शुक्रवार, 16 जून 2023

कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की बैठक संपन्न 

कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की बैठक संपन्न 


डीएम ने की कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की समीक्षा

लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली में प्रगति सुनिश्चित करने के निर्देश

अवैध खनन परिवहन एवं ओवरलोडिंग गाड़ियो के विरूद्ध निरन्तर कार्यवाही करने के निर्देश

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में उदयन सभागार में कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने वाणिज्यकर विभाग की समीक्षा के दौरान राजस्व वसूली में अपेक्षित प्रगति न पाए जाने पर नाराजगी प्रकट करते हुए लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली में प्रगति सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि जून माह में अपेक्षित प्रगति न पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी।

इसके साथ ही उन्होंने और अधिक प्रवर्तन कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने खनन स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन आबकारी परिवहन विद्युत एवं नगर निकायों से सम्बन्धित अधिकारियों को लक्ष्य के सापेक्ष राजस्व वसूली में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंन जिला आबकारी अधिकारी एवं एआरटीओ को और अधिक प्रवर्तन कार्य करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने जिला खनन अधिकारी एवं एआरटीओ को अवैध खनन परिवहन एवं ओवरलोडिंग गाड़ियो के विरूद्ध निरन्तर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को उप जिलाधिकारी से समन्वय कर आरसी वसूली में शत-प्रतिशत प्रगति सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर एवं सभी उप जिलाधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

सुशील केसरवानी

मणिपुर: केंद्रीय मंत्री सिंह के घर में आग लगाई 

मणिपुर: केंद्रीय मंत्री सिंह के घर में आग लगाई 

इकबाल अंसारी 

इंफाल। मणिपुर में रह-रहकर हिंसा हो रही है। राजधानी इंफाल में केंद्रीय मंत्री आरके रंजन सिंह के घर में आग लगा दी गई। अधिकारियों ने बताया कि ये घटना जिस वक्त हुई केंद्रीय मंत्री घर पर नहीं थे। इंफाल में कर्फ्यू के बावजूद भीड़ मंत्री आवास तक पहुंच गई। मंत्री के आवास पर सुरक्षाकर्मी भी तैनात थे।

मैतेई और कुकी समुदाय के बीच दो महीने से तनाव चल रहा है। कुछ दिन पहले गृहमंत्री अमित शाह पहुंचे थे। वहां उन्होंने कई बैठकें की और लोगों ने शांति की अपील भी की। उन्होंने कहा था कि कोर्ट के एक आदेश के कारण राज्य में हिंसा भड़की है। स्थानीय विधायकों ने अपने घरों के आगे एक बॉक्स लगा दिया है। इसमें लिखा गया है कि लूटे और छीने हथियारों को इस बॉक्स में फेंक दे।

भगवाइयों की रीत: न प्राण जाएं, न वचन ही जाई 

भगवाइयों की रीत: न प्राण जाएं, न वचन ही जाई 

राजेंद्र शर्मा

एक बात तो भगवाइयों के विरोधियों को भी माननी पड़ेगी। भगवाई जो कहते हैं, वो करते जरूर हैं। हमेशा की तो हम नहीं कहते, पर पिछले चालीस साल से ज्यादा से ही तो हम ही देख रहे हैं। तब कहा था कि मंदिर वहीं बनाएंगे। मंदिर वहीं बन रहा है या नहीं!

हां! चार दशक से ज्यादा लग गए। बेशक, इस बीच अडवाणी पीएम के डिप्टी के डिप्टी ही रह गए और मोदी गुजरात से आकर पीएम बन गए। सारथी जी रथी बन गए और रथी मार्गदर्शक बनकर राह देखते ही रह गए।

वहीं, मोदी अगले साल बड़े चुनाव से पहले, भव्य मंदिर का उद्घाटन करने जा रहे हैं। इसीलिए, तो कहते हैं कि भगवाइयों के घर में देर तो हो सकती है, पर जो कह दिया, सो पूरा जरूर करते हैं। अपने भगवाई, रघुकुल वालों से कम हैं क्या ? रघुकुल की रीत रही है — प्राण जाय, पर वचन न जाई। भगवाइयों की रीत और आगे वाली है–न प्राण जाएं, न वचन ही जाई !

लेकिन, स्मृति ईरानी के दरबार में तो चालीस साल तो क्या चालीस घंटे की भी देर नहीं है ? देखा नहीं, कैसे ईरानी ने अपनी अमेठी में एक मीडिया हाउस के पत्रकार को प्यार से समझाया कि उनसे मुंह खुलवाने की जिद नहीं करे। ईरानी ने कुछ कहने-कुछ बोलने की जिद करने पर, मालिक से कहने का वचन भी दिया था और चौबीस घंटे से पहले-पहले, अखबार के मालिक ने उनके अपना वचन पूरा करने के सम्मान में, पत्रकार को दरवाजा दिखा दिया और मालिक ने पत्रकार को सिर्फ दरवाजा ही नहीं दिखाया।

उसने तो अतीत में जाकर, विगत प्रभाव से ही पत्रकार को दरवाजा दिखा दिया। उसने कहा — कौन पत्रकार ? हमारा ऐसे किसी पत्रकार से न कभी कोई संबंध था, न है और न होगा ! ईरानी ने जो कहा, उससे भी सवाया कर के दिखा दिया। पत्रकार को ‘हैं’ से ‘था’ कराने का वादा था, पर उन्होंने तो पत्रकार को ‘कभी नहीं था’ ही करा दिया।

लेकिन, कोई यह न समझे कि स्मृति ईरानी ने कोई अपनी नाराजगी या अपना रौब दिखाने के लिए ही पत्रकार से जो कहा था, सो किया। बेशक, मोदी का उनके सिर पर वरदहस्त है और मोदी ने भी मालिकों से कह-कहकर, नौ साल में बहुतेरे पत्रकारों को, वर्तमान से भूतपूर्व कराया है।

रवीश जैसों को भूतपूर्व कराने के लिए तो, उनके चैनल को ही खरीदवाकर, पत्रकारों समेत चैनल की स्वतंत्रता को बाकी सब चैनलों की तरह भूतपूर्व कराया है। फिर भी ईरानी ने जो कहा, वह सिर्फ अपने आदर्श, मोदी अनुसरण करने का ही मामला नहीं है। उनके जो कहा, सो किया में उनकी अपनी ऑरीजिनेलिटी भी है। ऑरीजिनेलिटी है, खांटी हिंदुत्व की सेवा की ! ईरानी ने वादे के मुताबिक, मालिक से शिकायत की, पत्रकार विपिन यादव की।

लेकिन, मालिक ने विपिन यादव को तो खैर पहचानने से ही इंकार कर दिया, लेकिन राशिद हुसैन से कह-बताकर अपने मीडिया हाउस का पट्टा उतरवा लिया। इस तरह गेहूं के साथ, शाह साहब ने जिसे घुन बताया था, वह भी पिस गयाफिर भी जो भारत को डैमोक्रेसी की मम्मी डिक्लेअर होते देखकर खुश नहीं होते हैं, उन्हें तो इसमें भी पत्रकार की नौकरी जैसी छोटी चीज ही दिखाई दे रही है, जबकि अब पता चल रहा है कि वह नौकरी भी बिना तनख्वाह वाली थी — पट्टा ले जाओ, खुद कमाओ-खाओ !

अरे भाई ये भी तो देखो कि सेंगोल वाले राजा लोग जो कहते हैं, वह करते जरूर हैं। हमें पक्का है कि एक दिन खाते में पंद्रह लाख भी आएंगे और अच्छे दिन भी। साल की दो करोड़ के हिसाब से नई नौकरियां भी आ जाएंगी। बस जरा-सी देरी पर उम्मीद छोड़ बैठना तो देशप्रेम नहीं है।

अभियान: डीएम की अध्यक्षता में बैठक संपन्न 

अभियान: डीएम की अध्यक्षता में बैठक संपन्न 


डीएम ने की नशामुक्ति जागरूकता पखवाड़ा अभियान के संबंध में बैठक

डिग्री कॉलेजों के 100 मीटर की सीमा में स्थित तम्बाकू की दुकानों को चिन्हित कर हटवाने के निर्देश

अवैध ड्रग्स के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश

कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में उदयन सभागार में नशामुक्ति जागरूकता पखवाड़ा अभियान के संबंध में बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिला आबकारी अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद वर्मा ने बताया कि 12 जून 2023 से 26 जून 2023 तक नशामुक्ति जागरूकता पखवाड़ा अभियान चलाया जा रहा है। शासन द्वारा जिला समाज कल्याण अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। नशामुक्ति जागरूकता अभियान का उद्देश्य आमजन को नशा के दुष्परिणामों के बारे में जागरूक करना है।

जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक को माध्यमिक विद्यालयों में नशामुक्ति के सम्बन्ध में जन-जागरूकता कार्यक्रम कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने जन-जागरूकता रैली सहित विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन कर आमजन को जागरूक करने के निर्देश दिए। उन्होंने शासन के निर्देशानुसार सभी उप जिलाधिकारियों एवं ई.ओ. को डिग्री कॉलेजों के 100 मीटर की सीमा में स्थित तम्बाकू की दुकानों को चिन्हित कर हटवाने के निर्देश दिए।

उन्होंने जिला खाद्य सुरक्षा एवं अभिहित अधिकारी को अवैध ड्रग्स के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने उपस्थित सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को नशामुक्ति अभियान से सम्बन्धित शपथ भी दिलाई। इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर एवं सभी उप जिलाधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

सुशील केसरवानी 

मणिपुर: केंद्रीय मंत्री सिंह के घर में आग लगाई 

मणिपुर: केंद्रीय मंत्री सिंह के घर में आग लगाई 

इकबाल अंसारी 

इंफाल। मणिपुर में रह-रहकर हिंसा हो रही है। राजधानी इंफाल में केंद्रीय मंत्री आरके रंजन सिंह के घर में आग लगा दी गई। अधिकारियों ने बताया कि ये घटना जिस वक्त हुई केंद्रीय मंत्री घर पर नहीं थे। इंफाल में कर्फ्यू के बावजूद भीड़ मंत्री आवास तक पहुंच गई। मंत्री के आवास पर सुरक्षाकर्मी भी तैनात थे।

मैतेई और कुकी समुदाय के बीच दो महीने से तनाव चल रहा है। कुछ दिन पहले गृहमंत्री अमित शाह पहुंचे थे। वहां उन्होंने कई बैठकें की और लोगों ने शांति की अपील भी की। उन्होंने कहा था कि कोर्ट के एक आदेश के कारण राज्य में हिंसा भड़की है। स्थानीय विधायकों ने अपने घरों के आगे एक बॉक्स लगा दिया है। इसमें लिखा गया है कि लूटे और छीने हथियारों को इस बॉक्स में फेंक दे।

राजस्थान: 1 जुलाई से खुलेंगे 5 वर्चुअल स्कूल 

राजस्थान: 1 जुलाई से खुलेंगे 5 वर्चुअल स्कूल 

नरेश राघानी 

जयपुर/बीकानेर। राजस्थान में एक जुलाई से पांच वर्चुअल स्कूल खुल रहे हैं। शिक्षा विभाग ने नौवीं से बारहवीं तक की कक्षाओं के लिए इन्हें मान्यता दे दी है। बोर्ड से सम्बद्धता लेकर अब इनमें प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। उदयपुर में दो और जोधपुर, सीकर व झुंझुनूं में एक-एक वर्चुअल स्कूल अस्तित्व में आ गए हैं। खास बात यह है कि अब तक राजधानी जयपुर और शिक्षा विभाग के निदेशालय बीकानेर में एक भी वर्चुअल स्कूल को मान्यता नहीं मिली है।

संबंधित वर्चुअल स्कूल की वेबसाइट के जरिए छात्र-छात्राएं ऑनलाइन एडमिशन ले सकेंगे। स्कूल संचालन में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का भी इस्तेमाल होगा। यदि निदेशालय में प्रक्रियाधीन छह आवेदनों को भी मंजूरी मिल जाती है तो राज्य में 11 वर्चुअल स्कूल हो जाएंगे। संबंधित जिले के जिला शिक्षा अधिकारी इन स्कूलों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग करेंगे। निदेशक और डीईओ के पास वर्चुअल स्कूल का ऑनलाइन एक्सस रहेगा।

वर्चुअल स्कूल के सबसे ज्यादा आवेदन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर से आए हैं। विभाग को जोधपुर से चार, उदयपुर से दो और जयपुर, बीकानेर, सीकर, झुंझुनूं और अजमेर से एक-एक आवेदन मिला है। नीट, जेईई, क्लेट और डिफेंस समेत अन्य परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे कई विद्यार्थी कोचिंग में नियमित पढ़ाई के साथ किसी निजी स्कूल में डमी एडमिशन ले लेते हैं। अब उससे भी कम फीस में यहां दाखिला मिलने से डमी एडमिशन का बड़ा विकल्प वर्चुअल स्कूल बन सकेंगे। कक्षा के हिसाब से 6 हजार से 9 हजार रुपए फीस में वर्चुअल एडमिशन मिल रहे हैं।

विभाग द्वारा गेहूं के स्टॉक लिमिट का निर्धारण किया 

विभाग द्वारा गेहूं के स्टॉक लिमिट का निर्धारण किया 

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। छत्तीसगढ़ खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा गेहूं के स्टॉक लिमिट का निर्धारण कर दिया गया है। इस आशय का पत्र मंत्रालय महानदी भवन से 15 जून को प्रदेश के सभी कलेक्टरों को जारी कर दिया गया है। गौरतलब है कि भारत सरकार उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा 12 जून 2023 को राजपत्र में प्रकाशित कर गेहूं के लिए स्टॉक लिमिट का निर्धारण करने का आदेश दिया गया था।

खाद्य विभाग द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि व्यापारी-थोक विक्रेता के लिए 3000 टन का स्टॉक लिमिट तय किया गया है। इसी प्रकार रिटेलर (प्रत्येक रिटेल आउटलेट के लिए 10 टन), बिग चेन रिटेलर (प्रत्येक आउटलेट के लिए 10 टन) और उनके सभी डिपो पर 3000 टन स्टॉक लिमिट का निर्धारण किया गया है। इसी तरह प्रोसेसर्स (वार्षिक संस्थापित क्षमता का 75 प्रतिशत या मासिक स्थापित क्षमता के बराबर मात्रा को 2023-24 के शेष महीनों से गुणा करके जो भी कम हो) स्टॉक लिमिट का निर्धारण किया गया है।

पत्र में कहा गया है कि स्टॉक सीमा के लिए संबंधित विधिक इकाईयां भारत सरकार के पोर्टल में स्टॉक की स्थिति की घोषणा करेगी और यदि उनके पास निर्धारित स्टॉक सीमा से अधिक है, तो वे अधिसूचना जारी होने के तीस दिनों के भीतर स्टॉक निर्धारित सीमा में करें।

पत्र में कलेक्टरों को व्यापारियों की बैठक लेकर आदेश की जानकारी देने के निर्देश दिए गए हैं। संबंधित व्यापारिक संस्थानों को प्रति शुक्रवार स्टॉक की जानकारी देने को कहा गया है। भारत सरकार द्वारा जारी यह आदेश 31 मार्च 2024 तक की अवधि के लिए प्रभावशील रहेगा।

अलर्ट: राजस्थान में तूफान 'बिपारजॉय' की एंट्री 

अलर्ट: राजस्थान में तूफान 'बिपारजॉय' की एंट्री 


अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी/नरेश राघानी 

नई दिल्ली/गांधीनगर/जयपुर। गुजरात के जखो तट से टकराने के बाद कच्छ एवं सौराष्ट्र समेत 8 जनपदों में भारी तबाही के निशान छोड़ने के बाद तूफान बिपारजॉय अब राजस्थान में अपनी एंट्री कर गया है। तूफान को लेकर भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। इलाके में चल रही तेज हवाओं की वजह से कई जगह जमीन पर खड़े पेड़ एवं बिजली के खंभे उखड़कर जमीन पर आ गिरे हैं। बाड़मेर और जालौर में तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हो रही है। जिसके चलते जालोर में आज सवेरे तक 69 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

जैसलमेर में भी आंधी और बारिश अपना कहर बरपा रहे हैं। बाड़मेर एवं सिरोही में चल रही तूफानी हवाओं की वजह से पेड़ और बिजली के खंभे उखाड़ कर जमीन पर आ गिरे हैं।शुक्रवार को राजस्थान में प्रवेश करने से पहले तूफान बिपरजॉय ने गुजरात के कच्छ एवं सौराष्ट्र समेत 8 जनपदों में जमकर अपना कहर बरपाया है। बिपरजॉय तूफान के कारण भावनगर में हुई 2 लोगों की मौत के अलावा तकरीबन दो दर्जन से भी ज्यादा लोग घायल हुए हैं। तूफान के चलते अभी तक 94000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया जा चुका है।

बिपरजॉय तूफान बृहस्पतिवार की देर शाम कच्छ के जखौ से टकराया था जिसके बाद शुरू हुआ लैंडफॉल का सिलसिला आधीरात तक लगातार चलते हुए अपना कहर बरपाता रहा। इस दौरान हवाओं की रफ्तार 115 से लेकर 125 किलोमीटर प्रति घंटे तक रही। जिसके चलते तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ मूसलाधार बारिश हो रही है। शुक्रवार को राजस्थान में एंट्री करने वाले तूफान बिपरजॉय ने 940 गांवों की बिजली गुल कर दी है और जगह जगह चल रही तेज हवाओं के कारण पेड और बिजली के खंभे धराशाई हो रहे है।

ज्योतिष: 139 दिनों तक उल्टी चाल चलेंगे 'शनिदेव'

ज्योतिष: 139 दिनों तक उल्टी चाल चलेंगे 'शनिदेव'

सरस्वती उपाध्याय 

30 साल के बाद यानी 3 दशक के बाद 3 राशियों की जिंदगी में गोल्डन टाइम शुरू होने जा रहा है। यह गोल्डन टाइम 17 जून 2023 से शुरू होकर 4 नवंबर 2023 तक रहेगा। शनिदेव 139 दिनों तक उल्टी चाल चलेंगे, जिसे ज्योतिष की भाषा में वक्री हो जाना कहते हैं। शनिदेव जब उल्टी चाल चलेंगे तो 3 राशियों, सिंह राशि, वृश्चिक राशि और कुंभ राशि वालों की झोली भर देंगे।

शनि देव को हमारे ज्योतिष में और नवग्रहों में एक प्रमुख स्थान हासिल है। इन्हें न्याय का देवता और कर्म का कारक माना जाता है। शनिदेव एक ऐसे ग्रह हैं, जो हमारे कर्मों के मुताबिक हमें फल देते हैं। ऐसा माना जाता है कि शनि देव जिस पर प्रसन्न हो जाएं, उसे रंक से राजा बना देते हैं और जिन पर उनकी क्रूर दृष्टि पड़ती है, उस व्यक्ति की मुसीबतें बढ़ जाती हैं। ऐसा भी माना जाता है कि हमारे इसी जीवन में शनि हमारे कर्मों के मुताबिक हमें फल देते हैं।

यही शनि देव 17 जून 2023 को रात 10:48 पर वक्री हो जाएंगे यानी उल्टी चाल चलने लगेंगे। 139 दिन उल्टी चाल चलने के बाद शनि देव इसी साल 4 नवंबर 2023 को सुबह 8:26 पर फिर से मार्गी हो जाएंगे यानी सीधी चाल चलने लगेंगे। वैदिक ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, सभी 9 ग्रहों में शनि का गोचर विशेष महत्व रखता है। शनि देव सबसे धीमी चाल से चलने वाले ग्रह माने जाते हैं। शनि अढ़ाई साल के बाद अपनी राशि बदलते हैं और सभी 12 राशियों के भ्रमण में वह 30 साल का समय लगाते हैं। इनकी महादशा 19 साल तक चलती है। शनि एक राशि में अढ़ाई साल रहते हैं और इसी बीच कुछ महीनों के लिए वह उल्टी चाल भी चलते हैं। शनिदेव जब अपनी चाल बदलते हैं, उदय होते हैं, अस्त होते हैं ,वक्री अवस्था में होते हैं और फिर मार्गी अवस्था में आते हैं तो जहां कई राशियों को राहत देते हैं, वहीं कई राशियों की जिंदगी में उथल-पुथल भी मचा देते हैं।

17 जून को शनि अपनी ही राशि कुंभ में वक्री होने जा रहे हैं। उनके कुंभ राशि में वक्री होने से शश राजयोग का निर्माण हो रहा है। वैदिक ज्योतिष में इसे बेहद ही शुभ योग माना गया है। इस दौरान इस राजयोग से 3 राशि वालों को विशेष रूप से लाभ होगा। इस अवधि में इन राशि वालों को धन लाभ और मान-सम्मान की प्राप्ति हो सकती है।शनिदेव की चाल से 3 राशि वालों का गोल्डन पीरियड शुरू हो जाएगा और इनमें पहली भाग्यशाली राशि सूर्य की सिंह राशि है। सिंह राशि वालों को लंबे समय के बाद कोई खुशखबरी मिलने जा रही है।

शश राजयोग सिंह राशि वालों के लिए अनुकूल रहने वाला है। शनि देव इस राशि के सप्तम भाव में भ्रमण करने जा रहे हैं। ऐसे में आपको आकस्मिक धनलाभ हो सकता है। इस समय परिवार और सभी सदस्यों के साथ अच्छे संबंध बनेंगे। अविवाहित लोगों के लिए विवाह के प्रस्ताव आ सकते हैं। वैवाहित लोगों का जीवन अच्छा बितेगा। आजीविका में भी इस समय सुधार होगा। अगर आप कोई काम शुरू करने की सोच रहे हैं, पार्टनरशिप में काम शुरू किया जा सकता है। कोर्ट-कचहरी के मामलों में जीत हासिल कर सकते हैं। 

सिंह राशि के लोग अपनी मेहनत और लगन से अच्छा नाम और पैसा कमाने में कामयाब रहेंगे। आपकी संपत्ति में भी इजाफा होगा और पैतृक संपत्ति भी हासिल हो सकती है। पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। समाज में मान सम्मान बढ़ेगा और कैरियर में तरक्की होगी। आपकी नेतृत्व क्षमता में वृद्धि होगी।

दूसरी राशि जिसका गोल्डन पीरियड शुरू होने वाला है, वह चंद्रमा की वृश्चिक राशि है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि के वक्री करने से बनने वाला शश राजयोग वृश्चिक राशि वालों के लिए भी अनुकूल परिणाम ला सकते है। आर्थिक और प्रॉपर्टी के मामलों में लाभ होगा। बता दें कि शनि आपकी राशि के चतुर्थ भाव में गोचर कर रहे हैं। इस दौरान आप वाहन या प्रॉपर्टी आदि खरीद सकते हैं। पैतृक संपत्ति से इस अवधि में लाभ हो सकता है। मां का सहयोग प्राप्त होगा। रियल स्टेट, जमीन-जायदाद और शनि ग्रह से संबंधित काम करने वाले लोगों के लिए भी ये समय बेहद शुभ रहेगा।

आपके जीवन में शांति, सुख और समृद्धि लेकर आएगा। आपको अपार धन लाभ भी होगा। आप अपना पैसा बचाने में भी कामयाब रहेंगे। परिणाम स्वरूप आपके बैंक बैलेंस में बढ़ोतरी होगी। कैरियर में अच्छा मुकाम हासिल होगा। आपकी टैलेंट की सराहना होगी। कार्यक्षेत्र में आपको अपने वरिष्ठ अधिकारियों का पूरा सहयोग मिलेगा। व्यापारियों को अपने काम में खूब मुनाफा होगा। परिवार में खुशहाली का माहौल बनेगा। भाग्य के दरवाजे खुल जायेंगे। आपके व्यवहार और आचरण से लोग आपकी तरफ आकर्षित होंगे और आपकी फैन फॉलोइंग भी बढ़ेगी।

तीसरी भाग्यशाली राशि कुंभ राशि है, जिसमें शनिदेव वक्री होने जा रहे हैं और जिसमें शश योग का निर्माण होने जा रहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि के व्रकी करने से कुंभ राशि वालों को विशेष लाभ दिलाने वाला है। इस दौरान इस राशि के जातक बहुत भाग्यशाली सिद्ध होंगे। बता दें कि शनि कुंभ राशि के लग्न भाव में वक्री करने जा रहे हैं और इसी राशि के स्वामी ग्रह हैं। ऐसे में इस अवधि में व्यक्ति के व्यक्तित्व में निखार देखने को मिलेगा। नेतृत्व क्षमता में बढ़ोतरी होगी। काफी लंबे समय से रुके हुए काम इस अवधि में पूरी होंगे। इस अवधि में जीवनसाथी की तरक्की हो सकती है। पार्टनरशिप में काम कर रहे हैं, तो सफलता मिलेगी।

कुंभ राशि के लोग अपने कैरियर में एक नई उड़ान भर सकते हैं। अंतर्राष्ट्रीय यात्राओं का मौका मिल सकता है और विदेश में स्थायी रूप से रहने का भी मौका मिल सकता है। मेष राशि के जातकों को कार्यक्षेत्र में पदोन्नति, सहकर्मियों और वरिष्ठों से सराहना भी मिल सकती है। व्यवसाय करने वाले जातकों को व्यापक रूप से लाभ हो सकता है। अगर आपको बिजनेस में इन्वेस्टमेंट करने की सोच रहे हैं तो इस समय करना बहुत शुभ रहेगा। इसके साथ ही समाज में मान-सम्मान और पद प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी।

24वां वार्षिक उत्सव, शोभा यात्रा निकाली: समिति 

24वां वार्षिक उत्सव, शोभा यात्रा निकाली: समिति 


24वें वार्षिक उत्सव के उपलक्ष में श्री काली पलटन मंदिर सेवा समिति द्वारा शोभा यात्रा निकाली गई।

अश्वनी उपाध्याय/बबलू गर्ग

गाजियाबाद/लोनी। शुक्रवार को गिरी मार्केट में स्थित श्री काली पलटन मंदिर सेवा समिति द्वारा 24वें वार्षिक उत्सव के उपलक्ष में शोभा यात्रा निकाली गई, जिसमें महिलाओं बच्चों ने शोभायात्रा में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया, जिसमें शिव पार्वती,राधे कृष्णा एवं कालका माई की भी झांकियां रही बैंड बाजों के साथ बड़े हर्षोल्लास के साथ शोभायात्रा निकाली गई।

शोभा यात्रा गिरी मार्केट से चलकर राशिद गेट लोनी मैन तिराहा से होकर श्री शिव मंदिर, श्री दुर्गा मंदिर में पूजा अर्चना कर बलराम नगर होते हुए गिरी मार्केट श्री काली पलटन मंदिर पर आरती कर समापन हुआ। इस दौरान मंदिर प्रबंधक आचार्य छिद्दा राम शास्त्री ने कहा हिंदू सनातन धर्म प्रेमियों को एकजुट करने के लिए समय-समय पर ऐसे धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन होते रहने चाहिए।

आजकल हम अपनी सनातन संस्कृति को लगातार भूलते जा रहे हैं। हमें अपने घर से पहल करनी है। अपने घर में रामायण, गीता व भागवत आदि ग्रंथों के बारे में पढ़ना चाहिए और अपने ग्रंथों का ज्ञान एवं महत्व समझने की आवश्यकता है।

ग्रंथों से हमें अपने धर्म के विषय में सभी जानकारी मिलती है एवं इस दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष रतन सिंह भाटी, पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी विनोद बंसल, नीरज शर्मा, सतीश भारद्वाज, सुशील जिंदल, लाला बासे राम, पत्रकार बबलू गर्ग, बाला दत्त शर्मा, गुड्डू गर्ग, छत्रपाल शर्मा, अनिल गर्ग, राहुल भारद्वाज, गोलू भारद्वाज, महेंद्र सिंह, विकास चौहान, संदीप बंसल, केवल बंसल, ओमकार शर्मा, सचिन वर्मा, पिंटू शर्मा, मनोज शर्मा, राजू रोहिल्ला, कार्तिक शर्मा, योगेंद्र त्यागी, राजकुमार मास्टर, कुंवर पाल रुहेला रविंद्र बंसल आदि क्षेत्र के प्रबुद्ध लोग उपस्थित रहे एवं लोनी कोतवाली प्रभारी अजय चौधरी भी पुलिस बल के साथ शोभायात्रा की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद में मुस्तैद रहे।

20 से 25 जून तक विदेशी यात्रा करेंगे 'पीएम'

20 से 25 जून तक विदेशी यात्रा करेंगे 'पीएम'

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 20 से 25 जून तक अमेरिका और मिस्र की राजकीय यात्रा करेंगे। इस दौरान वह दोनों देशों के साथ पहले से ही मजबूत संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने पर चर्चा करेंगे। विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, मोदी की अमेरिका की यात्रा न्यूयॉर्क से शुरू होगी, जहां वह 21 जून को न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह की अगुवाई करेंगे।

ज्ञात हो कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसंबर 2014 में एक प्रस्ताव पारित करके 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था। विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है,  इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी वाशिंगटन डी.सी. जाएंगे, जहां 22 जून को व्हाइट हाउस में उनका पारंपरिक स्वागत किया जाएगा और वह अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ अपनी उच्च स्तरीय वार्ता के क्रम को जारी रखते हुए उनसे मुलाकात करेंगे। राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रथम महिला जिल बाइडन 22 जून की शाम प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में राजकीय रात्रिभोज की मेजबानी करेंगे। 

मंत्रालय ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी प्रतिनिधि सभा के स्पीकर केविन मैकार्थी और सीनेट के स्पीकर चार्ल्स शूमर समेत कई सांसदों के निमंत्रण पर 22 जून को अमेरिकी कांग्रेस की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। मोदी ने इससे पहले 2016 में अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित किया था।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि इसके एक दिन बाद यानी 23 जून को अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन, मोदी के सम्मान में आयोजित दोपहर के भोज की मेजबानी करेंगे। मंत्रालय ने कहा, आधिकारिक कार्यक्रमों में भाग लेने के अलावा प्रधानमंत्री कई प्रमुख कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (सीईओ), पेशेवरों और अन्य हितधारकों के साथ भी बातचीत करेंगे। वह भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों से भी मुलाकात करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी दो देशों की अपनी यात्रा के दूसरे चरण में 24 से 25 जून तक मिस्र की राजकीय यात्रा पर काहिरा जाएंगे।

मोदी मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी के निमंत्रण पर यह यात्रा कर रहे हैं। अल-सीसी ने भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की थी और उसी समय उन्होंने प्रधानमंत्री को मिस्र यात्रा के लिए आमंत्रित किया था। यह प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी की मिस्र की पहली यात्रा होगी। विदेश मंत्रालय ने कहा, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति सीसी के साथ बातचीत के अलावा सरकार के वरिष्ठ गणमान्य व्यक्तियों, मिस्र की कुछ प्रमुख हस्तियों और मिस्र में भारतीय समुदाय के साथ भी संभवत: बातचीत करेंगे। इसमें कहा गया है, भारत और मिस्र के संबंध प्राचीन व्यापारिक और आर्थिक संबंधों के साथ-साथ सांस्कृतिक और लोगों के बीच गहरे आपसी संबंधों पर आधारित हैं।

मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी ने जनवरी में भारत की यात्रा की थी और इस दौरान दोनों देशों के बीच अपने संबंधों को सामरिक साझेदारी के स्तर तक पहुंचाने पर सहमति बनी थी। भारत अरब जगत और अफ्रीका में राजनीतिक रूप से अहम भूमिका निभाने वाले मिस्र के साथ संबंधों को विस्तार देने का इच्छुक है। इस देश को अफ्रीका और यूरोप के बाजार के एक बड़े प्रवेश द्वार के तौर पर भी देखा जाता है।

मोदी और सीसी के बीच वार्ता के दौरान द्विपक्षीय व्यापार को मौजूदा करीब सात अरब डॉलर से आगामी पांच साल में 12 अरब डॉलर तक पहुंचाने का निर्णय लिया गया था। भारत और मिस्र के बीच रक्षा और सामरिक संबंध पिछले कुछ वर्षों में प्रगाढ़ हुए हैं। दोनों देशों की सेनाओं ने इस साल जनवरी में पहला संयुक्त अभ्यास किया था। 

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-246, (वर्ष-06)

2. शनिवार, जून 17, 2023

3. शक-1944, आषाढ़, कृष्ण-पक्ष, तिथि- चतुर्दशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:45, सूर्यास्त: 06:55। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें

बीएएलएलबी-एलएलएम का कोर्स हिंदी में शुरू करें  संदीप मिश्र  लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि बीएएलएल...