शुक्रवार, 30 जून 2023

लोगों को छलने व गुमराह करने का आरोप 

लोगों को छलने व गुमराह करने का आरोप 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने खाद्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधा। पार्टी ने सरकार पर ‘‘अच्छे दिन’’ के नारे से लोगों को छलने और ‘‘गोएबल्स से प्रेरित’’ भाषणों के जरिये उन्हें गुमराह करने का आरोप लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने ट्वीट किया, “उन्होंने नारा दिया था, ‘बहुत हुई महंगाई की मार।’

झूठ की बिसात बिछाकर ‘अच्छे दिन आने वाले हैं’ कहकर लोगों से केवल छल किया गया। परिणाम यह है कि पिछले नौ वर्षों में जनता की थाली केवल महंगाई की आग में झुलस रही है। खानपान की जरूरी वस्तुओं की कीमतों में कोई कमी नहीं आई है और जनता की कमाई पर भाजपाई लूट हावी है।”

उन्होंने लिखा, “महंगाई को लेकर मोदी जी के मंत्री नित नये बहाने बनाते हैं और जनता की खाली होती थाली में झूठ और प्रोपेगेंडा (दुष्प्रचार) परोसे जाते हैं। पारिस्थितिकी के कुछ पहरेदार यह भी गिनवाते हैं कि ‘महंगाई हमारे लिए कैसे अच्छी है’, ‘मोदी जी ने किया होगा, तो कुछ सोच-समझकर ही किया होगा।’ ‘गोएबल्स से प्रेरित’ ऐसे व्याख्यानों से लोगों को बरगलाते हैं।” खरगे ने कहा, “पर अब जनता जागरूक हो रही है।

जनता जान चुकी है कि जानलेवा महंगाई की असली प्रायोजक केवल मोदी सरकार ही है।” ट्वीट के साथ खरगे ने एक चार्ट भी साझा किया, जिसमें चावल, गेहूं, अरहर दाल, प्याज, आलू, टमाटर, दूध, नमक और चीनी जैसी खाद्य वस्तुओं की मौजूदा और पिछले साल की कीमतें दी गई हैं। ‘गोएबल्स’ से खरगे का इशारा नाजी तानाशाह एडॉल्फ हिटलर के मंत्री जोसेफ गोएबल्स की तरफ समझा जा रहा है, जिसे झूठ और दुष्प्रचार फैलाने के लिए जाना जाता था।

कैबिनेट मंत्री बर्खास्त, तानाशाही करार दिया

कैबिनेट मंत्री बर्खास्त, तानाशाही करार दिया

इकबाल अंसारी 

हैदराबाद। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की कार्यकारी अध्यक्ष सुप्रिया सुले ने तमिलनाडु में कैबिनेट मंत्री को बर्खास्त करने के राज्यपाल आर. एन. रवि के फैसले को ‘तानाशाही’ करार दिया है। सुले ने शुक्रवार को यहां पत्रकारों से कहा कि राज्यपाल ने ऐसा व्यवहार किया, मानो वह तमिलनाडु के नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यपाल हों।

नौकरियों के बदले नकदी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा मंत्री वी. सेंथिल बालाजी को गिरफ्तार किए जाने के कुछ दिनों के बाद राज्यपाल ने बृहस्पतिवार को उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया। हालांकि, बाद में राज्यपाल ने बर्खास्तगी आदेश को फिलहाल स्थगित रखने का फैसला किया और मुख्यमंत्री एम के स्टालिन को इसके बारे में सूचित किया।

इस पूरे मामले को लेकर सुप्रिया सुले ने कहा, ‘‘ये तानाशाही है। कहां है संविधान और लोकतंत्र? अगर ऐसी घटना तमिलनाडु में हो सकती है तो अन्य राज्यों में भी हो सकती है।’’ समान नागरिक संहिता (यूसीसी) के मुद्दे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इस पर अभी प्रतिक्रिया देना जल्दबाजी होगी।

इसका मसौदा आने दीजिए, फिर हम जवाब देंगे।’’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में यूसीसी को लागू करने पर जोर देते हुए मंगलवार को कहा था कि संवेदनशील मुद्दों पर मुसलमानों को भड़काया जा रहा है।

28वां अंतरराष्ट्रीय गंतव्य घोषित हुआ 'जकार्ता' 

28वां अंतरराष्ट्रीय गंतव्य घोषित हुआ 'जकार्ता' 

अखिलेश पांडेय 

जकार्ता/कोलकाता/मुंबई। इंडिगो एयरलाइन ने सात अगस्त से जकार्ता को अपना 28वां अंतरराष्ट्रीय गंतव्य घोषित किया है। इंडिगो मुंबई को जकार्ता से सीधे जोड़ने वाली पहली एयरलाइन होगी। इंडिगो ने शुक्रवार को मीडिया में जारी बयान में कहा कि जकार्ता-मुंबई के बीच इन विशेष दैनिक उड़ानों के लिए अब बुकिंग खोल दी गयी है। बयान में कहा गया कि इन उड़ानों से जकार्ता की यात्रा का समय काफी कम हो जाएगा।

इंडोनेशिया की यात्रा की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए इन्हें शुरू किया गया है। इंडिगो में वैश्विक विपणन के प्रमुख विनय मल्होत्रा ​​ने कहा, “हम अपने विस्तारित अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क के भीतर जकार्ता को अपने सबसे नए गंतव्यों में शामिल करने के लिए उत्साहित हैं। भारत और इंडोनेशिया द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने और सीधा सम्पर्क बढाने पर विचार कर रहे हैं।

इस नए मार्ग के खुलने से दोनों देशों में व्यापार का प्रचार और पर्यटन की आसान पहुंच बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा,“ राजधानी जकार्ता और दक्षिण-पूर्व एशिया का सबसे बड़ा शहर है, जबकि इंडोनेशिया अपने प्राचीन समुद्र तटों और प्रचुर संस्कृति और परंपरा के कारण भारतीय पर्यटकों के लिए पसंदीदा अवकाश स्थलों में से एक है।

लोगों और उनकी आकांक्षाओं को जोड़ने वाली नई उड़ानें पेश करते हुए, इंडिगो एक अद्वितीय नेटवर्क पर किफायती, समयबद्ध और परेशानी मुक्त यात्रा अनुभव के अपने वादे को पूरा करना जारी रखेगा।''

भाजपा के चुनावी अभियान का शंखनाद: शाह

भाजपा के चुनावी अभियान का शंखनाद: शाह

नरेश राघानी 

जयपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज एक दिवसीय राजस्थान दौरे पर आए। इस दौरान उन्होंने उदयपुर से भाजपा के चुनावी अभियान का शंखनाद किया और मेवाड़ की धरा से आदिवासी वोट बैंक को सादने की कोशिश की गई। अमित शाह ने उदयपुर के गांधी ग्राउंड में आयोजित जनसभा में शाह ने न सिर्फ केंद्र में मोदी सरकार के 9 वर्षों की उपलब्धियों का बखान किया, बल्कि राज्य की कांग्रेस सरकार पर भी जमकर निशाना साधा।

उन्होंने अपने संबोधन में राजस्थान को त्याग, तपस्या और बलिदान की भूमि जबकि मेवाड़ की धरा को भक्ति और शक्ति की वीरभूमि बताया।

भाषण में शाह ने प्रदेश के चर्चित कन्हैया लाल हत्याकांड का भी ज़िक्र किया। उन्होंने गहलोत सरकार को ''3 D'' पर चलने वाली सरकार बताया। जिसका मतलब समझाते हुए उन्होंने कहा, 'पहला D दंगा, दूसरा D - महिलाओं से दुर्व्यवहार, तीसरा D - दलितों पर अत्याचार''।

अपने भाषण में राजस्थान सचिवालय की अलमारियों में निकली नगदी और जेवरात पर भी सरकार को घेरा, तो वही पेपर लीक मामले पर कहा परीक्षाओं में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के बेटे टॉप कर जाते हैं और जनता बेचारी रह जाती है।

सेंसेक्स व निफ्टी में मजबूत ओपनिंग हुई

सेंसेक्स व निफ्टी में मजबूत ओपनिंग हुई

कविता गर्ग 

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार रोज नई ऊंचाइयों को छू रहा है। गुरुवार की छुट्टी के बाद शुक्रवार को सेंसेक्स और निफ्टी में मजबूत ओपनिंग हुई है। फिलहाल सेंसेक्स 390.81 (0.61%) अंकों की मजबूती के साथ 64,306.23 अंकों के अपने नए ऑल टाइम हाई पर कारोबार कर रहा है।

वहीं, दूसरी ओर निफ्टी भी 113.65 (0.6%) अंक उछलकर 19,085.75 के अपने नए सर्वकालिक उच्चतम स्तर पर ट्रेड करता दिख रहा है। हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन बाजार की बंपर तेजी में आईटी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी दिखी। निफ्टी में पावर ग्रिड और एशियन पेंट्स के शेयर दो-दो फीसदी से अधिक की तेजी के साथ कारोबार करते दिख रहे हैं।

इससे पहले बुधवार को बीएसई सेंसेक्स 500 अंकों की मजबूती के साथ के साथ 63,915 अंकों के लेवल पर बंद हुआ था। वहीं रुपया डॉलर के मुकाबले 0.02 (-0.02%) अंकों की कमजोरी के साथ 82.04 रुपये के स्तर पर ट्रेड कर रहा है।वित्त वर्ष 24 की पहली तिमाही में विदेशी संस्थागत निवेशकों या एफआईआई से 10 अरब डॉलर का मजबूत समर्थन मिलता है।

इससे दलाल स्ट्रीट पर बुल्स को रिकॉर्ड मजबूती हासिल करने में मदद मिली है। निफ्टी पिछले 3 महीनों में लगभग 12% उछला है।

इस्तीफा देने से इंकार, समर्थकों ने लेटर फाड़ा

इस्तीफा देने से इंकार, समर्थकों ने लेटर फाड़ा

इकबाल अंसारी 

इंफाल। मणिपुर में पिछले करीब दो महीनों से हिंसा के हालात बने हुए हैं। जहां इस बीच शुक्रवार को मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के इस्तीफा देने की चर्चा तेज हो गई। 

लेकिन जब मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के समर्थकों को यह पता चला कि वह इस्तीफा देने जा रहे हैं तो वह विरोध प्रदर्शन करने लगे। एन बीरेन सिंह के समर्थक भारी संख्या में मुख्यमंत्री आवास के बाहर जम गए और 'एन बीरेन सिंह इस्तीफा न दो' के तेज-तेज नारे लगाए।

बताया जाता है कि, जब मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह राजभवन जाने के लिए निकले तो समर्थकों ने उन्हें आगे जाने से रोक लिया। जिसके बाद मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने समर्थकों से मुलाकात की और जानकारी के अनुसार इस बीच मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह का इस्तीफा लेटर समर्थकों ने फाड़ दिया। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के फटे हुए इस्तीफे लेटर की तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। जिस पर लोग तंज भी कस रहे हैं। लोग बोल रहे हैं कि, इस्तीफा देना ही नहीं था इसलिए फड़वा दिया। वरना मुख्यमंत्री के इस्तीफे को कौन फाड़ देगा भला? सब नौटंकी है।

मैं इस्तीफा नहीं दूंगा- मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह 

फिलहाल, अब मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह इस्तीफा नहीं दे रहे हैं। एन बीरेन सिंह ने खुद इस बात की पुष्टि कर दी है। मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि, वह इस्तीफा नहीं दे रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा-  मणिपुर के इस महत्वपूर्ण मोड़ पर मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा नहीं दूंगा।

मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के इस्तीफे के विरोध में डटे लोगों का कहना था कि, "हम नहीं चाहते कि सीएम इस्तीफा दें, उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए। वह हमारे लिए बहुत काम कर रहे हैं। सीएम को हमारा समर्थन हैं। लोगों ने कहा कि, हम 2 महीने से उथल-पुथल की स्थिति में हैं। हम उस दिन का इंतजार कर रहे हैं जब भारत सरकार और मणिपुर सरकार इस संघर्ष को लोकतांत्रिक तरीके से हल करेगी। ऐसी स्थिति में अगर मणिपुर के सीएम इस्तीफा दे देते हैं, तो लोग कैसे रहेंगे यहाँ? हमारा नेतृत्व कौन करेगा? वह संघर्ष की शुरुआत से ही हमारा नेतृत्व कर रहे हैं।

आपको बता दें कि, मणिपुर में जातीय हिंसा पनपने के बाद हालात लगातार बिगड़े हुए हैं। मई से मणिपुर में मैतेई और कुकी समुदायों के बीच जातीय संघर्ष शुरू हुआ था और इसके बाद राज्य में जातीय हिंसा भयावह हो गई। जगह-जगह आगजनी-तोड़फोड़ हो रही है। गोलियां चल रही हैं। लोग मर रहे हैं। हिंसा पर काबू पाने के लिए सेना और अर्धसैनिक बलों को मैदान में उतारा गया है। लेकिन हालात संभल नहीं रहे।

सेहत के लिए जरूरी तत्व है 'एंटीओक्सीडेंट'

सेहत के लिए जरूरी तत्व है 'एंटीओक्सीडेंट'

सरस्वती उपाध्याय 

स्वस्थ जीवन के लिए आपका आहार स्वस्थ होना जरूरी हैं और इसमें हर वह तत्व शामिल होना चाहिए, जो शरीर को मजबूत बनाए।

प्रोटीन और विटामिन की तरह एंटीऑक्सीडेंट भी शरीर की सेहत के लिए जरूरी तत्व होता हैं। एंटीऑक्सीडेंट अच्छे स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। एंटीऑक्सीडेंट शक्तिशाली यौगिक होते हैं, जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से सुरक्षित रखने और कोशिकाओं की क्षति से बचाते हैं।बीटा-कैरोटीन, विटामिन E और विटामिन C से युक्त खाद्य पदार्थ एंटीऑक्सीडेंट के बेहतरीन स्रोत होते हैं। आज हम आपको एंटीऑक्सीडेंट से शरीर को मिलने वाले फायदों और उन आहार के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनसे शरीर में इसकी भरपाई हो सकती हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में...!

कैंसर के जोखिम को करें कम...

कैंसर के दौरान शरीर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की स्थिति में काफी कमी आ जाती है। इसमें उच्च एंटीऑक्सीडेंट खाद्य पदार्थों को लेने से इसके लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है।एंटीऑक्सीडेंट कैंसर के दौरान फ्री रेडिकल्स प्रक्रिया से होने वाली क्षति को रोक सकते हैं।

आंखों के लिए अच्छा...

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट बहुत जरूरी होते हैं। विटामिन C आंखों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।उम्र के साथ आंखों की रोशनी कमजोर होती जाती है। आंखों की रोशनी तेज रखने के लिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आहार लेना चाहिए।

इम्यूनिटी बढ़ाएं...

हेल्दी ऐजिंग के लिए स्वस्थ इम्यूनिटी की आवश्यकता है।इसलिए यह सुनिश्चित होना चाहिए कि आपका आहार एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है। फ्री रेडिकल से रक्षा करने और सेल्स और टिशू को स्वस्थ रखता है एंटीऑक्सीडेंट। 

एंटीऑक्सीडेंट की क्षमता आपके इम्यूनिटी के स्तर को बढ़ावा देने में मदद करती है। इसलिए, इसका सेवन आपके दिल को स्वस्थ रखेगा।

मधुमेह को करे नियंत्रित...

मुक्त कणों के कारण मधुमेह का खतरा और बढ़ जाता है।अत्यधिक ग्लूकोज का सेवन और इंसुलिन में गिरावट शरीर की चीनी लेने की क्षमता को प्रभावित करती है। ऐसे में डायबिटीज हो सकती है। एंटीऑक्सीडेंट एक बेहतर ग्लाइसेमिक नियंत्रण प्राप्त करने में मदद करते हैं।

सूखे मेवे

सूखे मेवे का नियमित सेवन शरीर को कई प्रकार के लाभ दे सकते हैं। अखरोट, पेकान और बादाम जैसे सूखे मेवे ओमेगा-3 और कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स से भी भरपूर होते हैं। सूखे मेवे कई प्रकार के रोगों के जोखिम को कम कर सकते हैं। सूखे मेवे में पाए जाने वाले शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स रोगों से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं।

चुकंदर

चुकंदर में हल्का मिट्टी जैसा स्वाद होता है और यह फाइबर, पोटेशियम, आयरन और फोलेट और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। इससे बनने वाली सब्जी में बेतालैंस नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो चुकंदर को लाल रंग देता है। चुकंदर को सूजन को दबाने और पेट और पाचन तंत्र में कैंसर के खतरे को कम करने के लिए जाना जाता है।

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट का सेवन शरीर के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। डार्क चॉकलेट एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा समृद्ध स्रोत हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि डार्क चॉकलेट हृदय रोग और कई प्रकार के कैंसर के खतरे को कम कर सकते हैं। डार्क चॉकलेट का नियमित सेवन करने से कई तरह के रोगों से सुरक्षा मिल सकती है।

सीएम ने 'पीएम आवास' का लोकार्पण किया 

सीएम ने 'पीएम आवास' का लोकार्पण किया 

बृजेश केसरवानी 

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज जिले के लूकरगंज में अतीक अहमद के कब्जे से खाली कराई गई भूमि पर बने पीएम आवास का लोकार्पण किया। शुक्रवार को निर्धारित समय से कुछ विलंब से पहुंचे सीएम ने विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर आवास का लोकार्पण किया। इसके बाद कार्यक्रम स्थल लीडर रोड पर औपचारिक रूप से लाभार्थियों को चाबी सौंपी। सुबह से ही बारिश होने के कारण कार्यक्रम में काफी अव्यवस्था रही।

सीएम के आगमन के मद्देनजर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है। लूकरगंज आवास से लेकर लीडर रोड तक पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

लूकरगंज में लगभग 1731 वर्ग मीटर जमीन माफिया अतीक अहमद के कब्जे में थी। शिकायत होने पर जांच हुई तो सरकार ने कड़ा रुख अख्तियार किया। जमीन को माफिया के कब्जे से मुक्त कराया। इसके बाद निर्णय लिया गया कि इस जमीन पर गरीबों का घर बनेगा। वर्ष 2021 में मुख्यमंत्री खुद गरीबों के घर की आधारशिला रखने आए। तेजी से निर्माण कार्य शुरू कराया गया और अब इस जमीन पर चार-चार मंजिल के दो ब्लाक बनकर तैयार हैं जिसमें 76 फ्लैट बनाए गए हैं। इसके लिए लाटरी निकाली जा चुकी है।

आज इन लाभार्थियों को मुख्यमंत्री ने अपने हाथ से चाबी सौंपी तो सभी के चेहरे ख‍िल उठे। इस हाउसिंग स्कीम के निर्माण में 5.68 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। दो कमरे के फ्लैट की लागत 7.5 लाख आई है। लाभार्थियों को मात्र 3.5 लाख रुपये आसान किस्तों में देने हैं। शेष धनराशि भारत सरकार व पीडीए डेढ़-डेढ़ लाख तो प्रदेश सरकार ने एक लाख रुपये का अनुदान दिया गया है।

श्यामवीर को लाइन में हाजिर होने का निर्देश 

श्यामवीर को लाइन में हाजिर होने का निर्देश 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। पुलिस अधीक्षक ने कार्यवाही की गाज गिराते हुए कैराना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक को लाइन में हाजिर होने का फरमान जारी किया है। थाना गढ़ी पुख़्ता के प्रभारी निरीक्षक को फिलहाल कैराना कोतवाली की कमान सौंपी गई है। 

शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक अभिषेक झा ने थानेदारों में फेरबदल करते हुए थाना कैराना पर तैनात प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह पर कार्यवाही की गाज गिराते हुए उन्हें यहां से हटाकर लाइन में हाजिर होने का निर्देश दिया है। 

अभी तक थाना गढ़ी पुख़्ता की कमान संभाल रहे प्रभारी निरीक्षक विपिन कुमार मौर्य कैराना के नए थानेदार नियुक्त किए गए हैं। 

अभी तक रीट सेल में तैनात चल रहे इंस्पेक्टर राधेश्याम को थाना गढ़ी पुख़्ता से हटाए गए प्रभारी निरीक्षक विपिन कुमार मौर्य के स्थान पर उन्हें गढ़ी पुख़्ता थाने का कार्यभार सौंपा गया है। पुलिस अधीक्षक की इस कार्यवाही से अब लापरवाह थानेदारों एवं दरोगाओं में हड़कंप मचा हुआ है।

सूदखोर से परेशान हलवाई ने 'आत्महत्या' की

सूदखोर से परेशान हलवाई ने 'आत्महत्या' की


आत्महत्या करने वाले पीड़ित चंचल अग्रवाल ने माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सख्त कार्यवाही की मांग की

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। लोनी के चंचल अग्रवाल गिरी मार्केट में मशहूर हलवाई ने सूदखोर से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। चंचल अग्रवाल ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है। जिसमें जीतू उर्फ जितेंद्र बंसल से 40,00000 रुपए ब्याज पर लेना और उसके बदले दो करोड़ रुपए का भुगतान करना लिखा है। 

चंचल ने यह भी लिखा है कि अभी जीतू बंसल उसके ऊपर 1,0000000 रुपए और निकाल रहा था, तथा उसका मकान भी अपने नाम लिखवा लिया था। जिससे परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या करने वाले पीडित चंचल अग्रवाल ने जितेंद्र बंसल के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है। वही, पुलिस जांच में जुटी। 

वही, एसीपी अंकुर विहार विवेक सिंह ने बताया कि परिवार की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा और साक्ष्यो के आधार पर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

शांति की जरूरत, हिंसा समाधान नहीं 

शांति की जरूरत, हिंसा समाधान नहीं 

इकबाल अंसारी 

इंफाल। हिंसा प्रभावित मणिपुर के दौरे पर आए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य की राज्यपाल अनुसुइया उइके से मुलाकात करने के बाद शुक्रवार को कहा कि मणिपुर को शांति की जरूरत है, क्योंकि हिंसा कोई समाधान नहीं है। राहुल ने राजभवन के बाहर पत्रकारों से कहा, ‘‘ शांति के लिए जो भी जरूरी होगा, मैं उसके लिए तैयार हूं।

मैं सभी लोगों से शांति कायम करने की अपील करता हूं क्योंकि हिंसा से कभी कोई हल नहीं निकल सकता।’’ कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल ने आश्वासन दिया कि जातीय हिंसा से प्रभावित राज्य में शांति बहाल करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने शुक्रवार को नागरिक समाज संगठन के सदस्यों से मुलाकात की और उनकी परेशानियां सुनीं।

राहुल गांधी ने नागरिक समाज संगठन ‘कोऑर्डिनेशन कमेटी ऑन मणिपुर इंटीग्रिटी’ (सीओसीओएमआई), मणिपुर में नागा समुदाय की शीर्ष संस्था ‘यूनाइटेड नागा काउंसिल’, ‘शेड्यूल्ड ट्राइब डिमांड कमेटी’ के प्रतिनिधियों और जेएनयू के प्रोफेसर बिमोल ए. सहित प्रमुख हस्तियों से मुलाकात की थी। राहुल गांधी ने सुबह मोइरांग शहर में दो राहत शिविरों में जा कर प्रभावित लोगों से मुलाकात की और उनकी व्यथा सुनी थी।

गांधी सुबह इंफाल से हेलीकॉप्टर में सवार होकर मोइरांग पहुंचे थे। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि मोइरांग शहर के जिन दो शिविरों का राहुल ने दौरा किया, वहां करीब 1000 लोग रह रहे हैं। राहुल गांधी के साथ मणिपुर के पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह, पार्टी महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल, पीसीसी अध्यक्ष कीशम मेघचंद्र सिंह और पूर्व सांसद अजय कुमार थे।

मोइरांग में आईएनए (आजाद हिन्द फौज) ने 1944 में भारतीय तिरंगा फहराया था। पार्टी सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी दिन में इंफाल में कुछ बुद्धिजीवियों तथा नागरिक संगठनों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात करेंगे। राहुल ने बृहस्पतिवार को चुराचांदपुर में राहत शिविरों का दौरा किया था, जो जातीय दंगों से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में से एक है।

जातीय हिंसा से प्रभावित मणिपुर के चुराचांदपुर में राहत शिविरों के राहुल गांधी के दौरे को लेकर बृहस्पतिवार को उस वक्त नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला, जब कांग्रेस नेता के काफिले को पुलिस ने बीच रास्ते में ही रोक दिया और उन्हें अपने गंतव्य तक हेलीकॉप्टर से जाना पड़ा। कांग्रेस नेता स्थानीय समुदायों को सांत्वना देने के लिए मणिपुर की दो दिवसीय यात्रा पर हैं।

गौरतलब है कि मणिपुर में मेइती और कुकी समुदाय के बीच मई की शुरुआत में भड़की जातीय हिंसा में 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मणिपुर में अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा देने की मेइती समुदाय की मांग के विरोध में तीन मई को पर्वतीय जिलों में ‘आदिवासी एकजुटता मार्च’ के आयोजन के बाद झड़पें शुरू हुई थीं।

मणिपुर की 53 प्रतिशत आबादी मेइती समुदाय की है और यह मुख्य रूप से इंफाल घाटी में रहती है। वहीं, नगा और कुकी जैसे आदिवासी समुदायों की आबादी 40 प्रतिशत है और यह मुख्यत: पर्वतीय जिलों में रहती है।

2 ट्रकों की भिड़ंत, 2 लोग जिंदा जले

2 ट्रकों की भिड़ंत, 2 लोग जिंदा जले

इकबाल अंसारी 

हैदराबाद। तेलंगाना में शुक्रवार को मेडक जिले के नरसिंगी गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग पर दो कंटनर ट्रकों की आमने-सामने की भिड़ंत के बाद आग लगने से दो लोग जिंदा जल गए। पुलिस ने कहा कि टक्कर के बाद एक ट्रक का कैबिन पूरी तरह जल गया।

ट्रक यहां से निजामाबाद जा रहा था। घटना की सूचना मिलने के बाद एक दमकल घटनास्थल पर पहुंचा और आग पर काबू पाया। मृतकों की पहचान नाराजू और बसावारु के रुप में की गई है। दोनों कर्नाटक के रहने वाले थे। पुलिस ने कहा कि इस संबंध में मामला दर्ज करके जांच की जा रही है।

कोल्ड ड्रिंक्स और चिंगम से बढ़ता है 'कैंसर'

कोल्ड ड्रिंक्स और चिंगम से बढ़ता है 'कैंसर'

डॉक्टर सुभाषचंद्र गहलोत 

वाशिंगटन डीसी/जिनेवा। अगर आप भी कोल्ड ड्रिंक्स और चिंगम के शौकीन हैं, तो सावधान हो जाएं। क्योंकि इससे आप भी कैंसर की चपेट में आ सकते हैं। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन की कैंसर पर रिसर्च करने वाली एजेंसी ने अपनी स्टडी में पाया है कि आर्टिफिशियल स्वीटनर ड्रिंक्स में कैंसर पैदा करने वाले तत्व हो सकते हैं। ऐसे में कोल्ड ड्रिंक्स और चिंगम में भी कैंसर पैदा करने वाले तत्व हो सकते हैं।

यह जानकारी इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर की स्टडी में दी गई है। IARC की इस रिपोर्ट को हाल ही में मंजूरी दी है और जुलाई में इसे प्रकाशित किया जाएगा। हालांकि स्टडी में यह नहीं बताया है कि किसी इंसान को कितनी मात्रा में इन चीजों का सेवन करना चाहिए। WHO की एक और संस्था JECFA इस रिपोर्ट का अध्ययन कर रही है। इसके बाद उसकी ओर से एक लिस्ट जारी की जा सकती है, जिसमें कैंसर के खतरे वाली चीजों की जानकारी हो सकती है।

बता दें कि 14 जुलाई को IARC की रिपोर्ट का प्रकाशन होगा। JECFA के मुताबिक 60 किलोग्राम वजन वाले किसी भी वयस्क को 12 से 36 कैन सोडा ही पीना चाहिए। इससे अधिक का सेवन करना खतरनाक हो सकता है। इस रिपोर्ट का अमेरिका और यूरोप समेत दुनिया भर के देशों में पालन किया जाता है और एडवाइजरी के तौर पर इस्तेमाल होता है।

ट्विटर द्वारा दायर याचिका को खारिज किया

ट्विटर द्वारा दायर याचिका को खारिज किया

इकबाल अंसारी 

बेंगलुरु। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने ट्विटर इंक द्वारा दायर उस याचिका को शुक्रवार को खारिज कर दिया, जिसमें कंपनी ने सामग्री हटाने और ब्लॉक करने संबंधी इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश को चुनौती दी थी। 

इसके साथ ही अदालत ने कहा कि कंपनी की याचिका का कोई आधार नहीं है।

न्यायमूर्ति कृष्ण एस दीक्षित की एकल पीठ ने ट्विटर कंपनी पर 50 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया और इसे 45 दिनों के भीतर कर्नाटक राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण में जमा कराने का आदेश दिया। अदालत ने फैसले के मुख्य हिस्से को पढ़ते हुए कहा, "उपरोक्त परिस्थितियों में यह याचिका आधार रहित होने के कारण अनुकरणीय जुर्माने के साथ खारिज की जा सकती है और तदनुसार ऐसा किया जाता है।

याचिकाकर्ता पर 50 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाता है जो 45 दिनों के अंदर कर्नाटक राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, बेंगलुरु को देय है। यदि इसमें देरी की जाती है, तो इस पर प्रति दिन 5,000 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लगेगा।’’ न्यायाधीश ने ट्विटर की याचिका खारिज करते हुए कहा, ''मैं केंद्र की इस दलील से सहमत हूं कि उनके पास ट्वीट को ब्लॉक करने और एकाउंट पर रोक लगाने की शक्ति है।’’

सुहागरात के अगले दिन बच्ची को दिया जन्म 

सुहागरात के अगले दिन बच्ची को दिया जन्म 

विजय भाटी 

गौतमबुद्ध नगर। दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में नई नवेली दुल्हन द्वारा सुहागरात के अगले ही दिन बच्ची को जन्म देने का एक बेहद अजीबोगरीब मामला सामने आया है। इस धोखे और बेइज्जती से नाराज दूल्हे ने अब दुल्हन को साथ रखने से इनकार कर दिया है। यह घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। दरअसल, दनकौर क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले युवक की बीते सोमवार को बुलंदशहर के सिकंदराबाद की रहने वाली लड़की से शादी हुई थी। शादी के बाद नई दुल्हन का ससुराल में धूमधाम से स्वागत किया गया। मंगलवार को उसकी सुहागरात थी। सुहागरात के दौरान अचानक दुल्हन के पेट में अचानक से काफी तेज दर्द होने लगा। इससे घबराया पति और ससुराल वाले तुरंत दुल्हन को पास में ही एक अस्पताल में इलाज के लिए ले गए। यहां जब डॉक्टर द्वारा जब दुल्हन का चेकअप किया गया तो पता चला कि वो 7 महीने की प्रेग्नेंट है। डॉक्टर की यह बात सुनकर पति और सभी ससुराल वालों के के पैरों तले जमीन खिसक गई।

इतना ही नहीं, इसके कुछ घंटों बाद अगले दिन दुल्हन की डिलीवरी भी हो गई और उसने 7 महीने की स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जब यह बात दुल्हन के मायके वालों को पता चली तो वह भी बुलंदशहर से बेटी के पास अस्पताल पहुंच गए, जहां दोनों ही पक्षों के बीच जमकर कहासुनी हुई। इस दौरान अपने साथ हुए इस धोखे से नाराज ससुराल वालों और दूल्हे ने पत्नी को साथ रखने से साफ इनकार कर दिया है, जिसके बाद यह मामला पुलिस तक पहुंच गया। लेकिन बाद में दोनों पक्षों में आपस में समझौता होने के बाद मायके वाले बेटी और उसकी बच्ची को साथ वापस गांव लौट गए हैं।

दूल्हा पक्ष का कहना है कि शादी के लिए करीब 5 महीने पहले रिश्ता तय हुआ था। उस वक्त उन्हें लड़की के गर्भवती होने की कोई जानकारी नहीं थी। दुल्हन पक्ष ने उनसे जानबूझकर उन्हें धोखे में रखा और बेटी के गर्भवती होने की बात छिपाई। वहीं, यह भी कहा जा रहा है कि दुल्हन पक्ष ने शादी के वक्त दूल्हा पक्ष को कुछ समय पहले लड़की का पथरी का ऑपरेशन होने के चलते उसका पेट फूलने की बात बताई थी।

आरोप: पहले सट्टा खिलवाया, फिर जेल भेजा

आरोप: पहले सट्टा खिलवाया, फिर जेल भेजा

संदीप मिश्र 

बरेली। थाना किला में तैनात महिला दरोगा पर एक विकलांग युवक ने गम्भीर आरोप लगाए है। युवक ने महिला दरोगा पर आरोप लगाए हैं कि पहले खुद ही विकलांग से सट्टा खिलवाया और बाद में उसे स्मेक के झूठे मुकदमे में जेल भेज दिया। युवक ने पुलिस अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई है।

बता दें, किला थाना क्षेत्र में बाजार संदल खां का रहने वाला अफसर खां पुत्र भूरे विकलांग है। आरोप है कि विकलांग युवक को चौकी सराय में तैनात दरोगा रीता तेवतिया ने कुछ दिन पहले चौकी पर बुलाया था। इस दौरान महिला दरोगा ने विकलांग से सट्टा करने को कहा था। 

आरोप है कि महिला दरोगा ने कहा था कि सट्टे की कमाई का कुछ हिस्सा वह विकलांग को दे देगी। जिससे उसका घर चलता रहेगा। विकलांग ने बताया कि उसने सट्टा करना शुरू कर दिया। जिसके बदले में महिला दरोगा उसको रोज खर्चे के पैसे देती थी। आरोप है कि 20 जून को महिला दरोगा ने विकलांग को चौकी पर बुलाया। जहां पर कुछ देर बैठाने के बाद उसे किला थाने भेज दिया। किला थाने में विकलांग से 20 ग्राम स्मैक बरामद करने का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया। विकलांग युवक ने बताया कि वह कल जेल से छूटने के बाद चौकी पहुंचा और महिला दरोगा से झूठे मुकदमे में जेल भेजने का कारण पूछा। जिस पर महिला दरोगा आग बबूला हो गई और उसे झूठे मुकदमे में फिर से जेल भेजने की धमकी देकर भगा दिया।

धार्मिक स्थल पर मांस के टुकड़े मिलें, आक्रोश 

धार्मिक स्थल पर मांस के टुकड़े मिलें, आक्रोश 

भानु प्रताप उपाध्याय 

शामली। कादरगढ़ गांव में स्थित धार्मिक स्थल पर मांस के टुकड़े मिलने से ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। थोड़ी ही देर में मंदिर पर इकट्ठा हुई सैकड़ों लोगों की भीड़ ने मांस के टुकड़े को लेकर हंगामा करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग उठाई। मांस के टुकड़े मिलने और हंगामे की सूचना पर गांव में पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को शांत करते हुए ग्राम प्रधान की मौजूदगी में मांस के टुकड़ों को वहां से हटाया।

शुक्रवार को शामली जनपद के जलालाबाद थाना क्षेत्र के गांव कादरगढ़ में रहने वाले श्रद्धालु जब सवेरे के समय पूजा अर्चना करने के लिए मंदिर में पहुंचे तो वहां पर पड़े मिले मांस के टुकड़ों को देखकर अफरा तफरी मच गई। धार्मिक स्थल में मांस के टुकड़े पड़े होने की जानकारी मिलते ही थोड़ी ही देर में गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई। 

आसपास के गांव के ग्रामीण भी इस मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंच गए। हिंदू समाज के लोगों ने मांस के टुकड़े मिलने को लेकर जोरदार हंगामा किया। हिंदू समाज के लोगों ने धार्मिक स्थल पर मांस के टुकड़े फेंके जाने का विरोध करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठाई। ग्राम प्रधान प्रदीप राणा की ओर से तुरंत ही पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। सूचना पाते ही गांव में पहुंची पुलिस ने हंगामा काट रहे लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया और ग्राम प्रधान की सहायता से मंदिर में फेंके गए मांस के टुकड़ों को वहां से हटवाया। ग्राम प्रधान ने पुलिस चौकी में तहरीर देकर शरारती तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग उठाई है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-260, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शनिवार, जुलाई 1, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि- त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:20, सूर्यास्त: 07:15। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 20 डी.सै., अधिकतम- 33+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

नवरात्रि का आठवां दिन मां 'महागौरी' को समर्पित

नवरात्रि का आठवां दिन मां 'महागौरी' को समर्पित  सरस्वती उपाध्याय  नवरात्रि का आठवां दिन, यानी कि महा अष्टमी बहुत महत्वपूर्ण मानी जात...