बुधवार, 17 फ़रवरी 2021

श्रीलंका ने निरस्त किया, पाक पीएम का कार्यक्रम

कोलंबो। भारत को घेरने की नीयत से श्रीलंका को साधने में जुटे पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा झटका लगा है। इमरान खान के श्रीलंका की संसद को संबोधित करने के कार्यक्रम को कोलंबो ने रद्द कर दिया है। श्रीलंकाई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत के साथ संबंध खराब होने के डर से श्रीलंका ने इमरान के मंसूबों पर पानी फेरा है। इससे पहले पीएम मोदी ने 13 मार्च 2015 को श्रीलंका की संसद को संबोधित किया था। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्‍तानी पीएम इमरान खान भी पीएम मोदी के नक्‍शे कदम पर चलना चाहते थे लेकिन श्रीलंका ने कोरोना वायरस का बहाना लेकर इमरान खान के अरमानों को मिट्टी में मिला दिया। इससे पहले इमरान खान अपने श्रीलंका दौरे के दौरान 24 फरवरी को वहां की संसद को संबोधित करना चाहते थे। श्रीलंका ने कहा कि कोरोना वायरस के कोलंबो में फैलने की वजह से वे संसद में इमरान खान के संबोधन के दौरान सभी सांसदों की उपस्थिति सुनिश्चित नहीं कर सकते हैं, इसलिए इस कार्यक्रम को स्‍थगित किया जाता है। उधर, सूत्रों ने बताया कि सरकार के एक धड़े में पाकिस्‍तानी पीएम के संसद में संबोधन को लेकर आपत्ति थी। उन्‍हें डर था कि इससे भारत के साथ उसके रिश्‍ते खराब हो सकते हैं। सूत्रों ने दावा किया कि इमरान खान संसद में संबोधन के दौरान कश्‍मीर का मुद्दा उठा सकते थे। श्रीलंका ने अब तक कश्‍मीर मामले से दूरी बनाकर रखी हुई है। अगर इमरान खान कश्‍मीर मुद्दे को उठाते तो श्रीलंका के लिए यह मुश्किल पैदा करने वाला हो जाता। यही नहीं इमरान खान संसद को संबोधित करके खुद को पीएम मोदी के बराबर दिखाने की कोशिश करते। इन सब खतरों को देखते हुए श्रीलंका ने संसद को संबोधित करने के कार्यक्रम को ही रद्द कर दिया है। वैसे भी कोलंबो पोर्ट टर्मिनल विवाद को लेकर पहले से ही श्रीलंका के साथ भारत के तनावपूर्ण संबंध चल रहे हैं। बता दें किसी विदेशी नेता को दूसरे देश की संसद को संबोधित करना सम्मान के नजरिए से देखा जाता है। इमरान इसी को भुनाना चाहते थे लेकिन उन्‍हें झटका लग गया। इमरान खान के श्रीलंका दौरे को लेकर वहां के मुस्लिम नेता गदगद हैं। उन्हें उम्मीद थी कि संसद के अपने संबोधन में इमरान खान श्रीलंका के मुसलमानों के हालात पर भी बोलेंगे। बता दें कि श्रीलंका में कोरोना वायरस के संक्रमण से मरने वाले मुस्लिम मरीजों को दफनाने की जगह जलाने का आदेश है। सरकार के इस आदेश का श्रीलंका के मुस्लिम नेता लगातार विरोध करते रहे हैं। आतंकी संगठन लिट्टे के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान ने श्रीलंका की सेना को कई हथियार मुहैया कराए थे। दावा किया जाता है कि पाकिस्तान और चीन के उच्च तकनीकी सैन्य उपकरण और खुफिया सहायता के जरिए ही श्रीलंकाई सेना लिट्टे का खात्मा करने में सफल हो पाई थी। दरअसल, उस दौरान श्रीलंका की सेना पर मानवाधिकारों के हनन के जबरदस्त आरोप लगे थे। जिसके कारण कई देशों ने श्रीलंका को हथियारों की सप्लाई रोक दी थी।

एटा अधीक्षक का स्थानांतरण, कारागार लखीमपुर

पंकज कुमार   
एटा। जिला कारागार एटा के अधीक्षक पीपी सिंह का स्थानांतरण जिला कारागार लखीमपुर खीरी बुधवार को शासन द्वारा किया गया। जिला कारागार एटा पर 22 जून 2016 से तैनात थे। उनके द्वारा विगत 4 सालों में  जेल को नई दिशा और बेहतर बनाने का पूरा प्रयास किया गया। जिस पर वह खरे भी उतरे उनके द्वारा बंदियों के उत्थान के लिए तरह-तरह के जीवन उपयोगी कार्यक्रम कराए गए। उन्होंने उन्होंने जेल को एक आश्रम के रूप में परिवर्तित कर दिया था। उनसे जेल के बंदी जितना लगाव करते थे। उससे ज्यादा जिले के सभी अधिकारी राजनेता और पत्रकार बंधु उनका बहुत ही आदर करते हैं और बड़े ही मिलनसार कर्मठ और प्रशासनिक दायित्व को शासन के अनुसार चलाने वाले निर्भीक तथा ईमानदार अधिकारी के रूप में उन्होंने जिला एटा में अपने जेल अधीक्षक के कार्यकाल में एक छाप छोड़ी है। श्री पी.पी सिंह को एटा रत्न का पुरस्कार भी उनके उत्कृष्ट कार्यो के कारण प्रदान किया गया। उन्होंने अपने बेहतर कार्यशैली और कारागार को नई दिशा प्रदान करने के कारण जिला कारागार एटा को आईएसओ प्रमाण पत्र भी 2020 में प्रदान किया गया। अब श्री पी.पी सिंह की एटा जनपद कारागार से सेवा समाप्त हो रही है और उत्तर प्रदेश की अन्य कारागार जिला कारागार खीरी का प्रभार उनको प्रदान किया जा रहा है। हम सब लोग उनको बधाई देते हैं, कि जैसे जिला कारागार एटा को उन्होंने आदर्श कारागार बनाया। वैसे ही जिला कारागार खीरी का भी नाम रोशन करेंगे।

एटा: पुलिस लाइन में अपराध समीक्षा की बैठक

पंकज कुमार 
एटा। एटा जिलाधिकारी विभा चहल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एटा श्री सुनील कुमार सिंह द्वारा पुलिस लाइन स्थित सम्मेलन कक्ष में अपराध समीक्षा की बैठक की गयी। जिसमें एटा अपर पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक अपराध राहुल कुमार, समस्त क्षेत्राधिकारीगण, समस्त प्रभारी निरीक्षक/थानाध्यक्ष/थानाप्रभारी व अन्य पुलिसकर्मी उपस्थित रहे। ग्राम पंचायत चुनाव एवं पंचायत चुनाव के संबंध में थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया। पूर्व में घटित घटनाओं के दृष्टिगत रखे सतर्क दृष्टि। आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत थानों में स्वीकृत व्यक्तिगत शस्त्र लाइसेंसों की संख्या व तथा उनमें से कुल जमा शस्त्रों की संख्या एवं शेष शस्त्रों की संख्या तथा शेष बचे शस्त्रों को जल्द से जल्द जमा कराए जाने के संबंध में थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया। शस्त्र लाइसेंसधारी व्यक्तियों के कारतूसों का शत-प्रतिशत सत्यापन कराया जाए। अपराधों में लिप्त ऐसे व्यक्तियों के शस्त्र लाइसेंस निरस्तीकरण हेतु रिपोर्ट जिलाधिकारी कार्यालय अविलंब भेजी जाए। बूथों को चार श्रेणियों में बांटा गया 1- सामान्य 2- संवेदनशील 3- अति संवेदनशील 4- अति संवेदनशील प्लस इस संबंध में थाना स्तरों से कार्यवाही पूर्ण करा ली जाए। महिलाओं एवं बालिकाओं संंबंधी अपराधों पर प्रभावी रोकथाम लगाई जाए, एवं ऐसे प्रकरणों में तत्परता पूर्वक कार्यवाही करते हुए आरोपियों की गिरफ्तार कर पीड़िताओं को शीघ्र न्याय दिलाया जाए। असामाजिक तत्वों एवं गुंडा एक्ट से संबंधित अपराधियों को चिंहित कर सख्त कार्यवाही की जाए। जघन्य अपराधों का निस्तारण कर त्वरित कार्यवाही करें, सही मामलों में तुरन्त एफआईआर हो एवं शिकायतकर्ता संतुष्ट होना चाहिए। सभी थाना प्रभारियों को उनके थाना क्षेत्र में चिन्हित किए गए सक्रिय गैंगों का शत-प्रतिशत रजिस्ट्रेशन कराने हेतु निर्देशित किया गया साथ ही अवैध शराब के निर्माण, अपमिश्रित शराब की बिक्री एवं तस्करी पर शत-प्रतिशत कार्यवाही की जाए। अनूसूचित जाति एवं जनजाति के व्यक्तियों के साथ घटित होने वाले अपराधों पर प्रभावी रोकथाम लगाई जाए, अवैध शस्त्र, फैक्ट्री एवं कारतूसों आदि पर नियंत्रण हेतु प्रभावी कार्यवाही की जाए। सूचीबद्ध अपराधियों एवं चिह्नित किए गए टाॅप 10 अपराधियों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करते हुए उनसे संबंधित सभी अभिलेखों को अध्यावधिक रखा जाए। सभी अपर पुलिस अधीक्षक एवं क्षेत्राधिकारी अपने अधीनस्थों को गाईड करें, क्षेत्राधिकारी स्वयं क्षेत्र में निकले ड्यिूटीरत अधीनस्थों को चैक करें, उनकी किसी भी समस्या को संज्ञान लेते हुये उसका तत्काल निराकरण करायें। लम्बित विवेचनाओं के शीघ्र व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण तथा वांछित/वारण्टी अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी की जाये।
 जनशिकायती प्रार्थना पत्र, आईजीआरएस प्रकरण में प्राप्त प्रकरणों का गुणवत्तापूर्वक निस्तारण समय से सुनिश्चित किया जायें। साथ ही सभी क्षेत्राधिकारियों द्वारा अपने सर्किल के थानों पर प्राप्त शिकायती प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की गुणवत्ता की रैण्डम चैकिंग की जाये। सभी थानाध्यक्ष पीड़ित/आवेदक से स्वयं वार्ता कर उनकी समस्या के निस्तारण के सम्बन्ध में जानकारी करें। समस्त थाना प्रभारियों को प्रत्येक थाने में महिला शौचालय निर्माण हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही सभी अधिकारी व कर्मचारी अपना व्यवहार उच्चकोटि का रखें। नियमानुसार वर्दी धारण करें। आचरण में सौम्यता एंव शालीनता रखी जाये। दुर्व्यवहार की शिकायत पर दोषी कर्मियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। गोष्ठी के अन्त में सभी राजपत्रित अधिकारियों से अपना पर्यवेक्षण सुदृढ रखते हुये उक्त बिन्दुओं पर अधीनस्थों द्वारा की जा रही कार्यवाही का निरन्तर अनुश्रवण कर वाॅछित कार्यवाही समयबद्ध ढंग से पूर्ण कराने की अपील की गयी।

टूलकिट मामले में 1 और नाम, कनाडा से कैनेक्शन

अब टूलकिट मामले में एक और नाम आया सामने, मिला कनाडा कनेक्शन
ओटावा। क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि की गिरफ्तारी के बाद टूलकिट मामले में कई जानकारियां सामने आई हैं। मिल रही जानकारी के मुताबिक, खालिस्तानी समर्थक एम. धालीवाल की करीबी कनाडा की रहने वाली अनिता लाल भी टूलकिट मामले में एक अहम किरदार है। अनीता लाल वर्ल्ड सिख ऑर्गेनाइजेशन की फाउंडर और पॉइटिक जस्टिस फाउंडेशन की को-फाउंडर है। टूलकिट को तैयार करने में अनीता लाल भी शामिल थी।
खबर के अनुसार जूम मीटिंग में शामिल होने वाले कई लोगों ने अपनी पहचान छुपा रखी थी या तो कोई और आईडी बना रखी थी। ताकि पहचाने जान जाएं। कनाडा की रहने वाली पुनीत नाम की महिला और निकिता भी पहली बार इंस्ट्राग्राम चेट्स और पैरेटऑन मेल के जरिये मिले थे। 6 दिसम्बर को जो ग्रुप बनाया गया था। उसका नाम इंटरनेशनल फार्मर्स स्ट्राइक था। इसके अलावा बताया कि 20 जनवरी से 27 जनवरी तक शांतुनु टीकरी बॉर्डर पर मौजूद था। जिसके खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी हुआ है। शांतुनु किसान आंदोलन में शामिल हुआ था।

कोरोना नियम पालन या फिर लॉकडाउन: सीएम

सीएम उद्धव ठाकरे को आया गुस्सा, बोले- कोरोना नियम पालन होगा या फिर लगा दिया जाए लॉकडाउन
कविता गर्ग
मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सूबे में बढ़ रहे कोरोना वायरस के ग्राफ को देखते हुए दोबारा लॉकडाउन लगाने की धमकी दी है। बुधवार को मंत्रियो के साथ हुई बैठक मैं उद्धव ठाकरे ने कोरोना के कारण हर जिले में फैल रहे संक्रमण के चलते उपजी परिस्थितियों का जायजा लिया।
इस बैठक में उद्धव ने कोरोना और लॉकडाउन के नियमों को सख्ती से लागू करने के संकेत दिए। मुख्यमंत्री ने साथ ही उन इलाकों में टेस्टिंग और स्क्रीनिंग बढ़ाने के निर्देश दिए जहां एक बार फिर कोरोना के मामलों में तेजी देखने को मिल रही है।
मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी किए गए एक बयान में उद्धव ने सूबे की जनता से पूछा है। कि जनता कोरोना नियमों का पालन करना चाहेगी या सूबे में दोबारा लॉकडाउन लगा दिया जाए। सीएमओ से जारी बयान में कहा गया है। बहुत सारे लोग मास्क नहीं पहन रहे है। 
लोगों को लग रहा है, कि कोरोना चला गया है। पुलिस और प्रशासन पर नियमों का पालन करवाने की जिम्मेदारी है और जो लोग नियम नहीं मान रहे हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। प्रशासन उन लोगों की भी स्थिति की जानकारी ले जिन्हें पहले कोरोना हो चुका है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के द्वारा संपत्ति जब्त

मनी लॉन्ड्र‍िंग केस में एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया की ₹17 करोड़ संपत्ति जब्त
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्र‍िंग केस में एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया और अन्‍य की 17 करोड़ रूपये से अधिक राशि की संपत्ति अस्‍थायी तौर पर जब्‍त की है।
प्रवर्तन निदेशालय संस्था के खिलाफ विदेशी फंडिंग हासिल करने में अनियमितताओं के आरोपों के खिलाफ जांच कर रहा है। गृह मंत्रालय का आरोप है, कि संस्था ने भारत में एफडीआई यानि विदेशी प्रत्यक्ष निवेश के जरिए पैसे मंगाए। जिसकी नॉन-प्रॉफिट संस्थाओं को अनुमति नहीं है।
गौरतलब है, कि अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरेशनल इंडिया ने पिछले साल सितंबर माह में भारत में अपना कामकाज रोक दिया था।
संस्था ने आरोप लगाया है। कि भारत सरकार ने एक कार्रवाई के तहत उसके अकाउंट फ्रीज़ कर दिए थे। जिसके बाद उसे अपने अधिकतर स्टाफ को निकालना पड़ा. संस्था ने भारत सरकार पर यानी इरादतन निशाना बनाने का आरोप लगाया है। 
दूसरी ओर, सरकार का कहना है। कि इस संस्था ने फॉरऐगन कॉनट्राइबयूशन ( रेगुलेशन) एकट के तहत कभी रजिस्ट्रेशन ही नहीं कराया है। जो विदेशी फंडिंग के लिए जरूरी होता है।

कू एप से बाहर होंगे चीन के निवेशक, बेचेंगे हिस्सेदारी

कू एप से बाहर होंगे चीन के निवेशक, बेचेंगे पूरी हिस्सेदारी
नई दिल्ली/ बीजिंग। हाल ही में चर्चा में आयी घरेलू माइक्रोब्लॉगिंग साइट कू की पेरेंट कंपनी में चीन का निवेशक अपनी हिस्सेदारी बेच बाहर निकल रहा है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।
कू के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अपरामेय राधाकृष्ण ने कहा, कि अन्य निवेशकों ने चीन के निवेशकों की 9 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की इच्छा जाहिर की है।
उल्लेखनीय है, कि भारत सरकार और ट्विटर के बीच तनातनी के बाद कू को खासी चर्चा मिली है। इसके बाद से कू को अब तक 30 लाख बार से अधिक डाउनलोड किया जा चुका है। तथा इसके 10 लाख से अधिक सक्रिय यूजर हो चुके हैं।
कू के निवेशकों में एस्सेल पार्टनर्स, 3वन4 कैपिटल, ब्लूम वेंचर्स और कलारी कैपिटल्स शामिल हैं। इनके अलावा चीन से संबंधित वैश्विक वेंचर कैपिटल कंपनी शुनवेई ने कू की पेरेंट कंपनी बॉम्बीनेट में निवेश किया है।
राधाकृष्ण ने पीटीआई-भाषा से कहा कि शुनवेई ने मातृ कंपनी के एक अन्य ऐप वोकल के लिये निवेश किया था। तब कू की शुरुआत भी नहीं हुई थी। शुनवेई ने भारत की कई कंपनियों में निवेश किया है। जिसमें बॉम्बीनेट भी है।
राधाकृष्ण ने कहा कि कू अब राष्ट्रीय भावना का हिस्सा बन रहा है। ऐसे में कू में अब भारतीय निवेशक ही होने चाहिए।
हाल ही में बॉम्बीनेट ने 41 लाख डॉलर जुटाए हैं। और निवेश के इस राउंड शुनवेई ने हिस्सा नहीं लिया। वास्तव में हम सुनिश्चित कर रहे हैं, कि कंपनी में और कोई चीन का निवेशक न शामिल हो।

विश्व में मानवीय मूल्यों की जागृति, सच्ची पत्रकारिता

बृजेश केसरवानी/ अविनाश श्रीवास्तव 
कौशाम्बी। बेनी राम कटरा सराय अकिल में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे हरिओम शाहू ने कहा, कि लोकतंत्र मानवीय मूल्यों पर ही आधारित है।देश को विश्व को मानवीय मूल्यों के लिए जागरूक करना ही सच्ची पत्रकारिता है। साथ ही कहा कि समाज को सही और सच्चाई की दिशा दिखाना और सकारात्मकता ही अच्छे पत्रकार की पहचान है। आप निज स्वार्थों से ऊपर उठकर संवेदनशीलता के साथ समाज और देश को दर्पण दिखाने वाले पत्रकारों को अपना स्वस्थ मानदण्ड स्वयं निश्चित करना चाहिए। विशिष्ट अतिथि कौशलेन्द्र तिवारी ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पत्रकारों को लोकतंत्र का सजग प्रहरी बताते हुए निष्पक्ष समाचार  संकलन करने के लिए कहा। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार प्रदेश अध्यक्ष जावेद आलम जनहित मीडिया वेलफेयर सोसायटी एवं संचालन कौशाम्बी अध्यक्ष दिवाकर केशरवानी ने किया। मुख्य वक्ता वीरेन्द्र  द्विवेदी मण्डल अध्यक्ष संघ के अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया। प्रयागराज एवं कौशाम्बी के पदाधिकारियों व सैकड़ो पत्रकार को सम्मानित करते हुए सजग पहरी बताया कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थित उत्तरप्रदेश सचिव राजिक अली, जिला उपाध्यक्ष मो. हारुन (प्रयागराज),बृजेश प्रयागराज, शहीर जफ़र, मो. आसिफ, मो. मोनिश, जिला मीडिया प्रभारी अर्जुन  वर्मा (प्रयागराज), जिला सचिव राजकुमार (कौशाम्बी),जिला महासचिव कमलेश चंद्र शर्मा (कौशाम्बी) आदि लोग मौजूद रहे।

ट्रांसपोर्ट कमिश्नर ने एक ऐसा आदेश पारित किया

राणा ओबराय   
चंडीगढ। निजी पुख्ता सुत्रो के अनुसार हरियाणा ट्रांसपोर्ट विभाग में फैले भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए विभाग के प्रधान सचिव शत्रुजीत कपूर की दूरदर्शी सोच के कारण ट्रांसपोर्ट कमिश्नर अमिताभ ढिल्लों ने एक ऐसा आदेश पारित किया है। जिससे बड़े-बड़े दलालो, नेताओं व मंत्रियों की मनमर्जी पर नकेल लगेगी। सुत्रो की माने तो ट्रांसपोर्ट विभाग ने एक आदेश पारित किया है कि यदि किसी वीआईपी नम्बर को लेने के लिए एक से ज्यादा आवेदन आये हैं तो एटीसी के ऑफिस में उस नम्बर की बोली करवाई जाए और उसकी वीडियो भी बनवाई जाए। इस नए नियिम से हरियाणा ट्रांसपोर्ट विभाग में भाई भतीजावाद, रिश्वतखोरी व सरकार की दखलंदाजी खत्म होगी और सरकार की आय बढ़ेगी। स्मरण रहे घाटे में चल रहे बिजली विभाग में बतौर सीएमडी शत्रुजीत कपूर ने बिजली विभाग में भी भ्रष्टाचार को खत्म करके विभाग की करोड़ो रूपये की मासिक आमदनी शुरू की थी। ऐसा मान सकते हैं कि ट्रांसपोर्ट प्रधान सचिव शत्रुजीत कपूर अब ट्रांसपोर्ट विभाग में भी पारदर्शिता लाएंगे। तांकि, ऊंचे से भी ऊंचे स्तर का व्यक्ति विभाग में दखलंदाजी न कर सके औऱ ट्रांसपोर्ट विभाग की आमदनी भी बढ़ जाये। इसी के साथ साथ प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहरलाल की जीरो टॉलरेन्स नीति पर भी पूरी तरह से अमल हो जाये।

आजाद भारत के इतिहास में पहली महिला को फांसी

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली/ मथुरा। आजाद भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा होने जा रहा है। जब किसी महिला कैदी को फांसी पर लटकाया जाएगा। मथुरा स्थित उत्तर प्रदेश के इकलौते महिला फांसी घर में अमरोहा की रहने वाली शबनम को मौत की सजा दी जाएगी। इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। निर्भया के आरोपियों को फांसी पर लटकाने वाले मेरठ के पवन जल्लाद भी दो बार फांसी घर का निरीक्षण कर चुके हैं। हालांकि फांसी की तारीख अभी तय नहीं है। गौरतलब है, कि अमरोहा की रहने वाली शबनम ने अप्रैल 2008 में प्रेमी के साथ मिलकर अपने सात परिजनों की कुल्हाड़ी से काटकर बेरहमी से हत्या कर दी थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शबनम की फांसी की सजा बरकरार रखी थी। राष्ट्रपति ने भी उसकी दया याचिका खारिज कर दी है। लिहाजा आजादी के बाद शबनम पहली महिला कैदी होगी जिसे फांसी पर लटकाया जाएगा। 

आज तक किसी महिला को नहीं हुई फांसी... 

गौरतलब है कि मथुरा जेल में 150 साल पहले महिला फांसी घर बनाया गया था। लेकिन आजादी के बाद से अब तक किसी भी महिला को फांसी की सजा नहीं दी गई। वरिष्ठ जेल अधीक्षक शैलेंद्र कुमार मैत्रेय ने बताया कि अभी फांसी की तारीख तय नहीं है, लेकिन हमने तयारी शुरू कर दी है। डेथ वारंट जारी होते ही शबनम को फांसी दे दी जाएगी। 

बिहार से मंगवाई जाएगी रस्सी... 

जेल अधीक्षक के मुताबिक पवन जल्लाद दो बार फांसी घर का निरीक्षण कर चुका है। उसे तख्ता-लीवर में कमी दिखी, जिसे ठीक करवाया जा रहा है। बिहार के बक्सर से फांसी के लिए रस्सी मंगवाई जा रही है। अगर अंतिम समय में कोई अड़चन नहीं आई तो शबनम पहली महिला होंगी जिसे आजादी के बाद फांसी की सजा होगी।

मालिक की तलाश, कई दिनों से भटक रहा है कुत्ता

पंकज कपूर 

चमोली। कुत्तों को वफादार जानवर कहा जाता है। वह अपने मालिक के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। यही कारण है, कि लोग भी इस जानवर की सेवा भी पूरे मन से करते हैं। कई लोग तो इन्‍हें अपने परिवार का सदस्‍य तक मानते हैं। इन दिनों एक ऐसा ही एक वफादार कुत्ता उत्तराखंड के चमोली में मिला जो अपने लापता मालिक की तलाश कई दिनों से कर रहा है। आलम यह है कि वो पिछले कई दिनों से उसी टनल के बाहर बैठा है। जहां प्राकृतिक आपदा ने सबसे ज्‍यादा कहर बरपाया। इस प्राकृतिक आपदा में सबसे अधिक प्रभावित चमोली जिले का रैणी गांव हुआ। वहां रहने वाले कई लोग इस हादसे में हताहत हुए हैं। इस भीड़ के कहीं एक कोने में आपदा के पहले दिन से ही अब तक एक बेजुबान बेबस और गुमसुम है। अपनों के इंतजार में इसकी आंखें टकटकी लगाए टनल और रेस्क्यू ऑपरेशन को लगातार देख रही हैं। अपने मालिक की गंध सूंघते हुए यह कई दिनों से टनल के बाहर खड़ा है।

एनसीआर के लोकल यात्रियों की परेशानी कम होगी

अश्वनी उपाध्याय  

गाजियाबाद। कोरोना संक्रमण के बाद लगे लॉकडाउन के चलते दस माह से परेशान चल रहे लोकल यात्रियों के लिये राहत भरी खबर आई है। मुंबई के बाद अब दिल्ली एनसीआर सहित उत्तर रेलवे के अन्य मंडलों में लोकल यात्रियों की परेशानी दूर होगी। जल्द ही लोकल ट्रेनें पटरी पर उतरेंगी। रेलवे बोर्ड ने 22 फरवरी से उत्तर रेलवे को 35 लोकल ट्रेनें चलाने की अनुमति दे दी है। सभी ट्रेनों को फिलहाल एक्सप्रेस का दर्जा देकर चलाने का फैसला किया गया है। संचालित होने वाली रेलों में दिल्ली से गाजियाबाद, पलवल, पानीपत सहित आसपास के अन्य शहरों के बीच भी लोकल ट्रेनें चलेंगी। यात्री अनारक्षित टिकट लेकर इनमें सफर कर सकेंगे लेकिन इसके लिए उन्हें एक्सप्रेस ट्रेन का किराया देना होगा। बता दें कि अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही दिल्ली-एनसीआर के दैनिक यात्री लोकल व ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि ट्रेनें नहीं चलने से उन्हें अपने कार्य स्थल पर पहुंचने में दिक्कत होती है। उनके सामने सड़क से सफर करने का ही विकल्प है,जिसमें समय और किराया दोनों ज्यादा लगता है। वहीं, कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के धरने से सड़क मार्ग से दिल्ली आने जाने में परेशानी बढ़ गई है। दैनिक यात्रियों की इस परेशानी को देखते हुए उत्तर रेलवे ने पिछले दिनों रेलवे बोर्ड से लोकल ट्रेनें चलाने की अनुमति मांगी थी। रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने कोरोना संक्रमण के बीच जरूरी दिशा निर्देश का पालन करते हुए कुछ ट्रेनें चलाने की अनुमति दी है। इनमें 14 पैसेंजर ट्रेनें, पांच ईएमयू (इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट), दस एमईएमयू (मेनलाइन इलेक्ट्रिकल मल्टीपल यूनिट) और छह डीएमयू (डीजल मल्टीपल यूनिट) शामिल की गयी है।

डीएम के खिलाफ धरने पर बैठा बार एसोसिएशन

अश्वनी उपाध्याय  

गाजियाबाद। गाजियाबाद बार एसोसिएशन सचिव मनमोहन शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल जब जिलाधिकारी से मिलने पहुंचा। जिला अधिकारी बिना मिले ही कार्यालय से चले गए। उस पर नाराज होकर अधिवक्ता जिला अधिकारी कार्यालय ने धरने पर बैठ गए। गाजियाबाद बार एसोसिएशन के सचिव मनमोहन शर्मा ने बताया कि पिछले 4 महीने से अधिवक्ता जिलाधिकारी से मिलने का समय मांग रहे हैं। जिला अधिकारी समय नहीं दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि आंदोलन कर रहे किसानों को 151 सीआरपीसी के तहत चालान करके जेल भेज दिया गया था। जिसकी जमानत वकीलों द्वारा लगाए जाने पर एसडीएम ने बेल प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया। जिस पर वकीलों की 12 सेशन कार्यकारिणी जिलाधिकारी से मिलने गई। जिलाधिकारी मिलने से पहले चुपके से निकल गया इस बात पर वकीलों को गुस्सा आया और आक्रोशित होकर धरने पर बैठ गए। देखते ही देखते जिलाधिकारी कार्यालय में सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता मौजूद हो गए। सूचना मिलते ही, गाजियाबाद बार एसोसिएशन अध्यक्ष मुनीष त्यागी भी जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे गए। उन्होंने अधिकारियों से बात की तो कुछ ही देर में एडीएम सिटी शैलेंद्र कुमार सिंह भी कलेक्ट्रेट पहुंचे और उन्होंने अधिवक्ताओं को समझाने का प्रयास किया। अधिवक्ताओं की वार्ता एसडीएम को बुलाकर कराई गई। जिसके बाद मामला शांत हुआ।

डिप्टी सीएम ने कहा, आम बजट जनता के हित में

कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश सरकार के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक दिन के भ्रमण पर जनपद के संयारा पहुंचे हैं। जहां माल्यार्पण कर भाजपा पदाधिकारियों द्वारा उनका जोरदार तरीके से स्वागत किया गया है। इस मौके पर उन्होंने लोगों का अभिवादन स्वीकार किया और उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा, कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था बेहतर है। इस प्रदेश की व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि वह अपराधियों की जमानत रद्द कराए। अपराधियों को फिर से जेल भेजें। उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी अपराधियों के साथ कड़ाई से पेश आएं। डिप्टी सीएम ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा पेश किया गया। बजट आम जनता के हित में है। इससे देश का विकास तेजी से होगा। आम जनजीवन खुशहाल होगा और किसानों की तरक्की होगी।
डिप्टी सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश का विकास तेजी से हो रहा है। विकास के मामले को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा, कि पूरे देश का मॉडल उत्तर प्रदेश बनेगा इस मौके पर उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के विकास कार्यों का जमकर गुणगान किया है। इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों के साथ भी कानून व्यवस्था पर समीक्षा बैठक की है और अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई है। डिप्टी सीएम के आगमन सिराथू विधायक शीतला प्रसाद पटेल, वरिष्ठ नेता अरुण केसरवानी, धर्मराज मोर्या, जिला अध्यक्ष अनीता त्रिपाठी, सोमेश्वर तिवारी, पवन मौर्या, ग्राम प्रधान प्रमिला मंगल मौर्या, राममिलन पटेल सहित तमाम पार्टी के पदाधिकारी कार्यकर्ता मौजूद रहे।
सन्तलाल मौर्य 

परिवहन व खनन मंत्री मूलचंद मुख्य अतिथि रहे

राणा ओबराय   
फरीदाबाद। जिला परिवहन विभाग फरीदाबाद द्वारा चलाए जा रहे रोड सेफ्टी माह के समापन अवसर पर मॉडर्न डीपीएस नहर पार स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा के परिवहन एवं खनन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे। जहां उपस्थित छात्र-छात्राओं व शहर के गणमान्य लोगों को संबोधित किया। परिवहन मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि चालान कर खजाना भरना सरकार का उद्देश्य नहीं है। बल्कि लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन करा कर लोगों की जिंदगी बचाना सबसे बड़ा मकसद है।
परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने कहा कि सभी लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन करना चाहिए क्योंकि अपनी जिंदगी के साथ साथ हम सभी की जिम्मेदारी है कि दूसरों की जिंदगी भी बचाएं। इस मौके पर जिला परिवहन अधिकारी जितेंद्र गहलावत, मॉडर्न डीपीएस स्कूल के डायरेक्टर राजीव गिरधर, सन्दीप गिरधर, प्रिंसिपल यू एस वर्मा व वाइस प्रिंसिपल मधु मालिक ने  मंत्री श्री मूलचंद शर्मा जी का गुलदस्ता देकर स्वागत किया । कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन के उपरांत की गई। इस मौके पर परिवहन मंत्री ने रोड सेफ्टी अभियान को सफल बनाने वाले रोड सेफ्टी से जुड़े हुए सदस्यों को सम्मानित भी किया।
कार्यक्रम में विभाग की तरफ से अभिषेक देशवाल की टीम ने नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया जिसमें सड़क के नियमों का पालन करने के लिए शिक्षा दी गई। परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा ने इस मौके पर कहा कि ट्रैफिक नियमों का पालन करने के लिए जहां सरकार समय-समय पर अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करती है वही हम सब का भी कर्तव्य है कि हम सब एक दूसरे को जागरूक करें और  ज्यादा से ज्यादा लोगों  तक ट्रैफिक नियमों की जानकारी पहुंचाएं ताकि सभी लोग ट्रैफिक के नियमों का पालन करना अपनी जिंदगी का हिस्सा बना ले। इस मौके पर अभिषेक देशवाल,दुर्गेश शर्मा, सरदार देवेंद्र सिंह, मोंटी शर्मा, आदित्य मोहन भी उपस्थित रहे।

पंजाब में हुए निकाय चुनाव में कांग्रेस ने फहराया परचम

राणा ओबराय  

चंडीगढ। पंजाब में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आज घोषित किए जा रहे हैं। कुल 117 निकायों पर 9 हजार से अधिक प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर लगी है। किसान आंदोलन की आंच में हुए इन चुनावों के नतीजे पर हर किसी की निगाहें हैं। 2302 वार्डों के लिए कुल 9,222 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहली बार चुनाव में 2832 निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि 2037 सत्ताधारी कांग्रेस के और 1569 अकाली दल के उम्मीदवार हैं। भाजपा के टिकट पर 1003, आप की ओर से 1606 और बसपा के 160 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। ताजा नतीजों में भाजपा और अकाली दल को बुरी हार का सामना करना पड़ रहा है वहीं कांग्रेस की बल्ले बल्ले हो रही है। पंजाब में किसान आंदोलन का सीधा असर देखा जा रहा है और भाजपा अकाली को बुरी हार का सामना करना पड़ रहा है। पंजाब में अभी तक जो चुनावी नतीजे सामने आए हैं, उसमें कांग्रेस पहले नंबर पर, अकाली दल दूसरे नंबर पर, आम आदमी पार्टी तीसरे नंबर और भाजपा बीजेपी चौथे नंबर पर चल रही है।

दादरी और लोनी विधानसभा से टिकट की मांग

अश्वनी उपाध्याय   
गाजियाबाद/लखनऊ। समाजवादी पार्टी लखनऊ कार्यालय पर जाकर दिनेश गुर्जर ने अपने व अपने साथियों के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को पार्टी प्लेटफार्म के तहत आवेदन भर के दादरी विधानसभा और लोनी विधानसभा से टिकट मांगा। 15 फरवरी 2021 समाजवादी पार्टी की आवेदन करने वाली आखरी दिनांक थी। जिसके तहत समाजवादी पार्टी लोहिया वाहिनी जिला अध्यक्ष दिनेश गुर्जर अपने दर्जनों साथियों के साथ लोनी गाजियाबाद से लखनऊ पहुंचे। अपने बायोडाटा जमा कराने के साथ उन्होंने आवेदन किया। जिसमें गुर्जर बाहुल्य दादरी विधानसभा और लोनी विधानसभा से आवेदन किया। जहां दिनेश गुर्जर के समर्थकों को जैसे ही यह पता चला कि उनका आवेदन सफलतापूर्वक स्वीकार कर लिया गया है तो समर्थकों में एवं उनके पैतृक गांव बादलपुर में खुशी की लहर दौड़ गई। दिनेश गुर्जर में आवेदन भरने के बाद बताया की वह संगठन को ओर मजबूत करगे।
प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए समाजवादी पार्टी को वह ब्लाॅक और बूथ स्तर तक मजबूत करने की कवायद करगे। सभी कार्यकर्ताओं एवं नेताओ को अपने-अपने क्षेत्र में जाकर जनसंपकर्क बढ़ाने का काम करना चाहिए। इसके अलावा ब्लाॅक और संगठन स्तर पर भी पार्टी को मजबूत करना चाहिए।दिनेश गुर्जर ने अपने सभी साथियों को स्पष्ट कहा कि वह अभी से ही पूरी विधानसभा में  पूरी मेहनत के साथ लग जाए और समाजवादी पार्टी की सीट निकाल कर देने का कार्य करें और क्षेत्र में अपनी सक्रियता बढ़ाएं। दिनेश गुर्जर के दिल्ली के हालात के लिए भाजपा को जिम्मेदार बताया दिल्ली में हुई ट्रैक्टर परेड के दौरान दिल्ली में हुए हंगामे के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। भाजपा सरकार ने जिस प्रकार किसानों को निरंतर उपेक्षित, अपमानित व आरोपित किया है, उसने किसानों के रोष को आक्रोश में बदलने में निर्णायक भूमिका निभाई है। अब जो हालात बने हैं, उनके लिए भाजपा ही कसूरवार है। भाजपा अपनी नैतिक जिम्मिेदारी मानते हुए कृषि-क़ानून तुरंत रद करे।'
दिनेश गुर्जर के साथ लखनऊ जाने वालों में प्रमुख रूप से रविंदर यादव, महानगर अध्यक्ष मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड, अनीस अली, जिला अध्यक्ष मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड, प्रधान अरविंद बैसला, राहुल गुर्जर, सिराज सैफी, हरेंद्र पहलवान, रिंकू पहलवान, सलीम पहलवान, प्रधान उमेश नागर, पम्मी गुर्जर, मनोज नागर इत्यादि लोग शामिल रहे।

यूपीएसआईडीसी ने रोका पानी, कॉलोनियों में भरा

अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। पिछले कई दिनों से पूजा कालोनी, सोम बाजार, मंगल बाजार, आजाद एंक्लेव, जीवन धाम मन्दिर के आस-पास बसी सैकड़ों कालोनियों के नाली के पानी को यूपीएसआईडीसी ने रोक दिया था। जिसकी वजह से पिछले कई दिनों से कालोनी की आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड रहा था। जिसकी सूचना बुधवार को लोनी नगरपालिका अध्यक्ष रंजीता धामा को मिलीं, तो वो तुरंत मौके पर पँहुची। वार्ड के सभासद प्रमोद कुशवाहा व कालोनी वासियों से मिली और उनकी समस्या को सुना। यूपीएसआईडीसी के अधिकारियों से फोन पर बात की। जल निकासी को लेकर जो व्यवस्था पहले से चली आ रही है। उसको सुचारू रूप से चलाये जाने को लेकर बात की एवं कालोनी वासियों को तुरंत राहत देते हुये नाले को खुलवाया। 
लोनी नगरपालिका के कर्मचारियो की दो टीम बनाकर मौके पर नाले की सफाई करायी जा रही है। गंदे पानी को वंहा से टैंकरों मे भरकर दूर खाली कराया जा रहा है। जिससे की कालोनीवासियों को किसी प्रकार की दिक्कत ना हो तथा वार्ड की जनता की पानी की निकासी के लिये एक बार जल्द ही तहसील के पदाधिकारी व लोनी नगरपालिका के अधिकारियों को साथ लेकर यूपीएसआईडीसी के अधिकारियों के साथ जल्द की जल निकासी के स्थायी समाधान के लिये बैठक की जायेगी।जिससे कि लोगों को परेशानी का सामना ना करना पडे।
इस अवसर पर रंजीता धामा ने सभी को संबोधित करते हुये कहा कि लोनी मेरा घर है। यहां के लोग मेरा परिवार है। सभी को हम अपने परिवार की तरह मानते हैं, आपकी समस्या हमारी समस्या है। जिसका निस्तारण करा दिया गया है। आप सभी लोग निश्चित रहे एवं नगरपालिका अध्यक्ष ने अपील करते हुये कहा, कि किसी भी दिक्कत या परेशानी होने पर मुझे जरूर बताये जिससे कि समस्या को जल्द से जल्द दूर किया जा सके। हम लोग निरंतर क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने के लिये प्रयत्नशील है। सभी सम्मानित सभासदों के सहयोग से लोनी की समस्याओं को दूर किया जा रहा है।
इस अवसर पर सभासद डाक्टर प्रमोद वार्ड नंबर 34 पार्षद, तहसीलदार लोनी, संजीव चौधरी, गेंदालाल, राम रतन  ,राम बहादुर, अशोक राणा, ऋषि पाल ,महेश गंगवार ,धर्मपाल मास्टर ,सतीश साइकिल ,रवि छात्र नेता, रामचंद्र चौहान ,उस्मान प्रधान ,मुन्नालाल प्रधान और सैकड़ों की संख्या मे वार्ड के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

जैकलीन ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट की हॉट तस्वीर

जैकलीन ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट की हॉट तस्वीर
 मनोज सिंह ठाकुर
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नाडीज ने मंगलवार को पोस्ट की गई तस्वीरों के साथ अपने हॉटनेस कोटिएंट को एक बैलेरीना के रूप में तैयार किया। एक बैलेरी अवतार में पोस्ट की गई दो तस्वीरें, हमेशा की तरह फिट दिखाई दे रही हैं।
उन्होंने अपने कैप्शन में एक शेर, एक बाघ एक इंद्रधनुष और एक दिल का इमोजी पोस्ट किया।
फोटो शेयरिंग वेबसाइट पर उनकी इस पोस्ट को 12 लाख से अधिक लाइक मिले हैं। फैंस कमेंट सेक्शन में इस बात पर जोर दे रहे हैं। कि वे अपने ग्रेसफुल और सेंसिबल लुक को कैसे मेंटेन कर रही हैं।
अभिनेत्री ने हाल ही में प्रशंसकों को स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए अपनी फिटनेस सीरीज शुरू की। उनका 20 मिनट का वर्कआउट वीडियो प्रशंसकों को प्रेरित करने का एक तरीका है। ताकि उनके फैंस जहां भी हो असानी से वर्कआउट कर सकें।

ड्रोन और कैमरों का उपयोग कर रही भारतीय सेना

पैंगोंग झील पर चीनी सैनिकों की वापसी की निगरानी के लिए ड्रोन और कैमरों का उपयोग कर रही भारतीय सेना
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारतीय सेना की टीमें ड्रोन और कैमरों से लैस होकर पूर्वी लद्दाख की पैंगोंग झील से चीनी सैनिकों के पीछे हटने और उसके द्वारा स्थापित सैन्य बुनियादी ढांचे को हटाने की प्रक्रिया पर लगातार नजर बनाए हुए है। इसके अलावा, पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी दोनों तटों पर सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया 20 फरवरी तक पूरी होने की उम्मीद है।
इसके अलावा भारतीय सेना की टीम चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) टीम के साथ पैंगोंग झील पर सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया का भौतिक रूप से (फिजिकली) सत्यापन और पुन: सत्यापन करेगी।
एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा यह भारतीय सेना और चीनी पीएलए दोनों की ओर से एक संयुक्त निरीक्षण दल होगा।
अधिकारी ने आगे कहा कि भारतीय सेना की टीमें सैन्य टुकड़ियों की जांच और सैन्य ठिकानों को हटाने की प्रक्रिया की निगरानी एवं इसका रिकॉर्ड रखने के लिए ड्रोन के साथ ही हाई-रिजॉल्यूशन कैमरों का उपयोग करेंगी। यह टीमें विशेष रूप से चीनी सैनिकों द्वारा पैंगोंग झील के पास स्थापित किए गए सैन्य ठिकानों को हटाने की प्रक्रिया की निगरानी करेंगी।
चीन की ओर से फिंगर 7 क्षेत्र में एक सैन्य चौकी बनाने के अलावा लंबी दूरी की मारक क्षमता वाली बंदूकें भी तैनात की गई थीं। इस इलाके में बंकरों का निर्माण किया गया था। और हजारों पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों के ठहरने के लिए स्थायी संरचनाओं का निर्माण भी किया गया था।
अधिकारी ने बताया हम भौतिक रूप से यह सत्यापित करेंगे कि क्या इलाके से प्रत्येक चीजें हटा दी गई हैं। या नहीं। हम यह जांचने के लिए फिंगर 8 तक जाएंगे कि क्या सहमति शर्तों के अनुसार पीछे हटने की प्रक्रिया हो रही है। या नहीं।
समझौते में कहा गया है। कि चीनी सैनिक वापस फिंगर 8 में चले जाएंगे और भारतीय सेना पैंगोंग झील के उत्तरी तट के फिंगर 2 और 3 के बीच धन सिंह थापा की चौकी पर वापस आ जाएगी। इसके अलावा, पारंपरिक क्षेत्रों में गश्त सहित सैन्य गतिविधियों पर एक अस्थायी रोक होगी।
पैंगोंग झील के किनारे पहाड़ की आकृति कुछ इस तरह से है। कि यह अंगुलियों की तरह दिखती है। इसीलिए इन्हें फिंगर कहा जाता है। इनकी संख्या आठ है। भारत जहां फिंगर 8 तक अपना क्षेत्र होने का दावा करता है। वहीं चीन ने फिंगर 4 तक दावा करते हुए विवाद पैदा कर दिया। पैंगोंग झील के उत्तरी तट पर फिंगर 4 और फिंगर 8 के बीच आठ किलोमीटर के फासले में दोनों सेनाओं के बीच कई बार आमने-सामने की भिड़ंत हो चुकी है।
चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर यथास्थिति बदलने के लिए फिंगर 4 और पैंगोंग झील के दक्षिण में अपने बहुत से जवान और अन्य साजो-सामान तैनात किया था। पिछले साल तनाव के कारण चीन ने झील में फिंगर 8 से आगे नावों को तैनात किया था। एक बार सेनाएं पीछे जाने के बाद राजनयिक और सैन्य वार्ताओं में सहमति बनने के बाद ही गश्त फिर से शुरू होगी।
पैंगोंग झील के दक्षिण में जहां दोनों देशों की सेनाएं बिल्कुल आमने-सामने थीं। वहां से भी सेनाएं पीछे हटने लगी हैं। यहां कुछ स्थानों पर तो दोनों देशों के टैंक मात्र 100 मीटर के फासले पर थे।
उल्लेखनीय है। एलएसी पर दोनों देशों के बीच करीब दस महीने से सैन्य गतिरोध बना हुआ है। पैंगोंग झील के उत्तरी तट पर टकराव तब शुरू हुआ जब चीनी सैनिकों ने पिछले साल मई में झील के अंदर और तट पर घुसपैठ करते हुए यथास्थिति बदलने का प्रयास किया था। धीरे-धीरे यह टकराव और क्षेत्रों में फैल गया। झील के दक्षिणी तट पर भारत ने चीन के मुकाबले पहाड़ियों पर अपनी सामरिक स्थिति काफी मजबूत कर ली थी।
हालांकि अब दोनों देशों की ओर से गतिरोध वाले स्थानों से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू हुई है। जिससे गतिरोध खत्म होता नजर आ रहा है।

भविष्य में भारत को हर क्षेत्र में मजबूती मिलेगी: गुप्ता

बजट से भविष्य में भारत को हर क्षेत्र में मजबूती मिलेगी: आदेश गुप्ता
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। भारतीय पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रो. गोपाल कृष्ण अग्रवाल ने कहा कि बजट 2021-22 का मूल आधार उत्पादन और आधारभूत ढ़ाचे को बढ़ावा देना है। ताकि देश को हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाया जा सके। प्रदेश भाजपा द्वारा आयोजित बुद्धिजीवियों के साथ बजट चर्चा में प्रो. अग्रवाल ने कहा कि बजट में ऐसे प्रावधान किए गए हैं। जिसका समाज में सभी वर्गों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद देश का चौतरफा विकास हो रहा है। और इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी सरकार की दूरदृष्टि की सराहना करनी चाहिए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के बजट 2021-22 में जन कल्याणकारी योजनाओं को सर्वाधिक प्रमुखता दी गई है। कोरोना के कारण लॉकडाउन में भी कोई दिहाड़ी मजदूर भूखा न रहे, इसके लिए मुफ्त राशन उपलब्ध कराने के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं को लंगर लगाने को भी कहा गया। उन्होंने कहा कि महामारी के कारण पूरा विश्व प्रभावित हुआ और अमेरिका जैसा संपन्न राष्ट्र भी गड़बड़ा गया लेकिन माननीय नरेन्द्र मोदी ने जो कदम उठाए उसके कारण भारत पहला ऐसा देश बना जिसने अपने दम पर सभी का जीवन बचाने का कार्य सफलतापूर्वक किया। देश की अर्थव्यवस्था को बचाने के साथ प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश ने कोरोना वैक्सीन बनाकर देश को बचाया। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दिल्ली विश्वविद्यालय कार्यकारिणी के नवनिर्वाचित सदस्य वी.एस. नेगी सहित कई बुद्धिजीवियों को सम्मानित किया। कार्यक्रम में प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल मौजूद थे। कार्यक्रम के संयोजक बीजेपी अनूसूचित मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री राजकुमार फलवरिया थे और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक शिक्षक मोर्चा के अध्यक्ष प्रो ए के भगी ने समारोह की अध्यक्षता की। आदेश गुप्ता ने कहा कि बजट में बहुयायामी ढंग से काम हो रहा है। रेलवे, कृषि, परिवहन, राजमार्गों के निर्माण एवं विस्तार से देश के आधारभूत ढ़ाचे को बढ़ाने में जो मदद मिलेगी उससे भविष्य में भारत के हर क्षेत्र को मजबूती मिलेगी। गुप्ता ने कहा कि बजट में दिल्ली के ढ़ाचागत विकास और प्रदूषण को कम करने के लिए जो कदम उठाए गए हैं। उनमें बदरपुर में विश्व का सबसे बड़ा ईको पार्क बनाना, मेट्रो को विस्तार देना, राजमार्ग का विस्तार और दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्रों के अन्य शहरों से तेज गति से जोड़ने का काम शामिल है।
 

शरारती तत्वों पर राजद्रोह की धाराएं नहीं लगेगी

शरारती तत्वों पर राजद्रोह की धाराएं नहीं चलाई जा सकतीं : कोर्ट
अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर फेसबुक पर फर्जी वीडियो पोस्ट करने के आरोपी व्यक्ति को जमानत देते हुए कहा कि देशद्रोह का कानून शरारती तत्वों को सबक सिखाने के लिए लागू नहीं किया जा सकता। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेद्र राणा ने कहा कि सार्वजनिक शांति भंग करने या हिंसा का सहारा लेने के लिए उकसाने के आरोपी पर राजद्रोह का कानून लागू नहीं किया जा सकता।
अभियोजन पक्ष के अनुसार, 21 वर्षीय एक मजदूर ने अपने फेसबुक पेज पर एक फर्जी वीडियो पोस्ट किया, जिसमें टैगलाइन 'दिल्ली पुलिस में बगावत, 200 पुलिसकर्मियों ने सामूहिक इस्तीफा सौंपा' लिखा था।
पुलिस ने दावा किया कि आरोपी ने प्रदेश के खिलाफ असंतोष फैलाने के इरादे से न सिर्फ सनसनीखेज फेसबुक पोस्ट की, बल्कि जालसाजी भी की है।
अदालत ने आरोपी को 50,000 रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी।

मुंबई में पेट्रोल 96 रुपये लीटर, डीजल के भी बढ़ें दाम

मुंबई में पेट्रोल 96 रुपये लीटर, लगातार नौवें दिन बढ़े डीजल के भी दाम
कविता गर्ग
मुंबई। पेट्रोल और डीजल के दाम में बुधवार को लगातार नौवें दिन बढ़ोतरी जारी रही। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 96 रुपये प्रति लीटर हो गया है। जबकि दिल्ली में 89.54 रुपये लीटर। तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल का भाव फिर दिल्ली और मुंबई में 25 पैसे, मुंबई में 24 पैसे और चेन्नई में 23 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है। वहीं डीजल के दाम में दिल्ली और कोलकाता में 25 पैसे जबकि मुंबई में 26 पैसे और चेन्नई में 24 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया गया है।
दिल्ली में लगातार नौ दिनों में पेट्रोल 2.59 रुपये लीटर महंगा हो गया है। जबकि डीजल के दाम में 2.82 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है।
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का भाव बढ़कर क्रमश: 89.54 रुपये, 90.78 रुपये, 96 रुपये और 91.68 रुपये प्रति लीटर हो गया है। डीजल की कीमतें भी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में बढ़कर क्रमश: 79.95 रुपये, 83.54 रुपये, 86.98 रुपये और 85.01 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं।
अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (आईसीई) पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के अप्रैल डिलीवरी अनुबंध में बुधवार को बीते सत्र से 0.21 फीसदी की तेजी के साथ 63.48 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था। न्यूयार्क मर्के टाइल एक्सचेंज (नायमैक्स) पर वेस्ट टेक्सस इंटरमीडिएट (डब्ल्यूटीआई) के मार्च अनुबंध में बीते सत्र से 0.07 फीसदी की तेजी के साथ 60.09 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।

यूपी ने मनरेगा में रोजगार सृजन का बनाया रिकॉर्ड

यूपी ने मनरेगा में रोजगार सृजन का बनाया रिकॉर्ड
हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) में रोजगार मुहैया कराने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल से यूपी मनरेगा में रोजगार सृजन का रिकॉर्ड कायम कर रहा है। मनरेगा के तहत अब ना सिर्फ राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को रोजगार मिल रहा है। बल्कि गांव-गांव में हजारों की संख्या में तालाब और शौचालयों का निर्माण हो रहा है। कई और निर्माण कार्य भी हुए हैं। जिनके चलते अब गांवों की बदरंग तस्वीर बदलने लगी है। राज्य के गांवों में सुविधाओं का इजाफा हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गांवों के विकास पर ध्यान देना है। इसके चलते ही प्रदेश में 26 करोड़ मानव रोजगार दिवस सृजित करने के लक्ष्य के सापेक्ष में 35 करोड़ से अधिक मानव दिवस रोजगार सृजन इस साल हुआ है। मनरेगा के तहत हुए यह निर्माण कार्य एक रिकार्ड हैं।
वित्तीय वर्ष 2020-21 में मनरेगा में प्रदेश को 26 करोड़ मानव दिवस रोजगार सृजन का लक्ष्य दिया गया। कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन के समय जब देशभर से करीब चालीस लाख प्रवासी श्रमिक यूपी लौटे तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर मनरेगा में उन्हें रोजगार दिया गया। जिसके चलते लोगों को रोजगार मुहैया कराने के लिए मनरेगा के तहत राज्य में 26 करोड़ मानव दिवस सृजित करने का लक्ष्य देखते ही देखते ही पूरा हो गया। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी के आग्रह पर केंद्र सरकार ने यूपी में मनरेगा के तहत लोगों को रोजगार मुहैया कराने के तय किए गए लक्ष्य को नौ करोड़ बढ़ाकर 35 करोड़ कर दिया है।
राज्य में इस 35 करोड़ के लक्ष्य को भी पार कर लिया गया है। विभागीय आंकड़ों के अनुसार, बीती 12 फरवरी तक राज्य में 35 करोड़ 47 लाख मानव दिवस रोजगार सृजन हुआ है। जो कि यूपी में नहीं बल्कि देश में रिकार्ड है। मनरेगा के इतिहास में इतनी बड़ी संख्या में कभी भी कहीं भी रोजगार सृजन नहीं हुआ।
मनरेगा आयुक्त योगेश कुमार ने बताया कि मनरेगा में 37 लाख महिलाओं और 73.50 लाख पुरुष श्रमिकों को रोजगार दिया गया है। 7,303.85 करोड़ रुपये मजदूरी का भुगतान किया गया है। जबकि कुल खर्च 9,707.15 करोड़ रुपये हुआ है। इसके अलावा गांव-गांव में जलसंचयन के लिए इस वर्ष प्रदेश में 19,951 तालाब बनाए गए हैं। इसी प्रकार 18,206 पशु आश्रय स्थलों का निर्माण कराया गया है। और 99,454 पशु आशय स्थल निमार्णाधीन है। 24,798 पंचायत भवन और 56,906 सामुदायिक शौचालय भी मनरेगा कन्वर्जेन्स के अतंर्गत बनाए गए हैं। 6,020 शेड बन गए हैं। और 24,655 शेड निमार्णाधीन हैं। यहीं नहीं मनरेगा योजना के तहत 8.80 करोड़ पौधों का रोपण राज्य में कराया गया है। बीते चार वर्षों में मनरेगा के तहत राज्य में 15,541 आंगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण भी कराया गया है। राज्य की 25 नदियों का पुनरुद्धार भी इस समयावधि में किया गया है।
सरकार के इस फैसले से राज्य में मानव रोजगार दिवस के सृजन का लक्ष्य 40 करोड़ से भी अधिक करने में सहायता होगी। मनरेगा से जुड़े अफसरों के अनुसार अगले मार्च तक 40 करोड़ मानव दिवस का रोजगार का सृजन करने संबंधी लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। इतनी संख्या में पहले कभी रोजगार नहीं दिया गया। अब चर्चा है, कि मनरेगा के तहत राज्य में हुए कार्यों को लेकर इस साल प्रदेश को तीन राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने की उम्मीद है।

जम्मू: 2 दिवसीय दौरे पर 20 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल

विदेशी राजनयिकों का 20 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर के 2 दिवसीय दौरे पर

श्रीनगर। विदेशी राजनयिकों का 20 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल बुधवार से जम्मू-कश्मीर की अपनी दो दिवसीय यात्रा शुरू कर रहा है। 5 अगस्त, 2019 को आर्टिकल 370 निरस्त किए जाने के बाद से विदेशी राजनयिकों की जम्मू-कश्मीर की यह चौथी यात्रा है।
आर्टिकल 370 निरस्त किए जाने के बाद, विदेशी राजनयिकों के प्रतिनिधिमंडल ने अक्टूबर 2019, जनवरी 2020 और फरवरी 2020 में जम्मू-कश्मीर का दौरा किया।
राजनयिक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व यूरोपीय संघ के राजदूत, उगो एस्टुटो द्वारा किया जा रहा है और इसमें यूरोपीय संघ, अफ्रीकी और मध्य पूर्वी देशों के सदस्य शामिल होंगे। प्रतिनिधिमंडल में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के सदस्य भी शामिल हैं।
जम्मू-कश्मीर के लिए राजनयिकों की यात्रा गृह मंत्रालय (एमएचए) के निमंत्रण पर हो रही है।
प्रतिनिधिमंडल के सदस्य जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के नवनिर्वाचित सदस्यों, सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ताओं, कुछ समाचार पत्रों के संपादकों, सिविल प्रशासन के अधिकारियों और सेना के जवानों सहित विभिन्न हितधारकों से मुलाकात करेंगे।
सिविल प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी प्रतिनिधिमंडल को जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति के उन्मूलन के बाद की गई विकासात्मक पहलों के बारे में बताएंगे, जबकि सेना और सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी उन्हें केंद्र शासित प्रदेश में सुरक्षा स्थिति के बारे में जानकारी देंग।
प्रतिनिधिमंडल के सदस्य गुलमर्ग का दौरा करेंगे और श्रीनगर में डल झील पर शिकारा की सवारी का आनंद भी लेंगे। प्रतिनिधिमंडल के सदस्य 18 फरवरी को शीतकालीन राजधानी जम्मू का दौरा करेंगे, जहां वे अपनी यात्रा के समापन से पहले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से मुलाकात करेंगे।

टेस्ट के बिना विधानसभा में विधायकों की 'नो एंट्री'

बजट सत्र में कोविड टेस्ट के बिना यूपी के विधायकों को 'नो एंट्री'
हरिओम उपाध्याय 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधायक जिन्होंने 14 फरवरी को या उसके बाद अपना कोविड परीक्षण नहीं करवाया है। उन्हें गुरुवार से शुरू होने वाले राज्य विधानसभा के बजट सत्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। स्पीकर हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि विधानसभा के सचिवालय ने सभी विधायकों और एमएलसी के लिए बजट सत्र की शुरुआत से पहले कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य होने संबंधी सर्कुलर जारी किया है।
सभी जिला मजिस्ट्रेटों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों (सीएमओ) को अपने-अपने जिलों में विधायकों के लिए कोरोना परीक्षणों की व्यवस्था करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं।
असेंबली स्टाफ का भी टेस्ट किया गया है।
यदि कोई विधायक पॉजिटिव निकलता है। तो इस संबंध में राज्य सरकार ने भी विशेष व्यवस्था की है। कोरोना पॉजिटिव सदस्यों के लिए एसजीपीजीआई और केजीएमयू में बेड आरक्षित किए गए हैं। उनके पास डॉक्टरों और विशेषज्ञों की देखरेख में खुद को घर पर क्वांरटीन करने का विकल्प भी होगा।
स्पीकर ने कहा कि यह एक हाइब्रिड सत्र होगा और विधायकों के पास इसे ऑनलाइन या इसमें व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने का विकल्प होगा।
बजट सत्र 18 फरवरी से राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के संबोधन के साथ दोनों सदनों के संयुक्त सत्र से शुरू होगा।
लगातार दूसरी बार मीडियाकर्मियों को प्रेस गैलरी तक पहुंचने की अनुमति नहीं होगी। तिलक हॉल में दो एलईडी स्क्रीन लगाई जा रही हैं। जहां से वे कार्यवाही देख सकते हैं।
चूंकि बजट इस बार पेपरलेस होगा, इसलिए बजट की मुद्रित प्रतियां उपलब्ध नहीं होंगी। सभी विधायकों को अपने आईपैड पर बजट मिलेगा और बजट लिटरेचर केवल वित्त विभाग के ऐप और यूपी विधानसभा की वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध होगा।
इस बीच, बजट सत्र के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

बेजोस फिर बने दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति

बेजोस फिर बने दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। टरेला के शेयरों में गिरावट के बाद एलन मस्क के सिर से दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति का होने का ताज छीन गिया है। और एक बार फिर एमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। टेस्ला के शेयरों में मंगलवार को 2.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और मस्क को 4.6 अरब डॉलर का नुकसान हुआ, जिससे वह दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों की रैंकिंग में ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स पर दूसरे स्थान पर खिसक गए।
बेजोस 191.2 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ फिर से दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए।
पिछले महीने मस्क दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति थे, क्योंकि टेस्ला के शेयर की कीमत बढ़ने के बाद उनकी संपत्ति 185 अरब डॉलर के पार पहुंच गई थी।
उन्होंने बेजोस की जगह ली थी। जो 2017 से सबसे अमीर व्यक्ति बने थे।

देश में कोरोना के 11,610 नए मामले सामने आएं

देश में कोविड-19 के 11,610 नए मामले और 100 मौतें दर्ज
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। देश में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस संक्रमण के 11,610 नए मामले दर्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि इसके बाद देश में अब तक दर्ज हुए कुल मामलों की संख्या 1,09,37,320 हो गई है। वहीं 100 नई मौतों के बाद मरने वालों की कुल संख्या 1,55,913 हो गई है। यह राहत की बात है। कि पिछले एक महीने से देश में दैनिक मामलों की संख्या 15 हजार से कम दर्ज हो रही है। साथ ही करीब डेढ़ महीने से दैनिक मौतों का आंकड़ा भी 200 से कम रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि पिछले 15 दिनों से तो दैनिक मामलों का आंकड़ा घटकर 9,000 से 12,000 के बीच आ गया है। और मौतों की संख्या भी घटकर 78 से 120 के बीच दर्ज हो रही है।
इस साल के अब तक के सबसे कम दैनिक मामले 9 फरवरी को दर्ज हुए थे। जो कि 9,110 थे। वहीं पिछले साल के सबसे कम दैनिक मामल 3 जून को 9,633 दर्ज हुए थे।
बिते 24 घंटों में 11,833 लोगों के डिस्चार्ज होने के बाद अब तक ठीक हुए रोगियों की कुल संख्या बढ़कर 1,06,44,858 हो गई है। वहीं अब देश में सक्रिय मामलों की संख्या 1,36,549 है। देश में रिकवरी दर 97.33 प्रतिशत और मृत्यु दर 1.43 प्रतिशत हो गई है।
वहीं मंगलवार को 6,44,931 नमूनों का परीक्षण किए जाने के बाद इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) द्वारा अब तक किए गए किए गए परीक्षणों की संख्या 20,79,77,229 हो गई है।
16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान के तहत 89,99,230 कोरोना वैक्सीन डोज अब तक दिए जा चुके हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की मानें तो दुनिया में सबसे तेजी से टीकाकरण अभियान भारत में चलाया जा रहा है। जबकि कई देशों ने हमसे बहुत पहले ही टीकाकरण शुरू कर दिया था।

बंधनो में भविष्य की लीडरशिप विकसित नहीं होगी

बंधनों में भविष्य की लीडरशिप विकसित नहीं हो सकती । पीएम मोदी
अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से नास्कॉम टेक्नॉलॉजी एंड लीडरशिप फोरम (एनटीएलएफ) को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार ये भलीभांति जानती है, कि बंधनों में भविष्य की लीडरशिप विकसित नहीं हो सकती। इसलिए सरकार द्वारा टेक इंडस्ट्री को अनावश्यक रेगुलेशंस से बंधनों से, बाहर निकालने का प्रयास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा जब दुनिया भारत की तरफ नई उम्मीद और भरोसे के साथ देख रही है। सरकार को देश के नागरिकों पर, स्टाट्र्अप पर, इनोवेटर्स पर पूरा भरोसा है। इसी भरोसे के साथ सेल्फ सर्टिफिकेशन को प्रोत्साहित किया जा रहा है। बीते 6 वर्षों में आईटी इंटस्ट्री ने जो समाधान तैयार किए हैं। उन्हें हमने गवर्नेंस का अहम हिस्सा बनाया है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, हमारे यहां कहा गया है। न दैन्यं न पलायनम। यानी चुनौती कैसी भी हो, हमें खुद को कमजोर नहीं समझना चाहिए और न चुनौती से पलायन करना चाहिए। कोरोना के दौरान भारत के ज्ञान, विज्ञान ने न सिर्फ खुद को साबित किया है। बल्कि खुद को इवोल्व किया है। नया भारत, हर भारतवासी, प्रगति के लिए अधीर है। हमारी सरकार नए भारत के युवाओं की इस भावना को समझती है। 130 करोड़ से अधिक भारतवासियों की आकांक्षाएं हमें तेजी से आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती हैं।
बता दें कि नास्कॉम टेक्नॉलॉजी एंड लीडरशिप फोरम के 29वें सम्मेलन का आयोजन 17 से 19 फरवरी तक किया जा रहा है। यह सम्मेलन नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विस कंपनीज (नास्कॉम) का अग्रणी आयोजन है। इस वर्ष के आयोजन का विषय है। शेपिंग द फ्यूचर टूवर्डस ए बेटर नॉर्मल'। इसमें 30 से अधिक देशों के 1600 प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। और तीन दिन के आयोजन के दौरान 30 उत्पाद दिखाए जाएंगे।

पुडुचेरी: पद से हटाए जाने के बाद बोलीं किरण बेदी

पुडुचेरी। पुडुचेरी की निवर्तमान उप राज्यपाल किरण बेदी ने बुधवार को कहा कि उन्होंने संवैधानिक एवं नैतिक जिम्मेदारियों को पूरा करने के कर्तव्य के तहत सभी कार्य किए। राष्ट्रपति द्वारा बेदी को उपराज्यपाल के पद से हटाने के एक दिन बाद पूर्व आईपीएस अधिकारी ने केन्द्र का पुडुचेरी की सेवा करने का अवसर देने के लिए शुक्रिया अदा किया।उन्होंने उनके साथ काम करने वाले सभी लोगों का भी शुक्रिया अदा किया। बेदी ने कहा कि वह पूरी संतुष्टि के साथ यह कह सकती हैं कि उनके कार्यकाल में राज निवास की टीम ने जन हित के लिए पूरी कर्मठता से काम किया। बेदी का पुडुचेरी सरकार और खासकर मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी के साथ अक्सर टकराव होता रहा। उन्होंने कहा कि मैंने संवैधानिक एवं नैतिक जिम्मेदारियों को पूरा करने के कर्तव्य के लिए ही सभी कार्य किए।

उन्होंने कहा कि पुडुचेरी का भविष्य बेहद उज्ज्वल है। उन्होंने कहा कि यह अब लोगों के हाथ में है। बेदी ने एक समृद्ध पुडुचेरी की कामना की। राष्ट्रपति भवन ने मंगलवार को बेदी को पुडुचेरी के उपराज्यपाल के पद से हटाने की घोषणा की थी। करीब एक सप्ताह पहले ही मुख्यमंत्री नारायणसामी ने राष्ट्रपति से उन्हें हटाने की अपील की थी।

कोरोना को लेकर अतिविश्वास में सरकार: राहुल

अकांशु उपाध्याय  
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना वायरस के दक्षिण अफ्रीकी और ब्राजीलियाई स्वरूप के मामले सामने आने के बाद बुधवार को आरोप लगाया कि कोविड-19 को लेकर सरकार घोर लापरवाही बरत रही है। उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘केंद्र सरकार घोर लापरवाही बरत रही है और कोविड-19 को लेकर अतिविश्वास में है। यह अभी खत्म नहीं हुआ है।’’उल्लेखनीय है कि केंद्र ने मंगलवार को बताया कि देश में पहली बार चार लोगों के सार्स-सीओवी-दो वायरस के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से संक्रमित होने का पता लगा। वहीं, एक व्यक्ति के वायरस के ब्राजीलियाई स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुयी है।

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कल कहा था कि भारत में बाहर से लौटे चार लोगों के कोरोना वायरस के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से संक्रमित होने की पुष्टि हुयी। संक्रमितों में से दो लोग दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे जबकि एक-एक व्यक्ति अंगोला और तंजानिया से लौटा था। सभी यात्रियों और उनके संपर्क में आए लोगों की जांच कर उन्हें पृथकवास में रखा गया है।

उत्तराखंड: सड़क हादसे में 3 की मौत, शोक की लहर

पंकज कपूर  
देहरादून। उत्तराखंड में हादसों में हो रही मौतों में जहां मैदानी क्षेत्र में लगातार बढ़ोतरी हो रही है तो वहीं पर्वती क्षेत्र भी हादसों में पीछे नहीं दिख रहा है। लगातार पहाड़ी क्षेत्रों में एक के बाद एक सड़क हादसे हो रहे हैं और इन दुर्घटनाओं में लगातार ना जाने कितनी जिंदगियां मौत के मुंह में समा गई है उत्तराखंड  मे नैनीताल जिले के दूरस्थ क्षेत्र बेतालघाट से कुछ दूरी पर बेतालघाट और रामनगर को जोड़ने वाले मार्ग में एक पिकअप वाहन गहरी खाई में जा गिरा जिसमें 3 लोगों की मौत हो गई ।हादसे के कारणों का अभी फिलहाल जानकारी नहीं मिल पाई है। लेकिन सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है और आगे की कार्रवाई की जा रही है जहां क्षेत्र में इस दुखद हादसे के कारण क्षेत्र में गमगीन माहौल है तो वहीं परिवार जनों का रो रो कर बुरा हाल बताया जा रहा है कब उत्तराखंड की सड़कें खून से लाल होने से रुकेगी यह कहना मुश्किल है।
फिलहाल हमारा न्यूज़ अपडेट भारत के सभी दर्शकों और साथियों से निवेदन है कि वाहन चलाते समय यातायात के नियमों का पालन जरूर करें और ओवर स्पीड में वाहन को ना चलाएं।

उछाल: बिटकॉइन की कीमत 50 हजार डॉलर के पार

 वाशिंगटन डीसी। अमेरिका। डिजिटल करेंसी बिटकॉइन की वृद्धि मंगलवार को भी जारी रही और पहली बार इसकी एक इकाई की कीमत 50 हजार डॉलर के पार चली गयी। करीब साल भर पहले बिटकॉइन की एक इकाई की कीमत 10 हजार डॉलर थी। पिछले तीन महीने में ही बिटकॉइन का दाम करीब 200 प्रतिशत चढ़ा है।बिटकॉइन को ऐसे समय में तेजी मिल रही है जब अधिक से अधिक कंपनियां उथल-पुथल वाली डिजिटल मुद्रा को भुगतान के माध्यम के रूप में मान्यता पाने की बात मानते जा रही हैं।

हालांकि अभी तक बिटकॉइन खरीदने वालों ने इसे सोने जैसे जिंस की तरह ही इस्तेमाल किया है, क्योंकि अभी इसे सेवा या सामान के बदले कुछ ही जगहों पर स्वीकार किया जाता है। मंगलवार को सुबह 10 बजे से पहले कम-से-कम छह बार बिटकॉइन 50 हजार डॉलर के पार गया।


बरेली: 165 निवर्तमान प्रधान नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

संदीप मिश्र 
 बरेली। इस बार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 165 निवर्तमान प्रधान किस्मत नहीं अजमा पाएंगे। उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की तैयारी कर ली गई है। ये वे प्रधान हैं जिनके खिलाफ विभिन्न मामलों में जांचें चल रही हैं। ग्राम पंचायतों में कराए गए विकास कार्यों में गड़बड़ी, प्रधानमंत्री आवास, शौचालय निर्माण, नाली-खड़ंजा समेत अन्य कई ऐसे कार्य हैं जिनमें कार्यकाल रहते इन प्रधानों के खिलाफ गड़बड़ी की शिकायतें की गईं। सभी प्रकरणों में जिला पंचायती राज विभाग जांच करा रहा है। जांचें अभी तक पूरी नहीं हुई हैं। डीपीआरओ धर्मेंद्र के अनुसार, 165 निवर्तमान प्रधानों की कुंडली तैयार कर ली गई है। इनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाने के लिए उच्चाधिकारियों को फाइल भेजी जाएगी।राज्य निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुसार इन निवर्तमान प्रधानों को चुनाव लड़ने से रोकने की कार्रवाई कराई जा रही है। इसके अलावा जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत के वे सदस्य भी चुनाव नहीं लड़ सकेंगे जिनके खिलाफ जांच चल रही है। निवर्तमान प्रधान क्यारा, भोजीपुरा, बिथरी चैनपुर, बहेड़ी, शेरगढ़, दमखोदा, फरीदपुर, भुता, नवाबगंज, भदपुरा, मीरगंज, फतेहगंज पश्चिमी, आलमपुर जाफराबाद, मझगवां, रामनगर ब्लॉक क्षेत्रों के रहने वाले हैं।

भटक रहें माँ बाप, हत्यारों को नहीं पकड़ रहीं पुलिस

मुरादनगर। खुर्रमपुर मुरादनगर निवासी राजू उर्फ राजीव ने मुरादनगर पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उनके बेटे का शव लगभग 50 दिन पूर्व खेत में मिला था। जिसे पुलिस एक्सीडेंट बता रही थी। लेकिन अगर एक्सीडेंट होता तो उनके पेटे का शव खेत में क्या कर रहा था। उनका कहना है कि उनके बेटे कि हत्या हुई है और पुलिस इस मामले में कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। राजू उर्फ राजीव ने बताया कि उनका बेटा शिवम 28 दिसंबर 2020 को रात 8 बजे के करीब अपनी मां की दवाई लेने के लिए घर से निकला था। रात 9 बजे के करीब उनके पास फोन आया कि संतवास इंटर के पास उनके बेटे का एक्सीडेंट हो गया है। जब वे वहां पहुंचे तो शिवम का शव खेत में था। वहीं उसकी स्कूटी भी वहीं खड़ी थी। जिसके बाद शिवम के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं राजू का कहना है कि उनके बेटे की हत्या हुई है अगर एक्सीडेंट होता तो रोड़ पर होता। इसके लिए वह लगातार उच्च अधिकारियों से मुलाकात कर रहे है, लेकिन पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है।

राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की अपील, चांदी दान ना करें

अयोध्या। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से एक ओर चंदा इकट्ठा करने का अभियान चल रहा है तो वहीं दूसरी ओर ट्रस्ट के सामने दान में आ रही चांदी की ईंटें एकत्रित करने में बड़ी समस्य़ा आ रही है। अब तक मंदिर के लिए 400 किलो से अधिक चांदी आ चुकी है। ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा का कहना है कि इतनी बड़ी मात्रा में चांदी आ गई है कि उसे ‘कहां रखा जाए ये सोचना पड़ रहा है।’ ऐसे में ट्रस्ट की ओर से चांदी दान में न देने की अपील की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अनिल मिश्रा ने बताया कि देश के तमाम प्रदेशों से लोग मंदिर निर्माण के लिए चांदी की ईंट (सिल्वर ब्रिक्स) भेज रहे हैं। ये इतनी बड़ी संख्या में इकट्ठा होती जा रही हैं कि इन्हें कहां सुरक्षित रखा जाए ये सोचना पड़ रहा है।’ उन्होंने बताया कि अब ट्रस्ट ने अपील करनी शुरू कर दी है कि चांदी दान न करें। वह आगे कहते हैं,  ‘हम भक्तों की भावनाओं का सम्मान करते हैं लेकिन हमारी गुजारिश है कि वे चांदी की ईंटे न भेजें। हमें इसके रखरखाव पर भी पैसा खर्च करना पड़ेगा। डॉ. मिश्रा के मुताबिक, ‘बैंक के लॉकर फुल हो गए हैं। इस वजह से बीच में चांदी का दान लेना बंद कर दिया गया था लेकिन कोई लेकर आता है तो मना नहीं कर पाते।’ उन्होंने कहा, ‘आगे मंदिर निर्माण के लिये अगर जरूरत पड़ेगी, तब हम इसका आह्वान करेंगे। अब तक 400 किलो से अधिक चांदी आ चुकी है।’ डॉ अनिल मिश्रा ने ये भी बताया कि कहा कि रामलला के परिसर में नींव की खुदाई का काम प्रगति पर है। लगभग 9 मीटर तक खुदाई पूरी हो गई है। 70 दिनों के अंदर नींव की खुदाई का काम पूरा हो जाएगा। इसी महीने के आखिरी में कार्यों की समीक्षा बैठक होगी और इसके बाद नींव की खुदाई का काम पूरा हो जाएगा।मंदिर ट्रस्ट से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि पिछले दिनों विश्व सिंधी सेवा संगठन, अंबेडकर महासभा ट्रस्ट समेत कई संगठनों के प्रतिनिधि राम मंदिर ट्रस्ट के कार्यालय चांदी की ईंट लाए। इनको ट्रस्ट ने स्वीकार तो कर लिया लेकिन इसके बाद फैसला लिया गया कि चांदी को चंदे के तौर पर दान न लें, उससे बेहतर कैश या ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के जरिए भक्त डोनेट करें।

ट्रस्ट से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, अब तक लगभग 1600 करोड़ रुपये राम मंदिर निर्माण के लिए मिल चुके हैं। ट्रस्ट की ओर से जो चंदा इकट्ठा करने अभियान को ‘निधि संकल्प संग्रह’ का नाम दिया गया है। इस अभियान के तहत पांच लाख से ज्यादा गांवों के 12 करोड़ से ज्यादा परिवारों तक पहुंचने का टारगेट है। 27 फरवरी तक चलने वाले इस चंदा अभियान की हर रोज समीक्षा की जा रही है। चंदे के लिए ट्रस्ट की ओर से गठित टोलियों को चेक या ट्रस्ट के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने का ऑप्शन दिया गया है। पिछले दिनों चंपत राय (महासचिव, राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट) ने बताया था कि 1 लाख 50 हजार टोलियां मंदिर निर्माण के धन संग्रह अभियान में लगी हुई हैं। चंपत राय के मुताबिक, देश के पांच बड़े इंजीनियरिंग संस्थान, भवन निर्माण और भू-गर्भ के अध्ययन से जुड़ी संस्थाओं के वैज्ञानिकों ने मंदिर की नींव और धरती के नीचे का अध्ययन किया है। नींव के लिए कार्य प्रारंभ हो गया है। 39 महीने में मंदिर बन जाएगा।

उत्कृष्ट संस्थान निर्माण पर ध्यान देने की जरूरत

कविता गर्ग
मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र ने दुनिया में अपनी छाप छोड़ी है और इस क्षेत्र में अगुवा बनने के लिये नवप्रवर्तन पर जोर, प्रतिस्पर्धी के साथ उत्कृष्ट संस्थान निर्माण पर ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने आईटी उद्योग से कृषि, स्वास्थ्य और देश के लोगों की अन्य जरूरतों को ध्यान में रखकर समाधान बनाये जाने का भी आह्वान किया।प्रधानमंत्री ने ‘नासकॉम टेक्नोलॉजी एंड लीडरशिप फोरम’ को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘भारतीय आईटी उद्योग की विश्व में छाप है। लेकिन हमें इस क्षेत्र में अगुवा बनना है, तो हमें नवप्रवर्तन, प्रतिस्पर्धी क्षमता और उत्कृष्टता के साथ संस्थान निर्माण पर ध्यान देना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘विश्व में भारतीय प्रौद्योगिकी की जो पहचान है, उससे देश को काफी उम्मीदें हैं। आपके समाधान पर मेक फॉर इंडिया की छाप होनी चाहिए।’’ उन्होंने आईटी उद्योग से कहा कि वे कृषि, स्वास्थ्य और देश तथा लोगों अन्य जरूरतों को ध्यान में रखकर समाधान बनाये। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हम आजादी के 75वें साल में प्रवेश कर रहे हैं। यह समय नये लक्ष्य बनाने का है। जब भारत 25-26 साल बाद आजादी के 100 साल मनाएगा, हम कितने वैश्विक उत्पाद बनायें, कितने वैश्विक लीडर बनाये, यह सोचकर काम करने की जरूरत है। इस लक्ष्य को हासिल करने में देश आपके साथ है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-185 (साल-02)
2. बृहस्पतिवार फरवरी 18, 2021
3. शक-1983, माघ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-सप्तमी, विक्रमी संवत 2077।

4. प्रातः 06:58, सूर्यास्त 06:12

5. न्‍यूनतम तापमान -07 डी.सै.,अधिकतम-25+ डी.सै.। घने कोहरे की संभावना बनी रहेगी।

6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।

9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110

http://www.universalexpress.page/

email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +91935030275                                        (सर्वाधिकार सुरक्षित)

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...