शुक्रवार, 19 मई 2023

शामली: ब्रेन हेमरेज के कारण 'पत्रकार' का निधन 

शामली: ब्रेन हेमरेज के कारण 'पत्रकार' का निधन 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। एक दैनिक समाचार-पत्र के ब्यूरो चीफ का अचानक ब्रेन हेमरेज होने के कारण निधन होने से पत्रकारों में शोक की लहर दौड गई। जिला प्रशासन ने भी दो मिनट मौन धारण कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। वही जिला बार एसोसिएशन द्वारा शोकसभा का आयोजन कर, न्यायिक कार्यों से विरत रहने की घोषणा की।

शुक्रवार को शहर के कमला कालोनी निवासी पत्रकार अमित मोहन गुप्ता का सवेरे करीब 7ः30 बजे अपने मंडी मार्शगंज स्थित कार्यालय पर अचानक ब्रेन हेमरेज होने के कारण निधन हो गया। पत्रकार को शामली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन वहां चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। पत्रकार की मौत से मीडिया जगत में शोक की लहर दौड गई। कलक्ट्रेट परिसर में दो मिनट का मौन धारण कर दिवंगत आत्म की शांति के लिए प्रार्थन की गई। इस अवसर पर एडीएम संतोष कुमार सिंह, एसडीएम उद्भव त्रिपाठी, तहसीलदार प्रशांत कुमार मौजूद रहे।

जिला बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने भी बार भवन में पत्रकार की अचानक हुई मौत पर शोक व्यक्त किया और दो मिनट का मौन धारण कर न्यायिक कार्यो से विरत रहने का ऐलान किया। इस अवसर पर अध्यक्ष बिजेन्द्र कुमार, सत्येन्द्र कुमार शर्मा, दिलशाद सैफी, नीलम पुरी, राकेशपाल एडवोकेट, अंशुल गर्ग आदि मौजूद रहे। प्रेस क्लब आफ शामली द्वारा भी ओम प्लाजा मार्किट में एक शोकसभा का आयोजन किया गया।

जहां पत्रकार की मौत पर दुख प्रकट करते हुए भगवान से उनकी आत्मा को शांति प्रदान किए जाने की प्रार्थना की। इस अवसर पर दिनेश भारद्वाज, दिवाकर झा, आनंद प्रकाश, राजपाल पारवा, गौरव त्यागी, जितेन्द्र भारद्वाज, नदीम अहमद, अनुज सैनी, संजीव शर्मा, अनवर अंसारी, दीपक गुप्ता, दीपक वर्मा, राहुल शर्मा, इन्द्रपाल सिंह पांचाल, पुष्पेन्द्र भारद्वाज, प्रवीन वशिष्ठ, अनुराग शर्मा, सूरज चौधरी आदि मौजूद रहे।

कमेटी के द्वारा समीक्षा बैठक कर, विचार मंथन किया

कमेटी के द्वारा समीक्षा बैठक कर, विचार मंथन किया


कर्नाटक में कांग्रेस की जीत से भाजपा का गणित फैल- दीपक सैनी

आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कांधला मे हुई जिला कांग्रेस कमेटी कांग्रेस की बैठक

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। ज़िला कांग्रेस कमेटी के द्वारा शुक्रवार को कांधला मे समीक्षा बैठक कर विचार मंथन किया गया है। गौरतलब हो, कि कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी को मिले प्रचंड बहुमत से कांग्रेसी नेताओं के होंसले बुलंद हैं। इसी क्रम में कांधला नगराध्यक्ष जाहिद यामीन के आवास पर कांग्रेस की बैठक मे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी ने कहा कि भाजपा का झूठ का पुलिंदा जगजाहिर हो गया है। कर्नाटक चुनाव आगामी लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल है।

जाति धर्म के नाम पर राजनीति करने वाले लोगों को देश की जनता ने मुहतोड़ जवाब दिया है। पार्टी के सभी कार्यकर्ता गुटबाजी छोड़ कर अपने नेता राहुल गांधी जी प्रियंका गांधी जी के लिए मन से काम करें। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जी मे आस्था व्यक्त करते हुए नये लोगों का पार्टी में आना शुरू हो गया है। नगर निकाय चुनाव के नतीजों से निराश नहीं होना है। हिमाचल प्रदेश से चली हवा ने कर्नाटक में तूफान खड़ा कर दिया। नए लोगों के जुडने से पार्टी ओर ज्यादा मजबूत होगी।

कांग्रेस के यूवा प्रदेश महासचिव अशवनी शर्मा (सींगरा) ने कहा कि देश के जवानों की सहादत पर राजनैतिक रोटियां सेंकने वालों की दुकान दक्षिण की जनता ने बंद कर दी है। कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वालों को देश की जनता ने कर्नाटक के माध्यम से जवाब देने का काम किया है।मर्यादा पुरुषोत्तम राम मे सच्ची आस्था रखने वालों की मदद स्वयं बजरंगबली ने की है। हनुमानजी वहां पर विराजमान होते जहां शिया के साथ राम पूजे जाते हैं। भाजपा ने हमेशा भगवान राम के नाम पर राजनीति की है लेकिन उनके आदर्शों को भूल गई।

भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम राम सबके थे,उन्होंने जातियों में भेदभाव नहीं किया। उसी प्रकार हर जाति-धर्म का सम्मान कांग्रेस पार्टी हमेशा से करती आई है। कांग्रेस देश में अमन चाहती है। राम राज्य की स्थपना केवल कांग्रेस के शासन में ही हो सकती है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से कांग्रेस जिलाध्यक्ष दीपक सैनी, यूवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आचार्य अशवनी शर्मा (सींगरा), नगराध्यक्ष जाहिद यामीन,स्टेट मीडिया कोर्डिनेटर यश अत्रि, डाॅ. नफीस अब्बासी वरिष्ठ कांग्रेसी,  कादिर जंग रामशरण सैनी, मनीष सेन, सुशील पांचाल, अनिल चौधरी, शाहरुख, आरिफ कांधला, सलीम, महावीर सैनी, ज़ावेद सुलेमानी, शाहिद, अब्दुला, शहजाद, रमीज,आदि मौजूद रहे।

बनर्जी को कार्यालय में पेश होने के लिए तलब किया

बनर्जी को कार्यालय में पेश होने के लिए तलब किया

मिनाक्षी लोढी 

कोलकाता। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने स्कूल नौकरी घोटाले की अपनी जांच के तहत तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता अभिषेक बनर्जी को शनिवार को अपने कोलकाता कार्यालय में पेश होने के लिए तलब किया है। अधिकारियों ने कहा कि बनर्जी को एक पत्र भेजकर यहां निजाम पैलेस स्थित सीबीआई कार्यालय में जांच में शामिल होने के लिए कहा गया है।

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में अदालत के पुराने आदेश को वापस लेने के अनुरोध वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के राष्ट्रीय महासचिव बनर्जी की याचिका बृहस्पतिवार को खारिज कर दी। अदालत ने अपने पुराने आदेश में कहा था कि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जैसी जांच एजेंसियां शिक्षक भर्ती घोटाले में उनसे पूछताछ कर सकती हैं।

टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी का नाम कुंतल घोष द्वारा दर्ज करायी गई एक शिकायत में सामने आया था, जिसने आरोप लगाया है कि केन्द्रीय एजेंसियां उन पर भर्ती घोटाले में अभिषेक बनर्जी का नाम लेने का दबाव बना रही हैं।

रस्तोगी को एक ‘असाधारण सहयोगी’ करार दिया

रस्तोगी को एक ‘असाधारण सहयोगी’ करार दिया

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत के प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ ने शुक्रवार को न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी को एक ‘‘असाधारण सहयोगी’’ करार दिया, जिनमें प्रत्येक मामले के लिए न्यायिक करुणा और संवेदनशीलता है। न्यायमूर्ति रस्तोगी 17 जून को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। उच्चतम न्यायालय में वरिष्ठता में चौथे स्थान पर रहे न्यायमूर्ति रस्तोगी को 02 नवंबर, 2018 को उच्चतम न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था।

चार साल से अधिक समय तक शीर्ष अदालत के न्यायाधीश के रूप में सेवा देने के बाद, वह गर्मी की छुट्टियों के दौरान सेवानिवृत्त होंगे। न्यायमूर्ति रस्तोगी के अलावा, न्यायमूर्ति के एम जोसेफ, पीठ में वरिष्ठता में तीसरे और न्यायमूर्ति वी रामसुब्रमण्यन भी क्रमशः 16 जून और 29 जून को सेवानिवृत्त होंगे। इन न्यायाधीशों की सेवानिवृत्ति से उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की संख्या 34 से घटकर 31 हो जाएगी।

शुक्रवार को न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार मिश्रा और वरिष्ठ अधिवक्ता कल्पथी वेंकटरमण विश्वनाथन के शपथ ग्रहण के साथ, शीर्ष अदालत में न्यायाधीशों की संख्या संक्षिप्त समय के लिए मंजूर संख्या के बराबर हो गई। न्यायमूर्ति रस्तोगी को विदाई देने के लिए गठित रस्मी पीठ का नेतृत्व करते हुए प्रधान न्यायाधीश ने पीठ और कॉलेजियम में उनके योगदान की सराहना की। सीजेआई ने कहा, ‘‘न्यायमूर्ति रस्तोगी, आपने अपने सामने आने वाले हर मामले के प्रति न्यायिक करुणा और संवेदनशीलता को कई तरह से व्यक्त किया।

भाई रस्तोगी अपने पिता श्री हरीश चंद्र रस्तोगी से प्रेरणा लेते हैं, जो एक प्रसिद्ध दीवानी वकील थे।’’ न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि वह अन्य बातों के साथ ही न्यायमूर्ति रस्तोगी की दीवानी, सेवा और श्रम कानूनों में विशेषज्ञता पर अक्सर पर भरोसा करते थे। न्यायमूर्ति रस्तोगी ने अपने संक्षिप्त विदाई भाषण में बार और पीठ के सदस्यों को धन्यवाद दिया।

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (एससीबीए) न्यायमूर्ति रस्तोगी और दो अन्य न्यायाधीशों के लिए शुक्रवार को विदाई समारोह आयोजित करेगा क्योंकि 22 मई को ग्रीष्मकालीन अवकाश शुरू होने से पहले शुक्रवार को अंतिम कार्य दिवस है। अटॉर्नी जनरल आर वेंकटरमणी और सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता सहित बार के कई नेताओं ने भी न्यायमूर्ति रस्तोगी की सराहना की। अट्ठारह जून, 1958 को जन्मे, न्यायमूर्ति रस्तोगी अपने पिता स्वर्गीय हरीश चंद्र रस्तोगी के नक्शेकदम पर चलते हुए 1982 में बार में शामिल हुए। स्वर्गीय हरीश चंद्र रस्तोगी राजस्थान उच्च न्यायालय में एक जानेमाने दीवानी वकील थे।

मुंबई: 61,729.68 अंक पर बंद हुआ 'सेंसेक्स'

मुंबई: 61,729.68 अंक पर बंद हुआ 'सेंसेक्स'

कविता गर्ग 

मुंबई। वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों और विदेशी पूंजी की आवक बने रहने के बीच घरेलू शेयर बाजारों में तीन दिनों की गिरावट के बाद शुक्रवार को दोनों मानक सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी बढ़त हासिल करने में सफल रहे। बीएसई का 30 शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स अंतिम दौर में खरीदारी का जोर रहने से 297.94 अंक यानी 0.48 प्रतिशत बढ़कर 61,729.68 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला और सेंसेक्स 61,784.61 के ऊपरी एवं 61,251.70 अंक के निचले स्तर पर भी रहा। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का सूचकांक निफ्टी भी 73.45 अंक यानी 0.41 प्रतिशत चढ़कर 18,203.40 अंक पर पहुंच गया। इसके पहले लगातार तीन दिनों तक सेंसेक्स एवं निफ्टी दोनों में ही गिरावट देखने को मिली थी। सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से टाटा मोटर्स के शेयरों में सर्वाधिक तीन प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके अलावा टेक महिंद्रा, इंफोसिस, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, एक्सिस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट और कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर भी लाभ में रहे। दूसरी तरफ, एनटीपीसी, एशियन पेंट्स, टाइटन एवं पावर ग्रिड के शेयरों में गिरावट दर्ज की गई।

अडाणी समूह के शेयरों के बारे में उच्चतम न्यायालय की तरफ से गठित विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट में किसी नियामकीय नाकामी का जिक्र नहीं किए जाने से समूह की सभी 10 कंपनियों में तेजी की स्थिति रही। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, "किसी निर्णायक दिशा का अभाव होने पर भी घरेलू बाजार सकारात्मक दशा में बंद हुए। अमेरिकी बाजार में कर्ज चूक मामले पर प्रगति होने से बाजार में तेजी रही लेकिन अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती की संभावना बताता है कि फेडरल रिजर्व ब्याज दर में बढ़ोतरी का दौर जारी रख सकता है।

" एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया को कॉस्पी एवं जापान का निक्की बढ़त के साथ बंद हुए जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट एवं हांगकांग का हैंगसेंग गिरावट पर रहे। यूरोप के शेयर बाजार दोपहर के सत्र में बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। एक दिन पहले बृहस्पतिवार को अमेरिकी बाजार भी बढ़कर बंद हुए थे।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.78 प्रतिशत चढ़कर 76.45 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों ने भारतीय बाजार में पूंजी डालनी जारी रखी है। एक्सचेंज से मिले आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 970.18 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध खरीद की।

2,000 के नोट को चलन से बाहर करने की घोषणा 

2,000 के नोट को चलन से बाहर करने की घोषणा 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 2,000 रुपये के नोट को सितंबर, 2023 के बाद चलन से बाहर करने की शुक्रवार को घोषणा की। इस मूल्य के नोट को बैंकों में 23 मई से जाकर बदला जा सकता है। आरबीआई ने शाम को जारी एक बयान में कहा कि अभी चलन में मौजूद 2,000 रुपये के नोट वैध मुद्रा बने रहेंगे।

आरबीआई ने बैंकों को 30 सितंबर तक ये नोट जमा करने एवं बदलने की सुविधा देने को कहा है। बैंकों में 23 मई से 2,000 रुपये के नोट बदले जा सकेंगे। हालांकि एक बार में सिर्फ 20,000 रुपये मूल्य के नोट ही बदले जाएंगे। इसके साथ ही आरबीआई ने बैंकों से 2,000 रुपये का नोट देना तत्काल प्रभाव से बंद करने को कहा है। आरबीआई ने 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट चलन से हटाने के बाद नवंबर, 2016 में 2,000 रुपये के नोट पहली बार जारी किए थे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन



प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-218, (वर्ष-06)

2. शनिवार, मई 20, 2023

3. शक-1944, ज्येष्ठ, कृष्ण-पक्ष, तिथि-प्रतिपदा, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:10। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 25 डी.सै., अधिकतम- 41+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा

चीन ने तरीके नहीं बदले, परिणाम भुगतना होगा अखिलेश पांडेय  ब्रुसेल्स। नाटो के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि चीन यूक्रेन के खिलाफ रूस...