बुधवार, 16 सितंबर 2020

सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री चुने गए

योशीहिदे सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री चुने गए।


टोक्यो। जापान की सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के नए नेता योशिहिदे सुगा को बुधवार को देश के नए प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया। सुगा जापान के 99वें प्रधानमंत्री हैं। उन्हें संसदीय सत्र बुलाकर प्रधानमंत्री चुना गया।
यह राजनीतिक परिवर्तन शिंजो आबे की पिछले महीने की गई उस आश्चर्यजनक घोषणा के बाद हुआ है, जिसमें उन्होंने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। एनएचके की रिपोर्ट के अनुसार, सुगा ने मुख्य सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के नेता के तौर पर जीत हासिल की।
सुगा को सबसे लंबे समय तक जापान की सेवा करने वाली सरकार की आवाज के रूप में जाना जाता है। उन्होंने 7 साल से ज्यादा समय तक आबे के मुख्य कैबिनेट सचिव के रूप में काम किया। सुगा अब इंपीरियल पैलेस में एक समारोह के औपचारिक उद्घाटन से पहले अपने नए मंत्रिमंडल के सदस्यों की घोषणा करेंगे।
समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि 71 वर्ष की आयु में सुगा 1991 में किची मियाजावा के बाद यह पद संभालने वाले सबसे उम्रदराज प्रधानमंत्री होंगे। उनका कार्यकाल आबे के सितंबर 2021 तक के कार्यकाल तक रहेगा।
सुगा ने कहा है कि वह आबे की नीतियों को आगे बढ़ाना जारी रखेंगे, जिसमें आक्रामक मौद्रिक सहजता, राजकोषीय प्रोत्साहन और संरचनात्मक सुधारों के ‘आबेनॉमिक्स’ शामिल हैं। ये प्रयास मंदी से प्रभावित जापानी अर्थव्यवस्था को पुर्नजीवित करने के लिए हैं।
इसके अलावा कोविड महामारी से निपटने के लिए आवंटित किए गए 230 ट्रिलियन येन (2.2 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर) पैकेज का उपयोग भी करते रहेंगे।                 


कोरोना का टीका भारत ही तैयार करेगा

दुनिया को कोरोना से राहत के लिए एक अदद टीके की आस हैं, लेकिन अभी यह इसमें कोई बड़ी सफलता नहीं मिल पाई है। बिजनेसमैन बिल गेट्स को भारत से वैक्सीन को लेकर बहुत उम्मीदें हैं, क्योंकि दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं और लोगों को इस महामारी से सिर्फ वैक्सीन ही बचा सकती है।



भारत में बड़े पैमाने पर उत्पादन


दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्‍स बिल गेट्स को भारत के लिए उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा कि कई कोरोना वैक्सीन अगले साल की पहली तिमाही में अंतिम चरण में होंगे। दुनिया वैक्सीन उत्पादन के लिए भारत की ओर देख रही है। कोरोना वायरस वैक्सीन अगले साल किसी भी समय में आ सकती है। इसका निर्माण भारत में बड़े पैमाने पर किया जाएगा। दुनिया भारत को विकासशील देशों में से कुछ के लिए देख रही है।



टीका उत्पादन में भारत के सहयोग की आवश्यकता


गेट्स ने कहा, “भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन उत्पादक है। हमें कोरोना वैक्सीन के उत्पादन में भारत के सहयोग की जरूरत है। हम सभी जल्द से जल्द भारत में वैक्सीन चाहते हैं, बस एक बार यह प्रभावी और सुरक्षित होने के लिए जाना जाता है।” उन्होंने कहा कि टीका उत्पादन पर भारत के साथ बातचीत चल रही थी। किसी भी वैक्सीन के बाद एस्ट्राज़ेनेका, ऑक्सफ़ोर्ड, नोवेवेक्स या जॉनसन एंड जॉनसन हो, गेट्स भारत में इसका उत्पादन करने की कोशिश करेंगे।


माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक ने कहा कि यह विश्व युद्ध की तरह नहीं है, बल्कि उससे भी बड़ा है। भारत यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि दुनिया में सभी को वैक्सीन समान रूप से मिले।


स्वास्थ्य मंत्री को भी उम्मीद


भारत के स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी उम्मीद जताई कि कोरोना वायरस का टीका अगले साल तक पहुंच जाएगा। हर्षवर्धन ने कहा कि देश में कई टीका परीक्षण चल रहे हैं। फिलहाल हम यह अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि कौन सा टीका सबसे प्रभावी होगा, लेकिन 2021 की पहली तिमाही तक परिणाम ज्ञात हो जाएंगे।               


भूकंप के तेज झटके से हिलीं नेपाली जमींन

भूकंप के तेज झटके से हिली नेपाल की धरती.. रिक्टर स्केल पर तीव्रता 6.0 मापी गई।


काठमांडू। भूकंप के तेज झटकों से नेपाली धरती एक बार फिर से हिली है। बुधवार की सुबह नेपाल में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं, जिसकी रिक्टर स्केल पर तीव्रता 6.0 मापी गई है। भूकंप का केंद्र काठमांडू के पूरब में सिंधुपालचौक जिले के रामचे इलाके में था।
नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक, आज सुबह 5.19 मिनट पर यह भूकंप आया। फिलहाल भूकंप से किसी भी तरह के नुकसान की कोई सूचना नहीं मिली है। भूकंप के झटके बाद लोग सहम गए और अपने घरों से बाहर निकल आए।
इस भूंकप के झटकों ने लोगों को 2015 भूकंप की याद दिला दी। 2015 में भूकंप से बड़ी तबाही हुई थी और करीब 10 हजार लोगों की मौत हुई थी। अभी जो भूकंप आया है।वह ज्यादातर देश के पश्चिमी हिस्से में महसूस किया गया है। 2015 में 7.9 की तीव्रता से जिस भूकंप ने तबाही मचाई थी, उसका भी केंद्र सिंधुपालचौक ही था। इसी जिले में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था।
भूकंप आए तो क्या करें। भूकंप के दौरान मकान, दफ्तर या किसी भी इमारत में अगर आप मौजूद हैं तो वहां से बाहर निकलकर खुले में आ जाएं। इसके बाद खुले मैदान की ओर भागें।भूकंप के दौरान खुले मैदान से ज्यादा सुरक्षित जगह कोई नहीं होती। भूकंप आने की स्थिति में किसी बिल्डिंग के आसपास न खड़े हों। अगर आप ऐसी बिल्डिंग में हैं। जहां लिफ्ट हो तो लिफ्ट का इस्तेमाल बिल्कुल न करें। ऐसी स्थिति में सीढ़ियों का इस्तेमाल करना ही उचित होता है।
भूकंप के दौरान घर के दरवाजे और खिड़की को खुला रखें। इसके अलावा घर की सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें। अगर बिल्डिंग बहुत ऊंची हो और तुरंत उतर पाना मुमकिन न हो तो बिल्डिंग में मौजूद किसी मेज, ऊंची चौकी या बेड के नीचे छिप जाएं। भूकंप के दौरान लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वो पैनिक न करें और किसी भी तरह की अफवाह न फैलाएं, ऐसे में स्थिति और बुरी हो सकती है।               


'भारत-चीन' सीमा पर हलचल हुईं तेज

नई दिल्ली/ बीजिंग। भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव पूरी तरह से कम नहीं हुआ है। बॉर्डर पर चीन हलचल बढ़ा रहा है और भारत उसपर नजर रखे हुए है। पैंगोंग बैंक में जब भारतीय सेना ने साउथ बैंक इलाके में अपनी मौजूदगी बढ़ाई तो चीन ने नॉर्थ बैंक पर हलचल तेज कर दी। लेकिन वो किसी भी तरह की चाल चलने में सफल नहीं हो सका।


सेना के अफसरों की मानें तो 7-8 सितंबर के बीच भारतीय सेना ने अब साउथ बैंक से लेकर नॉर्थ बैंक तक अपनी मौजूदगी को बढ़ा दिया है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने कई इलाकों में भारतीय पोजिशन में घुसपैठ की कोशिश की। इस दौरान उन्हें रोकने की कोशिश की गई, इस दौरान कुछ वार्निंग शॉट भी दागे गए।


भारत ने चीन को दी जोरदार धमकी

नई दिल्ली/ बीजिंग। चीन के सरकारी भोंपू ग्लोबल टाइम्स ने एक बार फिर भारत को गीदड़भभकी दी है। सरकारी अखबार ने लिखा है कि सीमा पर 1962 जैसे हालात बन गए हैं, अगर भारत पीछे नहीं हटा और कूटनीतिक कोशिशें नाकाम हुईं, तो PLA ताकत के दम पर भारत के पीछे धकेलेगा।


दरअसल ग्लोबल टाइम्स का ये बयान कल लद्दाख में भारतीय सेना की तैयारियों की तस्वीरे सामने आने के बाद आया है। भारत की ताकत देखने के बाद चीनी न्यूज एजेंसी ने एक नया प्रोपेंगेंडा वीडियो जारी किया है, जिसमें चीनी सेना की ताकत दिखा कर भारत को डराने की कोशिश की गई है।


ग्लोबल टाइम्स ने ये भी लिखा है कि PLA को लंबे अभियान के लिए तैयार रहना होगा। ये अभियान सर्दियों के मौसम में भी जारी रहेगा। भारत की सीमा पर तैयारी देखने के बाद ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारत बॉर्डर पर बेहद कम तैयारी रखने के 1993 और 1996 के एग्रीमेंट को तोड़ रहा है।



फिर बोला झूठ


शंघाई एकेडमी ऑफ सोशल साइंसेज के इंटरनेशनल रिलेशंस इंस्टीट्यूट के शोध के साथी हू झाइयोंग ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि भारतीय सेना को सर्दियों के दृष्टिकोण के रूप में बहुत दबाव का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि लॉजिस्टिक लागत संभावित रूप से बहुत बड़ी है और इसकी वजह से एक भयानक आर्थिक मंदी है। भारतीय नेता समझते हैं कि वे चीन के खिलाफ युद्ध शुरू करने में असमर्थ हैं।”


पीएलए ने कहा कि भारतीय सेना के विपरीत अति आत्मविश्वास नहीं है, लेकिन पूरी तरह से जानते हैं कि यह भारतीय आक्रमण से निपट सकता है। विश्लेषकों ने कहा कि सीमा क्षेत्र में चीन की सैन्य ताकत, उपकरण, रसद, रणनीति और रणनीतियों सहित प्रमुख क्षेत्रों में भारत से कहीं अधिक श्रेष्ठ है।


अरुणाचल सीमा पर चीन ने बढ़ाई गश्‍त


अरुणाचल प्रदेश से सटे चीनी सिमा पर ड्रैगन सैनिको ने अपनी गश्‍त बढ़ा दी है, लगातार चोकसी कर है। चीन की इसी हरकत को देखते हुए भारतीय सैनिक ने भी मोर्चा संभाल लिया है।                 


जिला चिकित्सालय 2 दिन प्रतिबंधित किया

भानु प्रताप उपाध्याय


शामली। ज़िले में कोरोना का प्रकोप तेजी से जारी है,आज जिला चिकित्सालय में एक डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव मिले है जिसके बाद जिला चिकित्सालय को 2 दिन के लिए बंद कर दिया गया है,वहां सैनिटाइजेशन का कार्य शुरू करा दिया गया है, मंगलवार को 79 पॉजिटिव केस मिले हैं। ज़िले में अब कुल संख्या 1814 हो गई है। 47 मरीज ठीक हो गए हैं और ऐसे में सक्रिय केस 429 हैं। जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि आज ज़िले में 79 केस मिले है ,इसके अलावा 47 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है, अब जनपद में 429 एक्टिव केस हो गए है। आज मिले संक्रमितों में पंसारियान मोहल्ला निवासी तीन, सीएचसी शामली से एक, पीएचसी पंसारियान से एक, रूई मिल मोहल्ला निवासी चार, कमला कॉलोनी निवासी पांच, दयानंदनगर निवासी तीन, रेलपार निवासी तीन, शुगर मिल कॉलोनी निवासी एक, शामली चीनी मिल से चार, हाजीपुरा निवासी दो, रामशाला निवासी चार, रेशमी कटहरा निवासी दो, धीमानपुरा, बुढ़ाना रोड, मोहल्ला नंदू प्रसाद, सती मंदिर क्षेत्र, निवासी एक-एक संक्रमित मिले हैं। रेलपार स्थित एक नर्सिंग होम से चार कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।               


शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकताः राणा

भानु प्रताप उपाध्याय


फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता 


शामली। प्रदेश सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन आज मा0 गन्ना मंत्री एवं चीनी मिल प्रभारी श्री सुरेश राणा जी उत्तर प्रदेश सरकार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट/तहसील शामली में कोविड-19 के दृष्टिगत सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आयोजित किया गया।आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान फरियादियों की शिकायतों को सुनते हुए मा0 मंत्री ने उपस्थित सभी जनपद स्तरीय अधिकारियों को कठोर निर्देश देते हुए कहा कि जनसमस्याओं के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। संपूर्ण समाधान दिवस में 40 शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें से मौके पर 03 का निस्तारण किया गया और शेष सभी शिकायतों का समय से निस्तारण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। संपूर्ण समाधान दिवस में मा0 मंत्री जी विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा करते हुए ग्राम पंचायत अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहां की प्रत्येक गांव में सचिवों की समय सारणी के अनुसार उपलब्धता सुनिश्चित हो ताकि गांव के कार्य सुचारू रूप से चल सके। इसके अलावा मा0 मंत्री जी ने विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा सभी बिजली धरो पर जेई/एसडीओ उपस्थिति सुनिश्चित की हो ताकि कनेक्शन संबंधित शिकायतों का निस्तारण समय से हो और जनमानस को कोई परेशानी ना हो। इसके अलावा मा0 मंत्री जी ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि नेशनल हाईवे के निर्माण के चलते सड़कों पर जलभराव की स्थिति ना हो उसके लिए अपने स्तर से मेट को निर्देशित करें यदि जलभराव की स्थिति हो तो पानी निकासी की व्यवस्था प्रभावी रूप से सुनिश्चित की जाए ताकि व्यवस्था सुचारू रूप से चल सके। इसके अलावा मा0 मंत्री जी ने अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देशित करते हुए कहा कि गांव में जहां जहां पर भी पाइप पेयजल योजना के तहत कार्य चल रहा है। उसमें इस चीज का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए कि कटर से ही सड़क की कटिंग की जाए और पाइप डालने के बाद फिर उसे उसी अवस्था में लाया जाए इसका विशेष रूप से ध्यान रखा जाए साथ ही उन्होंने गांव में स्थापित चल रही टंकियों की सफाई करने के भी निर्देश दिए ताकि लोगों को स्वच्छ पेयजल मिलता रहे। इसके अलावा मा0 मंत्री जी ने समाज कल्याण अधिकारी को ब्लॉक वार कैंप लगाते हुए अधिक से अधिक पेंशन स्वीकृत कराई जाए जिससे कि लाभार्थी को पेंशन उपलब्ध हो इसके साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिए की जिस दिन भी कैंप आयोजित हो उस दिन संबंधित अधिकारी भी वहां पर मौजूद रहे।इसके अलावा मंत्री जी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद में जितने भी गौशाला संचालित है उनका निरीक्षण किया जाए और वहां पर पशुओं के लिए हरे चारे पानी आदि की व्यवस्था सुनिश्चित हो उसकी व्यवस्था का जायजा लिया जाए और उसके संबंध में जिलाधिकारी को अवगत भी कराएं।साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि गौशाला के पास चारागाह की जमीन पर चारा उगाया जाए ताकि पशुओं को चारा उपलब्ध हो सके।इसके अलावा मान्य मंत्री जी ने अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा चार्ट बनाकर नगर पंचायतों/नगर पालिकाओं में सफाई की दृष्टि से प्रतिदिन प्रात एक घंटा स्थानीय सभासद एवं जिम्मेदार लोगों के साथ कोविड-19 ध्यान में रखते हुए भ्रमण कर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया जाए। मा0 मंत्री जी ने उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जन जागरण अभियान चलाते हुए शासन की मंशा के अनुसार सभी अमलीजामा पहनाया जाए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने मंत्री जी को आश्वस्त करते हुए कहा कि आप द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में जनपद में सभी कार्यों को गति देते हुए समय से पूर्ण किया जाएगा।इस अवसर जिलाधिकारी जसजीत कौर, पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल, मुख्य विकास अधिकारी शंभू नाथ तिवारी, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, सहित जनपद के समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।          


मुठभेड़ के बाद दो शातिर चोर के गिरफ्तार

भानु प्रताप उपाध्याय 


थाना झिंझाना पुलिस की बदमाशों से हुई मुठभेड़ मैं दो शातिर चोर गिरफ्तार


शामली। आपको बता दें कि झिंझाना पुलिस की चौसा ना बिडोली रोड पर चेकिंग के दौरान मोटरसाइकिल सवार बदमाशों से हुई मुठभेड़ में दो अभियुक्त को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है। इनके कब्जे से एक अवैध तमंचा 3 15 बोर वह दो जिंदा वह एक खोखा कारतूस 315 बोर एक अवैध चाकू तथा चोरी की मोटरसाइकिल स्प्लेंडर बिना नंबर प्लेट बरामद हुई है। अभियुक्त की गिरफ्तारी एव बरामदगी के संबंध में थाना झिंझाना पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। पकड़े गए अभियुक्तों ने अपना नाम सरफराज पुत्र खुर्शीद निवासी ग्राम घाटमपुर थाना गंगोह जनपद सहारनपुर वह दूसरे ने अपना नाम मोहम्मद शाहनवाज पुत्र अब्बल हसन निवासी ग्राम मैनपुरी थाना गंगोह जनपद सहारनपुर बताया।               


मादक पदार्थः अंतरराज्यीय तस्कर गिरफ्तार

भानु प्रताप उपाध्याय 


थाना झिंझाना पुलिस द्वारा मादक पदार्थ की सप्लाई करते दो अंतराज्यीय डोडा तस्कर गिरफ्तार


शामली। पुलिस अध्यक्ष शामली के द्वारा चलाए जा रहे मादक पदार्थ की तस्करी की रोकथाम के अभियान के क्रम में अपर पुलिस अध्यक्ष शामली के निर्देशन के क्षेत्र अधिकारी कैराना के कुशल नेतृत्व में थाना झिंझाना पुलिस द्वारा चेकिंग के दौरान सूचना पर चौकी बिडोली से एक कैंटर में तिरपाल के नीचे छिपाकर तस्करी कर ले जा रहे 40 किलोग्राम अवैध डोडा पोस्ट कीमत करीब 1 लाख ₹20 हजार रुपए सहित दो अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई। ब्राह्मण के गिरफ्तारी के संबंध में थाना झिंझाना पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। दोनों अभियुक्तों ने पूछताछ में जानकारी दी है कि वे दोनों कैंटर के चालक कंडक्टर है तथा दिनांक 14/09/ 2020 बरई झारखंड में गाड़ी खाली करके वापस लौट रहे थे तथा वहीं से अवैध डोडा पोस्ट खरीद कर तिरपाल के नीच छिपा कर ला रहे थे। जिसे पटियाला पंजाब में बेचा जाना था पकड़े गए। अभियुक्तों ने अपना नाम हरप्रीत सिंह पुत्र गुरदीप सिंह निवासी ग्राम शम्भूकलां थाना शम्भुकलां जनपद पटियाला पंजाब बताया।             


फर्जी सेल टैक्स गिरोह के 4 सदस्य अरेस्ट

भानु प्रताप उपाध्याय 


थाना बाबरी पुलिस द्वारा अवैध वसूली कर रहे फर्जी सेल टैक्स गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार


शामली। आपको बता दें कि थाना बाबरी पुलिस को गस्त के दौरान सूचना मिली कि ग्राम कैंडी से आगे हिण्ड रोड पर कुछ संदिग्ध व्यक्ति फर्जी सेल टैक्स अधिकारी बनकर नीली बत्ती लगी यूपी सरकार लिखी एवं एक बोलेरो नंबर UP 12 BD7942 से रोड पर मालवाहक वाहनों ट्रक आदि को चेकिंग के नाम पर रोक कर अवैध वसूली कर रहे हैं। जिस पर थाना बावरी पुलिस द्वारा तो त्वरित कार्रवाई करते हुए ऐसे गिरोह के 4 सदस्य को अवैध वसूली करते वे गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है मौके से इनका एक साथी फरार हो गया है। जिसकी तलाश जारी है। गिरफ्तार अभियुक्त गणों के कब्जे से एक बोलेरो नंबरUP 12BD7942 अवैध रूप से वसूले गए ₹1000 नगद व दो बत्ती लाल व नीली बरामद हुई है। बरामद गी एवं गिरफ्तारी के संबंध में थाना बाबरी पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है। गिरफ्तार अभियुक्त गण से पूछताछ में प्राप्त जानकारी हुई है कि उनके द्वारा रात्रि में रोड पर पहुंचकर सेल टैक्स विभाग के अधिकारी कर्मचारी बनकर मालवाहक वाहनों को मौके अनुसार रोका जाता है और बोलेरो में मौजूद उनके एक साथी को सेल टैक्स अधिकारी बताकर रोके गए वाहन के चालक से माल वाहन के कागजात चेकिंग के लिए मांगे जाते हैं और फिर उसमें कमियां बता कर जुर्माने की बात की जाती है। इसी के दौरान इन्हीं के बीच का एक साथी मामले को लेकर रफा-दफा करने की बात करता है और सौदा पटने पर नगदी वसूल कर वाहन को उसके चला को सुपुर्द कर छोड़ दिया जाता है। पकड़े जाने से पूर्व रोके गए ट्रक नंबरHR 58B7548 के चालक से भी चेकिंग में कमियां बता कर जुर्माना माफ कराने के नाम पर ₹10000 की अवैध मांग की गई और चालक द्वारा पैसे ना होने पर केवल ₹1000 रुपए अवैध रूप से वसूल कर छोड़ा गया अभियुक्त गण से पूछताछ कर अन्य कारित घटनाओं की जानकारी एवं इनके अपराधिक इतिहास की भी जानकारी की जा रही है पकड़े गए चारों अभियुक्तों ने अपना नाम अंकित पुंण्डीर पुत्र धर्मेंद्र निवासी ग्राम हरड़ फतेहपुर थाना थाना भवन जनपद शामली बताया और दूसरे अभियुक्त ने अपना नाम मोहम्मद अली पुत्र शौकत अली निवासी ग्राम सोंटा रसूलपुर थाना थाना भवन जनपद शामली बताया और तीसरे ने मुस्तफा पुत्र जमीन अहमद निवासी ग्राम सोंटा रसूलपुर थाना थाना भवन जनपद शामली चौथे ने अपना नाम साजिद पुत्र जाखरअली निवासी ग्राम सोंटा रसूलपुर थाना थाना भवन जनपद शामली बताया।               


कुख्यातः हत्या में प्रयुक्त पिस्टल बरामद

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


भाजपा नेता की हत्या में प्रयुक्त पिस्टल बरामद कुख्यात आशु जाट रिमांड पर


हापुड़। भाजपा नेताओं की हत्या कर सनसनी फैलानें वालें कुख्यात आशु जाट को बुद्ववार को धौलाना पुलिस ने रिमांड़ पर लेकर भाजपा नेता की हत्या में प्रयुक्त पिस्टल व कारतूस बरामद किए। पुलिस को आशु से कुछ महत्वपूर्ण जानकारी भी हासिल हुई हैं। जानकारी के अनुसार थाना धौलाना क्षेत्र में 2019 में दो भाजपा नेताओं व नोएड़ा में की हत्याओं से सुर्खियों में आए कुख्यात आशु जाट को बुद्ववार को धौलाना थाना प्रभारी निरीक्षण महावीर सिंह चौहान नै रिमांड़ पर लेकर क्षेत्र में गए।आशु की निशानदेही पर पुलिस ने भाजपा मंडल महामंत्री रहे राकेश शर्मा की हत्या में प्रयुक्त पिस्टल. व कारतूस बरामद किए। आशु ने पूछताक्ष में पुलिस को कुछ चौंकाने वाली जानकारी दी,जिसकी पुलिस जांच कर रही हैं। उल्लेखनीय हैं कि हाल ही में मुम्बई पुलिस ने कुख्यात व ढ़ाई लाख के ईनामी आशु को गिरफ्तार किया था, जिसे हापुड़ पुलिस मुम्बई से हापुड़ लाकर जेल में भेज दिया था।               


व्यापारी को घायल करके 50 हजार की लूट

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


हथियारबंद बदमाशों ने व्यापारी को घायल कर 50 हजार लूटे, हुए फरार


हापुड़। बुद्ववार बाईकसवार बदमाशों ने व्यापारी पिता पुत्र को घायल कर हथियारों के बल पर 50 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए। घटना को लेकर व्यापारियों ने पुलिस चौकी पर हंगामा किया।


जानकारी के अनुसार गढ़ नगर के सब्जी व्यापारी अनिल बंसल की नई मंड़ी गढ़ में आढ़त हैं। वे आज तड़के अपने पुत्र शंशाक के साथ बाईक पर सवार होकर मंड़ी जा रहे थे। गढ़ फ्लाईओवर के नीचे बाईकसवार तीन बदमाशों ने तंमचों के बल पर फायरिंग करते हुए व्यापारी अनिल से 48 हजार 200 रुपये से भरा थैला लूटनें लगें। व्यापारी द्वारा विरोध करनें पर बदमाशों ने मारपीट कर घायल कर फायरिंग करते हुए फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही सब्जी आढ़ती मौके पर पहुंचे और घायल व्यापारी कौ लेकर पुलिस चौकी पहुंच हंगामा किया। बाद में पुलिस ने तहरीर लेकर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। दिनदहाड़े हुई लूट से व्यापारियों में भारी आक्रोश व्याप्त हैं।                  


प्राधिकरण ने की अवैध निर्माण पर कार्रवाई

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


पिलखुआ विकास प्राधिकरण ने की अवैध निर्माण पर ध्वस्तीकरण और सीलिंग की कार्यवाही


हापुड़। पिलखुआ विकास प्राधिकरण ने पिलखुआ में अवैध निर्माण और अवैध फ्लोटिंग पर वशीकरण और सीलिंग की कार्रवाई की जिससे अवैध प्लाटिंग और अवैध निर्माण करने वालों पर हड़कंप मच गया। आपको बता दें हापुड़ पिलखवा विकास प्राधिकरण द्वारा अवैध निर्माण और अवैध प्लाटिंग करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में प्राधिकरण के अधिकारी नायब तहसीलदार धौलाना और पिलखवा पुलिस बल ने साथ में मिलकर अवैध निर्माण करने वालों पर कार्रवाई की इस कार्रवाई में नया गांव, गांव सिखेड़ा रोड, सिखेड़ा रोड फार्म हाउस के पीछे,मारगपूर रोड, जिंदल एन्क्लेब फेज द्वितीय, आर्यन इंस्टीट्यूट के निकट अवैध प्लाटिंग का ध्वस्तीकरण किया गया। इसके साथ ही पिलखुआ-धौलाना रोड पर ग्राम खेड़ा पर अवैध रूप से निर्माणधीन 6 दुकानों के विरूद्ध सीलिंग की कार्यवाही की गई।प्राधिकरण के अधिकारियों ने अवैध निर्माणकर्ताओं को चेतावनी दी की अवैध निर्माण करने वाले प्राधिकरण से मानचित्र स्वीकृत कराएं। अन्यथा प्राधिकरण द्वारा ध्वस्तीकरण और सीलिंग की कार्यवाही की जाएगी |             


हापुड़ः 3 शातिर वाहन चोर किए गिरफ्तार

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


तीन शातिर वाहन चोरों को किया गिरफ्तार


हापुड़। थाना हापुड़ नगर पुलिस द्वारा चैकिंग के दौरान तीन शातिर वाहन चोरों को गिरफ्तार किया गया। जिनके कब्जे से तथा निशानदेही पर पांच संदिग्ध मोटरसाइकिल, एक स्कूटी बिना नंबर,तीन मोटरसाइकिल के कटे हुए चेचिस, अन्य पार्ट्स एवं अवैध चाकू बरामद किया गया। थाना हापुड़ निरीक्षक सुबोध कुमार सक्सेना ने जानकारी देते हुए बताया कि क्षेत्राधिकारी नगर के निर्देशानुसार प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हापुड़ नगर के नेतृत्व में संदिग्ध व्यक्ति/वाहन व तलाश वांछित अपराधियों की धरपकड़ हेतु चलाए जा रहे हैं चैकिंग अभियान के दौरान उप निरीक्षक सरवन गौतम चौकी सिकन्दरगेट व उप निरीक्षक संदीप कुमार चौकी प्रभारी जदीद के द्वारा दौराने
चैकिंग द्वार तीन जवान उम्र के लड़के चोरी की अपाचे मोटरसाइकिल पर सवार होकर किसी आपराधिक घटना को अंजाम देने के लिए जा रहे थे। शक होने पर लड़कों को रोकने का प्रयास किया गया तो तीनों सवार अपनी बाइक को पीछे मोड़कर भागने का प्रयास करने लगे तभी पुलिस टीम द्वारा आवश्यक बल का प्रयोग करके घेर घोंटकर  तीनों मोटरसाइकिल सवार लड़कों को पकड़ लिया गया। सख्ती से पुलिसया पूछताछ में उक्त आरोपियों ने अपना नाम व पता नाजिम उर्फ लड्डू पुत्र आजाद मेवाती निवासी मोहल्ला मजीद पुरा थाना हापुड़ नगर जिला हापुड़,साहिल उर्फ गुड्डू पुत्र शाहिद। निवासी मोहल्ला ईदगाह कॉलोनी थाना हापुड़ नगर जिला हापुड़,अमजद पुत्र जान मोहम्मद निवासी मोहल्ला मजीद पुरा थाना हापुड़ नगर जिला हापुड़ बताया।
आरोपी अमजद नाजिम उर्फ लड्डू ने बताया कि कुछ मोटरसाइकिल को हमने मिलकर भीड़भाड़ वाले स्थानों से चोरी करके अपने-अपने घरों में काटने के लिए खड़ी कर रखी है।                 


'भाकियू लोक शक्ति' का हल्ला बोल कार्यक्रम

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी


जिले में तीन टोल, भाकियू लोक शक्ति ने किया हल्ला बोल टोल कार्यालय का किया घेरा


हापुड़। छोटे जिले में तीन टोल होना और उसके बाद भी उत्पीडन और हठधर्मी पर भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति के पदाधिकारियों ने गढ़मुक्तेश्वर स्थित अल्लाहबख्सपुर टोल प्लाजा पर पहुंच टोल मैनेजर के दफ्तर का घेराव किया। भाकियू नेताओं के तेवर देख टोल मैनेजर देश पांडेय दफ्तर के बाहर निकले और भाकियू नेताओं से ओन रोड वार्ता की।
भाकियू लोक शक्ति के हापुड जिलाध्यक्ष राकेश त्यागी के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता टोल प्लाजा पर पहुंचे और टोल मैनेजर के कार्यालय का घेराव किया।राकेश त्यागी ने कहा कि टोल पर लोकल और शव वाहनों से भी अवैध वसूली की जाती है और यहां तक की अनेक बार टोल कर्मियों द्वारा वाहन चालकों से बदसलूखी करते हैं ऐसा क्यों। वहीं मेरठ मंडल प्रभारी अतुल त्यागी ने टोल मैनेजर देश पाण्डेय से पूछा कि लोकल का क्या मापदंड है और निकटवर्ती गांव के किसान जब अपने खेतों पर कार्य हेतू जायेंगे तो कितना बार दिन में टोल भरेंगे।
जिसके जबाब मे टोल मैनेजर देश पांडेय ने भाकियू नेताओं से वार्ता करते हुए बताया कि अब लोकल केवल टोल से एक किलोमीटर एक तरफ एक किलोमीटर दूसरी तरफ यानि दो किलोमीटर है। लेकिन 265 रुपये का प्रतिमाह लोकल पास है।


वहीं शव यात्रा वाले वाहनों से कभी टोल


टैक्स नहीं वसूला जाएगा अगर ऐसा है तो सभी कर्मचारियों को इस बात से अवगत कराया जायेगा ताकि ऐसा न हो। इस अवसर पर मंडल सचिव जयवीर गुर्जर, तहसील अध्यक्ष यूसुफ खान, तहसील संयोजक मा. हरिओम वर्मा, माहिर खान, नीटू खेड़ा, शीशराम प्रधान जी, सुखपाल  तोमर, सलाउद्दीन सैफी, अमित यादव, राजेन्द्र शर्मा, पप्पू, सिराजुद्दीन, बिजेंद्र, मुसाजिद,आदि मौजूद रहे।               


पेरेंट्स एसोसिएशन ने शव यात्रा निकाली

पेरेंट्स एसोसिएशन ने निकाला संकेतात्मक शव यात्रा सैकड़ो की संख्या में अभिभावक हुए शामिल। 


कोरबा। लॉकडाउन में फीस वसूली में निजी स्कूलों की मनमानी एवं आर्थिक शोषण के खिलाफ अपना आक्रोश जाहिर करते हुए। पालकों ने आज पूर्व घोषणा अनुसार संकेतात्मक शव यात्रा निकाली। सुनालिया चौक से रेलवे क्रासिंग उषा काम्प्लेक्स तक निकली शव यात्रा में व्यवस्था से नाराज पालक कोविड-19 के नियमों का पालन कर मास्क लगा कर शामिल हुए।
कोरबा पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष नूतन सिंह ठाकुर ने बताया कि पिछले दिनों एसोसिएशन के आह्वान पर आयोजित अभिभावकों का एक दिवसीय ऑनलाइन क्लास बहिष्कार आंदोलन पूर्णत। सफल रहा। एक तरफ कोरोना संकट के कारण आर्थिक कठिनाइयां झेल रहे माता-पिता है जो फीस वसूली के लिए निजी स्कूलों की जोर जबरदस्ती एवं धमकियों से नाराज हैं। वहीं दूसरी ओर हजारों की संख्या में वे पालक भी है जो शासन के गाइडलाइन के विपरीत मनमानी ट्यूशन फीस थोपे जाने से आक्रोशित हैं। इस पूरे मामले में जिला शिक्षा अधिकारी की कार्यप्रणाली विवादों के घेरे में है। पालकों के साथ मिलकर ट्यूशन फीस तय करने के लिए शिक्षा विभाग ने 2016 में गाइडलाइन जारी किया था। लेकिन कोरबा के अधिकांश स्कूल तय मापदंडों के विपरीत अपने स्कूल की फीस का अनुमोदन शासन से नहीं कराए हैं। 10 के बदले 12 महीनों का फीस वसूल गया जिसकी वापसी के अब कई पालक स्कूलों से मांग कर रहे हैं। शहर के प्रमुख सीबीएसई स्कूलों में 80% से 90% लोगों ने ऑनलाइन कक्षाओं का बहिष्कार कर अपना आक्रोश जाहिर किया था।
नूतन सिंह ने कहा है। कि निजी स्कूलों के खिलाफ जारी पालकों के आंदोलन के बीच निजी स्कूल संघ कोरबा में पालको को राहत देते हुए ।ट्यूशन फीस में 30% छूट देने का ऐलान किया है। सीजी बोर्ड से संबंधित स्कूल संचालकों के इस निर्णय कोरबा पैरंट्स एसोसिएशन ने स्वागत किया है। सीबीएसई स्कूलों से भी मांग है ।कि वे अपनी हठधर्मिता एवं ।शोषण पर विराम लगाकर पालकों को राहत पहुंचाने के लिए कदम उठाएं।               


544 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण- भूमिपूजन

शिवराज का आरोप:कमलनाथ ने छतरपुर मेडिकल कॉलेज निरस्त किया, जल्द शुरू कराएंगे निर्माण कार्य।


बड़ामलहरा क्षेत्र में 544 करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण


बड़ामलहरा। सीएम ने कहा- 18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ामलहरा क्षेत्र में 544 करोड़ रुपए की लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। उन्होंने 394 करोड़ रुपए की काठन सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन भी किया। इस परियोजना से 74 गांव के 15 हजार हेक्टेयर भूमि में सिंचाई होगी। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि उनके कार्यकाल में स्वीकृत मेडिकल काॅलेज को कमलनाथ ने निरस्त कराया है, पर वे जल्द निर्माण शुरू कराएंगे।
सीएम ने कहा है कि जिन किसानों की फसलें खराब हुई हैं, उनका सर्वे करके राहत राशि दी जाएगी। केन बेतवा लिंक परियोजना को स्वीकृत कर छतरपुर जिले के प्रत्येक खेत तक पानी पहुंचाया जाएगा। क्षेत्र में विकास के जो कार्य ठप हो गए थे, उन्हें पुनः प्रारंभ किया जाएगा।
स्थानीय उद्योगों, जिले की हीरा की खदान में 75 प्रतिशत नौकरियां बुंदेलखंड के युवाओं को मिलेंगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने 2018 में छतरपुर में मेडिकल कॉलेज की सौगात दी। इसके लिए बजट स्वीकृत किया था, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने साठगांठ करके इसे निरस्त कर दिया था। पर अब छतरपुर वासियों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे, मेडिकल कॉलेज का कार्य जल्द शुरू किया जाएगा।
18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी: सीएम
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के साथ अब न्याय होगा। 18 सितंबर को 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा की 4600 करोड़ की राशि डाली जाएगी। वहीं 16 सितंबर को प्रदेश के 37 लाख लोगों को 1 रुपए प्रति किलो की दर से गेहूं मिलना शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आर्शीर्वाद से छतरपुर जिले के 88 हजार 773 गरीबों को सस्ता खाद्यान्न मिलना शुरू हो जाएगा। जल-जीवन मिशन के तहत प्रत्येक गांव को टोंटी वाले नल का पानी मिलेगा।
पर्यटक स्थल की सूची में शामिल होगा भीमकुंड।
मुख्यमंत्री चौहान ने मंच से कहा कि लिधौरा में सर्वसुविधायुक्त स्टेडियम बनाया जाएगा। यहां के हाईस्कूल का उन्नयन होगा। घुवारा में अगले सत्र से डिग्री कॉलेज शुरू होगा। वहीं क्षेत्र के भीमकुंड को विकसित कर पर्यटन स्थल की सूची में शामिल किया जाएगा। इसके साथ बड़ामलहरा के अस्पताल का 100 बिस्तर वाले अस्पताल में उन्नयन किया जाएगा।
मुख्यमंत्री और उमा भारती ने एक दूसरे की जमकर की प्रशंसा
कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक दूसरे की जमकर प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को मॉडल प्रदेश बनाने में दीदी उमाजी की महती भूमिका रहेगी। मैं जो भी काम करता हू उमा दीदी से पूछ कर ही करता हू।
उनके आशीर्वाद से ही मेरी सरकार चलेगी। वहीं उमा भारती ने कहा कि शिवराज सिंह में गंभीरता, परिपक्वता, सहनशीलता और शालीनता हैै। जितने अच्छे तरीके से वह सरकार चला रहे हैं, उतने अच्छे से मैं भी नहीं चला पाती। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह एक गृहस्थ संत की तरह लोगों की सेवा कर रहे हैं।
आत्मनिर्भर देश बनाने मेें मध्यप्रदेश एक मॉडल स्टेट के रूप में कार्य करेगा। यहां सारे संसाधन उपलब्ध हैं। परिश्रम करने वाले लोग हैं। प्राकृतिक संपदा है। अब विकास के मामले में बुंदेलखंड पीछे नहीं रहेगा। बांध के बन जाने से सिंचाई परियोजना के पूर्ण होने पर बुंदेलखंड की गरीबी और भुखमरी दूर होगी। सभा का संचालन आकाशवाणी के उद्घोषक राकेश खरे ने और आभार प्रदर्शन भाजपा नेता जयराम चतुर्वेदी ने किया।
काठन परियोजना से खुलेंगे विकास के नए रास्ते।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी ने क्षेत्र के विकास का जो संकल्प लिया है उसे राज्य सरकार पूरा करेगी। आज 394 करोड़ की काठन वृृहद सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन हुआ है। इससे विकास के नए रास्ते खुलेंगे।
पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि विकास के मामले में यह क्षेत्र अब पीछे नहीं रहेगा। 2003 के बाद इस क्षेत्र के विकास के लिए लगातार कार्य किए जा रहे हैं। डाकू समस्या का उन्मूलन हुआ है। क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग द्वारा सभी आवश्यक निर्माण कार्य कराए जाएंगे।
खराब फसल हाथ में लेकर किसानों ने किया प्रदर्शन : जैसे ही मंच पर मुख्यमंत्री का भाषण शुरू हुआ, सामने पांडाल में कुछ किसान हाथों में खराब फसलें लेकर हो हल्ला करने लगे। किसान खराब हुई फसलों का सर्वे कराकर मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। इस पर मुख्यमंत्री ने मंच से ही कलेक्टर को खराब फसलों का जल्द सर्वे करवा कर मुआवजा की सूची भेजने के लिए कहा।
मुख्यमंत्री और नेताओं काे जवाब देते रहे कलेक्टर : पूरी सभा के दौरान मंच पर कलेक्टर शीलेंद्र सिंह एक फाइल लिए खड़े रहे। कभी वह मुख्यमंत्री के बुलाने पर उनके सवालों के जवाब देते, कभी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पास जाकर तो कभी मंत्री गोपाल भार्गव के पास जाकर उनके सवालों के जवाब देते रहे।
घुवारा में कृषि कॉलेज खोलने की मांग : खाद्य निगम अध्यक्ष प्रद्युम्न सिंह ने मंच से घुवारा में कृषि कॉलेज खोलने की मांग की। लिधौरा, घुवारा और बकस्वाहा में स्टेडियम बनाए जाने की मांग की। रामटौरिया पंचायत को उन्नयन कर नगर परिषद बनाए जाने के साथ बड़ामलहरा को जिला बनाए जाने की मांग रखी।
हंगामा कर रहे ओबीसी नेता गिरफ्तार : इसके बाद पिछड़ा वर्ग महा सभा के करीब एक दर्जन से अधिक युवक हाथों में तख्तियां लेकर नारेबाजी करने लगे। यह युवा सरकारी नौकरियों में एवं योजनाओं में आरक्षण की मांग कर रहे थे। पुलिस ने हंगामा कर रहे 3-4 युवाओं को गिरफ्तार कर लिया।                   


ऐतिहासिक समझौताः 6 अरब देश और जुड़ेंगे

ऐतिहासिक समझौता: इजराइल यूएई और बहरीन के बीच कूटनीतिक संबंध शुरू करने का समझौता; ट्रम्प ने कहा- पांच या छह अरब देश और जुड़ेंगे।


इजराइल/यूएई/बहरीन। समझौते के तहत अब तीनों देश एक-दूसरे के देश में दूतावास खोलेंगे। अमेरिका ने इस समझौते में सबसे अहम भूमिका निभाई है। इजराइल ने दो खाड़ी देशों यूएई और बहरीन के साथ ऐतिहासिक समझौता किया है। मंगलवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की मौजूदगी में इस पर दस्तखत किए गए। व्हाइट हाउस में यह कार्यक्रम हुआ। दोनों अरब देशों के साथ अब इजराइल के औपचारिक कूटनीतिक रिश्ते शुरू होंगे। अमेरिका ने इस समझौते में सबसे अहम भूमिका निभाई है। समझौते के बाद ट्रम्प ने कहा- यह एक नई और बेहतरीन शुरुआत है। बहुत जल्द पांच या छह अरब देश भी इसी तरह के समझौते करेंगे। माना जा रहा है कि ट्रम्प का इशारा सऊदी अरब और ओमान की तरफ था।
मिडल-ईस्ट में नई शुरुआत
अरब देशों और इजराइल के संबंध कई दशकों तक बेहद खराब रहे। दोनों पक्ष एक दूसरे को खतरा मानते रहे। कूटनीतिक तौर पर भी दुश्मन देश का दर्जा दिया गया। अब ट्रम्प की कोशिशें रंग लाईं हैं। पिछले महीने इजराइल और यूएई के बीच शांति समझौता हुआ था। अब इसमें बहरीन भी जुड़ गया है। मंगलवार को हुए समझौते का सबसे खास पहलू है, तीनों देशों के बीच डिप्लोमैटिक मिशन की शुरुआत। आसान भाषा में कहें तो बहरीन और यूएई अब इजराइल के साथ कूटनीतिक संबंधों की शुरुआत करेंगे।
समझौते के क्या मायने
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अगले महीने तक एक फ्रेमवर्क तैयार होगा। इसके साथ ही तीनों देश एम्बेसेडर और बाकी स्टाफ का नाम तय कर लेंगे। फिर यह लिस्ट एक दूसरे को भेजी जाएगी। विदेश मंत्रालय की मंजूरी के बाद कामकाज शुरू होगा। दो चीजों को लेकर अरब देश बेहद उत्साहित हैं। पहला- कारोबार और दूसरा- डिफेंस। अमेरिका मध्यस्थ की भूमिका में होगा। तीनों देश एक दूसरे के यहां कारोबार कर सकेंगे। इजराइल को बाजार की जरूरत है और मिडिल ईस्ट के इन दो देशों को तकनीक की। यानी सौदा दोनों के लिए फायदे का ही होगा।
ट्रम्प का इशारा
समझौते के बाद ट्रम्प ने एक बड़ा संकेत दिया। डिप्लोमैटिक वर्ल्ड में इसके खास मायने हैं। ट्रम्प ने कहा- इंतजार कीजिए। जल्द ही पांच या छह अरब देश और इजराइल के साथ इस तरह के करार करेंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका अब सऊदी अरब और ओमान के संपर्क में है। जल्द ही ये दोनों देश भी इजराइल के साथ कूटनीतिक रिश्ते शुरू कर सकते हैं। ऐसे में मुस्लिम देश दो हिस्सों में बंट सकते हैं। तुर्की और पाकिस्तान इस समझौते के खिलाफ हैं।          


संडे हो या मंडे जान ले कोलेस्ट्रॉल का गणित

संडे हो या मंडे कितने खाएं अंडे, जानें क्या है अंडे में कोलेस्ट्रॉल का गणित।


सर्दी हो या गर्मी अंडे हर मौसम में स्वादिष्ट और पोषण का भंडार होते हैं। गरमा-गरम उबले हुए अंडे या उनसे बनी तरह-तरह की डिशेज का लुत्फ उठाना हर कोई चाहता है।अंडा हर मौसम में दैनिक जीवन का आहार है, लेकिन अक्सर यह सवाल होता है कि कितने अंडे हमारी सेहत के लिए सही हैं। दरअसल, अंडे को धरती पर दुनिया के सबसे ज्यादा पोषक तत्वों वाले आहार के रूप में गिना जाता है, लेकिन इसके पीले हिस्से में मौजूद कोलेस्ट्रॉल की वजह से यह थोड़ा बदनाम है। हालांकि, कोलेस्ट्रॉल के मामले में सब कुछ कह देना इतना आसान नहीं है। क्योंकि हम भोजन के जरिये जितना कोलेस्ट्रॉल लेते हैं. हमारा शरीर उतना ही कम कोलेस्ट्रॉल उत्पन्न करता है। इसलिए यदि आप थोड़े बहुत अंडे खाते हैं तो आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नहीं बढ़ेगी।
विभिन्न प्रकार के अध्ययनों में शरीर में मौजूद ऊंचे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को हार्ट की बीमारी और असमय मौत से जोड़ा गया है। लेकिन यह भी हकीकत है कि कोलेस्ट्रॉल हर एक कोशिका के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और हमारे शरीर की बुनियाद के लिए यह जरूरी भी है।इसके अलावा शरीर में स्टेरॉयड हार्मोन्स जैसे टेस्टेस्टरॉन एस्ट्रोजन और कॉर्टिसोल के निर्माण के लिए इसका उपयोग होता है। इसकी उपयोगिता और महत्व को ध्यान में रखते हुए हमारा शरीर इसकी पर्याप्त आपूर्ति भी सुनिश्चित करता है। जब आप कोलेस्ट्रॉल से भरपूर खाना खाते हैं तो आपका लिवर कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल उत्पन्न करता है, ताकि इसका स्तर शरीर में बहुत ज्यादा न हो जाए।
अमेरिका के कृषि विभाग (यूएसडीए) के अनुसार, एक बड़े अंडे में लगभग 72 कैलोरी होती हैं। एक बड़े अंडे का वजन 50 ग्राम (जी) होता है।कैलोरी की संख्या अंडे के आकार पर निर्भर करती है। आकार के अनुसार छोटा अंडा (38 ग्राम): 54 कैलोरी, मध्यम अंडा (44 ग्राम): 63 कैलोरी, बड़ा अंडा (50 ग्राम): 72 कैलोरी, अतिरिक्त-बड़ा अंडा (56 ग्राम): 80 कैलोरी और जंबो एग (63 ग्राम): 90 कैलोरी का होता है।
वैसे लिवर यह कोशिश करता है कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर सही बना रहे, लेकिन यदि हम भोजन में कोलेस्ट्रॉल का ज्यादा सेवन कर लेते हैं तो कोलेस्ट्रॉल हमें तकलीफ देने लगता है, इसलिए स्वाभाविक है हमें यह अनुमान लेना चाहिए कि हम हमारे शरीर में इसकी मात्रा बढ़ा रहे हैं।
आम तौर पर एक मध्यम आकार के अंडे में 186 एमजी कोलेस्ट्रॉल होता है, जोकि हमारी रोजाना जरूरत का 62 फ़ीसदी है। अंडे के सफेद हिस्से में ज्यादातर प्रोटीन है और कोलेस्ट्रोल की मात्रा बहुत ही कम है। कुछ अध्ययनों में अंडे खाने पर कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढऩे के बारे में पाया गया कि 70 फ़ीसदी लोगों का एचडीएल लगातार बढ़ा एचडीएल शरीर के लिए अच्छा कोलेस्ट्रॉल है। कुछ लोगों शरीर में एलडीएल बढ़ा जोकि बुरा कोलेस्ट्रॉल है।
प्रत्येक व्यक्ति की शारीरिक स्थिति पर कोलेस्ट्रॉल का प्रभाव अलग अलग होता है। कुछ अध्ययनों में अंडे खाने पर बढ़े कोलेस्ट्रॉल का हृदय रोगों से सीधा संबंध बताया गया है, जबकि कुछ अध्ययनों में यह स्थिति नहीं देखी गई है।लगभग सभी अध्ययनों का सार यह है कि एक बार में 3 अंडे स्वस्थ शरीर के लिए ठीक हैं। यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि सभी अंडे एक जैसे नहीं होते लेकिन 3 अंडों की खुराक को लगभग सभी लोगों के लिए काफी बताया गया है।शरीर की अवस्था और कोलेस्ट्रॉल के गणित को ध्यान में रख कर कोई भी व्यक्ति अपनी सेहत के लिए कितने अंडे खाने हैं, यह तय कर सकता है।               


ईयर फोन का ज्यादा इस्तेमाल बनाएं बीमार

सावधानः ईयरफोन का ज्यादा इस्तेमाल बना सकता है बीमार, बरतें ये सावधानियां।


आज कल युवाओं में ईयरफोन का चलन ज्यादा बढऩे लगा है।फिर चाहें सड़क पर चलते युवा हों या किसी बस, मेट्रो ट्रेन में बैठे लोग उनके कानों में ईयरफोन लगा जरूर दिख जाएगा।मगर क्या आप जानते हैं कि ईयरफोन लगाना और तेज आवाज में गाना सुनना आपके कानों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
रिपोर्ट के मुताबिक इसके ज्यादा इस्तेमाल से कानों में दर्द और सुनने में परेशानी जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में ईयरफोन का इस्तेमाल करने वालों को इससे जुड़े इन प्रभावों की जानकारी जरूर होनी चाहिए। साथ ही आप इससे बचाव के कुछ तरीके अपना कर भी खुद को इसके दुष्प्रभाव से बचा सकते हैं। मस्तिष्क पर बुरा प्रभाव
कई घंटों तक हेडफोन और ईयरफोन का इस्तेमाल करने से न सिर्फ कानों को नुकसान पहुंच सकता है, बल्कि इससे मस्तिष्क पर भी नकारात्मक असर पड़ता सकता है। इसकी वजह यह है कि ईयरफोन से निकलने वाली चुंबकीय तरंगे मस्तिष्क की कोशिकाओं पर बुरा असर डालती हैं।ऐसे में ज्यादा देर तक ईयरफोन का इस्तेमाल करने से सिर में दर्द, नींद न आने की समस्या, कानों में दर्द और गर्दन के किसी हिस्से में दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। ईयरफोन में आने वाली सूक्ष्म ध्वनि भी स्पष्ट और तेज सुनाई देती है। अगर आप इसका इस्तेमाल करना ही चाहते हैं तो इसे कम से कम आवाज पर रखें। साफ-सफाई का रखें ध्यान
आज जिस ईयरफोन का इस्तेमाल कर रहे होते हैं, उस पर बैक्टीरिया पनपने का खतरा भी रहता है और जब आप अपने कान में इसे लगाते हैं, तो इन बैक्टीरिया की वजह से कान में संक्रमण होने की आशंका भी बढ़ जाती है।ऐसे में अपने ईयरफोन की साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें।


शेयर न करें ईयरफोन


कई बार दोस्तों में ईयरफोन को भी शेयर कर लिया जाता है, मगर आपको इससे बचना चाहिए।क्योंकि इससे किसी अन्य का संक्रमण आपके कानों तक पहुंच कर आपको भी नुकसान पहुंचा सकता है।
कानों से कम सुनाई देना
अगर आप ईयरफोन का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो इससे आपके कानों की सुनने की क्षमता भी प्रभावित हो सकती है।सामान्य तौर पर कानों की सुनने की क्षमता 90 डेसिबल होती है, जो लगातार सुनने से धीरे-धीरे 40 से 50 डेसिबल तक कम हो जाती है। वहीं कुछ मामलों में यह बहरेपन का कारण भी बन सकता है।
ज्यादा देर न करें इस्तेमाल
अगर आप संगीत सुनने का शौक रखते हैं और रोजाना संगीत सुनने के लिए ईयर फोन का इस्तेमाल करते हैं, 2 घंटे से अधिक समय तक अपने कानों में ईयरफोन न लगाएं।बीच बीच में कानों को आराम दें।वरना लगातार ईयरफोन लगाने की वजह से आपके कानों को क्षति पहुंच सकती है।
बचाव का तरीका
अगर आप सड़क पर चल रहे हैं या वाहन चला रहे हैं तो ईयरफोन के इस्तेमाल से बचें।इससे आप और अन्य लोग भी प्रभावित हो सकते हैं।
अगर आपको अपने काम की वजह से लगातार कई घंटों तक ईयरफोन का इस्तेमाल करना पड़ता है, तो एक घंटे के दौरान कई बार 5-10 मिनट का ब्रेक जरूर लें। इससे कानों को आराम मिलेगा, साथ ही इसके अलावा अच्छी क्वालिटी के ईयरफोन का ही इस्तेमाल करें।
ईयर फोन लगाने से मल्टीपल फ्रिक्वैंसेस की टोन कान के पर्दे से टकराती हैं और टकराने के बाद वापस भी आ जाती हैं।ऐसे में कई सारी आवाजें कान के अंदर घूमती रहती हैं।इससे कानों की नसें कमजोर हो सकती हैं।             


पंचायत चुनाव का बिगुल बजने से खलबली

पंचायती चुनाव के बिगुल बजने से पहले हुई हलचल शुरू, ग्रामीण पंचायतों के दबंग महारथियों के चेहरों पर छायीं चिंता की लकीरें, हार जीत की गणित से कहीं ज्यादा अघोषित शासनादेश है उलझन की बजह।


मथुरा। पंचायत के महारथियों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ नजर आ रही हैं, एक ऐसे नियम की कानाफुंसी हर जगह हो रही है जो अभी तक बना नहीं है, बावजूद इसके पंचायत चुनाव लडने के इच्छुक प्रत्याशियों की चिंता का सबब बना हुआ है। कुछ संभावित प्रत्याशी इसका तोड निकालने में अभी से लग गये हैं जबकि शासन द्वारा जारी होने वाले नियम का खुलासा अभी नही हुआ है। 
जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहित करने के लिए पंचायत चुनाव में दो से अधिक बच्चे होने पर चुनाव लड़ने से रोक लगाने की तैयारी से सियासी खेमे में हलचल बढ़ गई है। इससे जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य के साथ ही प्रधान पद की तैयारी कर रहे लोगों को भी झटका लग सकता है। इन दिनों गांवों में पंचायत चुनाव की तैयारियां चल रही हैं, चुनाव लड़ने के इच्छुक लोगों ने अपनी पैंठ बनाना शुरू कर दिया है। वहीं दो से अधिक बच्चे होने वालों की चिंता बढ़ गई है, उनका मानना है कि यदि यह कानून आता है तो उनकी राजनीति हमेशा के लिए खत्म हो जायेगी, यही वजह है कि वे चिंतित दिखाई दे रही हैं जबकि ग्रामीणों का मानना है कि यह कानून बनना चाहिए, ताकि जनसंख्या पर नियंत्रण करने में मदद मिल सके।
ग्राम पंचायत कारब में प्रधानी की तैयारी कर रहे धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि देश में कई राज्यों में दो से अधिक बच्चे होने पर पंचायत चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य होने का नियम है, उन्होंने कहा कि सरकार को यह नियम लागू करना चाहिए, करतार सिंह ग्राम पंचायत विधोनी ने कहा कि यह स्वागत योग्य कदम है, इस तरह के नियम ऊपर से नीचे तक प्रत्येक चुनाव पर लागू होने चाहिए, सिर्फ पंचायत चुनावों के लिए अलग से नियम बनाना तर्कसंगत नहीं है । 
ग्राम पंचायत रायपुर के डिगम्बर सिंह कहते हैं कि यह निर्णय समाज में जागरूकता लाने का सरकार द्वारा एक प्रयास है, यदि सरकार के प्रयास से जनसंख्या नियंत्रण में सफलता मिलती है तो उन्हें प्रधानी जाने पर भी उन्हें दुख नहीं होगा, इस कानून के बनने से जनसंख्या पर काफी हद तक नियंत्रण लग सकेगा।
ग्राम पंचायत सौंसा के करण ठाकुर कहते हैं कि पंचायत चुनाव में दो बच्चे वाला नियम लागू होने पर जनसंख्या नियंत्रण में सरकार को काफी राहत मिलेगी, हालांकि केवल कहने वालों से कोई नियम लागू नहीं होता, उन्होंने कहा सरकार को जिला पंचायत अध्यक्ष एवं क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के चुनाव सीधे जनता से कराने चाहिए।             


अब सरकार ढूंढ कर लाएगी 'दूल्हा-दुल्हन'

अब सरकार ढूंढ कर लाएंगी दूल्हा और दूल्हन , कराएगी आपकी शादी, इस बेबसाइट पर करें रजिस्ट्रेशन।


राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। सरकार अब आपको शादी के लिए मनपसंद रिश्ते ढूंढ कर देगी। सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा लेकिन यह एक सच्चाई है। सरकार द्वारा संचालित सीएससी यानी कॉमन सर्विस सेंटर पर रजिस्ट्रेशन करवाकर आप मनपसंद दूल्हा या दुल्हन तलाश कर सकेंगे। हरियाणा प्रदेश में अभी तक चार दिन में 285 लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है। 
केंद्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय से संचालित सीएससी के माध्यम से शादी के लिए मनपसंद रिश्ता ढूंढने वाले ग्रामीणों के लिए ग्रामीण मैट्रोमोनी (मिलन) पोर्टल का शुभारंभ किया गया है। फतेहाबाद के एक सीएससी संचालक राजकुमार ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के युवक और युवतियों की शादी के लिए वर व वधू खोजने के लिए प्लेटफॉर्म बनाया गया है। सीएससी पर भरा गया प्रोफाइल बेहद ही सुरक्षित रहेगा।
राजकुमार ने बताया कि जिस परिवार ने शादी के लिए पंजीकरण कराया है, उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा तभी पंजीकरण करने वाला रिश्ते के लिए भेजी गई प्रोफाइल देख सकेगा। सीएससी संचालकों को पंजीकरण के लिए (मिलन.सीएससी-सर्विस.इन) पोर्टल से पंजीकरण हो सकेगा। पंजीकरण के लिए यूजर आईडी बनानी होगी। सीएससी संचालक ने बताया कि हरियाणा प्रदेश के ग्रामीण इलाकों से अभी तक मैट्रोमोनी वेबसाइट पर 286 लोगों ने अपने आवेदन कर दिए हैं। जिसमें इस समय 259 लोगों की प्रोफाइल एक्टिव है तो वहीं 27 लोगों ने अपना पंजीकरण तो किया है, लेकिन उसमें पूरी जानकारी अभी तक नहीं भरी है। हरियाणा प्रदेश में अलग-अलग जिलों के गांवों से आवेदकों में 271 लड़के और 15 लड़कियां हैं। जिन्होंने शादी के लिए आवेदन किया है। 
ऐसे होगा पंजीकरण 
ग्रामीण मैट्रोमोनी पर अपना पंजीकरण करते समय युवक या युवती को अपनी एक फोटो देनी होगी, जो प्रोफाइल में दिखेगी और वहीं उसे अपनी पांच एमबी की एक ‌वीडियो भी अपलोड करनी पड़ेगी, जिसमें वह अपनी पूरी जानकारी देंगे। पोर्टल में जन्मतिथि, जन्म का समय, कद, रंग, व्यवसाय, शैक्षणिक योग्यता, इनकम, राशि और पूरे परिवार की जानकारी अपलोड करनी होगी। उसके बाद ही उसका पंजीकरण होगा और एक आईडी बनेगी।
ओटीपी से मिलेगी अनुमति
जो लोग रिश्ता ढूंढ रहे हैं, उन्हें वह प्रोफाइल दिखेगी। जब कोई यूजर उस प्रोफाइल को देखने की कोशिश करेगा तो पंजीकृत नंबर पर एक ओटीपी आएगा वह डालने के बाद ही कोई दूसरा किसी की प्रोफाइल देख पाएगा।             


डीजल से अंतिम संस्कार कर रहा है प्रशासन

शर्मनाकःडीजल डालकर कोरोना मृतकों को जला रहा प्रशासन।


करनाल। हिंदू-रीति के अनुसार अंतिम संस्कार लकड़ी, रॉल, धूप, घी आदि से किया जाता है, लेकिन हरियाणा के करनाल जिले के नगर निगम ने इन मान्यताओं के मायने ही बदल दिए हैं। निगम के रिकॉर्ड के अनुसार, कोरोना से मृतकों का अंतिम संस्कार डीजल से किया जा रहा है। नगर निगम की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं। यहां दाह संस्कार की परंपरा का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है। 
परिजनों का आरोप है कि शमशान घाट पर डीजल डालकर कोरोना मृतकों की चिताएं जलाई जा रही हैं। उनकी राख (फूल) के ऊपर से एंबुलेंस निकाली जा रहीं हैं। इसे सीधे तौर पर सनातनी दाह संस्कार परंपरा का अपमान बताकर कई समाजसेवियों ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए उसकी उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। 
बलड़ी शमशान घाट पर कोरोना संक्रमण से मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए सुबह यहां तीन शव लाए गए। वहां उनके परिजन भी मौजूद थे, जिन्होंने कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में उपचार और नगर निगम द्वारा कराए जा रहे दाह संस्कार की व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े किए हैं।
एक मृतक की बेटी ने आरोप लगाए है कि पिता की डॉक्टरों की लापरवाही के कारण मृत्यु हो गई। इसके बाद आज सुबह जब बलड़ी शमशान पहुंचे तो यहां नगर निगम की कोई व्यवस्था नहीं थी। यहां पहुंचते ही कर्मचारी ने डीजल लाने को कहा। उन्हें नहीं मालूम था कि डीजल का क्या करेंगे, जबकि वह तो दाह संस्कार के लिए सामग्री लेकर पहुंची थी। आरोप है कि कर्मचारियों ने चिता पर कुछ लकड़ी रखीं और डीजल डालकर आग लगा दी।
आरोप है कि जब शव श्मशान घाट पहुंचे तो वहां कुत्ते घूमते मिले। अंतिम संस्कार के लिए देशी घी व अन्य सामग्री लाए लेकिन यहां स्टाफ ने सबसे पहले डीजल की मांग की। आनन-फानन में जैसे तैसे शव के ऊपर कुछ लकड़ी रखकर डीजल डालकर आग लगा दी। बहुत कहने पर दो परिजनों को पीपीई किट दी तो वह शव के पास गए। यहां शव की राख (फूल) पड़ी थी, उसके ऊपर से वाहन गुजर रहे हैं, स्टाफ जूते पहनकर निकलता है। घटना की उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। 
करनाल जन सेवा दल के प्रधान चरणजीत बाली ने कहा कि यह तो अमानवीयता की हद है, सरकार कोरोना के मृतकों के शवों का दाह संस्कार कराने में अक्षम है तो जनसेवा दल के अपना आशियाना को यह जिम्मेदारी सौंप दें। हम, लोग अपने परिजनों की तरह सभी शवों का रीति रिवाज के अनुसार अंतिम संस्कार करेंगे। 
शव को डीजल डालकर जलाना सनातन दाह संस्कार परंपरा का अपमान है। शव को डीजल डालकर जलाना, अस्थियों व चिता की राख के ऊपर से गाड़ियों का गुजरना, स्टाफ का जूते पहनकर फूल रौंदना, उनके ऊपर से पशुओं का घूमना, शमशान घाट पर पहली डिमांड डीजल होना, आखिर यह सब क्या है।ऐसा अपमान तो शायद ही किसी ने देखा और सुना होगा। वहीँ करनाल नगर निगम के सफाई निरीक्षक प्रवेश कुमार का कहना है कि यहां घासफूस तो है नहीं, इसलिए चिता की लकड़ियों पर डीजल डालना पड़ता है लेकिन शव के ऊपर नहीं डालते हैं। नगर निगम से पांच क्विंटल लकड़ी, दो लीटर डीजल मिलता है। किसी से डीजल नहीं मंगाते हैं। पीपीई किट व मास्क, ग्लब्स आदि रेडक्रास से मिलते हैं। स्थान की कमी है, सिर्फ पांच दाह संस्कार स्थल है लेकिन शव कई आते हैं, पिछले 12 दिनों में 41 शव आ चुके हैं। फूल बीनने की परंपरा तीन या पांच दिन के बाद होती है, इसलिए बाहर खुले में चिता लगानी पड़ती है।               


नॉएडाः झाड़ियों में चल रहा है सेक्स रैकेट

ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में झाड़ियों में चल रहा है सेक्स रैकेट, पुलिस बेखबर।


नोएडा। सूरजपुर थाना कोतवाली क्षेत्र के औद्योगिक पुलिस चौकी क्षेत्र में कई जगह झाड़ियों में सेक्स रैकेट का धंधा खुलेआम जोरों पर है। पुलिस प्रशासन इस नापाक धंधे को बंद करवाने में नाकाम साबित है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए संदेश को सूरजपुर थाना पुलिस नहीं मानती वही उधर झाड़ियों में सेक्स रैकेट के इस धंधे को चलाने वाला आखिर एक सफेदपोश का चेहरा प्रकाश में आया है। बिना नंबर की प्लैटिना मोटरसाइकिल सवार युवक खुद को एक पार्टी का नेता बताते हुए सेक्स संचालिका को कहता है कि पुलिस की जिम्मेदारी मेरी है तुम खुलेआम अपना कार्य करती रहो ऐसे में साबित होता है कि सेक्स रैकेट को चलाने में सफेदपोश भी शामिल है।                


मार्मिकः मासूम के साथ मां की आत्महत्या

बांदा- मां नें मासूम बेटी सहित फांसी लगाकर की आत्महत्या।


बांदा। जिले के चिल्ला कस्बे में दो वर्षीय पुत्री के साथ मां ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने कमरे का बंद दरवाजा तोड़कर दोनों शव कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम कराया। घटना के पीछे जहां सौतन से कलह की चर्चा है तो पति टीबी की बीमारी से तंग आकर आत्महत्या की दलील दे रहा है। कस्बा चिल्ला निवासी रजनी (25) पत्नी शिवदास ने रात में मकान की पहली मंजिल पर सीलिंग फैन में साड़ी बांधकर पहले अपनी दो वर्षीय बेटी शालिनी को फांसी पर लटकाया और फिर दूसरे छोर पर खुद फांसी पर झूल गई।
पति के मुताबिक, वह तड़के घर आया तो बंद कमरे में दोनों के शव फांसी पर लटके थे। पति शिवदास ट्रक चालक और गायक है। उसने दो शादियां कीं। पहली शादी बांदा शहर निवासी शिवकांती के साथ वर्ष 2000 के आसपास की थी।उसके चार बच्चे हैं। दूसरी शादी वर्ष 2012 में तिंदवारी कस्बे के प्रेमनगर की रहने वाली रजनी से की थी। यह कोर्ट मैरिज थी। रजनी से मात्र दो वर्षीय पुत्री शालिनी थी। शिवदास अपनी दोनों इन पत्नियों को चिल्ला कस्बे में एक ही मकान में रखे था। रजनी मकान के ऊपरी हिस्से में रहती थी और शिवकांती निचले हिस्से में रहती है। ग्रामीणों के मुताबिक, दोनों में पटती नहीं थी। एक-दूसरे को सौतन की निगाह से देखती थी। आए दिन दोनों में विवाद होता था। घटना से कुछ घंटे पहले दोनों के बीच विवाद हुआ था। चिल्ला थाना पुलिस ने रजनी के शव का पोस्टमार्टम कराकर पति को सौंप दिया। चिल्ला इंस्पेक्टर रामाश्रय सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया मां-बेटी की आत्महत्या ही प्रतीत हो रही है। घटना के पीछे गृह कलह बताया।               


बीजेपी नेता पर गेंगरेप का आरोप लगाया

बीजेप नेता और डॉक्टर पर लगा छात्रा से गैंगरेप का आरोप एफ आई आर दर्ज कराई।


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। संगम नगरी प्रयागराज में बीए में पढ़ने वाली एक छात्रा से। गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। छात्रा के साथ गैंगरेप का आरोप बीजेपी के एक नेता और उनके डॉक्टर साथी पर लगा है। जानकारी के अनुसार मामला साल भर पुराना है। प्रयागराज पुलिस ने इस मामले में अब जाकर आरोपी बीजेपी नेता और डॉक्टर के खिलाफ केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने पीड़ित छात्रा का मेडिकल करा दिया है। हालांकि।नामजद रिपोर्ट दर्ज होने के बावजूद पुलिस ने अभी तक रसूखदार बीजेपी नेता और आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार नहीं किया है। आरोपी बीजेपी नेता ने खुद को बेगुनाह बताते हुए इसे सियासी साजिश करार दिया है। पीड़ित छात्रा द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक़, बीजेपी नेता डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी और उनके साथी डॉ अनिल द्विवेदी ने कई बार पिस्टल की नोक पर उनके साथ शारीरिक संबंध बनाए। इस दौरान मुंह खोलने व शिकायत करने पर उन्‍हें और उनके परिवार को जान से मारने की धमकी दी जाती थी। पीड़ित छात्रा के मुताबिक़, श्याम द्विवेदी उन्‍हें अपने होटल में बुलाता था। और वहां अपने दोस्त डॉ अनिल द्विवेदी के साथ मिलकर यौन संबंध बनाता था। पीड़ि‍ता की शिकायत के अनुसार, 8 मार्च को दोनों जबरन उनके घर में घुस आए थे। और अपनी हवस का शिकार बनाया था।परिवार वालों की जान का खतरा होने के डर की वजह से वह काफी दिनों तक अपना मुंह बंद रखे हुए थीं। आरोपी बीजेपी नेता डॉ श्याम प्रकाश द्विवेदी की गिनती प्रयागराज के रसूखदार नेताओं में होती है। वर्तमान समय में वह बीजेपी युवा मोर्चा के काशी प्रांत के उपाध्यक्ष हैं। श्‍याम प्रकाश के पिता रामरक्षा द्विवेदी प्रयागराज में बीजेपी के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं। श्याम द्विवेदी का अपना होटल है और साथ ही कई दूसरे कारोबार भी हैं।उन्‍होंने सोशल मीडिया पर पीएम और सीएम के साथ ही पार्टी के कई दूसरे कद्दावर नेताओं संग अपनी फोटो लगा रखी है। श्याम द्विवेदी का साथी डॉ अनिल द्विवेदी शहर के सोहबतियाबाग इलाके में एक प्राइवेट अस्पताल चलाता था। हालांकि।यह अस्पताल इन दिनों बंद रहता है. पीड़ित छात्रा द्वारा दर्ज शिकायत के मुताबिक़ दोनों आरोपी प्रतापगढ़ की एक ज़मीन को बिकवाने के नाम पर उनसे मिलते थे। छात्रा की शिकायत पर बीजेपी नेता और उनके डॉक्टर साथी के खिलाफ कर्नलगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रयागराज के एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह के मुताबिक़ जल्द ही पीड़िता का मजिस्ट्रेटी बयान कराया जाएगा। उनके मुताबिक़ शुरुआती जांच के बाद ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। दूसरी ओर आरोपी बीजेपी नेता डॉ श्याम द्विवेदी का कहना है। कि वह पिछले कई वर्षों से धर्मांतरण रोकने की एक मुहिम में लगे हुए हैं। इसलिए साजिश के तहत उन्‍हें फंसाया जा रहा है।             


जैन मंदिर से अष्टधातु की मूर्ति व छत्र चोरी

सिकंदराबाद में जैन मंदिर में अष्टधातु की मूर्ति और चांदी के छत्र चोरी।


केपी खोकरान


बुलंदशहर। सिकंदराबाद नगर के मोहल्ला केसरीवाडा स्थित श्री जैन श्वेतांबर मंदिर में मंगलवार रात चोरों ने धावा बोलकर लाखों रुपये कीमत की अष्टधातु की मूर्तियां,चांदी के छत्र और दानपात्र में से नगदी चोरी कर ली। मंदिर में चोरी की घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस के आला अफसर जांच के लिए मौके पर पहुंचे। नगर के मोहल्ला केसरीबाड़ा में श्री जैन श्वेताम्बर मंदिर स्थित है। बुधवार की सुबह पुजारी मंदिर को खोला तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई । मंदिर से अष्टधातु की मूर्तियां, चांदी के छत्र समेत अन्य कीमती सामान गायब था। पुजारी चंदन कुमार झा ने मामले की सूचना मंदिर के ट्रस्टी को दी। बताया जाता है। कि चोर मंदिर में छत के रास्ते जंगला को तोड़कर घुसे। घटना को लेकर जैन समाज के लोगों में आक्रोश फैल गया। सीओ नम्रता श्रीवास्तव, कोतवाल जितेंद्र कुमार सिंह समेत फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और मामले की बारीकी से जांच की। पुलिस ने चोरी के सामान की बाबत लोगों से पूछताछ की। सीओ नम्रता श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की गहनता से जांच की जा रही है।             


दबंगों ने पंजीकृत शराब विक्रेता को पीटा

मुरादनगर में दबंगों के हौसले बुलंद। मुफ्त शराब न मिलने पर पीटा ठेका संचालक को।


मुरादनगर। दबंगों के हौसले काफी बुलंद हैं। दबंगों ने बीच रोड पर शराब ठेके के संचालक को जमकर पीटा। मामले से जुड़ा हुआ एक लाइव वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में दिख रहा है। कि बीच रोड पर ठेके के संचालक की जमकर पिटाई की जा रही है। वीडियो से साफ है। कि ठेका संचालक खुद को बचाने की कोशिश कर रहा है। लेकिन कई लड़के यहां पर मौजूद हैं।जो लाठी-डंडे लेकर ठेका संचालक को घेर रहे हैं। ठेका संचालक के अपहरण की नाकाम कोशिश की भी गयी।


दबंग चाहते थे। मुफ्त में शराब
ठेका संचालक का कहना है। कि ये दबंग मुफ्त में शराब मांगते हैं। लेकिन जब शराब देने से मना किया गया तो मारपीट पर आमादा हो गए। आरोप यह भी है। कि ये दबंग इलाके में अवैध शराब बेचने की भी कोशिश करते हैं। इससे पहले भी आरोपियों ने मारपीट की कोशिश की थी। मौके पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुटी हुई है।


लोगों की मदद से बचा अपहरण
पहले तो कुछ लोग वीडियो बनाते रहे। लेकिन बाद में लोगों की मदद से ही। दबंग मौके से भाग निकले। नहीं तो हो सकता था। कि वे दबंग ठेका संचालक का अपहरण भी कर लेते, क्योंकि आरोपी पूरी कोशिश कर रहे थे। कि वो ठेका संचालक को कहीं और ले जाएं। जहां पर ज्यादा मारपीट भी हो सकती थी।               


ट्रांसफार्मर की चपेट में आयें मासूम की मौत

ट्रांसफार्मर की चपेट में आकर 13 साल के मासूम की मौत।कब जागेगा नींद से जिला प्रशासन।


अश्वनी उपाध्याय


गाज़ियाबाद। बिना चारदीवारी के रखे हुए। ट्रांसफार्मर की वजह से एक और मौत हो गई। मामला विजयनगर इलाके का है। बिजली विभाग की लापरवाही का शिकार हुए 12 वर्षीय मासूम आकाश के घर मातम पसरा हुआ है। उसकी मां का रो-रो कर बुरा हाल है। बिजली की जर्जर तारों ने ली जान
दरअसल बीती शाम, आकाश अपने पिता की दुकान पर जा रहा था और उसी दौरान रास्ते में जर्जर पड़े बिजली के ट्रांसफार्मर की चपेट में आ गया। उसे अस्पताल ले जाया गया।जहां उसने दम तोड़ दिया। इससे पहले भी गाजियाबाद में बिजली की जर्जर तारों की वजह से लोगों की जान जा चुकी है। सवाल ये है। कि बिजली विभाग इस तरफ कब गंभीरता से ध्यान देगा। आकाश के परिवार ने उसको लेकर बहुत सारे सपने देखे थे।आकाश के पिता कहते थे। कि वह ज्यादा पढ़ लिख नहीं पाए, लेकिन अपने बेटे आकाश को पढ़ा लिखा कर एक अच्छे ओहदे पर जरूर पहुंचाएंगे। इसलिए वो आकाश की पढ़ाई को लेकर भी काफी गंभीर रहते थे। लेकिन एक लापरवाही ने आकाश को उसके परिवार से हमेशा के लिए छीन लिया।


4 दिन पहले अर्थला में हुआ हादसा
4 दिन पहले अर्थला की संजय कॉलोनी में भी बिजली की तारों की चपेट में आने की वजह से पूरा परिवार घायल हो गया था। घर का मुखिया अस्पताल में होने की वजह से परिवार के सामने आर्थिक संकट भी गहरा गया।                


'राज्यमंत्री' गर्ग पर जमीन हथियाने का आरोप

स्वास्थ्य राज्य मंत्री और गाज़ियाबाद से विधायक अतुल गर्ग पर लगे संपत्ति कब्जाने के आरोप।


अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। स्वास्थ्य राज्य मंत्री और गाजियाबाद नगर से विधायक अतुल गर्ग पर उनके ही चचेरे भाई श्याम गर्ग ने जमीन व संपत्ति कब्जाने का गंभीर आरोप लगाया है। श्याम गर्ग ने इसकी शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय से भी की है। नहीं चचेरे भाई ने न्याय न मिलने की सूरत में आत्महत्या की धमकी भी दी है। उनका आरोप है कि सत्ता के रसूख में अतुल गर्ग ने उनकी जमीन पर जबरन कब्ज़ा किया है। श्याम गर्ग का कहना है ।कि अभी भी उनका संयुक्त परिवार है। और कोई बंटवारा नहीं हुआ है। योगी सरकार में राज्य मंत्री अतुल गर्ग, उनके सगे चचेरे भाई हैं। बावजूद इसके अतुल गर्ग ने श्याम गर्ग के सगे भाई आलोक, अनुज राम और चाचा के साथ मिलकर परिवार की पैतृक चल-अचल संपत्ति पर कब्जा कर लिया है। इतना ही नहीं। अपना हिस्सा मांगने पर जान से मरने की धमकी दी जा रही है। श्याम गर्ग का आरोप है कि उन्होंने इसकी शिकायत गाज़ियाबाद के जिलाधिकारी, एसडीएम, एसएसपी, सीओ और एसओ सभी से की लेकिन अभी तक न्याय नहीं मिला है।               


बेरोजगारी दिवस, दौड़ी सपा की साईकिल

बेरोज़गारी दिवस की पूर्व संध्या पर गाँव गाँव दौड़ी समाजवादी साईकिल


देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिन से एक दिन पहले ही सपाई हुए हमलावर


सपाई साईकिल चला कर बेरोज़गारों को झूठे सपने दिखा कर सत्ता हासिल करने वाली केन्द्र व प्रदेश सरकार की खोल रहे पोल


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। समाजवादी पार्टी के यूवाओं की टोली साईकिल चलाते हुए गाँव गाँव में घूम कर केन्द्र व प्रदेश सरकार की नाकामी को बताने निकले।देवेन्द्र यादव विधायक के नेत्रित्व में साईकिल पर सवार हो कर गाँव गाँव की पकडण्डीयों से होकर बेरोज़गारी को लेकर सरकार पर हमलावर हुए। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिन की पूर्व संध्या पर समाजवादी पार्टी के यूवाओं ने विरोध जताने को शहर से गाँव का रास्ता अख्तियार करते हुए केन्द्र व प्रदेश सरकार को बेरोज़गारो के साथ अन्याय करने का ज़िम्मेदार मानते हुए गाँव और कस्बों में पहोँच कर आम जनमानस को अवगत कराते हुए कहा की झूठे सपने दिखा कर सत्ता हासिल करने वाले देश के प्रधानमंत्री का चाल चरित्र उजागर हो गया है।साईकिल सवारों का उत्साह वर्धन करने ज़िला पंचायत सदस्य रणधीर सिंह,मयंक यादव जॉन्टी,सन्दीप यादव,अखिलेश गुप्ता,राघवेन्द्र यादव,विकास समाजवादी,मिथुन गुप्ता ने युवाओं के साथ साईकिल चला कर फूलपूर विधान सभा के कोटवा,ककरा,छिबैया,मलखानपुर,जमुनीपुर आदि गाँव में सपाईयों ने बाईस में बाईसिकल की सरकार बनाने के आहृवान के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी पर जमकर हमला बोला।साईकिल यात्रा में अंगद यादव,प्रत्युष यादव,देवेन्द्र विधायक,बेली सिंह,प्रकाश यादव आदि शामिल रहे।


कलेक्ट्रेट पहुंचने से पहले रोके गए प्रदर्शनकारी

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे के किसानों को एक समान मुआवजा देने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट का घेराव करने की घोषणा करने वाले किसानों का धरना प्रदर्शन बुधवार सुबह गोविंदपुरम अनाज मंडी तक ही सिमट कर रह गया। प्रशासनिक अधिकारियों ने सुबह से ही गोविन्दपुरम अनाज मंडी में डेरा डाल रखा है,जबकि किसान अनाज मंडी में धरने पर बैठक कर पंचायत कर रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों ने इस बात पर सहमति बनाने का प्रयास किया कि पांच सदस्यीय किसान कलेक्टेट जाकर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय को ज्ञापन सौंप आए। दूसरी तरह किसानों ने चेतावनी दी कि यदि प्रशासन ने उनकी बात नहीं मानी तो वह कलेक्ट्रेट का घेराव करेंगे। बुधवार सुबह से गोविंदपुरम अनाज मंडी में पुलिस, किसान व मीडिया का भारी जमावाड़ा लगा रहा। बता दें कि भारतीय कल्याण समिति के नेतृत्व में कई किसान संगठन के पदाधिकारी व समर्थक मेरठ से अर्धनग्न अवस्था में पैदल मार्च करते हुए मंगलवार देर शाम को गाजियाबाद में गोविन्दपुरम स्थित अनाज मंडी पहुंचे थे।


किसानों की मांग है कि पिछले कई माह से दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे में जिन किसानों की जमीन अधिग्रहित की गई है उन्हें एक समान मुआवजा दिया जाए। वर्ष-2013 अधिनियम के तहत एक जगह के लिए अलग-अलग मुआवजा तय नहीं किया जा सकता है। बता दें कि इस मामले से करीब 25 गांवों के किसान प्रभावित हैं। किसान कल्याण समिति के अध्यक्ष दलवीर सिंह, पूरे मामले का नेतृत्व कर रहे बबली गुर्जर, मास्टर मनोज नागर, रणवीर दहिया, मनवीर त्यागी, बलराज, यशपाल मलिक समेत अनेक संगठनों के नेताओं ने आरोप लगाया कि सरकार ने दिल्ली एक्सप्रेस-वे के मामले में एक ही गांव में तीन रेट का मुआवजा दे दिया। उन्होंने कहा कि किसानों का यह उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके अलावा प्रदर्शनकारी किसान एक समाज मुआवजा देने के साथ सर्विस रोड बनाने की भी मांग कर रहे थे।


दूसरी तरफ कलेक्टेट के घेराव की घोषणा करने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों का एक दल बुधवार सुबह से गोविन्दपुरम अनाज मंडी में डेरा डाले हुए है। वह किसानों से सहमति बनाने के लिए लगे हुए हैं। प्रशासनिक अधिकारियों में एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह, एडीएम प्रशासन जितेंद्र कुमार वैश्य, सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार, एसपी सिटी अभिषेक वर्मा, एडीएम सदर डी.पी.सिंह, कविनगर थाना प्रभारी समेत कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद रही।                    


महामारी, मौतें और मुआवजा 'संपादकीय'

महामारी, मौतें और मुआवजा संपादकीय 
विश्व में कोरोना वायरस कोविड-19 का संक्रमण अन्य देशों की अपेक्षा भारत में कुछ ज्यादा रफ्तार के साथ आगे बढ़ रहा है। कुछ ही कम एक लाख लोग प्रतिदिन संक्रमित हो रहे हैं। 24 घंटे में 90,123 संक्रमितो के साथ देश में संक्रमितो की संख्या 50,20,360 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अभी तक 80,000 लोगों की मौत हो चुकी है। यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा और वैक्सीन की उपलब्धता के पूर्व कई लोगों की जान भी चली जाएगी। महामारी का दंश झेलने वाला हमारा देश चीन की सीमा पर तनाव से भी कम आहत नहीं है। भले ही चीन भयभीत हो गया है और थरथर कांपने लगा है। किंतु किसी भी परिस्थिति में युद्ध दोनों देशों के लिए जटिलता उत्पन्न करने का काम करेगा। हालांकि यह भी कोई मोनोपॉली हो सकती है। फिलहाल इस विषय पर हम कोई बात नहीं कर रहे हैं। हम बात कर रहे हैं कोरोना महामारी की, जो लोग महामारी से ग्रस्त हैं। जिनके परिजनों की मृत्यु हो चुकी है। क्या सरकार को उनके परिवारों की सहायता नहीं करनी चाहिए ? परिस्थितिवश प्रतिकूल उपजे वातावरण और लाचारी में सरकार अपने दायित्व से नहीं भाग रही है।


यदि सच में कोई महामारी है तो अभी तक राज्य अथवा केंद्र सरकार ने मृतक के परिजनों को कोई मुआवजा क्यों नहीं दिया ? बाढ़, भूकंप, तूफान, सुनामी और महामारी आदि आपातकाल की स्थिति में सरकार के द्वारा मुआवजा देकर पीड़ितों की सहायता की जाती है। इसी कारण देश का प्रत्येक नागरिक इस प्रश्न का उत्तर खोज रहा है। महामारी के काल का ग्रास बनने वाले नागरिकों के परिजनों की सरकार किस प्रकार सहायता कर रही है ? यदि सरकार इस कठिन परिस्थिति में भी नागरिकों की सहायता नहीं कर रही है। तब नागरिकों के लिए यह और भी जटिल हो जाता है। यदि मृतक परिवार का मुखिया अथवा पालन करता है। परिजन आर्थिक रूप से कमजोर और निम्न आय वाले हैं। तब, सरकार उन लोगों की भी सहायता करने में कैसा संकोच कर रही है ? सरकार की उन्मुक्त क्षमताएं और निर्णय क्षमताओं में एक बड़ी असमानता है। जो देश की जनता को गहरे जख्म देने के अलावा कुछ नहीं कर सकेगी।


 राधेश्याम 'निर्भयपुत्र'                  


मुस्लिम लीग ने भाजपा नेतृत्व पर साधा निशाना

रामपुर। इडियन यूनियन मुस्लिम लीग के ज़िला कैंप कार्यालय पर एक मीटिंग का आयोजन किया गया। इस मीटिंग में शहर के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। मीटिंग को सम्बोधित करते हुए जिला अध्यक्ष फारूक़ मियां ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कुछ हम नाम मोहरों के जरिए भाजपा शहर का माहौल खराब कराना चाहती है। उनहोंने कहा कि मौलाना साईदुजफर साहब शहर की एक एक अच्छी शख्सियत है वो मुसलमानों के इमाम है और मुसलमान अपने इमाम के बारे में कुछ भी बर्दाश्त नहीं करेगा। फारूक़ मियां ने कहा कि भाजपा के इशारे पर नाचने वाले पयादे इमाम साहब का बाल भी बाका नहीं कर सकते हैं फारूक़ मियां ने कहा कि मौलवी साहब के खिलाफ़ जो एफ आई आर कराई गई है। वो निहायत शर्म की बात है उनहोंने कहा कि अगर मौलाना साईदुजफर साहब को गिरफ्तार किया गया तो रामपुर की जेल छोटी पड़ जायेगी इतनी गिरफ्तारियां कराऐगे हम। उनहोंने कहा कि भाजपा के एजेंट ने मुसलमानों की ग़ैरत को ललकारा है और रामपुर वालो की ग़ैरत को ललकारा है। फारूक़ मियां ने कहा कि प्रशासन भाजपा के दबाव में कोई भी ऐसा कदम न उठाए जोकि शहर के माहौल पर असर पड़े फारूक़ मियां ने शहर काजी व शहर मुफ्ती साहब से अपील करते हुए कहा कि सरकार द्वारा दी गयी। गुलामी की जंजीरों से आजाद होकर मुसलमानों की फलां बबूद के लिए काम करें क्यो कि यह आग मौलाना साईदुजफर साहब के घर तक सीमित नहीं रहेंगी इस आग की लपटों में आप का भी घर आ जायेगा मीटिंग में शामिल रहे, हाफिज़ रेहान खान, सलीम अंसारी, समी राईनी, सोनी, आसिफ खान, मोबिन खान, मौ नूर खान, परवेज़ मियां, चाँद खान, मुराद खान, जाहिद खान सिकंदर मियां, आदि।               


18 सितंबर से शुरू 'पुरुषोंत्तम या मलमास'

अधिकमास 18 से शुरू होगा, इसे पुरुषोत्तम या मलमास भी कहा जाता है
सत्यदेव शर्मा सहोड़
नई दिल्ली/शिमला। अधिकमास, मलमास या पुरुषोत्तम क्या है? शास्त्रों में इसका वर्णन कैसे किया गया है? इस माह में क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए? आइए जानते हैं वशिष्ट ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा से। बुधवार 16 सितंबर को सूर्य कन्या राशि में आ जाएगा और इस राशि में ये ग्रह अगले महीने 17 अक्टूबर तक रहेगा। इस दौरान सभी राशियों पर सूर्य का असर पड़ेगा। सूर्य के कन्या राशि में आने से इसे कन्या संक्रांति कहा जाएगा। वशिष्ठ ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा के मुताबिक सूर्य का शुभ असर के कारण मेष, कर्क और धनु राशि वाले लोगों के जॉब और बिजनेस में अच्छे बदलाव होने की संभावना है। इसके साथ ही आर्थिक स्थिति और सेहत के लिए भी अच्छा समय शुरू होगा। वहीं, वृष, मिथुन, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर,  कुंभ और मीन राशि वाले लोगों को संभलकर रहना होगा। 
ज्योतिर्विज्ञान में सूर्य को सभी ग्रहों का राजा माना जाता है। सूर्य के शुभ असर से सेहत संबंधी परेशानी दूर होती है। आत्मविश्वास बढ़ता है। सरकारी काम पूरे हो जाते हैं। जॉब और बिजनेस में तरक्की मिलती है। बड़े लोगों और अधिकारियों से मदद मिलती है और सम्मान भी बढ़ता है। वहीं सूर्य के अशुभ असर के कारण नौकरी और बिजनेस में रुकावटें आती हैं। नुकसान भी होता है। बड़े लोगों से विवाद हो सकता है। आंखों से संबंधित परेशानी होती है। सिरदर्द भी होता है। कामकाज में रुकावटें आती हैं। विवाद और तनाव भी रहता है। 
16 को राशि परिवर्तन और 18 से अधिकमास
हिन्दू कैलेंडर में अधिकमास का बहुत महत्व है। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी है। अधिकमास नहीं होता तो हमारे त्योहारों की व्यवस्था बिगड़ जाती। पंडित डोगरा के मुताबिक सूर्य वर्ष और चंद्र वर्ष के बीच का अंतर दूर करने के लिए हर तीन साल में अधिकमास की व्यवस्था बनाई गई है। अधिकमास से त्योहारों की व्यवस्था बनी रहती है। अधिकमास की वजह से ही सभी त्योहारों अपने सही समय पर मनाए जाते हैं। वरना होली ठंड के दिनों में यानी दिसंबर-जनवरी में मनानी पड़ती और दिवाली बारिश मनाई जाती।
अधिकमास को मलमास भी कहा जाता है। इस वजह से कोई भी देवता इस मास का स्वामी बनना नहीं चाहता था। तब मलमास ने भगवान विष्णु से प्रार्थना की। प्रार्थना सुनकर भगवान विष्णु जी ने इसे अपना नाम दिया। इसी वजह से इसे पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। इस महीने में भगवान विष्णु की पूजा करने की परंपरा है। मलमास में जो हम पूजा करते हैं वह सीधे-सीधे श्री नारायण हरि को प्राप्त होता है। 18 सितंबर से मलमास शुरू होगा और 16 अक्टूबर तक चलेगा। 17 अक्टूबर  शारदीय नवरात्रि का महालय आरंभ होगा।
सर्व पितृ अमावस्या
पंडित डोगरा बताते हैं कि 16 सितंबर को सूर्य राशि बदलकर कन्या में आएगा। 17 सितंबर को पितृ पक्ष का आखिरी दिन भी है। इसे सर्व पितृ अमावस्या या मोक्ष अमावस्या भी कहा जाता है। इस तिथि पर उन मृत लोगों के लिए श्राद्ध किया जाता है, जिनकी मृत्यु तिथि मालूम नहीं हो। इसी दिन सभी पितरों को श्राद्ध के साथ ही विदाई दी जाती है। इस पर्व पर कन्या राशि में सूर्य के होने से पितरों के श्राद्ध का विशेष फल मिलेगा।               


महंगाईः ऊंचाई पर आए 'टमाटर के भाव'

नई दिल्ली। एक तरफ कोरोना तो दसूरी तरफ बारिश की मार टमाटर का खुदरा भाव सातवें आसमान पर पहुँच गया है। टमाटर आम लोगो की रसाई से गायब हो गया है।गौरतलब है कि  देश के दक्षिणी और पश्चिमी इलाकों में भारी बारिश से टमाटर की आपूर्ति प्रभावित हुई है। यही वजह है कि माल्दा, एजल और इंफाल में इसकी खुदरा कीमत 100 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को देश में टमाटर की औसत खुदरा कीमत 50 रुपए प्रति किलोग्राम रही। जबकि अधिकतम कीमत 100 रुपए प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई। मंत्रालय देशभर के 114 बाजार केंद्रों में 22 अनिवार्य वस्तुओं की कीमत पर नजर रखता है। इसमें आलू, टमाटर और प्याज शामिल हैं। आंकड़ों के मुताबिक देश में मंगलवार को आलू और प्याज की औसत कीमत 35 रुपए प्रति किलोग्राम रही। जबकि अधिकतम कीमत 60 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई।आलू, प्याज और टमाटर लगभग हर भारतीय रसोई का हिस्सा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश के चार महानगर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में टमाटर की कीमत क्रमश: 63 रुपए, 68 रुपए, 80 रुपए और 50 रुपए प्रति किलोग्राम रही। हालांकि सब्जीवाले, फेरीवाले इत्यादि सरकारी दाम से ज्यादा पर ही टमाटर की बिक्री कर रहे हैं। इस साल दक्षिण भारत और महाराष्ट्र में टमाटर की फसल कम रहने की आशंका है। कोविड-19 महामारी के दौरान कीमतों को लेकर अनिश्चिता के चलते इस बार किसानों ने कम रकबे पर टमाटर की खेती की है। इस बीच सरकार ने सोमवार को प्याज की सभी किस्मों के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी।             


प्याज निर्यात पर रोक से नेता भी हुए लाल

नई दिल्ली / मुंबई। केंद्र सरकार सोमवार को अचानक प्याज के भाव तेज होते देख प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी है।  प्याज तो लाल हो रही है मगर मंगलवार को ऐसा लगा कि प्याज के साथ -साथ नेता भी लाल हो गए है।  मुंबई से एनसीपी प्रमुख शरद पंवार ने कहाकि केंद्र सरकार के निर्यात पर रोक लगाने के निर्णय पर एक बार पुन : विचार करना चाहिए। गौरतलब है कि महाराष्ट्र की प्याज मंडी में प्याज का भाव 30, 000 रुपए क्विंटल पर है और इस्का रिटेल भाव 35 – 45 रुपए चल रहा है।  यही बड़ा कारण है कि मोदी सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी है, मगर निर्यात पर रोक के बहाने नेता किसानों को आगे रखकर कह रहे है कि सरकार के इस फैसले से किसान नाराज है पिछले महीने तक प्याज का रिटेल भाव 15 – 20 रुपए था।  किसान कह रहे है प्याज किसानो को अब जाकर सही भाव मिला है और पीछे तो किसान नुकसान उठा रहे थे।  गौरतलब  है कि दुनियाभर में भारत में सबसे ज्यादा प्याज का उत्पादन और खेती होती है।  जबकि श्रीलंका , मलेशिया , बंगलादेश और नेपाल जैसे देश भारत पर निर्भर करते है और यदि ऐसे में निर्यात रोक दिया तो इसका लाभ पाकिस्तान को मिल सकता है। एक बात और कर्नाटक और आंध्रप्रदेश में ज्यादा बारिश से प्याज की फसल को बड़ा नुकसान हुआ है और मंडियों में  प्याज की आवक कम हो गई है। प्याज का उत्पादन प्रमुख रूप से 6 राज्यों में होता है। 50 प्रतिशत प्याज तो भारत की 10 मंडियों से आता है, इनमें से 6 तो महाराष्ट्र और कर्नाटक में हैं।

मंगलवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पंवार ने केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल से बात की और कि महाराष्ट्र में किसान सरकार के फैसले से नाराज है।  किसानो का कहना था कि पिछले काफी समय से किसान प्याज की खरीद में बड़ा नुकसान उठा रहे है और अब जाकर उन्हें प्याज के अच्छे दाम मिल रहे है तो केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी है।  पंवार ने ट्वीट करते हुए कहाकि सरकार के इस निर्णय ने प्याज उगाने वाले क्षेत्र  में इस कदम पर तीखी प्रतिक्रिया दी है और उन लोगों ने मुझसे फोन पर बात की है और केंद्र सरकार को अवगत कराने के लिए कहा है। शरद पंवार किसानो के साथ -साथ वहां की राजनैतिक पार्टियों की भी अगवाई कर रहे है। शरद से इसको इस लिहाज से भी समझाने की कोशिश की कि यदि सरकार ने अपने निर्णय पर पुनर्विचार नहीं किया तो खाड़ी देशों में प्याज के सप्लाई के मामले में पाकिस्तान भारत की जगह ले लेगा। कहीं ऐसा तो नहीं कि शारद पंवार किसानो के बहाने प्याज माफियाओं के इशारे पर नाच रहे है। बहरहाल इतना तो तय है फिलाल प्याज के भाव कम होने वाले नहीं है यदि केंद्र सरकार इस मामले में कोई बड़ा कदम उठाती है और प्याज माफिया उसके दवाब में प्याज के दाम गिरा सकते है।  फिलाल प्याज की बड़ी कीमते आम आदमी की आंख से आँसू निकालते रहेंगे।           

रात के अंधेरे में कांग्रेसियों ने जलाई मशाल

पढिय़े रात के अंधेरे में कांग्रेसियों ने क्यों जलाई मशाल।


मशाल जलाकर किया सरकार को जगाने का प्रयास।
अधर में अटके मार्ग के निर्माण को लेकर कांग्रेसियों का अनोखा प्रदर्शन।
पंकज कपूर


किच्छा। नगर में एनएच 74 के अधूरे पड़े कार्य को पूरा कराने के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने रात्रि के अंधेरे में मशाल जलाकर राज्य की सरकार को जगाने का प्रयास किया है। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा काफी समय धरना प्रदर्शन के बाद अब यह कदम उठाया गया। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुरेश पपनेजा के नेतृत्व में 17 वें सप्ताह में सरकार को जगाने के लिए धरना प्रदर्शन के साथ मशाल जलाकर सरकार को जगाने का प्रयास किया गया। 
आपको बता दें कि किच्छा के निकट पुलभट्टा ओवर ब्रिज का निर्माण, किच्छा के आदित्य चौक पर रोड का निर्माण किच्छा के बाईपास पर सर्विस लेन निर्माण की मांग लगातार कांग्रेस के कार्यकर्ता कर रहे हैं, लेकिन एनएच 74 निर्माणाधीन संस्था गलफार कंपनी इस कार्य को नहीं कर रही है। जिसको लेकर कांग्रेसियों ने विरोध जताया है।                  


राहुल ने सरकार पर साधा निशानाः कोरोना

राहुल का कोरोना को लेकर मोदी सरकार पर निशाना।


मनोज सिंह ठाकुर


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कोरोना और अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। और बुधवार को उन्होंने एक बार फिर सरकार की संक्रमण से निपट पाने में विफलताओं को लेकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने एक से एक खयाली पुलाव पकाए, जिनमें से एक ही सच निकला।
उन्होंने ट्वीट किया, “कोरोना काल में भाजपा सरकार ने एक से एक ख़याली पुलाव पकाए।
21 दिन में कोरोना को हरायेंगे
आरोग्य सेतु ऐप सुरक्षा करेगा
20 लाख करोड़ का पैकेज
आत्मनिर्भर बनो।
सीमा में कोई नहीं घुसा
स्थिति संभली हुई है।
लेकिन एक सच भी था- आपदा में ‘अवसर। “हैशटैगपीएमकेयर्स।”
कोरोना मामले में विश्व में देश दूसरे नंबर पर है। अमेरिका पहले और ब्राजील तीसरे नंबर है। देश में बुधवार के आंकड़ों में कुल संक्रमित 50 लाख 20 हजार 360 हैं। मृतक 82066 हो गये हैं। सक्रिय मामले नौ लाख 95 हजार 933 है जबकि 39 लाख 42 हजार 361 ने वायरस को मात दी है। कोरोना के देश में भयावह रूप के बीच सुकून की बात यह है कि रिकवरी दर 78.33 प्रतिशत और मृत्यु दर मात्र 1.63 प्रतिशत है। सक्रिय मामले कुल मामलों के 20 प्रतिशत से भी कम 19.84 प्रतिशत हैं।                  


मनमोहन-चिदंबरम संसद सत्र में भाग नहीं लेंगे

मनमोहन सिंह, चिदंबरम संसद सत्र में नहीं लेंगे भाग।


हरिओम उपाध्याय


नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने स्वास्थ्य कारणों से संसद के मानसून सत्र से अनुपस्थित रहने की अनुमति मांगी है। इसके अलावा, सांसद ऑस्कर फर्नाडीस, नवनीत कृष्णन, नरेंद्र जाधव और सुशील गुप्ता ने भी सदन की कार्यवाही से गैरमौजूद रहने की इजाजत मांगी है।
भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी, अनंत कुमार हेगड़े सहित 17 सांसद कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। भाजपा से कम से कम 12 सांसद कोरोना से संक्रमित हैं।
भाजपा के बेलागवी से सांसद और केंद्रीय रेलवे राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी मानसून सत्र में निश्चित रूप से हिस्सा नहीं ले सकेंगे क्योंकि उन्होंने वो कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं, हालांकि उन्होंने कहा कि वह ठीक हैं और सदन में उपस्थित रहना मंत्री के लिए सवाल से बाहर है।
इस बीच, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक को शनिवार को वायरस के संक्रमण के बाद पणजी अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उनकी स्थिति काफी गंभीर हो गई थी। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की एक केंद्रीय टीम उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रही थी। उनके संसद सत्र में भाग लेने की कम संभावना है।                  


संयुक्त राष्ट्र महासभा का 75वां सत्र प्रारंभ

संयुक्त राष्ट्र महासभा का 75वां सत्र शुरू।


संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोलकान बोजकिर ने महासभा के 75 वें सत्र के शुरुआत की घोषणा कर दी है। इस मौके पर उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों को बहुपक्षवाद बनाए रखने के लिए कहा।
सिन्हुआ एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कोविड-19 महामारी का जिक्र करते हुए कहा,जिस पर हम अभी काम कर रहे हैं वह हमें बहुपक्षीय प्रणाली की आवश्यकता को याद दिलाता है और हमारी सामूहिक चुनौतियों से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उपयोग करने के लिए हम सभी को प्रेरित करता है।
बोजकिर ने कहा कि उनका इरादा महासभा की व्यक्तिगत बैठकों को तब तक रोकने का है जब तक कि स्वास्थ्य स्थितियां इसके लिए अनुकूल न हो जाएं। उन्होंने कहा, कूटनीति के हमारे काम में एक-दूसरे की स्थिति के बारे में दीर्घकालिक समझ बनाने और समझौता करने के लिए समकक्षों की आमने-सामने बैठ कर बात करने का कोई विकल्प नहीं है।
इससे पहले मंगलवार को बोजकिर को महासभा के 74 वें सत्र के समापन पर शपथ दिलाई गई। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने बोजकिर को उनकी नई भूमिका के लिए बधाई दी और अपना पूरा समर्थन देने का वादा दिया।
गुटेरेस ने कहा, “यह वर्ष विश्व संगठन के जीवन का सबसे अधिक कठिन होगा। संयुक्त राष्ट्र को स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत करने और कोविड-19 के उपचार और टीकों के विकास और न्यायसंगत वितरण का समर्थन करना जारी रखना चाहिए।
उन्होंने आगे कहा,हम संयुक्त राष्ट्र की 75 वीं वर्षगांठ के मौके पर यह स्पष्ट करना चाहेंगे कि दुनिया को हमसे बहुत उम्मीदें हैं। इसलिए मैं संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों, देशों के प्रमुख समूहों और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के बीच विश्वास और सामंजस्य को मजबूत करने की दिशा में काम करने के आपके संकल्प की सराहना करते हैं। गुटेरेस ने संयुक्त राष्ट्र सुधार एजेंडा के लिए समर्थन देने पर बोजकिर को धन्यवाद दिया।              


बिल गेट्स के पिता सीनियर बिल गेट्स का निधन

माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक के पिता बिल गेट्स सीनियर का निधन।


सैन फ्रांसिस्को। माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स के पिता विलियम एच गेट्स द्वितीय का 94 साल की उम्र में निधन हो।गया है। वे एक वकील और परोपकारी व्यक्ति थे। परिवार ने मंगलवार को घोषणा की कि वॉशिंगटन राज्य के समुद्र तट पर बने उनके घर में अल्जाइमर रोग के कारण उनकी मृत्यु हो गई।
बिल गेट्स ने श्रद्धांजलि देते हुए लिखा। मेरे पिता की बुद्धिमत्ता उदारता, सहानुभूति और विनम्रता का दुनिया भर के लोगों पर बहुत प्रभाव था। मैं जैसे-जैसे बड़ा होता गया, मैं अपने जीवन में किए गए लगभग हर काम पर अपने पिता के प्रभाव की सराहना करने लगा। माइक्रोसॉफ्ट के शुरूआती वर्षों में मैंने उनसे अहम कानूनी परामर्श लिया था।
उन्होंने कहा कि बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन अब उनके पिता के बिना वैसा नहीं रहेगा जैसा पहले था। उन्होंने आगे कहा,इस फाउंडेशन की नींव के मूल्यों को उन्हीं ने आकार दिया था। वह अच्छे सहयोगी, विवेकपूर्ण और सीखने को लेकर गंभीर व्यक्ति थे। बिल गेट्स के बेटे होने का अनुभव अविश्वसनीय है। लोग मेरे पिताजी से पूछते थे कि क्या वह असली बिल गेट्स हैं। मैं उन्हें हर दिन याद करूंगा।               


संघर्षविराम उल्लंघन, घायल जवान शहीद

पाक के संघर्ष विराम उल्लंघन में घायल जवान अनीश हुए शहीद।


जम्मू। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन में घायल हुए सेना के एक जवान ने बुधवार को अस्पताल में दम तोड़ दिया। जवान मंगलवार को घायल हो गया था।
रक्षा प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, सुदंरबनी सेक्टर में एलओसी के पास पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन में घायल हुए नाइक अनीश थॉमस ने आज अस्पताल में दम तोड़ दिया।”
उन्होंने कहा,नाइक अनीश थॉमस एक बहादुर और सच्चे सैनिक थे। राष्ट्र उनके सर्वोच्च बलिदान और कर्तव्य के प्रति समर्पण के लिए हमेशा उनका ऋणी रहेगा।                


पाक के राज्यों में खपाएं जा रहे नकली नोट

इस्लामाबाद। पाकिस्तान भारत में सिर्फ आतंकवादी ही नहीं भेजता है, वो भारत की अर्थव्यवस्था को खराब करने के लिए नकली नोट भी भेज रहा है। अभी तक वो बांग्लादेश के रास्ते पश्चिम बंगाल में ही नकली नोट भेजता था, लेकिन अब उसके भेजे गए नकली नोट देश के अलग-अलग 16 राज्यों में पकड़े गए हैं।नकली नोट इतनी तादाद में आ रहे हैं कि पश्चिम बंगाल अब पीछे छूट गया है। यह नोट 2000, 500 और 200 रुपये के नोट की शक्ल में भारत (India) भेजे जा रहे हैं. हालांकि देश की अलग-अलग एजेंसियां हर साल बड़ी संख्या में नकली नोट पकड़ रही हैं।


नकली नोट मामले में गुजरात, बंगाल और पंजाब हैं टॉप पर
हाल ही में गृह मंत्रालय ने नकली नोटों से जुड़े कुछ आंकड़े जारी किए हैं। यह आंकड़े बीते चार साल के हैं। 2016 से लेकर 2019 तक के आंकड़े जारी किए गए हैं। आंकड़ों में बताया गया है कि कब और कहां कितने नकली नोट पकड़े गए। पाकिस्तान 2000, 500 और 200 रुपये के नोट की शक्ल में नकली नोट भेज रहा है।                


केवल 11 दिन में दस लाख कोरोना मरीज

देश में महज 11 दिन में 40 से 50 लाख हुए कोरोना संक्रमित।


अकांशु उपाध्याय


नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर रोज कोई न कोई रिकॉर्ड बन रहा है।और दिनों-दिन बड़ी संख्या में संक्रमण के नये मामले सामने आने के कारण संक्रमितों की संख्या 40 से 50 लाख पहुंचने में महज 11 दिन लगे।
केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान 90123 नये मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 50 लाख को पार कर 50,20,360 पर पहुंच गई।
मंगलवार के आंकड़ों में कोरोना मृतकों की संख्या 80 हजार को पार कर गई थी। देश में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद मात्र नौ दिन में दस हजार मरीजों की मौत हुई और संख्या 70 हजार से बढ़कर 80 हजार के पार पहुंच गई।
कोविड-19 देश में कैसे बेतहाशा फैला है इसका अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि केवल दो महीने के अंदर ही 40 लाख लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।
देश में कोरोना का पहला मामला इस वर्ष 30 जनवरी को सामने आया था। इसके बाद 01 से 10 लाख की संख्या पहुंचने में साढ़े पांच माह का समय लगा। पहले दस लाख मामले 167 दिन में हुए। इसके बाद तो यह जानलेवा वायरस सुरसा की तरह मुंह फैलाते हुए ऐसा बढ़ा कि अब देश रोजाना सर्वाधिक नये मामलों मे विश्व में पहले नंबर पर है।
कोरोना के मरीजों का आंकड़ा मात्र 21 दिन में 10 से 20 लाख हो गया। इसके बाद यह अंतर बराबर कम होता चला गया तथा 20 से 30 लाख मामले 16 दिन, 30 से 40 लाख 13 दिन और 40 से 50 लाख मात्र 11 दिन में पहुंच गए।
कोरोना मामले में विश्व में देश दूसरे नंबर पर है। अमेरिका पहले और ब्राजील तीसरे नंबर है।
देश में कुल संक्रमित 50 लाख 20 हजार 360 हैं। मृतक 82066 हो गये हैं तथा सक्रिय मामले नौ लाख 95 हजार 933 है जबकि 39 लाख 42 हजार 361 ने वायरस को मात दी है।
कोरोना के देश में भयावह रूप के बीच सुकून की बात यह है कि रिकवरी दर 78.33 प्रतिशत और मृत्यु दर मात्र 1.63 प्रतिशत है। सक्रिय मामले कुल मामलों के 20 प्रतिशत से भी कम 19.84 प्रतिशत हैं।                 


क्रेडिट कार्डः कर्ज चुकाने में मिलेगी राहत

एसबीआई क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए खुशखबरी,कर्ज चुकाने को लेकर राहत की उम्मीद।


नई दिल्ली। एसबीआई कार्ड धारकों के लिए एक राहत देने वाली खबर है। दरअसल कोरोना वायरस संक्रमण के कारण रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने मार्च से 31 मई 2020 तक कर्ज लौटाने को लेकर छूट दी थी। फिर बाद में इस अवधि को अगस्त तक बढ़ा दिया गया, लेकिन ग्राहक अब भी अपने कर्ज का भुगतान नहीं कर पाए हैं, जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के भी ग्राहक हैं। इसे देखते हुए एसबीआई अपने ग्राहकों को कर्ज चुकाने के लिए और समय देने की सोच रहा है। इसके साथ ही कई ग्राहक मोरेटोरियम के पहले तीन महीने का भुगतान नहीं कर रहे हैं। कंपनी उन्हें स्टैंडर्ड खाता मान रही है। आपको बता दें कि रिस्ट्रक्चरिंग उस ग्राहक के लोन की होगी, जिसने पिछले कुछ समय से किश्तों का भुगतान नहीं किया है। जो ग्राहक रेगुलर ईएमआई दे रहे हैं, वे इस सुविधा का लाभ नहीं उठा पाएंगे। रिस्ट्रक्चरिंग के तहत मान लीजिए आपकी ईएमआई 10 हजार महीने की है।
अगर आपने 4 महीने किश्त नहीं भरा है और आपका लोन का समय 5 साल बाकी है। तो बैंक आपकी यह 4 महीने की ईएमआई उसी 5 साल में बांट देगा। यही नहीं, आप चाहते हैं कि आपकी ईएमआई की राशि कम हो जाए तो आप बैंक से अपने कर्ज भरने की समयसीमा बढ़वा सकते हैं। इससे आपको यह फायदा होगा कि आपकी ईएमआई मासिक कम हो जाएगी।
एसबीआई कार्ड दे सकता है बड़ी राहत- एसबीआई कार्ड के सीईओ अश्विनी कुमार तिवारी ने इसकी जानकारी दी है। एसबीआई कार्ड के अनुसार मई में उसके 7,083 करोड़ रुपए मोरेटोरियम में फंसे थे।
यह आंकड़ा कम होकर अब 1,500 करोड़ रुपये पर आ गया है। जो ग्राहक आरबीआई के बजाए कंपनी की पुनर्गठन योजना का चयन करेंगे, उन्हें लाभ होगा क्योंकि ऐसे मामलों की जानकारी सिबिल को नहीं दी जाएगी।
रिस्ट्रक्चरिंग बिलकुल घाटे का सौदा है। यह सिर्फ तभी कराना चाहिए जब आपकी आर्थिक दिक्कतें बढ़ गई हों। घाटा इस तरह से है कि आप जितना ज्यादा कर्ज की समय सीमा बढ़ाएंगे उतना ज्यादा आपको ब्याज देना होगा। भले ही आपकी मासिक ईएमआई कम हो लेकिन लंबी अवधि में वह एक बहुत बड़ी राशि हो जाती है जो आप ब्याज के रूप में बैंक को देते हैं।
नहीं ऐसा नहीं है। रिस्ट्रक्चरिंग बैंक की मर्जी है। रिस्ट्रक्चरिंग की सुविधा आपको तभी मिलेगी जब आपका रिकॉर्ड सही होगा। आपका लोन एनपीए नहीं होगा। आप डिफॉल्ट नहीं होंगे। आरबीआई ने कहा कि उसने वन टाइम विंडो शुरू की है। आप बैंक से रीपेमेंट का एक नया टर्म पूछ सकते हैं। आपको अतिरिक्त क्रेडिट की सुविधा मिल जाएगी। इसके लिए आपको एक मार्च 2020 तक किसी भी लोन में डिफॉल्ट नहीं होना चाहिए।                   


मोदी सरकार 6 कंपनियों को करेगी बंद

मोदी सरकार इन 6 कंपनियों को करेगी बंद।


नई दिल्ली।केंद्र सरकार ने कहा है कि वह 20 सरकारी कंपनियों (सीपीएसइएस) और उनकी इकाइयों में हिस्सेदारी बेच रही है।जबकि छह को बंद करने पर विचार किया जा रहा है। वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को लोकसभा में पूछे गए एक सवाल के लिखित जवाब में यह बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार विनिवेश के लिए रणनीतिक हिस्सेदारी बिक्री नीति का पालन करती है।
केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष के दौरान 2.10 लाख करोड़ रुपये की भारी-भरकम राशि विनिवेश से जुटाने का लक्ष्य रखा है। सरकार पब्लिक सेक्टर कंपनियों के विनिवेश के जरिए 1.20 लाख करोड़ रुपये जुटाएगी। वहीं, वित्तीय संस्थाओं की हिस्सेदारी की बिक्री के जरिए अन्य 90,000 करोड़ रुपये जुटाए जाएंगे। अनुराग ठाकुर ने कहा, नीति आयोग की ओर से तय किए गए मानदंडों के आधार पर सरकार ने 2016 से 34 मामलों में रणनीतिक विनिवेश को मंजूरी दी है। इनमें से 8 में विनिवेश की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। सीपीएसइएस को बंद करने पर विचार किया जा रहा है और 20 अन्य में प्रक्रिया अलग-अलग चरण में है।जिन कंपनियों को सरकार बंद करने पर विचार कर रही है उनमें हिंदुस्तान फ्लोरोकार्बन लिमिटेड एचएफएल स्कूटर्स इंडिया, भारत पंप्स एंड कम्प्रेसर्स लिमिटेड, हिंदुस्तान प्रीफैब, हिन्दुस्तान न्यूजप्रिंट और कर्नाटक एंटीबायोटिक्स एंड फार्मास्टूकिल्स लिमिटेड शामिल हैं।
जिन कंपनियों में विनिवेश की प्रक्रिया अलग-अलग चरणों में हैं, वे हैं- प्रोजेक्ट एंड डिवेलपमेंट इंडिया लिमिटेड, इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट (इंडिया) लिमिटेड, ब्रिज एंड रूफ को इंडिया लिमिटेड, यूनिट्स ऑफ सीमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड।(सीसीआई), सेंट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड (बीईएमएल) फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड, नागरनर स्टील प्लांट, अलोय स्टील प्लांट, दुर्गापुर,सालेम स्टीम प्लांट,भद्रावती यूनिट्स ऑफ एसएआईएल, पवन हंस, एयर इंडिया और इसकी पांच सब्सिडियरी और एक जॉइंट वेंचर।
इसके अलावा एचएलएल लाइफ केयर लिमिटेड, इंडियन मेडिसिन एंड फार्माशूटिकल्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड, इंडियन टूरिज्म डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन (आईटीडीसी), हिन्दुस्तान एंटीबायोटिक्स, बंगाल केमिकल्स और फार्माशूटिकल्स, भारत पेट्रोलियम लिमिटेड, नूमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड में बीपीसीएल की हिस्सेदारी, शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया, कंटेनर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया और नीलांचल इस्पात लिमिटेड में रणनीतिक बिक्री चल रही है।
जिन कंपनियों में रणनीतिक हिस्सेदारी की बिक्री हो चुकी हैं वे हैं- एचपीसीएल, आरईसी, हॉस्पिटल सर्विसेज कंसल्टेंसी, नेशनल प्रोजेक्ट कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन, द्रेदजिंग कॉर्पोरेशन, टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, नॉर्थ ईस्टर्न इलेक्ट्रिक पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड और कामाराजार पोर्ट।                   


जियो का नया क्रिकेट प्लान हुआ चालू


नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने 598 रुपये वाला नया प्रीपेड प्लान पेश किया है। यह कंपनी का हर दिन 2 जीबी डेटा वाला प्लान है। इसमें ग्राहकों को 56 दिन के लिए डेटा और कॉलिंग की सुविधा मिलती है। साथ ही यूजर्स डिज्नी + हॉटस्टार वीआईपी मेंबरशिप का भी फायदा उठा सकते हैं।



क्या है Jio का ₹598 वाला प्लान
कंपनी ने इसे नया क्रिकेट प्लान नाम दिया है। 598 रुपये वाले प्लान की वैलिडिटी 56 दिन की है। कॉलिंग की बात करें तो इसमें जियो से जियो पर अनलिमिटेड कॉलिंग और अन्य नेटवर्क पर कॉलिंग के लिए 2000 नॉन-जियो मिनट्स मिलते हैं। इसमें हर दिन 2 जीबी डेटा मिलता है, इस तरह यूजर्स कुल 112 जीबी डेटा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा रोज 100 एसएमएस और जियो ऐप्स के मुफ्त सब्सक्रिप्शन का लाभ ले सकते हैं।


प्लान में एक साल के लिए डिज्नी + हॉटस्टार वीआईपी की मेंबरशिप मिलती है, जिसकी कीमत 399 रुपये है। IPL 2020 नजदीक है, ऐसे में जियो का यह प्लान कई यूजर्स का आकर्षित कर सकता है। 598 रुपये के नए प्लान के साथ अब कंपनी के ऐसे कुल चार प्लान (401 रुपये, 598 रुपये, 777 रुपये और 2,599 रुपये) हो गए हैं जिनमें Disney+ Hotstar VIP मेंबरशिप दी जा रही है।





401 रुपये वाला प्लान: इसकी वैलिडिटी 28 दिन की है। इसमें रोज 3 जीबी डेटा, जियो से जियो पर अनलिमिटेड कॉलिंग, 2000 नॉन-जियो मिनट्स और रोज 100 एसएमएस मिलते हैं।




777 रुपये वाला प्लान: इसकी वैलिडिटी 84 दिन की है। इसमें रोज 1.5 जीबी डेटा, जियो से जियो पर अनलिमिटेड कॉलिंग, 2000 नॉन-जियो मिनट्स और रोज 100 एसएमएस मिलते हैं।


2599 रुपये वाला प्लान: इसकी वैलिडिटी 365 दिन की है। इसमें रोज 2 जीबी डेटा, जियो से जियो पर अनलिमिटेड कॉलिंग, 2000 नॉन-जियो मिनट्स और रोज 100 एसएमएस मिलते हैं।             


राज्यसभा में ऑक्सीजन का मुद्दा उठाया

दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा में कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा उठाया।


नई दिल्ली। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार को राज्यसभा में ऑक्सीजन सिलेंडर की ऊंची कीमतों और कालाबाजारी का मुद्दा उठाया। उन्होंने दावा किया कि ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी से कई मरीजों की मौत हो रही है।
दिग्विजय सिंह ने कहा, “सरकार आवश्यक वस्तु अधिनियम को बदल रही है और ऑक्सीजन सिलेंडर को भी इसके अंतर्गत लाया जाना चाहिए।” उन्होंने कहा, “ऑक्सीजन की कीमत 10 रुपये प्रति घन मीटर है जो अब बढ़कर 50 रुपये प्रति घन मीटर हो गई है।” उन्होंने आगे कहा, इसके कारण कई मरीजों की जान चली गई है और सरकार को इस संबंध में कदम उठाना चाहिए।
दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री पर निशाना साधते हुए कहा, यहां तक कि स्वास्थ्य मंत्री ने अपने भाषण के दौरान इस मुद्दे का उल्लेख नहीं किया।24 घंटे में 1,290 मौतों सहित 90,123 नए मामले सामने के साथ बुधवार को भारत में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 5,020,359 तक पहुंच गई।
भारत में 17 जुलाई को कोरोना मामले 10 लाख तक पहुंचे थे, जो फिर 7 अगस्त को 20 दिनों में 20 लाख हो गए। ये 23 अगस्त को 30 लाख, 5 सितंबर को 40 लाख के पार और फिर 11 दिनों में आखिरकार कुल मामले 50 लाख तक पहुंच गए। महाराष्ट्र में 10,97,856 मामलों के साथ सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य बना हुआ है, जिसमें 30,409 मौतें शामिल हैं। इसके बाद आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश हैं।                 


यूपीः 9 आईएएस अधिकारियों का तबादला

यूपी में नौ आईएएस अधिकारियों का तबादला।


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार देर रात भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के नौ अधिकारियों का तबादला कर दिया। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि महोबा के जिलाधिकारी अवधेश तिवारी को कृषि उत्पादन आयुक्त शाखा में विशेष सचिव बनाया गया है।जबकि विशेष सचिव बेसिक शिक्षा सत्येन्द्र कुमार महोबा के नये जिलाधिकारी बनाए गए हैं।
परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर को कानपुर का मंडलायुक्त बनाया गया है वहीं परिवहन आयुक्त धीरज साहू को राजशेखर की जगह प्रबंध निदेशक का भी प्रभार सौंपा गया है। लखनऊ के मंडलायुक्त मुकेश मेश्राम प्रमुख सचिव संस्कृति एवं पर्यटन बनाये गये हैं वहीं लाेक निर्माण विभाग के सचिव रंजन कुमार को लखनऊ का कमिश्नर नियुक्त किया गया है।
कानपुर के मंडलायुक्त को सुधीर बोबडे को सदस्य न्यायिक राजस्व परिषद के पद पर भेजा गया है। बोबड़े श्रम आयुक्त के साथ कानपुर मंडल के आयुक्त भी थे जबकि अब मोहम्मद मुस्तफा प्रदेश के नए श्रम आयुक्त बन गये हैं। प्रमुख सचिव सामान्य प्रशासन एवं राष्ट्रीय एकीकरण जितेंद्र कुमार से पर्यटन व संस्कृति का प्रभार ले लिया गया है। इससे पहले सरकार ने दिन में जिलाधिकारी के पद से हटा कर प्रतीक्षा सूची में डाले गये आठ आईएएस अधिकारियों को नई तैनाती दी थी।               


जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी मिलनी चाहिए

अविनाश श्रीवास्तव    पटना। केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार और उसमें जनता दल यूनाइटेड के शामिल होने की अटकलों के बीच जेडीयू अध्यक्ष आरसीपी सिं...