गुरुवार, 12 सितंबर 2019

पुलिस ने तीन आतंकियों को किया गिरफ्तार

पठानकोट। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पंजाब से आ रहे तीन संदिग्ध आतंकियों को कठुआ में गिरफ्तार कर लिया। आतंकी एक ट्रक में सवार थे। कठुआ एसएसपी श्रीधर पाटिल ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के हैं। उनके पास से 4 एके-56 और 2 एके-47, 6 मैगजीन और 180 लाइव राउंड और 11,000 रु. नकद जब्त किया गया है। जम्मू के आईजी मकेश सिंह ने बताया कि गिरफ्तार संदिग्ध कश्मीर के रहने वाले हैं। पुलिस को सुरक्षाबलों से उनके अमृतसर से आने की सूचना मिली थी। कठुआ में नाकेबंदी के दौरान ट्रक में रखे सेव के कार्टन से विस्फोटक हथियार और विस्फोटक बरामद हुआ।


जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों और आंतकियों के बीच मुठभेड़ में बुधवार को लश्कर-ए-तैयबा का एक आतंकी मारा गया था। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा था कि मारा गया आतंकी आसिफ एक महीने से घाटी में सक्रिय था। वह माहौल खराब करने और दुकानें बंद रखने के लिए लोगों को पोस्टर लगाकर धमका रहा था।


मैरीकॉम पहली महिला एथलीट: पद्‍मभूषण

नई दिल्ली। छह बार की वर्ल्ड चैम्पियन महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम को पद्म विभूषण के लिए नामित किया गया है। वे देश के दूसरे सबसे बड़े सम्मान के लिए नामित होने वाली पहली महिला एथलीट बन गईं। मैरीकॉम को 2006 में पद्म श्री और 2013 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। स्टार शटलर पीवी सिंधु को पद्म भूषण के लिए नामित किया गया। खेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, इन दोनों के अलावा रेसलर विनेश फोगाट, टेबल टेनिस प्लेयर मणिका बत्रा और महिला टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर को पद्मश्री पुरस्कार के लिए शॉर्ट लिस्ट किया गया है।मैरीकॉम छह बार वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली इकलौती बॉक्सर हैं। वे सात वर्ल्ड चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाली भी पहली बॉक्सर हैं। 36 साल की मैरीकॉम पद्म विभूषण पाने वाली चौथी खिलाड़ी बन सकती हैं। इससे पहले चेस प्लेयर विश्वानाथन आनंद (2007), क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (2008) और पर्वतारोही सर एडमंड हिलैरी (2008) को यह सम्मान दिया जा चुका है।दूसरी ओर, सिंधु ने इस साल बीडब्ल्यू वर्ल्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। वे इस टूर्नामेंट को जीतने वाले पहली भारतीय बनी थीं। हैदराबाद की 24 साल की शटलर सिंधु को 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।


50-50 हजार के इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर

मेरठ मे सिपाही को गोली मारने वाले दोनों बदमाश मुठभेड़ में मार गिराए
विक्रम सिंह यादव
मेरठ। दिल्ली-देहरादून हाईवे पर चेकिंग के दौरान सिपाही को गोली मारकर भागे दो बदमाशों को पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया। दोनों बदमाश मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना के रहने वाले थे। इन पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। घायल सिपाही को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पेट में गोली लगने से हालत गंभीर बनी है। एक सिपाही हाथ में गोली लगने से घायल हुआ है। बुधवार रात नौ बजे पुलिस को वायरलेस सेट से सूचना मिली कि बदमाश हाईवे से गुजर रहे हैं।इंस्पेक्टर बिजेंद्र पाल राणा फोर्स के साथ कंकरखेड़ा क्षेत्र में हाईवे चौकी पर जिटौली फ्लाईओवर के पास फोर्स के साथ चेकिंग करने लगे। चौकी से चंद कदमों की दूरी पर एक बाइक पर दो लोग दिल्ली की तरफ जाते दिखे। जीप से उतरकर दारोगा राघवेंद्र, अरुण, सिपाही संदीप, अंकुश सैनी और चालक सुधीर मलिक ने बाइक को रोकने की कोशिश की। बदमाशों ने बाइक की गति धीमी करते हुए पुलिस पर फायर झोंक दिया। गोली सुधीर मलिक को लग गई। घायल को पुलिस अस्पताल लेकर पहुंची। उधर, सरधना, दौराला और ब्रह्रमपुरी सर्किल की पुलिस बदमाशों की घेराबंदी में लग गई।हाईवे से डेढ़ किलोमीटर दूर जंगेठी रोड पर पुलिस ने बदमाशों को घेर लिया। पुलिस को देखकर बदमाश बाइक छोड़कर खेत में घुस गए। पुलिस ने खेत की घेराबंदी कर दी। बदमाशों ने पुलिस पर फायर कर दिया। गोली एक सिपाही के हाथ में लग गई। पुलिस ने जवाबी फायरिंग में दोनों बदमाश गोली लगने से घायल हो गए। दोनों को अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों के नाम पंकज उर्फ बंटी पुत्र चरण सिंह और शहजाद पुत्र सीधा निवासी शहबाड़ा, बुढ़ाना मुजफ्फरनगर हैं। दोनों की क्राइम हिस्ट्री खंगाली जा रही है।हाईवे पर चेकिंग के दौरान बदमाशों ने पुलिस जीप के चालक को गोली मार दी। पुलिस ने जंगेठी मार्ग पर बदमाशों की घेराबंदी की। बदमाशों ने पुलिस पर फायर किया। जवाबी फायरिंग में दोनों बदमाशों को गोली लगी, जिन्हें डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।


सेना हमेशा तैयार रहती है: जनरल विपिन

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब पीओके को भारत के अंतर्गत लाने के सवाल पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि यह फैसला सरकार का करना है, सेना हर कार्रवाई के लिए तैयार है। जनरल बिपिन रावत केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के उस बयान का जवाब दे रहे थे। जिसमें उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अब सरकार का अगला कदम पीओके को भारत के अंतर्गत लाना है।इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा, 'इस पर कार्रवाई सरकार करती है, जिस तरह के सरकार निर्देश देगी। उस तरह से अन्य संस्थाएं जो देश में हैं वो कार्रवाई करेंगे। सेना सदा कार्रवाई के लिए तैयार रहती है।


सेना प्रमुख ने आगे कहा, 'हम चाहते हैं कि जम्मू कश्मीर के लोग राज्य में सुरक्षा और शांति बहाल करने के लिए सुरक्षाबल और शासन को एक मौका दें। यह राज्य कई सालों से आतंक झेल रहे हैं।1 मौका अब हमें भी दें, देखें औऱ समझें वो भी कि उनके लिए क्या अच्छा है।'


बता दें कि जितेंद्र सिंह ने कहा था कि 'हमारा अगला एजेंडा पीओके को पुनः प्राप्त कर जम्मू कश्मीर के अंतर्गत लाना है। ये सिर्फ मैं या मेरा संगठन नहीं कह रहा बल्कि 1994 में नरसिंहाराव की सरकार में पार्लियामेंट में यह बिल पास किया गया था।


यूपी:19 सीएमओ सहित 66 के तबादले

स्वास्थ्य विभाग में 19 सीएमओ के तबादले,


लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा विभागों में पड़े हुए  अधिकारियों के संबंध में गंभीरता से विचार करते हुए तबादलों का सिलसिला शुरू कर दिया है। जिसके अंतर्गत  सबसे पहले स्वास्थ विभाग पर गाज गिरी है। लंबे समय से स्वास्थ विभाग के अधिकारी कुर्सी से चिपक कर बैठे हुए थे।  और साथ ही साथ भ्रष्टाचार को भी चरम सीमा पर ले गए थे। जिसके विरुद्ध राज्य सरकार ने फैसला लेते हुए 19 सीएमओ सहित 66 के तबादले कर दिए।


19 सीएमओ सहित 66 के तबादले
निदेशक और अपर निदेशक के तबादले
राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉ नेगी का तबादला 
अब सिविल हॉस्पिटल के डायरेक्टर बने डॉ नेगी
डॉक्टर प्रभाकर राय का देवरिया तबादला
डॉक्टर राजेन्द्र कुमार का फिरोजाबाद तबादला
डॉक्टर कौशल किशोर सिंह का झांसी तबादला 
डॉक्टर रमेश चन्द्र पांडेय का मुरादाबाद तबादला
डॉक्टर पीके सिंह का सोनभद्र तबादला 
डॉक्टर जय सिंह राणा का श्रावस्ती तबादला
डॉक्टर मधु गैरोला गोंडा भेजे गए 
डॉक्टर-विजय कुमार यादव का बिजनौर तबादला
डॉ आनन्द ओझा का बाँदा तबादला
डॉ सुनील शर्मा बदायूं भेजे गए 
डॉ अनूप कुमार जौनपुर भेजे गए 
*डॉ दीपक सेठ फतेहपुर भेजे गए*
डॉ परवीन चोपड़ा चित्रकूट भेजे गए
डॉ सफल कुमार सहारनपुर भेजे गए
 डॉ आलोक पांडेय सिद्धार्थनगर भेजे गए
डॉ गिरीश चन्द्र नोउगाई का कुशीनगर तबादला
डॉ राम प्रताप सिंह का लखीमपुर खीरी हुआ तबादला 
डॉ राकेश कुमार ढल एटा भेजे गए 
डॉ वीर बहादुर ढाका संभल के CMO बनेे।


परिवारिक भरण-पोषण के लिए की जाए खेती

किसानों को अब खेती करना बंद कर देना चाहिए और केवल अपने परिवार के लायक उपजा कर बाकी ज़मीन को पड़त छोड़ देना चाहिए


अविनाश श्रीवास्तव


नई दिल्ली। भारत मे जो लोग अपने बच्चों को डेढ़ लाख की मोटर साइकल, लाख का मोबाइल लेकर देने में एक बार भी नहीं कहते कि महँगा है, वे लोग किसानों की माँग पर बहस कर रहे है कि दूध और गेहूँ महँगा हो जाएगा। माॅल्स में जाकर अंधाधुंध पैसा उजाड़ने वाले गेंहूँ की कीमत बढ़ जाने से डर रहे हैं। तीन सौ रुपये किलो के भाव से मल्टीप्लैक्स के इंटरवल में पॉपकॉर्न खरीदने वाले मक्का के भाव किसान को तीन रुपये किलो से अधिक न मिलें इस पर बहस कर रहे है। एक बार भी कोई नहीं कह रहा कि मैगी, पास्ता, कॉर्नफ़्लैक्स के दाम बहुत हैं। सबको किसान का क़र्ज़ दिख रहा है और यह कि उस क़र्ज़ की माफी की माँग करके किसान बहुत नाजायज़ माँग कर रहा है। यह जान लीजिए कि किसान क़र्ज़ में आप और हमारे कारण डूबा है। उसकी फसल का उसको वाजिब दाम इसलिए नहीं दिया जाता क्योंकि उससे खाद्यान्न महँगे हो जाएँगे। 1975 में सोने का दाम 500 रुपये प्रति दस ग्राम था और गेंहू का समर्थन मूल्य किसान को मिलता था 100 रुपये। आज चालीस साल बाद गेंहू लगभग 1500 रुपये प्रति क्विंटल है मतलब केवल पन्द्रह गुना बढ़ा और उसकी तुलना में सोना आज तीस हज़ार रुपये प्रति दस ग्राम है मतलब 60 गुना की दर से महँगाई बढ़ी मगर किसान के लिए उसे पन्द्रह गुना ही रखा गया। ज़बरदस्ती, ताकी खाद्यान्न महँगे न हो जाएँ। 1975 में एक सरकारी अधिकारी को 400 रुपये वेतन मिलता था जो आज साठ हज़ार मिल रहा है। मतलब एक सौ पचास गुना की राक्षसी वृद्धि उसमें हुई है। इसके बाद भी सबको किसान से ही परेशानी है। किसानों को आंदोलन करने की बजाय खेती करना छोड़ देना चाहिए। बस अपने परिवार के लायक उपजाए और कुछ न करे। उसे पता ही नहीं कि उसे असल में आज़ादी के बाद से ही ठगा जा रहा है।
किसान क्यों हिंसक हो गया है यह समझना होगा, जनता को भी और सरकार को भी। किसान अब मूर्ख बनने को तैयार नहीं है। बरसों तक किया जा रहा शोषण अंततः हिंसा को ही जन्म देता है। आदिवासियों पर हुए अत्याचार ने नक्सल आंदोलन को जन्म दिया और अब किसान भी उसी रास्ते पर है। आप क्या चाहते हैं कि आप समर्थन मूल्य के झाँसे में फँसे किसान के खून में सनी रोटियाँ अपनी इटालियन मार्बल की टॉप वाली डाइनिंग टेबल पर खाते रहें और जब किसान को समझ में आए सारा खेल तो वह विरोध भी नहीं करे। आपको पता है आपका एक सांसद साल भर में चार लाख की बिजली मुफ़्त फूँकने का अधिकारी होता है, लेकिन किसान का चार हजार का बिजली का बिल माफ करने के नाम पर आप टीवी चैनल देखते हुए बहस करते हैं। यह चेत जाने का समय है। कहिए कि आप साठ से अस्सी रुपये लीटर दूध और कम से कम साठ रुपये किलो गेंहू खरीदने के लिए तैयार हैं, कुछ कटौती अपने ऐश और आराम में कर लीजिएगा। नहीं तो कल जब अन्न ही नहीं उपजेगा तो फिर तो आप बहुराष्ट्रीय कंपनियों से उस दाम पर खरीदेंगे ही जिस दाम पर वे बेचना चाहेंगी।


देवा हो देवा गणपति देवा,तुमसे बढ़कर कौन

गाजियाबाद। युवा हनुमान चालीसा टीम और समस्त हिंदूवादी संगठन परिवार के द्वारा बंथला जगत फार्म हाउस से गणेश विसर्जन यात्रा संस्थापक शननी बजरंगी कुलदीप कुमार के नेतृत्व में लोनी नगर पालिका के 55 वार्डों वह प्रमुख गांव से झांकियां एकत्रित हुई। विसर्जन यात्रा के मुख्य अतिथि महामंडलेश्वर भैया जी दास महाराज हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष महामंडलेश्वर दिल्ली प्रदेश नवल किशोर,राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवेश दत्त भारद्वाज, मानव कल्याण सेवा संस्था राष्ट्रीय अध्यक् धर्मेंद्र त्यागी,  एवं सभी कार्यकर्ताओं ने सभी का पटका पहनाकर स्वागत किया। हजारों की संख्या में गणपति के भक्तों ने सुंदर झांकियों के साथ 25 फुटा रोड,सरस्वती विहार,गीतांजलिविहार,नाईपुरा, संगम विहार, राजीव गार्डन, 100 फुटा रोड होते हुए दो नंबर स्टैंड से चलकर लोनी तिराहे पर विशाल गणपति विसर्जन यात्रा में लोनी तिराहे पर जाकर हनुमान चालीसा 108 बार राम नाम की माला जपते हुए। आगे मार्केट होते हुए जमुना किनारे भक्तों का जनसैलाब उमड़ा। लोनी में गणपति बप्पा मोरिया मंगल मूर्ति मोरिया गणपति बप्पा अगले बरस तू जल्दी आ। ऐसे उद्घोष होते हुए सभी गणेश भक्त नारे लगाते हुए गणेश विसर्जन यात्रा में अतिथि के रूप में मानव कल्याण सेवा संस्था राष्ट्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र त्यागी ने कहा हमें अपने शहर को पॉलिथीन मुक्त बनाना है। महामंडलेश्वर भैया जी दास महाराज प्रदेश उत्तर प्रदेश युवा वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा जल शक्ति नियंत्रण हम सबको मिलकर करना है। नहीं तो आने वाला समय मनुष्य पानी के लिए तरसेगा। दिल्ली प्रदेश महामंडलेश्वर नवल किशोर ने कहा ऐसे आयोजन करके भगवान के प्रति जागरूक करना बहुत बड़ा हवन यज्ञ का काम कर रहे हैं। इस विसर्जन यात्रा का सभी कार्यकर्ताओं का हम धन्यवाद करते है। जिन्होंने आज पूरे लोनी को भगवा मई बना दियाा।
 इस मौके पर मुख्य  55 वार्ड नगर पालिका लोनी, ग्राम बंथला, ग्राम गढ़ी कटिया, बेहटा हाजीपुर, बाग राणा सभी ग्रामवासी व कॉलोनी वासी मुख्य रूप से मौजूद रहे।


गणपति बप्पा मोरिया,मंगल मूर्ति मोरिया।।

गाजियाबाद। लोनी स्थित फर्रुखनगर गांव में 11 दिवस के लिए गणेश जी की प्राण प्रतिष्ठा( मूर्ति) की स्थापना की गई।  जिसमें दिन प्रतिदिन भव्य कार्यक्रम किए गए तथा भगवान गणेश का पूजन बड़े ही धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ किया गया। अतः आज भगवान श्री गणेश जी के प्राण प्रतिष्ठा (मूर्ति) को स्थापना के 11 दिन पूरे होने पर आज (मूर्ति) विसर्जन किया गया। जिसके उपलक्ष्य में सर्वप्रथम गणेश भगवान जी को भोग लगाया गया। उसके पश्चात बहुत ही विशाल भंडारे का आयोजन किया गया और श्री गणेश भगवान का विसर्जन भव्य प्रकार की झांकी, ढोल, नगाड़े ,बैंड आदि के साथ किया गया। इस अवसर बच्चे, युवा, महिलाएं, बुजुर्ग सैकड़ों की संख्या में उपस्थित रहे तथा भगवान श्री गणेश का गणपति 'बप्पामोरिया,गणपति बप्पामोरिया मंगल मूर्ति मोरिया'
तुझको फिर से जलवा दिखाना ही होगा।अगले बरस आना है। आना ही होगा।गणेश स्तुति से संबंधित श्लोको से गुणगान किया गया इस। इस अवसर पर श्री विजय गोयल,श्री प्रवीण गोयल, श्री हेमंत गोयल,श्री तरुण गुप्ता, श्री अमित गोयल,श्री बिरजू गुप्ता आदि गणमान्य लोग मुख्य रूप से उपस्थित रहे।


शिक्षकों की मनमानी के विरुद्ध लामबंद ग्रामीण

ग्राम पंचायत बांका के हाई स्कूल व मिडिल स्कूल में शिक्षक नदारद रहने से ग्रामीणों ने स्कूल बंद कर उच्च अधिकारियों की आने के इंतजार कर रहे ग्रामीण


बिल्हा ब्लॉक के अंतिम छोर होने की वजह से बेलतरा संकुल के स्कूलों में आये दिन शिक्षक रहते हैं नदारत


नेवसा। बिल्हा ब्लॉक के अंतिम छोर होने की वजह से बेलतरा संकुल के स्कूलों में आए दिन शिक्षक नदारद रहते हैं विभागीय अधिकारी अंतिम छोर होने के कारण कभी भी स्कूलों में निक्षण करने का एक दिन भी फुर्सत नहीं मिलता कुंभकरणी निद्रा में अधिकारी गण सोए हुए रहते हैं जिसके वजह से शिक्षा आए दिन मनमानी करते हुए स्कूलों से नदारद रहते हैं प्राप्त जानकारी के अनुसार आज 12 सितंबर को स्कूल तो खुला है लेकिन शिक्षक अभी तक नदारद रहने से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है शिक्षक नदारद रहने से ग्रामीणों ने स्कूल में ताला बंद कर स्कूल के बाहर काफी जनसंख्या में मैदान में जमे हुए ग्रामीण जन अधिकारियों का इंतजार कर रहे हैं  शासकी हाई स्कूल बांका में 5 शिक्षक है जिसमें 2 शिक्षक को शिक्षा विभाग ने अन्य स्थानों पर अटैच कर दिया है इन स्कूलों में 140 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है जहां पर स्कूल की छुट्टी समय से पहले कर दी जाती है वही जो 3 शिक्षक है उनके आने जाने का कोई समय सीमा नहीं है जिसके चलते बच्चों की कोर्स अधूरी है इसी तरह शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला बांका में 80 छात्र छात्राएं अध्ययन करते हैं व3 शिक्षक पदस्थ है आए दिन प्रधान पाठक व शिक्षक नदारद रहते हैं अब सवाल उठता है कि ऐसे में बच्चे परीक्षा देकर कैसे पास हो पाएंगे क्योंकि परिचय उनके सर पर है इस संबंध में ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि बिल्हा ब्लॉक के अंतिम छोर होने की वजह से ग्रामीण अंचल के स्कूलों में शिक्षक हमेशा समय बेसमय आए दिन नदारद रहते हैं ग्राम पंचायत बांका के शासकीय हाई स्कूल में पदस्थ शिक्षक आए दिन नदारद रहते हैं वहीं 2 शिक्षक अभी तक अटैच में हैं जिस से बांका हाई स्कूल 3 शिक्षकों के भरोसे चल रहा है जिसके चलते इन स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की भविष्य के साथ शिक्षक खिलवाड़ कर रहे हैं हाई स्कूल बांका में लगभग 2 से 40 छात्र छात्राएं अध्ययन कर रहे हैं पूर्व माध्यमिक शाला में 80 छात्र-छात्राएं अध्ययन कर रहे हैं इनके जिंदगी से शिक्षक गण लापरवाही व मनमानी करते हुए आए दिन समय के बेसमय स्कूल से नदारद रहते हैं। जिससे पढ़ने वाले छात्रों के कोर्स अधूरे रह गए हैं जबकि परीक्षा सर पर है और कोर्स अधूरा है यह पर है तथा 3 शिक्षकों की मनमानी से बच्चों की जिंदगी अधर में लटका हुआ है इसी तरह बेलतरा संकुल के । ग्रामीणों का कहना है की इस मामले को लेकर कई बार उच्च अधिकारियों से शिकायत भी की गई थी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुआ जिसे शिक्षा के हौसले आए दिन मूलन होते जा रहे हैं स्कूल आने का व जाने का कोई समय सीमा नहीं है ग्राम सभा में इस मामले को लेकर चर्चा भी की गई थी तब कुछ लोग जाकर के शिक्षकों से इस संबंध में स्कूल जाकर कड़ी चेतावनी दिया गया था तब दोनों ही स्कूलों में सुधार हुआ था लेकिन कुछ दिनों के बाद फिर से उसी ढर्रे पर चलने लगा है जिसे लेकर बच्चों के पालक काफी चिंतित है जबकि बिल्हा ब्लॉक के यह अंतिम छोर है इस और अधिकारीगण कभी स्कूल का निरीक्षण करने तक नहीं आते हैं जिससे शिक्षकों की मनमानी चरम सीमा पर है।


गणपति विसर्जन यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

मनोज धामा ने लिया गणपति बप्पा का आशीर्वाद


गाजियाबाद। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष मनोज धामा लोनी नगर पालिका क्षेत्र की विभिन्न कालोनियों मे सजाये गये गणपति पंडाल मे पँहुचे तथा बप्पा का आशीर्वाद लिया।इस अवसर पर कालोनी वासियों ने फूल-माला व पटका पहनाकर मनोज धामा का स्वागत किया। पू्र्व लोनी नगर पालिका अध्यक्ष ने सभी भक्तों के साथ भक्ति भाव से गणपति महाराज की पूजा अर्चना की व बप्पा की आरती की। भक्तों ने गणपति बप्पा मोरया के जयकारें लगाये। इस अवसर पर मनोज धामा ने सभी को संबोधित करते हुये कहा कि लोनी मे अनेकों स्थानों पर गणपति जी विराजमान है इस तरह का धार्मिक माहौल देखकर बहुत अच्छा लगता है। आज जिस प्रकार से लोनी मे धर्म जागरण हो रहा है बेहद ही हर्ष का विषय है कि एक बडा युवा वर्ग गणपति विसर्जन की यात्रा मे शामिल हो रहा है ।
मनोज धामा ने सभी को शुभकामनाएं देते हुये कहा कि मेरी गणपति महाराज से हाथ जोडकर प्रार्थना है कि विघ्नहर्ता के नाम से जाने वाले गणपति महाराज अपने सभी भक्तों के विघ्न हरले और आप सभी के जीवन से तमाम परेशानियों को दूर करे। गणपति महाराज आप सभी के जीवन मे खुशियां बरसाये । इस अवसर पर सभासद अमित तोमर, आकाश धामा, अजमेर मलिक, अजय कुमार, सुरेन्द्र, कुलदीप, तरूण कुमार, नवीन सिंह, जुगल किशोर, सहित  सैंकडों की संख्या मे कालोनी के महिलाएं व पुरूष उपस्थित रहे।


'एक जनपद-एक उत्पाद' योजना को बढ़ावा

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक जनपद एक उत्पाद योजना को बढ़ावा देने के लिए स्टेकहोल्डर्स की बैठक कैम्प कार्यालय सेक्टर 27 नोएडा में सम्पन्न।


गौतमबुद्धनगर। जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर बीएन सिंह के द्वारा विगत दिवस कैम्प कार्यालय सेक्टर 27 नोएडा में स्टेकहोल्डर्स की बैठक की अध्यक्षता करते हुए समिति द्वारा एक जनपद एक उत्पाद को कैसे गति प्रदान कर सकते है, के सम्बन्ध में दिये आवश्यक दिशा निर्देश। उन्होंने बैठक का आगाज एनएईसी कम्पनी के द्वारा लाये बैग का शुभारम्भ करते हुए किया तथा सराहना करते हुए कहा कि सिंगल यूज प्लास्टिक रोकथाम में बैग का योगदान सराहनीय कदम है। इस अवसर पर सभी हितधारकों-उद्यमियों को एनएईसी कम्पनी के द्वारा रेडीमेड कपडों का बैग वितरण भी किया गया। उपायुक्त उद्योग, जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोसाहन केन्द्र गौतमबुद्धनगर द्वारा एक जनपद एक उत्पाद योजना के सम्बन्ध में प्रेजेंटेशन का अवलोकन करते हुए श्री सिंह ने योजना में आ रही समस्याओं का रेडीमेड कपड़ों से सम्बन्धित सभी हितधारकों-उद्यमियों से कहा कि वे इस बैठक में अपने विचारों से अपना योगदान दें।


श्री सिंह की अध्यक्षता में आईएल एन्ड एफएस द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट जिसमें रोमटेरियल का अन्य जिलों से आने पर महंगा हो जाना, मुनाफा कम होना, मॉडल टेक्नोलॉजी का प्रशिक्षण न मिलना और प्रतिस्पर्धा में पिछे रह जाना, क्लाइंट रिक्वायरमेंट पूरी न कर पाना, भुगतान एवं कार्मिक को स्वास्थ्य लाभ न मिल पाना तथा ओडीओपी को प्रदर्शनी के लिए मंच न मिल पाना आदि समस्याओं का डीएसआर को समिति द्वारा विचारोंपरान्त अंतिम रूप प्रदान किया गया। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर उद्योग विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की एक जनपद एक उत्पाद योजना के अंतर्गत पात्र लाभार्थियों के सम्मुख जो कठिनाइयां आ रही हैं उनका चरणबद्ध तरीके से निस्तारण सुनिश्चित कराया जाए ताकि सरकार की महत्वपूर्ण योजना का सभी पात्र लाभार्थी अधिकतम लाभ उठा सकें। इस महत्वपूर्ण बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह, उपायुक्त उद्योग अनिल कुमार कुमार एवं संबंधित अधिकारीगण द्वारा प्रतिभाग किया गया। जिला सूचना अधिकारी गौतमबुद्धनगर


मच्छर जनित बीमारियों से बचाव-सलाह

मच्छर जनित डेंगू जैसी बीमारियों से बचाव के लिए आम जनमानस अपने कूलर, पानी की टंकी एवं कचरे में कहीं पर साफ पानी इकट्ठा न होने दें। जिला मलेरिया अधिकारी की जन सामान्य के लिए एडवाइजरी।


गौतम बुध नगर। जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर बीएन सिंह के निर्देश पर जिला मलेरिया अधिकारी राजेश शर्मा एवं उनके सहयोगी अधिकारियों द्वारा समस्त जनपद वासियों को मच्छर जनित डेंगू जैसी बीमारियों से बचाने के लिए निरंतर रूप से जागरूकता अभियान संचालित कर रहे हैं। इस संबंध में जिला मलेरिया अधिकारी के द्वारा एक जागरूकता वीडियो जनसामान्य के लिए तैयार की गई है। डेंगू से बचाव के लिए वीडियो का अवलोकन अवश्य करें तथा सभी जन सामान्य अपने घरों में कूलर, एसी, कचरे के बर्तनों में, पानी की टंकियों में कहीं पर भी साफ पानी इकट्ठा न होने दें, जिससे कि डेंगू का मच्छर पनप सकें। ज्ञातव्य हो कि जनपद गाजियाबाद से 3 देशों केस डेंगू जनपद को प्राप्त हुए जो इस जनपद के थे। जिला मलेरिया अधिकारी एवं उनके सहयोगी अधिकारियों द्वारा वहां का तुरंत निरीक्षण किया गया जिन व्यक्तियों को डेंगू हुआ था उनके घरों में तथा घर के आस-पास डेंगू का लारवा पाया गया। अतः सभी जन सामान्य सचेत होकर अपने घर के आसपास साफ पानी को इकट्ठा न होने दें।


जिला सूचना अधिकारी गौतम बुध नगर


गृह मंत्रालय का अधिकारी रिश्वत लेते पकडा

दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के अधिकारियों ने आज गुरुवार की सुबह दिल्ली में अपने निवास पर 16 लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गृह मंत्रालय के अधिकारी धीरज कुमार सिंह को सीबीआई ने  रंगे हाथ पकड़ा है। एएनआई  के द्वारा ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई है। बहरहाल, अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि वह अफसर किससे और किसलिए रिश्वत ले रहा था।


यह तो ट्रेलर था,पूरी फिल्म बाकी है: मोदी

रांची। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को झारखंड के रांची में चुनावी बिगुल फूंका। रांची में पीएम मोदी ने किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं की शुरुआत की। योजना की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ किसानों को पेंशन का कार्ड भी सौंपा, इनमें देश के कई राज्यों के किसान शामिल रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची में अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय भाषा में की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि झारखंड गरीबों से जुड़ी बड़ी योजनाओं के लिए लॉन्चिंग पैड है। हमने यहां से आयुष्मान भारत, किसानों से जुड़ी बड़ी योजनाओं की शुरुआत की।


प्रधानमंत्री ने कहा कि चुनाव के वक्त मैंने आपसे कामगार-दमदार सरकार देने का वादा किया था, बीते सौ दिन में देश ने ट्रेलर देखा है अभी पूरी फिल्म बाकी है। हमारा संकल्प है जनता को लूटने वालों को उनकी सही जगह पहुंचाने का, इसपर काम हो रहा है और कुछ लोग चले भी गए हैं। हमारा फोकस जम्मू-कश्मीर में विकास करने पर है, आतंक को बढ़ावा देने वालों को कड़ा एक्शन करने पर है। पीएम मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने सोचा था कि वो कानून-अदालत से ऊपर हैं वो आज जमानत की गुहार लगा रहे हैं। आप यही सरकार देखना चाहते थे ना! पीएम ने कहा कि अभी तो शुरुआत है, आगे पूरे पांच साल बाकी हैं।


प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना इन दोनों योजनाओं से 22 करोड़ से ज्यादा देशवासी जुड़ चुके हैं, जिसमें से 30 लाख से अधिक साथी झारखंड के ही हैं। इतना ही नहीं इन दोनों योजनाओं के माध्यम से साढ़े 3 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक का क्लेम लोगों को दिया जा चुका है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लेकर आए, यहीं झारखंड से उसकी शुरुआत की। इसके तहत अब तक करीब 44 लाख गरीब मरीज़ों को इलाज का लाभ मिल चुका है, जिसमें से करीब 3 लाख झारखंड से हैं।


पीएम मोदी बोले कि हमारी सरकार ने कामगारों, व्यापारियों, किसानों को पेंशन की योजना दी, जो देश को बनाता है उनका सम्मान हमारी सरकार कर रही है। आज यहां से नए जलमार्ग की शुरुआत हुई है, जिससे झारखंड सीधे दुनिया से जुड़ पाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार का संसद सत्र आजाद हिंदुस्तान में सबसे ज्यादा काम करने वाले सत्रों में से एक रहा। कई अहम बिल भी पास हुए, जिनसे इतिहास रचा गया।


भारत ए ने साउथ अफ्रीका ए को दी शिकस्त

तिरुवनंतपुरम। भारत ए ने गुरुवार को यहां पहले अनौपचारिक टेस्ट के अंतिम दिन सुबह साउथ अफ्रीका ए को आसानी से सात विकेट से शिकस्त देकर दो मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल की।
मुंबई के ऑलराउंडर शिवम दुबे ने लगातार गेंद में दो छक्के जड़कर मेजबानों की जीत सुनिश्चित की। महज 48 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ए ने दूसरी पारी में कप्तान शुभमन गिल (05), अंकित बावने (06) और के एस भरत (05) के रूप में विकेट गंवा दिए लेकिन दुबे (नाबाद 12) और रिकी भुई (नाबाद 20) ने घरेलू टीम के लिए औपचारिकता पूरी की। साउथ अफ्रीका ए के तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी ने पहली पारी में 90 रन बनाने वाले गिल को बोल्ड किया जिससे भारत ए ने 10 रन पर पहला विकेट गंवा दिया। बावने 17 गेंद खेलने के बाद एनगिडी को विकेट दे बैठे जबकि भरत को ऑफ स्पिनर दाने पिएट ने पविलियन भेजा। दुबे ने पिएट की लगातार गेंदों पर दो गगनचुंबी छक्के जड़कर टीम को जीत दिलाई।
साउथ अफ्रीका ए ने दूसरी पारी में नौ विकेट पर 179 रन से खेलना शुरू किया और टीम 186 रन पर सिमट गई। मेजबानों को जीत हासिल करने में केवल 3.5 ओवर लगे। शार्दुल ठाकुर ने लुथो सिपमाला को आठ रन पर बोल्ड किया जिससे उन्होंने 31 रन देकर दो विकेट हासिल किये। स्पिनर शाहबाज नदीम (17 रन पर तीन विकेट) और जलज सक्सेना (22 रन पर दो विकेट) भारत ए के लिए दूसरी पारी में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे। बुधवार को ग्रीनफील्ड स्टेडियम में केवल 20 ओवर का ही खेल हो सका था। भारत ए ने साउथ अफ्रीका ए की पहले पारी के 164 रन के जवाब में 303 रन बनाए थे।


टेस्ट सीरीज के लिए फाइनल होंगे नाम

मुंबई। साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2 अक्टूबर से शुरू होने वाली तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए आज भारतीय टीम चुनी जाएगी। हाल ही में कैरेबियाई धरती पर वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज 2-0 से जीतने वाली टीम में बदलाव की उम्मीद कम ही है। हालांकि रोहित शर्मा को ओपनर के रूप में आजमाए जाने की चर्चा है। रोहित वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम का हिस्सा थे लेकिन उन्हें अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया गया था।
अग्रवाल का सिलेक्शन तय, राहुल पर गाज!-मयंक अग्रवाल का सिलेक्शन वैसे तय माना जा रहा है लेकिन दूसरे ओपनर पर लोकेश राहुल की पोजीशन खतरे में दिखती है। पिछले एक वर्ष में सेंचुरी तो दूर हाफ सेंचुरी भी नहीं जड़ सके राहुल की जगह लेने के लिए रोहित शर्मा के साथ ही बंगाल के अभिमन्यु ईश्वरन और पंजाब के शुभमान गिल प्रबल दावेदार हैं।


धवन होंगे सरप्राइज?-वैसे ओपनर के तौर पर शिखर धवन का सिलेक्शन किया गया तो ये सिलेक्टर्स का सरप्राइज करने वाला फैसला होगा। वर्ल्ड कप में लगी अंगूठे की चोट से उबरने के बाद दिल्ली के इस लेफ्ट हैंडर ने वेस्ट इंडीज दौरे पर सीमित ओवरों के कुछ मैच जरूर खेलें लेकिन लय में नहीं दिखे। हालांकि टेस्ट मैचों में ओपनिंग करने का अनुभव उनके पक्ष में भी जा सकता है।


रोहित को होगा इंतजार-रोहित का सिलेक्शन हालिया वेस्ट इंडीज दौरे पर 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में भी हुआ था लेकिन मिडल ऑर्डर बैट्समैन के तौर पर। हालांकि मिडल ऑर्डर में अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी के लाजवाब प्रदर्शन के कारण रोहित को एक भी टेस्ट में खेलने का मौका नहीं मिला। रोहित ने अपना अंतिम टेस्ट पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में खेला था। रोहित को साउथ अफ्रीका के खिलाफ ओपनिंग करने का मौका मिला तो खेल के लंबे फॉर्मेट में यह पहला मौका होगा जब मुंबई का यह राइट हैंडर बतौर ओपनर खेलेगा।


राहुल पर लटकी तलवार-वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में लोकेश राहुल 25.25 के एवरेज से कुल 101 रन ही बना सके। पिछले साल ओवल टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने अंतिम बार एक टेस्ट पारी में 100 रन का आंकड़ा छुआ था। इसके बाद से राहुल 12 टेस्ट पारियों में 17.73 के एवरेज से 195 रन ही बना सके हैं। उनका उच्चतम स्कोर 44 रन (बनाम वेस्ट इंडीज, 2019 में) रहा है। उनकी जगह लेने के लिए रोहित के अलावा बंगाल के अभिमन्यु ईश्वरन और पंजाब के शुभमान गिल प्रबल दावेदार हैं।


हार्दिक की भी हो सकती है वापसी-कयास तो यह भी है कि हार्दिक पंड्या की टेस्ट टीम में वापसी हो सकती है। हालांकि टी20 वर्ल्ड कप के मद्देनजर सिलेक्टर्स संभव है कि हार्दिक को अगले कुछ महीनों तक केवल सीमित ओवरों के मैच ही खिलाएं और टेस्ट टीम में न रखें। वैसे ऋषभ पंत विकेटकीपर के तौर पर पहली पसंद बनकर उभरे हैं लेकिन ऋद्धिमान साहा भी रेस से बाहर नहीं हैं। भारतीय पिचों के मिजाज को देखते हुए रविंद्र जडेजा के साथ आर अश्विन और कुलदीप यादव का चयन तय लग रहा है। फास्ट बोलर्स तिकड़ी में से मोहम्मद शमी को आराम दिया जा सकता है।


संभावित टीम-विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, शुभमान गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा, उमेश यादव, रविंद्र जाडेजा, रविचंद्रन अश्विन और कुलदीप यादव।


श्रीलंका के खिलाड़ियों के निर्णय पर नाराजगी

लाहौर। पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने श्रीलंका के 10 खिलाडिय़ों के पाकिस्तान में तीन वनडे और टी-20 मैचों की सीरीज में हिस्सा न लेने के निर्णय पर निराशा जताई है। अख्तर ने ट्वीट किया, यह काफी निराशाजनक है कि 10 श्रीलंकाई खिलाडिय़ों ने पाकिस्तान दौरे से अपना नाम वापस ले लिया है। पाकिस्तान ने हमेशा श्रीलंका क्रिकेट को सपोर्ट किया है। हाल ही में जब श्रीलंका में इस्टर के दिन अटैक हुआ था तो हमने अपनी अंडर 19 की टीम को वहां भेजा था और हमारी पहली इंटरनेशनल टीम थी जो अपनी मर्जी से वहां गई थी।
अख्तर ने लिखा, और निश्चित रूप से 1996 के विश्व कप को कौन भूल सकता है जब आस्ट्रेलिया और वेस्ट इंडीज ने श्रीलंका दौरे से इनकार कर दिया था। पाकिस्तान ने कोलंबो में एक दोस्ताना मैच खेलने के लिए भारत के साथ एक संयुक्त टीम भेजी। हम श्रीलंका से पारस्परिकता की अपेक्षा करते हैं। उनका बोर्ड सहयोग कर रहा है, खिलाडिय़ों को भी ऐसा करना चाहिए।लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज, दिनेश चंडीमल, सुरंगा लकमल, दिमुथ करुणारत्ने, थिसारा परेरा, अकिला धनंजया, धनंजया डी सिल्वा, कुसल परेरा और निरोशन डिकवेला सहित श्रीलंका के शीर्ष खिलाडिय़ों ने 27 सितंबर से शुरू होने वाले दौरे से खुद को अलग कर लिया है।


हवाई हमले में तालिबान के 5 आतंकी ढेर

काबुल। अफगानिस्तान के बाल्ख प्रांत के चमताल जिले में तालिबानी आतंकवादियों के ठिकाने पर किये गये सेना के लड़ाकू विमानों के हवाई हमले में कम से कम पांच आतंकवादी मारे गये तथा तीन अन्य घायल हो गये।सेना के उत्तरी प्रांत के प्रवक्ता मोहम्मद हनीफ रेजाई ने बुधवार को बताया कि मंगलवार की शाम को ये हवाई हमले किये गये। इस दौरान कोई भी सुरक्षाकर्मी या आम नागरिक हताहत नहीं हुआ। अप्रैल के मध्य से तालिबान आतंकवादियों ने सरकार विरोधी गतिविधियां तेज कर दी हैं। इस हमले को लेकर तालिबान की ओर से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त की गयी है।


बाल्ख प्रांत की राजधानी मजार-ए-शरीफ देश की राजधानी काबुल से 305 किलोमीटर उत्तर में स्थित है जहां हाल के वर्षों में तालिबान ने अपनी गतिविधियां तेज की हैं।


ट्रंप कर सकते हैं ईरानी प्रतिबंधों में कटौती

वॉशिंगटन। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अपने ईरानी समकक्ष के साथ इस महीने बैठक का रास्ता साफ करने के लिए ईरान पर लगे प्रतिबंधों को कम करने की योजना संबंधित अफवाहों के बीच उन्होंने आगामी सप्ताहों में ईरान को प्रतिबंधों में राहत देने की बात से इंकार भी नहीं किया है।
ओवल ऑफिस में संवाददाताओं से बात करने के दौरान तेहरान पर लगे प्रतिबंधों में राहत देने के सवाल पर ट्रंप ने कहा, देखते हैं, क्या होता है।ट्रंप ने एक प्रेस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया दी। रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने सितंबर के अंत में न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र के दौरान रूहानी को मुलाकात के लिए राजी करने के लिए सोमवार को प्रतिबंध कम करने के विषय पर चर्चा की थी।


प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, राजस्व मंत्री स्टीवन मनुचिन ने कथित रूप से इस विचार का समर्थन किया लेकिन पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन स्पष्ट रूप से इसके खिलाफ थे। ट्रंप द्वारा बोल्टन से उसी शाम इस्तीफा मांगने के पीछे यह कारण हो सकता है।ट्रंप ने उन विवरणों की पुष्टि नहीं की और न्यूयॉर्क में रूहानी से मुलाकात के लिए अपनी अति उत्सुकता छिपाई, लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि उन्हें लगता है कि ईरान द्विपक्षीय संबंध सुधारने के लिए वॉशिंगटन से समझौता करना चाहता है और इसलिए अमेरिका ईरान में शासन परिवर्तन नहीं चाहता।ट्रंप ने कहा कि ईरान भारी वित्तीय परेशानियों का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि अगर वे अमेरिका से समझौता कर लें तो उनके समृद्ध होने की बहुत संभावना है।हालांकि संयुक्त राष्ट्र में ईरान के प्रतिनिधि माजिद तख्त-रवांची ने कहा कि ईरान रूहानी और ट्रंप की मुलाकात का विरोध करता रहेगा। उन्होंने कहा कि जब तक अमेरिकी सरकार का आर्थिक आतंकवाद जारी रहेगा और ईरानी लोगों पर ऐसे कड़े प्रतिबंध लगे रहेंगे, तब तक वार्ता की कोई संभावना नहीं है।


14 के बाद हरियाणा में लगेगी आचार संहिता

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 की तैयारियां जोरो-शोरों से चल रही है। इस बार करीब 1.83 करोड़ लोग मताधिकार का प्रयोग करेंगे। कुल मतदाताओं की संख्या 1,82,98,714 है। इनमें 97,30,169 पुरुष व 84,60,820 महिलाएं, 239 ट्रांसजेंडर वोटर और सर्विस वोटर की संख्या 107486 है।


13-14 के बाद आचार संहिता, 2 नवंबर से पहले नई सरकार


चंडीगढ़। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक 13-14 सितंबर के बाद किसी भी समय आचार संहिता लागू हो जाएगी और 2 नवंबर से पहले नई सरकार का गठन हो जाएगा। सरकार ने चुनाव आयोग को बताया है कि 15-16 के बाद अगर आचार संहिता लगती है तो फिर दिवाली से पहले नई सरकार का गठन नहीं हो पाएगा। इसलिए चुनाव तिथियां ऐसे घोषित की जाएं कि दिवाली से पूर्व प्रदेश में नई सरकार हो।


महिला मतदाताओं को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान ,हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि महिला मतदाताओं को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। महाविद्यालयों में छात्रों को भी जागरूक कर रहे हैं। इनकी आयु 18 से 19 वर्ष के बीच है, ताकि वे अपने मत का प्रयोग पहली बार कर सकें। यदि अभी तक किसी नागरिक का वोट नहीं बना है और वह 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष या इससे अधिक आयु का हो गया है तो वह जल्द से जल्द अपना वोट बनवा लें।फरीदाबाद, मेवात, पलवल, जींद, सिरसा, यमुनानगर और पंचकूला जिलों में महिला वोटरों की संख्या बढ़ाने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी महिलाओं को वोट बनवाने के लिए प्रेरित करेंगे। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए हरियाणा मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय विशेष अभियान चलाएगा। बैठक में आयोग के महानिदेशक (चुनाव खर्च) दिलीप शर्मा भी उपस्थित रहे।


नई सरकार के चुनाव के लिए तैयार प्रशासनिक अमला


हरियाणा में नई सरकार के चुनाव के लिए प्रशासनिक अमला पूरी तरह से तैयार है। मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा और हरियाणा निर्वाचन विभाग ने भारतीय निर्वाचन आयोग को अपनी तैयारियों की विस्तृत रिपोर्ट सौंप दी है।निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ चुनाव उपायुक्त संदीप सक्सेना की अध्यक्षता में तैयारियों की समीक्षा करने आई चार सदस्यीय टीम अब अपना फीडबैक व सरकार की रिपोर्ट मुख्य चुनाव आयुक्त को सौंपेगी। प्रदेश में अगले सात दिन में किसी भी समय चुनाव आयोग आदर्श आचार संहिता लागू कर सकता है।आयोग की प्रेस वार्ता के साथ ही चुनाव की तारीखों का भी ऐलान हो जाएगा। संदीप सक्सेना ने हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी दुष्यंत कुमार बेहराव संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इंद्रजीत को निर्देश दिए कि वे विधानसभा चुनाव में खर्च के ब्योरे पर विशेष ध्यान दें।कुल बूथों के 10 प्रतिशत से ज्यादा बूथों की वेब कॉस्टिंग कराएं। मतदान की संख्या बढ़ाने के लिए स्वीप गतिविधियों के बारे जानकारी और डीसी अपने-अपने जिले में मैनेजमेंट प्लान तैयार करें। दिव्यांगों के लिए मतदान केंद्रों को उचित व्यवस्था करें।पड़ोसी राज्यों के साथ लगते जिलों में नाका लगाने के भी निर्देश दिए गए। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक और विधानसभा चुनाव के लिए राज्य नोडल अधिकारी नवदीप सिंह विर्क ने बताया कि प्रदेश में 258 नाका चालू किए गए हैं।38 हथियारों को जब्त किया है। 40862 लाइसेंस शस्त्र जमा करने के साथ ही 156 व्यक्ति गिरफ्तार किए गए हैं। 120 व्यक्तियों को बाउंड किया है। बॉर्डर मीटिंग का शेडयूल तैयार है। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पड़ोसी राज्यों के साथ जल्दी बैठकें की जाएंगी। पड़ोसी राज्यों के साथ लगते इलाकों में 268 नाका लगाए जाएंगे।


लिखा-पत्र:जुर्माना नहीं भर पाएंगी जनता

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को चिट्ठी लिखी है। प्रदेश सरकार ने पत्र में कहा है कि लोग इतना जुर्माना नहीं भर सकते। जब तक हमें जवाब नहीं मिलेगा, तब तक हम इंतजार करेंगे और नया जुर्माना लागू नहीं करेंगे।
महाराष्ट्र सरकार ने नए मोटर व्हीकल एक्ट पर लिखी नितिन गडकरी को चिट्ठीनए एक्ट में संशोधन करने की उठी मांग कहा- जनता के लिए जुर्माना भरना मुश्किल होगा।अगले कुछ ही महीनों में कई राज्यों में विधानसभा चुनवा होने वाले हैं। ऐसे में इन चुनावी राज्यों को अब नए मोटर व्हीकल एक्ट का डर सताने लगा है। यही वजह है कि जिन राज्यों में चुनाव है, वहां इस एक्ट में छूट देने की मांग उठ रही है। महाराष्ट्र में चुनाव से पहले सरकार ने केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को चिट्ठी लिखी है। महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने कहा है कि पत्र में नए यातायात नियमों में भारी जुर्माना लगाए जाने पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है। महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र से जुर्माना कम करने को कहा है। प्रदेश सरकार ने पत्र में कहा है कि लोग इतना जुर्माना नहीं भर सकते। जब तक हमें जवाब नहीं मिलेगा, तब तक हम इंतजार करेंगे और नया जुर्माना लागू नहीं करेंगे।सरकार की ओर से लिखी गई चिट्ठी में इस बात का जिक्र किया गया है कि भारी-भरकम जुर्माना राज्य  के लोगों के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाला है। केंद्र सरकार से इस चिट्ठी में अपील की गई है कि सरकार मोटर व्हीकल एक्ट में जरूरी बदलाव करे।महाराष्ट्र सरकार की मांग है कि ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर लगाया जा रहा जुर्माना जनता की क्षमता से कहीं ज्यादा है। लोग ज्यादा जुर्माना नहीं अदा कर सकते। हमने सरकार से अपील की है, सरकार चालान की राशि में कटौती करे। अगर हमें जवाब मिल जाता है तो हम आगे की कार्रवाई पर ध्यान देंगे।


परिवहन मंत्री की चिट्ठी में जिक्र लिखा गया है, 'विस्तृत चर्चा के बाद हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि आम जनता के लिए बहुत ज्यादा जुर्माना है। अगर किसी ने पहले ही ज्यादा जुर्माना दे दिया है, वह कोर्ट से कुछ राशि वापस पाने का अधिकारी हो सके। जुर्माने की राशि कम करने पर विचार किया जाना चाहिए।दिवाकर रावते ने लिखा नए ट्रैफिक नियमों पर अलग-अलग जगहों पर चर्चा की जा रही है। एक चीज साफ है कि पुराने नियमों के मुताबिक जुर्माने की राशि कम थी, इसलिए लोग ट्रैफिक नियमों को तोड़ते थे। लेकिन नया ट्रैफिक जुर्माना लोगों पर बहुत ज्यादा भारी पड़ रहा है। लोग इस फैसले से खुश नहीं है। जुर्माने की राशि ज्यादा है।हालांकि इस चिट्ठी पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। यह देखने वाली बात होगी कि केंद्र सरकार आने वाले दिनों में अपने फैसले पर पुनर्विचार करती है या नहीं।


प्रेम-प्रसंग में प्रेमी युगल ने लगाई फांसी

कवर्धा। प्रेम प्रसंग में प्रेमी जोड़े ने एक बार फिर फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। जिले में फांसी लगाकर आत्महत्या करने का सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा। गुरुवार सुबह फिर फांसी की एक घटना के पता चलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूत्रों के मुताबिक पौलमी गाँव के युवक, युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक जयसिंह उम्र 32, जो की शादीशुदा था, उसके 2 बच्चे भी है। वही मृतिका सुनीता उम्र 17 वर्ष, जो कि नाबालिग थी। दोनों ने ही साथ फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पूरी घटना ग्राम पोलमी, थाना कुकदूर क्षेत्र की है। घटना स्थल पर पुलिस पहुंच कर जांच कर रही है। बहरहाल अभी फाँसी लगाने का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। वही गांव के लोग प्रेम प्रसंग का मामला बता रहे हैं।


उत्तराखंड में आधा किया ट्रैफिक जुर्माना

अब उत्तराखंड सरकार ने भी घटाए ट्रैफिक फाइन, 50 फीसदी तक दी छूट


 देहरादून। केंद्र सरकार द्वारा एक सितंबर से लागू किए गये नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर पूरे देश के अलग-अलग राज्यों से विरोध शुरू हो गया। गुजरात , केरल के बाद अब इस एक्ट में उत्तराखंड सरकार ने आंशिक संशोधन किया है।


राज्य सरकार ने केंद्र के नए मोटर व्हीकल एक्ट के कुछ नियमों की जुर्माना राशि में करीब 50 फीसदी तक की कटौती की है। उधर, कर्नाटक के सीएम कार्यालय ने भी कहा है कि वह भी गुजरात की राह पर चलने की योजना बना रहे हैं। वहीं, महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार ने केंद्र ने फैसले पर फिर से विचार करने को कहा है। उत्तराखंड सरकार ने नए नियमों में बदलाव करते हुए बिना लाइसेंस वाहन चलाने पर छूट देते हुए इस राशि को 2500 कर दिया है। केंद्र सरकार ने बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने पर 500 रुपये पड़ने वाले फाइन को बढ़ाकर 5,000 कर दिया था। इसके अलावा लाइसेंस निरस्त करने के बाद भी वाहन चलाते हुए पाए जाने पर प्रदेश में 10,000 की जगह 5,000 रुपये का ही चालान काटा जाएगा। वहीं, मोबाइल पर बात करते हुए वाहन चलाने पर पहली बार 1000 रुपये और दूसरी बार 5,000 रुपये का चालान किया जाएगा। ध्वनि प्रदूषण या वायु प्रदूषण संबंधी मानकों का उल्लंघन करने पर केंद्र ने 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया था, जिसे राज्य सरकार ने प्रथम अपराध के लिए 2,500 रुपये और उसके बाद के लिए 5,000 रुपये कर दिया है। भारी वाहनों में क्षमता से अधिक ले जाने पर केंद्र ने 20,000 रुपये का जुर्माना रखा था, जिसे राज्य ने हल्के वाहन के लिए 2,000 रुपये, मध्यम एवं भारी मोटर वाहनों के लिए 5,000 रुपये कर दिया है।


यूपी होमगार्ड की सेवा खत्म करने की तैयारी

उत्तर-प्रदेश में पुलिस विभाग ने अब होमगार्ड्स की सेवा ना लेने की तैयारी कर रहा है और अगर ऐसा होता है तो इसका असर अब तक पुलिस विभाग में तैनात करीब 25 हजार होमगार्ड्स की तैनाती पर पड़ सकता है।


लखनऊ। उत्तर-प्रदेश में पुलिस विभाग ने अब होमगार्ड्स की सेवा ना लेने की तैयारी कर रहा है और अगर ऐसा होता है तो इसका असर अब तक पुलिस विभाग में तैनात करीब 25 हजार होमगार्ड्स की तैनाती पर पड़ सकता है। प्रदेश में पुलिस विभाग के थानों, और ट्रैफिक में करीब 25 हाजर जवान तैनात हैं लेकिन गृह विभाग पुलिस में तैनात इन होमगार्ड्स को अब वापस उनके विभाग में भेजने की तैयारी कर रहा है। इसके पीछे वजह बजट की कमी होना बताया जा रहा है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर प्रदेश सरकार होमगार्ड स्वयंसेवकों को पुलिस के बराबर वेतन और एरियर देने पर सहमत हो गई है। सरकार प्रदेश के होमगार्डों को दिल्ली के होमगार्डों को दिए जा रहे ड्यूटी भत्ते के बराबर भुगतान करेगी। एरियर भुगतान की कट ऑफ डेट भी तय कर दी गई है। कोर्ट के आदेश पर अब होमगार्डस को 500 के बजाय 672 रुपये दैनिक भत्ता मिलेगा। चूंकि जो होमगार्डस जिस विभाग में तैनात होते हैं, उसी विभाग को उनका दैनिक भुगतान करना होता है। ऐसे में पुलिस विभाग में तैनात करीब 25 हाजर होमगार्डस का भुतान भी पुलिस विभाग को ही करना पड़ता है। अब जबकि कोर्ट के आदेश के बाद होम गार्ड्स का दैनिक भत्ता 500 के बजाय 672 रुपये हो चुका है, लिहाजा गृह विभाग में प्रति होमगार्ड 172 रुपये रोजाना का खर्च बढ़ जाएगा और शायद इसी खर्चें की कटौती के लिए पुलिस विभाग अब इन होमगार्ड्स को हटाने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में अचानक इतनी बड़ी संख्या में होमगार्ड्स की तैनाती कही और नहीं हो पाएगी। लिहाजा होमगार्ड्स की बेरोजगारी बड़ी समस्या हो जाएगी। प्रदेश में 92 हजार होमगार्ड हैं। इनमें से करीब 87 हजार ड्यूटी कर रहे हैं। हालांकि इनकी बड़ी तैनीती पुलिस विभाग में होती है। पुलिस बल की संख्या कम होने की वजह से पुलिस विभाग होमगार्डस की सेवाएं लेता है। होमगार्ड विभाग मंत्री चेतन चौहान का कहना है कि अभी आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है, लेकिन पता चला है कि गृह विभाग ऐसी तैयारी कर रहा है। अगर पुलिस विभाग 25 हजार होमगार्डस की तैनाती खत्म करता है तो वो सभी वापस होमगार्ड विभाग में आ जाएंगें। हालांकी इसका नुकसान भी होगा। जो उन्हें दैनिक भत्ता मिलता है वो तब तक नहीं मिल पाएगा। जबतक उनकी तैनाती कहीं और नहीं हो जाती।


सुरेंद्र नागर ने राज्यसभा मे किया नामांकन

लखनऊ। राज्यसभा की खाली हुई 2 सीटों के लिए उम्मीदवारों ने गुरुवार को विधानसभा में नामांकन दाखिल किया सपा से इस्तीफा देने के बाद सुरेंद्र नागर और संजय सेठ का निर्विरोध निर्वाचित होना लगभग तय माना जा रहा है। सुरेंद्र नागर के नामांकन के दौरान प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा, सुरेश खन्ना विधायक,तेजपाल नागर विधायक, धीरेंद्र सिंह,रविकांत मिश्रा,राजेश अवाना, यूसुफ पटेल, नरेश चोपड़ा, वेद प्रधान,सतीश प्रमुख, विजेंद्र प्रमुख, जे पी सिंह सुरेश तिवारी, महेश अवाना, योगेंद्र चौधरी,कालूराम एडवोकेट,कपिल गुर्जर, सुभाश भाटी, ओमपाल प्रधान, संसार नागर, राजू बक्शी, मनीष चौधरी, श्रीचंद शर्मा मोदी, राम नागर,अनिल नागर, सुनील नागर,ओमवीर शेलेन्द्र,भाटी योगेश खारी,राजू भाटी, पाली मंगतराम पाल, राजवीर सिंह, पप्पू प्रधान के अलावा बहुत लोग नामांकन में शामिल होने पहुंचे उन्होंने बुके देकर सुरेंद्र नागर को बधाई दी। इसके बाद सुरेंद्र नागर भाजपा मुख्यालय पहुंचे उन्होंने वरिष्ठ नेताओं के साथ विधानसभा में नामांकन किया।


'यूपी को ऐप' पर घर बैठे होगी दर्ज शिकायत

महाराजगंज यूपी काप ऐप के जरिए घर बैठे दर्ज हो सकती है शिकायत l
महाराजगंज। जनपद के अंतर्गत परसा मलिक थाना क्षेत्र के चौथी चरण इंटरमीडिएट कॉलेज के छात्र छात्राओं को यूपी काप ऐप के बारे में जानकारी दी गई। सीसी टी एन एस के प्रभारी शिवानंद पासवान ने दी l बताते चलें कि थाना परसा मलिक क्षेत्र में स्थित चौथी चरण इंटरमीडिएट कॉलेज में पहुंचे। सीसी टीएनएस के प्रभारी शिवानंद पासवान ने विद्यालय में उपस्थित सभी छात्र छात्राओं को यूपी काप ऐप के बारे में विस्तृत जानकारी दी। जिस में उपस्थित छात्र छात्राओं ने सीसी टी एन एस के प्रभारी शिवानंद से जानकारी लिए जिसमें उन्होंने बताया कि आप इस ऐप के माध्यम से बिना थाने गए घर बैठे अपने अधिक से अधिक शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। जैसे चोरी लूट चैन स्नैचिंग पर्स व बैग आदि छीनने से संबंधित 24 मामले की शिकायत दर्ज हो सकती है कोई भी पीड़ित खासकर अज्ञात आरोपित के विरुद्ध विनोथाने गए अपनी रिपोर्ट दर्ज करा सकता है। एफआईआर की प्रति संबंधित व्यक्ति के मेल पर प्राप्त किया जा सकता है। किसी वारदात के होने पर थानों के बीच सीमा विवाद खत्म करने के लिए जल्द ही यूपी काप सिटीजन ऐप परफारमेंस मैनेजमेंट सिस्टम ऐप लांच किया जाएगाा। जैसे चरित्र प्रमाण पत्र के लिए पुलिस अधीक्षक कार्यालय के चक्कर नहीं काटने होंगे ऐप पर ना सिर्फ चरित्र प्रमाण पत्र के आवेदन की सुविधा है। बल्कि ऑनलाइन शुल्क जमा करने की भी व्यवस्था हैै। इस मौके पर थानाध्यक्ष परसा मलिक प्रह्लाद पांडे कांस्टेबल अजय कुमार यादव दुर्ग विजय वर्मा महिला कांस्टेबल रिंजू राजभर व विद्यालय प्रबंधक कृष्ण मुरारी चौधरी व विद्यालय के सभी अध्यापक गण मौजूद रहेl
रिपोर्ट-संजय कुमार


पुलिस पर नए कानून से होगा जुर्माना

रायपुर। सूबे के पुलिसकर्मियों में पीएचक्‍यु से जारी फरमान के बाद हड़कंप मच गया है। पुलिस मुख्यालय ने आदेश जारी किया है, अगर पुलिसकर्मी ट्रैफिक नियम तोड़ते हुए नजर आये तो उनके खिलाफ नये मोटर व्हीकल एक्ट के मुताबिक जुर्माना वसूला जायेगा। छत्तीसगढ़ में नया ट्रांसपोर्ट एक्ट भले लागू नहीं हुआ है, लेकिन ट्रैफिक नियम तोड़ने पर पुलिसकर्मियों से नये एक्ट के हिसाब से जुर्माना राशि से दोगुना राशि वसूलने का निर्देश दिया गया है। इस बाबत पुलिस मुख्यालय ने सभी पुलिस अधीक्षकों को आदेश जारी कर दिया है। 


दरअसल ट्रांसपोर्ट एक्ट में सरकारी मुलाजिम के नियम तोड़ने पर दोगुना जुर्माना वसूलने का प्रावधान है, उसी नियम का हवाला देते हुए ये आदेश जारी किया गया है। हालांकि फिलहाल छत्तीसगढ़ में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू नहीं किया गया है। राज्य सरकार ने विधि विभाग के परीक्षण के बाद ही कोई फैसला लेने की बात कही है, लेकिन राज्य सरकार ने पुलिसकर्मियों के लिए सख्त नियम बनाकर ये संकेत देने की कोशिश की है, कि कानून की नजर में सभी बराबर हैं। छत्तीसगढ़ में अभी पुराने रेट से ही समझौता शुल्क वसूला जा रहा है, लेकिन इसी बीच पुलिसकर्मियों के लिए नया एक्ट लागू करने के आदेश ने हड़कंप मचा दिया है। 


अधिकारी काम नहीं करे तो जूतों से मारो

बलरामपुर। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस शासित सरकार के विधायक और मंत्रियों के द्वारा दिए जा रहे बयानों से कांग्रेस की फजीहत होती जा रही है। जहां सरकार के मंत्री स्कूली बच्चों के बीच बैठकर उन्हें नेता बनने के लिए अफसरों का कॉलर पकड़ने की नसीहतें दे रहे हैं, चंद्रयान की असफलता के पीछे प्रधानमंत्री को दोषी ठहरा कर जहां कांग्रेस सरकार के मंत्री विवादों में आ गए हैं। वहीं अब रामानुजगंज से कांग्रेस के विधायक बृहस्पति सिंह ने भड़काऊ बयान देकर सरकार के लिए मुसीबतें बढ़ा दी हैं। दरअसल राशन कार्ड वितरण संबंधी कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे रामानुजगंज के विधायक बृहस्पत सिंह ने मंचासीन मंत्री के सामने ही लोगों से अपील की कि अगर अधिकारी आपका काम नहीं करते हैं, तो आप उन्हें जूते मारिए। उनके इस बयान को लेकर बवाल मच गया है और एक बार फिर कांग्रेस सरकार की फजीहत हो गई है।
विधायक बृहस्पति सिंह ने कहा कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ जांच होनी चाहिए और उन्हें हर हालत में जेल भेजा जाना चाहिए। विधायक ने आगे कहा, "ऐसे अधिकारियों को जूता मारना पड़े तो मारो, लेकिन किसानों को धोखा देना कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।" विधायक का आरोप है कि बैंक अधिकारी किसानों के पुराने कर्जे को जिसे सरकार ने माफ कर दिया है, नया बता रहे हैं और उसकी वसूली के लिए नोटिस भेज रहे हैं। बता दें कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने अपने चुनावी वादे के तहत किसानों का कर्जा माफ कर दिया है।
छत्तीसगढ़ के नेताओं मंत्रियों का बड़बोलापन कोई नया नहीं है। कुछ ही दिन पहले छत्तीसगढ़ सरकार में आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने बच्चों को कहा था कि बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर-एसपी जैसे अधिकारियों का कॉलर पकड़ो। ऐसे में अब अनुशासन का डंडा कांग्रेस के नेताओं पर चलने के आसार भी नज़र आ रहे हैं।


भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत

हापुड़ में खड़े ट्रक में जा घुसी तेज रफ्तार कार, 5 लोगों की मौत


हापुड। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में गुरुवार को एक भीषण सड़क हादसे में पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, हादसा कार और ट्रक के बीच हुआ। घटना हाफिसपुर थाना क्षेत्र के सोना पेट्रोल पंप के पास हुआ है। हादसे के बाद हर तरफ चीख पुकार मचने लगी। चीख पुकार सुनकर आस-पास के लोग अपने घरों से दौड़ पड़े। हादसे की जानकारी के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।


जानकारी के मुताबिक, थाना हाफिजपुर के सोना पेट्रोल पंप के पास हाईवे-9 पर एक ट्रक खड़ा हुआ था। तभी मुरादाबाद की तरफ से आ रही तेज रफ्तार कार खड़े ट्रक से टकरा गई। हादसा इतना भयानक था के कार ट्रक के अंदर घुस गई और कार सवार पांचों लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी मौके पर पहुंची पुलिस ने 5 लोगों के कार में फंसे शवों को कड़ी मशक्कत के बाद गाड़ी से निकला। वहीं अभी लोगों की पहचान नहीं हो सकी है। हालांकि एक युवक के मोबाइल पर आए फोन के अनुसार वह अमरोहा का रहने वाला है, जो कि दिल्ली जा रहा था। वहीं ट्रक चालक मौके से फरार बताया जा रहा है।


जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने पाक को लताडा

नई दिल्ली। कश्मीर मामले पर वैश्विक स्तर पर मिल रही फटकार और नाकामी के बाद पाकिस्तान को एक और तगड़ा झटका लगा है। भारत की अग्रणी इस्लामिक संस्था जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने पाकिस्तान के कथित मुस्लिम प्रेम की कलई खोलकर रख दी है। उन्होंने कश्मीर से विशेष प्रावधान धारा 370 हटाने पर सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया है जिसमें उन्होंने कश्मीर को भारत का अभिन्न बताया है। जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव महमूद मदनी ने इस बारे में मीडिया से चर्चा की है।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रस्ताव में कश्मीर को भारत का अभिन्न हिस्सा बताते हुए कहा गया है की देश की सुरक्षा और अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं होगा। भारत उनका देश है और वह इसके साथ खड़े हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तान लगातार संयुक्त राष्ट्र और दूसरे अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के आगे भारत को मुस्लिमों के खिलाफ बताता रहा है। वह कश्मीर पर भी सेना के कार्रवाई को गलत तरीके से पेश करता रहा है। जमीअत उलेमा-ए-हिंद ने पाकिस्तान के इसी झूठ का पर्दाफाश करते हुए भारत और उसके फैसले के साथ हमेशा खड़े रहने की बात कही है।


पेट्रोलियम प्लांट का टैंक फटा:अलर्ट

उन्नाव में हिंदुस्तान पेट्रोलियम प्लांट का टैंक फटा, दमकल की कई गाड़ियां मौके पर


उन्नाव। कोतवाली उन्नाव के दही चौकी स्थित हिंदुस्तान पेट्रोलियम प्लांट में गुरुवार को अचानक टैंक फटने से भीषण आग लग गई। इस हादसे के बाद इलाके में भगदड़ मच गई। हादसे की जानकारी पाकर दमकल की कई गाडि़यां मौके पर पहुंच गई हैं। दमकलकर्मी स्थिति पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस और प्रशासन किसी भी अनहोनी से बचने के लिए आसपास के गांवों को खाली करा रहे हैं।


बताया जा रहा है कि हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम प्‍लांट के टैंक का वाल्‍व लीक होने के कारण तेज धमाके के साथ यह हादसा हुआ है। हादसे की सूचना पर मौके पर फायर बिग्रेड की कई गाड़ियां पहुंच गई हैं। हादसे के बाद प्लांट के आसपास में आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। प्लांट के आसपास 4-5 किमी के क्षेत्र को अलर्ट पर रखा गया है। आवागमन बंद होने से घायलों की जानकारी अभी तक नहीं मिल पा रही है। इस समय प्‍लांट के अंदर लीकेज को रोकने का प्रयास चल रहा है। साथ ही आसपास के इलाके को खाली कराया जा रहा है।


गाय से कुत्ते की तुलना,भद्दा मजाक

सिवनी। हमारे देश का अन्नदाता अपनी मेहनत और लगन से धरती माँ की गोद से जो फसलें पैदा करता है, उससे देश की 130 करोड़ जनता का पेट भरता है। किसान को अपनी इस मेहनत का जो परिणाम मिलना चाहिये वह नहीं मिल पा रहा है। उक्ताशय के विचार सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन ने कृषि विज्ञान केन्द्र में आयोजित किसान संगोष्ठी में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछली सरकार में गहन अध्ययन किया और उन्होंने खेती को लाभ का धंधा बनाने की दिशा में कई योजनाएं लागू कीं। किसान, खेती के साथ ही साथ पशु पालन करें ताकि उन्हें आय के अन्यत्र स्त्रोत प्राप्त हों, यह हमारे प्रधानमंत्री की दूरदर्शी सोच है, आने वाले समय में इन सबके सार्थक परिणाम हम सबको देखने को मिलेंगे।


उन्होंने कहा कि किसानों को पशु पालकों को कई बार ऐसी समस्या घर कर जाती है कि बीमारियों के चलते पशुधन से हानि हो जाती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने अनुभव के आधार पर इस समस्या को जाना और समझा है। यही कारण है कि पशु पालन से किसानों को हानि न हो इसके लिये उन्होंने खुरपका और मुँहपका की बीमारी तथा ब्रूसेलोसिस के लिये राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ किया है जिसका सीधा प्रसारण देखने का सबको अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी का इस राष्ट्रीय कार्यक्रम का शुभारंभ मथुरा की भूमि से करने का उद्देश्य यह है कि यह पवित्र भूमि आराध्य भगवान श्रीकृष्ण और उनका गौ माता के प्रति अथाह प्रेम की प्रतीक है। उन्होंने कहा कि समय बदल गया है पहले गाय को हम घर पर रखकर उसकी गौ माता के रूप में सेवा करके गर्व महसूस करते थे, किंतु आज घर पर कुत्ता की सेवा करने को हम अपने स्टेटस के रूप में ले रहे हैं।


बालाघाट सांसद डॉ.बिसेन ने बताया कि राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शत प्रतिशत वित्त पोषण केंद्र सरकार ही वहन करेगी। इस मद में 2019 से 2024 के लिये 12,652 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं। प्रधानमंत्री के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम का उद्देश्य टीकाकरण के माध्यम से खुरपका और मुँहपका रोग तथा ब्रूसेलोसिस को 2025 तक नियंत्रित करना तथा 2030 तक पूरी तरह समाप्त करना है। सांसद के निज सचिव सतीश ठाकरे ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि किसान संगोष्ठी के पूर्व सांसद डॉ.बिसेन के मुख्य आतिथ्य में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मथुरा से राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के शुभारंभ का सीधा प्रसारण कृषि विज्ञान केन्द्र के दर्पण सभागार में किया गया।


इस अवसर पर किसानों एवं पशु पालकों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रमण्डल सदस्य जवाहर नेहरू कृषि विश्व विद्यालय जबलपुर ने की। इस अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं उन्नतशील कृषक वेद सिंह ठाकुर, विज्ञान केन्द्र प्रभारी सहित विषय विशेषज्ञ वैज्ञानिकगण उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में पशुओं का एफएमडी टीकाकरण और कृत्रिम गर्भाधान किया गया।


आज का दिन शानदार रहेगा: कुंभ

राशिफल


मेष-मेष राशि के लोगों का दिन शुभ होगा। आपके काम और काम के प्रति अच्छे व्यवहार से लोग प्रभावित हो सकते है। बेरोजगारों को आज रोजगार मिल सकता है। यात्रा करनी पड़ सकती है, धन लाभ हो सकता है।


वृषभ-वृषभ राशि के लोगों का दिन अच्छा बितने वाला है। आज के दिन आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकती है। पारिवार में सुख-शांति का बनी रहेगी। छात्रों का पढ़ाई में मन लगा रहेगा। किसी बड़े काम में सफलता हाथ लग सकती है।


मिथुन-मिथुन राशि के लोगों का दिन अच्छा बीतेगा। धन लाभ के पूरे संयोग बने हुए हैं। काम के प्रति दिल लगा रहे हैं। सेहत में थोड़ा उतार चढ़ाव देखने को मिल सकता है।


कर्क-कर्क राशि के लोगों का दिन अच्छा रहेगा। आज दोस्त की मदद से आर्थिक स्थिति में सुधार आ सकता है। मां बाप के साथ समय बिताने का मौका मिलेगा। पढ़ाई में मन लगा रहेगा।


सिंह-सिंह राशि के लोगों का दिन काफी अच्छा बीतने वाला है। आज परिवार के लोगों के साथ अच्छा समय बीतेगा। पेट से जुड़ी कोई समस्या हो सकती है।


कन्या-कन्या राशि के लोगों का दिन हो सकता है। आज आपके अधुरे हुए काम पूरे होंगे। सेहत शानदार रहेगी। बाहर के खाने से दूरी बनाए। पेट के रोग से मुक्ति मिलेगी।


तुला-तुला राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज सेहत में गिरावट हो सकती है। काम का ओवरलोड हो सकता है। परिवार के साथ किसी जगह की यात्रा का योग बन सकता है। घर पर समय बिताएं।


वृश्चिक-वृश्चिक राशि के लोगों का दिन अच्छा होगा। सेहत अच्छी रहेगी। सेहतमंद रहने के लिए फलों का सेवन करना बेहतर रहेगा। बाहर के खाने से दूरी बनाए। पेट के रोग से मुक्ति मिलेगी।


धनु-धनु राशि के लोगों का दिन शुभ होगा। किसी पुराने दोस्त से मुलाकात हो सकती है। संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है। शादी के योग बन रहे हैं। बात करेंगे तो बन जाएगी।


मकर-मकर राशि के लोगों का दिन थोड़ा भारी बितेगा। आज आपका ध्यान अध्यात्म की ओर रहेगा। कोई जरूरी काम आज पक्ष में रहेगा। काम में कोई हाथ बटा सकता है। परिवार में थोड़ा मतभेद हो सकती है।


कुंभ-कुंभ राशि के लोगों का दिन शानदार रहेगा। आज माता-पिता की सलाह से कार्य करे। समाज में लोग आपके व्यावहार से प्रसन्न होगें। धन सम्बंधी मामले आज सुधर जाएंगे। दोस्तों के साथ समय बिताने का मौका मिलेगा।


मीन-मीन राशि के लोगों का दिन अच्छा जाएगा। जीवन में परिवर्तन लाने का मौका मिलेगा। जीवनसाथी का पूरा साथ मिलेगा। दोस्त मुसीबत में साथ खड़े होंगे।


शारीरिक पदार्थों का आवश्यक तत्व

ऑक्सीजन पृथ्वी के अनेक पदार्थों में रहता है जैसे पानी और वास्तव में अन्य तत्वों की तुलना में इसकी मात्रा सबसे अधिक है। ऑक्सीजन, वायुमंडल में स्वतंत्र रूप में मिलता है और आयतन के अनुसार उसका लगभग पाँचवाँ भाग है। यौगिक रूप में पानी, खनिज तथा चट्टानों का यह महत्वपूर्ण अंश है। वनस्पति तथा प्राणियों के प्राय: सब शारीरिक पदार्थों का ऑक्सीजन एक आवश्यक तत्व है।


हॉफमान के वोल्टामीटर में जल के विद्युत अपघटन से हाइद्रोजन और आक्सीजन उत्पन्न होतीं हैं।
कई प्रकार के आक्साइडों (जैसे पारा,चाँदी इत्यादि के) अथवा डाइआक्साइडों (लेड, मैंगनीज़, बेरियम के) तथा ऑक्सीजन वाले बहुत से लवणों (जैसे पोटैशियम नाइट्रेट, क्लोरेट, परमैंगनेट तथा डाइक्रोमेट) को गरम करने से ऑक्सीजन प्राप्त हो सकता है। जब कुछ पराक्साइड पानी के साथ प्रक्रिया करते हैं तब भी ऑक्सीजन उत्पन्न होता है। अत: सोडियम पराक्साइड तथा मैंगनीज़ डाइआक्साइड या चूने के क्लोराइड का चूर्णित मिश्रण (अथवा इसी प्रकार के अन्य मिश्रण भी) ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्रयुक्त होते हैं। हाइपोक्लोराइड अथवा हाइपोब्रोमाइट (जैसे चूर्ण विरंजन) के विघटन से या गंधक के अम्ल तथा मैंगनीज़ डाइआक्साइड या पोटैशियम परमैंगनेट की क्रिया से भी ऑक्सीजन मिलता है। गैसे की थोड़ी मात्रा तैयार करने के लिए हाइड्रोजन पराक्साइड अकेले अथवा उत्प्रेरक के साथ अधिक उपयुक्त है।


जब बेरियम आक्साइड को तप्त किया जाता है (लगभग 500 डिग्री सें. तक) तब वह हवा से ऑक्सीजन लेकर पराक्साइड बनाता है। अधिक तापक्रम (लगभग 800 डिग्री सें.) पर इसके विघटन से ऑक्सीजन प्राप्त होता है तथा पुन: उपयोग के लिए बेरियम आक्साइड बच रहता है। औद्योगिक उत्पादन के लिए ब्रिन विधि इसी क्रिया पर आधारित थी। ऑक्सीजन प्राप्त करने के विचार से कुछ अन्य आक्साइड भी (जैसे ताँबा, पारा आदि के आक्साइड) इसी प्रकार उपयोगी हैं। हवा से ऑक्सीजन अलग करने के लिए अब द्रव हवा का अत्यधिक उपयोग होता है, जिसके प्रभाजित आसवन से ऑक्सीजन प्राप्त किया जाता है, पानी के विद्युत्श्लेषण से जलजनके उत्पादन में ऑक्सीजन भी उपजात के रूप में मिलता है।


संसार-साधन के स्वामी 'श्री गणेश'

गणेश शिवजी और पार्वती के पुत्र हैं। उनका वाहन डिंक नामक मूषक है। गणों के स्वामी होने के कारण उनका एक नाम गणपति भी है। ज्योतिष में इनको केतु का देवता माना जाता है और जो भी संसार के साधन हैं, उनके स्वामी श्री गणेशजी हैं। हाथी जैसा सिर होने के कारण उन्हें गजानन भी कहते हैं। गणेश जी का नाम हिन्दू शास्त्रो के अनुसार किसी भी कार्य के लिये पहले पूज्य है। इसलिए इन्हें प्रथमपूज्य भी कहते है। गणेश कि उपसना करने वाला सम्प्रदाय गाणपत्य कहलाता है।


कथा 
प्राचीन समय में सुमेरू पर्वत पर सौभरि ऋषि का अत्यंत मनोरम आश्रम था। उनकी अत्यंत रूपवती और पतिव्रता पत्नी का नाम मनोमयी था। एक दिन ऋषि लकड़ी लेने के लिए वन में गए और मनोमयी गृह-कार्य में लग गई। उसी समय एक दुष्ट कौंच नामक गंधर्व वहाँ आया और उसने अनुपम लावण्यवती मनोमयी को देखा तो व्याकुल हो गया।


कौंच ने ऋषि-पत्नी का हाथ पकड़ लिया। रोती और काँपती हुई ऋषि पत्नी उससे दया की भीख माँगने लगी। उसी समय सौभरि ऋषि आ गए। उन्होंने गंधर्व को श्राप देते हुए कहा 'तूने चोर की तरह मेरी सहधर्मिणी का हाथ पकड़ा है, इस कारण तू मूषक होकर धरती के नीचे और चोरी करके अपना पेट भरेगा। काँपते हुए गंधर्व ने मुनि से प्रार्थना की-'दयालु मुनि, अविवेक के कारण मैंने आपकी पत्नी के हाथ का स्पर्श किया था। मुझे क्षमा कर दें। ऋषि ने कहा मेरा श्राप व्यर्थ नहीं होगा, तथापि द्वापर में महर्षि पराशर के यहाँ गणपति देव गजमुख पुत्र रूप में प्रकट होंगे (हर युग में गणेशजी ने अलग-अलग अवतार लिए) तब तू उनका डिंक नामक वाहन बन जाएगा, जिससे देवगण भी तुम्हारा सम्मान करने लगेंगे। सारे विश्व तब तुझें श्रीडिंकजी कहकर वंदन करेंगे।


गणेश को जन्म न देते हुए माता पार्वती ने उनके शरीर की रचना की। उस समय उनका मुख सामान्य था। माता पार्वती के स्नानागार में गणेश की रचना के बाद माता ने उनको घर की पहरेदारी करने का आदेश दिया। माता ने कहा कि जब तक वह स्नान कर रही हैं तब तक के लिये गणेश किसी को भी घर में प्रवेश न करने दे। तभी द्वार पर भगवान शंकर आए और बोले "पुत्र यह मेरा घर है मुझे प्रवेश करने दो।" गणेश के रोकने पर प्रभु ने गणेश का सर धड़ से अलग कर दिया। गणेश को भूमि में निर्जीव पड़ा देख माता पार्वती व्याकुल हो उठीं। तब शिव को उनकी त्रुटि का बोध हुआ और उन्होंने गणेश के धड़ पर गज का सर लगा दिया। उनको प्रथम पूज्य का वरदान मिला इसीलिए सर्वप्रथम गणेश की पूजा होती है।


बारह नाम 


गणेशजी के अनेक नाम हैं लेकिन ये 12 नाम प्रमुख हैं- सुमुख, एकदंत, कपिल, गजकर्णक, लंबोदर, विकट, विघ्न-नाश,विनायक, धूम्रकेतु, गणाध्यक्ष, भालचंद्र, गजानन। उपरोक्त द्वादश नाम नारद पुराण में पहली बार गणेश के द्वादश नामवलि में आया है। विद्यारम्भ तथ विवाह के पूजन के प्रथम में इन नामो से गणपति के अराधना का विधान है।


यमाचार्य नचिकेता वार्ता (धर्मवाद)

गतांक से...
इसलिए प्रत्येक मानव को प्रत्येक मेरी पुत्री को, प्रत्येक माता को, प्रत्येक ऋषि-मुनि को अपने जीवन में अनुसंधान की आवश्यकता है और प्रतिभा को प्राप्त करने की आवश्यकता है। जिससे यह संसार ऊंचा बनता है महान बनता है, पवित्र बनता है और उस पवित्रता को लाने के लिए मानव को तप की आवश्यकता होती है। यह है आज का हमारा वेद का ऋषि यह कह रहा है। आज के वेद के ऋषि की वार्ता को सुनकर के हमारी अंतरात्मा गदगद हो गई। यह कहा कि हम प्रत्येक रूप में यज्ञ करते हैं और यही हमारा धर्म है। और धर्म और मानवता का दोनों का घनिष्ठ संबंध रहता है। मानवता धर्म से ही संसार में ऊंचा बनता है धर्म में पिरोया हुआ है। यह संसार क्योंकि वाणी से लेकर के मानव की प्रत्येक इंद्रियां धर्म में पिरोई हुई है। एक सूत्र में पिरोई हुई है उन्हें कौन धारण करता है। जो जिज्ञासु होता है, जो विवेकी होता है। वही अपने मन में धारण करता है। अन्यथा इनको धारण नहीं किया जाता है। मैं विशेष चर्चा प्रकट करने नहीं आया हूं। आज मैं तुम्हें यह वाक्य प्रकट करने आया था कि प्रत्येक मानव, प्रत्येक देवकन्या को अपने जीवन को ऊंचा बनाना है। और मानवीय को महानता के मार्ग पर ले जाएं ।परमात्मा को प्राप्त होना है दर्शन को पाना है। हे मानव, मानव का दर्शन क्या है? मानव को अपने स्‍वत: अंतरात्मा में प्रवेश हो करके जाना चाहिए कि उसको स्‍वत: मानवीय दर्शन क्या है। अपने को जानना ही एक मानवता है जो यज्ञ हो रहा है। ब्रह्म समिधा स्वाहा कहकर के यज्ञ कर रहा है। स्‍वाहा का अभिप्राय क्या है जिससे अग्नि उद्धत होती है स्‍वाहा से अग्नि अद्भुत होती है। इस सवाल को हमने मेरे प्यारे आचार्य ऋषि-मुनियों ने वेद से जाना तो ऐसा कहा है कि जो मानव अग्नि के समीप विधमान होकर के स्‍वाहा कहता है। उसकी वाणी का परमाणु वाद जितने आकार का, वह मानव शरीर बना हुआ है उतने ही आकार का परमाणु वाद। मुनिवरो अग्नि की धाराओं पर विद्यमान हो करके वह अंतरिक्ष को प्राप्त हो जाता है। स्वाहा स्वच्छ होना चाहिए। स्‍वाहा ह्रदय से स्वच्छ होना चाहिए। जिससे कि वायुमंडल पवित्र बन जाए। ग्रह पवित्र बन जाए। मुझे स्मरण आता रहता है। मैंने वह अध्ययन किया हुआ अध्याय जो किसी काल में ब्रह्मा के पुत्र अथर्वा ने एक यज्ञ किया था। अपने गृह में एक यज्ञ किया था ।यज्ञ करने के पश्चात अपनी पत्नी से कहते हैं कि हे देवी एक संतान को जन्म देना है। जन्म देने से पूर्व एक यज्ञ करना है। उन्होंने छह माह तक ब्रह्मचर्य को धारण करके उन पति-पत्नी ने मुनिवरो देखो भयंकर वनों में संकल्प एकत्रित किया, औषधिया एकत्रित करने के पश्चात साकल्य एकत्रित करने के पश्चात उन्होंने यज्ञ किया और वह स्वाहा उच्चारण किया। स्वच्छ हृदय से,वेद मंत्रो से स्‍वाहा कहा, कहां व्यंजन आना चाहिए कहां स्वर होना चाहिए। यज्ञ करने के पश्चात उनके यहां एक महान बालक का जन्म हुआ। हमारे यहां यज्ञ की बहुत महिमा मानी गई है। प्रत्येक शुभ कर्म यज्ञ के द्वारा ही संपन्न होते हैं। आज का वाक्य अब हमारा समाप्त होने जा रहा है। वाक्य उच्चारण करने का अभिप्राय है कि हमें परमपिता परमात्मा की आराधना करते हुए इस संसार-सागर से पार हो जाना है अब वेदों का पठन-पाठन होगा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


september 13, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1.अंक-41 (साल-01)
2. शुक्रवार,13सितबंर 2019
3.शक-1941,भादप्रद शुक्‍लपक्ष पूर्णिमा आज,विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 5:59,सूर्यास्त 6:41
5.न्‍यूनतम तापमान -27 डी.सै.,अधिकतम-36+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी, उमस बनी रहेगी बरसात की संभावना रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275


जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से घबराया 'चीन'

बीजिंग। जी-7 के बिल्ड बैक बेटर वर्ल्ड प्लान से चीन घबरा गया है। यही वजह है कि जी-7 देशों की बैठक के तुरंत बाद चीन ने जिनपिंग के ड्रीम प्रोजे...