शनिवार, 26 मार्च 2022

एकेडमी विद्यालय में दीक्षान्त समारोह का आयोजन

एकेडमी विद्यालय में दीक्षान्त समारोह का आयोजन   

संदीप मिश्र         
बाराबंकी। सेन्ट्रल एकेडमी विद्यालय में बच्चों को शिक्षा के अगले सोपान पर जाने के लिए एक दीक्षान्त समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वती के पूजन अर्चन से किया गया। गणेश वन्दना द्वारा सिद्धि विनायक गणेश को अपना भाव समर्पित किया गया।
छोटे-छोटे बच्चों द्वारा कई कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। एक छोटी सी नाटिका द्वारा बताया गया कि किस तरह नर्सरी से प्रेप तक क्या क्या सीख कर इन सोपानों को पार किया गया। अक्षर ज्ञान, संगीत नृत्य द्वारा ककहरा सीखने की सारी प्रक्रिया बताई गई। अन्त में बच्चों को नयी कक्षा में जाने हेतु उपाधि पत्र, प्रदान किया गया तथा शपथ ग्रहण कराया गया। विद्यालय प्रधानाचार्या डॉ. अंजली श्रीवास्तव सहित सभी शिक्षकों द्वारा बच्चों को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की गई।

पर्यावरण की सुरक्षा, निरन्तर प्रयासरत हैं एसोसिएशन

पर्यावरण की सुरक्षा, निरन्तर प्रयासरत हैं एसोसिएशन         

अश्वनी उपाध्याय                   
गाजियाबाद। जिला पेरेंट्स एसोसिएशन अभिभावको के हितो की रक्षा एवं पर्यावरण की सुरक्षा के लिए बिना रुके, बिना थके निरन्तर प्रयासरत है। गाजियाबाद के विजय नगर स्थित सेक्टर -9 के रामलीला मैदान में लगाए जा रहे दूसरे चरण के दो दिवसीय किताब कॉपी, ड्रेस एक्सचेंज मेले का शुभारंभ महानगर गाज़ियाबाद के उद्यान प्रभारी डाॅ. अनुज कुमार सिंह के कर कमलों द्वारा हुआ। डाॅ. अनुज सिंह ने फीता काट कर एवं मेले में आये अभिभावको को अपने हाथों से कॉपी किताब एक्सचेंज कराकर बुक एक्सचेंज मेले का उद्घाटन किया। 
बुक एक्सचेंज मेले में जबरदस्त उत्साह के साथ एक दूसरे से किताब कॉपी एक्सचेंज करने के लिए भीड़ लगनी शरू हो गई और शनिवार दोपहर एक बजे तक लगभग 900 अभिभावको की किताब कॉपी एक्सचेंज कर दी गई। शहर के सीबीएसई / आईसीएसई / यूपी बोर्ड में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावको ने बुक एक्सचेंज मेले के माध्य्म से किताब कॉपी एक्सचेंज करके भरपूर लाभ उठाया। जीपीए द्वारा लगातार पाँचवे वर्ष लगाए जा रहे। इस निःशुल्क बुक एक्सचेंज मेले को पूरे भारत वर्ष से प्रसंशा मिल रही है और अपने अपने राज्यो में पेरेंट्स के लिए कार्य कर रही संस्थाओं ने जीपीए की तर्ज में अपने यहाँ बुक एक्सचेंज मेले का आयोजन शरू करना प्रारंभ कर दिया है। जिससे जीपीए की शिक्षा में बदलाव की मुहिम को बल मिलता दिखाई पड़ रहा है। इस मुहिम से जहाँ किताब कॉपी के नाम पर निजी स्कूलों द्वारा प्रत्येक वर्ष की जा रही लूट पर रोक लग रही है और अभिभावको हजारो रुपये बचाकर को आर्थिक राहत मिल रही है। 
वही, दूसरी तरफ किताब कॉपी प्रिंटिंग के लिए देश के लाखों पेड़ो को कटने से भी बचाया जा रहा है और पर्यावरण को स्वस्छ बनाने में भी मदद मिल रही है। इस बार जीपीए का लक्ष्य इस मुहिम के माध्य्म से कम से कम पचास हजारो अभिभावको को एक दूसरे से किताब कॉपी, ड्रैस एक्सचेंज कराने लक्ष्य है। जिसको सफल करने के लिए गाजियाबाद पेरेंट्स एसोसिएशन की पूरी टीम प्रयासरत है।

डीएम खत्री ने मेजा खास का औचक निरीक्षण किया

डीएम खत्री ने मेजा खास का औचक निरीक्षण किया    

बृजेश केसरवानी              
प्रयागराज। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने शनिवार को 'गोवंश आश्रय स्थल' मेजा खास का औचक निरीक्षण किया। जिसमें साफ- सफाई के अभाव में गंदगी पाई गई। लापरवाही को लेकर डीएम ने ग्राम पंचायत सचिव अमरनाथ वर्मा को फटकार लगाते हुए प्रतिकूल प्रविष्टि दी। उन्होंने देखा की ग्राम पंचायत सचिव द्वारा बड़ी लापरवाही करते हुए गोवंश का गोबर और मिट्टी दोनों एक साथ मिले हुए देखकर डीएम भड़क उठे और उन्होंने कहा कि आगे से गोबर अलग और मिट्टी अलग रखा जाए। 
बड़ी लापरवाही को देखकर डीएम ने खंड विकास अधिकारी मेजा ब्रह्मपाल सिंह से ग्राम सचिव को सस्पेंड करने की बात कही तो उन्होंने एक मौका देने का निवेदन किया। डीएम ने रखरखाव को देखते हुए मवेशियों को चारा के लिए भूसे के कमरे में जाकर के भूसा का निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। उन्होंने सबसे पहले साफ सफाई का निरीक्षण करते हुए ग्राम सचिव को फटकार लगाई। वही उन्हें इस लापरवाही के लिए प्रतिकूल प्रविष्टि दी। बता दें कि जिलाधिकारी  प्रयागराज दोपहर लगभग 2 बजे के करीब गोवंश आश्रय स्थल मेजा खास पहुंचकर सबसे पहले साफ सफाई का निरीक्षण किया। जहां गंदगी को देखकर के भड़क उठे।
उन्होंने ग्राम पंचायत सचिव को फटकार लगाते हुए प्रतिदिन सफाई करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। मवेशियों के लिए पानी और चारे के लिए की व्यवस्था का आवश्यक दिशा निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गाय की सेवा करना पुण्य का काम है।
गोबर और मिट्टी को एक साथ देख कर के डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए ग्राम सचिव को फटकार लगाई और उन्हें सस्पेंड करने की बात कही। खंड विकास अधिकारी मेजा ब्रह्म पाल सिंह के निवेदन पर उन्हें प्रतिकूल प्रविष्टि दी। इस मौके पर उपजिलाधकारी मेजा विनोद पांडेय भी मौजूद रहे।

प्रापर्टी डीलिग छोड़, अपना असली काम करें लेखपाल

प्रापर्टी डीलिग छोड़, अपना असली काम करें लेखपाल        

अश्वनी उपाध्याय                        

गाजियाबाद। गाजियाबाद सदर, लोनी व मोदीनगर सहित तीनों तहसील में तैनात लेखपाल प्रापर्टी डीलिग छोड़कर अपना असली काम करें। अगर लेखपाल अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन सही तरीके से करें तो व्यवस्था में जमीनी स्तर पर सुधार होगा। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने शनिवार को यह बातें कहीं। दरअसल, मोदीनगर तहसील में तैनात एक महिला लेखपाल ने ड्यूटी पर आपत्ति दर्ज करते हुए दूसरे विभाग की ड्यूटी करने से मना कर दिया था। इस पर शनिवार को नियमित जन सुनवाई के दौरान ही डीएम राकेश कुमार सिंह ने शासन स्तर से जारी भू-लेख नियमावली की पुस्तिका मंगवाई और नियमावली के एक-एक बिदु को पढ़ते हुए लेखपाल के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। इसमें उन्होंने अवैध शराब, जमीनों पर कब्जे, सहकारी आवास के घोटाले, क्षेत्र में बीमारी फैलने की रोकथाम व घर-घर जाकर वोटर लिस्ट बनाने व पुनरीक्षित करने, पुलिस के कार्य में मदद, पशुओं के टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा व स्वास्थ्य संबंधी कार्यों समेत समस्त दायित्वों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि एसडीएम व तहसीलदार कोई भी भू-लेख नियमावली का गहनता से अध्ययन नहीं करता है। इसीलिए लेखपाल मनमानी करते हैं। लेखपाल अपनी कार्यशैली में तुरंत सुधार कर लें, अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहें। जल्द तीनों तहसील में औचक निरीक्षण किया जाएगा। लेखपालों की मनमानी बर्दाश्त नहीं होगी। डीएम ने भू-लेख नियमावली की पुस्तिका उक्त महिला लेखपाल को देते हुए कहा कि यह नियमावली अपने बाकी सभी साथियों को भी पढ़वाएं, ताकि वह अपने मूल कार्यों के प्रति जागरूक होकर अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन गंभीरता से कर सकें।

लोगों का आरोप है कि गाजियाबाद सदर समेत जिले की तीनों तहसील में एसडीएम व तहसीलदार के चहेते लेखपाल व राजस्व निरीक्षक अपना असली काम छोड़कर हमेशा विशेष ड्यूटी पर रहते हैं। अपने असली कार्य को यह लेखपाल बेगार मानते हैं। एसडीएम व तहसीलदार का सिर पर हाथ होने के कारण इनका दिमाग हमेशा सातवें आसमान पर रहता है। यही कारण है कि विशेष ड्यूटी पर होने के कारण यह लेखपाल सेंटिग कर कुछ भी काला या सफेद कर देते हैं। इसके बाद भी इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है, बल्कि बड़ी-बड़ी गड़बड़ी पर भी पर्दा डाल दिया जाता है।

कक्षा-12 के बच्चों की विदाई पार्टी का आयोजन

कक्षा-12 के बच्चों की विदाई पार्टी का आयोजन   
राजू सक्सेना 
कौशाम्बी। भवन्स मेहता विद्याश्रम भरवारी स्कूल में कक्षा-12 के बच्चों की विदाई पार्टी का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा 11 के छात्रों ने कक्षा 12 के छात्रों  को सांस्कृतिक कार्यक्रमो के साथ विदाई दी। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रधानाचार्य संजय कुमार श्रीवास्तव नें दीप प्रज्वलित करके किया। प्रधानाचार्य संजय कुमार श्रीवास्तव ने अपने संबोधन में छात्रों को निरंतर आगे बढ़ने की सलाह देते हुए भविष्य में और भी बेहतर करने की शुभकामनाएं देते सभी के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम के दौरान विदाई में अनेक गेम प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।छात्रों ने ग्रुप डांस करके सभी का मन मोह लिया। शनिवार के कार्यक्रम में दीपक पाल को मिस्टर बीएमवी तथा शिखा पांडेय को मिस बीएमवी चुना गया।
कार्यक्रम को सफल बनाने में कक्षा 11 के छात्रों का सहयोग रहा। इस अवसर पर स्कूल के समस्त अध्यापक व अध्यापिकाएं मौजूद रहे कार्यक्रम का संचालन गरिमा सिंह और अन्जली भारती ने किया बिदाई समारोह के अवसर पर सुधाकर सिंह,अनिल मिश्रा,अवधेश मिश्रा,रामसनेही श्रीवास्तव,सुशील श्रीवास्तव आर0के0सिंह,नागेन्द्र,शिवम केसर्वानी,रश्मी,रजनी,पूनम साहिबा दीपाली,सीता,खुशबू सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

पूर्व सीएम समेत 6 लोगों को 1 साल की सजा सुनाई

पूर्व सीएम समेत 6 लोगों को 1 साल की सजा सुनाई 

मनोज सिंह ठाकुर        
भोपाल। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को उज्जैन मारपीट मामलें में 1 साल की सजा सुनाई है। इंदौर जिला न्यायालय ने करीब एक दशक पुराने मामले में शनिवार को फैसला सुनाया है। हालांकि कोर्ट से उन्हें जमानत मिल सकती है।
जिला न्यायालय ने अपने फैसले में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह, पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू समेत 6 लोगों को एक साल की सजा और 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। कोर्ट में फिलहाल जमानत की कार्यवाही जारी है। बता दें कि कोर्ट ने अपने फैसले में अन्य तीन आरोपी महेश परमार, हेमंत सिंह चौहान और मुकेश भाटी को बरी कर दिया। जबकि दिग्विजय सिंह, प्रेमचंद गुड्डू, जय सिंह दरबार, अनंत नारायण मीणा, असलम लाला और दिलीप चौधरी को 1 साल का कारावास और 5 हजार का जुर्माना लगाया है।
मामला 17 जुलाई 2011 का है, जब दिग्विजय सिंह उज्जैन में एक निजी होटल के उद्घाटन समारोह में पहुंचे थे। यहां सिंह के काफिले को भाजयुमो कार्यकर्ता काले झंडे दिखा रहे थे। इसी दौरान दिग्विजय सिंह के समर्थकों और भाजयुमो कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई थी।

घटना के बाद पुलिस ने कांग्रेस के 4 नेताओं जयसिंह दरबार (वर्तमान में बीजेपी नेता), अनंत नारायण मीणा, मुकेश भाटी और असलम लाला पर केस दर्ज किया था। बाद में दिग्विजय सिंह और सांसद प्रेमचंद गुड्डू पर भी मामला दर्ज हुआ। दरअसल, थाने में FIR दर्ज होने के बाद शासन की ओर से कोर्ट में अर्जी दायर कर मामले में दिग्विजय सिंह, प्रेमचन्द्र गूड्डू, हेमंत चौहान और दिलीप चौधरी को भी आरोपी बनाने की मांग की गई थी।
भाजयुमो कार्यकर्ता जयंत राव की शिकायत पर जीवाजी गंज थाने उज्जैन में मामला दर्ज हुआ था। दिग्विजय सिंह पर एक भाजयुमो कार्यकर्ता को थप्पड़ मारने का आरोप था। कांग्रेस नेताओं के खिलाफ एबीवीपी कार्यकर्ता अमय आप्टे ने स्वयं पर जानलेवा हमले की कोशिश के भी आरोप लगाए थे।
हमारी नजर में आम आदमी की आवाज जब होती है बेअसर तभी बनती है बड़ी खबर। पूरब हो या पश्चिम, उत्तर हो या दक्षिण सियासत का गलियारा हो या गांव गलियों का चौबारा हो सारी दिशाओं की हर बड़ी खबर, खबर के पीछे की खबर और एक्सक्लूसवि विश्लेषण का ठिकाना है TheRuralPress सटीक सूचना के साथ उसके सभी आयामों से अवगत कराना ही हमारा लक्ष्य है। ग्लैमर दुनिया, जुर्म की गली हो या खेल गांव, टेकनोलॉजी हो या किसी मुद्दे पर बेबाक राय सब कुछ इसी प्लेटफॉर्म पर। हम बताएंगे इतिहास के कुछ ऐसे किस्से जिनसे आप हिल जाएंगे। TRP के इरादे हैं आपको खबर के हर उस पहलू से रू-ब-रू कराने के, जो आपके लिए जरूरी हैं।

सीएम व राज्यपाल ने 'राष्ट्रपति' का स्वागत किया

सीएम व राज्यपाल ने 'राष्ट्रपति' का स्वागत किया      

अकांशु उपाध्याय/पंकज कपूर         
नई दिल्ली/देहरादून। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को देहरादून पहुंच गए हैं। शनिवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर राज्यपाल गुरमीत सिंह और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उनका स्वागत किया। राष्ट्रपति शनिवार रात राजभवन में बिताएंगे, जबकि कल उन्हें शांतिकुंज हरिद्वार के समारोह में भाग लेना है। राष्ट्रपति के 27 मार्च को दिव्य प्रेम सेवा मिशन सेवाकुंज के भ्रमण कार्यक्रम के दृष्टिगत जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेन्द्र सिंह रावत, पुलिस अधीक्षक, अभिसूचना एवं सुरक्षा तृप्ति भट्ट ने शुक्रवार को बीएचईएच हेलीपैड, सेवाकुंज आश्रम चंडीघाट, समस्त मुख्य मार्ग, कंटीजेंसी मार्ग एवं सेफ हाउस में सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।
अधिकारियों की टीम ने पहले बीएचईएच स्थित हेलीपैड का बारीकी से जायजा लिया तथा संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। तृप्ति भट्ट ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से हेलीपैड की व्यवस्था, पेड़ों की लॉपिंग, झाड़ियों को साफ किया जाना आदि के संबंध में जानकारी लेते हुए दिशा-निर्देश दिए।
 अधिकारियों से ब्लड ग्रुप, डॉक्टरों की ड्यूटी, कंटीजेंसी अस्पताल आदि के संबंध में भी चर्चा की। इसके पश्चात बीएचईएल स्थित त्रिशूल गेस्ट हाउस में एक बैठक आयोजित हुई। जिसमें हेलीपैड की सुरक्षा-व्यवस्था, उपकरणों के चेकिंग की क्या व्यवस्था होगी, कोविड-19 के नियमों का पालन करना, सुरक्षा व्यवस्था आदि के बारे में अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए। मौके पर सीडीओ सौरभ गहरवार, अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पीएल शाह आदि मौजूद रहे।

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर व हेड कांस्टेबल के पदों पर भर्ती

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर व हेड कांस्टेबल के पदों पर भर्ती   

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर और हेड कांस्टेबल के पदों पर बंपर भर्ती निकाली गई है। इसके लिए योग्य और इच्छुक उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। उम्मीदवार आधिकारीक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की अंतिम तिथि 18 अप्रैल 2022 है। इच्छुक उम्मीदवार इस भर्ती के इन पदों के लिए रजिस्टर्ड डाक के जरिए भी आवेदन कर सकेंगे।एएसआई के लिए अभ्यर्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से स्नातक होना जरूरी है। वहीं हेड कांस्टेबल पद के लिए अभ्यर्थी को 12वीं पास होना जरूरी है। इस भर्ती के तहत इन पदों के लिए आवेदन करने के इच्छुक उम्मीदवार इस बात का ध्यान रखें की उनकी आयु  56 वर्ष के अधिक न हो। इच्छुक उम्मीदवार इस भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किए गए नोटिफिकेशन को देख सकते हैं।

इच्छुक अभ्यर्थी आवेदन फॉर्म को भरकर उसके साथ जरूरी दस्तावेजों की प्रति संलग्न करें। इसके बाद दिए गए पते – एसपी (एडमिन), एनआईए मुख्यालय, अपोजिट सीजीओ कम्प्लेक्स, लोदी रोड, नई दिल्ली – 110003 पर भेज भेज दें। ध्यान रखें, कि दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतियां ही भेजें। इस भर्ती के तहत पदों के लिए उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा लिखित परीक्षा में सफल हुए उम्मीदवारों को ही इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

जापान में बिकने वाले खरबूजों की लाखों में कीमत

जापान में बिकने वाले खरबूजों की लाखों में कीमत  

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव         
नई दिल्ली/टोक्यो। भारत में आजकल खरबूजे और तरबूज का मौसम चल रहा है। इस मौसम में इनका भाव रेट 40 से ₹80 प्रति किलोग्राम के आस-पास होता है, लेकिन जापान में बिकने वाले खरबूजों की कीमत लाखों में है। दरअसल, जापान में हमेशा से खरबूजे को एक लग्जरी फ्रूट्स में माना गया है। वैसे सिर्फ खरबूजा ही नहीं, बल्कि दूसरे फल भी यहां काफी महंगे हैं।
सबसे पहले तो यह पढ़कर आपके दिमाग में ख्याल आया होगा कि ऐसे फल को खाने से अच्छा हीरा ही खरीद लें, कम से कम उसमें मुनाफा तो मिलेगा। लेकिन क्या आपको पता है, जापान में इस फल के लिए लोग नीलामी तक करवाते हैं।
भारत में लोग जहां एक-दूसरे के घर जाते हैं तो महंगे महंगे गिफ्ट ले जाते हैं, लेकिन वहीं जापान में लोग एक दूसरे को तोहफे के तौर पर फल देना पसंद करते हैं। अब आप सोच रहे होंगे की जापान में ऐसा क्या है कि फल इतने महंगे होते हैं। आइए जानते हैं कि ऐसा कौन सा खरबूजा है जिसकी कीमत सोने से भी ज्यादा है।
दुनिया के सबसे महंगे फलों में शामिल इस फल का नाम है युबरी खरबूजा, लेकिन इस फल की खेती सिर्फ जापान में ही होती है। 
इसके साथ ही इस फल को दूसरे देशों में कम ही निर्यात किया जाता है। इस फल की सबसे खास बात यह है कि इस फल को सीधे सूरज की रोशनी में यानि कि सीधे खेत में नहीं उगाया जाता, बल्कि ग्रीन हाउस में उगाया जाता है।
दरअसल यहां के किसान फल के आकार को लेकर बहुत ध्यान देते हैं। अगर फल सही आकार का नहीं होता तो उसे इस्तेमाल में नहीं लाते हैं। उदाहरण के तौर पर होक्काइडो खरबूजे को तभी अच्छा माना जाता है, जब यह खरबूजा आकार में पूरी तरह से गोल दिखाई देता हो। इसके अलावा उसका वजन भी तय मानक में होना चाहिए। जापान में यही चीज दूसरे फलों के साथ भी लागू होती है।

30 सालों में 5,000 से अधिक बाहरी ग्रहों को खोजा

30 सालों में 5,000 से अधिक बाहरी ग्रहों को खोजा   

अखिलेश पांडेय          
वाशिंगटन डीसी। ब्रह्मांड के रहस्यों को जानने के लिए वैज्ञानिक लगातार शोध कर रहे हैं। इस दौरान वैज्ञानिकों ने कई खोजें की हैं। जो दुनिया को हैरत में डालती हैं। अब इस बीच नासा के वैज्ञानिकों ने सबसे बड़ी खोज की है। उन्होंने ऐसे ग्रहों का पता लगाया है, जो सूर्य की प्रक्रिमा करते हैं। यह ग्रह अरबों किमी की दूरी पर स्थित हैं। सौर मंडल का निर्माण ये ग्रह मिलकर करते हैं।
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पता लगाया है कि सौर मंडल के बाहर भी कई ग्रह मौजूद हैं। नासा की तरफ से 21 मार्च 2022 तक 65 नए एक्सोप्लैनट्स का पता लगाया गया है। नासा ने बताया कि एजेंसी ने इसके साथ ही 30 सालों में 5,000 से अधिक बाहरी ग्रहों को खोजा है। नासा एक्सोप्लैनेट आर्काइव में इसकी जानकारी को रखा गया है। इसके बाद यहीं पर एक्सोप्लैनेट्स के बारे में पीयर रिव्यू होता है। कई तरह की जांच की जाती है।
अंतरिक्ष की खोज में नासा के लिए यह एक मील का पत्थर है। नासा ने जिन एक्सोप्लैनेट्स की खोज की है उनमें से कुछ छोटे और पथरीले हैं। इनमें से कुछ धरती, बड़े गैसे के गोले,  बृहस्पति और कुछ सूरज की तरह बेहद गर्म हैं। इनमें कुछ धरती से कई गुना बड़े हैं जहां जीवन की संभावना हो सकती है जबकि कुछ बेहद छोटे हैं। नासा ने जिन 65 नए ग्रहों को रिसर्च के लिए खोजा है उन पर पानी, सूक्ष्मजीव या जीवना की संभावना हो सकती है। नासा की इस खोज को बहुत बड़ी खोज माना जा रहा है। नासा का कहना है कि यह सिर्फ संख्या नहीं है, बल्कि ये सभी एक नई दुनिया हैं और नए ग्रह हैं। हम लोगों को हर नए ग्रह के बारे में जानकर खुशी होती है, लेकिन हम इन ग्रहों के बारे में कुछ नहीं जानते। इन पर शोध किया जा रहा है। नासा का कहना है कि 5000 एक्सोप्लैनेट की संरचना और विशेषताएं अलग-अलग तरह की हैं। नासा के वैज्ञानिक का कहना है कि हम जानते हैं कि आकाशगंगा में ग्रहों की संख्या करोड़ों में है। साल 1992 में इनकी खोज शुरू हुई थी। इसकी खोज तब शुरू की गई जब एक नए तारे का पता लगा। इसके साथ एक न्यूट्रॉन स्टार मिला जिसे पल्सर कहा जाता है। यह तेजी से घूमते हैं और तरंगे छोड़ते नजर आते हैं फिर अचानक गायब हो जाते हैं। सेकेंड्स के अंतर पर दिखने वाली रोशनी की गणना करने के बाद ग्रहों की तलाश शुरू हुई थी। नासा ने साल 2018 में द ट्रांजिटिंग एक्सोप्लैनेट सर्वे सैटेलाइट (TESS) को लॉन्च किया था जिसने एक्सोप्लैनेट खोजने में सहायता की। जेम्स वेब स्पेस टेलिस्कोप (JWST) भविष्य में अंतरिक्ष में मौजूद ग्रहों और तारों की खोज करेगा। यह भी पता लगाएगा कि उन पर जीवन संभव है या नहीं।

रोजगार मुहैया कराने के लिए उद्योगों को प्रोत्साहन

रोजगार मुहैया कराने के लिए उद्योगों को प्रोत्साहन    

दुष्यंत टीकम          
रायपुर। छत्तीसगढ़ की कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था को उद्योगों से जोड़ने की पहल नई उद्योग नीति में की गई है। राज्य में कृषि उत्पादनों और वनोपजों के वैल्यूएडिशन के जरिए भी लोगों को रोजगार मुहैया कराने के लिए उद्योगों को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। राज्य में पिछड़े वर्गों को उद्योगों से जोड़ने के नये प्रावधान भी किए गए हैं। राज्य में उद्योग हितैषी नीतियों के कारण नये-नये उद्योगों की स्थापना हो रही है। युवाओं को उद्यमियता से जोड़ने के लिए नये स्टार्टअप विशेष प्रोत्साहन पैकेज दिए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य में निवेश प्रोत्साहन को बढ़ावा दिया जा रहा है। कोर सेक्टर के साथ ही नये क्षेत्रों में भी उद्यमियों को आकर्षित किया जा रहा है। विगत 3 वर्षों में कुल एक हजार 751 औद्योगिक इकाइयां स्थापित हुई है, जिसमें 19550.72 करोड़ रूपए का निवेश किया गया है। इससे 32 हजार 912 लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ है। इस दौरान कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण पर आधारित 478 इकाईयां स्थापित हुई है, जिसमें कुल 1167.28 करोड़ रुपए का पूंजी निवेश हुआ है तथा 6319 व्यक्तियों को रोजगार भी मिला है।
किसानों की फसल का वैल्यूएडिशन कर नये उत्पाद तैयार करने के लिए 200 फूड पार्कों की स्थापना के लिए काम शुरू कर दिया गया है। लगभग 110 फूड पार्कों के लिए जमीन का चिन्हांकन एवं अन्य आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में फुडपार्क स्थापना के लिए 50 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है, आने वाले वर्षों में राज्य में कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण पर आधारित कई उद्योग भी स्थापित होंगे और जिससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।
छत्तीसगढ़ खाद्य प्रसंस्करण मिशन योजना के तहत खाद्य प्रसंस्करण सहायता अनुदान के लिए वित्तीय वर्ष 2022-23 में 14 करोड़ रूपए का प्रावधान रखा गया है। इस योजना के तहत उद्योगों का उन्नयन, स्थापना, आधुनिकीकरण तथा उद्यानिकी एवं गैर उद्यानिकी दोनों क्षेत्रों में कोल्ड चेन, मूल्य संवर्धन एवं संरक्षण अधोसंरचना का विकास, प्रसंस्करण केंद्र व संग्रहण केंद्र भी योजना में सम्मिलित है।
सहकारिता के क्षेत्र में देश में पहली बार पीपीपी मोड पर कंवर्धा जिले के भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाने में एथेनॉल प्लांट की स्थापना के लिए अनुबंध किया गया है। इसी प्रकार कोण्डागांव जिले के कोकड़ी गांव में प्रस्तावित मक्का प्रसंस्करण ईकाई में मक्का आधारित एथेनॉल संयंत्र की स्थापना का निर्णय लिया गया है।
अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं महिला वर्ग के उद्यमियों के लिए स्वयं का उद्योग स्थापित करने हेतु अंशपूंजी सहायता के रूप में अनुदान योजना लागू की गई है। अन्य पिछड़ा वर्ग के उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए औद्योगिक क्षेत्रों में 10 प्रतिशत भूमि आरक्षित करने का निर्णय लिया गया है। राज्य के बंद एवं बीमार उद्योगों को क्रय किए जाने पर नवीन पंजीयन के साथ ही अनुदान एवं छूट की भी पात्रता देने का निर्णय लिया गया है।
नए उद्योग की स्थापना के लिए जनवरी 2019 से फरवरी 2022 तक कुल 167 एमओयू किए गए हैं। जिनमें 78 हजार करोड़ रुपए का निवेश प्रस्तावित है। जिसके तहत 90 इकाइयों ने उद्योग स्थापना की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अब तक 2,750 करोड़ रूपए से अधिक का निवेश किया गया है। कुछ इकाइयों ने व्यवसायिक उत्पादन प्रारंभ कर दिए हैं।
औद्योगिक नीति 2019-24 में स्टार्टअप इकाईयों को प्रोत्साहित करने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य स्टार्टअप पैकेज लागू की गई है। जिसके तहत विगत 3 वर्षों में 508 स्टार्टअप इकाईयां पंजीकृत हुई है। भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त इकाइयों को छत्तीसगढ़ में स्थापित होने पर विशेष प्रोत्साहन पैकेज देने की घोषणा की गई है। इसके तहत ब्याज अनुदान, स्थाई पूंजी निवेश अनुदान, विद्युत शुल्क पर छूट, स्टांप शुल्क में छूट, परियोजना प्रतिवेदन में छूट इत्यादि छूट प्रदान की जा रही है।

औद्योगिक नीति 2019-24 के अंतर्गत 16 प्रमुख से एमएसएमई सेवा श्रेणी उद्यमों जैसे इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन, सेवा केंद्र बीपीओ 3 डी प्रिंटिंग, बीज ग्रेडिंग इत्यादि सेवाओं को सामान्य श्रेणी के उद्योगों की भांति औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन दिए जाने का प्रावधान किया गया है। महिला स्व-सहायता समूह एवं तृतीय लिंग के उद्यमियों को उद्योग निवेश प्रोत्साहन हेतु पृथक से वर्गीकृत किया गया है। इसके अलावा मेडिकल एवं लेबोरेटरी उपकरण, मेडिकल ऑक्सीजन गैस, ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, फेस मास्क, कोविड जैसे संक्रमण वाली बीमारियों के टेस्ट में उपयोग होने वाले उपकरण, टीका बनाने के उपकरण को प्राथमिकताओं वाली उद्योगों की भांति औद्योगिक निवेश प्रोत्साहित किया जा रहा है।

रूस-यूक्रेन 'युद्ध' के कारण तेल की कीमतें बढ़ीं: गडकरी

रूस-यूक्रेन 'युद्ध' के कारण तेल की कीमतें बढ़ीं: गडकरी  

अकांशु उपाध्याय                  

नई दिल्ली। पिछले चार दिनों में ईंधन की कीमतों में तीन बार की गई बढ़ोतरी को सही ठहराते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें बढ़ गई हैं। यह स्थिति भारत सरकार के नियंत्रण से बाहर है। पत्रकारों ने जब उनसे पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि भारत में 80 प्रतिशत तेल आयात किया जाता है। रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें बढ़ गई हैं और हम इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते।

हम 2004 से भारत को आत्मनिर्भर बनाने पर जोर दे रहे हैं, जिसके साथ हमें स्वदेशी ऊर्जा उत्पादन क्षमताओं को विकसित करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए अपना खुद का ईंधन बनाने की जरूरत है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में शनिवार को भी 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई, जो पांच दिनों में चौथी वृद्धि है।

मायावती ने नई भाजपा सरकार के गठन की बधाई दी

मायावती ने नई भाजपा सरकार के गठन की बधाई दी 

संदीप मिश्र             
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर यूपी में नई भाजपा सरकार के गठन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह सरकार संवैधानिक व लोकतांत्रिक मूल्यों एवं आदर्शों के साथ कार्य करे। दरअसल, योगी ने खुद फोन कर मायावती को शपथ ग्रहण समारोह में आने का विधिवत निमंत्रण दिया था। मायावती हालांकि इस तरह के कार्यक्रमों से हमेशा दूरी बनाए रखती हैं।
आपको बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को दूसरी बार सीएम पद की शपथ ले ली है। योगी आदित्यनाथ यूपी के 38वें मुख्यमंत्री बन गए हैं। योगी के बाद केशव प्रसाद मौर्य और ब्रजेश पाठक को डिप्टी सीएम पद की शपथ दिलाई गई। केशव प्रसाद मौर्य पिछली सरकार में भी डिप्टी सीएम रहे हैं, जबकि ब्रजेश पाठक कानून मंत्री। 
इसके अलावा अन्य 50 लोगों को योगी के नए मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। इसमें से 18 कैबिनेट, 14 राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार और 20 राज्यमंत्री शामिल हैं। पूरे शपथ ग्रहण समारोह का गवाह लखनऊ स्थित इकाना स्टेडियम गवाह बना है।

एजेंसी ने 'गूगल' के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई

एजेंसी ने 'गूगल' के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई     

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। गूगल के बिना कोई भी इंटरनेट यूजर आगे नहीं बढ़ सकता है। किसी भी टॉपिक पर जाने के लिए आपको गूगल का ही सहारा लेना पड़ता है। वहीं तुरंत की आपको रिजल्ट दे देता है, गूगल की इस मेहरबानी पर तो हर कोई फिदा है, लेकिन अब गूगल के खिलाफ जांच के आदेश ने हर किसी को चौंका दिया है।
भारत की एक एजेंसी ने गूगल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। जिसमें कई अहम बातों का जिक्र करते हुए कार्रवाई की मांग की है। 
गूगल इसी मजबूत स्थिति का कथित रूप से दुरुपयोग कर रहा है। इसलिए इसके खिलाफ जांच (Enquiry) का आदेश दिया गया है।
दरअसल, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) ने गूगल के खिलाफ जांच का आदेश दिया है। सीसीआई ने कहा, ‘‘सुचारू रूप से काम कर रहे लोकतंत्र में समाचार मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका को कम करके नहीं आंका जा सकता है। और, यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि डिजिटल कंपनी सभी स्टेकहोल्डर्स के बीच आय का उचित वितरण निर्धारित करने की प्रतिस्पर्धी प्रक्रिया को नुकसान पहुंचाने के लिए अपनी मजबूत स्थिति का दुरुपयोग न करे।

599 रुपये में रोजाना 5जीबी डेटा प्रदान: बीएसएनएल

599 रुपये में रोजाना 5जीबी डेटा प्रदान: बीएसएनएल 

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। आज के समय में हर किसी को कम पैसे खर्च कर ज्यादा इंटरनेट चाहिए। इंटरनेट की इसी जरूरत को देखते हुए सभी टेलिकॉम कंपनियां ज्यादा से ज्यादा डेटा वाले प्लान ऑफर कर रही हैं। लेकिन अभी भी इस रेस में बीएसएनएल बाकि प्राइवेट टेलिकॉम कंपनियों से आगे है। क्योंकि, बीएसएनएल कम कीमत पर ज्यादा डेटा प्रदान कर रही हैं। आज हम आपको BSNL के एक ऐसे ही प्लान के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 599 रुपये में रोजाना 5जीबी डेटा देता है। खास बात ये है कि बीएसएनएल के इस प्लान के आगे वोडाफोन और एयरटेल के प्लान बहुत ही फीक हैं।
BSNL का 599 रुपये का प्लान: यह प्लान ग्राहकों को रोज 5 जीबी डेटा ऑफर करता है। प्लान में 84 दिन की वैलिडिटी दी जाती है। इसमें सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग और रोज 100 SMS दिए जाते हैं। खास बात है कि प्लान में रात 12 से सुबह 5 बजे तक अनलिमिटेड मुफ्त डेटा भी दिया जाता है। इसके अलावा आपको फ्री कॉलरट्यून और Zing ऐप का सब्सक्रिप्शन मिलता है।
Vi का 599 रुपये का प्लान। Vi और रिलायंस जियो, ये दोनों कंपनियां भी 599 रुपये का प्लान ऑफर करती हैं। Vi के 599 रुपये वाले प्रीपेड प्लान में 70 दिन के लिए ग्राहकों को रोज 1.5 जीबी डेटा ऑफर किया जाता है। इसमें भी अनलिमिटेड कॉलिंग और हर दिन 100 SMS दिए जाते हैं। यह प्लान वीआई हीरो अनलिमिटेड बेनिफिट्स को भी बंडल करता है जिसमें डेटा डिलाइट्स, वीकेंड रोलओवर और बिंज ऑल नाइट ऑफर शामिल हैं।
Airtel का 599 रुपये वाला प्लान: एयरटेल के 599 रुपये वाले प्लान में 3जीबी डेटा हर दिन ऑफर किया जाता है। इस पैक की वैलिडिटी 28 दिन है। इस पैक में हर दिन 100 एसएमएस भी फ्री हैं। एयरटेल व दूसरे नेटवर्क वॉइस कॉलिंग मिनट्स अनलिमिटेड हैं। बात करें एडिशनल बेनिफिट की तो ग्राहकों को 1 साल के लिए डिज्नी+हॉटस्टार वीआईपी का सब्सक्रिप्शन फ्री मिलता है। विंक म्यूजिक सब्सक्रिप्शन भी फ्री है। इसके अलावा हैलोट्यून्स, शॉ अकेडमी का 1 साल का फ्री ऑनलाइन कोर्स और फास्टैग पर 100 रुपये कैशबैक जैसे ऑफर्स भी एयरटेल के इस प्रीपेड प्लान में ऑफर किए जाते हैं।

यौन शोषण के आरोप में 20 साल कैैद की सजा

यौन शोषण के आरोप में 20 साल कैैद की सजा    

इकबाल अंसारी                       

चेन्नई। तमिलनाडु की एक महिला अदालत ने नाबालिग लड़की का यौन शोषण करने के आरोप में एक युवक को 20 साल कैैद की सजा सुनाई है। अभियोजन पक्ष ने कहा कि इरोड के करुंगलपलायम में जगन स्ट्रीट निवासी अजित कुमार (22) करुंगलपालयम के पझाकारा स्ट्रीट की 17 वर्षीय स्कूली छात्र से प्रेम करता था।

वह लड़की को बहला-फुसलाकर अपने घर ले गया और 2019 में उसका यौन शोषण किया। युवक ने 7 जून, 2019 को विल्लुपुरम जिले के चिन्नासेलम में पीड़िता का अपहरण कर लिया और उससे शादी कर ली। अभियोजन पक्ष ने कहा कि दोनों कुछ दिनों तक वहां रहे जहां आरोपी ने पीड़ित का यौन उत्पीड़न किया। उस वर्ष लड़की के माता-पिता की एक शिकायत के आधार पर इरोड में महिला पुलिस ने दोनों को चिन्नासलेम में हिरासत में ले लिया और उन्हें वापस इरोड ले आई।

कुमार के खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था, जबकि लड़की को मेडिकल जांच के बाद उसके माता-पिता के पास भेज दिया गया। शुक्रवार को मामले की सुनवाई के दौरान जिला महिला न्यायालय की न्यायाधीश मलाठी ने युवक को पॉक्सो अधिनियम के प्रावधानों के तहत 20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई और लड़की के अपहरण के लिए तीन साल की सजा भी सुनाई। जिला न्यायाधीश ने आदेश दिया कि सजाएं साथ-साथ चलेंगी।

बढ़ती महंगाई पर सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस

बढ़ती महंगाई पर सरकार को घेरने की तैयारी में कांग्रेस 

अकांशु उपाध्याय             नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के दाम शनिवार को फिर से बढ़ गए। एक बार फिर लोगों की जेब पर 80 पैसे प्रति लीटर का बोझ पड़ा है। चार महीने से ज्यादा के अंतराल के बाद मंगलवार को पहली बार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई थी। इसके बाद से पिछले पांच दिनों के अंदर चौथी बार ईंधन महंगा हुआ है। लगातार बढ़ती महंगाई पर अब विपक्षी दल कांग्रेस आक्रमक हो गई है और केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी में है। शनिवार को पार्टी के राहुल गांधी, रणदीप सिंह सुरजेवाला और कुछ अन्य नेताओं ने नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा है, ‘राजा करे महल की तैयारी, प्रजा बेचारी महंगाई की मारी’। उन्होंने इस ट्वीट के साथ कुछ खबरों के स्क्रीनशॉट भी शेयर किए हैं, जिसमें पेट्रोल-डीजल के बढ़े हुए दाम, एलपीजी के बढ़े हुए दामों का जिक्र है। वहीं कांग्रेस के ही रणदीप सिंह सुरजेवाला ने लंबी कविता के जरिए केंद्र सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट किया, मोदी सरकार में महंगाई- “तारीख़ नई, तकलीफ़ वही” आज की सुबह भी महंगाई से शुरू। आज फ़िर से रेट ₹0.80 बढ़ा दिए। नए भारत में डीज़ल/पेट्रोल का रोज़ नया रेट लगातार 5 दिन 4 हमला, ₹3.2/L की लूट।  भाजपा का जारी है- ‘ज़श्न भरा शपथ’ जनता को हर रोज़ महंगाई की चपत।

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्दी ने भी केंद्र सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्वीट किया, मैं चुनाव आयोग से प्रार्थना करती हूं कि वह जल्द ही कुछ राज्यों में होने वाले चुनावों की तारीख का ऐलान करें। ऐसा करते ही पेट्रोल औऱ डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत मिलेगी और इसके दाम नीचे आ जाएंगे।

गाना 'दफा कर’ को लॉन्च करने के लिए आयोजन

गाना 'दफा कर’ को लॉन्च करने के लिए आयोजन  
कविता गर्ग         
मुंबई। युवा एक्शन हीरो टाइगर श्रॉफ अभिनीत फिल्म ‘हीरोपंती 2’ रिलीज के लिए बिल्कुल तैयार है। इसमें उनके साथ नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और तारा सुतारिया नजर आएंगे। इस फिल्म के निर्माता साजिद नाडियाडवाला ने मुंबई में फिल्म के पहले गाने ‘दफा कर’ को लॉन्च करने के लिए एक ग्रैंड इवेंट का आयोजन किया।
इस सॉंग लॉन्च इवेंट पर निर्माता वर्धा नाडियाडवाला और भूषण कुमार के साथ टाइगर श्रॉफ, तारा सुतारिया, निर्देशक अहमद खान, गीतकार महबूब कोतवाल नजर आए। इनके साथ-साथ एक और स्पेशल गेस्ट को मौके पर स्पॉट किया गया और वो थे फिल्म के संगीतकार और म्यूजिक मैस्ट्रो ए आर रहमान।
बता दें, म्यूजिक ब्लॉकबस्टर ‘रंगीला’ में अहमद खान (कोरियोग्राफर के रूप में) के साथ काम करने के बाद, ए आर रहमान, उनके साथ ‘हीरोपंती 2’ के लिए फिर साथ आए है। इवेंट में मीडिया फ्रेटरनिटी ने ऑस्कर विजेता संगीतकार द्वारा रचित गाने ‘दफा कर’ को और खासतौर से इसमें टाइगर और तारा के शानदार डांस परफॉर्मेंस को खूब एंजॉय किया। इतना ही नहीं उन्होंने इस फुट-टैपिंग डांस नंबर में तारा और टाइगर की सिजलिंग केमिस्ट्री की भी तारीफ की।
‘हीरोपंती 2’ का ट्रेलर एक्शन और रोमांस की एक हाई वोल्टेज कहानी पेश करता है। दमदार परफॉर्मेंस के साथ, ट्रेलर में बेहतरीन एक्शन, बबलू के रूप में टाइगर श्रॉफ का प्रभावशाली अवतार, इनाया के रूप में हॉट तारा सुतारिया और लैला के रूप में नवाजुद्दीन सिद्दीकी का टॉप क्लास एक्ट है।
यानी जब बात एक्शन एंटरटेनर स्टाइल की हो तो प्रोड्यूसर साजिद नाडियाडवाला, निर्देशक अहमद खान और युवा एक्शन हीरो टाइगर श्रॉफ की इस तिगड़ी ने समय समय पर साबित किया है कि इनसे बेहतर और कोई हो ही नहीं सकता है। ऐसे में कहा जा सकता है कि ‘हीरोपंती 2’ शानदार निर्माता-अभिनेता, साजिद और टाइगर की यह एक साथ पांचवी सफल फिल्म होगी।
बागी 2 और बागी 3 जैसी फिल्मों के बाद, यह तिकड़ी हीरोपंती 2 के साथ एक्शन में एक नया बेंचमार्क स्थापित करने के लिए तैयार है। इस बार ब्लॉकबस्टर की अगली कड़ी को एक बड़े बजट के साथ बनाया जा रखा है, जिसमे दर्शक कभी ना देखें गए एक्शन को एन्जॉय करेंगे।
रजत अरोड़ा द्वारा लिखे और ए आर रहमान द्वारा दी गई म्यूजिक वाली, साजिद नाडियाडवाला की ‘हीरोपंती 2’ को अहमद खान द्वारा निर्देशित किया जाएगा, जिन्होंने टाइगर की आखिरी रिलीज ‘बागी 3’ का भी निर्देशन किया था। ऐसे में अब बात करें ‘हीरोपंती 2’ की तो यह फिल्म ईद के खास मौके पर यानी 29 अप्रैल, 2022 को सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए तैयार है।

बीरभूम में हुईं हिंसा के 21 आरोपी गिरफ्तार

बीरभूम में हुईं हिंसा के 21 आरोपी गिरफ्तार  


मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में हुई हिंसा में पुलिस ने 21 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। ममता सरकार के कड़े रुख के बाद सीबीआई नें जांच पड़ताल शुरू की। जिसमें दोषियों पर गंभीर धाराएं लगाई गई हैं। इनमें से ज्यादातर राज्य में सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं।

वहीें, सीबीआई ने भी इन 21 आरोपियों के खिलाफ भादंवि की धारा 147, 148, 149 और अन्य धाराएं लगाई हैं। ये धाराएं सशस्त्र दंगे से संबंधित हैं। बीरभूम जिले के बागतुई गांव में आठ लोगों को जिंदा जलाए जाने की घटना के बाद शुक्रवार को कलकत्ता हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। इससे दबाव में आई ममता सरकार ने पुलिस को ताबड़तोड़ गिरफ्तारी का आदेश दिया था। उधर विपक्ष भी लगातार ममता सरकार को घेरने में लगा हुआ।

वोडाफोन ने वाई-फाई डिवाइस का प्रोडक्ट लॉन्च किया

वोडाफोन ने वाई-फाई डिवाइस का प्रोडक्ट लॉन्च किया 

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। वोडाफोन आइडिया ने वाई-फाई डिवाइस का दुनिया में एक नया प्रोडक्ट लॉन्च किया है। वोडाफोन ने पॉकेट साइज 4 जी राउटर Vi Mi-Fi लॉन्च किया है। कंपनी का कहना है कि माई-फाई राउटर 150 एमबीपीएस तक की स्पीड का सपोर्ट करता है। इस डिवाइस से 10 लोग एकसाथ अपने डिवाइस जोड़ सकते हैं।
Vi Mi-Fi राउटर 2700 mAh की बैटरी के साथ पेश किया गया है।‌कहा जा रहा है कि एक बार चार्ज करने पर 5 घंटे तक इस राउटर का इस्तेमाल किया जा सकता है।
Vi MiFi राउटर की कीमत 2,000 रुपये है। इस राउटर को वोडाफोन-आइडिया के फैमिली पोस्टपेड प्लान के साथ ऐड-ऑन के रूप में खरीदा जा सकता है। यह 399 रुपये से शुरू होने वाले पोस्टपेड प्लान के साथ भी उपलब्ध है। Vi MiFi 4G पॉकेट साइज राउटर पर कंपनी एक साल की वॉरंटी दी जा रही है।
वोडाफोन-आइडिया रिचार्ज प्लान
वोडाफोन आइडिया ने 299 रुपये का प्रीपेड प्लान लॉन्च किया है. यह प्लान 28 दिनों की वैलिडिटी के साथ आता है। इस प्लान में ग्राहकों को हर दिन 1.5GB डेटा, अनलिमिटेड वॉइस कॉलिंग मिलती है। इसके अलावा इसमें हर दिन SMS मिलता है। इसके अलावा यूज़र्स को इसमें बिंज नाइट, वीकेंड डेटा रोलओवर और डेटा डिलाइट ऑफर मिलता है।‌इसके अलावा इसमें और TV क्लासिक एक्सेस के लिए OTT सब्सक्रिप्शन भी मिलता है।
ऐप में मिलेंगे ज़्यादा एंड्रॉयड गेम्स।
वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (Vi) ने स्पोर्ट्स मीडिया कंपनी नज़ारा टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के साथ साझेदारी में Vi ऐप पर ‘Vi गेम्स’ लॉन्च करने की घोषणा की है। इस साझेदारी से वोडाफोन आइडिया अपने सब्सक्राइबर के लिए गेमिंग सेवाएं शुरु करेगी। Vi Games के नाम से शुरु होने वाली इस गेमिंग सर्विस के तहत 1400 से ज्यादा एंड्रॉयड और HTML5 आधारित मोबाइल गेम उपलब्ध होंगे। इसमें फ्री और पेड दोनों तरह के मोबाइल गेम होंगे।

ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी

ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी    

सरस्वती उपाध्याय              
लाइफस्टाइल से जुड़ी आदतों, फूड हैबिट्स और जेनेटिक वजहों से डायबिटीज की बीमारी हो सकती है। मधुमेह के मरीजों के लिए ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी होता है। शुगर लेवल हाई या बहुत कम हो जाने से गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। डॉक्टर की सलाह पर आप डायबिटीज के लिए दवाइयां लेते हैं और ये जरूरी भी है, लेकिन इसके साथ कुछ नैचुरल तरीके भी हैं, जिससे आप ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रख सकते हैं।
डायबिटीज के मरीज चबाएं, इस फूल की पत्तियां
ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए आप सदाबहार के फूल और पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। ये तरीका आपके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मददगार होगा। सदाबहार का पौधा आपको आसानी से हर जगह मिल जाएगा‌‌। आयुर्वेद के अनुसार, इसके फूल और पत्तियां डायबिटीज को कंट्रोल करने, मलेरिया, गले में खराश और ल्यूकेमिया जैसी बीमारियों के इलाज में कारगर होती हैं।
सदाबहार के फूल कैसे पहुंचाते हैं फायदा ?
सदाबहार के फूल और पत्तियों में एल्कलॉइड नाम का तत्व होता है, जो पैंक्रियाज की बीटा सेल्स को सही मात्रा से इंसुलिन बनाने के लिए प्रेरित करता है। इंसुलिन से ही ब्लड में शुगर की मात्रा कंट्रोल होती है।
सदाबहार के फूल खाने का तरीका...
दिन में तीन बार 10-10 सदाबहार की पत्तियां चबाकर खाएं तो इससे ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। सदाबहार की पत्तियों को सीधे भी खा सकते हैं और इसका जूस बनाकर पी सकते हैं। खीरा, करेला, टमाटर जैसी चीजों के साथ सदाबहार के फूल और पत्तियों का जूस बनाकर पीएं। दूसरा तरीका है कि सदाबहार के फूल को पानी में उबाल लें इसे छानकर चाय की तरह पीएं। इससे भी फायदा मिलेगा।

नाटो से मुलाकात को लेकर बाइडन की चर्चा तेज

नाटो से मुलाकात को लेकर बाइडन की चर्चा तेज  

सुनील श्रीवास्तव             
कीव/मास्को/वाशिंगटन डीसी। यूक्रेन-रूस में जारी जंग के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की नाटो से मुलाकात को लेकर चर्चा तेज होने लगी है। बाइडन ने तीन बैक-टू बैक आपातकाल मीटिंग की है। इसे रूस के लिए बहुत बुरे संकेत की तरह देखा जा रहा है। इस बीच नाटो ने रूस बॉर्डर के करीब युद्धभ्यास तेज कर दिया है। रूस के आसपास पश्चिमी मुल्क अपनी सेनाओं की तैनाती भी बढ़ा रहे हैं। इन सभी घटनाक्रम को देखने के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि कुछ बड़ा हो सकता है।
बता दें कि नाटो नेताओं ने गुरुवार को ब्रसेल्स में बैठक की है।‌बैठक में सभी ने निर्णय लिया कि रूस के खिलाफ यूक्रेन को सुरक्षा सहायता के साथ समर्थन देना जारी रखा जाएगा। वहीं, NATO बाल्टिक समुद्र से ब्लैक सागर तक आठ जंगी बेड़े तैनात करने की तैयारी में है।
NATO रूस को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहता
इस बैठक में  अमेरिकी राष्ट्रपति और दुनिया के 30 देशों के राष्ट्राध्यक्षों के बीच लंबी चर्चा हुई। बता दें कि पुतिन पर NATO के 30 देश, जी-7 के सात देश और यूरोपीय यूनियन के 27 देश मिलकर दबाव बनाना चाहते हैं। NATO रूस को लेकर रिस्क नहीं लेना चाहता है। वह सैन्य घेराबंदी कर अपने देशों पर हमले की स्थिति में मजबूत जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार रहना चाहता है।
NATO इन जगहों पर तैनात करेगा बैटल ग्रुप
नाटो के सेक्रेटरी जनरल जेन्स स्टोलेनबर्ग ने उम्मीद जताई है पूर्वी सीमा पर उसकी थल, जल और वायु में सेनाओं की संख्या बढ़ाने पर किसी को आपत्ति नहीं होगी। पहले चरण में नाटो के चार बैटल ग्रुप बुल्गारिया, रोमानिया, हंगरी, स्लोवाकिया में भेजे जाएंगे।
उधर, NATO के हर एक कदम से रूस की बौखलाहट सामने आ रही है।अमेरिका में रूस के उप राजदूत दिमित्री पोलांस्की ने कहा था कि अगर नाटो उकसाएगा तो पुतिन परमाणु हमला कर सकते हैं। इससे पहले क्रेमलिन के प्रवक्ता Dmitry Peskov ने यूक्रेन पर परमाणु हमले की बात कही थी। यूक्रेन को लेकर रूस की तरफ से परमाणु हमले की 24 घंटे में दो धमकी सामने आई है। Dmitry Polyanskiy ने कहा है कि अगर नाटो रूस को उकसाएगा तो हमारे पास परमाणु हथियारों को इस्तेमाल करने का अधिकार है।  ज्यादा परमाणु हथियार रूस के पास
क्रेमलिन के प्रवक्ता Dmitry Peskov ने एक दिन पहले बुधवार को यूक्रेन को लेकर परमाणु हमले की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि अगर रूस के सामने 'अस्तित्व का खतरा' आएगा तो वह परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करेगा। याद दिला दें कि दुनिया में परमाणु हथियार की सबसे ज्यादा खेप रूस के ही पास है।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,660 नए मामलें मिलें

भारत: 24 घंटे में कोरोना के 1,660 नए मामलें मिलें  

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले और सक्रिय केस लगातार घट रहे हैं। लेकिन, पिछले 24 घंटे में ऐसा कुछ हुआ कि मौतों का आंकड़ा 4100 के पार पहुंच गया। इसके साथ ही कुल मौतों का आंकड़ा 5,20,855 पर पहुंच गया है।
वहीं देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1 हजार, 660 नए मामलें सामने आए है। जबकि 2 हजार, 349 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है।
दरअसल, महाराष्ट्र ने राज्य में कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों को अपडेट किया है। इसके कारण बीते 24 घंटे में मौत का आंकड़ा एकदम 4100 तक बढ़ गया। महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार तक दर्ज हुई 4005 गैर-कोविड मौतों को कोविड मौतों में शामिल किया, इस कारण मौतों का आंकड़ा एकाएक बढ़ गया। वैसे महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में कोरोना महामारी के कारण सिर्फ दो मौतें हुई हैं।

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी दर्ज की

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी दर्ज की       

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। तेल कंपनियों की तरफ से शुक्रवार को फिर पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। पेट्रोल के दाम 76 से 84 पैसे तक बढ़े हैं तो डीजल के दाम भी 76 से 85 तक बढ़े हैं। दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 98.61 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है।
मुंबई में पेट्रोल की कीमत 113.35 रुपये व डीजल की कीमत 97.55 रुपये प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल का दाम 93.01 रुपये जबकि डीजल का दाम 108.01 रुपये प्रति लीटर है। वहीं चेन्नई में भी पेट्रोल 104.43 रुपये प्रति लीटर तो डीजल 94.47 रुपये प्रति लीटर है। बता दें कि पिछले वर्ष 4 नवंबर के बाद से इन दोनों ईंधन के मूल्य में कोई वृद्धि नहीं की गई थी।
सरकार के राजनीतिक विरोधियों का आरोप था कि पांच राज्यों के चुनाव के कारण मोदी सरकार ने तेल कंपनियों को मूल्य बढ़ाने से रोक रखा था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 112 डॉलर प्रति बैरल पहुंचने के बाद रविवार को तेल कंपनियों ने डीजल के थोक खरीदारों के लिए मूल्य में 25 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी। तेल डीलरों का कहना है कि खुदरा मूल्य में धीरे-धीरे वृद्धि की जाएगी।

मोदी सरकार को चैलेंज, इब्राहिम को मार कर दिखाए

मोदी सरकार को चैलेंज, इब्राहिम को मार कर दिखाए   

कविता गर्ग             
मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मोदी सरकार को चैलेंज देते हुए कहा है कि यदि हिम्मत है तो अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को मार कर दिखाएं। एनसीपी नेता नवाब मलिक का बचाव करते हुए महाराष्ट्र विधानसभा में उन्होंने कहा कि यदि ये मान लें कि नवाब मलिक के रिश्ते दाऊद इब्राहिम से हैं तो इतने सालों से केंद्रीय एजेंसियां क्या कर रही थीं? उन्होंने पूछा कि आतंकी अफजल गुरु और बुरहान वानी से हमदर्दी रखने वाली पीडीपी के साथ मिलकर भाजपा ने क्यों सरकार बनाई थी। इस बीच महाराष्ट्र विधानसभा के बाहर भाजपा विधायकों ने नवाब मलिक के इस्तीफे की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। शिवसेना के अध्यक्ष और सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा ने पिछला चुनाव राम मंदिर को लेकर लड़ा था, लेकिन इस बार वह दाऊद इब्राहिम के नाम पर वोट मांगेगी। 
उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति रहे बराक ओबामा का हवाला देकर कहा कि ओबामा ने पाकिस्तान में घुस कर ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था, लेकिन अपनी इस कार्रवाई के लिए कभी वोट नहीं मांगा। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रवर्तन निदेशालय को चाहिए कि वो देवेंद्र फडणवीस को नौकरी पर रख लें।

हूती विद्रोहियों ने सऊदी में तेल डिपो पर हमला किया

हूती विद्रोहियों ने सऊदी में तेल डिपो पर हमला किया    

अखिलेश पांडेय         
रियाद। यमन के हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के जेद्दा शहर में फॉर्मूला वन स्पर्धा से पहले एक तेल डिपो पर हमला किया। यह विद्रोहियों का अब तक का सबसे हाई-प्रोफाइल हमला है। बेहरहाल, सऊदी अरब प्राधिकारियों ने संकल्प जताया कि आगामी फॉर्मूला वन स्पर्धा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी। हमले में उसी तेल डिपो को निशाना बनाया गया है, जिस पर हाल के दिनों में हूती विद्रोहियों ने हमला किया था।
नॉर्थ जेद्दा बल्क प्लांट शहर के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के दक्षिणपूर्व में स्थित है और मक्का जाने वाले जायरीनों के लिए अहम पड़ाव है। हमले में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। सऊदी अरब ऑयल को जिसे सऊदी अरामको के नाम से भी जाना जाता है, उसने अभी इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। सऊदी अरब के प्राधिकारियों ने माना कि एक शत्रुतापूर्ण अभियान में जेद्दा के तेल डिपो को निशाना बनाया गया। उन्होंने हमले में इस्तेमाल किए गए हथियार की जानकारी नहीं दी। यमन में सऊदी अरब, ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों से लडऩे वाले गठबंधन का नेतृत्व कर रहा है। इन विद्रोहियों ने सितंबर 2014 में यमन की राजधानी सना पर कब्जा जमा लिया था। 
सऊदी अरब की अगुवाई वाले गठबंधन के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल तुर्की अल-मालकी ने कहा कि आग में दो टैंक क्षतिग्रस्त हो गए। सरकारी सऊदी प्रेस एजेंसी के अनुसार अल-मालकी ने कहा इस शत्रुतापूर्ण कार्रवाई में तेल केंद्रों को निशाना बनाया गया और इसका मकसद ऊर्जा सुरक्षा एवं वैश्विक अर्थव्यवस्था की रीढ़ को कमजोर करना है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्विटर पर इस हमले की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट में लिखा मैं जेद्दा सहित सऊदी अरब में महत्वपूर्ण साइट्स के खिलाफ ताजे हूती हमले की पूरी तरह से निंदा करता हूं। इन हमलों ने नागरिकों की जान जोखिम में डाल दी है और इन्हें रोकना होगा।

कार में सफर, यात्रियों की सुरक्षा पहले से बेहतर

कार में सफर, यात्रियों की सुरक्षा पहले से बेहतर   

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। कार में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा अब पहले से बेहतर होने जा रही है। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि भारत में बिकने वाली सभी नई कारों में जल्द ही छह एयरबैग को स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर बनाया जाएगा। नए नियम 1 अक्टूबर, 2022 से लागू होंगे। रिपोर्ट के मुताबिक, अतिरिक्त एयरबैग्स के चलते गाड़ियों की कीमत में 50 हजार तक इजाफा हो सकता है। वर्तमान समय में 6 एयरबैग्स वाले मॉडल्स और वेरिएंट्स की कीमत लगभग 10 लाख रुपये से शुरू होती है।
नितिन गडकरी कहा कि अब समय आ गया है जब भारत ज्यादा कड़े सिक्यॉरिटी स्टैंडर्ड को अपनाए, जो वाहन और पैदल यात्रियों दोनों के लिए होने चाहिए।” उन्होंने कहा कि भारत में बेची जाने वाली कारों में 6 एयरबैग्स को अनिवार्य करने से सुरक्षा मानकों को बढ़ाया जा सकता है।
इससे पहले जनवरी महीने में मंत्रालय ने 8 सवारी वाली गाड़ियों में 6 एयरबैग्स अनिवार्य करने के ड्राफ्ट नोटिफिकेशन को मंजूरी दी थी। मंत्रालय ने जनवरी 2022 में एक ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी किया, जिसमें नए नियम बताए गए हैं जो सभी कारों के लिए मानक के रूप में छह एयरबैग अनिवार्य कर देंगे। नोटिफिकेशन के अनुसार, यह नियम 1 अक्टूबर, 2022 से सभी नई कारों पर लागू होगा।
भारत में 1 अप्रैल, 2019 से सभी गाड़ियों के लिए ड्राइवर एयरबैग को अनिवार्य कर किया गया था। इसके बाद डुअल एयरबैग अनिवार्य किए गए थे। सरकार ने डुअल एयरबैग के साथ-साथ सभी कारों के लिए रियर पार्किंग सेंसर और एंटी-लॉक ब्रेक को स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर्स के रूप में अनिवार्य किया हुआ है।

'जलवायु परिवर्तन' पर रिपोर्ट, तैयार हैं आईपीसीसी

'जलवायु परिवर्तन' पर रिपोर्ट, तैयार हैं आईपीसीसी  

अखिलेश पांडेय         
वाशिंगटन डीसी। आईपीसीसी ने अब तक बढ़ते तापमान के कारणों, चुनौतियों और प्रभावों का विवरण देने वाली रिपोर्ट के दो सेट जारी किए हैं। 
जहाँ एक ओर जलवायु परिवर्तन लगातार अपनी गति पर बढ़ रहा है और स्थिति बिगाड़ रहा है, वहीँ एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र का अंतर सरकारी पैनल (IPCC), जलवायु परिवर्तन पर एक महत्वपूर्ण रिपोर्ट जारी करने के लिए तैयार है।
इस आगामी रिपोर्ट में इस बात पर ध्यान केंद्रित किया गया है कि कैसे बिगड़ती स्थिति को संभाला जाए। इस रिपोर्ट से उम्मीद है कि इसमें विशेषज्ञों द्वारा उन प्रौद्योगिकियों पर विचार किया जायेगा जो उस कार्बन डाइऑक्साइड को हटाने में मदद कर सकती हैं जो पृथ्वी के गर्म होने के लिए जिम्मेदार है।
छठी मूल्यांकन रिपोर्ट की तीसरी किस्त में न केवल विशेषज्ञों की सहभागिता होगी, बल्कि इसमें दुनिया भर के नेता भी शामिल होंगे, क्योंकि उन्हें पैनल द्वारा 4 अप्रैल को इसे जारी करने के बाद इसका अनुमोदन और इस दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करना होगा।
IPCC ने अब तक बढ़ते तापमान के कारणों, चुनौतियों और प्रभावों का विवरण देने वाली रिपोर्ट के दो सेट जारी किए हैं। जहाँ पहली रिपोर्ट ने दिखाया कि जब तक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में तत्काल, तीव्र और बड़े पैमाने पर कमी नहीं होती है, तब तक वार्मिंग को 1.5 डिग्री सेल्सियस से 2 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करना पहुंच से बाहर होगा, वहीँ दूसरी रिपोर्ट में पाया गया कि मानव-प्रेरित जलवायु परिवर्तन है प्रकृति में खतरनाक और व्यापक व्यवधान पैदा कर रहा है। यह दुनिया भर में अरबों लोगों के जीवन को प्रभावित कर रहा है और कार्रवाई की खिड़की कम होती जा रही है।
अपनी प्रतिक्रिया देते हुए तीसरी रिपोर्ट के लिए एक समन्वय प्रमुख लेखक (CLA) और सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च के प्रोफेसर नवरोज़ के. दुबाश कहते हैं कि आईपीसीसी वर्किंग ग्रुप 3 की रिपोर्ट के आगे सबसे बड़ी चुनौती होगी रिसर्च का आकलन करना और नीति निर्माताओं को जलवायु परिवर्तन की चुनौती के तत्काल समाधान के लिए मार्गदर्शन करना।
प्रोफेसर नवरोज कहते हैं, "भारत निश्चित रूप से गंभीर जलवायु नुकसान के जोखिम का सामना कर रहा है और यह नुक्सान हमारी विकास संभावनाओं को प्रभावित करेगा।”
कुल मिलाकर यह तीसरी रिपोर्ट जलवायु परिवर्तन के सबसे बुरे प्रभावों से बचने के लिए शमन कार्रवाई में तेजी लाने के लिए सरकारें कैसे जुटा सकती हैं, इसके लिए आगे का रास्ता बताएगी।
क्या पाया अब तक की आईपीसीसी की रिपोर्टों ने?
संयुक्त राष्ट्र संघ ने पिछले आठ महीनों में दो रिपोर्टें जारी की हैं जिनमें पाया गया है कि जलवायु परिवर्तन न केवल दुनिया के लिए बल्कि पूरे ग्रह के लिए सबसे बड़े खतरों में से एक के रूप में उभर रहा है। पिछले साल अगस्त में जारी अपनी पहली रिपोर्ट में, पैनल ने जलवायु के चरम पर पहुंचने पर चिंता व्यक्त की।
विभिन्न प्रकार के परिदृश्यों में चरम घटनाओं की संभावना को बढ़ाते हुए, संयुक्त राष्ट्र के पैनल ने कहा कि, ग्लोबल वार्मिंग अगर 1.5 डिग्री सेल्सियस तक होता है तो गर्मी की लहरें, लंबे गर्म मौसम और कम समय के लिए ठंड के मौसम में वृद्धि होगी। लेकिन ग्लोबल वार्मिंग अगर दो डिग्री सेल्सियस तक पहुँचती है तो वो असहनीय होगा।
पिछले महीने जारी रिपोर्ट के दूसरे भाग से पता चला है कि यदि मानव-जनित ग्लोबल वार्मिंग एक डिग्री के दसवें हिस्से तक सीमित नहीं होती है, तो पृथ्वी नियमित रूप से घातक गर्मी, आग, बाढ़ और भविष्य के दशकों में सूखे से प्रभावित होगी और 127 तरीकों से "संभावित रूप से अपरिवर्तनीय" नुकसान अनुभव करेगी हैं।
यह रिपोर्टें इस बात पर प्रकाश डालती हैं कि जलवायु परिवर्तन कैसे वैश्विक प्रवृत्तियों, जैसे प्राकृतिक संसाधनों के निरंतर उपयोग, बढ़ते शहरीकरण, सामाजिक असमानताओं, चरम घटनाओं से नुकसान और क्षति, और भविष्य के विकास को खतरे में डालने वाली महामारी के साथ तालमेल बैठाता है।

अखिलेश को विधायक दल और विपक्ष का नेता चुना

अखिलेश को विधायक दल और विपक्ष का नेता चुना 

संदीप मिश्र         
लखनऊ। उत्तर प्रदेश योगी आदित्‍यनाथ के सत्ता संभालते समाजवादी पार्टी में दरार पड़ने की खबर आने लगे है। विधायक मंडल की हुई बैठक में शिवपाल यादव को नहीं बुलाया गया। हालांकि उक्‍त बैठक में अखिलेश को विधायक दल और विपक्ष का नेता चुन लिया गया।
उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले चाचा शिवपाल यादव और अखिलेश यादव साथ आये थे। शिवपाल यादव ने अखिलेश को मुख्‍यमंत्री बनाने का संकल्‍प लिया था। हालांकि रिजल्‍ट निकलने के बाद उनका संकल्‍प अधूरा रह गया। जनता ने दोबारो योगी को सत्ता सौंपा दी।
योगी के सत्ता पर काबिज होने के बाद समाजवादी पार्टी में दरार पड़ने की खबर आने लगे है। शनिवार को समाजवादी पार्टी की विधायक मंडल की बैठक हुई। इसमें सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव को सपा विधायक दल का नेता और विपक्ष का नेता चुना गया है। हालांकि बैठक में शिवपाल यादव को नहीं बुलाया गया।
विधायक शिवपाल यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की विधायक मंडल की बैठक की सूचना सभी विधायकों के पास है। मेरे पास कोई सूचना नहीं है। इसलिए मैं भी बैठक में नहीं गया। मैं दो दिनों से इस बैठक के लिए रुका था। उसके बाद भी मुझे कोई सूचना नहीं मिली।

यूपी के 15 करोड़ लोगों को 3 महीने का राशन मुफ्त

यूपी के 15 करोड़ लोगों को 3 महीने का राशन मुफ्त   

संदीप मिश्र         
लखनऊ। उत्तर प्रदेश योगी आदित्‍यनाथ ने उत्तर-प्रदेश के 15 करोड़ लोगों को तोहफा दिया है। उन्‍हें 3 महीने का राशन मुफ्त मिलेगा। यह निर्णय शनिवार को हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया।
लखनऊ के लोक भवन में कैबिनेट की पहली बैठक हुई। इसके बाद योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि कि आज मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया है कि अगले 3 महीने के लिए मुफ्त राशन योजना को फिर से हम लागू करेंगे। इससे राज्य के 15 करोड़ लोगों को फायदा होगा।
जानकारी हो कि कोविड महामारी के दौरान केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना शुरू की थी। इसकी मियाद नवंबर, 21 में खत्म हो रही थी। इसके बाद सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सरकार की तरफ से होली तक मुफ्त राशन देने की घोषणा की थी। घोषणा के बाद यूपी के पात्र कार्डधारकों को हर महीने 10 किलो राशन मुफ्त दिया जा रहा था।
इसके बाद केंद्र ने भी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को मार्च 2022 तक बढ़ा दिया था। इसके कारण यूपी सरकार राशन कार्ड धारकों को महीने में दो बार गेहूं और चावल मुफ्त मिल रहा था। उत्तर प्रदेश में राशन दुकानों से दाल, खाद्य तेल और नमक भी मुफ्त दिया जा रहा था।

गाना 'पहला-पहला प्यार है' पर सिद्धार्थ-माधुरी का डांस

गाना 'पहला-पहला प्यार है' पर सिद्धार्थ-माधुरी का डांस  

कविता गर्ग                

मुंबई  बॉलीवुड की धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित ने अपनी सुपरहिट फिल्म 'हम आपके हैं कौन' के गाना 'पहला-पहला प्यार है' पर सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ डांस किया है।

 माधुरी दीक्षित अभिनेत्री होने के साथ-साथ बहुत ही खूबसूरत डांसर भी हैं। माधुरी दीक्षित ने अपने इंस्टाग्राम पर डांस करते हुए एक वीडियो शेयर किया। इस वीडियो में माधुरी दीक्षित के साथ सिद्धार्थ मल्होत्रा नजर आ रहे हैं। दोनों इस वीडियो में फिल्म 'हम आपके हैं कौन' के गाने पहला-पहला प्यार है' पर डांस करते हुए नजर आ रहे हैं। यह डांस बेहद रोमांटिक हैं। दोनों का यह रोमांटिक डांस फैन्स को खूब पसंद आ रहा है।

टिकैत ने अपनी मांगों से 'राष्ट्रपति' को अवगत कराया

टिकैत ने अपनी मांगों से 'राष्ट्रपति' को अवगत कराया 

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार के सामने एक बार फिर से अपनी मांगों को रखते हुए चेतावनी दी है कि अगर जरूरत पड़ती है तो वह दोबारा से किसान आंदोलन के लिए तैयार हैं।
भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने अपनी मांगों से महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को अवगत कराते हुए उन्हें पूरा करने की मांग उठाई है। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने मोहाली में तकरीबन 50 फार्म यूनियन तथा अन्य सामाजिक संगठनों को संबोधित करते हुए कहा है कि किसानों का संघर्ष अभी खत्म नहीं हुआ है। अगर केंद्र सरकार को ऐसा लग रहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा आपस में बंट गया है तो यह केंद्र सरकार की गलतफहमी है। उन्होंने संकेत दिए हैं कि यदि केंद्र सरकार की ओर से किसानों से संबंधित उनकी मांगों की तरफ ध्यान नही दिया जाता है तो वह दोबारा किसान आंदोलन के लिए तैयार हैं।
बैठक के दौरान किसानों ने बीबीएमबी में पंजाब और हरियाणा के सदस्यों के स्थाई प्रतिनिधित्व को खत्म करने का फैसला वापस लिए जाने की मांग की है। इसके अलावा पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के पाठ्यक्रम की किताबों में सिख इतिहास को तोड़ने मरोडने वालों के खिलाफ कार्यवाही तथा लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के खिलाफ कार्यवाही और उनके बेटे आशीष मिश्रा एवं उनके सहयोगियों को सजा देने की मांग की है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण     

1. अंक-169, (वर्ष-05)
2. रविवार, मार्च 27, 2022
3. शक-1984, चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:04, सूर्यास्त: 06:24।
5. न्‍यूनतम तापमान- 23 डी.सै., अधिकतम-35+ डी सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745 
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न

'जिला स्वच्छ भारत मिशन' की बैठक संपन्न    सुशील केसरवानी         कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी की अध्यक्षता में उद...