बुधवार, 19 फ़रवरी 2020

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्रकाशित किए गए सभी विज्ञापनों के विषय में आवश्यक जानकारी करें। प्रकाशित विज्ञापन से समाचार पत्र का किसी प्रकार से कोई संबंध नहीं है।


नीतू की अध्यात्मिक्ता, होगी डबल पूजा

मुंबई। बॉलीवुड स्टार रणबीर कपूर और आलिया भट्ट इन दिनों अपने काम की वजह से नहीं अपनी रिलेशनशिप को लेकर चर्चा में हैं। हर हफ्ते या महीने उनकी शादी की डेट से जुड़ी खबरें आती रहती हैं। कभी इस कपल की शादी की तारीख होती है तो कभी हनीमून डेस्टिनेशन, हालांकि इस कपल ने अपनी शादी को लेकर कोई बात नहीं की है। अब शादी की खबरों पर आलिया भट्ट ने चुप्पी तोड़ी है। आलिया ने एक चैनल से कहा है कि मीडिया में आ रही शादी की खबरें किसी एंटरटेनमेंट से कम नहीं हैं। ये खबरें उनके लिए सिर्फ एंटरटेनमेंट का सॉर्स हैं। इस इंटरव्यू में आलिया ने उन खबरों को नकार दिया, जिसमें कहा गया था कि उनकी शाही शादी की तैयारियां चल रही हैं और कपूर फैमिली के रिश्तेदारों को न्योता भेज दिया गया है। हालांकि आलिया के इस जवाब पर कुछ लोग सवाल भी उठा रहे हैं। उन्होंने सीधे मना करने के बजाय ‘एंटरटेनमेंटट’ की बात क्यों कही? बता दें कि कुछ दिन पहले ये खबरें भी आई थीं कि ऋषि कपूर और नीतू कपूर शादी की तैयारियों में लगे हैं। वे चाहते हैं कि शादी की रस्में कृष्णाराज प्रोपर्टी में हों तो इसके लिए वहां रेनोवेशन का काम भी करवा रहे हैं। कृष्णाराज प्रॉपर्टी पर रेनोवेशन का काम पूरा होते ही रणबीर और आलिया की शादी की तैयारियां शुरू कर दी जाएंगी। यह भी कहा गया था कि प्री-वेडिंग और पोस्ट वेडिंग पूजा भी करवाई जाएगी। इसकी वजह नीतू का आध्यात्मिक होना है। वह चाहती हैं कि उनके बेटे की शादी पूरे विधि-विधान से हो।


सहायक प्रजनन को कैबिनेट की मंजूरी

नई दिल्ली। सरकार ने महिलाओं के कल्याण के लिए ‘सहायक प्रजनन तकनीक नियमन विधेयक 2020′ को बुधवार को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के इस आशय के प्रस्ताव को स्वीकृति दी गयी । संसद में ‘सरोगेसी नियमन विधेयक 2020′ को पेश करने और ‘चिकित्‍सा गर्भपात संशोधन विधेयक 2020′ को मंजूरी देने के बाद यह अहम कदम उठाया गया है। ये विधायी उपाय महिलाओं के प्रजनन अधिकारों के संरक्षण के लिए ऐतिहासिक कदम हैं। संसद में पारित हो जाने एवं इस विधेयक के कानून का रूप लेने के बाद केन्‍द्र सरकार इस अधिनियम पर अमल की तिथि को अधिसूचित करेगी। इसके बाद राष्‍ट्रीय बोर्ड का गठन किया जाएगा। राष्‍ट्रीय बोर्ड भौतिक अवसंरचना प्रयोगशाला एवं नैदानिक उपकरणों तथा क्लिनिकों एवं बैंकों में रखे जाने वाले विशेषज्ञों के लिए न्‍यूनतम मानक तय करने के लिए आचार संहिता निर्धारित करेगा, जिसका पालन क्लिनिक में काम करने वाले लोगों को करना होगा। केन्‍द्र सरकार द्वारा अधिसूचना जारी करने के तीन महीनों के भीतर राज्‍य एवं केन्‍द्र शासित प्रदेश इसके लिए राज्‍य बोर्डों और राज्‍य प्राधिकरणों का गठन करेंगे। राज्‍य बोर्ड पर संबंधित राज्‍य में क्लिनिकों एवं बैंकों के लिए राष्‍ट्रीय बोर्ड द्वारा निर्धारित नीतियों एवं योजनाओं को लागू करने की जिम्‍मेदारी होगी। विधेयक में केन्‍द्रीय डेटाबेस के रख-रखाव तथा राष्‍ट्रीय बोर्ड के कामकाज में उसकी सहायता के लिए राष्‍ट्रीय रजिस्‍ट्री एवं पंजीकरण प्राधिकरण का भी प्रावधान किया गया है। विधेयक में उन लोगों के लिए कठोर दंड का भी प्रस्‍ताव किया गया है, जो लिंग जांच, मानव भ्रूण अथवा जननकोष की बिक्री का काम करते हैं और इस तरह के गैर-कानूनी कार्यों के लिए एजेंसियां या संगठन चलाते हैं। इस कानून का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि यह देश में सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी सेवाओं का नियमन किया जा सकेगा। यह कानून बांझ दंपतियों में सहायक प्रजनन तकनीक (एआरटी) के तहत नैतिक तौर-तरीकों को अपनाए जाने के संबंध में कहीं अधिक भरोसा पैदा करेगा।


दिल्लीः अहमदाबाद में होगा मंच साझा

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे को लेकर भारत में जमकर तैयारियां चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रंप का स्वागत दिल्ली से बाहर गुजरात के अहमदाबाद स्थित करेंगे और दुनिया के सबसे बड़े मोटेरा स्टेडियम में दोनों नेता मंच भी साझा करेंगे। सवाल उठना लाजमी है कि दिल्ली से बाहर क्यों? तय कार्यक्रम के मुताबिक, ट्रंप जब भारत पहुंचेंगे तो हिंदुस्तान में अमेरिका वाले ‘हाउडी मोदी’ वाले कार्यक्रम से भी भव्य आयोजन होगा। उससे भी बड़ा उत्सव होगा और उससे भी बड़ा जनसैलाब उमड़ेगा। यह भी तय है कि दोनों देशों के प्रमुख साथ-साथ चलेंगे और एक ही मंच से बोलेंगे। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि मोदी ने ट्रंप की मेजबानी के लिए अहमदाबाद को ही क्यों चुना? दरअसल, पीएम मोदी ‘अतुल्य भारत’ को दुनिया के सामने लाने की रणनीति के तहत राष्ट्राध्यक्षों की आवभगत दिल्ली के बाहर इसलिए कर रहे हैं, ताकि दुनिया भारत की इन जगहों से वाकिफ हो और पर्यटन के मानचित्र पर ये भी आ सकें। मोदी ने इस कड़ी की शुरुआत जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का वाराणसी में स्वागत किया था। उसके बाद लगातार विदेशी मेहमानों का स्वागत दिल्ली से बाहर करते रहे हैं। अभी हाल ही में पीएम मोदी ने मुंबई में पुर्तगाल के राष्ट्रपति सूसा का स्वागत किया था, जो भारत-पुर्तगाल बिजनेस समिट में भाग लेने भारत आए थे। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और भारत के पीएम मोदी के बीच अभी हाल ही में उच्चस्तरीय बैठक तमिलनाडु के महाबलीपुरम में आयोजित की गई थी। इसके बाद महाबलीपुरम विश्व पर्यटन के मानचित्र पर आ गया और वहां विदेशी पर्यटकों की आमद बढ़ गई। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैन्यूल मैक्रों ने भी अपने भारत दौरे के दौरान उत्तर प्रदेश के वाराणसी और मिर्जापुर का दौरा किया था। यूरोपीयीय देशों के कई राष्ट्राध्यक्ष ‘मेक इन इंडिया वीक’ के दौरान मुंबई दौरे पर आए थे, जिनमें फिनलैंड और स्वीडन के प्रधानमंत्री और पोलैंड के उपप्रधानमंत्री शामिल रहे।प्रधानमंत्री मोदी ने जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल की भी मेजबानी बंगलुरू में की थी। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून ने भी उत्तर प्रदेश के नोएडा में विश्व की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का उद्घाटन किया था। अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी इवांका ट्रंप का भी स्वागत दिल्ली से बाहर हैदराबाद में किया गया था। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपने भारत दौरे के दौरान अमृतसर के स्वर्ण मंदिर, साबरमती आश्रम और मुंबई का दौरा किया था। पिछले साल दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सुक अयोध्या में आयोजित देव दीपावली समारोह में शामिल हुई थीं।


नक्सलियों ने आईईडी बम किया ब्लाट

सुकमा। जिले के ग्राम फूलबगडी-गोलाबेकुर के मध्य रास्ते में जवानों को नुकसान पहुँचाने के उद्देश्य से नक्सलियों ने आईईडी बम प्लांट किया था। जिसे मौके पर सुरक्षित निकालकर निष्क्रिय कर दिया गया है। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार नक्सलियों द्वारा लगाया गया 05 किलो का आईईडी बम सीआरपीएफ की सेकेंड़ बटालियन को सर्चिंग के दौरान मिला। जवानों ने इसे सुरक्षित निकालकर निष्क्रिय कर दिया है। सुकमा एसपी शलभ सिन्हा ने इसकी पुष्टि की है।


केजरीवाल की गृहमंत्री से आवास पर बैठक

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की। दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद दोनों नेताओं की यह पहली मुलाकात है, जो करीब 20 मिनट तक चली। बाद में केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि मुलाकात में दिल्ली के तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'गृह मंत्री अमित शाह जी से मिला। बहुत ही फलदायी मुलाकात रही। दिल्ली से जुड़े तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। हम दोनों सहमत हुए कि दिल्ली के विकास के लिए मिलकर काम करेंगे।' बाद में यह पूछे जाने पर कि क्या मुलाकात के दौरान शाहीन बाग के मसले पर भी गृह मंत्री के साथ कोई चर्चा हुई तो केजरीवाल ने साफ कहा कि इस पर कोई चर्चा नहीं हुई।


चंडीगढ़ प्रशासन नहीं कर पाया कोई फैसला

ट्रिब्यून फ्लाईओवर: प्रशासन नहीं ले पाया कोई फैसला, सांसद का मत- पक्ष में हो रिपोर्ट


आमित शर्मा


चंढीगढ़। पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा ट्रिब्यून फ्लाईओवर की जगह अन्य विकल्प तलाशने के आदेश पर चंडीगढ़ प्रशासन अब तक कोई फैसला नहीं ले पाया है। शहरवासियों की तरफ से दिए सभी सुझावों को प्रशासन रद्द कर चुका है, ऐसे में वह हाईकोर्ट को क्या विकल्प दें, इसको लेकर अधिकारी असमंजस की स्थिति में हैं। सांसद किरण खेर का मत है कि प्रशासन फ्लाईओवर के पक्ष में रिपोर्ट दे लेकिन प्रशासक वीपी सिंह बदनौर अभी तक कोई फैसला नहीं ले पाए हैं।12 फरवरी को हाईकोर्ट में हुई सुनवाई में प्रशासन ने रिपोर्ट दाखिल करने के लिए समय की मांग की है। फ्लाईओवर के मुद्दे पर अमर उजाला ने प्रशासन के सभी वरिष्ठ अधिकारियों से बात की। अधिकारी भी असमंजस की स्थिति में हैं। उन्हें कोई अन्य विकल्प नहीं सूझ रहा। ऐसे में प्रशासन कोर्ट के सामने कई प्रस्ताव रखने वाला है। सूत्रों के अनुसार, प्रशासन के अधिकारी यह भी सोचकर चल रहे हैं कि रिपोर्ट कुछ भी हो, उसके खिलाफ कुछ लोग सुप्रीम कोर्ट का रुख जरूर करेंगे। वहां पर केस लटक जाएगा और फिर पूरा प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला जाएगा। ऐसी स्थिति से बचने के लिए यूटी प्रशासन हाईकोर्ट में तीन-चार विकल्प देने की तैयारी कर रहा है। प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वह अपनी रिपोर्ट में यह बताएंगे कि ट्रिब्यून चौक पर सिग्नल फ्री इंटरचेंज का प्रस्ताव सफल नहीं हो पाएगा। इससे एक-दो साल लोगों को कुछ राहत जरूर मिलेगी लेकिन यह पक्का रास्ता नही होगा। कुछ ही सालों बाद वहां फिर से जाम लगने लगेगा। इसलिए वह कोई पक्का रास्ता निकालना होगा। कहा कि, अगर मंजूरी मिलती है तो वह हाईकोर्ट को बताएंगे कि कैसे वह विभिन्न चरणों में फ्लाईओवर का निर्माणकार्य पूरा करेंगे। इसके बाद वह हाईकोर्ट के फैसले का इंतजार करेंगे। गौरतलब है कि पिछली सुनवाई पर हाईकोर्ट इस फ्लाईओवर के लिए पेड़ों की कटाई करने पर रोक लगा चुका है। सैकड़ों पेड़ों के काटे जाने पर चिंता जताते हुए कहा था कि पर्यावरण एक महत्वपूर्ण मामला है। लिहाजा पहले यहां की ट्रैफिक की समस्या के लिए फ्लाईओवर के अलावा कोई अन्य विकल्प है तो उस पर भी गौर किया जाना बेहद जरूरी है, ताकि इन सैकड़ों पेड़ों को बलि दिए जाने से बचाया जा सके। सांसद का मत, फ्लाईओवर के पक्ष में रिपोर्ट दे प्रशासन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सांसद किरण खेर चाहती हैं कि प्रशासन अपनी रिपोर्ट में साफ कहे कि उन्होंने हर तरह का सर्वे कर लिया है और ट्रिब्यून चौक पर लगने वाले जाम से निपटने के लिए फ्लाईओवर ही एकमात्र रास्ता है। हालांकि अभी तक प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने अपना रुख साफ नहीं किया है। जानकारी के अनुसार इस बारे प्रशासक से भी चर्चा की जाएगी और अगर वह भी फ्लाईओवर के पक्ष में दिखाई देते हैं तो प्रशासन फ्लाईओवर के पक्ष में रिपोर्ट कोर्ट में सौंप सकता है। एडवाइजरी काउंसिल में भी जा सकता है ट्रिब्यून फ्लाईओवर का मुद्दा हाईकोर्ट में ट्रिब्यून फ्लाईओवर को लेकर अगली सुनवाई 26 मार्च को है। ऐसे में ट्रिब्यून फ्लाईओवर का मुद्दा एडवाइजरी काउंसिल में भी जा सकता है। अधिकारी यह भी मानकर चल रहे हैं कि प्रशासक वीपी सिंह बदनौर इस मुद्दे पर आखिरी फैसला लेने के लिए इसे एडवाइजरी काउंसिल में भी भेज सकते हैं। इस काउंसिल में विभिन्न क्षेत्रों के लोग सदस्य हैं। ऐसी स्थिति में प्रशासन रिपोर्ट दाखिल करने के लिए हाईकोर्ट से और भी समय की मांग कर सकता है। बता दें कि 23 दिसंबर को प्रशासन ने यूटी गेस्ट हाउस में जन सुनवाई की थी। इस दौरान 72 लोगों ने लिखित और बोलकर सुझाव दिए जबकि 8 लोगों ने प्रेजेंटेशन के जरिए अपनी बात कही। इसके बाद वित्त सचिव अजॉय कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में एक टेक्निकल कमेटी का गठन किया गया, जिसने आठों प्रेजेंटेशन को देखा। कमेटी ने 7 प्रस्तावों को रद्द कर एक तरुण माथुर के सिग्नल फ्री इंटरचेंज को विस्तृत रुप से समझने के लिए अलग से बैठक रखी। बैठक के बाद कमेटी ने उस प्रस्ताव को भी रद्द कर दिया।


अचानक ब्रेक लगाने से तीसरी कार पलटी

कार ने राहगीर को मारी टक्कर, 10 फुट उछला,दूसरी कार की छत पर गिरा, मौत


पंचकूला-शिमला। हाईवे पर मंगलवार रात दिल दहलाने वाला हादसा, अचानक ब्रेक लगाने से तीसरी कार पलटी। हादसे में घायल की मौत, पुलिस मृतक की पहचान में जुटी है, तीनों क्षतिग्रस्त कारों को कब्जे में लिया।करीब 10 फुट उछलकर दूसरी साइड गिरा व्यक्ति, गांव जुलमगढ़ के पास हुआ हादसा। पंचकूला-शिमला हाईवे पर मंगलवार रात गांव जुलमगढ़ के पास सड़क पार कर रहे व्यक्ति को एक कार ने जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि वह करीब 10 फुट ऊपर उछलकर डिवाइडर पार पिंजौर की तरफ से आ रही हरियाणा नंबर की कार की छत पर जा गिरा और लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। घबराए कार चालक ने तुरंत गाड़ी रोक दी। इसी दौरान पीछे आ रहे वैगनआर कार चालक ने भी तेजी से ब्रेक लगाया तो वैगनआर पलट गई। हादसे में लहूलुहान होकर सड़क पर गिरे व्यक्ति की मौत हो गई जबकि तीनों कार सवार कई लोग घायल हो गए। पुलिस जब तक मौके पर पहुंची घायल अस्पताल रवाना हो गए थे। खबर लिखे जाने तक मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी थी। शव को मोर्चरी में रखवाकर पुलिस ने क्षतिग्रस्त कारों को कब्जे में लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद सलाउद्दीन ने बताया कि हादसा उस वक्त हुआ जब एक व्यक्ति सड़क पार कर रहा था। पंचकूला से पिंजौर जा रही एक कार नंबर एचआ49जी-2340 के चालक ने सड़क पार कर रहे व्यक्ति को जोरदार टक्कर मार दी। इससे व्यक्ति करीब 10 फुट ऊपर उछलकर डिवाइडर पार कर दूसरी साइड पिंजौर से पंचकूला की ओर जा रही कार नंबर एचपी17ई-7675 की छत पर जा गिरा। व्यक्ति के अचानक ऊंचाई से कार की छत पर गिरने से एचपी नंबर की कार अचानक रुक गई। इसी बीच कार के पीछे पिंजौर से पंचकूला की ओर आ रही मारुति वैगनआर कार नंबर सीएच04जे-3194 के चालक ने अचानक ब्रेक लगाई तो कार पलट गई। गनीमत रही कि हादसे में वैगनआर कार का चालक और एचपी नंबर की कार के चालक बाल-बाल बच गए। पुलिस ने सभी क्षतिग्रस्त वाहनों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस फिलहाल मृतक की शिनाख्त के प्रयास में जुटी है। इसके अलावा पुलिस उक्त हरियाणा नंबर की कार के आरोपी चालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई में जुटी है। लोग लगाते रहे फोन, नहीं लगा पुलिस कंट्रोल रूम का नंबर  चश्मदीदों ने बताया कि उन्होंने पुलिस को हादसे की सूचना देने और मदद के लिए कई बार पुलिस कंट्रोल रूम को फोन लगाए लेकिन घटनास्थल से कंट्रोल रूम को कोई फोन नहीं लगा। लोगों ने चिंता व्यक्त कर कहा कि इससे पहले भी घटनास्थल के समीप से पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन लगने में परेशानी बनी रही है। यातायात हुआ प्रभावित:
पंचकूला-शिमला हाईवे पर सड़क हादसे के बाद वाहनों की गति धीमी हो गई। कई वाहन चालक मौके पर रुककर घायलों की मदद में जुट गए और उन्हें अस्पताल पहुंचाया। हालांकि पुलिस जब तक मौके पर पहुंची वहां कोई घायल नहीं मिला। एसएचओ चंडी मंदिर नवीन ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। पुलिस जब तक मौके पर पहुंची, घायल अस्पताल रवाना हो चुके थे। जब पुलिस सेक्टर-6 सिविल अस्पताल पहुंची तो वहां भी कोई घायल नहीं मिला। मामले की जांच की जा रही है।


हिमकेयर के तहत उपचार की सुविधा

पीजीआई चण्डीगढ़ में हिमकेयर योजना के तहत उपचार की सुविधा उपलब्ध


आमित शर्मा


चंडीगढ़। पीजीआई चण्डीगढ़ में हिमाचल प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी हिमकेयर योजना के तहत उपचार की सुविधा उपलब्ध है। यह जानकारी आज यहां जिला विकास समन्वयक एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में प्रदान की गई। बैठक की अध्यक्षता शिमला लोकसभा क्षेत्र के सांसद सुरेश कश्यप ने की। बैठक में जानकारी दी गई कि पीजीआई चण्डीगढ़ में हिमकेयर योजना स्वास्थ्य कार्ड से सम्बिन्धित सहायता के लिए सहायता काउंटर स्थापित किया गया है। यहां पर इस कार्य के लिए कर्मी नरेन्द्र से मोबाईल नम्बर 076967-59990 पर सम्पर्क किया जा सकता है। यह सहायता काउंटर पीजीआई चण्डीगढ़ के न्यू ओपीडी एक्सटेंशन ब्लाॅक में स्थापित किया गया है।  
हिमकेयर योजना से प्रदेश के वे सभी नागरिक लाभान्वित हो रहे हैं जो महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना के दायरे से बाहर हैं। इस योजना के अंतर्गत 5 लाख रुपए तक का निःशुल्क उपचार उपलब्ध है।
बैठक में बताया गया कि हिमकेयर योजना के तहत पंजीकरण प्रक्रिया 31 मार्च, 2020 तक पुनः आरम्भ की गई है।


सचिवालय एंट्री मे बनवाने पड़ेंगे पास

राणा ओबराय

सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में वीआईपी एंट्री पर मंत्रियों, एमएलए के साथ आये लोगो को भी बनवाना होगा पास

चण्डीगढ़। हरियाणा सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में वीआईपी लोगों जैसे मंत्रियों एमएलए एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आए लोगों को सचिवालय में वीआईपी गेट से एंट्री नहीं मिलेगी। सभी वीआईपी के साथ आए लोगों को अब वीआईपी गेट पर पास बनवाना होगा। उक्त जानकारी देते हुए राकेश कुमार ने बताया पहले लोग मंत्रियों, एमएलए और वीआईपी के साथ बिना पास के चले जाते थे। परंतु अब वीआईपी के साथ आये लोगो को एंट्री पास बनवाना अनिवार्य है।


पीएम मोदी ने लिट्टी-चोखा का लिया स्वाद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से आयोजित ‘हुनर हाट’ में बुधवार को अचानक पहुंचे। वहां लिट्टी-चोखा खाया एवं कुल्हड़ की चाय पी,जिसका भुगतान उन्होंने खुद किया। सूत्रों के मुताबिक मोदी दिन में करीब डेढ़ बजे इंडिया गेट के निकट राजपथ पर लगे ‘हुनर हाट’ में पहुंचे और वहां लगभग 50 मिनट तक रहे। मोदी ने विभिन्न स्टॉल पर जाकर उत्पादों को देखा और उनके बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री पहली बार किसी हुनर हाट में पहुंचे हैं। सूत्र के अनुसार,‘प्रधानमंत्री का यह दौरा तय नहीं था। वह बुधवार की दोपहर अचानक ही हुनर हाट पहुंचे। इससे वहां सभी लोग हैरान रह गए। उनके पहुंचने की जानकारी पाते ही अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी तत्काल वहां पहुंचे और उनकी अगवानी की।’ सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने ‘हुनर हाट’ में मौजूद एक स्टॉल पर रुककर लिट्टी-चोखा खाया,जिसके लिए उन्होंने 120 रुपये का भुगतान किया। इसके साथ ही उन्होंने दो कुल्हड़ चाय भी ली,जिसमें से एक उन्होंने स्वयं ली और दूसरी चाय नकवी को दी। मोदी ने चाय के लिए भी 40 रुपये का भुगतान किया। बता दें कि “कौशल को काम” थीम पर आधारित यह ”हुनर हाट” 13 से 23 फरवरी तक आयोजित किया गया है,जहां देश भर के “हुनर के उस्ताद” दस्तकार, शिल्पकार, खानसामे भाग ले रहे हैं। विदित हो कि अगले “हुनर हाट” का आयोजन रांची में 29 फरवरी से 8 मार्च, 2020 तक होगा। इसके बाद चंडीगढ़ में 13 से 22 मार्च, 2020 तक किया जाएगा।  आने वाले दिनों में “हुनर हाट” का आयोजन गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, देहरादून, पटना, भोपाल, नागपुर, रायपुर, अमृतसर, जम्मू, शिमला, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, अजमेर आदि में किया जाएगा।


अगले 3 साल सभी प्रारूप खेलूंगा: विराट

वेलिंग्टन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली खुद को तीन मुश्किल वर्षों के लिए तैयार कर रहे हैं। इन तीन वर्षों में वह सभी तीनों प्रारूपों में खेलेंगे। इसके बाद वह अपने वर्कलोड का आकलन करेंगे। कोहली चाहते हैं कि ट्रांजेशन पीरियड सेट हो जाए और उसके बाद वह इस पर विचार करें। दुनिया के चोटी के बल्लेबाज की नजर अगले तीन साल में होने वाले दो टी20 वर्ल्ड कप और एक 50 ओवरों के वर्ल्ड कप पर है। इसके बाद वह तीन में से किन्हीं दो प्रारूपों में खेलने पर विचार कर सकते हैं।
उन्होंने कहा, मेरी नजर बड़ी तस्वीर पर है। मैं खुद को अगले तीन साल के लिए तैयार कर रहा हूं। उसके बाद शायद मैं अलग बात करूंगा। शुक्रवार से न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज से पहले प्रेस क्रॉन्फ्रेंस में थकान और वर्कलोड मैनेजमेंट पर खुलकर बात की। उन्होंने कहा, इस विषय से आप छुप नहीं सकते। करीब 8 साल से मैं साल में लगभग 300 दिन खेल रहा हूं, इसमें सफर और प्रैक्टिस सेशन शामिल हैं। और हर बार उतने ही जोश और जुनून के साथ मैदान पर उतरता हूं। इससे आप पर काफी दबाव पड़ता है। कोहली इस साल 31 वर्ष के हो जाएंगे, उन्होंने माना कि बीच-बीच में ब्रेक लेते रहने से उन्हें फायदा हुआ है। उन्होंने कहा, ऐसा नहीं है कि खिलाड़ी हर समय इसी के बारे में सोचते रहते हैं। हम निजी रूप से बीच-बीच में ब्रेक लेते रहते हैं हालांकि कई बार शेड्यूल आपको ऐसा करने की इजाजत नहीं देता। यह उन खिलाडिय़ों के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है जो तीनों प्रारूपों में खेलते हैं। कोहली के लिए यह सिर्फ प्रदर्शन की बात नहीं है लेकिन कप्तानी की भी बात है जिसमें आपको रणनीति बनाने के लिए लगातार दिमाग ऐक्टिव रखना पड़ता है। उन्होंने कहा, कप्तान होना, प्रैक्टिस सेशन में भी वही जोश दिखाना, यह सब आसान नहीं है। इससे आप पर काफी जोर पड़ता है। बीच-बीच में ब्रेक लेते रहना अच्छा रहता है। उन्होंने कहा, जब मेरा शरीर और दबाव नहीं झेल पाएगा, जब मैं 34 या 35 साल का हो जाऊंगा, तब शायद हम अलग बात करेंगे। अगले दो-तीन साल तक कोई समस्या नहीं है। 2023 विश्व कप तक अपनी मौजूदगी और फॉर्म की अहमियत को कोहली बखूबी समझते हैं। उन्होंने कहा, मैं इसी जज्बे से खेल सकता हूं और समझता हूं कि टीम को अगले दो-तीन साल तक मेरे सहयोग की जरूरत है, तो मैं चाहता हूं कि एक ओर ट्रांजिशन पीरियड से टीम आसानी से गुजर जाए।


कर्ज लेकर खा-खिला सकते हैं पिज्जा-बर्गर

नई दिल्ली। अब आप कर्ज लेकर पिज्जा-बर्गर खा और खिला सकते हैं। ऑनलाइन वित्तीय कंपनियां (फिनटेक) अब ई-कॉमर्स से छोटी-मोटी खरीदारी के साथ एप के जरिए खाना मंगाने के लिए भी तुरंत कर्ज की पेशकश कर रही हैं। इसे कंपनियों ने ‘अभी खर्च करो और बाद में चुकाओज् (बाई नाऊ पे लेटर) नाम दे रखा है।
कंपनियां कर्ज देने से पहले आपके और दोस्तों के सोशल मीडिया प्रोफाइल देखती हैं। मोबाइल या टेलीफोन बिल चुकाने का इतिहास, ऑनलाइन शॉपिंग का तरीका और इंटरनेट पर बिताए जाने वाले वक्त पर भी नजर रखी जाती है। खर्च करने के तरीके को भी देखा जाता है। अगर प्रोफाइल इन बातों के मुताबिक होता है तो पैन और आधार कार्ड अपलोड करते ही कर्ज मिल जाता है।
फिनटेक कंपनियां स्पेंड नाऊ पे लेटर के तहत किसी पर्यटन स्थल पर छुट्टियां बिताने जाने के लिए टिकट और होटल की बुकिंग तक के लिए कर्ज दे रही हैं।


इस पेशकश के जरिए कंपनियां 100 रुपये से लेकर पांच हजार रुपये तक की खरीदारी की सुविधा देती हैं। हालांकि, ग्राहकों की वित्तीय स्थिति के मुताबिक कुछ कंपनियां 30 हजार से दो लाख रुपये तक खर्च करने की सीमा देती हैं।
ऑनलाइन खाते से लेनदेन कंपनियां शुरुआत में उन युवाओं को आसानी से कर्ज देती हैं जिन पर पहले से कोई कर्ज नहीं होता है। ये ऑनलाइन खाते खोलती हैं, जो आईडी और पासवर्ड से संचालित होते हैं। आपकी क्रेडिट सीमा के अनुसार उसमें कंपनियां राशि पहले से डाल देती हैं। कंपनियां खर्च राशि पर 36 फीसदी तक ब्याज वसूलती हैं। देरी से बिल चुकाने और अन्य जुर्माने को जोड़ लें तो यह काफी महंगा पड़ता है। कंपनियां 10 रुपये प्रतिदिन से बिल की राशि का 30 फीसदी तक शुल्क वसूलती हैं।


न्यूजीलैंड के खिलाफ उसके घर में खेलना

वेलिंग्टन। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने की सबसे बड़ी दावेदार टीम इंडिया अब अपने सबसे मुश्किल इम्तिहान की ओर है। टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ उसके घर पर खेलना है और यहां हमेशा से ही चुनौती उसके लिए कड़ी रही है। कीवीलैंड की तेज पिचों पर बल्ले और बॉल के साथ-साथ हवा की हरकत भी खेल पर अपना प्रभाव छोड़ती है और सीम-स्विंग बोलिंग विराट की टीम के लिए हमेशा से ही चुनौती रहा है।
शुक्रवार को जब टीम इंडिया वेलिंग्टन में 2 टेस्ट की सीरीज का आगाज करने उतरेगी तो उसके माइंड में ये सभी चीजें होंगी कि यहां पर लाल गेंद से विदेशी चुनौतियों का कंप्लीट पैकेज मिलता है। यहां ठंडी तेज हवा, बारिश, सीम और स्विंग होती गेंदें हर वक्त बल्लेबाजों का टेस्ट लेती हैं। ऐसे में कोहली, रहाणे और पुजारा के अलावा टीम के बाकी बल्लेबाजों को भी हर हाल में अपने साहस का परिचय देना होगा। न्यूजीलैंड के खिलाड़ी तो इन हालात में खेलने के आदी हैं। लेकिन भारतीय टीम के कई सदस्य यहां पहली बार खेलने आए हैं। यहां हवा का प्रभाव इससे ही समझ लीजिए कि स्टंप्स पर लगे बेल्स भारी होने के बावजूद मैच में कई-कई बार सिर्फ हवा के सहारे ही नीचे गिरते रहते हैं। हवा के चलते गेंदबाज चाहकर भी अगेंस्ट द विंड बॉल डालें तो भी वह हवा के साथ ही निकल लेती है। यहां हर गेंद में हरकत दिखती है, जिससे अंपायरों को हमेशा चौकन्ना रहना पड़ता है। स्लिप में खड़े फील्डर और विकेटकीपर को हर गेंद पर लपकने के लिए तैयार रहना पड़ता है।


3 दिवसीय शिव पूजा का आयोजन

नीमच। नीमच के महांकाल के नाम से अंचल में प्रसिद्ध श्री किलेश्वर महादेव में शिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। तीन दिवसीय मेले की शुरूआत 19 फरवरी गुरूवार को होगी। अति प्राचीन मंदिर श्री किलेश्वर महादेव में तीन दिनी मेले में आस्था का सैलाब उमडेगा। महाशिवरात्रि पर इस बार 29 साल बाद शश योग बन रहा है। शशि, सुस्थिर, सुस्थिर और सवार्थ योग में शिवरात्रि मनेगी। महांकाल उज्जैन की तर्ज पर महादेव मंदिर पर पहली बार भस्माआरती का आयोजन रखा गया है। नीमच सीआरपीएफ रोड पर अति प्रचाीन चमत्कारिक मंदिर श्री किलेश्वर महादेव में गुरूवार सुबह नौ बजे मेले का शुभारंभ होगा। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष तीन दिवसीय लघु रूद्र महायज्ञ का आयोजन होगा,जो सात महापंडितों द्वारा संपन्न करवाया जाएगा। 21 फरवरी को 4. 15 बजे भस्म आरती का आयोजन रखा गया है, उज्जैन से भस्म लाई जाएगी। सुबह आरती के बाद दोपहर एक बजे हरिद्वार से लाए गए गंगाजल से भगवान भोलेनाथ का अभिषेक किया जाएगा। इसके बाद भगवान भोलेनाथ का फूलों से आकर्षक श्रृंगार किया जाएगा और छप्पन भोग लगाया जाएगा। शाम सात बजे विशेष आरती होगी।
भक्तों की सुविधाएं बढाई,सुंदर बगीचे का निर्माण—
श्री किलेश्वर महादेव मंदिर समिति के सचिव राजेंद्र गर्ग एसपी ने बताया कि तीन दिवसीय शिवरात्रि मेले में भक्तों के लिए स्वच्छ पानी के लिए कूलर लगाए गए है। बैठने के लिए सुंदर डोम का निर्माण करावाया गया है। मनोहारी बगीचे का निर्माण पूर्ण हो गया है। मंदिर परिसर में विद्युत चलित झांकी आकर्षक का केंद्र रहेगी।


3 बच्चों, पत्नी को कार में जिंदा जलाया

सिडनी। एक पूर्व नेशनल रग्बी प्लेयर ने बुधवार को अपने तीन बच्चों और पत्नी को कार में बंदकर जला दिया। घटना में 6, 4 और 3 साल के बच्चों की मौत हो गई। वहीं घायल पत्नी को हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां उसकी भी मौत हो गई। ये मामला ऑस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन का है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक 31 साल के हन्ना बैक्सटर नाम की महिला कार से ये कहते हुए कूदी थी, कि पति ने उनके ऊपर पेट्रोल डाल दिया है। सड़क से गुजर रहे एक व्यक्ति ने महिला की आग बुझाने में मदद की थी। इस घटना में बच्चों के पिता रोवन चार्ल्स बैक्स्टर भी घायल हो गए थे। उन्होंने बाद में खुद को चाकू मारकर आत्महत्या कर ली। घटना से पहले सभी लोग एक एसयूवी में सवार थे। बता दें कि रोवन ऑस्ट्रेलिया के नेशनल रग्बी लीग के पूर्व खिलाड़ी थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीते साल के आखिर में पति-पत्नी का रिश्ता टूट गया था। और महिला अपने पैरेंट्स के घर रहने लगी थी। रोवन चार्ल्स के एक फ्रेंड ने बताया कि वह डिप्रेशन से गुजर रहा था। कपल के पड़ोसियों का कहना है कि दोनों रेंटेड घर में साथ रहे थे और बाद में अलग हो गए। इससे पहले वे एक खुश परिवार की तरह नजर आते थे और पड़ोसियों ने कभी लड़ाई-झगड़े की बात नहीं सुनी।


बालाजी के भजनों पर झूमते भक्त

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में मनाए जा रहे श्री बालाजी धाम के 12वें वार्षिकोत्सव कार्यक्रमों की श्रंखला में देर रात भजन संध्या का आयोजन किया गया। श्री बालाजी महाराज के भजनों पर श्रद्धालु देर रात तक झुमते रहे। बुधवार को पूर्ण आहूति और विशाल भंडारे के साथ वार्षिकोत्सव का समापन हो गया। आपको बता दें कि श्री बालाजी सेवा समिति के तत्वावधान में बेहट रोड स्थित श्री बालाजी धाम का बारहवां वार्षिकोत्सव मनाया जा रहा है। इसी के तहत मंगलवार की रात मेहंदीपुर राजस्थान से पधारे श्री प्रेतराज सरकार के महंत पूज्य श्री मोहनपुरी, गोस्वामी जी, तथा श्री बालाजी, धाम के संस्थापक गुरु श्री अतुल जोशी जी महाराज के पावन सानिध्य में भजन संध्या का आयोजन किया गया। श्री मोहनपुर गोस्वामी और श्री अतुल जोशी जी महाराज ने श्री बालाजी महाराज, कोतवाल कप्तान एवं श्री प्रेतराज सरकार के विग्रह के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर एवं विधि विधान से पूजन कर भजन संध्या का शुभारंभ किया। सहारनपुर के कलाकार गोपाल सांवरा ने श्री गणेश वंदना एवं श्री बालाजी महाराज तथा भगवान शंकर के भजन प्रस्तुत किए। इसके बाद बरेली से पधारी अंजली द्विवेदी ने भी श्री बालाजी महाराज के एक से बढ़कर एक भजन प्रस्तुत किए तो पूरा पंडाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। दिल्ली से आए शीतल पांडे ने एक तेरा भरोसा बालाजी, वानरों की देखकर सेना महान तथा अन्य भजन प्रस्तुत किए तो पंडाल में मौजूद श्रद्धालु भक्ति रस में झूमने लगे। इसके अलावा बुधवार की सुबह गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज के श्रीमुख से दिव्य सत्संग की अमृत वर्षा हुई। उत्तराखंड के राज्यमंत्री राजकुमार पुरोहित, उद्योगपति अनिल गुप्ता, आचार्य चंद्रपाल दीक्षित तथा पुनीत अनेजा ने दिव्य सत्संग समारोह का दीप प्रज्जवलित किया। इसके बाद गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज ने बताया कि भगवत गीता में भगवान हनुमान जी का वर्णन है। गीता के प्रथम अध्याय से ही हनुमान जी का प्रवेश होता है। उन्होंने कहा कि हनुमान जी भगवान के परम और प्रिय भक्त है। विश्व में जितने मंदिर भगवान राम के हैं, उससे कहीं अधिक मंदिर हनुमान जी के हैं। इससे पूर्व श्री बालाजी महाराज, कोतवाल कप्तान साहब और श्री प्रेतराज सरकार को 56 भोग अर्पित किए गए। जिसके बाद श्री बालाजी धाम परिसर में विशाल भंडारे का आयोजन किया। विशाल भंडारे के साथ ही 1 फरवरी से चला आ रहा वार्षिकोत्सव संपन्न हो गया। श्री बालाजी धाम के संस्थापक श्री अतुल जोशी जी महाराज ने सभी अतिथियों, यजमान और कार्यक्रम में भागीदारी और सहयोग करने वाले सभी लोगों का आभार जताया। इस दौरान गुरुमाता श्रीमती अरुणा जोशी, मुकेश दीक्षित, शुभम कौशिक, अरविंद जैन, सुरंजन चैधरी, धर्मपाल, अशोक शर्मा, विवेक गुप्ता, रेणू विजन, रजनी वालिया, उषा पांचाल, शुभम, अनिल सैनी, पंडित खेमराज मिश्रा, गोविंद जोशी, शीला विजन, धर्मपाल, राधेश्याम यादव, अयोध्या प्रसाद, अखिल महेश्वरी, अक्षय सैनी, निमिश बतरा, सतीश शर्मा, चंद्रप्रकाश, नवीन वालिया, सुभाष, रामप्रसाद शक्ला, विनोद आदि उपस्थित रहे।


पाक में खाद्य वस्तुओं की किल्लत बढ़ी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में खाद्य वस्तुओं की किल्लत बढ़ गई है। अब पीएम इमरान खान ने जमाखोरों पर नजर रखने के लिए इंटेलिजेंस ब्यूरो और दुनिया में पाक के लिए जासूसी करने वाली आईएसआई को आदेश दिए हैं। पीएम इमरान खान ने देश में खाद्य वस्तुओं की किल्लत और जमाखोरी की शिकायतों को लेकर मीटिंग बुलाई और आईएसआई को यह आदेश दिया। पाकिस्तान के ट्रिब्यून अखबार की वेबसाइट के मुताबिक सभी प्रांतों की सरकारों को भी इस मसले पर कार्रवाई करने और 48 घंटों के अंदर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। इमरान खान के दफ्तर की ओर से जारी बयान में कहा गया कि अधिकारियों को खाद्यान्न सामग्री की तस्करी रोकने के लिए कदम उठाने को कहा गया है। इस दौरान देश में खाने-पीने की कमी पैदा होने पर चिंता जताते हुए इमरान खान ने कहा कि तस्करी के चलते कीमतों में इजाफा हो रहा है। इससे देश में खाद्यान्न वस्तुओं पर देश के खजाने से बेजा रकम खर्च हो रही है। उन्होंने अधिकारयों से कहा कि खाद्यान्न सामग्री की तस्करी को देश हित में रोका जाना जरूरी है और इसमें किसी भी तरह की लापरवाही को सहन नहीं किया जाएगा। बता दे कि पाकिस्तान में बीते कई महीनों से आटे के दाम बहुत ज्यादा हैं। यही नहीं टमाटर की कीमतें भी आसमान छूती रही हैं।


2004 की मौत, 74,185 लोग संक्रमित

बीजिंग। चीन के हुबई प्रांत में महामारी का रूप ले चुके घातक कोरोना वायरस की चपेट में आकर अबतक 2004 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि इससे संक्रमित 74,185 लोगों का इलाज विभिन्न स्थानों पर किया जा रहा है।
चीन के स्वास्थ्य समिति ने बुधवार को बताया कि कोरोना वायरस के कारण पिछले 24 घंटों में 136 और लोगों की मौत हो गयी। जिससे अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 2004 हो गयी है। इस प्रांत में कोरोना से संक्रमण के 1749 नये मामले सामने आये जिससे इसके पीडि़तों की संख्या बढ़कर 74185 पहुंच गयी है। पिछले 24 घंटों में घातक बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। और अबतक कुल 14376 लोग इससे उबरने में कामयाब हुए हैं। इस दौरान 1824 लोग वायरस के संक्रमण से मुक्त हुए। इसबीच हुबेई प्रांत में खतरनाक कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर के अस्पताल प्रमुख लियू झिमिंग की कोरोना वायरस की चपेट में आने से मौत हो गयी। वुहान नगरपालिका स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि लियू झिमिंग की मौत मंगलवार सुबह स्थानीय समयानुसार 10 बजकर 54 मिनट पर हुई। आयोग ने बताया कि साथी डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की तमाम कोशिश की लेकिन वे उन्हें नहीं बचा सके। गौरतलब है कि हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में कोरोना वायरस का पहला मामला वर्ष 2019 के दिसंबर के अंत में सामने आया था जिसके बाद यह वायरस भारत समेत दुनिया के 25 से अधिक देशों में फैल चुका है।


सीएएः तमिलनाडु विधानसभा की घेराबंदी

चेन्नाई। तमिलनाडु में मद्रास हाईकोर्ट ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में मुस्लिम संगठनों द्वारा तमिलनाडु विधानसभा की घेराबंदी करने पर रोक लगा दी। मद्रास हाईकोर्ट में जस्टिस एम सत्यनारायण और आर हेमलता की बेंच ने मुस्लिम संगठनों के द्वारा तमिलनाडु विधानसभा की घेराबंदी करने पर 11 मार्च तक अंतरिम रोक लगाई है। मद्रास हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए तमिलनाडु पुलिस को 11 मार्च तक प्रदर्शन की अनुमति ना देने का आदेश दिया। इस मामले की अगली सुनवाई 12 मार्च को होगी। तमिलनाडु इस्लामिक एंड पॉलिटिकल ऑर्गनाइजेशन और इसके सहयोगी मुस्लिम संगठनों ने 19 फरवरी को नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में तमिलनाडु विधानसभा की घेराबंदी करने का आह्वान किया था।


18 आवासीय विधालयों का होगा निर्माण

आगरा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रमिकों के बच्चों और अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिये वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट के माध्यम से प्रदेश के 18 मण्डलों में 18 अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना की जा रही है। इनमें अटल आवासीय विद्यालय को, तहसील किरावली आगरा को भी स्वीकृति दी गई है। अब श्रमिक भी अपने बच्चों को अटल आवासीय विद्यालय में भर्ती करवाकर शिक्षा प्रदान करवा सकेंगे। श्रमिक भाई, बच्चों की शिक्षा के सम्बन्ध में चिन्तामुक्त रहकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे सकेंगे। मुख्यमंत्री ने मंगलवार शाम आज यह विचार आगरा में उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा संचालित ‘कन्या विवाह सहायता योजना’ के तहत निर्माण श्रमिक पुत्री सामूहिक विवाह समारोह कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम समाज केे अन्तिम पायदान पर बैठे उस व्यक्ति को, जो राष्ट्र निर्माण में के लिए कार्य करता है, उसको सम्मान देने का कार्यक्रम है। सामूहिक विवाह कार्यक्रम में कुल 1260 जोड़ों का विवाह सम्पन्न हुआ, जिसमें 35 अल्पसंख्यक (मुस्लिम समुदाय) के जोड़े भी शामिल हुये। उन्होंने इस अवसर पर 05 जोड़ों को विवाह प्रमाण-पत्र भी दिये। उन्होंने कहा कि श्रमिक राष्ट्र निर्माता है। जब वह पसीना बहाता है, मेंहनत करता है। और अपने पुरूषार्थ का परिचय देता है, तब हम लोगों को एक अच्छी सड़क मिल पाती है। अच्छी सुविधा मिल पाती है। अच्छे मकान मिल पातें हैं। कोई भी अच्छा कार्य श्रमिकों के परिश्रम व पुरूषार्थ पर निर्भर करता है। योगी ने कहा कि आज 1,260 जोड़े दाम्पत्य जीवन में बंध करके एक नये जीवन में प्रवेश कर रहें हैं। उन्होंने उन सभी कन्याओं को ह्दय से बधाई देते हुए उन सब के सफल दाम्पत्य जीवन की ईश्वर से कामना की। इसके लिये उन्होंने श्रम एवं सेवायोजन विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि श्रम एवं सेवायोजन विभाग द्वारा प्रत्येक कन्या की शादी के लिये 75 हजार रुपए खर्च किये जा रहें हैं, जिसमें 65 हजार रुपये पंजीकृत श्रमिक के खाते में जमा होते हैं तथा पांच-पांच हजार रुपये वर व वधू के लिये प्रदान कि जाते हैं। यह एक अच्छा प्रयास है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ढ़ाई वर्ष पहले राज्य सरकार द्वारा गरीब कन्याओं की शादी के लिये मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया था। प्रदेश के अन्दर विगत् ढ़ाई वर्ष में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत अब तक एक लाख कन्याओं का विवाह सम्पन्न हुआ है। उन्होंने बताया कि श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या के अनुसार निर्माण इकाइयों से जुड़े हुए पंजीकृत श्रमिकों की 20 हजार पुत्रियों की शादियाँ पिछले दिनों सम्पन्न हुई हैं। इस अवसर पर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (राज्य मंत्री) चौधरी उदयभान सिंह, समाज कल्याण (राज्य मंत्री) डाॅ0 गिर्राज सिंह धर्मेश, जनप्रतिनिधिगण एवं शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


अंतरिक्ष स्टेशन ले जाएगा 'स्पेसएक्स'

प्रियंका गौतम


स्पेसएक्स पहली ऐसी निजी कंपनी होगी, जो अपने क्रू ड्रैगन यान के जरिये अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन लेकर जाएगी। नासा ने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी है। स्पेसएक्स इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क की कंपनी है। पहले अंतरिक्ष यात्री वाले क्रू ड्रैगन कैप्सूल के परीक्षण पूरा करते ही नासा ने स्पेसएक्स के यान भेजने पर मुहर लगाई। जनवरी में फ्लोरिडा स्थित जॉन एफ कैनेडी स्पेस सेंटर पर किए गए परीक्षण में सफल रहे। इस मिशन में जानूबझकर खराब रॉकेट से क्रू ड्रैगन को सफलतापूर्वक बचाया गया। इसमें क्रू ड्रैगन को फॉल्कन-9 रॉकेट से लॉन्च किया गया था। करीब 16 किमी की ऊंचाई पर जाने के बाद फॉल्कन-9 रॉकेट के इंजन बंद कर दिए गए थे। इतनी ऊंचाई से गिरने में उसे महज नौ मिनट लगे। क्रू ड्रैगन चार पैराशूट की मदद से अटलांटिक महासागर में उतरा।


स्पेसएक्स के कई परीक्षण पूरे
हाल में स्पेसएक्स के कई परीक्षण पूरे हुए. इसमें स्पेसएक्स के डेमो-2 अंतरिक्षयात्री के लिए फाल्कन 9 बूस्टर बी1058, एक फॉल्कन ऊपरी चरण, क्रू ड्रैगन कैप्सूल सी 206 और एक क्रू ड्रैगन को ले जाने वाला ट्रंक के परीक्षणों पूरा किया गया। अब यह केप केनवरल से उड़ान भरने की तैयारी कर रहा है।


10 लाख लोगों को भेजने की तैयारी
एलन मस्क ने जनवरी में ही एलान कर दिया था कि उन्होंने 2050 तक 10 लाख लोगों को मंगल पर भेजने का लक्ष्य बनाया है। उनका रॉकेट हर साल कई मेगाटन कार्गो ले जाएगा, इससे कुछ साल में इंसानों की मौजूदगी के लिए मंगल ग्रह पूरी तरह से तैयार हो जाएगा। दरअसल, बोइंग को तीन अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर आईएसएस जाना था। दिसंबर में भी बोइंग को अपने अंतरिक्ष यान का कक्षा में उड़ान का परीक्षण रोकना पड़ा था। रॉकेट के साथ द स्टारलाइनर नाम के कैप्सूल को लगाया गया था।


संक्रमण से रक्षा करती है तुलसी

तुलसी एक ऐसा पौधा है जो हर घर में सरलता से उपलब्ध हो जाता है। हाल में हुए रिसर्च से पता चला है कि तुलसी स्ट्रेस से भी बचाती है। तुलसी बॉडी में कोर्टिसोल यानि स्ट्रेस हार्मोन के लेवल को सामान्य बनाकर स्ट्रेस से राहत देने में हेल्प करती है।


इसके अतिरिक्त यह स्ट्रेस के कारण ब्रेन पर होने वाले नेगेटिव असर का मुकाबला करने में हेल्प होती है। इस खुशबूदार पौधे की पत्तियां एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण मानसिक स्पष्टता को बढ़ावा देने के साथ-साथ फ्री रेडिकल्स को निष्क्रिय करके स्ट्रेस कम करने में जरूरी किरदार निभाती हैं इसकी सिर्फ 5 पत्तियों के सेवन से स्वास्थ्य में कई फायदा मिलते है। आइये जानते है इसके फायदों के बारे में


स्ट्रेस कम करें : तुलसी केतों में भरपूर मात्रा में पाया जाने वाला ताकतवर एडाप्टोजेनिक गुण इसे बहुत अच्छा एंटी-स्ट्रेस एजेंट बनाते हैं। जो नर्वस को शांत करने व ब्लड सर्कुलेशन को विनियमित करने में मदद करता है. यह अत्यंत जरूरी पोषक तत्व ऑक्सीकरण प्रक्रिया (स्ट्रेस के कारण होता है) को धीमा करने व स्ट्रेस के हानिकारक प्रभावों से बॉडी की रक्षा करता है।


अन्य बीमारियां के लिए टिप्स : 0स्ट्रेस दूर करनेके अतिरिक्त तुलसी अन्य कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं में भी उपयोगी होती है। तुलसी ब्लड में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कंट्रोल करने की क्षमता रखती है। शरीर के वजन को कंट्रोल रखने हेतु भी तुलसी अत्यंत गुणकारी है। चाय बनाते समय तुलसी के कुछ पत्तों को डालने से सर्दी, बुखार एवं मसल्स पेन से राहत मिलती है। तुलसी के काढ़े में थोड़ा-सा सेंधा नमक एवं पीसी सौंठ मिलाकर सेवन करने से कब्ज दूर होती है। दूषित पानी में तुलसी की कुछ ताजी पत्तियां डालने से पानी का शुद्ध किया जा सकता है। नियमित रूप से प्रातः काल के समय पानी के साथ तुलसी के 5 पत्ते निगलने से कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों एवं दिमाग की कमजोरी से बचा जा सकता है।


लहसुन खाने के होते है कई फायदे

हम अपने खाने में ज्यादा नमक, मिर्च, गरम मसाला, डालकर अपनी सेहत खराब कर बैठते हैं और ज्यादा मसालेदार खाने से हमारे शरीर में कई बीमारियां उत्पन्न होने लग जाती हैं, लेकिन अगर हम डॉक्टरों की सहमति से दिन में दो-तीन कली लहसुन खाएं तो हमारे शरीर को यह फायदे मिलेंगे:-
लहसुन में बहुत ही ज्यादा मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं, जिसकी वजह से हमारे शरीर से कई दिन बीमारी रफा-दफा हो जाती हैं, अगर हमें लंबा जीवन जीना है, तो रोज दो से तीन कली लहसुन अपने खाने में डालकर खाना चाहिए, इसे खाना स्वादिष्ट बनता है और हमारा शरीर स्वस्थ बन जाता है।
बुढ़ापे में अक्सर हमें हार्ट अटैक, स्ट्रोक्स और ब्लड प्रेशर हाई लो की बीमारी होती है, अगर हम दिन में दो से तीन कली लहसुन खाएंगे तो लहसुन के एंटी ऑक्सीडेंट हमारे शरीर को स्वस्थ बना देंगे, जिसकी वजह से हमें हार्ट अटैक, स्ट्रोक और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी नहीं होंगी।
आप खाने में अगर ज्यादा तेल खाते हैं तो आपकी नालियों में कोलेस्ट्रॉल जम जाता है, इसकी वजह से हमें ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियां होती हैं, अगर हम दिन में दो से तीन कली लहसुन खाएंगे, तो हमारी कोलेस्ट्रोल की बीमारी भी दूर हो जाएगी।
अल्जाइमर और डिमेंशिया दोनों दिमाग से जुड़ी बीमारियां हैं, यह बीमारियां आदमी के 50 साल के होने के बाद सक्रिय होने लग जाती हैं, क्योंकि हमारे शरीर में बूढ़े होते-होते दिमाग की नसें ब्लॉक होती रहती हैं, जिसकी वजह से हम कई चीजें भूलने लग जाते हैं, अगर हम दिन में दो से तीन कली प्याज खाएंगे, तो हमारा मस्तिष्क स्वस्थ बना रहेगा और नालियों की ब्लॉकेज बंद हो जाएंगी।
अगर हम लंबा जीवन व्यतीत करना चाहते हैं और अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो हमें दिन में दो से तीन कली लहसुन का सेवन करना ही चाहिए, लहसुन हमारे शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा बढ़ाता है और शरीर से बीमारियों को दूर रखता है।
इसके अलावा लहसुन हमारे शरीर की गंदगी को भी साफ करता है, हमारे अंदर तरह-तरह के जर्म्स मौजूद होते हैं, इसकी वजह से हमारे पेट में बीमारियां बन जाती हैं, और अक्सर हमें दस्त, बदहजमी जैसी बीमारियां रहती हैं, दो-तीन कली लहसुन खाने से पेट की बीमारियां भी दूर हो जाती हैं, और हमारे शरीर साफ हो जाता है।


भाजपा पर तंजः 'याद रहेगा सबक'

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणामों की ओर इशारा करते हुए मंगलवार को कहा कि दिल्ली की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को जो सबक सिखाया है वह उसे लंबे समय तक याद रहेगा। पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में गहलोत ने देश के हालात व संविधान पर चोट की बात की। उन्होंने कहा, ”क्या-क्या अल्फाज़ बोले जा रहे हैं देश में, दिल्ली चुनाव उसका नमूना है। पूरी दुनिया ने देखा, पूरे देश ने देखा, एक के बाद एक … कोई गोली मार रहा है गद्दारों को, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कह रहे हैं ये ऐसे नहीं मानेंगे गोली से मानेंगे। क्या-क्या अल्फाज नहीं बोले गए।


गहलोत ने कहा, ”सत्तापक्ष के लोग खुद ही गृहयुद्ध की स्थिति पैदा करने का प्रयास करते हैं। ऐसा पहली बार सुना हम लोगों ने और ये दुःखद है … पर सबक जो सिखाया दिल्ली की जनता ने, मैं समझता हूं कि वह सबक लंबे समय तक भाजपा को याद रहेगा। राज्य सरकार के काम पर गहलोत ने कहा, ”हम चाहेंगे कि जनता की सुनवाई सर्वोपरि हो और जो कर्मचारी, अधिकारी उसमें कोताही बरतेगा, सरकार की नज़र उसपर रहेगी। सुनवाई बहुत आवश्यक है। गहलोत ने इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री जयनारायण व्यास को उनकी जयंती पर पुष्पांजलि अर्पित की।


कांग्रेस का समर्थन, शरद की खिलाफत

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं। सीएम उद्धव ठाकरे ने सीएए का समर्थन किया तो एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि सीएए पर हम अपने रुख पर कायम हैं। इससे पहले दोनों के बीच एल्गार परिषद केस में मतभेद सामने आया था।


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा सीएए और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) दोनों अलग हैं और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) अलग है। सीएए लागू होने पर किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है। राज्य में एनआरसी नहीं है और इसे लागू नहीं किया जाएगा। इस पर एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि सीएए पर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का अपना नजरिया है, लेकिन जहां तक एनसीपी का सवाल है, हमने उसके खिलाफ मतदान किया है। हर चीज के बारे में हमारी (शिवसेना और एनसीपी) एक जैसी राय नहीं हो सकती, हम कोशिश करेंगे और उन्हें समझा लेंगे। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर एनआरसी को लागू किया जाता है तो यह न केवल हिंदू या मुस्लिम बल्कि आदिवासियों को भी प्रभावित करेगा।


केंद्र ने एनआरसी पर अभी चर्चा नहीं की है। एनपीआर एक जनगणना है, और मुझे नहीं लगता कि कोई भी प्रभावित होगा क्योंकि यह हर दस साल में होता है। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि एलगार परिषद का मामला और भीमा कोरेगांव का मामला अलग-अलग है। भीमा कोरेगांव मामला मेरे दलित लोगों से संबंधित है और मामले से संबंधित जांच अभी तक केंद्र को नहीं दी गई है और इसे केंद्र को नहीं सौंपा जाएगा। केंद्र ने एल्गार परिषद मामले की जांच कर रही है।


दिल्लीः क्रियान्वयन के लिए मीटिंग बुलाई

सुमित शाक्य


नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ‘दस गारंटियों’ के अमलीकरण (क्रियान्वयन) के लिए चर्चा करने के लिए बुधवार को वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इन गारंटियों में निर्बाध बिजली आपूर्ति, कूड़ा रहित दिल्ली तथा अनधिकृत कॉलोनियों के लिए मूलभूत सुविधाएं देना शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि बुधवार दोपहर को होने वाली बैठक के एजेंडा में पेयजल की पाइप द्वारा आपूर्ति, सभी बच्चों के लिए शिक्षा, समाज के विभिन्न तबकों के लिए नि:शुल्क बस सेवा, स्वास्थ्य सेवाएं, महिला सुरक्षा, यमुना की सफाई आदि शामिल हैं।


केजरीवाल ने रविवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इसके बाद दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों के शीर्ष अधिकारियों के साथ यह उनकी पहली बैठक है। सूत्रों ने बताया कि सभी सचिवों और प्रधान सचिवों को बैठक में शामिल होने को कहा गया है। बुधवार को होने वाली बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री करेंगे। बुधवार को ही मंत्रिमंडल की बैठक भी होनी है। दिल्ली मंत्रिमंडल के सदस्यों ने अपने-अपने प्रभार संभालने के बाद कहा था कि वे ‘गारंटी कार्ड’ में किए गए वादों को पूरा करने के लिए काम करेंगे। गारंटी कार्ड में प्रदूषण घटाना और मेट्रो नेवटर्क का विस्तार करना शामिल है।


जामिया का एचआरडी को 2.66 करोड़ का बिल

जामिया यूनिवर्सिटी ने HRD मिनिस्ट्री के नाम 2.66 करोड़ का बिल क्यों फाड़ दिया?
 
सुमित
जामिया यूनिवर्सिटी ने HRD मिनिस्ट्री के नाम 2.66 करोड़ का बिल क्यों फाड़ दिया?
जामिया प्रशासन ने दिल्ली पुलिस के नाम बिल फाड़ दिया है कि तोड़ा है तो अब भरो सारा मुआवज़ा (तस्वीर सीसीटीवी वीडियो)
नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) को तगड़ा बिल भेजा है। मंत्रालय को जामिया यूनिवर्सिटी की तरफ़ से दो करोड़, 66 लाख का बिल भेजा गया है। जामिया प्रशासन ने बिल भेजते हुए कहा है कि 15 दिसंबर, 2019 को यूनिवर्सिटी कैंपस के अंदर दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के दौरान संपत्ति का बड़ा नुकसान हुआ है। इनमें 25 सीसीटीवी कैमरों का नुकसान भी शामिल है। जामिया ने सीसीटीवी कैमरों की क़ीमत चार लाख, 75 हज़ार बताई है।


बिल की वजह सीसीटीवी क्लिप
बीते कुछ दिनों में जामिया हिंसा की कई वीडियो क्लिप जारी हुई हैं। हालांकि इन्हें जामिया को-ऑर्डिनेशन कमेटी ने जारी किया है, जो जामिया प्रशासन का आधिकारिक हिस्सा नहीं है, फिर भी जामिया प्रशासन ने इन वीडियो क्लिप के सही होने की बात कही है। इन वीडियो क्लिप में जामिया परिसर के भीतर घुसकर छात्रों पर पुलिस की लाठीचार्ज और तोड़-फोड़ को देखा जा सकता है। इन्हीं क्लिप के आधार पर जामिया प्रशासन का मानना है कि कैम्पस में जो नुकसान हुआ, वो दिल्ली पुलिस की वजह से हुआ। हालांकि दिल्ली पुलिस ने इन वीडियो क्लिप के ‘संदेहास्पद’ होने की बात कही है। पुलिस इन वीडियो की जांच कर रही है।


जामिया प्रशासन का कहना है कि कैंपस में पुलिस ने जो तोड़-फोड़ की, उससे सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान हुआ। उसकी भरपाई मानव संसाधन विकास मंत्रालय को ही करनी होगी। यूनिवर्सिटी का ये भी कहना है कि कैंपस के भीतर घुसने से पहले दिल्ली पुलिस या किसी भी फ़ोर्स को कॉलेज अधिकारियों से इजाज़त लेनी चाहिए थी। लेकिन न तो दिल्ली पुलिस ने भीतर घुसने का कोई कारण तब बताया, न ही प्रशासन से कोई संपर्क रखा।


और बिल फटेगा अभी?
जामिया प्रशासन अभी और बिल भेज सकता है, क्योंकि कॉलेज कैंपस में हुए नुकसान का आकलन अभी पूरा किया जाना बाक़ी है। लाइब्रेरी समेत पूरे कैंपस में कांच के शीशे, दरवाज़े, कुर्सियां, मेज, ट्यूबलाइट जैसी चीज़ों के नुकसान का आकलन अभी नहीं किया गया है।


जामिया प्रशासन के हिसाब से दिल्ली पुलिस के लाइब्रेरी में घुसने से ही कम से कम 55 लाख का नुकसान हुआ है। दरवाज़े, खिड़की, शीशे, एसी, क़िताबों के रैक और अन्य सामान का नुकसान लाइब्रेरी में हुआ है। यूनिवर्सिटी के अधिकारियों का मानना है कि मुआवज़ा मिलने के बाद ही मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा। अगर मंत्रालय चाहता है, तो आकर क्षतिग्रस्त सामान की जांच कर सकता है। जामिया प्रशासन को मंत्रालय के जवाब का इंतज़ार है।


कलेक्ट्रेट कंपाउंड नें निरीक्षण किया

जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट का किया निरीक्षण


कानपुर। जिलाधिकारी डॉ ब्रह्मदेव राम तिवारी ने कलेक्ट्रेट का निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां बनी लिफ्ट जिसे सीएनडीएस द्वारा बनाया जा चुका है जो अभी तक प्रारंभ नहीं हुई है जिसको 10 दिनों  के अंदर प्रत्येक दशा में प्रारंभ करने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने दिव्यांगों के लिए असुविधा ना हो उनके लिए बनाए गए रैंप को भी देखा तथा उसको सुव्यवस्थित कराते हुए चालू कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्ट्रेट में बन रहे क्रैच तथा आगंतुक कक्ष  का निर्माण कार्य का जायजा भी लिया। जिसे युद्ध स्तर पर पूर्ण करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि कलेक्ट्रेट में बेहतर लाइटिंग व्यवस्था की जाए। इसके लिए कार्य योजना बनाकर बेहतरीन लाइटिंग कराई जाये।


गिरफ्तार होगी रवीना टंडन, फराह खान

मुंबई। जानी मानी अभिनेत्री रवीना टंडन, फिल्म निर्देशक फराह खान और कामेडी किंग भारती सिंह के खिलाफ पिछले साल कथित रूप से ईसाइयों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिये शिकायत दर्ज कराने वाले व्यक्ति ने महाराष्ट्र पुलिस को पत्र लिखकर तीनों को गिरफ्तार करने की मांग की है।


 शिकायतकर्ता आशीष शिंदे ने अपनी मांग को लेकर मंगलवार को राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को अर्जी दी। स्थानीय एनजीओ के प्रमुख शिंदे ने पिछले साल बीड शहर के शिवाजी नगर पुलिस थाने में तीनों फिल्मी हस्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 295 (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना) के तहत शिकायत दर्ज कराई थी। उनका आरोप है कि रवीना टंडन और अन्य ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर प्रसारित हुए प्रशनोत्तरी कार्यक्रम ‘बैकबैंचर्स’ में आक्रामक अंदाज में बाइबिल संबंधी भाव ‘हल्लेलुजाह’ प्रकट किया था। वहीं मुंबई पुलिस ने ये मामला मलाड थाने में भेज दिया गया, जिसके अंतर्गत आरोपी रहते हैं।


अभिषेक की 'बिग बुल' का पोस्टर जारी

मुबंई। अभिषेक बच्चन आखिरी बार अनुराग कश्यप की फिल्म मनमर्जियां में नजर आए थे। इस फिल्म में उनके साथ तापसी पन्नू ओर विकी कौशल भी थे। सभी ने अपनी ऐक्टिंग से दिल जीत लिया था। वहीं, अब अभिषेक बच्चन फिल्म द बिग बुल में नजर आएंगे। उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी फिल्म का पोस्टर शेयर किया है। इसके साथ ही फिल्म की रिलीज डेट सामने आ चुकी है। बता दें कि इस फिल्म के अलावा ऐक्टर के पास कई प्रॉजेक्ट्स हैं।
अभिषेक बच्चन ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपनी फिल्म द बिग बुल का पोस्टर शेयर किया है। पोस्टर में जिक्र है कि फिल्म 23 अक्टूबर को रिलीज होगी। पोस्टर में अभिषेक बच्चन ब्लैक पैंटसूट में नजर आ रहे हैं। उन्होंने चश्मा पहना हुआ है और मूछों को रखा है। उनके लुक को देखकर लग रहा है कि वह फिल्म में बिजनसमैन का रोल प्ले कर रहे हैं। फिल्म 1990 से 2000 के बीच हुई सच्ची घटनाओं और भारत के फाइनैंशल फील्ड में हुए बदलाव पर आधारित है। द बिग बुल स्टॉक ब्रोकर हर्षद मेहता की जिंदगी पर बेस्ड होगी। हर्षद मेहता को फाइनैंशल क्राइम करने के कारण अरेस्ट किया गया था।
फिल्म द बिग बुल में अभिषेक बच्चन के अलावा इलियाना डीक्रूज, निकिता दत्ता और सोहम शाह भी अहम किरदार निभाएंगे। वहीं, फिल्म का पहला पोस्टर पिछले महीने जनवरी की शुरुआत में आया है। पोस्टर में अभिषेक के चेहरे पर अंधेरा दिख रहा है। साथ ही वह अपनी अंगुलियों में कई अंगूठियां पहने नजर आ रहे हैं और होंठ पर अपनी अंगुली रखे हुए हैं।
फिल्म को अजय देवगन और आनंद पंडित प्रड्यूस कर रहे हैं। इसका डायरेक्शन कुकी गुलाटी कर रहे हैं। बताते चलें कि इस फिल्म के अलावा अभिषेक बच्चन फिल्म लूडो और फिल्म बॉब बिस्वास में नजर आएंगे।


कसरत दिमाग,याददाश्त को रखती है दुरुस्त

हाल ही मे हुई कई स्टडीज में सामने आया है कि तेज गति से की जानेवाले एक्सर्साइज दिमाग की सेहत और यादाश्त को दुरुस्त रखने में मददगार हैं। खास बात यह है कि केवल युवाओं में ही नहीं इन फास्ट एक्सर्साइज का सकारात्मक प्रभाव 60 साल से अधिक उम्र के लोगों में भी देखने को मिलता है। साथ ही धीमी गति से की जानेवाली एक्सर्साइज की जगह सेफ्टी का ध्यान रखते हुए तेज गति से यदि एक्सर्साइज की जाए तो उसका असर शरीर और दिमाग पर कहीं अधिक देखने को मिलता है। 


हैमिल्टन की मैकमास्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 12 सप्ताह तक 60 से 88 वर्ष की आयु के बीच के 64 सेडेंटरी (ज्यादातर समय बैठे रहनेवाले लोग) लोगों पर शोध किया। इस दौरान इन लोगों के ग्रुप को तीन भागों में बांटा, जिन्हें अलग-अलग तरह की एक्सर्साइज कराई गईं। इन लोगों के यह शोध शुरू करने से पहले और शोध के बाद लिए गए डेटा विश्लेषण में सामने आया कि जो एडल्ट तीव्र गति वाली अक्सर्साइज करते हैं उनमें अल्जाइमर होने का रिस्क कम होता है। साथ ही उनकी यादाश्त पहले के मुकाबले कहीं बेहतर हो जाती है।


इनको कराई गई तीव्र गति वाली एक्सर्साइज में 4 मिनट तक ट्रेड मिल वॉक के चार सेट और मीडियम तीव्रता वाली एरोबिक्स एक्सर्साइज शामिल थीं, जो इन्हें हर रोज करीब 50 मिनट तक कराई जाती थीं। शोध में यह भी सामने आया कि धीमी गति से लंबे समय तक की जानेवाली एक्सर्साइज की तुलना में अधिक प्रभाव डालने वाली तीव्र गति की एक्सर्साइज कम समय तक करना ब्रेन के लिए अधिक प्रभावी रहता है। हालांकि शोधकर्ताओं ने यह बात भी साफ कर दी कि इस तरह का व्यायाम लोगों को डिमेंशिया और अल्जाइमर जैसी बीमारियों से बचाने में मददगार है अगर ये ऐक्टिविटीज किसी एक्सपर्ट की देखरेख में की जाएं। लेकिन बीमारी हो जाने पर उन्हें ठीक करने में इनके रोल के बारे में अभी कुछ स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता।


चॉकलेट से टांगो को मिलती है ताकत

चॉकलेट खाना भला किसे पसंद नहीं होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्म पिघली हुई चॉकलेट पीने से 60 साल की उम्र में अपने पैरों पर खड़े रहने और चलने में मदद मिलती है। हाल ही में हुए एक अध्ययन के अनुसार कोको जिससे चॉकलेट बनता है, पैरों में रक्त के प्रवाह को सुचारू बनाए रखने में मदद करता है।


शोध में सामने आई ये बात : शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि अध्ययन के तहत जिन प्रतिभागियों ने हर दिन तीन कप गर्म चॉकलेट का सेवन छह महीनों तक किया उनके चलने की गति और तरीके में सुधार पाया गया।
पैड से पीडि़त लोगों पर किया अध्ययन : दरअसल, कोको में इपिकैटेचिन नामक एक पदार्थ होता है जो डार्क चॉकलेट में भी पाया जाता है। शोधकर्ताओं का मानना है कि इपिकैटेचिन लोगों के पैरों के पीछे की मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है जिससे उन्हें ज्यादा चलने में मदद मिलती है. बता दें कि शोध को ऐसे लोगों पर किया गया था जो कॉमन पेरीफेरल आर्टरी डिजीज (पैड) से पीडि़त थे।
पैरों की मांसपेशियों में रक्त प्रवाह नहीं होता : अमेरिकी शोधकर्ता प्रोफेसर मेरी मैकडरमोट ने कहा, पैड से जूझ रहे लोगों के चलने की क्षमता में सुधार करने के लिए ज्यादा थेरेपी मौजूद नहीं है। शोधकर्ता नेओमी हैमबर्ग ने कहा, पैड से पीडि़त लोगों को चलने में उतनी ही परेशानी होती है जितना दिल की धड़कन रुकने वाले मरीजों को होती है।
क्या है पैड: पेरीफेरल आर्टरी डिजीज एक ऐसी बीमारी है जिसमें आर्टरी (धमनियां) संकरी हो जाती हैं। पैड की वजह से चलने के दौरान पैरों की मांसपेशियों में दर्द, कड़ापन और जकडऩ महसूस होती है।


अजीबः कब्र पर सोती थी प्रेमिका

सीधी। मध्य प्रदेश के सीधी जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। सीधी से 70 किलोमीटर दूर कुसमी थाना क्षेत्र के कमक्ष गांव में एक प्रेमिका ने प्रेमी की लाश को कमरे में दफन कर दिया और बीते दो माह से प्रेमिका उसकी कब्र पर सोती रही। इस घटना का खुलासा उस वक्त हुआ, जब प्रेमी के परिवार वालों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस के मुताबिक, 25 वर्षीय प्रेमिका जानू सिंह का सतना जिले के निवासी 27 वर्षीय इशान मोहम्मद के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों के बीच प्रेम की शुरुआत मोबाइल फोन पर रॉन्ग नंबर लगने से हुई थी। फोटो - (25 वर्षीय जानू सिंह जिसके घर में लाश बरामद हुई है।


जब इशान और जानू का इश्क परवान चढ़ा तो जानू कटनी में इशान के साथ जाकर रहने लगी। वहां कुछ दिन रहने के बाद दोनों दोनों कमक्ष गांव लौट आए और यहां रहने लगे।कुसमी पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रेमी इशान और प्रेमिका जानू के बीच 6 दिसंबर को झगड़ा हुआ था। फिर 7 दिसंबर को युवक ने फांसी लगा ली थी। प्रेमिका जानू का कहना है कि जब इशाक ने आत्महत्या की तब वो घर पर मौजूद नहीं थी।


पुलिस को प्रेमिका जानू ने बताया कि शव को फंदे से लटका देखकर वह डर गई और उसने प्रेमी इशान का शव घर में ही दफना दिया था। प्रेमिका जानू, इशान की कब्र पर ही दो माह से रह रही थी। जब इशान के परिजनों ने गुमशुदा होने की शिकायत दर्ज करवाई तो पुलिस उसकी तलाश में सीधी के कमक्ष गांव पहुंची और प्रेमिका जानू से पूछताछ की। तब जाकर इशान की लाश के घर के अंदर दफ़न होने के बारे में पता लगा। इसके बाद पुलिस ने घर में खुदाई करवाकर इशाक के शव को बाहर निकाला। इस बारे में अंजुलता पटले एडिशनल एसपी सीधी ने बताया कि खुदाई में प्रेमिका के घर से शव बरामद हुआ है, जिसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर ही यह स्पष्ट हो सकेगा कि युवक ने आत्महत्या की है या फिर उसकी हत्या की गई है।


सायना की बायोपिक पर चल रहा है काम

मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। बैडमिंटन प्लेयर सायना नेहवाल की बायॉपिक पर काम चल रहा है, इसी बीच टेनिस सेंसेशन सानिया मिर्जा की बायॉपिक पर अपडेट आया है। रिपोर्ट्स की मानें तो सानिया अपनी लाइफ स्टोरी को पर्दे पर दिखाने के लिए एक्साइटेड हैं और बायॉपिक के लिए डायरेक्टर्स से बात चल रही है। बीते साल खबर आई थी कि सानिया ने फिल्म के लिए रॉनी स्क्रयूवाला के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है। रिपोर्ट के मुताबिक सानिया ने बताया कि वह इसी सिलसिले में मुंबई में थीं और फिल्म शुरुआती स्टेज में है।


उन्होंने कहा कि उन्होंने जिंदगी हमेशा अपनी शर्तों पर जी है और इस पर उनके फैंस का रिऐक्शन देखना मजेदार होगा। सानिया ने बताया कि जिसने भी उनकी जर्नी को फॉलो किया है वह जानता है कि वह बेबाक होकर अपनी बात रखती हैं। वह किसी से डरती नहीं। उन्होंने कहा, अपनी कहानी बताना और लोगों का इसे देखना मजेदार होगा। 
सानिया ने यह भी कहा कि एक ऐथलीट के बनने में जो हार्ड वर्क लगता है उसे कई लोग अलग-अलग तरह से देखते हैं। उन्होंने कहा, हम सभी मेहनत करते हैं लेकिन जब आप कोई स्पोर्ट खेलते हैं तो आप वाकई में खून, पसीना लगा देते हैं।


महिला प्रधान फिल्मों की जरूरत

मनोज सिंह ठाकुर


मुंबई। राजनीतिक ड्रामा पर आधारित आगामी फिल्म मैडम चीफ मिनिस्टर में नजर आने वालीं अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने फिल्मकारों से महिला नेतृत्व के बारे में और अधिक फिल्में बनाने का आग्रह किया है। सुभाष कपूर द्वारा निर्देशित फिल्म मैडम चीफ मिनिस्टर में ऋचा एक राज्य की मुख्यमंत्री की मुख्य भूमिका में नजर आएंगी।
ऋचा ने कहा, सुभाष सर की फिल्म में टिचलर रोल के लिए चुने जाने पर मुझे बहुत खुशी हुई। मैं उनके काम को फंस गए रे ओबामा से फॉलो कर रही हूं, वह फिल्म मुझे बहुत पसंद आई थी। मैडम चीफ मिनिस्टर की स्क्रिप्ट काफी दिलचस्प है। यह मौका पाकर मैं बहुत आभारी हूं। यह मेरे लिए सबसे मुश्किल काम का सबसे सुखद अनुभव रहा है। मैंने हमेशा माना है कि नेतृत्व की भूमिकाओं में रही महिलाओं की अधिक कहानियों को बताने की जरूरत है।
फिल्म की शूटिंग लखनऊ में हुई है। फिल्म में अक्षय ओबेरॉय, मानव कौल और सौरभ शुक्ला भी हैं। मैडम चीफ मिनिस्टर 17 जुलाई को रिलीज होगी।


एक मंच पर दिखे जोगी और जूदेव

कोटा शपथ ग्रहण समारोह में पहली बार एक मंच पर दिखे जोगी और जूदेव, पुरानी स्मृतियां हुई ताजी


एक मंच पर दिखे जोगी और जूदेव
मनीष शर्मा
बिलासपुर। कोटा में आयोजित जनपद पंचायत शपथ ग्रहण समारोह कई मायनों में ऐतिहासिक रहा । यहां हिंदुत्व के ध्वजवाहक भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष प्रबल प्रताप सिंह जूदेव और कोटा विधायक डॉक्टर रेणु जोगी ने पहली बार मंच साझा किया। आज का यह शपथ ग्रहण समारोह और भी कई मायनों में यह समारोह यादगार रहा। जिसमें नवनिर्वाचित अध्यक्ष मनोहर राज एवं उपाध्यक्ष सुमन जायसवाल ने शपथ लिया । मंच पर प्रदेश के दो कद्दावर चेहरे डॉ रेणु जोगी और प्रबल प्रताप सिंह जूदेव को एक साथ देख कर एक तरफ जहां प्रदेश की राजनीति में हलचल पैदा हो गई है वहीं कई कयास भी लगाए जा रहे हैं ।


वैसे भी कोटा क्षेत्र राजनीतिक दृष्टिकोण से प्रदेश में अलग स्थान रखती है । यहां अपने उद्बोधन में डॉक्टर श्रीमती जोगी ने स्वर्गीय दिलीप सिंह जूदेव को याद करते हुए बिलासपुर लोकसभा चुनाव के उस मुकाबले को भी याद किया जो उनके और स्वर्गीय जूदेव के बीच हुआ था।


डॉक्टर रेणु जोगी मंच पर भावुक हो गई
डॉक्टर रेणु जोगी ने उल्लेख किया कि इस लोकसभा चुनाव में स्वर्गीय श्री दिलीप सिंह जुदेव द्वारा मुझे 20, हजार मतों से पराजित किया गया था । राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के बावजूद जिस तरह स्वर्गीय जूदेव ने एक महिला राजनेता होने और व्यक्तिगत तौर पर उन्हें जो आदर और सम्मान दिया था उसे याद कर डॉक्टर रेणु जोगी मंच पर भावुक हो गई । इस अवसर पर कोटा विधायक डॉ रेनू योगी ने सभी निर्वाचित जनपद पंचायत के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्यों को हमेशा सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।


उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष और हिंदूवादी नेता प्रबल प्रताप जूदेव ने कहा कि कोटा क्षेत्र मेरे पिताजी का कर्म क्षेत्र है और इस क्षेत्र के लिए प्राण, तन, मन समर्पित रहेगा और हमेशा क्षेत्र के लिए अपना सर्वस्व निछावर कर दूंगा। उन्होंने भरोसा दिलाया कि कोटा क्षेत्र की एक आवाज पर वे उपलब्ध हो जाएंगे । श्री जूदेव ने कहा कि जब भी कोटा क्षेत्र को उनकी जरूरत पड़े तो वे बेहिचक उन्हें आदेश करें । वे अवश्य आएंगे और यथासंभव समाधान खोज निकालेंगे।


इस कार्यक्रम में बेलतरा विधायक रजनीश सिंह , भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ,उपाध्यक्ष मोहित जयसवाल, राम लाल साहू , अमृता प्रदीप कौशिक नरेंद्र गोस्वामी उषा गोस्वामी प्रदीप कौशिक तिरिथ यादव दुर्गेश साहू राजू साहू राजेश कश्यप सतीश गुप्ता राजेश तिवारी अनमोल झा शेखर अग्रवाल राजू सिंह धनंजय गोस्वामी नितेश जायसवाल मनीष टाक ऋषभ चतुर्वेदी महर्षि बाजपेयी व बड़ी संख्या में जुदेव सैनिक एवं क्षेत्र और भारतीय जनता पार्टी के बहुत सारे कार्यकर्ता उपस्थित थे।


 


बंधक बनाकर नाबालिग से 6 ने किया रेप

रवि गोयल


जांजगीर। जिले के सक्ती थाना इलाके में एक नाबालिग को बंधक बनाकर गैंगरेप किए जाने का मामला सामने आया है। नाबालिग के मुताबिक वह पहले मुंबई के आश्रम में प्रताड़ित हुई, फिर सक्ती में एक दंपत्ति के चंगुल में फंस गई, जहां बंधक बनाकर उसके साथ दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। नाबालिग उनके चंगुल से छूटकर जब थाने पहुंची, तब इस पूरे मामले का खुलासा हुआ।


यह पूरा मामला सक्ती का है। नाबालिग जशपुर जिले की रहने वाली है. वो जब अपने साथ हुई आपबीती परिजनों को बताई, तो उनके पैरों तले जमीन खीसक गई। मंगलवार शाम परिजनों के साथ थाने पहुंची और उसने बताया कि वह मुंबई के एक आश्रम में रहती थी जहां पर उसके साथ शारिरिक और मानसिक प्रताड़ना की गई। वहां से भाग कर अपने घर जशपुर जाने निकली थी। इस दौरान जांजगीर के सक्ती पहुंच गई और वहां स्टेशन में उसे अनजान दंपत्ति मिल गए। उन्होंने आसरा देने की नियत से उसे अपने घर पर रख लिया। एक-दो दिन बाद महिला के पति ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। जिसकी जानकारी उसने महिला को दी, तब उस महिला ने नाबालिग को फटकार लगाते हुए अपने घर में ही बंधक बनाए रखा। जिसके बाद घर में चार लोग आए और बारी-बारी से उसके साथ गैंगरेप किया।


मामले में एसडीओपी शोभराज अग्रवाल ने बताया कि नाबालिग की रिपोर्ट पर दंपत्ति समेत 6 लोगों के खिलाफ धारा 376 और 6 पॉक्सो एक्ट की धाराओं के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। सभी आरोपी फरार है, जिनकी तलाश की जा रही है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की विवेचना कर रही है।


मोदी पसंद, व्यापार सौदा अभी नहींः ट्रंप

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत दौरे पर आने से पहले बड़ा बयान दिया है। भारत के साथ व्यापार समझौतों को लेकर ट्रंप ने कहा कि भारत के साथ यह डील वे बाद के लिए बचा कर रख रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि भारत के साथ व्यापार सौदा अभी नहीं होगा। आगे कहा, हम भारत के साथ एक व्यापार सौदा कर सकते हैं, लेकिन अभी नहीं, मैं इस बड़े सौदे को बाद के लिए बचा रहा हूं। साथ ही ट्रंप ने कहा कि अभी यह तय नहीं है कि ये बड़ा समझौता अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले हो पाएगा या नहीं। ट्रंप का यह बयान इस ओर स्पष्ट इशारा कर रहा है कि उनके अगले हफ्ते होने वाले भारत दौरे पर दोनों देशों के बीच व्यापार से जुड़ा कोई द्विपक्षीय समझौता न हो। ट्रंप ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहुत पसंद करता हूं। पीएम मोदी ने मुझे बताया कि हवाई अड्डे और स्टेडियम के बीच 70 लाख लोग मौजूद रहेंगे। यह दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम बनने जा रहा है। यह बहुत ही रोमांचक होने वाला है। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 फरवरी से दो दिन के लिए भारत के दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वह करीब तीन घंटे के कार्यक्रम के लिए अहमदाबाद भी जाएंगे। ट्रंप दिल्ली और आगरा का दौरा भी करेंगे। ट्रंप के स्वागत के लिए अहमदाबाद पूरी तरह से तैयार है।


आतंकियों से मुठभेड़, तीन को किया ढेर

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में बुधवार को मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिद्दिन का एक स्वयंभू कमांडर समेत तीन आतंकवादियों ​को मार गिराया है। मारे गए आतंकवादियों की पहचान स्थानीय निवासी जहांगिर रफीक वानी एवं उमर मकबूक और बारामुला के निवासी अब्दुल अज़ीज के रूप में हुई है। अधिकारियों ने कहा कि उन्हें खुफिया सूचना मिली थी कि आतंकवादी इस इलाके में छिपे हुए हैं। राष्ट्रीय राइफल्स की टुकड़ी, जम्मू-कश्मीर पुलिस की विशेष अभियान समूह और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों ने बुधवार तड़के पुलवामा के त्राल में संयुक्त रूप से तलाश अभियान शुरू किया। जब सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों से समर्पण के लिये कहा तो उन्होंने स्वचलित हथियारों से जमकर गोलीबारी शुरू कर दी। सूत्रों के मुताबिक जिसके जवाब में सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और इस मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया और उनके पास से हथियार और गोला बारूद बरामद किए।


जापान में होगा खेलों का 'महाकुंभ' ओलंपिक

नई दिल्ली। खेलों का 'महाकुंभ' ओलंपिक इस बार जापान की राजधानी टोक्यो में होने जा रहा है। ओलंपिक इस बार करीब 206 देशों के बीच 33 खेलों में 339 प्रतियोगिताओं का आयोजन होना है। टोक्यो ओलंपिक में इस बार तकनीकी का बोलबाला होने वाला है। 200 से ज्यादा ज्वालामुखी वाला देश जापान लोगों को आकर्षित करने के लिए खेलों में तकनीक का गजब इस्तेमाल करने जा रहा है। इस साल विनेश फोगाट (कुश्ती), बजरंग पूनिया (कुश्ती मैरीकॉम), मुक्केबाजी पीवी सिंधु (बैडमिंटन), मनु भाकर (शूटिंग) इन एथलीट्स से पदक की उम्मीद है। आजादी के बाद से भारत ने पांच बार गोल्ड मेडल ही जीते थे, लेकिन निजी तौर पर भारत के किसी खिलाड़ी ने कोई गोल्ड मेडल नहीं जीता था


अयोध्या में राम-मंदिर निर्माण की प्रक्रिया

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। रामलला के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए गर्भगृह को खाली करना होगा। बहुत जल्द रामलला को अपने स्थान से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर मानस मंदिर के पास ले जाया जाएगा। आपको बता दें कि मंदिर निर्माण से पहले रामलला को दूसरे मंदिर में शिफ्ट किया जाएगा। इस बीच दिल्ली में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की आज बैठक होगी। इस बैठक में मंदिर निर्माण की तारीख और तौर-तरीकों के साथ-साथ, नए सदस्यों का चुनाव होगा। बता दें कि इस वक्त जहां रामलला विराजमान हैं, वह गर्भगृह है, लेकिन मंदिर निर्माण के लिए उस जगह को खाली करना होगा। बहुत जल्द रामलला को अपने स्थान से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर मानस मंदिर के पास ले जाया जाएगा, जहां अस्थाई तौर पर मंदिर बनाकर तब तक उनकी पूजा-अर्चना होगी। कुछ दिन पहले ही आर्किटेक्ट और इंजीनियरों ने गर्भ गृह के इलाके का दौरा किया था।


70 हजार लोग वायरस से इंफेक्टेड


वुुुहान। चीन का वुहान शहर, यहां से कोरोना वायरस के फैलने की शुरुआत हुई। अब तक दुनियाभर में कोरोना वायरस से करीब 70 हजार लोग इंफेक्टेड हो चुके हैं। करीब दो हजार लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना वायरस से बचाव करना वुहान के लिए चुनौती बना हुआ है। इसलिए वुहान में लगातार कुछ न कुछ एक्सपेरिमेंट किए जा रहे हैं। अब कुछ नए नियम लागू किए गए हैं।


वुहान में हेल्थ सेक्टर के लोग घर-घर जाकर कोरोना वायरस का स्कैन कर रहे हैं। ठीक वैसे ही जैसे हमारे देश में कई शहरों में घर-घर जाकर देखा जाता है कि कहीं डेंगू के मच्छर तो नहीं पनप रहे। वुहान में जिस घर में भी कोरोना वायरस के लक्षण मिले, तुरंत सभी सदस्यों को इलाज दिया जाएगा।


इसके अलावा एक कड़ा नियम भी बनाया गया है। अगर वुहान के किसी नागरिक में कोरोना वायरस के लक्षण मिलते हैं और वह डॉक्टर को दिखाने में देरी करता है। ऐसे में उसे इलाज तो मिलेगा, लेकिन साथ ही जुर्माना भी लगेगा।


चीनी करेंसी में वायरस ने लगाई सेंध

बीजिंग। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। इसे लेकर अब तक कई बात अनसुलझे हैं जवाब मेडिकल और रिसर्च की टीमों को नहीं मिल पा रहे हैं। हालात अभी भी चिंताजनक बनी हुई हैं। इसी बीच यह भी सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर यह वायरस कितने समय तक जिंदा रहता है।


चीन ने फेंके करेंसी : कोरोना वायरस का असर चीन की करेंसी पर पड़ा है। हालात यह है कि यहां के सेंट्रल बैंक ने नोटों की सफाई शुरू की है, अब तक कई हजार नोटों की सफाई की जा चुकी है। इतना ही नहीं, कई हजार नोटों को चीन ने नष्ट कर दिया है। मेडिकल टीम का मानना है कि दरअसल, सेंट्रल बैंक ने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि नोट रोजाना कई हजार लोगों के हाथों से होकर गुजरता है। जाहिर है कई ऐसे लोगों के हाथों से भी नोट संपर्क में आए होंगे जो कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।


हालांकि, कोरोना वायरस के जिंदा रहने के समय के बारे में अब तक कुछ साफ नहीं हो सका है। बावजूद इसके कुछ मेडिकल टीमें इस बारे में पता लगाने का प्रयास कर रही है। रोग नियंत्रण और रोकथाम के अमेरिकी केंद्र के अनुसार कई बार यह वायरस जानवरों से इंसानों में पहुंच जाता है। हालांकि जांच टीम को अभी इस बारे में जानकारी नहीं है कि चीन के वुहान में कोरोना के फैलने की शुरुआत किस जानवर से हुई थी, लेकिन शुरुआती अध्ययनों में पाया गया था कि लोग ऊंटों के संपर्क में आने के बाद कोरोना वायरस मिडल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (MERS) से संक्रमित हुए थे। वैज्ञानिकों का मानना है कि सिवियर ऐक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS) का संक्रमण छोटी बिल्लियों से हुआ था।


9 दिनों तक जिंदा रह सकते हैं : इंसानों में आए MERS और SARS जैसे कोरोनावयारस निर्जीव पदार्थों पर पाए गए थे, जिनमें धातु, कांच या प्लास्टिक आदि शामिल हैं। ‘द जर्नल ऑफ हॉस्पिटल इन्फेक्शन’ में प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक, MERS और SARS वायरस इन वस्तुओं की सतह पर नौ दिनों तक जिंदा रह सकते हैं। हालांकि रिसर्च के मुताबिक, घरों में पड़े रोजमर्रा की जरूरतों के सामानों को धोते रहने से वायरस के खतरे से बचा जा सकता है।


रिसर्च में यह भी बताया गया है कि जानवरों से इंसानों में आने वाले कोरोना वायरस को किसी भी सतह से एक मिनट में हटाया जा सकता है। इसके लिए 62% से 71% एथनॉल, 0.5% हाइड्रोजन पेरॉक्साइड या 0.1% सोडियम हाइपोक्लोराइट या ब्लीच का इस्तेमाल करना चाहिए। अब तक 2000 जानें ले चुका है वायरस : चीन में कोरोना वायरस से अब तक 2000 जानें जा चुकी हैं। चीनी स्वास्थ्य प्राधिकरण ने मंगलवार को कहा कि उसे 31 अलग-अलग क्षेत्रों से और शिनजियांग उत्पादन एवं निर्माण कोर से करीब 98 नई मौतों की रिपोर्ट मिली है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

 यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


फरवरी 20, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-193 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार, फरवरी 20, 2020
3. शक-1941,फाल्गुन - कृष्ण पक्ष, तिथि- द्वादशी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:56,सूर्यास्त 06:06
5. न्‍यूनतम तापमान 14+ डी.सै.,अधिकतम-26+ डी.सै., हल्की बरसात की संभावना।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...