खान-पान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
खान-पान लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, 24 अक्तूबर 2021

इंडियन कॉटेज चीज से बनती है 'रसमलाई'

इंडियन कॉटेज चीज से बनती है 'रसमलाई'
रसमलाई स्पंजी पनीर यानी इंडियन कॉटेज चीज से बनती है। ये थिक रिड्यूस्ड मिल्क और क्लॉटेड क्रीम में भिगोकर रखी जाती है।
रसमलाई को पिस्ता, बादाम, केसर और अन्य ड्राई फ्रूट्स से सजाया जाता है।
कॉटेज चीज यानी पनीर में प्रोटीन काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है जो हमें हेल्दी रखता है।
ड्राई फ्रूट्स की ऐंटिऑक्सिडेंट प्रॉपर्टी की वजह से हम कम बीमार पड़ते हैं। क्योंकि ये बाहर से आनेवाले वायरस से लड़ते हैं।
दूध कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर होता है।इस तरह से रसमलाई में वो सारी चीजें पाई जाती हैं। जो हमारे लिए काफी जरूरी हैं और हमें इससे हर तरह के पोषक तत्व मिलते हैं।
इसके अलावा केसर रसमलाई का एक अहम इन्ग्रीडियंट है। केसर हमारे शरीर में मौजूद वैसे सेल्स जो कैंसर की गिरफ्त में हैं उसकी ग्रोथ को रोकता है और कैंसर पैदा करने वाले सेल्स को नष्ट भी कर देता है।
इसके अलावा रसमलाई इसलिए भी हेल्दी है क्योंकि ये डीप फ्राईड नहीं होती। इसमें नमक,चीनी काफी कम मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कैल्शियम,प्रोटीन और मिनरल काफी ज्यादा मात्रा में मौजूद होता है। यहां तक कि डायबीटिक पेशेंट भी इसे खा सकते हैं।
स्वादिष्ट और हेल्दी रसमलाई को आप घर पर बहुत ही आसानी से बना सकती हैं। 

शनिवार, 23 अक्तूबर 2021

इंस्टेंट रेसिपी बनाएं, चॉकलेट का मीठा पेड़ा

इंस्टेंट रेसिपी बनाएं, चॉकलेट से मीठा पेड़ा 
चॉकलेट खाना तो ज्यादातर लोगों को पसंद आता ही है। चाहे वह चॉकलेट आइसक्रीम हो, चॉकलेट केक हो या चॉकलेट से बनी कोई भी चीज हो। लोग बहुत शौक से चॉकलेट खाना पसंद करते हैं। ज्यादातर लोग अपने फ्रिज में मिठाई और चॉकलेट रखना पसंद करते हैं।ताकि जब भी मन करे तो तुरंत निकालकर इसे खा लें।मिठाई वैसे घर में भी बनाई जा सकती है और इसमें मिलावट का भी कोई डर नहीं रहता। वहीं अगर आप कुछ इंस्टेंट रेसिपी बनाना चाहते हैं तो चॉकलेट से पेड़ा बना सकते है। चॉकलेट पेड़ा बनाने के लिए अधिक चीजों की आवश्यकता नहीं है। इसे सीमित चीजों से भी घर पर आसानी से बनाया जा सकता है। फेस्टिवल में अगर आप कोई मिठाई बनाना चाहते हैं तो चॉको ब्रैड पेड़ा आपके लिए परफेक्ट ऑप्शन है। चॉको ब्रैड पेड़ा एक आसान रेसिपी है। जिसे आप आसानी से कभी भी घर में बना सकते है। ये टेस्टी के साथ-साथ हेल्दी है।जिसे आप अपनी फैमिली और फ्रेंड्स को भी फेस्टिवल में खिला सकते हैं।
सर्दी के मौसम में बेहद फायदेमंद है अमरूद
सर्दी के मौसम में पाया जाने वाल अमरूद सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। इस समय में बाजार में नए सीजन के अमरूद बिकने लगे हैं। अमरूद खट्टा-मीठा ऐसा फल है जो खाने में स्वादिष्ट तो होता ही है बल्कि सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसमें कैलोरी कम और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है। यह वज़न को कंट्रोल करने में बेहद मददगार है। यह फल शुगर के मरीज़ों के लिए बेहतरीन इलाज है। इसका सेवन करने से शुगर कंट्रोल रहती है।

अमरूद न्यूट्रिएंट्स का भंडार है, जिसमें विटामिन सी, लाइकोपीन और एंटीऑक्सिडेंट अधिक मात्रा में मौजूद होता है। जो सेहत को कई बीमारियों से बचाने में मदद करता हैं। अमरूद के साथ ही उसके पत्तें भी औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। अमरूद का सेवन सर्दी में बेहद फायदेमंद होता है। बॉडी में खून की कमी को पूरा करता है, साथ ही सर्दी में होने वाली सर्दी-खांसी से भी निजात दिलाता है। सर्दी में अमरूद ठंड से बचाता है। जानिए इतने उपयोगी अमरूद से कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं।

इम्यूनिटी इम्प्रूव करता है अमरूद: बदलते मौसम में इम्यूनिटी कमजोर होती है ऐसे मौसम में अमरूद का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। अमरूद इम्यूनिटी को बूस्ट करेगा, साथ ही आपको एनर्जी भी देगा।

पाचन ठीक रखेगा: अमरूद में दूसरे फलों की तुलना में सबसे अधिक फाइबर मौजूद होता है जो कब्ज की समस्या से निजात दिलाता है। अमरूद के बीज गैस और अपच की समस्या को दूर करने में मदद करता हैं।

दिल की सेहत का ध्यान रखता है: दिल को सेहतमंद रखने में अमरूद बेहद असरदार है। अमरूद में एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो दिल की सेहत को दुरुस्त रखने में मदद करते हैं। 

डायबिटीज़ कंट्रोल रखता है: अमरूद में मौजूद फाइबर कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स के कारण डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है। अमरूद में नेचुरल शुगर पाई जाती है जो डायबिटीज के मरीज़ों के लिए भी फायदेमंद हो सकती है।  

स्किन का ध्यान रखता है: अमरूद को स्किन के लिए फायदेमंद माना जाता है। अमरूद में विटामिन्स और मिनरल्स भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं जो स्किन को हेल्दी रखने में मददगार हो सकते हैं। डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की

कौशांबी: डीएम ने संशोधन के सम्बन्ध में बैठक की राजकुमार              कौशाम्बी। जिलाधिकारी सुजीत कुमार द्वारा सम्राट उदयन सभागार में राजनैतिक...