सोमवार, 18 अक्तूबर 2021

कोर्ट परिसर में वकील की हत्या, आरोपी फरार

कोर्ट परिसर में वकील की हत्या, आरोपी फरार   

आदर्श श्रीवास्तव   

शाहजहांपुर। जिला शाहजहांपुर में एक दुस्‍साहिक वारदात को अंजाम देते हुए हत्‍यारों ने कचहरी परिसर के अंदर एक वकील की गोली मारकर हत्‍या कर दी। वकील की लाश अदालत की तीसरी मंजिल पर मिली है। हत्‍या के बाद कातिल मोके पर देसी पिस्‍टल फेंककर चले गए। इस घटना ने पूरे जिले में हड़कंप मचा दिया है। घटना की सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल के साथ डीएम-एसपी भी मौके पर पहुंचे। उधर, घटना से आक्रोशित वकीलों ने चौराहे पर जाम लगा दिया है। वकीलों को समझाने के लिए एसएसपी, एसपी सिटी सहित लिस के कई आला अधिकारी पहुंचे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार शाहजहांपुर के ईदगाह मोहल्ले के रहने वाले अधिवक्ता भूपेंद्र प्रताप सिंह ( उम्र 36 वर्ष) ने दो साल पहले ही कचहरी में वकालत शुरू की थी। इससे पहले यह टीचिंंग करते थे। सोमवार को भूपेंद्र सिंह की लाश अदालत की तीसरी मंजिल पर मिली। बताया जा रहा है भूपेंन्‍द्र तीसरी मंजिल पर रिकार्ड रूम में कागज चेक करने गए थे। यहां पर ज्यादा लोगों की आवा-जाही नहीं रहती है। दोपहर करीब सवा 12 बजे हमलावरों ने भूपेंद्र पर तमंचे से गोली मारी दी और फरार हो गए। उन्‍हें पीछे से गोली मारी गई है।

 कचहरी परिसर में गोली चलने से हड़कंप मच गया। तमाम वकील मौके पर दौड़कर मौके पहुंच गए। भूपेंद्र सिंह खून से लथपथ गैलरी में पड़े थे। उनकी सांसें थम चुकी थीं। शव से कुछ दूरी पर 315 बोर का तमंचा पड़ा था। पुलिस ने तुरंंत ही कचहरी के गेटों की नाकाबंदी कराकर चेकिंग कराई, पर नतीजा शून्य रहा। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। डीएम इंद्र विक्रम सिंह और एसपी एस आनंद भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने घटना के बारे में जानकारी ली। वकीलों से पूछताछ भी की। एसपी ने घटना के जल्‍द खुलासे का दावा करते हुए कई टीमों का गठन किया है।



किसानों के रेल रोको आंदोलन में प्रशासन अडा  
अकांशु उपाध्याय  
गाजियाबाद। गाजियाबाद में किसानों के रेल रोको आह्वान के चलते प्रशासन एवं रेलवे के अधिकारी पूरा दिन अलर्ट पर रहे। गाजियाबाद, साहिबाबाद, मोदीनगर व लोनी आदि रेलवे ट्रैक पर भारी पुलिस बल एवं रेलवे के अधिकारी मौजूद रहे। लोनी रेलवे स्टेशन पर पंडित सचिन शर्मा प्रदेश अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन अंबावता के रेल रोको आंदोलन के चलते क्षेत्राधिकारी लोनी अतुल कुमार सोनकर एवं लोनी प्रभारी निरीक्षक पुलिस बल के साथ मौजूद रहे। पं सचिन शर्मा एवं जिला अध्यक्ष अमित कसाना को पुलिस ने नजर बंद करके सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखीं। जिससे रेल आवागमन में कोई बाधा नही हुई।

मेरठ में रेल रोको आंदोलन रस्म अदायगी बना 

सत्येंद्र पंवार   

मेरठ। लखीमपुर कांड और कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन द्वारा किया गया ‘रेल रोको आंदोलन’ मेरठ जिले में महज रस्म अदायगी बनकर रह गया। दरअसल अन्य जिलों में किसानों द्वारा ट्रेनों को पहले से ही रोक लिए जाने के कारण मेरठ में ट्रेन नहीं पहुंचीं। इक्का-दुक्का स्थानों पर ट्रेनों के सामने रस्म अदायगी करते हुए किसानों ने सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की गिरफ्तारी और कृषि कानूनों को ‘काला कानून’ बताते हुए अविलंब वापस लिए जाने की मांग उठाई गई।

लखीमपुर कांड में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की गिरफ्तारी की मांग और कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन और अन्य किसान संगठनों ने सोमवार को देशभर में Kisan Protest ‘रेल रोको आंदोलन’ का ऐलान किया था। मेरठ में भी किसानों ने तीन रेलवे ट्रैक पर जाम लगाने की घोषणा की थी। जिसके चलते मेरठ का परतापुर रेलवे स्टेशन, कंकरखेड़ा रेलवे स्टेशन और सकौती रेलवे स्टेशन सोमवार की सुबह से ही छावनी में तब्दील रहे।

परतापुर रेलवे स्टेशन

सोमवार की सुबह परतापुर रेलवे स्टेशन के रेलवे ट्रैक पर किसान नेता विजयपाल घोपला, लोकदल के महासचिव सचिन शर्मा घाट, सपा नेता पवन गुर्जर, पूर्व चेयरमैन नरेंद्र चौधरी और प्रखर चौधरी सहित सैकड़ों किसानों ने रेलवे ट्रैक पर जाम लगा दिया। इस दौरान किसान नेताओं ने सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए जमकर हंगामा किया। मौके पर मौजूद पीएसी और आरपीएफ सहित परतापुर पुलिस और एसडीएम गणेश कन्नौजिया किसानों को समझाने में जुटे रहे। हालांकि दोपहर तक रेलवे ट्रैक पर कोई ट्रेन ना पहुंचने के कारण किसान कोई ट्रेन नहीं रोक सके।

कंकरखेड़ा फ्लाईओवर के नीचे

कंकरखेड़ा फ्लाईओवर के नीचे किसान नेता मनोज त्यागी, बबलू जिटौली, विनोद जिटौली, जगबीर सिंह दबथुवा और रविंद्र दौरालिया के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने रेलवे ट्रैक पर जाम लगाया। मगर पीछे से ही कोई ट्रेन ना आने के कारण यहां भी किसान दोपहर तक ट्रेन का इंतजार करते दिखाई दिए। उधर, ट्रेनों के समय पर ना पहुंचने के चलते रेलवे स्टेशन पर यात्री परेशान दिखाई दिए।


वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रामलीला का शुभारंभ किया

कौशाम्बी। कौशाम्बी में इन दिनों भक्ति की बयार चल रही है। नगर पंचायत अझुवा कार्यालय के सामने स्थित गांधी चबूतरा मैदान में बीती देर शाम सिराथू विधायक शीतला प्रसाद पटेल, उर्फ पप्पू पटेल ने गणेश पूजा ,रामलीला की मुकुट पूजन के साथ वैदिक मंत्रोच्चार के   बीच रामलीला का शुभारंभ करवाया। इसके साथ ही 10 दिनों तक चलने वाले रामलीला कार्यक्रम का शुभारंभ हो गया। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश कुशवाहा ने बताया कि नगर में 25 और 26 अक्टूबर को विशाल मेले का आयोजन होगा। जिसमें विविध प्रकार की सांस्कृतिक झांकियों का भी प्रदर्शन होगा। हलांकि कोरोना संक्रमण के चलते बीते वर्ष नगर का विशाल रामलीला -दशहरा नही हो पाया था इस वर्ष नगर पंचायत अझुवा में दशहरा और रामलीला धूमधाम पूरे लाव लश्कर के साथ मनाया जा रहा है। आयोजकों ने दशहरा और रामलीला की तैयारी की कमर कस ली है। जिसकी बानगी गणेश पूजन,मुकुट पूजन के समय दिखाई भी दी है। रामलीला मैदान जय श्री राम के घोष से गूंजता रहा है। मुकुट पूजन के बाद चित्रकूट धाम से आये रामलीला के उत्कृष्ट कलाकारों ने नारद मोह का सजीव मंचन किया है। लीला का मंचन देख दर्शक निहाल हो गए रात भर रामलीला मैदान जयश्री राम के घोष से गूंजता रहा है। भगवान शिव ने मां पार्वती को विस्तार से भगवान राम की कथा सुनाई कि अहंकार सभी जीवों का शत्रु होता है। चाहे भगवान हो या इंसान ,मुनि नारद ने घोर तपस्या कर रिद्धि-सिद्धि को प्राप्त कर लिया था। इसी के बल पर देव विजय प्राप्त कर लिया था। जिसका उन्हें अहंकार हो गया कि मुझसे बढ़कर कौन भगवान विष्णु ने नारद का घमंड तोड़ने के लिए लीला रची। एक सुंदर मायानगरी का निर्माण कर एक स्वयंबर का आयोजन किया। नारद मुनि भगवान विष्णु से सुंदर अक्स मांगने गए तो प्रभु ने उन्हें बंदर का रूप दे दिया। स्वयंवर में बंदर का रूप लेकर नारद मुनि इठला रहे थे। लेकिन स्वयंबर में हंसी का पात्र बन गए। इस प्रकार भगवान ने नारद मुनि का अहंकार चकनाचूर किया। जिस पर नारद मुनि ने भगवान को श्राप भी दिया। मुकुट पूजन के अवसर पर रामलीला कमेटी के अध्यक्ष ओमप्रकाश कुशवाहा, डॉ भोला नाथ,शंकरलाल केसरवानी,कपूर चंद्र केसरवानी,पंकज मौर्य ,रमेश चंद्र,अनिल केसरवानी(अनिल बाबा) राजू केसरवानी, उदय अग्रहरी,ज्ञानचंद्र पाल,दौलत राम पंडा,छोटेलाल केसरवानी सहित तमाम श्रद्धालु मौजूद रहे।
सन्तलाल मौर्य 

हाईकोर्ट ने धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया         

दुष्यंत टीकम    

बिलासपुर। द मिलादुन्नबी पर्व पर बिलासपुर हाईकोर्ट ने वक्फ बोर्ड की अनुशंसा पर इस बार धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस आदेश के खिलाफ बिलासपुर के मुस्लिम समुदाय ने हाईकोर्ट की शरण ली थी। प्रकरण की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने ये कहते हुए याचिका खारिज की उन्हें इस फैसले में राहत देने का अधिकार नहीं है।

हाईकोर्ट की सिंगल बेंच ने अपने फैसले में कहा कि यह राज्य का नीतिगत निर्णय है। सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के तहत राज्य के नीतिगत फैसलों पर यह कोर्ट कोई निर्णय नहीं कर सकती। कोर्ट ने कहा कि इस समय कोरोना की परिस्थितियां भी हैं, लिहाजा यदि किसी जिले में जुलूस आयोजन की अनुमति दी गई और किसी में नहीं तो ऐसे में व्यवस्था का संकट खड़ा हो जाएगा। यह निर्णय प्रशासन और राज्य शासन ही ले सकता है। इस फैसले के बाद साफ हो गया कि छत्तीसगढ़ में मंगलवार को ईद पर कहीं जुलूस, रैली और बड़े आयोजन नहीं होंगे। बिलासपुर की ‘उसकी देन कमेटी’ के अध्यक्ष हाजी गफूर हुसैन ने अधिवक्ता विवेक श्रीवास्तव के माध्यम से याचिका दायर की थी। इसमें वक्फ बोर्ड एवं छत्तीसगढ़ सरकार के जारी आदेश को चुनौती दी गई थी। याचिका में बताया गया है कि वक्फ बोर्ड को मुस्लिम समुदाय की संपत्तियों की देखरेख व संरक्षित करने की जिम्मेदारी दी गई। वक्फ बोर्ड को समुदाय के धार्मिक आयोजनों पर फतवा जारी करने का कोई अधिकार नहीं है।

याचिका में बताया गया था कि राज्य शासन ने वक्फ बोर्ड की अनुशंसा पर ईद मिलादुन्नबी पर्व पर किसी प्रकार के जुलूस निकालने, जलसा व सामूहिक आयोजन नहीं करने का आदेश जारी किया है। इस आदेश के अनुसार ही कलेक्टर ने भी यहां समाज के धार्मिक आयोजन को बैन करने का आदेश दिया है। याचिका में वक्फ बोर्ड व शासन के आदेश को संवैधानिक अधिकारों का हनन बताया गया है। इस प्रकरण में सोमवार को ही याचिका दायर कर अर्जेंट हियरिंग करने की मांग की गई थी। हाईकोर्ट ने इस प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए सुनवाई की और शासन-प्रशासन का भी पक्ष सुना। सभी पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला सुनाया है।

याचिका में कहा गया है कि राज्य शासन व जिला प्रशासन ने धार्मिक आयोजन पर प्रतिबंध लगाकर समुदाय को उनके आयोजन से वंचित किया है। वह भी सिर्फ वक्फ बोर्ड की अनुशंसा को आधार बनाकर शासन ने आदेश जारी किया है। जबकि, वक्फ बोर्ड को इस तरह से समुदाय के धार्मिक आयोजनों पर फैसला लेने का कोई अधिकार ही नहीं है। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता रोहित शर्मा ने इस मामले में तर्क देते हुए मुस्लिम लॉ कमेटी, वक्फ बोर्ड के अधिकार क्षेत्र पर बहस की। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कोविड प्रोटोकॉल के तहत राज्य शासन व जिला प्रशासन ने प्रदेश में सभी जगहों पर नवरात्रि व दशहरा पर्व पर गरबा व उत्सव मनाने की अनुमति दी है। उसी तरह मुस्लिम समुदाय को भी निर्धारित शर्तों के तहत धार्मिक आयोजन करने की अनुमति दी जाए।

कश्मीर: आतंकी हमले में कई बिहारी मजदूर मारें गए

अविनाश श्रीवास्तव      

श्रीनगर/ पटना। कश्मीर में पिछले दिनों से लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। वहीं, इस आतंकी हमले में कश्मीर में अब तक कई बिहारी मजदूर मारे गए है। जिसके बाद उन सभी मजदूरों के परिवारों में कोहराम मच गया है। लेकिन, कश्मीर में हो रहे आतंकी हमले को लेकर अब बिहार में सियासत शुरू हो गयी है।

 कश्मीर में पिछले दिनों से लगातार आतंकी हमले हो रहे हैं। वहीं, इस आतंकी हमले में कश्मीर में अब तक कई बिहारी मजदूर मारे गए हैं। जिसके बाद उन सभी मजदूरों के परिवारों में कोहराम मच गया है। लेकिन, कश्मीर में हो रहे आतंकी हमले को लेकर अब बिहार में सियासत शुरू हो गयी है। बिहार में हमले और हत्या के मामले में राजनीति शुरू हो गई है। इस हमले को लेकर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी भड़क गए हैं।

इस गुस्से में जीतन राम मांझी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को निशाने पे ले लिया है।मांझी ने बड़ा हमला बोलते हुए मोदी-शाह को चुनौती दे डाली है कि यदि उनसे यह सब नहीं संभल रहा तो इसकी जिम्मेदारी बिहारियों पर छोड़ दे। वे खुद ही निपट लेंगे। दरअसल, जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर लिखा कि, “कश्मीर में लगातार हमारे निहत्थे बिहारी भाईयों की हत्या की जा रहीं है, जिससे मन व्यथित है। अगर हालात में बदलाव नहीं हो पा रहें तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमित शाह जी से आग्रह है। कश्मीर को सुधारने की जिम्मेवारी हम बिहारियों पर छोड दिजिए 15 दिन में सुधार नहीं दिया तो कहिएगा।

प्रयागराज: सिविल लाइंस पृथ्वी गार्डन में हुईं बैठक       

बृजेश केसरवानी    

प्रयागराज। महानगर उद्योग व्यापार मंडल और महिला उद्योग व्यापार मंडल संयुक्त बैठक सिविल लाइंस पृथ्वी गार्डन में हुई। जिसमें, कि बोलते हुए संगठन के जिला अध्यक्ष सुशांत कुमार केसरवानी ने कहा कि भारत सरकार को वर्ल्ड कप टी-20 में पाकिस्तान के साथ मैच का बहिष्कार करना चाहिए। जिस तरह से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद कश्मीर में गैर कश्मीरियों का कत्ल कर रहा है। उसे इस्थिति में पाकिस्तान से सभी प्रकार के रिश्ते खत्म कर लेना चाहिए। इस संबध में शीर्षक से भारत सरकार प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी समेत रक्षामंत्री, और खेल मंत्री को ट्वीट कर अपनी भावनाएं जताई और मांग की। संरक्षक राजीव कृष्ण श्रीवास्तव और वरिष्ठ महामंत्री अनुप वर्मा ने कहा की जंग और खेल एक साथ नही हो सकते जिला कोषाध्यक्ष मनीष कुमार गुप्ता ने भारत सरकार से निवेदन किया, कि क्रिकेट के खेल की जगह पाकिस्तान को आतंक का खेल ज्यादा पसंद है तो एक बार आर पार का खेल हो जाना चाहिए। नगर वरिष्ठ महामंत्री निखिल पांडेय ने कहा की किसी भी विपरीत परिस्थिति में व्यापारी समाज देश हित में सरकार के साथ खड़ा है।

आज की बैठक में मुख्य रूप से वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओम प्रकाश गुप्ता, विशाल वर्मा, नमनजोत सिंह, संजीव मेहरोत्रा, उज्जवल टंडन, संदीप जायसवाल, मुसाब खान, जैकी खान, अमित केसरवानी, आशीष केसरवानी, शरद केसरवानी, बृजेश चौरसिया, राजेंद्र अग्रवाल, मुनीमजी रचना त्रिवेदी, रोशनी अग्रवाल सारिका भरद्वाज, रीता सोढ़ी आदि पदाधिकारियों ने भी सहमति जताई और 2 मिनट का मौन रखे मारे गए। लोगो की आत्मा की शांति की प्रार्थना की।

यूपी: अस्करी को फूल माला पहनाकर नवाज़ा गया

बृजेश केसरवानी      

प्रयागराज। बख्शी बाज़ार में अन्जुमन ग़ुन्चा-ए-क़ासिमया के सदस्यों के उत्कृष्ट योगदान के लिए ओलमाओं द्वारा फूल माला पहना कर इनामात से नवाज़ा गया। अस्करी अब्बास की ओर से अन्जुमन ग़ुन्चा-ए-क़ासिमया के शायर तालिब इलाहाबादी को बेहतरीन कलाम लिखने, नौहाख्वान शादाब ज़मन को नौहे की बेहतरीन अदायगी,मिर्ज़ा अज़ादार को अन्जुमन को संचालित करने और सै.मो.अस्करी को नशरो अशात मे बेहतरीन कार्य के लिए स्व सग़ीर अब्बास स्मृति सम्मान से नवाज़ा गया। वहीं हसनैन अख्तर की ओर से ओलमाओं, शायर, नौहाख्वानों, मीडिया इन्चार्ज सै.मो.अस्करी अन्जुमन के अध्यक्ष रिज़वान जव्वादी, महासचिव मिर्ज़ा अज़ादार हुसैन को गिफ्ट पैक तो मोहम्मद नक़वी की ओर से इत्र और रुमाल भेंट किया गया। मौलाना रज़ी हैदर के हाँथो इनामात मिलने पर ओहदेदारों के चेहरे खिल गए। उपाध्यक्ष बाक़र मेंहदी व नजमुल हुसैन उप महासचिव महमूद अब्बास, बाशू भाई ,ज़ैग़म नक़वी ,हसन हैदर, दस्ता सेक्रेट्री अली रज़ा रिज़वी, मिर्ज़ा दानिश को भी इनामात से नवाज़ा गया।


हवाई चप्पल में जहाज की यात्रा, अब महगें दिन

हवाई चप्पल में जहाज की यात्रा, महगें दिन
हरिओम उपाध्याय   
नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बढ़ती कीमतों को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज से सफर करेंगे, लेकिन सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम इतने बढ़ा दिए कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल हो गया है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट में भाजपा लाई महंगे दिन हैशटैग भी इस्तेमाल किया है। इसके साथ ही प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में एक मीडिया रिपोर्ट का भी जिक्र किया है। इस रिपोर्ट में लिखा है कि विमान के ईंधन से 30 फीसदी महंगा हुआ पेट्रोल।

इससे पहले भी प्रियंका गांधी ने पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया था। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने एनपीके (उर्वरक) की कीमत में 275 रुपये और एनपी (उर्वरक) की कीमत में 20 रुपये की बढ़ोतरी की है। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘दैनिक बढ़ोतरी के साथ सरकार ने डीजल की कीमतों को 100 रुपये के पार कर दिया है। भाजपा शासन के तहत, कार्यकर्ता और किसान बढ़ती कीमतों के बोझ से दबे हैं, जबकि केवल मोदी के दोस्त ही अमीर हो रहे हैं।

वहीं रविवार को राहुल गांधी ने भी महंगाई को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर लिखा था‘‘सभी के लिए विनाश’’ और ‘‘बढ़ती कीमतों’’ का विकास है। राहुल गांधी ने ट्विटर पर रिपोर्ट को टैग किया, जिसमें दावा किया गया है कि अगर सरकार ने करों में वृद्धि नहीं की होती तो पेट्रोल 66 रुपये प्रति लीटर होता और डीजल 55 रुपये प्रति लीटर होता। गांधी ने आरोप लगाया कि सरकार ‘‘कर उगाही’’ में लिप्त है। गांधी ने ‘टैक्स एक्सटॉर्शन’ हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए हिंदी में ट्वीट किया, ‘‘सबका विनाश, महंगाई का विकास।’’

81 गांवो के किसानों का धरना, प्रशासन हलकान  

सुरेंद्र भाटी    गौतम बुध नगर। नोएडा में किसानों आज नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेस-वे (परी चौक से नोएडा की ओर आने वाले रास्ते) पर ट्रैक्टर खड़े कर जाम कर दिया।  नोएडा में 81 गांवों के किसान पिछले 50 दिनों से हरौला गाँव के बारात घर में धरने पर बैठे हैं। किसान सरकार से बेहतर मुआवजे की मांग कर रहे हैं। 

किसान आज पहले नोएडा में महामाया फ्लाई ओवर पर एकत्र हुए और उसके बाद नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेसवे पर ट्रैक्टरों में सवार होकर चलने लगे। बहुत से किसान पैदल भी चल रहे थे।  रास्ते में पुलिस के आला अधिकारियों ने किसानों को समझाने की कोशिश की किन्तु, वे नहीं माने। इसके बाद किसान नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी के घर के बाहर धरने पर बैठ गए। किसानों के आंदोलन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड लगा कर नोएडा बार्डर को बंद कर दिया था।  पुलिस की इस हरकत से नोएडा से दिल्ली आने वाले लोगों को बहुत परेशानी हुई और कुछ ही देर में लंबा जाम लग गया। इसके बाद यूपी पुलिस ने वाहनों को डीएनडी फ्लाईओवर की ओर डाइवर्ट कर दिया। किसानों का कहना है कि प्राधिकरण में बैठे अधिकारी खुद को कॉरपोरेट कंपनी का अधिकारी मानते हैं तथा उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि किसानों की जमीन पर ही उनका दफ्तर बना है। किसानों का कहना है कि जब तक उनकी सारी मांगें पूरी नहीं होंगी तब तक यह प्रदर्शन जारी रहेगा।   


सलमान खान देंगे 8.25 लाख महीने का किराया

सलमान खान देंगे 8.25 लाख महीने का किराया   

कविता गर्ग       

मुंबई। बॉलीवुड के दबंग एक्टर सलमान खान अपनी फैमली के साथ बांद्रा के पॉपुलर गैलेक्सी अपार्टमेंट्स  में रहते हैं। साथ ही वो पनवेल के फॉर्म हाउस में भी समय बिताते हैं। महामारी के दौरान उनका लंबा वक्त फॉर्म हाउस पर ही गुजरा। उन्होंने फार्म हाउस का नाम अपनी बहन के नाम पर अर्पिता 'फार्म्स' रखा है। वैसे सलमान के पास मुंबई में और भी कई प्रॉपर्टी हैं। अब सलमान खान ने एक और प्रोपर्टी किराये पर ली है। एक रियल एस्टेट पोर्टल के हवाले से खबर दी है कि सलमान खान ने बांद्रा स्थित अपने घर के नजदीक ही एक डुप्लेक्स के लिए रेंट एग्रिमेंट फाइनल किया है। यह डुप्लेक्स बांद्रा के मकबा हाइट्स के 17 वीं और 18 वीं मंजिल पर है। जिसका मालिकाना हक बाबा सिद्दीकी और जीशान सिद्दीकी के पास है। 

गौरतलब है कि बाबा सिद्दीकी से सलमान खाने के काफी अच्छे रिश्ते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, यह एग्रिमेंट 11 महीने के लिए है। इस डुप्लेक्स में तमाम सुविधाएं पहले से ही मौजूद हैं। 2,265 वर्ग फुट का कार्पेट एरिया है। बताया जा रहा है कि इस डुप्लेक्स का इस्तेमाल राइटर पैड के लिए किया जाएगा। इसके लिए हर महीने सलमान 8.25 लाख रुपया किराया देंगे।

हाल ही में, सलमान खान ने अपनी आने वाली फिल्म 'अंतिमः द फाइनल ट्रूथ' के रिलीज डेट की घोषणा की है। महेश मांजरेकर के निर्देशन में बनी यह फिल्म 26 नवंबर को रिलीज होगी। फिल्म में उनके जीजा आयुश शर्मा ने मुख्य भूमिका निभाई है, जबकि सलमान एक पुलिस ऑफिसर के किरदार में हैं। यह फिल्म मराठी फिल्म 'मुल्शी पैटर्न' की रिमेक है। बॉक्स ऑफिस पर जॉन अब्राहम की फिल्म 'सत्यमेव जयते -2' से इस फिल्म की सीधी टक्कर होगी।
इसके अलावा सलमान खान फिल्म 'टाइगर 3' में भी नजर आएंगे। इस फिल्म में एक बार फिर उनकी जोड़ी कैटरीना कैफ के साथ बनी है। हाल ही में फिल्म की शूटिंग कर विदेश से वापस आए हैं। फिल्म के बचे हुए हिस्से की शूटिंग जल्द शुरू होगी। 'टाइगर 3' का निर्देशन मनीष शर्मा कर रहे हैं। हाल ही में सलमान ने शाहरुख खान की फिल्म 'पठान' में एक कैमियो की भी शूटिंग पूरी की है। वैसे सलमान खान के पास और भी कई बड़े प्रोजेक्ट्स हैं। फिल्म 'कभी ईद कभी दिवाली' और 'किक 2' में भी वो नजर आएंगे।

एनसीबी की सोच, रिश्ता बड़े ड्रग्स रैकेट से जुड़ा

एनसीबी की सोच, रिश्ता बड़े ड्रग्स रैकेट से जुड़ा 

कविता गर्ग   

मुंबई। साल 2020 में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी एनसीबी ने बॉलीवुड में सफाई अभियान की शुरुआत की थी। फिल्मी दुनिया से ड्रग्स को निकालने के लिए समीर वानखेड़े और उनकी टीम ने बॉलीवुड स्टार्स को अपने घेरे में लिया और रिया चक्रवर्ती को पकड़ा। इस साल यही चीज शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के साथ हुई।

रिया चक्रवर्ती को 8 सितम्बर 2020 को एनसीबी ने गिरफ्तार किया था और इसके बाद उन्हें लगभग एक महीने तक जेल में रहना पड़ा था। रिया को मुंबई के बायकुला जेल से 7 अक्टूबर को रिहाई मिली थी। बॉम्बे हाई कोर्ट ने रिया को जमानत दी थी। यह दिन अपने आप में अलग है क्योंकि इस साल वो 7 अक्टूबर का ही दिन था जब किला कोर्ट ने आर्यन खान को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रहने की सजा सुनाई। आर्यन, 2 अक्टूबर को गिरफ्तार हुए थे और मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उन्हें जेल भेजने से पहले दो बार एनसीबी की रिमांड में भेजा था। एक बहुत जरूरी चीज जो 28 साल की रिया चक्रवर्ती और आर्यन खान की जिंदगी में एक जैसी है, वो यह कि दोनों के पास से कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुए थे। दोनों के केस में फोन का इस्तेमाल किया गया। इसी से एनसीबी ने अपनी सोच बनाई कि दोनों का रिश्ता बड़े ड्रग्स रैकेट से जुड़ा हुआ है।
एक तरफ रिया चक्रवर्ती का केस था जिसमें एनसीबी ने कहा था कि रिया ने खुद कोई ड्रग्स नहीं लिये, बल्कि वह एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को ड्रग्स सप्लाई करने का काम करती थीं। हाई कोर्ट से मिले रिया की रिहाई के आर्डर के मुताबिक एनसीबी ने कहा था- जो ड्रग्स रिया ने खरीदे थे वो उनके खुद के इस्तेमाल के लिए नहीं थे। ड्रग्स को दूसरे शख्स के इस्तेमाल के लिए सप्लाई किया गया था। NDPS एक्ट के सेक्शन 27 ए को रिया पर एनसीबी ने लगाया गया। इसमें अपराधियों को शरण देने और ड्रग्स की सप्लाई से अपने वित्तीय फायदे के लिए सजा दी जाती है। एनसीबी के मुताबिक, रिया ड्रग सिंडिकेट से जुड़ी एक्टिव मेंबर थीं जो ड्रग्स सप्लाई करती थीं। वह सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करने वाली चेन की अहम मेंबर थीं और वह आर्थिक चीजें भी संभाल रही थीं। ये सारी जानकारी एनसीबी को रिया चक्रवर्ती के फोन से मिली थी, जो उन्होंने एक्ट्रेस की जांच के समय जब्त किया था। पुरानी डिलीट की हुई व्हाट्सएप चैट को रिकवर किया गया। लोगों के साथ चैट, ड्रग्स के बारे में बातें, पैसों को लेकर बातें और पैसों का लेनदेन रिया के खिलाफ एनसीबी के केस की रीढ़ की हड्डी बना था। रिया चक्रवर्ती को जमानत देते हुए हाई कोर्ट ने कहा था कि अगर सेक्शन 27 ए को पूरा पढ़ा जाए तो पता चलता है कि ड्रग्स ट्रैफिक करने में आर्थिक या किसी अन्य लाभ की आशा की जाती है कोर्ट ने यह भी कहा था कि रिया के मामले में उन्होंने ड्रग्स को दूसरे इंसान को अपने वित्तीय फायदे या किसी और फायदे के लिए नहीं दिया था।
दूसरी तरफ आर्यन खान की बात करें तो उनपर आरोप है कि वे ड्रग्स लेने और बड़े कांस्पीरेसी का हिस्सा हैं। एनसीबी के मुताबिक, आर्यन रेव पार्टी में अपने दोस्त अरबाज मर्चेंट के साथ 'ब्लास्ट' करने वाले थे। अरबाज के पास से 6mg नशीला पदार्थ बरामद हुआ है। आर्यन को गिरफ्तार करने के बाद एनसीबी ने उनके फोन को भी जब्त कर लिया और जल्द से जल्द उनके तमाम चैट को खंगालने लगी ताकि यह कह पाए कि वह इंटरनेशनल ड्रग ट्रैफिकिंग रैकेट का हिस्सा हैं।

चरस तस्कर गिरफ्तार, 150 ग्राम चरस बरामद 
दुष्यंत टीकम           
रायपुर। नशे का कारोबार करने वालों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। इसी कड़ी में रायपुर पुलिस ने तस्कर हरीश रावत को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी के पास से पुलिस ने 150 ग्राम चरस बरामद किया है। जब्त चरस की कीमत 4 लाख रुपए बताई जा रही है। आरोपी के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने नारकोटिक्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।
वहीं, दूसरी ओर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओडिशा राज्य से गांजा तस्करी को रोकने के लिए ओडिशा और छत्तीसगढ़ के पुलिस अधिकारियों की उच्च स्तरीय संयुक्त बैठक आहूत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने गांजा तस्करी को रोकने के लिए ठोस कार्ययोजना बनाने और सीमावर्ती चेक पोस्ट में सी.सी.टी.वी कैमरे की व्यवस्था के साथ ही चौबीस घंटे निगरानी के लिए पुलिस बल तैनात करने को कहा है।
बदमाश महंगा पड़ा, आरक्षक पीटा, वर्दी फाड़ी
दुष्यंत टीकम          
बेमेतरा। बेमेतरा जिले के साजा थाना में पदस्थ आरक्षक को पब्लिक से गाली-गलौच करने वाले बदमाश को रोकना महंगा पड़ गया। आरक्षक की बदमाश ने जम कर पिटाई करते हुए वर्दी फाड़ दी। बेमेतरा के साजा थाना क्षेत्र के ग्राम ढाप में कल रात आरक्षक कैलाश पाटिल व अन्य पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगी हुई थी।तभी ग्राम ढाप निवासी विक्की लोधी के द्वारा दशहरे मेले में आये पब्लिक से जबरन चिल्ला चिल्ला कर गाली गलौच करने की आवाज सुन आरक्षक कैलाश वहां पहुँचा और विक्की को एसा करने से मना किया।
आरक्षक की समझाइश से तैस में आये बदमाश विक्की लोधी ने आरक्षक की लात घूसों से पिटाई करते हुए उसकी वर्दी फाड़ दी। अन्य आरक्षकों के द्वारा आ कर बदमाश को काबू में कर हिरासत में लिया गया। पुलिस ने आरोपी पर धारा 186,353 के अलावा अन्य धाराओं में अपराध दर्ज किया हैं।
सट्टे की खाईबाडी करतें 2 अभियुक्त गिरफ्तार

कमल अग्रवाल             
हरिद्वार। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय हरिद्वार के द्वारा जुए एवं सट्टा कारोबारियों पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने हेतु कढ़े निर्देश दिये गये हैं तथा पुलिस अधीक्षक महोदय ग्रामीण के निकट पर्यवेक्षण व पुलिस उपाधीक्षक रुड़की के आदेश प्राप्त हुएहै। उच्चाधिकारियों द्वारा दिये गये उक्त आदेश के अनुपालन में थाना क्षेत्रान्तर्गत जुए व सट्टे केकारोबार के सम्बन्ध में मिली सूचनाओं पर कड़ी कानूनी कार्यवाही करने के लिए प्रभारी निरीक्षक गंगनहर द्वाराव0उप0निरी0 के साथ सभी चौकी / हल्का प्रभारियों की थाना क्षेत्र में नियुक्त चेतक कर्म०गणों की टीमें गठित की गई है। तथा सभी को उपरोक्तानुसार उचित दिशा-निर्देश दिये गये है कि सभी अपने-अपने कार्यक्षेत्रों में जुए व सट्टे की सूचना पर तत्काल कानूनी कार्यवाही करेंगे, जिसके क्रम में चेतक 45 तथा चेतक 47 में नियुक्त पुलिस टीमके द्वारा दिनांक 17 अक्टूबर को रात्रि में सट्टा की खाईबाड़ी करते हुए 2 लोग गिरफ्तार किए।

अमेरिका: विवेक का लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान

वैज्ञानिक विवेक को पुरस्कार से सम्मानित किया

वाशिंगटन डीसी। भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिक डॉ. विवेक लाल को दुबई में ‘रिटोसा फैमिली समिट्स’ में लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। सर एंथनी रिटोसा ने पुरस्कार समारोह में कहा कि आप ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड’ के हकदार हैं और मैं आपको उन सभी उपलब्धियों के लिए शुभकामनाएं देता हूं, जो हमारी इस दुनिया को एक बेहतर स्थान बना रही हैं। अपने बेमिसाल काम के जरिए इसे जारी रखिए। कार्यक्रम के संबंध में जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, डॉ. लाल को भारत-अमेरिका रक्षा व्यापार को बढ़ाने और दोनों देशों के बीच कुछ अहम समझौतों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। उन्हें ‘उत्कृष्ट दृष्टिकोण, समर्पण और सफलता’ के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
डॉ. लाल को यह पुरस्कार संयुक्त अरब अमीरात के विदेश व्यापार राज्य मंत्री डॉ. थानी बिन अहमद अल जायौदी की उपस्थिति में दिया गया। इस कार्यक्रम में विश्व के कई प्रभावशाली नेता शामिल हुए। इनके अलावा कारोबारी समूह के मालिक, शेख, शाही परिवार के लोग, निजी निवेश कम्पनियों के पेशेवर आदि भी कार्यक्रम में शामिल हुए।
श्रीलंका के पहले टेस्ट कप्तान का निधन हुआ

कोलंबो। श्रीलंका के पहले टेस्ट कप्तान बांदुला वर्णपुरा का सोमवार को निधन हो गया। वह 68 बरस के थे। स्थानीय मीडिया की खबरों के अनुसार शरीर में शर्करा का स्तर काफी अधिक बढ़ने के चलते रक्त संचार में समस्या के कारण इसी महीने उनका दायां पैर काटना पड़ा था। ठोस तकनीक वाले सलामी बल्लेबाज वर्णपुरा मध्यम तेज गति की गेंदबाजी करने में भी सक्षम थे।
फरवरी 1982 में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में श्रीलंका की अगुआई करने के अलावा वह देश की ओर से टेस्ट क्रिकेट में पहली गेंद का सामना करने वाले और पहला रन बनाने वाले बल्लेबाज भी थे। इसी मैच में बल्लेबाजी और गेंदबाजी (दूसरी पारी में) दोनों में श्रीलंका के लिए आगाज करने का कारनामा भी उन्होंने किया। श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने उनके निधन पर शोक जताया है। एसएलसी प्रमुख शम्मी सिल्वा ने बयान में कहा कि मुझे बांदुला वर्णपुरा के निधन का बेहद दुख है जो श्रीलंका के पहले टेस्ट कप्तान थे। उन्होंने कहा कि वह शानदार क्रिकेटर, प्रशासक, कोच, कमेंटेटर और इन सबसे ऊपर अच्छे इंसान थे और उनका निधन क्रिकेट जगत का भारी नुकसान है।
वर्णपुरा ने 1975 से 1982 तक चार टेस्ट और 12 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में देश का प्रतिनिधित्व किया। वर्णपुरा ने हालांकि विद्रोही टीम के साथ 1982-83 में रंगभेद दौर में दक्षिण अफ्रीका का दौरा करने का फैसला किया था जिसके बाद श्रीलंका क्रिकेट ने उन पर आजीवन प्रतिबंध लगाया था। उन्होंने बाद में राष्ट्रीय टीम के कोच और श्रीलंका क्रिकेट में प्रशासक की भूमिका निभाई।
मुठभेड़ के बाद बदमाश मार गिराया, 3 घायल

नई दिल्ली/ ढाका। उत्तर प्रदेश में लखनऊ के गोमतीनगर क्षेत्र में पुलिस ने एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद 50 हजार रूपये के इनामी बदमाश को मार गिराया।जबकि बदमाशों की गोली से तीन सिपाही घायल हो गये।
पुलिस सूत्रों ने सोमवार को बताया कि बांग्लादेशी घुसपैठियों के एक गिरोह के राजधानी में आने की सूचना पर पुलिस ने गोमतीनगर क्षेत्र में सहारा पुल के पास घेराबंदी की थी। रेलवे लाइन के पास संदिग्ध लोगों को देखकर पुलिस ने उन्हे ललकारा जिस पर बदमाशों ने गोलीबारी करते हुये भागने का प्रयास किया। बदमाशों के हमले में तीन सिपाही घायल हो गये।
 की जिससे गिरोह का सरगना हमजा घायल हो गया जबकि अन्य लुटेरे अंधेरे का फायदा उठाते हुये भाग निकले। घायल को अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार हमजा पर 50 हजार रूपये का इनाम था। उसके कब्जे से हथियार और गोली बारूद बरामद किये गये हैं। घायल पुलिसकर्मियों की हालत खतरे से बाहर बतायी गयी है।

सूत्रों ने बताया कि पुलिस फरार लुटेरों की तलाश कर रही है। उन्होने बताया कि पश्चिम बंगाल के रास्ते भारत में प्रवेश करने वाले बांग्लादेशी लुटेरों के गिरोह के सदस्य लखनऊ में रेलवे लाइन के आसपास बने रिहायशी मकानो को अपना निशाना बनाते हैं।
बिल गेट्स की बड़ी बेटी ने चुपचाप रचाई शादी  
 न्यूयॉर्क। माइक्रोसॉफ्ट की उत्तराधिकारी और अरबपति बिल गेट्स की सबसे बड़ी बेटी जेनिफर गेट्स ने एक प्राइवेट सेरेमनी में शादी रचा ली है। जेनिफर ने मिस्र के 30 वर्षीय मुस्लिम शख्स और घुड़सवार नयेल नासर से शादी की है। जेनिफर और नासर की शादी की खुशी में शनिवार दोपहर को एक रिसेप्शन पार्टी का आयोजन भी किया।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जेनिफर और नासर शुक्रवार को शादी के बंधन में बंधे जिसे उन्होंने बहुत सीक्रेट रखा था। ये विवाह समारोह न्यूयॉर्क की नॉर्थ सलेम स्थित 142 एकड़ की संपत्ति के गार्डन में रखा गया था। जिसमें करीब 300 लोग शामिल हुए थे। नासर 2017 से जेनिफर को डेट कर रहे थे। दोनों ने स्टैनफॉर्ड यूनिवर्सिटी से एकसाथ ग्रेजुएशन किया था। साल 2020 में दोनों ने एक ट्रिप के दौरान अपनी सगाई की घोषणा की थी। शनिवार को हुए इस रिसेप्शन के बाद बिल गेट्स ने अपनी बेटी जेनिफर के साथ एल्टन जॉन के गाने 'कैन यू फील द लव टूनाइट' पर डांस किया। शादी में जेनिफर ने एक कस्टम वेरा वैंग गाउन पहना था। जेनिफर को नौ ब्राइडमेड्स ने मिलकर तैयार किया था। तस्वीरें खिंचवाते वक्त एक ब्राइडमेड ने जेनिफर के गाउन की लॉन्ग वील पकड़ी हुई थी।
बिल गेट्स और मेलिंडा ने अपनी 25 साल की बेटी जेनिफर को एकसाथ सेरेमनी प्वॉइंट तक पहुंचाया था। शाम को करीब चार बजे रिसेप्शन प्रोग्राम शुरू हुआ। इस दौरान बिल गेट्स ने एक डार्क सूट पहना था और मेलिंडा एक पर्पल गाउन में नजर आईं। शाम 5 बजे दोनों ने शादी की घोषणा की और पार्टी में आए मेहमानों से बधाई मिलने का सिलसिला शुरू हो गया। रिसेप्शन के बाद दोनों का गार्डन की खूबसूरत जगहों पर फोटोशूट हुआ। रिपोर्ट्स के मुताबिक, रिसेप्शन में सिर्फ करीबी दोस्तों और रिश्तेदारों को ही आमंत्रित किया गया था। इसमे कुछ सेलिब्रिटीज और राजनेता भी शामिल थे। अरबपति माइकल ब्लूमबर्ग की बेटी जॉर्जिना ब्लूमबर्ग भी इस रिसेप्शन में नजर आईं। वहीं, शुक्रवार रात का फंक्शन बहुत सीक्रेट रखा गया था जहां डिनर में मशहूर फ्रेंच शेफ जीन गॉर्जिस के हाथ से बने लॉब्स्टर डिश और पास्ता जैसी चीजें परोसी गई थीं।
इस दो दिन के ईवेंट की जिम्मेदारी मशहूर वेडिंग प्लानर मार्सी ब्लम को दी गई थी जिसका अनुमानित खर्च करीब दो मिलियन यूएस डॉलर यानी करीब 15 करोड़ रुपए बताया जा रहा है। बता दें कि बिल और मेलिंडा इसी साल अगस्त में एक दूसरे से अलग हुए थे। रिसेप्शन में दोनों ने रिस्पेशन में आए मेहमानों से मुलाकात की।
फंक्शन में सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए थे। यहां डार्क सूट पहने एक सुरक्षाकर्मी जर्मन शेफर्ड के साथ वेन्यू की बारीकी से निगरानी कर रहा था। हालांकि यूनिवफॉर्म पहने पुलिसकर्मी यहां मौजूद नहीं थे। रिसेप्शन में खाने की चीजों का मेन्यू शेयर नहीं किया गया, लेकिन यहां एगप्लांट से तैयार फूड, चिकन कंपाना और स्केलॉप्स जैसी चीजें खाने में थी।
महिला ने एक साथ 7 बच्चों को जन्म दिया  
इस्माबाद। पाकिस्तान में एक महिला ने एक साथ सात बच्चों को जन्म दिया है। डॉक्टरों ने बताया कि अल्ट्रासाउंड और अन्य रिपोर्टों से पता चला था कि महिला  के गर्भ में पांच बच्चे हैं। जिसे देखकर वे हैरान रह गए। लेकिन जब डिलीवरी कराई गई तो महिला ने सात बच्चों को जन्म दिया। फिलहाल, सभी नवजात शिशुओं और उनकी मां की हालत स्थिर है।
दरअसल, ये पूरा मामला ख़ैबर पख़्तूनख़्वा 
के एबटाबाद का है। जहां यार मोहम्मद नाम के शख्स की पत्नी को लेबर पेन होने के बाद अस्पताल ले जाया गया। जिन्ना इंटरनेशनल अस्पताल में यार मोहम्मद की पत्नी ने एक साथ 7 बच्चों को जन्म दिया। जिनमें चार बेटे और तीन बेटियां हैं। बीबीसी के मुताबिक, यार मोहम्मद का कहना है कि इन बच्चों का पालन पोषण करने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं आएगी, क्योंकि वे एक संयुक्त परिवार में रहते हैं और परिवार के सभी लोग उनकी मदद करेंगे। इन 7 बच्चों से पहले यार मोहम्मद की दो बेटियां भी हैं, यानी कि कुल मिलाकर उसकी फैमिली में 9 बच्चे हो गए हैं।
डॉक्टर के अनुसार, 8 महीने की प्रेग्नेंट महिला उनके पास पहली बार शनिवार को आई थी। उस वक्त जांच में पता चला था कि उसके गर्भ में पांच बच्चे हैं। महिला का ब्लड प्रेशर बेहद बढ़ा हुआ था, पेट भी बहुत अधिक फूल चुका था। ऑपरेशन का ऑप्शन खतरनाक था क्योंकि इससे पहले भी महिला के दो बच्चे ऑपरेशन से हो चुके थे। इससे उसके पुराने टांके और गर्भाशय के फटने का ख़तरा था।
लेकिन बाद में कई डॉक्टरों की टीम ने एक घंटे से अधिक लंबे चले ऑपेरशन में सफल डिलीवरी कराई। डॉक्टर ने कहा कि आम तौर पर ऐसा बहुत कम होता है कि एक साथ जन्मे सभी बच्चे जीवित और स्वस्थ हों। लेकिन हमारी टीम ने ये कर दिखाया। बताया गया कि मां को आईसीयू में शिफ़्ट किया गया है। हालांकि, सातों बच्चों और मां की हालत स्थिर है।




भारत: संक्रमितों की संख्या-3,40,81,315 हुईं

भारत: संक्रमितों की संख्या-3,40,81,315 हुईं
अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 13,596 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,40,81,315 हो गयी। जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 1,89,694 रह गयी जो 221 दिनों में सबसे कम है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार सुबह जारी आठ बजे तक के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 166 मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 4,52,290 पर पहुंच गयी।
कोरोना वायरस के एक दिन में सामने आने वाले नए मामले लगातार 24वें दिन 30,000 से कम हैं और लगातार 113वें दिन संक्रमण के दैनिक मामले 50,000 से कम हैं। मंत्रालय ने बताया कि उपचाराधीन मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 0.56 प्रतिशत है जो मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 98.12 प्रतिशत है जो मार्च 2020 के बाद से सबसे अधिक है। इस महामारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में पिछले 24 घंटों में 6,152 की कमी आयी है।
देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को आंकड़े दो करोड़ के पार और 23 
जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।
बाजार में नई कॉम्पैक्ट एसयूवी पंच को उतारा
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। टाटा मोटर्स ने भारतीय बाजार में सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी पंच को उतार दिया है। इसकी शोरूम कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने कहा कि इस मॉडल को टाटा मोटर्स के भारत, ब्रिटेन और इटली के स्टूडियो में डिजाइन किया गया है। यह एक पूरी तरह नयी श्रेणी,सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी है।
कंपनी के उत्पादों में यह मॉडल नेक्सन से नीचे की श्रेणी का है। इसमें 1.2 लीटर का पेट्रोल इंजन है। यह मॉडल मैनुअल और ऑटोमैटिक दोनों में उपलब्ध होगा। टाटा मोटर्स ने दावा किया कि इस मॉडल का मैनुअल ट्रिम 18.97 किलोमीटर प्रति लीटर एआरएआई प्रमाणीकृत ईंधन दक्षता देगा।
वहीं एएमटी (ऑटोमैटेड मैनुअल ट्रांसमिशन) की ईंधन दक्षता 18.82 किलोमीटर प्रति लीटर होगी। कंपनी ने कहा कि ग्लोबल एनसीएपी के दुर्घटना परीक्षण में इसे बालिग यात्री की सुरक्षा की दृष्टि से 5-स्टार रेटिंग मिली है। टाटा मोटर्स की यात्री वाहन कारोबार इकाई के अध्यक्ष शैलेश चंद्रा ने कहा, ”पंच के साथ हमने पूरी तरह नयी श्रेणी बनाई है। यह एसयूवी जैसी छोटे आकार की कार है।
 पहले चरण की बोर्ड परिक्षा का कार्यक्रम घोषित
अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। अगले 24 घंटे में सीबीएसई बोर्ड 10वीं-12वीं के लाखों छात्रों के लिए पहले चरण की बोर्ड परीक्षा का कार्यक्रम घोषित करने जा रहा है। पहले चरण में भी छात्रों के लिए परीक्षाएं दो हिस्सों में विभाजित की जा सकती हैं। पहले छोटे या कम महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षा ली जाएगी और उसके बाद प्रमुख विषयों की परीक्षा ली जाएगी।
यह परीक्षा कार्यक्रम 8 सप्ताह लंबा हो सकता है और यह मार्च-अप्रैल में होने वाली दूसरे चरण की बोर्ड परीक्षा के मुकाबले पूरी तरह से अलग होगा।
सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं से पहले प्रैक्टिकल परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। बोर्ड का कहना है कि 10वीं कक्षा के 20 अंकों के आंतरिक मूल्यांकन को भी दस-दस अंकों में विभाजित किया जाएगा। वहीं 12वीं कक्षा के लिए इसे 15- 15 अंकों के दो हिस्सों में बांटा जा रहा है।
कोरोना संक्रमण के कारण सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा दो चरण में आयोजित की जा रही है। पहले चरण की परीक्षा का शेड्यूल 18 अक्टूबर को जारी किया जाएगा।
इस बार बोर्ड परीक्षा के छात्रों को 20 मिनट का रीडिंग टाइम दिया जाएगा। पहले यह समय 15 मिनट का था। पहले चरण की बोर्ड परीक्षाओं में बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्न (एमसीक्यू) होंगे। पहले सत्र की बोर्ड परीक्षाएं नवंबर-दिसंबर, 2021 में आयोजित की जा रही हैं। इनकी अवधि 90 मिनट होगी।
हालांकि परीक्षा परिणाम मार्च अप्रैल में होने वाली दूसरे चरण की परीक्षा के बाद जारी किया जाएगा। दरअसल सीबीएसई बोर्ड पहले ही 10वीं एवं 12वीं कक्षा का सिलेबस दो हिस्सों में बांट चुका है।
देश भर के सीबीएसई स्कूलों ने अगले महीने बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले लाखों छात्रों का डेटा यानी लिस्ट आफ केंडिडेटस (एलओसी) तैयार कर ली है। देशभर के ऐसे सभी स्कूल जो सीबीएसई से एफिलिएटिड है उन्हें अपने छात्रों की आधिकारिक एलओसी सीबीएसई के संबंधित पोर्टल पर अपलोड कर दी है।
 गौरतलब है कि देशभर के विभिन्न उच्च शिक्षण संस्थानों में सीबीएसई के छात्रों को काफी अच्छी संख्या में दाखिला मिलता रहा है। दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार विकास गुप्ता ने बताया कि पहली कट आफ के आधार पर ही 7 अक्टूबर अंत तक सीबीएसई बोर्ड के 31,172 उम्मीदवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में दाखिला मिल चुका है।

प्रदेशों को 100 करोड वैक्सीन की खुराक दी
अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। कोरोना महामारी के संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि इस दौरान टीके का स्टॉक लगातार बढ़ा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, विभिन्न राज्यों में इस्तेमाल नहीं किए गए टीकों की संख्या पिछले एक महीने में लगभग दोगुनी हो गई है। आपको बता दें कि अक्टूबर की शुरुआत में इसकी संख्या करीब पांच करोड़ के करीब थी, जे बढ़कर 10 करोड़ हो गई है। यह बताता है कि देश में टीके की कोई कमी नहीं है।
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, "नए आंकड़ों के अनुसार, टीकाकरण कार्यक्रम के तहत 10 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक (रविवार तक) राज्यों के पास पड़ी थीं। राज्यों के पास टीकाकरण कार्यक्रम के लिए पर्याप्त टीके हैं। यह संख्या दोगुनी से अधिक हो गई है।"
आंकड़ों के अनुसार, एक सप्ताह पहले करीब आठ करोड़ खुराक उपलब्ध थे। इस महीने की शुरुआत में यह संख्या करीब पांच करोड़ थी। केंद्र सरकार के अन्य अधिकारी ने कहा, "दैनिक खुराक की संख्या की तुलना में आपूर्ति में काफी वृद्धि हुई है। इतना अधिक कि हम लगभग हर दूसरे दिन राज्यों को एक ही दिन में अधिक खुराक देने के लिए कहते हैं।आपूर्ति अब कोई मुद्दा नहीं है।"
वैक्सीन की आपूर्ति में वृद्धि को देश में समग्र वैक्सीन उत्पादन में वृद्धि और बेहतर लॉजिस्टिक व्यवस्था का कारण बताया गया है। आपको बता दें कि राज्यों के पास अब कोविशील्ड खुराक करीब 22.2 करोड़ है। वहीं, करीब 60 लाख कोवैक्सीन की खुराक भी राज्यों के पास है।
पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) स्थानीय रूप से कोविशील्ड ब्रांड नाम के तहत ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोविद -19 वैक्सीन का निर्माण कर रहा है। भारत बायोटेक कोवैक्सिन का निर्माण कर रहा है।
एक अन्य अधिकारी ने कहा, "पहले, राज्य अक्सर वैक्सीन आपूर्ति की कमी के बारे में शिकायत करते थे। हम उन्हें धैर्य रखने के लिए कहते थे, क्योंकि कंपनियां अपने मासिक वैक्सीन उत्पादन में तेजी लाने की प्रक्रिया में थीं। हमें प्रतिदिन आपूर्ति मिलने वाली वैक्सीन की संख्या बढ़ी है। हमें एक ही दिन में एक करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराक भी मिली।"
रविवार तक के सरकारी आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कम से कम 100 करोड़ वैक्सीन खुराक प्रदान की गई है। लोगों को अब तक 97.65 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।
एक अधिकारी ने कहा, "आने वाले हफ्तों में आपूर्ति और बढ़ने वाली है। क्योंकि Zydus Cadila के एंटी-कोविद वैक्सीन को भी सूची में जोड़े जाने की उम्मीद है। कंपनी जल्द ही 60 लाख खुराक उपलब्ध कराने की संभावना है। इसको लेकर बातचीत जारी है।"

21 अक्टूबर तक मध्यम स्तर की बरसात होगी
अकांशु उपाध्याय    
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आसपास के राज्यों में कल से बारिश जारी है। भारतीय मौसम विभाग ने दिल्ली के लिए येलो अलर्ट जारी करते हुए यहां और इसके आसपास के इलाकों में गरज के साथ मध्यम स्तर की बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है। मौसम विभाग के अनुसार देश के कई हिस्सों में 21 अक्टूबर तक बारिश जारी रहेगी। बारिश की स्थिति पश्चिमी विक्षोभ और दो निम्न दबाव के बन रही है। एक निम्न दबाव बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहा है और दूसरा अरब सागर में है। दिल्ली और उत्तराखंड के अलावा, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के लगभग सभी आसपास के इलाकों में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। सोमवार दोपहर से तेलंगाना के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने से बादलों का बहाव पश्चिमी उत्तर प्रदेश और दक्षिण-पूर्व हरियाणा की तरफ होगा।
मौसम विभाग के सुबह की बुलेटिन के अनुसार पूरी दिल्ली सहित गुरुग्राम, गोहाना, गन्नौर, होडल, औरंगाबाद, पलवल, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, पानीपत, सोहाना और इनके आसपास के इलाकों में गरज के साथ भारी बारिश जारी रहेगी। विभाग ने कहा कि पिछले 24 घंटों में दिल्ली में 3 मिमी बारिश हुई और सापेक्षिक आर्द्रता का स्तर 90 फीसदी दर्ज किया गया है। रात भर हुई भारी बारिश के कारण दिल्ली के कई हिस्सों में जलजमाव की स्थिति हो गई है, जिससे यातायात धीमा हो गया है। इस बीच, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने शहर के कई हिस्सों में जलजमाव होने की वजह से लोगों को कुछ सड़कों से बचने के लिये परामर्श जारी किया है।

पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि पुल प्रहलादपुर अंडरपास पर जलजमाव के कारण एमजी रोड बंद है। राहगीर महरौली मथुरा रोड अंडरपास, सरिता विहार फ्लाईओवर या मोदी मिल फ्लाईओवर की ओर जाने वाले वैकल्पिक मार्ग का सहारा ले सकते हैं और इसी तरह से बदरपुर का रास्ता पकड़ सकते हैं। इस बीच, आईएमडी ने सोमवार को उत्तराखंड में भारी बारिश को देखते हुए रेड अलर्ट और मंगलवार तक के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

विभाग ने सोमवार को राज्य में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश होने का पूर्वानुमान लगाया है। मौसम विभाग ने उत्तराखंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में 17 और 18 अक्टूबर को गरज के साथ भारी बारिश की आशंका जताई है। प्रशासन ने जारी अलर्ट को ध्यान में रखते हुए कुछ जिलों में स्कूल, कॉलेज और आंगनबाडी केंद्रों सहित शिक्षण संस्थानों को बंद करने की घोषणा की है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य में भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चार धाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं से यात्रा एक-दो दिन के लिए स्थगित करने का अनुरोध किया है। उन्होंने पुलिस, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल और अन्य संबंधित कर्मियों से भी सतर्क रहने को कहा है।

उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षण आंखों के नीचे दिखें

उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षण आंखों के नीचे दिखें

आंखों के आसपास की त्वचा बहुत पतली होती है। इसलिए उम्र बढऩे के शुरुआती लक्षण आंखों के नीचे आसानी से दिखाई देते हैं। यही कारण है कि आंखों के नीचे की त्वचा को अधिक देखभाल की जरूरत होती है।
वैसे तो बाजार में ऐसे कई प्रोडक्ट्स है। जो इन समस्याओं से छुटकारा दिलाने में कारगर है। लेकिन इनका असर ज्यादा दिन तक नहीं रहता है ऐसे में आप प्राकृतिक उपचार आजमा सकते हैं।
आंखों की झुर्रियों के लिए प्राकृतिक उपचार
केला और एवोकैडो।
इसके लिए आपको केला और एवोकैडो की जरूरत होगी। एक बाउल लें, इसमें 1 बड़ा चम्मच मैश किया हुआ केला और एवोकैडो मिलाएं। इन्हें एक साथ ब्लेंड करे। अब इसे अपने अंडर आई एरिया पर लगाएं। इसका इस्तेमाल आप नियमित रूप से कर सकते हैं।
हल्दी और छाछ।
हल्दी से बना मास्क आंखों के नीचे की झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए सबसे अच्छे तरीकों में से एक है।इसके लिए आपको हल्दी और छाछ की जरूरत होगी।एक कटोरी में 1 बड़ा चम्मच हल्दी पाउडर और 1 बड़ा चम्मच छाछ लें. स्पैचुल की मदद से इस मिश्रण को एक हल्के मास्क में ब्लेंड करें। मास्क को अपनी अंडरआई के हर इंच पर सावधानी से लगाएं। गीले कॉटन पैड से हटाने से पहले इसे 15 मिनट तक लगा रहने दें।
दही, शहद और गुलाब जल।
इस मास्क को बनाने के लिए एक कटोरे में 1 बड़ा चम्मच ताजा दही, 1 चम्मच शहद और गुलाब जल की कुछ बूंदें मिलाएं। इस मिश्रण को बनाने के लिए सामग्री को अच्छे से मिलाएं। अपनी आंखों पर मास्क लगाएं।ठंडे पानी से धोने से पहले इसे 20-25 मिनट तक लगा रहने दें।
एलोवेरा जेल, खीरा और दही।
सुस्त, रूखी और थकी-सी दिखने वाली आंखों को तुरंत चमकदार और आकर्षक बनाने के लिए आप इस मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आपको एलोवेरा जेल, खीरा और दही की जरूरत होगी। एक मिक्सिंग बाउल में 2 बड़े चम्मच एलोवेरा जेल, 1 बड़ा चम्मच दही और 1 बड़ा चम्मच खीरे का रस मिलाएं। सामग्री को मिलाएं और पेस्ट लगाने के लिए अपनी उंगलियों का इस्तेमाल करें। इसे 10 से 15 मिनट के लिए लगा रहने दें। महीन रेखाओं को कम करने के लिए इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं।
पपीता और शहद।
इस मास्क को बनाने के लिए आपको पपीता और शहद की जरूरत होगी। पपीते के एक स्लाइस को इतना मैश कर लें कि इसका पेस्ट बन जाए। मिश्रण बनाने के लिए सामग्री को मिलाएं और अपनी आंखों पर मास्क लगाएं।ठंडे पानी से धोने से पहले इसे 20-25 मिनट तक लगा रहने दें।

सर्दियों में रसभरी खाने के अनेक फायदेंं

विशेषज्ञों का कहना है कि आपको मौसमी फलों को मिस नहीं करना चाहिए। सर्दियों में रसभरी खाने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। दाल शरीर को अच्छे पोषक तत्व प्रदान करने के लिए अच्छी होती है। ये खनिज हृदय स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं। खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए भी आयरन की जरूरत होती है। आलूबुखारा एनीमिया की समस्या को कम करता है। सुचारू रक्त परिसंचरण सुनिश्चित करने के लिए शरीर को आलूबुखारे की भी आवश्यकता होती है। सूखे प्लम कैल्शियम और फास्फोरस से भरपूर होते हैं। ये हड्डियों को मजबूत रखने के लिए जरूरी हैं। साथ ही गठिया से पीड़ित लोगों को भी इन फलों को खाने से फायदा हो सकता है। जिन लोगों को जोड़ों की समस्या है उन्हें इन फलों को खाने की सलाह दी जाती है। जामुन तनाव को कम करने में भी अच्छा काम करते हैं। इसमें कई तनाव से राहत देने वाले गुण होते हैं जो त्वचा के स्वास्थ्य और यौवन को बढ़ाते हैं। त्वचा की झुर्रियों को कम करता है। कब्ज वाले लोगों के लिए लेमनग्रास बहुत अच्छा होता है।

हालांकि, रोजाना रास्पबेरी खाने से समस्या काफी कम हो जाएगी। जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए भी आलूबुखारा एक अच्छा भोजन है। आप कितना भी खा लें, आपका वजन नहीं बढ़ेगा। इसमें फैट नहीं होता, इसमें कैलोरी बहुत कम होती है। शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है. मानव शरीर के लिए आवश्यक 24 अमीनो एसिड में से 18 अकेले प्लम में पाए जाते हैं। ये पेट, अपच, गले में खराश, दमा और मांसपेशियों के दर्द को कम करते हैं। यह गर्भवती महिलाओं में मतली और उल्टी को भी कम करता है। फेफड़ों में जमा हुए थूक से गुर्दे और थूक को बाहर रखने में मदद करता है। तो चिकित्सा विशेषज्ञों का सुझाव है कि किसी भी मौसम में पाए जाने वाले दांत, उम्र की परवाह किए बिना, उस मौसम में खाने के लिए सभी के लिए अच्छे होते हैं।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-362 (साल-04)
2. सोमवार, अक्टूबर 19, 2021
3. शक-1984,अश्विन, शुक्ल-पक्ष, तिथि- चतुर्दशी विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 07:02, सूर्यास्त 05:40।
5. न्‍यूनतम तापमान -16 डी.सै., अधिकतम-30+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...