शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

वायरस की जंग में कसर नहीं छोड़ेंगे

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि मोदी सरकार कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में कोई कसर नहीं छोड़ रही और देश को मजबूत बनाने की योजना में लगी है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा आज उठाये गये कदमों का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए किये गये इन उपायों से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दृष्टिकोण को बल मिलता है। सिलसिलेवार ट्वीट में उन्होंने कहा, “ कोरोना के खिलाफ जंग में मोदी सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही है। लोगों के जीवन में कम से कम व्यवधान सुनिश्चित करते हुए वह आने वाले दिनों में सशक्त भारत के लिए योजना बना रही है। अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए रिजर्व बैंक द्वारा उठाये गये कदमों से प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को बल मिलता है।


” एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा,“ नाबार्ड के लिए 25000 करोड़ रुपये के प्रावधान से किसानों को मदद मिलेगी, सिडबी को 15000 करोड़ रुपये के प्रावधान से एमएसएमई और स्टार्टअप को वित्तीय स्थिरता मिलेगी और मेक इन इंडिया को बल मिलेगा। एनएचबी को 10000 करोड़ की मदद और बैंकों के लिए तरलता उपायों से भी सहायता मिलेगी।” उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को रिवर्स रेपो दर में कमी करते हुए अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए कई उपायों की घोषणा की है।


 


यूपीः 846 संक्रमित 13 लोगों की मौत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद शुक्रवार को बढ़ कर 846 हो गयी है। इनमे से 74 मरीज पूरी तरह स्वस्थ भी हो चुके है जबकि 13 की मौत हो चुकी है। राज्य में अब कोरोना संक्रमण से प्रभावित जिलों की संख्या 49 हो चुकी है वहीं पीलीभीत, हाथरस और महाराजगंज अब इस बीमारी से निजात पा चुके हैं। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को बताया कि प्रदेश के 49 जिलों से 846 कोरोना पाॅजिटिव के मामले सामने आए हैं इनमें से 74 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। उन्होंने कहा “ राज्य में कोविड 19 की टेस्टिंग में तेजी आयी है और प्रदेश में अब प्रतिदिन 2,000 से अधिक सैम्पल टेस्ट किये जा रहे हैं, कल 2,962 सैम्पल टेस्ट किये गये हैं, जबकि 3200 से अधिक सैम्पल टेस्टिंग के लिये भेजे गये। हमने लखनऊ, गोण्डा, बरेली, हरदोई, शाहजहांपुर, पीलीभीत एवं आगरा में 58 पूल बनाकर 290 सैम्पल्स की पूल टेस्टिंग की। ”मित मोहन प्रसाद ने बताया कि पीलीभीत, हाथरस और महराजगंज में अब कोरोना का कोई एक्टिव केस नहीं है। अब तक 23,393 लोगों का टेस्ट किया गया जिसमें से 22,547 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 993 लोगों को आइसोलेशन में तथा 10714 लोगों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है।


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि लाॅकडाउन के दौरान प्रदेश में कोई भूखा न रहे। गरीबों को राहत पहुंचाने के लिए 30 जून तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली का सार्वभौमिकरण किया गया है और हर जरूरतमंद तथा घुमन्तू समुदाय के लोगाे को भी खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। खाद्यान्न वितरण योजना के तहत पहले चरण में सात लाख 45 हजार 618 मीट्रिक टन खाद्यान्न का वितरण किया गया, जो पूरे देश में सबसे ज्यादा है।


उन्होंने बताया कि अब तक 29.60 प्रतिशत राशन कार्ड पर निःशुल्क जबकि 70.40 प्रतिशत कार्ड पर सशुल्क राशन का वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 6,442 औद्योगिक इकाईयां चालू हो गई हैं। प्रदेश में 909 फ्लोर मिल, 419 तेल मिल एवं 267 दाल मिल संचालित हैं। प्रदेश में पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूेपमेन्ट एवं मास्क निर्माण की 70 यूनिट तथा सेनिटाइजर की 99 इकाईयां क्रियाशील हैं। प्रदेश में मेडिकल इक्यूपमेन्ट एवं दवा निर्माण से संबंधित 412 इकाईयां संचालित हैं। अवस्थी ने बताया कि लाॅकडाउन का उल्लघंन करने वाले 20,453 लोगों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। प्रदेश में अब तक 18,48,143 वाहनाे की चेकिंग में 24,667 वाहन सीज किये गये। कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 549 लोगों के खिलाफ 435 एफआईआर दर्ज करते हुए 199 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। फेक न्यूज के तहत अब तक 375 मामलों का संज्ञान में लेते हुए साइबर सेल को सूचित किया गया है जो जांच के बाद कार्यवाही सुनिश्चित करेगा।


वायरस की जांच में अधिक तेजी चाहिए

कोविड-19 के मामलों की जांच में तेजी लाई जाएगीः मुख्यमंत्री


शिमला/अमित शर्मा। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस की जांच के सेंपल की जांच को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने निर्देश दिए कि तब्लीगी जमात से जुड़े और उनके संपर्क में आए सभी लोगों की जांच जल्दी पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जल्द ही रेपिड टेस्ट किट्स उपलब्ध करवाई जाएंगी टेस्ट की गति बढ़ेगी।


उन्होंने कहा कि सभी अंतर्राज्यीय सीमाओं पर जांच केंद्र स्थापित किए जाएंगे और रेपिड नैदानिक किट्स के माध्यम से परमिट के साथ प्रदेश में आने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी। इन जांच केंद्रों के निकट लगभग 15-20 बिस्तरों वाले अस्थाई क्वारन्टाईन सेंटर स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कोविड-19 पाॅजिटिव पाये जाएंगे, उन्हें इन क्वारन्टाईन केंद्रों में भेजा जाएगा और उन्हें प्रदेश के भीतर यात्रा नहीं करने दी जाएगी। ऐसे लोगों को कोरोना वायरस के आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि चिन्हित हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में लोगांे की आवाजाही पर बारीकी से नजर रखी जाएगी। जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों से उनके क्षेत्र में बाहरी राज्यों से आने वाले सभी व्यक्तियों पर कड़ी निगरानी रखने की जिम्मेवारी सौंपी है। उन्हांेने कहा कि जो भी पंचायत प्रधान बाहर से आने वाले लोगों की सूचना छुपाएगा, प्रदेश सरकार उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी।


मुख्यमंत्री ने लोगों की सुविधा के लिए नागरिक आपूर्ति निगम के डिपुओं और खुले बाजार में आवश्यक सामग्री की पर्याप्त आपूर्ति करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कफ्र्यू में छूट के दौरान लोगों में आवश्यक सामाजिक दूरी सुनिश्चित की जानी चाहिए ताकि कोरोना वायरस संक्रमण को रोका जा सके। उन्होंने अधिकारियांे को निर्देश दिए कि आवश्यक वस्तुओं और अन्य सामग्री के परिवहन में लगे ट्रकों और उनके चालकों व परिचालकों को प्रदेश की सीमाओं पर सेनेटाईज किया जाए। जय राम ठाकुर ने कहा कि सरकार प्रदेश के बाहर फंसे हिमाचलियों के प्रति चिंतित है और लगातार उनके संपर्क में है। संबंधित प्रदेश सरकारों से उनकी उचित देखभाल का आग्रह किया है। उन्होंने ऐसे लोगों से आग्रह किया है कि वे जहां है, वहीं बने रहें और प्रदेश सरकार स्थिति सामान्य होते ही उनकी वापसी सुनिश्चित करेगी।


उन्होंने अधिकारियों से किसानों और खरीददारों के मध्य समन्वय स्थापित करने को कहा, ताकि किसानों को उनके उत्पादों का सही मूल्य प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि बागवानों के उत्पादों के लिए उचित परिवहन की सुविधा बनाई जाए। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, मुख्य सचिव अनिल खाची, पुलिस महानिदेशक एस आर मरडी, अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार और आरडी धीमान, प्रधान सचिव जेसी शर्मा, आंेकार शर्मा और मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुंडू भी इस बैठक में उपस्थित थे।


सुरक्षा बल कैंप पर किया आतंकी हमला

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के नेवा में एक बार फिर से सुरक्षा बलों पर बड़ा आतंकी हमला हुआ है। शुक्रवार को आतंकवादियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और पुलिस के संयुक्त कैंप पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि आतंकियों ने नाका प्वाइंट स्थित सीआरपीएफ बटालियन पर फायरिंग की। इस हमले में सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। उसके पैर में गोली लगी है।


आतंकी हमले में घायल जवान को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। इस आतंकी हमले के बाद सुरक्षा बल इलाके में तलाशी अभियान चला रहे हैं। अभी तक आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है। इससे पहले शुक्रवार सुबह कश्मीर में शोपियां के दाइरो कीगाम इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ देखने को मिली। इस एनकाउंटर में एक आतंकी मारा गया है।


टीम बनाकर विभाग ने 53044 सर्वे किए

शैलेंद्र पाठक


बिलासपुर। शहर विधायक शैलेश पांडे की पहल पर बिलासपुर में घर घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी लेने और उनकी ट्रैवल हिस्ट्री जानने का अभियान छठवें दिन भी जारी रहा। आज स्वास्थ्य विभाग ने 34 टीम बनाकर अलग-अलग इलाकों का दौरा किया और घर घर जाकर वहां के सभी सदस्यों के स्वास्थ्य की जानकारी ली और उनकी ट्रैवल हिस्ट्री का पता लगाया। आज के सर्वे के बारे में जानकारी देते हुए विधायक शैलेश पांडे ने बताया कि बिलासपुर मे अब तक कुल 53044 लोगो की स्वास्थ्य की जानकारी लिया गया है। आज 34 टीम में शामिल स्वास्थ्य विभाग केे विशेषज्ञों ने 3324 घरों में घर घर जाकर लोगो का स्वास्थ्य कोरोना की दृष्टि से पूछा। शैलेश पांडे ने बताया कि आज कुल 15207 लोगो की स्वास्थ्य  के बारे में जानकारी ली गयी है और इन सब की ट्रेवल हिस्ट्री के बारे में  पता करने पर पता चला कि इनमें से 61 लोग ऐसे हैं जो बिलासपुर के बाहर से आये है। पांडेय ने बताया कि उन्होंने प्रदेश कांग्रेस के सचिव पंकज सिंह के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम को लेकर आज सरकण्डा के बंगाली पारा,जोरातालाब, जातिया तालाब, इमली भाटा ,अटल आवास, हनुमान मंदिर, सतबेह्निया मंदिर,चांटीडीह,चिंगराजपारा और वही के अन्य क्षेत्र का परीक्षण किया। उन्होंने बताया कि आज कुल 3324 घरों में 34 टीमें गयी,जो आज तक की सबसे बड़ी टीम थी।


कटघोरा कनेक्शन का भी लगाया पता
विधायक शैलेश पांडे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा किए जा रहे सर्वे में विशेष तौर पर इस बात का पता लगाया जा रहा है कि पिछले महीने कितने लोग थे,जो विदेश से लौटे हैं । इसके अलावा खासतौर पर इस बात का भी पता लगाया जा रहा है कि हॉटस्पॉट बन चुके कटघोरा से कितने लोग संपर्क में आए हैं । उन्होंने बताया कि आज पता चला है कि सर्वे किए गए इलाकों के कुल 3 लोग पिछले महीने कटघोरा के लोगों के संपर्क में आए थे जिन्हें  होम आइसोलेट  किया गया है ।


पुनिया ने बिलासपुर मॉडल को सराहा


विधायक शैलेश पांडे ने बताया कि आज कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया ने  बिलासपुर में  चल रहे  स्वास्थ्य सर्वे के अभियान की प्रशंसा की है।उन्होंने बताया कि पुनिया जी ने कहा है कि सभी जिलों को बिलासपुर के कोरोना बचाव की गतिविधियों को फॉलो करना चाहिए। पुनिया ने सभी मंत्रियों और विधायकों को सलाह दिया है कि उन्हें अपने अपने इलाकों में  बिलासपुर में किए गए  सर्वे के मुताबिक काम करना चाहिए।


 


 


सेना के हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी

मुकेरियां में सेना के हेलीकॉप्टर में आई तकनीकी खराबी, खेतों में करवानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंग


मुकेरियां/अमित शर्मा। पंजाब के होशियारपुर से बड़ी खबर है। होशियारपुर के मुकेरियां स्थित बुड्ढावड़ में सेना के एक अपाचे हेलीकॉप्टर की खेतों में लैंडिंग करवानी पड़ी। जानकारी के मुताबिक उक्त हेलीकॉप्टर ने पठानकोट से उड़ान भरी थी। जब वह मुकेरियां के पास पहुंचा तो किसी तकनीकी खराबी के चलते इसे खेतों में उतारना पड़ा। हेलीकॉप्टर में मौजूद दोनों पायलट पूरी तरह सुरक्षित हैं। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई थी और पठानकोट बेस पर सेना अधिकारियों को इस संबंध में सूचना दे दी गई है।


डीजीपी को सौंपे सूखे राशन के पैकेट

गरीबों के लिए राशन के बैग डी जी पी को सौंपे


चंडीगढ़/अमित शर्मा। चंडीगढ़ में कोरोना महामारी के दौरान गरीब बेसहारा लोगों के लिए संस्थाएं राशन, पका भोजन, धन देने में आगे आ रहें है। इसी कड़ी में आज 24x7 स्टोर चैन ने भी अपने कदम बढ़ा दिए। आज इस कंपनी ने सूखे राशन के बैग चंडीगढ़ पुलिस के डी जी पी संजय बैनीवाल को पुलिस हैड क्वार्टर में गरीबों में वितरण के लिए सौंपे। कंपनी के चंडीगढ़ क्षेत्र के आउटलेट के हेड द्रुभ ने ये राशन के बैग सौंपे। डी जी पी बैनीवाल ने कंपनी का धन्यवाद करते कहा कि आज ही कॉलोनियों से सूखे राशन की मांग आ रही थी। द्रुभ ने डी जी पी को आश्वस्त किया कि कंपनी इस संकट की घड़ी में प्रशासन के एक एक इशारे पर यहां आवश्यकता होगी सामान उपलब्ध करवाएगी। इस मौके पर एस पी हेड क्वार्टर मीणा भी उपस्थित थे।


रिजर्व बैंक का निर्णय स्वागत योग्य

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्णबंदी के दौरान नकदी की दिक्कतों को दूर करने के लिए शुक्रवार को रिजर्व बैंक के कदमों का स्वागत करते हुए कहा कि इन उपायों से तरलता की तंगी दूर होगी और ऋण देने में सुधार आयेगा। रिजर्व बैंक ने आज रिवर्स रेपो दशमलव 25 प्रतिशत घटाने के साथ ही वित्तीय संस्थानों में पचास हजार करोड़ रुपये समेत अन्य कई कदमों का एलान किया है।


प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया रिजर्व बैंक के आज के कदम से तरलता में काफी वृद्धि के साथ ही ऋण देने में सुधार होगा। पीएम मोदी ने कहा ये कदम छोटे कारोबारियों, लघु और मझौले उद्योग, किसानों और गरीबों के लिए मददगार होगा। इन कदमों से राज्यों की डब्ल्यूएमए सीमा सुधारने में भी मदद मिलेगी। डब्ल्यूएमए के तहत रिजर्व बैंक अस्थाई तरलता का प्रबंधन करता है जिसके तहत केंद्र और राज्य सरकारें 90 दिन तक की अवधि के लिए केंद्रीय बैंक से अपना तरलता असंतुलन दूर करने के लिए उधार ले सकते हैं


निकाय धनराशि खर्च का समय बढ़ाया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने नगरीय निकायों में 14वें वित्त आयोग की संस्तुतियों के क्रम में अन्तरित की गई धनराशि का उपयोग करने की समय-सीमा 31 जुलाई तक बढ़ा दी गई है। राज्य के मंत्री नगर विकास विभाग आशुतोष टंडन ने इस विषय में आज यहां समीक्षा के बाद यहां यह जानकारी दी। 
उन्होंने बताया कि समीक्षा के बाद यह संज्ञान में लिया गया कि कोविड-19 के संक्रमण के कारण उत्पन्न स्थिति के दृष्टिगत वित्तीय वर्ष 2019-20 की समाप्ति की तिथि 31 मार्च तक निकायों द्वारा उपरोक्त धनराशि का उपयोग पूर्ण रूप से नहीं किया जा सका। वर्ष 2019-20 में 14वें वित्त आयोग के तहत निकायों को विकास कार्यों कराये जाने के लिए दो किस्तों में लगभग 2456 करोड़ की धनराशि राज्य सरकार द्वारा अवमुक्त की गई है।


उन्होंने बताया कि निकायों द्वारा उपरोक्त धनराशि का उपयोग अवस्थापना सुविधाओं के विकास जैसे कि पेयजल सम्बंधी परियोजना, ठोस अपशिष्ट का प्रबंधन, सम्पर्क मार्ग का निर्माण एवं मार्ग प्रकाश आदि जैसे कार्यों को करते हुए नागरिकों को बेहतर सुविधायें प्रदत्त किये जाने के लिए किया जाता है। टंडन ने बताया कि नगर विकास विभाग द्वारा उपरोक्त विषयगत कार्य कराये जाने एवं व्यय किये जाने की समय-सीमा को 31 जुलाई तक बढ़ाये जाने से निकायों को बड़ी राहत मिलेगी और उपरोक्त धनराशि का सदुपयोग कर नगरीय क्षेत्र में विकास कार्यों को गति मिलेगी।


बेहतर सेवा के लिए पुलिस का सम्मान

समाजसेवी महिलाओं ने पुलिस व प्रशासन को बेहतर सेवा के लिए किया सम्मानित
मौके पर पहुंचकर महिलाओं ने फूल माला पहनाने और देने का काम किया


सुनील पुरी
बिंदकी फतेहपुर। कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान बेहतर सेवा प्रदान करने वाले पुलिस व प्रशासन को समाजसेवी महिलाओं ने फूल माला देकर सम्मानित किया और कहा निश्चित रूप से इनको रोना योद्धाओं का सम्मान होना चाहिए जिन्होंने दिन रात मेहनत कर लोगों की सेवा की है। कोरोनावायरस संक्रमण के चलते लाख डाउन का 23 वा दिन चल रहा है लगातार पुलिस और प्रशासन कोरोनावायरस संक्रमण रोकने के लिए लाख डाउन को सफल बनाने में लगा हुआ है। इसी के चलते गुरुवार को तमाम समाजसेवी महिलाओं ने ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मचारियों और प्रशासन को मौके पर जाकर फूलमाला देकर सम्मानित करने का काम किया सम्मान पाकर पुलिस और प्रशासन का उत्साह बढ़ा इतना ही नहीं महिलाओं ने उपजिलाधिकारी पहलाद सिंह पुलिस क्षेत्राधिकारी योगेंद्र सिंह मालिक कोतवाली प्रभारी ने चक नंदलाल सिंह नायब तहसीलदार सहित तमाम पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों दो फूल माला देकर सम्मानित करने का काम किया। इस मौके पर समाजसेवी महिला माया ओमर आशा गुप्ता स्वाति गुप्ता संगीता तिवारी सहित तमाम लोग मौजूद रहे।


मिली सफलता, एक तस्कर अरेस्ट

सुनील पुरी 


फतेहपुर। पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में एवं क्षेत्राधिकारी महोदय बिंदकी के मार्गदर्शन में एवं प्रभारी निरीक्षक महोदय थाना कल्यानपुर के नेतृत्व में उप निरीक्षक देवी दयाल वर्मा के द्वारा मय हमराहियान के दौरान चेकिंग में अवैध तस्करी मादक पदार्थ रोकथाम जुर्म जरायम तलाश वांछित अपराधी के दौरान अभियुक्त से एंबुलेंस कार ओमनी नंबर यूपी 78 ए एन 9630 मैं अभियुक्त राम सिंह पुत्र श्री छत्रपाल सिंह निवासी पुरानी पिंकी थाना बिंदकी जनपद फतेहपुर को नाजायज 70 ग्राम स्मैक सहित गोंडा रोड तिराहा हाईवे जो बाराबंकी से लेकर आ रहा था के साथ गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के दौरान उसके पास से 70 ग्राम स्मैक एक टच मोबाइल मारुति ओमनी जिस पर वह आ रहा था और नगद 2750 रुपए बरामद किया गया है। बरामद करने वाली पुलिस टीम में  उप निरीक्षक चौकी चौडगरा श्री देवी दयाल वर्मा  हेड कांस्टेबल श्री सुरेश यादव एवं कांस्टेबल धीरज यादव एवं अनीश दीक्षित मौके पर थे।


शराबः बंद दुकानों से अरबो का व्यापार

 राकेश पांडेय


लखनऊ। लॉकडाउन की घोषणा के चलते देश प्रदेश का शासन प्रशासन ने प्रत्येक दुकानों,मालों व ऐसे सार्वजनिक स्थानों को बंद करा रखा है जहां अधिक से अधिक लोगों की भीड़ होने की संभावना है।


इसी लॉकडाउन के चलते प्रशासन ने देसी विदेशी शराब व बिखर की दुकानों को भी बंद करा रखा है, लेकिन शराब के शौकीन की तलब प्रतिदिन दुगना दामों पर बुझाने वाले तमाम विक्रेता गलीयों मलिन बस्तियो में शराब बेचवा रहे हैं, और मय के प्यासे दीवाने उनको दुगना दाम पर खुशी से खरीद रहे है । इस काले कारोबार का पता लगाने की कोशिश किया तो अलग अलग जनपदों मे शराब बीयर के दुकान पर काम करने वाले सेल्स मैनो ने बताया कि 24 मार्च की रात्रि में लाँकडाउन की घोषणा के बाद जिन दुकानों में कई लाख की शराब भरी हुई थी। वह लाँकडाउन के दौरान प्रशासन की नजरों से छुपा कर दुकानों से निकालकर चोरी-छिपे ब्लैक में बेच दी गयी।


सूबे की योगी सरकार 24 मार्च या उससे पहले के दुकानों और गोदामों के उस समय उपलब्ध स्टाक और वर्तमान समय में दुकान व गोदामों में उपलब्ध स्टॉक से मिलान करें तो वाराणसी, आजमगढ़, बिन्ध्य, प्रयागराज,गोरखपुर मण्डलो के डेढ़ दर्जन जिलो की 70% शराब की दुकान का स्टाक या तो नील है या 10 से 20℅ स्टाक ही शेष है। यही हाहाल कमोवेश सूबे के हर जिले शहर बाजार और गांवों मे चल रही शराब की दुकानो का होना चाहिए ? सरकार, पुलिस ,सेना, समाज सेवी कोरोना के इस संक्रमण काल मे इतने ब्यस्त है कि इसका फायदा उठा शराब माफियाओं ने लाखो नही करोड़ों बल्कि अरबो का खेल खेल लिया है। आश्चर्य की बात तो यह है लाँकडाउन के दौरान बंद दारू की दुकानों व गोदामों से करोड़ों की दारू बिक गई और शासन प्रशासन को कुछ पता नहीं।आखिर इसका जिम्मेदार कौन है। सरकार सूबे के शराब दुकानो की जांच कर दुकानों को सील करके 24 मार्च की तारीख तक के स्टाक को सील ओपन करने की डेट में दुकानों में उपलब्ध स्टाक का मिलान कराया जाए तो 70% शराब बेच दी गयी यह पूरी तरह साफ हो जायेगा।


 


इफ्तार के स्थान पर की जाएगी मदद

रमज़ान में होने वाले सामूहिक इफ्तार के पैसों से होगी ज़रुरतमन्दों की मदद
बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। कोरोना वॉयरस और लॉकडाऊन होने के बाद माहे रमज़ान में जहाँ बा जमात नमाज़ नहीं होगी वहीं सामुहिक इफतार पर भी रोक रहेगी।ऐसे में मदरसा अनवारुल उलूम के प्रधानाचार्य व मस्जिद क़ाज़ी साहब बख्शी बाज़ार के पेश इमाम मौलाना जव्वाद हैदर जव्वादी साहब ने क़ौमों मिल्लत को पैग़ाम दिया है की जो लोग रमज़ान में मस्जिदों मे इफ्तारी कराते या पैसे देते थे वह लोग आदमे इन्सानियत की मदद ज़रुरतमन्दों को राशन के ज़रीए कर सकते हैं।उम्मुल बनीन सोसाईटी के महासचिव सै०मो०अस्करी के मुताबिक़ जो हज़रात रमज़ान की इफ्तारी मे सहयोग करते रहे हैं वह लोग मस्जिद क़ाज़ी साहब के मुतावल्ली शाहरुख क़ाज़ी के मोबाईल न०9569598832,मौलाना रज़ा अब्बास ज़ैदी के मोबाईल न०9307123562 व कमाल हैदर (कम्मू)के मोबाईल न०9369643277 पर संपर्क कर सहयोग राशी दे कर सवाब के भागीदार बन सकते हैं।मौलाना जूदी ने शहर के मुख्तलिफ इलाक़ो के लोगों से यह अपील की है वह अपने अपने इलाक़ो की मस्जिद के मुतावल्ली व पेश इमामों से राबेता क़ायम कर ज़रुरतमन्दों की इमदाद करें।ओलमाओं ने कोरोना वॉयरस वबा से महफूज़ रहने के लिए घरों में रहकर इबादत करने और सरकार की गाईड लाईन और डब्लू एच ओ के फारमुले पर चलकर सभी ऐहतीयाती क़दम का पूरा सहयोग करने के साथ इस महामारी से निजात के लिए दूआ करने और अपने घरों पास पड़ोस के ज़रुरतमन्दों की हर हाल में मदद करने की अपील की।


टेरेसा फाउंडेशन के चेयरमैन नियुक्त

सै०मो०अस्करी बने मदर टेरेसा फाउण्डेशन के चेयरमैन


बृजेश केसरवानी


प्रयागराज। मदर टेरेसा फाउण्डेशन के संरक्षक अरशद खान व राष्ट्रीय चेयरमैन डा०मो०नासिर खान ने सै०मो०अस्करी को इलाहाबाद/प्रयागराज का चेयरमैन नियुक्त किया।फाउण्डेशन के राष्ट्रीय महासचिव  मो०शारिक़ की संस्तुति पर मो०अस्करी को यह ज़िम्मेदारी सौंपी गई।डॉ०मो०नासिर खान ने आशा व्यक्त की के श्री अस्करी अपनी योग्यता नेतृत्व क्षमता और अपनी प्रतिष्ठा को देखते हुए समाज के लिए अग्रणी भूमिका निभाएँगे और एक माह के अन्दर फाउण्डेशन की नगर कमेटी सहित मेन विंग,यूथ विंग,महिला विंग,चिकित्सा विंग ( ऐलोपैथिक,होम्योपैथिक,यूनानी,डेन्टिस्ट ),अधिवक्ता विंग,सांस्कृतिक विंग (शायर,कला,कवि) का गठन कर राष्ट्रीय नेत्रित्व को सूचित करेंगे।देश में फैले कोरोना वॉयरस और लॉकडाऊन के कारण १५-४-२०२० को मनोनय पत्र वाट्सऐप द्वारा प्रेक्षित किया गया।मदर टेरेसा फाउण्डेशन के प्रयागराज चेयरमैन बनाए जाने पर फाउण्डेशन के राष्ट्रीय महासचिव मो०शारिक़ ने अस्करी को फूल माला पहना कर स्वागत किया। लॉकडाउन के कारण लोगों ने फोन द्वारा बधाई दी।बधाई देने वालों में प्रदेश महासचिव नसीरउद्दीन राईन,प्रदेश सचिव महबूब उसमानी,ज़िलाध्यक्ष सुधीर द्ववेदी,ज़िला मीडिया प्रभारी इसरार अहमद,हूर फात्मा सिद्दीक़ी,शाह आलम,ब्रिजेश केसरवानी,राधेकृष्णन तिवारी,रमीज़ अहसन,रजनीश भारतीया,रवि यादव,आक़िब जावेद खान,यथांश महारानी आदि।


पंचकूला में 1 और जमाती संक्रमित मिला

कोरोनावायरस / अब पूरा ट्राईसिटी रेड जोन होगा, पंचकूला में एक और जमाती संक्रमित मिला, अब तक कुल 16 पॉजिटिव


डॉक्टर के खिलाफ जानकारी छिपाने पर केस दर्ज, फैसले पर आईएमए ने जताया विरोध
•अब ट्राईसिटी में हुए कुल 93 कोरोना पॉजिटिव, चंडीगढ़ में 21, पंचकूला में 16 और मोहली में 56


चंडीगढ़ /अमित शर्मा। चंडीगढ़ और मोहाली के बाद अब पंचकूला भी रेड जोन में आएगा। दरअसल पंचकूला में शुक्रवार को एक और जमाती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसको मिलाकर अब पंचकूला जिले में पीड़ितों की संख्या 16 हो गई है। इनमें एक ही परिवार के 9 लोग शामिल हैं।


जहां कोरोना पीड़ितों की संख्या 15 से ऊपर है उसे सरकार हॉटस्पॉट यानी रेड जोन घोषित कर रही है। इसके साथ ही अब पंचकूला में भी 20 के बाद कुछ छूट मिलने की संभावना भी कम हो गई है।शुक्रवार को पंचकूला में जो नया जमाती कोरोना की चपेट में आया है, वह कुछ समय पहले राजस्थान के सीकर से जमात अटेंड कर लौटा था।


28 साल के अली बख्श को प्रशासन ने मौली में क्वारेंटाइन कर रखा था। वह खुदाबख्श एरिया का रहने वाला है। शुक्रवार को रिपोर्ट आने के बाद अली मौली गांव से पंचकूला सेक्टर 6 अस्पताल लाया गया और उसे एडमिट किया गया। वहीं कोरोना पीड़ित 80 साल के बुजुर्ग की रिपोर्ट फिर से पॉजिटिव आई है।


सेक्टर-41 के काेराेनावायरस संदिग्ध की रिपाेर्ट निगेटिव
पंचकूला सेक्टर-15 की कोरोनावायरस महिला की चेन से जुड़े सेक्टर-41 के दो संदिग्ध की जांच सेंपल लिए गए थे। उनमें एक संदिग्ध की रिपोर्ट बीती रात ही निगेटिव आई थी। अब उसी परिवार के दूसरे संदिग्ध की रिपोर्ट भी निगेटिव आ गई है। इसके अलावा परिवार के 15 अन्य लोगों को होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है। मामले में प्रशासक वीपी सिंह बदनोर के कहने पर संदिग्ध परिवार के सेंपल लिए गए थे। इसके अलावा पीजीआई से आज तीन मरीजों को छुट्टी मिलने की संभावना है।


डॉक्टर और स्वास्थ्य मंत्री आमने-सामनेःहरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के निर्देश पर  पंचकूला में डाॅ. नागपाल के खिलाफ काेराेना वायरस मरीज की जानकारी नहीं देने पर मामला दर्ज कर दिया है। केस दर्ज होने के बाद अब स्वास्थय मंत्री और डाॅक्टर आमने सामने हाे गए है। डाॅ. नागपाल पर मामला दर्ज करने के फैसले का विरोध करते हुए डाॅक्टराें ने कहा है कि अगर ऐसे ही बिना कसूर के डाॅक्टराें पर मामले दर्ज हाेने शुरू हाे गए है ताे वाे भी आने वाले दिनाें में अपना काम बंद कर देंगे। ऐसे में अब विभाग के सामने एक और मुसीबत खड़ी हाे गई है। वहीं, गुरुवार देर रात मामला दर्ज हाेते ही शुक्रवार सुबह आईएमए पंचकूला ने भी अनिल विज के इस आदेश काे गलत बता दिया है। अब आईएमए पंचकूला इस मामले काे लेकर एक मीटिंग भी करेगा। डाॅ. राजीव आर्य, प्रेसिडेंट, आईएमए पंचकूला ने बताया कि पंचकूला में जिस महिला के काेराेना पॉजिटिव हाेने के बाद डाॅ. नागपाल पर सूचना नहीं देने का आराेप लगाकर मामला दर्ज किया गया है, वह गलत है। उनहोंने कहा कि डाॅ. नागपाल ने ही हेल्थ डिपार्टमेंट काे इस मरीज के बारे में सूचना दी थी। अगर वह इसके बारे में नहीं बताते ताे ये केस भी ट्रेस नहीं हाेना था। इस संबंध में मंत्री से बात की जाएगी। उधर डीसीपी मोहित हांडा ने केस दर्ज करने की पुष्टि की है।


ट्राईसिटी में हुए 93ः ट्राईसिटी में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 93 हो गया है। अब पंचकूला में 16 कोरोनावायरस के मामले हो चुके हैं। वहीं मोहाली में  56 और चंडीगढ़ के 21 हैं। बाकी चंडीगढ़ से 9 लोग और पंचकूला से दो ठीक होकर घर भी जा चुके हैं। मोहाली की बात करें तो यहां से पांच ठीक हो चुके हैं और दो की मौत हो चुकी है।


उल्लंघन करने वालों की खैर नहीं

चंडीगढ़ कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों की अब खैर नहीं : ड्रोन से पकड़ने की तैयारी


चंडीगढ़/अमित शर्मा। चंडीगढ़ कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों की अब खैर नहीं । चंडीगढ़ पुलिस अब ड्रोन की मदद से ऐसे लोगों को ढूंढ लेगा । आज चंडीगढ़ के पुलिस प्रमुख संजय बैनीवाल और चंडीगढ़ की एस एस पी नीलांबरी को इस संदर्भ में  चंडीगढ़ इंस्टिट्यूट ऑफ ड्रोन के डायरेक्टर सनी कुमार ने भेंट कर इस संकट की घड़ी में अपनी सेवाएं मुफ्त देने की पेशकश की । जिससे दोनों अधिकारी प्रभावित हुए । सनी ने इसके लिए पुलिस हेडक्वार्टर में स्थान उपलब्ध करवाने व अपने 5-6 कर्मचारियों के लिए मूवमेंट पास देने की गुजारिश की । इस मौके पर एस पी विनीत ओर एस पी रोशनलाल भी मौजूद थे । कर्फ्यू के बाबजूद  चंडीगढ़  में लोग  इसका सही  पालन नहीं कर रहे। खासकर कॉलनियों में लोग झुंड बनाकर खड़े रहते हैं। वहीं जब पुलिस के जवान पेट्रोलिंग के लिए आते हैं तो सायरन की आवाज सुनकर लोग अपने घरों में छिप जाते हैं। ऐसे लोगों पर नजर रखने के लिए ड्रॉन का सही उपयोग कर पुलिस की भाग दौड़ को कम किया जा सकता है व पुलिस अधिकारी इस पर प्रभावी नजर रख सकते हैं । सनी ने बताया कि ऐसा प्रपोजल पंजाब सरकार को भी भेजा है। ड्रोन से शहर  के सभी क्षेत्रों की सर्चिंग करेंगे तो पुलिस प्रशासन को इस कार्य में बहुत सहायता मिलेगी। 


लाॅकडाउन और कर्फ्यू में लोग अभी भी नियमों का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहे। लोग अपने घरों की छतों पर इकट्ठा होकर बैठ रहे हैं। गलियों में झुंड बनाकर खड़े हैं, ऐसे लोगों पर नजर रखने के लिए ड्रोन सबसे कारगर साबित होगा। अगर पुलिस प्रशासन की तरफ से हरी झंडी मिलती है तो ड्रोन में थर्मल कैमरा भी इंस्टॉल किया जाएगा। थर्मल कैमरा से  किसी भी इंसान का बॉडी टेंपरेचर उसी वक्त जांच जा सकेगा । उसके अलावा इलाके को सेनिटाइज करने के लिए भी ड्रोन काफी कारगर साबित होगा।
कर्फ्यू लाॅकडाउन में देखा जा रहा है कि पुलिस अपने वाहनों में लोगों को घरों में बैठने के लिए अनाउंसमेंट कर रही है। इसे पेट्रोल की भी खपत ज्यादा हो रही है और डीजल की भी। इस बात को ध्यान में रखते हुए ड्रोन में ही स्पीकर की सुविधा भी होगी इसके लिए एस पी रोशन लाल ने कॉर्डलेस स्पीकर उपलब्ध करवाने की सहमति दी।
जो लोग कर्फ्यू का पालन नहीं कर रहे हैं, ऐसे लोगों पर नजर रखने के लिए ड्रोन ही सबसे अच्छा रास्ता है। घरों के ऊपर, तंग गलियों से लेकर खुले पार्क और सड़कों हर जगह का मुआयना कम समय में हो जाएगा। जो लोग नियमों के उल्लंघन कर रहे हैं उनके खिलाफ पुलिस को एक्शन लेने में भी आसानी होगी।


अमेरिकाःअर्थव्यवस्था सुधारने का प्रयास

वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के प्रकोप के बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रांतीय गवर्नरों से चर्चा करने के बाद देश की अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी किये है।
व्हाइट हाउस में गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान ट्रंप ने यह घोषणा की। उन्होंने कहा, अब जब हम अपने जीवन को फिर से शुरू कर रहे हैं, तो हम एक सुरक्षित और संरचित और बहुत ही जिम्मेदार तरीके से अपनी अर्थव्यवस्था का कायाकल्प शुरू कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मेरा प्रशासन नए संघीय दिशानिर्देश जारी कर रहा है जो गर्वनरों को प्रांतों को फिर से चरणबद्ध तरीके से खोलने की अनुमति देगा। यह सख्त रणनीति पर आधारित है।
उन्होंने ने कहा कि यह योजना आर्थिक जीवन को बहाल करने में तीन चरणों को रेखांकित करती है और गवर्नरों द्वारा उनके राज्य की जरूरतों के अनुरूप बनाई जा सकती है। हम सभी प्रांतों को एक साथ नहीं खोल रहे है। लेकिन यह सावधानीपूर्वक कदम उठाने का समय है।


क्षत-विक्षत मिला युवक का जला शरीर

अश्वनी उपाध्याय


गाजियाबाद। लोनी कोतवाली क्षेत्र स्थित निथौरा गांव रेलवे अंडरपास के पास सुबह 6:00 बजे  लगभग 35 वर्षीय युवक का अधजल शरीर क्षत-विक्षत अवस्था में पड़ा देख सनसनी फैल गई। मॉर्निंग वॉक पर गए न्यू विकास नगर निवासी एक लड़के ने पुलिस को 112 नंबर पर कॉल कर घटना की जानकारी दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक को दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। अभी तक शिनाख्त नहीं हो सकी है। पुलिस ने बताया की जलाकर मारने का प्रयास किया गया है। लेकिन मौके पर कोई भी ज्वलनशील पदार्थ नहीं पाया गया है, हो सकता है कहीं और से जलाकर यहां फेंका गया हो। लॉक डाउन लागू होने के पश्चात, पुलिस की सतर्कता रखने के बाद। इस प्रकार की घटना पुलिस की कार्रवाई पर एक प्रश्न चिन्ह पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है और जल्द ही खुलासा करने का आश्वासन भी दिया है।


यूपी में 20 के बाद शराब बिक्री-उत्पादन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 20 अप्रैल से शराब और बीयर का उत्पादन शुरू हो जाएगा। राज्य सरकार ने शराब उत्पादन करने वाली कंपनियों को इसकी अनुमति दे दी है। लॉकडाउन के कारण उत्तर प्रदेश में पिछले करीब 3 हफ्ते से शराब का उत्पादन पूरी तरह से बंद था। हालांकि, शराब की रिटेल बिक्री कब शुरू होगी, इस बारे में फैसला होना बाकी है।


सूत्रों का कहना है कि सरकार इस बारे में जल्द निर्णय ले सकती है। हाल में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजस्व बढ़ाने को लेकर सुझाव मांगे थे। इसमें सोशल डिस्टेसिंग नियमों का पालन करने के साथ शराब की बिक्री शुरू करने का सुझाव दिया गया था।


निजी स्कूल फीस नहीं बढ़ा सकतेः मनीष

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट के इस दौर में दिल्ली के निजी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों व उनके अभिभावकों के लिए राहत भरी खबर है। दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को फैसला लिया है कि कोई भी निजी स्कूल बिना सरकार की इजाजत के फीस नहीं बढ़ा सकेगा। वहीं, मासिक आधार पर सिर्फ ट्यूशन फीस ही लेनी होगी। इसके साथ स्कूल प्रबंधन को अपने पूरे स्टाफ को वेतन देना होगा। अगर कोई स्कूल इस फैसले का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ दिल्ली स्कूल एक्ट व राष्ट्रीय आपदा कानून के तहत सख्त कार्रवाई होगी। दिल्ली सरकार ने इस बारे में आदेश भी जारी कर दिया है।


मनीष सिसोदिया ने बताया कि उनको शिकायतें मिल रही थीं कि कई निजी स्कूल मनमाने तरीके से फीस ले रहे हैं। इतना ही नहीं, स्कूल बंद होने के बावजूद परिवहन शुल्क भी वसूला जा रहा था। उन्होंने अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि यह ठीक नहीं है। स्कूलों को इतना नीचे गिरने की जरूरत नहीं है। स्कूलों का बुनियादी काम ट्रस्टी के तौर पर समाज सेवा का है, स्कूल धंधा नहीं कर सकते।


मनीष सिसोदिया ने बताया कि ऐसी स्थिति में दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि कोई भी निजी स्कूल बिना सरकार की इजाजत के फीस नहीं बढ़ा सकते। वहीं, वह मासिक आधार पर सिर्फ ट्यूशन फीस लेंगे। इस समय फीस ना देने की वजह से बच्चों का ऑनलाइन कक्षाओं से नाम काटना उचित नहीं है। मनीष सिसोदिया के मुताबिक, सभी प्राइवेट स्कूल अपने स्टाफ को समय पर वेतन देंगे। अगर कोई समस्या है तो पेरेंट्स संस्था की मदद से अपने स्टाफ को सैलरी देनी होगी। इसमें किसी तरह का कोई बहाना नहीं चलेगा। जो स्कूल इसका पालन नहीं करेगा उन पर राष्ट्रीय आपदा कानून और दिल्ली स्कूल एक्ट के तहत कार्यवाही होगी।


कोटा में फंसे बच्चों, 300 बस भेजी

लखनऊ/कोटा। राजस्थान के कोटा में फंसे बच्चों को निकालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोटा से उत्तर प्रदेश के बच्चों को ले जाने के लिए बसें भेजी हैं। उत्तर प्रदेश के बच्चे को लेकर आज 300 बसें रवाना होंगी। 25 मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन की वजह से कोटा में यूपी, बिहार समेत कई प्रदेशों के हजारों बच्चे फंसे हैं। छात्रों की समस्या को देखते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला पिछले 2 दिनों से केंद्र की एजेंसियों से बात करने की कोशिश कर रहे थे, मगर उन्हें भी निराशा हाथ लग रही थी। अब केंद्रीय एजेंसियों के कहने पर कोटा से बच्चों को निकालने की प्रक्रिया शुरू हुई है इससे पहले खबर आई थी कि जम्मू कश्मीर प्रशासन कोटा में फंसे अपने राज्य के बच्चों को वापस बुलाना चाहती है मगर उन्हें परमिशन नहीं मिल पा रही है, जबकि बिहार सरकार ने कोटा से आने वाले बच्चों को लेने से मना कर दिया है. उत्तर प्रदेश सरकार की पहल के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से भी बच्चों को लाने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है।


क्या है मामलाः राजस्थान के कोटा में उत्तर प्रदेश-बिहार-झारखंड समेत देश के दूसरे राज्यों के हजारों छात्र मेडिकल और इंजीनियरिंग विषयों की कोचिंग के लिए आते हैं. यह सभी छात्र 25 मार्च से फंसे हैं। चिंता की बात ये है कि इस शहर में तेजी से कोरोना का संक्रमण भी बढ़ रहा है। यहां पर अभी 64 कोरोना के मरीज हैं।


सेना प्रमुख ने पाकिस्तान को लताड़ा

श्रीनगर। एक ओर जहां भारत समेत पूरी दुनिया कोरोना के खिलाफ जंग में व्यस्त है, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान है जो इस संकट के घड़ी में भी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की लगातार कोशिशें कर रहा है। बीते कुछ समय से सीमा पार से हो रहे आतंकी गतिविधियों पर सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे ने पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया और कहा कि इस संकट के दौर में हम दुनियाभर में मेडिकल टीमें और दवाएं भेज कर मदद कर रहे हैं, मगर पाकिस्तान आतंकवाद का निर्यात कर रहा है। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में समाचार एजेंसी एएनआई से सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि जिस वक्त हम न सिर्फ हमारे देश के लोगों बल्कि अन्य देशों के लोगों को भी मेडिकल टीम, दवाएं भेजकर मदद कर रहे हैं, उस वक्त पाकिस्तान सिर्फ आतंक को एक्सपोर्ट कर रहा है। यह अच्छी बात नहीं है।’


उन्होंने आगे कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसे समय में जब पूरी दुनिया और भारत इस कोविड-19 महामारी के खतरे से जूझ रहा हा, हमारा पड़ोसी हमारे लिए भारी मुसीबत बना हुआ है। बता दें कि सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं और गुरुवार को उन्होंने कश्मीर घाटी का दौरा कर सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की। कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि सेना प्रमुख के दौरे में उनके साथ उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल वाई के जोशी और चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल बी एस राजू मौजूद थे।


कर्नल कालिया ने कहा, ‘बादामी बाग छावनी में चिनार कोर के कमांडर ने सेना प्रमुख को नियंत्रण रेखा और अंदरूनी क्षेत्रों के हालात के बारे में जानकारी दी।’ उन्होंने कहा कि जनरल नरवणे ने जवानों के मनोबल और उत्साह की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सेना प्रमुख ने हर समय चुनौतियों से लड़ने के लिए तैयार रहने की आवश्यकता दोहराई। उन्होंने कहा कि जनरल नरवणे ने घाटी में शांति और सतर्कता कायम रखने के लिए और कोविड-19 को फैलने से रोकने के वास्ते लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए सभी सरकारी विभागों की प्रशंसा की। जनरल नरवणे ने सेना के 92 बेस अस्पताल के डॉक्टरों और नर्सों से भी मुलाकात कर उनके द्वारा किए जा रहे कार्य की प्रशंसा की।


बिना राशन कार्ड मिलेगा खदान्नः योगी

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर जहाँ एक तरफ पूरे देश मे लॉक डाउन लगा हुआ है | देश के प्रधानमंत्री ने लोगों से अनावश्यक रूप से घरों से नही निकलने की अपील की है | जिससे कोरोना की चैन को तोड़ा जा सके |


वही इस संकट की घड़ी में गरीबों व जरूरतमंदों के पास खाने की समस्या उत्पन्न हो रही है जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार लगातार गरीबों व जरूरतमंदों को खाद्यान्न वितरित करवा रही है | तो वही कुछ ऐसे भी गरीब व जरूरतमंद लोग है जिनके पास किसी भी प्रकार का राशन कार्ड या आधार कार्ड नही है जिससे वह खाधान्न लेने से वंचित है और इस संकट की घड़ी में उनके पास खाने की समस्या उत्पन्न हो गयी है | उसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ऐसे जरूरतमंदों को तत्काल ही राशन देने के अधिकारियों को निर्देश दिए है | उन्होंने ट्वीट करते हुए साफ शब्दों में कहा है कि जिनके पास राशन कार्ड व आधार कार्ड नही है चाहे वे शहर के निवासी हो या गांव के उनको जरूरत के हिसाब से खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जाए जिससे संकट की इस घड़ी में कोई भी गरीब व जरूरतमंद भूखा न सो पाए |


प्रियंका ने सीएम योगी को लिखा पत्र

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आग्रह किया कि कोरोना संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य के किसानों, मजदूरों और छोटे उद्योगों को तत्काल राहत एवं वित्तीय सहायता दी जाए। सीएम योगी को लिखे पत्र में उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को फसल की कटाई में मदद के साथ उनकी उपज की खरीद भी सुनिश्चित करने की जरूरत है।प्रियंका गांधी ने कहा कि कोरोना महामारी ने ज्यादातर क्षेत्रों की कमर तोड़ दी है। हर तबका इस आपदा और इसके दुष्प्रभावों से परेशान है। कोरोना की वजह से कई ऐसे आर्थिक व सामाजिक स्तर के मुद्दे हैं जिन पर तुरंत ध्यान देने से आमजन को बहुत राहत मिलेगी।उन्होंने किसानों की समस्याओं का उल्लेख करते हुए कहा कि विगत दिनों में उत्तर प्रदेश के किसानों पर ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश की मार पड़ी थी। उत्तर प्रदेश सरकार मुआवजा देने की भी घोषणा की थी, लेकिन अभी तक किसानों को मुआवजा नहीं मिला है। यह मुआवजा तत्काल जारी किया जाए।


प्रियंका के मुताबकि उत्तर प्रदेश का कांच उद्योग, पीतल उद्योग, कालीन उद्योग, बुनकरी, फ़र्नीचर उद्योग, चमड़े का उद्योग, होजरी उद्योग,डेयरी,मिट्टी बर्तन उद्योग,फिशरी-हेचरी उद्योग,अन्य घरेलू उद्योग सभी को तेज झटका लगा है। उन्होंने आग्रह किया कि छोटे उद्योगों की मदद और प्रदेश की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए 'आर्थिक पुनर्निर्माण कार्य बल' का गठन किया जाए।प्रियंका ने यह भी कहा कि मजदूरों को आर्थिक मदद की गारंटी करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कई जगह राशन न मिलने की शिकायतें आ रहीं हैं। बिना राशनकार्ड धारकों को भी राशन देने की गारंटी की जाए और राशन में चावल के साथ गेंहू, दाल, तेल, नमक और मसाला पाउडर भी दिया जाए।


अमेरिका में टूटा कहर, 4491 की मौत

वाशिंगटन। कोरोना वायरस के चलते अमेरिका की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। अमेरिकी सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी रोजाना में हजारों की संख्या में मौत हो रही है. जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण 4,491 लोगों की मौत हो चुकी है, जो कोरोना महामारी के कारण एक दिन में मौत का सर्वाधिक आंकड़ा है। अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 32,917 पर पहुंच गई है। वहीं अब तक कोरोना संक्रमण के 6,67,800 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ओपनिंग अप अमेरिका अगेन नाम का एक प्लान भी प्रस्तावित कर दिया है, जिसमें तीन चरणों में स्कूल, दफ्तर और फैक्ट्रियां फिर से खोली जाएंगी। हालांकि कई राज्यों के गवर्नर इससे इत्तेफाक नहीं रखते और न्यूयॉर्क ने गुरुवार को ही लॉकडाउन को 15 मई तक बढ़ाने का ऐलान कर दिया है। राष्ट्रपति ट्रंप ने ये प्लान एक सुझाव के तौर पर सभी राज्यों के गवर्नरों को भी भेजा है और इस पर उनकी राय मांगी है। ट्रंप ने इन प्लान के अनुसार इन तीन चरणों को 14 दिन तक लागू करने और फिर आगे की रणनीति तय करने का सुझाव दिया है।


पुलिस की जिप्सी में बच्ची का जन्म

नई दिल्ली। देश भर में लागू लॉक डाउन के दूसरे चरण में भी पुलिस लगातार लोगों के लिए मसीहा बनकर उनकी मदद कर रही है। इस दौरान पुलिस कभी लोगों को मां बनकर खाना खिला रही है, तो कभी उनकी गलतियों पर उन्हें सजा भी दे रही है। ऐसा ही एक ताजा मामला वेस्ट दिल्ली के रघुवीर नगर इलाके का आया है, जिसमें एक महिला अपने परिवार के साथ रघुबीर नगर पुलिस पोस्ट पर महिला कॉन्स्टेबल सुमन से बताती है कि उसे हॉस्पिटल जाने के लिए एक गाड़ी की आवश्यकता है। क्योंकि इस वक्त वह प्रेग्नेंट है और उसे लेबर पेन हो रहा है।
पुलिस जिप्सी का प्रबंधःजिसके बाद कॉन्स्टेबल सुमन ने तुरंत मामले की गंभीरता समझते हुए पुलिस पोस्ट पर मौजूद एसएचओ कुमार कुंदन और एसआई पंकज ठाकुर को जानकारी दी. जिसके बाद एसएचओ कुमार कुंदन के निर्देश पर तुरंत पुलिस जिप्सी का प्रबंध किया गया. जिसमें गर्भवती महिला सहित उसके परिवार वालों को बैठाकर हेड कांस्टेबल धरमवीर और कॉन्स्टेबल कुलदीप पश्चिम विहार के गुप्ता नर्सिंग होम ले जाने लगे.


लेकिन नर्सिंग होम पहुंचने से पहले पुलिस जिप्सी के अंदर गर्भवती महिला ने खुद से ही बच्चे को जन्म दे दिया. पुलिस द्वारा तुरंत हॉस्पिटल स्टाफ को फोन करके इस बारे में जानकारी दी गई।जिसके बाद हॉस्पिटल स्टाफ ने मौके पर पहुंचकर महिला और बच्चे को मेडिकल केयर में लिया।
एसएचओ ने महिला और उसके परिवार को बधाई दीः ख्याला एसएचओ ने महिला और उसके परिवार को बधाई दी। वहीं महिला के परिवार वालों ने भी पुलिस के इस कार्य को लेकर उनकी बहुत प्रशंसा की और रघुवीर पुलिस पोस्ट की पुलिस टीम का दिल से धन्यवाद किया।
ऐसा ही एक मामला दिल्ली के ओखला से भी आया जहाँ रहने वाले आमिल को लगा अब लॉकडाउन में वो कैसे अपनी प्रेग्नेंट पत्नी को लेकर अस्पताल जाएगा। पता नहीं कब उसकी पत्नी को लेबर पेन हो और उसे तुरंत ही अस्पताल जाना पड़े। आमिल 28 मार्च को किसी तरह अपनी यह परेशानी लेकर दिल्ली पुलिस के साउथ ईस्ट जोन के एडीशनल डीसीपी कुमार ज्ञानेश के पास पहुंचा।


उन्होंने आमिल को तुरंत ही पास जारी करवा दिया, जिससे जरूरत होने पर घर से बाहर निकल सके। लेकिन, जब दो दिन पहले उसकी पत्नी को लेबर पेन हुआ तो अस्पताल तक जाने के लिए कोई वाहन नहीं मिल रहा था। उस वक्‍त कुमार ज्ञानेश ने पुलिस की जिप्सी से उनकी पत्नी को कस्तूरबा गांधी अस्पताल पहुंचवाया, जहां उन्‍होंने एक बच्चे को जन्म दिया है।


पलवल में मिला 1 संक्रमित जमाती

पलवल। हरियाणा जिले में अब तक कोरोना के 31 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं। अब जिस व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है पुलिस ने उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया है। यह व्यक्ति जमाती था और छुपकर रह रहा था। यह शख्स पलवल के हथीन में छिपा हुआ था।
इसी के साथ 7 अन्य लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग लोगों से अपील कर रहा है कि लोग घरों में रहे, अपने आप को साफ-सुथरा रखें, हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करें, एक दूसरे संपर्क में न आए, जो लोग जमाती है उनकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दे और उनके संपर्क में न आए। तभी इस भयानक महामारी से बचा सकता है।


हरियाणा में अबतक कोरोना के 200 मामले आए सामनेः हरियाणा में कोरोना वायरस से कुल संक्रमितों की संख्या 200 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक कुल 200 संक्रमितों में 51 ठीक हो चुके हैं जबकि दो की मौत हुई है और राज्य के विभिन्न अस्पतालों में 147 मरीजों का इलाज चल रहा है।


झूलसती गर्मी में भी नहीं मरता वायरस

कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में अलग-अलग शोध हो रहे हैं। कुछ समय पहले दुनिया के कई वैज्ञानिकों ने कहा था कि कोरोना वायरस 30 डिग्री से ज्यादा तापमान में मर जाता है। यही वजह है कि हर कोई गर्मी आने का इंतजार कर रहा था। लेकिन इस बीच अब एक चौंकाने वाला खुलासा हो गया है। एक ताजा शोध में वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि 60 डिग्री तापमान में भी कोरोना वायरस जिंदा रह सकता है।खुद वैज्ञानिक भी हैं हैरान। दक्षिण फ्रांस की Aix-Marseille University की रिचर्स में यह खुलासा हुआ है कि इस वायरस पर गर्मी का भी कोई खास असर नहीं होता है। हमारे सहयोगी ज़ीबिज के अनुसार यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रेमी शेरेल और उनकी टीम कोरोना वायरस पर लगातार रिसर्च कर रही है।


क्या हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन है असरदार?
कोरोना वायरस को समझने के लिए हुए इस शोध में वैज्ञानिकों ने ये भी दावा किया है कि मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोरोना वायरस को मारने में बहुत ज्यादा कारगर नहीं है. फ्रेंच स्टडी में दावा किया गया है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन से कोरोना पर बहुत ज्यादा असर नहीं होगा। पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया (PHFI) के प्रमुख डॉ. के श्रीनाथ रेड्डी ने ज़ी न्यूज डिजिटल से बातचीत में कहा कि कोरोना वायरस को टेंपरेचर सेंसिटिव कहा जा रहा है। लेकिन भारत इस पर शोध कर रहा है। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण के अपने अपने शोध हैं. भारत में आने के बाद इसका स्वरूप कैसा है इस पर रिपोर्ट्स आने बाकी हैं. हम अपने शोध के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंच पाएंगे।


उल्लेखनीय है कि गुरुवार की शाम तक देशभर में कोरोना संक्रमण के 826 नए केस सामने आए जो कि पिछले दिनों के मुकाबले कुछ कम थे. हालांकि देशभर में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 12 हजार के पार पहुंच गया है।


पत्नी व एसीपी, थाना प्रभारी संक्रमित

लुधियाना। महानगर लुधियाना में कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए एसीपी नार्थ की पत्नी, एक थाना प्रभारी और ड्राइवर का भी कोरोना वायरस की रिपोर्ट पाजीटिव आई है। रिपोर्ट आने से पहले ये सभी पहले से ही क्वारंटाइन चल रहे थे। अब इनका ईलाज शुरू कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि एसीपी का ड्राइवर फिरोजपुर जिले का रहने वाला है। कुछ दिन पहले एसीपी नार्थ कोरोना पाजीटिव पाए गए थे। जिसके बाद उनकी सब-डिवीजन के तीन थाना प्रभारी व मुलाजिम क्वारंटनाइन कर दिए गए थे। जिसके बाद आज तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।



437 लोगों की मौते, 13387 संक्रमित

 नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 13,387 हुई है। कोरोना से अब तक 437 लोगों की मौत हुई है। कोरोना से 24 घंटे 23 लोगों की मौत हुई है। देश में कोरोना केस बढ़ने में 40 फीसदी की कमी आई है। कोरोना संक्रमित 13.6 फीसदी मरीज ठीक हुए हैं। देश में कोरोना के 80 फीसदी मरीज ठीक हो रहे हैं। देश के लिए एक भी मौत चिंता का विषय है। हमें हर मोर्चे पर कोरोना से लड़ना है। हमारी कोशिश तेजी से काम करने की है। देश में एंटी बॉडीज पर काम हो रहा है। प्लाज्मा तकनीकी से इलाज पर काम कर रहे हैं।


कोरोना के मामलों में 40% की गिरावट आई है, 80% मरीज ठीक हो रहे हैं, राज्यों को 5 लाख रैपिड किट दे रहे हैं, नई टेस्टिंग किट से 30 मिनट में रिजल्ट
1749 केस अब तक ठीक हुए हैं, 13.6% लोग #Corona की बीमारी से ठीक हुए हैं, COVID19 से मौत का आंकड़ा 437 तक पहुंचा
पिछले 24 घंटों में 23 लोगों की मौत हुई है, अब 6.2 दिन में केस डबल हो रहे हैं। 13.6% लोग #Corona की बीमारी से ठीक हुए हैं।
पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1007 केस सामने आए हैं,
पूरे देश में लॉकडाउन का पालन हो रहा है। बैंको और बाज़ारों में अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। कुछ उद्योगों को कम स्टाफ़ के साथ मंजूरी दी गई है।
हमें हर मोर्चे पर कोरोना से लड़ना है, कोशिश की जा रही है कि इसकी वैक्सीन जल्द से तैयार होः लव अग्रवाल, जॉइंट सेक्रटरी, स्वास्थ्य मंत्रालय। कोरोना के मामले दोगुने होने की दर पिछले 7 दिनों में कम हुई है, इसके ग्रोथ फैक्टर में भी 40 फीसदी की कमी हुई हैः लव अग्रवाल, जॉइंट सेक्रटरी, स्वास्थ्य मंत्रालय
लॉकडाउन से पहले #COVID19 मामलों की डबलिंग रेट लगभग 3 दिन लग रहे थे, पिछले 7 दिनों के आंकड़ों के अनुसार मामलों को डबलिंग रेट अब 6.2 दिनों की है। 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में तो डबलिंग रेट देश की डबलींग रेट से भी कम है।


नोएडा प्राधिकरण वितरित करेगा भोजन

गौतम बुध नगर। नोएडा प्राधिकरण की नोएडा एम्पलाइज एसोसिएशन द्वारा प्रत्येक वर्ष नोएडा प्राधिकरण के स्थापना दिवस पर उपहार स्वरूप प्राधिकरण के समस्त नियमित एवं संविदा कर्मचारियों को मिलने वाली धनराशि को इस बार एक अच्छी पहल करते हुए उसका आधा हिस्सा प्राधिकरण द्वारा नोएडा में दिहाड़ी मजदूरों एवं जरूरतमंदों के भोजन की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही सामुदायिक किचन को दिये जाने का निर्णय लिया जिसका सहमति पत्र मुख्य कार्यपालक अधिकारी महोदया को सौंपा गया। और आधी धनराशि वर्तमान गंभीर परिस्थितियों में भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं प्राधिकरण कर्मचारियों (कोरोना योद्धाओं) को प्रोत्साहन स्वरूप दिया जाएगा एसोसिएशन अध्यक्ष चौधरी राजकुमार सिंह ने बताया कि लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक रोजाना 15000 भोजन पैकेट पांचों सामुदायिक किचन दिए जाएंगे ताकि पूरे नोएडा में सामुदायिक किचन के माध्यम से दिए जा रहे 85 से 90000 भोजन पैकेट को 100000 किया जा सके और नोएडा के अंदर कोई भी भूखा ना रहे, उन्होंने बताया कि नोएडा के 44 वर्ष पूर्ण होने एवं 45 वर्ष में प्रवेश करने पर प्राधिकरण के मुख्य प्रशासनिक भवन मैं एक सूक्ष्म हवन किया गया जिसमें ईश्वर से प्रार्थना की गई कि नोएडा के साथ पूरे देश और पूरे विश्व की वैश्विक महामारी कोविड-19 से रक्षा करें। इसके पश्चात आज शुभारंभ करते हुए मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी एवं एनईए अध्यक्ष चौ राजकुमार सिंह द्वारा 15000 भोजन पैकेट की बसों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया जिसकी मील ऑन व्हील के नाम से शुरुआत की गई. इस अवसर पर विशेष कार्याधिकारी इंदुप्रकाश,विशेष कार्याधिकारी राजेश कुमार सिंह, महासचिव महेशचंद्, उपाध्यक्ष धर्मेंद्र शर्मा,अस्थायी कर्मचारी संघ अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा,विनोद शर्मा,महाप्रबंधक केके अग्रवाल, विजय रावल, सलिल यादव,मुकेश कुमार वैश्य,एसपी सिंह,वी के रावल,थान सिंह,विजेंद्र लोहिया प्रमोद यादव आदि उपस्थित रहे!


गृहमंत्री से मिले सिंधिया, संभावित दावेदार

भोपाल (संतोष जैन) । मध्यप्रदेश में दो-तीन दिन के भीतर होने जा रहे मंत्रिमंडल के गठन की कवायद के बीच भाजपा के वरिष्ठ विधायक व संभावित दावेदार भोपाल में जुट गए हैं। इनमें गोपाल भार्गव नरोत्तम मिश्रा भूपेंद्र सिंह विजय शाह और तुलसी सिलावट आदि शामिल इस बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री  ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की सिंधिया की इस मुलाकात को भी मंत्रिमंडल गठन से ही जोड़कर देखा जा रहा है।  सिंधिया ने बड़ा मंत्रिमंडल बनाने जा बनाए जाने की बात रखी है। वह अपने खेमे के 6 पूर्व मंत्रियों  को एक साथ मंत्री बनवाना चाहते हैं ताकि वे क्षेत्र में चुनाव के लिए जा सकें है।


समान रूप से लागू नहीं है लॉक डाउन

मोदी राज में लॉक डाउन का नियम केवल गरीबो पर


यहां कानून और नियम आम लोगों के लिए अलग और वीवीआईपी लोगों के लिए अलग है।
ओम माथुर


बैंगलुरू। ये देश और हर खतरे से ऊपर हैं। हो भी क्यों नहीं ? नेताओं की जमात से है और कोढ में खाज कि पिताजी देश के प्रधानमंत्री रहे हैं और बेटे कर्नाटक के मुख्यमंत्री। लेकिन फिर भी इन्हें ये पता नहीं कि कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में लोक डाउन चल रहा है और सोशल डिस्टेसिंग की पालन पर जोर दिया जा रहा है।


लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के पोते एवं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के पुत्र का आज बेंगलुरु में कांग्रेस नेता एम कृष्नाप्पा की बेटी के साथ धूमधाम से विवाह हुआ और इसमें कई लोगों ने शिरकत कर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उडा दी है। ऐसे समय में जब आम आदमी लाकडाउन  के कारण घरों में कैद है या परिवहन के साधन बंद होने से  देश में यहां वहां फंसे पड़े हैं,बड़े नेताओं को तो अपनी करनी से उनके सामने मिसाल कायम करनी चाहिए लेकिन जब यही लोग कानून का उल्लंघन करेंगे तो आम आदमी में क्या संदेश जाएगा? हमारे देश का यह दुर्भाग्य है कि यहां  कानून और नियम आम लोगों के लिए अलग और वीवीआईपी लोगों के लिए अलग है। आम आदमी की छोटी सी गलती उसे हवालात में पहुंचा देती है, तो बड़े लोग बड़ी से बड़ी गलती करके भी आसानी से बचे रह सकते हैं ।


जब देश में आम आदमी के घरों की हजारों शादियां स्थगित हो चुकी है, तो क्या देवगौडा अपने पोते की शादी को टाल नहीं सकते थे या सिर्फ परिवार के दो चार सदस्यों के बीच करके देश के सामने उदाहरण पेश नहीं कर सकते थे? अब सवाल यह भी है कि क्या कर्नाटक की भाजपा सरकार इस मामले को गंभीरता से लेते हुए देवेगौड़ा व कुमार स्वामी सहित शादी में शामिल वीवीआईपी लोगों पर मुकदमा दर्ज करने की हिम्मत दिखाएगी?जैसा कि लाक डाउन व सोशल डिस्टेंसिंग की अवहेलना करने वाले आम लोगों पर दर्ज किए जा रहे हैं।


एमपी में जल्द ही मंत्रिमंडल का गठन

भोपाल। कोरोना संकट के बीच शिवराज सिंह चौहान अपने मंत्रिमंडल का गठन कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्टी हाईकमान से चर्चा के बाद शिवराज सिंह चौहान 18 या 19 अप्रैल को अपने मंत्रिमंडल का गठन कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि अभी मंत्रिमंडल का गठन छोटा हो सकता है। लॉकडाउन हटने के बाद मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं। शिवराज सिंह चौहान के सामने मंत्रिमंडल के गठन की सबसे बड़ी चुनौती ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के नेताओं को एडजस्ट करना है।


मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे से कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे तुलसी सिलावट और राजस्व मंत्री रहे गोविंद सिंह राजपूत को शामिल किया जा सकता है। वहीं, दूसरी तरफ भाजपा के वरिष्ठ नेताओं गोपाल भार्गव, नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह, रामपाल सिंह, विजय शाह, गौरीशंकर बिसेन और मीना सिंह को मंत्री बनाए जाने की चर्चा है।


इन्हें भी मिल सकता है मौकाःकांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए वरिष्ठ नेता बिसाहूलाल को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि छोटे मंत्रिमंडल में दलित कोटे से तुलसी सिलावट तो आदिवासी कोटे से बिसाहूलाल, मीना सिंह और विजय शाह को मौका मिल सकता है।


उपचुनाव पर भी नजरःमध्यप्रदेश की 24 सीटों पर उपचुनाव होना है। ऐसे में ये माना जा रहा है कि इन उपचुनावों को ध्यान में रखते हुए भी मंत्रिमंडल में नेताओं को जगह मिल सकती है। बताया जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बड़ा मंत्रिमंडल बनाए जाने की बात रखी है। वे अपने खेमे के छह पूर्व मंत्रियों तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रभुराम चौधरी, इमरती देवी और प्रद्युम्न सिंह तोमर को एक साथ मंत्री बनवाना चाहते हैं, ताकि वे क्षेत्र में चुनाव के लिए जा सकें। हालांकि मंत्रिमंडल का स्वरूप छोटा होगा या बड़ा इस पर अंतिम फैसला पार्टी हाई कमान को लेना है।


विपक्ष उठा रहा है सवालःमध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल नहीं होने के कारण विपक्ष शिवराज सिंह चौहान पर सवाल उठा रहा है। कांग्रेस के सीनियर लीडर और राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने राष्ट्रपति को लेटर लिखा था। उन्होंने मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल नहीं होने पर राष्ट्रपति से मांग की थी कि मध्यप्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। वहीं, दिग्विजय सिंह और कमलनाथ कह चुके हैं कि ऐसे संकट में मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य मंत्री तक नहीं है।


कोरोनाः चिकित्सकों ने बताएं नए लक्षण

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया है। इस लाइलाज बीमारी की दवा बनाने में दुनिया के बड़े-बड़े बैज्ञानिक भी नाकामयाब साबित हो रहे हैं। इसी बीच एक और चौकाने वाली खबर सामने आई है। अभी तक आप कोरोना वायरस के जिन लक्षणों के बारे में जानते थे, उनमें प्रमुख थे खांसी, बुखार, थकान, फ्लू, जुकाम। लेकिन अब यूरोप के डॉक्टरों ने कोरोना का इलाज करा रहे मरीजों में कोरोना वायरस का नया लक्षण देखा है। नए लक्षणों को खोजना हमेशा से एक कठिन काम रहा है। लेकिन इस बार यूरोपियन डॉक्टर्स ने ऐसा कर दिखाया है।
संक्रमित मरीज के पैरों में मिले छोटे-छोटे घाव
कोरोना के इन सामान्य लक्षणों के आलावा डॉक्टरों ने बताया था कि कोरोना वायरस से ग्रसित व्यक्ति की सूंघने की क्षमता कम या खत्म हो जाती है। लेकिन इस बार जो लक्षण बताया जा रहा है वह और भी ज्यादा भयावह है। यूरोप के डॉक्टरों ने इलाज करा रहे कोरोना के मरीजों के पैरों में छोटे-छोटे घाव को खोजा है। डॉक्टरों का कहना है कि हॉस्पिटल में भर्ती हो रहे ज्यादातर मरीजों के पैर में ये छोटे घाव देखने को मिल रहे हैं।
इस वायरस से संक्रमित मरीजों के पैरों की उंगलियों के ऊपर, बीच में या फिर पैर के तलवे में ये छोटे-छोटे लाल या गुलाबी रंग के घाव देखने को मिल रहे हैं। ये घाव मरीज के ठीक होते ही अपने आप गायब भी हो जा रहे हैं। फ़िलहाल इसके लिए अलग से उपचार की जरूरत नहीं पड़ रही है।
दीखते हैं ये लक्षण-
वहीं स्पेन के डॉक्टरों का कहना है कि यह कोरोना वायरस के होने का एक प्रमुख निशान है। इसे बीमारी आने से ठीक पहले का प्रमुख लक्षण माना जा सकता है। डॉक्टरों का कहना है कि सबसे पहले पैर में अगर छोटे-छोटे लाल या गुलाबी घाव दिखने लगे तो समझ जाना चाहिए कि कोरोना वायरस का हमला होने वाला है। इसके ठीक बाद वो सारे लक्षण दिखने लगेंगे जो कोरोना वायरस के संक्रमण पर होते हैं।
यूरोप के डॉक्टरों का कहना है कि हम चाहते हैं कि इस लक्षण के बारे में पूरी दुनिया को पता चले। ताकि दुनियाभर के डॉक्टर सिर्फ खांसी, बुखार और सांस की दिक्कतों तक ही सीमित न रहें। डॉक्टरों के मुताबिक ये लक्षण यूरोप के ज्यादातर मरीजों में देखने को मिला है। जिन मरीजों में यह लक्षण दिखाई दिया है, वे सभी पुख्ता तौर पर कोरोना संक्रमित थे।
कोरोना महामारी की शुरुआत में विश्व स्वास्थ्य संगठन और सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने इसके लक्षणों पर एडवाइजरी जारी की थी। जिसके मुताबिक, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, खांसी, सीने में तेज दर्द, चेहरा या होंठ नीला पड़ना, संक्रमण का लक्षण था। लेकिन पिछले 4 महीने में जो मामने सामने आए उसमें कई और लक्षण सामने आए, इसे समझना बेहद जरूरी है। अब पेट में दर्द महसूस होना, गंध या स्वाद का पता न चलना, लगातार सिरदर्द महसूस, पैर में जामुनी रंग का घाव होने पर इसे नजरअंदाज न करें और डॉक्टरी सलाह लें।


अर्थव्यवस्था संकट में जान फूंकेगा आरबीआई

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महासंकट से जूझ रही अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए शुक्रवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की ओर से बड़े ऐलान किए गए। गवर्नर शक्तिकांत दास ने रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती का ऐलान किया, इसी के साथ बाजार में नकदी संकट ना आए इसके लिए भी 50 हजार करोड़ रुपये की अतिरिक्त मदद की बात कही। क्रक्चढ्ढ की ओर से रिवर्स रेपो रेट में कमी करने से सीधी मदद आम लोगों को पहुंच सकती है, इस ऐलान से बैंकों के पास ज्यादा पैसा उपलब्ध होगा। ऐसे में बैंक आम आदमी को कर्ज दे सकेंगे। ऐसे में इस ऐलान के बाद बैंकों पर कर्ज पर ब्याज दर कम करने का दबाव होगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्रक्चढ्ढ गवर्नर ने कहा कि कोरोना संकट के बीच बैंक सभी हालात पर नजर रखे हुए है, कदम-कदम पर फैसले लिए जा रहे हैं। कोरोना संकट की वजह से जीडीपी की रफ्तार घटेगी, लेकिन बाद में ये फिर तेज रफ्तार से दौड़ेगी। रिजर्व बैंक की ओर से बड़ी राहत देते हुए रिवर्स रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की गई है, इसी के साथ अब ये 3.75 फीसदी हो गई है। क्रक्चढ्ढ गवर्नर की ओर से कहा गया कि बैंक की ओर से लगातार इस तरह के ऐलान किए जाएंगे, जो तबके हालात के आधार पर होंगे।


नकदी संकट को दूर करने के लिए बैंक की तरफ से बाजार में 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा, ताकि नकदी में किसी तरह की कमी ना आए। इसके लिए ञ्जरुञ्जक्रह्र का ऐलान किया गया है। क्रक्चढ्ढ गवर्नर की ओर से कहा गया कि बैंकों की ओर से कर्ज मिलने में आम आदमी को कोई दिक्कत नहीं आएगी। इसके अलावा बैंक की ओर से नाबार्ड, एनएचबी, एनबीएफसी समेत अन्य क्षेत्रों में भी 50 हजार करोड़ की अतिरिक्त मदद दी जाएगी, ताकि नीचे तक मदद पहुंच सके।


शक्तिकांत दास ने कहा कि ढ्ढरूस्न ने इस बात का अनुमान लगाया है कि दुनिया में सबसे बड़ी मंदी आने वाली है, जो कि खतरे की घंटी है। कई देशों में आयात और निर्यात में भारी गिरावट देखने को मिली है। कोरोना संकट की वजह से भारत की त्रष्ठक्क 1.9 की रफ्तार से बढ़ेगी, त्र20 देशों में ये सबसे बेहतर स्थिति है। दुनिया में 9 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान होने का अनुमान है। लेकिन जब कोरोना का दौर चला जाएगा तो भारत की जीडीपी एक बार फिर 7 से अधिक की रफ्तार से बढ़ेगी।


नाबार्ड, सिडबी और हाउसिंग फाइनेंस बैंक को मिली नकदी : आरबीआई गवर्नर ने कहा कि इकोनॉमी में ग्रोथ के लिए नाबार्ड को 25 हजार करोड़ रुपये, सिडबी को 15 हजार करोड़ रुपये और हाउसिंग फाइनेंस बैंक को 10 हजार करोड़ रुपये दिए जाएंगे। इससे एनबीएफसी, एमएसएमई, रियल एस्टेट को नकदी की किल्लत दूर होगी।


हृक्क्र नियमों में बैंक को राहत : आरबीआई गवर्नर ने एनपीए नियमों में बैंकों को 90 दिन की राहत दी है। मोरेटोरियम पीरियड में एनपीए को नहीं गिना जाएगा। त्र20 देशों में इंडिया की ग्रोथ सबसे बेहतर रहने का अनुमान : ष्टश1द्बस्र-19 महामारी के समय में मानवता की परीक्षा है। हमारा मिशन है किसी भी तरह मानवता को बचाना। इस माहौर में क्रक्चढ्ढ काफी एक्टिव है। लगभग हर दूसरे या तीसरे दिन क्रक्चढ्ढ कुछ नए ऐलान लेकर आया है। हम यह बतााना चाहते हैं कि आगे भी हम ऐसा करते रहेंगे। दास ने कहा, ढ्ढरूस्न के अनुमानों के मुताबिक, त्र20 देशों में इंडिया की ग्रोथ सबसे बेहतर रह सकती है। 2020 ग्लोबल इकोनॉमी के लिए सबसे बड़ी मंदी है।


मालगाड़ी के 4 डिब्बे पटरी से उतरे

कोरबा में दीपिका के पास मालगाड़ी के चार डिब्बे पटरी से उतरे


दुर्घटना से मालगाड़ी का यातायात हुआ बाधित


 गेंदलाल शुक्ला 


कोरबा। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के दीपका नगर गुरुवार सुबह एक मालगाड़ी के चार डिब्बे पटरी से उतर गए जिससे रेल माल यातायात बाधित हो गई। कोरबा रेलवे स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया कि दीपका रेलखंड  के समीप कोयले से भरे छह चार डिब्बे ‌पटरी से उतर गए। जिससे रेल यातायात बाधित हो गया। पर बहुत जल्द ठीक कर लिया जाएगा , गांधीनगर दीपका से लोड होकर जा रहे मालगाड़ी के डिब्बे पटरी से नीचे उतर गए। इसके कारण दीपका चौक आने जाने वाले मुख्य मार्ग में जाम की स्थिति निर्मित हो गई। मालगाड़ी जैसे ही बेपटरी हुई लोग कोयला बिनने के लिए उमड़ पड़े। और कोयला लूटने की होड़ मच गयी। अफरा-तफरी में सोशल डिस्टेंस का नहीं हो रहा है यहां भी पालन।


वीरान शहर और सुनी सड़केंः सीएम

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना के प्रति जागरूक करने वाला शानदार ट्वीट किया है। CMO छत्तीसगढ़ के ट्वीटर हैंडल पर उन्होंने राजधानी की चार अलग-अलग एंगल से ली गयी तस्वीर को पोस्ट किया है। तस्वीर में सुनसान सड़कें और वीरान पड़ा शहर नजर आ रहा है।टॉप एंगल से ली गयी तस्वीर में राजधानी के उन व्यस्तम प्वाइँट की तस्वीरें हैं, जहां कभी पैर रखने तक की जगह नहीं होती थी, लेकिन आज वहां कोरोना की वजह से वीरानी पसरी है। मुख्यमंत्री ने इस तस्वीर के साथ जो कैप्शन लिखा है, वो वाकई में दिल को छू लेने वाला है। उन्होंने लिखा है…मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना के खिलाफ युद्ध की संज्ञा दी है, जिसमें जंग के मैदान में बाहर नहीं निकलने वाला योद्धा ही जीतेगा। आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर, दुर्ग में अगले 72 घंटे के लिए पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया गया है। सिर्फ दूध, दवाई और पेट्रोल पंप को छोड़कर सभी सेवाओं को बंद कर दिया गया है। यहां तक कि किराना और सब्जी दुकानें तक बंद हैं और बेवजह बाहर निकलने वालों पर पुलिस की कार्रवाई भी चल रही है।


सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सावधानी बरतें, सतर्क रहें।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


अप्रैल 18, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-251 (साल-01)
2. शनिवार, अप्रैल 18, 2020
3. शक-1942, वैशाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि- एकादशी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 06:02,सूर्यास्त 06:51।


5. न्‍यूनतम तापमान 22+ डी.सै.,अधिकतम-37+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.:-935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


 


दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...