बुधवार, 14 जुलाई 2021

अमेरिका ने चीन के कब्‍जे का दावा खारिज किया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका ने एक बार‍ फिर से दक्षिण चीन सागर पर चीन के कब्‍जे का दावा खारिज कर दिया है। अमेरिका ने इसको पूरी तरह से गैर कानूनी बताया है। अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने साफ कहा है कि वो इस मुद्दे पर उन दक्षिण एशियाई देशों के साथ हैं। जो चीन की जबरदस्‍ती के खिलाफ हैं। एसोसिएशन ऑफ साउथ ईस्‍ट नेशंस (आसियान) सदस्‍य देशों के विदेश मंत्रियों की एक वर्चुअल बैठक के दौरान उन्‍होंने ये बात कही है।

ब्लिंकन ने ये भी कहा है कि म्‍यांमार के खराब होते हालात को लेकर अमेरिका काफी चिंतित है। अमेरिका ने इस बैठक के दौरान आसियान देशों से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की भी अपील की है। अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि म्‍यांमार में फैली हिंसा को रोकने और वहां पर दोबारा लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था बहाल करने के लिए सभी देशों को काम करना चाहिए।

अमेरिका में जो बाइडन की सरकार आने के बाद से आसियान सदस्‍य देशों के साथ अमेरिकी विदेश मंत्री की ये पहली बैठक थी। इस बैठक में ब्लिंकन की मौजूदगी इसलिए भी खास थी, क्‍योंकि माना जा रहा था कि अमेरिका ने इस क्षेत्र से पूरी तरफ से मुंह फेर लिया है और वो इस तरफ बिल्‍कुल ध्‍यान नहीं दे रहा है। कूटनीतिक स्‍तर पर चीन की बढ़ती ताकत और अमेरका की बेरुखी जैसे विचारों को बल मिल रहा था। आपको बता दें कि म्‍यांमार में फरवरी में हुए तख्‍तापलट के बाद से ही आसियान यहां पर अपने प्रभाव के जरिए हालात को सही करने की दिशा में प्रयास कर रहा है।

आईएसपीआर ने 2 सैनिकों की मौत पर पुष्टि की

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पाले हुए आतंकी अब उसी को बड़ा जख्म दे रहे हैं। इमरान खान के गृह राज्य खैबर पख्तूनख्वा में आतंकी हमले में पाकिस्तानी सेना के 11 जवानों के मारे जाने की खबर है। रिपोर्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकियों ने कई लोगों को बंधक भी बनाया है। जिसमें पाकिस्तानी सेना के जवान भी शामिल हैं। हालांकि, पाकिस्तान सेना की मीडिया विंग डीजी आईएसपीआर ने केवल दो सैनिकों के मौत की ही पुष्टि की है।

आईएसपीआर की बयान में बताया गया है कि पाकिस्तानी सेना ने खैबर पख्तूनख्वा के कुर्रम जिले में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सर्च ऑपरेशन चलाया था। इस दौरान पाकिस्तानी सेना और आतंकवादियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई। जिसमें तीन आतंकी मारे गए, जबकि पाकिस्तानी सेना का एक कैप्टन अब्दुल बासित और सिपाही हजरत बिलाल की मौत हो गई। पाकिस्तानी सेना ने इलाके में मौजूद दूसरे आतंकियों के खात्मे के लिए बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चलाया है। पिछले महीने इसी राज्य के जिला होशब के शापक के पास एम-8 पर आतंकियों के हमले में फ्रंटियर कोर बलूचिस्तान का एक जवान मारा गया था। इसके अलावा 25 जून को बलूचिस्तान के सिबी में आतंकवादियों के हमले में फ्रंटियर कोर के पांच जवानों की मौत हुई थी।

जुलाई के शुरुआत में ही आतंकियों ने दो हमलों में पाकिस्तानी सेना के पांच जवानों को मार गिराया था। पहला हमला अफगानिस्तान के अंदर से आतंकवादियों ने उत्तरी वजीरिस्तान कबायली जिले के द्वातोई इलाके में एक सैन्य चौकी पर किया था। इस हमले में पाकिस्तानी सेना के दो जवान 43 साल के हवलदार सलीम और 35 साल के लांस नायक परवेज मारे गए थे। जबकि दूसरा हमला, दक्षिण वजीरिस्तान कबायली जिले के तिआर्जा तहसील के न्यू कला में पाकिस्तानी सुरक्षा बलों पर किया गया था। 

इस हमले में तीन जवान मारे गए थे जबकि कई अन्य घायल हो गए थे। इस्लामाबाद लगातार काबुल से अपनी तरफ प्रभावी सीमा नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए कहता रहा है। दिखावे के लिए पाकिस्तान ने कहा कि वह आतंकवादी गतिविधियों के लिए अफगानिस्तान की धरती के लगातार इस्तेमाल की कड़ी निंदा करता है। जबकि, पूरी दुनिया यह सच्चाई जानती है कि अफगानिस्तान के आतंकियों को पालने-पोसने में पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ है।

महंगाई पर 18 माह से लगी रोक को हटाने का निर्णय

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के 48 लाख से ज्यादा कर्मियों और 65 लाख रिटायर्ड लोगों का इंतजार खत्म हो गया है। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में डीए-डीआर यानी ‘महंगाई भत्ता व महंगाई राहत’ पर 18 माह से लगी रोक हटाने का निर्णय लिया। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने प्रेसवार्ता में कहा, सरकारी कर्मियों को यह भत्ता एक जुलाई 2021 से मिलेगा। भत्ते की दर 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत कर दी गई है। हालांकि केंद्रीय कर्मियों को यह पूरी उम्मीद थी कि सरकार उनका 18 माह के एरियर को लेकर भी कोई घोषणा करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

केंद्र सरकार के कार्मिकों के प्रतिनिधि समूह ‘नेशनल काउंसिल ऑफ जेसीएम’ ने 26 जून को डीओपीटी और वित्त मंत्रालय के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में इस मुद्दे को संजीदगी से उठाया था। बैठक की अध्यक्षता कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने की थी। प्रतिनिधि समूह ने कैबिनेट सचिव से आग्रह किया था कि डीए की राशि के अलावा 18 महीने का एरियर भी जारी किया जाए। कैबिनेट सचिव की तरफ से कहा गया था कि इस बाबत अंतिम रिपोर्ट तैयार उसे कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेज रहे हैं। केंद्र सरकार एक करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मियों और पेंशनरों को निराश नहीं करेगी।

‘स्टाफ साइड’ की राष्ट्रीय परिषद ने इससे पहले भी कर्मियों के वेतन भत्ते और रिटायर्ड लोगों को महंगाई राहत दिलाने के लिए वित्त मंत्रालय के साथ कई बैठकें की थीं। जेसीएम के सचिव शिव गोपाल मिश्रा और सदस्य सी. श्रीकुमार के अनुसार, सबसे पहले वित्त मंत्रालय में तत्कालीन राज्य मंत्री रहे अनुराग ठाकुर ने ही यह घोषणा की थी कि कर्मियों को उनके डीए की राशि मिलेगी। केंद्र सरकार के एक करोड़ से ज्यादा कर्मचारी और पेंशनर बीते 18 माह से महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत मिलने का इंतजार कर रहे थे। कोरोना के चलते जनवरी 2020 से महंगाई भत्ता और महंगाई राहत (17 प्रतिशत) बंद है। उस वक्त एलटीसी जैसे अन्य भत्तों पर भी रोक लगाई गई थी।

धांधली के खिलाफ प्रदर्शन को सफल बनाने की अपील

हरिओम उपाध्याय             

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायत के अध्यक्षों के चुनाव में भाजपा सरकार द्वारा की गई कथित धांधली के विरोध में 15 जुलाई को तहसील स्तर पर आयोजित विरोध प्रदर्शन को सफल बनाने की अपील की है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज पार्टी मुख्यालय में विधान परिषद सदस्यों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में समाजवादी पार्टी के सदस्य बहुमत में जीते थे। लेकिन भाजपा सरकार ने सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करते हुए अध्यक्ष के पदों पर अपना कब्जा जमा लिया। भाजपा सरकार ने कई जनपदों में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों के नामांकन पत्र नहीं दाखिल होने दिए, कई क्षेत्र पंचायत सदस्यों का अपहरण कर लिया गया और कईयों का पुलिस द्वारा उत्पीड़न कराया गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा भाजपा जनादेश के अपहरण की साजिशें करने की तैयारियां कर रही है। भाजपा से लोकतंत्र को बड़ा खतरा है। राष्ट्रपति को सम्बोधित 16 सूत्रीय ज्ञापन में भाजपा सरकार की विफलताओं का भी ब्यौरा है।

जिला पर्यावरण समिति की बैठक आयोजित की

कौशाम्बी। मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में जिला पर्यावरण समिति की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि पर्यावरण को संतुलित बनाये रखने के लिए बृक्षारोपण आवश्यक है। जो पर्यावरण को संतुलित बनाये रखने में मदद करते हैं। उन्होंने कहा कि बृक्षारोपण पर्यावरण के सन्तुलन को बनाये रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इससे वर्षा होने में मदद तथा वातावरण में घुले हुये कार्बनडाई आक्साइड गैसों सहित अन्य गैसों से हमारे जीवन पर पड़ने वाले दुष्प्रभाओं से भी बचाते है। साथ ही साथ प्राणवायु आक्सीजन का उत्सर्जन करते है। बृक्षो से अनेक प्रकार की जड़ी बूटियां भी प्राप्त होती है जो मनुष्य के जीवन में काम आती है। 
उन्होंने कहा कि वृक्ष धरा के आभूषण होते है, वृक्ष वातावरण को शुद्ध बनाये रहते है। इस अवसर पर प्रभागीय वनाधिकारी, परियोजना निदेशक, जिला विकास अधिकारी,समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं समस्त अधिशासी अधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।
सुशील केशरवानी 

केंद्रीय मंत्री पीयूष को सदन का नेता नियुक्त किया

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को राज्यसभा में सदन का नेता नियुक्त किया गया है। वह थावरचंद गहलोत की जगह लेंगे जिन्हें कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया है। सूत्रों ने बुधवार को बताया कि संसदीय कार्य मंत्रालय ने राज्यसभा सचिवालय को सूचित किया है कि गोयल सदन के नेता होंगे। राज्यसभा के दो बार के सदस्य गोयल वर्तमान में उच्च सदन में राजग के उप-नेता हैं और वह केंद्रीय मंत्रिमंडल के सदस्य भी हैं। उनके पास वाणिज्य और उद्योग, खाद्य एवं उपभोक्ता तथा कपड़ा मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों का दायित्व है। वर्ष 2014 में मंत्री बनने से पहले गोयल पार्टी के कोषाध्यक्ष थे। वह भाजपा की चुनाव प्रबंधन गतिविधियों में भी शामिल रहे हैं।

मालूम हो कि 19 जुलाई से संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है। जो 13 अगस्त तक चलेगा। देश में मौजूदा कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद यह पहला सत्र होगा। जिसका समय सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक रहेगा। सत्र संसद के दोनों सदनों में आयोजित किया जाएगा। जिसमें सभी आवश्यक प्रोटोकॉल और सांसदों को सामाजिक दूरी के आधार पर समायोजित करने की व्यवस्था की जाएगी। इससे पहले लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने संसद के आगामी मानसून सत्र से संबंधित मुद्दों पर चर्चा के लिए 18 जुलाई को सभी सदनों के नेताओं की सर्वदलीय बैठक बुलाई है। बैठक सुबह 11 बजे से संसद परिसर में शुरू होने की संभावना है। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी भी बैठक के दौरान सदन के नेताओं से बातचीत करेंगे और 19 जुलाई से सत्र शुरू होने से पहले उनके विचार लेंगे।

सीएम योगी ने अधिकारियों को लगाईं फटकार: यूपी

हरिओम उपाध्याय              

लखनऊ। राजधानी में लगे जनता दरबार में लोगों की समस्याएं सुन रहे मुख्यमंत्री के सामने जब एक ही शिकायत तीसरी बार आई तो सीएम का पारा चढ़ गया। अधिकारियों को फटकार लगाते हुए उन्होंने समस्या के तुरंत समाधान कराने के निर्देश दिए। सीएम के इस रूख को देखकर फरियादी गदगद हो उठे। दरअसल बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बाद पहली मर्तबा जनता दरबार में आए लोगों की समस्याओं को एक-एक करके सुन रहे थे। तभी एक फरियादी ने उनसे इस बात की शिकायत की कि पिछले दो बार से आ रहे हैं, यह तीसरी बार है। इस पर मुख्यमंत्री ने मौके पर मौजूद अधिकारियों के प्रति नाराजगी जताई। कहा भविष्य में इसकी पुनरावृति नहीं होनी चाहिए। जिस स्तर पर समस्या जाए उसका वहीं पर स्थाई हल दें।

जनता दरबार मे मुख्यमंत्री के सामने महिला से धोखे से शादी कर उसके साथ जबरिया धर्म परिवर्तन कराए जाने का भी मामला पहुंचा। रामगढ़ताल इलाके की रहने वाली महिला ने योगी को बताया कि तीन वर्ष पूर्व कोतवाली इलाके के नखास पर रहने वाले अमीरूल हक नाम के व्यक्ति ने धोखे से उससे कोर्ट मैरिज कर ली और फिर अब उसका जबरिया धर्म परिवर्तन कराना चाहता है। मुख्यमंत्री ने तत्काल अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए।

इसके अलावा सउदी अरब में मृत व्यक्ति का शव वतन वापस जाने सहित, अधिकारियों द्वारा मामलों में सही रिपोर्ट न दिए जाने और अधिकांश जमीनी विवाद और पुलिस से जुड़े मामले पहुंचे। गंभीर बीमारियों का पैसों के अभाव में इलाज नहीं हो पाने के मामलों को भी सीएम ने गंभीरता से लिया। जनता दरबार में करीब आधा दर्जन ऐसे मामले आए। जिसके परिजन किसी न किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। लेकिन पैसों के अभाव में उनका इलाज नहीं हो पाया। मुख्यमंत्री ने ऐसे मामलों में फरियादियों को अस्पताल से इलाज का इस्टिमेट बनवाकर देने को कहा है। उन्होंने कहा कि रुपयों को अभाव में किसी भी गरीब का इलाज नहीं रूकेगा। ऐसे सभी गरीबों का इलाज सरकार की ओर से कराया जाएगा।

समाज को गुमराह करने के लिए लॉलीपॉप थमाया: यूपी

सत्येंद्र पंवार          
मेरठ। बहुजन समाज के मूल निवासी मुस्लिम समाज को भारतीय जनता पार्टी द्वारा एक षड्यंत्र के तहत पद के नाम पर समाज को गुमराह करने के लिए लॉलीपॉप थमा दिए जा रहे हैं।
बहुजन मुक्ति पार्टी प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे ने कहा कि पहले तो कांग्रेस ने वर्षों तक मुस्लिम समाज अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति पिछड़े वर्ग अति पिछड़े वर्गों का शोषण किया। हिस्सेदारी के नाम पर 0 साबित हुई। उसके बाद सपा ने आप ने बसपा ने कम्युनिस्ट पार्टी ने मुस्लिम समाज ही नहीं मूल निवासियों का लगातार शोषण किया। हमेशा बीजेपी द्वारा खुलकर मुस्लिम समाज के प्रति विद्वेष भावना देखने को मिली और मिलती आ रही है लेकिन आचार संहिता के लगने से 2 महीना मात्र पहले पदाधिकारी बनाकर मूल निवासियों को गुमराह करने का लॉलीपॉप दिया जा रहा है। इससे मूल निवासियों  को उनके हक अधिकार से वंचित करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। 
आए दिन मोब लिंचिंग जैसी घटनाएं एस सी एस टी ओबीसी के लोगों पर आपस में मरवाने बिड़वा ने के षडयंत्र और भारतीय संविधान को मिटाने की साजिश मनुवादी मनुस्मृति को लाने का षड्यंत्र जोरों पर दिखाई दे रहा है। इसमें छुब्द होकर बहुजन मुक्ति पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी काली पट्टी बांधकर ऐसे लोगों का विरोध जता रहे हैं। और विरोध करते रहेंगे जो समाज को गुमराह करने के लिए अपने लालच में उनके पक्ष में काम कर रहे हैं। 
क्योंकि यह ईवीएम की नाजायज सरकार आने वाले वक्त में भी ईवीएम से घोटाला करने के लिए अपने मंसूबे तैयार कर रही है।इससे समाज को सीख लेनी चाहिए तभी भारतीयों के संविधान लोकतंत्र का बचाव हो सकेगा छोटे-मोटे दल भी बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं तो आने वाले वक्त में इससे तो अच्छा डायरेक्ट अपने दुश्मन विदेशी लोगों के षड्यंत्र में जाल में खुद ही फंस जाएं। तो बेहतर होगा। ओमवीर सिंह शहजाद कुरेशी ओम कारण फूल सिंह मेहताब कुलविंदर सिंह अजय मोंटी सोनू नईम कुलविंदर मेहरा शोएब महेंद्र सिंह विजेंद्र पाल राहुल आवेश आशीष आसिफ अयूब अमजद अली वीरेश गौतम मनोज कुमार मुनेश जाटव नुसरत अली चौधरी शहजाद आदि मौजूद रहे।

कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में किया जाएंगा प्रदर्शन

मनोज सिंह ठाकुर              

उज्जैन। केेंद्र सरकार के द्वारा पेट्रोल, डीजल एवं घरेलू गैस में की जा रही बेहताशा मूल्य वृद्धि एवं बढ़ती हुई महंगाई के विरोध में शहर महिला कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में व शहर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में कल 15 जुलाई गुरुवार को दोपहर 12.30 बजे टॉवर चौक पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। धरने में काले कपड़े पहनकर महिला कांग्रेस द्वारा अपना विरोध दर्ज कराया जाएगा। शहर महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष अंजु जाटवा ने बताया कि पूरे देश में केंद्र सरकार के द्वारा पेट्रोल, डीजल घरेलू गैस के जो मूल्य लगातार बढ़ाये जा रहे हैं। उससे आम आदमी परेशान है। सभी दूर हाहाकार मचा हुआ है।

इसको लेकर दिए जा रहे धरने में शहर कांग्रेस के अध्यक्षगण, पदाधिकारी, ब्लॉक अध्यक्ष, महिला कांग्रेस, युवक कांग्रेस, सेवा दल के समस्त पदाधिकारी एवं कांग्रेस के कार्यकर्ता गण एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गण उपस्थित रहेंगे।

यूपी मॉडल’ की चर्चा अब देश संग विदेशों में भी

हरिओम उपाध्याय             
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामले अब 1500 से कम हो गए हैं। दूसरी लहर पर नियंत्रण लगाने वाले ‘योगी के यूपी मॉडल’ की चर्चा अब देश संग विदेशों में हो रही है। हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई सांसद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कोविड मैनेजमेंट की प्रशंसा की थी। 
आबादी के हिसाब से देश का सबसे बड़ा राज्य होने के बावजूद यूपी कुल सक्रिय मामलों में देश में 19वें पायदान पर है। 25 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में सिर्फ 1428 एक्टिव केस ही रह गए हैं। बीते 24 घंटों में 2,56,975 टेस्ट किए गए जिसमें महज 90 लोगों में ही कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। देश के दूसरे प्रदेशों से कहीं अधिक कोरोना की टेस्टिंग कर एक रिकार्ड बनाया है। अब तक प्रदेश में 6 करोड़ 13 लाख से अधिक जांच की जा चुकी है।
राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि संक्रमण के नए मामलों में कमी आने के बावजूद उप्र में टेस्टिंग की प्रक्रिया पर जोर दिया जा रहा है। इसके साथ ही संक्रमण को मात देने के लिए वैक्सिनेशन का कार्य पूरे प्रदेश में तेजी से चल रहा है। यूपी में तीन करोड़ 88 लाख से अधिक वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। बीते 24 घंटों में 134 लोगों ने कोरोना को मात दी है। प्रदेश का रिकवरी रेट अब 98.6 प्रतिशत हो गई है।   
पांच जनपद हुए कोरोना मुक्त...
प्रवक्ता ने बताया कि उप्र के पांच जनपद अब कोरोना संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। इनमें अलीगढ़, ललितपुर, श्रावस्ती, हाथरस और महोबा जिले शामिल हैं। प्रदेश के 37 जपनदों में एक भी कोरोना संक्रमण का मामला सामने नहीं आया और 37 जनपदों में एकल संख्या में केस दर्ज किए गए। लखनऊ में केवल 10 केस दर्ज हुए हैं। 
यूपी की तुलना में दूसरे प्रदेशों के हालात बेकाबू...
सरकारी प्रवक्ता के अनुसार दूसरे राज्यों और कई देशों में यूपी की तुलना में कई गुना ज्यादा नए केस रोजाना आ रहे हैं। आबादी के लिहाज से उत्तर प्रदेश से काफी कम आबादी वाले अन्य राज्यों में अब भी संक्रमण पर काबू नहीं पाया जा सका है। महाराष्ट्र में 1,11,622, केरल में 1,11,578, कर्नाटक में 34,881 तमिलनाडु में 31,819, आंध प्रदेश में 27,195, उड़ीसा में 21,683, असम में 20,941, पश्चिम बंगाल में 14,531, तेलंगाना में 10,148, मणिपुर में 7,520, मिजोरम में 4,787, छत्तीसगढ़ में 4,517, त्रिपुरा में 4,245, मेघालय में 4,110, अरुणाचल प्रदेश में 3,918, जम्मू कश्मीर में 2,709, सिक्किम में 2,225 और गोवा में 1,770 कुल कोरोना के एक्टिव केस दर्ज किए गए।
153 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट की हुई स्थापना
उन्होंने बताया कि संक्रमण पर लगाम लगाने के साथ ही प्रदेशवासियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध योगी सरकार चिकित्सा सुविधाओं में विस्तार कर रही है। ऑक्सीजन उपलब्धता में यूपी अब आत्मनिर्भर हो रहा है। यूपी में 153 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा चुके हैं। 15 अगस्त तक प्रदेश में 541 प्लांट को शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 

घाटों के इतिहास के बारे में पूछना नहीं पड़ेगा: पीएम

हरिओम उपाध्याय                
वाराणसी। धर्म नगरी काशी में धार्मिक पर्यटन और भ्रमण के लिए आने वाले पर्यटकों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तोहफा देने जा रहे हैं। प्रधानमंत्री की इस सौगात से अब पर्यटकों को साइनेज के जरिये घाटों की जानकारी मिल जायेगी। उन्हें किसी पर्यटन गाइड या किसी से घाटों के इतिहास और आपसी दूरी के बारे में पूछना नहीं पड़ेगा। क्यूआर कोड से दुनिया के सभी भाषा में पर्यटक घाटों के पौराणिक व ऐतिहासिक महत्व को भी जान सकेंगे।
गुरुवार को वाराणसी आ रहे प्रधानमंत्री इसका उद्घाटन करेंगे जिसके बाद काशी के प्रसिद्ध घाटों के इतिहास व धार्मिक महत्व की जानकारी बस एक क्लिक में मिल जाएगी। काशी के घाटों की प्राचीनता ही इसकी ऐतिहासिक प्रमाणिकता है। घाटों की सुंदरता और पौराणिकता को देखने और समझने  के लिए पूरी दुनिया के पर्यटक आते हैं। योगी सरकार ने घाटों पर इंफॉर्मेटिव, कल्चरल, स्टेप सहित कई तरह के साइनेज लगवा दिये हैं। उत्तर वाहिनी गंगा के किनारे स्थित 84 घाटों के मनोरम दृष्य की जानकारी किताबों, गाइड या फिर गूगल से मिलती रही है। घाटों पर घूमने वाले अवैध गाइड गलत जानकारी देकर पर्यटकों से पैसे ऐंठ लिया करते थे। 
वाराणसी स्मार्ट सिटी के अफसरों के अनुसार घाटों की पौराणिक विशेषता तथा इतिहास खुद घाट बयां करेंगे।  घाटों पर जाने के बाद दाएं तथा बाएं के दस-दस  घाटों की जानकारी और उसकी दूरी भी इस साइनेज पर लिखी होगी।  लगभग सात फीट ऊंची और 4 फीट चौड़ी इस हेरिटेज इंस्टालेशन में ये जानकारियां हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषा में लिखी गई हैं।  किसी पर्यटक को भाषाई परेशानी न होने पाए, इसलिए इसी बोर्ड पर क्यू आर कोड भी होगा जिसे मोबाइल से स्कैन करने के बाद पर्यटक किसी भी भाषा में घाटों के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे। साइनेज पर ही उस घाट  से सम्बंधित ग्राफ़िकल डिज़ाइन भी बनी होगी। 
प्रदेश सरकार ने दो घाटों पर कल्चरल साइनेज भी लगाई है। इस साइनेज की कई विशेषताएं हैं। ये साइनेज हर घाट पर होने वाले धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों के बारे में जानकारी देंगे। पर्यटकों के आवागमन को देखते हुए कल्चरल  इंस्टॉलेशन को अस्सी घाट व राजघाट पर लगाया जाएगा। पर्यटक इन्हीं दोनों घाटों पर लगे साइनेज को देखकर एक ही घाट से सभी घाटों के कार्यक्रम व महत्व के बारे में जान सकेंगे। स्टेप साइनेज भी  घाटों  पर लगा दिया गया है। साइनेज लगाने की लागत लगभग 5 करोड़ रुपये आई है।

सीएम ममता की याचिका पर सुनवाई, संसाधन सुरक्षित

मिनाक्षी लोढी          
कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल की बहुचर्चित नंदीग्राम विधानसभा सीट पर मतगणना में कथित धांधली के संबंध में चुनाव आयोग को आदेश दिया है कि चुनाव में इस्तेमाल हुई ईवीएम, बैलट पेपर और वीवीपैट को सुरक्षित रखें। ताकि आवश्यकता पड़ने पर पुनर्मतगणना कराई जा सके।
हाई कोर्ट ने बुधवार को तृणमूल सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की याचिका पर सुनवाई की। सुनवाई  के दौरान न्यायमूर्ति संपा सरकार ने कहा कि इस मामले में विपक्षी शुभेंदु अधिकारी को भी नोटिस दिया जाएगा। आयोग को आदेश देते हुए उन्होंने कहा है कि मतदान और मतगणना के दौरान इस्तेमाल हुए सभी कागजातों को भी संरक्षित रखना चाहिए। 
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया है कि नंदीग्राम में मतगणना करने वाले अधिकारी को शुभेंदु अधिकारी ने जान से मारने की कोशिश की थी, इसके बाद मतगणना में व्यापक धांधली हुई और उनकी हार हुई है। इस मामले की पहली सुनवाई के दौरान तृणमूल ने न्यायमूर्ति कौशिक चंद्र पर गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद कौशिक ने इस मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया था। किया जिसके बाद मामले को न्यायमूर्ति संपा सरकार की पीठ में स्थानांतरित किया गया है।

एआईएमआईएम की इकाई का कांग्रेस में विलय हुआ

हरिओम उपाध्याय               

वाराणसी। वर्ष 2022 में होने जा रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उतरने की तैयारियों में लगे हुए असदुद्दीन ओवैसी को जोर का झटका जोर से ही लगा है। वाराणसी की एआईएमआईएम की समूची जिला इकाई का कांग्रेस में विलय हो गया है। एआईएमआईएम के प्रदेश सचिव अमान अख्तर की अगुवाई में पार्टी के बीस से भी ज्यादा पदाधिकारियों ने कांग्रेस में शामिल होते हुए हाथ का साथ पकड़ लिया है।

बुधवार को कचहरी स्थित एआईएमआईएम के जिला कार्यालय पर प्रदेश सचिव अमान अख्तर की अगुवाई में संगठन की समूची जिला इकाई ने कांग्रेस में शामिल होने की विधिवत घोषणा की। इस दौरान एआईएमआईएम के जिला अध्यक्ष जाहिद खान और महिला जिला अध्यक्ष केसर जहां ने अन्य लोगों के साथ कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। कांग्रेस की ओर से अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज आलम ने एआईएमआईएम छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए सभी पदाधिकारियों को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई।

प्रायोजित योजना को जारी रखने की मंजूरी, फैसला

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। केन्द्रीय मंत्रिमण्‍डल ने न्यायपालिका के लिए बुनियादी ढांचे से जुड़ी सुविधाओं के विकास के लिए केन्द्र प्रायोजित योजना को अगले पांच वर्षों के लिए जारी रखने को बुधवार को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस बाबत फैसला किया गया। यह योजना एक अप्रैल 2021 से लेकर 31 मार्च 2021 तक पांच वर्षों के लिए जारी रखी जाएगी। इस पर आने वाली कुल 9,000 करोड़ रुपये की लागत में केन्द्र सरकार की हिस्सेदारी 5,357 करोड़ रुपये की होगी, जिसमें न्याय दिलाने एवं कानूनी सुधार से जुड़े एक राष्ट्रीय मिशन के जरिये ग्राम न्यायालय योजना को मिशन मोड में लागू किया जाएगा

केन्द्रीय मंत्रिमण्‍डल ने 50 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ पांच वर्षों की अवधि के लिए आवर्ती और अनावर्ती अनुदानों को प्रमाणित करके ग्राम न्यायालयों को समर्थन देने के निर्णय को भी मंजूरी दी हालांकि, अधिसूचित ग्राम न्यायालयों का संचालन शुरू होने और न्याय विभाग के ग्राम न्यायालय पोर्टल पर न्यायाधिकारियों की नियुक्ति किये जाने और इस बारे में रिपोर्ट दिए जाने के बाद ही राज्यों को धन जारी किया जाएगा। एक वर्ष के बाद इस बात का आंकलन किया जाएगा कि ग्राम न्यायालय योजना ने ग्रामीण इलाकों में हाशिये पर रहने वाले लोगों को त्वरित और किफायती न्याय प्रदान करने के अपने लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया है या नहीं।

मैच टाई होने पर मिलेगें 6 अंक, पुष्टि की: आईसीसी

आबुधाबी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बुधवार को आधिकारिक तौर पर पुष्टि की, कि भारत और इंग्लैंड के बीच अगस्त में पांच मैचों की श्रृंखला से शुरू होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के दूसरे चक्र के दौरान जीत दर्ज करने पर 12 अंक, ड्रा पर चार अंक और मैच टाई होने पर छह अंक दिये जाएंगे।
आईसीसी ने आगे कहा कि जीते गये अंकों के प्रतिशत का उपयोग 2021-23 के चक्र में स्थानों का निर्धारण करने के लिये किया जाएगा। इससे पहले प्रत्येक टेस्ट श्रृंखला के लिये 120 अंक तय किये गये थे जिससे असमानता पैदा होती थी क्योंकि दो टेस्ट मैचों की एक श्रृंखला में एक टेस्ट जीतने पर टीम को 60 अंक मिल जाते थे जबकि पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में एक मैच जीतने पर केवल 24 अंक मिलते थे।
पिछले महीने की रिपोर्ट के अनुसार,आईसीसी डब्ल्यूटीसी के दूसरे चक्र के लिये नयी अंक प्रणाली शुरू करने जा रही है। आईसीसी के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी ज्योफ अलारडाइस ने कहा कि पिछले साल के व्यवधान से सबक लेकर ये बदलाव अंक प्रणाली को सरल बनाने के लिये किये गये हैं।
अलारडाइस ने आईसीसी के बयान में कहा, ”हमें प्रतिक्रिया मिली कि पिछली अंक प्रणाली को सरल बनाने की जरूरत है। क्रिकेट समिति ने प्रत्येक मैच के लिये एक नयी मानकीकृत प्रणाली का प्रस्ताव रखते समय इसे ध्यान में रखा। ” जून 2023 में समाप्त होने वाले डब्ल्यूटीसी के दूसरे चक्र में पांच टेस्ट मैचों की केवल दो श्रृंखलाएं शामिल हैं। इनमें भारत-इंग्लैंड श्रृंखला के अलावा इस साल आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली एशेज श्रृंखला शामिल है। आस्ट्रेलिया के अगले साल के भारत दौरे में चार टेस्ट मैच खेले जाएंगे। यह नये चक्र में चार मैचों की एकमात्र श्रृंखला होगी। नौ टेस्ट टीमें कुल छह-छह श्रृंखलाएं खेलेंगी। इनमें से पिछली बार की तरह तीन श्रृंखलाएं स्वदेश और तीन विदेश में खेलनी होंगी।

विस्फोटक आईईडी का पता लगने पर निष्क्रिय किया

श्रीनगर। सुरक्षाबलों के सतर्क जवानों ने बड़ी घटना को विफल करते हुुए दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में शक्तिशाली विस्फोटक (आईईडी) का पता लगने पर उसे निष्क्रिय कर दिया।
पुलिस प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि सुरक्षा बल के गश्ती दल को मंगलवार देर रात कुलगाम के काजीगुंड क्षेत्र के दामजेन गांव के बाहरी इलाके में चिनार के पेड़ के नीचे संदिग्ध वस्तु दिखाई दी।
उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की तुरंत घेराबंदी कर बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) को बुलाया।
बाद में बीडीएस ने शक्तिशाली विफोटक (आईईडी) को बिना किसी नुकसान के निष्क्रिय कर दिया गया। उन्होंने कहा कि समय रहते इसे निष्क्रिय नहीं किया गया होता जान-माल का बड़ा नुकसान हो सकता था।
उन्होंने कहा कि काजीगुंड थाने में मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

यूपी सरकार-केन्द्र को एससी ने नोटिस जारी किया

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के कारणवश पिछले वर्ष कांवड यात्रा को रद्द कर दिया गया था। इस वर्ष कांवड यात्रा को अनुमति दिये जाने पर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से उत्तर प्रदेश सरकार और केन्द्र सरकार को नोटिस जारी किया गया है।
सरकारों को नोटिस जारी कर कांवड यात्रा को परमिशन दिये जाने पर जवाब मांगा है। इस मामले को लेकर कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई का निर्णय लिया गया है।कल उत्तराखंड सरकार की तरफ से कांवड यात्रा को पिछले वर्ष की तरह कोरेाना संक्रमण के कारणवश रद्द कर दिया गया है।

बिजली से दुघटनाओं को कंट्रोल करने के निर्देश दियें

हरिओम उपाध्याय              
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-9 के साथ आज बैठक की है। इस बैठक में उन्होंने कोरोना संक्रमण को कंट्रोल और स्पेशल अभियान चलाने के साथ-साथ आकाशीय बिजली से होने वाली दुघटनाओं को कंट्रोल करने के निर्देश दिये हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को टीम-9 के साथ मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण अभी तक पूरी तरह से समाप्त नहीं हो पाया है। इसलिये अन्य प्रदेशों से आने वाले नागरिकों की थमर्ल स्क्रीनिंग की जाये। उन्होंने कहा कि सूबे के विभिन्न जनपदों में पीपीपी माॅडल पर मेडिकल काॅलेजों की स्थापना बाबत जरूरी विचार-विमर्श कर नीति जल्द से जल्द तैयार की जाये। 
इस दौरान अफसरों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बताया कि 12 जुलाई 2021 से दस्तक अभियान शुरू हो गया है, जो अभियान 25 जुलाई 2021 तक चलाया जायेगा। अधिकारियों ने कहा कि इसके पश्चात गोल्डन कार्ड बनाये जाने पर स्पेशल अभियान चलाया जायेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हर जनपद में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से हर दिन लगभग 100 सीनियर नागरिको के साथ वार्ता की जाये। उन्होंने कहा कि सीनियर नागरिकों के लिये स्पेशल एंबुलेंस सेवा संचालित करने के बाबत में भी विचार-विमर्श किया जाये। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आकाशीय बिजली से होने वाली दुघटनाओं को कंट्रोल करने हेतु तकनीक यूज करते हुए सतर्क सिस्टम विकसित करें।

जोरदार धमाके की चपेट में आकर 10 की मौंत हुईं

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। यात्रियों को लेकर अपनी मंजिल की तरफ जा रही बस में हुए जोरदार धमाके की चपेट में आकर 6 चीनी यात्रियों समेत 10 लोगों की मौत हो गई है।
बुधवार को पाकिस्तान के पख्तूनवा इलाके में यात्रियों को लेकर अपनी मंजिल की तरफ जा रही बस में जोरदार धमाका हुआ है। धमाके की चपेट में आकर मरने वालों में 6 चीनी यात्री भी शामिल हैं जो चीन पाकिस्तान इकॉनामिक कॉरिडोर प्रोजेक्ट में इंजीनियर के तौर पर काम कर रहे थे। इस धमाके की चपेट में एक पाकिस्तानी सैनिक भी मौत का निवाला बना है। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि विस्फोटक रोड पर कहीं रखा था या फिर बस में ही बम प्लांट किया गया था। 
पाकिस्तान के एक सरकारी अधिकारी ने नाम उजागर ना करने की शर्त पर रॉयटर्स को बताया कि बम धमाके के बाद बस एक गहरे नाले में जा गिरी, जिसके चलते बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ।शुरुआत में 8 लोगों के ही मरने की जानकारी मिली थी, लेकिन बाद में लापता एक चीनी इंजीनियर और एक पाकिस्तानी सैनिक का शव मिला। इस तरह से मरने वालों का आंकड़ा बढ़ते हुए 10 हो गया। फिलहाल राहत एवं बचाव कार्य जारी है और घायलों को एयर एंबुलेंस के जरिए इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा है। इस बम धमाके में बड़ी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं। हजारा क्षेत्र के एक प्रशासनिक अधिकारी ने कहा कि जिस बस को निशाना बनाते हुए धमाका किया गया था, उसमें करीब 30 चीनी इंजीनियर भी सवार थे। ये लोग ऊपरी कोहिस्तान इलाके में स्थित दासू डैम पर जा रहे थे।
यह दासू डैम चाइना पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर का हिस्सा है। चीन के 65 अरब डॉलर के बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट के तहत ही चाइना पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है।

फिल्म ‘लॉस्ट’ में काम करती नजर आयेंगी यामी: मुंबई

कविता गर्ग               
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री यामी गौतम फिल्म ‘लॉस्ट’ में काम करती नजर आयेंगी। यामी गौतम ने अपनी आने वाली फिल्म ‘लॉस्ट’ का ऐलान किया है। यामी गौतम ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर कर इस फिल्म की अनाउंसमेंट की है। उन्होंने फिल्म का एक पोस्टर शेयर कर लिखा, “पेश है एक और दमदार और रोमांचकारी कहानी, जो आज के समय में पहले से कहीं ज्यादा प्रासंगिक है, लॉस्ट। 
फिल्म में यामी के अलावा पंकज कपूर और राहुल खन्ना भी लीड रोल में नजर आएंगे। यह फिल्म अनिरुद्ध रॉय चौधरी के निर्देशन में बनेगी और जल्द ही इसकी शूटिंग शुरू कर दी जाएगी।
बताया जा रहा है कि इस फिल्म में यामी एक क्राइम रिपोर्टर के किरदार में नजर आएंगी। ‘लॉस्ट’ की कहानी कोलकाता में सेट की गई है। इस फिल्म का निर्माण जी स्टूडियोज और नम: पिक्चर्स मिलकर कर रहे हैं।

लद्दाख के इलाकों पर कब्जा करने की कोशिश नहीं

अकांशु उपाध्याय              
नई दिल्ली। थलसेना ने बुधवार को कहा कि भारतीय या चीनी पक्ष ने पूर्वी लद्दाख के उन इलाकों पर कब्जा करने की कोई कोशिश नहीं की है। जहां से वे फरवरी में पीछे हटे थे और क्षेत्र में टकराव के शेष मामलों को सुलझाने के लिए दोनों पक्ष वार्ता कर रहे हैं। थलसेना ने कहा कि वह क्षेत्र में बलों की संख्या समेत जनमुक्ति सेना (पीएलए) की गतिविधियों पर नजर रख रही है।
हाल में मीडिया की एक खबर में कहा गया था कि चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख में कई स्थानों पर वास्तवित नियंत्रण रेखा (एलएसी) को फिर से पार कर लिया है और दोनों पक्षों के बीच झड़प की कम से कम एक घटना हो चुकी है। सेना ने इस खबर को खारिज करते हुए एक बयान जारी किया।
थलसेना ने कहा कि इस साल फरवरी में सैन्य बलों के पीछे हटने संबंधी समझौते के बाद से किसी भी पक्ष ने उन क्षेत्रों पर कब्जे की कोई कोशिश नहीं की है, जहां से बलों को पीछे हटाया गया था। उसने झड़प संबंधी खबर को गलत बताते हुए कहा कि गलवान या किसी अन्य क्षेत्र में कोई झड़प नहीं हुई है।थलसेना ने कहा कि खबर में चीन के साथ हुए समझौतों के विफल होने की बात कही गई है, जो ”झूठी और बेबुनियाद” है। उसने कहा कि दोनों पक्ष शेष मामलों को सुलझाने के लिए वार्ता कर रहे हैं और संबंधित क्षेत्रों में नियमित गश्त जारी है। स्थिति पूर्ववत बनी हुई है। भारतीय थलसेना बलों की संख्या समेत पीएलए की गतिविधियों पर नजर रख रही है। 
भारत और चीन के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख में टकराव के कई बिंदुओं पर सैन्य गतिरोध बना हुआ है। दोनों पक्षों ने सैन्य एवं राजनयिक वार्ताओं के बाद फरवरी में पैंगोंग झील के उत्तर एवं दक्षिण किनारों से अपने बलों एवं हथियारों को पीछे हटा लिया था। दोनों पक्ष टकराव के शेष क्षेत्रों से भी बलों को वापस बुलाने के लिए वार्ता कर रहे हैं। चीन ने 11वें दौर की सैन्य वार्ता के दौरान अपने दृष्टिकोण में कोई लचीलापन नहीं दिखाया और टकराव के शेष क्षेत्रों से बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया आगे बढ़ती नहीं दिख रही है।

दर्दनाक हादसा: बम विस्फोट में 10 लोगों की मौंत हुईं

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्वोत्तर ऊपरी कोहिस्तान जिले में बुधवार सुबह हुए बम विस्फोट में विदेशी नागरिकों सहित 10 लोगों की मौत हो गयी तथा 39 अन्य लोग हुए घायल। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक विस्फोट बस को निशाना बनाकर किया गया था। जियो न्यूज चैनल के अनुसार वाहन दसू बांध का निर्माण कर रहे कर्मचारियों को लेकर जा रहा था। घायलों को दसू के ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।
स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक जल एवं ऊर्जा विकास प्राधिकरण (वापडा) ने कहा है कि अभी तक विस्फोट की प्रकृति का पता नहीं चल पाया है। वापडा के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की कि बस में चीन की कंपनी के कर्मचारी यात्रा कर रहे थे। राहत एवं बचाव कार्य जारी है तथा घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खिलाड़ियों के साथ अपने अनुभवों को साझा किया

कविता गर्ग                
मुंबई। ओलंपिक खेलों में भाग ले रहे 11 भारतीय खिलाड़ियों के साथ काम कर रहे मशहूर फिजियोथेरेपिस्ट जॉन ग्लॉस्टर का मानना है कि टोक्यो खेलों में दर्शकों की अनुपस्थिति का भारत को फायदा मिल सकता है। भारतीय क्रिकेट टीम और इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स के साथ भी फिजियोथेरेपिस्ट रहे ग्लॉस्टर ने ओलंपिक की तैयारियों में लगे खिलाड़ियों के साथ अपने अनुभवों को साझा किया। यह आस्ट्रेलियाई 2005 से 2008 तक भारतीय क्रिकेट टीम का फिजियो था।
उन्होंने कहा, ”कुछ समय पहले तक मुझे लगता था कि इन ओलंपिक में पिछले खेलों की तरह प्रदर्शन देखने को नहीं मिलेगा। मेरी ऐसी धारणा भारतीय खिलाड़ियों के लिए ही नहीं बल्कि दुनिया भर के खिलाड़ियों को लेकर थी। ” ग्लॉस्टर ने कहा, ”लेकिन अब मेरी धारणा बदल गयी है। असल में मुझे अब लगता है कि हमारे खिलाड़ी पहले की तुलना में बेहतर प्रदर्शन करेंगे क्योंकि कोविड-19 के कारण हमने अपने मानसिक पक्ष को अधिक मजबूत किया है।
ग्लॉस्टर 11 भारतीय खिलाड़ियों के साथ काम कर रहे हैं जिनमें तलवारबाज सी ए भवानी देवी, बैडमिंटन खिलाड़ी बी साई प्रणीत और चिराग शेट्टी, चक्का फेंक की एथलीट कमलप्रीत कौर और तैराक साजन प्रकाश भी शामिल हैं। ग्लॉस्टर ने टोक्यो की परिस्थितियों को समझने के लिये 2019 में वहां का दौरा किया था और उन्होंने खिलाड़ियों के साथ अपने अनुभव साझा किये। उन्हें लगता है कि कोविड-19 के कारण दर्शकों को स्टेडियमों से दूर रखने का फैसला भारत को फायदा पहुंचा सकता है।उन्होंने कहा, ”इससे (दर्शकों की अनुपस्थिति) भारतीय खिलाड़ियों को फायदा हो सकता है क्योंकि कुछ खेल ऐसे हैं जिनमें उन्हें खाली स्टेडियमों या बहुत कम दर्शकों की मौजूदगी में खेलने की आदत है। 
उनमें से कई को इसका फायदा मिल सकता है। महामारी के कारण सुरक्षा चिंताओं के बीच टोक्यो खेल 23 अगस्त को शुरू होंगे। एक साल के लिये स्थगित किये जाने के बावजूद इनका आयोजन चुनौतियों से भरा है। ग्लॉस्टर ने कहा, ”मुझे लगता है कि ओलंपिक खेलों में हमें भारत ही नहीं बल्कि प्रत्येक देश के अधिक फुर्तीले और दमदार खिलाड़ी देखने को मिलेंगे। 
उन्होंने कहा कि इस समय खिलाड़ियों को मानसिक मदद की अधिक जरूरत है क्योंकि वे कड़े अभ्यास के साथ अपनी सुरक्षा भी सुनिश्चित करना चाह रहे हैं। ग्लॉस्टर ने कहा, ”हमें अपने इन खिलाड़ियों को कोविड-19 से बचाना होगा और केवल यही नहीं हम उन्हें उच्च स्तर की प्रतिस्पर्धा में उतारना चाहते हैं लेकिन उन्हें खुश भी रखना चाहते हैं। इसलिए यह मुख्य अंतर है। 

टीका नहीं हैं, जुमलो की कोई कमी नहीं: राजनीति

अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई राज्यों में कोरोना रोधी टीके की कथित तौर पर कमी होने का हवाला देते हुए बुधवार को केंद्र पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि ‘जुमले हैं, टीके नहीं हैं।
उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ”जुमले हैं, वैक्सीन नहीं!” कांग्रेस नेता ने जो खबर साझा की उसमें कहा गया है कि कई राज्यों में टीकों की कमी है, हालांकि केंद्र ने इससे इनकार किया है।
कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने आरोप लगाया कि टीकों की कमी और ईंधन की कीमतों में वृद्धि से भाजपा सरकार जनता के घाव पर नमक रगड़ रही है। उन्होंने ट्वीट किया, ”टीकाकरण की दर में 60 प्रतिशत की गिरावट आई है और इस सरकार में ईंधन की कीमतों में 63 गुना की बढ़ोतरी हुई है। भाजपा लोगों के घाव पर नमक रगड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है।
उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास टीकों की 1.51 करोड़ खुराक पड़ी है जिनका अभी उपयोग नहीं हो सका है। 
उसने यह भी कहा कि अब राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को टीकों की 39.59 करोड़ खुराक उपलब्ध कराई जा चुकी है।

सरकार और जलबोर्ड को विचार करने का निर्देश दिया

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में बढ़ती जनसंख्या के मद्देनजर जलापूर्ति स्टेशनों के नए सिरे से मूल्यांकन की मांग पर उच्च न्यायालय ने मंगलवार को दिल्ली सरकार और जलबोर्ड को विचार करने का निर्देश दिया है। न्यायालय ने इस मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका का निपटारा करते हुए यह आदेश दिया। मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने सरकार और जलबोर्ड को कानून, मौजूदा नीतियों व अन्य पहलुओं पर विचार करते हुए याचिका में उठाए गए पहलुओं पर विचार करने और समुचित निर्णय लेने को कहा है। 
न्यायालय ने अजय गौतम की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई के दौरान यह आदेश दिया है। याचिका में कहा गया है कि मौजूदा और बढ़ती जनसंख्या के मद्देनजर पीने के पानी की मांग को ध्यान में रखते हुए राजधानी में जल आपूर्ति स्टेशनों और बूस्टर पंपों का नए सिरे से मूल्यांकन करने की जरूरत है। इसके लिए याचिका में सरकार और जल बोर्ड को आदेश देने की मांग की गई। याचिका में जल आपूर्ति स्टेशनों को आधुनिक तकनीक से उन्नत बनाने के साथ-साथ समयबद्ध तरीके से पीने के पानी में दूषित पानी और सीवेज के पानी के मिलावट रोकने के लिए सुझाव देने और इस पर अमल करने के लिए एक विशेषज्ञों की समिति बनाने की भी मांग की है।

अन्तरराष्ट्रीय रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर की भव्यता, उद्घाटन

हरिओम उपाध्याय              
वाराणसी। बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में जापान सरकार के सहयोग से 186 करोड़ की लागत में शिवलिंग के आकार में निर्मित अन्तरराष्ट्रीय रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर की भव्यता अब लोगों को अपनी ओर खींचने लगी है। सोशल मीडिया में भी इसका क्रेज दिखने लगा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 जुलाई को इसका उद्घाटन करेंगे। प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि भारत-जापान के दोस्ती के प्रतीक सेंटर में प्रधानमंत्री रूद्राक्ष के पौधे का रोपण भी करेंगे। पूरे परिसर को जापानी शैली में सजाया जा रहा है। परिसर में जापानी बांस के साथ ही रंग बिरंगे कंकड़, बोन्साई पौधे, रंग बिरंंगी चटाई, रंगीन लालटेन, चीनी मिट्टी के बर्तन, चावल का पेपर, पुआल का प्रयोग कर खासतौर कला तैयार किया गया है। जापानी और भारतीय वास्तु शैलियों का भी मेल इसमें देखने को मिलेगा।
उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान इन्डो जापान कला और संस्कृति की झलक भी दिखेगी। सेण्टर पर बने 3 मिनट के ऑडियो विज़ुअल को भी "रुद्राक्ष" में प्रधानमंत्री मेहमानों के साथ देखने की संभावना है। 
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बदलते बनारस की तस्वीर दुनियां के सामने आयेगी। दुनिया के सबसे प्राचीन और जीवंत शहर काशी को जापान ने भारत से दोस्ती का एक ऐसा नायाब तोहफ़ा दिया है, जहां लोग बड़े म्यूजिक कंसर्न, कांफ्रेंस,नाटक और प्रदर्शनी दुनिया के बेहतरीन उपकरणों और सुविधाओं के साथ देख सकेंगे।
रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर की विशेषता...
अन्तरराष्ट्रीय सेंटर में लगभग 1200 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। हॉल को दो भागों में विभाजित करने की व्यवस्था की गई है। सेंटर पूर्णत: वातानुकूलित है। बड़े हॉल के अलावा 150 लोगों की क्षमता वाला एक मीटिंग हॉल है। 
इसके अतिरिक्त यहां एक वीआईपी कक्ष, चार ग्रीन रूम का निर्माण कराया गया है। दिव्यांगों की सुविधा का भी इसमें खास खयाल रखा गया है। सेंटर में छोटा जापानी बाग बनाया गया है। 110 किलोवाट की ऊर्जा के लिए सोलर प्लांट लगा है। वीआईपी रूप और उनके आने-जाने का रास्ता भी अलग से है। सेंटर को वातानुकूलित रखने के लिए इटली के उपकरण लगे है। दीवारों पर लगे ईंट भी ताप को रोकते है। आग से बचाव के लिए सुरक्षा के खास उपकरणों को लगाया गया है। रुद्राक्ष सेंटर को जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी ने फंडिंग किया है। इसकी डिजाइन जापान की कंपनी ओरिएण्टल कंसल्टेंट ग्लोबल ने की है और निर्माण का काम जापान की फुजिता कॉरपोरेशन नाम की कंपनी ने किया है। गौरतलब हो कि वर्ष 2015 में जब जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री शिंजो अबे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ वाराणसी आये थे। उनके यहां आने के पहले ही सेंटर का खाका बना था। दो वर्ष पूर्व ओसाका में आयोजित जी-20 सम्मेलन में भी जापान के तत्कालीन पीएम शिंजाे अबे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच इसको लेकर चर्चा हुई थी। अब सजधज कर तैयार सेंटर की वीडियो क्लिप जापान सरकार को भेजी गई है। 
रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री की यहां मौजूदगी को देख मुख्यमंत्री ने अफसरों से सुरक्षा व्यवस्था और अन्य बिन्दुओं की जानकारी लेने के बाद कमिश्नर एवं जिलाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। इस दौरान नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ. अवधेश सिंह भी मौजूद रहे।

हानि से सुरक्षा देने की मांग पर अड़ी कंपनी: वैक्सीन

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। देश में मॉडर्ना वैक्सीन की बाट जोह रहे लोगों को अभी और इंतजार करना पड़ सकता है। इस वैक्सीन को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) द्वारा पिछले महीने ही देश में आपातकालीन उपयोग के लिए हरी झंडी मिल चुकी है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक कंपनी हानि से सुरक्षा देने की मांग पर अड़ी हुई है। मंगलवार को नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल ने बताया कि मॉडर्ना कंपनी से बातचीत चल रही है। कंपनी को कई बार बुलाया जा रहा है। लेकिन उनकी तरफ से गंभीरता नहीं दिखाई दे रही है। हालांकि बातचीत का दौर जारी है। उम्मीद है कि जल्दी ही बातों का कुछ नतीजा निकलेगा।
बताते चलें कि देश में दो स्वदेशी कोविशील्ड, कोवैक्सिन और रूस की स्पुतनिक-वी वैक्सीन को प्रयोग में लाया जा रहा है। हाल ही में, डीसीजीआई ने मुंबई स्थित दवा कंपनी सिप्ला को देश में आपातकालीन उपयोग के लिए मॉडर्ना की वैक्सीन को आयात करने की अनुमति दी थी। 

संक्रमण: 24 घंटे, 38,792 नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के कुल 38 हजार 792 नए मामले सामने आए हैं। जबकि इस बीमारी से 624 लोगों की मौत हो गई। वहीं, स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 41 हजार है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में नए मामले आने की दर यानी पॉजिटिविटी दर में कमी आई है। पिछले 23 दिनों से लगातार पॉजिटिविटी दर 3 प्रतिशत से नीचे है। पिछले 24 घंटे में पॉजिटिविटी दर 2.10 प्रतिशत रही है।  बुधवार की सुबह केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक कोरोना के कुल 3 करोड़ 09 लाख 46 हजार 74 मामले सामने आ चुके हैं। 
वहीं, इस बीमारी से अबतक 4 लाख 11 हजार 408 लोगों की मौत हो चुकी है। एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 4 लाख 29 हजार 946 हो गई है। वहीं, राहत भरी खबर है कि कोरोना से अबतक 03 करोड़ 01 लाख 4 हजार 720 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है जो राहत की बात है। रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। पिछले 24 घंटे में देश का रिकवरी रेट बढ़कर 97.28 प्रतिशत हो गया है। देश में पिछले 24 घंटों में 19 लाख से अधिक टेस्ट किए गए। आईसीएमआर के मुताबिक देश में अबतक कुल 43.59 करोड़ टेस्ट किए जा चुके हैं। वहीं देश में कोरोना रोधी वैक्सीन की अबतक 38.76 करोड़ खुराक दी जा चुकी है।

विशेष: परीक्षा के जरिए सुधरने का एक मौका दिया

मनोज सिंह ठाकुर                      
भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (एमपी बोर्ड) द्वारा हाई स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा, हाई स्कूल (अंध, मूक बधिर श्रेणी) परीक्षा 2021 के परिणाम आज ( बुधवार को) शाम 4 बजे घोषित होंगे। बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर यह परीक्षा परिणाम जारी किया जाएगा। विद्यार्थी इन साइटों के अलावा कुछ निजी साइटों पर जाकर भी अपना परीक्षा परिणाम देख सकेंगे।
इसके अलावा विद्यार्थी अपना रिजल्ट मोबाइल एप पर भी देख सकते हैं। इसके लिए अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाकर एमपीबीएसई मोबाइल एप या एमपी मोबाइल एप डाउनलोड करें और Know Your Result का चयन करने के बाद अपना रोल नंबर और आवेदन क्रमांक भरकर सब्मिट करें।
गौरतलब है कि कोरोना के कारण 10वीं की परीक्षा रद्द होने के चलते इस वर्ष विद्यार्थियों का परिणाम प्री बोर्ड परीक्षा, यूनिट टेस्ट और इंटरनल असेसमेंट के आधार जारी किया जा रहा है। इस वर्ष उन सभी परीक्षार्थियों को पास कर दिया जाएगा, जिन्होंने परीक्षा फॉर्म भरा था। हालांकि परीक्षा रद्द होने के कारण इस बार मेरिट लिस्ट जारी नहीं होगी। 
परिणाम से असंतुष्ट छात्र सितम्बर से दे सकेंगे परीक्षा
बोर्ड द्वारा आगामी एक से 25 सितम्बर के बीच 10वीं तथा 12वीं कक्षाओं की विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी। जो छात्र अपने परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट होंगे, वह इन परीक्षाओं में बैठ सकेंगे। इन छात्रों को सितम्बर की विशेष परीक्षा के जरिए अपने नम्बर सुधारने का मौका दिया जाएगा। परीक्षा के लिए 1 अगस्त से 10 अगस्त 2021 तक रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

भारत: दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा विमानन बाजार

कविता गर्ग            
मुबंई। अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग लिमिटेड (एएएचएल) ने मुंबई एयरपोर्ट का प्रबंधन अपने कब्जे में ले लिया है। कंपनी ने कहा है कि नई मुंबई एयरपोर्ट 2024 में शुरू हो जाएगा। 
एएएचएल ने कहा है कि वर्ष 2024 तक मुंबई एयरपोर्ट में सबसे अधिक रोजगार उत्पन्न करने वाला विमानतल होगा। भारत भी दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा विमानन बाजार बन जाएगा। कंपनी के पास इस समय मुंबई एयरपोर्ट को मिलाकर छह एयरपोर्ट को संभालने की जिम्मेदारी है। साथ ही एएएचएल कार्गो ट्रैफिक की भी जिम्मेदारी संभाल रहा है। मशहूर उद्योगपति एंव अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने मंगलवार को देर रात ट्विटर पर कहा कि हमें वर्ल्ड क्लास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट की जिम्मेदारी संभालकर बहुत खुशी हुई है। हम वादा करते हैं कि अडानी ग्रुप मुंबई एयरपोर्ट बिजनेस, छुट्टियां और मनोरंजन का भी इंतजाम करेगा।  साथ ही अडानी ग्रुप हजारों की संख्या में रोजगार का भी निर्माण करेगा। 
एएएचएल ने कहा है कि नई मुंबई अंतरराष्ट्रीय विमानतल का निर्माण  अगले महीने से शुरू किया जाएगा और 90 दिनों में इसका फाइनेंसियल क्लोजर कर लिया जाएगा। यह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट 2024 तक शुरू कर दिया जाएगा। अडानी ग्रुप इस समय मुंबई अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, गुवाहाटी, लखनऊ, अहमदाबाद, मंगलुरु,जयपुर और तिरुवंतपुरम एयरपोर्ट का कामकाज संभाल रहा है।  

संसद के मानसून सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक बुलाई

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। सरकार ने संसद के मानसून सत्र से पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। सूत्रों पे बताया कि संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को इस बैठक के लिए आमंत्रित किया है।
इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी शामिल होने की संभावना है। सदन की कार्यवाही सुचारू रूप से चलना सुनिश्चित करने के लिए इस तरह की सर्वदलीय बैठकें सत्र आरंभ होने से पहले बुलाई जाती हैं। मानसून सत्र 19 जुलाई को आरंभ होगा और 13 अगस्त को समाप्त होगा।



सिद्दिकी को लेकर बनेंगीं वेबसीरीज फिल्म: मुंबई

कविता गर्ग              
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, नवाजउद्दीन सिद्दिकी को लेकर वेबसीरीज फिल्म बनाने जा रही हैं। कंगना रनौत बतौर निर्माता वेब स्‍पेस में एंट्री ले रही हैं। कंगना वेबसीरीज ‘टीकू वेड्स शेरू’ बनाने जा रही हैं। नवाजुद्दीन सिद्दीकी इस फिल्म में काम करते नजर आयेंगे।
कंगना ने अपने पहले डिजिटल प्रॉजेक्‍ट ‘टीकू वेड्स शेरू’ का अनाउंसमेंट किया। इस खबर को शेयर करते हुए कंगना ने इंस्‍टाग्राम पर नवाजुद्दीन की तस्‍वीर शेयर की। इसके साथ उन्‍होंने कैप्‍शन दिया, ‘वेलकम टू द टीम सर।
कंगना के प्रॉडक्‍शन हाउस मणिकर्णिका फिल्‍म्‍स ने इंस्‍टाग्राम पर पोस्‍ट शेयर करते हुए लिखा, “हमारी जेनरेशन के बेस्‍ट ऐक्‍टर ने टीकू वेड्स शेरू की टीम को जॉइन किया है। हम अपने शेर को पाकर सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं। जल्‍द ही शूटिंग शुरू होगी।

लाल रोशनी दिखी, उड़ती वस्तु पर गोलियां चलाई

श्रीनगर। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास एक उड़ती हुई वस्तु पर गोलियां चलाई। जिसमें लाल रंग की रोशनी चमक रही थी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को बताया कि 13 और 14 जुलाई की दरमियानी रात अरनिया सेक्टर में जवानों ने करीब 200 मीटर की ऊंचाई पर टिमटिमाती लाल बत्ती देखी। उन्होंने कहा, ”जवानों ने उसकी ओर गोलियां चलाई, जिससे वह लाल बत्ती वाली चीज वहां से चली गई। इलाके में तलाश अभियान जारी है। अभी तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है।
गौरतलब है कि दो जुलाई को पाकिस्तान के ‘क्वाडकॉप्टर’ ने अरनिया सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने की कोशिश की थी, लेकिन बीएसएफ के जवानों द्वारा गोली चलाए जाने के बाद वह पीछे हट गया था।
पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों द्वारा भारत के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों पर हमला करने के लिए ‘ड्रोन’ का इस्तेमाल करने का पहला मामला 27 जून तड़के सामने आया था, जब जम्मू शहर के भारतीय वायुसेना अड्डे पर दो बम गिराए गए थे।
इसमें दो जवानों को मामूली चोटें आईं। अधिकारियों ने विभिन्न जिलों में ज्यादातर जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती जिलों में, ‘ड्रोन’ और अन्य मानव रहित हवाई यंत्रों के भंडारण, बिक्री या उसे कब्जे में रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

प्रति माह 300 यूनिट बिजली मुफ्त मिलेगी: गोवा

अकांशु उपाध्याय                       
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि गोवा में आगामी विधानसभा चुनाव में अगर आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार सत्ता में आई तो गोवा में प्रत्येक परिवार को प्रति माह 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त मिलेगी। गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए अगले साल फरवरी में चुनाव होने हैं। केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा कि प्रत्येक परिवार को प्रति माह 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त मिलेगी। अगर दिल्ली के लोगों को मुफ्त बिजली मिल सकती है तो गोवा के लोगों को क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि गोवा के एक बिजली अधिशेष राज्य होने के बावजूद, तटीय राज्य में अक्सर बिजली कटौती होती है। केजरीवाल ने उन विधायकों पर भी निशाना साधा, जो गोवा पिछले विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। 
केजरीवाल ने कहा कि जिन्हें विपक्ष में होना चाहिए था, वे अब सत्ता में हैं और जिन्हें सत्ता में होना चाहिए था, वे अब विपक्ष में हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी बदलने वाले इन विधायकों ने दावा किया था कि वे लोगों के कार्य पूर्ण करवाने के लिए भाजपा में शामिल हो रहे हैं। क्या उन्होंने लोगों के लिए काम किया, जैसा कि उन्होंने दावा किया था? अब, लोग कह रहे हैं कि उन्होंने पैसों के लालच में पार्टी बदली।” केजरीवाल ने कहा कि हजारों गोवावासी कह रहे हैं कि वे अगले चुनाव में भाजपा या कांग्रेस को वोट नहीं देंगे। उन्होंने कहा, ” गोवा को बदलाव चाहिए। लोगों को स्वच्छ राजनीति चाहिए।
वहीं सिद्धू के ट्वीट के बारे में पूछे जाने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू.. वह पंजाब में हैं। मैं खुश हूं कि ‘आप’ इतना अच्छा काम कर रही है कि विपक्षी नेता भी हमारी सराहना कर रहे हैं। इससे काफी प्रोत्साहन मिलता है। केजरीवाल गोवा के दो दिवसीय दौरे पर हैं। सिद्धू ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा था, ”हमारे विपक्षी दल ‘आप’ ने हमेशा ही पंजाब के लिए किए गए मेरे कार्य एवं दूरदर्शिता को पहचाना है। चाहे वह 2017 से पहले मेरे द्वारा उठाए गए बेअदबी, मादक पदार्थ, किसानों की परेशानियां, भ्रष्टाचार एवं बिजली संकट के मुद्दे हों, जिनका सामना पंजाब की जनता को करना पड़ रहा था या फिर आज जिस तरह मैंने ‘पंजाब मॉडल’ पेश किया है। वे साफ तौर पर जानते हैं कि वास्तव में पंजाब के लिए कौन लड़ रहा है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-333 (साल-02)
2. ब्रहस्पतिवार, जुलाई 15, 2021
3. शक-1984,अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-पंचमी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:38, सूर्यास्त 07:16।
5. न्‍यूनतम तापमान -39 डी.सै., अधिकतम-38+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया

एसडीएम ने किसानों का धरना समाप्त कराया आदर्श श्रीवास्तव लखीमपुर खीरी। अपनी बदहाली सेे लडता किसान गणतंत्र की गहरी खाई में जा पहुंचा हैं। मध-म...