मचारी सुविधा शुल्क लेकर हजारों संपत्तियों पर कॉमर्शियल की बजाय रेजिडेंशियल टैक्स लगा रहे हैं। इसकी वजह से निगम के खजाने को चूना लग रहा है।           


लोनी में शुरू हुआ मोब लीचिंग का मामला

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। बुधवार सुबह ट्रॉनिका सिटी के राम पार्क इलाके में कार के पुर्जे चोरी करने पहुंचे तीन युवकों को लोगों ने घेर कर उनकी जबरदस्त पिटाई की। भीड़ से बचने के लिए भागते समय सलीम नाम का एक चोर नाले में गिर गया, जबकि उसके दो साथी फरार होने में कामयाब हो गए। भीड़ ने सलीम को नाले से निकाल कर उसकी दोबारा पिटाई करनी शुरू कर दी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां बुधवार देर रात उसकी मौत हो गई। मृतक की पहचान सलीम (28) निवासी खुशहाल पार्क, ट्रॉनिका सिटी के रूप में हुई है। सलीम के परिजनों ने अज्ञात लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। एसपी ग्रामीण नीरज कुमार जादौन ने बताया कि कुछ लोग ट्रेस हो गए हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।          


मृतक-904 संक्रमित संख्या- 146, 121

अकाशुं उपाध्याय


नई दिल्ली। देश भर में पिछले 24 घंटे में 46,121 कोरोना संक्रमितों के रोगमुक्त होने से कोरोना रिकवरी दर बढ़कर रिकॉर्ड 67.62 प्रतिशत हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देशभर में पांच अगस्त को कुल 46,121 कोरोना संक्रमित ठीक हुए, जिससे रिकवरी दर बढ़कर 67.62 प्रतिशत हो गयी है। मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक अब तक पूरे देश में 13,28,336 कोरोना संक्रमित रोगमुक्त हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में संक्रमण के रिकॉर्ड 56,282 मामले सामने आये लेकिन इसी अवधि में 46,121 संक्रमित रोगमुक्त हुए और 904 मरीजों की मौत भी हुई। इस समय देश में कोरोना के सक्रिय मामले 5,95,501 हैं और रोगमुक्त मरीजों तथा संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या का फासला बढ़कर अब 7,32,835 हो गया है। पांच अगस्त को सबसे अधिक कोरोना संक्रमित आंध्रप्रदेश में स्वस्थ हुए हैं।


राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान आंध्र प्रदेश में 8,729 कोरोना संक्रमित रोगमुक्त हुए हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र में 6,165, तमिलनाडु में 6,031, कर्नाटक में 5,407, उत्तर प्रदेश में 3,287, पश्चिम बंगाल में 2,078, बिहार में 2,066, असम में 1,471, तेलंगाना में 1,289, ओडिशा में 1,255, केरल में 1,234, गुजरात में 1,057 , राजस्थान में 1,017, दिल्ली में 890 , हरियाणा में 734, मध्यप्रदेश में 615 और जम्मू कश्मीर में 388 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हुए हैं।                       


दो बेटों संग फांसी लगाकर की आत्महत्या

गरियाबंद। पिपरछेड़ी थाना क्षेत्र के मदनपुर गांव में एक पिता ने अपने दो बेटों सहित फांसी लगा ली है। घर की एक ही कमरे में तीनों की लाश अलग-अलग फंदे पर लटकी हुई मिली घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है, वहीं पत्नी इस वक्त हरदी गांव में अपने रिश्तेदार के यहां गई हुई है।


गरियाबंद में हृदय विदारक घटना सामने आई है यहां के मदनपुर गांव के लोगों के होस उस वक्त उड़ गया, जब एक घर में तीन लाशें से फंदे पर लटकी हुई मिली जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ मदनपुर के सहाडा चौक में एकत्र हो गई इसके बाद सूचना पिपरछेड़ी पुलिस को दी गई जिस पर पिपरछेड़ी पुलिस ने उच्चाधिकारियों को सूचना दी एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर समेत पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे वही लोगों के सामने पंचनामा कर लाश फंदे पर से उतरवाई गई पिता तथा दोनों बेटों के शव एक साथ रखे गए दृश्य बेहद भावुक कर देने वाला था कि आखिर किन परिस्थितियों के चलते एक पिता को ऐसा कदम उठाना पड़ा इस सवाल पुलिस समेत मदनपुर के लोगों के मन में घूम रहा हैं।            


मजदूरों को ब्लॉक प्रमुख ने बांंटा प्रमाण-पत्र

प्रवासी मजदूरों को रोजगार हेतु दिया जा रहा प्रशिक्षण


प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके मजदूरों को ब्लाक प्रमुख चायल ने बाटा प्रमाण पत्र


कौशाम्बी। कोरोनावायरस की महामारी के बाद दूसरे प्रांतों में श्रमिक का काम कर परिवार का जीविकोपार्जन करने वाले लोग वापस अपने गांव घर लौट आए हैं लेकिन गांव घर में रोजगार ना होने के चलते उनके सामने दिक्कतें हो रही हैं जिस पर भाजपा की योगी सरकार ने प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने का निर्देश प्रशासन को दिया है।


रोजगार देने के पहले प्रवासी मजदूरों को प्रशिक्षण दिए जाने का निर्देश सरकार ने दे रखा है। इसी निर्देश के तहत चायल विकासखंड के चायल ब्लाक में कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा प्रवासी मजदूरों को रोजगार हेतु 125 दिन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।  प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके मजदूरों को चायल ब्लाक प्रमुख सोनू कुमार ने प्रशिक्षण प्रमाण पत्र वितरित किया गया। प्रशिक्षण प्रमाण पत्र वितरण करने के अवसर पर चायल ब्लाक प्रमुख सोनू कुमार ने कहा कि अभी इस अवसर पर चायल ब्लाक के अंतर्गत आने वाले प्रवासी मजदूरों का ही प्रशिक्षण अभी जारी रहेगा।


राजकुमार


नियम के उल्लंघन पर 25 को नोटिस जारी

अतुल त्यागी


कोरोना नियमों के उल्लंघन पर 25 दुकानदारों को नोटिस


लाईसैंस कैसिंल की चेतावनी


हापुड़। कोरोना पोजेटिव मरीजों की रिपोर्ट नगेटिव मिलनें पर डीएम द्वारा खोले गए बाजारों में कोरोना से बचाव के उपाय ना करने पर खादय विभाग ने जिलें की दुकानों का निरीक्षण कर 25 दुकानदारों को नोटिस दिया है, तथा नियमों का पालन ना करने पर लाईसेंस निलम्बित करनें की चेतावनी दी। जिससेंं दुकानदारों में हड़कंप मच गया। डीएम के निर्देश पर बृहस्पतिवार को खादय सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने जिलें में मिठाई एवं किराना की दुकानों के निरीक्षण किया। डीओ पवन कुमार ने बताया कि दुकानदारों द्वारा मास्क, सेनेटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तों का पालन करने में शिथिलता बरती जा रही है जिस कारण 25 दुकानों को नोटिस जारी किए गए है। उन्होंने बताया कि नियमों का पालन ना करनें वाले दुकानदारों के खादय लाइसेंस रजिस्ट्रेशन निलंबित कर दिए जाएंगे।           


जबरन डिलीवरी के बाद महिला की मौत

अतुल त्यागी


जबरन की गई डिलीवरी के उपरांत महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा


डिलीवरी के उपरांत महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा


हापुड़। कोतवाली के सामने स्थित एक हास्पिटल में जबरन की गई डिलीवरी के उपरांत महिला की मौत हो गई। जिससे परिजनों ने डाक्टर पर लापरवाही व जबरन डिलीवरी करनें का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। हापुड़ कोतवाली के सामनें स्थित पुराने बस अड्डें स्थित एक हास्पिटल में आज बुलन्दशहर रोड़ निवासी ओमपाल अपनी गर्भवती पत्नी को लेकर चेकअप करवाने हास्पिटल आया था।
पीड़ित पति ने बताया कि चेकअप के दौरान डाक्टर ने बिना परिजनों की मर्जी के डिलीवरी कर दी। डाक्टर की लापरवाही से डिलीवरी के उपरांत महिला की मौत हो गई।


घटना का पता चलते ही परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा व गाली गलौज की। मौके पर पहुंची पुलिस ने समझाने का प्रयास किया, परन्तु परिवार वालें डाक्टर पर हत्या का मुकदमा दर्ज करनें व अस्पताल बंद करवाने की मांग कर रहे है।           


युगो-युगो तक मोदी को याद रखेगा हिंदू

श्री राम जन्मभूमि शिलान्यास धारा 370 को युगों-युगों तक याद रखेगा करोड़ों हिन्दू-विभवनाथ भारती


बृजेश केसरवानी 


5 अगस्त को ही दोनो ऐतिहासिक कार्य हुए                 


बैरहना जिलाध्यक्ष आवास पर श्रीराम पूजन-अर्चन रामायण हवन सम्पन्न


प्रयागराज। भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष यमुनापार विभव नाथ भारती ने राममंदिर शिलान्यास के अवसर पर अपने घर बैरहना प्रयागराज मे मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के चित्रों पर माल्यार्पण करते हुए सुन्दरकाण्ड रामायण पाठ के साथ भूमिपूजन व जल्द निर्विघ्न रूप से जल्द मन्दिर निर्माण हेतू प्रार्थना किया। और कहा आज 5 अगस्त का दिन दोबरा इतिहास के पन्नो मे दर्ज हुआ। पहला 5 अगस्त 2019 को एक भारत श्रेष्ठ भारत का सपना मोदी ने जम्बू काश्मीर से धारा 370 को हटाकर स्थापित किया था। और दूसरा आज 5 अगस्त 2020 को मन्दिर निर्माण का शिलान्यास करके इसके कारण करोड़ो हिन्दू  और हिन्दुस्तानी युगों-युगों तक याद किए जाऐगे। मोदी ने धर्म स्थापना का शुभारंभ किया। अब वास्तव मे रामराज्य का शुभारंभ होगा। जिला मीडिया प्रभारी दिलीप कुमार चतुर्वेदी ने कहा श्रीराम लला को जल्द हम लोग भव्यमन्दिर मे दर्शन को आतूर है। देश के प्रधानमंत्री मोदी व मुख्यमंत्री का हृदय से शिलान्यास के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही हजारो कारसेवको श्री राम भक्तो को नमन किया। इस अवसर पर भाजपा नेता प्रीतम पान्डेय, रंजीत पाल,राज सरोज, मिथिलेश पान्डेय,प्रदीप कुमार मिश्र, आषूतोष तिवारी आदि कार्यकर्त्ताओ ने सुन्दर कांड के पाठ मे सम्मलित हुए और सायं घरो मे दीप प्रज्जलित करके दीपोत्सव करते हुए घरो को दिए से जगमग किया।             


राममंदिर शिलान्यास पर संजीवनी उत्सव

राममंदिर शिलान्यास पर संजीवनी उत्सव
बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। अयोध्या में लगभग 500 सालों से प्रतीक्षारत राममंदिर शिलान्यास के शुभ अवसर पर संजीवनी द्वारा दीपोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर संजीवनी सदस्यों द्वारा रंगोली बनाई गई दिए जलाए गए लोगो को मास्क और बिस्किट बांटा गया और भजन कीर्तन, नृत्य करके खुशियां मनाई गई। इस अवसर पर संजीवनी अध्यक्ष जूही जायसवाल जी ने कहा कि जब कोई 5 दिन या 5 महीने इंतजार के बाद किसी को प्राप्त करता है तो कितना खुश होता है फिर तो यह 500 सालों की प्रतीक्षा का फल है। इस अवसर पर संजीवनी के संरक्षक संजय मिश्रा, गुंजन निषाद, कृपाशंकर त्रिपाठी, गौरव मिश्रा, रेनु जायसवाल, पीयूष मारवाड़ी, आरती केसरी, शशांक जायसवाल मौजूद थे।         


वकील पर घर में दबंगों का जानलेवा हमला

अधिवक्ता के घर पर चढ़कर दबंगों ने किया जानलेवा हमला 


बृजेश केसरवानी 


प्रयागराज। बदमाशों में कानून का भय समाप्त हो गया जिसका जीता जागता उदहारण प्रयागराज के अलोपीबाग में देखने को मिला। बता दें कि राज सोनकर जनपद न्यायालय में अधिवक्ता है और पंजाबी कालोनी में उनका निवास है कुछ दिनों से उनके मुहल्ले में मटियारा रोड निवासी अमन,सागर जो स्मैक बेचने के धंधे में लिप्त हैं इधर बीच पंजाबी कालोनी के पास भी अपना स्मैक के अवैध कारोबार शुरू कर दिया तो अधिवक्ता राज सोनकर ने इसका विरोध किया तो दोनो दबंगो का अधिवक्ता से तू तू मैं हो गयी और देख लेने की धमकी देते हुए चले गए। किन्तु बीती रात वो पुनः तीन चार लोगों के साथ वापस आये और अधिवक्ता के घर के बाहर गाली देते हुए बाहर निकलने की धमकी देने लगे। 
अधिवक्ता (राज सोनकर उर्फ राजन) जब घर का दरवाजा खोल कर बाहर आये तो हमलावरो ने उनपर 2 राउंड फायरिंग की और असलहा लहराते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। घटना की लिखित सूचना पर थाना दारागंज में मुकदमा पंजीकृत हुआ है इस मामले अभी तक किसी की गिरफ्तारी नही हो सकी है।                 


100 लीटर कच्ची शराब, लहान नष्ट किया

अतुल त्यागी


कोरोना महामारी में अवैध शराब को लेकर बीति शाम आबकारी विभाग द्वारा की गई कार्यवाही, 100 लीटर कच्ची अवैध शराब बरामद कर मुकदमा किया गया दर्ज। 200 ली0 लहन किया नष्ट।


हापुड़। जिलाधिकारी अदिति सिंह द्वारा दिये गये आदेशों के क्रम में जिला आबकारी अधिकारी महेंद्र नाथ सिंह के  निर्देशन में कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए अवैध शराब के विरुद्ध चलाये जा रहे निरंतर अभियान के क्रम में बीति शाम आबकारी निरीक्षक विकास चौधरी ने अपने अधीनस्थ स्टाफ ,दिनेश कुमार(प्र०आ०सि०),मो०मुज़म्मिल, पंकज चौधरी , जगदीश कांडपाल (आ०सि०) को साथ लेकर मुखबिर खास से प्राप्त सूचना के आधार पर दिनांक 04/08/2020 को मौहल्ला  सुजलान पिलखुवा मे सुनील के घर दबिश  दी दबिश के दौरान 100 ली॰ कच्ची शराब  व कच्ची शराब बनाने के उपकरण बरामद हुए व लगभग 200 लीटर लहन नष्ट किया गया। अभियुक्त सुनील पुत्र पदंम सिंह के विरूद्ध  आबकारी अधिनियम की सुसंगत धाराओ मे थाना पिलखुवा मे मुकदमा पंजी० कराया गया। यह जानकारी जिला आबकारी अधिकारी महेंद्र नाथ सिंह के द्वारा दी गई है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देशन में अवैध शराब के कारोबार पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से आगे भी इसी प्रकार निरंतर कार्यवाही जारी रहेगी।                   


घुसपैठ को लेकर सच नहीं बोल रहे 'पीएम'

नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लद्दाख में चीनी घुसपैठ को लेकर सच नहीं बोल रहे हैं और उन्हें इस संबंध में झूठ बोलने की वजह देश की जनता को बतानी चाहिए।
गांधी ने मोदी से कहा कि वह गलत सूचना देश को दे रहे है, जबकि खबरों में कहा जा रहा है कि रक्षा मंत्रालय की मई माह की रिपोर्ट में स्पष्ट कहा गया है कि चीन ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की है। मंत्रालय की रिपोर्ट में इस संबंध में विस्तृत विवरण दिया गया है।
कांग्रेस नेता ने इस रिपोर्ट में दिए गए विवरण को लेकर एक समाचार पत्र में छपी खबर पोस्ट करते हुए ट्वीट किया प्रधानमंत्री झूठ क्यों बोल रहे हैं।           


कोरोना मामलों में भारत ने ब्राजील को पछाड़ा

अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। अमेरिका और ब्राजील से भी ज्यादा मामले भारत में दर्ज किए जा रहे हैं। बीतें दिन 56,282 कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए हैं, 904 लोगों की मौत भी हुई है। जबकि अमेरिका और ब्राजील में बीते दिन क्रमश: 55,100 और 54,685 मामले आए. वहीं क्रमश: 1,306 और 1,322 मौतें हुई।


स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कुल संक्रमितों की संख्या 19 लाख 64 हजार 536 हो गई है। इनमें पांच लाख 95 हजार एक्टिव केस हैं तो वहीं 13 लाख 28 हजार से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अबतक 40 हजार 699 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। इसके साथ भारत में संक्रमण से मौत की दर यानी मृत्यु दर भी 2.07% हो गई है। मृत्यु दर में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। 5 अगस्त तक भारत में अब तक 2,21,49,351 सैंपल टेस्ट किए गए है, वहीं 5 अगस्त को एक दिन में 6,64,949 सैंपल टेस्ट किए गए है।


भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश


कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है। अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है। लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है। भारत से अधिक मामले अमेरिका (4,973,520), ब्राजील (2,862,761) में हैं। देश में कोरोना मामले बढ़ने की रफ्तार भी दुनिया में तीसरे नंबर पर बनी हुई है।


एक्टिव केस के मामले में टॉप-5 राज्य


आंकड़ों के मुताबिक, देश में इस वक्त करीब छह लाख कोरोना के एक्टिव केस हैं। सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में है।महाराष्ट्र में सवा लाख से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर कर्नाटक, चौथे नंबर पर आंध्र प्रदेश और पांचवे नंबर पर दिल्ली है। इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं।एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का तीसरा स्थान है। यानी कि भारत ऐसा तीसरा देश है, जहां फिलहाल सबसे ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है।         


बिहार में तेजी से फैल रहा है संक्रमण

 पटना। बिहार में जानलेवा कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इस वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। हर दिन सैकड़ों की संख्या में मरीजों का इजाफा हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से ताजा अपडेट जारी की गई है।


इस अपडेट के मुताबिक बिहार में 3416 लोग कोरोना पॉजिटव मिले हैं। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 68148 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के जारी लिस्ट के अनुसार हर रोज की अपेक्षा पटना में कोरोना के आज कम मरीज मिले हैं। आज 603 कोरोना के मरीज मिले हैं। लॉकडाउन के बाद भी यहां तेजी के संक्रमण बढ़ता जा रहा है। सारण में भी कोरोना का कोहराम जारी है। आज फिर 94 कोरोना के मरीज मिले हैं। बेगूसराय में 66,बक्सर में 92, भोजपुर में 90 कोरोना के मरीज मिले हैं। मुजफ्फरपुर में 118 कोरोना के मरीज मिले हैं। कटिहार में 234 ,नवादा में 43, रोहतास में 106 कोरोना के मरीज मिले है। आज के लिस्ट के अनुसार कई जिलों में आज मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है।                 


बीएड दूसरा वर्ष परीक्षा समय निर्धारित

राकेश कुमार 

गाजीपुर। उत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड (द्विवर्षीय) 09 अगस्त रविवार को जनपद में सुचितापूर्ण, नकलविहीन, सकुशल सम्पन्न कराये जाने के उद्देश्य से आज डीएम ओम प्रकाश आर्य की अध्यक्षता में बैठक राईफल क्लब सभागार में हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि बीएड प्रवेश परीक्षा रविवार को दो पालियो में आयोजित होगी। परीक्षा प्रथमपाली में पूर्वान्ह 09 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा द्वितीय पाली अपरान्ह 02 बजे से सायं 05 बजे तक आयोजित होगी। परीक्षा को सम्पन्न कराने हेतु जनपद को तीन जोन में विभक्त किया गया है । जिसमें 15 सेक्टर मजिस्ट्रेटो की तैनाती की गयी है। जनपद में 6700 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मलित होगे।

 

जिलाधिकारी ने परीक्षा से पूर्व जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिया कि प्रत्येक परीक्षा केन्द्रो का स्थलीय निरीक्षण करते हुए । वहा की सारी मूलभूत सुविधाएॅ,व्यवस्थाएॅ चेक कर ले केन्द्रो पर कोविड-19 से बचाव हेतु जो भी गाईड लाईन है उसका प्रत्येक दशा में पालनकिया जाये। प्रत्येक परीक्षा केन्द्रो पर दो गेट बनाया जाये, वहां पेयजल,सेनेटाईजर , टैम्परेचर मशीन,पल्स आक्सीमीटर तथा कम से कम चार पी पी ई किटअवश्य रखा जाये।  

 

परीक्षा प्रारम्भ होने से पूर्व यानी की प्रथम पाली वं द्वितीय पाली से पूर्व कक्षो का सेनेटाईजेशन प्रत्येक दशा में करा लिया जाये। परीक्षा को सम्पन्न कराने में लगे अधिकारी एवं कर्मचारी मास्क, हैण्डग्लब्स, एंव सेनेटाईजर का प्रयोग प्रत्येक दशा में करते हुए छात्रो को गेट पर प्रवेश के दौरान  मास्क, सेनेटाईजर की व्यवस्था की जाये। दोनो पालियो की परीक्षा सी सी टी वी के निगरानी में सम्पन्न होगी। परीक्षा केन्द्रो पर मोबाईल, इलेक्ट्रानिक्स डिवाईस एंव अन्य नकल कराने की वस्तुएॅ, पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगी.

 

प्रत्येक केन्द्र पर दो पर्यवेक्षक नामित है जिनकी उपस्थिति में ही प्रश्न पत्र खोलें जायेगे। जिन परीक्षा केन्द्रो पर 500 से अधिक छात्र है वहां 02  तथा 300 छात्रो पर एक केन्द्र व्यवस्थापक अतिरिक्त लगाये जायेगें। पुलिस की व्यवस्था रहेगी। परीक्षा केन्द्रो के पॉच सौ मीटर की परिधि में धारा 144 लागू रहेगी। विद्यालय परिसर में कोई भी अनजान व्यक्ति उपस्थित नही रहेगा,विद्यालय की लाईब्रेरी शील रहेगी, आस-पास कोई भी फोटो स्टेट की दुकाने न खोली जाये  और ऐसी वस्तुए जिनसे नकल की सम्भावना  हो मौजूद न रहे, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कर लिया जाये। उन्होने बताया कि हमारा जनपद एडिसनल सेन्टर के रूप  में है। 

 

परीक्षा को एक आदर्श परीक्षा के रूप  मे सफल बनाकर जनपद का नाम गौरवांन्वित करते हुए आगे भी बड़ी परीक्षाओ को कराने में सहयोग प्रदान करेगें। परीक्षा में कही से किसी प्रकार की नकल की शिकायत न मिले जिससे जनपद की गरिमा पर दाग लगे इस हेतु परीक्षा को सकुशल, नकलविहीन एंव सुचितापूर्ण सम्पन्न कराना हमारा परम कर्तव्य है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बी एड प्रवेश परीक्षा को सम्पन्न कराने को शासन की जारी गाईड लाईन की जानकारी दी। बैठक में अपरजिलाधिकारी राजेश कुमार सिंह, मुख्य राजस्व अधिकारी,समस्त सेक्टर जोन मजिस्ट्रेट,समस्त उपजिलाधिकारी, जिला विद्यालन निरीक्षक, एवं अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थें।             

फैसलाः रायपुर में बस नहीं चलाई जाएगी

रायपुर। राजधानी में लॉकडान की मियाद आज खत्म हो रही है। बस मालिकों ने फैसला किया है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी राजधानी से बसें नहीं चलाए जाएंगे। संचालकों के मुताबिक जुलाई में 15 दिन तक बस चलाई गई लेकिन टैक्स पूरा महीने का वसूल किया गया है।


इस मसले को लेकर बस मालिकों ने अपनी 7 सूत्रीय मांगों को लेकर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू को ज्ञापन सौंपा है। बस मालिकों के मुताबिक मांगों पर फैसला लिया जाएगा तभी बसें दोबारा संचालित की जाएंगी। बता दें बसें संचालित होने के बाद भी लोग सफर करने से परहेज कर रहे हैं। संचालकों के मुताबिक कम सवारी होने के कारण डीजल का पैसा भी नहीं निकल पा रहा है। कोरोना के कारण सवारी की कमी उपर से पूरा टैक्स वसूली से उन्हें लगातार घाटा हो रहा है।         


जम्मू-कश्मीर का नया राज्यपाल नियुक्त

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के नए उप राज्यपाल (एलजी) पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता मनोज सिन्हा होंगे। समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी है कि जीसी मूर्मू के इस्तीफे को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकार कर लिया है और उन्होंने मनोज सिन्हा को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का नया उप राज्यपाल नियुक्त किया है।दरअसल, बुधवार शाम को गिरीश चंद्र मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। मुर्मू ने ऐसे वक्त में इस्तीफा दिया है, जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के एक साल पूरे हुए।           


रेतघाट में माफियाओं पर की गई कार्रवाई

कोरबा। कोरबा में पहली बार कलेक्टर और एसपी ने रेतघाट में माफियाओं पर कार्रवाई की है। जिला प्रशासन सहित पुलिस महकमा लगातार रेत माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।


पिछले दिनों हमने दिखाया था कि कैसे रात के अंधेरे का फायदा उठाकर माफिया भिलाईखुर्द में अवैध घाट बनाकर हर रोज 50 हाइवा से अधिक रेत की चोरी कर रहे है। ख़बर के बाद हरकत में आए कलेक्टर किरण कौशल सहित एसपी अभिषेक मीणा ने भिलाईखुर्द स्थित अवैध रेतघाट में छापा मारा। इस दौरान मौके पर चैन माउंटेंड पोकलेन मशीन को जब्त किया गया। जब्त मशीन भाजपा पार्षद चंद्रलोक सिंह के भाई अखिलेश सिंह की बताई जा रही है जिसको खनिज विभाग ने नोटिस जारी किया है।
दो दिन पहले इसी नेता के भाई की एक रेत से भरी हाइवा को भी खनिज विभाग ने जब्त किया था। सूत्रों की माने तो इस अवैध करोबार में भाजपा सहित कांग्रेस और जोगी कांग्रेस के कई नेताओं का हाथ है जो हर रोज करीब 5 लाख के रेत की चोरी कर रहे थे।         


अदभुतः दिस इज अनटोल्ड लव स्टोरी

पंकज कपूर


नैनीताल। प्यार की कई अनकही कहानियां आपने सुनी होगी, लेकिन प्यार में डूबा इंसान इस हद तक गुजर सकता है… ऐसा सोचना भी समाज पाप माना जाता है। प्यार में अक्सर लड़ाई- झगड़े की नौबत आ जाती है।


प्यार को पाने में प्रेमी या प्रेमिका किसी को किसी भी हद तक जाते देखे- सुना गया हैं। लेकिन यहां मामला अलग हैं। उत्तराखंड के नैनीताल में रहने वालीं दो लड़कियां अपनी सीनियर के प्यार में पागल हो गई हैं।लेस्बियन प्रवृत्ति की ये दोनों लड़कियां अपने प्यार को पाने के लिया अक्सर सड़कों पर ड्रामा करते देखी जाती हैं। एक- दूसरे को देखकर खून की प्यासी हो जाती हैं। ये अपनी जान तक देने की कोशिश कर चुकी हैं।


मामला तल्लीताल थाना क्षेत्र का है। थाना इंचार्ज विजय मेहता के मुताबिक दोनों लड़कियों की काउंसिलिंग कराई गयी है, जिससे वे खुद को काबू कर सकें। बता दें कि इनमें से एक 15 साल की लड़की ने 27 जून को नैनीताल झील में कूदकर सुसाइड करने की कोशिश की थी।


हालांकि वहां मौजूद एक युवक ने उसे बचा लिया था। दोनों लड़कियां 10वीं में पढ़ती हैं और एक ही शहर में रहती हैं। हाल ही में मालरोड पर दोनों लड़कियों के बीच मारपीट हो गई। दोनों एक- दूसरे को जान से मारने पर उतर आईं। लोगों के रोकने पर भी नहीं रुकीं, तब पुलिस को बुलाना पड़ा। ये दोनों जिस सीनियर से प्यार करती हैं, वो इनमें से किसी एक के साथ रिश्ते में है। सीनियर 12वीं पास है। दूसरी लड़की को यह पसंद नहीं है। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा होता है।            


सेना में फैला संक्रमण, 70 जवान संक्रमित

कविता गर्ग


जबलपुर। कोरोना वायरस का संक्रमण अब सेना तक पहुंच गया है। जबलपुर में सेना की विभिन्न इकाइयों में तैनात स्टाफ बड़ी संख्या में संक्रमित हो गया है। अब तक 70 से ज़्यादा जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है।


देश की रक्षा में दिन रात जुटे रहने वाले सैनिक भी कोरोना की जद में फंस गए हैं। जबलपुर स्थित सेना की अलग अलग रेजिमेंट और प्रशिक्षण संस्थानो में जवान संक्रमित हो रहे हैं। अब तक 70 से ज्यादा जवान कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। बीते 3 दिन के अंदर ही जबलपुर शहर में करीब 45 सैनिक कोरोना संक्रमित पाए गए हैं और लगातार यह सिलसिला जारी है।


स्वास्थ्य सर्वे


सेना में कोरोना संक्रमण से जिले का स्वास्थ्य विभाग भी खासा चिंतित है। इस सिलसिले में स्वास्थ्य विभाग की ओर से आर्मी अस्पताल का एक सर्वे भी कराया गया था। स्वास्थ्य विभाग के निरीक्षण में यह पाया गया कि सेना के क्वारेंटीन सेंटर में कोरोना संक्रमितों के साथ ऐसे संदेही मरीजों को भी रखा जा रहा था जिनमें जिन में कोरोना के लक्षण थे। इसलिए में संक्रमण और अधिक बढ़ता गया।


व्यवस्था में खामी-CMHO


ज़िले के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रत्नेश कुरारिया के मुताबिक बुधवार को ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आर्मी अस्पताल का निरीक्षण किया था। वहां क्वारेंटीन सेंटर में कुछ कमी मिलने पर उन्हें ठीक करने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना संक्रमण की जद में अब हर तबके का व्यक्ति आता जा रहा है। जबलपुर स्थित जैक राइफल्स हो या जीआरसी या फिर आईटीबीपी के जवान सभी में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल चुका है। सैन्य संस्थानों में इसकी रफ्तार और अधिक ना बढ़े हर कोई इस प्रयास में जुटा हुआ है।


सीएम निवास पर 22 कर्मी संक्रमित

कविता गर्ग


रांची। झारखंड में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर 5 अगस्त का दिन चिंता बढ़ाने वाला था। बीते बुधवार को झारखंड में कोविड-19 के मरीजों के मिलने के सारे रिकॉर्ड टूट गए। एक ही दिन में सबसे ज्यादा 978 नए संक्रमित मरीजों की पहचान की गई। इनमें से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निवास के 22 स्टाफ भी शामिल हैं। नए मरीजों में गोड्डा में सबसे ज्यादा 339, रांची में 141, बोकारो में 71 और पूर्वी सिंहभूम में 72 पॉजिटिव केस शामिल हैं। इस आंकड़े ने राज्य सरकार की चिंता बढ़ा दी है।


झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या 15 हजार के पार पहुंच गयी है। 5 अगस्त को राज्य के 23 जिलों में 978 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये हैं। राज्य में अब कोरोना के एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 9086 तक पहुंच गई है। बीते 5 अगस्त तक की स्थिति में 584 कोरोना पॉजिटिव के ठीक होने के बाद कोरोना को परास्त करने वालों की संख्या बढ़कर 5826 हो गयी है।


7 संक्रमित की मौत


5 अगस्त को झारखण्ड में इलाज के दौरान 7 संक्रमित मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 136 हो गयी है. पूर्वी सिंहभूम में 1, गिरिडीह में 1, खूंटी में 1, रांची में 3 और पश्चिमी सिंहभूम में 1 कोरोना मरीज की मौत इलाज के दौरान हो गयी।


किस जिले में मिले कितने पॉजिटिव


5 अगस्त को राज्य के बोकारो में 71, चतरा में 4, देवघर में 35, धनबाद में 6, दुमका में 26, पूर्वी सिंहभूम में 72, गढ़वा में 16, गिरिडीह में 7, गोड्डा में 339, गुमला में 12, हजारीबाग में 27, जामताड़ा में 4, खूंटी में 27, कोडरमा में 6, लातेहार में 14, लोहरदगा में 2, पाकुड़ में 33, पलामू में 51, रांची में 141, साहेबगंज में 25, सराईकेला में 9, सिमडेगा में 17 और पश्चिमी सिंहभूम में 34 नए पॉजिटिव मिले।


झारखंड में और तेज हुई कोरोना की रफ्तार


बीते बुधवार को भले ही 584 कोरोना पॉजिटिव के ठीक होने की खबर थोड़ी राहत वाली हो, लेकिन चिंताजनक स्थिति यह है कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ती ही जा रही है। कोरोना के रिकॉर्ड 978 नए केस मिलने के साथ ही राज्य में कोरोना का ग्रोथ रेट 5.97% हो गया है। जबकि देश में यह 3.31% की रफ्तार से बढ़ रहा है। इसी तरह राज्य में कोरोना का डबलिंग जहां महज 11.95 दिन का है. वहीं देश का यह 21.44 दिन है। रिकवरी रेट में भी जहां देश मे 65.73% लोग ठीक हो रहे हैं तो झारखण्ड में यह महज 38.71% ही है।


भारत में कोरोना जांच की दर बहुत कम


हैदराबाद। विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन का कहना है कि भारत में कोरोना की टेस्टिंग की दर उन देशों की तुलना में कम है, जो इसे रोकने का सफल प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन एक तात्कालिक उपाय था। मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन तैयार करने में अधिक समय लग सकता है क्योंकि अभी भी हम पूरी तरह से इस वायरस को नहीं समझ पाए हैं।


वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हैदराबाद में आयोजित ‘द वैक्सीन रेसः बैलेंसिंग साइंस एंड अर्जेंसी’ नामक एक पैनल डिस्कशन को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि कोवैक्स का उद्देश्य 2021 के अंत तक कोरोना वैक्सीन की दो अरब डोज तैयार करना है। स्वामीनाथन ने कहा कि मौजूदा समय में कोरोना वायरस के 28 टीके क्लीनिकल ट्रायल के दौर में हैं। इनमें से पांच वैक्सीन के दूसरे चरण का परीक्षण चल रहा है।


इसके अलावा दुनियाभर में 150 से अधिक वैक्सीन क्लीनिकल परीक्षण से पहले के दौर में हैं। उन्होंने कहा कि भारत में जर्मनी, ताइवान, दक्षिण कोरिया, जापान जैसे देशों की तुलना में कोरोना की टेस्टिंग दर काफी कम है. यहां तक कि अमेरिका में भी बड़ी आबादी की कोरोना जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि पर्याप्त संख्या में जांच किए बगैर वायरस से लड़ना आंख पर पट्टी बांधकर आग से लड़ने के समान है। स्वामीनाथन के मुताबिक, कोविड-19 की टेस्टिंग में अगर पॉजिटिव पाए जाने की दर पांच फीसदी से अधिक है तो पर्याप्त संख्या में जांच नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक समुदाय अब भी कोरोना वायरस के प्रति शरीर की प्रतिरोधक क्षमता का अध्ययन कर रहा है और अगले 12 महीने जन स्वास्थ्य एवं सामाजिक उपायों को ठीक करने में महत्वपूर्ण है।



डब्ल्यूएचओ की अधिकारी ने कहा, ‘हमें पता है कि लॉकडाउन अस्थाई उपाय है जो प्रसार को कम करता है क्योंकि यह लोगों को एक-दूसरे के नजदीक आने से रोकता है। स्वामीनाथन ने  वैक्सीन के परीक्षण के बारे में कहा कि डब्ल्यूएचओ ने इसके लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। अगर टीके के सटीक प्रभाव की दर 70 फीसदी रही तो इसे अच्छा माना जाएगा।


आइसीयू वार्ड में आग लगने से 8 की मौत

अहमदाबाद। अहमदाबाद में कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए चिह्नित एक निजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में आग लगने से बृहस्पतिवार को आठ मरीजों की मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि अहमदाबाद में नवरंगपुर इलाके के श्रेय अस्पताल में बृहस्पतिवार तड़के आग लग गई।


उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड-19 के करीब 40 अन्य मरीजों को बचा लिया गया और उन्हें शहर के एक अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अधिकारी ने बताया कि आग लगने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है।             


चीन की घेराबंदी, हम मंदिर बना रहे हैं

हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। पड़ोसी देश चीन के साथ हाल ही में हुए विवाद के बाद सीमा पर तनाव बढ़ा है। हालांकि युद्ध जैसी स्थिति बनने के बाद अब मामले में थोड़ी सी नरमी देखी गई है और कुछ दिनों से शांति की खबर आ रही है मगर पड़ोसी देश की अपनी सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद कर रहा है। तमाम सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़क निर्माण करने के बाद चीन हिमाचल से जुड़े सीमा क्षेत्र में सड़क का निर्माण कर रहा है/ इस बात का दावा करते हुए कॉलमकार सौमित्र रॉय लिखते हैं-अरुणाचल, सिक्किम, लद्दाख के बाद अब चीन हिमाचल प्रदेश से लगी सीमा में भी सड़क बना रहा है। हिमाचल की चीन के साथ 240 किमी की सरहद है। किन्नौर के 36 और लाहुल-स्पिति के 12 गांव सरहद पर हैं। किन्नौर का खूबसूरत कस्बा पूह उनमें से एक है।


चीन की गुस्ताखी के बाद राज्य की बीजेपी सरकार को अब ऊंचे पहाड़ों में सड़क बनाने की याद आई है। राज्य के डीजीपी ने रक्षा मंत्रालय और NSA के सामने प्रेजेंटेशन दिया है। बिलासपुर-लेह के बीच 465 किलोमीटर की रेल परियोजना का काम अभी नक्शे तक सीमित है। सड़क से यह लगभग 2 दिन का रास्ता है। चीन ने 1100 किमी का चिंगहई-तिब्बत रेलमार्ग बना लिया है। हिमाचल की आधी सड़कें हर साल बारिश में बह जाती हैं। भारत को बुलेट ट्रेन की नहीं, रेल संपर्क की ज़रूरत है। चीन यह याद दिला रहा है। बहरहाल, चीन इस बार दूरगामी सोच के साथ काम कर रहा है। हम मंदिर बना रहे हैं।               


संविधान व लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा

लखनऊ। जब राम मंदिर/बाबरी मस्जिद विवाद पर माननीय उच्चतम न्यायालय ने एक फैसला दे दिया तो उस से सहमत/असहमत होते हुए भी लोकतान्त्रिक नागरिक समाज ने इच्छा व्यक्त की थी कि चलिए एक विवाद हल हुआ और अब सत्ता प्रतिष्ठान द्वारा फिलहाल धर्म और राजनीति को मिलाने की कोशिश न करके लोगों के सवालों के समाधान के लिए राजनीति होगी और लोगों की धार्मिक भावनाओं का उपयोग निजी दल और राजनीतिक फायदे के लिए नहीं होगा।


दुर्भाग्यवश 5 अगस्त, 2020 के दिन को देश को यह सन्देश देने के लिए चुना गया कि भारतीय जनता पार्टी आरएसएस की नीति और दर्शन के अनुसार संविधान की धारा 370 को हटाने और अयोध्या में राम मंदिर बनाने में सफल हुयी है और यह संघ के दर्शन और नीति की जीत है। उसके लिए 5 अगस्त एक ऐतिहासिक दिन है। जबकि सच्चाई यह है कि जम्मू-कश्मीर की समस्या और भी जटिल हो गयी है और पूरा कश्मीर धीरे-धीरे एक जेलखाने में तब्दील होता जा रहा है। न वहां विकास हुआ है और न ही शांति या स्थिरता आयी। जम्मू-कश्मीर के बारे में मोदी सरकार की जो दुस्साहसिक नीति थी उसने पाकिस्तान में भी यह साहस पैदा कर दिया है कि वह जूनागढ़ से लेकर जम्मू-कश्मीर तक को अपने नए राजनीतिक नक़्शे में पाकिस्तान का हिस्सा कहने का अनर्गल प्रलाप कर रहा है जबकि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद और गहरा हो गया है। अमेरिका कोई भारत के पक्ष में खड़ा होता दिखाई नहीं दे रहा है बल्कि भारत और चीन के बीच मध्यस्तता की बात करता दिखाई दे रहा है।


देश गहरे आर्थिक संकट, बेरोज़गारी और भुखमरी के दौर से गुज़र रहा है और अंधी गली में फंस गया है। उत्तर प्रदेश में पुलिस राज चल रहा है और माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेशों तक का अनुपालन नहीं हो रहा है। कोविड के मरीज़ गहरे संकट का सामना कर रहे हैं। मोदी सरकार ने संविधान और लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा पैदा कर दिया है। अब तो देश की संप्रभुता तक खतरे में है।


मुंबईः भारी बारिश के कारण समस्याएँ बढ़ी

मुंबई। मुंबई में मूसलाधारा बारिश और तेज हवाओं ने मुंबई की रफ्तार रोक, मायानगरी वालों को पूरी तरह से परेशान कर दिया है। बुधवार को 12 घंटे की बारिश से मुंबई के सबी इलाके जलमग्न हो गए , पेड़ गिर गए, रेल सेवा ठप हो गई, हाईवे बंद हो गए, सड़कें डूब गईं और घरों में पानी घुस गया। मुंबई की इस बारिश ने लोगों का एक बार फिर से जीना मुहाल कर दिया है। मुंबई में आज भी बारिश की चेतावनी दी गई है और रेड अलर्ट जारी किया गया है।


मुंबई में बुधवार को लगातार हुई बारिश के कहर का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दक्षिण मुंबई के कोलाबा मौसम स्टेशन ने महज 12 घंटे में (सुबह 8.30 से रात 8.30 बजे तक) 293.8 मिमी बारिश दर्ज की है। दक्षिण मुंबई के लोगों ने 46 साल बाद अगस्त के महीने में ऐसी बारिश देखी है। साल 1974 के बाद (जब से मौसम विभाग ने रिकॉर्ड रखना शुरू किया) अगस्त महीने में 24 घंटे में यह अब तक की सबसे भीषण बारिश है। यह जानकारी मौसम विभाग ने दी है। इससे पहले 1998 में 10 अगस्त को 24 घंटे में सबसे अधिक 261.9 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। वहीं, कोलाबा क्षेत्र में हवा की रफ्तार 70 किलोमीटर प्रतिघंटे से लेकर 80 किलोमीटर प्रति घंटे थी, मगर शाम में करीब पांच से साढ़े पांच बजे यह रफ्तार 107 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच गई। यहां ध्यान देने वाली बात है कि हवा की यह स्पीड साइक्लोन से भी अधिक थी क्योंकि निसर्ग साइक्लोन के वक्त हवा की रफ्तार 92 किलोमीटर प्रति घंटे दर्द की गई थी।


मुंबई में बारिश के दिनों में हवा की सामान्य रफ्तार 10 से 15 किलोमीटर प्रतिघंटे होती है। वहीं तेज बारिश के दौरान इसकी स्पीड 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे हो जाती है। शहर में अब तक 1 जून से 5 अगस्त (8.30 बजे) के बीच 2066 मिमी के मौसमी औसत के मुकाबले 2,366 मिमी बारिश हुई है। सांताक्रूज़ मौसम केंद्र ने अपने मौसमी औसत 2260.4 मिमी की तुलना में इसी अवधि के दौरान 2,356.9 मिमी बारिश दर्ज की है। बुधवार को शाम 8.30 बजे तक पिछले 59 घंटों में शहर में 456 मिमी बारिश हुई है। मुंबई बारिश में जहां-तहां लोग फंस गए हैं, जिन्हें सुरक्षित निकालने के लिए एनडीआरएफ की मदद ली जा रही है। दो लोकल ट्रेन में फंसे करीब 290 यात्रियों को एनडीआरएफ की टीम ने कल सुरक्षित निकाला। इसके अलावा, मुंबई, ठाणे और पालघर के इलाकों में आज भी तेज बारिश की आशंका जताई गई है।      मनोज सिंह ठाकुर


इलाज में कितना नियम अनुपालनः एचसी

नैनीताल। हाईकोर्ट ने बदहाल क्वारंटाइन सेंटर और कोरोना अस्पतालों की बदहाली व्यवस्था पर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार से पूछा है कि कोविड मरीजो के इलाज में डब्ल्यू. एच .ओ . द्वारा जारी मानकों का कितना अनुपालन किया जा रहा है। सरकार उसकी विस्तृत रिपोर्ट 17 सितंबर तक कोर्ट में शपथपत्र के माध्यम से पेश करे।
हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश रवि कुमार मलिमथ व न्यायमुर्ति एनएस धनिक की खण्डपीठ में अधिवक्ता दुष्यंत मैनाली की जनहित याचिका पर गुरुवार को सुनवाई हुई। जिसमें कहा है कि राज्य सरकार ने प्रदेश के 6 अस्पतालों को कोविड-19 के रूप में स्थापित किया है। लेकिन इन अस्पतालों में कोई भी आधारभूत सुविधा नहीं है। जिसके बाद देहरादून निवासी सच्चिदानंद डबराल ने भी उत्तराखंड वापस लौट रहे प्रवासियों की मदद और उनके लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी। बदहाल क्वारंटाइन सेंटरों के मामले में जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में पेश कर माना कि उत्तराखंड के सभी क्वारंटाइन सेंटर बदहाल स्थिति में हैं और सरकार की ओर से वहां पर प्रवासियों के लिए कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई है। न ही ग्राम प्रधानों के पास कोई फंड उपलब्ध है। पूर्व में हाईकोर्ट ने सरकार और स्वास्थ्य सचिव को जवाब पेश करने का आदेश दिया था। इस आदेश के तहत जिला विधिक प्राधिकरण की रिपोर्ट के आधार पर क्वारंटाइन सेंटरों की कमियों को 14 दिन के अंदर दूर कर विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने को कहा था।           


जनपद अलीगढ़ में कोरोना का कहर जारी

अलीगढ। जिले में कोरोना का कहर जारी है। पीएसी के 15 जवान सहित 79 लोग इसकी चपेट में आए हैं। चंदनिया के 12, जवाहरनगर के 7 और नगला तिकोना के 6 लोग संक्रमितों में शामिल हैं। संक्रमित 79 मरीजों में 24 महिला एवं 55 पुरुष हैं। जनपद में अब तक संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1780 तक पहुंच गई है। जेएन मेडिकल कॉलेज, प्राइवेट लैब एवं एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट में बुधवार को 79 लोग संक्रमित पाए गए हैं। पीएसी 38 वीं वाहिनी में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। आज भी 15 जवान चपेट में आए हैं। चंदनिया के 15 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जिसमें से 5 एक ही परिवार के हैं। जवाहरनगर के 7, नगला तिकोना के 6, रामबाग कॉलोनी और धनीपुर के 5-5 लोग संक्रमित हुए हैं। इसके अतिरिक्त शक्तिनगर के 3, बेगमबाग और डोरी नगर के 2-2 लोग संक्रमितों में शामिल हैं। सराय हकीम, मंगलसिंह, भमोला, कावेरी वाटिका, जलाली शेखा, अवंतिका फेज-1, रॉयल होम्स तालानगरी, इगलास, नौरंगाबाद, रेलवे कॉलोनी, इंदिरा नगर, क्वार्सी, बैंक कॉलोनी, बेना टप्पल, नीलकंठ कॉलोनी, सर सैयद नगर, रामनगर के एक-एक लोग चपेट में आए हैं। जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने बताया कि संक्रमित लोगों को कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराने एवं उनके परिजनों क्वारंटीन किया जा रहा है। घरों के आसपास के एरिया को सील कर सैनिटाइज किया जाएगा।         


राष्ट्रपति पीएम को भेजी गोबर की राखी

पालूराम


नई दिल्ली। देश की अवाम की छाती पर बैठकर घोटाले हो रहे हैं, लेकिन हम कुछ नहीं कर सकते, क्योंकि निज़ाम बेरहम है।


क्रोनोलॉजी को समझिये-


24 मार्च 2020 को मोदी सरकार देश में वेन्टीलेटर्स के निर्यात पर पाबंदी लगाती है।


31 मार्च 2020 को सरकार दो कंपनियों को 40 हज़ार वेन्टीलेटर्स का आर्डर देती है। एक कंपनी को बायोकॉन की किरण मजूमदार शॉ और इंफोसिस की सुधा मूर्ती का सपोर्ट है। 23 जून 2020 को PM केयर्स से 50 हजार वेन्टीलेटर्स के लिए 2000 करोड़ जारी होते हैं। इसमें से 40 हज़ार वेन्टीलेटर्स का आर्डर पुराना है। लेकिन बिक चुकी गोदी मीडिया मोदी की दरियादिली के आगे बिछ जाती है।


यानी मोदी ने सिर्फ 10 हज़ार वेन्टीलेटर्स का आदेश दिया? पत्रकार और एक्टिविस्ट साकेत गोखले कहते हैं कि सरकार ने 1.5-2 लाख प्रति वेन्टीलेटर्स के हिसाब से खरीदी का आदेश दिया था।लेकिन जून में मोदी ने अपने फण्ड (अभी तक यही सही है) से 4 लाख प्रति वेंटीलेटर के हिसाब से आर्डर दिया। 23 जून 2020 को ही पीएम केयर्स कहती है कि 2923 वेंटीलेटर बने लेकिन राज्यों को मिले 1340 ही। हालांकि एक कंपनी 16 जून को दावा करती है कि उसने 4000 वेन्टीलेटर्स तो 15 जून को ही बना लिए थे। 24 जून को इंडियन एक्सप्रेस कहता है कि सिर्फ 6% वेन्टीलेटर्स ही बने हैं। और फिर 1 अगस्त 2020 को मोदी सरकार वेन्टीलेटर्स के निर्यात की अनुमति देती है। सरकार और PM केयर्स से जितने वेन्टीलेटर्स का आर्डर दिया गया वे ट्यूब के बिना ऑक्सीजन सप्लाई नहीं कर सकते और यह जोखिम भरा है। शायद सरकार इन्हीं खतरनाक वेन्टीलेटर्स का निर्यात करेगी। जिसे कमाना था, वह करोड़ों कमा चुका है। यही इस देश की खोखली आत्मनिर्भरता है। दुनिया हम पर हंस रही है।


राम मंदिर का शिलान्यास होगा। अखबारों और मीडिया को प्रचार के लिए करोड़ों रुपये दिए गए हैं। मोदी सरकार के लिए मंदिर ज़रूरी है, मरते लोगों के लिए ऑक्सीजन नहीं।हमारा आत्मगौरव अगर मंदिर बनाने से बढ़ता है तो इसे आपदा में अवसर मानने में कोई हर्ज भी नहीं। सरकार ने रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लिए मसौदा बनाया है। क्या नया होगा? इसी तरह वे कंपनियां हथियार बनाएंगी, जिसने दीवाली के पटाखे भी नहीं बनाए। इस बार चीन को मात देने के लिए गोबर की राखियां बनाकर पीएम और राष्ट्रपति को भेजी गई हैं। पता नहीं उन्होंने पहना या नहीं। पहनना चाहिए। आत्मनिर्भरता का अहसास होगा।देश भर में शिक्षा, तकनीकी शोध और नवाचार का दिवाला निकल चुका है। गाय-गोबर से आगे देश सोच नहीं पा रहा है। जहां झूठ ही चल रहा हो, वहां ओरिजिनल की उम्मीद बेकार है। क्योंकि हम सकारात्मक होना पसंद करते हैं। हम छिपाना पसंद करते हैं। हम कोरोना से स्वस्थ लोगों को देखकर खुश होते हैं। भारत रोजाने के सक्रिय कोरोना मामलों में शीर्ष पर है। यानी दुनिया को कोरोना बांटने में नंबर 1, लेकिन हमें शर्म नहीं आएगी। तभी तो सरकार कहती है कि लोग मर नहीं रहे, इसलिए वेन्टीलेटर्स का निर्यात करो। ग़लती निज़ाम की नहीं, हमारी मूर्खता और झूठे आत्मगौरव की है।         


पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मिलें पॉजिटिव

शाहजहांपुर। कोराना संक्रमण ने शहर से लेकर गांव तक अपने पैर पसार दिए है। कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। आम आदमी से लेकर बड़े लोग भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। गुरुवार को पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं?। सिंधौली सीएचसी पर एक एएनएम सहित तीन लोग पाॅजिटिव निकले है।


बुधवार सुबह को भाजपा के वरिष्ठ नेता की कोरोना रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। भाजपा नेता से लेकर कार्यकर्ता सकते में है। क्योकि पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष का इस दौरान पार्टी कार्यकार्ताओं से मिलना जुलना बना रहा। बुधवार को ही शहर के एक कार्यक्रम में वह शामिल हुए थे। वहीं, उनके परिवार के सदस्यों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जो राहत देने वाली खबर है। सिंधौली सीएचसी पर एक एएनएम की रिपोर्ट पाॅजिटिव निकली है। महानंदपुर के एक व्यक्ति की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है। निगोही के कटैया उसमानपुर का 50 वर्षीय मजदूर कोरोना संक्रमित मिला है। बताया जा रहा है कि संक्रमित व्यक्ति कुछ दिन पहले बाहर से मजदूरी कर घर आया था।           


रायपुर अनलॉक, जिला प्रशासन की बैठक

रायपुर। राजधानी रायपुर शुक्रवार से अनलॉक हो रहा है। रायपुर जिला प्रशासन ने व्यापारियों के साथ बैठक की। इसके बाद दुकानों व होटल-रेस्टोरेंट को खोलने को लेकर दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। जारी हुई नई नियम में सप्ताह से सिर्फ 6 दिन ही दुकानें अब खुलेगी। रविवार को सभी तरह की दुकानें बंद रहेगी।


व्यापारी संगठनों ने इस बाबत अपनी सहमति दे दी है। आज कलेक्टर एस भारतीदासन और एसएसपी अजय यादव के साथ व्यापारी संगठनों की एक घंटे की बैठक हुई। जिला प्रशासन की तरफ से 5 अलग-अलग पालियों में दुकान संचालन का निर्णय लिया है। सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे तक किराना दुकानें खोली जाएगी। किराना स्टोर्स और प्रोविजन स्टोर्स भी खुलेंगे। वहीं सुबह 6 बजे से 12 बजे तक फल, सब्जी और दूध की दुकानों को खोलने की इजाजत दी जाएगी। होटल और रेस्टोरेंट भी खोले जाएगे। कलेक्टर एस भारतीदासन के मुताबिक सुबह 10 बजे से शाम से 9 बजे तक होटल व रेस्टोरेंट खोले जाएगे। रात 10 बजे तक इन होटलों से होम डिलेवरी की सुविधा लोगों को रहेगी। वहीं सुबह 11 बजे से अन्य दुकानें संचालित की जाएगी। कपड़ा, जूता चप्पल, कपड़ा, हार्डवेयर, बर्तन सहित अन्य दुकानें खोली जाएगी। ये दुकानें शाम 7 बजे तक खोली जाएगी। वहीं ठेले पर खाद्य सामिग्री बेचने वालों को दो पाली में दुकान लगाने की इजाजत होगी। सुबह 6 बजे से 9 बजे तक ठेले लगाए जाएगे, वहीं शाम में 5 बजे से 8 बजे तक ठेले पर खाद्य सामिग्री बेचने की इजाजत दी जाएगी।        



अयोध्या राम-मंदिर 'विचार'

 इस मौके पर पहले यह बताना ज़रूरी है कि अब तक इस मामले में पहले क्या कुछ महत्वपूर्ण हुआ जिसके परिणाम स्वरूप अब राम मंदिर बन रहा है। राम मंदिर निर्माण की पहली नींव सन् 1949 में रखी गई जब पंडित जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री थे और पंडित गोविंद वल्लभ पंत उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री थे तब 22-23 दिसंबर 1949 में प्रतिमा को गर्भ गृह में पंहुचाया गया था। इसके बाद सन् 1986 आता है जब डिस्ट्रिक्ट कोर्ट फैजाबाद ने मंदिर का ताला खोलने की अनुमति दी, तब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे और वीरबहादुर सिंह उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री थे….. उसी दिन कोर्ट के आदेश के बाद महज 40 मिनिट में यह ताला खुला था। फिर 1989 आता है , तब भी राजीव गांधी ही प्रधानमंत्री थे। उस समय पहली बार यहां शिलान्यास हुआ था …… तब राज्य के मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी हुआ करते थे ….. जो लोग तब की राजनीति के बारें में जानते हैं उन्हे यह अच्छे से मालूम है कि मंदिर का ताला खुलवाने से लेकर शिलान्यास करवाने तक राजीव गांधी ने व्यक्तिगत् दिलचस्पी लेकर काम करवाया था। ….. और तो और राजीव गांधी ने 1989 में अपने चुनावी कार्यक्रम की शुरूआत ही अयोध्या (तब फैजाबाद जिला) से की थी , और यहीं उन्होंने राम राज्य का नारा दिया था। हालांकि तत्कालीन मुख्यमंत्री एनडी तिवारी इस कार्यक्रम के पक्ष में नहीं थे। तब राजीव गांधी ने तत्कालीन गृह मंत्री बूटा सिंह को उत्तरप्रदेश भेजा ताकि वह इस पर आम राय बना सकें। फिर सबने संतो के साथ मिलकर 9 नवम्बर का महूर्त निकाला ….. जिसमें भूमि पूजन स्वंय स्वामि बामदेव ने किया था , वास्तुपूजा पंडित महादेव भट्ट और अयोध्या प्रसाद ने करवाई थी और खुदाई की शुरूआत स्वंय महंत अवैध्यनाथ ने की थी और पहली शिला एक दलित युवा कामेश्वर चौपाल के हाथों से रखवाई गई थी ताकि समाज में समरस्ता का संदेश प्रसारित हो। बाद में बाबरी मस्जिद संघर्ष समिति ने इसका विरोध किया , मार्च निकाला और गिरफ्तारियां दी। गांधी परिवार के कट्टर आलोचक रहे बीजेपी नेता सुब्रमण्यम् स्वामि भी कहतें हैं कि राजीव गांधी यदि दोबारा प्रधानमंत्री बनते तो राम मंदिर बन चुका होता। लेकिन ऐसा हुआ नहीं कांग्रेस चुनाव हार गई फिर 1991 में राजीव गांधी की हत्या हो गई और राम मंदिर निर्माण अधूरा रह गया।
          अयोध्या में शिलान्यास कार्यक्रम के पश्चात् विश्व हिंदु परिषद् और बीजेपी, इस मामले पर ज़बरदस्त तरीके से सक्रिय हुई और मामले को राजनैतिक रंग दे दिया, राम के नाम पर वोट मांगे गए और उत्तरप्रदेश में कल्याण सिंह के नेतृत्व में सरकार बनाई गई। फिर 1996, 1998, 1999 में बीजेपी नीत NDA की सरकारें बनीं। इस दौरान लालकृष्ण आडवाणी , मुरलीमनोहर जोशी , उमा भारती , विनय कटियार आदि राममंदिर आंदोलन के प्रमुख नेता हुआ करते थे। लेकिन मामला कोर्ट में जाने के कारण किसी निष्कर्ष पर नहीं पंहुचा। साल दर साल बीतते गए और अंतः अब कहीं जाकर सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया है।
          इस ऐतिहासिक घटनाक्रम को बताने का उद्देश्य केवल इतना ही था कि आप जान सकें कि मंदिर निर्माण के लिए यदि किन्ही राजनेताओं का नाम लिया जाए तो वह कौन कौन थे और 1949 से लेकर 2020 तक मोदी जी का इस पूरे घटनाक्रम में कोई रोल नहीं था …… इतिहास बताता है कि मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने वाले पहले नायक जवाहरलाल नेहरू थे जिन्होंने मूर्ति रखवाई , दूसरे राजीव गांधी जिन्होंने ताले खुलवाए और शिलान्यास करवाया और तीसरे लालकृष्ण आडवाणी और राम मंदिर आंदोलन से जुड़े वह नेता जिन्होंने इस मामले को जिंदा रखा।
           हर घटना और हर परिस्थिति की अपनी गति अपना Momentum होता है , और वह स्वंय में परिवर्तनशील होती है , घटना की गतिशीलता और परिवर्तनशीलता का सिद्धांत कृष्ण ने अर्जुन को श्रीमद्भाग्वत् गीता में विस्तार से समझाया है और व्यक्ति को निमित्त मात्र परिभाषित किया है। यह पूरा मामला भी अपनी गति से चला और परिवर्तनशीलता से सिद्धांत पर कोर्ट के द्वारा निष्कर्ष पर पंहुचा है। इस मामले में नरेंद्र मोदी तो केवल और केवल उद्धाटनकर्ता हैं। क्योंकि पूरे घटनाक्रम में तो उनका कोई योगदान था नहीं इसलिए केवल और केवल हल्ला मचाकर इस पूरे काम का श्रेय वह अपने सर लेना चाहते हैं और उनका पालतू मीडिया इस मामले में उनका सहयोग कर रहा है। हालत यह है कि देश का नेशनल नेटवर्क 4 और 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले पूरे कार्यक्रमों का सीधा प्रसारण करेगा। सवाल यह है कि यदि कोर्ट का फैंसला मस्जिद के पक्ष में आता तो भी क्या आज इतना ही बड़ा आयोजन हो रहा होता और प्रधानमंत्री उस कार्यक्रम में हिस्सा लेते तथा देश का नेशनल टेलीवीजन नेटवर्क उसका सीधा प्रसारण कर रहा होता ? जवाब हम सभी जानतें हैं।
         इस पूरे आयोजन को देखकर यह साफ कहा जा सकता है कि मोदी जी प्रभु श्री राम का उपयोग अपना व्यक्तिगत् कद बढ़ाने के लिए कर रहें हैं। आयोजन का प्रचार पूरी तरह मोदी केंद्रित हैं टीवी पर प्रभु श्रीराम का जिक्र नहीं हैं लेकिन मोदी जी का नाम धर्म एवं राष्ट्र रक्षक के रूप में प्रचारित हो रहा है, मानों लंका जाकर रावण वध उन्होंने ही किया हो। नरेंद्र मोदी के पोस्टर प्रभु श्रीराम से बड़े लग रहें हैं और प्रभु श्रीराम तो कहीं नेपथ्य में जा चुके हैं। प्रचार को देखकर तो ऐसा लगता है कि मानो राम मंदिर नहीं “मोदी” मंदिर बन रहा है। मोदी जी के व्यक्तिवादी रवैये की पराकाष्ठा यह है कि मंदिर निर्माण के वास्तविक नायकों को श्रेय देना तो दूर  आज उनकी कोई पूछपरख भी नहीं की जा रही है, नेहरू जी और राजीव जी तो जीवित नहीं हैं लेकिन आडवाणी जी और राम मंदिर आंदोलन के बाकी सदस्य तो जीवित है आज उन्हें क्यों नहीं पूछा जा रहा है। क्या वह लोग केवल विवादित ढांचा गिराए जाने के मामले में कोर्ट केस भुगतने के लिए हैं और इस सागर मंथन से निकले अमृत को पीने का अधिकार केवल मोदी जी का है।    हरिओम उपाध्याय       


कश्मीर के राज्यपाल ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। कश्मीर घाटी से धारा 370 हटने के एक साल पूरे होने के मौके पर कश्मीर के उप राज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफे को लेकर तरह तरह की चर्चाओं का बाजार गर्म है। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने लगभग नौ महीने तक राज्य के उप राज्यपाल का पद संभाला। मुर्मू का इस्तीफा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंजूर कर लिया है। जानकारी के मुताबिक वह अब भारत के नए नियंत्रक व महालेखा परीक्षक (सीएजी) होंगे।

उधर, पुख्ता सूत्रों के मुताबिक अब जम्मू कश्मीर के नए उपराज्यपाल राजीव महर्षि हो सकते हैं। महर्षि केंद्रीय गृह सचिव रह चुके हैं। उन्हें जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक, सामाजिक तथा सुरक्षा संबंधी हालात की बेहतर जानकारी है। इस वजह से उन्हें इस पद की जिम्मेदारी सौंपे जाने की चर्चा है। बुधवार को महर्षि ने राष्ट्रपति से भी मुलाकात की है। वे प्रधानमंत्री के बेहद करीबी बताए जाते हैं।              

चीन से जुड़े 25,00 यूट्यूब चैनल डिलीट

नई दिल्ली। गूगल ने चीन से जुुड़े करीब 2,500 से ज्यादा यूट्यूब चैनल डिलीट कर दिए हैं। टेक दिग्गज का कहना है कि इन चैनल्स को भ्रामक जानकारी फैलाने के चलते विडिय शेयरिंग प्लैटफॉर्म से हटाया गया है। एल्फाबेट के मालिकाना हक वाली कंपनी गूगल ने बताया कि यूट्यूब चैनल को अप्रैल और जून के बीच यूट्यूब से हटाया गया। ऐसा चीन से जुड़े इन्फ्लुएंस ऑपरेशंस के लिए चल रही हमारी जांच के तहत किया गया।        


बीच रास्ते पति-पत्नी का विवाद, आत्महत्या

आदर्श श्रीवास्तव


शाहजहांपुर(निगोही)। पत्नी को साथ लेकर ससुराल से वापस लौट रहे युवक ने रास्ते में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। सूचना पर पहुंची निगोही पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।


तिलहर थाना क्षेत्र के ग्राम बिहारीपुर मुड़िया निवासी नीरज(22) पुत्र जगन्नाथ की शादी इसी वर्ष 9 जून को बिलसंडा थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुर अमृत निवासी सीमा देवी से हुई थी। 3 अगस्त को नीरज अपनी पत्नी के साथ रक्षाबंधन मनाने अपनी ससुराल गया था। बुद्धवार को दोनो पति पत्नी बाइक से वापस लौट रहे थे। बताते हैं कि रास्ते में सीमा और नीरज के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। इसी बात से नाराज नीरज ने निगोही क्षेत्र के गांव धीरट के पास एक आम के बाग में बाइक को रोक दिया।


उसने बाइक से दिग्गी से अपनी पत्नी की साड़ी निकाली और उसे लेकर पेड़ पर चढ़ गया। उसने उसी साड़ी का फंदा अपने गले डालकर पेड़ स्व झूल गया। उसकी पत्नी नीचे खड़ी चीख पुकार करती रही। इसी बीच गांव के लोग आ गए। ग्रामीणों ने जब तक उसे नीचे उतारा उसकी मौत हो चुकी थी। ग्रामीणों की घटना की जानकारी पुलिस को दो। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पीएम को भेज दिया।        


फ्यूचरब्रांड बना दुनिया का सबसे बड़ा ब्रांड

नई दिल्ली। मशहूर उद्योगपति मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज ‘फ्यूचरब्रांड इंडेक्स 2020’ में एप्पल के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ब्रांड बन गई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज रिफाइनरी, रिटेल और दूरसंचार क्षेत्र में काम करने वाली जानी मानी कंपनी है। ब्रांड कंसल्टिंग और मैनेजमेंट कंपनी फ्यूचरब्रांड ने 2020 की सूची को जारी करते हुए कहा कि, ‘बेहतर ब्रांड के हर पैमाने पर रिलायंस इंडस्ट्रीज खरी उतरी है।’ रिपोर्ट में रिलायंस के बारे में कहा गया है कि यह भारत की सबसे अधिक लाभ कमाने वाली कंपनियों में से एक हैं। कंपनी की मजबूत साख है और कंपनी ‘इनोवेटिव प्रोडक्ट’, ‘ग्राहकों को बेहतर अनुभव’ और ‘ग्रोथ’ से जुड़ी है। लोगों का कंपनी के साथ एक मजबूत और भावनात्मक रिश्ता है। गौरतलब है कि फ्यूचरब्रांड पिछले छह साल से यह इंडेक्स जारी करती है। इसमें टाप रैंक पाना ज्यादातर कंपनियों का सपना होता है। फ्यूचरब्रांड ने कहा कि रिलायंस की सफलता का पूरा श्रेय मुकेश अंबानी को दिया जाना चाहिए। उन्होंने कंपनी को भारतीयों के लिए एक ‘वन स्टॉप शाप’ के तौर पर नयी पहचान दी है। इस सूची में एप्पल टॉप पर कायम है जबकि सैमसंग तीसरे स्थान, एनवीडिया चौथे, मोताई पांचवे, नाइकी छठे, माइक्रोसॉफ्ट सातवें, एएसएमएल आठवें, पेपाल नवें और नेटफ्लिक्स दसवें स्थान पर काबिज हैंं।          


48 घंटे में दो भाजपा नेताओं की हत्या

मनोज सिंह ठाकुर


श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में बौखलाए आतंकवादी अब राजनीतिक दलों के नेताओं और गांव के सरपंचों को निशाना बना रहे हैं। पिछले 48 घंटे में जम्मू जम्मू-कश्मीर में भाजपा नेताओं को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। अब कुलगाम जिले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सरपंच सज्जाद अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। घर के बाहर ही सरपंच पर जानलेवा हमला किया गया था। इस दौरान आतंकियों ने उन्हें निशाना बनाते हुए अंधाधुंध फायरिंग की जिसमें सरपंच खून से लथपथ होकर जमीन पर गिर पड़े। आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।


इससे पहले जुलाई महीने में भाजपा के बांदीपोरा जिलाध्यक्ष और उनके दो परिजनों की हत्या कर दी गई थी। वहीं इस घटना के एक माह पूर्व आठ जून को अनंतनाग में कांग्रेस नेता और सरपंच अजय पंडिता की हत्या कर दी गई थी। घाटी में जम्हूरियत की मजबूती में जुटे नेताओं, कार्यकर्ताओं से लेकर पंचायती नुमाइंदों पर पहले भी आतंकी हमले होते रहे हैं।
बता दें कि इस घटना से 48 घंटे पहले भी आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर में एक सरपंच की हत्या कर दी थी। 4 अगस्त की शाम को काजीगुंड अफरान में आतंकवादियों ने बीजेपी पंच आरिफ अहमद को निशाना बनाया था। इससे पहले 8 जून को अनंतनाग जिले में आतंकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या की थी। हालांकि बाद में सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन चलाकर सरपंच के हत्यारों को ढेर कर दिया था।


बताते चलें कि जम्हूरियत की मजबूती से आतंकी संगठनों में बौखलाहट है। इसे के चलते आतंकी संगठन घाटी का माहौल खराब करने और लोगों में भय उत्पन्न करने के लिए लगातार साजिश रच रहे हैं। आतंकी तंजीमों के शीर्ष कमांडरों के सफाए और लगातार ध्वस्त हो रहे नेटवर्क से बौखलाए आतंकी नेताओं की हत्याओं करने पर आमादा हो गए हैं। कश्मीर घाटी में आतंकवाद के शुरुआती दिनों से लेकर हाल के वर्षों तक ज्यादातर सियासी हत्याएं चुनावी वर्ष में हुई हैं लेकिन आतंकी वारदातों का ऐसा सिलसिला अब बिना चुनाव के भी तेज हो गया है।           


अयोध्या में दो गुट आपस में भिड़े, 14 घायल

अयोध्या। बुधवार को पीएम मोदी ने राम मंदिर की आधारशिला रखी। इसके साथ ही रामनगरी में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो गया। अयोध्या में भूमि पूजन के बाद से ही देशभर में खुशी की लहर दौड़ गई। इस खास मौके पर सभी ने दीप जलाकर अपनी-अपनी खुशी का इज़हार किया।इस दौरान कई लोगों ने आतिशबाजी की तो कुछ ने बाइक रैलियां निकालते हुए जय श्री राम के नारे लगाए। असम में भी एक ऐसी ही बाइक रैली के दौरान दो गुट आपस में भिड़ गए।यह घटना असम के सोनितपुर जिले में तेलियागांव इलाके हुई।


घटना में 14 लोग हुए घायल


जानकारी के मुताबिक, इस घटना में 14 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि कई वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया। घटना के बाद जिला प्रशासन ने दो थाना क्षेत्रों थेलामारा और ढेकिआजुली में कर्फ्यू लगा दिया है। सोनितपुर के जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने इलाके में कर्फ्यू लगाते हुए कहा कि कानून-व्यवस्था की गंभीर स्थिति को देखते हुए ये आदेश दिया गया है।


कुछ समूह प्रोटेस्ट के नाम पर हिंसा करने का प्रयास कर रहे थे- जिलाधिकारी


जिलाधिकारी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि कुछ समूह प्रोटेस्ट के नाम पर हिंसा करने का प्रयास कर रहे थे। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बाइक रैली के दौरान नारों को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया, जिसके बाद विवाद बढ़ गया। जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कई राउंड फायरिंग के बाद स्थिति पर काबू पाया। इस घटना को लेकर इलाके में तनाव बना हुआ है।         


16 अगस्त से शुरू होगी वैष्णो देवी यात्रा

एक दिन में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की लिमिट तय की जाएगी


श्रीनगर। वैष्णो देवी यात्रा 16 अगस्त से शुरू होगी। कोरोना की वजह से 19 मार्च को यात्रा रोक दी गई थी। अनलॉक-3 में जम्मू-कश्मीर के धार्मिक स्थलों को खोलने का फैसला लिया गया है। हालांकि, वैष्णो देवी यात्रा के लिए अलग से कोई निर्देश नहीं हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि श्रद्धालुओं की सीमित संख्या के साथ यात्रा शुरू कर दी जाएगी।


श्राइन बोर्ड जल्द गाइडलाइंस जारी करेगा
यात्रा के दौरान क्या छूट होगी और क्या पाबंदियां रहेंगी, इस बारे में श्राइन बोर्ड जल्द गाइडलाइंस जारी करेगा। बताया जा रहा है कि सभी एंट्री गेट्स पर सैनिटाइजेशन टनल तैयार की जाएंगी। वैष्णो देवी भवन के साथ ही अर्धकुंवारी और भैरव घाटी मंदिर में भी थर्मल स्कैनिंग के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखा जाएगा।इस साल अमरनाथ यात्रा रद्द की जा चुकी
अमरनाथ श्राइन बोर्ड, लोकल एडमिनिस्ट्रेशन, सीआरपीएफ-पुलिस और लेफ्टिनेंट गवर्नर के बीच हुई पिछले महीने हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। 5 जुलाई को लेफ्टिनेंट गर्वनर ने पवित्र गुफा में दर्शन किए थे। उनका कहना था कि कोरोना के चलते जो हालात हैं, उनमें यात्रा करवाना मुश्किल है।             


कोरोना जांच के बाद कराए निजी उपचार

रायपुर। राज्य शासन ने निजी क्लिनिकों, नर्सिंग होम्स एवं अस्पतालों में इलाज करवाने वाले कोविड-19 के सभी संदिग्ध मरीजों की कोरोना जांच कराने कहा है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह ने इंडियन मेडिकल एसोशिएशन, छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष को पत्र लिखकर निजी चिकित्सालयों में इलाजरत कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों की तत्काल जांच कराने कहा है, जिससे कि इसके पीड़ितों की पहचान कर तुरंत उपचार शुरू किया जा सके। विभाग ने कहा है कि अस्पताल में इलाज करा रहे किसी मरीज के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने पर अस्पताल को भारत सरकार, आईसीएमआर एवं राज्य शासन के दिशा-निर्देशों के अनुरुप निसंक्रमित (Disinfect) कर 24 घंटे के बाद पुनः शुरू किया जा सकता है।


स्वास्थ्य सचिव ने आईएमए को लिखे पत्र में कहा है कि प्रदेश वर्तमान में कोविड-19 संक्रमण की महामारी से जूझ रहा है। यहां अब तक कुल दस हजार से अधिक व्यक्ति इससे संक्रमित हो चुके हैं। कोविड-19 का संक्रमण अन्य रोग/रोगों से ग्रस्त व्यक्तियों में गंभीर बीमारी के रूप में परिलक्षित होता है। समय पर जांच, पहचान और उपचार नहीं होने पर मृत्यु होने की संभावना भी अधिक होती है। प्रदेश में अभी तक कोविड-19 से संक्रमित कुल 69 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। इनमें से 51 व्यक्ति किसी अन्य बीमारी (COMORBIDITY) से ग्रसित रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग ने पत्र में लिखा है कि कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु के संबंध में यह संज्ञान में आया है कि इनमें से अधिकतर अस्पताल में उपचार तो ले रहे थे, परन्तु इनके द्वारा स्वयं कोविड-19 की जांच समय पर नहीं कराई गई। इसलिए ऐसे सभी व्यक्तियों का जो निजी क्लीनिक, नर्सिग होम या अस्पताल में उपचार ले रहे हैं और ये कोविड-19 के संदिग्ध मरीज हैं, तो इनकी तत्काल कोविड-19 जांच किया जाना आवश्यक है। कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने पर उन्हें कोविड-19 अस्पताल रिफर किया जाना चाहिए।                   


आगजनी की घटना को अंजाम, आरोपी अरेस्ट किया

संदीप मिश्र           बरेली। वर्षों 1995 में निशोई हाल्ट पर एक ट्रेन में आगजनी की घटना को अंजाम देकर फरार हुए आरोपियों में से एक आरोपी को बर...