गुरुवार, 28 अक्तूबर 2021

कुशीनगरः धान क्रय हेतु कंट्रोल रूम स्थापित

कुशीनगरः धान क्रय हेतु कंट्रोल रूम स्थापित 

कुशीनगर। अपर जिलाधिकारी देवी दयाल वर्मा ने बताया कि वर्ष 2021- 22 में धान क्रय किए जाने के संबंध में आमजन द्वारा प्राप्त शिकायतों का निस्तारण व अन्य कार्यवाहियो के दृष्टिगत कलेक्ट्रेट स्थित आपदा प्रबंधन प्राधिकरण कक्ष में अस्थाई कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है । कंट्रोल रूम को सुचारू रूप से संचालित किए जाने हेतु जिला बचत अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। नोडल अधिकारी प्रत्येक दिवस प्राप्त शिकायतों को पंजिका में दर्ज करेंगे तथा स्वयं पर्यवेक्षण कर उक्त शिकायतों को जिलाधिकारी महोदय, अधोहस्ताक्षरी, खाद्य एवं विपणन अधिकारी कुशीनगर एवं संबंधित उप जिलाधिकारी को अवगत कराते हुए उसका निस्तारण उसी दिन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि धान क्रय के संबंध में कोई शिकायत या अन्य जानकारी के लिए कंट्रोल रूम में संचालित टेलीफोन नंबर 05564 -240590,  9454416282 पर संपर्क कर प्राप्त किया जा सकता है। कलेक्ट्रेट स्थित कंट्रोल रूम में कर्मचारी गण/ डाटा एंट्री ऑपरेटर की तैनाती के संदर्भ में ने  उन्होनें बताया कि राकेश कुमार राव (9721627722), जावेद अंसारी (8922933002), पीयूष कुमार(6389248991), एवं  मुकेश यादव(8052274140) की तैनाती की गयी है। उपरोक्त कर्मचारी गण को यह निर्देश दिया गया है कि धान क्रय के संबंध में प्राप्त शिकायतों को नियमानुसार पंजिका में दर्ज कर कंप्यूटर में फीड करेंगे तथा उसकी सूचना नामित नोडल अधिकारी को तत्काल देंगें। संतलाल मौर्य


शिक्षा अधिकारी को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया      

हरिओम उपाध्याय         

आगरा। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की ओर से जीरो टॉलरेंस नीति के तहत भ्रष्टाचार पर किए जा रहे करारे प्रहार के बावजूद अधिकारी ऊपरी कमाई का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं। शिक्षक के जीपीएफ से ऋण लेने की संस्तुति पर 8000 हजार रूपये की रिश्वत मांगने वाले खंड शिक्षा अधिकारी को विजिलेंस की टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। विजिलेंस की टीम की ओर से भ्रष्टाचार के खिलाफ की गई इस कार्यवाही से शिक्षा विभाग समेत अन्य सभी महकमों में हड़कंप मच गया है।

विजिलेंस की टीम ने आगरा में बड़ी कार्रवाई करते हुए शमशाबाद ब्लॉक में कार्यरत बीईओ ब्रजराज सिंह चौरसिया को 8000 रूपये की रिश्वत लेने के आरोप में रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। विजिलेंस के मुताबिक ब्लाक शमशाबाद के प्राथमिक विद्यालय लहरपट्टी में कार्यरत प्रधानाध्यापक भैरव नाथ सिंह ने अपने जीपीएफ खाते के आधार पर 500000 रूपये का ऋण लेने का आवेदन इसी वर्ष के जुलाई माह में किया था। मगर रिश्वत न देने के कारण बीईओ कार्यालय से प्रधानाध्यापक की पत्रावली को ही गायब कर दिया गया। ऋण लेने की मजबूरी में प्रधानाध्यापक भैरव नाथ सिंह ने अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में दोबारा से ऋण लेने के लिए विभाग में आवेदन किया।

आरोप है कि बीईओ ब्रजराज सिंह ने ऋण मंजूरी की एवज में प्रधानाध्यापक से रिश्वत मांगी। अपने ही हक पर रिश्वत देने से बेहतर प्रधानाध्यापक ने भ्रष्टाचारी अधिकारी को सबक सिखाना उचित समझा। जिसके चलते शिक्षक भैरव नाथ सिंह ने विजिलेंस कार्यालय में संपर्क हासिल किया और समूचे मामले की जानकारी दी। विजिलेंस टीम ने शिक्षक भैरवनाथ सिंह की शिकायत पर सत्यापन किया और इसके बाद उन्हें रिश्वत की रकम पर पाउडर लगाकर ब्रजराज सिंह के पास भेज दिया। ब्रजराज सिंह ने रिश्वत की रकम लेकर पीड़ित को अपने अस्थाई आवास होटल रॉयल पर बुला लिया। जहां पर शिक्षक भैरव नाथ सिंह ने जैसे ही बीईओ को रिश्वत की रकम थमाई, वैसे ही विजिलेंस की टीम ने छापामार कार्यवाही करते हुए रिश्वत की रकम के साथ बीईओ ब्रजराज सिंह को रंगे हाथ दबोच लिया।

75 हजार रुपये का गांजा बरामद, तस्कर अरेस्ट

हरिओम उपाध्याय        

अल्मोड़ा। जिले में पुलिस ने एक गांजा तस्कर दबोचा है। जिसके कब्जे से 75 हजार रुपये का गांजा बरामद हुआ है। जो सराईखेत से काशीपुर तक गांजा सप्लाई करने के फिराक में था। पूछताछ में गांजे के धंधे में लिप्त कुछ और नाम प्रकाश में आए हैं, जिनकी छानबीन की जा रही है।

जिले के सल्ट थाना अंतर्गत मरचूला बैरियर पर थानाध्यक्ष सुशील कुमार अपनी पुलिस टीम के साथ चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच एक व्यक्ति संदिग्ध प्रतीत होने पर उसकी चेकिंग की गई। जिसमें संदिग्ध व्यक्ति आकाश जाटव पुत्र राजकुमार, निवासी आदर्श नगर कोतवाली, हापुड़ (उत्तर प्रदेश) के कब्जे से दो कट्टों में 12.900 किलोग्राम अवैध गांजा बरामद हुआ। जिसकी कीमत करीब 75000 रुपये बताई गई है। पुलिस ने आरोपी आकाश जाटव को गिरफ्तार करते हुए उसके खिलाफ थाना सल्ट में एनडीपीएस एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक कार्यवाही की गयी।


ट्रक जीप की जोरदार टक्कर, 3 लोगों की मौत   

सुरेंद्र नाथ द्विवेदी   कुशीनगर। आज सुबह-सुबह राष्ट्रीय राज मार्ग 28 पर तरयासुजान थाना क्षेत्र के लतवा चट्टी के पास ट्रक और कमांडर जीप के टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गयी है, वही चार लोग घायल हुए है,कमांडर जीप की पचखरे उड़ गए है, घायल लोगो को उपचार के लिये तमकुहीराज स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया ,जहाँ चिकित्सको ने उन्हें गोरखपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया है। मौके पर मुकामी पुलिस पहुँच कर राहत कार्यो में जुट गई है। वही हाइवे पर परिचालन शुरू करा दिया गया है।

गुरुवार को सुबह तरया सुजान थानाक्षेत्र के लतवा चट्टी बाजार में फोरलेन के रास्ते बिहार की तरफ जा रहे ट्रक सँख्या एच् आर 38 ऐसी 4910 के अगिले पहिये का चक्का फटने से अनियंत्रित हो गयी व ट्रक ने तमकुहीराज से गोपालगंज बिहार के लिए सवारी लेकर जा रहे कमांडर जीप नम्बर यूपी 53 एच् 76 93 में पीछे से टक्कर मार दी, ट्रक के टक्कर से कमांडर जीप में मौजूद यात्रियों में से दो की मौके पर मौत ही गयी वही पाँच घायलों को अस्पताल तमकुहीराज भेजा गया, जहाँ एक कि स्थिति चिंताजनक देखते ही चिकित्सकों ने सभी को गोरखपुर रेफर कर दिया, जिसमे एक कि मौत रास्ते मे होने की बात सामने आ रही है। साथ ही ट्रक ने डिवाइडर तोड़कर एक खड़ी ट्राली में टक्कर मार पलटा गया घटना को लेकर अफ़रा तफरी की मच गई।

घटना की जानकारी होते ही मौके पर प्रभारी निरीक्षक तरयासुजान कपिलदेव चौधरी, एसएसआई बघेल, चौकी प्रभारी बहादुरपुर धनन्जय राय, आरक्षी विरेन्द्र सिंह,सन्दीप यादव ,गोपी नाथ ,मय टीम ने पहुच राहत कार्यो में जुट गए,वही टोल प्लाजा सलेमगढ़ के कर्मचारियों व ग्रामीण भी पुलिस के सहयोग जहाँ लग गए,वही सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र तमकुहीराज तरयासुजान प्रभारी निरीक्षक कपिलदेव चौधरी पहुँच कर घायलों की समुचित उपचार की बन्दोबस्त करते हुए उन्हें अच्छी इलाज के लिये गोरखपुर भेजवाया,तो मौके पर चौकी प्रभारी बहादुरपुर धनन्जय राय अपने टीम को लेकर राहत कार्य के साथ परिचालन शरू करने में जुटे रहे।

मृतकों की सूची!

1-अर्चना मिश्रा उम्र 32 वर्ष पत्नी जितेंद्र मिश्र निवासी बहादुरपुर उसरी,थाना तरवारा जिला सिवान,बिहार

2-रजाक पुत्र सौदागर निवासी घोघमलवा,गौरी श्रीराम,थाना विसुनपुरा जिला कुशीनगर, यूपी

3-मुन्ना खरबार पुत्र जगदीश खरबार,निवासी परसोन थाना तरयासुजान जिला कुशीनगर, यूपी

घायल का सूची

1-रविशकर श्रीवास्तव,पुत्र अमलकान्त श्रीवास्तव,निवासी सिरिसिया थाना रोमली गंज ,जिला छपरा बिहार

2-विकाश मद्देशिया,पुत्र महातम मद्देशिया निवासी बांकगांव खास थाना विसुनपुरा,जिला कुशीनगर यूपी

3- हसमुद्दीन पुत्र खादिक निवासी हरिहर पुर थाना तरयासुजान जिला कुशीनगर, यूपी

4-इमामुल हक जो हसमुद्दीन के साथ रहे।

घटना की सूचना पाकर मौके पर भाजपा नेता विजय राय पहुच कर घटना की जानकारियां इकठा किये, वही घटना पर दुख व्यक्त किया।


विधान परिषद की संसदीय समिति ने की समीक्षा
बृजेश केसरवानी     
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश विधान परिषद की संसदीय कार्यक्रम समिति के सभापति श्री हीरालाल के सभापतित्तव में गुरूवार को संगम सभागार में उ.प्र विधान परिषद की संसदीय अध्ययन समिति में लम्बित प्रकरणों पर जिलास्तरीय विभागीय अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर अद्य्तन स्थिति की समीक्षा की गयी। बैठक में सभापति ने कहा कि जनप्रतिनिधिगणों के द्वारा जनकल्याण, विकास कार्यों से सम्बंधित या योजनाओं से सम्बंधित जो पत्र लिखे जाते है। उसका निस्तारण जल्द से जल्द किया जाना चाहिए। अगर कुछ पत्र आपके स्तर से या जिले में बजट के अभाव में न हो सके, उस पत्र को या मांग को जल्द से जल्द शासन को प्रेषित करते हुए जनप्रतिनिधिगणों को भी पत्र के माध्यम से अवगत करायें, इसको भी पत्र का निस्तारण माना जायेगा। इससे पत्र लम्बित नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से गम्भीर बीमारियों से पीड़ित व्यक्ति व परिवार के चिकित्सा उपचार हेतु अनुदान की व्यवस्था है। इस सम्बंध में जनप्रतिनिधियों के पास बहुत से पीड़ित व्यक्ति जाते है, इस सम्बंध में पत्र जनप्रतिनधिगण के द्वारा पत्र प्रेषित किया जाता है। उन्होंने कहा कि यह जनकल्याण का काम है, इसमें जो भी कार्रवाई हो, उसे जल्द से जल्द कराकर रिपोर्ट लगा दे, जिससे उन्हें समय से इलाज उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि अधिकारियोें के पास जो भी पीड़ित व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आये, उसको वे गम्भीरता के साथ सुने और जो भी आवश्यक कार्यवाही हो, कराना चाहिए, क्योंकि अधिकारी भी आमजनता के लिए जनप्रतिनिधि के समान ही होता है। सभापति ने कहा कि जिस भी विभाग में जनप्रतिनिधिगणों के पत्रों का निस्तारण नहीं हो पाये हैं। उन्हें एक माह के अंदर निस्तारित करें व इससे विधान परिषद को भी अवगत करायें। इस बैठक में सदस्यगणों के साथ जिलाधिकरी श्री संजय कुमार खत्री, एडीएम सिटी श्री मदन कुमार सहित अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

तस्करीः जनपद में गांजा बेचने का खेल जारी 
गोपीचंद          
बागपत। जनपद में थानों से तस्करों का गांजा बेचने का खेल जारी है। सिंघावली अहीर थाने के पुलिसकर्मी व महिला तस्कर के बीच गांजा खरीदने व बेचने की इस समय सोसल मीडिया पर ऑडियो वायरल हो रही है। यह मामला सामने आने पर अन्य थानों में तस्करों से पकड़ा गया गांजा व अन्य मादक पदार्थ की जांच कराने की तैयारी है। तस्करों से पकड़ा गांजा व अन्य मादक पदार्थों को मुकदमा दर्ज करने के बाद मालखाने में रखा जाता है। इन्हें दोबारा बेचने का खेल चल रहा है। यह मामला पुलिस अधिकारियों के सामने भी आया है। सिंघावली अहीर थाने के एक पुलिसकर्मी व डौला गांव की महिला तस्कर के बीच बातचीत की ऑडियो लीक हुई तो थानों से मादक पदार्थ बेचने के खेल का पता चला। इसके बाद रविवार को मालखाने का गांजा तुलवाया गया। उसके पूरा होने का दावा किया जा रहा है। डौला गांव की एक महिला तस्कर व पुलिसकर्मी में बातचीत का ऑडियो सामने आया है। पुलिसकर्मी का कहना है कि इस समय सख्ती चल रही है और तेरा नाम भी लिया जा रहा है कि वह गांजा बेचती है। यदि ऐसा है तो बता कहां बेचेगी। डौला में किसी को मत बेचना, तू बागपत में बेचना। कभी तू मुझे भी फंसवा दे। सात के रेट में मिलेगा और दो की जगह तीन किलो मिलेगा। क्योंकि मुझे भी रुपये की जरूरत है। इसके बाद सप्लाई की बात तय होती है तो पुलिस कर्मी कहता है कि इंस्पेक्टर साहब बागपत गए हैं। कभी वह रास्ते में मिल जाएं। इसलिए शाम को जब वह निकलेंगे तो मौका देखकर फोन कर दूंगा और तू आकर ले जाना। वही सोसल मीडिया पर ऑडियो वायरल होने के बाद एसपी नीरज कुमार जादौन ने आरोपी पुलिस कर्मी को निलंबित कर दिया। जिसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जा रही है।

रिटायरमेंट बाबू का विभाग में दबदबा कायम
कौशाम्बी। जिला उद्योग केंद्र को लूटने वाले बाबू को शासन ने बीते महीने सेवानिवृत्त कर दिया है। लेकिन रिटायरमेंट बाबू का विभाग में दबदबा बना है। विभाग के अधिकारी ने रिटायरमेंट बाबू को ठेके पर कार्यालय सौपकर फरार हो गए हैं। महीनों से कार्यालय में अधिकारी नहीं हैं। विभाग की योजनाओं की धज्जियां उड़ा कर रिटायरमेंट बाबू लाभार्थियों को लूट रहा है। जिले में उद्योग धंधों को बढ़ावा देने की तमाम योजनाओं के बाद भी जिला उद्योग बिहीन रह गया है। जिले में बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल रहा है। उद्यमियों को उद्यम नहीं मिल रहे हैं विभाग की योजनाओं में एक बाबू 25 वर्षो से कुंडली मार कर बैठा है।
बताते चलें कि जिला उद्योग केंद्र में लिपिक के पद पर डीआर मिश्रा की तैनाती थी। पच्चीस साल से डीआर मिश्रा जिला उद्योग केंद्र में दबदबा बनाए थे। इनके बिना इस विभाग में एक पत्ता भी नहीं हिलता था। विभाग में आवेदन कर्ताओं की पत्रावली में बिना वसूली के उनकी फाइलें नहीं स्वीकृति होती थी सूत्रों की माने तो डीआर मिश्रा ने विभाग के लाभार्थियों से करोड़ों की वसूली की है। वसूली में माहिर डीआर मिश्रा बीते महीने सेवानिवृत्त हो गए हैं। लेकिन सेवानिवृत्त के बाद भी विभाग की काली कमाई से उनका मोहभंग नही हुआ है और महीनों बीत जाने के बाद भी इन्होंने अपने चार्ज अधीनस्थों को नहीं दिए हैं और प्रतिदिन कार्यालय पहुंच कर लाभार्थियों को फिर लूट रहे हैं। जिन लाभार्थियों ने इनकी बातों को मान लिया तो उनकी फाइलें बैंक भेज दी जाती है। वरना लाभार्थी विभाग का चक्कर लगाता रहे उसके ऋण आवेदन पत्रावली बैंक नहीं भेजे जाते हैं। लंबे समय से विभाग में तैनात लिपिक के दबदबा के चलते बैंक भी बाबू के बातों पर भरोसा कर लेता है। जिन लाभार्थियों से बाबू को रकम नहीं मिलती है। उन लाभार्थियों के बारे में ऊल जलूल बात बताकर बैंकों से फाइल वापस करा दी जाती है। विभाग में दबदबा कायम बाबू डीआर मिश्रा के रिटायरमेंट के बाद कार्यालय में पूरे समय मौजूद रहने के मामले में अभी तक आला अधिकारियों ने मामला संज्ञान लेकर कठोर कार्यवाही नहीं की है।
इन दिनों रिटायरमेंट बाबू के संरक्षण में विभाग में अचार फैक्ट्री चल रही है और यह बताया जा रहा है कि दीपावली के पर्व पर कमिश्नर साहब को अचार पहुंचाना है। हजारों डिब्बे अचार के कार्यालय में सील पैक किए जा रहे हैं। इस पर जब सवाल जवाब किया गया तो उनका कहना है कि कमिश्नर साहब केला का अचार लखनऊ के अधिकारियों को भी पहुंचाएंगे विभाग के बाबू के संरक्षण में उधोग केंद्र कार्यालय के भीतर अवैध तरीके से अचार फैक्ट्री का संचालन कर कमिश्नर साहब को बदनाम कर रहे हैं। विभाग के भीतर अवैध तरीके से चल रही अचार फैक्ट्री के मामले में जिलाधिकारी ने जांच कराई तो विभाग के रिटायरमेंट बाबू के साथ-साथ विभागीय लिपिक और अचार फैक्ट्री के संचालक पर कठोर कार्यवाही हो सकती है।
सुशील केसरवानी 

4 वैक्सीनेशन सेंटरो पर 2 शिफ्ट में वैक्सीनेशन   

अश्वनी उपाध्याय    गाजियाबाद। स्वास्थ्य विभाग ने जिले में कामकाजी लोगों को वैक्‍सीन लगवाने हो रही परेशानी को ध्यान में रखते हुए शहर के चार बड़े वैक्‍शीनेशन सेंटर पर दो शिफ्टों में वैक्‍सीनेशन शुरू करने का निर्णय लिया है। एक नवंबर से शुरू होने वाले क्लस्टर मॉडल- 2.0 के तहत नई व्यवस्था लागू होगी। इस चरण में सुबह जल्‍दी और देर शाम तक भी वैक्‍शीनेशन किया जा सकेगा।

इन 4 केन्द्रों पर लगेंगी वैक्सीन

सीएमओ गाज़ियाबाद डॉ. भवतोष शंखधर ने बताया कामकाजी लोगों को वैक्‍सीनेशन में आ रही दिक्कतों को कम करने के लिए पहली नवंबर से जिला एमएमजी अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, संयुक्त जिला अस्पताल और संतोष अस्पताल में दो शिफ्टों में वैक्‍सीनेशन किया जाएगा। पहली शिफ्ट सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक और दूसरी शिफ्ट शाम चार बजे से रात आठ बजे तक होगी।

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन जरूरी नहीं-जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज अग्रवाल ने बताया अब वैक्‍सीन लगवाने के लिए पहले से पोर्टल पर पंजीकरण करने या फिर स्लॉट बुक करने की जरूरत नहीं है। इसलिए किसी नजदीकी केंद्र पर अपना मोबाइल और आधार कार्ड लेकर वैक्‍सीन लगवाया जा सकता है। ध्यान रहे कि टीके की दूसरी डोज लगवाने वाले वही मोबाइल साथ लेकर जाएं, जिसका नंबर पहली डोज लेते समय दर्ज कराया है। मोबाइल पर दूसरी डोज के लिए आए मैसेज की दिखाकर किसी भी नजदीकी सेंटर पर वैक्‍सीन लगाई जाएगी। जिला स्‍वास्‍थ्‍य विभाग जिले में शत प्रतिशत वैक्‍सीन पहली डोज लगाने का प्रयास कर रही है।

जनपद में विशेष ट्रैफिक डायवर्जन प्लान लागू   

अश्वनी उपाध्याय    गाजियाबाद। त्योहारी मौसम को देखते हुए गाज़ियाबाद ट्रैफिक पुलिस ने 11 नवंबर तक जिले में एक विशेष ट्रैफिक डायवर्जन प्लान लागू किया है।  एसपी ट्रैफिक रामानन्द कुशवाहा ने बताया कि ट्रैफिक के दबाव को देखते हुए इस प्लान में बदलाव भी किया जा सकता है।  ट्रैफिक डायवर्जन प्लान के अनुसार ट्रैफिक व्यवस्था इस प्रकार रहेगी

  • लाल कुआं की ओर से आने वाले सभी प्रकार के भारी व्यावसायिक वाहन (ट्रक बस आदि) शहर के अंदर की ओर न जाकर साजन मोड़ से लोहा मंडी चौक (श्यामा प्रसाद मुखर्जी) से विवेकानंद फ्लाई ओवर से हापुड़ चुंगी एएलटी होते हुए अपने गंतव्य तक जा सकेंगी।
  • सीमापुरी, मोहननगर की ओर से आने वाले सभी प्रकार के भारी वाहन (ट्रक बस आदि) हिंडन रिवर मेट्रो स्टेशन से रोटरी गोल चक्कर से एएलटी होते हुए अपने गंतव्य की ओर जा सकेंगे।
  • मोहन नगर से लाल कुआं व लाल कुआं से मोहन नगर तक संचालित होने वाले ऑटो / विक्रम आदि ठाकुर द्वारा फ्लाई ओवर से ही जा सकेंगे।

इसके अलावा 2 नवंबर की सुबह से 5 नवंबर की रात तक पुराना बस अड्डा से चौधरी मोड़, व चौधरी मोड़ से पुराना बस अड्डा की ओर वाली सड़कों पर ऑटो/विक्रम का संचालन प्रतिबंधित रहेगा।



पेट्रोल-डीजल का भाव रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

पेट्रोल-डीजल का भाव रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा   

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गुरूवार को कच्चे तेल के उच्चतम स्तर से फिसलने के बावजूद घरेलू स्तर पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगाताार दूसरे दिन उबाल जारी रहा। इन दोंनों की कीमतों में 35-35 पैसे प्रति लीटर की बढोतरी की गयी। जिसके बाद राजधानी दिल्ली मेंं पेट्रोल 108.29 रुपये प्रति लीटर और डीजल 97.02 रुपये प्रति लीटर के सर्वकालिक रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया। मुंबई में पेट्रोल 114.14 रुपये और डीजल 105.12 रुपये प्रति लीटर पर, मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पेट्रोल सबसे महंगा 116.98 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 106.38 रुपये प्रति लीटर पर, पटना में पेट्रोल 112.04 रुपये और डीजल 103.64 रुपये प्रति लीटर, बेंगलुरू में पेट्रोल 112.06 रुपये और डीजल 102.98 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। कोलकाता में भी पेट्रोल के 108.78 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल भी 100.14 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच चुका है।राँची में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में मात्र 18 पैसे का अंतर रह गया है। पेट्रोल 102.54 रुपये और डीजल 102.36 रूपये प्रति लीटर पर है। दिल्ली एनसीआर के नोएडा में पेट्रोल 105.44 रुपये और डीजल 97.28 रुपये प्रति लीटर पर है।


'नीट' के परिणाम घोषित करने की अनुमति दी
अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) को देशभर में स्नातक स्तरीय चिकित्सा पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) के परिणाम घोषित करने की बृहस्पतिवार को अनुमति दे दी।
न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति बी आर गवई की पीठ ने एनटीए को नीट के परिणाम घोषित नहीं करने तथा दो अभ्यर्थियों के लिए फिर से परीक्षा कराने के निर्देश देने संबंधी बंबई उच्च न्यायालय के हालिया आदेश पर रोक लगा दी। दोनों विद्यार्थियों के प्रश्नपत्र और ओएमआर शीट महाराष्ट्र के एक परीक्षा केंद्र में आपस में मिल गये थे।

बर्फ के बीच दबे तीन ट्रैकर के शवों को निकाला   

श्रीराम मौर्य  

रिकांगपिओ। हिमाचल प्रदेश के जिला किन्नौर में 5 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित बुरन पास में बर्फ के बीच दबे तीन ट्रैक्टर के शवों को गुरुवार को निकाल लिया गया है। क्षेत्र में भारी बर्फबारी होने के कारण आईटीबीपी की 17वीं बटालियन के जवानों को शवों को निकालने में बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ा। बुरन पास में भारी बर्फबारी के कारण बुधवार को को रेस्क्यू दल चोटी तक नहीं जा पाया था लेकिन आज तीन ट्रैकर के शवों को निकाल लिया है।

शनिवार को रोहडू़-जांगलिक से किन्नौर जिले की सांगला वैली के लिए निकले 22 सदस्यीय ट्रैकिंग दल में सेतीन लोगों की मौत हो गई थी। जबकि अन्य लोगों को रेस्क्यू टीमों ने सुरक्षित निकाल लिया था। क्षेत्र में भारी बर्फबारी होने के कारण शवों को निकालने में परेशानियों का सामना करना पड़ा। एसपी किन्नौर अशोक रत्न ने बताया कि बुरन पास में पांच फीट ताजा बर्फबारी हुई है। इसके अलावा उत्तरकाशी के हर्षिल से किन्नौर जिले के छितकुल के लम्खागा पास की ट्रैकिंग पर निकले दो ट्रैकर अभी भी लापता हैं।


दिवाली पर 207 स्पेशल बसों का संचालन होगा       

जसपाल ठाकुर    शिमला। एचआरटीसी दिवाली पर बाहरी राज्यों से हिमाचल आने वाले यात्रियों के लिए दो व तीन नवंबर को स्पेशल 207 बसें चलाएगा। निगम प्रबंधन ने दिल्ली, चंडीगढ़ व बद्दी से बसों को चलाने के  लिए दिशा -निर्देश जारी कर दिए हैं। इन दो दिनों में प्रदेश के हर जिला व क्षेत्र के लिए बाहरी राज्यों से बसें चलेगी।

एचआरटीसी प्रबंधन ने बसों का शैडयूल भी तैयार कर दिया है कि कितनी बसें किस डिपो से दिल्ली, बद्दी और चंडीगढ़ जाएगी। इसका खाका भी तैयार किया है, ताकि हिमाचल से बाहरी राज्यों व बाहरी राज्यों से दिवाली पर हिमाचल आने वाले यात्री समय से पहुंच सके । इसके अतिरिक्त दिवाली के दिन यानी चार नवंबर को भी एचआरटीसी ऑन डिमांड भी दिल्ली, चंडीगढ़ व बद्दी से स्पेशल चलाएगा।इसमें सवारियों के हिसाब से बसों की संख्या कम व अधिक हो सकती है। इसके अतिरिक्त निगम प्रबंधन ने दिवाली के दौरान बस अड्डों पर  कोविड नियमों को पालन सुनिश्चित करवाने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। एचआरटीसी प्रबंध निदेशक संदीप कुमार कि दिवाली पर बाहरी राज्यों से हिमाचल आने वाले और हिमाचल से बाहरी राज्यों में जाने के लिए स्पेशल बसें चलाई जा रही हैं।

निगम यात्रियों को उनके गंत्वय स्थानों यानी पैतृक स्थानों तक पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास करेगा। इसके लिए निगम ने पूरी तैयारी की है। वहीं, दिवाली के दिन शाम पांच बजे के बाद बसें नहीं चलेंगी। लाँग रूट पर चलने वाली बसों को क्लब कर चलाया जाएगा।

झारखंड के सीएम का रायपुर में जोरदार स्वागत   

शमशेर खान     रायपुर। झारखंड के मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन के राजधानी रायपुर पहुंचने पर स्वामी विवेकानंद विमानतल पर आत्मीय स्वागत किया गया। संस्कृति मंत्री  अमरजीत भगत, उद्योग मंत्री  कवासी लखमा और छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष  गिरीश देवांगन ने उनकी अगुवानी की। उल्लेखनीय है कि झारखंड के मुख्यमंत्री राजधानी रायपुर के सांइस कालेज मैदान में  आज से आयोजित राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव-छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का शुभारंभ करेंगे।  कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल करेंगे।


आंदोलन में शामिल 3 महिला किसानों को कुचला 

अकांशु उपाध्याय    नई दिल्ली। सुबह-सुबह एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां एक तेज रफ्तार ट्रक ने किसान आंदोलन में शामिल तीन महिला किसानों को कुचल दिया। इस घटना में दो बुजुर्ग महिलाओं की मौके पर मौत हो गई। वहीं एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि तीन गंभीर रूप से जख्मी हो गयी है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार ये हादसा सुबह साढ़े 6 बजे के आसपास झज्जर रोड पर हुआ। बताया जा रहा है कि हादसे का शिकार हुई ये बुजुर्ग महिलाएं डिवाइडर पर बैठी हुई थीं तभी एक तेज रफ्तार उनके ऊपर आकर चढ़ गया। इससे दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। हादसे में जान गंवाने वालीं तीनों महिलाएं पंजाब के मानसा जिले की रहने वाली थी। बताया जा रहा है कि ये महिलाएं आंदोलन में शामिल होने के बाद घर जाने के लिए ऑटो के इंतजार में डिवाइडर पर बैठी हुई थीं तभी झज्जर रोड पर फ्लाइओवर के नीचे तेज रफ्तार ट्रक ने उन्हें रौंद दिया। घटना के बाद चारों तरफ चीख पुकार मच गयी। गौरतलब है कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ नवंबर 2020 से दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का धरना प्रदर्शन चल रहा है। हादसे का शिकार हुईं महिलाएं भी इसी आंदोलन जुड़ी थीं। ये महिलाएं रोटेशन के तहत अपने घर जाने वाली थीं, लेकिन उससे पहले ही तीन की मौत हो गई। इस हादसे पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शोक जताया है। कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर कहा, "भारत माता, देश की अन्नदाता को कुचला गया है, ये क्रूरता और नफ़रत हमारे देश को खोखला कर रही है, मेरी शोक संवेदनाएं हैं।'


डेढ़ माह के निचले स्तर तक पहुंचा शेयर बाजार   

मनोज सिंह ठाकुर    मुंबई। विदेशी बाजारों के 1.23 प्रतिशत तक टूटने के दबाव के साथ ही स्थानीय स्तर पर जबरदस्त मुनाफावसली और महीने के अंत में वायदा एवं विकल्प सौदे का निपटान होने से आज शेयर बाजार डेढ़ माह के निचले स्तर तक लुढ़क गया। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1158.63 अंक का गोता लगाकर लगभग डेढ़ माह के निचले स्तर 60 हजार अंक के नीचे 59,984.7016 अंक पर आ गया। इससे पहले 16 सितंबर को यह पहली बार 59 हजार अंक के पार 59141.16 अंक पर पहुंचा था। 

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 353.70 अंक टूटकर 18 हजार अंक के नीचे 17,857.25 अंक पर रहा। विश्लेषकों ने कहा कि पिछले कई सप्ताह से शेयर बाजार में ऊंचे भाव पर पांच से सात फीसदी तक का करेक्शन होने की आशंका जताई जा रही थी।इसी कड़ी में आज बाजार लगभग दो प्रतिशत तक लुढ़क गया। हालांकि महीने के अंतिम गुरुवार को वायदा एवं विकल्प सौदे का निपटान होने का असर भी बाजार पर देखा जा रहा है। साथ ही विदेशी बाजारों की गिरावट का दबाव भी बाजार पर बना है। दिग्गज कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों में भी मुनाफावसूली हुई।

इस दौरान बीएसई का मिडकैप 354.27 अंक गिरकर 25,236.28 अंक और स्मॉलकैप 444.48 अंक टूटकर 28,089.97 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 3405 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें से 2295 लुढ़क गये जबकि 985 में तेजी रही वहीं 125 के भाव स्थिर रहे। इसी तरह एनएसई में 44 कंपनियों के शेयर भाव गिर गये जबकि केवल छह चढ़ने में कामयाब रहे।बीएसई में कैपिटल गुड्स की 0.02 प्रतिशत की बढ़त को छोड़कर शेष सभी समूह मुनाफावसूली का शिकार हुए। इस दौरान रियल्टी ने सबसे अधिक 3.75 प्रतिशत का नुकसान उठाया।

इसी तरह बैंकिंग 3.36, टेक 1.68, पावर 2.80, तेल एवं गैस 2.58, धातु 2.51, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 2.19, ऑटो 1.03, यूटिलिटीज 2.68, दूरसंचार 2.07, आईटी 1.56, इंडस्ट्रियल्स 1.73, हेल्थकेयर 1.62, वित्त 2.50, एफएमसीजी 1.90, ऊर्जा 1.72, बेसिक मैटेरियल्स 1.59 और सीडीजीएस के शेयर 1.02 प्रतिशत उतर गये। अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में गिरावट का रुख रहा। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.22 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 0.04 प्रतिशत, जापान का निक्केई 0.96 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसैंग 0.28 और चीन का शंघाई कंपोजिट 1.23 प्रतिशत कमजोर रहा।


अंतर-पार्टी चुनाव के लिए आदर्श तैयार करें   
अकांशु उपाध्याय   नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने निर्वाचन आयोग (ईसी) को बृहस्पतिवार को निर्देश दिया कि वह अंतर-पार्टी चुनावों के लिए एक आदर्श प्रक्रिया तैयार करने और इसे देश के सभी राजनीतिक दलों के संविधान में शामिल करने का अनुरोध करने वाली याचिका पर जवाब दाखिल करें। मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने आयोग को नोटिस जारी किया और उससे अपना जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया।

पीठ ने मामले की आगे की सुनवाई के लिए 23 दिसंबर की तिथि तय की। याचिकाकर्ता ने अदालत से कहा कि उसने इस संबंध में नई याचिका दायर की है, क्योंकि उसके प्रतिवेदन पर आयोग का पहले दिया गया जवाब संतोषजनक नहीं था। याचिकाकर्ता ने पहले भी याचिका दायर की थी।अदालत ने तब आयोग को निर्देश दिया था कि वह इस याचिका को प्रतिवेदन समझकर इस पर फैसला करे। इसी के साथ अदालत ने याचिका का निपटारा कर दिया था। कमल हासन के राजनीतिक दल ‘मक्कल निधि मय्यम’ (एमएनएम) के संस्थापक सदस्यों में शामिल एवं वकील सी राजशेखरन ने यह याचिका दायर की है। राजशेखरन ने दावा किया कि राजनीतिक दलों के आंतरिक चुनावों में नियामक के तौर पर आयोग की निगरानी का अभाव है।

याचिकाकर्ता ने दावा किया कि आयोग ने 1996 में सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय राजनीतिक दलों के साथ-साथ पंजीकृत गैर-मान्यता प्राप्त दलों को एक पत्र जारी करके कहा था कि वे अपने संगठनात्मक चुनावों से संबंधित विभिन्न प्रावधानों का पालन नहीं कर रहे हैं। आयोग ने उनसे आंतरिक चुनावों से संबंधित अपने-अपने संविधानों का ईमानदारी से पालन करने का आह्वान किया था।याचिका में कहा गया है कि अन्य निजी संगठनों/संस्थानों के विपरीत राजनीतिक दलों में आंतरिक लोकतंत्र का अभाव है और इसका काफी असर देश के शासन पर पड़ता है, क्योंकि जब ये राजनीतिक दल सत्ता में आते हैं, तो उनमें पादर्शिता और आंतरिक लोकतंत्र का अभाव उनके गैर लोकतांत्रिक शासन मॉडल में भी प्रतिबिंबित होता है।


आड़ में अधिकारों के उल्लंघन की इजाजत नहीं  

अकांशु उपाध्याय    नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने बृहस्पतिवार को इस धारणा को दूर किया कि पटाखों पर उसके द्वारा रोक लगाना किसी समुदाय या किसी समूह विशेष के खिलाफ है। न्यायालय ने कहा कि आनंद की आड़ में वह नागरिकों के अधिकारों के उल्लंघन की इजाजत नहीं दे सकता है।

न्यायमूर्ति एम आर शाह और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने स्पष्ट किया कि वे चाहते हैं कि न्यायालय के आदेशों का पूरी तरह से पालन किया जाए। पीठ ने कहा, ”आनंद करने की आड़ में आप (पटाखा उत्पादक) नागरिकों के जीवन से खिलवाड़ नहीं कर सकते हैं। हम किसी समुदाय विशेष के खिलाफ नहीं हैं। हम कड़ा संदेश देना चाहते हैं कि हम नागरिकों के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए यहां पर हैं।”न्यायालय ने कहा कि पटाखों पर रोक का पहले का आदेश व्यापक रूप से कारण बताने के बाद दिया गया था। पीठ ने कहा, ”रोक सभी पटाखों पर नहीं लगाई गई है। यह व्यापक जनहित में है। एक विशेष तरह की धारणा बनाई जा रही है। इसे इस तरह से नहीं दिखाया जाना चाहिए कि यह रोक किसी विशेष उद्देश्य के लिए लगाई गई है। पिछली बार हमने कहा था कि हम किसी के आनंद के आड़े नहीं आ रहे लेकिन हम लोगों के मौलिक अधिकारों के रास्ते में भी नहीं आ सकते।”

न्यायालय ने कहा कि उन अधिकारियों को कुछ जिम्मेदारी सौंपी जानी चाहिए जिन्हें आदेश को जमीनी स्तर पर लागू करने का अधिकार दिया गया है। पीठ ने कहा कि आज भी पटाखे बाजार में खुलेआम मिल रहे हैं। पीठ ने कहा, ”हम संदेश देना चाहते हैं कि हम यहां पर लोगों के अधिकारों की रक्षा के लिए हैं।हमने पटाखों पर सौ प्रतिशत रोक नहीं लगाई है। हर कोई जानता है कि दिल्ली के लोगों पर क्या बीत रही है (पटाखों से होने वाले प्रदूषण के कारण)।” न्यायालय ने छह (पटाखा) निर्माताओं से कारण बताने को कहा था कि उन्हें शीर्ष अदालत के आदेशों का उल्लंघन करने पर दंडित क्यों नहीं किया जाए।

इससे पहले, न्यायालय ने पटाखों की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने से इनकार कर दिया था और कहा था कि पटाखों की बिक्री केवल लाइसेंस प्राप्त व्यापारी ही कर सकते हैं और केवल हरित पटाखे ही बेचे जा सकते हैं। पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर पूरी तरह रोक है। न्यायालय ने वायु प्रदूषण को रोकने के लिए देशभर में पटाखों के निर्माण और बिक्री पर रोक लगाने के लिए दायर याचिका पर यह फैसला सुनाया था।


हरियाणा सरकार पर अफसरशाही बुरी तरह हावी

राणा ओबराय   चंडीगढ़। भाजपा पार्टी द्वारा आयोजित प्रत्येक कार्यक्रम में भाजपा कार्यकर्ता एक ही दुखड़ा रोते हैं कि हरियाणा की खट्टर सरकार पर अफसरशाही बुरी तरह से हावी है। जो सीएम औऱ मंत्रियो के आदेशों की धज्जियां उड़ाते रहते हैं। ऐसा ही मामला सामने आया है। हरियाणा के दबंग स्वास्थ्य मन्त्री ने रिक्त पद पर एक तृतीया श्रेणी के कर्मचारी के तबादला के लिए सीएम को अपना नोट भेजा। मुख्यमंत्री ने एक अक्टूबर (01/10/21) को तबादला करने के आदेश जारी करते हुए स्वास्थ्य मंत्री को फ़ाइल वापिस भेज दी। स्वास्थ्य मंत्री ने 4 अक्टूबर को तबादला करने हेतु निदेशक स्वास्थ्य विभाग को आदेश जारी कर दिए। खास बात यह है सीएम/एचएम ने दो एमपीएचडब्ल्यू कर्मचारियों के तुरंत प्रभाव से आदेश जारी करने के लिए कहा था। परन्तु आज तक आदेश जारी नही हुए हैं। विशेष बात यह है कि यह विभाग स्वास्थ्य मन्त्री के अधीन आता है। परन्तु स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों पर इस बात की जूं नही रेंग रही है। हरियाणा मुख्य सचिव ने आदेश जारी किए हुए यदि कोई बड़ा अधिकारी या कर्मचारी फ़ाइल को निपटाने में देरी करेगा तो सरकार उसके खिलाफ कार्यवाही करेगी? इसके विपरीत मुख्यमंत्री अथवा स्वास्थ्य मंत्री द्वारा जारी आदर्शों पर यदि अधिकारी 25 दिन तक अमल नही करते या संज्ञान नही लेते तो साफ जाहिर होता है कि अधिकारी हरियाणा सरकार पर हावी है। कहीं ऐसा तो नही हरियाणा के लोकप्रिय दबंग मन्त्री के अधीन उनके ही कर्मचारी उनकी प्रतिष्ठा को धूमल करने का प्रयास कर रहे हो। माना तो यह जाता है गब्बर के अधीन विभागो में कोई भी गड़बड़ करने की हिम्मत नही कर सकता। इसलिए जानबूझकर आदेशो की देरी से पालना करने के जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ सरकार को जरूर कार्यवाही करनी चाहिए।


खदेड़े के साथ भाजपा का प्रदेश से सफाया होगा


खदेड़े के साथ भाजपा का प्रदेश से सफाया होगा 

संदीप मिश्र  
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ में पहुंचे। उन्होंने वहां पहुंचकर मेधावी छात्रों को लेपटॉप वितरित किये। उन्होंने कहा कि भारत के साथ इस लेपटॉप से दुनिया का ज्ञान हासिल होगा। उन्होंने भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि भाजपा सरकार ने देश और प्रदेश को कहां से कहां पहुंचा दिया है। उन्होंने कहा कि इस बार भाजपा का यूपी से खदेडा के साथ सफाया भी किया जायेगा।अखिलेश यादव ने अपने सम्बोधन में कहा कि भाजपा का मैंने घोषणा पत्र पढ़ा था, उसमें लिखा था कि मेधावी बच्चों को डेटा, लेपटॉप और टेबलेट दिया जायेगा। भाजपा के यूपी में साढ़े चार साल पूरे हो गये हैं। 
भाजपा ने जो सकंल्प पत्र में लिखा था कि लेपटॉप और टेबलेट देंगे, वो जनता ढूंढ रही है कि उन्हें वह कब मिलेंगे। उन्होंने कहा कि साढ़े चार साल में इन बच्चों को कौन-सी टेबलेट दी। यह आज के पीढि के बच्चे हैं, यह पुरानी पीढि के नहीं है। जो पहले पीढि के बैठे हैं इन्होंने पट्टी से पढ़ाई की है। लेकिन अब नई पीढि आई और जमाना बदल गया है। नई पीढ़ि ऐसी है जो भारत की ही नहीं दुनिया की जानकारी रखने का भी माध्यम है। 
सपा सरकार में जिस समय लेपटॉप बांटे जा रहे थे। उन्होंने कहा कि मैंने जिस को लेपटॉप दिया मुझे खुशी मिली कि यह लेपटॉप आपके सपने का पूरा करने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में बड़े पैमाने पर लेपटॉप बांटा गये थे।उन्होंने कहा कि वह लेपटॉप ऐसे दिये गये थे कि अगर आज भी आप उसको ऑन करोगे तो आज भी नेता मुलायम और हम ही दिखाई देंगे। उन्होंने कहा कि हमारे बाबा सीएम सोच में पड गये हैं कि कौन आ रहा है। उन्होंने कहा कि यूपी की जनता ने तय कर लिया है कि 24 करोड़ जनता यूपी से भाजपा का सफाया करेगी। उन्होंने कहा कि हमें नहीं बताना कौन आ रहा है।

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के लेपटॉप खोलेंगे सीएम तो उन्हें दिखाई दे जायेगा कि कौन आ रहा है। वह लेपटॉप नहीं चलायेंगे क्योंकि उन्हें लेपटॉप चलाना नहीं आता है अगर उन्हें चलाना आता हेाता तो वह लेपटॉप वितरित करते। यूपी को विकास की ओर कोई ले जा सकता है तो वह सपा ले जा सकती है। उन्होंने कहा कि आज हम कुछ बच्चों को लेपटॉप दे रहे हैं और वह इसलिये दे रहे हैं कि उनको याद दिलाने के लिये आपने लेपटॉप वितरित करने का वायदा किया था। लेकिन आपने नहीं दिये। उन्होंने कहा कि सपा सरकार आते ही ऐसे ही छात्रों को लेपटॉप दिये जायेंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि जो एंबुलेंस यूपी में चल रही है। इससे पहले में एंबुलेंस किसी न नहीं चलाई। अगर आप एंबुलेंस को फोन करते हैं तो आपके गांव में जाकर मरीज को अस्पताल ले जाने का काम करती है। उन्होंने कहा कि अगर सपा सरकार न होती तो 102 और 108 एंबुलेंस नहीं चल पाती। उन्होंने कहा कि हमारे सीएम ने नाम बदल दिया और नंबर बदल दिया। इनका झूठा प्रचार ही विकास है। उन्होंने कहा है कि 1100 नंबर था जब पुलिस आती थी और 112 है अब भी पुलिस आती है। पुलिस बईमान नहीं थी 112 करते ही पुलिस को पता नहीं किया हो गया। उन्होंने कहा कि नाम बदलने और रंग बदलने वाली सरकार और शिलान्यस का शिलान्यस और उद्घाटन का उद्घाटन कर रही है।


बेरहम सरकार को जनता उखाड़ फेंकेगीः जयंत   
सत्येंद्र पवांर   
मेरठ। रालोद ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर ट्वीट करते हुए कहा है कि पब्लिक उत्तर प्रदेश से भाजपा सरकार को उखाड फेंकगी। रालोद की सरकार बनी तो पब्लिक का पिछला बिल माफ कर दिया जायेगा। रालोद ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि महंगी बिजली की मार झेल रही उत्तर प्रदेश की जनता 2022 में इस बेरहम सरकार को उखाड़ फेंकेगी। रालोद की सरकार में किसानों और बुनकरों के लिए बिजली का पिछला बिल होगा माफ, आगे का बिल होगा हाफ। इसके बाद विकास संकल्प का हैजटेग लगाया हुआ है।

सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगाः प्रियंका   

अकांंशु उपाध्याय    नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने बुंदेलखंड में हुई किसानों की मौत को लेकर अपने ट्वीटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए भाजपा सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि किसान मेहनत कर फसल तैयार करे तो फसल का दाम नहीं। किसान फसल उगाने की तैयारी करे, तो खाद नहीं। खाद न मिलने के चलते बुंदेलखंड के 2 किसानों की मौत हो चुकी है। लेकिन किसान विरोधी भाजपा सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंगा है। इनकी नीयत और नीति दोनों में किसान विरोधी रवैया है।


आजम को प्रसपा में शामिल होने की पेशकश    
शैलेंद्र श्रीवास्तव   
रामपुर। प्रगति शील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और सांसद आजम खान से उनकी पार्टी में शामिल होने की पेशकश की है। उत्तर प्रदेश में आगामी विधान सभा चुनाव के मद्देनजर पूरे राज्य में रथ यात्रा के दौरान रामपुर पहुंचे शिवपाल ने कहा कि आजम खान के लिये प्रसपा के दरवाजे हमेशा खुले हैं। उल्लेखनीय है कि वित्तीय अनियमितताओं से जुड़े विभिन्न मामलों में अदालती कार्यवाही का सामना कर रहे आजम खान इन दिनों जेल में हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ राजनीतिक टकराव के बाद नयी पार्टी बनाने वाले शिवपाल आगामी विधान सभा चुनाव में सपा से गठबंधन नहीं होने की स्थिति में सभी सीटों पर प्रसपा के प्रत्याशी उतारने की घोषणा पहले ही कर चुके हैं।

प्रसपा की चुनावी रथ यात्रा के साथ रामपुर पहुंचने पर यादव ने कहा, 'आजम खान अगर प्रसपा में आएंगे तो हम उन्हें लेने के लिए तैयार हैं।' आजम खान को प्रसपा में शामिल करने के पत्रकारों के सवाल पर उन्होंने कहा, 'आप बात करके बता दीजिए। अगर वह आएंगे तो हम उन्हें लेने को तैयार हैं।' शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आजम खान के साथ सरकार बदले की भावना से कार्यवाही की कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में सच बोलने वालों के ऊपर कार्यवाही की जा रही है उन्हें जेल में ठूंसा जा रहा है। उन्होंने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आह्वान किया कि सभी छोटे दल मिलकर साथ चलें ताकि केन्द्र और राज्यों में भाजपा सरकारों को हराया जा सके। 

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी भाजपा ने चुनाव से पहले जो वायदे किए थे, वह पूरे नहीं किए। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि उनके साथ समाजवादी विचारधारा के लोग, किसान और सभी वर्गों के लोग हैं। उन्होंने कहा कि रथ यात्रा सत्ता परिवर्तन के लिए की जा रही है। इसके जरिये सभी दलों को भाजपा के खिलाफ लामबंद होने का संदेश दिया जा रहा है।


सीएम ने आंचल अमृत योजना को पुनः आरंभ किया  

उधम सिंह धामी    देहरादून। मुख्यमंत्री द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सहायिका एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री, की चयन प्रक्रिया पारदर्शिता के दृष्टिकोण से ऑनलाइन किए जाने की घोषणा की आगनबाडी राज्य पुरस्कार योजना का नामांकन ऑनलाइन किए जाने की घोषणा मुख्यमंत्री द्वारा तीलू रौतेली राज्य पुरस्कार में नामांकन प्रक्रिया को ऑनलाइन किए जाने की घोषणा नंदा गौरा योजना में नामांकन/ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया ऑनलाइन किए जाने की घोषणा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की लम्बित मांगों पर शीघ्र लिया जायेगा निर्णय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को रिंग रोड, देहरादून स्थित होटल में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना का पुनः शुभारंभ किया। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना का पुनः शुभारंभ होना बच्चों के विकास एवं उन्हें पर्याप्त पोषण मिलने में बड़ी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार माँ का आंचल बच्चे की धूप-छांव से बचाव करता है, उसी प्रकार आंचल अमृत योजना बच्चों में कुपोषण को दूर करने में निश्चित रूप से सहायक होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने सभी क्षेत्रों को प्रभावित किया, इससे यह योजना भी कुछ समय तक प्रभावित रही जिसे अब पुनः शुरू कर दिया गया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्रों में 3 से 6 वर्ष के बच्चों को सप्ताह में 4 दिन निशुल्क फोर्टीफाइड मीठा एवं सुगंधित दूध मिलेगा। उन्होंने कहा इस योजना से प्रदेश के 1 लाख 70 बच्चों को लाभ मिलेगा, साथ ही बच्चों के पोषण एवं स्वास्थ्य में सुधार होगा। उन्होंने कहा राज्य सरकार बच्चों, महिलाओं, बहनों के लिए हर वह जरूरी योजना लाएगी जिससे उन्हें लाभ पहुंचाया जा सके। मुख्यमंत्री पोषण योजना के तहत 01 लाख गर्भवती महिलाओं तथा 85 हजार धात्री महिलाओं को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की समस्याओं से अवगत है। वे जिन परिस्थितियों में कार्य करती हैं उससे भी वे परिचित हैं। क्योंकि स्वयं उनके बच्चे आंगनबाड़ी केन्द्रों में पढ़े हैं। जिस प्रकार वे बच्चों की इन केन्द्रों में देखभाल के साथ अन्य कार्य करती हैं वह सराहनीय है। 
उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की मांगों से सम्बन्धित प्रस्ताव शीघ्र कैबिनेट में लाया जायेगा। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को रक्षाबन्धन पर एक-एक हजार तथा कोरोना प्रोत्साहन 05 माह तक 02-02 हजार रूपये का भुगतान किया जा रहा है।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार सभी की समस्याओं के समाधान के प्रति कटिबद्ध है। ग्राम प्रधानों के मानदेय में भी 1500 रू. की वृद्धि की गई है। 2001 बैच के पुलिस आरक्षियों को 4500 ग्रेड पे स्वीकृत किया गया है। आशा कार्यकत्रियों का मानदेय 1500 बढ़ाया गया है।
उपनल कार्मिकों के मानदेय में 10 साल की सेवा वालों को 02 हजार तथा उससे उपर की सेवा पर 03 हजार की वृद्धि की गई है। बिजली कार्मिकों की समस्याओं का भी समाधान किया गया है। कोरोना महामारी के कारण पर्यटन एवं स्वास्थ्य कार्मिकों को हुए नुकसान की भरपाई के लिये क्रमशः 200 एवं 205 करोड़ के पैकेज की घोषणा की गई है। युवाअें को सेना एवं अर्द्धसैनिक बलों में सेवा के अवसर उपलब्ध कराने तथा उनके शारीरिक दक्षता के लिये स्वस्थ्य युवा, स्वस्थ उत्तराखण्ड योजना के तहत सभी न्याय पंचायतों में ओपन जिम खोलने जा रहे हैं। कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के लिये वात्सल्य योजना शुरू की गई है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड में भी तेजी से कार्य हो रहा है। हर क्षेत्र में विकास कार्यों को दुगनी रफ़्तार से किया जा रहा है। उन्होंने कहा हाल ही में आई दैवीय आपदा से निपटने के लिए सरकार ने तेजी से कार्य किया जिसके फलस्वरूप चार धामों की यात्रा पर आये करीब डेढ़ लाख पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में श्री केदारनाथ एवं श्री बदरीनाथ धामों का विकास कार्य तेजी से किया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 11 बच्चों को दूध भी वितरित कर योजना का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रेखा आर्या ने इस योजना को बच्चों के हित में फिर से प्रारम्भ करने के लिये मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना के तहत पर्याप्त बजट भी स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा क यह योजना बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने में मददगार होगी तथा इससे प्रदेश को कुपोषण मुक्त प्रदेश बनने में भी मदद मिलेगी। 
उन्होंने आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के लिये बड़ा दिल दिखने के लिये भी मुख्यमंत्री का आभार जताया। मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना का संक्षिप्त विवरण देते हुए सचिव महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास सचिव  हरिचन्द्र सेमवाल ने बताया कि प्रदेश में 07 मार्च, 2019 को मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना का शुभारंभ किया गया। योजना के अर्न्तर्गत राज्य सरकार द्वारा राज्य के समस्त आंगनवाडी केन्द्रों में आने वाले स्कूल पूर्व शिक्षा के 03 से 06 वर्ष तक के बच्चों के पोषण एवं स्वास्थ में सुधार के साथ-साथ कुपोषण दर कम करना तथा आंगनवाडी केन्द्रों में बच्चों की संख्या में वृद्धि किये जाने के उददेश्य से यह योजना राज्य में प्रारम्भ की गई। वर्ष 2019 में मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के तहत प्रदेश के समस्त आंगनवाड़ी केन्द्रों में 03 से 06 वर्ष के बच्चों उपयोगार्थ डेरी विकास विभाग, उत्तराखण्ड के माध्यम से सुगन्धित फोर्टीफाइड मिल्क विटामिन ए व डी युक्त दूध सप्ताह में 4 दिन प्रति बच्चा 10ग्रा0 दूध पाउडर से 100 मी0ली0 दूध तैयार कर किया गया। राज्य में लगभग कुल 1,70,000 लाभार्थी बच्चों को प्रतिमाह लाभान्वित करते हुये योजनान्तर्गत कुल रू0 6.33 करोड़ का व्यय किया गया। वित्तीय वर्ष 2021-22 में आंगनवाड़ी केन्द्रों में 3 से 6 वर्ष के कुल 256199 बच्चों के उपयोगार्थ माह अक्टूबर से दिसम्बर, 2021 हेतु कुल रू० 4,33,33,000/- की धनराशि का अग्रिम भुगतान दुग्ध पाउडर की आपूर्ति हेतु डेरी विकास विभाग, उत्तराखण्ड को किया गया। इस अवसर पर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने भी विचार व्यक्त किये, प्रबन्ध निदेशक आंचल जयदीप अरोड़ा के साथ ही कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


आंदोलन की भूख 'संपादकीय'

आंदोलन की भूख    'संपादकीय'  

विद्या सीख सब, खूब की चतुराई और सोने की लंका बनाई। 
अति कारण कर में पराजय, सूर-नृप, समजन बल से कमताई।  

सत्तारूढ़ दल नीतियों का समुचित आकलन करने में लापरवाही बरतने लगता है, किए गए कार्यों और क्रियाओं का समुचित विश्लेषण करने में कोताही बरतने लगता है, तब स्वभाविक तौर पर परिणाम आंकड़ों के प्रतिकूल फलीभूत होने लगते हैं। जनता असंतुलित और अनियंत्रित होकर बिना नाद के बैल की भांति हो जाती है। सभी एक-दूसरे को विभिन्न अपेक्षाओं और आशाओं से देखने लगते हैं। स्वयमेव आंखों के भाव में विवशता का समावेश होने लगता है। समावेशी नीतियों का अनुपूरक परिणाम सामान्य जीवन शैली को प्रभावित करने लगता है। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की दर और सरकार की कानों को कष्ट देने वाली वाहवाही से अनायास ही विक्षोभ उत्पन्न होता है। विचारों की तरंगों में उसका अस्तित्व पनपने लगता है। उसे उखेरने की तमन्ना तो हर कोई रखता है। लेकिन सभी रंगबाज नहीं हुआ करते हैं। जरूरत और समय के अनुसार अनुसरण करने वाला ही उस आक्रोश के अंकुरण को सींचता है।  
लोकसभा चुनाव 2009 में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी की रह गुजर से जनता हलकान हो चुकी थी। लेकिन कोई अन्य विकल्प सामने नहीं दिखता था। जनता ने अनमने मन से कांग्रेस के पक्ष में ही मतदान किया और पुनः कांग्रेस एवं सहयोगी संगठनों की सरकार का गठन हो गया। परिवर्तन की कोई रेखा तब तक खींची हुई नजर नहीं आती थी। लेकिन समाज सेवक के रूप में किशन बाबूराव हजारे जिन्हें अधिकांश लोग अन्ना हजारे के नाम से जानते हैं, के द्वारा 16 अगस्त 2011 से कांग्रेस सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में धरना-प्रदर्शन और आमरण अनशन प्रारंभ कर दिया। सूचना का अधिकार और जनलोकपाल विधेयक पारित नहीं होने तक धरना-प्रदर्शन निरंतर जारी रहा। अंततः सरकार के द्वारा दोनों विधेयक पारित किए गए। परंतु जनमानस की विचार गति सरकार के एकदम विरुध हो गई थी। परिणाम स्वरूप लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेसी एवं सहयोगी दलों को मुंह की खानी पड़ी और नाम मात्र के रूप में बैठे विपक्ष ने सत्ता हासिल कर ली। 
भाजपा सरकार के गठन के बाद सत्ता पक्ष के उसी रवैया की पुनरावृति का वही अध्याय प्रारंभ हो गया। विकासशील राष्ट्र को विकसित करने के उतावलेपन और किसान मजदूर की अनदेखी धीरे-धीरे बड़ी लापरवाही का रूप धारण कर चुकी है। भाजपा नेतृत्व यदि आज मजदूर की दिहाड़ी ₹1000 प्रतिदिन भी कर दें तो उसके विभित्सव अतीत से उसका पीछा छूटने वाला नहीं है। यदि अति आवश्यक वस्तुओं के मूल्य में वृद्धि की जा सकती है तो मजदूरों को समतुल्य करने में क्या हर्ज है ? हालांकि, सरकार का इस ओर कोई ध्यान नहीं है। धर्म और जातिवाद के मुद्दों में भूख और बेरोजगारी कोई मुद्दा ही नहीं रह पाता है। 
लेकिन धरनारत किसान और तीन कृषि कानून संसद और सरकार से जुड़ा हुआ एक जीवित मुद्दा है। किसानों की इतनी लंबी लड़ाई का कोई ना कोई मतलब जनता के जेहन में अपना घर कर चुका है। राकेश टिकैत के नेतृत्व में 11 महीने से अनरावत धरना-प्रदर्शन अपना काम कर चुका है। जनता विरोध की भावना की मूल तह लक नहीं भी पहुंच सकी हो, किंतु इतना अवश्य समझती है कि सरकार के विरुद्ध धरना-प्रदर्शन सरकार की नीति का पारितोषक हैं। यदि सरकार अब तीनों कृषि कानूनों को रद्द भी कर दे, तो भी परिणाम में परिवर्तन की संभावना कम नहीं आंकी जा सकती है। धरने में शामिल एक किसान का एक मजदूर से कैसा संबंध रहता है। यह सभी लोग आसानी से समझ सकते हैं। यह बात भी सही है कि सत्ता के दोषों का एकमात्र साधन विरोध है। विरोध करने के तरीके अलग हो सकते हैं, परंतु प्रत्येक दशा में सरकार के विरुद्ध आवाज बुलंद करना ही धरना-प्रदर्शन का मात्र एक उद्देश्य होता है। वहीं, लोकतंत्र में विरोध एक रामबाण शस्त्र है और विरोध जब आंदोलन बन जाता है तो उसकी भूख केवल सत्ता को निगलकर ही शांत होती है। 

राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'

 कार अभी सपना, उड़ने वाली मोटरसाइकिल सच

टोक्यो। फ्लाइंग कार का सपना जल्द सच होने वाला है। लेकिन इससे पहले हमलोग फ्लाइंग मोटरसाइकिल (उड़ने वाली बाइक) के गवाह बन गए हैं। ड्रोन बनाने के लिए मशहूर जापान के एक स्टार्टअप A.L.I. Technologies ने दुनिया के पहले Hoverbike (फ्लाइंग बाइक) को पेश किया है। इस फ्लाइंग बाइक का नाम Xturismo Limited Edition (एक्सटूरिज्मो लिमिटेड एडिशन) रखा गया है। काले और लाल रंग की इस Hoverbike की बॉडी काफी हद तक मोटरसाइकिल जैसी ही है। कंपनी ने हाल ही में इस बाइक की रफ्तार का प्रदर्शन करने के लिए टोक्यो रेसट्रैक पर इसका प्रदर्शन किया था। कंपनी ने Xturismo Limited Edition होवरबाइक की बुकिंग शुरू कर दी है। कंपनी के मुताबिक वह इसकी डिलीवरी साल 2022 की पहली छमाही में शुरू कर देगी।

कितनी है कीमत-दुनिया की पहली होवरबाइक, Xturismo Limited Edition की कीमत 5.1 करोड़ रुपये तय की गई है। जाहिर तौर पर कंपनी इस कीमत पर इसे सिर्फ अमीरों और बड़ी हस्तियों को बेचने का लक्ष्य रखती है। सॉकर खिलाड़ी कीसुके होंडा द्वारा समर्थित, कंपनी ने 2017 से Xturismo लिमिटेड एडिशन के प्रोटोटाइप पर काम किया है। कंपनी का दावा है कि यह मोबिलिटी का नेक्स्ट जेनरेशन होगा, जो 3D स्पेस में कहीं भी आनेजाने की आजादी देता है।

स्टार्ट-अप का कहना है कि XTurismo लिमिटेड एडिशन न सिर्फ परिवहन का एक नया जरिया होगा, बल्कि एयर मोबिलिटी का भी प्रतीक होगा। क्योंकि यह 40 मिनट तक 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरने का वादा करता है। इसमें एक पारंपरिक इंजन और चार बैटरी से चलने वाले मोटर मिलते हैं।

XTurismo लिमिटेड एडिशन होवरबाइक में प्रोपेलर के टॉप पर एक मोटरसाइकिल जैसी बॉडी दी गई है और बंद होने पर लैंडिंग स्किड पर टिकी होती है। कंपनी ने माउंट फूजी के पास कुछ चुनिंदा सदस्यों को रेस ट्रैक पर जमीन से कुछ मीटर की ऊंचाई पर एक छोटी उड़ान का भी प्रदर्शन किया। किसी साइंस फिक्शन फिल्म के सीन की तरह एक रेसिंग ट्रैक पर इस होवरबाइक का प्रदर्शन किया गया था।


वजन कम करने के लिए आजमाएं अजवाइन  

अजवाइन भारतीय घरों में सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों में से एक है। अजवाइन के बीज हमारे पराठों और करी में एक अद्भुत स्वाद जोड़ते हैं। क्या आप जानते हैं वजन कम करने के लिए भी अजवाइन का इस्तेमाल किया जा सकता है? जी हां वजन कम करने के लिए आप अजवाइन का सेवन कर सकते हैं।

इसके कई और स्वास्थ्य लाभ भी हैं। अजवाइन में थाइमोल नामक एक आवश्यक तेल होता है जिसमें सूजन-रोधी गुण होते हैं। ये आवश्यक तेल गैस्ट्रिक रस के स्राव में मदद करता है जो पाचन तंत्र में सुधार करता है। अजवाइन शरीर की मेटाबॉलिज्म दर में सुधार करने में भी मदद करता है। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आप किस तरहं अजवाइन का पानी बनाकर पी सकते हैं।

ऐसे बनाएं अजवाइन का पानी

1. सबसे पहले आपको बता दें कि घर पर अजवाइन का पानी बनाना बहुत ही आसान है। अजवाइन का पानी बनाने के लिए पहले तो एक गिलास पानी उबालें।
2. अब एक तवे पर तोड़ी सी अजवाइन भून लें।
3. जब अजवाइन भून जाए तब इसको पानी में डाल दें और उबलने रख दें।
4. अब जैसे ही इसका रंग बदल जाए, आंच बंद कर दें, छान लें और इसे पी लें।


खोजः 24 घंटे के भीतर मशरूम का उत्पादन

पंकज कपूर   

ऊना। मशरूम के उत्पादन के लिए अभी तक अपनाई जा रही परंपरागत विधि को अलविदा कहने का समय आ गया है। ऊना जिला के अग्रणी मशरूम उत्पादक युसूफ खान ने कई दिनों की मेहनत के बाद मशरूम उत्पादन के लिए तैयार होने वाली मशरूम कंपोस्ट का एक ऐसा विकल्प ढूंढ निकाला है जो महज 24 घंटे के भीतर मशरूम उत्पादन के लिए अब तैयार रहेगा। इसके अलावा मशरूम उत्पादन के लिए परंपरागत विधि के अनुसार तकरीबन चार से पांच अनिवार्य चीजों की जरूरत पड़ती थी लेकिन अब उनकी जगह केवल मात्र एक कंटेंट गेहूं का भूसा लेने वाला है।

आज तक एक भ्रम था की मशरूम को सिर्फ मशरूम कंपोस्ट पर की उगाया जा सकता है। इसके लिए ना केवल 5 अनिवार्य चीजों की जरूरत रहती थी, बल्कि इसके साथ-साथ इस खाद को तैयार करने के लिए एक पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर और करीब 15 से 16 दिन का इंतजार भी बेहद जरूरी रहता था। लेकिन अब जिला ऊना के अग्रणी मशरूम उत्पादक युसूफ खान द्वारा किया गया एक प्रयोग इन तमाम चीजों को गौण साबित कर रहा है। युसूफ खान के प्राथमिक प्रयोग से यह पता चला है जो पिछले 70 सालों से एक कंपोस्ट बनाने की विधि का प्रयोग किया जा रहा है, उसकी जरूरत नहीं रहेगी। उन्होंने सिर्फ गेहूं के भूसे को हाइड्रोपोनिक न्यूट्रिएंट्स के माध्यम से 24 घंटे के भीतर भीतर मशरूम उगाने के लिए प्रयोग किया और यह पाया जो हम अतीत में करते आ रहे हैं, उसकी जरूरत ही नहीं थी। केवल मात्र गेहूं के भूसे की हाइड्रोपोनिक न्यूट्रिएंट्स के माध्यम से तैयार की गई खाद में बढ़िया मशरूम का बीज फैलाया गया। जो परिणाम सामने आए हैं आश्चर्यजनक हैं। मशरूम की खेती में इस नए प्रयोग को सिरे चढ़ाने वाले अग्रणी मशरूम उत्पादक युसूफ खान कहते हैं कि अगर आने वाले समय में कमर्शियल का ट्रायल कामयाब रहा तो यह मशरूम के इतिहास में बहुत बड़ी सफलता होगी।

'सत्यमेव जयते 2' के लिए उत्साहित हैं दिव्या

'सत्यमेव जयते 2' के लिए उत्साहित हैं दिव्या

कविता गर्ग        

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री दिव्या खोसला कुमार अपनी आने वाली फिल्म 'सत्यमेव जयते 2' के लिये बेहद उत्साहित है।

मिलाप जावेरी के निर्देदिव्या खोसला कुमार के लिए क्यों ख़ास है-सत्यमेव जयते 2शन में बनी फिल्म 'सत्यमेव जयते 2' में जॉन अब्राहम और दिव्या खोसला कुमार ने मुख्य भूमिका निभायी है। दिव्या इस फिल्म से काफी लंबे समय के बाद अभिनय की दुनिया में वापसी कर रही हैं।

दिव्या खोसला कुमार ने कहा, "मैं इस फिल्मे को लेकर बेहद रोमांचित हूं, कि मुझे इतना अच्छा अवसर मिला है। इसमें मिलाप ने मेरे किरदार को बेहतरीन तरीके से दिखाया है। शायद मैं भी इस तरह से स्क्रीन पर खुद को दिखाने के बारे में नहीं सोच पाती। मेरा किरदार इसमें बहुत दमदार है।यह फिल्म थिएटर के लिए ही बनी है। मुझे खुशी है कि यह थिएटर में अब रिलीज हो रही है।



अफगान की स्थिति को लेकर चिंतित हैं भारत

अफगान की स्थिति को लेकर चिंतित हैं भारत

अखिलेश पांडेय   वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के एक शीर्ष अधिकारी ने अमेरिकी सांसदों से कहा कि अफगानिस्तान की वर्तमान स्थिति को लेकर भारत चिंतित है। नीतिगत मामलों के लिए अवर रक्षा सचिव कॉलिन एच कहल ने अफगानिस्तान, दक्षिण एवं मध्य एशिया सुरक्षा पर सुनवाई के दौरान सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के सदस्यों से कहा कि मुझे यकीन है कि आप इस बात से अवगत हैं कि वे (भारतीय) अफगानिस्तान की स्थिति को लेकर चिंतित हैं। वे वहां की अस्थिरता और आतंकवाद विरोधी अपनी चिंताओं को लेकर परेशान हैं।

कहल ने कहा कि वे (भारतीय) इन मुद्दों पर हमारे साथ काम करना चाहते हैं, खुफिया जानकारी साझा करने समेत जहां भी हम उन्हें सहयोग कर सकते हैं। यह हमें न केवल अफगानिस्तान के संबंध में और आतंकवाद के खिलाफ, बल्कि हिंद महासागर और हिंद-प्रशांत में व्यापक क्षेत्रीय सुरक्षा विषयों पर भारत के साथ सहयोग के अवसर प्रदान करता है। कहल ने यह बयान सीनेटर गैरी पीटर्स के एक सवाल के जवाब में दिया।

पुलिस कर्मियों के बीच झड़प, 4 की मौंत हुईं

सुनील श्रीवास्तव    लाहौर। पाकिस्तान सरकार की ओर से तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (एलटीपी) को आतंकवादी संगठन घोषित करने के बाद एलटीपी कार्यकर्ताओं और पुलिस कर्मियों के बीच झड़प में चार पुलिसकर्मियों सहित आठ लोगाें की मौत हो गयी और अन्य 263 घायल हो गए हैं।पंजाब पुलिस महानिदेशक (आईजीपी) राव सरदार अली खान ने बुधवार को कहा कि टीएलपी प्रदर्शनकारी ने पुलिसकर्मियों पर गोली चलाई, जिसमें कम से कम चार लोग और चार पुलिस कर्मियों की मौत हो गयी है तथा अन्य 263 घायल हुए हैं। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने आईजीपी के हवाले से बताया कि यह कोई पहली बार नहीं हुआ है कि प्रतिबंधित समूह ने पुलिस बल पर हमला किया हो।


चीन में संक्रमण ने फिर पैर पसारेः लॉकडाउन   

अखिलेश पांडेय    चीन में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर से तेज़ वृद्धि दिखाई दे रही है। परेशान सरकार ने चीन-रूस बॉर्डर से सटे उत्तरी-पूर्वी प्रांत हेइलॉन्गजियांग के हेईए शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया। एक हफ्ते में लॉकडाउन लागू होने वाला यह अब तीसरा शहर है।

विंटर ओलिम्पिक से पहले बढ़ी दिक्कतें:- फरवरी में चीन में विंटर ओलिंपिक आयोजित होने हैं। सरकार इससे देश में कोरोना के खौफ को खत्म करना चाहती है। इसके लिए सरकार जीरो-टॉलरेंस नीति पर काम कर रही है। खबर के मुताबिक, चीन के 11 प्रांतों में संक्रमण के मामले में सामने आए हैं। इससे पहले संक्रमण को देखते हुए अधिकारियों ने 40 लाख से अधिक की आबादी वाले लानझाउ शहर और इनर मंगोलिया क्षेत्र में एजिन को लॉक कर दिया था।

गुरुवार को एक नए मामले की पुष्टि के बाद हेइए सिटी में अधिकारियों ने लोगों को घर पर रहने का आदेश दिया है। स्थानीय लोगों से किसी भी आपात स्थिति को घर छोड़कर बाहर न जाने को कहा है। एक अधिकारी ने बताया कि रूसी सीमा से सटे शहर में 16 लाख आबादी का टेस्ट शुरू कर दिया है। संक्रमित व्यक्ति के करीबी संपर्कों का पता लगाया है। बस और टैक्सी सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। वाहनों को शहर से बाहर जाने की अनुमति नहीं थी। चीन ने गुरुवार को 23 नए मामले दर्ज किए गए, जो पिछले दिन की संख्या के आधे से भी कम थे।

लानझाउ मंगलवार से बंद है। वहां सिर्फ एक नया मामला दर्ज किया गया है। जबकि एजिन में 35,000 की आबादी में सात नए केस मिले हैं। बीजिंग सहित कई शहरों में रिहायशी इलाकों में लॉकडाउन लगाकर लाखों लोगों को घर में कैद कर दिया है। फरवरी में शीतकालीन खेलों की मेजबानी करने वाली राजधानी ने भी पर्यटक स्थलों तक पहुंच पर रोक लगा दी है। निवासियों से आग्रह किया है कि जब तक आवश्यक न हो तब तक यहां न आएं।

हार के बाद हार, मुख्य कोच रोनाल्ड बर्खास्त

अपने मुख्य कोच रोनाल्ड को बर्खास्त किया

मैड्रिड। बार्सिलोना ने अपनी टीम के एक और खराब प्रदर्शन और एक और हार के बाद अपने मुख्य कोच रोनाल्ड कोमैन को बर्खास्त कर दिया। लियोनेल मेस्सी के बार्सिलोना छोड़ने के तीन महीने बाद कोमैन को बर्खास्त किया गया क्योंकि टीम पिछले कुछ समय से लगातार संघर्ष कर रही थी।
बार्सिलोना ने बुधवार को स्पेनिश फुटबॉल लीग ला लिगा में रायो वालेकानो के हाथों 1-0 की हार के तुरंत बाद कोमैन को हटाने की घोषणा की। इससे पहले रविवार को रीयाल मैड्रिड ने भी बार्सिलोना को उसके घरेलू मैदान कैंप नोउ पर 2-1 से हराया था। कप्तान सर्गियो बासक्वेट्स ने इस घोषणा से पहले कहा था कि टीम के खराब प्रदर्शन के लिये केवल कोमैन को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है।

10 मैचों से चला आ रहा विजय अभियान थमा

वियना। एंडी मर्रे का एरस्टे बैंक ओपन टेनिस टूर्नामेंट में पिछले 10 मैचों से चला आ रहा विजय अभियान बुधवार को यहां स्पेन के किशोर खिलाड़ी कार्लोस अल्काराज से हार के साथ थम गया। आस्ट्रिया के इस इंडोर टूर्नामेंट में मर्रे ने इससे पहले 2014 और 2016 में भाग लिया था और दोनों अवसरों पर उन्होंने खिताब जीता था।

वह 2016 की जीत से एटीपी रैंकिंग में नंबर एक पर पहुंचे थे। लेकिन इस बार उन्हें दूसरे दौर में ही अल्काराज से 6-3, 6-4 से शिकस्त झेलनी पड़ी। अल्काराज क्वार्टर फाइनल में मैटियो बेरेटिनी से भिड़ेगे। इटली के तीसरी वरीयता प्राप्त बेरेटिनी ने पहला सेट गंवाने के बाद वापसी करके निकोलोज बेसिलशविली को 6-7 (5), 6-2, 6-3 से हराया। पहले दौर के के मैचों में सातवीं वरीयता प्राप्त यानिक सिनर ने अमेरिका के रेली ओपेल्का को 6-4, 6-2 से और आठवीं वरीयता प्राप्त डिएगो श्वार्ट्जमैन ने फैबियो फोगनिनी को 6-2, 7-5 से पराजित किया।

पिछले साल फाइनल की अपनी राह में नोवाक जोकोविच को 6-2, 6-1 से हराने वाले लोरेंजो सोनेगो ने पहले दौर के मैच में जर्मनी के डोमिनिक कोफ़र को 6-4, 6-3 से और गेल मोनफिल्स ने इटली के लोरेंजो मुसेट्टी को 7-6 (2), 6-4 से हराया।


पाक महिला क्रिकेट टीम में 3 वायरस संक्रमित 

सुनील श्रीवास्तव    इस्लामाबाद। पाकिस्तान महिला क्रिकेट टीम के तीन खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी है। पीसीबी ने यहां एक बयान में कहा कि महिला टीम वेस्ट इंडीज के खिलाफ आगामी घरेलू एकदिवसीय श्रृंखला से पहले तैयारी शिविर के लिए कराची के हनीफ मोहम्मद हाई परफॉर्मेंस सेंटर में एकत्रित हुई थी।

टीम के बुधवार को किए गए नियमित कोरोना टेस्ट में तीन खिलाड़ी पॉजिटिव पाए गए, जिनकी अभी पहचान नहीं हुई है, हालांकि जल्द उनकी पहचान कर उन्हें 10 दिन के क्वारंटीन में भेजा जाएगा जो छह नवंबर को खत्म होगा। पीसीबी के मुताबिक प्रोटोकॉल का पालन करते हुए टीम के अन्य सदस्यों को भी दो नवंबर तक एक छोटे क्वारंटीन में भेज दिया गया है।शुक्रवार से हर दूसरे दिन उनका टेस्ट किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इससे पहले पूरी टीम ने दो बार नेगेटिव आने के बाद ही तैयारी शिविर के लिए बायो-बबल में प्रवेश किया था, जबकि सभी खिलाड़ियों को मई में वैक्सीन लगाई गई थी। पाकिस्तान तीन वनडे मैचों के लिए वेस्ट इंडीज की मेजबानी करेगा। कराची राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में तीनों मैच क्रमश: आठ, 11 और 14 नवंबर को खेले जाएंगे।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-10 (साल-05)
2. शुक्रवार, अक्टूबर 29, 2021
3. शक-1984,अश्विन, कृष्ण-पक्ष, तिथि- नवमीं, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 06:30, सूर्यास्त 05:48।
5. न्‍यूनतम तापमान -16 डी.सै., अधिकतम-28+ डी.सै.। 
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक शिवाशुं व राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...