रविवार, 8 अगस्त 2021

चीन से हुए समझौतें में भारत ने काफी कुछ खोया

बीजिंग/ नई दिल्ली। जाने-माने जियोस्ट्रैटेजिस्ट और लेखक ब्रह्म चेलानी ने कहा है कि चीन से हाल में हुए समझौतें में भारत ने काफी कुछ खो दिया है। इसमें सिर्फ ड्रैगन का फायदा नजर आ रहा है। चेलानी ने यह दावे शनिवार (सात अगस्त, 2021) को कुछ सिलसिलेवार ट्वीट्स के जरिए किए। उन्होंने पीपी17ए पर दोनों मुल्कों के पीछे हटने से संबंधित प्रेस विज्ञप्ति को साझा करते हुए लिखा, “भारत की तरफ से घोषित (विघटन या पीछे हटने की प्रक्रिया) जुलाई 2020 गलवान और फरवरी 2021 के पैंगोंग क्षेत्र के विसैन्यीकरण के जैसी है। यह चीन को सचमुच दो बार जीतने की अनुमति देता है। चीन पहले अतिक्रमण करता है। फिर यथास्थिति को औपचारिक रूप देते हुए भारत पर बफर जोन थोपता है।”

18 अगस्त से खुलेंगे हल्द्वानी के सभी स्कूल, आदेश

पंकज कपूर                

हल्द्वानी। 18 अगस्त से हल्द्वानी और उसके आसपास के सभी प्राइवेट स्कूल कक्षा नौ से कक्षा 12 तक के सभी निजी स्कूल खुल जाएंगे। पब्लिक स्कूल एसोसिएशन ने कि आज ऑनलाइन बैठक में सर्वसम्मति से 18 अगस्त से स्कूल खोलने का निर्णय लिया। पब्लिक स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाश भगत ने बताया कि सभी स्कूल एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ ऑनलाइन बैठक की गई। जिसमें सर्वसम्मति से 18 अगस्त से स्कूल खोलने का निर्णय लिया गया। स्कूलों में कोविड-19 के सभी नियमों का पालन कराया जाएगा।

सीएम भूपेंद्र के वकील ने कोर्ट में पेशी से छूट मांगी

राणा ओबराय          
पंचकूला। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की विशेष अदालत में पंचकूला प्लॉट आवंटन मामले में शुक्रवार को सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के वकील ने कोर्ट में नियमित पेशी से छूट मांगी। वकील ने कहा कि डॉक्टर ने हुड्डा को चार हफ्ते तक सार्वजनिक स्थल में जाने और यात्रा नहीं करने की सलाह दी है। इस पर ईडी की विशेष अदालत ने सुनवाई के दौरान कहा कि यह छूट आज के लिए मानी जा सकती है। लेकिन अदालत आने से उन्हें नियमित छूट नहीं दी जा सकती है। इस मामले में ईडी कोर्ट ने उनकी नियमित कोर्ट में नहीं आने की अर्जी खारिज कर दी है। मामले की अगली सुनवाई नौ अगस्त को होगी।

पंचायत अध्यक्ष के स्वागत कार्यक्रम का आयोजन

कौशाम्बी। मंझनपुर विकास खण्ड के टेवां गांव में शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष के स्वागत समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम की अगुवाई पूर्व प्रधान वीरेन्द्र सिंह ने किया। कार्यक्रम में गांव के काफी संख्या में लोग उपस्थित रहकर जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर का स्वागत किया। गांव के लोगो ने अपनी समस्याएं भी बताई है। जिसके निस्तारण के लिए आश्वासन दिया है। 
बता दे कि टेवां में शनिवार को जिला पंचायत के स्वागत समारोह का कार्यक्रम आयोजित किया गया था।जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर अपने समर्थकों के साथ वहॉ पहुंची। उनके पहुॅचते ही पूर्व प्रधान बीरेन्द्र सिंह व गांव के लोग ने उनका भव्य स्वागत किया। जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर ने कहा कि पहले उन्हें जिला पंचायत सदस्य जिताकर जिले में भेजा, जिसकी बदौलत उन्हें यह सम्मान मिला है। उन्होंने कहा कि अपने निर्वाचन क्षेत्र के मतदाताओं के सदैव ऋणी रहूॅगी। कल्पना सोनकर ने सरकार के द्वारा चलाये जा रही योजनाओं के बारे बताया है। साथ ही उन्हे लाभ दिलाये जाने के लिए भी कहा है। 
जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर ने गांव के लोगो से रूबरू हुई। जिसमें गांव के लोगो ने अपनी समस्याओं को बताया है।गांव के लोगो ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ आपात्र लोगो को दिया जा रहा है। साथ ही गांव के लोगो ने नाली, खडन्जा के निर्माण कार्य व गांव में साफ व्यवस्था को लेकर शिकायत किया है। इस पर जिला पंचायत अध्यक्ष ने गांव के लोगो को भरोसा जताते हुए कहा कि उनके इस शिकायत को वह अधिकारियों को निर्देशित करेगी। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि जितेन्द्र सोनकर, बीरेन्द्र सिंह, रामजीत, सहित गांव के काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।
अजीत कुशवाहा 

मार्ग के किनारे युवक का शव मिलने से मचा हड़कंप

अतुल त्यागी             
हापुड़। उत्तर प्रदेश के जनपद के थाना धौलाना क्षेत्र के ग्राम करनपुर जट्ट मार्ग के किनारे एक युवक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। मृत युवक 2 दिन पहले ही नौकरी की तलाश में दिल्ली के लिए निकला था। लेकिन नौकरी तो नहीं मिली। मगर आज युवक की गांव के रास्ते के किनारे लाश मिली है। युवक की हत्या कर शव को गांव के रास्ते पर फेंके जाने की आशंका जताई जा रही है। वहीं सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने युवक की शिनाख्त कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की जांच में जुट गई है। शव की शिनाख्त ताहिर पुत्र याकूब के रूप में की गई। जानकारी के अनुसार मृतक युवक ग्राम ऊचाअमीपुर जनपद गौतमबुद्ध नगर का निवासी है। जो अपनी ससुराल गांव करनपुर जट्ट में करीब 10 वर्षों से रह रहा था।मृतक ताहिर दो दिन पहलें घर से दिल्ली नौकरी की तलाश में गया था। रविवार सुबह गांव के रास्ते पर झांडियों के पास युवक का शव बरामद किया गया। परिजनों ने हत्या की आंशका व्यक्त की हैं।
पुलिस ने व्यक्ति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

छूट: हरियाणा के तहत राज्य में लॉकडाउन बढ़ाया

राणा ओबरॉय           

चंडीगढ़। हरियाणा में एक बार फिर सरकार ने महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के तहत राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है। अब 23 अगस्त सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। जबकि छूट पहले की तरह जारी रहेंगी। हरियाणा में 2 सप्ताह और बढ़ाया गया लॉकडाउन। “महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा” की अवधि 23 अगस्त 2021 की सुबह 5 बजे तक बढ़ाई गई। नए नियमों के तहत समय संबंधित पाबंदी हटाई गई। साथ ही नाईट कर्फ्यू भी हटाया गया। हरियाणा सरकार ने किया आदेश जारी।मुख्य सचिव विजय वर्धन ने सभी जिला उपायुक्तों व हरियाणा पुलिस महानिदेशक को आदेश के जारी।

वैक्सीन को भारत में उपयोग के लिए मंजूरी मिलीं

लदंन। जॉनसन की कोविड-19 के खिलाफ एकल खुराक वाली वैक्सीन को शनिवार को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी मिल गई है। जे एंड जे सिंगल-डोज वैक्सीन के साथ, भारत में अब टीकाकरण अभियान को मजबूत करने के लिए कुल 5 आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण टीके (ईयूए) हैं।
अन्य चार में सीरम इंस्टीट्यूट का कोविशील्ड, भारत बायोटेक का कोवैक्सीन, रूस का स्पुतनिक वी मॉडर्ना शामिल हैं। जे एंड जे के टीके को मंजूरी मिलने से कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट किया, भारत ने अपनी वैक्सीन टोकरी का विस्तार किया! जॉनसन एंड जॉनसन की एकल-खुराक कोविड-19 वैक्सीन को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी गई है।
अब भारत के पास 5 आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण टीके हैं। यह कोविड-19 के खिलाफ हमारे देश की सामूहिक लड़ाई को बढ़ावा देगा।
उन्होंने कहा कि इसे भारत की स्वदेशी वैक्सीन निर्माता बायोलॉजिकल ई लिमिटेड के साथ आपूर्ति समझौते के जरिए भारत लाया जाएगा।
जॉनसन एंड जॉनसन इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, हमें यह घोषणा करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि 7 अगस्त 2021 को भारत सरकार ने भारत में जॉनसन एंड जॉनसन कोविड-19 एकल-खुराक वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ईयूए) जारी किया, ताकि 18 वर्ष उससे अधिक उम्र के व्यक्तियों में कोविड को रोका जा सके।
इस बीच, भारत के कोविड-19 टीकाकरण कवरेज ने 50 करोड़ का एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर हासिल किया है भारत में अब तक कुल 50,10,09,609 लोगों का टीकाकरण हो चुका है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में कहा गया है कि पिछले 24 घंटों में लगभग 50 लाख लोगों को कोविड वैक्सीन की खुराक दी गई।
जैसा कि भारत ने शुक्रवार को कोविड वैक्सीन लगाने की संख्या में 50 करोड़ का आंकड़ा पार किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई को मजबूत प्रोत्साहन मिला है।
डिस्क्लेमर यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है। इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है। ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी।

इजराइल के हवाई हमले का जवाब देगा हिजबुल्ला

लेबनान। आतंकवादी समूह हिजबुल्ला के नेता हसन नसरल्लाह ने शनिवार को कहा कि उसका समूह लेबनान पर भविष्य में इजराइल के किसी भी हवाई हमले का जवाब देगा। इससे एक दिन पहले हिजबुल्ला ने इजराइल की ओर कई रॉकेट दागे थे। नसरल्लाह ने कहा कि यह मान लेना गलत होगा कि हिजबुल्ला लेबनान में आंतरिक मतभेदों या देश के खराब आर्थिक हालात के कारण रुकेगा। नसरल्ला की यह टिप्पणियां तब आयी है जब एक दिन पहले उसके समूह ने इजराइल की ओर रॉकेट दागते हुए इसे दक्षिण लेबनान पर इजराइली हवाई हमलों का जवाब बताया।
लेबनान की सीमा पर लगातार तीन दिन से हमले हो रहे हैं। लेबनान की सीमा पश्चिम एशिया में संघर्ष का एक प्रमुख स्थान है, जहां इजराइल और ईरान के बीच तनाव रहता है। ईरान हिजबुल्ला का समर्थन करता है। नसरल्ला ने 2006 के इजराइल-हिजबुल्ला युद्ध को खत्म होने की 15वीं वर्षगांठ पर टेलीविजन पर दिए भाषण में कहा, ''लेबनान पर इजराइली वायु सेना के किसी भी हवाई हमले का उचित तरीके से जवाब दिया जाएगा क्योंकि हम अपने देश की रक्षा करना चाहते हैं। यह कहकर गलत आकलन न करें कि हिजबुल्ला लेबनान की समस्याओं में व्यस्त है।'' हिजबुल्ला के नेता ने कहा कि रॉकेट दागना एक ''स्पष्ट संदेश'' था। उन्होंने कहा कि हिजबुल्ला ने खुले मैदान में 20 रॉकेट दागे क्योंकि इजराइल ने भी खुले मैदान में बृहस्पतिवार को हवाई हमले किए थे।
गौरतलब है कि लेबनान अपने आधुनिक इतिहास में अब तक के सबसे खराब आर्थिक और वित्तीय संकट से जूझ रहा है। इजराइल ने अनुमान जताया कि हिजबुल्ला के पास 130,000 से अधिक रॉकेट और मिसाइल हैं तथा वह देश में कहीं भी हमले करने में समर्थ है। नसरल्ला ने कहा, ''हम हमेशा कहते हैं कि हम युद्ध नहीं चाहते लेकिन हम इसके लिए तैयार हैं।'' हिजबुल्ला नेता ने अपने भाषण में उस न्यायाधीश की कड़ी आलोचना की जिसने बेरूत के एक बंदरगाह में पिछले साल हुए विस्फोट की जांच की थी जिसमें कई लोग मारे गए और कई जख्मी हुए। नसरल्ला ने कहा कि न्यायाधीश तारिक बितर का काम ''राजनीति'' से प्रेरित है।

तालिबान ने सुरक्षा बलों के खिलाफ हमले बढ़ाएं

काबूल। अफगानिस्तान से विदेशी बलों की वापसी के बाद से ही तालिबान ने नागरिकों, अफगान रक्षा और सुरक्षा बलों के खिलाफ अपने हमले बढ़ा दिए हैं। पिछले कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान में हिंसा में वृद्धि देखी गई है। इस बीच अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने शुक्रवार को अफगानिस्तान सरकार के मीडिया सूचना केंद्र के निदेशक की हत्या को भयावह करार दिया और कहा कि नागरिकों के खिलाफ तालिबान के जानबूझकर हमले युद्ध और मानवीय शालीनता कानून का उल्लंघन हैं। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार अफगानिस्तान सरकार के मीडिया और सूचना केंद्र का नेतृत्व करने वाले दावा खान मेनपाल की शुक्रवार को हत्या कर दी गई। तालिबान ने उसकी मौत की जिम्मेदारी ली है। दावा खान ने 2015 में कंधार में अफगान सरकार के मीडिया विंग के प्रमुख के रूप में कार्य किया था और 2016 से 2020 तक उप राष्ट्रपति के प्रवक्ता के रूप में काम किया था।
इससे पहले मंगलवार को अफगानिस्तान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री जनरल बिस्मिल्लाह मोहम्मदी के आवास के पास काबुल शहर में कई विस्फोटों और छिटपुट गोलियों की आवाज सुनी गई थी। अफगान मीडिया के अनुसार, विस्फोट एक कार बम हमले के कारण हुआ। हालांकि बाद में तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। अफगानिस्तान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री ने बाद में बताया कि वह और उनका परिवार काबुल में अपने आवास पर "आतंकवादी हमले" के बाद सुरक्षित हैं।

दिल्ली में ब्लैक फंगस के 1,858 मामले सामने आएं

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में म्यूकरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के अब तक 1,858 मामले सामने आये हैं। जिनमें से पांच अगस्त तक 686 मरीज उपचाराधीन थे। स्वास्थ्य विभाग ने एक बयान में कहा कि दिल्ली को इस बीमारी के इलाज के लिए एम्फोटेरिसिन-बी की कुल 51,540 शीशियां आवंटित की गई हैं। जिनमें से 42,960 शीशियां "प्राप्त की गई हैं और अस्पतालों को वितरित की गई हैं और 8,080 शीशियों का इंतजार है।
बयान में कहा गया है, ''भारत सरकार ने अब आवंटन बंद कर दिया है और सभी राज्य सरकारों को निर्देश दिया है कि वे अब अपनी जरूरत के अनुसार एम्फोटेरिसिन बी इंजेक्शन सीधे निर्माताओं से खरीदें। दिल्ली सरकार ने भी लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी की 26,700 शीशियां और एम्फोटेरिसिन बी लिपिड कॉम्प्लेक्स की 25,000 शीशियों की खरीद की है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने टीकों व मास्क पर जोर दिया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने टीकों व मास्क पर जोर दिया। क्योंकि अत्यधिक संक्रामक डेल्टा वेरिएंट के प्रसार के कारण देश भर में कोविड -19 मामले बढ़ रहे हैं।
रोग नियंत्रण रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार, देश के अधिकांश हिस्सों में, विशेष रूप से कम टीकाकरण कवरेज वाले समुदायों में, कोविड -19 मामले, अस्पताल में भर्ती होने मौतों में वृद्धि जारी है।
दक्षिण में ²ष्टिकोण विशेष रूप से गंभीर है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने शनिवार को द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के हवाले से कहा कि फ्लोरिडा लुइसियाना राज्यों ने हाल ही में सात दिन में अत्यधिक मामले दर्ज किए है।
फ्लोरिडा में, कोरोनोवायरस अस्पताल में भर्ती पिछली गर्मियों से उनके पिछले शिखर के बराबर है।लुइसियाना में, गहन देखभाल इकाइयाँ तनावपूर्ण हैं युवा वयस्क वायरस के गंभीर मामलों का अनुबंध कर रहे हैं।
पुनरुत्थान ने सीडीसी को मास्क पहनने पर नए दिशानिर्देश जारी करने के लिए प्रेरित किया है। कुछ क्षेत्र पिछले साल महामारी की ऊंचाई के दौरान देखे गए प्रतिबंधों पर लौट रहे हैं।
संयुक्त राज्य अमेरिका में एक साल से अधिक समय से मास्क पहनना विवाद का विषय रहा है। जिसमें आबादी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा कई अलग-अलग कारणों से मास्क पहनने से इनकार करता है। कुछ का मानना है कि ऐसे विकल्प व्यक्ति पर निर्भर हैं, दूसरों का मानना है।वर्तमान डेटा के खिलाफ, कि मास्क जरूरी नहीं कि वायरस से बचाव करें।
हाल के सप्ताहों में उन लोगों के लिए टीकाकरण को बढ़ावा देने वाली निजी क्षेत्र की कंपनियों की संख्या में भी उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है जो कार्यालय में वापस आना चाहते हैं।
बाइडेन ने घोषणा की है कि सभी संघीय कर्मचारियों को टीका लगाना, मास्क पहनना नियमित परीक्षण करना आवश्यक है।
राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि उनका मानना है कि अधिक शहरों राज्यों को न्यूयॉर्क शहर की तरह नियम स्थापित करने चाहिए, जहां रेस्तरां, जिम अन्य स्थानों पर ग्राहकों को टीकाकरण की आवश्यकता होती है।
सीडीसी के अनुसार, 16.59 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड -19 के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया गया है। ब्रुकिंग्स इंस्टीट्यूशन के सीनियर फेलो डेरेल वेस्ट ने सिन्हुआ को बताया कि कई सार्वजनिक निजी क्षेत्र के संगठनों ने मास्क वैक्सीन आवश्यकताओं की स्थापना की है कुछ नेता इसका विरोध करते हैं, लेकिन वे कम टीकाकरण दर उच्च कोविड दर वाले राज्यों में हैं।
येल विश्वविद्यालय की वेबसाइटों में से एक, येलमेडिसिन डॉट ओआरजी पर प्रकाशित एक लेख में कहा गया है कि जिन लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, वे उन लोगों की तुलना में डेल्टा के खिलाफ मजबूत सुरक्षा रखते हैं जो टीका प्राप्त नहीं हैं।
जैसे-जैसे शहरों की संख्या में वृद्धि हुई है, कर्मचारी टीकाकरण के लिए कॉल कर रहे हैं।
शहर में कर्मचारी टीकाकरण आवश्यकताओं को लागू करने के बाद पिछले हफ्ते न्यूयॉर्क यूनियनों में नाराजगी थी।
न्यूयॉर्क के स्वास्थ्य संघ के कार्यकारी हेनरी गैरिडो ने कहा कि हम सभी को टीका लगाने के एक पूर्ण जनादेश के खिलाफ हैं।
न्यूयॉर्क फायर डिपार्टमेंट ने भी कर्मचारियों द्वारा भुगतान किए गए साप्ताहिक कोविड -19 परीक्षण की संभावना के बारे में गुस्सा व्यक्त किया।
रविवार सुबह अपने नवीनतम अपडेट में, जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय ने कहा कि अमेरिका दुनिया में सबसे अधिक मामलों मौतों की संख्या क्रमश: 35,738,154 616,713 के साथ सबसे अधिक प्रभावित देश बना हुआ है।
डिस्क्लेमर यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है। इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है। ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी।

यूपी: नदियों का जलस्तर बढ़ने के कारण अलर्ट जारी

हरिओम उपाध्याय                 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में नदियों का जलस्तर बढ़ने के कारण योगी आदित्यनाथ सरकार ने अलर्ट जारी कर सभी संबंधित अधिकारियों को स्थिति पर कड़ी नजर रखने को कहा है। प्रयागराज में गंगा और यमुना का जलस्तर तेजी से खतरे के निशान (84.73 मीटर) के करीब पहुंच रहा है और निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति गंभीर होती जा रही है।
कई इलाकों में पानी भर जाने से लोग सुरक्षित स्थानों की ओर पलायन कर रहे हैं। फाफामऊ में गंगा का जलस्तर 84.03 मीटर और छतनाग में 83.30 मीटर दर्ज किया गया। इसी तरह, यमुना का जल स्तर, जैसा कि उसी समय दर्ज किया गया था, नैनी में 83.88 मीटर था।
दोनों नदियों ने लगभग 10-11 सेमी (पिछले चार घंटों से) की गति से तीनों बिंदुओं पर वृद्धि जारी रखी है।

ब्राजील की टीम ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया

ब्रासीलिया। ब्राजील की टीम ने टोक्यो ओलंपिक के फाइनल मुकाबले में स्पेन को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। शनिवार को हुए दिलचस्प मुकाबले में ब्राजील की टीम ने स्पेन को 2-1 से मात देकर गोल्ड मेडल जीता है जबकि स्पेन को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ेगा। मैच को अतिरिक्त समय तक बढ़ाना पड़ा और मैच के 109वे मिनट में ब्राजील ने गोल दाग कर मैच को जीत लिया। ब्राजील पहला ऐसा देश बन गया है कि जिसने लगातार दूसरी बार ओलंपिक में फुटबॉल का गोल्ड मेडल जीता है। इससे पहले सिर्फ अर्जेंटीना की टीम ही यह कर पाई थी, अर्जेंटीना की टीम ने 2004 और 2008 में ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीता था।
ब्राजील ने अपना पहला ओलंपिक फुटबॉल गोल्ड मेडल 2016 में रियो में जीता था, जब नेमार ने जर्मनी के खिलाफ पेनाल्टी शूटआउट के जरिए गोल दागकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी।

वीरेंद्र ने 'पीएम-दक्ष पोर्टल और एप की शुरुआत की

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री वीरेंद्र कुमार ने आज 'पीएम-दक्ष पोर्टल और एप की शुरुआत की। ये पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जातियों और सफाई कर्मचारियों के लिए कौशल विकास योजनाओं को सुलभ बनाने को लेकर शुरू किया गया। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा वर्ष 2020-21 से ‘प्रधानमंत्री दक्ष और कुशल सम्पन्नता हितग्राही (पीएम-दक्ष) योजना’ लागू की जा रही है। इस योजना के तहत योग्य लोगों को ये सब ट्रेनिंग दी जाएंगी। वहीं बताया ता रहा है सरकारी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट देंगे। जिनका गठन सरकारा का मंत्रालय करेगा या फिर अन्य विश्वसनीय संस्थान करेंगे।
अब कोई भी व्यक्ति ‘पीएम-दक्ष’ पोर्टल पर जाकर कौशल विकास प्रशिक्षण  से संबंधित सभी जानकारी एक ही स्थान पर प्राप्त कर सकता है।

पार्वती मंदिर का वर्चुअली शिलान्यास करेंगे पीएम

अकांशु उपाध्याय                      
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वादश ज्योतिर्लिंगों में प्रथम स्मरणीय बाबा सोमनाथ की अर्द्धशक्ति देवी पार्वती मंदिर का वर्चुअली शिलान्यास करेंगे। मंदिर के शिलान्यास के साथ ही पीएम मोदी सोमनाथ मंदिर परिसर के चारों ओर बनाए गए परिपथ का लोकार्पण भी करेंगे। बता दें कि पीएम मोदी खुद सोमनाथ ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं।सोमनाथ मंदिर परिसर में 21 करोड़ रुपए की लागत से सफेद संगमरमर से बनने वाले मां पार्वती के के मंदिर का शुभारंभ 9 अगस्त को अमांत श्रावण मास की शुरुआत से हो सकता है। यहां बता दें कि मंदिर ने कई बार विध्वंस देखा है। लेकिन आज भी इसकी शोभा कम नहीं हुई है।
आजादी के बाद देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की अगुवाई में 8 मई 1950 को सोमनाथ मंदिर का पुनर्निर्माण शुरू हुआ था और देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने 11 मई 1951 में यहां ज्योतिर्लिंग की स्थापना कराई थी। इसके बाद 1 दिसंबर 1955 को इसे राष्ट्र को समर्पित किया गया। हालांकि मंदिर 1962 में पूरा हुआ था। हालांकि ऐतिहासिक पार्वती मंदिर अभी भी परिसर में खंडहर जैसे ही है। यह लगभग 15 ऊंचे श्रीयंत्र जैसे चबूतरे की शक्ल में बना हुआ है। अब यहां पर मंदिर का निर्माण होगा।
इस मंदिर में स्थापित देवी पार्वती का विग्रह अब भूतभावन भगवान सोमनाथ मंदिर के गर्भगृह में है। सोमनाथ मंदिर अरब सागर के बिल्कुल किनारे है, सरकार ने 45 करोड़ रुपए की लागत से यहं पर सवा किलोमीटर लंबा वॉक वे बनाया गया है। यह मुंबई के मरीन ड्राइव की तरह सागर के किनारे घुमावदार है. इस पर लोग पैदल सैर कर सकेंगे। पर्यटक, श्रद्धालु और स्थानीय लोग यहां टहलते हुए मंदिर के दिव्य वातावरण का भी आनंद उठा सकते हैं।

एनवी रमन्ना ने लीगल एड ऐप का उद्घाटन किया

अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने रविवार को कानूनी सेवा से जुड़े लीगल एड ऐप का उद्घाटन किया और इस अवसर उन्होंने अपना संबोधन भी दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस एप में कानूनी सेवाओं और संस्थानों से संबंधित जानकारी फीड की जाएगी। इस एप के माध्यम से लोग देश के किसी भी स्थान से कुछ ही सेकंड में कानूनी सहायता आवेदन जमा कर सकेंगे और जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद, हम अपनी कानूनी सहायता सेवाओं को जारी रखने में सफल रहे हैं। इस तरह के तकनीकी उपकरणों की शुरूआत ने सुनिश्चित किया है कि भविष्य में ऐसी कोई भी चुनौती कानूनी सहायता संस्थानों के काम में बाधा नहीं बनेगी।

'मिक्स एंड मैच' वैक्सीन से परिणाम देखने को मिलें

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। कोरोना की 'मिक्स एंड मैच' वैक्सीन को लेकर कई देशों में अध्ययन चल रहे हैं। जिसमें भारत भी शामिल है। अब इसको लेकर एक अच्छी खबर सामने आई है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर द्वारा किए गए अध्ययन में यह दावा किया गया है कि कोवाक्सिन और कोविशील्ड की 'मिक्स एंड मैच' वैक्सीन से बेहतर परिणाम देखने को मिले हैं। आईसीएमआर का कहना है कि एक एडेनोवायरस वेक्टर प्लेटफॉर्म-आधारित वैक्सीन और दूसरा वायरस को निष्क्रिय करके बनाई गई वैक्सीन के संयोजन के साथ टीकाकरण न केवल सुरक्षित है। बल्कि उससे बेहतर इम्युनोजेनेसिटी (प्रतिरक्षाजनकता) भी प्राप्त हुई।

केंद्र का बिजली 'संशोधन' विधेयक देशहित में नहीं

कविता गर्ग                           
मुंबई। शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को कहा कि केंद्र का बिजली (संशोधन) विधेयक देशहित में नहीं हैं। उन्होंने दावा किया कि इस विधेयक पर राज्यों के साथ चर्चा नहीं की गई। इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इस विधेयक को रोकने का आग्रह किया।
बनर्जी ने कहा कि इस मुद्दे पर पहले व्यापक और पारदर्शी तरीके से विचार-विमर्श होना चाहिए। बिजली (संशोधन) विधेयक, 2021 के तहत बिजली उपभोक्ताओं को दूरसंचार क्षेत्र की तरह अपनी पसंद के सेवाप्रदाता को चुनने का विकल्प मिलेगा।
लोकसभा के 12 जुलाई, 2021 को जारी बुलेटिन के अनुसार, सरकार ने संसद के मौजूदा सत्र में 17 नए विधेयक पेश करने के लिए सूचीबद्ध किए हैं। इनमें बिजली (संशोधन) विधेयक भी है। राउत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में दावा कि यदि यह विधेयक पारित होता है, तो इससे राज्य बिजली कंपनियां बुरी तरह प्रभावित होंगी।
राज्यसभा सदस्य ने इसके प्रावधानों पर राज्यों और अंशधारकों के साथ विचार-विमर्श नहीं करने पर केंद्र की आलोचना की। उन्होंने कहा कि ये प्रावधान राज्य बिजली कंपनियों के लिए खतरे की घंटी हैं। हमारी पार्टी इस बारे में विचार-विमर्श कर रही है।

समय के बदले मानसून सत्र का विस्तार होना चाहिए

अकांशु उपाध्याय                    
नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता मनोज कुमार झा ने रविवार कहा कि सरकार संसद में पेगासस गतिरोध पर वार्ता के रास्ते बंद कर रही है और मुद्दे के समाधान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हस्तक्षेप करना चाहिए। उन्होंने कहा कि संसद के व्यर्थ गए समय के बदले मानसून सत्र का विस्तार किया जाना चाहिए।
राज्यसभा सदस्य झा ने इस बात के लिए भी सरकार की आलोचना की कि वह बार-बार जोर देकर यह कह रही है कि विपक्षी दलों के साथ संवाद कायम करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह नहीं होता कि आप ‘जेब में हाथ डालकर, चेहरे पर कठोर भाव बनाकर कहें कि हमारे पास देने को बस यही है, कुछ और नहीं।
झा ने कहा की संवाद कायम करने की आड़ में व वार्ता के लिए दरवाजे बंद कर रहे हैं। मैंने कई बार यह कहा है कि संवाद बनाने की जिम्मेदारी जिन तथाकथित लोगों को दी गई, संभवत: उनके पास किसी तरह की ठोस पेशकश देने का अधिकार नहीं है।
उल्लेखनीय है कि 19 जुलाई को संसद का मानसून सत्र शुरू होने के बाद से ही विपक्षी दलों के विरोध और गतिरोध के कारण सदन की कार्यवाही बाधित रही है। विपक्ष पेगासस जासूसी विवाद पर चर्चा की मांग पर अड़ा है। कुछ मीडिया संगठनों के अंतरराष्ट्रीय समूह ने कहा था कि भारत में पेगासस स्पाईवेयर के जरिए 300 से अधिक मोबाइल नंबरों की संभवत: निगरानी की गई।
इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी, दो मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल और अश्विनी वैष्णव, कारोबारी अनिल अंबानी, 40 से अधिक पत्रकारों, तीन विपक्षी नेताओं के अलावा अनेक कार्यकर्ताओं के नंबर भी थे। सरकार इस मामले में विपक्ष के सभी आरोपों को खारिज करती रही है।

दोषी 80 कर्मचारियों को कंपनी से निकाला: गूगल

अकांशु उपाध्याय                       
नई दिल्ली। गुगल पिछले कुछ सालों में यूजर डेटा चोरी करने या उसका दुरूपयोग करने या सिस्टम के साथ छेड़छेाड़ करने के दोषी 80 कर्मचारियों को कंपनी से निकाल चुकी है। कंपनी ने 2020 में सुरक्षा संबंधी मामलों के मद्देनजर कुल 36 कर्मचारियों को निकाल दिया। एक ताजा रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। मदरबोर्ड की ओर से आई इस रिपोर्ट से यह पता चलता है कि गूगल जैसी टेक दिग्गज कंपनियां भी अपनी ही चारदीवारी के भीतर कर्मचारियों द्वारा यूजर डेटा सुरक्षा के लिए जूझ रही हैं। यह रिपोर्ट एक आंतरिक गुगल दस्तावेज़ पर आधारित है जिसे मदरबोर्ड ने पकड़ लिया था।
इंडिया टुडे के हवाले से मदरबोर्ड के अनुसार जो दस्तावेज़ उन्होंने पकड़ा है, वह "ठोस आंकड़े" देता है कि कैसे गूगल ने कर्मचारियों को अपने डिवाइसेज और डेटा का दुरुपयोग करने के लिए बाहर कर दिया। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि टेक दिग्गज गुगल  ने 2018 और 2020 के बीच कथित रूप से गुगल यूजर या कर्मचारी डेटा तक पहुंचने के लिए दर्जनों कर्मचारियों को निकाल दिया था। मदरबोर्ड को दिए एक बयान में, गुगल  के एक प्रवक्ता ने कहा कि अधिकांश उदाहरण जहां कर्मचारियों को निकाल दिया गया था, वे “संवेदनशील कॉर्पोरेट जानकारी या आईपी के अनुचित उपयोग, या दुरुपयोग से संबंधित हैं।  बेशक, इसका यूजर डेटा से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन कंपनी के अपने ट्रेड रहस्य हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि यूजर डेटा के साथ इस तरह की बेईमानी गुगल पर कभी नहीं की गई है। मगर कंपनी जोर देकर कहती है कि इस तरह के उल्लंघनों की संख्या, चाहे जानबूझकर या अनजाने में, “लगातार कम है और यह यूजर डेटा तक बहुत सीमित कर्मचारी पहुंच सुनिश्चित करने के लिए बेस्ट प्रैक्टिसेज का पालन करती है।

अफगान में सेना और तालिबान के बीच संघर्ष जारी

कंधार। अफगानिस्तान में सेना और तालिबान के बीच संघर्ष जारी है। शनिवार को अमेरिकी वायुसेना ने शेबगर्न शहर में तालिबानी ठिकानों पर हमला कर दिया। वायुसेना के इस हमले में तालिबान को काफी बड़ा नुकसान हुआ और उसके 500 से भी ज्यादा आतंकी मारे गए। इसकी जानकारी खुद अफगानिस्तान के आधिकारिक रक्षा मंत्रालय ने दी है।
अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय के अधिकारी फवाद अमान ने ट्वीट कर बताया कि अमेरिकी वायु सेना द्वारा शेनबर्ग शहर में तालिबानी ठिकानों को निशाना बनाया और हवाई हमला किया। इस हमले में तालिबान के 500 से ज्यादा आतंकी मारे गए और बड़ी संख्या में उनके हथियार और गोला बारूद नष्ट हुए।
शेनबर्ग शहर के जावजान प्रांत में बड़ी संख्या में मौजूद तालिबानी आतंकियों को B-52 बॉम्बर ने शाम करीब 6:30 में अपना निशाना बनाया। अमेरिकी वायुसेना के इस हमले में तालिबान को काफी बड़ा नुकसान हुआ है।
अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय के अधिकारी फवाद अमान ने रविवार को नए ट्वीट में बताया, नंगरहार, लगमन, गजनी, पक्तिया, पक्तिका, कंधार, उरुजगन, हेरात, फराह, जोजजान, सर-ए पोल, फरयाब, हेलमंद, निमरुज, तखर, कुंदुज में 572 आतंकवादी मारे गए और 309 अन्य घायल हो गए। ये सब कुछ पिछले 24 घंटों के दौरान हुआ।
इस हमले के पहले गजनी प्रांत के बाहरी इलाके से अफगानी कमांडो ने एक पाकिस्तानी आतंकवादी को गिरफ्तार किया था। यह पाकिस्तानी आतंकवादी नागरिकों की हत्या जैसी गतिविधियों में शामिल बताया जा रहा है। टोलो न्यूज की शनिवार के रिपोर्ट अनुसार सप्ताह भर से अफगानी सुरक्षा बलों और तालिबान के बीच हिंसक झड़पों के बाद उत्तर अफगानिस्तान के जवज्जन प्रांत की राजधानी पर तालिबानियों ने कब्जा कर लिया है। अफगान समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार शोबरघन पिछले दो दिनों में तालिबान के कब्जे में आने वाला दूसरा प्रांतीय राजधानी है।

वित्तपोषण के मामले में 40 स्थानों पर छापे मारे

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवाद के वित्तपोषण के मामले में रविवार को जम्मू-कश्मीर के 14 जिलों में 40 से अधिक स्थानों पर छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सहायता से एनआईए अधिकारियों ने जमात-ए-इस्लामी के कुछ धर्मार्थ ट्रस्टों के कार्यालयों और इसके सदस्यों के आवासों पर छापे मारे।
केंद्र ने आतंकवादियों के साथ संबंध रखने के मामले में जमात-ए-इस्लामी संगठन को 2019 में प्रतिबंधित कर दिया था। एनआईए ने छापे की कार्रवाई आज तड़के करीब पांच बजे शुरू की। सूत्रों ने बताया कि श्रीनगर, बड़गाम, गंदेरबल, बारामूला, कुपवाड़ा, बांदीपुर, अनंतनाग, शोपियां, पुलवामा और कुलगाम में छापे मारे गए।
उन्होंने कहा, “जम्मू डिवीजन में रामबन, डोडा, किश्तवाड़ और राजौरी जिलों में छापे मारे गये।” सूत्रों ने बताया कि ये छापे जम्मू-कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी की गतिविधियों की जांच करने के लिए मारे गए।

सोना 950 रुपये व चांदी 2100 रुपये सस्ती बिकी

मनोज सिंह ठाकुर                           
इंदौर। सप्ताहांत सोना तथा चांदी में ग्राहकी, सुस्त बताई गई, इससे भाव नरम बोले गए। सप्ताहांत सोना 950 रुपये तथा चांदी 2100 रुपये सस्ती बिकी।
कारोबार की शुरुआत में सोना 49300 रुपये पर खुलने के बाद कारोबार के अंतिम दिन 48350 रुपये प्रति दस ग्राम होकर थमा। चांदी में व्यापार की शुरुआत 69000 रुपये पर हुई वहीं अंतिम दिन सौदे 66900 रुपये के स्तर हुए।
कामकाज में सोना ऊंचे में 49450 नीचे में 48250 रुपये प्रति 10 ग्राम बिका। व्यापार में चांदी ऊपर में 69500 तथा नीचे 66800 रुपये प्रति किलोग्राम बिकी। शनिवार को विदेशी बाजार में सोना 1761 डॉलर तथा चांदी 2431 सेन्ट प्रति औंस बिकी।

तुर्की: 1 बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से 14 की मौंत हुईं

अंकारा। तुर्की के उत्तर-पश्चिमी प्रांत बालिकेसिर में शनिवार देर रात एक बस के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 14 लोगों की मौत हो गयी और 18 अन्य घायल हो गये।
प्रांतीय सरकार ने रविवार को यह जानकारी दी। सरकार ने एक बयान जारी कर बताया कि चालक ने प्रांतीय राजधानी बालिकेसिर के पास अंतरराष्ट्रीय समयानुसार मध्यरात्रि के बाद करीब 01:40 बजे बस पर से नियंत्रण खो दिया, जिससे वह पलट गयी। हादसे में 11 लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी और तीन अन्य ने विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। दुर्घटना में 18 लोग घायल भी हुए हैं। जिन्हें पांच अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।
गौरतलब है कि पिछले दो दिन में तुर्की में यह दूसरी बड़ी बस दुर्घटना है। देश के पश्चिमी प्रांत मनीसा में शनिवार को एक बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से नौ लोगों की मौत हो गयी थी और 30 अन्य घायल हो गये थे।

निर्माण हटाने के आदेश को लेकर दुविधा बरकरार

राणा ओबराय                       
चंडीगढ। अरावली वन क्षेत्र व पंजाब भू संरक्षण अधिनियम 1900 के एरिया से अवैध निर्माण हटाए जाने के आदेश को लेकर दुविधा बरकरार है। स्थानीय नगर निगम प्रशासन के पास अरावली में बने निर्माणकर्ताओं ने सीएलयू (चेंज लैड यूज)और एनओसी के लिए आवेदन किया हुआ है। वहीं कुछ निर्माणकर्ताओं ने एनओसी व सीएलयू ली हुई है। लेकिन वे फॉरेस्ट एरिया में हैं, ऐसे निर्माण को कैसे तोड़ा जाए।
इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई के दौरान हरियाणा सरकार की तरफ से वकील ने कहा कि फॉरेस्ट एरिया से अवैध निर्माण हटाए जाने के मामले में अभी कुछ वक्त और चाहिए। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 20 अगस्त को अगली सुनवाई की जाएगी। अब देखने वाली बात ये है कि 20 अगस्त को हरियाणा सरकार इन अवैध बैंक्विट हॉल, फॉर्महाउस के बारे में सुप्रीम कोर्ट में क्या कहती है। क्योंकि अभी भी हरियाणा सरकार का रुख साफ नहीं हो पाया है। सूत्रों की मानें तो सरकार पंजाब भू संरक्षण अधिनियम 1900 की धारा 4 और 5 में संशोधन बिल को फिर से ला सकती है। अगर ये बिल फिर से आ गया तो सभी निर्माण फॉरेस्ट एरिया से बच जाएंगे।
सुप्रीम कोर्ट ने खोरी मामले को लेकर आदेश जारी किया था कि अरावली वन क्षेत्र से हर तरह का निर्माण हटाया जाए। निर्माण हटाने के लिए 23 अगस्त तक का समय दिया गया था। लेकिन जिला प्रशासन, नगर निगम व वन विभाग अभी तक नोटिस देने व ड्रोन सर्वे कराने का ही काम कर रहा है क्योंकि अरावली में 150 से ज्यादा फॉर्महाउस, बैंक्विट हॉल बने हुए है। इनमें से कई ने एनओसी व सीएलयू ली हुई है या सीएलयू व एनओसी के लिए आवेदन किया हुआ है। अब प्रशासन इस कैटेगरी को लेकर असमंजस में है कि इनका क्या करना है। इसका लेकर सरकार को अपना पक्ष शुक्रवार को रखना था।
वहीं वन विभाग ने अवैध रूप से निर्माण करने वाले 130 फॉर्म हाउस,बैंक्विट हॉल, शिक्षण संस्थान, गोशाला आदि को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है लेकिन अभी तक सभी के जवाब नहीं आए हैं। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में हरियाणा सरकार के वकील ने 10 दिन का वक्त और मांगा है ताकि वह फैसला ले सकें कि इनका करना क्या है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने 20 अगस्त को अगली सुनवाई की तारीख तय की है। हरियाणा सरकार ने साल 2019 में पंजाब भू संरक्षण अधिनियम 1900 में संशोधन का बिल विधानसभा में पास किया था। उस वक्त लोगों ने इसका विरोध किया था। सदन में भी काफी विरोध हुआ, लेकिन पास कर दिया गया। इस बिल में अरावली वन क्षेत्र को वन के दायरे से बाहर निकालने का प्रावधान है। जिसका लोगों ने विरोध किया। लेकिन ये बिल अभी भी पूरी तरह से पास नहीं हुआ। सूत्रों की मानें तो इन 10 दिनों में सरकार इस बिल को फिर से लागू करवाने पर विचार कर सकती है। अगर ये बिल पास हुआ तो फिर अरावली के सभी निर्माण बच सकते हैं।

झारखंड सरकार ने एक साल का सेवा विस्तार दिया

रांंची। झारखंड ने एक साल का सेवा विस्तार दिया है। कार्मिक मंत्रालय के आदेश में यह जानकारी दी गई। पूर्व केंद्रीय गृह सचिव गौबा को 2019 में दो साल के लिए देश का शीर्ष नौकरशाह नियुक्त किया गया था।
शनिवार देर रात जारी आदेश में कहा गया है कि कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने झारखंड कैडर के 1982 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी (आईएएस) गौबा को 30 अगस्त के बाद एक साल की अवधि के लिए कैबिनेट सचिव के रूप में सेवा विस्तार देने को मंजूरी दी है। 
जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम बनाने में गौबा की अहम भूमिका मानी जाती है, जिसके अनुसार संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत तत्कालीन राज्य को दिए गए विशेष दर्जे को खत्म कर जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित किया गया। उन्होंने केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय में सचिव और गृह मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव के रूप में भी सेवाएं दी हैं।
पंजाब में जन्मे गौबा ने पटना विश्वविद्यालय से भौतिकी में स्नातक किया था। उन्होंने 2016 में केंद्र सरकार में सेवा के लिए लौटने से पहले 15 महीने तक झारखंड में मुख्य सचिव के रूप में कार्य किया था। उन्होंने चार साल तक अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के बोर्ड में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

फिल्म 'मिमी' के गाने पर ठुमके लगाएंगी मलाइका

कविता गर्ग                    
मुबंई। आज रात आठ बजे से शो स्ट्रीम होगा। इस बार शो को करण जौहर होस्ट करेंगे। मेकर्स ने पूरी तैयारी कर ली है कि पहले ही दिन शो को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिले। इनमें एक से बढ़कर एक कलाकार तो हैं हीं, साथ ही प्रीमियर पर कई खास मेहमान आने वाले हैं। 'बिग बॉस ओटीटी' के प्रीमियर पर एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा अपने डांस से शो की पूरी लाइमलाइट लूटने की तैयारी कर ली है।
मलाइका अरोड़ा अपनी हॉट अदाओं से सबका दिल तो लूटेंगी ही, साथ ही वह हिट गानों पर डांस भी करेंगी। वह हाल ही में रिलीज हुई फिल्म 'मिमी' के गाने 'परम सुंदरी' पर जमकर ठुमके लगाएंगी। इस दौरान मलाइकी अपनी खूबसूरती से कहर ढा रही हैं। उन्होंने सिल्वर कलर की साड़ी और बैकलेस ब्लाउज पहना हुआ है।
मलाइका के डांस स्टेप्स देखकर पता चलता है कि वह अपने हिट गाने 'मुन्नी बदनाम हुई' पर भी डांस करेंगी। वूट ने अपने आधिकारिक अकाउंट से वीडियो को शेयर करते हुए लिखा- 'हमारी परम सुंदरी आ गई हैं बिग बॉस ओटीटी की स्टेज पर आग लगाने। ओवर द टॉप का लेवल बढ़ाएगा बिग बॉस ओटीटी और हॉटनेस बढ़ाएंगी मल्ला।' बता दें कि मलाइका को उनके करीबी 'मल्ला' कहकर बुलाते हैं।मलाइका अरोड़ा को देखने के बाद इतना तो तय है कि इस बार शो में खूब ग्लैमर दिखने वाला है।
करण जौहर ने 'बिग बॉस ओटीटी' के घर से एक वीडियो साझा किया जिसमें वह अपनी फिल्म 'कभी खुशी कभी गम' के गाने पर ड्रामैटिक अंदाज में दिख रहे हैं। करण घर के अंदर प्रवेश करते हैं। वह घर का एक-एक कोना दिखाते हैं जो कि काफी आलीशान दिख रहा है।

फीडर की मरम्मत पर इलाकों में बिजली बंद रहेगी

राणा ओबराय                     
जालंधर। जालंधर में फोकल प्वाइंट के अधीन चलते 66 केवी फीडर की मरम्मत को लेकर रविवार विभिन्न इलाकों में बिजली बंद रहेगी। बिजली सुबह दस बजे से लेकर शाम पांच बजे तक बंद रहेगी। बिजली इन इलाकों में बाबा मोहन दास नगर, कालिया कॉलोनी, फाजिलपुर इंडस्ट्री, ग्लोब कॉलोनी, सैनिक कॉलोनी, विवेकानंद पार्क, न्यू फोकल प्वाइंट एक्सटेंशन, करनाल दो, गदाईपुर, शीतल नगर में बंद रहेगी। पावर कॉम के डिप्टी चीफ इंजीनियर हरजिंदर सिंह बंसल ने कहा है कि फीडर की मरम्मत को लेकर विभिन्न इलाकों में बिजली 7 घंटे तक बंद रहेगी। उन्होंने कहा है कि फीडर की मेंटेनेंस को लेकर बिजली बंद की जा रही है। बिजली के फीडर के साथ-साथ लगते इलाकों में बिजली बंद रहेगी।

22वें दिन पेट्रोल-डीजल से आम जनता को राहत दी

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। बढ़ती महंगाई के बीच राहत भरी खबर है।सरकारी तेल कंपनियों ने लगातार 22वें दिन महंगे पेट्रोल-डीजल से आम जनता को राहत दी है। रविवार को भी देशभर में पेट्रोल-डीजल के भाव में फेरबदल नहीं हुआ है। एलओसीई की वेबसाइट के अनुसार, राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 101.84 रुपये और डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर है। साथ ही, इंटरनेशनल बाजार में भी इस हफ्ते कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट हुआ है।
देश में पेट्रोल- डीजल की कीमत लगातार आसमान छू रही थी। 
पिछले 42 दिनों में कीमतों में तेजी की बात करें पेट्रोल लगभग 11.52 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो चुका है। डीजल 9.08 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हुआ है। लेकिन मई के बाद से लगातार बढ़ रहीं पेट्रोल की कीमतों में 22 दिनों से कोई बदलाव नहीं हुआ है।
गौरतलब है कि 18 जुलाई के बाद से ईंधन के दाम स्थिर हैं। पेट्रोल डीजल की कीमत में 17 जुलाई को आखिरी बार बदालव देखने को मिला था। 17 जुलाई को पेट्रोल 30 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ था लेकिन डीजल के रेट्स स्थिर थे। आइए जानते हैं देश के प्रमुख शहरों में पेट्रोल-डीजल के आज के भाव।

अफगान: जंग को लेकर दुनियाभर के देशों में डर बना

काबूल। अफगानिस्‍तान और तालिबान के बीच चल रही जंग को लेकर दुनियाभर के देशों में डर बना हुआ है।तालिबान की ओर से लगातार जारी हमलों के बाद अब अफगानिस्‍तान में नागरिक संकट खड़ा हो गया है। अफगानिस्‍तान में बिगड़े हालात के बीच भारत में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है।  दरअसल भारत तिब्‍बत सीमा पुलिस  के 30 जवानों ने अपनी तैनाती दोबारा अफगानिस्‍तान में कराए जाने के लिए दिल्‍ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। हालांकि दिल्ली हाई कोर्ट ने आईटीबीपी के इन जवानों को याचिका खारिज कर दी है। हाईकोर्ट ने जवानों की इस याचिका पर आश्‍चर्य जाहिर करते हुए कहा कि अफगानिस्‍तान में जिस तरह के हालात हैं, उसे देखने के बाद कोई वहां कैसे जाने की इजाजत मांग सकता है।
न्यायमूर्ति राजीव सहाय एंडलॉ और न्यायमूर्ति अमित बंसल की पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि याचिकाकर्ता आईटीबीपी जैसे सशस्‍त्र बल के रूप में भारत में कहीं भी तैनात किए जा सकते हैं। उनके पास अफगानिस्तान में तैनात होने का कोई निहित अधिकार नहीं है। बता दें कि आईटीबीपी के जिन जवानों ने याचिका दायर की है उन सभी को अफगानिस्‍तान में भारतीय दूतावास में सुरक्षा सहायक के रूप में तैनात किया गया था।
अफगानिस्‍तान में तालिबान के लड़ाकों की ओर से हमले तेज होने के बाद उन्‍हें वापस भारत भेज दिया गया था।  याचिकाकर्ताओं ने कहा है कि वे अफगानिस्तान में दो साल के प्रवास के हकदार थे, लेकिन दस महीने के बाद ही उन्हें वापस भारत बुला लिया गया है।
अपनी याचिका में, उन्होंने कहा है कि काबुल में भारतीय दूतावास में आने वाले बच्चों और महिलाओं की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त जवानों की जरूरत है। इसलिए उन्हें वहां जाने दिया जाए। बता दें कि आईटीबीपी की एक यूनिट अभी भी अफगानिस्‍तान में भारत के दूतावास और कंधार में वाणिज्‍य दूतावास की सूरक्षा में तैनात है।

ओलंपिक में नीरज ने मेडल जीतकर रचा इतिहास

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचा है। एथलेटिक्स में भारत के लिए पहला ओलंपिक मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा सोमवार शाम पांच बजे इंडिया वापस लौटेंगे। ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम भी सोमवार शाम पांच बजे ही इंडिया वापस लौटेगी। एयरपोर्ट पर नीरज चोपड़ा और भारतीय हॉकी टीम का भव्य स्वागत देखने को मिल सकता है। 
कोविड-19 मानकों का ध्यान रखते हुए फैंस ने स्वागत की तैयारी कर रखी हैं।नीरज चोपड़ा ने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर दूर भाला फेंककर पहला स्थान हासिल कर देश को दूसरा ओलंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक दिलाया। भारत को इससे पहले निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में 10 मीटर एयर राइफल में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक दिलाया था।

यूके: आईपीएस अधिकारियों के तबादलों की चर्चाएं

पंकज कपूर                           
देहरादून। एक बार फिर प्रदेश में आईपीएस अधिकारियों के तबादलों की चर्चाएं जोरों पर है। इससे पहले कई जिलों के जिलाधिकारी बदल चुके है। अब पुलिस कप्तानों को लेकर धामी सरकार ने तैयारी कर ली है। अब कई जिलों के कप्तान बदले जायेंगे। 15 अगस्त तक इन जिलों के कप्तान बदले जायेंगे।
सूत्रों के हवाले से खबर है कि कम से कम छह कप्तान बदले जा सकते हैं। इसकी कसरत शुरू होते देख आईपीएस भी लाबिंग में जुट गए हैं। सूत्रों ने बताया कि हरिद्वार, चमोली, पिथौरागढ़, ऊधसिंह नगर, नैनीताल व अल्मोड़ा जिले के कप्तान बदले जाने तय हैं।
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 15 अगस्त से पहले यह फेरबदल हो सकता है। हालांकि, ऐसे बहुत कम आईपीएस हैं। जिन्हें एक ही जिले में दो साल से अधिक हुए है। लेकिन विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सरकार कुछ अफसरों को महत्वपूर्ण जिलों की कमान सौंप सकती है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 15 अगस्त से पहले यह फेरबदल हो सकता है। हालांकिएऐसे बहुत कम आईपीएस हैं। जिन्हें एक ही जिले में दो साल से अधिक हुए है। लेकिन विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सरकार कुछ अफसरों को महत्वपूर्ण जिलों की कमान सौंप सकती है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-358 (साल-02)
2. सोमवार, जुलाई 9, 2021
3. शक-1984,सावन, कृष्ण-पक्ष, तिथि-पूर्णिमा, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:44, सूर्यास्त 07:10।
5. न्‍यूनतम तापमान -25 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

दोनों देशों से अपने राजदूतों को वापस बुलाया

वाशिंगटन डीसी/ पेरिस। अमेरिका के सबसे पुराने सहयोगी फ्रांस ने परमाणु पनडुब्बी सौदा रद्द करने पर अप्रत्याशित रूप से गुस्सा दिखाते हुए अमेरिका...