बुधवार, 7 जुलाई 2021

नीति का अनुपालन, बैठक में दिशा-निर्देश दिएं: यूपी

हरिओम उपाध्याय              

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मुकुल गोयल ने कानून-व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त करने के साथ भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति का अनुपालन करने संबंध में आला अधिकारियों को समीक्षा बैठक में दिशा-निर्देश दिए। मुकुल गोयल ने आज पुलिस आयुक्त गौतमबुद्धनगर, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, समस्त जोनल अपर पुलिस महानिदेशक,परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस उपमहानिरीक्षक,वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

उन्होंने वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से निर्देश देते हुये कहा कि जनमानस और पुलिस के मध्य अनवरत सम्पर्क व संवाद बना रहे। घटना का तत्काल पंजीकरण किया जाये एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा यथाशीघ्र घटना स्थल का निरीक्षण करें। विवेचना में वैज्ञानिक तकनीकों का इस्तेमाल कर घटना में संलिप्त अभियुक्तों के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाये। अभियुक्तों की अतिशीघ्र गिरफ्तारी के साथ-साथ न्यायालय में विचारण के दौरान प्रभावी पैरवी करते हुए उन्हे कड़ी सजा दिलायी जाये।

शामली: जाट समाज के मुख्य लोगो के साथ बैठक हुईं

भानु प्रताप उपाध्याय       
शामली। राष्ट्रीय जाट एकता संगठन के कैम्प कार्यालय करनाल रोड पर जाट समाज के मुख्य लोगो के साथ एक मीटिंग हुई। मीटिंग में मुख्य रूप से संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमेन्द्र सिंह नम्बरदार ने कहा, कि सपा नेता अब्बू कासमी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है। संगठन इसकी निंदा करता है। इस बयान के लिए उनको माफी मांगनी चाहिए। साथ-साथ संजीव बालियान को भी माफी मांगनी चाहिए। जो इस मामले को तूल देकर माहौल खराब करना चाहते हैं। 2013 में संजीव बालियान स्पष्ट कर चुके हैं कि वह जाट नही एमपी है। अब जाटों की हमदर्द बनने की कोशिश ना करें। जाटों को ठेकेदारों की जरूरत नहीं, जाट एक स्वाभिमानी कौम है। गाजीपुर बॉर्डर पर जब जाट समाज को जरूरत थी। अगर बालियान को इतनी हमदर्दी थी तो उस वक्त कहां थे। उस समय जयंत चौधरी बॉर्डर पर पहुंचे थे जब भी जाट समाज पर संकट आया है। तब तब चौधरी परिवार ने ढाल का काम किया है।
अब्बू आज़मी के बहाने जयंत चौधरी को निशाना बनाने का कार्य किया है। संजीव बालियान ने जो, कि निंदनीय है। जयंत चौधरी किसान वर्ग की राजनीति करते हैं। किसी भी कीमत पर पश्चिम उत्तर प्रदेश का माहौल खराब नहीं होने दिया जाएगा। भाईचारा बनाने का काम किया जाएगा, ना कि नफरत फैलाने का काम किया जाएगा जाटों के कंधे पर बंदूक चल रख कर उल्लू सीधा ना करें इस मौके पर जिला अध्यक्ष देवराज पहलवान, चौधरी मोहित खतियान ,प्रवीणनिर्वाल, रामसुख चौधरी, सचिन चौधरी आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

जनपद शामली, परिवार ने 1100 वृक्षारोपण किएं

भानु प्रताप उपाध्याय             
शामली। माननीय आदित्यनाथ योगी मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाए गए वृक्षारोपण अभियान के तहत हिंदू युवा वाहिनी जिला शामली परिवार ने जगह-जगह गांव में 1100 पौधे वृक्षारोपण किए।
हिंदू वाहिनी जिला शामली के पदाधिकारी गण बिट्टू कुमार जिला प्रभारी ,चौधरी रविंदर सिंह काल खंडे जिला संयोजक ,प्रदीप निरवाल ,आशीष नीरवाल जिला आईटी संयोजक, आदि माननीय आदित्यनाथ योगी मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार चलाए गए वृक्षारोपण को लेकर और कोविड-19 का पालन करते हुए गांव फतेहपुर में स्थित सुधीर राणा जिला उपाध्यक्ष हिंदू युवा वाहिनी जिला शामली के आवास पर पहुंचे। जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। 
इसके उपरांत हिंदू युवा वाहिनी के सभी पदाधिकारी गांव फतेहपुर में और खेड़ी विरागी में स्थित बाग में आदि जगह जगह अनेक प्रकार के पौधे का वृक्षारोपण किया। वहीं दूसरी ओर कैराना ब्लॉक में नितिन ब्लॉक प्रभारी, संजीव ब्लॉक अध्यक्ष, सुमित ब्लॉक उपाध्यक्ष, विपिन ब्लॉक महामंत्री व सोनू आदि ने ग्राम भूरा, कंडेला में पौधारोपण किया। बिट्टू कुमार जिला प्रभारी, चौधरी रविंदर सिंह कॉल खंडे जिला संयोजक, अरविंद कौशिक जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष ,सुधीर राणा ,अनुज गोयल ,अमित गर्ग ,प्रदीप निरवाल, अनुराग गोयल, विक्की कुमार, अरुण वशिष्ठ, उपेंद्र  द्विवेदी, मनोज रोहिल्ला, राजेश गुप्ता ,अमरीश शर्मा, डॉ. राजेंद्र सिंह बालियान, भानु प्रताप उपाध्याय ,शिवदत्त शर्मा ,मांगेराम नामदेव आदि ने संयुक्त रुप से माननीय श्री आदित्यनाथ योगी को सफल शासक बताते हुए कहा की उन्होंने वृक्षारोपण का जो अभियान चलाया है। उससे ऑक्सीजन कि कमी नहीं होगी और वातावरण भी शुद्ध रहेगा।

गौतम के निर्वाचन को चुनौती, अपील खारिज की

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने मध्य प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम के निर्वाचन को चुनौती देने वाली अपील खारिज कर दी है। मुख्य न्यायाधीश एन वी रमन, न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना और न्यायमूर्ति हृषिकेश रॉय की खंडपीठ ने सोमवार को हुई संक्षिप्त सुनवाई के दौरान बहुजन समाज पार्टी की उम्मीदवार सीमा सिंह की अपील, यह कहते हुए खारिज कर दी कि उसे मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के संबंधित आदेश में हस्तक्षेप का कोई कारण नजर नहीं आता।

उच्च न्यायालय की जबलपुर पीठ ने चार नवम्बर 2019 को सीमा सिंह की चुनाव याचिका खारिज कर दी थी।जिसे उन्होंने शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। न्यायालय ने अपने आदेश में कहा है, "अपीलकर्ता के वकील की दलीलें सुनने और रिकॉर्ड में उपलब्ध तथ्यों पर सावधानीपूर्वक विचार करने के बाद हमें मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के उस आदेश में हस्तक्षेप का कोई कारण नजर नहीं आता। जिसके जरिये अपीलकर्ता की चुनाव याचिका खारिज कर दी गयी थी।"

न्यायालय ने कहा कि तदनुसार अपील खारिज की जाती है। सीमा सिंह द्वारा यह आक्षेप लगाया गया था कि विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने निर्वाचन अधिकारियों से साठगांठ करके देवतालाब (रीवा) सीट से अवैध तरीके से विधानसभा चुनाव जीता था। गिरीश गौतम की ओर से पेश अधिवक्ता प्रकाश उपाध्याय ने यह अप्पत्ति जतायी थी कि याचिका सुनवाई योग्य नहीं है।क्योंकि चुनाव याचिका के लिए विधिक प्रवधानों का पालन नहीं किया गया है।

मंत्रीमंडल फेरबदल में 14 नए मंत्रियों ने शपथ ली

अकांशु उपाध्याय              

नई दिल्ली। मोदी सरकार के मंत्रिमंडल फेरबदल में 14 नए कैबिनेट मंत्रियों ने शपथ ली है। सबसे पहले कैबिनेट मंत्री की महाराष्ट्र से सांसद नारायण राने ने ली। 2005 में शिवसेना ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया था। उसके बाद वो कांग्रेस में गए और राज्य में मंत्री और मुख्यमंत्री के रूप में काम करते रहे। कांग्रेस छोड़ने के बाद नारायण राणे बीजेपी में आ गए थे। दूसरे मंत्री के रूप में सर्बानंद सोनोवाल ने कैबिनेट मंत्री की शपथ ली। सोनोवाल कछारी जनजाति से आते हैं। असम में वो मुख्यमंत्री के रूप में काम कर चुके हैं। वर्तमान में वह माजुली से विधायक है। उनकी पहचान आक्रमक युवा नेता के तौर पर की जाती है।

तीसरे कैबिनेट मंत्री के रूप में डॉ वीरेंद्र कुमार ने शपथ ली। विरेंद्र कुमार महिला एवं बाल विकास एवं अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री रहे हैं। चार दशक से यह राजनीति में सक्रिय वीरेंद्र कुमार टीकमगढ़ से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हैं। चौथे कैबिनेट मंत्री के रूप में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए ज्योतिराज सिंधिया ने शपथ ली। ज्योतिराज सिंधिया पूर्व में कांग्रेस की मनमोहन सरकार में भी केंद्रीय मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं। मध्यप्रदेश में जब कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव जीत कर सरकार बनाई तो ज्योतिराज सिंधिया ने कांग्रेस से बगावत कर भाजपा की राह पकड़ ली और मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिराकर बीजेपी की सरकार बनवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। ज्योतिराज सिंधिया वर्तमान में राज्यसभा में भाजपा के सदस्य के रूप में काम कर रहे हैं। पांचवें कैबिनेट मंत्री के रूप में जेडीयू के खाते से रामचंद्र प्रताप सिंह ने शपथ ली। रामचंद्र प्रताप सिंह राज्यसभा में दूसरी बार सांसद है।.रामचंद्र प्रताप सिंह जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। रामचंद्र प्रताप सिंह पूर्व नौकरशाह है।

मोदी सरकार के छठे कैबिनेट मंत्री के रूप में उड़ीसा से राज्यसभा सांसद अश्वनी वैष्णव ने ने शपथ ली। अश्वनी वैष्णव आईआईटी कानपुर से एमटेक डिग्री धारक है तथा 1994 बैच के आईएफएस अधिकारी रहे हैं।कैबिनेट मंत्री के रूप में रामविलास पासवान के छोटे भाई हाजीपुर से सांसद पशुपति पारस शपथ ली। पशुपति पारस ने अभी हाल ही में अपने भतीजे चिराग पासवान को किनारे कर खुद लोकसभा में लोजपा के संसदीय दल के नेता बन गए हैं। अपने भतीजे से बगावत कर पशुपति पारस मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बन गए हैं।

आठवे कैबिनेट मंत्री के रूप में मोदी सरकार में राज्य मंत्री किरण रिजिजू शपथ ली। किरण रिजिजू मौजूदा मंत्रिमंडल में खेल राज्यमंत्री के रूप में काम कर रहे थे। किरण रिजिजू अरुणाचल प्रदेश से भाजपा के सांसद है। इनका मोदी सरकार में प्रमोशन किया गया है। किरण रिजिजू को भाजपा का नार्थ ईस्ट में मजबूत चेहरा माना जाता है। नोवे मंत्री के रूप में आरके सिंह ने शपथ ली । बिहार के आरा से सांसद आरके सिंह पूर्व नौकरशाह है तथा वर्तमान मोदी सरकार में ऊर्जा विभाग के स्वतंत्र प्रभार मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं। स्वतंत्र प्रभार से कैबिनेट में लाकर उनका प्रमोशन किया गया है। आरके सिंह भारत सरकार में गृह सचिव के रूप में काम कर चुके हैं।

वर्तमान मंत्रिमंडल में नागरिक उड्डयन मंत्री के रूप में काम कर रहे हरदीप सिंह पुरी को भी कैबिनेट में जगह दी गई है। हरदीप पुरी 1974 बैच के आईएफएस अफसर है। वह यूएन में भारत के स्थाई प्रतिनिधि रहे हैं।मोदी सरकार के 11 कैबिनेट मंत्री के रूप में मनसुख मान्डविया ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। मनसुख मान्डविया अभी राज्य मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं।इनका भी मोदी सरकार में प्रमोशन किया गया है। मनसुख मान्डविया 2014 में बनी मोदी सरकार में भी राज मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं। गुजरात से राज्यसभा सांसद मनसुख मान्डविया गुजरात में भाजपा का प्रमुख चेहरा है।

मोदी सरकार के 12वीं कैबिनेट मंत्री के रूप में भूपेंद्र यादव ने शपथ ली। भूपेंद्र यादव बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव है। राजस्थान से आने वाले भूपेंद्र यादव 2012 से राज्यसभा में भाजपा सांसद के रूप में काम कर रहे हैं। भूपेंद्र यादव को संगठन मैनेजमेंट में मास्टर माना जाता है। राजनीति में आने से पहले भूपेंद्र यादव सुप्रीम कोर्ट में वकील थे। कई प्रदेशों में चुनावों में उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 13 कैबिनेट मंत्री के रूप में गुजरात से ही आने वाले पुरुषोत्तम रुपाला ने शपथ ली। पुरुषोत्तम रुपाला तीन बार गुजरात विधानसभा में विधायक रहे। वर्तमान में पुरुषोत्तम रुपाला मोदी सरकार में राज्य मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं। पुरुषोत्तम रुपाला का भी मोदी कैबिनेट में प्रमोशन किया गया है।

मोदी सरकार के ही एक और राज्यमंत्री किशन रेड्डी को मोदी कैबिनेट में जगह दी गई है। मौजूदा मंत्रिमंडल में जी किशन रेड्डी गृह राज्य मंत्री के रूप में काम कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद से भाजपा के सांसद जी किशन रेड्डी, आंध्र प्रदेश में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में काम कर चुके हैं। कैबिनेट मंत्री के रूप में मोदी सरकार में वित्त विभाग के राज्यमंत्री के रूप में काम कर रहे अनुराग ठाकुर का भी प्रमोशन किया गया है। उनको राज्यमंत्री से कैबिनेट में जगह दी गई है। हिमाचल के हमीरपुर से भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर भाजपा का युवा चेहरा है। अनुराग ठाकुर बीसीसीआई के भी अध्यक्ष रहे हैं।

दिल्ली: कोरोना के नए वेरिएंट की होगीं जांच, आदेश

अकांशु उपाध्याय            

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को लोक नायक अस्पताल और मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज के संयुक्त जेनेटिक लेबोरेटरी में सार्स सीओवी-2 जीनोम सिक्वेंसिंग (अनुक्रमण) सुविधा का उद्घाटन करते हुए कहा कि अब दिल्ली सरकार के अस्पताल में कोरोना के नए वेरिएंट की जांच हो सकेगी।अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उत्तर भारत में इस तरह की यह तीसरी सुविधा है। अभी तक हमें सैंपल केंद्र सरकार के एनसीडीसी लैब भेजने पड़ते थे, लेकिन अब हम अपनी लैब में जांच कर पाएंगे। जेनेटिक एनाॅलाइजर मशीन से विश्लेषण कर नए वेरिएंट का पता लगाया जा सकेगा और जब वेरिएंट का पता चल जाएगा, तो हमें उससे निपटने के लिए रणनीति बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि यह मशीन संभावित तीसरी लहर में बहुत मददगार साबित होगी और कोरोना खत्म होने के बाद भी इससे दूसरी बीमारियों का विश्लेषण किया जा सकेगा। 

मुख्यमंत्री ने लोगों से सामाजिक दूरी को पालन करने की अपील की है। अगर ऐहतियात नहीं बरतेंगे, तो फिर से कोरोना फैल जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम अखबारों में रोज पढ़ते आ रहे हैं कि कोरोना के नए-नए वेरिएंट्स निकल कर आ रहे हैं। अभी तक हम लोग केंद्र सरकार की लैब एनसीडीसी के ऊपर निर्भर होते थे। हमें अपने सारे सैंपल जांच के लिए एनसीडीसी भेजने पड़ते थे। अब दिल्ली सरकार द्वारा एलएनजेपी अस्पताल में जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए जेनेटिक एनाॅलाइजर मशीन खरीदी गई है। 

इस मशीन के जरिए हम कोरोना के जो भी वेरिएंट्स होंगे, उसका यहां पर विश्लेषण (एनाॅलाइज्ड) कर पाएंगे और हम देख पाएंगे कि दिल्ली के अंदर जो कोरोना अभी है या भविष्य में कभी फैलेगा, तो उसका कौन सा वेरिएंट है। अगर हमें कोरोना के वेरिएंट का पता चल जाता है, तो उसके हिसाब से उसके खिलाफ कार्रवाई करने में मदद मिलती है और उससे निपटने में रणनीति बनाने में मदद मिलती है। अभी तक यह सुविधा नहीं थी, लेकिन आज से एलएनजेपी अस्पताल के अंदर यह सुविधा शुरू हो रही है। उन्होंने कहा कि संभवत: उत्तर भारत में इस तरह की यह तीसरी सुविधा है। इससे दिल्ली के लोगों को बहुत फायदा होगा। इसके लिए मैं एलएनजेपी अस्पताल और मेडिकल डायरेक्टर डाॅ. सुरेश कुमार की पूरी टीम को बधाई देता हूं कि उन्होंने इतने कम समय के अंदर इसको चालू किया। यह मशीन तीसरी लहर में बहुत ही मददगार साबित होगी। बताया जा रहा है कि जब कोरोना खत्म भी हो जाएगा, तब भी दूसरी बीमारियों के लिए इस मशीन में एनाॅलिसिस किया जा सकेगा। यह जेनेटिक एनाॅलाइजर कई सारी बीमारियों में काम आएगा। इसके अलावा दिल्ली सरकार के आईएलबीएस अस्पताल में एक और लैब का गुरुवार को उद्घाटन किया जाएगा। इसके साथ ही दिल्ली के अंदर अब एलएनजेपी और आईएलबीएस में दो लैब खुल जाएंगी।

अरविंद केजरीवाल ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हम लोगों ने काफी गतिविधियां खोल दी है और बाकी गतिविधियों को हम चरणबद्ध तरीके से खोलना चाहते हैं। मेरी दिल्ली की जनता से अपील है कि जहां पर गतिविधियां खोली जा रही हैं, वहा पर सामाजिक दूरी का भी पालन किया जाए। कई बाजारों में शिकायत आती है कि बहुत ज्यादा भीड़ हो गई है। अगर हम ऐहतियात नहीं बरतते हैं, तो फिर से कोरोना फैला जाएगा। इसलिए ऐहतियात बरतना हम सब लोगों की जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार की तैयारियों के तहत जेनेटिक लेबोरेटरी, लोक नायक अस्पताल और इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बिलियरी साइंसेज में सार्स सीओवी-2 जीनोम सीक्वेंसिंग सुविधा स्थापित की जा रही है। अब दिल्ली सरकार लगभग चार से पांच दिनों के टर्नअराउंड समय के साथ एक दिन में पांच से सात नमूनों का सिक्वेंस (अनुक्रम) करने में सक्षम होगी। यह सुविधा मुख्य रूप से निगरानी और सार्वजनिक स्वास्थ्य उद्देश्य के लिए होगी।

सीएम के लिए 1 पांच सूत्रीय ज्ञापन डीएम को सौंपा

गोपीचंद             
बागपत। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल जनपद बागपत के पदाधिकारियों द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री के लिये एक पांच सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी श्री राजकमल यादव को दिया गया। जिसमें जिला अध्यक्ष भूपेश बब्बर ने बताया कि संगठन के राष्ट्रा अध्यक्ष श्री संदीप बंशल के निर्देशानुसार जिला बागपत की कार्यकारणी व्यापारी हित को ध्यान में रखते हुय प्रदेश के मुख्य मंत्री से निम्न पांच सूत्रीय मांग करती हैं।
1. प्रदेश में वरिष्ठ व्यापारी पेंशन योजना लागू की जाए।
2. कोरोना से मृत व्यापारी को मुख्यमंत्री व्यापारी दुर्घटना बीमा योजना के अंतर्गत शामिल करते हुए उसके परिजन को ₹10,00000/‐ का मुआवजा दिया जाए।
3. बिजली के फिक्स एवं सर चार्ज समाप्त किए जाएं।
4. प्रदेश में 3 सितंबर व्यापारी दिवस घोषित किया जाए।
5. व्यापारी सुरक्षा प्रकोष्ठ को प्रभावी बनाते हुए व्यापारियों को उचित सुरक्षा दी जाये। 
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष भूपेश बब्बर, अनुराग जैन, अमित चिकारा, कुलदीप राणा व संजय कुमार आदि उपस्थिय रहें।

सत्यपाल की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया

गोपीचंद             
बागपत। जिला कांग्रेस कमेटी के विधि विभाग के जिलाध्यक्ष एडवोकेट सत्यपाल सिंह पंवार की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सत्यपाल सिंह ने बताया कि बैठक का आयोजन पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी एवं प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के आव्हान पर किया गया हैं और बैठक में देश में बढ़ती महंगाई व व्यापक बेरोजगारी के विकराल रूप पर चिंता करते हुये चर्चा की गयी और कहा कि देश में पेट्रोल, डीज़ल, रसोई गैस वह अन्य आवश्यक वस्तुओं के दामों में निरन्तर हो रही बढ़ोतरी से आम जन मंशा का जीवन त्रस्त हो चुका हैं। इस पर सरकार को तुरन्त कंट्रोल करना जरूरी है। कांग्रेस पार्टी इसका पुरजोर विरोध करती हैं। 
देश में बढ़ती महगाई पर अगर जल्द ही कंट्रोल नहीं किया गया, तो जनता सड़कों पर उतरने के लिये मजबूर होगी। देश में बढ़ती महंगाई को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने बड़ौत तहसील में जमकर नारेबाजी के साथ विरुद्ध प्रशसन किया और श्रीमान उपजिलाधिकारी को देश के राष्ट्रपति के नाम इस विषय पर ज्ञापन देकर आम जन मंशा की समस्याओं से अवगत कराया।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष ऐडवोकेट सत्यपाल सिंह पंवार, विधि विभाग, जिला महासचिव, जिला सचिव नरेंद्र कुमार, अनिल तोमर, एडवोकेट विनोद शर्मा, जिला सहसचिव एडवोकेट हरेंद्र सिंह, एडवोकेट प्रदीप कुमार, जगरोशन, नितिन, सचिन वह अन्य मुख्य व्यक्ति उपस्थित रहें।

सरकार के विरोध में कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन: यूपी

कौशाम्बी। भारतीय जनता पार्टी नीत केंद्र एवं राज्य सरकार की गलत नीतियों का खामियाजा अब देश की और प्रदेश की जनता को भुगतना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि बढे पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य व खाद्य पदार्थों के बड़े मूल्य ने लोगों को भुखमरी के कगार पर धकेल दिया है। सरकार लोगों को सहयोग करने का स्थान पर उनका आर्थिक शोषण अपने पूंजीपति उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने की नीयत से किया जा रहा है। इसके विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी और फ्रंटल संगठनों के सहयोग से जनपद के तीनों तहसीलों के मुख्यालयों पर सरकार के विरोध में कांग्रेसियों ने ताली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया।
कांग्रेस पार्टी के प्रदेश यूनिट के आवाहन पर बुधवार को जिले की तीनों तहसीलों में कांग्रेसी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा ताली ताली बजाकर बढ़ी हुई महंगाई के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया गया। मंझनपुर तहसील परिसर में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिलाध्यक्ष अमित द्विवेदी आजाद, मानवाधिकार कांग्रेस के जिलाध्यक्ष जितेंद्र शर्मा, अनुसूचित जाति कांग्रेस जिला अध्यक्ष विनोद चौधरी, सोशल मीडिया के जिलाध्यक्ष इज़हार अब्बास,प्रयागराज विश्वविद्यालय के इकाई अध्यक्ष अभिषेक द्विवेदी की अगुवाई में प्रदर्शन किया गया। यहां मौजूद पार्टी के लोगों ने ताली थाली बजा कर सरकार का विरोध किया। 
इस मौके पर बोलते हुए पार्टी के जिलाध्यक्ष ने कहा की यह सरकार ताली और थाली की आवाज को भी पहचानती है। इसलिए अपनी आवाज को जनता की आवाज को सरकार तक पहुंचाने के लिए ताली और खाली प्रदर्शन का आयोजन किया गया है। इसी तरह सिराथू तहसील परिसर में युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष अंकुर शुक्ला व अल्पसंख्यक कांग्रेस जिलाध्यक्ष तमजीद की अगुवाई में धरना एवं प्रदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया तो चायल तहसील परिसर में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष रजनीश पांडे की धरना एवं प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया। 
इस मौके पर प्रमुख रूप से अरुण विद्यार्थी, वेद प्रकाश पाण्डेय सत्यार्थी, डॉ मुमताज सिद्दीकी, विवेक मिश्रा माइकल, कौशलेश द्विवेदी, विनय पासी, भारत गौतम, राजू कुशवाहा, असगर मदनी, रामेन्द्र निषाद, मंजीत कैथवास, राम कुमार, मो सैफ, सौरभ कुशवाहा, अफ़न, संस्कार पाण्डेय, राम प्रकाश, नरेंद्र सिंह, बृजेश पाण्डेय, भागीरथी पटेल, राजकुमार, गुलाम, मुन्ना, वीरेन्द्र कुमार, सचिन साहू, राजकुमार गौतम के साथ बड़ी संख्या में कांग्रेसी तीनों तहसील परिसर में मौजूद रहे।
सुशील केसरवानी 

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप का निधन हुआ

कविता गर्ग            
मुबंई। बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का बुधवार सुबह निधन हो गया है। काफी समय से सांस लेने में हो रही दिक्कत की वजह से वह बार-बार अस्पताल में भर्ती हो रहे थे। दिलीप कुमार को 30 जून को हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसके बाद आज सुबह उनके निधन की खबर आई है। 98 साल के अभिनेता के निधन से पूरी फिल्म इंडस्ट्री दुखी है और देशभर के लोग सोशल मीडिया के जरिए उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। 
बॉलीवुड स्टार्स से लेकर देश के बड़े राजनीतिक नेता दिलीप कुमार को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। पीएम मोदी, राहुल गांधी, नीतिश कुमार समेत बड़े-बड़े नेता सोशल मीडिया के जरिए उनके निधन पर दुख व्यक्त कर रहे हैं।
दिलीप कुमार को सांस संबंधित शिकायत होने के बाद उनके फेफड़ों की जांच की गई। जिसमें प्लयूरल एफ्यूशन पाया गया। जिससे उनके फेफड़ों के आसपास तरल पदार्थ जमा हो जा रहा था और इसी के चलते वो ठीक से सांस नहीं ले पा रहे थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो से फोन पर बात की है। प्रधानमंत्री ने इस गंभीर दुख की घड़ी में परिवार को ढांढस बंधाया है। प्रधानमंत्री ने करीब दस मिनट तक शायरा बानो से बात की।
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ”दिलीप कुमार जी को एक सिनेमाई किंवदंती के रूप में याद किया जाएगा। उन्हें अद्वितीय प्रतिभा का आशीर्वाद प्राप्त था। जिसके कारण पीढ़ियों के दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए थे। उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए एक क्षति है। उनके परिवार, दोस्तों और असंख्य प्रशंसकों के प्रति संवेदना, श्रद्धांजलि।
मोहम्मद यूसुफ खान के रूप में जन्मे, दिलीप कुमार ने फिल्म ज्वार भाटा (1944) में एक अभिनेता के रूप में शुरुआत की। पांच दशक से अधिक के करियर में, कुमार ने 65 से अधिक फिल्मों में काम किया। उन्हें रोमांटिक अंदाज़ (1949), दमदार आन (1952), सामाजिक नाटक दाग (1952), नाटकीय देवदास (1955), हास्यपूर्ण आज़ाद (1955), महाकाव्य ऐतिहासिक मुगल- जैसी फिल्मों में भूमिकाओं के लिए जाना जाता है। ई-आज़म (1960), सामाजिक डकैत अपराध नाटक गंगा जमुना (1961), और कॉमेडी राम और श्याम (1967)।
अभिनेता ने अपने दो भाइयों को पिछले साल सिर्फ दो सप्ताह के दौरान कोविड -19 में खो दिया। हालांकि, दिलीप को उनकी मौत के बारे में सूचित नहीं किया गया।  था। उनके परिवार में उनकी पत्नी सायरा बानो हैं।

खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज ने संन्यास लेने के संकेत दियें

कोलंबो। श्रीलंका क्रिकेट और उसके क्रिकेटरों के बीच अनुबंध को लेकर लंबे समय से चले आ रहे विवाद ने बुधवार को नया मोड़ ले लिया जब सीनियर खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज ने संन्यास लेने के संकेत दिये। भारत के खिलाफ 13 जुलाई से शुरू हो रही सीमित ओवरों की श्रृंखला से पहले यह घटनाक्रम हुआ है। मौजूदा खिलाड़ियों में सबसे सीनियर मैथ्यूज और टेस्ट कप्तान दिमुथ करूणारत्ने को राष्ट्रीय अनुबंध से बाहर रखा गया है। 
मैथ्यू ने श्रीलंका क्रिकेट प्रशासन को लिखा है कि वह संन्यास की सोच रहे हैं। वह अगले कुछ दिन में संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। सूत्र ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट ने हर दौरे के आधार पर अनुबंध देने का फैसला किया है। कोई सालाना करार नहीं होंगे क्योकि अभी फौरी जरूरत भारत के खिलाफ श्रृंखला के लिये खिलाड़ियों के साथ अनुबंध करने की है।
खिलाड़ियों को आठ जुलाई तक की समय सीमा दी गई है। पहले इस पर हस्ताक्षर करने से इनकार करने वाले खिलाड़ियों ने भी अब हस्ताक्षर कर दिये हैं। प्रदर्शन के आधार पर 24 शीर्ष खिलाड़ियों को चार श्रेणियों में अनुबंध दिये गए हैं। छह खिलाड़ियों को ए श्रेणी के करार मिले हैं जिनकी सालाना तनख्वाह 70000 से एक लाख डॉलर के बीच होगी। श्रीलंकाई टीम राष्ट्रीय अनुबंध पर हस्ताक्षर किये बिना इंग्लैंड दौरे पर गई थी।

संगीत: 'प्यार और दर्द से उबरने' के संदेश दिये

कविता गर्ग                      
मुंबई। भारत के कोरोना वायरस की दूसरी लहर से उबरने के बीच उसके साथ एकजुटता जताते हुए सैकड़ों इजराइली नागरिकों ने एक संगीत कार्यक्रम के दौरान ”प्यार और दर्द से उबरने” के संदेश भेजे। भारत के संगीतकारों ने इस कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से भाग लिया। तेल अवीव के हाबिमा स्क्वायर पर मंगलवार शाम को यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में पहले से रिकॉर्ड भक्ति गीत ‘केशव माधव हरि हरि बोल’ भी दिखाया गया। यह गीत अतीव भंसाली और आशीष रंगवानी ने गाया है।
कार्यक्रम के आयोजकों में से एक राज हेलविंग ने कहा, ”इजराइल के लोग भारत और भारतीय लोगों तथा उसकी संस्कृति को बहुत याद करते हैं। क्योंकि कोविड-19 के कारण पिछले साल भारत जाना संभव नहीं हो पाया। इजराइल और भारत के लोगों के बीच संबंध हमेशा अच्छे और मजबूत रहे हैं तथा हम उम्मीद करते हैं कि हम जल्द ही फिर से भारत जा सकें।
एक यात्रा एजेंसी चलाने वाले राज खुद संगीतकार हैं। उनका भारत से मजबूत नाता रहा है और वह वर्षों से इजराइल के समूहों के साथ देश के विभिन्न हिस्सों की यात्रा कर चुके हैं। 
यह संगीत कार्यकम यूनाइट इन बेबीलोन ”सिंगिंग सर्कल” ने आयोजित किया था जिसमें भाग लेने वाले सभी संगीतकार एक गोल घेरा बनाकर गाते और वाद्य यंत्र बजाते हैं। 2012 से ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। कार्यक्रम में इजराइल के दर्जनों संगीतकारों ने हिब्रू, अंग्रेजी और हिंदी में गाने गाए, कई वाद्य यंत्र बजाए। बच्चों, युवा और बुजुर्ग समेत सैकड़ों इजराइली दर्शकों ने खुशी में गाने गाए और संगीत की धुनों पर थिरके। भारत में इजराइल के दूतावास की अधिकारी रोनी येदिदिया क्लिन ने कहा, ”संगीत के अलावा ऐसी कोई चीज नहीं है जो लोगों को आपस में इतना जोड़ती हो। यह एक सार्वभौमिक भाषा है जिसे अनुवाद की आवश्यकता नहीं है। 
नई दिल्ली में इजराइली दूतावास भारत के लोगों के साथ मिलकर इजराइल के लोगों के इस अनूठे कार्यक्रम का समर्थन करके खुश है। हम उम्मीद जताते हैं कि यह संगीत सहयोग दोनों देशों के लोगों के दिलों तक पहुंचेगा। हम अगले साल दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों के 30 साल पूरे होने पर इस तरह का और सहयोग देखने के लिए उत्साहित हैं।
ओरी यावोर के भक्ति गीत ”सीताराम, जय सीताराम” ने कार्यक्रम में एकत्रित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कुछ लोग तो भारतीय परिधान पहनकर कार्यक्रम में शामिल हुए। दो महीने पहले इसी आयोजन स्थल पर ऐसा ही कार्यक्रम किया गया था कि जिसमें इजराइलियों को कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान भारत के साथ एकजुटता जताते हुए ”ओम नम: शिवाय” गाते हुए देखा गया था। सोशल मीडिया पर पोस्ट इसकी वीडियो को 1.2 करोड़ से अधिक लोगों ने देखा था।

केंद्रीय कैबिनेट का नहीं, बल्कि भूख का विस्तार है

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्रिपरिषद के विस्तार से कुछ घंटे पहले बुधवार को दावा किया कि यह केंद्रीय कैबिनेट का नहीं, बल्कि ‘सत्ता की भूख’ का विस्तार है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि अगर कामकाज और शासन को आधार बनाया जाए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कई मंत्रियों को पद से हटा दिया जाना चाहिए।
उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि यह मंत्रिपरिषद का विस्तार नहीं, सत्ता की भूख का विस्तार है। अगर मंत्रिपरिषद का विस्तार हो तो वह कामकाज और शासन के आधार पर हो। सुरजेवाला ने दावा किया कि अगर कामकाज के आधार पर फेरबदल हो तो सबसे पहले तो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन को हटा दिया जाना चाहिए। इसके साथ ही पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को हटाना चाहिए जिन्होंने पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क की लूट के बोझ तले देश की जनता को दबा दिया।
उन्होंने यह भी कहा कि खाद्य मंत्री को हटाया जाना चाहिए जिन्होंने देश को इस मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया कि गरीब के लिए तो खाद्यान नहीं हैं जबकि शराब बनाने वाली इकाइयों को एक लाख टन चावल दिया जा रहा है। इनसे पहले वित्त मंत्री को हटाया जाना चाहिए जिन्होंने जीडीपी को नकारात्मक स्थिति में पहुंचा दिया।
कांग्रेस महासचिव ने दावा किया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को हटाया जाना चाहिए जिनके कार्यकाल में चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा कर रखा है और सरकार की ओर से कुछ नहीं हो रहा। अगर कामकाज और शासन आधार है तो फिर गृह मंत्री अमित शाह को हटाया जाना चाहिए क्योंकि उनकी नाक के नीचे नक्सलवाद और आतंकवाद फैला हुआ है, पाकिस्तान की तरफ घुसपैठ हो रही है और आए दिन कहीं न कहीं पीट पीट कर जान लेने की घटनाएं हो रही हैं।
उन्होंने यह दावा भी किया कि अगर कामकाज और शासन आधार है तो प्रधानमंत्री को हटा दिया जाना चाहिए क्योंकि आवाज दबाने वाली सरकारों में मोदी सरकार का ही नाम आता है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के रूप में मई 2019 में 57 मंत्रियों के साथ अपना दूसरा कार्यकाल आरंभ करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में फेरबदल व विस्तार करने वाले हैं।

हिम्मत: लूट के मकसद से वारदात को अंजाम दिया

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. रंगराजन कुमारमंगलम की पत्नी किट्टी मंगलम की देर रात बदमाशों ने घर में घुसकर हत्या कर दी। इस वारदात का तब पता चला, जब घर की नौकरानी ने रात करीब 11 बजे पुलिस को सूचना दी। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, इस वारदात को घर के धोबी राजू ने लूट के मकसद से अपने दो साथियों के साथ अंजाम दिया है। इस वारदात से पूरी दिल्ली में सनसनी फैल गई है।
दिल्ली पुलिस के मुताबिक, रात करीब नौ बजे धोभी राजू घर में घुसा और नौकरानी को बेहाेश कर दिया और खींचकर एक कमरे में बंद कर दिया। इसी बीच घर में दो और लोग दाखिल हो गए। 
जिसके बाद इन्होंने किट्टी मंगलम की तकिए से दम घोंटकर हत्या कर दी। नौकरानी ने बाद में होश में आने पर रात करीब 11 बजे पुलिस को इस बात की जानकारी दी। दिल्ली पुलिस के मुताबिक मृतक किट्टी मंगलम का एक बेटा बेंगलुरू में रहता है। वे यहां अकेले रहती थीं और घर में नौकर काम करते थे। पुलिस ने देर रात ही धोभी राजू को गिरफ्तार कर लिया। इसके दोनों साथियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक अभी तक की जांच से लग रहा है कि लूट के मकसद से ये हत्या की गई है।

'हॉकी' के स्वर्णिम युग का आखिरी स्तंभ भी ढह गया

लंदन। ब्रिटेन का मानमर्दन करते हुए ओलंपिक में स्वर्ण पदक के साथ स्वतंत्र भारत को नई पहचान दिलाने वाली 1948 लंदन ओलंपिक टीम के सदस्य केशव दत्त के निधन के साथ ही भारतीय हॉकी के स्वर्णिम युग का आखिरी स्तंभ भी ढह गया। भारतीय हॉकी के सर्वश्रेष्ठ हाफ बैक में से एक केशव दत्त ने बुधवार को कोलकाता में अंतिम सांस ली। 
वह 95 वर्ष के थे। लाहौर में 1925 में जन्में दत्त 1952 हेलसिंकी ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम के उपकप्तान थे। पिछले साल बलबीर सिंह सीनियर के निधन के बाद वह स्वतंत्र भारत की पहली ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता हॉकी टीम के आखिरी सदस्य थे। भारत ने लंदन के वेम्बले स्टेडियम पर अपने पूर्व शासक ब्रिटेन को 4 . 0 से हराकर ओलंपिक में ऐतिहासिक पीला तमगा जीता था। उस जीत ने भारतीय हॉकी के सुनहरे दौर का सूत्रपात किया जो अगले दो ओलंपिक में भी जारी रहा। 
हेलसिंकी में 1952 में भारत ने नीदरलैंड को 6-1 से हराकर लगातार पांचवां स्वर्ण पदक जीता था।
इससे पहले ध्यानचंद के उम्दा खेल के दम पर भारत ने तीन बार स्वर्ण जीते थे लेकिन वह आजादी से पहले की टीम थी। लंदन खेलों से पहले दत्त ने ध्यानचंद की कप्तानी में पूर्वी अफ्रीका का दौरा किया। मेजर ध्यानचंद और केडी सिंह बाबू जैसे दिग्गजों से हॉकी का ककहरा सीखने वाले दत्त ने पश्चिमी पंजाब शहर में अपनी पढाई पूरी की। वह अविभाजित भारत में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में पंजाब के लिये खेलते थे।
विभाजन के बाद वह बांबे (मुंबई) आ गए और फिर 1950 में कोलकाता में बस गए। उन्होंने राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में बांबे और बंगाल के लिये खेला। मोहन बागान के लिये हॉकी खेलते हुए उन्होंने कलकत्ता लीग छह बार और बेटन कप तीन बार जीता। उन्हें 2019 में मोहन बागान रत्न सम्मान भी प्रदान किया गया और यह सम्मान पाने वाले वह पहले गैर फुटबॉलर थे।

ईडी ने 14 को बयान दर्ज करने के लिए समन भेजा

श्रीनगर। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की मां को ईडी ने धन शोधन मामले में 14 जुलाई को पेश होकर अपना बयान दर्ज करने के लिए नया समन भेजा है।
समन के अनुसार गुलशन नज़ीर को श्रीनगर स्थित केंद्रीय जांच एजेंसी के कार्यालय में सहायक निदेशक सुनील कुमार मीणा जो कि मामले में जांच अधिकारी (आईओ) हैं के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।महबूबा मुफ्ती ने आज ट्वीट कर कहा, "ईडी ने मेरी मां को अज्ञात आरोपों के लिए व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए समन भेजा है। 
भारत सरकार राजनीतिक विरोधियों को डराने-धमकाने के अपने प्रयासों में वरिष्ठ नागरिकों को भी नहीं बख्शती। अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और ईडी जैसी एजेंसियां उनको फायदा पहुंचाने का उपकरण है।

किसानों की चेहरे पर चिंता की लकीर दिखने लगीं

मनोज सिंह ठाकुर         
झाबुआ। सूखे की मार झेल रहे जिले के किसानों की मुसीबतें कम नहीं हो पा रही हैं। मध्यप्रदेश के आदिवासी बाहुल्य झाबुआ, आलिराजपुर, धार, बडवानी आदि जिलो में बारिश ने होने से किसानों की चेहरे पर चिंता की लकीर दिखायी देने लगी है।
इन क्षेत्रों में इस साल जून माह से लेकर जुलाई के पहले सप्ताह तक में अवर्षा के चलते किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरे खिंच गई है। जिन किसानों ने बोवनी कर दी थी उन्हे फिर से बोवनी करना पडेगी। वर्षा नहीं होने से इन जिलों में गर्मी व उमस से बुरा हाल है। दोनों तापमानों में बढोत्तरी होती है। जलाशयों में पानी खत्म हो रहा है व हेंडपंम्प सूख गये है। कई जगहों पर लोग पानी के लिये दूर दराज भटक रहे है तो कई जगहों पर टेंकरों से जल सप्लाय किया जा रहा है।बारिश के लिये आदिवासीयों व किसानों ने टोने टोटके भी करना प्रारंभ कर दिया है, जिसके चलते जिंदा आदमी की अर्थी निकाली जा रही है तो वहीं आदमी को गधे पर उल्टा बिठाकर ढोल ढमाकों से उसकी सवारी भी नगर में निकाली जा रही है। ऐसा वाक्या विगत दिनों पेटलावद तहसील के ग्राम झकनावदा में देखने को मिला।

कश्मीर घाटी में उगाई गई 'चेरी' का दुबई को निर्यात

                 
श्रीनगर। कश्मीर घाटी में उगाई गयी चेरी का निर्यात दुबई को किया गया है। जिससे घाटी में बागवानी फसलों को प्रोत्साहन मिलने की उम्मीद है।
केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने मंगलवार को यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि बागवानी फसलों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कश्मीर घाटी से मिस्री किस्म की चेरी की पहली खेप श्रीनगर से दुबई भेजी गयी है। चेरी की मिस्री किस्म न केवल स्वादिष्ट होती है बल्कि इसमें स्वास्थ्य लाभ के आंकडों के अनुसार जम्मू और कश्मीर देश में 95 प्रतिशत से अधिक चेरी का उत्पादन करता है। 
यह चेरी की चार किस्मों - डबल, मखमली, मिस्री और इटली का उत्पादन करता है।
चेरी के निर्यात की शुरुआत आने वाले मौसमों में कश्मीर से विशेष रूप से पश्चिम एशिया के आलू बुखारा, नाशपाती, खुबानी और सेब जैसे कई फलों के निर्यात के लिए बड़े अवसर प्रदान करेगी। कश्मीर से सेब, बादाम, अखरोट, केसर, चावल, ताजे फल और सब्जियों और प्रमाणित जैविक उत्पादों की निर्यात क्षमता को बढ़ावा देने के लिए किसानों, किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ), सरकारी अधिकारियों और अन्य पक्षधारकों के साथ बातचीत की जा रही है।

मंत्रालय के गठन को ऐतिहासिक निर्णय करार दिया

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सहकारिता मंत्रालय के गठन को ऐतिहासिक निर्णय करार देते हुए कहा है कि इससे कृषि क्षेत्र की समृद्धि का मार्ग प्रशस्त होगा।
उल्लेखनीय है कि सरकार ने केंद्रीय मंत्रिमंडल के संभावित विस्तार से पहले मंगलवार देर रात नए मंत्रालय सहकारी मंत्रालय के गठन घोषणा की। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में सहकारिता मंत्रालय का सर्जन किए जाने का ऐलान किया था।
मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ऐतिहासिक निर्णय करते हुए एक अलग सहकारिता मंत्रालय बना दिया है। सहकारिता मंत्रालय का गठन, कृषि क्षेत्र में विकास को बल देने के साथ-साथ कृषक कल्याण की दृष्टि से भी बहुत कारगर सिद्ध होगा। मैं इसके लिए प्रधानमंत्रीजी को बहुत धन्यवाद देता हूँ।"वहीं मंत्री अमित शाह ने कहा, "मोदी सरकार ने सहकार से समृद्धि के सपने को साकार करने हेतु एक अलग सहकारिता मंत्रालय बनाने का निर्णय लिया है।
इस अभूतपूर्व निर्णय पर पीएम नरेंद्र मोदी जी का हृदय से आभार व्यक्त करता हूँ।"
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, "मोदी जी के इस दूरदर्शी निर्णय से कृषि व ग्रामीण क्षेत्र में समृद्धि का एक नया सवेरा आएगा। मोदी सरकार पिछले 7 वर्षों से देश के गाँव, गरीब व किसानों के कल्याण और उनसे संबंधित व्यवसायों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए निरंतर सेवारत है। मुझे विश्वास है यह ऐतिहासिक निर्णय सहकारिता सेक्टर व उससे जुड़े लोगों को सशक्त करेगा और भारत के सहकारिता सेक्टर को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगा।

मजदूर संगठनों ने महंगाई के खिलाफ किया प्रदर्शन

राणा ओबराय                      
कैथल। हरियाणा के कैथल जिले की कलायत तहसील में आज मजदूर संगठनों ने बढ़ती महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया।
भारत की क्रांतिकारी मजदूर पार्टी और मनरेगा यूनियन ने प्रदर्शन के बाद एसडीएम के जरिये मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम ज्ञापन दिया।
मजदूर पार्टी के सुनिल ने इस अवसर पर कहा कि पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि ने मेहनतकश आबादी के हालात बद से बदतर कर दिये हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण जहां एक ओर बेरोजगारी, भुखमरी बढ़ी है और दवा इलाज की कमी से लोग पहले से जूझ रहे हैं, वहां नरेंद्र मोदी सरकार लोगों को राहत पहुंचाने के बजाय महंगाई का बुल्डोजर चला रही है। प्रदर्शन में गांव चौशाला, कलायत, रामगढ़ के लोगों ने हिस्सा लिया।

प्रमुख पद के लिए कैंडिडेटस का ऐलान किया: भाजपा

हरिओम उपाध्याय            
मुज़फ्फरनगर। जनपद के 9 ब्लॉक पर प्रमुख पद के लिए भाजपा ने आज अपने कैंडिडेटस का ऐलान कर दिया है।
भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला ने लिस्ट जारी कर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। पार्टी ने चरथावल ब्लॉक से अक्षय पुंडीर, जानसठ से नरेंद्र सिंह, पुरकाजी से मालती रानी, बघरा से श्रीमती रितु चौधरी, बुढाना से सूर्यकांत त्यागी , मोरना से अनिल कुमार राठी, शाहपुर से अरविंद त्यागी, सदर से वर्षा चौधरी को अपना उम्मीदवार बनाया है जबकि अभी खतौली ब्लॉक पर किसी की घोषणा नहीं की गई है।

सड़क के किनारे लाश मिलने से मचा हड़कंप: यूपी

हरिओम उपाध्याय           
आजमगढ़। आजमगढ़ के थाना अतरौलिया के तेजापुर में बुधवार की सुबह लगभग 5 बजे अभय राज यादव अपने सहयोगी मदन गुप्ता से यह कहकर निकले कि टहलने जा रहे हैं। वही अभय राज यादव की संदिग्ध परिस्थितियों में एनएच 233 सड़क के किनारे लाश मिलने से हड़कंप मच गया। लाश मिलने पर स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना डायल112 नंबर को दी। सूचना मिलते ही सहयोगी कर्मचारी मदन गुप्ता ने पहुंच कर लाश की शिनाख्त अभय राज यादव पुत्र शिवपूजन यादव 46 वर्ष ग्राम समेंदा, थाना सिधारी जिला आजमगढ़ के रूप में की। मृतक अभी 15 दिन पहले ही तेजापुर स्थित देसी शराब की दुकान संजय सिंह नामक व्यक्ति का देशी शराब का ठेका है जिसपर दो सेल्समैन कार्यरत हैं।
जिनका नाम मदन गुप्ता तथा अभय राज यादव ड्यूटी करने आया था। सूचना मिलते ही मृतक की पत्नी रीता पुत्र आनंद मोहन18 वर्ष तथा नीलरतन 16 वर्ष भी मौके पर पहुंच गए। सूचना पर पहुंची 112 नंबर पुलिस व स्थानीय पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के भाई ने बताया कि मुझे सूचना दी गई कि मेरे भाई का एक्सीडेंट हो गया है और मैं यहां आया। प्रथम दृष्टया यह प्रतीत होता है कि एक्सीडेंट या हार्टअटैक से मेरे भाई की मौत हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कोई कार्यवाही की जाएगी। इसकी लिखित सूचना शराब ठेके पर कार्यरत दूसरे कर्मचारी मदन गुप्ता ने दी।

नामांकन को ध्यान में रखा, उम्मीदवारों की घोषणा

हरिओम उपाध्याय               
आजमगढ़। ब्लॉक प्रमुख पद के लिए भाजपा ने लखनऊ से 8 जुलाई को होने वाले नामांकन को ध्यान में रखते हुए जिले में भी उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है।
भाजपा ने जिला मुख्यालय के पल्हनी ब्लाक से संजय यादव, मुहम्मदपुर ब्लाक से पूर्व मंत्री डा.कृष्णमुरारी विश्वकर्मा के भाई विजय विश्वकर्मा, जहानागंज से पूर्व मंत्री यशवंत सिंह के करीबी रमेश कन्नौजिया, अजमतगढ़ से मनीष मिश्रा पिंटू, अतरौलिया से हर्षित सिंह, अहरौला से सुनीता सिंह, कोयलसा से पूजा यादव, तरवा से मतानू राम, पल्हना से अनुराग सिंह, पवई से भाजपा विधायक अरुण कांत यादव के भाई वरुण कांत यादव, बिलरियागंज से शुभ्रा राय, मेंहनगर से निर्मला देवी, महाराजगंज से सुनीता यादव, मार्टिनगंज से यशवंत शर्मा, मिर्जापुर से गीता जायसवाल, रानी की सराय से विपिन सिंह, सठियांव से सरिता सिंह और हरैया से संदीप पटेल को टिकट दिया है। जबकि ठेकमा, तहबरपुर, फूलपुर और लालगंज ब्लॉक से भाजपा को कोई प्रत्याशी नहीं मिल सका है। 
दिलचस्प बात यह है कि सपा ने पहले अपने प्रत्याशी की घोषणा की थी उसमें पूर्व सांसद रमाकांत यादव के बड़े भाई की पुत्र वधू अर्चना यादव पत्नी स्व वीरेंद्र यादव को प्रत्याशी घोषित किए है। साफ है कि अगल बगल की सीटों से रमाकांत यादव के घर के दो सदस्य धुर विरोधी पार्टियों से भाग्य आजमा रहे हैं।

जज पर सवाल उठाने के केस पर 5 लाख का जुर्माना

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ा झटका लगा है और अदालत ने जज पर सवाल उठाने के मामले पर 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। मामले की सुनवाई कर रहे जस्टिस कौशिक चंदा ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार पाते हुए पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। इन पैसों का इस्तेमाल कोविड-19 से पीड़ित परिवारों के सदस्यों की मदद में किया जाएगा। बता दें कि ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में हार के बाद अदालत में दायर याचिका की सुनवाई के लिए जज बदलने की मांग की थी।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कलकत्ता हाई कोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर नंदीग्राम से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी के निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका दूसरी पीठ को सौंपे जाने का अनुरोध किया था। ममता बनर्जी ने दावा किया था कि उनकी याचिका पर सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति कौशिक चंदा भाजपा के सक्रिय सदस्य रह चुके हैं। उन्होंने कहा था कि चुनाव याचिका पर फैसले के राजनीतिक निहितार्थ होंगे। इसलिए यह अनुरोध किया जाता है कि विषय को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश द्वारा दूसरी पीठ को सौंप दिया जाए।
बता दें कि पश्चिम बंगाल विधान सभा का चुनाव आठ चरणों में हुआ था और 2 मई को नतीजे घोषित किए गए थे।बंगाल की नंदीग्राम सीट से बीजेपी नेता शुवेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को 1956 वोट से मात दी थी,लेकिन ममता बनर्जी हार मानने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने शुवेंदु अधिकारी की जीत के खिलाफ कलकत्ता हाई कोर्ट में याचिका दायर की है और चुनाव आयोग पर धांधली के गंभीर आरोप लगाए हैं।

सायरा बानो को दिलीप की मौत का पुरसा देंगे नवेद

हरिओम उपाध्याय             
रामपुर। हिन्दी फिल्मों के ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार नवाब जुल्फिकार अली खां उर्फ मिक्की मियां की बेटी नवाबजादी सबा अली खां की शादी जस्टिस बदर दुररेज अहमद के साथ हुई, तब भी सभी कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। रामपुर नूरमहल पहुंचने पर दिलीप कुमार का भव्य स्वागत किया गया था। इसके अलावा दिलीप कुमार बेगम नूरबानो के चुनाव प्रचार में भी रामपुर आए। दिलीप कुमार शाही परिवार के सुख-दुख में हमेशा शामिल रहे। नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां ने बताया कि वह शीघ्र ही मुंबई जाकर सायरा बानो को दिलीप कुमार की मौत का पुरसा देंगे।
मशहूर फिल्म अभिनेता यूसुफ खान उर्फ दिलीप कुमार के निधन से रामपुर के शाही खानदान को काफी दुख पहुंचा है। उनके इंतक़ाल की खबर पाकर सांसद बेगम नूरबानो और पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां गहरा शोक व्यक्त किया है। फिल्म स्टार दिलीप कुमार के इंतकाल की खबर के बाद नूर महल में गम का माहौल है।
पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खां उर्फ नवेद मियां ने बताया कि दिलीप साहब से उनकी आखिरी मुलक़ात 2003 में हुई थी। नवेद मियां ने बताया कि जब वह पाकिस्तान गये थे तब पेशवार में दिलीप साहब के पुश्तैनी मकान भी पहुंचे थे। नवेद मियां ने बताया कि दिलीप कुमार से उनके दादा रामपुर रियासत के अंतिम शासक नवाब रजा अली खां की दोस्ती 1957 में हुई थी। तब विमल रॉय दिलीप कुमार के साथ अपनी फिल्म मधुमती के लिये नैनीताल में लोकेशन सर्च करने आये थे। नवाब रज़ा अली खां भी उस समय नैनीताल में थे और उनकी मुलाक़त दोनो से गई। नवाब साहब ने उनसे कहा कि रामपुर रियासत की प्रॉपर्टी घोड़ा खाल के पहाड़ों पर शूटिंग कर लें। यह लोकेशन उन्हे पसंद आ गई और पूरी फिल्म यहीं शूट की गई। तब से हो दिलीप साहब और नवाब रजा अली खां अच्छे दोस्त बन गये। नवेद मियां ने बताया कि दिलीप कुमार ने नवाब रजा अली खां के बाद नूर महल से भी यही रिश्ता कायम रखा।
वह नवाब जुल्फिकार अली खान उर्फ मिक्की मियां और बेगम नूरबानो के हर चुनाव में प्रचार के लिए रामपुर आते थे जब नवाबजादी सबा अली खां की शादी जस्टिस बदर दुररेज अहमद के साथ हुई तब भी सभी कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। दिलीप कुमार शाही परिवार के सुख दुख में हमेशा शामिल रहे थे। नवेद मियां ने बताया कि वो शीघ्र की मुंबई जाकर सायरा बानो को दिलीप कुमार की मौत का पुरसा देंगे।

नागरिकों को भूटान में नहीं जाने का परामर्श दिया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने भूटान में कोविड संबंधी हालात को देखते हुए अपने नागरिकों को वहां नहीं जाने का परामर्श दिया है तथा श्रीलंका में आतंकवाद के कारण लोगों से वहां की यात्रा पर पुन: विचार करने को भी कहा है। हाल में जारी यात्रा परामर्श में विदेश मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के कारण भूटान की यात्रा नहीं करें।” इसमें मंत्रालय ने कहा कि रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने भूटान के लिए यात्रा स्वास्थ्य नोटिस जारी नहीं किया है जो इस बात का संकेत है कि देश में कोविड-19 के प्रकोप का स्तर क्या है यह पता नहीं चल पाया है।
विदेश मंत्रालय ने कहा कि यदि आपने एफडीए द्वारा अधिकृत किया टीके की पूरी खुराक ले ली है तो आपको कोविड-19 की चपेट में आने और गंभीर लक्षण विकसित होने का खतरा कम है। अंतरराष्ट्रीय यात्रा की योजना बनाने से पहले कृपया सीडीसी की टीका लगवा चुके लोगों और बिना टीका लगवाए यात्रा पर जाने वाले लोगों के लिए जो विशेष सलाह हैं उन्हें देख लें। मंत्रालय ने अमेरिकी लोगों से कोविड-19 के कारण श्रीलंका की अपनी यात्रा पर पुन:विचार करने का सुझाव दिया और कहा कि ”वहां पर आतंकवाद के कारण अतिरिक्त सतर्कता बरतें। इसमें कहा गया कि सीडीसी ने श्रीलंका में कोविड के कारण तीसरे स्तर का यात्रा स्वास्थ्य नोटिस जारी किया है जो इस बात का संकेत है कि वहां पर कोविड-19 का स्तर काफी अधिक है।

खराब स्वास्थ्य की वजह से केंद्रीय कैबिनेट से हटाया

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। केंद्रीय कैबिनेट में बुधवार शाम को बड़ा बदलाव होना है। उससे पहले दिल्ली में सियासी हलचल जारी है। मंत्रिमंडल में नए नामों के जुड़ने से पहले कुछ पुराने नामों को विदाई दी जा रही है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की कैबिनेट से छुट्टी हो गई है। स्वास्थ्य कारणों की वजह से पीएम को इस्तीफा भेजा।
जानकारी के मुताबिक, रमेश पोखरियाल निशंक को खराब स्वास्थ्य की वजह से केंद्रीय कैबिनेट से हटाया गया है। कोरोना होने के बाद से ही उनका स्वास्थ्य लगातार ठीक नहीं था। ऐसे में अब उन्हें मंत्रिमंडल से हटाया जा रहा है। 

सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 1 आतंकी मारा गया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में बुधवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन का एक कुख्यात आतंकवादी मारा गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। 
कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के सबसे पुराने और कुख्यात आतंकवादियों में से एक मेहराजुद्दीन हलवाई उर्फ उबैद को हंदवारा में हुई मुठभेड़ में मार गिराया। वह आतंकवाद से जुड़े अनेक अपराधों में शामिल था।
पुलिस ने बताया कि जिले के हंदवारा में पाजीपोरा-रेनान इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने बुधवार सुबह वहां घेराबंदी कर तलाश अभियान चलाया था। इस दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की और अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में हलवाई मारा गया।

100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंची पेट्रोल की कीमत

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। मुंबई और चेन्नई के बाद अब दिल्ली और कोलकाता में भी पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुँच गई है। तेल विपणन कंपनियों ने देश के चार बड़े महानगरों में आज पेट्रोल की कीमत 39 पैसे और डीजल की 23 पैसे प्रति लीटर तक बढ़ाई।
अग्रणी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल का मूल्य 35 पैसे बढ़कर 100.21 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया। यह पहली बार है। जब राष्ट्रीय राजधानी में अनब्रांडेड पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से महँगा हुआ है। इसी प्रकार डीजल की कीमत 17 पैसे बढ़कर 89.53 रुपये प्रति लीटर हो गई।
पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने का मौजूदा क्रम 04 मई को शुरू हुआ था। दिल्ली में मई और जून में पेट्रोल 8.41 रुपये और डीजल 8.45 रुपये महँगा हुआ था। जुलाई में पेट्रोल की कीमत 1.40 रुपये और डीजल की 35 पैसे प्रति लीटर बढ़ चुकी है। कोलकाता में भी पेट्रोल 39 पैसे महँगा होकर 100.23 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया। वहाँ डीजल की कीमत 23 पैसे बढ़ी और एक लीटर डीजल 92.50 रुपये प्रति डॉलर का बिका। मुंबई में पेट्रोल के दाम में 32 पैसे और डीजल के दाम में 18 पैसे की वृद्धि की गई। वहाँ अब पेट्रोल 106.25 रुपये और डीजल 97.09 रुपये प्रति लीटर हो गया है। चेन्नई में पेट्रोल 31 पैसे महँगा होकर 101.06 रुपये और डीजल 15 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 94.06 रुपये प्रति लीटर पर पहुँच गया। पेट्रोल-डीजल के मूल्यों की रोजाना समीक्षा होती है और उसके आधार पर हर दिन सुबह छह बजे से नयी कीमतें लागू की जाती हैं।

अधिशासी अभियंता का घेराव कर ज्ञापन सौंपा: यूके

पंकज कपूर            
दिनेशपुर। विधानसभा गदरपुर के कस्बा दिनेशपुर में विद्युत अघोषित कटौती एवं लो वोल्टेज की समस्या से त्रस्त आम आदमी पार्टी के विधान सभा संगठन मंत्री अमरदीप सिंह विर्क के नेतृत्व में ग्रामीणों ने अधिशासी अभियंता का घेराव कर ज्ञापन सौंपा।
मंगलवार को विद्युत कटौती से नाराज आम आदमी पार्टी के संगठन मंत्री अमरदीप सिंह विर्क के नेतृत्व में ग्रामीणों लोग एकत्र होकर विद्युत कार्यालय पहुंचे और नारेबाजी जताते हुए अधिशासी अभियंता को ज्ञापन सौंपकर विद्युत सप्लाई दुरुस्त किए जाने की मांग की। इस दौरान अमरदीप सिंह विर्क ने कहा आम आदमी पार्टी जनता को होने वाली समस्याओं के निराकरण के लिए उनके साथ खड़ी है। 
उन्होंने कहा यदि विद्युत सप्लाई समस्या का समाधान अगले 48 घंटे में नहीं होता है तो आम आदमी पार्टी अपने कार्यकर्ताओं एवं ग्रामीणों के साथ मिलकर विद्युत कार्यालय परिसर में धरना प्रदर्शन करेगी।
उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से ग्रामीणों को गर्मी के समय मैं 12, 12 घंटे की अनियमित कटौती और क्षेत्र के लोगों को आ रही विद्युत संबंधी समस्याओं से विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया। अधिशासी अभियंता द्वारा शीघ्र ही विद्युत समस्या का समाधान किए जाने का आश्वासन दिया। जिस पर आम आदमी पार्टी ने 48 घंटे का समय दिया इसके पश्चात आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता क्षेत्र के लोगों के साथ मिलकर विद्युत घर में धरना प्रदर्शन करेंगे। ज्ञापन सौंपने वालों में पूर्व जिला पंचायत सदस्य मीना विश्वास, रेखा सरकार, सिमरनजीत सिंह विर्क, सुशांत सिंह, विक्रम, खुर्शीद, सुखबीर, आसित मंडल, अर्शदीप, राहुल सहित तमाम कार्यकर्ता एवं ग्रामीण मौजूद थे।।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-326 (साल-02)
2. ब्रहस्पतिवार, जुलाई 8, 2021
3. शक-1984,अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:42, सूर्यास्त 07:16।
5. न्‍यूनतम तापमान -22 डी.सै., अधिकतम-39+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित) 

मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने शुक्रवार को एक मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया। जिसके तहत सहयोगी देशों को कनेक्टिवि...