शुक्रवार, 4 अक्तूबर 2019

एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्‍ना खरास्‍थिता

माँ दुर्गा की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। दुर्गा पूजा के सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है। इस दिन साधक का मन 'सहस्रार' चक्र में स्थित रहता है। इसके लिए ब्रह्मांड की समस्त सिद्धियों का द्वार खुलने लगता है। देवी कालात्रि को व्यापक रूप से माता देवी - काली, महाकाली, भद्रकाली, भैरवी, मृित्यू, रुद्रानी, चामुंडा, चंडी और दुर्गा के कई विनाशकारी रूपों में से एक माना जाता है। रौद्री और धुमोरना देवी कालात्री के अन्य कम प्रसिद्ध नामों में हैं |


कालरात्रि-सिद्धियां
कालरात्रि- नवदुर्गाओं में सप्तम्
देवनागरी-कालरात्रि
संबंध-हिन्दू देवी
अस्त्र-तलवार
जीवनसाथी-शिव
सवारी-गधा
यह ध्यान रखना जरूरी है कि नाम, काली और कालरात्रि का उपयोग एक दूसरे के परिपूरक है, हालांकि इन दो देवीओं को कुछ लोगों द्वारा अलग-अलग सत्ताओं के रूप में माना गया है। डेविड किन्स्ले के मुताबिक, काली का उल्लेख हिंदू धर्म में लगभग ६०० ईसा के आसपास एक अलग देवी के रूप में किया गया है। कालानुक्रमिक रूप से, कालरात्रि महाभारत में वर्णित, ३०० ईसा पूर्व - ३०० ईसा के बीच वर्णित है जो कि वर्त्तमान काली का ही वर्णन है |


माना जाता है कि देवी के इस रूप में सभी राक्षस,भूत, प्रेत, पिसाच और नकारात्मक ऊर्जाओं का नाश होता है, जो उनके आगमन से पलायन करते हैं |सिल्प प्रकाश में संदर्भित एक प्राचीन तांत्रिक पाठ, सौधिकागम, देवी कालरात्रि का वर्णन रात्रि के नियंत्रा रूप में किया गया है। सहस्रार चक्र में स्थित साधक का मन पूर्णतः माँ कालरात्रि के स्वरूप में अवस्थित रहता है। उनके साक्षात्कार से मिलने वाले पुण्य (सिद्धियों और निधियों विशेष रूप से ज्ञान, शक्ति और धन) का वह भागी हो जाता है। उसके समस्त पापों-विघ्नों का नाश हो जाता है और अक्षय पुण्य-लोकों की प्राप्ति होती है।


श्लोक:-एकवेणी जपाकर्णपूरा नग्ना खरास्थिता | लम्बोष्ठी कर्णिकाकर्णी तैलाभ्यक्तशरीरिणी || वामपादोल्लसल्लोहलताकण्टकभूषणा | वर्धन्मूर्धध्वजा कृष्णा कालरात्रिर्भयन्करि ||


महिमा:-माँ कालरात्रि का स्वरूप देखने में अत्यंत भयानक है, लेकिन ये सदैव शुभ फल ही देने वाली हैं। इसी कारण इनका एक नाम 'शुभंकारी' भी है। अतः इनसे भक्तों को किसी प्रकार भी भयभीत अथवा आतंकित होने की आवश्यकता नहीं है।माँ कालरात्रि दुष्टों का विनाश करने वाली हैं। दानव, दैत्य, राक्षस, भूत, प्रेत आदि इनके स्मरण मात्र से ही भयभीत होकर भाग जाते हैं। ये ग्रह-बाधाओं को भी दूर करने वाली हैं। इनके उपासकों को अग्नि-भय, जल-भय, जंतु-भय, शत्रु-भय, रात्रि-भय आदि कभी नहीं होते। इनकी कृपा से वह सर्वथा भय-मुक्त हो जाता है।


माँ कालरात्रि के स्वरूप-विग्रह को अपने हृदय में अवस्थित करके मनुष्य को एकनिष्ठ भाव से उपासना करनी चाहिए। यम, नियम, संयम का उसे पूर्ण पालन करना चाहिए। मन, वचन, काया की पवित्रता रखनी चाहिए। वे शुभंकारी देवी हैं। उनकी उपासना से होने वाले शुभों की गणना नहीं की जा सकती। हमें निरंतर उनका स्मरण, ध्यान और पूजा करना चाहिए।


प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों पर गिरी गाज

प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों पर गाज
अविनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद,लोनी। क्षेत्र में हजारों अनधिकृत औद्योगिक इकाइयां जल, वायु और ध्वनि प्रदूषण को बढ़ती जा रही है। मानकों के विरुद्ध संचालित औद्योगिक इकाइयों के विरुद्ध प्रशासन सख्त नजर आ रहा है।
क्षेत्र में रूप नगर, आर्य नगर, बुध नगर आदि स्थानों पर अनधिकृत रूप में फैक्ट्रियों का संचालन किया जा रहा है। सर्वेक्षण के अनुसार संचालित अधिकतर फैक्ट्रियां निर्धारित मानकों के विरुद्ध संचालित की जा रही हैं। संचालित अधिकतर फैक्ट्रियां वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं। कई औद्योगिक इकाइयां रिहायशी क्षेत्रों में भी संचालित की जा रही है। माना जा रहा था कि अधिकारियों और नेताओं की सांठगांठ से यह अवैध धंधा फल-फूल रहा है। जनता के स्वास्थ्य के प्रति सकारात्मकता का अभाव प्रतीत किया जा रहा था।
परंतु वास्तविकता कुछ और ही है, उपजिलाधिकारी और तहसीलदार के द्वारा मामले की गंभीरता पर संज्ञान लेते हुए अवैध फैक्ट्रियों के विरुद्ध कार्यवाही का बिगुल बजा दिया है। जनता के स्वास्थ्य पर प्रदूषण का बहुत बुरा असर पड़ रहा है। प्रदूषण को नियंत्रित करना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। इसे बढ़ाना जनता के स्वास्थ्य से स्पष्ट खिलवाड़ हैै। प्रदूषण के विरुद्ध इस प्रकार की निरंतर कार्यवाही की जरूरत है।


नियम से हज जाएंगे भारतीय मुसलमान

नई दिल्ली।आज हज 2020 की घोषणा की। 10 अक्टूबर से हज के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जो 10 नवम्बर, 2019 तक चलेगी। इस बार हज प्रक्रिया शत प्रतिशत ऑनलाइन/डिजिटल होगी। सभी हज यात्रियों को ई-वीजा की सुविधा दी गयी है। मोबाइल ऐप के जरिये भी हज के लिए आवेदन किया जा सकता है। हज 2019 के पूरा होने एवं अगले हज के संदर्भ में तैयारियों हेतु समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के सचिव श्री शैलेश, अतिरिक्त सचिव श्री एस के देव बर्मन, संयुक्त सचिव-हज श्री जान-ए-आलम, सऊदी अरब में भारत के राजदूत श्री औसफ सईद बैठक में शामिल हुए। हज कमिटी ऑफ़ इंडिया के चेयरमैन श्री शेख जिन्ना नबी, हज कमिटी के सीईओ श्री एम ए खान, जेद्दाह में भारत के कौंसल जनरल मोहम्मद नूर रहमान शेख, विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव (गल्फ) श्री टी.वी नागेंद्र प्रसाद, नागरिक उड्डयन मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री एस. के. मिश्रा एवं स्वास्थ्य मंत्रालय सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए। हज ग्रुप ऑर्गनाइजर (एचजीओ) के लिए पोर्टल पर आवेदन की प्रक्रिया 1 नवम्बर से शुरु होगी जो 1 दिसंबर तक चलेगी। हज प्रक्रिया जल्द शुरू करने से भारत एवं सऊदी अरब में हज के इंतजाम बेहतर तरह से हो सकेंगे। जहाँ पिछले वर्ष देश भर में 21 इम्बार्केशन पॉइंट्स थे, वहीँ हज 2020 के लिए 1 नया इम्बार्केशन पॉइंट्- विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश) शुरू किया जायेगा। इस प्रकार हज 2020 के लिए देश भर के 22 इम्बार्केशन पॉइंट्स के जरिये भारतीय मुसलमान हज यात्रा पर जायेंगे। हज 2019 कई मायनों में ऐतिहासिक एवं पिछले कई वर्षों में अब तक का सबसे सफल हज रहा। भारत के इतिहास में पहली बार रिकॉर्ड 2 लाख भारतीय मुसलमानों ने 2019 में बिना किसी सब्सिडी के हज यात्रा की।


आदित्य ने किया नामांकन, शक्ति-प्रदर्शन

(फडणवीस ने फोन कर दिया आशीर्वाद)
मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के परिवार के किसी सदस्य द्वारा चुनाव न लड़ने की परंपरा को तोड़ते हुए उनके बेटे आदित्य ठाकरे ने आज गुरुवार को नामांकन पत्र भरा। मुंबई की वर्ली सीट से चुनाव लड़ने के लिए नामांकन से पहले आदित्य ठाकरे ने रोड शो किया। रोड शो के दौरान शिवसेना कार्यकर्ता काफी जोश में दिखे। जगह-जगह फूल बरसाकर आदित्य ठाकरे का स्वागत किया गया। सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सुबह फोन कर आदित्य ठाकरे को आशीर्वाद दिया। उधर, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आदित्य ठाकरे को समर्थन के लिए जनता का शुक्रिया किया। उन्होंने कहा, 'जनता की सेवा करने हमारे परिवार की परंपरा है। नई पीढ़ी, नई सोच के साथ आई है और मैं जनता के समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं। मैं वचन देता हूं कि जनता जब भी बुलाएगी तब आदित्य हाजिर होंगे।' हालांकि इस दौरान एक सवाल के जवाब में उद्धव ने कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे।
ज्ञात हो कि दिवंगत बाल ठाकरे द्वारा 1966 में शिवसेना की स्थापना किए जाने के बाद से ठाकरे परिवार से किसी भी सदस्य ने कोई चुनाव नहीं लड़ा है या वे किसी भी संवैधानिक पद पर नहीं रहे है। उद्धव के चचेरे भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) प्रमुख राज ठाकरे ने 2014 में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव लड़ने की अपनी इच्छा जताई थी। हालांकि उन्होंने बाद में अपना मन बदल लिया था। ऐसे में ठाकरे परिवार से चुनाव लड़ने वाले आदित्य पहले सदस्य बन गए हैं।
शिवसेना के मौजूदा विधायक सुनील शिंदे आदित्य ठाकरे के लिए वर्ली सीट छोड़ेंगे। आदित्य ने कहा, मैं सिर्फ वर्ली नहीं बल्कि पूरे महाराष्ट्र के लिए काम करूंगा, मुझे जीत का भरोसा है क्योंकि आप सभी का आशीर्वाद मेरे साथ है। आदित्य ठाकरे ने कहा, 'राजनीति से बहुत से लोगों का भला किया जा सकता है। पूरे महाराष्ट्र को घूमकर मैंने समझा है कि आगे कैसा काम करना है। जिनकी आवाज हम तक नहीं पहुंच पा रही है, उनकी आवाज जनता हम तक पहुंचाए।' इससे पहले शिवसेना की यूथ विंग 'युवा सेना' के चीफ आदित्य ने कहा था कि सक्रिय राजनीति में आने का फैसला बहुत बड़ा है लेकिन मुझे भरोसा है कि आप लोग मुझे संभाल लेंगे। मुख्यमंत्री बनने के सवाल पर आदित्य ने कहा कि वह आम आदमी हैं और जनता आगे जो फैसला करेगी, वह वही करेंगे।
मालूम हो कि सीटों के बंटवारे को लेकर हुए विवाद के बाद 2014 का विधानसभा चुनाव भाजपा और शिवसेना ने अलग-अलग लड़ा था। भाजपा ने 260 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से उसे 122 सीटों पर जीत मिली थी जबकि शिवसेना ने 282 सीटों पर चुनाव लड़ा था और उसे 63 सीटें मिली थी।


हिंदुओं का कट्टरवाद भी खतरनाक:सिंह

इंदौर। इंदौर में एक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिस तरह से मुस्लिमों की कट्टरता खतरनाक है, उसी तरह हिंदुओं की भी कट्टरता खतरनाक है। उन्होंने कहा कि अगर बहुसंख्यक आबादी का संप्रदायीकरण होता है तो देश के लिए बड़ी मुश्किल होगी।
दिग्विजय सिंह ने कहा, 'पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस्लामोफोबिया और कट्टरता पर बात की। जिस तरह से मुस्लिमों की कट्टरता खतरनाक है उसी तरह हिंदुओं की भी कट्टरता खतरनाक है। भारत में यदि बड़े पैमाने पर सांप्रदायीकरण बढ़ता है तो इससे देश को बचा पाना आसान नहीं होगा।'
दिग्विजय ने पीएम मोदी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, 'जब नारा लगता था हर हर मोदी, घर घर मोदी तब वाकई में नफरत की आग नरेंद्र मोदी और उस विचारधारा ने घर-घर तक पहुंचा दी है। और आज मैं इस बात को मानता हूं कि सांप्रदायिकता का भूत जबतक बोतल में बंद है, तबतक बंद है, एकबार निकल गया तो इसको वापस बोतल में डालना आसान नहीं है।'
सोनिया ने किया बीजेपी पर हमला
उधर, दिल्ली में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बीजेपी पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा, 'गांधीजी का नाम लेकर भारत को उन्हीं के रास्ते से हटाकर अपनी दिशा में ले जाने की कोशिश करने वाले पहले भी कम नहीं थे लेकिन पिछले कुछ वर्षों में तो वे साम-दाम-दंड-भेद का खुला कारोबार करके खुद को बहुत ताकतवर समझते हैं।'
'आरएसएस को प्रतीक बनाने की कोशिश'
सोनिया गांधी ने कहा, 'भारत और गांधीजी एक दूसरे के पर्याय हैं, यह अलग बात है आजकल कुछ लोगों ने इसे उल्टा करने की जिद पकड़ ली है। वे चाहते हैं कि गांधीजी नहीं बल्कि आरएसएस भारत का प्रतीक बन जाए।'


खेल अनुशासन और भावना से खेलें

ऋषिकेश। श्री भरत मंदिर इंटर कॉलेज ऋषिकेश के दो दिवसीय नगर क्षेत्रीय क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन दिवस पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने आज कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने खेल को जीवन का अहम हिस्सा बताते हुए खिलाड़ियों से खेल को खेल की भावना व अनुशासन के साथ खेलने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है बस जरूरत है उन्हें तलाशने और सही मार्गदर्शन देने की।


दो दिवसीय नगर क्षेत्रीय क्रीड़ा प्रतियोगिता में भरत मंदिर इंटर कॉलेज,राजकीय बालिका इंटर कॉलेज,हरीश चंद्र गुप्ता इंटर कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग किया। खेल प्रतियोगिताओं की मेजबानी पंजाब सिंध क्षेत्र इंटर कॉलेज ऋषिकेश द्वारा की गई।दो दिवसीय खेल प्रतियोगिताओं के दौरान दौड़,थ्रो,ऊंची कूद,लंबी कूद एवं अन्य खेल प्रतियोगिताओं कराई गई। इन सभी प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर पुरस्कृत किया गया।
दो दिवसीय खेल प्रतियोगिताओं के समापन दिवस का शुभारंभ विधानसभा अध्यक्ष ने विधिवत रूप से किया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने पूर्व प्रधानाचार्य को सॉल एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित भी किया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इंटरनेट एवं मोबाइल के इस युग में हमारा आज का भविष्य खेलकूद एवं अन्य प्रतिस्पर्धा से दूर हो रहा है जो की चिंता का विषय है।अग्रवाल ने इस दौरान सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य एवं अध्यापक गणों से आह्वान किया कि स्कूलों में इस प्रकार की खेल प्रतियोगिताओं का निरंतर आयोजन किया जाना चाहिए जिससे कि बच्चे खेल प्रतिभाओं में प्रतिभाग करें एवं स्वस्थ रहें।


 इस अवसर पर भरत मंदिर इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य गोविंद सिंह रावत, पंजाब सिंध इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य ललित किशोर शर्मा,वरुण कुमार, चंद्रप्रकाश,श्रीमती नीलम रावत,बृजेश शर्मा,प्रतिभा सकलानी, हेमलता मेहर,पूर्व प्रधानाचार्य पंजाब सिंद इंटर कॉलेज सुरेश चंद शर्मा, अजय शेखर, देवेश्वर प्रसाद रतूड़ी,हरिश्चंद्र इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य पूनम शर्मा, बालिका इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य रचना अग्रवाल, यमुना प्रसाद त्रिपाठी सहित स्कूल की छात्र छात्राएं एवं अध्यापक गण उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन पंकज शर्मा एवं सुनील थपलियाल ही द्वारा किया गया।


छात्रों संग मनाया वन्य जीव संरक्षण सप्ताह

कटघोरा वनमंडल के केंदई वनपरिक्षेत्र में स्कूली बच्चों एवं ग्रामीणों के साथ मिलकर वन्यजीव संरक्षण सप्ताह मनाया गया


कोरबा। मोरगा वनमण्डल कटघोरा अंतर्गत केंदई वनपरिक्षेत्र के मोरगा हाईस्कूल में 02 अक्टूबर को वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह मनाया गया।जिसमे वन अधिकारियों एवं कर्मचारियो द्वारा प्राथमिक शाला के बच्चों के माध्यम से वन्यजीव संरक्षण नारों के साथ जागरूकता रैली निकाली गई। 


ज्ञात हो कि 02 से 08 अक्टूबर तक पूरे प्रदेश में वन्यजीव संरक्षण सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है।जिसके तहत 02 अक्टूबर को केंदई वनपरिक्षेत्र के मोरगा हाईस्कूल में छात्र-छात्राओं व ग्रामीणों की उपस्थिति में पुरे उत्साह के साथ इस अभियान का शुभारंभ किया गया।इस दौरान वनपरिक्षेत्राधिकारी अश्वनी चौबे ने स्वयं शपथ लिया और वन्य जीवों के संवर्धन के लिए स्कूली बच्चों तथा ग्रामीणों को शपथ दिला कर प्राथमिक शाला के बच्चों के माध्यम से रैली निकाल कार्यक्रम का विस्तार किया गया।इस दौरान रेंजर चौबे ने मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य के नाम संदेश का वाचन करते हुए कहा कि शुद्ध जल एवं वायु दोनों ही वनों के उत्पाद है।इसके बिना मानव जीवन संभव नही है।जीवन की रक्षा वनों की सुरक्षा से ही निहित है।जहाँ वन्यप्राणी वनों के गहने है।वन एवं वनों में रहने वाले प्राणियों की रक्षा अकेले वनविभाग का दायित्व नही है और विभाग इस दायित्व को अकेले पूरा नही कर सकता।इसलिए जनभागीता भी आवश्यक है।जनसहभागिता से वनों की सुरक्षा के प्रयास तो जरूर किये जा रहे है किंतु जनमानस में वन्यप्राणियों के प्रति जागरूकता,जानकारी एवं संवेदनशीलता पैदा करने व बढ़ाने के लिए प्रयासों की आवश्यकता है।और इन्ही प्रयासों की कड़ी में शासन के निर्देशानुसार वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह का आयोजन किया गया है।ताकि जन-जन में वन्यप्राणियों के प्रति सहआस्तित्व की भावना जागृत की जा सके और सामान्य रूप से मानव-वन्यप्राणी द्वंद तथा विशेष रूप से मानव-हाथी द्वंद को कम किया जा सके।रेंजर चौबे द्वारा इसी कड़ी में आगे कहा गया कि छत्तीसगढ़ सरकार के मुखिया माननीय भूपेश बघेल द्वारा इस वर्ष के बीते अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर हाथियों की सुरक्षा संवर्धन बढ़ाने तथा मानव-हाथी द्वंद कम करने लेमरू हाथी रिजर्व के गठन की घोषणा की गई है।जिसे केबिनेट द्वारा भी मंजूरी दे दी गई है।1995 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले लेमरू हाथी रिजर्व की गठन एक जनहिताय एवं क्रांतिकारी कदम है।इस कार्यक्रम के दौरान वन कर्मचारियों,वन प्रबंधन समितियों के साथ बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे।


गाजियाबाद:अवैध निर्माण के विरुद्ध सीलिंग

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। महानगर में जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा के निर्देशों पर जॉन 6 इंदिरापुरम में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस अभियान के तहत न्याय खंड 1 भूखंड संख्या 651और शक्ति खंड 2 के 85 नंबर भूखंड के अतिरिक्त अवैध निर्माणों को सील करने की कार्रवाई की गई। इसके अलावा आदित्य मॉल के पास रॉन्ग साइड पर अतिक्रमण कर रहे दुकानदारों को हटाया गया और पॉलिथीन और सिंगल यूज़ प्लास्टिक को जप्त करने का अभियान चलाया गया। कार्रवाई के दौरान जॉन 6 के प्रवर्तन दस्ते के साथ प्राधिकरण का सचल दस्ता और अवर अभियंता समेत सुपरवाइजर भी मौजूद थे।


औचक निरीक्षण में मिली कई कमियां

आकांक्षा उपाध्याय


गाजियाबाद। महानगर में मोहननगर से गुजरते हुए महापौर आशा शर्मा ने दोपहर को साई उपवन का निरीक्षण किया। उस दौरान साई उपवन में कार्यरत हेड माली एव 13 माली जिनकी ड्यूटी हमेशा मंदिर परिसर में रहती है वह सब साई उपवन में गायब मिले, महापौर आशा शर्मा ने मंदिर में अन्य बाहरी लोगों से पूछताछ की तो उन्होंने भी यही बताया कि लगभग 1 2 घंटे से कोई नही है ।जब महापौर ने मंदिर परिसर में बने कार्यालय में देखा तो वह भी ताला लगा था। जिसको देख कर महापौर ने संबंधित अधिकारियों से पूछताछ की,तो यह मामला उनकी जानकारी में भी नही था, साई उपवन मंदिर में बाहरी लोगों के अलावा नगर निगम से कोई जिम्मेदार व्यक्ति/कर्मचारियों नही था,और न ही मंदिर की कोई देख रेख कर रहा था, साई उपवन मंदिर में इस लापरवाही की वजह से कुछ भी हो सकता है।महापौर आशा शर्मा ने सम्बंधित अधिकारी को हेड माली जय सिंह एवं मालियों को तत्काल हटाने के निर्देश दिए।


नहीं निकाला रामदल, नहीं जलेगी लाइट

प्रयागराज।“नही निकलेगा 300 साल पुराना रामदल व्यापारी नही जलायेगे लाइट। आज “ दुख एंव विषाद का दिन सिविल लाईनस के लिये , एवं सिविल लाइंस व्यापार मंडल के अध्यक्ष श्री सुशील खरबंदा पदाधिकारियों के बीच एक बैठक हुई और बैठक में सरदार पटेल मार्ग पर व्यापारियों की समस्याओं एवं ख़त्म होते हुए व्यापार को देखते हुए 300 साल पुरानपुरानी हिंदू परंपरा के नाम पर“राम दल “को न मनाने का भारी मन से निर्णय लिया। साथ ही चार अक्टूबर को नहीं दौरान दल वाले दिन संपूर्ण सिविल लाइंस के व्यापार को शटर बंद करके और लाइटें बंद करके सिविल लाइंस ने काला दिवस के रूप में मनाया जाएगा। अपनी दुख और पीड़ा को सरकार वहन प्रशासन के सामने सिविल लाइंस के व्यापारी रखेंगे। शायद उनसे उनकी तंद्रा टूटे और सिविल लाइंस में व्यापार करने की स्थिति बनी रहे। जब व्यापारी को हो परेशानी तो कैसे निकलेगी की सवारी।


बृजेश केसरवानी


शाहबेरी बायर्स करेंगे आमरण-अनशन

गौतमबुध नगर। शाहबेरी संघर्ष समिति के प्रतिनिधि मंडल ने गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बी एन सिंह के नोएडा कैंप कार्यालय जाकर अपनी मुलभुत मांगो की विज्ञप्ति सौंपी और जिलाधिकारी महोदय के कार्यालय विनती किया की उनकी जायज मांगो और अधिकारों को जल्द से जल्द पुरा किया जाए, ताकी शाहबेरी के निर्दोष बायर्स तनाव के माहौल से निकल कर समान्य जिंदगी जी सकें, परंतु जिलाधिकारी महोदय के द्वारा अगर शाहबेरी के निर्दोष बायर्स की जायज मांग या अधिकार  एक हफ्ते की भीतर नही मानी गई तो मजबुरन अपने हक के लिए निर्दोष बायर्स को अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर जाना पड़ेगा और इस दौरान जान माल की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्थानीय प्रशासन की होगी।


निर्दोष बायर्स की निम्न जायज मांग


हमारे यह अधिकार जिन्हें सरकार को मानना चाहिऐ
1 शाहबेरी को नियमित करें।
2. शाहबेरी में बुनियादी सुविधाएं तत्काल प्रभाव से उपलब्ध कराई जानी चाहिए (सड़क, नाली, सीवर)।
3.  आईआईटी दिल्ली द्वारा की जा रही जांच की रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाना चाहिए।
4. आईआईटी दिल्ली द्वारा जांच में जो भी इमारत कमजोर पाई गई है, उसकी दोबारा जांच की जानी चाहिए और उस जांच में शाहबेरी संघर्ष समिति के लोगों को शामिल किया जाना चाहिए।
5.  IIT दिल्ली की जांच रिपोर्ट के बाद, कमजोर पाए गए भवन के पुनर्निर्माण या नए घर को कमजोर घर के बदले में दिया जाना चाहिए
6.  प्राधिकरण और पुलिस को आंदोलन में लगे लोगों से मामले को वापस लेना चाहिए और अज्ञात लोगों की सूची को भी हटाया जाना चाहिए।
 7. सार्वजनिक चीजों को शाहबारी (पार्क, मंदिर, स्कूल, अस्पताल) के अंदर बनाया जाना चाहिए।
8. शाहबेरी को सेक्टर और शहरी क्षेत्र में घोषित किया जाना चाहि
9. जिन भ्रष्ट अधिकारियों की वजह से शाहबेरी बसी, उनके खिलाफ तत्काल और सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।


10. शाहबेरी की मैन रोड को चौड़ा किया जाना चाहिए क्रॉसिंग रिपब्लिक से आम्रपाली तक।


स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल शामील

नई दिल्ली। भारत नए हथियारों को अपने बेड़े में शामिल कर अपनी सैन्य ताकत बढ़ा रहा है। इसी कड़ी में अब एक नई मिसाइल को भारतीय सेना में शामिल किया गया है। यह इजराइल की स्पाइक मिसाइल है। आधुनिक तकनीक से बनी इस मिसाइल को टैंक किलर्स के नाम से भी जाना जाता है। स्पाइक एक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल है, जो काफी ताकतवर हथियार के रूप में भारतीय थल सेना में शामिल हुई है। यह अपने वार से दुश्मन के टैंक को ध्वस्त कर सकती है।
सूत्रों के अनुसार, इजराइल से स्पाइक मिसाइलों का पहला जत्था करीब 10 दिन पहले ही भारत पहुंच चुका है। इसमें 210 स्पाइक मिसाइलों के साथ-साथ दर्जनों लॉन्चर्स भी भारतीय सेना में शामिल किए गए हैं। इंडियन इंफैंट्री में शामिल इस हथियार की ताकत से अब पाकिस्तान खौफ खाएगा। क्योंकि भारत के पास अब वो हथियार है जिससे पश्चिमी हिस्से में पाकिस्तान के बढ़ते टैंक्स को आसानी से ध्वस्त किया जा सकता है। इस स्पाइक मिसाइल की क्षमता चार किलोमीटर दूरी तक वार करने की है। इसे 30 सेकेंड में लॉन्च किया जा सकता है। जबकि रीलॉन्च के लिए यह मिसाइल महज 15 सेकेंड में तैयार हो सकती है। यह मिसाइल रात के अंधेरे में भी दुश्मन को पहचान कर सही वार कर सकती है। भारत ने करीब 280 करोड़ रुपये में इस्राइल से ये मिसाइलें खरीदी हैं। 


इजराइल के साथ इन मिसाइलों की डील भारत द्वारा पाकिस्तान में की गई सर्जिकल स्ट्राइक से भी जुड़ी है। जब 26 फरवरी को भारतीय मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के ट्रेनिंग कैंपों को तबाह किया। उसके बाद ही भारत ने इन मिसाइलों की खरीदारी की प्रक्रिया शुरू की। इसके पहले भारत उस मिसाइल का इंतजार कर रहा था जो रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन डीआरडीओ तैयार कर रहा है। डीआरडीओ मैन पोर्टेबल एंटी टैंग गाइडेड मिसाइल विकसित कर रहा है। पिछले महीनों में ही आंध्र प्रदेश के कर्नूल रेंज में तीन बार इन मिसाइलों का सफल परीक्षण भी किया गया। डीआरडीओ का कहना है कि वह 2020 तक यूजर ट्रायल के लिए ये मिसाइल तैयार कर देगा।


सेना के एक अधिकारी के अनुसार अगर डीआरडीओ अगले साल तक मिसाइल नहीं देता है, तो इजराइल से फिर से स्पाइक मिसाइलें मंगाई जाएंगी। यह स्वदेशी मिसाइल तीसरे जेनरेशन की होगी। 2.5 किमी तक की रेंज में आक्रमण के लिए तैयार टैंक्स को ध्वस्त कर सकेगी। इंफ्रारेड इमेजिंग तकनीक से लैस होगी, जिससे दुश्मन के टैंक की पहचान आसान हो सकेगी। अभी सेना के पास सेकेंड जेनरेशन मिलान-2टी (दो किमी रेंज) और कोंकर्स (4 किमी रेंज) एटीजीएम हैं। इन्हें फ्रेंच और रशियन कंपनियों ने बनाया है। लेकिन इनमें रात को लड़ने की क्षमता नहीं है। बता दें कि इसके पहले 2017 में भारत ने 8,356 स्पाइक मिसाइलों, 321 लॉन्चर्स और 15 सिमुलेटर्स की एक डील रद्द कर दी थी। वह डील करीब 3200 करोड़ रुपये की थी।


पार्श्वनाथ का दो दिवसीय जयंती महोत्सव

बयाना। बयाना में जैन समुदाय के प्रमुख तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ के दो दिवसीय जयन्ति महोत्सव के अवसर पर विभिन्न धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन किए गए।इस अवसर पर बयाना के बड़े दिगम्बर जैन मंदिर व नसिया जी मंदिर सहित अन्य जैन मंदिरो में भी विशेष सजावट, पूजा प्रक्षाल, अभिषेक, ध्वजारोहन, भजन संगीत,समाज सम्मेलन व रथयात्रा आदि कार्यक्रमो के आयोजन हुए।जिनमें समाज की महिलाओं व युवक युवतियो सहित अन्य लोगों ने भी बढ़चढ़कर भाग लिया।जैन रथयात्रा बयाना के बाजारों व मुख्य मार्गों से बेंडबाजो के साथ धूमधाम से निकाली गई थी।
विजुअल 1व 2,बयाना में निकली जैन समाज की रथयात्रा व उसमे शामिल लोग।
विजुअल 3,रथ यात्रा में शामिल जैन समाज की महिलाएं।


नौसैनिक जहाज 'तरकस' आईलैंड पहुंचा

आईलैंड। भारतीय नौसेना की अफ्रीका, यूरोप और रूस के समुद्र में तैनाती के तहत, भारतीय नौसैनिक जहाज तरकश तीन दिवसीय यात्रा पर सैंट डेनिस, रीयूनियन आईलैंड, फ्रांस पहुंचा। आईएनएस तरकश की कमान कैप्‍टन सतीश वासुदेव संभाल रहे हैं। भारतीय नौसेना का अग्रिम पंक्ति का युद्धपोत है जिसमें बहुपयोगी हथियार और सेंसर लगे हुए हैं। यह जहाज मुंबई स्थित पश्चिमी नौसैनिक कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग- इन-चीफ की ऑपरेशनल कमान के अंतर्गत भारतीय नौसेना के पश्चिमी बेड़े का एक हिस्‍सा है।


कमांडिंग ऑफिसर दक्षिणी हिंद महासागर में फ्रांस की नौसेना के सर्वोच्‍च कमांडर, रीयूनियन आईलैंड के प्रीफैक्‍ट और ली-पोर्ट के मेयर सहित विभिन्‍न गणमान्‍य व्‍यक्तियों और सरकारी अधिकारियों से मिलेंगे। फ्रांस और भारत के नौसेना के बीच सहयोग बढ़ाने के बारे में बातचीत की योजना बनाई गई है। साथ ही दोनों नौसेनाओं के बीच सामाजिक कार्यों, खेल कार्यक्रमों के बारे में बातचीत होने की उम्‍मीद है।


फ्रांस और भारत के बीच परंपरागत सौहाद्रपूर्ण और मैत्रीपूर्ण संबंध हैं और दोनों लोकतंत्र, विकास और धर्मनिरपेक्षता के साझा मूल्‍यों को बांटते हैं जिसके कारण 1998 में रणनीतिक साझेदारी का स्‍तर बेहतर हुआ। दोनों देशों के बीच नियमित तौर पर उच्‍च स्‍तरीय आदान-प्रदान और बातचीत होती है। दोनों देशों की नौसेनाओं ने हाल ही में हिन्‍द महासागर में सबसे जटिल और बड़े नौसैनिक युद्ध अभ्‍यास वरुण-2019 में भाग लिया। मैत्री संपर्क कायम करने और मैत्रीपूर्ण देशों के साथ अंतरराष्‍ट्रीय सहयोग को मजबूत बनाने के लिए भारतीय नौसैनिक जहाजों को नियमित रूप से देश के बाहर समुद्रों में तैनात किया जाता है।


दोस्तों संग किया किशोरी से गैंगरेप

जोधपुर। बनाड़ थाना क्षेत्र में एक युवक ने सत्रह वर्षीय किशोरी से जान-पहचान और मोबाइल पर चैटिंग करने के बाद बलात्कार किया। उसके दो दोस्तों ने किशोरी से सामूहिक बलात्कार किया। किशोरी की ओर से दी गई रिपोर्ट में वीडियो व फोटो वायरल करने की धमकी देकर चौदह-पन्द्रह तोला सोने के जेवर और चौबीस हजार रुपए हड़पने का भी आरोप लगाया गया है।


थानाधिकारी अशोक आंजणा के अनुसार 11वीं की छात्रा की शिकायत पर जालेली फौजदारा के तीन युवकों के खिलाफ डरा-धमकाकर सामूहिक बलात्कार, यौन शोषण, पोक्सो अधिनियम और ब्लैकमेल कर सोने के जेवर व रुपए हड़पने का मामला दर्ज किया गया है। आरोप है कि एक साल पहले मुख्य आरोपी युवक उसे परेशान करने लगा था। उसने जबरन खुद के मोबाइल नम्बर दिए और उससे भी मोबाइल नम्बर ले लिए। दोनों में बातचीत होने लगी। कुछ समय बाद युवक ने किशोरी को ढाणी से कुछ दूर सूने कमरे में बुलाया और मोबाइल से हुई चैटिंग वायरल करने की धमकी देकर बलात्कार किया। इसके बाद वह ब्लैकमेल कर यौन शोषण करने लगा।


खुदाई के दौरान निकली महावीर की प्रतिमा

मैनपुरी। सपने मे भगवान द्वारा की गई भविष्यवाणी एक बार फिर सच साबित हुई , मामला जनपद मैनपुरी के करहल कस्वा का है जहां राजघराने परिवार से जुड़े अवधेश दुबे को स्वप्न में भगवान महावीर स्वामी ने घर के आंगन में जमीन में दबे होने की बात कहकर प्रतिमा को बाहर निकलवाने का आदेश दिया था यह बात अवधेश दुबे ने जैन समुदाय के लोगों को बताई तो उन्होंने प्रतिमा निकालने के लिए जैन सन्यासियों से संपर्क करने के बाद खुदाई की तैयारियाँ की गई लेकिन प्रशासन को भनक लग जाने के कारण अधिकारियों ने इस कार्य को रुकवा दिया था आखिरकार प्रतिमा निकालने का पुन : स्वप्न आने के बाद जैन समाज के लोगों ने विद्वानों से परामर्श लेकर गुप्त रणनीति बनाई गयी , तय समय पर जबलपुर से पधारे विद्वान अशोक कुमार जैन शास्त्री की अगुवाई में आज पूजा अर्चना के बाद अलख सुबह 4:00 बजे खुदाई कार्य शुरू किया गया लगभग 8 फुट गहरा गड्ढा खोदे जाने के बाद जैसे ही भगवान की पाषाण प्रतिमा नजर आई वहा खुदाई कार्य कर रहे लोगों की खुशी का ठिकाना न रहा , जय जयकारों के साथ दुग्ध अभिषेक कर भगवान की प्रतिमा को जमीन के गड्ढे से बाहर निकाला गया , जमीन खोदकर गड्ढे से निकाली गई प्रतिमा की पुष्टि भगवान महावीर की मूर्ति हुई तो पूरे जैन समाज में उल्लास छा गया बड़ी संख्या में लोग एकत्र होकर प्रतिमा दर्शन के लिए पहुंचे जैन समाज के नव युवको ने प्रतिमा को सिर पर रख हर्ष उल्लास के साथ जैन भवन नसिया जी पहुंचे जहां उन्होंने भगवान महावीर की प्रतिमा को चौकी पर विराजमान कराया गया बहराहल गुपचुप तरीके से की गई खुदाई की भनक आखिरकार प्रशासन को भी नहीं लग पाई , स्वप्न के आधार पर की गई खुदाई को लेकर पूरे नगर में चर्चा का विषय विषय बना हुआ है लोग इसे चमत्कार की संज्ञा दे रहे हैं।


रिपोर्टर-रामकिशोर वर्मा


बेटे ने मां-बाप को उतारा मौत के घाट

गोरखपुर। चौरीचौरा स्थानीय थाना क्षेत्र के बेलवा बाबू गाव में एक बेटी ने अपने बुजुर्ग माता पिता की चाकू मारकर हत्या कर दी।घटना से इलाके सनसनी फैल गई।सूचना पाकर मौके पर क्षेत्रधिकारी सुमित शुक्ला अपने मातहतों के साथ पहुचे।पुलिस आरोपी बेटी को पकड़कर पूछताछ में जुट गई है।फिलहाल आरोपी बेटी ने अपने माता पिता की हत्या की जो वजह बताई है। वह काफी चौकाने वाली है। आरोपी दो भाइयो की बहन है।आरोपी बेटी का तलाक हो गया था।वह अपने मायके रहती थी।


मिली जानकारी के अनुसार चौरीचौरा थाना इलाके के बेलवा बाबू गांव निवासी केशव प्रसाद सिंह परिवार में पत्नी द्रौपदी देवी व बेटी सुमन के साथ रहते थे। गुरुवार सुबह सुमन को लोगों ने हाथ में चाकू लिए घर के दरवाजे पर बैठे रोते हुए देखा। उसके हाथों व चाकू में खून लगा था। अनहोनी की आशंका पर पुलिस को सूचना दी गई।


सूचना पाकर मौके पर सीओ चौरी चौरा सुमित शुक्ला के साथ ही स्थानीय पुलिस भी पहुंची और आरोपी बेटी को पकड़कर पूछताछ में जुट गई। पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसपी नार्थ ने बताया कि आरोपी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है और पूछताछ में उसने हत्या की बात भी कबूल कर ली है।


शशि जयसवाल


वित्त-मंत्री का ब्याज दर घटाने का ऐलान

नई दिल्ली। त्योहारी मौसम में सरकारी कर्मचारियों को केंद्र सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। रियल एस्टेट सेक्टर की सुस्ती को दूर करने के लिए सरकार ने हाउस बिल्डिंग अडवांस (HBA) पर ब्याज दर को 8.5% से घटाकर 7.9% कर दिया है। निर्मला सीतारमण ने 14 सितंबर को ब्याज दर घटाने का ऐलान किया था।
केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने कहा कि नई ब्याज दर 1 अक्टूबर से प्रभावी हो चुकी है। यह दर एक साल तक प्रभावी रहेगी। सरकार के इस कदम को आवासीय क्षेत्र में मांग बढ़ाने की दिशा में उठाए गए एक और कदम के रूप में देखा जा रहा है।
मंत्रालय ने कहा, 'सरकारी कर्मचारियों के लिए एक साल के लिए हाउस बिल्डिंग अडवांस पर ब्याज दर को मौजूदा 8.5 प्रतिशत से घटाकर 7.9 प्रतिशत कर दिया गया है। कर्ज की राशि चाहे कितनी भी हो उस पर 7.9 प्रतिशत की दर से ब्याज देना होगा।'
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले महीने कहा था कि हाउस बिल्डिंग अडवांस पर ब्याज दर को कम किया जाएगा और इसे 10 साल की सरकारी प्रतिभूतियों के प्रतिफल से जोड़ जाएगा। सीतारमण ने कहा, 'घरों की मांग में सरकारी कर्मचारियों का बड़ा योगदान होता है। इस फैसले से अधिक से अधिक सरकारी कर्मचारी नया घर खरीदने को प्रोत्साहित होंगे।'
क्या है हाउस बिल्डिंग अडवांस:-
सरकार के स्थायी कर्मचारियों और 5 साल तक लगातार सवा में रह चुके अस्थायी कर्मचारियों को मकान के लिए कर्ज के रूप में अग्रिम राशि देने की व्यवस्था है। हाउस बिल्डिंग अडवांस की सुविधा केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों को मिलती है। इसके तहत, कर्मचारी अपनी जमीन पर मकान बनाने के लिए अग्रिम भुगतान हासिल कर सकते हैं। इस योजना के तहत नए घर या फ्लैट की खरीदारी के लिए भी अग्रिम भुगतान मिलता है। इस अग्रिम भुगतान का उपयोग हाउजिंग लोन के रिपेमेंट में किया जा सकता है।


हरियाणा वित्त-मंत्री की आय हुई दोगुनी

हरियाणा: पांच साल में दोगुनी से भी ज्यादा हुई वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की संपत्ति


कैप्टन अभिमन्यु ने खुलासा किया कि उनके पास 170.41 करोड़ रूपये से ज्यादा की संपत्ति है। 2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने अपनी संपत्ति 77.36 करोड़ रुपये बताई थी। बीजेपी नेता के पास 3.90 करोड़ रुपये मूल्य के मोटर वाहन है



चंडीगढ़। हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की संपत्ति पिछले पांच साल में दोगुनी से ज्यादा हो गई है। हरियाणा के नारनौंद विधानसभा सीट से अपना पर्चा दाखिल करने के दौरान बीजेपी नेता ने खुलासा किया कि उनके पास 170.41 करोड़ रूपये से ज्यादा की संपत्ति है। 2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने अपनी संपत्ति 77.36 करोड़ रुपये बताई थी। यह आंकड़ा उन्होंने खुद, अपनी पत्नी और तीन निर्भर बच्चों के लिए संयुक्त रूप से जारी किया है। निर्वाचन अधिकारी के समक्ष दायर हलफनामे में अभिमन्यु ने चल और अचल संपत्ति क्रमश: 76.46 करोड़ रुपये और 93.95 करोड़ रुपये घोषित की है।



बीजेपी नेता के पास 3.90 करोड़ रुपये मूल्य के मोटर वाहन हैं। इसके अलावा चल संपत्ति में उन्होंने सोने और हीरे के 1.82 करोड़ रुपये मूल्य के आभूषण बताए हैं। वहीं उनकी पत्नी के पास 1.48 करोड़ रुपये मूल्य के महंगे रत्न हैं। वहीं उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता में बताया है कि उन्होंने 2015 में हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से प्रबंधन कोर्स किया है। उन्होंने अपने पेशे में मंत्री लिखा है और अपनी पत्नी का पेशा शिक्षाविद और सामाजिक कार्यकर्ता बताया है। मंत्री ने अपने आय के स्रोतों में वेतन, किराया, परिवहन कारोबार, ब्याज और कृषि शामिल किया है।


 


वहीं हिसार जिले के आदमपुर से दोबारा चुनाव लड़ रहे कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई ने भी गुरुवार को नामांकन पत्र दाखिल किया। उन्होंने हलफनामे में अपनी आय 105.52 करोड़ रुपये घोषित की है। नेता ने बताया है कि उनकी और उनकी पत्नी रेणुका की संपत्ति क्रमश: 56.70 करोड़ और 48.82 करोड़ रुपये है। बिश्नोई पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के बेटे हैं। बिश्नोई के पास कई महंगी गाड़ियां हैं जिसमें ऑडी, बीएमडब्ल्यू और मर्सिडीज शामिल हैं।



बीजेपी विधायक प्रेम लता ने अपनी संपत्ति 21.61 करोड़ रुपये बताई है। वह हरियाणा के प्रमुख जाट नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बिरेंद्र सिंह की पत्नी हैं। लता ने उचाना कलां से अपना पर्चा दाखिल किया है। संपत्ति उनके और उनके पति की संयुक्त रूप से है। वहीं हरियाणा के बीजेपी प्रमुख और टोहाना से उम्मीदवार सुभाष बराला ने अपनी संपत्ति 5.39 करोड़ रुपये घोषित की है। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरेजावाला ने कैथल से अपना पर्चा दाखिल किया और अपनी संपत्ति 12.51 करोड़ रुपये बताई है।


पालिका बोर्ड बैठक में लिए कई फैसले

शामली। कैराना नगर पालिका बोर्ड बैठक चेयरमैन हाजी अनवर हसन द्वारा आयोजित की। आपको बताते चलें कि हर साल की तरह इस साल भी नगर पालिका कैराना द्वारा पूरे साल का लेखा-जोखा पेश किया गया जनवरी 2019 से लेकर अगस्त 2019 तक आय व्यय का लेखा जोखा पेश किया गया जिसमें पेयजल सुदृढ़ बनाने के लिए एल एन टी पैनल स्टार्टर वे कटआउट वे केबल आदि के लिए 809480 रुपए कि स्वीकृति दी गई हैंड पंप स्पेयर पार्ट ,क्लोरीन ,आदि के लिए 499390 रुपए कि स्वीकृति दी गई और मोटर पंप खराब पड़े हुए को बदलने के लिए 677320 रुपए की स्वीकृति मिली कैराना नगर में 25 स्थानों पर हैंडपंप रिबोर करने के लिए 16 लाख 37 हजार 825 रुपए की स्वीकृति रोशनी के लिए विद्युत सामग्री की आपूर्ति के लिए ₹892800 की स्वीकृति 72 वाट में 90 वाट की एलइडी के लिए 729980 की स्वीकृति प्रदान की गई गृह कर जलकर ऑनलाइन पोर्टल पर वह के लिए ₹295000 अनुमान मैं स्वीकृत किए गए आउटसोर्सिंग के माध्यम से विभिन्न कार्यों के लिए 140 व्यक्तियों को रखे जाने की स्वीकृति मिली पालिका ठेकेदारों के लिए रजिस्ट्रेशन शुल्क बढ़ाने के लिए स्वीकृति मिली मोहल्ला अफगान वार्ड 24 में स्थित पालिका बारात घर किराए बढ़ाने की स्वीकृति प्रदान की गई भवन मानचित्र एनओसी दिए जाने की भी संकलन 5000 निर्धारित की गई 1/4 /2005 से नहीं परिभाषित अंशदाई पेंशन योजना लागू किए जाने की स्वीकृति प्रदान की प्रकाश व्यवस्था सुधारने हेतु 30252100स्वीकृति हेतु शासन को भेजे जाने की स्वीकृति प्रदान की बोर्ड बैठक मैंकरोड़ों रुपए का बजट पेश किया गया बोर्ड बैठक की अध्यक्षता हाजी अनवर हसन चेयरमैन कैराना द्वारा की गई बोर्ड की बैठक का संचालन अधिशासी अधिकारी हेमराज सिंह ने किया बोर्ड बैठक में तासीम अली सफाई लिपिक मोहम्मद कौशर अनिल कुमार सफाई व खाद निरीक्षक ,सूरजपाल , इलियास, इंतजार, सुधीर, वहीदन ,नसीमा शकुन मित्तल, मोहम्मद आसिम, फरहा, उस्मानी ,मोहसीन आदि सभासद गण उपस्थित रहे।


एसडीएम को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन

शामली। शहर कांग्रेस कमेटी द्वारा एक ज्ञापन प्रधानमंत्री के नाम उप जिलाधिकारी संदीप कुमार शामली को सौंपा जिसमें कांग्रेसियों ने घोर विरोध करते हुए कहा कि सार्वजनिक रूप से गांधी जयंती पर एक दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री दिनेश उपाध्याय ने देश के प्रथम प्रधानमंत्री को देश का दूसरा प्रधानमंत्री बताकर इतिहास को बदलने की कोशिश की है जिसका कांग्रेस कमेटी घोर विरोध करती है भारत रतन प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू व आधुनिक देश के निर्माता को इस तरह राज्य प्राप्त दर्जा मंत्री दिनेश उपाध्याय ने वरिष्ठ नागरिक सेवा समिति के आयोजित सभा में यह बात कही जिसका सभी कांग्रेसी विरोध करते हैं और प्रधानमंत्री से मांग करते हैं कि ऐसे व्यक्ति को किसी भी संवैधानिक पदों पर बनाए रखना घातक हो सकता है इसलिए ऐसे व्यक्ति पर कठोरतम कार्रवाई होनी चाहिए इसके लिए ज्ञापन संदीप कुमार उप जिला अधिकारी शामली को दिया ज्ञापन देने वालों में उपस्थित श्याम लाल शर्मा ,अनुज गौतम ,वैभव गर्ग, पुनीत शर्मा ,विनोद अत्री, दीपक सैनी ,मोहम्मद रिजवान ,नसीम अहमद, रविंदर आर्य, रमेश मराठा ,धर्मेंद्र कंबोज, सोहेल धीमान ,वसीम अकरम, आकाश गोयल आदि सैकड़ों कांग्रेसी।


हज-उमरा के नाम पर ठगा, मुंबई मे छोड़ा

रायपुर। हज उमरा ले जाने के नाम पर ट्रेवल्स संचालक के द्वारा लाखों की ठगी करने का मामला सामने आया है। आरोपी ने 90 यात्रियों से पैसा लेकर उन्हें मुम्बई में छोड़ मौके से फरार हो गया है। पीड़ितों की शिकायत के बाद राजधानी पुलिस आरोपी की खोज में जुट गई है। 
जानकारी के मुताबिक अकबरी ट्रेवल्स के मालिक शमीम खान ने राजधानी के 35 लोगों को प्रति व्यक्ति 55 हजार के बजट में हज ले जाने का झांसा दिया। उनसे कहा गया कि उन्हें मुम्बई तक अपने खर्चों में आना होगा उसके बाद वहां से सभी को हज ले जाया जाएगा। आरोपी ने ऐसे ही राजधानी समेत दूसरे राज्यों के 90 लोगों को अपनी बातों में लिया। हज उमरा जाने वाले सभी यात्रियों से 55-55 हजार रुपये लिए गए। 90 यात्रियों से 49 लाख से ज्यादा रुपये लेने के बाद सभी को अपने अपने खर्च में मुम्बई बुलाया गया। जब सभी मुम्बई पहुंचे तो आरोपी शमीम ने उनसे वीजा लेने जाने का बहाना कर उन्हें मुम्बई में छोड़ वहां से फरार हो गया। कई घंटे बीत जाने के बाद भी जब आरोपी शमीम नहीं लौटा तो सभी ने इसकी जानकारी रायपुर में अपने परिजनों को दी।
जानकारी के बाद पीड़ितों के परिजनों ने इसकी शिकायत  एसएसपी आरिफ शेख से की गई। शिकायत के बाद आरोपी के मौदहापारा स्थित अकबरी ट्रेवल्स और मोवा के घर में छापा मारा गया। आरोपी दोनों जगहों से गायब था, जिसके बाद पुलिस आरोपी की खोज में जुट गई है।
वहीं मुम्बई में फंसे लोगों ने राजधानी पुलिस से मदद की गुहार लगाई है। जिसके बाद लगातार मुम्बई में फंसे लोगों से संपर्क किया जा रहा है। फिलहाल इस पूरे मामले में शिकायत के बाद पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।


अर्थव्यवस्था को गति देने का प्रयास

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था को गति देने के प्रयासों के क्रम में भारतीय रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को अपनी प्रमुख नीतिगत दर में लगातार पांचवीं बार कमी की है। आरबीआई ने इस मौद्रिक नीति समिति की समीक्षा बैठक में रेपो दर 0.25 आधार अंक घटाकर 5.15 फीसदी कर दिया है, जिससे इस साल रेपो दर में कुल कटौती 135 आधार अंक पहुंच गई है। पहले ये दर 5.40 फीसदी थी। नौ सालों में पहली बार रेपो रेट इतना कम हुआ है। रिवर्स रेपो रेट 4.90 फीसदी कर दी गई है।
 
एक और कटौती की उम्मीद


छह सदस्यीय एमपीसी की बैठक गवर्नर शक्तिकांत दास की अगुवाई में हुई। केंद्रीय बैंक खुदरा महंगाई को ध्यान में रखते हुए प्रमुख नीतिगत दरों पर फैसला लेता है। हालांकि ज्यादातर विशेषज्ञ दिसंबर में होने वाली समीक्षा में 15 आधार अंक की एक और कटौती की उम्मीद कर रहे हैं।


आपको ऐसे होगा फायदा


अगर रेपो रेट में कटौती का फायदा बैंक आप तक पहुंचाते हैं तो का आम लोगों को काफी फायदा होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि अब बैंकों पर ब्याज दरों में कटौती करने का दबाव रहेगा। इससे लोगों को लोन सस्ते में मिल जाएगा। इसके अलावा जो होम, ऑटो या अन्य प्रकार के लोन फ्लोटिंग रेट पर लिए गए हैं, उनकी ईएमआई में भी कमी हो जाएगी।


इसलिए अहम है आरबीआई की बैठक


आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की यह बैठक इसलिए भी अहम है, क्योंकि उसने रेपो दर में कमी का फायदा ग्राहकों को देने के लिए सभी बैंकों को एक अक्तूबर से अपने कर्ज रेपो दर जैसे बेंचमार्क से जोड़ने का आदेश दिया था। बैठक से पहले दास की अगुवाई वाली वित्तीय स्थायित्व एवं विकास परिषद (एफएसडीसी) उप समिति ने मौजूदा व्यापक परिदृश्य का जायजा लिया था।


आरबीआई गवर्नर ने दिया था संकेत


बता दें कि आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास पहले ही संकेत दे चुके थे कि महंगाई में नरमी के मद्देनजर मौद्रिक नीति को लचीला बनाने की अभी गुंजाइश है। इससे पहले सरकार चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में पांच फीसदी के साथ छह साल के निचले स्तर पर पहुंची आर्थिक विकास दर को रफ्तार देने के लिए कॉर्पोरेट कर में भारी कमी, एफपीआई पर लगाए गए उपकर को वापस लेने सहित कई कदम उठा चुकी है।


अगस्त में इतनी कम की थी रेपो रेट


इससे पहले सात अगस्त को हुई बैठक में भी भारतीय रिजर्व बैंक ने आम लोगों के लिए बड़ी घोषणा की थी। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की समीक्षा बैठक में लगातार चौथी बार रेपो रेट में कटौती की घोषणा की गई थी। फैसले के अनुसार, रेपो रेट को घटाकर 5.40 फीसदी कर दिया गया था। इसमें 35 आधार अंकों की कटौती की गई थी। केंद्रीय बैंक ने रिवर्स रेपो रेट को 5.15 फीसदी किया था।


खुदरा मुद्रास्फीति का भी जताया था अनुमान


साथ ही आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष के लिए जीडीपी का अनुमान सात फीसदी से घटाकर 6.9 फीसदी किया था। रिजर्व बैंक ने वित्त वर्ष 2020 की दूसरी छमाही के लिये खुदरा मुद्रास्फीति 3.5 से 3.7 फीसदी रहने का अनुमान जताया था।


चिन्मयानंद की हिरासत अवधि बढ़ी

नई दिल्ली। एलएलएम छात्रा के यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें कम होती नजर आ रहीं। शाहजहांपुर जेल में बंद चिन्मयानंद की न्यायिक हिरासत गुरूवार को 14 दिनों के लिए बढ़ा दी गयी। जेल से चिन्मयानंद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेशी कराई गई थी। अब अगली पेशी 16 अक्टूबर को होगी। चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह ने बताया कि चिन्मयानंद को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया था। सीजेएम की अदालत में उनकी पेशी होनी थी परंतु सुरक्षा कारणों के चलते जेल से ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उनकी पेशी हुई। अधिवक्ता ने बताया कि सीजेएम ओमवीर सिंह ने चिन्मयानंद की न्यायिक हिरासत 14 दिन के लिए और बढ़ा दी है। वकील पूजा सिंह ने बताया कि स्वामी को मोतियाबिंद है और उनकी नजर तेजी से कम हो रही है क्योंकि मोतियाबिंद के कारण आंख के पास नस में तेज दर्द हो रहा है।


पूजा सिंह ने कहा कि उन्होंने अदालत में भी इस बात को रखा है कि स्वामी पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हैं। ऐसे में जेल में उन्हें 'ए' क्लास की सुविधाएं मिलनी चाहिए। लेकिन उन्हें साधारण बंदियों की तरह भोजन और साधारण बंदियों की तरह फर्श पर लेटना पड़ रहा है। ओम सिंह ने बताया कि स्वामी और पीड़िता की आवाज के नमूने लेने के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) ने सीजेएम की अदालत में अर्जी दी है जिस पर सुनवाई होनी है। उधर कलेक्ट्रेट में 'जनता की आवाज' नामक संगठन के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया और चिन्मयानंद पर धारा 376 लगाने की मांग की। उन्होंने राज्यपाल के नाम भेजे गए ज्ञापन में आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार स्वामी का बचाव कर रही है। चिन्मयानंद को 23 सितंबर को सीने में दर्द और लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया था। उनकी 'एंजियोग्राफी' की गयी लेकिन कोई अवरोध नहीं पाया गया। स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याओं के कारण वह अब तक पीजीआई में ही भर्ती थे।


बता दें कि स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण और कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने के आरोप लगाए थे। लड़की ने अपनी और अपने परिवार को जान का खतरा बताया था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रकरण पर स्वत: संज्ञान लेते हुए पीड़िता को न्यायालय में तलब किया और मामले की जांच के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को एसआईटी के गठन का निर्देश दिया था। कोर्ट के निर्देश के बाद एसआईटी ने यौन शोषण के आरोपी चिन्मयानंद एवं रंगदारी मांगने के मामले में पीड़िता समेत चार लोगों को जेल भेज दिया। इसी मामले में स्वामी की न्यायिक हिरासत 14 दिन के लिए और बढ़ाई गई है।


'लाल कप्तान' का तीसरा ट्रेलर जारी

नई दिल्ली। सिर पर जटाओं और पूरे शरीर पर भस्म लगाकर सैफ अली खान लाल कप्तान अघोरी लुक ट्रेलर जारी हो गया है। बतादें कि फिल्म का यह तीसरा और फाइनल ट्रेलर रिलीज हुआ है। ट्रेलर को देखकर आपकी इस फिल्म को देखने की बेचैनी कुछ ज्यादा ही बढ़ने वाली है।


इस फिल्म 'लाल कप्तान में सैफ अली खान का लुक ही नहीं बल्कि उनके किरदार का नाम भी 'नागा साधु' है। इस फिल्म के ट्रेलर को तीन हिस्सों में रिलीज किया गया है। पहले ट्रेलर को नाम दिया गया 'चैप्टर वन- द हंट' दिया गया था। दूसरे ट्रेलर का नाम 'चैप्टर टू- द चेज' दिया गया है। वहीं तीसरे और फाइनल चैप्टर का नाम है 'चैप्टर थ्री- द रिवेंज'।


सीएम ने 'तेजस एक्सप्रेस' को किया रवाना

तेजस एक्सप्रेस को सीएम योगी ने दिखाई हरी झंडी


लखनऊ । देश की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को आज लखनऊ से सीएम योगी आदित्यनाथ ने हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया। तेजस हफ्ते में छह दिन लखनऊ से दिल्ली के बीच दौड़गी और सिर्फ छह घंटे दस मिनट में सफर करेगी तय। इसका टिकट ऑनलाइन आसानी से उपलब्ध रहेगा। बता दें कि इस ट्रेन में आपको वो सारी सुविधाएं मिलेगी, जो आपको प्लेन में मिलती है। यात्रियों की सेहत का भी ख्याल रखते हुए मेन्यू बनाया गया है।सीएम योगी ने अपने भाषण में कहा कि मैं IRCTC की पूरी टीम को बधाई देता हूं और इसी के साथ यात्रियों को भी इस खास मौके पर बधाई देता हूं। सीएम ने पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद किया। सीएम योगी ने कहा कि तेजस को और भी रूट में आगे चलाना चाहिए इसे सिर्फ लखनऊ और दिल्ली के बीच सीमित नहीं रह जाना चाहिए।


तेजस देश की पहली कॉर्पोरेट ट्रेन है। इसका पूरा काम आईआरसीटीसी संभालेगी। यह ट्रेन नई दिल्ली से शाम 4:30 बजे चलेगी और रात 10:45 लखनऊ पहुंचेगी। चलती ट्रेन में प्रोमोशनल एक्टिविटी होगी तथा इसमें महिलाओं की सुरक्षा पर मुख्य रूप से ध्यान दिया गया है।


संघर्षविराम उल्लंघन, आमने-सामने

नई दिल्ली। पुंछ जिले के दिगवार सेक्टर में शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इस दौरान पाक सेना ने मोर्टार शेलिंग व गोलाबारी की। भारतीय सेना पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इससे पहले पुंछ जिले के ही शाहपुर और किरनी सेक्टर में मंगलवार सुबह पाक सेना ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सेना ने दोनों सेक्टरों में मोर्टार शेलिंग करने के साथ ही भारी गोलाबारी की थी। जिसका भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब भी दिया था। इस गोलाबारी में एक स्तानीय नागरिक गंभीर रूप से घायल हो गया था। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि मेंढर सेक्टर निवासी मो. बशीर इस गोलाबारी में घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने रविवार को मेंढर सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन किया था। पाक सेना की ओर से भारी गोलाबारी व मोर्टार शेलिंग की थी। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। संघर्षविराम का उल्लंघन कर वह आतंकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में जुटा हुआ है।


इस साल दो हजार से अधिक बार गोलाबारी


बीते शनिवार को भी पाक सेना ने पुंछ जिले के केरनी कस्बा सेक्टर में संघर्षविराम का उल्लंघन किया था। वहीं 21 सिंतबर को पाकिस्तान ने पुंछ व राजोरी जिले में एलओसी पर अग्रिम चौकियों तथा रिहायशी इलाकों को निशाना बनाते हुए भारी गोलाबारी की थी। इसमें कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए थे। साथ ही 16 जानवरों की मौत हुई थी। इससे ठीक एक दिन पहले पाकिस्तान ने रात आठ से 10 बजे के बीच नौशेरा, रात करीब पौने बारह बजे से देर रात दो बजे के बीच बालाकोट में छोटे हथियारों से गोलीबारी की और गोले दागे थे। गोलाबारी और बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर शाहपुर में भी कई स्कूलों को बंद किए गए थे। अधिकारियों के अनुसार इस साल अभी तक पाकिस्तान ने 2050 से अधिक बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है, जिसमें 21 भारतीय मारे गए हैं और कई अन्य घायल हुए हैं। भारत ने लगातार पाकिस्तान से कहा है कि वह अपने बलों से 2003 संघर्ष विराम समझौते का पालन करने और नियंत्रण रेखा तथा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए कहे।


गांधी विचारधारा में भागीदारों की लिस्ट

रायपुर। गांधी विचार यात्रा में 4 अक्टूबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, मंत्री टीएस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, कवासी लखमा, शिव कुमार डहरिया, उमेश पटेल, प्रेमसाय सिंह, मो.अकबर, अनिला भेड़िया, रवींद्र चौबे, जयसिंह अग्रवाल,  अमरजीत भगत, गुरु रूद्र कुमार सहित समस्त सांसद एवं पूर्व सांसद गण समस्त विधायक एवं पूर्व विधायक गण समस्त प्रदेश पदाधिकारी गण और मोर्चा संगठन प्रकोष्ठ विभाग के समस्त अध्यक्ष भाग लेंगे।


5 अक्टूबर को मंत्री उमेश पटेल, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, अंबिका सिंह देव, खेल शाय सिंह, पारसनाथ राजवाड़े, बृहस्पति सिंह, चिंतामणि महाराज, प्रीतम राम, विक्रम शाह मंडावी, चंदन कश्यप, रामपुकार सिंह, चक्रधर प्रसाद सिद्धार्थ, जलेश्वर साहू, छन्नी साहू और प्रकाश नायक भाग लेंगे।


6 अक्टूबर को मंत्री प्रेमसाय सिंह, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, धनेंद्र साहू, छाया वर्मा, ममता चंद्राकर, आशीष छाबड़ा, गुरुदयाल सिंह बंजारे, इंदर शाह मंडावी, अनूप नाथ, शिशुपाल शोरी, कुंवर सिंह निषाद, लक्ष्मी ध्रुव, पुरुषोत्तम कुमार, मोहित केरकेट्टा भाग लेंगे।


7 अक्टूबर को मंत्री मो. अकबर, मंत्री डॉ शिव कुमार डहरिया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, किस्मत लाल नंद, देवेंद्र बहादुर सिंह, रामकुमार यादव, शैलेश पांडे, रश्मि सिंह, लालजीत सिंह राठिया, चंद्रदेव प्रसाद राय, भुनेश्वर सिंह बघेल, लखेश्वर बघेल, रेखचंद जैन भाग लेंगे।


8 अक्टूबर को मंत्री मो. अकबर, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, विनय भगत, संगीता सिन्हा, गुलाब सिंह कमरों, विनय जायसवाल, उत्तरी जांगड़े, सलाम रिजवी भाग लेंगे।


9 अक्टूबर को मंत्री अनिला भेड़िया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, छाया वर्मा, विधायक सतनारायण शर्मा, विकास उपाध्याय, कुलदीप जुनेजा, अनीता शर्मा अमितेश शुक्ला, मनोज मंडावी, देवती कर्मा, संतराम नेताम, अरुण वोरा, देवेंद्र यादव, द्वारिकाधीश यादव, विनोद चंद्राकर ,शकुंतला साहू भाग लेंगे।


10 अक्टूबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, मंत्री टीएससी देव, ताम्रध्वज साहू, कवासी लखमा , डॉ शिव कुमार डहरिया, उमेश पटेल, प्रेमसाय सिंह, मो. अकबर, अनिला भेड़िया, रवि चौबे, जयसिंह अग्रवाल, अमरजीत भगत, गुरु रूद्र कुमार, वरिष्ठ नेता धनेंद्र साहू, सत्यनारायण शर्मा, विकास उपाध्याय, कुलदीप जुनेजा भाग लेंगे।


रिकॉर्ड तोड़ 'वार' बाहुबली-2 से पीछे

नई दिल्ली। बॉक्स ऑफिस के 'वॉर' में ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ सबसे आगे निकल गए हैं। इन दोनों एक्शन स्टार्स की फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़ ओपेनिंग मिली है। वॉर हिंदी के साथ तमिल और तेलुगू में रिलीज हुई है। सभी भाषाओं की बात करें तो इस फिल्म ने 53.35 करोड़ की कमाई की है। 'वॉर' के हिंदी वर्जन ने 51.60 करोड़ की कमाई की है, वहीं तमिल और तेलुगू वर्जन ने 1.75 करोड़ की कमाई की है। हिंदी फिल्मों में पहले दिन की कमाई का ये अब तक का सबसे हाइएस्ट रिकॉर्ड है। ये ऐसा रिकॉर्ड है जिसे तोड़ना किसी भी सितारे के लिए आसान नहीं होगा। 51 करोड़ की कमाई के साथ हिंदी वर्जन ने भले ही इतिहास रच दिया है लेकिन ओवरऑल कमाई के मामले में अब भी 'बाहुबली 2' के आस पास कोई फिल्म नहीं पहुंच सकी है।


प्रभाष और अनुष्का शेट्ठी की फिल्म 'बाहुबली 2' ने पहले दिन 121 करोड़ की कमाई की. वर्ल्डवाइ़ड इस फिल्म की ग्रॉस कमाई 214 करोड़ है। इस फिल्म के हिंदी वर्जन ने अकेले 41 करोड़ कमाए। इसके अलावा 58 करोड़ तेलुगू और 26 करोड़ तमिल/मलयालम से आए। 'वॉर' अब 'बाहुबली 2' के हिंदी वर्जन से आगे तो निकल गईं लेकिन सभी भाषाओं की तुलना में वो अभी प्रभाष की फिल्म से बहुत पीछे है।  'वॉर' फिल्म को सिद्धार्थ आनंद ने डायरेक्ट किया है। इसमें ऋतिक और टाइगर के साथ वाणी कपूर भी हैं। पहले दिन फिल्म की बंपर कमाई से स्टारकास्ट बहुत खुश हैं। दोनों ही ने फिल्म को दिए इतने प्यार के लिए फैंस का शुक्रिया अदा किया है। ये फिल्म कुल 4000 स्क्रीन्स पर रिलीज हुई है। ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ पहली बार एक साथ नज़र आए हैं। इस फिल्म को समीक्षकों ने भी अच्छा बताया है और रेटिंग भी अच्छी दी है।


विराट-बुमराह की बादशाहत कायम

नई दिल्ली। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की बादशाहत वन-डे में भी बरकरार है। ताजा जारी आईसीसी वन-डे रैंकिंग में विराट और बुमराह शीर्ष पर बने हुए हैं। वन-डे बल्लेबाजों की रैंकिंग में कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा पहले और दूसरे स्थान पर हैं, जबकि बुमराह गेंदबाजों की रैंकिंग में टॉप पर बने हुए हैं। विराट कोहली 895 अंक के साथ पहले और रोहित शर्मा 863 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं। पाकिस्तान के बाबर आजम 834 अंक लेकर तीसरे स्थान पर हैं। दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस 820 अंक लेकर चौथे, वहीं न्यूजीलैंड के रॉस टेलर 817 अंक हासिल कर पांचवें नंबर पर हैं।


अब भारत अपना स्पेस स्टेशन बनाएगा

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) इस समय एक साथ कई बड़े प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहा है। एक तरफ जहां वैज्ञानिकों ने अब तक चंद्रयान-2  के विक्रम लैंडर से संपर्क की कोशिश में हार नहीं मानी है। वहीं दूसरी ओर भारत के पहले मानव मिशन गगनयान की भी तैयारी जारी है। इस बीच अब इसरो प्रमुख के. सिवन ने एक और बड़े प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी है। यह ऐसा है जो इसरो ने पहले कभी नहीं किया। डॉ. के. सिवन ने अंतरिक्ष में भारत के अपने स्टेशन के बारे में बात की है। कुछ महीने पहले के. सिवन ने बताया था कि भारत अपना स्पेस स्टेशन बनाने वाला है। अब इसके लिए इसरो अगले साल स्पेस डॉकिंग एक्सपेरिमेंट करने जा रहा है।


कैसा होगा ये प्रयोग


इस प्रयोग के लिए इसरो दो सैटेलाइट्स को एक पीएसएलवी रॉकेट की मदद से अंतरिक्ष में भेजेगा। ये दो सैटेलाइट मॉड्यूल इस तरह तैयार किए जाएंगे, कि ये अंतरिक्ष में रॉकेट से बाहर आने के बाद एक दूसरे से जुड़ सकें। यही सबसे जटिल प्रक्रिया भी होगी।


स्पेस स्टेशन के लिए क्यों जरूरी है ये प्रयोग


इसरो प्रमुख के अनुसार जुड़ने की ये प्रक्रिया ठीक वैसी ही होगी जैसे इमारत बनाने के लिए एक ईंट से दूसरी ईंट को जोड़ना। छोटी-छोटी चीजें जुड़कर बड़ा आकार बनाती हैं। स्पेस स्टेशन बनाने के लिए भी ये प्रक्रिया सबसे अहम है। इस प्रयोग की सफलता से ही पता चलेगा कि हम स्पेस स्टेशन में जरूरी वस्तुओं और अंतरिक्ष यात्रियों को सुरक्षित तरीके से पहुंचा सकेंगे या नहीं। बता दें कि पहले 2025 तक ये रॉकेट छोड़ने की योजना थी।


7 माह से कैद युवती को छुड़ाया

बैकुंठपुर। जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के ग्राम केनापारा के एक महिला को एक मकान में 7 महीने तक एक ही कमरे में बंद रखा जाता था। मामले की जानकारी देते हुए जूना पारा की महिला पुलिस वॉलिंटियर इंदिरा ने बताया कि यह महिला ग्राम बैकुंठपुर के जूना पारा की रहने वाली है। इसका नाम सूरज राजवाडे बताया जा रहा है। इसके पिता का देहांत हो चुका है और माता अपने परिवार से दूर रहती है। बताया जा रहा है कि महिला सूरज लगभग 24 साल की उम्र है। इसके अपने दो भाई इससे अलग रहते हैं। अपने घर में यह अकेले रहती थी वहां आसपास रहने वाले लोगों ने थाने में फोन कर पुलिस को महिला के घर में बंद होने की जानकारी दी सुचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ पंकज शुक्ला महिला पुलिस को लेकर तत्काल मौके पर पहुंचे और घर का ताला तोड़कर उस महिला को बाहर निकाला। महिला डरी हुई और कमजोर हालत में पड़ी मिली। जिसे 108 के माध्यम से जिला अस्पताल लाया गया डॉक्टर के द्वारा जांच कर उसे तत्काल आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया। पुलिस भी महिला के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त नहीं कर पाई है। पुलिस ने बताया कि महिला के और ठीक होने के बाद ही पूरी घटना का खुलासा हो पाएगा।


महीने में रहेगा 12 दिन का अवकाश

नई दिल्ली। अक्टूबर के महीने से त्योहारों की छुट्टियों का दौर शुरू हो गया है। दशहरा, दिवाली और कुछ त्योहार इस बार महीने कुल 12 छुट्टियां लेकर आ रहे हैं। इसमें सरकारी और निजी बैंकों के कर्मचारी सबसे ज्यादा छुट्टी मनाएंगे।  देश में सबसे बड़ा त्योहारी सीजन शुरू होने के साथ ही अगले डेढ़ महीने बैंकों में भी लंबी छुट्टियां होंगी। इस वजह से अगले डेढ़ महीने में 16 दिन तक बैंक बंद रहेंगे। इसी माह 12 दिन तक बैंकों का अवकाश रहेगा।


वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे 
वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे
बैंकों का अवकाश दो अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके से शुरू हुआ है। इसके बाद इसी माह दशहरा, दीपावली, भाई दूज, गोवर्धनपूजा भी है। इसके बाद अगले महीने भी गुरुनानक जयंती की वजह से बैंकों में एक दिन का अतिरिक्त अवकाश रहेगा। विशेष तौर पर सरकारी बैंकों में लंबे अवकाश की वजह से कई काम प्रभावित हो सकते हैं। ऐसे में बैंकों से जुड़ा काम है तो उसे जल्दी से जल्दी निपटा लें।


teligram
2 अक्टूबर, गांधी जयंती :
5 अक्टूबर, दुर्गापूजा :
6 अक्टूबर, रविवार
7 अक्टूबर, महानवमी :
8 अक्टूबर, दशहरा :
12 अक्टूबर, शनिवार :
13 अक्टूबर रविवार
20 अक्टूबर, रविवार
26 अक्टूबर, शनिवार
27 अक्टूबर, रविवार
28 अक्टूबर, दीपावली
31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई जयंती


 


दोस्तों से अच्छी खबर मिलेगी:कुंभ

राशिफल


मेष-आपको अपने शत्रुओं द्वारा बनाई गई कुछ छोटी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अधिकारियों के साथ व्यवहार करते समय आपको सावधान रहना चाहिए और उन्हें विरोधी नहीं बनाना चाहिए। खर्च में काफी वृद्धि हो सकती है जो आपको तनाव में रख सकती है।पारिवारिक जीवन में आप सदस्यों के प्रति जिद्दी हो सकते हैं। आप भावनात्मक रूप से परेशान हो सकते है और तनाव की स्थिति में रह सकते है। यदि आपको अपनी आंखों की दृष्टि से कोई असुविधा है, तो आपको नेत्र संबंधी सलाह लेनी चाहिए।


वृष-आपकी मां की स्वास्थ्य-स्थिति आपको चिंतित बनाए रखेगी। बच्चों का स्वास्थ्य भी चिंताजनक हो सकता है किंतु भौतिक एवं आर्थिक समृद्धि के लिए आज का दिन लाभदायक है। आपको विभिन्न स्रोतों से लाभ होगा।आपके कुछ शत्रु मित्र के रूप में भेष बदलकर आपको नुकसान पहुंचा सकते है। पारिवारिक संदर्भ में आपको पूर्ण सहयोग मिलेगा और सामाजिक रूप से आप अधिक लोकप्रिय हो सकते हैं। आपके पास नए अधिग्रहण हो सकते है, जो आपको खुश करेंगे।


मिथुन-आज आप कुछ धार्मिक कर्म में संलग्न हो सकते है, जिसके कारण आपकी सामाजिक लोकप्रियता में बढ़ोतरी संभव है। आपका पारिवारिक जीवन आनंदित रहेगा और आप मानसिक रूप से शांत रहेंगे।आप दूसरों के लिए मददगार सिद्ध होंगे और लोग इसके लिए आपका बहुत सम्मान करेंगे। भाग्य का साथ मिलने के कारण आप आर्थिक रूप से स्थिर स्थिति में रहेंगे।


कर्क-इस अवधि के दौरान आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप नाम और शोहरत हासिल करेंगे। आपके विरोधि निष्क्रिय रहेंगे और आपको महत्पूर्ण अधिकारियों से पूर्ण सहयोग मिलेगा। आपको अपने सभी प्रयासों में सफलता मिलेगी और आपकी कुछ महत्वाकांक्षाएं पूरी होंगी।जीवनसाथी के साथ संबंध सुखद रहेंगे, परंतु रिश्तेदारों के साथ आपका मतभेद हो सकता है। बच्चों का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। आपका स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है, इसलिए अपना अधिक ध्यान रखिये।


सिंह-आज अनुकूल ग्रह स्थिति आपकी बेहतरी और प्रगति के मार्ग को प्रशस्त करेगी। आप आज व्यापारिक विस्तार की योजनाएं बनाएंगे और उन्हें लागू करने में भी सफल होंगे। वित्तीय लाभ उम्मीद से बेहतर रहेगा।आप भूमि में निवेश कर सकते है। घरेलू मोर्चे पर वांछित काम समय पर पूरा होगा। प्रेमियों के मध्य निकटता बढ़ेगी और कुछ के विवाह संबंध भी पक्के हो सकते है। कामकाज संबंधी यात्राएं लाभदायक रहेंगी।


कन्या-आज लाभकारी विकास संभव है जो भविष्य में आपको अच्छे परिणाम देगा। आज आपको अपनी पसंद की जगह पर स्थानांतरित किया जा सकता है। छात्र अपना ध्यान उचित प्रयासों में लगाएं।आर्थिक रूप से आप समृद्ध रहेंगे और नए सौदे भी प्रगति करेंगे। आपको परिवार और दोस्तों का अच्छा सहयोग मिलेगा। आप किसी पवित्र स्थान की यात्रा भी कर सकते है।


तुला-आज आप कठिनाइयों को दूर करने और प्रगति की ओर बढ़ने में सक्षम होंगे। आपकी मेहनत का फल आज आपको मिलेगा। आपके पास अपने आर्थिक पक्ष में वृद्धि लाने के लिए बहुत अच्छे अवसर होंगे।वित्तीय लाभ प्राप्त हो सकते हैं और नई साझेदारी भी होने की संभावना है। आज आप थोड़े लापरवाह भी हो सकते है। आपको संपत्ति के मामलों और पारिवारिक संबंधों पर भी नजर रखनी चाहिए।


वृश्चिक-नए वाहन या संपत्ति खरीदने के लिए अपनी योजनाओं को स्थगित कर दें क्योंकि यह आपके बड़े नुकसान का कारण हो सकता है। नौकरीपेशा जातकों को अधिकारियों के साथ अपने संबंधों के मामले में कठिन समय का सामना करना पड़ सकता है।अपने अधिकारियों पर हावी होने की कोशिश न करें वरना आप खुद मुसीबत में पड़ सकते हैं। धन संबंधी मामलों में आपके पिता की सलाह आपके लिए मददगार साबित हो सकती। माता के सुख में सामान्य कमी आपको अनुभव हो सकती है। इस समय आप कुछ समय निकाल कर अपने जीवनसाथी के साथ घूमने फिरने भी जा सकते है


धनु-आप खुश और हंसमुख रहेंगे। आपके पास कई अवसर होंगे और वरिष्ठों से सहयोग प्राप्त होगा। वित्तीय स्थिति में भी काफी सुधार होगा। आपका पारिवारिक जीवन खुशहाल और आनंदमय रहेगा। आप अच्छे स्वास्थ्य में होंगे ।सामान्य रूप से लोगों के साथ आपके संबंध बेहतर होंगे और आपकी लोकप्रियता बढ़ेगी। यह अवधि निवेश के लिए परिपक्व है जो आपके करियर को बेहतरी की ओर ले जा सकती है।


मकर-प्रभावी सहकर्मींं आपकी कार्यशैली को और बेहतर करने के लिए बहुत सारे विचार प्रदान कर सकते हैं। आपको अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करने के लिए पर्याप्त अवसर मिलेंगे। राजनेताओं को नई जिम्मेदारियां मिल सकती हैं।सिनेमा और मीडिया से जुड़े क्षेत्रों के लोगों के पास खुद को व्यस्त रखने के लिए पर्याप्त काम होगा। यह माता-पिता के लिए अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने और अपने बच्चों का विवाह करने का एक आदर्श समय है।


कुंभ-आप अपने सहभागी के संवेदनशील मुद्दों को समझने में उसकी मदद कर सकते है। व्यापारी ग्राहकों की पसंद में दिलचस्पी लेंगे, इसलिए आसानी से आर्थिक लाभ अर्जित कर पाएंगे। प्रेम संबंधों में रिश्तों की बात आने पर अपनी सच्ची भावनाओं को छिपाएं नहीं।अविवाहित युवक और युवतियों को अपना जीवनसाथी मिल सकता है। आपको अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से अच्छी खबर मिलेगी और आप अपने परिवार में एक उत्साहजनक नई भूमिका निभा सकते हैं।


मीन-पेशेवर यात्राएं अधिक हो सकती हैं। आपको अपने वरिष्ठों और आधिकारिक लोगों से सहायता, प्रशंसा और पुरस्कार प्राप्त होगा। आपको अपने कार्यस्थल पर सुना और देखा जा सकता है जो आपकी संतुष्टि को बढ़ाएगा।तुरंत पैसा बनाने की योजनाओं या आकर्षक प्रस्तावों से दूर रहना बेहतर है। परिवार के सदस्यों के साथ कुछ गलतफहमी घरेलू माहौल को कड़वा बना सकती है। आपके बच्चों का स्वास्थ्य आपकी चिंता का कारण हो सकता है।


अखरोट का उत्पादन, भंडारण

अखरोट (अंग्रेजी: Walnut, वैज्ञानिक नाम : Juglans Regia) पतझड़ करने वाले बहुत सुन्दर और सुगन्धित पेड़ होते हैं। इसकी दो जातियां पाई जाती हैं। 'जंगली अखरोट' 100 से 200 फीट तक ऊंचे, अपने आप उगते हैं। इसके फल का छिलका मोटा होता है। 'कृषिजन्य अखरोट' 40 से 90 फुट तक ऊंचा होता है और इसके फलों का छिलका पतला होता है। इसे 'कागजी अखरोट' कहते हैं। इससे बन्दूकों के कुन्दे बनाये जाते हैं।


अखरोट का फल एक प्रकार का सूखा मेवा है जो खाने के लिये उपयोग में लाया जाता है। अखरोट का बाह्य आवरण एकदम कठोर होता है और अंदर मानव मस्तिष्क के जैसे आकार वाली गिरी होती है। अखरोट (के वृक्ष) का वानस्पतिक नाम जग्लान्स निग्रा (Juglans Nigra) है। आधी मुट्ठी अखरोट में 392 कैलोरी ऊर्जा होती हैं, 9 ग्राम प्रोटीन होता है, 39 ग्राम वसा होती है और 8 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। इसमें विटामिन ई और बी6, कैल्शियम और मिनेरल भी पर्याप्तं मात्रा में होते है।


अखरोट की गिरी:-अखरोट की दो सबसे आम प्रमुख प्रजातियां बीज के लिए उगाई जाती हैं - फारसी या अंग्रेजी अखरोट और काले अखरोट। अंग्रेजी अखरोट(जग्लांस रेजिया) फारस में उत्पन्न हुआ, और काले अखरोट (जग्लांस निग्रा)  पूर्वी उत्तर अमेरिका में उत्पन्न हुआ। काला अखरोट स्वाद में ज्यादा अच्छा होता है, लेकिन इसके उत्पादन में कड़ी मेहनत और खराब हुल्लिंग विशेषताओं के कारण, व्यावसायिक स्तर पर, इसका उत्पादन नहीं किया जाता। पर इसके कई संकरों को व्यावसायिक स्तर पर उत्पादन के लिए विकसित किया गया है, जो लगभग अंग्रेजी अखरोट के समान ही होते हैं।अन्य प्रजातियों में, कैलिफोर्निया का काला अखरोट, जिसे जग्लांस कैलिफोर्निका कहते है, के अलावा जग्लांस सिनेराय(बर्टनट्स) और जग्लांस एरिजोना पाए जाते हैं।


उत्पादन:-अखरोट के उत्पादन में चीन सबसे आगे हैं और इसका उत्पादन करने वाले अन्य देशों में प्रमुख हैं - ईरान, अमेरिका, तुर्की और यूक्रेन I पूर्वी यूरोपीय देशों में सबसे ज्यादा उपज होती है जिनमें प्रमुख्य हैं , स्लोवेनिया और रोमानिया। भारत मे कश्मीर घाटी मे इसकी उपज होती है। संयुक्त राज्य अमेरिका अखरोट का विश्व का सबसे बड़ा निर्यातक है और उसके बाद तुर्की का स्थान है।


भंडारण:-अखरोट जैसे फलों को अच्छी तरह से संसाधित और संग्रहित किया जाना चाहिए। खराब तरीके से भंडारण के कारण कीट और फफूंदी के होने से अखरोट ख़राब हो जाता है।अखरोट के लंबे समय तक भंडारण के लिए आदर्श तापमान -3 से 0 डिग्री सेल्सियस है। औद्योगिक और घरेलू भंडारण के लिए आद्रता कम होनी चाहिए।


खंडों में विभाजित शरीर

इनका शरीर खंडों में विभाजित रहता है जिसमें सिर में मुख भाग, एक जोड़ी श्रृंगिकाएँ (Antenna), प्रऻय: एक जोड़ी संयुक्त नेत्र और बहुधा सरल नेत्र भी पाए जाते हैं। वृक्ष पर तीन जोड़ी टाँगों और दो जोड़े पक्ष होते हैं। कुछ कीटों में एक ही जोड़ा पक्ष होता है और कुछेक पक्षविहीन भी होते है। उदर में टाँगें नहीं होती। इनके पिछले सिरे पर गुदा होती है और गुदा से थोड़ा सा आगे की ओर जननछिद्र होता है। श्वसन महीन श्वास नलियों (ट्रेकिया, Trachea) द्वारा होता हैं। श्वासनली बाहर की ओर श्वासरध्रं (स्पाहरेकल Spiracle) द्वारा खुलती है। प्राय: दस जोड़ी श्वासध्रां शरीर में दोनों ओर पाए जाते हैं, किंतु कई जातियों में परस्पर भिन्नता भी रहती है। रक्त लाल कणिकाओं से विहीन होता है और प्लाज्म़ा (Plasma) में हीमोग्लोबिन (Haemoglobin) भी नहीं होता। अत: श्वसन की गैसें नहीं पहुँचती। परिवहन तंत्र खुला होता हैं, हृदय पृष्ठ की ओर आहारनाल के ऊपर रहता है। रक्त देहगुहा में बहता है, बंद वाहिकाओं की संख्या बहुत थोड़ी होती है। वास्तविक शिराएँ, धमनियों और केशिकाएँ नहीं होती। निसर्ग (मैलपीगियन, Malpighian) नलिकाएँ पश्चांत्र के अगले सिरे पर खुलती हैं। एक जोड़ी पांडुर ग्रंथियाँ (Corpora allata) भी पाई जाती हैं। अंडे के निकलने पर परिवर्धन प्राय: सीधे नहीं होता, साधारणतया रूपांतरण द्वारा होता है।


प्राणियों में सबसे अधिक जातियाँ कीटों की हैं। कीटों की संख्या अन्य सब प्राणियों की सम्मिलित संख्या से छह गुनी अधिक है। इनकी लगभग दस बारह लाख जातियाँ अब तक ज्ञात हो चुकी हैं। प्रत्येक वर्ष लगभग छह सहस्त्र नई जातियाँ ज्ञात होती हैं और ऐसा अनुमान है कि कीटों की लगभग बीस लाख जातियाँ संसार में वर्तमान हैं। इतने अधिक प्राचुर्य का कारण इनका असाधारण अनुकूलन (ऐडैप्टाबिलिटी, Adaptability) का गुण हैं। ये अत्यधिक भिन्न परिस्थितियों में भी सफलतापूर्वक जीवित रहते हैं। पंखों की उपस्थिति के कारण कीटों को विकिरण (डिसपर्सल, dispersal) में बहुत सहायता मिलती हैं। ऐसा देखने में आता में है कि परिस्थितियों में परिवर्तन के अनुसार कीटों में नित्य नवीन संरचनाओं तथा वृत्तियों (हैबिट्स, habit) का विकास होता जाता है।


कीटों ने अपना स्थान किसी एक ही स्थान तक सीमित नहीं रखा है। ये जल, स्थल, आकाश सभी स्थानों में पाए जाते हैं। जल के भीतर तथा उसके ऊपर तैरते हुए, पृथ्वी पर रहते और आकाश में उड़ते हुए भी ये मिलते हैं। अन्य प्राणियों और पौधों पर बाह्य परजीवी (इंटर्नल पैरासाइट, internal parasite) के रूप मे भी ये जीवन व्यतीत करते हैं। ये घरों में भी रहते हैं और वनों में भी; तथा जल और वायु द्वारा एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँच जाते हैं। कार्बनिक अथवा अकार्बनिक, कैसे भी पदार्थ हों, ये सभी में अपने रहने योग्य स्थान बना लेते हैं। उत्तरी ध्रुवप्रदेश से लेकर दक्षिणी ध्रुवप्रदेश तक ऐसा कोई भी स्थान नहीं जहाँ जीवधारियों का रहना हो ओर कीट न पाए जाते हों। वृक्षों से ये किसी रूप में अपना भोजन प्राप्त कर लेते हैं। सड़ते हुए कार्बनिक पदार्थ ही न जाने कितनी सहस्र जातियों के कीटों को आकृष्ट करते तथा उनका उदरपोषण करते हैं। यही नहीं कि कीट केवल अन्य जीवधारियों के ही बाह्य अथवा आंतरिक पारजीवी के रूप में पाए जाते हों, वरन्‌ उनकी एक बड़ी संख्या कीटों को भी आक्रांत करती है। और उनसे अपने लिए आश्रय तथा भोजन प्राप्त करती हैं। अत्यधिक शीत भी इनके मार्ग में बाधा नहीं डालता। कीटों की ऐसी कई जातियाँ हैं जो हिमांक से भी लगभग 50 सेंटीग्रेट नीचे के ताप पर जीवित रह सकती हैं। दूसरी ओर कीटों के ऐसे वर्ग भी हैं जो गरम पानी के उन श्रोतों में रहते हें जिसका ताप 40 से अधिक है। कीट ऐसे मरुस्थलों में भी पाए जाते हैं जहां का माध्याह्कि ताप 60 सेल्सियस तक पहुँच जाता है कुछ कीट तो मरुस्थलों में भी पाऐ जाते हैं। जहाँ का माध्यांह्कि ताप 60 सेल्सियस तक पहुँच जाता है। कुछ कीट तो ऐसे पदार्थों में भी अपने लिए पोषण तथा आवास ढँूढ लेते हैं जिसके विषय में कल्पना भी नहीं की जा सकती कि उनमें कोई जीवधारी रह सकता है या उनके प्राणी अपने लिए भोजन प्राप्त कर सकता है। उदाहरण के लिए, साइलोसा पेटरोली (Psilosa petroll) नामक कीट के डिंभ कैलीफोर्निया के पैट्रोलियम के कुओं में रहते पाये गये हैं। कीट तीक्ष्ण तथा विषेले पदार्थों में रहते तथा अभिजनन करते पाए गए हैं। जैसे अपरिष्कृत टार्टर जिसमे 80 प्रतिशत पौटेशियम वाईटार्टरेट होता है।) अफीम, लाल मिर्च अदरक नौसादर, कुचला (स्ट्रिकनीन, strychnine) पिपरमिंट कस्तूरी, मदिरा की बोतलों के काम, रँगने वाले ब्रश। कुछ कीट ऐसे भी हैं जो गहरे कुओं और गुफाओं मे रहते हैं जहाँ प्रकाश कभी नहीं पहुँचता। अधिकतर कीट उष्ण देशों में मिलते हैं और इन्हीं कीटों से नाना प्रकार की आकृतियों तथा रंग पाए जाते हैं।


सहजवृति (Instinct) के कारण कीटों का व्यवहार स्वभावत: ऐसा होता है जिससे उनके निजी कार्य में निरंतर लगे रहने की दृढ़ता प्रकट होती है। उनमें विवेक और विचारशक्ति का अभाव होता है। घरेलू मक्खियों को ही लें। बारबार किए जाने वाले प्रहार से वे न तो डरती हैं और न हतोत्साहित ही होती हैं। उन्हें हार मानना तो जैसे आता ही नहीं। जब तक उनके शरीर में प्राण रहते हैं तब तक वे अपने भोजन की प्राप्ति तथा संतानोत्पति के कार्य की पूर्ति में बराबर लगी रहती हैं।


संकल्प रुपी उपासना

गतांक से...
 मेरे पुत्रों ऋषि ने जब यह श्रवण किया तो वह निरुत्तर हो गए। माता अरुंधति ने कहा, हे दिव्य, हे पुत्री, हमारी इच्छा ऐसी है कि तुम राष्ट्र का अनुग्रह करो, क्योंकि राष्ट्र का अन्‍न ग्रहण करना तुम्हारे लिए बहुत अनिवार्य है। उन्होंने कहा मातेश्वरी, कारण, क्यों अनिवार्य है? उन्होंने कहा तुम राष्ट्र का इसलिए अन्‍न ग्रहण करो कि 'ब्राह्म वासस्‌ प्रहे' राजकुमार का जन्म होना चाहिए। उन्होंने कहा कि 'ममत्‍वाम्‌ ब्रह्मा' माता की यह इच्छा नहीं है। 'तपस्यम ब्रहमणम्‌ वाचन नमः क्रति लोकाम्‌' जो इस प्रकार की संतान को जन्म दे। मेरी कामना है मेरी इच्छा है कि मैं त्याग और तपस्या में पुत्र को जन्म देना चाहती हूं। माता अरुंधति ने कहा कि नहीं तुम राष्ट्र का अन्‍न ग्रहण करो। उन्होंने कहा मातेश्वरी तुमने यह श्रवन नहीं किया कि प्रभु ने हमारे तुम्हारे शरीर का निर्माण किया है और यह माता-पिता का संकल्प मात्र ही है। यदि हम यह उच्चारण करने लगे कि यह माता की संपदा है या पितर की संपदा है यह संपदा है उसकी जिसने निर्माण किया है। और उस निर्माण करने वाले में संस्कारों के आधार पर इसका निर्माण किया है। और उन्हीं आधार पर यह जीवन का विपरीत होता रहेगा। हे प्रभा, ब्रह्म, हे मातेश्वरी, यदि यह विकृत हो जाएगा और यह छिन्न-भिन्न हो जाएगा। संकल्पों में ही मानव संसार समाप्त हो जाएगा। माता अरुंधति भी मौन हो गई। वशिष्ठ मुनि बोले की हे पुत्री, राष्ट्रीयअन्‍न मे कोई दोष रोपण नहीं होता है। उन्होंने कहा प्रभु मैं स्वयं कला कौशल कर लेती हूं और उसके बदले जो आता है उससे मैं अपने उदर की पूर्ति कर लेती हूं। हे प्रभु, आप तो यह जानते हैं क्योंकि ब्रह्मवेता है और ब्राह्मवेताओं की बुद्धि बड़ी प्रखर होती है और बड़ी ऊंची उड़ान उड़ने वाली होती है। इस उडाण के साथ यह स्वीकार करना तुम्हारे लिए बहुत अनिवार्य हो जाएगा कि प्रत्येक मानव एक संकल्प है। पुत्र का जन्म होता है, आत्मा किसी का पुत्र है, शरीर का पुत्र-पुत्री होता है। परंतु यह क्या है यह माता-पिता का संकल्प ही पुत्र की संज्ञा संकल्प मात्र से है। यह संकल्प समाप्त हो जाए या विकृत हो जाए तो एक प्रकार की एक विडंबना ऐसी उत्पन्न हो जाए। जिसको हम नहीं जान पाते कौशल्या जी ने कहा पुत्री भी इस प्रकार का संकल्प है। राजा भी एक प्रकार का संकल्प है। प्रजा का संकल्प मात्र है। इसी प्रकार माता भी संकल्प मात्र है। पित्र भी संकल्प मात्र है। यह सूर्य भी एक प्रकार का संकल्प है। अरुंधति मंडल भी एक प्रकार का संकल्प है जो भी संकल्प है। हे भगवान, हे मातेश्वरी, हे पित्र, हे आचार्य, हे ब्रह्मावेता तुम जानते हो कि यह सर्वत्र जगत केवल एक संकल्प मात्र कहलाता है। उन्होंने पुनः कहा हां एक वाक्य में स्वीकार कर सकती हूं। यदि हे पित्र, यदि आपको और माता का दोनों का संकल्प नष्ट हो जाए। तो मैं भी अपने संकल्प को नष्ट कर सकती हूं। ऋषि वशिष्ठ मुनि महाराज मोन हो गए और मौन होकर उन्होंने कहा, 'तत्वनम ब्रह्मा: पुत्रों संभावा: उन्होंने कहा तुम्हारा संकल्प पूर्ण हो, पुत्री, उन्होंने कहा ब्राह्मणों देखो उन्होंने अपने आश्रम को गमन किया और उन्हें जब राजा प्राप्त हुए तो उन्हें राजा से कहा। हे राजन, यह तो संकल्प है ,आचार्य के द्वारा उन्होंने संकल्प किया हुआ है और संकल्प उनका नष्ट नहीं होना चाहिए। यदि संकल्प चला गया तो प्राण चला गया। मानवता चली गई। राजन तुम संकल्प में देवी को रहने दो। तुम अपने क्रियाकलापों में परिणत हो जाओ। उस समय राजा भी मौन हो गया। कुछ समय के पश्चात आज का वार और तिथि और दिवस कहलाता है। जहां राम जैसे महापुरुषों का जन्म हुआ। महापुरुषों के जीवन की कथाएं होती है। उनमें कोई विशेषताएं होती है। मेरे प्यारे, महानंद जी ने मुझे प्रेरणा दी। प्रेरणा के आधार पर वाकम ब्रह्म' मेरे पुत्रो,वह रचना अपने में बड़ी विचित्र बन करके रहती है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 05, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-62 (साल-01)
2. शनिवार, 05 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि-सप्‍तमी,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:15,सूर्यास्त 06:09
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, आद्रता बनी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...