गुरुवार, 14 जुलाई 2022

विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए

विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। मण्डलायुक्त संजय गोयल की अध्यक्षता में गुरूवार को गांधी सभागार में महाकुम्भ मेला-2025 के आयोजन हेतु प्रयागराज नगर में अवस्थापना सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण एवं दीर्घकालीन परियोजनाओं के सम्बंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में मण्डलायुक्त ने विभागवार प्रस्तावित परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। सेतु निगम, लोक निर्माण विभाग, प्रयागराज विकास प्राधिकरण, नगर निगम, पर्यटन विभाग, गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई, विद्युत विभाग, स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य विभागों से सम्बंधित दीर्घकालीन परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जो भी परियोजनाएं प्रस्तावित है। उसके लिए यदि जमीन की आवश्यकता हो, तो उसकी उपलब्धता के सम्बंध में आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करा ली जाएं। साथ ही साथ उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि परियोजनाओं को अंतिम रूप देते समय सभी सम्बंधित विभागों के साथ इंट्रीग्रेटेड रूप से प्रस्ताव तैयार किया जाएं। जिससे कि कार्य के बारे में सभी विभागों को जानकारी रहे और कार्य कराते समय उसमें किसी भी तरह का दूसरे विभाग के द्वारा अनावश्यक व्यवधान न उत्पन्न होने पाएं। 
सेतु निगम के द्वारा एसआरएन से मेडिकल कालेज चौराहें तक बनाएं जाने वाले फ्लाइओवर एवं महाराणा प्रताप चौराहें से लोक सेवा आयोग, पत्रिका चौराहा तक बनाये जाने वाले फ्लाइओवर से सम्बंधित प्रस्ताव के बारे में मण्डलायुक्त ने टीम गठित कर स्थल का निरीक्षण करते हुए योजना से सम्बंधित प्रस्ताव के सम्बंध में दो सप्ताह के अंदर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है। मण्डलायुक्त ने सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों से यह भी कहा है कि जो कार्य मेला अवधि के वर्ष में होना है, उसके लिए अलग से एवं जो कार्य दीर्घकालीन परियोजनाओं से सम्बंधित है, उसके लिए अलग से प्र्रस्ताव बना लिया जाये। पर्यटन विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए मण्डलायुक्त ने ओल्ड कर्जन ब्रिज, नागवासुकी मंदिर, तक्क्षेश्वर मंदिर दरियाबाद, माधव सर्किट, भरद्वाज आश्रम में कराये जाने वाले सौन्दर्यीकरण के कार्य, पंचकोशीय परिक्रमा के अन्तर्गत आने वाले मंदिरों के स्थलों के सौन्दर्यीकरण सहित अन्य प्राचीन स्थलों के सौन्दर्यीकरण हेतु योजनाओं से सम्बंधित प्रस्ताव पर विचार-विमर्श करते हुए पर्यटन अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। 
उन्होंने द्वादश माधव सर्किट के पर्यटन विकास हेतु वहां पर पार्किंग स्थल, एप्रोच मार्ग सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं से सम्बंधित कार्यों को भी प्रस्ताव में शामिल किए जाने के लिए कहा है। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में तेज बहादुर सप्रू अस्पताल, स्वरूपरानी चिकित्सालय, मोती लाल नेहरू मण्डलीय चिकित्सालय, महिला चिकित्सालय तथा क्षयरोग चिकित्सालय एवं सीएससी/पीएससी में कराये जाने वाले कार्यों से सम्बंधित प्रस्तावों के बारे में विस्तृत रूप से समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए है। मण्डलायुक्त ने सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जो भी परियोजनाएं फाइनल हो, उससे सम्बंधित बजट की व्यवस्था के सम्बंध में भी आवश्यक कार्रवाई की प्रक्रिया भी सुनिश्चित की जाये। इस अवसर पर जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री, पीडीए उपाध्यक्ष अरविंद चौहान, नगर आयुक्त चन्द्र मोहन गर्ग सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की कुर्सी के करीब पहुंचें, ऋषि

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की कुर्सी के करीब पहुंचें, ऋषि 

अखिलेश पांडेय 
लंदन। ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की कुर्सी के एक कदम करीब पहुंच गए हैं। उन्होंने कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के चुनाव के लिए आयोजित दूसरे दौर की वोटिंग में धमाकेदार जीत दर्ज की है। दूसरे दौर में ऋषि सुनक को 101 वोट मिले, जबकि पेनी मोर्डंट 83 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहीं। विदेश मंत्री लिज ट्रूस 64 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर थीं। पहले चरण की वोटिंग में पूर्व कैबिनेट मंत्री केमी बडेनोच को 49, बैकबेंचर टॉम तुगेंदत को 32 वोट मिले हैं। पहले राउंड की वोटिंग के दौरान भी ऋषि सुनक 88 वोटों के साथ पहले स्थान पर काबिज रहे थे।
दूसरे राउंड की वोटिंग के बाद क्या होगा ?
दूसरे दौर की वोटिंग के बाद शीर्ष पर काबिज सिर्फ दो उम्मीदवार ही अगले राउंड में जाएंगे। इसके बाद ही कंजर्वेटिव पार्टी के नेता का ऐलान होगा। इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद पार्टी के नेता को ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलवाई जाएगी। तब तक बोरिस जॉनसन कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने रहेंगे। नए प्रधानमंत्री 5 सितंबर को अपना पद ग्रहण करेंगे और संसद में 7 सितंबर को विपक्ष के सवालों का सामना करेंगे।

दूसरे राउंड में किस नेता को कितने वोट मिले...

नेता वोट
ऋषि सुनक 101
पेनी मोर्डंट 83
लिज ट्रूस 64
केमी बडेनोच 49
टॉम तुगेंदत 32

कौन हैं ऋषि सुनक...
ऋषि सुनक इन्फोसिस के चेयरमैन रह चुके नारायण मूर्ति के दामाद हैं। वह यॉर्कशायर के रिचमंड से सांसद हैं। 2015 में संसद में कदम रखन वाले ऋषि कन्जर्वेटिव पार्टी के उन नेताओं में से एक थे, जिन्होंने ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने के बोरिस जॉनसन के फैसले का समर्थन किया था। उनका मानना था कि ब्रिटेन में छोटे बिजनस ब्रेग्जिट बाहर निकलने के बाद बेहतर परफॉर्म करेंगे। सुनक वित्त मंत्री बनने से पहले राजकोष के चीफ सेक्रटरी रह चुके हैं और वित्त मंत्री के सेकंड इन कमांड भी रह चुके हैं।

जनपदवासियों के स्वस्थ व संपन्न रहने की कामना की

जनपदवासियों के स्वस्थ व संपन्न रहने की कामना की

हरिशंकर त्रिपाठी 
देवरिया। सावन मास के प्रथम दिन श्रद्धालुओं की भाड़ी-भीड़ शिवालयों में उमड़ी। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह एवं पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने मझौलीराज स्थित बाबा दीर्घेश्वरनाथ तथा सोहगरा स्थित बाबा हँसनाथ का जलाभिषेक कर जनपदवासियों के स्वस्थ एवं संपन्न रहने की कामना की। इस दौरान उन्होंने प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया।
जिलाधिकारी ने कहा कि सावन मास के दृष्टिगत बड़ी संख्या में श्रदालु शिवालयों में जलाभिषेक करने आते हैं। मंदिरों पर साफ-सफाई, प्रकाश व्यवस्था एवं सुरक्षा के दृष्टिगत विशेष इंतजाम किए गए हैं। श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की असुविधा न हो इस बात का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि सावन माह में शिवालयों में भारी भीड़ होती है। जाम की दिक्कत न हो इसके लिए यातायात प्रभारी और पुलिस को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए वाहन पार्किंग स्थल भी बनाये गए हैं। उन्होंने जनपदवासियों से कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने का अनुरोध भी किया। पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने शिवालयों के निकट असामाजिक तत्वों की गतिविधियों को रोकने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान अपर जिलाधिकारी प्रशासन कुँवर, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/एसडीएम सलेमपुर गुँजन द्विवेदी, तहसीलदार चंद्रशेखर सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की

तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की कीमत जारी की

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। सरकारी तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल की बृहस्पतिवार की कीमत जारी कर दी है। देश में सबसे कम पेट्रोल की कीमत पोर्ट ब्लेयर में है, जहां पर एक लीटर के दाम 84.10 रुपये और एक लीटर डीजल 79.74 रुपये में मिल रहा है। देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 96.72 रुपये तो डीजल की 89.62 रुपये है। 
वहीं, भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 111.35 रुपये और डीजल 97.28 रुपये में बिक रहा है।इसके अलावा, चेन्नई में पेट्रोल 102.63 रुपये और डीजल 94.24 रुपये में मिल रहा है।

बाबा दरबार में हाजिरी लगाएंगे, 1 करोड़ से अधिक लोग

बाबा दरबार में हाजिरी लगाएंगे, 1 करोड़ से अधिक लोग 

संदीप मिश्र 
वाराणसी। काशी में गुरुवार से आस्‍था का सावन आ गया है। बाबा दरबार से लेकर गंगधार तक बाबा का दरबार ही नहीं, काशी का कोना-कोना हर हर बम बम के उद्घोष में डूबा हुआ है। माना जा रहा है कि पूरे माह में एक करोड़ से अधिक लोग नव्‍य भव्‍य बाबा दरबार में हाजिरी लगाएंगे और बाबा का जलाभिषेक कर कृतार्थ होंगे। सावन के पहले दिन गुरु पूर्णिमा पर्व के बाद आस्‍थावानों ने गुरु चरणों की वंदना करने के बाद बाबा का दर्शन करना प्राथमिकता दी। गंगाजल लेकर तड़के ही बाबा दरबार की कतार में जुट गए। 
बाबा के भक्‍त एक दिन पूर्व गुरुपूर्णिमा के पर्व से ही आस्‍था में डूबे काशी में निवास कर बाबा के अभिषेक को व्‍याकुल थे। बाबा दरबार से लेकर गंगधार तक ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करते आस्‍थावानों की एक ही मंजिल बाबा दरबार में दर्शन और पूजन की थी। तड़के मंगला आरती के बाद बाबा दरबार में दर्शन का क्रम शुरू हुआ तो दिन चढ़ने तक आस्‍था का सावन काशी में अंगड़ाई लेता नजर आया। सुबह दस बजे तक हजारों आस्‍थावान बाबा दरबार में सावन माह के पहले दिन दर्शन और पूजन कर चुके थे। इस लिहाज से बाबा दरबार में आस्‍था का सावन अब परवान चढ़ने लगा है। 
वाराणसी में बाबा दरबार में दर्शन पूजन के लिए तीन द्वारों से भक्‍तों को प्रवेश दिया जा रहा है। गंगा द्वार से सबसे आसान रास्‍ता सीधा बाबा दरबार तक है। ऐसे में सीधे गंगाजल लेने के बाद भक्‍त बाबा के दर्शन पूजन के लिए पहुंच रहे हैं। भक्‍तों के आने का क्रम सुबह मंगलाआरती के साथ शुरू हुआ तो दिन चढ़ने तक हजारों लोग बाबा दरबार में हाजिरी लगा चुके थे। मान्‍यताओं के अनुरूप बाबा दरबार में पूजा की थाली के साथ ही फल- फूल और मेवा के साथ शहद, दही, घी और दूध के साथ बिल्‍वपत्र चढ़ाकर मन्‍नतें मांगते नजर आए। वहीं पहले दिन सुरक्षा कारणों से फोर्स की भी तैनाती रही और पिकेट पर सुरक्षा बल मुस्‍तैद रहे।

प्रश्न चिन्ह: पालतू कुत्ते का महिला पर हमला, घायल

प्रश्न चिन्ह: पालतू कुत्ते का महिला पर हमला, घायल 

संदीप मिश्र 
लखनऊ/बलरामपुर। कुत्ते को बहुत वफादार जानवर माना जाता है। खास कर पालतू कुत्तों के बारे में ये कहा जाता है कि पालतू कुत्ते अपने मालिक की जान और माल की हिफाज़त करते है। लेकिन, गुरुवार को एक पालतू कुत्ते ने कुत्ते की मालिक से वफादारी पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया। कैसरबाग थाना क्षेत्र के बंगाली टोला मोहल्ले में रहने वाली एक 75 वर्षीय बुजुर्ग महिला को उनके घर के पालतू कुत्ते ने हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। पिटबुल प्रजाति के पालतू कुत्ते के हमले में घायल महिला को इलाज के लिए बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। पालतू कुत्ते के हमले में जान गवाने वाली बुजुर्ग महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
जानकारी के अनुसार, नारी शिक्षा निकेतन में शिक्षक के पद से रिटायर 75 वर्षीय बुजुर्ग सुशीला त्रिपाठी अपने बेटे अमित त्रिपाठी के साथ कैसरबाग थाना क्षेत्र स्थित इंदिरा गांधी नेत्र चिकित्सालय के पीछे बंगाली टोला में रहती थी। सुशीला त्रिपाठी के अधिवक्ता पति राम नारायण त्रिपाठी की 2015 में मृत्यु हो चुकी है । सुशीला त्रिपाठी के घर मे पिटबुल प्रजाति के दो कुत्ते पले हुए हैं। बताया जा रहा है कि मंगलवार की सुबह सुशील त्रिपाठी के घर में पले पिटबुल प्रजाति के एक कुत्ते ने उन पर हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। पालतू कुत्ते के हमले में बुरी तरह से घायल सुशीला त्रिपाठी को इलाज के लिए बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया‌‌। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पिटबुल प्रजाति के कुत्ते आकार में बड़े और आक्रामक होते हैं। बताया ये भी जा रहा है, सुशीला त्रिपाठी के घर में पिटबुल कुत्ते लंबे समय से पले हुए थे। जिन्हें मृतिका सुशीला त्रिपाठी अपने हाथों से भोजन भी कराती थी। लेकिन मंगलवार की सुबह अचानक वफादार माने जाने वाले दो कुत्तों में से एक कुत्ते ने आक्रामक रूप अख्तियार किया और अपनी मालकिन सुशीला तिरपाठी पर हमला करके उन्हें बुरी तरह से लहूलुहान कर दिया। कैसरबाग थाने की चाइना बाजार पुलिस चौकी के इंचार्ज तौहीद अहमद ने बताया कि जिस समय सुशील त्रिपाठी पर उनके पालतू कुत्ते ने हमला किया। उस समय सुशीला का बेटा अमित त्रिपाठी जिम गया हुआ था। उनके अनुसार अमित त्रिपाठी जिम ट्रेनर है। सुशील त्रिपाठी की सुनकर सुनकर घर मे रहने वाले किराएदार मौके पर पहुचे और किसी तरह से आक्रोशित कुत्तों को एक कमरे में बंद किया गया और घायल सुशीला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पिटबुल प्रजाति के कुत्ते बहुत आक्रामक स्वभाव के होते हैं‌। बताया ये भी जा रहा है कि इससे पहले भी सुशीला त्रिपाठी के घर में पले कुत्ते आक्रामक हो चुके हैं। लेकिन, जिस तरह से आज पालतू कुत्ते ने अपनी मालकिन पर हमला कर उन्हें मौत की नींद सुला दिया ऐसा कम ही सुनाई देता है। क्योंकि, कुत्ते को अपने मालिक के लिए बहुत ही वफादार माना जाता है। लेकिन, यहां पालतू कुत्ता मालकिन की जान का दुश्मन साबित हुआ। मंगलवार की सुबह पालतू कुत्ते के द्वारा जिस तरह से अपनी मालकिन को मौत की नींद सुला दिया गया। उससे ये कहा जा सकता है कि सभी कुत्ते वफादार नहीं होते, बल्कि कुछ कुत्ते कातिल भी होते हैं।

सरकार की छवि खराब, नौकरशाहों पर कार्रवाई के निर्देश

सरकार की छवि खराब, नौकरशाहों पर कार्रवाई के निर्देश 

संदीप मिश्र 
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में हैं और उन्होंने सरकार की छवि खराब करने वाले नौकरशाहों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। वहीं, कई वरिष्ठ अफसरों पर भी गाज गिर सकती है। अपनी कारगुजारियों से सरकार की छवि खराब करने वाले नौकरशाहों पर कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई है। स्वास्थ्य एवं लोक निर्माण विभाग में तबादलों में गड़बड़ियों और पशुपालन घोटाले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री ने तबादलों में गड़बड़ियों की जांच के लिए मुख्य सचिव और कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में गठित कमेटी गठित की है। जबकि पशुपालन घोटाले की जांच के आदेश भी दिए जा चुके हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय को जांच रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बाद स्वास्थ्य, लोक निर्माण व पशुपालन विभाग के कई वरिष्ठ अफसरों की विदाई तय मानी जा रही है। 
इन्हें महत्वहीन पदों पर भेजा जाएगा। गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग में बीते 30 जून को हुए तबादलों को लेकर उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने नाराजगी जताते हुए स्थानांतरण नीति का पालन किए जाने की बात कही थी। पाठक ने अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद द्वारा किए गए तबादलों पर नाराजगी जताते हुए पत्र भी लिखा था। पत्र में पाठक ने तबादलों में तमाम तरह की गड़बड़ियों का भी जिक्र किया था और अमित मोहन से स्पष्टीकरण मांगा था लेकिन उन्होंने उप मुख्यमंत्री के पत्र का कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने भी इस मामले में जवाब-तलब किया था। सीएम योगी ने मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के तबादलों पर रिपोर्ट तलब की और पूरे प्रकरण की जानकारी लेने के बाद जांच के लिए मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बना दी। कमेटी को तबादलों में हुई गड़बड़ियों की समीक्षा करके दो दिन में मुख्यमंत्री कार्यालय को रिपोर्ट सौंपने को कहा गया था। इसी प्रकार पीडब्ल्यूडी में हुए तबादलों की जांच के लिए एपीसी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है। 
पीडब्ल्यूडी में तो अफसरों ने खुलेआम तबादला नीति की धज्जियां उड़ाईं। तीन साल पहले मर चुके जूनियर इंजीनियर घनश्याम दास का तबादला झांसी कर दिया गया। ऐसे ही एक शख्स राजकुमार का तबादला इटावा से ललितपुर किया गया था। बाद में पता चला कि इस नाम का कोई शख्स है ही नहीं। यहीं नहीं एक-दो साल में रिटायर होने कई कर्मचारियों का तबादला बहुत दूर के जिलों में कर दिया गया। इसके अलावा मुख्यमंत्री के निर्देश पर पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह ने 50 करोड़ रुपये के घोटाले की जांच विभाग के अपर मुख्य सचिव को सौंपी है। इस घोटाले को विभाग के कई आला अफसरों ने अंजाम दिया है। शासन के उच्चपदस्थ सूत्रों का कहना है कि इन कमेटियों की रिपोर्ट मिलते ही मुख्यमंत्री अपनी मनमानी कार्यशैली से सरकार की छवि को खराब करने वाले नौकरशाहों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

1 जून से अब तक 363.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज

1 जून से अब तक 363.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज 

दुष्यंत टीकम 
रायपुर। छत्तीसगढ़ में अब तक 363.4 मि.मी. औसत वर्षा राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक, एक जून 2022 से अब तक राज्य में 363.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 14 जुलाई तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 933.2 मिमी और बलरामपुर जिले में सबसे कम 120.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। प्रदेश में पिछले दस वर्षों के आधार पर अब तक वर्षा का औसत 335.7 मि.मी. है।
राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 144.2 मिमी, सूरजपुर में 195.5 मिमी, जशपुर में 142.7 मिमी, कोरिया में 214.6 मिमी, रायपुर में 247.9 मिमी, बलौदाबाजार में 375.4 मिमी, गरियाबंद में 426.5 मिमी, महासमुंद में 336.5 मिमी, धमतरी में 431.4 मिमी, बिलासपुर में 372.3 मिमी, मुंगेली में 431.8 मिमी, रायगढ़ में 291.9 मिमी, जांजगीर-चांपा में 439.2 मिमी, कोरबा में 243.2 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 384.0 मिमी, दुर्ग में 370.1 मिमी, कबीरधाम में 311.0 मिमी, राजनांदगांव में 407.7 मिमी, बालोद में 495.1 मिमी, बेमेतरा में 277.7 मिमी, बस्तर में 474.1 मिमी, कोण्डागांव में 449.3 मिमी, कांकेर में 512.0 मिमी, नारायणपुर में 386.6 मिमी, दंतेवाड़ा में 395.6 मिमी और सुकमा में 364.6 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।

बंगाल: कोरोना के मामलों की संख्या-20,59,264

बंगाल: कोरोना के मामलों की संख्या-20,59,264 

मिनाक्षी लोढी
कोलकाता। पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस (कोविड-19) के मामलों की संख्या बढ़कर 20,59,264 हो गई है। जबकि 2,979 ताजा मामले दर्ज किए गए हैं, जो पिछले दिन की तुलना में 320 अधिक है।
इसने कहा कि बीमारी के कारण अधिक मौतों के लिए टोल 21,255 हो गया। राज्य में गुरुवार को 2,659 नए मामले दर्ज किए गए और पांच लोगों की मौत हुई। सकारात्मकता दर बढ़कर 18.59 प्रतिशत हो गई, जबकि पिछले दिन यह 18.46 प्रतिशत थी। बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में 1,359 ठीक होने के बाद सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 27,496 हो गई। अब तक 20,10,513 लोग संक्रमण से ठीक हो चुके हैं।
बुलेटिन में कहा गया है कि पश्चिम बंगाल में गुरुवार से कोरोना वायरस के लिए 16,027 नमूनों की जांच की जा चुकी है।

मजबूती: सेंसेक्स में 239 अंक की तेजी, कारोबार शुरू

मजबूती: सेंसेक्स में 239 अंक की तेजी, कारोबार शुरू

कविता गर्ग
मुंबई। बेंचमार्क सूचकांकों ने गुरुवार को सेंसेक्स में 239 अंक की तेजी के साथ, मजबूती के साथ कारोबार शुरू किया, जो वैश्विक बाजार के सकारात्मक रुख को दर्शाता है।
30 शेयरों वाला बीएसई बेंचमार्क 239.3 अंक बढ़कर 53,753.45 पर कारोबार कर रहा था। व्यापक एनएसई निफ्टी 74.7 अंक चढ़कर 16,041.35 पर पहुंच गया। सेंसेक्स के घटकों में सन फार्मा, डॉ रेड्डीज लैब, एचडीएफसी, लार्सन एंड टुब्रो, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईटीसी और आईसीआईसीआई बैंक प्रमुख थे।
टाटा स्टील, एक्सिस बैंक, टेक महिंद्रा और भारतीय स्टेट बैंक पिछड़ गए।
एशिया में, शंघाई, हांगकांग, टोक्यो और सियोल के बाजार हरे निशान में थे। को अमेरिकी बाजार गिरावट के साथ बंद हुए थे।
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, “भले ही जून के लिए अमेरिकी सीपीआई मुद्रास्फीति के आंकड़े 8.8 प्रतिशत की उम्मीद के मुकाबले 9.1 प्रतिशत पर आए, अमेरिकी बाजारों में मामूली गिरावट आई, 1 प्रतिशत से भी कम।बुधवार को बीएसई सेंसेक्स 372.46 अंक या 0.69 फीसदी की गिरावट के साथ 53,514.15 पर बंद हुआ। निफ्टी 91.65 अंक या 0.57 फीसदी गिरकर 15,966.65 पर बंद हुआ। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.69 प्रतिशत चढ़कर 100.23 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।
एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 2,839.52 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री जारी रखी।
“एफआईआई ने जुलाई की रैली का इस्तेमाल जुलाई की शुरुआत में बिकवाली थकावट के रूप में दिखाई देने के बाद और बड़ी बिक्री पर जोर देने के लिए किया है। यह नवीनीकृत एफआईआई बिक्री भालू को मजबूत कर सकती है लेकिन डीआईआई और खुदरा निवेशक हर गिरावट पर मजबूत खरीदार बनने की संभावना रखते हैं क्योंकि भारत के आर्थिक बुनियादी सिद्धांत मजबूत हैं और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि वैल्यूएशन आकर्षक है, खासकर उन सेगमेंट/स्टॉक्स में जहां एफआईआई बिक रहे हैं।”

राजनीति: चिदंबरम ने वित्तमंत्री सीतारमण पर कसा तंज

राजनीति: चिदंबरम ने वित्तमंत्री सीतारमण पर कसा तंज

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री व कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने गुरुवार को ट्वीट किया, हमें ताज्जुब नहीं है कि वित्त मंत्री (निर्मला सीतारमण) ने जुपिटर, प्लूटो और यूरेनस की तस्वीरें उस दिन ट्वीट कीं, जब मुद्रास्फीति (जून में) 7.01% (रहने) की खबरें आई थीं। उन्होंने आगे लिखा, सबसे पहले उन्हें (सीतारमण) एक नया सीईए (मुख्य आर्थिक ज्योतिषी) नियुक्त करना चाहिए।
कांग्रेस के दिग्गज नेता पी चिदंबरम ने देश की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण पर तंज कसा है। उन्होंने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा कि निर्मला सीतारमण ने अब अपने इकोनॉमिक एडवाइजर से उम्मीद छोड़ दी है। अब देश की अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए ग्रहों को बुलाया है। इसके लिए अब उन्हें मुख्य आर्थिक ज्योतिषी करना चाहिए।
दरअसल 12 जुलाई को नासा ने यूरेनस और प्लूटो की तस्वीरों को ट्वीट के जरिए शेयर किया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने उसे रिट्वीट कर दिया था। इसी को लेकर कांग्रेस ने उनपर कटाक्ष करना शुरू कर दिया है। विपक्षी दल के नेताओं का कहना है कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए विचार करने से अलग वित्त मंत्री यूरेनस और प्लूटो की तस्वीरें शेयर कर रही हैं।
वहीं 14 जुलाई को पी चिदंबरम ने दो ट्वीट में वित्त मंत्री पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा, हमें आश्चर्य नहीं है कि वित्त मंत्री ने बृहस्पति, प्लूटो और यूरेनस की तस्वीरें उस दिन शेयर की, जिस दिन मुद्रास्फीति 7.01% और बेरोजगारी 7.8% पर थी।
चिदंबरम ने लिखा कि अपने कौशल और आर्थिक सलाहकारों के कौशल से वित्त मंत्री ने उम्मीद करनी छोड़ दी है। वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था के बचाव के लिए ग्रहों को बुलाया है। इसके लिए उन्हें चीफ इकोनॉमिक एस्ट्रोलॉजर को नियुक्त करना चाहिए। वित्त मंत्री ने लिखा था कि नासा द्वारा अंतरिक्ष की पहली रंगीन तस्वीरों को शेयर करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लिखा था कि तारकीय हवाएं, धूल और गैस की विशाल दीवारों को आकार देती हैं। यह दृश्य मनोहर है।

बलूचिस्तान: बारिश के कारण 65 लोगों की मौंत

बलूचिस्तान: बारिश के कारण 65 लोगों की मौंत 

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत
इस्लामाबाद। पाकिस्तान में मौसम इन दिनों कहर बनकर ढा रहा है। हो रही प्री-मानसून में 165 लोगों की मौत की खबर आ रही है। वहीं, 171 अन्य घायल बताये जा रहे हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने घटना की जानकारी दी है। पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिम बलूचिस्तान प्रांत इससे सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र माना जा रहा है। जहां मूसलाधार बारिश के कारण 65 लोगों की मौंत हो चुकी है और 49 अन्य घायल हो गए हैं। लगातार हो रही भारी बारिश के कारण यहां अचानक बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है।
यहां स्थानीय मीडिया ने बांध फटने की कई घटनाओं की सूचना दी, जिसकी चपेट में आकर कई घर और बुनियादी ढांचे बह गए।
बलूचिस्तान सरकार ने मंगलवार को प्रांत के मुख्यमंत्री के कार्यालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा कि प्रांत में अगले एक महीने के लिए ऐसी ही बारिश होने का पूवार्नुमान लगाया गया है और इसी के मद्देनजर यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके तहत लोगों को नदियों, बांधों और अन्य जलाशयों के करीब पिकनिक के लिए जाने से प्रतिबंधित किया जाएगा और इनमें तैराकी करने पर भी प्रतिबंध लगा रहेगा।
देश की प्रांतीय राजधानी कराची सहित सिंध प्रांत में अलग-अलग हादसों में 38 लोगों की मौत हो गई, जहां एक सप्ताह से अधिक समय से भारी बारिश का कहर जारी है।
देश की जलवायु परिवर्तन मंत्री शेरी रहमान ने बुधवार को एक ट्वीट में कहा कि सिंध और बलूचिस्तान अभी भी पिछले 13 दिनों से भारी मानसून की चपेट में हैं। इस दौरान वहां पिछले 30 साल के औसत से क्रमश: 625 प्रतिशत और 501 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है।

स्वास्थ्य: सेहत के लिए फायदेमंद है, अनार का जूस

स्वास्थ्य: सेहत के लिए फायदेमंद है, अनार का जूस 

सरस्वती उपाध्याय 
आपने बचपन से सुना होगा कि अनार सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है। लेकिन न सिर्फ यह फल, बल्कि इसका जूस भी कई तरह से हमारी सेहत को फायदा पहुंचाता है। इसके रस में ऐसे पदार्थ होते हैं, जो धमनियों को लचीला बनाए रखने के लिए एक स्वस्थ प्रोस्टेट और एंटीऑक्सिडेंट का समर्थन करते हैं।
जर्नल न्यूट्रीशन रिसर्च में प्रकाशित शोध के अनुसार, अनार के रस का रोज़ाना सेवन अन्य फलों की तुलना में एंटीऑक्सीडेंट फंक्शन को बेहतर बनाने में अधिक गुणकारी है। रोज़ इस जूस को अपनी डाइट में शामिल करने से आपकी शरीर मज़बूत बनेगा। कई रिसर्च में ऐसा देखा गया है कि रोज़ एक गिलास अनार का जूस पीने से पुरुषों में प्रोस्टेट-विशिष्ट एंटीजन (PSA) का स्तर कम होता है। एक व्यक्ति का पीएसए स्तर जितना ज़्यादा होगा, प्रोस्टेट कैंसर से उसकी मृत्यु का ख़तरा उतना ही बढ़ जाएगा।
अनार के जूस में कई एंटी-वायरल गुण होते हैं, जो डेंटल प्लाक जमने से रोकते हैं। शोध में देखा गया कि अनार का जूस पीने से 12 फीसदी प्रतिभागियों का ब्लड प्रेशर कम हो गया। साथ ही इससे कैरोटिड धमनी में प्लाक को कम किया और हृदय को स्वस्थ रखते हुए खराब कोलेस्ट्रॉल को भी कम किया।
अनार का जूस सेहत को बढ़ावा देने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स से भरा होता है। यहां तक कि जूस में टैनिन होता है। जिसे पुनीकैगिन कहा जाता है। इसके साथ पॉलीफेनोल्स और एंथोसायनिन, जो शक्तिशाली रोग से लड़ने वाले एंटीऑक्सिडेंट के रूप में जाने जाते हैं। जर्नल ऑफ एग्रीकल्चर एंड फूड केमिस्ट्री में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अनार के रस में रेड वाइन और ग्रीन-टी की तुलना में तीन गुना अधिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं।
अनार के रस में कुछ एंटी-इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं, जो पेट की सेहत के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। हीलिंग फूड्स नाम की किताब के अनुसार, एंटीऑक्सिडेंट फ्लेवोनोल्स प्रोटीन की गतिविधि को काफी कम कर देते हैं, जो गठिया जैसी सूजन की स्थिति का कारण बनता है।
अनार के रस में कई एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर में फ्री-रेडिकल्स की क्रिया को रोकने में मदद करते हैं। इसमें विभिन्न पोषक तत्व होते हैं, जो त्वचा और बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

ब्राजील: डिलीवरी के दौरान प्रेग्नेंट महिला से रेप किया

ब्राजील: डिलीवरी के दौरान प्रेग्नेंट महिला से रेप किया

अखिलेश पांडेय
ब्रासीलिया। ब्राजील में डिलीवरी के दौरान एक डॉक्टर ने प्रेग्नेंट महिला से रेप किया। सीक्रेट कैमरा में यह वारदात रिकॉर्ड हो गई। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अब इस बात की आशंका जताई जा रही है कि उसी दिन उसने डिलीवरी के लिए आए दो और महिलाओं के साथ भी यौन शोषण किया होगा। इन घटनाओं की जांच जारी है।
मामला ब्राजील के रियो डी जिनेरियो का है। यहां में डिलीवरी के लिए आई एक प्रेग्नेंट महिला को डॉक्टर ने बेहोश कर दिया। इसके बाद उसका ओरल रेप किया।32 साल के आरोपी डॉक्टर का नाम जियोवानी क्विंटेला बेजर्रा है।
डिलीवरी के दौरान महिला के पति को रूम से बाहर जाने को कहा गया था। उन्हें इस घटना की जानकारी घर जाकर मिली, जब उन्होंने टीवी पर डॉक्टर के अरेस्ट की खबर देखी। केस के इंवेस्टिंगेटिंग इनचार्ज डेलीगेट बारबरा लोम्बा ने कहा- मैंने इस तरह के मामले के बारे में पहले कभी नहीं सुना।
वीडियो में बेजर्रा, प्रेग्नेंट महिला को रेप करते दिखता है। वह भी तब जब सर्जिकल पर्दे के दूसरी तरफ कुछ ही फीट की दूरी पर दूसरे डॉक्टर्स मरीज की सी-सेक्शन सर्जरी कर रहे थे।
जिन स्टाफ मेंबर्स ने रेप का वीडियो रिकॉर्ड किया उन्होंने कहा कि उस दिन डॉक्टर ने दो और महिलाओं को पूरी तरह से बेहोश किया था। अब पुलिस मामले की जांच कर पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या उन दो महिलाओं का भी डॉक्टर ने रेप किया है। बता दें कि ब्राजील में रेप का दोषी पाए जाने पर 8 से 15 साल के जेल की सजा हो सकती है।

प्रयागराज: पुलिस कस्टडी से भागे, 2 कुख्यात अपराधी

प्रयागराज: पुलिस कस्टडी से भागे, 2 कुख्यात अपराधी 

बृजेश केसरवानी 
प्रयागराज। प्रयागराज में बृहस्पतिवार को दो कुख्यात अपराधी पुलिस की कस्टडी से भाग गए। ये अपराधी दिल्ली पुलिस की कस्टडी से भागे हैं। पुलिस कर्मी अपराधियों को ट्रेन से ले जा रही थी और बीच में प्रयागराज में ही ये अपराधी फरार हो गए। दिल्ली पुलिस की कस्टडी से भागे दोनों अपनाधी कुख्यात हैं। हैरानी की बात है कि दिल्ली पुलिस की मुस्तैद सोती आखों के नीचे से बिहार के कुख्यात बदमाश भाग निकले। दिल्ली पुलिस इन अपराधियों को दिल्ली ले जा रही थी। दिल्ली में कई मामलों में ये अपराधी वांछित हैं। इन्हें पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार किया था और वहां से ट्रेन के जरिए इन्हें डिब्रूगढ़ राजधानी से दिल्ली ले जा रहे थे।
प्रयागराज जंक्शन के निकलने के बाद जब दिल्ली पुलिस के सोते हुए सिपाहियों की आंख खुली तो उन्हें पता चला कि अपराधी तो फरार हो गए। संभावना जताई जा रही है कि प्रयागराज जंक्शन पर मौका देखकर और सिपाहियों को सोता देखकर वो अपराधी वहीं उतरकर फरार हो गए। नींद से जागने के बाद से दिल्ली पुलिस प्रयागराज और उसके आसपास के क्षेत्रों में सघन तलाशी कर रही है। इसकी जानकारी स्टेशन पर मौजूद रेलवे पुलिस के साथ प्रयागराज पुलिस को भी दे दी गई है।
जानकारी के मुताबिक जिन अपराधियों को पुलिस ट्रेन से दिल्ली ले जा रही थी ये कई बड़े मामलों के मास्टरमाइंड है। पुलिस ने बताया कि बिहार के कटिहार के रहने वाले नसीब शेख और मोहम्मद दिलशाद को दिल्ली पुलिस डिब्रूगढ़ राजधानी से दिल्ली ला रही थी। रास्ते में दोनों शातिर अपराधी फरार हो गए। दोनों दिल्ली के ग्रेटर कैलाश थाने के आरोपी बताया जा रहे हैं।

स्ट्रॉबेरी सैंडविच की रेसिपी, 10 मिनट में तैयार करें

स्ट्रॉबेरी सैंडविच की रेसिपी, 10 मिनट में तैयार करें 

सरस्वती उपाध्याय  
स्ट्रॉबेरी का स्वाद काफी पसंद किया जाता है।स्ट्रॉबेरी से बनने वाला सैंडविच भी काफी टेस्टी होता है। लगभग हर घर में रोज ये सवाल खड़ा होता है कि आखिर ब्रेकफास्ट में ऐसा क्या बनाया जाए तो टेस्टी और हेल्दी हो, साथ ही बेहद कम वक्त में तैयार हो जाए। अगर आप भी इस समस्या का सामना करते हैं तो इस बार ब्रेकफास्ट में स्ट्रॉबेरी सैंडविच ट्राई कर सकते हैं।
आमतौर पर घरों में नाश्ते में सैंडविच बनाना बेहद कॉमन होता है। आप इस रेसिपी में थोड़ा सा ट्विस्ट देते हुए स्ट्रॉबेरी से सैंडविच तैयार कर सकते हैं।
स्ट्रॉबेरी का स्वाद बेहतरीन होने के साथ ही इसमें कई पोषक तत्व भी होते हैं। आप इस रेसिपी को सिर्फ 10 मिनट में तैयार कर सकते हैं। अब तक अगर स्ट्रॉबेरी सैंडविच की रेसिपी को आपने ट्राई नहीं किया है तो हमारी बताई विधि से इसे बेहद आसान तरीके से तैयार किया जा सकता है।

स्ट्रॉबेरी सैंडविच बनाने के लिए सामग्री...
ब्रेड स्लाइस – 4
स्ट्रॉबेरी – 1 कप
मलाई – 1 कप
शहद – 1 टेबलस्पून

अधिनियम 1991 का समर्थन, हलफनामा दाखिल

अधिनियम 1991 का समर्थन, हलफनामा दाखिल

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। उपासना स्थल (विशेष उपबंध) अधिनियम 1991 या धर्मस्थल कानून-1991 के समर्थन में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। ये कानून काशी, मथुरा समेत सभी विवादित धर्मस्थलों के लिए अहम है। बोर्ड ने आज सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर कहा है की 1991 के धर्मस्थल कानून का पालन करना सरकार और न्यायपालिका की जिम्मेदारी है।
‘उपासना स्थल (विशेष उपबंध) अधिनियम-1991’ के तहत हर धर्मस्थल का मूल कैरेक्टर वही रहेगा जो 15 अगस्त 1947 में था। यानी उस दिन जो जगह मस्जिद या मंदिर थी वो आगे भी मस्जिद या मंदिर ही रहेगी। बोर्ड का ये हलफनामा बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय की याचिका के जवाब में आया है। अश्विनी उपाध्याय ने इस कानून को रद्द करने की मांग की है।
‘उपासना स्थल (विशेष उपबंध) अधिनियम-1991’ काशी और मथुरा समेत सभी धर्मस्थलों के लिए अहम है, जहां कहीं भी उस जगह को ले कर विवाद हो रहा है। इन सभी मामलों में इस कानून की संवैधानिकता अहम रहेगी।इसीलिए इस कानून को लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए हैं। कुछ लोगों का तर्क है कि अगर सुप्रीम कोर्ट अयोध्या के रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर अपना फैसला दे सकता है, तो इसी तरह के और भी विवादों पर कोर्ट क्यों नहीं विचार कर सकता है।
‘उपासना स्थल (विशेष उपबंध) अधिनियम-1991’ को तत्कालीन प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिंहाराव की सरकार ने बनाया था। इसका उद्देश्य सभी विवादित धार्मिक स्थलों के बारे में सरकार के रूख को साफ करना और सभी समुदायों को सरकार की मंशा के बारे में एक साफ संदेश देना था। वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में कोर्ट के सर्वे के आदेश के बाद से इस कानून की प्रासंगिकता बढ़ गई है। इसके दायरे में धार्मिक महत्व की इमारतों के साथ ही कुछ ऐतिहासिक महत्व की इमारतें भी शामिल हैं।

वजन कम करने में सहायक माना जाता है, देसी घी

वजन कम करने में सहायक माना जाता है, देसी घी 

सरस्वती उपाध्याय 
देसी घी हमेशा से सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। क्योंकि, इसमें ढेर सारे पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। हर फिटनेस फ्रीक इंसान के लिए देसी घी फायदेमंद है। इससे मसल्स को बढ़ाने में मदद मिलती है। लेकिन, इसमें मौजूद हेल्दी फैट को लेकर कुछ लोगों में असमंजस की स्थिति है कि क्या देसी घी का सेवन वाकई इतना फायदेमंद है कि ये वजन घटाने में मदद कर सकता है ?
आज हम आपको बताएंगे कैसे घी डाइटिंग के समय वजन घटाने में कारगर होता है ?

घी के फायदे...
नेटमेड्स के अनुसार घी में अंदर लिनोलिक एसिड की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो वजन कम करने में सहायक माना जाता है। देसी घी में पाए जाने वाला सैचुरेटेड फैट शरीर के जिद्दी फैट को कम करने में मदद करता है। साथ ही घी के सेवन से मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है, जिसके कारण आपको वजन घटाने में मदद मिलती है।
घी में ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन ए, विटामिन सी पाया जाता है जो आपके शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों को सोखने और एनर्जी देने में मदद करता है। घी में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी होते हैं जो शरीर में इन्फ्लेमेशन को रोकते हैं। साथ ही यह हार्मोन संतुलन के लिए बहुत जरूरी माने जाते हैं।
घी डोकोसैक्सिनोइक एसिड का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। डोकोसैक्सिनोइक एसिड के अंदर ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। यह हमारे शरीर में नहीं बनता है, इसलिए इसे खाने के जरिए लेना आवश्यक होता है। डीएचए कैंसर, हार्ट अटैक, इंसुलिन प्रतिरोध, अर्थराइटिस और अटेंशन डेफिशिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर जैसी समस्याओं के खतरे को कम करने में सहायक है। घी दिमाग को भी शांत कर मेमोरी को बढ़ाने में मदद कर सकता है। कुछ लोगों को हिचकी आने की शिकायत रहती है। जिनको बार-बार और लगातार हिचकी आने से परेशानी होती है, वे हिचकी को दूर करने के लिए एक चम्मच घी खा सकते हैं।

मिश्रित वित्त व निजी पूंजी का लाभ, बल दिया

मिश्रित वित्त व निजी पूंजी का लाभ, बल दिया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करने के लिए मिश्रित वित्त और निजी पूंजी का लाभ उठाने की जरूरत पर बल दिया। सीतारमण इंडोनेशिया के बाली में आयोजित वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गर्वनरों की तीसरी जी20 बैठक में ‘जलवायु परिवर्तन के लिए सतत वित्त गोलमेज सम्मेलन’ को संबोधित कर रही थीं।
वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट में इसकी जानकारी देते हुए कहा, केंद्रीय वित्त मंत्री ने टिकाऊ वित्त को बढ़ाने तथा सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने में बहुपक्षीय विकास बैंकों (एमडीबी) की भूमिका, मिश्रित वित्त और निजी पूंजी का लाभ उठाने की जरूरत पर बल दिया। सीतारमण ने ऊर्जा बदलाव के लिए भारत की द्विपक्षीय योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि ऊर्जा सम्मिश्रण में नवीकरणीय घटकों को बढ़ावा देना और ऊर्जा सक्षमता एवं सुरक्षा बढ़ाने के लिए नवोन्मेषी नीतिगत कदमों को अपनाने पर जोर दिया जाएगा।
मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ‘पंचामृत’ रणनीति पर जोर दिया जिसकी संकल्पना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी है। प्रधानमंत्री ने पिछले साल ग्लासगो में आयोजित जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन में जलवायु परिवर्तन के खिलाफ भारत की लड़ाई में ‘पंचामृत’ तत्वों के इस्तेमाल का संकल्प लिया था। सीतारमण ने इंडोनेशिया की वित्त मंत्री मुल्यानी इंद्रावती के साथ द्विपक्षीय बैठक भी की। उन्होंने सिंगापुर के उप प्रधानमंत्री एवं वित्त मंत्री लॉरेंस वांग से भी मुलाकात की।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन  

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-279, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, जुलाई 15, 2022
3. शक-1944, श्रावण, कृष्ण-पक्ष, तिथि-दूज, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 29 डी.सै., अधिकतम-38+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन

अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन  अविनाश श्रीवास्तव  चक्की। प्रखंड की अरक पंचायत में वार्षिक आम सभा का आयोजन किया गया। जि...