गुरुवार, 16 जून 2022

प्रयागराज: 7 दिवसीय योग शिविर का दूसरा दिन

प्रयागराज: 7 दिवसीय योग शिविर का दूसरा दिन

बृजेश केसरवानी
प्रयागराज। गुरुवार को अमर शहीद आजाद पार्क वीआईपी ग्राउंड प्रयागराज में विश्व योग परिषद एवं रोटरी क्लब इलाहाबाद नार्थ के संयुक्त तत्वाधान में 7 दिवसीय योग शिविर का दूसरा दिन रहा। आज कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डा. वी.के.मिश्रा थे जो राष्ट्रीय सेवा मिशन उत्तर प्रदेश के महाप्रबंधक भी हैं। मुख्य अतिथि का स्वागत विश्व योग परिषद प्रयाग महानगर के उपाध्यक्ष राकेश अग्रवाल एवं सहसंयोजक चरण दास ने किया।
कार्यक्रम में अपना वक्तव्य देते हुए उन्होंने मधुमेह एवं थायराइड के संबंध में पूरा विस्तृत वर्णन करते हुए योग विद्यार्थियों को उससे बचने का उपाय बताएं और कोविड-19 कालखंड में किए गए कार्यों के अनुभव को भी साझा किया। योग का प्रशिक्षण अंतरराष्ट्रीय योग गुरु आत्माचार्य ने दिया उन्होंने योग के महत्वपूर्ण विषयों का प्रशिक्षण देते हुए आज का अतिरिक्त विषय मधुमेह एवं थायराइड रोग से संबंधित महत्वपूर्ण योग क्रियाओं का भी प्रस्तुतीकरण किया। कार्यक्रम में उपस्थित अन्य पदाधिकारी गण - शिवांश, कुनाल, आशीष, राकेश, दिनेश, अनिल, रामजी जोशी, चरणदास, अशोक, निगम के अलावा और भी सैकड़ों लोग थे।

पंडितों पर अत्याचार-हत्या के सीन की तुलना, मॉब से की

पंडितों पर अत्याचार-हत्या के सीन की तुलना, मॉब से की

कविता गर्ग
मुंबई। साउथ सिनेमा की मशहूर एक्ट्रेस साई पल्लवी अपने बेबाक और बिंदास एटीट्यूड के लिए जानी जाती हैं। एक्ट्रेस इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म को लेकर चर्चा में हैं। साई अपनी फिल्म का जमकर प्रमोशन कर रही हैं। हाल ही में फिल्म के प्रमोशनल इवेंट के दौरान एक इंटरव्यू में साई पल्लवी ने कश्मीरी पंडितों को लेकर कुछ ऐसा कह दिया, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर विवाद छिड़ गया है। साई पल्लवी ने अपने लेटेस्ट इंटरव्यू में बॉलीवुड फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' में कश्मीरी पंडितों पर दिखाए गए अत्याचार और उनकी हत्या के सीन की तुलना, मॉब लिंचिंग से की है।
साई पल्लवी के इस विवादित बयान पर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है। कुछ लोग साई पल्लवी के बयान पर उनको सपोर्ट कर रहे हैं, तो वहीं कुछ लोग उनपर भड़क रहे हैं। हदें पार एक यूट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू में साई पल्लवी ने कहा- मैं एक न्यूट्रल एनवायरनमेंट में बड़ी हुई हूं। मैंने लेफ्ट विंग और राइट विंग के बारे में बहुत कुछ सुना है। लेकिन मैं ये नहीं कह सकती कि कौन सही है और कौन गलत। साई ने आगे कहा- द कश्मीर फाइल्स फिल्म में दिखाया गया है कि कश्मीरी पंडितों की किस तरह हत्या की गई। वहीं, कुछ समय पहले गाय ले जाने वाले मुस्लिम शख्स को बड़ी बेदर्दी से पीटकर उससे जय श्री राम के नारे लगाने को कहा गया था। यह भी धर्म के नाम पर हिंसा है। अब इन दोनों घटनाओं में अंतर क्या है। खलबली साई पल्लवी ने बताया कि उनकी फैमिली ने उन्हें हमेशा एक अच्छा इंसान बनने की सीख दी है।
एक्ट्रेस ने कहा- आपको पीड़ितों की रक्षा करने की जरूरत है। अगर आप एक अच्छे इंसान हैं, तो आपको नहीं लगता कि वह सही हैं। साई ने यह भी कहा- मैं न्यूट्रल रहती हूं और पीड़ितों के लिए खड़े होने की कोशिश करती हूं। मेरा मानना है कि केवल दो एक समान लोगों के बीच लड़ाई हो सकती है, दो अलग लोगों के बीच नहीं। साई पल्लवी के इंटरव्यू की क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। एक्ट्रेस के बयान ने लोगों को दो ग्रुप में बांट दिया है। कुछ लोग साई पल्लवी की बात पर सहमति जता रहे हैं, तो वहीं कई लोग उनके इस बयान को बेहूदा बताकर एक्ट्रेस पर भड़क रहे हैं।

ऑपरेशन: सेना ने 2 आतंकियों को ढेर किया

ऑपरेशन: सेना ने 2 आतंकियों को ढेर किया 

इकबाल अंसारी  
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार के दिन सेना ने आतंकियों की नापाक साजिश को एक बार फिर ध्वस्त कर दिया। कुलगाम में चले ऑपरेशन में सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। बताया जा रहा है कि ये आतंकी हिन्दू महिला शिक्षक रजनी बाला की हत्या में शामिल थे। उधर, अनंतनाग में भी हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों के होने की जानकारी मिली है। सेना ने इलाके की घेराबंदी करते हुए ऑपरेशन शुरू कर दिया है। कश्मीर जोन पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, कुलगाम में बुधवार से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया गया था। 24 घंटे से ज्यादा चले इस ऑपरेशन में सेना के जवानों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। बताया जा रहा है कि ये आतंकी हिन्दू शिक्षक रजनी बाला की हत्या में शामिल थे। 
बताते चलें कि बीती 31 मई को महिला शिक्षक रजनी बाला को कुलगाम जिले के गोपालपोरा हाई स्कूल में आतंकवादियों ने निशाना बनाया था। आतंकियों ने स्कूल में घुसकर उनका शरीर गोलियों से छलनी कर दिया था। इस कायराना हमले में उनकी मौत हो गई थीं। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि अनंतनाग जिले के हंगलगुंड इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है। रिहायशी इलाकों में दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की आशंका जताई जा रही है। उन्होंने बताया कि अनंतनाग के कोकरनाग इलाके में हिबुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादी छिपे हैं। उनके साथ मुठभेड़ जारी है।

बढ़त: सोने-चांदी के दामों में तेज उछाल आया

बढ़त: सोने-चांदी के दामों में तेज उछाल आया 

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। 16 जून शादियों का सीजन जहां पर जुलाई तक बरकरार रहने वाला है‌। वहीं पर आज खरीददारी कर रहे ग्राहकों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। जहां पर सोने-चांदी के आभूषणों को खरीदने के लिए उन्हें आज ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। 16 जून को सोने और चांदी के दामों में बृहस्पतिवार को तेज उछाल आया है। जिसमें सोना बड़ी बढ़त के साथ एक बार फिर 51 हजार बढ़ा है तो वहीं पर चांदी 61 हजार के ऊपर बिक रही। यहां पर मल्‍टीकमोडिटी एक्‍सचेंज (MCX) पर आज सुबह 24 कैरेट शुद्धता वाले सोने का वायदा भाव 204 रुपये चढ़कर 50,642 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। इससे पहले सोने में ट्रेडिंग की शुरुआत 50,650 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्‍तर से हुई थी। इसके अलावा चांदी का भाव सुबह एमसीएक्‍स पर वायदा भाव 363 रुपये चढ़कर 61,060 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गया। इससे पहले चांदी में ट्रेडिंग की शुरुआत 61,233 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से हुई थी, लेकिन मांग में कमजोरी आने से वायदा भाव कुछ नीचे आ गया।
आपको बताते चलें कि, अमेरिकी फेड रिजर्व ने अपनी ब्‍याज दरों में 28 साल की सबसे बड़ी बढ़ोतरी की है। जिसका असर सोने-चांदी की कीमतों पर भी पड़ा है। जहां पर अमेरिकी बांड यील्‍ड घटने से अब निवेशकों को ज्‍यादा ब्‍याज मिलने की उम्‍मीद जगी है और वे सेफ हैवन माने जा रहे गोल्‍ड में निवेश घटा रहे हैं। ट्रेडिंग कर रही है। आज सोने की मांग कम रही, जिससे इसकी कीमतों में भी गिरावट दिखी है।

पूछताछ को सोमवार तक टाल दिया जाएं: राहुल

पूछताछ को सोमवार तक टाल दिया जाएं: राहुल 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी को शुक्रवार को ईडी ने फिर पूछताछ के लिए बुलाया है। लेकिन राहुल गांधी ने पूछताछ को पोस्टपोन करने की अपील कर दी है। उनकी तरफ से कहा गया है कि पूछताछ को सोमवार तक के लिए टाल दिया जाएं। अभी तक ईडी ने इस मांग पर कोई जवाब नहीं दिया है। जानकारी के लिए बता दें कि नेशनल हेरॉल्ड मामले में राहुल गांधी से तीन दिन की पूछताछ हो चुकी है। बुधवार को भी ईडी ने उनसे 10 घंटे से ज्यादा की पूछताछ की थी। कहा गया था कि उन्हें शुक्रवार को फिर ईडी दफ्तर आना होगा। 
उन्हें एक दिन का आराम दे दिया गया था। लेकिन कांग्रेस नेता अब शुक्रवार की जगह सोमवार को पूछताछ में आना चाहते हैं। उनकी तरफ से ईडी को इस बारे में बता दिया गया है। उनकी अपील को माना जाता है या इसे खारिज कर दिया जाता है, ये कुछ समय में साफ हो जाएगा। वैसे राहुल गांधी क्यों पूछताछ को पोस्टपोन करना चाहते हैं, ये अभी तक स्पष्ट नहीं है ? उनकी तरफ से इस सिलसिले में ईडी को कोई कारण नहीं बताया गया है।

सिविल असिस्टेंट सर्जन के पदों के लिए अधिसूचना

सिविल असिस्टेंट सर्जन के पदों के लिए अधिसूचना

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। अगर आप मेडिकल के क्षेत्र में नौकरी की तलाश में हैं तो ये आपके लिए एक अच्छा मौका हो सकता है। दरअसल चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा भर्ती बोर्ड ने सिविल असिस्टेंट सर्जन के पदों के लिए अधिसूचना प्रकाशित की है। इसके तहत जनरल ड्यूटी मेडिकल ऑफिसर, सिविल असिस्टेंट सर्जन समेत अन्य पदों पर भर्ती की जाएगी। बता दें इन पदों पर उम्मीदवार आज यानी 15 जुलाई 2022 से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने की अंतिम तारीख 14 अगस्त है। इच्छुक और योग्य उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट mhsrb.telangana.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
इस पदों पर कुल 1326 वैकेंसी निकाली गई है। इसमें से सिविल असिस्टेंट सर्जन के 751 पद, ट्यूटर के 357, जनरल ड्यूटी मेडिकल ऑफिसर के 211 पद और सिविल असिस्टेंट सर्जन के 7 पद शामिल हैं।उम्र सीमा
इन पदों पर आवदेन वाले उम्मीदवारों की आयु 18 से 44 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

जानें शैक्षणिक योग्यता...
एमएचएसआरबी तेलंगाना भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के पास एमबीबीएस या इसके समकक्ष योग्यता होनी चाहिए। इसके अलावा उम्मीदवार को तेलंगाना राज्य चिकित्सा परिषद के साथ पंजीकृत होना चाहिए।

सड़क पर खड़े किए गए, वाहन की तस्वीर पर इनाम

सड़क पर खड़े किए गए, वाहन की तस्वीर पर इनाम

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। यदि कोई व्यक्ति गलत तरीके से सड़क पर खड़े किए गए, वाहन की तस्वीर भेजता है, तो उसे 500 रुपये का इनाम मिलेगा। सरकार जल्द इस तरह का एक कानून लाने जा रही है। वहीं पार्किंग गलत तरीके से करने वाले वाहन मालिक को 1,000 रुपये का जुर्माना देना होगा। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।
यहां एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि वह सड़क पर गलत तरीके से वाहन खड़ा करने की प्रवृत्ति को रोकने के लिए एक कानून लाने पर विचार कर रहे हैं। गडकरी ने कहा, ‘‘मैं एक कानून लाने वाला हूं कि रोड पर जो वाहन खड़ा करेगा, उसपर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

बड़े आंदोलन को तैयार रहें, किसान: टिकैत

बड़े आंदोलन को तैयार रहें, किसान: टिकैत 

भानु प्रताप उपाध्याय/पंकज कपूर 
मुजफ्फरनगर/हरिद्वार। भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि किसान बड़े आंदोलन को तैयार रहें। सरकार ने किसान आंदोलन के दौरान जो वादे किए, वे वादे सरकार पूरे नहीं कर रही है। सरकार की गलत नीतियों के चलते देश गरीबी और मजदूरों की बड़ी कालोनी बनता जा रहा है। बुलडोजर की कार्रवाई एक पक्षीय नहीं होनी चाहिए, सरकार विचार करे कि दंगे के हालात क्यों पैदा हुए ? उत्तराखंड के हरिद्वार में किसान महापंचायत होगी।
टिकैत ने कहा कि चुनाव से पूर्व सरकार ने किसानों से अनेक वादे किए थे, लेकिन उन्हें पूरा नहीं किया जा रहा है। किसानों को समय से गन्ना भुगतान नहीं हो रहा। मुफ्त बिजली दिए जाने का वायदा हवा-हवाई साबित हो रहा। बिजली समस्या विकराल रूप धारण ले कर रही है। किसानों के नलकूपों पर मीटर लगाए जा रहे हैं, जिसका भारतीय किसान यूनियन विरोध करेगी।  इन मुद्दों को लेकर 16 से 18 जून को हरिद्वार में किसान पंचायत होगी, जिसमें देश के सभी राज्यों से किसान नेता आएंगे।
टिकैत ने कहा कि बिजली की समस्या पर भाकियू मेरठ में 27 जून को पावर कारपोरेशन के एमडी कार्यालय पर पंचायत करेगी। राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों की फसल सस्ते में लूटी जा रही हैं, एमएसपी बढ़ाने का सरकार का मैकेनिज्म ठीक नहीं है। राकेश टिकैत ने कहा कि आठ साल में देश में 16 करोड़ युवा बेरोजगार हो चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि प्रतिवर्ष देश में दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे, लेकिन रोजगार नहीं मिल रहा है। आरोप लगाया कि देश में केवल वोट के लिए काम हो रहा है।
टिकैत ने कहा कि कुछ जगहों पर बुलडोजर भेदभाव से चल रहा है। सरकार को विकास का माडल तैयार करना चाहिए और शिक्षा पर काम हो। उन्होंने कहा कि देश के हालात अजीब बनते जा रहे हैं। देश आने वाले समय में मजदूर और गरीबो कालोनी बन जाएगा।जहां बड़ी-बड़ी कंपनियां देश में आएंगी। वहीं खेती करेंगी और फैक्ट्री लगाएंगी।

चेकिंग अभियान, पुलिस-बदमाशों के बीच मुठभेड़

चेकिंग अभियान, पुलिस-बदमाशों के बीच मुठभेड़

भानु प्रताप उपाध्याय
मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ उस दौरान हुई जब दो बाइकसवार लोगों पुलिस ने रूकने का इशारा किया। जिसके बाद बदमाशों ने पुलिस पर फ़ायरिंग शुरु कर दी और भागने की कोशिश की।पुलिस ने घेराबंदी करते हुए जब जवाबी फायरिंग की तो उसमे एक बदमाश पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया। जिसे पुलिस ने उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। इस दौरान गिरफ़्त में आए बदमाश का एक साथी पुलिस को चकमा देकर जंगल के रास्ते भागने में क़ामयाब रहा।
दरअसल गुरुवार को ककरौली थाना पुलिस ने जटवाड़ा नहर पर संदिग्ध वाहन चैकिंग अभियान चलाया हुआ था।
उसी दौरान जानसठ की ओर से आ रहे एक बाइक सवार दो लोगों को जब पुलिस ने रुकने का शारा किया तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरु कर जंगल के रास्ते भागने का प्रयास किया। जिसपर पुलिस ने घेराबंदी की तो जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश कामिल पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया। जबकि घायल बदमाश का एक साथी पुलिस को चकमा देकर जंगल के रास्ते फ़रार हो गया।
पुलिस ने घायल बदमाश को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया तो वही गिरफ़्त में आये बदमाश के पास से पुलिस ने एक तमंचा कारतूस और एक संदिग्ध मोटरसाइकिल भी बरामद की है।इस मामले की जानकारी देते हुए सीओ जानसठ शक़ील अहमद ने बताया की गिरफ़्त में आये बदमाश क़ामिल पर लगभग 2 दर्जन मुक़दमे दर्ज है। जिसमें सबसे ज़्यादा लूट के मुक़दमे है।पुलिस ने गिरफ़्त में आए बदमाश को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया है।

झटका: जियो ने 2 अन्य प्री-पेड प्लान को महंगा किया

झटका: जियो ने 2 अन्य प्री-पेड प्लान को महंगा किया 

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने एक बार फिर से अपने ग्राहकों को बड़ा झटका देते हुए 2 अन्य प्री-पेड प्लान को भी महंगा कर दिया है। जियो धीरे-धीरे चुपके से अपने प्लान महंगे कर रहा है। कुछ दिन पहले ही जियो ने अपने ग्राहकों को महंगाई का डोज देते हुए 749 रुपये वाले प्लान को 899 रुपये का कर दिया और अब कंपनी ने दो अन्य प्लान की कीमतें भी बढ़ा दी है। रिलायंस जियो के जियो फोन के तीन प्लान 150 रुपये तक महंगे हो गए हैं। आइए जानते हैं विस्तार से।
सबसे पहले आपको बता दें कि ये जो तीन प्लान महंगे हुए हैं वे जियो फोन के लिए हैं। इनमें पहला प्लान 155 रुपये का है जो कि अब 186 रुपये का हो गया है यानी जो सुविधाएं आपको पहले 155 रुपये वाले प्लान में मिल रही थीं, उन्हीं सुविधाओं के लिए अब आपको 186 रुपये खर्च करने होंगे यानी अब आपको 31 रुपये खर्च करने होंगे। 186 रुपये वाले प्लान में आपको 28 दिनों की वैधता मिलेगी और हर रोज 1 जीबी डाटा के साथ अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी।
185 रुपये वाले प्लान की कीमत अब 222 रुपये हो गई है यानी इस प्लान पर आपको 37 रुपये अतिरिक्त खर्च करने होंगे। इस प्लान में 28 दिनों की वैधता के साथ हर रोज 2 जीबी डाटा और सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिलेगी।
 
रिलायंस जियो का 749 रुपये का प्लान अब 899 रुपये का हो गया है। वैसे यदि आपको नहीं पता है तो आपको बता दें कि यह प्लान सिर्फ जियो फोन यूजर्स के लिए है यानी यदि आप कोई अन्य फोन इस्तेमाल कर रहे हैं तो जियो का यह प्लान आपके लिए नहीं है। जियो फोन के इस प्लान में हर रोज 2 जीबी डाटा मिलता है। इसके अलावा सभी नेटवर्क पर अनलिमिटेड कॉलिंग मिलती है। इस प्लान के साथ 336 दिनों की वैधता मिलती है।

24 घंटे के दौरान बारिश दर्ज, सामान्य से नीचे तापमान

24 घंटे के दौरान बारिश दर्ज, सामान्य से नीचे तापमान

नरेश राघानी 
जयपुर। राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम की बारिश दर्ज की गई। वहीं राज्य के अधिकांश स्थानों में दिन और रात का तापमान सामान्य से नीचे दर्ज किया गया। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार बुधवार सुबह 8.30 बजे तक अजमेर के मांगलियावास में सर्वाधिक 51 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। प्रवक्ता ने अनुसार कोटा के लाडपुरा में 41 मिलीमीटर, अजमेर में 29 मिलीमीटर, उदयपुर के वल्लभनगर में 27 मिलीमीटर, राजसमंद के देवगढ़ में 23 मिलीमीटर, अजमेर तहसील में 17 मिलीमीटर, अजमेर के नयानगर/ब्यावर में 7 मिलीमीटर, अजमेर के राशमी, चित्तौड़गढ़ के मसूदा और पाली के रायपुर में 6-6 मिलीमीटर, अजमेर के पिंसागन, कोटडा में 5-5 मिलीमीटर और अन्य कई स्थानों पर 4 मिलीमीटर से एक मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई।
उन्होंने बताया कि गुरुवार को शाम 5.30 बजे तक अलवर में 14.6 मिलीमीटर बारिश, जयपुर में 0.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। राजधानी जयपुर में शाम को मौसम सुहावना बन गया और कुछ इलाकों में हल्की बारिश दर्ज की गई।
विभाग के अनुसार श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 45.7 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 43 डिग्री सेल्सियस, पिलानी में 42.8 डिग्री, धौलपुर में 42.4 डिग्री, अलवर में 42.2 डिग्री,बीकानेर में 41.3 डिग्री, कोटा में 40.8डिग्री, वनस्थली में 40.6 डिग्री और अन्य प्रमुख स्थानों पर 39.9 डिग्री सेल्सियस से लेकर 37.5 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।
विभाग के अनुसार वहीं राज्य के अधिकांश हिस्सों में मंगलवार रात का तापमान 22 डिग्री सेल्सियस से लेकर 33.2 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान अलवर, भरतपुर, झुंझुनूं, सीकर, गंगानगर, हनुमानगढ, चूरू जिलों में मेघ गर्जन के साथ तेज हवाएं चलने की संभावना जतायी है।

स्कीम: भर्ती होने वाले लोगों को ‘अग्निवीर’ का नाम दिया

स्कीम: भर्ती होने वाले लोगों को ‘अग्निवीर’ का नाम दिया

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। इन दिनों देश भर में हर तरफ केंद्र सरकार के अग्निपथ स्कीम की चर्चा है। एक ऐसी स्कीम, जिसके तहत युवाओं को सेना में सेवा का मौका मिलेगा। साथ ही उन्हें अच्छी सैलरी भी मिलेगी। उम्मीद जताई जा रही है कि इससे आने वाले दिनों में सैन्य मोर्चे पर देश की ताकत भी बढ़ेगी। वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू के मुताबिक सरकार की इस स्कीम से साल 2030-32 तक 12 लाख सैन्यकर्मी में से आधे ‘अग्निवीर’ होंगे। बता दें कि इस स्कीम के तहत भर्ती होने वाले लोगों को ‘अग्निवीर’ का नाम दिया गया है।
अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू ने कहा, ‘इस स्कीम के तहत हर साल भर्ती की संख्या बढ़ाई जाएगी। इस साल इसमें 40 हजार लोगों को शामिल किया जाएगा। सातवें और आठवें साल तक इसकी संख्या 1.2 लाख पहुंच जाएगी। जबकि 10वें और ग्यारह वें साल ये संख्या 1.6 लाख तक पहुंच जाएगी।
15 साल तक भी नौकरी का मौका
कहा जा रहा है कि इस स्कीम के तहत इस साल वायू सेना और नेवी में 3000 अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। हालांकि यहां भी भर्ती की संख्या साल दर साल बढ़ाई जाएगी। अग्निवीरों के हर बैच से सिर्फ 25 फीसदी अच्छे सैनिकों को अगले 15 साल के लिए रेगुलर कैडर में शामिल किए जाएगा। जबकि बाकी बचे 75 फीसदी को चार साल बाद हटा दिया जाएगा।
बढ़ेगी सेना की औसत उम्र
वाइस चीफ लेफ्टिनेंट जनरल बीएस राजू के मुताबिक इस स्कीम से सेना की फिटनेस भी बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि अभी सेना में औसत उम्र 32 साल है। लेकिन अग्निवीरों की भर्ती से 6-7 साल बाद ये औसत उम्र घट कर 24-26 साल तक पहुंच जाएगी।
‘स्कीम से नुकसान नहीं फायदा होगा ।
कुछ एक्सपर्ट्स दावा कर रहे हैं कि इस स्कीम से भर्ती के बाद सेना में युवाओं का जोश और जज्बा कम हो सकता है। क्योंकि इनकी भर्ती सिर्फ चार सालों के लिए होगी। कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि देश में इससे बेरोजगारी बढ़ सकती है। दरअसल हर चार साल के बाद करीब 75 फीसदी लोगों की छटनी हो जाएगी। हालांकि बीएस राजू इन दावों को खारिज करते हैं।

बाजवा ने चीन के प्रस्‍ताव पर विचार के लिए समय मांगा

बाजवा ने चीन के प्रस्‍ताव पर विचार के लिए समय मांगा

सुनील श्रीवास्तव  
कराची/बीजिंग। चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के बुलावे पर पहली बार ड्रैगन की सरजमीं पर पहुंचे पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के इस दौरे की असल वजह सामने आने लगी। बलूचिस्‍तान पोस्‍ट ने रिपोर्ट्स के हवाले से दावा किया है कि बलूच विद्रोहियों के भीषण हमलों से डरा चीन, अब ग्‍वादर समेत बलूचिस्‍तान के कई हिस्‍सों में अपनी ‘सुरक्षा एजेंसियों’ को तैनात करना चाहता है। जनरल बाजवा ने चीन के इस प्रस्‍ताव पर विचार के लिए समय मांगा है।
जनरल बाजवा के नेतृत्‍व में पाकिस्‍तान के तीनों सेनाओं का एक दल अहम बैठक के लिए पिछले दिनों चीन गया था। इस बैठक के दौरानी चीनी सेना के शीर्ष अधिकारियों ने पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख को जमकर सुनाया था। चीन ने कहा कि सीपीईसी परियोजना में काम कर रहे और पाकिस्‍तान में रहे रहे चीनी नागरिकों की हत्‍या की जा रही है।
 बताया जा रहा है कि पाकिस्‍तानी सेना की विफलता के बाद अब चीन ने अपनी बदनाम सुरक्षा एजेंसियों को ग्‍वादर समेत बलूचिस्‍तान में तैनात करने का प्रस्‍ताव दिया।
चीन की ओर से मिली झाड़ के बाद जनरल बाजवा ने चीन के प्रस्‍ताव पर विचार करने के लिए समय मांगा है। यही नहीं पश्चिमी देशों के साथ बढ़ रहे तनाव को देखते हुए अब चीन ने जनरल बाजवा से खुलकर रणनीतिक भागीदारी बढ़ाने के लिए कहा है। इससे अब चीन के लिए अमेरिका के साथ संतुलन बनाए रखने में बहुत मुश्किल होने जा रही है। इससे पहले चीनी नागरिकों पर बढ़ते हमले को रोकने के लिए पाकिस्‍तान की शहबाज सरकार ने सीपीईसी में काम कर रहे चीनी नागरिकों की सुरक्षा को बढ़ाने का आदेश दिया था।
चीन की बढ़ती नाराजगी के बीच शहबाज शरीफ ने कहा कि चीनी नागरिकों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं होगा। उन्‍होंने गृह मंत्रालय और सुरक्षा एजेंसियों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश दिया। इससे पहले चीनी शिक्षक की एक आत्‍मघाती हमले में हत्‍या के बाद चीन के सभी शिक्षक पाकिस्‍तान छोड़कर चले गए थे। इससे दोनों ही देशों को बड़ा झटका लगा था। पाकिस्‍तान की पुलिस ने एक चीनी दल को निशाना बनाने जा रहे आत्‍मघाती हमलावर को अरेस्‍ट किया था।
इस पूरे मामले में चीन के प्रधानमंत्री ली केकिआंग ने भी शहबाज शरीफ से बात की थी। चीन अगर अपने सुरक्षा एजेंसियों को पाकिस्‍तान में तैनात करता है तो यह पाकिस्‍तान के लिए बड़ा झटका होगा। वहीं विश्‍लेषकों का कहना है कि इससे पाकिस्‍तान की संप्रभुता कमजोर होगी और चीनी सुरक्षा एजेंसियों के नाम पर अगर सैनिक आते हैं तो पाकिस्‍तान का यह इलाका चीनी ‘उपनिवेश’ में बदल जाएगा।

भर्ती की 'अग्निपथ' योजना को तुरंत वापस लेने की मांग

भर्ती की 'अग्निपथ' योजना को तुरंत वापस लेने की मांग

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने मोदी सरकार पर फौज को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए सेनाओं में भर्ती की अग्निपथ योजना को तुरंत वापस लेने की मांग की है। तीनों सेनाओं में जवानों की भर्ती के लिए सरकार द्वारा घोषित अग्निपथ योजना के कुछ राज्यों में युवाओं द्वारा विरोध किए जाने के बीच हुड्डा ने गुरुवार को कहा कि फ़ौज पर राजनीति के बजाए केवल राष्ट्रनीति होनी चाहिए।
हुड्डा ने सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा,“मेरे बार-बार अनुरोध के बाद भी इस सरकार ने सेनाओं की भर्ती को नहीं खोला। संसद में मेरे प्रश्न पर यही जानकारी दी कि तीन साल से भर्ती बंद है जबकि 1.5 लाख पद ख़ाली पड़े हैं। सरकार,आप हर विषय पर राजनीति करो लेकिन फ़ौज पर नही। फ़ौज पर केवल राष्ट्रनीति हो जिसको सारा राष्ट्र स्वीकार करें।”
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा,“अग्निपथ सैन्यभर्ती योजना चारों ओर दुश्मनों से घिरे देश की सुरक्षा के लिए और भर्ती के लिए प्रयासरत करोड़ों युवाओं के भविष्य लिए घातक है। ये इन युवाओं की राष्ट्रसेवा के प्रति संकल्प का अपमान है।इन युवाओं के भविष्य एवं आत्मसम्मान को संरक्षण ना दे सके ऐसी योजना सरकार वापिस ले।
उन्होंने कहा कि ‘एक रैंक एक पेंशन’ के नारे के साथ सत्ता में आई मोदी सरकार ने पेंशन ही खत्म करने की तैयारी कर ली है। उन्होंने ट्वीट किया,‘‘वन रैंक वन पेन्शन के नारे पर आए थे, ‘नो रैंक नो पेन्शन’ का नारा दे दिया।” उल्लेखनीय है कि सरकार ने मंगलवार को ही अग्निपथ योजना की घोषणा की थी जिसमें जवानों को केवल चार वर्ष के लिए भर्ती करने की व्यवस्था है।

अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन

अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन

इकबाल अंसारी  
श्रीनगर। अमरनाथ यात्रा को श्रद्धालुओं के लिए सुविधाजनक बनाने के लिए जम्मू-कश्मीर प्रशासन लगातार कई बड़े फैसले ले रहा है। इसी के तहत आज जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर से अमरनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर सेवाओं का उद्घाटन किया।
श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सीईओ नीतीश्वर कुमार ने बताया कि इस बार हम श्रीनगर से नीलग्रथ और श्रीनगर से नुनवान कैंप तक दोनों तरफ की सेवा हेलीकॉप्टर की सेवा शुरू कर रहे हैं। इससे यात्री एक दिन में दर्शन करके लौट सकते हैं। इसके लिए मूल्यों की सूची भी जारी कर दी गई है। हेलीकॉप्टर सेवा के जरिए कोई भी श्रद्धालुओं एक दिन में ही यात्रा से वापस लौट सकता है।
इस अवसर पर मनोज सिन्हा ने कहा कि कई लोग ऐसे हैं जो एक दिन में ही यात्रा करके वापस लौटना चाहते हैं उनके लिए ये काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि बहुत सारे लोग हैं जो दिल्ली से आना पसंद करते हैं और उसी दिन वापस चले जाते हैं। यह सेवा उनके काम आएगी। हमें नकली बुकिंग लेने वालों पर ध्यान देने की जरूरत है। हमारी सेवाओं का दुरूपयोग नहीं होना चाहिए।
श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सीईओ नीतीश्वर कुमार ने बताया कि इस बार हम श्रीनगर से नीलग्रथ और श्रीनगर से नुनवान कैंप तक दोनों तरफ की सेवा हेलीकॉप्टर की सेवा शुरू कर रहे हैं। इससे यात्री एक दिन में दर्शन करके लौट सकते हैं। इसके लिए मूल्यों की सूची भी जारी कर दी गई है। श्रीनगर से पंचतरणि वाया नीलग्रथ आना और जाना 29000 रुपये का है। जबकि एक तरफ का 14500 है।
वही, श्रीनगर से पहलगाम के रास्ते पंचतरणी का किराया आने और जाने का 30000 रुपये है जबकि एक तरफ का 15000 है। श्रीनगर से नीलग्रथ के आने जाने का किराया 23400 है जबकि एक तरफ से किराया 11700 है।
वहीं श्रीनगर से पहलगाम के लिए आने और जाने का किराया 21600 रुपये होगा जबकि एक तरफ का किराया 10800 होगा।
नीलग्रथ से पंचतरणि के लिए आने और जाने का किराया 5600 होगा जबकि एक तरफ का किराया 2800 होगा। वही पहलगाम और पंचतरणी के बीच आने और जाने का किराया 8400 का होगा जबकि एक तरफ का किराया 4200 होगा।

बढ़ते मोटापे को कंट्रोल करने में फायदेमंद है, ग्रीन-टी

बढ़ते मोटापे को कंट्रोल करने में फायदेमंद है, ग्रीन-टी

सरस्वती उपाध्याय  
बढ़ते मोटापे को कंट्रोल करने के साथ निकली हुई तोंद को भी अंदर करने के लिए आपने लोगों को एक दूसरे को ग्रीन-टी पीने की सलाह देते हुए कई बार सुना होगा। लेकिन, क्या वाकई ग्रीन-टी का सेवन बढ़ते मोटापे को कंट्रोल करने में फायदेमंद साबित हो सकता है, आइए जानते हैं...

ग्रीन-टी पीने के फायदे...
कई शोध बताते हैं कि ग्रीन-टी का सेवन वेट लॉस प्रोसेस को तेज करने में मदद करता है।
ग्रीन-टी में ढ़ेर सारे एंटी ऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं, जो आपको पूरे दिन तरोताजा बनाए रखने में मदद करते हैं। ग्रीन-टी का सेवन वेट लॉस के साथ दिल से जुड़े रोग, स्किन प्रॉब्लम आदि को दूर करने में भी मदद करते हैं।
ग्रीन-टी में पाये जाने वाले तत्व शरीर को इंफेक्शन और सूजन से राहत देते हैं।
ग्रीन-टी में पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं।
एनसीबीआई की वेबसाइट पर यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम के रिसर्च को प्रकाशित किया गया है। इस रिसर्च में बताया गया है कि ग्रीन-टी पीने से मोटापा संबंधी समस्या दूर हो सकती हैं। इसका सेवन करने से मेटाबॉलिक रेट दर को बढ़ाकर हर समय थोड़ी-थोड़ी कैलोरी को कम करने में मदद मिल सकती है। इसमें मौजूद योगिक फैट बर्निंग हॉर्मोन को सक्रिय कर सकते हैं। ग्रीन-टी की पत्तियों को तेज उबलते पानी में डालने से ग्रीन-टी की पत्तियों के अंदर मौजूद catechin डैमेज हो जाता है। इसलिए बेली फैट कम करने के लिए सबसे पहले पानी को उबालकर उसे 10 मिनट ठंडा होने दें। इसके बाद इसमें ग्रीन-टी की पत्तियां या फिर टी बैग डालकर हिलाएं। जब ग्रीन-टी बन जाए, तो पत्तियां या टी बैग निकालकर इसका सेवन करें।

रोजाना पीना है या नहीं ?
यूनिवर्सिटी ऑफ मैरिलैंड मेडिकल सेंटर की एक स्टडी की मानें तो वेट लॉस के लिए हर दिन 2 कप ग्रीन टी बहुत है। एक दिन में इससे ज्यादा ग्रीन-टी का सेवन नहीं करना चाहिए।

ग्रीन-टी पीने का सही टाइम...
अक्सर लोग मानते हैं कि खाली पेट ग्रीन टी पीने से जल्दी वजन कम होता है। लेकिन हेल्थ एक्सपर्ट्स ऐसा नहीं मानते हैं। खाली पेट ग्रीन टी नहीं पीना चाहिए। आइए जानते हैं क्या है ग्रीन टी पीने का सही समय।
खाना खाने के एक घंटे पहले और बाद में ही ग्रीन-टी पीनी चाहिए।
सोने से पहले ग्रीन टी पीने से वजन कम होता है।
ग्रीन-टी में दूध और चीनी मिलाकर नहीं पीना चाहिए।
वजन घटाने के लिए ग्रीन-टी में शहद मिलाकर पीना चाहिए।
वेट लॉस के लिए ग्रीन-टी में नींबू रस मिलाकर पीना भी फायदेमंद होता है।

प्रयागराज-कानपुर मामलें में हलफनामा दाखिल, आदेश

प्रयागराज-कानपुर मामलें में हलफनामा दाखिल, आदेश

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। पैगम्बर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान के विरोध में भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा पर कार्यवाही की मांग को लेकर उपजे विवाद ने उत्तरप्रदेश में हिंसक ले लिया था और जमकर पत्थरबाजी की गई थी। इस मामले में शामिल दंगाइयों के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रशासन की ओर से सख्त कार्यवाही करते हुए उनकी सम्पत्ति पर बुलडोजर चलाए जा रहे थे।
उत्तर प्रदेश में बुलडोजर कार्रवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है। शीर्ष अदालत ने प्रयागराज-कानपुर मामलें में उत्तर प्रदेश सरकार को हलफनामा दाखिल करने के आदेश दिए हैं। राज्य सरकार को तीन दिनों का समय दिया गया है। साथ ही कोर्ट का यह कहना है कि अगर नियमों का पालन किया गया है, तो कार्रवाई पर रोक नहीं लगाई जा सकती। फिलहाल, इस मामले में आगे सुनवाई अगले सप्ताह होगी।
जमियत उलेमा ए हिंद ने याचिका दायर कर राज्य सरकार को निर्देश जारी करने की मांग की थी कि किसी आरोपी की संपत्ति पर तत्काल कार्रवाई न की जाए। इसके साथ ही जमियत ने कहा था कि कानपुर में संपत्ति ढहाने की तैयारियों पर रोक लगाई जाए।
सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा, ‘हमने यह साप कर दिया है कि कोई भी कानून ढांचे या भवन को नहीं गिराया गया है।’ उन्होंने कहा कि सभी का अपना एजेंडा है और एक सियासी दल ने याचिका दायर की है। उन्होंने कहा कि जहांगीरपुरी इलाके में समुदाय को देखे बगैर ढांचे हटाए गए थे। मेहता ने कहा कि इसमें जरूरी प्रक्रिया का पालन किया जा रहा है।जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस विक्रम नाथ की बेंच ने जमियत की याचिका पर सुनवाई की। याचिका में यह भी कहा गया था कि राज्य सरकार को आदेश जारी किए जाएं कि कानून के मुताबिक ही संपत्ति ढाहाने की कार्रवाई की जाए। साथ ही इसमें प्रभावित व्यक्ति को नोटिस देने और सुनवाई के लिए समय देने की मांग की गई थी।
जमियत का कहना है कि संपत्ति ढहाने की तत्काल कार्रवाई प्राकृतिक न्याय के सिद्धांतों के खिलाफ है। खास बात है कि जमियत के आवेदन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान का भी जिक्र किया गया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि आरोपियों के मकानों को बुलडोजर की मदद से गिराया जाएगा। इसमें एडीजी प्रशांत कुमार और कानपुर पुलिस आयुक्त विजय सिंह मीणा के बयान को भी शामिल किया गया है, जिसमें पुलिस अधिकारी दोहरा रहे हैं कि आरोपियों की संपत्ति को कब्जे में लिया जाएगा और ढहाया जाएगा।जमियत ने उत्तर प्रदेश एक्ट 1958 की धारा 10 को लेकर कहा कि इसके तहत प्रभावित व्यक्ति को मौका नहीं मिलने तक भवन नहीं ढहाया जा सकता। इसके आगे जमियत ने कहा है कि यूपी अर्बन प्लानिंग एंड डेवलपमेंट एक्ट 1973 की धारा 27 में कहा गया है कि संपत्ति ढहाने की कार्रवाई से पहले प्रभावित व्यक्ति की बात सुनी जाएगी और उन्हें कम से कम 15 दिनों का नोटिस दिया जाएगा।

विशेष आयुक्त ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

विशेष आयुक्त ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस अपने बल में नवीनतम तकनीकों को शामिल कर आधुनिकीकरण में जुटी हुई है। वह अपराध, कानून और व्यवस्था, यातायात प्रबंधन, खुफिया संग्रह और जनता को सेवाएं प्रदान करने के क्षेत्र में और बेहतर काम करना चाहती है। इसी दिशा में गुरुवार को दिल्ली पुलिस और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं। एमओयू पर आईआईटी दिल्ली की ओर से निदेशक प्रो. रंगन बनर्जी व दिल्ली पुलिस की ओर से विशेष आयुक्त एसबीके सिंह ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
पुलिस आयुक्त आयुक्त राकेश अस्थाना ने कहा कि दिल्ली पुलिस और आइआइटी के बीच हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन नई तकनीक की खोज, मौजूदा प्रौद्योगिकी आधारित परियोजनाओं का मूल्यांकन, भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रौद्योगिकी आधारित समाधान के विकास और दिल्ली पुलिस की तकनीकी समितियों में उपयुक्त संसाधन और व्यक्ति को शामिल करने का मार्ग प्रशस्त करेगा। कई अन्य समाधानों के बीच उपरोक्त प्रक्रिया नई संचार प्रणालियों, ड्रोन फोरेंसिक, एक ही मंच पर सीसीटीवी फ़ीड के एकीकरण, पार्किंग समस्याओं को हल करने के लिए प्रौद्योगिकियों के समावेश, बुलेट प्रतिरोध (बीआर) जैकेट और बीआर वेस्ट आदि के लिए तकनीकी विशिष्टताओं के समाधान तैयार करेगी।
उन्होंने कहा कि इस समझौता ज्ञापन के माध्यम से आइआइटी दिल्ली, दिल्ली पुलिस को नवीन तकनीकों को अपनाने और स्वदेशी डिजिटल ट्रैकिंग संचार प्रणाली, सीसीटीवी एकीकरण प्लेटफार्म विकसित करने में मदद करेगा, जो प्रधानमंत्री के 'आत्मनिर्भर भारत' के दृष्टिकोण के अनुरूप है। व्यवस्था बनाए रखना, नागरिकों के मन में सुरक्षा पैदा करना, दिए गए सीमित संसाधनों में मोबाइल फोन के दुरुपयोग की रोकथाम और वायस ओवर इंटरनेट प्रोटोकाल (वीओआइपी) एक विशाल चुनौती है, जिसे डिजिटल के क्षेत्र में नई प्रौद्योगिकियों के समावेश से नियंत्रित किया जा सकता है।
आईआईटी दिल्ली इन क्षेत्रों में और भविष्य में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ), मशीन लर्निंग (एमएल), ड्रोन प्रौद्योगिकियों, यातायात प्रबंधन और कानून व व्यवस्था के रखरखाव जैसे प्रौद्योगिकी के क्षेत्रों में दिल्ली पुलिस की सहायता कर सकता है। इस दौरान प्रो. रंगन बनर्जी ने कहा कि दिल्ली पुलिस को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए आवश्यक प्रौद्योगिकी और प्रणालियों का विकास करने की बात कही।

कार में विस्फोट होने की वजह से 'पत्रकार' की मौंत

कार में विस्फोट होने की वजह से 'पत्रकार' की मौंत

अखिलेश पांडेय     
साना/अदन। यमन के सबसे महत्वपूर्ण आर्थिक केंद्र और बंदरगाह शहर अदन में गुरुवार को एक कार में विस्फोट होने की वजह से एक स्थानीय पत्रकार की मौंत हो गई है। एक सरकारी अधिकारी ने यह जानकारी दी। नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक स्थानीय सरकारी अधिकारी ने कहा, 'पत्रकार सबर नोमान अल-हैदरी जिस कार से जा रहे थे उसमें आईईडी फिट किया गया था। कार जब अदन के मंसूर से गुजर रही थी तब उसमें धमाका हो गया।'अधिकारी ने कहा, रात को हुई इस घटना में पत्रकार की मौत सहित कुछ राहगीर भी घायल हुए हैं।
बुलडोजर की कार्रवाई एक पक्षीय नहीं होनी चाहिए,किसान बड़े आंदोलन के लिए रहें तैयार
पत्रकार सबर नोमान अल-हैदरी एक जापानी न्यूज आउटलेट के लिए काम करते थे। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें क्यों निशाना बनाया गया है। अधिकारी ने इस पर जांच होने की जानकारी दी है।
अभी तक किसी भी आतंकवादी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, हालांकि इस युद्धग्रस्त अरब देश में हाल के दिनों में पत्रकारों को निशाना बनाए जाने की ऐसी कुछ घटनाएं सामने आई हैं।
यमन साल 2014 के अंत से गृह युद्ध की चपेट में है। देश के उत्तरी हिस्से के कुछ प्रांतों को हुती विद्रोहियों ने अपने कब्जे में ले लिया है और सऊदी समर्थित यमनी सरकार को भी जबरदस्ती राजधानी सना से बाहर कर दिया है।

सेना में नई भर्ती के प्रारूप पर युवा वर्ग निराश-बेचैन है

सेना में नई भर्ती के प्रारूप पर युवा वर्ग निराश-बेचैन है

संदीप मिश्र
लखनऊ। सेना भर्ती अभियान ‘अग्निपथ’ को युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुये बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने गुरुवार को कहा कि सेना में नई भर्ती के प्रारूप को लेकर युवा वर्ग निराश और बेचैन है। इसके मद्देनजर सरकार को अल्प अवधि की इस नौकरी के लिये किये गये फैसले पर पुर्नविचार करना चाहिये।
मायावती ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा “ सेना में काफी लम्बे समय तक भर्ती लम्बित रखने के बाद अब केन्द्र ने सेना में 4 वर्ष अल्पावधि वाली ’अग्निवीर’ नई भर्ती योजना घोषित की है, उसको लुभावना व लाभकारी बताने के बावजूद देश का युवा वर्ग असंतुष्ट एवं आक्रोशित है। वे सेना भर्ती व्यवस्था को बदलने का खुलकर विरोध कर रहे हैं।
1. सेना में काफी लम्बे समय तक भर्ती लम्बित रखने के बाद अब केन्द्र ने सेना में 4 वर्ष अल्पावधि वाली ’अग्निवीर’ नई भर्ती योजना घोषित की है, उसको लुभावना व लाभकारी बताने के बावजूद देश का युवा वर्ग असंतुष्ट एवं आक्रोशित है। वे सेना भर्ती व्यवस्था को बदलने का खुलकर विरोध कर रहे हैं।
उन्होने कहा “ इनका मानना है कि सेना व सरकारी नौकरी में पेंशन लाभ आदि को समाप्त करने के लिए ही सरकार सेना में जवानों की भर्ती की संख्या को कमी के साथ-साथ मात्र चार साल के लिए सीमित कर रही है, जो घोर अनुचित तथा गरीब व ग्रामीण युवाओं व उनके परिवार के भविष्य के साथ खुला खिलवाड़ है।
बसपा अध्यक्ष ने कहा “ देश में लोग पहले ही बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी एवं सरकार की गलत नीतियों व अहंकारी कार्यशैली आदि से दुःखी व त्रस्त हैं, ऐसे में सेना में नई भर्ती को लेकर युवा वर्ग में फैली बेचैनी अब निराशा उत्पन्न कर रही है। सरकार तुरन्त अपने फैसले पर पुनर्विचार करे, बीएसपी की यह माँग।
गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने पिछले मंगलवार को अग्निपथ भर्ती योजना का ऐलान किया था। योजना के तहत सेना के तीनो अंगों यानी थल,नभ और जल सेना में चार साल के लिये युवाओं की भर्ती की जायेगी। इन रणबांकुरों को अग्निवीर का नाम दिया जायेगा। चार साल बाद अग्निवीरों को सार्टिफिकेट और वेतन के एक अंश के रूप में मोटी रकम देकर विदा किया जायेगा। सरकार का मानना है कि इस योजना से न सिर्फ सैन्य बलों की ताकत में इजाफा होगा बल्कि युवा वर्ग में राष्ट्र प्रेम की भावना और मजबूत होगी। इस योजना को लेकर हालांकि देश के अलग अलग भागों से मिलीजुली प्रतिक्रियायें मिल रही है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-251, (वर्ष-05)
2. शुक्रवार, जून 17, 2022
3. शक-1944, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि-तीज/चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 31 डी.सै., अधिकतम-41+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

मुजफ्फरनगर: चेकिंग के दौरान, 3 वाहन चोर अरेस्ट किए

मुजफ्फरनगर: चेकिंग के दौरान, 3 वाहन चोर अरेस्ट किए  भानु प्रताप उपाध्याय मुजफ्फरनगर। जनपद में बृहस्पतिवार को चेकिंग के दौरान पुलिस न...