मध्य प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
मध्य प्रदेश लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 11 जून 2021

अस्पताल में पेट्रोल डालकर युवक को जिंदा जलाया

दुष्यंत सिंह टीकम   

सागर। मध्यप्रदेश सागर जिला अस्पताल पहुंचकर एक सिरफिरे युवक ने मारपीट पीड़ित पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी, घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी तेजी से फरार हो गया। सीसीटीवी में साफ देखा जा सकता है कि पीड़ित जलते हुए आरोपी को पकड़ने युवक की ओर दौड़ता है, लेकिन युवक अस्पताल से फरार होने में कामयाब हो जाता है।

गोपालगंज थाना पुलिस जांच में जुट गई है। आग से जले व्यक्ति का बीएमसी में इलाज जारी है, आरोपी का नाम मिलन रजक बताया जा रहा है। पीड़ित का नाम दामोदर कोरी है,पीड़ित इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती था।

शनिवार, 22 मई 2021

कमलनाथ पहुंचे उज्जैन, बाबा की पूजा-अर्चना की

सुनील चौबे   
उज्जैन। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज सुबह उज्जैन पहुंचे और बाबा महाकाल के मंदिर पहुंचकर बाहर से ही शिखर दर्शन करते हुए पूजा अर्चना की। उसके बाद वह दिवंगत प्रदेश सचिव के घर परिवार को सांत्वना देने पहुंचे।
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन पहुंचने के बाद सबसे पहले बाबा महाकाल के दर्शन करने के लिए मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने बाहर से ही शिखर दर्शन किए और पूजा अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली को लेकर बाबा से प्रार्थना करते हुए कोरोना संक्रमण को समाप्त करने की कामना की। पंडित राजेश त्रिवेदी ने पूजा अर्चना पूरी कराई। उसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत हुए प्रदेश कांग्रेस सचिव सुल्तान शाह लाला के घर पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए परिवार को सांत्वना दी।उनके साथ प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला उज्जैन आए थे। कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान से भी मिलने पहुंचे और उनके द्वारा कोरोना संक्रमण काल में लोगों की मदद और अव्यवस्थाओं को लेकर उठाई गई आवाज के साथ उन्हें जेल भेजने के मामले में चर्चा की। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री के साथ विधायक महेश परमार, रामलाल मालवीय, मुरली मोरवाल, शहर कांग्रेस अध्यक्ष महेश सोनी, जिलाध्यक्ष कमल पटेल, बटुकशंकर जोशी, माया त्रिवेदी, अशोक भाटी, मुकेश भाटी, रवि राय, कमल चौहान उपस्थित थे। उन्होंने महाकाल मंदिर के बाहर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बाबा से प्रदेश की जनता के लिए कोरोना से लडऩे की ताकत और खुशहाली की कामना की है। दोपहर में वह स्थानीय कार्यकर्ताओं और मीडिया के साथ मिलकर कोरोना संक्रमण के हालातों की जानकारी भी लेंगे।

नियंत्रण में संक्रमण, 1 जून से मिलेगी राहत: सीएम

सुनील चौबे   

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में आ गयी हैं, लेकिन साथ में उन्होंने चेताते हुए कहा कि इसके बावजूद जरा सी लापरवाही से फिर स्थितियां काबू से बाहर जा सकती हैं। शिवराज सिंह चौहान ने संकेत दिए कि यदि स्थितियां इसी तरह नियंत्रण में रहीं, तो एक जून से क्रमिक तरीके से कोरोना कफ्यू में राहत दी जा सकती है। लेकिन इस दौरान स्थानीय स्थितियों पर ध्यान देकर निर्णय लिया जाएगा।

शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संबंधी महत्वपूर्ण बैठक के जरिए राज्य के जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को संबोधित किया। श्री चौहान ने कोरोना टेस्ट और बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि राज्य में सभी 52 जिलों को 31 मई तक कोराेनामुक्त करने के प्रयास किए जाएं। हालाकि कुछेक मामले आ सकते हैं, लेकिन जिस तरह से हमने अब तक दिनरात प्रयास कर कोरोना पर काबू पाया है, उसी प्रकार कार्य करके 31 मई तक जिलों को कोरोनामुक्त किया जा सकता है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस बहुरूपिया की तरह है। अर्थात उसकी प्रकृति का अनुमान लगाना कठिन है। इसके मामले कम होते होते फिर से अचानक बढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन, जनप्रतिनिधि और आम नागरिक मिलकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, बेहतर गुणवत्ता के मॉस्क लगाएं और कोरोना एप्रोप्रिएट बिहेवियर (कोरोना रोकने के लिए उपयुक्त व्यवहार) का पालन करें, तो कोरोना को बढ़ने से आसानी से राेका जा सकता है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसी भी नागरिक को जरा सी सर्दी, खांसी या इस तरह के लक्षण हों तो वे तुरंत सामने आएं और अपनी कोरोना संबंधी जांच कराएं। वहीं अन्य नागरिक और प्रशासन भी ऐसे लोगों पर नजर रख तुरंत उनके इलाज की व्यवस्था करें। ऐसा करके कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सकता है। यदि हम यह सब करने में सफल रहे तो तीसरे लहर को भी आने से रोका जा सकता है।

गुरुवार, 20 मई 2021

31 मई तक कोरोना संक्रमण खत्म करें: सीएम

विकास चौबे   

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। अधिकांश जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 10% से कम रह गई है तथा नए प्रकरण भी लगातार कम होते जा रहे हैं, वहीं बड़ी संख्या में मरीज स्वस्थ हो रहे हैं। अब कोरोना को समाप्त करने के लिए ‘एरिया स्पेसिफिक’ रणनीति बनाई जाए तथा आगामी 31 मई तक प्रदेश में कोरोना संक्रमण को समाप्त करने के पूरे प्रयास किए जाएँ, जिससे जन-जीवन को धीरे-धीरे सामान्य बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। वी.सी. में मंत्रीगण, प्रभारी अधिकारीगण तथा सभी संबंधित उपस्थित थे।

5065 नए प्रकरण

प्रदेश में कोरोना के 5065 नए प्रकरण आए हैं, पिछले 24 घंटों में 10337 मरीज स्वस्थ हुए हैं तथा एक्टिव प्रकरणों की संख्या 77 हजार 607 है। प्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट 0.9%, सात दिन की पॉजिटिविटी 10% तथा आज की पॉजिटिविटी 7% है।

03 जिलों में 200 से अधिक नए अधिक प्रकरण

प्रदेश के 3 जिलों में 200 से अधिक नए प्रकरण तथा 9 जिलों में 100 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 1153, भोपाल में 653, जबलपुर में 324, सागर में 198, रीवा में 175, रतलाम में 160, उज्जैन में 151, सिंगरौली में 115 तथा ग्वालियर जिले में 105 नए प्रकरण आए हैं।32 जिलों में 10% से कम पॉजिटिविटी

प्रदेश के 9 जिलों में 5% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है, वहीं 32 जिलों में 10% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है। गुना, छिंदवाड़ा, अशोकनगर, बड़वानी, भिंड, बुरहानपुर, झाबुआ, अलीराजपुर, खंडवा में 5% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है तथा इन जिलों सहित ग्वालियर, होशंगाबाद, मंदसौर, धार, कटनी, सतना, बालाघाट, रायसेन, शाजापुर, नरसिंहपुर, राजगढ़, देवास, विदिशा, सिवनी, मंडला, आगर-मालवा, छतरपुर, मुरैना, श्योपुर, दतिया, निवाड़ी, टीकमगढ़, तथा हरदा में 10 प्रतिशत से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है।

पंचायत अनुसार योजना बनाएं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सागर जिले की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण रोकने व समाप्त करने के लिए पंचायत अनुसार योजना बनाएँ। मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने बताया कि सागर जिले में कस्बों में कोविड केयर सेंटर प्रारंभ होने के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बुंदेलखण्ड मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएँ चुस्त-दुरूस्त की जाएँ।

21 हजार 495 मरीजों का नि:शुल्क इलाज

प्रदेश में कोविड के 21 हजार 495 मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। इनमें से 13 हजार 785 का शासकीय अस्पतालों में, 2307 का अनुबंधित अस्पतालों में तथा 5403 मरीजों का मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत सम्बद्ध निजी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में मरीजों के इलाज पर शासन द्वारा आज की‍स्थिति में 6 करोड़ 87 लाख 49 हजार 952 रूपए व्यय हुआ।

रविवार, 9 मई 2021

एमपी के 4 शहरों में संक्रमण के 42% एक्टिव केस

मीनाक्षी लोधी   
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के एक्टिव केस 1 लाख से ज्यादा हो गए हैं। 42% एक्टिव केस सिर्फ भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में हैं। इसे ध्यान में रखते हुए शिवराज सरकार ने इन चार शहरों में आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने का फैसला लिया है। इस काम में प्राइवेट अस्पतालों की मदद ली जाएगी।कोरोना के मामलों को देखें तो 24 घंटे में चारों बड़े शहरों में एक्टिव केस बढ़े हैं। नए मरीजों की तुलना में ठीक होने वाले मरीज बहुत ही कम हैं। 24 घंटे में 2,513 मरीज रिकवर हुए हैं, जबकि 4,722 नए केस सामने आए हैं।
भोपाल में लगातार दूसरे दिन एक्टिव केस बढ़े हैं। यहां अब 13,192 एक्टिव केस हो गए हैं। दो दिन पहले 10,829 थे। यहां नए केस 1,556 आए हैं, जबकि 1,302 लोग ठीक हुए हैं। 7 मरीजों ने जान गंवाई है। इंदौर में 1,679 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 301 मरीज ठीक हुए हैं। 7 मरीजों ने दम तोड़ दिया। वहीं, ग्वालियर में 861 संक्रमित आए और 6 की मौत हुई है। जबकि 274 मरीज रिकवर भी हुए हैं। जबलपुर में कोरोना ने अब तक रिकॉर्ड तोड़ दिया है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए संक्रमितों की संख्या 926 पहुंच गई, जबकि स्वस्थ्य होने वालों की संख्या 636 है। इसकी वजह से एक बार फिर एक्टिव केस 6,042 हो गए।
सीएम ने अफसरों से कहा- वेंटिलेटर बढ़ाएं
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार देर शाम कोरोना नियंत्रण के लिए गठित कोर ग्रुप के अफसरों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की उपलब्धता 100% सुनिश्चित की जाए। प्रदेश के जिन प्रमुख अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई जा सकती है, वहां कैपेसिटी के आधार पर बढ़ाएं। उन्होंने साफ निर्देश दिए हैं कि अगर मरीज को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत है तो उसे बेड मिलना ही चाहिए।

गुरुवार, 6 मई 2021

होम्योपैथिक कफ सिरप पीने से 8 लोगों की मौत

बिलासपुर। सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के कोरमी के ग्रामीणों ने होमियोपैथी कप सिरप पीने वाले ग्रामीणों में मृतकों की संख्या आठ हो गई है। इस घटना से पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है। यहां शराब की जगह नशीली सिरप पीने वाले ग्रामीणों की जांच कर अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है। दो ग्रामीणों की हालत अभी गंभीर बताई जा रही है।

कोरमी में रहने वाले कमलेश धुरी पिता बल्दूप्रसाद (32 वर्ष), अक्षय धुरी पिता पुन्न्ूलाल (21 वर्ष), राजेश धुरी पिता दशरथ (21 वर्ष), समारू धुरी पिता गजानंद (25 वर्ष), खेमचंद धुरी पिता रामलाल (40 वर्ष) व कैलाश धुरी पिता उमाशंकर (50 वर्ष) सहित अन्य ग्रामीणों को सर्दी-जुकाम व खासी की शिकायत थी। इस दौरान ग्रामीणों ने गांव के ही होम्योपैथिक डाक्टर को दिखाया। दरअसल, सर्दी-जुकाम व खांसी आने पर ग्रामीणों को कोरोना महामारी का खतरा हुआ।

इसके चलते उन्होंने स्थानीय होमियोपैथी क्लीनिक में उपचार कराना शुरू कर दिया। इस दौरान डाक्टर ने उन्हें ड्रोसेरा कप सिरप दवाई दी, जिसे ग्रामीणों को गुनगुने पानी में मिलाकर पीना था। इस दौरान ग्रामीणों ने इसे नशे के रूप में बिना पानी मिलाए ही पीना शुरू कर दिया। बीमार ग्रामीणों की देखादेखी अन्य ग्रामीणों ने भी ड्रोसेरा सिरप खरीद कर पीना शुरू कर दिया। इधर, बुधवार को सिरप पीने वाले ग्रामीणों की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें उल्टी होने लगी। इस दौरान ग्रामीण युवकों ने स्वजनों को दवा पीने की जानकारी दी। उल्टी होने के कारण परिवार वालों ने भी नजरअंदाज कर दिया।

इस बीच कमलेश और राजेश की मौत हो गई। इससे घबराए परिवार के लोगों को कोरोना से मौत की आशंका हुई और आनन-फानन में उनकी अंत्येष्टि भी कर दी। इधर, बुधवार दोपहर अक्षय और समारू की भी मौत हो गई। उन्हें भी कोरोना होने का संदेह हुआ और उनकी भी अंत्येष्टि कर दी गई। एक ही दिन में गांव में चार युवकों की मौत से हड़कंप मच गया। इसकी सूचना ग्रामीण ने सिरगिट्टी पुलिस की दी। खबर मिलते ही बुधवार की देर शाम थाना प्रभारी फैजूल शाह गांव पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिवार वालों से इस संबंध में पूछताछ की। इसमें युवकों के कफ सीरप पीने की जानकारी मिली।

4 लाख की आर्थिक सहायता की मांग, लिखा पत्र

टीकम चंद  

भोपाल। मध्यप्रदेश प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। हर दिन संक्रमितों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। मौत के बढ़ते आंकड़ों पर चिंता जताते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ ने कोरोना से मौत को आपदा मानकर 4 लाख की आर्थिक सहायता देने की मांग की है।

इसे लेकर कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र के जरिए कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के हालात भयावाह हो गए हैं। हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब तक 6 लाख से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ गए हैं।परिवार के कमाने वाले सदस्यों की मृत्यु से कई परिवार बेहद दर्द झेल रहे हैं। इन हालातों को देखते हुए सरकार को जल्द से जल्द आर्थिक सहायता की घोषणा करना चाहिए।

कर्फ्यू के दौरान और सख्ती का आदेश जारी किया

टीकम चंद  

ग्वालियर। अब न तो गली-मोहल्ले की किराना दुकानें खुलेंगी न घर में 20 लोगों की मौजूदगी में शादी हो सकेंगी। सुबह 9 बजे तक सिर्फ दूध, ब्रेड, फल और सब्जी ही मिल सकेंगी। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बुधवार शाम कोरोना कर्फ्यू के दौरान और सख्ती का आदेश जारी किया।

यह आदेश पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और फिर बुधवार को ग्वालियर आए प्रभारी सचिव अशोक शाह की आपत्ति के बाद निकाला गया है। मुख्यमंत्री व प्रभारी सचिव ने ग्वालियर में कोरोना कर्फ्यू के दौरान ढील पर आपत्ति दर्ज करायी थी। प्रभारी सचिव श्री शाह ने जब शहर का भ्रमण किया तो उन्हें दुकानें खुली मिलीं और सड़कों पर भारी संख्या में वाहन दौड़ते नजर आए थे।

कलेक्टर ने 29 अप्रैल को जारी 7 दिन के कोरोना कर्फ्यू के आदेश को बुधवार रात 7 मई तक के लिए संशोधित किया। इसमें उन्होंने शादियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। अभी दोनों पक्षों के 20 लोगों के साथ घर में ही शादी समारोह आयोजित करने की छूट थी। कलेक्टर के इस आदेश के बाद शादी वाले परिवारों की परेशानी और बढ़ जाएंगी। अब उनके सामने शादी किसी दूसरे शहर में करने या फिर आयोजन निरस्त करने के अलावा और कोई विकल्प नहीं रह गया है। ऐसे ही अंतिम संस्कार, गंगभोज व उठावनी में भी अब सिर्फ पांच लोग शामिल हो सकेंगे।

गुरुवार से और भी रहेंगे प्रतिबंध

  • किराना दुकानें नहीं खुलेंगी, सिर्फ होम डिलेवरी हो सकेगी। बड़ी-बड़ी कंपनियों सहित स्थानीय संस्थान अब खानपान की सामग्री की होम डिलेवरी नहीं कर सकेंगे।
  • ऑटो-ई रिक्शा अब नहीं चलेंगे। अभी तक दो सवारी की मंजूरी थी। अब सिर्फ सिर्फ प्राइवेट वाहन (कार) में बहुत जरूरी होने पर आना जाना होगा।
  • उपार्जन केंद्र, सरकारी राशन दुकानें व बैंक खुल सकेंगी पर यहां पर सोशल डिस्टेंस के लिए घेरे बनाने होंगे। व्यवस्था बनाने का जिम्मा इंसीडेंट कमांडर का होगा।
  • निर्माण कार्य सिर्फ वहीं पर चल सकेंगे जहां पर मजदूरों के रहने की व्यवस्था होगी। अन्य क्षेत्रों में निर्माण व मजदूरों के परिवहन की मंजूरी नहीं होगी।

शुक्रवार, 12 मार्च 2021

लव मैरिज से नाराज भाईं ने जीजा की हत्या की

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां अपनी बहन की लव मैरिज से नाराज उसके भाई ने अपने जीजा की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी और कटी हुई गर्दन लेकर खुद थाने जाकर सरेंडर कर दिया। घटना की जानकारी जब उसकी बहन को मिली तो उसने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यह घटना जबलपुर के तिलवारा थाना क्षेत्र की है। शुक्रवार सुबह अचानक एक शख्स बोरी में एक कटी हुई गर्दन लेकर थाने पहुंच गया। उसने थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों को बताया, कि उसने बृजेश नाम के एक युवक की हत्या कर दी है। गर्दन वह लेकर आ गया है, जबकि धड़ एक खेत में पड़ा है। पुलिस जब उसके बताए स्थान पर पहुंची, तो वहां एक युवक का धड़ पड़ा था जिसके हाथ भी कटे हुए थे। पुलिस ने आरोपी युवक को तुरंत हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने बताया कि उसका नाम धीरज शुक्ला है। उसकी पिछले कई साल से बृजेश बर्मन नाम के युवक से दोस्ती थी। कुछ महीने पहले बृजेश ने धीरज की बहन पूजा के साथ भाग कर लव मैरिज कर ली थी। इसके बाद से ही धीरज नाराज था और मौके की फिराक में था ताकि बृजेश से बदला ले सके। गुरुवार को मौका पाते ही धीरज ने बृजेश की हत्या कर दी।

इस घटना का दुःखद पहलू यह है कि जब बृजेश की पत्नी और आरोपी धीरज की बहन पूजा को जैसे ही मालूम हुआ कि उसके भाई ने पति की हत्या कर दी है, तो उसने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सीएसपी रवि चौहान के मुताबिक पूजा के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है क्योंकि पुलिस उसकी मौत को संदिग्ध मान कर चल रही है।

दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखवाने गई युवती, दिया जन्म

इंदौर। मध्य प्रदेश में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची युवती ने थाने में ही बच्ची को जन्म दे दिया। मामला छिंदवाड़ा के लावाघोघरी थाने का है।

थाने पहुंची युवती ने बताया कि गांव का एक युवक शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म करता रहा। इस दौराप वह जब गर्भवती हो गई तो उसने युवक से शादी करने को कहा, मगर उसने इन्कार कर दिया। इसके बाद पीड़िता शिकायत लेकर थाने पहुंच गई। वह आपबीती बता रही थी कि इतने में ही उसे प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। यह देख थाने में तैनात महिला कांस्टेबल शीतल वाघमेरे ने उसे संभाला और डिलीवरी कराई। युवती और उसकी नवजात बेटी दोनों ही स्वस्थ हैं। फिर भी बेहतर चिकित्सकीय सुविधा के लिए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बुधवार, 10 मार्च 2021

शक: पत्नी का हाथ और पैर का हिस्सा काटा, मौत

भोपाल। मध्य प्रदेश के भोपाल में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के चरित्र पर शक करते हुए धारदार हथियार से उसके एक हाथ का पंजा और एक पैर का एक हिस्सा काट दिया। पड़ोसियों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। भोपाल के निशातपुरा क्षेत्र के नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) अनिल त्रिपाठी ने बुधवार को बताया कि विश्वकर्मा नगर में सिवनी मालवा जिला होशंगाबाद का मूल निवासी प्रीतम राजपूत अपने सात वर्षीय बेटे के साथ किराये के मकान में रहता है और उसकी 26 वर्षीय पत्नी संगीता इन्दौर में एक निजी कंपनी में काम करती है और एक महीने या 15 दिन में अपने घर भोपाल आती थी। प्रीतम उसे प्रति सप्ताह भोपाल आने का दबाव डालता था और इसे लेकर उसके चरित्र पर संदेह करता था।

बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

भीषण सड़क हादसे में 6 छात्रों की दर्दनाक मौत

इंदौर। ठंड और धुंध तो चली गई है लेकिन हादसे अभी भी काम होने का नाम नहीं ले रहे है। बता दें कि सड़क हादसों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। बताना लाजमी है कि दिल दहला देने वाला हादसा हो गया है। सिर्फ 2 सेकेंड में 6 छात्रों ने अपनी दुनिया को अलविदा कह दिया। गौरतलब है कि इंदौर में हुए भीषण सड़क हादसे के सामने आने के बाद समूचा प्रदेश हिल गया है।

हादसे में अलग-अलग 6 परिवारों के चिराग बुझ गए। इस दुर्घटना का सीसीटीवी सामने आया है ज‍िसमें द‍िख रहा है कैसे स‍िर्फ 2 सेकंड की लापरवाही, 6 युवा छात्रों की मौत का कारण बनी। बता दें कि मृतक छात्रों में अधिकतर इंदौर निवासी थे जिनके नाम ऋषि पिता अजय पंवार पिता निवासी भाग्यश्री कालोनी, सूरज बैरागी निवासी मालवीय नगर, छोटू उर्फ चंद्रभान रघुवंशी पिता शैलेन्द्र रघुवंशी मालवीय नगर, सोनू जाट पिता दुलीचंद जाट निवासी आदर्श मेघदूत नगर, सुमित पिता अमरसिंह निवासी भाग्यश्री कॉलोनी, गोलू पिता बिष्णु बैरागी थे। घटना के सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि पलभर में कैसे रफ़्तार ने जिंदगी की रफ्तार पर नकेल कस दी और आखिरकार 6 युवाओं को उसमें जान गंवानी पड़ी। यह सब 2 सेकेंंड के अंदर हुआ। बता दें क‍ि इंदौर में सोमवार रात एक दर्दनाक सड़क हादसा हुआ। हादसा इतना भयावह था कि दुर्घटना के बाद सड़क पर शव ब‍िखरे हुए थे और गाड़ी के परखच्चे उड़ गए थे। हादसे में मरने वाले सभी छात्र थे. ये हादसा लसुडिया थाना क्षेत्र के तलावलीचांदा का है जहां तेज रफ्तार से आई स्विफ्ट कार, पेट्रोल से भरे टैंकर से टकरा गई।

इस भयानक हादसे के वक्त कार देवास से इंदौर जा रही थी। कार के टकराते ही 4 लोगों की तो मौके पर ही मौत हो गई, वहीं 2 लोग गम्भीर थे जिन्हें अस्पताल ले जाया गया और वहां उन्होंने दम तोड़ द‍िया। बता दें कि देर रात इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र के तलावली चांदा पर तेज रफ्तार स्विफ्ट कार अचानक तेजी से तेल के एक टैंकर में घुस गई और कार के परखच्चे उखड़ गए। इस हादसे में 6 युवा छात्रों की जान चली गई। इस घटना के सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं। सोमवार-मंगवार की दरम‍ियानी रात रात करीब 1 बजकर 8 मिनिट पर देवास से इंदौर अपने घर लौट रहे छात्रों की कार अचानक टैंकर में जा घुसी। इधर, पुलिस ने टैंकर चालक की लापरवाही को लेकर भी पड़ताल शुरू कर दी है। फिलहाल, छात्रों की मौत के बाद प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में सनसनी फैल गई है।

सोमवार, 22 फ़रवरी 2021

बाल-बाल बचे पूर्व सीएम, 10 फीट नीचे गिरी लिफ्ट

बाल-बाल बचे पूर्व मुख्यमंत्री, भरभराकर 10 फीट नीचे गिरी लिफ्ट, मचा हड़ंकप
भोपाल। मध्यप्रदेश में उस समय हड़कंप मच गया जब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की लिफ्ट नीचे गिर गई। इसके बाद लिफ्ट का दरवाजा बंद हो गया। लिफ्ट गिरते ही कमलनाथ की सुरक्षा में तैनात जवान नीचे की ओर भागे। दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जिस लिफ्ट में सवार थे, उसके गिरने की खबर सुनकर इंदौर प्रशासन के भी हाथ-पांव फूल गए।
आनन-फानन में लिफ्ट इंजीनियर को बुलाया गया और लिफ्ट का दरवाजा तोड़कर कमलनाथ समेत सभी नेताओं को बाहर निकाला गया। गनीमत यह रही कि लिफ्ट में सवार किसी भी नेता को चोट नहीं आई।
जानकारी के मुताबिक पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल इंदौर के एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। तो वे उनके स्वास्थ्य का हाल-चाल जानने निजी अस्पताल पहुंच गए।
दरअसल रविवार को कमलनाथ इंदौर में थे। और जब उन्हें पता चला कि कमलनाथ के साथ कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी भी मौजूद थे। अस्पताल पहुंचने के बाद रामेश्वर पटेल के वॉर्ड में जाने के लिए सभी नेता लिफ्ट में सवार हो गए लेकिन लिफ्ट ऊपर जाने की जगह करीब 10 फीट नीचे गिर गई।

शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2021

पत्रकार कर रहे थे बीजेपी कार्यकर्ता को ब्लैकमेल

मध्य प्रदेश। अश्लील फोटो खींच कर रहे थे बीजेपी कार्यकर्ता को ब्लेकमेल,पत्रकार और उसकी महिला सहयोगी गिरफ्तार, कोर्ट ने भेजा जेल

नागदा। मध्य प्रदेश से एक ब्लैकमेलिंग का मालम सामने आया है। जिसमें एक युवती व एक तथाकथित पत्रकार को गिरफ्तार किया गया है। दरअसल प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश में उज्जैन जिले के नागदा में एक युवती व एक तथाकथित पत्रकार पुलिस के जाल में फंस गए जिन्होंने एक भाजपा कार्यकर्ता के साथ अश्लील फोटो खींचकर उसे ब्लैकमेलिंग करने की साजिश रची थी। वहीँ गुरुवार को पुलिस ने इन दोनों आरोपियों को न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया है। थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने बताया आरोपी युवती निवासी आदिनाथ कॉलोनी के साथ तथाकथित पत्रकार कैलाश गुर्जर निवासी गांव खजूरिया थाना नागदा के खिलाफ भादवि की धारा 384, 386 व 34 में प्रकरण दर्ज किया गया है।
पुलिस के मुताबिक भाजपा कार्यकर्ता सुरेश रघुवंशी उम्र 65 वर्ष निवासी चिकित्सालय मार्ग नागदा ने शिकायत की थी। कि एक युवती उसे ब्लैकमेल कर रही है। बाद में पुलिस ने जांच के बाद युवती तथा उसके सहयोगी तथाकथित पत्रकार को ब्लैकमेलिंग करते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि युवती एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता है। उसने अपने दोस्त कैलाश गुर्जर के साथ मिलकर षडयंत्र रच कर 16 फरवरी को एक भाजपा कार्यकर्ता को फोन कर इंगोरिया रोड स्थित बीमा अस्पताल परिसर में शाम 6 बजे मिलने बुलाया। जब भाजपा कार्यकर्ता वहां पहुंचा तो आरोपित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उस से चिपक गई और इसी दौरान उसके दोस्त गुर्जर ने दोनों का फोटो खींच लिया और बाद में उससे पैसे की डिमांड करने लगे।
पुलिस ने बाताय कि आरोपी ने कहा कि आरोपी ने फरियादी से कहा कि यदि मुझे पैसे नहीं दिए तो हम यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे। पहले आरोपित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने 14 लाख रुपए की मांग की बाद में 2 लाख रुपए की मांग अड़ गए। जिसके बाद फरियादी भाजपा कार्यकर्ता ने 17 फरवरी को पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने दोनों आरोपीओं को पकड़ने के लिए एक जाल बिछाया। जैसे की आरेापी ने फरियादी को फोन किया और कहा कि 2 लाख रूपए लेकर नए बस स्टेंड पर आ जाना। इधर पुलिस भी सिविल ड्रेस में ऑटो, सायकल व बाईक से वहां पहुंच गई, लेकिन आरोपी ने पुन: फोन कर खाचरौद नाके पर बुलाया, जब फरियादी वहां से जाने लगा तो फिर फोन कर उसे बैरछा रोड पर बुलवाया। इधर पुलिस ने फरियादी से कुछ रुपए का बंडल भी तैयार कर लिया था। जैसे ही बैरछा रोड पर आरोपित पहुंचे तो पुलिस ने दोनों को धरदबोचा।
पुलिस के मुताबिक आरोपी युवक कैलाश गुर्जर पूर्व में भी कुछ लोगों को शिकार बना चुका है। गौरतलब है। कि ग्रेसिम उद्योग के एक सुरक्षा अधिकारी के साथ भी ऐसी घटना हुई थी। उस घटना के तार भी इसी से जुड़े हुए है। वही आरोपी पर पूर्व से ही नागदा थाने में दो मारपीट के प्रकरण दर्ज है। आरोपी की माता समाजवादी पार्टी की पूर्व जिला अध्यक्ष रह चुकी है। पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़ा तो वह अपने आप को मीडियाकर्मी बता रहा था। उसके पास से पुलिस ने प्रेस आईडी भी जब्त की। उस आईडी पर फोटो तो आरोपित का था। लेकिन नाम मोहन यादव पता उज्जैन व इंदौर का लिखा हुआ था। वही बताया जा रहा है। कि फरियादी वर्तमान में भाजपा का एक साधारण कार्यकर्ता है। किसी समय वह कांग्रेस का पदाधिकारी था।

बुधवार, 10 फ़रवरी 2021

चुनाव: कांग्रेस-भाजपा अपने दांव खेल रही है

इंदौर। नगर निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस और भाजपा अपने-अपने दांव खेल रही हैं। इस बीच कांग्रेस के शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल अपनी पार्टी के मेयर पद के संभावित उम्मीदवार विधायक संजय शुक्ला को लेकर मुस्लिम इलाकों में जा रहे हैं। साथ ही, पार्षद पद के दावेदारों को एकजुट करने के लिए कुरान की कसम खिलवा रहे हैं। 
गौरतलब है, कि इंदौर में निकाय चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। इस बीच कांग्रेस को भितरघात का डर सताने लगा है। ऐसे में पार्षद पद के दावेदारों को एकजुट करने के लिए मुस्लिम इलाकों में कुरान की कसम दिलाई गई।
इसका आयोजन शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने किया था। जिसका वीडियो अब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कांग्रेस के मेयर पद के संभावित प्रत्याशी विधायक संजय शुक्ला भी शिरकत आए।
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा का कहना है। कि प्रदेश की जनता कांग्रेस को नकार चुकी है। शहर अध्यक्ष जिस तरह कुरान की शपथ दिला रहे हैं। उससे लग रहा है। कि अब कांग्रेस को मुस्लिम समाज के लोगों पर भी विश्वास नहीं रहा।
कांग्रेस के जिम्मेदार नेता कसम खिलाकर उनकी बेइज्जती कर रहे हैं। वहीं, शहर काजी सैय्यद इशरत अली ने भी कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मजहब को सियासत से दूर रखना चाहिए। कुरान की कसम खिलाना गलत है। 
जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के इस कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह वीडियो मुस्लिम बाहुल्य चंदननगर इलाके का बताया जा रहा है, जिसमें शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल इस क्षेत्र के पार्षद पद के पांच दावेदारों को कुरान की कसम खिलवाते दिखाई दे रहे है।
इसमें कहा जा रहा है।कि उन पांच में से जिसे भी टिकट मिलेगा, बाकी लोग उसकी मदद करेंगे। उनके साथ मंच पर कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला भी नजर आए, जो मेयर टिकट के दावेदार हैं।
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस ने कुरान की कसम खिलाने से इनकार किया। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अमीनुल खान सूरी ने बताया कि कुरान हाथ पर रखकर कोई कसम नहीं खिलाई गई। हालांकि, नगर निकाय चुनाव में सभी कांग्रेसियों को एकजुट होकर काम करने और भाजपा सरकार के खिलाफ लड़ने की शपथ दिलाई गई। भाजपा इसका दुष्प्रचार कर रही है।
बता दें कि मध्यप्रदेश के इंदौर में एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। दरअसल, इस वीडियो में कांग्रेस के कार्यकर्ता कुरान पर हाथ रखकर कसम खाते नजर आ रहे हैं। वे वादा कर रहे हैं। कि जिसे भी टिकट मिला, सभी उसकी मदद करेंगे।
दरअसल, इंदौर नगर निगम के लिए जल्द ही पार्षदों का चुनाव होना है। ऐसे में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने की कोशिश की जा रही है। वहीं भाजपा ने इस मामले में कांग्रेस को तुष्टिकरण करने वाली पार्टी बताया। उधर, शहर काजी ने इसे मजहब के नाम पर राजनीति करार दिया।

शुक्रवार, 5 फ़रवरी 2021

13 साल की उम्र में इंदौर की तनिष्का करेगी 'बीए'

इंदौर। इंदौर की होनहार बेटी तनिष्का ने सिर्फ 13 साल की उम्र में डीएवीवी में बीए में एडमिशन लिया है। पहली बार डीएवीवी ने एक 13 साल की बच्ची को बीए में एडमिशन दिया है। वह अब सायकोलॉजी से बीए करेगी। अपने पिता का सपना पूरा करने के लिए वह बीए एलएलबी करना चाहती थी। लेकिन सीट फुल होने के कारण उसे इसकी मंजूरी नहीं मिल पाई। उसके पिता कुछ समय पहले कोरोना से गुजर चुके हैं। बता दें कि तनिष्का कम उम्र में ऊँचे कक्षाओं में उत्तीर्ण होने पर कई अवार्ड में अपना नाम दर्ज करा चुकी हैं। उसने 11 वर्ष की आयु में 10 वीं पास कर ‘इंडिया बुक ऑफ़ अवार्ड’ में और 12 वर्ष की आयु में 12 वीं पास कर ‘एशिया बुक ऑफ़ अवार्ड’ में अपना नाम दर्ज कराया था। तनिष्का इतनी होनहार है कि वह आँखों में पट्टी बांध कर भी पढ़ लिख लेती हैं।

बुधवार, 3 फ़रवरी 2021

पत्नी ने पति के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

पत्नी ने पति के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर कहा- गलत तरीके से बनाता है शारीरिक संबंध
ग्वालियर। पुलिस थाना गिरवाई में एक नर्स ने अपने दूसरे पति के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। महिला नर्स का दूसरा पति रेलवे कर्मचारी है। एवं मुंबई में पदस्थ है। महिला नर्स का आरोप है। कि उसका पति उसे वाइफ स्वैपिंग के लिए मुंबई ले जाना चाहता है। 
उल्लेखनीय है। कि मुंबई में कुछ वाइफ स्वैपिंग क्लब और ग्रुप है। जहां लोग अपनी पत्नियों के साथ जाते हैं। और फिर किसी और की पत्नी के साथ रात बिताते हैं। जबकि उनकी पत्नी किसी और के साथ दूसरे कमरे में होती है। पहले पति से तलाक लेकर 25,00,000 रुपए स्थाई भरण पोषण लिया था।
उसका साल 2019 में पति से तलाक हो गया था। तलाक के बाद महिला को स्थायी भरण पोषण के लिए 25 लाख रुपए व 5 लाख रुपए के जेवरात मिले। तलाक के बाद महिला ने दतिया के रहने वाले रेलवे कर्मचारी विनोद बघेल से शादी कर ली। विनोद बघेल वर्तमान में मुंबई में पदस्थ है। 
महिला ने शिकायत में बताया है कि शादी पक्की होने के बाद ही विनोद ने उसके साथ गलत तरीके से शारीरिक संबंध बनाए। उसके विरोध करने पर भी नहीं माना। इसके बाद जब शादी हो गई तो 20 दिन साथ में रहा। तब भी वह गलत तरीके से शारीरिक शोषण करता रहा।
इस पर रेलवे कर्मचारी पति ने कहा कि मुम्बई में उसने एक ग्रुप ज्वाइन कर रखा है। यह ग्रुप वीकेंड पर पार्टी करता है। इस ग्रुप में लाइफ पार्टनर को बदलकर सभी एन्जॉय करते हैं। इसीलिए तुमको वहां ले जा रहा हूं। जब महिला नहीं मानी तो आरोपी विनोद ने उसे पीटा और छोड़ दिया। इसके बाद बाद उसने थाने पहुंचकर शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

शनिवार, 30 जनवरी 2021

निगम की गाड़ी से बुजुर्गों को कूड़े के ढेर में छोड़ा

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले का एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। जिसमें नगर निगम कर्मियों द्वारा कमजोर बुजुर्गों को एक गाड़ी में भरकर इंदौर-देवास हाईवे पर छोड़ने का वीडियो वायरल होने से हड़कंप मच गया। वीडियो में निगम के कुछ कर्मचारी एक बुजुर्ग कमजोर महिला और एक पुरुष बुजुर्ग को गाड़ी से उतारते और फिर बैठाते हुए दिख रहे हैं। गाड़ी में कुछ और बुजुर्ग व उनका सामान नजर आ रहा है। वीडियो शिप्रा के आसपास का बताया जा रहा है। लेकिन यह साफ नहीं हुआ है कि यह किस दिन का वाकया है। मौके पर मौजूद किसी भी व्यक्ति ने यह वीडियो शूट करते हुए बताया कि निगमकर्मी बुजुर्गों को सड़क किनारे फेंकने आए हैं और बुजुर्गों को इंदौर नगर निगम का गाड़ी में भरकर लाया गया है।

जब गांव वाले वीडियो बनाने लगे और कर्मियों को फटकारा तो कर्मी उन्हें फिर गाड़ी में बैठाने लगे। ग्रामीणों ने कर्मियों से कहा कि कम से कम बुजुर्गों को इस तरह नहीं फेंकना चाहिए। नगर निगम के कर्मचारियों की संख्या तीन थी, जो यह अमानवीय काम कर रहे थे। जिस गाड़ी से बुजुर्गों को हाईवे पर बेसहारा कर छोड़ने लाया गया था, उसका नंबर एमपीएफ 7622 था और यह निगम के अतिक्रमण निरोधक दस्ते की गाड़ी है।अधिकारियों से पता करने पर यह कहा गया कि इस मामले की जांच की जा रही है। गौरतलब है कि इसी महीने स्वच्छता सर्वेक्षण होना है ‍और इसके चलते लगातार पांचवीं बार सबसे स्वच्छ शहर का तमगा हासिल करने के लिए इंदौर नगर निगम कोई कसर नहीं छोड़ रहा है।

गुरुवार, 28 जनवरी 2021

आरोपी नलिन की जमानत याचिकाएं खारिज की

इंदौर। हिंदू देवी-देवताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियों के मामले में मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने हास्य कलाकार मुनव्वर फारुकी और एक अन्य आरोपी नलिन यादव की जमानत याचिकाएं बृहस्पतिवार को खारिज कर दीं। अधिकारियों ने बताया कि राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा की स्थानीय विधायक मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ की शिकायत पर एक जनवरी को गिरफ्तारी के बाद फारुकी और यादव यहां न्यायिक हिरासत के तहत केंद्रीय जेल में बंद हैं।उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ के न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने जमानत याचिकाओं पर सुनवाई के बाद सोमवार को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। एकल पीठ ने बृहस्पतिवार को जारी फैसले में फारुकी और यादव की जमानत याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा, “अदालत मुकदमे के गुण-दोषों को लेकर संबंधित पक्षों की दलीलों पर टिप्पणी करने से बच रही है। लेकिन मामले में जब्त सामग्री, गवाहों के बयानों और (पुलिस की) जांच जारी होने के चलते फिलहाल जमानत याचिकाओं को मंजूर नहीं कर सकते ।”

मध्यप्रदेश: प्रेमी ने प्रेमिका को मारकर दफनाया

भोपाल। मध्यप्रदेश के खरगोन में एक सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा हुआ है। जहां प्रेमी सन्तोष ने अपनी विवाहित प्रेमिका छाया बाई को मार कर अपने नये घर में गड्ढा कर गाड़ दिया और ऊपर से सीमेंट का प्लास्टर कर दिया। यह घटना अजय देवगन की फ‍िल्‍म 'दृश्यम' के उस सीन की तरह लग रही है। जब नए बन रहेे थाने मेंं हीरो एक लाश को दबा देेेता है। छाया बाई कुछ दिनों से अपने पिता भायराम के यहां मोहनखेड़ी गांव में रह रही थी लेकिन 30 दिसम्बर को अचानक से वो पिता के घर से लापता हो गई। 3 जनवरी 2021 को परिजनों ने भीकनगांव थाने पर गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई।

जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...