शुक्रवार, 14 जून 2019

अखबार की प्रतियां जलाकर किया विरोध

शहीद चौक पर सायं 06.00बजे, हिन्दुस्तान अखबार की प्रतियां जलाकर, पाजा फाउन्डेशन ने किया विरोध


निगहबान ! बड़े बेईमान !
झूठ बोलते हैं, झूठ लिखते हैं अखबारों में।
तो ढ़ूढ़ोगे कैसे चोर भला, इन समाचारों में ।।


हिन्दुस्तान अखबार रायबरेली के महा भ्रष्टाचारी और रिश्वतखोर पत्रकार गौरव अवस्थी को हटाने हमें/पाजा को नहीं मिला कोई पत्र।
रायबरेली!- शहीद चौक पर सायं 06.00बजे, हिन्दुस्तान अखबार की प्रतियां जलाकर, पाजा फाउन्डेशन ने किया विरोध । बृजेन्द्र शरण श्रीवास्तव “गाँधी“ ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के एन्सीलरेटेड लर्निंग कैम्प परिसर डायट रायबरेली में दारू पीकर नागिन डांस करने, मौज मस्ती और रंगरलिया मनाने, टिकिया चोरी से अरबपती बनने, मोटी रकम लेकर अपराधियों का संरक्षण करने, खुलेआम भ्रष्टाचार करके हिन्दुस्तान अखबार की छवि धूमिल करने वाले हिन्दुस्तान अखबार रायबरेली के भ्रष्टाचारी और रिश्वतखोर पत्रकार गौरव उर्फ़ आशीष अवस्थी को हिन्दुस्तान अखबार से हटाये जाने, जांच व कार्यवाही हेतु शोभना भरतिया कांग्रेस की पूर्व सांसद राज्य सभा एवं मालिक हिन्दुस्तान अखबार तथा शशि शेखर प्रधान संपादक नयी दिल्ली एवं कृष्ण कांत उपाध्याय सम्पादक लखनऊ को साक्ष्यों सहित शिकायती पत्र भेजकर इसे हटाने की मांग की गई थी, किन्तु किसी भी कार्यवाही से आज तक अवगत नहीं कराया गया। उक्त शोभना भरतिया एवं शशि शेखर पर 2011में 200 करोड़ के मीडिया जगत के सबसे बड़े हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में 445/2011 थाना कोतवाली मुंगेर, पटना में एफआईआर दर्ज हुई है। प्रकरण उच्च न्यायालय पटना से सर्वोच्च न्यायालय तक गया। अरबपती आरोपियों को सजा दिलाने की लड़ाई बुद्धिजीवियों ने चन्दा लगाकर लड़ी। अगर भ्रष्टाचारी गौरव चिल्ला रहा है कि मैं कमाता हूं तो शोभना भरतिया, शशि शेखर एवं के.के.उपद्ध्याय तक को हिस्सा देता हूं, मेरा कुछ नहीं होगा तो उसकी बात में दम है। लेकिन हम भी पीछे हटने वाले नहीं हैं। आज सायं शहीद चौक रायबरेली पर हिन्दुस्तान अखबार की प्रतियां जलाने के बाद, बापू प्रतिमा हजरतगंज लखनऊ के समक्ष और उसके बाद जन्तर मन्तर नयी दिल्ली में हिन्दुस्तान अखबार जलाकर विरोध करने की तिथियां घोषित की होगी।



बृजेन्द्र शरण श्रीवास्तव “गाँधी“


5 करोड़ लोगों को ₹3000 महीना पेंशन

नई दिल्ली ! मोदी सरकार ने दोबारा सत्ता में आने के बाद देश के 5 करोड़ लोगों को 3000 रुपये प्रतिमाह पेंशन देने की योजना बनाई है! मोदी सरकार ने अपनी दूसरी पारी की पहली कैबिनेट मीटिंग में इस योजना को मंजूरी दी है ! योजना का उद्देश्‍य पहले 3 साल में 5 करोड़ लाभार्थियों को इस पेंशन योजना के दायरे में लाना है!


इस योजना से सरकारी खजाने पर 10,774 करोड़ रुपये सालाना खर्च आएगा ! राज्य के कृषि मंत्रियों के साथ चर्चा के दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने देश के सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों से जल्द ही इस योजना को लागू करने की बात कही है! यह योजना है 'प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना' (PMKP)!


हालांकि योजना का लाभ पाने के लिए किसान को हर माह 100 रुपये प्रीमियम भरना होगा ! ऐसा करने पर ही 60 साल के बाद किसान को 3000 रुपए हर महीने पेंशन मिलेगी ! योजना की खास बात यह है कि मोदी सरकार भी किसान के बराबर ही इसमें अंशदान करेगी! भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) इस कोष का प्रबंधन करेगी!


कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सभी राज्यों से योजना के बारे में देश के किसानों को जागरुक करने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है ! तोमर ने साथ ही 18 से 40 साल के किसानों का योजना के तहत पंजीकरण करने को कहा है!


अमेरिकी समान पर टैक्स, अधिसूचना होगी जारी

नई दिल्ली ! भारत और अमेरिका के बीच व्यापार तनाव बढ़ता जा रहा है भारत ने पिछले सप्ताह वाशिंगटन में 29 अमेरिकी उत्पादों पर शुल्क लगाने का फैसला किया है! हालही में अमेरिका ने भारत से जीएसपी का दर्जा वापस ले लिया था, इसके तहत भारतीय सामानों को अमेरिका में टैक्स फ्री एंट्री मिलती थी !एक रिपोर्ट के अनुसार मामले की जानकारी रखने वाले एक सरकारी अधिकारी ने कहा, "अमेरिकी सामानों पर शुल्क लगाने के मामले को वित्त मंत्रालय द्वारा आज या कल अधिसूचना जारी कर सकता है!


भारत ने अमेरिकी सामान पर 235 मिलियन डॉलर मूल्य के प्रतिशोधात्मक शुल्क लगाने को पहले टाल दिया था ! भारत का यह कदम जापान के ओसाका में 28-29 जून को जी 20 की बैठक के मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच बैठक से पहले आया है! अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ जल्द भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ द्विपक्षीय चर्चा करने के लिए नई दिल्ली आने वाले हैं !


बुधवार को वाशिंगटन डीसी में यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल की 44 वीं वार्षिक बैठक में बोलते हुए, पोम्पेओ ने कहा कि वे इस मुलाकात मर जीएसपी कार्यक्रम जैसे विषयों पर चर्चा कर सकते हैं ! भारत के वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि भारत अमेरिका को अपने निर्यातकों को शुल्क मुक्त लाभ वापस लेने के अमेरिका के फैसले को स्वीकार करता है और निर्यात को प्रतिस्पर्धी बनाने की दिशा में काम करेगा! गोयल ने निर्यातकों और राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, जनरल ऑफ सिस्टम्स ऑफ जीके (जीएसपी) को वापस लेना सभी निर्यातकों के लिए जीने-मरने का मामला नहीं है!उन्होंने कहा भारत अब विकसित हो रहा है!


परिसीमन के बाद बदले जाएंगे वालों के वोटर


निगम के परिसीमन होने के बाद बदल जाएंगे वार्डों में वोटर।
अजमेर में पार्षद बनने के इच्छुक लोग कृपया ध्यान दें


 अजमेर ! स्वायत शासन विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर यह जानकारी दी गई है कि , अजमेर नगर निगम के 60 वार्ड अब 80 वार्ड होंगे । 2011 की जनसंख्या के आधार पर इस नए परिसीमन को शीघ्र ही प्रकाशित कर दिया जाएगा। जिसकी तारीख 10 जुलाई के आसपास की बताई जाती है ।और फिर सरकारी नियमों के अनुसार 7 दिन के अंदर यदि किसी भी जनप्रतिनिधि अथवा व्यक्ति को इस पर आपत्ति हो तो वह अपनी आपत्तियां दर्ज करा सकता है। यह परिसीमन होने से जो मौजूदा वार्डों में वोटर हैं उनकी संख्या में बदलाव आएगा। जिसमें संभव है की जातिगत समीकरणों का फेरबदल भी हो जाए ।


नेतागण इसको ऐसे बेहतर समझिए -


यदि किसी एक जाति विशेष के वोट एक वार्ड में आज ज्यादा है।तो इस परिसीमन के बाद उस वार्ड में संभावना है कि उस जाति के वोट बिकुल ना रहे।उदाहरण के तौर पर अजमेर शहर के संदर्भ में देखा जाए, तो अधिकांश वह वार्ड जहाँ से सिंधी जाती का पार्षद जीत दर्ज करवाता है। या फिर सिन्धी बाहुल्य वार्ड है । वह शायद अब इस परिसीमन के बाद पहले जैसी स्थिति में न रहे। राजनीति क्षेत्र में काम करने और पार्षद बनकर अपना भविष्य बनाने की सोच रखने वाले लोगों को , विशेष तौर से इस परिसीमन प्रक्रिया की तरफ ध्यान देने की ज़रूरत है। नहीं तो संभव है कि आप कई सालों से किसी वार्ड में चुनाव लड़ने की सोच कर मेहनत कर रहे हो और अचानक परिसीमन में बदलाव हो जाने से आपके क्षेत्र में आपके वोटर बदल जाये। और आप कभी चुनाव जीतने के योग्य ही ना रहे।
गौरतलब है कि इसी तरह की परिसीमन प्रक्रिया विधानसभा क्षेत्रों में अपनाए जाने के दौरान कुछ साल पहले अजमेर उत्तर क्षेत्र में काफी बदलाव कर दिया गया था । जिससे सिन्धी बाहुल्य अजमेर उत्तर क्षेत्र के कुछ भाग को दक्षिण विधानसभा में मिला दिया गया था। तब शायद इस परिसीमन प्रक्रिया को लेकर इतनी सजगता नहीं हुआ करती थी।
खैर,  नगर निगम प्रशासन ने इस बार निगम क्षेत्र के *नए सिरे से परिसीमन को लागू करने हेतु शहर के चर्चित और जानेमाने प्रशासनिक अधिकारी गजेंद्र सिंह रलावता को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है ।


नरेश राघानी


24 घंटे में मिल रहा, केवल 3 लीटर पानी

24 घंटे में सिर्फ 3 लीटर पानी मिलने की खबर !



सतना, ओपी तीसरे।यहां के सेण्ट्रल जेल में इन दिनों पानी की जबरदस्त किल्लत है। आलम यह है कि पानी की किल्लत से जूझ रहे बंदी तरह-तरह की बीमारियों का शिकार हो मौत को गले लगाने को लाचार हो रहे हैं। जेल के सूत्रों की बातों पर अगर यकीन करें,  तो जेल में बंदियों को 24 घंटे में सिर्फ और सिर्फ 3 लीटर पानी दिया जा रहा है। इस पानी से चाहे बंदी नहा धो लें या खुद उसे पीने के तौर पर इस्तेमाल कर लें। बताया जाता है कि पानी की कमी के चलते बरौंधा थाना क्षेत्र के भंवर इलाके का आजीवन की सजा काट रहा बंदी राजाराम वल्द शिवलोचन कुशवाहा 65 वर्ष जेल में अचानक बीमार पड़ गया और उसका बीपी भी हाई हो गया। घबराहट व बेचैनी होने पर उसे डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उसकी उपचार के दौरान मृत्यु भी हो गई। पानी की लगातार किल्लत को देखते हुए जेल के बंदियों में संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ा है। इस मामले में बंदियों का आरोप है कि जेलर बद्री प्रसाद शुक्ला यहां बंदियों को अनाप शनाप तरीके प्रताड़ित करते हैं। 24 घंटे में प्रति बंदी को सिर्फ 3 लीटर पानी दिया जाना फिलहाल कथित प्रताड़ना की एक बानगी बताई जाती है। बंदियों का मानना है कि यदि यही रवैया रहा तो आये रोज कोई न कोई बंदी पानी की कमी का शिकार होकर मौत को गले लगाने मजबूर होगा।


हरियाणा के मुख्यमंत्री से जेल में मोबाइल बरामद

तिहाड़ जेल में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के कमरे से फोन बरामद


तिहाड़ जेल के अधिकारियों के औचक निरीक्षण के दौरान हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के सेल से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। तिहाड़ के अतिरिक्त महानिरीक्षक राजकुमार के अनुसार गुरूवार को एक औचक निरीक्षण के दौरान एक मोबाइल फोन, एक चार्जर, एक पाउच खैनी और एक तार जेल के कमरे से बरामद किया गया।अधिकारियों ने बताया कि चौटाला के उसी सेल में बंद रमेश ने दावा किया कि यह सामान उसका है। उन्होंने बताया कि मोबाइल फोन को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ को सौंप दिया गया है और जांच में फोन द्वारा किए गए कॉल का पता चलेगा।


बता दें कि चौटाला दिल्ली के तिहाड़ जेल में 10 साल की सजा काट रहे हैं। उन्हें शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में दोषी करार दिया गया है। फरलो पर 21 दिन तक बाहर रहने के बाद चौटाला बुधवार को जेल लौटे हैं।


झारखंड में नक्सली हमला, 5 शहीद

झारखंड में बड़ा नक्सली हमला, अफसर समेत पांच पुलिसकर्मी शहीद


 सरायकरेला ! जिले में पुलिस टीम पर नक्सली हमला हुआ है। हमले में एक अफसर समेत पांच पुलिसकर्मियों की जान चली गई है। शुक्रवार शाम सरायकेला-खरसावां जिले के कुकुडू में ये हमला तब हुआ जब पुलिस की ये टीम गश्त पर निकली थी। इस दौरान नक्सलियों ने गोलीबारी कर पुलिसकर्मियों की जान ले ली और उनके हथियार भी लूट कर ले गए।


स्थानीय मीडिया के मुताबिक, पुलिस टीम स्थानीय बाजार में जायजा लेने के लिए निकली थी। तभी दो बाइक पर सवार होकर आए नक्सलियों ने सभी पुलिसकर्मियों को घेर लिया और गोलीबारी कर दी। इसके बाद उनकी बंदूकें भी लूट लीं और फरार हो गए।


सुरक्षाबलों पर दो दिनों के भीतर ये दूसरा बड़ा हमला है। जिसमें पांच से ज्यादा जवानों की जान गई है। बुधवार को जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया था। अनंतनाग में बस स्टैंड के पास हुए इस हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए थे। आतंकियों ने जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी। इस हमले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एसएचओ भी घायल हुए थे, जिनका इलाज चल रहा है।


 


पेट्रोल के भाव में गिरावट दर्ज जारी

दिल्ली में पेट्रोल का भाव 5 महीने के निचले स्तर पर, गिरावटजारी


 नई दिल्ली ! पेट्रोल और डीजल के दाम में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन गिरावट जारी रही। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटकर पांच महीने के निचले स्तर पर आ गई हैं। दिल्ली के पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल 70.18 रुपए लीटर मिलने लगा है और डीजल 64.17 रुपए प्रति लीटर बिकने लगा है।


इससे पहले दिल्ली में 14 जनवरी, 2019 को पेट्रोल का भाव 70.13 रुपए प्रति लीटर था, जबकि डीजल का भाव दिल्ली में इससे सस्ता 13 जनवरी, 2019 को 63.69 रुपए लीटर था। दिल्ली में 14 जनवरी को डीजल 64.18 रुपए प्रति लीटर था।


तेल विपनण कंपनियों ने शुक्रवार को दिल्ली और कोलकाता में पेट्रोल के दाम में 17 पैसे प्रति लीटर, जबकि मुंबई में 16 पैसे और चेन्नई में 18 पैसे प्रति लीटर की कटौती की। डीजल के दाम दिल्ली और कोलकाता में 16 पैसे, जबकि मुंबई और चेन्नई में 17 पैसे प्रति लीटर कम हो गए हैं।


इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम घटकर क्रमश: 70.18 रुपए, 72.44 रुपए, 75.88 रुपए और 72.90 रुपए प्रति लीटर हो गए। डीजल के दाम भी चारों महानगरों में घटकर क्रमश: 64.17 रुपए, 66.09 रुपए, 67.28 रुपए और 67.88 रुपए प्रति लीटर हो गए हैं।


ममता से नाराज 80 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक इस्तीफा

ममता से नाराज कोलकाता के 80 डॉक्टरों ने दिया सामूहिक इस्तीफा


पश्चिम बंगाल में हड़ताल पर बैठे डॉक्टरों में से 80 ने बड़ा कदम उठाते हुए इस्तीफा दे दिया है। कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में दो जूनियर डॉक्टरों पर हमला होने और उनके गंभीर रूप से घायल होने के बाद पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टर मंगलवार से हड़ताल पर हैं।


मिली जानकारी के अनुसार डॉक्टर, राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान से नाराज हैं। डॉक्टरों की मांग है कि ममता बनर्जी अपने बयान के लिए माफी मांगे। इस्तीफा देने वाले डॉक्टरों में कोलकाता के आरजीआर मेडिकल कॉलेज से संबद्ध हैं।


वहीं दूसरी तरफ एनआरएस कॉलेज में डॉक्टरों से मारपीट के मामले में प्रोफेसर शैबाल कुमार मुखर्जी ने कॉलेज के प्रिंसिपल और सौरभ चटोपाध्याय ने वाइस प्रिंसिपल के पद से इस्तीफा दे दिया। मेडिकल कॉलेज में बाद हुए हालातों पर दुख जताते हुए कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर शैबाल कुमार मुखर्जी ने अपने पद से गुरुवार शाम को इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कॉलेज वाइस प्रिंसिपल और सौरभ चटोपाध्याय ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।


सुरक्षा बलो को मिली कामयाबी दो आतंकी ढेर

पुलवामा में सुरक्षाबलों को कामयाबी, मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर


 पुलवामा ! जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में शुक्रवार को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए हैं। खुफिया सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए जब सुरक्षाकर्मियों ने अवंतीपोरा के ग्राव-बंदिना गांव में घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया, तो वहां छिपे आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी थी। पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ अभी जारी है।


गौरतलब है कि अनंतनाग में गुरुवार को हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए। इस हमले की जिम्मेदारी स्थानीय संगठन ने ली थी जिसका मुखिया जरगर है। जरगर वही शख्स है जिसे आईसी-814 विमान अपहरण कांड में यात्रियों की रिहाई के बदले छोड़ा गया था। सुरक्षाबलों का कहना है कि पुलवामा में छिपे आतंकियों की तलाश में अभियान चलाया जा रहा है।


ममता बनर्जी के अल्टीमेट अपने बिगड़े हालात

ममता बनर्जी के अल्टीमेटम ने बिगाड़े हालात- स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हमले के विरोध में आज देशव्यापी हड़ताल पर गए डॉक्टरों से काम ना रोकने की अपील की है। केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि सरकार डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए हर जरूरी कदम उठाएगी। ऐसे में डॉक्टर सिर्फ सांकेतिक प्रदर्शन करें लेकिन स्वास्थ्य सेवाओं को ठप ना करें।


हर्षवर्धन ने कहा, ममता बनर्जी से मेरी अपील है कि वो मामले को अपने अहम से ना जोड़ें, उन्होंने डॉक्टरों को अल्टीमेटम दिया जिसका नतीजा ये हुआ कि देशभर के डॉक्टरों में गुस्सा देखने को मिल रहा है। मैंने ममता बनर्जी को लिखा है और उनसे बात भी करने की कोशिश कर रहा हूं ताकि मामले को हल निकाला जा सके। डॉक्टरों के एक दल भी हर्षवर्धन से मिला है और पश्चिम बंगाल के मामले पर बात की है।


पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के साथ मारपीट की घटना के बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल को अब देशभर के डॉक्टरों का समर्थन मिल रहा है। पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों का समर्थन करते हुए राजधानी में दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने आज हड़ताल बुलाई है। डॉक्टरों ने आज काम का बहिष्कार करने का फैसला किया है, जिससे स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हैं। दिल्ली और महाराष्ट्र के अलावा पंजाब, केरल, राजस्थान, बिहार और मध्य प्रदेश में भी डॉक्टर हड़ताल पर!


अमित पर निशाना साधने वाले, जेडीयू प्रवक्ता का इस्तीफा

अमित शाह पर निशाना साधने वाले अजय आलोक का जेडीयू प्रवक्ता पद से इस्तीफा


जनता दल यूनाइटेड के तेजतर्रार नेता और पार्टी के प्रवक्ता अजय आलोक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। अजय आलोक ने ट्वीट कर अपने फैसले की जानकारी दी। अजय आलोक का ये इस्तीफा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधने के बाद आया है। अजय आलोक के इस इस्तीफे को अमित शाह पर किए गए उनके हमले से जोड़कर देखा जा रहा है।


ट्विटर पर अजय आलोक ने लिखा, 'मुझे लगता है कि मैं अच्छा काम नहीं कर रहा हूं, मेरी और पार्टी की विचारधारा निश्चित तौर पर मेल नहीं खा रही है। पार्टी और अध्यक्ष का आभार जिन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया। मैं नीतीश कुमार के लिए शर्मिंदगी का कारण नहीं बनना चाहता हूं।


जदयू नेता अजय आलोक ने कहा था कि बीएसएफ की मदद से बांग्लादेशी घुसपैठिए देश के अंदर आते है। बॉर्डर पर बीएसएफ अधिकारी 5 हजार रुपए में घुसपैठियों को सरहद पार कराते हैं। इसके लिए बीएसएफ जिम्मेदार है इसलिए भाजपा बार-बार इस मुद्दे पर बनर्जी को कटघरे में खड़ा करना बंद करे।


कर्मचारी राज्य बीमा में 4 फ़ीसदी होगा अंशदान

कर्मचारी राज्य बीमा में अब सिर्फ 4 फीसदी अंशदान देना होगा


केंद्र सरकार ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआई) के स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम में नियोक्ता एवं कर्मचारियों के कुल अंशदान को 6.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत करने का फैसला किया है। इससे 12.85 लाख नियोक्ताओं को हर साल 5,000 करोड़ रुपए की बचत होगी एवं 3.6 करोड़ कर्मचारी लाभान्वित होंगे।


श्रम मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक घटी हुई दरें इस साल एक जुलाई से प्रभावी होंगी। मंत्रालय ने विज्ञप्ति में कहा है, 'सरकार ने ईएसआई कानून के अंतर्गत एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए अंशदान की दर 6.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत (नियोक्ता का अंशदान 4.75 प्रतिशत से घटाकर 3.25 प्रतिशत और कर्मचारी का अंशदान 1.75 प्रतिशत से घटाकर 0.75 प्रतिशत) करने का फैसला किया है।'


करीब 12.85 लाख नियोक्ताओं और 3.6 करोड़ कर्मचारियों ने वित्त वर्ष 2018-19 में ईएसआई योजना में 22,279 करोड़ रुपए का अंशदान किया। ऐसे में आकलन किया जाए तो यह बात निकलकर समझ में आती है कि अंशदान की दर में कमी से इन कंपनियों को सालाना कम-से-कम 5,000 करोड़ रुपए की बचत होगी।


विज्ञप्ति में कहा गया है कि अंशदान की घटी हुई दर से कामगारों को बहुत राहत मिलेगी तथा इससे और अधिक कामगारों को ईएसआई योजना के अंतर्गत नामांकित कर पाना तथा ज्यादा से ज्यादा श्रमिक बल को औपचारिक क्षेत्र के अंतर्गत लाना सुगम हो सकेगा।


समाज को आतंकवाद मुक्त बनाना ही लक्ष्य

पीएम मोदी का आतंक पर वार, कहा- समाज को इससे मुक्त कराना जरूरी


शंघाई को-ऑपरेशन समिट में हिस्सा लेने के लिए गए प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को सम्मेलन में दिए अपने संबोधन में सीधे तौर पर आतंकवाद और आतंक का समर्थन करने वाले देशों पर हमला किया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में साफ कहा कि पिछले दिनों श्रीलंका दौरे पर आतंकवाद का घिनौना चेहरा देखा। इस आतंकवाद के खिलाफ सभी देश मिलकर लड़ें और इस आतंकवाद को लेकर एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जाना चाहिए।


प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में हेल्थ को-ऑपरेशन की बात कही और इसमें टी शब्द को टेररिज्म से अंकित करते हुए कहा कि पिछले रविवार को श्रीलंका में आतंकी हमले के शिकार हुए चर्च का दौरा किया तो आतंकवाद के घिनौने रूप का स्मरण हो आया। इस आतंकवाद से निपटने के लिए सभी मानवतावादी देशों को अपनी संकिर्णता से ऊपर उठकर एकजुट होने की जरूरत है।


पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले, संरक्षण देने वाले और फंडिंग करने वालों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए और दुनिया को इसके खिलाफ एकजुट होना होगा। दुनिया की सभी मानवतावादी ताकतें एक हों। आतंकवाद के खिलाफ एक वैश्विक सम्मेलन का हम आह्वान करते हैं।


आईआईटी-जेईई एडवांस 2019, 38705अभ्यर्थी सफल

आईआईटी-जेईई एडवांस 2019: 38,705 अभ्यर्थी सफल


जेईई एडवांस्ड के परिणाम की घोषणा कर दी गई है। आईआईटी रूड़की ने जेईई एडवांस्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी सूचना दे दी है। इस बार जेईई एडवांस्ड पेपर-1 और पेपर-2 दोनों मिलाकर कुल 1,61,319 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। इनमें से 38,705 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। इनमें से 5356 छात्राएं हैं।महाराष्ट्र के बल्लारपुर के रहने वाले कार्तिकेय गुप्ता ने 372 में से 346 अंक हासिल कर टॉप किया है। वहीं छात्राओं में तेलंगाना की शबनम सहाय ने टॉप किया है। 372 में से 308 अंक पाकर शबनम ने जनरल मेरिट लिस्ट में 10वीं रैंक हासिल की है।


हेवी लोड के कारण वेबसाइट नहीं खुला पाने को लेकर आईआईटी रूड़की अधिकारी, अभ्यर्थी और अभिभावक सभी परेशान हैं। इस बीच आईआईटी ने जेईई एडवांस्ड की वेबसाइट पर नई लिंक अपडेट की है। यह लिंक है!


ये हैं जोन के टॉपर-


आईआईटी बॉम्बे- गुप्ता कार्तिकेय चंद्रेश, रैंक- 01


आईआईटी दिल्ली- हिमांशु गौरव सिंह, रैंक- 02


आईआईटी गुवाहाटी, प्रदीप्ता पराग बोरा, रैंक- 28


आईआईटी कानपुर, ध्रुव अरोड़ा, रैंक- 24


आईआईटी खड़गपुर, गुडीपति अनिकेत, रैंक- 29


आईआईटी हैदराबाद, गिल्लेल्ला आकाश रेड्डी, रैंक- 04


आईआईटी रूड़की, जयेश सिंगला, रैंक- 17


 


कल्पना ओं का सूर्य मंदिर हुआ निर्मित

संवाददाता-विवेक चौबे


कांडी(गढ़वा) ! कांडी में स्थित नाग बाबा स्थल के पास भव्य सूर्य मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। बता दें कि इस स्थल पर एक सुन्दरनुमा तालाब भी है। वर्षों से यहां छठ व्रतियों की अपार भीड़ होती है।कांडी मुखिया- विनोद प्रसाद ने बताया की वर्षों से कल्पित सूर्य मंदिर आज निर्माण होते दिख रहा है।सबका सहयोग भरपूर मिल रहा है।वहीं सांसद प्रतिनिधि-राम लखन प्रसाद ने कहा की हिंदुओं का प्रत्यक्ष देव के लिए सूर्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। साथ ही कहा कि हम अपेक्षा रखते है की जो श्रद्धालु मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहते है,वे सहयोग कर सकते हैं।मौके पर- कमेटी अध्यक्ष-उदय राम, गोरख कुमार,संरक्षक-मुरली मेहता, अनूप राम ,प्रमोद प्रसाद ,सुनील साह,बाबूलाल प्रसाद ,भोला प्रसाद गुप्ता ,विकास चौरसिया सचिव पंकज कुमार सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


सभी डीएम-एसएसपी को बुलाया लखनऊ

सभी जिलों के DM-SSP तलब, योगी ने बैठक से पहले जमा कराए अधिकारियों के मोबाइल



 लखनऊ ! उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने जिलों के डीएम और एसएसपी की बैठक बुलाई है। इस बैठक की खास बात यह है कि मीटिंग हॉल में जाने से पहले सारे अधिकारियों के मोबाइल फोन बाहर ही जमा करा लिए गए। बताया जा रहा है कि बैठक में कई अधिकारियों को फटकार लगाई जा सकती है, ऐसे में कोई मीटिंग का विडियो या तस्वीरें बनाकर वायरल न करे इसलिए हर किसी का मोबाइल जमा करा लिया गया है।


सोमवार को योगी ने पुलिस महानिदेशक, गृह सचिव और अन्य प्रमुख अधिकारियों के साथ बच्चों के खिलाफ जघन्य अपराधों के इजाफे पर चर्चा की थी। उन्होंने अलीगढ़ में एक बच्ची की सनसनीखेज हत्या के मामले में हुई कार्रवाई की प्रगति की भी समीक्षा की। इस बैठक के बाद योगी ने राज्य के सभी डीएम और एसएसपी, एसपी को लखनऊ तलब किया।


नामों की स्लिप लगाकर जमा किए गए मोबाइल


मीटिंग हॉल में जाने से पहले हॉल के बाहर एक बड़ा स्टॉल लगाया गया। यहां पर सभी डीएम, एसएसपी और एसपी के मोबाइल जमा करा लिए गए। मोबाइल जमा करने से पहले उनके मोबाइल पर जिले के नाम और पद की स्लिप भी चस्पा की गई। अधिकारियों का कहना है कि पहली बार ऐसा हुआ है, जब इस तरह की किसी बैठक में अधिकारियों के मोबाइल जमा कराए गए हैं।


(ढाई घंटे बैठक) बताया जा रहा है कि योगी की अधिकारियों के साथ यह बैठक ढाई घंटे तक चलेगी। वहीं सूत्रों का कहना है कि शाम 4 बजे तक चलने वाली यह बैठक तीन सेशन में चल सकती है। योगी प्रदेश में फीडबैक टूर करने जा रहे हैं। उससे पहले वह उन सभी के साथ कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करेंगे।


उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ते अपराध और बिगड़ती कानून-व्यवस्था के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 16 जून से राज्य का एक 'फीडबैक टूर' शुरू करने की तैयारी में हैं। राज्य सरकार के सूत्रों ने बताया कि योगी सभी महत्वपूर्ण जिलों का दौरा करेंगे, जहां वह ग्रामीणों के साथ 'चौपाल' बैठक करेंगे और पुलिस थानों, अस्पतालों, तहसीलों और प्राथमिक विद्यालयों का निरीक्षण करेंगे। वह राज्य के दूरदराज के कस्बों, क्षेत्रों में किए जा रहे विकास कार्यों की भी समीक्षा करेंगे। ग्रामीणों के साथ बातचीत के लिए मुख्यमंत्री गांवों में रात्रि विश्राम भी कर सकते हैं।


एससीओ सम्मेलन, कई मुद्दों पर होगी बातचीत

एससीओ सम्मेलन में आज मोदी: कई अहम मुद्दों पर होगी बातचीत, ये है पूरा कार्यक्रम


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए गुरुवार को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक पहुंचे हुए हैं। शुक्रवार यानी आज भी वह एससीओ सम्मेलन में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। पीएम मोदी के निर्धारित कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को वह सुबह 10 बजे बिश्केक में अला अर्चा राष्ट्रपति भवन पहुंचेंगे। जहां वह कजाकिस्तान के राष्ट्रपति कासिम-जोमार्ट टोकायेव से मुलाकात करेंगे।


इस दौरान वहां एससीओ के सदस्यों के साथ संयुक्त फोटोग्राफी कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। 10:30 बजे वह एससीओ की एक गोपनीय बैठक में हिस्सा लेंगे। इस बैठक में बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको और मंगोलिया के राष्ट्रपति कल्तमागीनी बत्तुला के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद वह दोपहर 12 बजे एक विस्तृत बैठक में हिस्सा लेंगे और कुछ अहम दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करेंगे।


इसके बाद पीएम मोदी 3:55 बजे ईरान के राष्ट्रपति डॉ हसन रूहानी के साथ द्विपक्षीय बैठक में हिस्सा लेंगे। वहीं 4:30 बजे भारत किर्गिज व्यापार मंच का संयुक्त उद्घाटन करेंगे। शाम 6 बजे पीएम अला अर्का प्रेसिडेंशियल पैलेस में औपचारिक स्वागत में हिस्सा लेंगे। 6:20 बजे किर्गिस्तान के राष्ट्रपति सोरोनबाय जेंबेकोव के साथ बैठक करेंगे।


नाना पाटेकर को मिली क्लीन चिट, भड़की तनुश्री

मीटू मामले में नाना पाटेकर को मिली क्लीन चीट तो भड़की तनुश्री दत्ता


कुछ महीने पहले ही तनुश्री दत्ता ने मीटू मूवमेंट के तहत नाना पाटेकर पर गंभीर आरोप लगाए थे। तनुश्री के मुताबिक नाना ने उनसे फिल्म हॉर्न ओके प्लीज के सेट पर बदतमीजी की थी। कुछ देर पहले ही खबर आई है कि इस मामले में नाना पाटेकर को क्लीन चीट मिल चुकी है।


रिपोर्ट्स की माने तो मुबंई पुलिस ने एक स्थानीय कोर्ट को जानकारी देते हुए कहा है कि तनुश्री मामले में उन्हें कोई सबूत नहीं मिला है। इस वजह से नाना के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए उनके पास कोई ठोस सबूत नहीं है। जहां नाना को मिले क्लीन चीट को लेकर सोशल मीडिया दो भागों में बंट चुकी है वहीं तनुश्री इस मामले में अपना रिएक्शन दे चुकी है।


तनुश्री ने मुंबई पुलिस पर अपना गुस्सा निकालते हुए कहा है कि. 'भ्रष्ट पुलिस फोर्स और लीगल सिस्टम ने एक ऐसे इंसान को क्लीन चिट दिया है जोकि करप्ट है। नाना के खिलाफ पहले भी फिल्म इंडस्ट्री की कई महिलाएं हैरेसमेंट की शिकायत कर चुकी है।


झांसी में पालीथिन के खिलाफ अभियान

जिलाधिकारी के कढ़े दिशा निर्देशन में पोलोथिन प्रतिबंधित जप्तकर जुर्माना बसूला
चिरगांव कस्वा में बीस हजार रूपये का जुर्माना वसूलकर पॉलीथिन जप्त


झांसी ! चिरगांव कस्वा में जिलाधिकारी के कढ़े दिशा निर्देशन में झाँसी खाद सुरक्षा विभाग अधिकारी दिव्या त्रिपाठी के निर्देशन में प्रतिबंधित पालीथिन के खिलाफ चिरगांव अभियान के दौरान नगरपालिका कर्मचारियों ने कई दुकानों से पालीथिन जप्त कर बीस हजार रुपयो का जुर्माना वसूल किया गया ! इस दौरान दुकानदारों को सख्त हिदायत दी गयी कि अगर दोबारा पॉलीथिन पायी गयी तो कढ़ी कारवाही की जायेगी।
झांसी जिला शासन प्रशासन के कढ़े दिशा निर्देशन के बाबजूद कस्वा में दुकानों चार पहिया ठेले पर पॉलीथिन की बिक्री धड़ल्ले से की जा रही थी। पॉलीथिन से नगर में प्रदूषण गन्दगी व कई जानवरो की अकारण म्रत्यु हो रही थी
जिलाधिकारी ने संज्ञान में लेते हुये !
 खाद विभाग एव नगरपालिका विभाग की सँयुक्त टीम ने पुराने बस स्टेंड राजेंद्र खर्द की दूकान में थर्माकोल एव पॉलीथिन व प्लास्टिक के गिलास पाये जाने पर खाद सुरक्षा अधिकारी ने ग्यारह हजार रूपये का जुर्माना वसूल किया।ऐसा ही नये बस स्टेंड दुकानों से पॉलीथिन थर्माकोल गिलास मिलने पर चार हजार रूपये का जुर्माना वसूल किया गया। इसी तरह पहाड़ी चुंगी मिठाई की दुकानों से चार हजार रूपये का जुर्माना वसूल कर पॉलीथिन जप्त की गयी।
दिव्या त्रिपाठी ने दुकानदारों को कढ़े निर्देश देते हुये कहा अगर दोबारा पॉलीथिन पायी गयी तो जुर्माने के साथ मुकदमा दर्ज भी करवाया जायेगा। संयुक्त टीम के साथ रामप्रकाश भूमिया महेश प्रसाद लक्ष्मीनारायण नीतेश समाधिया आदि मौजूद रहे!


उमेेश शर्मा


शिवसेना के 2 राष्ट्रीय संघटको की उपस्थिति

 


मुरबाड थाने,  महाराष्ट्र ! मुरबाड के कलम्बे गाँव मे देवी तुलजा भवानी के मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा पर 10 जुन से 15 जुन तक विभिन्न कार्यक्रम!थाने शिवसेना उत्तर भारतीय नेता शशि कुमार यादव द्वारा निर्मित थाने जिले के मुरबाड के करीबी गाँव कलम्बे मे आई तुलजा भवानी की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के कार्यक्रम में दिनाँक 12 जून को महाराष्ट्र प्रदेश के सुप्रसिद्ध भजन गायिका प्रणीता देशमुख फुलवड़े तालुका अम्बेगाव पुणे निवासी ने अपनी प्रस्तुति देकर मौजूद श्रोताओं को मग्नमुग्ध कर दिया !


शिवसेना के दो राष्ट्रीय संगठकों ने दर्ज कराई अपनी उपस्थिती ,अपने दिए गये साक्षात्कार में कार्यक्रम के मुख्य आयोजक शशि कुमार यादव ने सभी देवीभक्तो एवं मित्र मंडली को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिये विसेष निमंत्रित किया है ।


हम आपको ज्ञात करादें की थाने जिले के मुरबाड तालुका के अंतर्गत आने वाले गाँव कलम्बे मे दिनाँक 10 जुन से 15 जुन तक महाराष्ट्र की आराध्य देवी श्री तुलजा भवानी एवं देवो के देव महादेव शिवशंकर के साथ नवों ग्रहों की मूर्तियों का प्राण प्रतिष्ठा की जायेगी एवं 15 जुन को विशाल भंडारे एवं महाप्रसाद के साथ कार्यक्रम का समापन होगा ।


 महेंद्र मणि पाण्डेय 


अपराध और लंबी न्यायिक प्रक्रिया


कुदरती निजाम के खिलाफ अपरिपक्व देवी स्वरूपा मासूम बच्चियों के साथ दुष्कर्म एवं निर्मम हत्याओ की बढ़ती घटनाओं एवं लम्बी न्यायिक प्रक्रिया पर विशेष
सम्पादकीय
मनुष्य का एक रूप ही देव मानव का तो मनुष्य का ही दूसरा रूप नर पशु और नर पिशाच का माना जाता है। दोनों इस धरती पर आम मानव के रूप में पैदा होते एवं मरते खाते पीते हैं किंतु पैदा होने के बाद दोनों अपनी अपनी प्रवृत्तियों व कार्यशैली के अनुसार देव और दानव हो जाते हैं। मनुष्य अपने कर्म से मानव से महामानव और देवमानव तथा नर से नरपशु नर पिशाच यानी इंसानियत से लाखों कोस दूर शैतान बन जाता है लेकिन इन दोनों में एक खूबी यह है कि यह दोनों अपनी-अपनी मान मर्यादाओं एवं कुदरत के निजाम में रहकर अपना अपना जीवन अपने अपने हिसाब से जीते हैं और दोनों विधि के विधान या कुदरत के खिलाफ काम नहीं करते हैं। मनुष्य जीवन में काम क्रोध मद लोभ से कोई नहीं बचा और जो बच गया है वह ईश्वर समान हो गया है इसीलिए कामवासना की तृप्ति के लिए कुदरत द्वारा परिपक्वता की समय सीमा निर्धारित की गई है जिसके तहत महिला पुरुष के संबंध पति पत्नी के रूप में निर्धारित किए गये हैं। इतना ही नहीं बल्कि कामवासना की दोनों की एक उम्र भी तय की गई है इस निर्धारित अवधि के पहले कामवासना करना कुदरत के ही खिलाफ नहीं बल्कि कानून के भी खिलाफ होता है। हम भारत जैसे देश में रहते हैं जहां पर बालिका को मासिक धर्म आने के पहले तक देवी स्वरूप कन्या मानकर उसकी पूजा की जाती हैं। जिस देश में कन्याओं को देवी माना जाता हो उस देश में कन्याओं के साथ असमय दुष्कर्म होना या कामवासना की नजर से कामुक होकर देखना देवी शक्ति एवं कुदरत के निजाम का अपमान करने जैसा होता है। इन अपरिपक्व कुंवारी कन्याओं के साथ दुष्कर्म को रोकने की अनुमति किसी भी काल में नहीं दी गई है और वर्तमान समय में भी कानून बने हुए हैं। लेकिन यहां पर सवाल कानून बनने या लागू होने का नहीं है बल्कि सवाल इस बात का है कि जिस उम्र में बालिकाओं को देवी स्वरूपा देखा जाना चाहिए उस उम्र में उसके साथ दुष्कर्म करने की बात मनुष्य के दिमाग में कैसे पैदा होने लगी है?क्या ऐसे लोगों को इंसान कहा जा सकता है? इधर देवी स्वरूपा बच्चियों के साथ असमय दुष्कर्म करके उनकी हत्या करने की घटनाओं की जैसे बाढ़ सी आ गई है। बच्चियों के साथ दुष्कर्म एवं हत्या की घटनाएं देश के विभिन्न राज्यों खासतौर से उत्तर प्रदेश में हो रही हैं। अलीगढ़ घटना के बाद से एक तूफान सा खड़ा हो गया है और पूरे देश में इस घटना की निंदा की जा रही है। उत्तर प्रदेश में ताबड़तोड़ हो रही घटनाओं को लेकर जहां जनमानस उद्वेलित एवं आक्रोशित है तो विपक्षी दल भी सरकार पर हमलावर हैं। वही प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी प्रशासनिक आला अधिकारियों की मीटिंग बुलाकर उनके पेंच कस कर अन्य अपराधों के साथ इन शर्मनाक घटनाओं पर लगाम लगाने के कड़े निर्देश भी दे चुके हैं।फिलहाल अब तक बच्चियों के साथ हुई घटनाओं के आरोपियों को पकड़कर कानून के हवाले किया जा चुका है।इसके बावजूद घटनाओं पर रोक नहीं लग पा रही है। कहा जाता है कि लोगों के मन के अंदर कानून का भय तब खत्म हो जाता है जबकि उस कानून को लागू कराने वाले लापरवाह हो जाते हैं। यह बात सही है कि शासन सत्ता चलाने के लिए सरकार या उसकी पुलिस का इकबाल बुलंद होना आवश्यक होता है क्योंकि अपराधियों के दिलों के अंदर कानून का खौफ तभी व्याप्त होता है जब पुलिस का इकबाल बुलंद होता है और लोग अपराध करने से भय खाते हैं। बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को न तो मानव और न ही दानव ही कहा जा सकता है ऐसे लोगों को विवेकहीन पागल जरूर कहा जा सकता है। हमारे यहां एक परंपरा है कि जब विवेकहीन कुत्ता पागल हो जाता है और काटने लगता है तब उसे गोली मार दी जाती है।देवी स्वरूपा बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले कुदरत के अपराधी हैं और ऐसे अपराधियों को कुत्ता की मौत की सजा देना भी कम होगा क्योंकि कुदरत से छेड़छाड़ करने का मतलब खुद अपनी मौत को दावत देना होता है। समाज में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर व्यक्ति के अंदर कानून तोड़ने पर प्रतिफल भुगतने का भय बना होना चाहिए क्योंकि अपराधी भयमुक्त होकर तभी घिनौने कृत्य को करता हैं जब कानून का भय खत्म हो जाता है और जंगल राज कायम हो जाता है। कुदरत के नियमों और सिद्धांतों के साथ खिलवाड़ करने वालों के साथ कानूनी अदालती दंड के साथ समाजिक दंड भी आवश्यक है।सरकार को ऐसे कुदरती अपराधियों के लिए ऐसे कानून बनाने चाहिए या कानूनों को लागू करना चाहिए जिसे देख कर लोगों की रूह कांप जाए और कोई ऐसे कुकृत्य करने की भविष्य में कोशिश तो क्या दिमाग में सोच भी न सके। गतवर्षो कठुआ में एक बच्ची के साथ हुये सामूहिक दुष्कर्म एवं निर्मम हत्या के मामले अदालती फैसला आने में एक लम्बा समय लगा है। जब तक सख्ती के साथ ऐसे कुदरत के अपराधियों के साथ पेश नहीं आया जाएगा तब तक ऐसे कुदरत विरोधी शैतानों और शैतानियत भरी हरकतों को रोका नहीं जा सकता है।रामायण में भी कहा गया है कि-" अनुज वधू भगिनी सुत नारी ते सब कन्या समचारी, इन्हें कुदृष्टि विलोकै जोई ताहि वधे कुछ पाप न होई"। दुनिया के कुछ देश इस बात के लिए गवाह है जहां अपराधियों को लंबी अदालती प्रक्रिया से न गुजार कर प्रमाणिकता सिद्ध होने पर तत्काल सरेआम सरेबाजार एवं खुले आम ऐसी कठोर सजा दी जाती है जिसके कारण वहां पर कोई कानून तोड़ने की हिम्मत नहीं कर सकता है और वह देश आज भी दुनिया में मिसाल बने हुए हैं। लोकतंत्र की यही खूबी है इसमें किसी को अपराधी घोषित करने के लिए एक लंबी अदालती प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है और न्याय देने में साक्ष्य को मुख्य आधार माना जाता है।मासूम बच्चियों के साथ हो रही दुष्कर्म की घटनाओं के आरोपियों को ईमानदारी के साथ एक सप्ताह में सुनवाई करके मामले को निपटाकर अकल्पनीय सजा देने की जरूरत है। जो घटनाएं सरेआम सरे चर्चा और सारे जहान होती हैं और दुनिया जानती है कि यह घटना किसने की है उनमे लम्बी प्रक्रिया अख्तियार करना अपराधियों को बढ़ावा देने जैसा है ।दुनिया में वियतनाम अमेरिका जैसे कुछ ऐसे भी देश हैंं जहां पर कुदरत के विधान के विरुद्ध बच्चियों से दुष्कर्म करने वालों को अदालती सजा के साथ ही उन्हें नपुंसक बना दिया जाता है जिससे वह भविष्य में ऐसी घिनौनी हरकतों की पुनरावृत्ति न कर सके!
भोलानाथ मिश्र


बिश्केक में मोदी और इमरान की वार्ता नहीं

किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में हैं। साथ ही पाकिस्तान के राष्ट्रपति इमरान खान भी इस सम्मेलन के लिए बिश्केक पहुंचे हैं। सूत्रों का कहना है कि इस दौरान एक कार्यक्रम में मोदी और इमरान मौजूद थे, लेकिन दोनों के बीच कोई बात नहीं हुई। इससे पहले इमरान खान ने दो बार पत्र लिखकर मोदी से वार्ता बहाल करने की अपील की थी, लेकिन भारतीय विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते कहा था कि एससीओ सम्मेलन से इतर मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष खान के बीच किसी द्विपक्षीय बैठक की कोई योजना नहीं है। इस सब के बाद इमरान खान ने एक इंटरव्यू में यह भी कहा कि भारत और पाकिस्तान के संबंध अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं।


'सबसे बुरे दौर में संबंध'
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि भारत के साथ उनके देश के संबंध शायद अपने सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं। हालांकि, उन्होंने आशा जताई कि उनके भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी कश्मीर सहित सभी मतभेदों को हल करने के लिए अपने 'प्रचंड जनादेश' का उपयोग करेंगे। खान और मोदी दो दिवसीय शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के लिए किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में हैं। बिश्केक के लिए रवाना होने से पहले रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक को दिए एक 'इंटरव्यू' में खान ने कहा कि एससीओ सम्मेलन ने उन्हें दोनों पड़ोसी देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के लिए भारतीय नेतृत्व के साथ बात करने का अवसर दिया है।


किसी भी मध्यस्तता को तैयार पाक
खान ने कहा कि एससीओ सम्मेलन ने पाकिस्तान को भारत सहित अन्य देशों के साथ अपना संबंध विकसित करने के लिए एक नया मंच दिया है। खान ने कहा कि पाकिस्तान किसी भी तरह की मध्यस्थता के लिए तैयार है और अपने सभी पड़ोसियों, खासतौर पर भारत के साथ शांति की उम्मीद करता है। उन्होंने कहा कि तीन छोटे युद्धों ने दोनों देशों को इस कदर नुकसान पहुंचाया कि वे अभी भी गरीबी के भंवर जाल में फंसे हुए हैं।


भारत ने मुलाकात से किया था इनकार
गौरतलब है कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते कहा था कि एससीओ सम्मेलन से इतर मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष खान के बीच किसी द्विपक्षीय बैठक की योजना नहीं है। वहीं, खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो बार पत्र लिख कर सभी मुद्दों पर वार्ता बहाल करने की अपील की है। मोदी ने गुरुवार को यहां चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ अपनी वार्ता के दौरान सीमा पार से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के मुद्दे को उठाया और कहा कि भारत वार्ता बहाली के लिए आतंक मुक्त माहौल बनाने के मकसद से पाक द्वारा ठोस कार्रवाई किए जाने की उम्मीद करता है।


'कश्मीर समाधान के लिए करें बहुमत इस्तेमाल'
इमरान खान ने कहा कि मुख्य जोर शांति बहाल करने और वार्ता के जरिए मतभेदों को दूर करने पर होना चाहिए। उन्होंने कहा, 'भारत के साथ हमारा मुख्य मतभेद कश्मीर (मुद्दा) है। और यदि दोनों देश फैसला करते हैं तो यह मुद्दा हल हो सकता है। लेकिन दुर्भाग्य से हमें (इस सिलसिले में) भारत की ओर से ज्यादा सफलता नहीं मिली है। लेकिन हम आशा करते हैं कि मौजूदा प्रधानमंत्री (मोदी) के पास प्रचंड जनादेश है, हम आशा करते हैं कि वह बेहतर संबंध विकसित करने और उपमहाद्वीप में शांति कायम करने में इसका उपयोग करेंगे।'


रूस से हथियार खरीद रहा पाक
उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि पैसों का इस्तेमाल लोगों को गरीबी से बाहर निकालने में किया जाना चाहिए। उन्होंने चीन का उदाहरण देते हुए यह बात कही जिसने अपने लाखों लोगों को गरीबी के भंवर जाल से बाहर निकाला है। खान ने कहा, ''हम आशा करते हैं कि भारत के साथ हमारा तनाव घटेगा, इसलिए हमें हथियार नहीं खरीदना है क्योंकि हम मानव विकास पर धन खर्च करना चाहते हैं। लेकिन हां, हम रूस से हथियार खरीदने पर विचार कर रहे हैं और मैं जानता हूं कि हमारी सेना रूसी सेना के साथ संपर्क में है।' उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान रूस के साथ पिछले कुछ बरसों से संयुक्त सैन्य अभ्यास करता आ रहा है। इसके अलावा वह रूस से रक्षा खरीद भी कर रहा है, जिसने नई दिल्ली को कुछ चिंतित किया है।


पतंजलि के उत्पादन की बिक्री में गिरावट दर्ज

पतंजलि की बिक्री में 10% गिरावट दर्ज


बाबा रामदेव पतंजलि को 'सिंहासन' तक पहुंचने का 'आसन' लगाए बैठे रहे! मगर कंपनी को 'शिथिलासन' लग गया! रामदेव बड़े-बड़े दावे करते रहे! वे कहते ही रह गए- 'हम मल्टीनेशनल कंपनियों को कपालभाती कराएंगे.' उलटे, उनकी पतंजलि ही भांति-भांति के भवजाल में फंस गई है! रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक रामदेव के कमाई बढ़ाने के दांव बेअसर होते दिख रहे हैं! कंपनी की बिक्री में 10 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है!


साल 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने! उसके बाद से पतंजलि स्वदेशी के सहारे अपने कारोबार को दिन दूनी- रात चौगुनी स्पीड से बढ़ा रही थी! उसके सस्ते प्रोडक्ट कंज्यूमर हाथों-हाथ ले रहे थे! मल्टीनेशनल कंपनियों के लिए पतंजलि के नारियल तेल और आयुर्वेदिक प्रोडक्ट चिंता का सबब बने हुए थे! मगर आज सब कुछ बदला हुआ नजर आ रहा है!


क्या से क्या हो गया?
न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक साल 2017 में रामदेव ने दावा किया, 'उनकी कंपनी के टर्नओवर के आंकड़े मल्टीनेशनल कंपनियों को कपालभाती करने को मजबूर कर देंगे! कपालभाती को एक मुश्किल योग माना जाता है! रामदेव का दावा था कि मार्च 2018 तक पतंजलि की बिक्री दोगुनी हो जाएगी! ये 20,000 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगी. पर हुआ उल्टा! कंपनी की सालाना फाइनेंशियल रिपोर्ट बाबा रामदेव के होश उड़ाने के लिए काफी है! रामदेव के दावों के उलट पतंजलि की बिक्री 10 फीसदी घट गई है! कंपनी की सेल 10,000 करोड़ रुपए के मनोवैज्ञानिक स्तर से भी नीचे 8,100 करोड़ रुपए रह गई है! साल 2016-17 में कंपनी का कारोबार 11,000 करोड़ रुपए तक पहुंच गया था!


बहन के बाद, बुजुर्ग भाई ने भी दम तोड़ा

नई दिल्ली ! ज़िंदगी यूं हुई बसर तन्हा.. काफ़िला साथ और सफर तन्हा। गीतकार गुलजार की लिखी लाइनें भारत नगर में बुजुर्ग भाई-बहन की जिंदगी पर सटीक हैं। दरअसल, चमनलाल के पड़ोसी ने बताया कि पुश्तैनी कोठी होने की वजह से भाई-बहन ने कभी घर नहीं छोड़ा। 1957 में बनी कोठी से दोनों को गहरा लगाव था।  एक-दूसरे का खयाल रखते थे। पड़ोसियों से ज्यादा वास्ता नहीं रखते थे। काफी समय से चमनलाल को पड़ोसियों ने नहीं देखा। 

राजकुमारी ही घर से बाहर सामान लेने निकलती थीं। अक्सर पड़ोसी उन्हें बस दरवाजे पर दूध लेने के लिए निकलते हुए देखते थे। पड़ोसियों का कहना है कि आनंद विहार में रहनेवाले चमन के भाई-भतीजे ही फोन करके हालचाल पूछते रहते थे। बता दें कि भारत नगर में एक घर में दो बुजुर्गों की लाशें मिली थीं। 

छानबीन कर रही पुलिस को किसी बाहरी के घर में एंट्री के सबूत नहीं मिले हैं। पुलिस जब मौके पर पहुंची, घर के लाइट पंखे चल रहे थे। राजकुमारी का फोन भी चार्जिंग पर लगा था। चमन के घर का सामान भी सुरक्षित मिला। पुलिस को मौत के पीछे किसी तरह का अंदेशा फिलहाल दिखाई नहीं दे रहा। दोनों के शरीर पर किसी भी तरह के चोट के निशान नहीं मिले हैं। 

आसपास के लोगों के मुताबिक, राजकुमारी ने रविवार सुबह आखिरी बार दूध लिया था। उसके बाद दूधवाला घर पहुंचा तो दरवाजा नहीं खुला। वह बिना दूध दिए ही लौट गया। अंदेशा है कि रविवार को ही किसी समय राजकुमारी की मौत हो गई। उसके बाद गर्मी, भूख और प्यास से किसी दिन चमनलाल की भी मौत हो गई। क्राइम टीम ने घर की जांच की है। तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस चमन के भाई और भतीजों से पूछताछ कर रही है। 

सीनियर सिटिजन सेल में नहीं थे रजिस्टर्ड
 
पुलिस अफसरों ने बताया कि बुजुर्ग भाई-बहन ने खुद को दिल्ली पुलिस की सीनियर सिटिजन सेल में रजिस्टर्ड भी नहीं कराया था। कई बार पुलिसकर्मियों और बीट स्टॉफ ने उनसे मिलने की कोशिश की। उन्होंने खुद को रजिस्टर्ड कराने से मना कर दिया था। उसके बाद भी बीट स्टाफ उनका हालचाल लेने घर आता-जाता रहता था। वहीं, पड़ोसी इससे इनकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि दोनों के घर कभी किसी भी पुलिसकर्मी को आते-जाते नहीं देखा। हो सकता है कि फोन पर हालचाल ले लेते होंगे।


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...