मंगलवार, 20 अप्रैल 2021

अरब का दौरा करेंगे पीएम इमरान, दावा किया

इस्लामाबाद/ रियाद। पाकिस्तानी के टीवी चैनल ने सोमवार को दावा, कि पाक के पीएम इमरान खान मई में ईद उल फितर से पहले या तुरंत बाद सऊदी अरब का दौरा करेंगे। पाकिस्तान में सऊदी अरब के राजदूत नवाफ बिन सईद अल-मल्की के अनुसार, इमरान खान की यात्रा की पुष्टि की गई है। लेकिन तारीखों की घोषणा अभी तक नहीं की गई है। यात्रा के दौरान, पीएम इमरान खान सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मिलेंगे। मार्च में, क्राउन प्रिंस ने टेलीफोन पर बातचीत के दौरान खान को सऊदी अरब आने के लिए आमंत्रित किया था। इमरान खान ने प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था। इससे पहले,पाक पीएम ने मोहम्मद बिन सलमान को पत्र लिखकर सऊदी अरब ग्रीन इनिशिएटिव और ग्रीन मिडिल ईस्ट इनिशिएटिव के लॉन्च पर बधाई दी। इमरान ने कहा, मेरे भाई, उनके रॉयल हाईनेस क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान द्वारा "ग्रीन सउदी अरब" और "ग्रीन मिडिल ईस्ट" पहल के बारे में जानकर बहुत खुशी हुई! हमारे समर्थन की पेशकश की है। क्योंकि हमने भी "क्लीन एंड ग्रीन पाकिस्तान" और "10 बिलियन-ट्री लगाने की योजना तैयार की है।


चौकीदार की कोरोना से मृत्यु, स्कूल सील किया

अश्वनी उपाध्याय           

गाजियाबाद। ट्रांस हिंडन क्षेत्र के एनसीपी स्कूल में काम करने वाला एक चौकीदार की कोरोना से मृत्यु हो गई। मृतक की कोरोना रिपोर्ट चार दिन पहले ही आई थी और गरीब चौकीदार जैसे-तैसे अपना इलाज कर रहा था। मृत्यु के बाद चौकीदार की पत्नी ने जिला प्रशासन को सूचना दी। लेकिन, कोई भी उसकी मदद को नहीं आया। 24 घंटों के बाद मीडिया में खबर फैलने बाद थोड़ी देर पहले प्रशासन की नींद खुली और उसने नगर निगम के कर्मचारियों को भेज कर स्कूल को सील करा दिया है। शव के अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन की ओर से क्या प्रयास किए गए हैं। खबर लिखे जाने तक इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। घटना से यह स्पष्ट होता है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जिला प्रशासन को संवेदनशील होकर काम करने के अनेक आदेशों के बावजूद भी गाज़ियाबाद में तैनात अधिकारियों पर इसका कोई असर नहीं है।

बेनीवाल को प्राधिकरण का सदस्य नियुक्त किया

राणा ओबराय       
चंडीगढ़। हरियाणा सरकार की तरफ से पब्लिक हेल्थ के पूर्व चीफ इंजीनियर डीपीएस बेनीवाल को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिली हैं। प्रदेश सरकार ने डीपीएस बेनीवाल को हरियाणा जल संसाधन प्राधिकरण का सदस्य नियुक्त किया है। नवनियुक्त सदस्य डीपीएस बेनीवाल ने हरियाणा सरकार द्वारा महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देने पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व जेजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह चौटाला का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वे पूरी लगन व निष्ठा से इस जिम्मेवारी का निर्वहन करेंगे। डीपीएस बेनीवाल मूल रूप से फतेहाबाद के नेहला गांव से संबंध रखने वाले हैं और फिलहाल पंचकूला निवासी हैं। उन्होंने 1987 में हरियाणा के पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग विभाग में बतौर असिस्टेंट एक्सईएन ज्वाइन किया था। वर्ष 2004 में सुपरिटेंडेंट इंजीनियर बने तथा इसके बाद 2009 में चीफ इंजीनियर बने और 11 साल से अधिक इस भूमिका में कार्य किया। इससे पहले वह 1985 से 1987 तक गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक, सिरसा में लेक्चरर के तौर पर भी कार्य करते रहे। डीपीएस बेनीवाल शुरू से ही वैचारिक तौर पर जननायक चौधरी देवीलाल जी की विचारधारा से जुड़े हुए हैं। इनका परिवार भी शुरू से चौधरी देवीलाल जी की विचारधारा और जेजेपी पार्टी से जुड़ा हुआ है।

24 एसपीओ को पुलिस उपायुक्त ने किया सस्पेंड

राणा ओबराय            
चंडीगढ। हरियाणा पुलिस विभाग में लगे 24 एसपीओ को फरीदाबाद पुलिस उपायुक्त डॉ. अर्पित जैन ने सस्पेंड किया गया है। बर्खास्त किए गए एसपीओ फरीदाबाद के विभिन्न थानों में तैनात थे। जानकारी के अनुसार ये सभी लंबे समय से गैरहाजिर और पुलिस ड्यूटी के दौरान अनियमितताएं बरत रहे थे। जिसके चलते हुए इनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है। बतया जा रहा है कि ये 24 एसपीओ काफी समय से गैरहाजिर चल रहे थे। पुलिस उपायुक्त के अनुसार ड्यूटी में तैनात कर्मचारी अनुशासन से बाधित होते हैं और उन्हें उच्च अधिकारियों के आदेशानुसार ही कार्य करना होता है। परंतु ये कर्मचारी अपनी ड्यूटी में लापरवाही बरत रहे थे।

प्रदीप की सजा पर रोक तो सदस्यता हो सकतीं है बहाल

राणा ओबराय            
चंडीगढ़। हिमाचल हाइकोर्ट द्वारा पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी की सजा पर रोक लगाने से प्रदीप चौधरी की विधानसभा सदस्यता बहाल हो सकती है।
हरियाणा के कालका विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक प्रदीप चौधरी को बड़ी राहत मिली है। दरअसल, इस पूर्व विधायक की सजा पर हिमाचल हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। 
इन सबके चलते हुए हो सकता है प्रदीप चौधरी की विधानसभा सदस्यता बहाल हो जाए। इस मामले पर विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता का कहना है कि हाईकोर्ट के फैसले की कॉपी मिलने के बाद अध्ययन करेंगे। यदि बात सही है तो सदस्यता बहाल कर दी जाएगी। आपको बता दें कि अगर सरकार ने खाली सीट पर चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिख दिया होगा तो भी हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद वह निरस्त हो जाएगा और विधानसभा स्पीकर को भी उन्हें बहाल करना होगा। विधानसभा के रिटायर्ड एडिशनल सेक्रेट्री रामनारायण यादव कहते हैं कि कन्वीक्शन पर स्टे मिल गया है तो चौधरी की सदस्यता बहाल हो जाएगी।

कोरोना को लेकर डीएम ने व्यापरियों के साथ की बैठक

कौशाम्बी। जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में कोविड-19 को लेकर व्यापरियों के साथ बैठक की। जिसमें उन्होंने व्यापारियो से कहा, कि जो भी उपभोक्ता सामान लेने के लिये आयें। उन्हें तब तक सामान न दिया जाये, जब तक मास्क न लगा लें। व्यापारी यदि आगे आयेंगे तो कोरोना जैसी महामारी से लड़ने में मजबूती मिलेगी। जिलाधिकारी ने व्यापारियों से आग्रह किया कि वह लाकडाउन को शक्ति के साथ पालन करें। इससे कोरोना के चैन को तोड़ने में काफी सहूलियत मिलेगी। उन्होंने कहा कि अपने आप को सुरक्षित रखने के लिये वैक्सीन का टीका लगवायें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी जिला सूचना विज्ञान अधिकारी, परियोजना निदेशक, व्यपार मण्डल के अध्यक्ष रमेश अग्रहरी सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।
उज्ज्वल केशरवानी 

हापुड़: मुरादनगर जैसे दूसरा हादसा होने का इंतजार

अतुल त्यागी                 
हापुड़। तहसील गढ़मुक्तेश्वर के थाना सिंभावली ब्लॉक जनपद के अंतर्गत आने वाले गांव हाजीपुर में जर्जर हालत में श्मशान घाट में अंत्येष्टि संस्कार करने का स्थल शासन प्रशासन के आला अधिकारियों को शायद इंतजार है, एक मुरादनगर जैसे दूसरा हादसा होने का।
गौरतलब रहे कि थाना सिंभावली ब्लॉक जनपद के गांव हाजीपुर में गांव के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार करने के लिए बनाया गया संस्कार स्थल जर्जर हालत में खड़ा हुआ है। जो अपनी बदहाली पर आंसू बहाते हुए भर-भरा कर गिरने का इंतजार करते हुए ग्राम प्रधान के द्वारा कराए गए विकास कार्यों की भी पोल खोल रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि इस अंत्येष्टि स्थल का जीर्णोद्धार कराने के लिए क्या यह बार ग्राम प्रधान से भी शिकायत की गई है। लेकिन, कोई सुनने के लिए तैयार नहीं है। वही, त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर चुनावी मैदान में आने वाले  ग्राम प्रधान प्रत्यासी इसका जीर्णोद्धार कराने के लिए नए-नए सपने दिखा रहे हैं। पंचायत चुनाव के मद्देनजर तो यह जर्जर हालत में खड़ा हुआ। अंत्येष्टि स्थल इन प्रत्याशियों को अब नजर आने लगा है लेकिन पूर्व प्रधान के कार्यकाल में यह जर्जर हालत में खड़ा अंत्येष्टि स्थल किसी को नजर नहीं आया। श्मशान घाट में जर्जर हालत में खड़े इस अंत्येष्टि स्थल के नवनिर्माण को लेकर ग्रामीणों में खासा रोष देखा जा रहा है। श्मशान घाट के इस जीर्णोद्धार निर्माण कराने को लेकर रोष व्यक्त करने वालों में पंडित कृपाल सिंह, सतीश हंसराज, दीपक बदन सिंह, दयानंद, अनिल रोहतास, नरेश, सोनू भीमसेन मुंशी, पंकज, संदीप शिवदयाल सहित दर्जनों की संख्या में श्मशान घाट का जीर्णोद्धार कराने के लिए प्रदर्शन करते नजर आए।

सरस संग्रह-8 'धर्म'

सारा-सारा दिन काम करो, 
दिन में बस एक नेक काम करो,
कर्मकांड, कर्तव्य, कर्म करो,
आठों पहर में घड़ी अनुदान करो।

              जियो अपने ढंग से,
बहो सब के संग में,
              जियो और जीने दो,
सबपे ये करम करो।

किसी का भाग ना खाओ, 
               असह को ना सताओ,
लूट-मार क्यों करें, 
          अपने आप से ही शरों।
 
बल का सदुपयोग करो,
                वेदना मयी योग करो,
सृष्टि के कल्याण करो, 
                नाभंग निज कर्म करो।

अपनी भी हो आरती, 
              कृष्ण-सा हों सारथी, 
इस मानव जीवन को, 
              ना व्यर्थ नाकाम करो। 

जी-मदिरा भक्षण को, 
               बंद करों आरक्षण को,
सोचों त्रयक्षण को,
               प्रतिपल नाम करो।

तृप्ति किसी को दे दो,
                 बदले में नेकी ले लो, 
धन में ना हो उन्मुक्त, 
                धैर्य मन विश्राम करो।

मन से मानवता का, 
                नीच से भीरता का, 
अर से आचरण का, 
                बस एक सकाम करो।


चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'

ऑक्सीजन सिलेंडर के उपयोग पर लगाया प्रतिबंध

रायपुर। ऑक्सीजन सिलेंडर के औद्योगिक उपयोग को लेकर राज्य सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने ऑक्सीजन सिलेंडर के औद्योगिक उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने फ़ैसला लिया है।
जानकारी के मुताबिक 22 अप्रैल से आगामी आदेश तक प्रतिबंध जारी रहेगा। औद्योगिक आपूर्ति रोककर मेडिकल ऑक्सीजन में परिवर्तित किए जाने का आदेश जारी किया गया है। इससे कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन मिल सकेगा।

झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक रहेगा लॉकडाउन

मनोज सिंह ठाकुर          
रांंची। लॉकडाउन की घोषणा झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बैठक के बाद की। उन्होंने मंगलवार को अपने आवास में राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह समेत अन्य अधिकारियों  के साथ हुई बैठक में यह बड़ा फैसला लिया। राज्य में सख्ती से लॉकडाउन का पालन करने के आदेश दिए गए हैं ताकि कोरोना के प्रसार को रोका जा सके।
झारखंड में 22 से 29 अप्रैल तक लॉकडाउन लागू रहेगा। हालांकि, प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं के साथ ही धार्मिक स्थानों को खुला रखने की अनुमति दी है। गौरतलब है कि सरकार ने इस बार राज्य में लागू किए गए लॉकडाउन को सुरक्षा सप्ताह नाम दिया है।
कोरोना वारयस की दूसरी लहर का प्रकोप देशभर में जारी है। राज्य में आए दिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने अहम फैसला ले लिया है।

कड़कड़डूमा कोर्ट: 7 जज-37 कर्मचारी मिलें संक्रमित

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट के 7 जज और 37 कर्मचारी पॉजिटिव मिलें। कोरोना से संक्रमित सभी जजों और कर्मचारियों को आइसोलेशन में भेज दिया गया है।
जिन जजों को कोरोना का संक्रमण हुआ है। उनमें उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों के मामलों की सुनवाई करने वाले एडिशनल सेशंस जज अमिताभ रावत, एडिशनल सेशंस जज एसके मल्होत्रा, चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अतुल कृष्ण अग्रवाल, मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सलोनी सिंह, मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अनिमेष भास्कर मणि त्रिपाठी, मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट रुपिंदर सिंह धीमान और महिला कोर्ट की जज विजयश्री राठौर शामिल हैं। इन सभी जजों को आइसोलेशन में  भेज दिया गया है। 

यूके: भर्ती-नियुक्ति प्रक्रिया पर सरकार ने लगाईं रोक

पंकज कपूर              
देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी अशासकीय विद्यालयों में प्रधानाचार्य, प्रवक्ता, सहायक अध्यापक (प्राथमिक, जूनियर, माध्यमिक) लिपिक, भर्ती-नियुक्ति प्रक्रिया पर उत्तराखंड सरकार ने रोक लगा दी है।
आज सचिव विद्यालयी शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम ने इसका आदेश जारी कर दिया है। जिसमें कहा गया है कि, उपरोक्त भर्ती से संबंधित समस्त कार्यवाही अग्रिम आदेशों तक स्थगित की जाती है। इसका अनुपालन कड़ाई से किए जाने को भी आदेश में कहा गया है।

दिल्ली मेट्रो ने सेवाओं को लेकर अपडेट जारी किया

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो ने कोरोना संबंधित कर्फ्यू के चलते अपनी सेवाओं को लेकर अपडेट जारी किया है। मेट्रो का कहना है कि महामारी के प्रसार को रोकने के लिए किसी भी दिल्ली सरकार के दिशानिर्देशों के तहत पात्र यात्री को केवल बैठकर ही गंतव्य तक जाने की अनुमति होगी और उसमें भी पहले की ही तरह आधी सीटें खाली रहेंगी।
दिल्ली मेट्रो के प्रवक्ता अनुज दयाल ने बताया है कि यात्रियों की कमी को देखते हुए सुबह 7 से 11 और शाम 4 से 8 बजे के दौरान मेट्रो 15 मिनट पर उपलब्ध होगी। वहीं अन्य समय में यह आधे घंटे के अंतराल पर संचालित होंगी। उनका यह भी कहना है कि यात्रियों की संख्या को देखते हुए गाड़ियों को स्टेंडबाय पर भी रखा गया है।
उल्लेखनीय है कि दिल्ली में 26 अप्रैल तक कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कर्फ्यू लगाया गया है जिसमें आवश्यक होने पर ही आवाजाही की अनुमति होगी।

सरकार ने महामारी अधिनियम में आठवां संशोधन किया

हरिओम उपाध्याय             
लखनऊ। यूपी सरकार ने कोरोना महामारी अधिनियम 2020 में आठवां संशोधन किया है। संशोधन के मुताबिक घर से बाहर बिना मास्क या गमछा के निकलने पर पहली बार पकड़े जाने पर एक हजार रुपये और दोबारा पकड़े जाने पर दस हज़ार रुपये जुर्माना का प्रावधान किया गया है। मंगलवार को जारी नए आदेश में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अमित मोहन प्रसाद ने यह जानकारी दी।
आदेश के मुताबिक किसी व्यक्ति द्वारा किसी सार्वजनिक स्थान पर अथवा घर से बाहर मास्क, गमछा, रुमाल या दुपट्टा ना पहनने पर पहली बार उसे 1000 रुपये का जुर्माना देना होगा। अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक दूसरी बार बिना मास्क, गमछा, रुमाल या दुपट्टा के पाए जाने पर व्यक्ति को 10000 रुपये का जुर्माना देना होगा। उन्होंने बताया कि किसी व्यक्ति के सार्वजनिक स्थलों पर अथवा घर से बाहर थूकने पर उसे 500 रुपये के जुर्माना से दंडित किया जाएगा।

हिमाचल में कोरोना के 758 मामलें सामने आएं

श्रीराम मौर्य             
शिमला। हिमाचल में आज अब तक कोरोना के 758 मामले आए हैं। वहीं, 810 कोरोना पॉजिटिव ठीक हुए हैं। आज अब तक 12 लोगों की जान गई है। कांगड़ा  में पांच, शिमला में चार व ऊना में तीन लोगों ने दम तोड़ा है। हिमाचल में कोरोना डेथ का आंकड़ा 1,200 पार हो गया है। अब तक 1,202 लोगों की जान जा चुकी है। प्रदेश में कुल आंकड़ा 78,828 पहुंच गया है। अभी 9,717 एक्टिव केस हैं। अब तक 67,882 कोरोना संक्रमित ठीक हो चुके हैं। कोरोना रिकवरी रेट 86.11 फीसदी है। कोरोना डेथ 1.52 फीसदी है।सोलन  में 171, शिमला में 129, सिरमौर में 113, ऊना  में 93, लाहुल स्पीति में 73, हमीरपुर  में 70, बिलासपुर में 59, किन्नौर में 33, कांगड़ा में 15 व मंडी  में दो मामले आए हैं। कांगड़ा के 327, शिमला के 106, हमीरपुर के 99, ऊना के 71, सिरमौर  के 56, मंडी के 50, लाहुल स्पीति के 49, कुल्लू के 42, चंबा  के सात व किन्नौर के तीन ठीक हुए हैं। सोलन में अभी सबसे अधिक 2,037 एक्टिव केस हैं। कांगड़ा में 1,972, शिमला में 975, मंडी में 839, ऊना में 829, सिरमौर में 775, हमीरपुर में 654, बिलासपुर में 560, कुल्लू में 360, लाहुल स्पीति में 320, चंबा में 240 व किन्नौर में 156 एक्टिव केस (Active Case) हैं। शिमला में 303, कांगड़ा में 276, मंडी में 146, ऊना में 92, कुल्लू में 89, सोलन में 82, हमीरपुर में 57, चंबा में 55, सिरमौर में 44, बिलासपुर में 28, किन्नौर में 17 व लाहुल स्पीति में 13 की अब तक जान गई है।

राजपूत की याचिका पर एचसी ने जारी किया नोटिस

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता की ओर से दायर एक याचिका पर अभिनेता की जिंदगी पर आधारित विभिन्न प्रस्तावित और आगामी फिल्मों के निर्माताओं को मंगलवार को नोटिस जारी किया। याचिका में राजपूत के पिता कृष्ण किशोर सिंह ने फिल्मों में उनके बेटे के नाम या उससे मिलते जुलते पात्रों के इस्तेमाल पर रोक की मांग की है। न्यायमूर्ति मनोज कुमार ओहरी ने फिल्म निर्माताओं को नोटिस जारी कर उनसे 24 मई तक याचिका पर जवाब मांगा है। याचिका में कहा गया, ‘‘फिल्मकार हालात का फायदा उठा रहे हैं और अपने छिपे हुए मकसदों को पूरा करने के लिहाज से मौके को भुनाने का प्रयास कर रहे हैं।  इसमें कहा गया कि याचिकाकर्ता को आशंका है कि तरह-तरह की सामग्री प्रकाशित की जाएगी जिससे राजपूत और उनके परिवार की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंच सकता है।

कलयुगी बेटे ने अपने पिता को उतारा मौत के घाट

हरिओम उपाध्याय       
जालौन। बच्चे जब छोटे होते हैं तो पिता हर संभव कोशिश करता है कि उसके बच्चे उससे होनहार बने। पिता का कर्तव्य हर बच्चे की जिंदगी में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। लेकिन जब बच्चे बड़े हो जाते हैं तो वह कभी यह नहीं सोचते कि उनके पिता ने उनको किस परिस्थिति में यहां तक पहुंचाया है। ऐसी ही एक कलयुगी बेटे की घिनौनी करतूत सामने आई है। जिसे सुनकर आप चौक जायेंगे। मामला उत्तर प्रदेश के जनपद जालौन से है जहां पर एक कलयुगी बेटे ने अपने पिता को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया। जिससे गांव में हड़कंप मच गया। जालौन जनपद के सिरसा कलार थाना क्षेत्र के गांव सिकन्ना में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक कलयुगी पुत्र ने अपने पिता को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया। घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली आनन-फानन में पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की तफ्तीश में लग गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा एवं कार्रवाई में जुट गई। फिलहाल आपको बता दें कि आरोपी पुत्र हत्या के बाद से फरार है जिसकी पुलिस तलाश में जुटी हुई।

मजदूरों के बैंक खातों में पैसे डालने की अपील की

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस संकट के चलते शहरों से पलायन कर रहे प्रवासी मजदूरों के बैंक खातों में पैसे डालने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने भी कहा कि गरीबों, श्रमिकों और रेहड़ी-पटरी वालों को नकद मदद दी जानी चाहिए। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘प्रवासी मजदूर एक बार फिर पलायन कर रहे हैं। ऐसे में केंद्र सरकार की ज़िम्मेदारी है कि उनके बैंक खातों में रुपये डाले जाएं। लेकिन कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के लिए जनता को दोष देने वाली सरकार क्या ऐसा जन सहायक क़दम उठाएगी ? प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ कोविड महामारी की भयावहता को देखकर यह तो स्पष्ट था कि सरकार को लॉकडाउन जैसे कड़े कदम उठाने पड़ेंगे, लेकिन प्रवासी श्रमिकों को एक बार फिर उनके हाल पर छोड़ दिया गया। क्या यही आपकी योजना है, नीतियां ऐसी हों जो सबका ख्याल रखें।’’ उन्होंने सरकार से आग्रह किया,  गरीबों, श्रमिकों, रेहड़ी वालों को नकद मदद वक्त की मांग है। कृपया यह करिए।

देश में कोरोना मृतकों की संख्या-1,80,530 हुईं

अकांशु उपाध्याय         
नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,59,170 नए मामले सामने आने के बाद देश में अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,53,21,089  हो गई। जिनमें से 20 लाख से अधिक लोग उपचाराधीन हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार सुबह आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 1,761 और लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 1,80,530 हो गई। देश में संक्रमण के मामलों में लगातार 41वें दिन वृद्धि हुई है और उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 20,31,977 हो गई है। जो संक्रमण के कुल मामलों का 13.26 प्रतिशत है। जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर गिरकर 85.56 प्रतिशत रह गई है। आंकड़ों के मुताबिक, इस बीमारी से उबरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,31,08,582 हो गई है और मृत्यु दर गिरकर 1.18 प्रतिशत हो गई है। भारत में कोविड-19 के मामले पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख की संख्या पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ से अधिक हो गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, 19 अप्रैल तक 26,94,14,035 नमूनों की जांच की जा चुकी है जिनमें से 15,19,486 नमूनों की जांच सोमवार को की गई।

तेलांगना में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू की घोषणा

मनोज सिंह ठाकुर           
हैदराबाद। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए तेलंगाना सरकार ने मंगलवार को राज्य में 30 अप्रैल तक रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा की। ये प्रतिबंध 20 अप्रैल से लागू होंगे। राज्य में कोविड-19 को नियंत्रित करने के विभिन्न उपायों की समीक्षा की गई है।मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने एक आदेश में कहा कि कोविड​​-19 के प्रसार को रोकने के लिए एक अतिरिक्त उपाय के तहत 30 अप्रैल 2021 तक रात नौ बजे से सुगह पांच बजे तक राज्य में रात्रि कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। राज्य में अभी 42,853 लोगों का इलाज चल रहा है।मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव को भी सोमवार को वायरस से संक्रमित पाया गया। कर्फ्यू के दौरान अस्पतालों, जांच प्रयोगशालाओं, दवा दुकानों को छोड़कर सभी कार्यालय, फर्म, दुकानें, प्रतिष्ठान, रेस्तरां आदि रात के आठ बजे बंद हो जाएंगे और मीडिया, ई-कॉमर्स डिलीवरी और पेट्रोल पंप जैसी अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को भी छूट रहेगी।
सरकारी अधिकारियों, चिकित्सा कर्मियों और हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आने-जाने वाले लोगों को छोड़कर रात्रि नौ बजे से सभी लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया जाएगा। आदेश में कहा गया कि अंतर-राज्यीय और राज्य के भीतर आवश्यक और गैर-आवश्यक वस्तुओं के परिवहन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा और इस तरह की आवाजाही के लिए कोई अलग से अनुमति या पास की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अलावा ऑटो और टैक्सियों सहित सार्वजनिक परिवहन सेवाओं को रात्रि कर्फ्यू के दौरान आवाजाही की अनुमति होगी।

पुलिस ऑफिसर के किरदार में नजर आएंगे अजय

 कविता गर्ग             
 मुंबई। बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन वेबसीरीज रूद्रा द एज ऑफ डार्कनेस में पुलिस ऑफिसर के किरदार में नजर आयेंगे। यह फिल्म हॉलीवुड अभिनेता इद्रिस एल्बा की हिट टीवी सीरीज ‘लूथर’ का हिंदी रीमेक है। सीरीज को बीबीसी वन के साथ मिलकर अप्लाउस एंटरटेनमेंट प्रोड्यूस कर रहा है और ये हॉटस्टार पर रिलीज होगी। बताया जा रहा है कि रूद्रा द एज ऑफ डार्कनेस एक क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज है जिसमें कि एक पुलिसवाला आखिर तक आते-आते एक साइको क्रिमिनल बन जाता है। अजय देवगन ने इस वेब सीरीज का फर्स्ट लुक इंस्टाग्राम पर शेयर किया है।अजय इस सीरीज़ में एक पुलिस अफ़सर के किरदार में नजर आएंगे, जो उनके अब तक के कॉप अवतारों से अलग होगा। अजय देवगन ने कहा, “मेरी हमेशा से कोशिश यही रही है कि काबिल लोगों के साथ बेहतरीन काम करूं। रूद्रा- द ऐज ऑफ़ डार्कनेस बांधकर रखने वाले कहानी है और इस सफ़र की शुरुआत करने का मुझे बेसब्री से इंतज़ार है। पर्दे पर पुलिस वाले का किरदार निभाना मेरे लिए नया नहीं है, लेकिन इस बार यह किरदार ज़्यादा गहरा, मुश्किल और डार्क है। मुझे इस किरदार की शख़्सियत ने सबसे अधिक प्रभावित किया। सम्भवत: यह मौजूदा दौर में सबसे ग्रे कैरेक्टर है।

अमेरिका ने नागरिकों को भारत ना जाने की सलाह दी

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। अमेरिका ने अपने नागरिकों को सलाह दी है कि वे भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण अत्यधिक फैलने के कारण वहां की यात्रा करने से बचें। रोग रोकथाम एवं नियंत्रण केंद्र (सीडीसी) ने यात्रा परामर्श जारी किया। अमेरिका, विज्ञान आधारित यात्रा स्वास्थ्य नोटिस जारी करके अपने नागरिकों को विश्वभर में स्वास्थ्य संबंधी खतरों की जानकारी देता है और उन्हें स्वयं को सुरक्षित रखने के लिए सलाह देता है।
अमेरिका ने कोविड-19 संबंधी यात्रा परामर्श के लिए चार स्तरीय प्रणाली अपनाई है और ताजा यात्रा परामर्श में भारत को ‘स्तर-चार: कोविड-19 के सबसे उच्च स्तर’ में रखा गया है। विभाग ने सोमवार को कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी यात्रियों के लिए अप्रत्याशित खतरा बनी हुई है।’’ सीडीसी से अमेरिकियों से भारत की यात्रा नहीं करने की अपील की है।

एचसी ने चुनाव करवाने के तरीके पर जताईं नाराजगी

बृजेश केसरवानी            
प्रयागराज। हाईकोर्ट ने राज्य के भीतर कोरोना संक्रमण के कारण उत्पन्न हो रही गंभीर स्थिति के बावजूद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव करवाने के तरीके पर गहरी नाराजगी जताई है।
हाईकोर्ट ने कहा है कि जब प्रदेश सरकार को कोरोना की दूसरी लहर के घातक परिणामों का अंदाजा था तो सरकार की तरफ से कोई कारगर योजना क्यों नहीं बनाई गई। जिस तरह से राज्य में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव करवाए जा रहे हैं और उसमें चुनाव ड्यूटी करने के लिए अध्यापकों व अन्य सरकारी कर्मचारियों को मजबूर किया जा रहा है, वह तरीका सही नहीं है। हाईकोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा है। कि लोक स्वास्थ्य को नजरअंदाज करते हुए पुलिस को चुनाव करवाने के लिए मतदान केंद्रों पर भेज दिया गया। यह किसी भी दशा में ठीक नहीं है। चुनाव कराने वाले अधिकारियों को भी पता है कि लोगों को एक दूसरे से दूर रखने का कोई तरीका नहीं है। ऐसे आयोजकों के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाए। हाईकोर्ट की खंडपीठ ने कहा है, कि हालातों को देखकर ऐसा लग रहा है कि सरकार के लिए केवल अर्थव्यवस्था ही मायने रखती है। खाने पीने की चीजों से भरी किरयाना की दुकान या बाइक अथवा कार से भरे शोरूम है। लेकिन जीवन रक्षक दवाइयों की दुकानें खाली पड़ी हुई है।जब कोरोना से बचाव की दवा रेमडेसीवर जैसी जीवन रक्षक दवाइयां दवाओं की दुकानों पर नहीं मिल रही है तो किराना के सामान से भरी दुकान व कारों से भरे शोरूम किसी काम के नहीं है। हाईकोर्ट ने प्रदेश में वर्तमान स्वास्थ्य सुविधाओं को अपर्याप्त बताते हुए कहा है कि प्रयागराज और लखनऊ जैसे शहरों में ही रोजाना 500 से 1000 मरीजों को अस्पताल ले जाने की जरूरत पड़ रही है। वर्तमान स्वास्थ्य सेवाएं 5 प्रतिशत आबादी की आवश्यकता को ही पूरा कर सकती हैं।

अस्पतालों में उपलब्ध बिस्तरों की संख्या बताएं: एससी

 अकांशु उपाध्याय     
नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को केंद्र और आप सरकार को निर्देश दिया कि वे मंगलवार तक हलफनामे देकर कोविड-19 के मरीजों के लिए प्रत्येक अस्पताल में उपलब्ध बिस्तरों की संख्या बताएं। वर्तमान महामारी की दशा का जायजा लेते हुए उच्च न्यायालय ने केंद्र सरकार से कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति की कमी के पहलू पर अत्यावश्यकता के आधार पर गौर किया जाये।
न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति रेखा पिल्लै की पीठ ने कहा कि अपने हलफनामों में केंद्र एवं दिल्ली सरकार यह भी बतायेंगे कि अस्पतालों के कितने बेडों के साथ वेंटीलेटर एवं ऑक्सीजन की सुविधा है और कितने में ऐसी सुविधा नहीं है। पीठ ने दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति अचानक बंद कर देने वाली कंपनी को तत्काल यह आपूर्ति बहाल करने का निर्देश दिया। उच्च न्यायालय को बताया गया कि यह कंपनी अन्य राज्यों को ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रही है।
पीठ ने यह भी कहा कि 24 घंटे के अंदर कोविड-19 जांच रिपोर्ट नहीं देने पर प्रयोगशालाओं के विरूद्ध कार्रवाई के दिल्ली सरकार के निर्देश को लागू नहीं किया जाएगा। प्रवासी मजदूर संकट पर अदालत ने कहा कि केंद्र और दिल्ली सरकार पिछले साल लॉकडाउन में विफल रही थी और उससे सबक सीखने की जरूरत है। इस मामले पर अब मंगलवार को फिर सुनवाई होगी।

दवा निर्माता कंपनियों के अधिकारियों के साथ संवाद

अकांशु उपाध्याय       

नई दिल्ली। कोविड-19 रोधी टीका लगाने की उम्र सीमा 18 साल करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज टीका उत्पादक कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों के साथ संवाद करेंगे। सूत्रों के मुताबिक, वीडियो कॉन्फ्रेंस से होने वाली यह बैठक शाम छह बजे होगी और इसमें जैव प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से एक प्रस्तुति भी दी जाएगी। टीका उत्पादक कंपनियों के साथ भी यह विभाग समन्वय करेगा। बैठक में भारत के साथ ही विदेशों की भी शीर्ष दवा निर्माता कंपनियों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। जिन कंपनियों के टीकों को भारत सरकार की मंजूरी मिली हुई है। उनके भी इस बैठक में शामिल होने की संभावना है। अभी तक ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्रोजेनेका द्वारा विकसित 'कोविशील्ड' और भारत बायोटेक कंपनी द्वारा भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान के साथ साझेदारी में विकसित 'कोवैक्सीन' टीके भारत में दिए जा रहे हैं।

फिलीपींस ने कोवैक्सीन के उपयोग की अनुमति दीं

मनीला। फिलीपींस ने भारत के बायोटेक कोरोना वायरस कोवैक्सीन टीके को आपातकालीन उपयोग की अनुमति दे दी है। देश के खाद्य एवं औषधी प्रशासन (एफडीए) ने यह जानकारी दी है। एफडीए के महानिदेशक रोलांडो एनरिक डोमिंगो ने मंगलवार को मनीला के रैपलर समाचार सेवा के माध्यम से इस टीके को आपातकालीन उपयोग में लाने की पुष्टि की है। फिलीपींस, पलाऊ और माइक्रोनेशिया में भारत के राजदूत शंभू कुमारन ने इस मंजूरी का स्वागत करते हुए ट्विटर पर कहा यह कोविड-19 के खिलाफ जंग के लिए एक निर्णायक कदम है। कुमारन ने खुशी जाहिर करते हुए कहा “ईयूए ने कोवैक्सिन की मंजूरी दी है। भारत बायोटेक को बधाई। फिलीपींस की एफडीए का धन्यवाद।” फिलीपींस ने सोमवार को एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन के साथ 60 और उससे कम उम्र के नागरिकों के लिए टीकाकरण को फिर से शुरू किया। अप्रैल में फिलीपींस के स्वास्थ्य मंत्रालय की सिफारिश पर एस्ट्राजेनेका टीके को लगाने के बाद खून के थक्के बनने और अन्य दुष्प्रभाव की शिकायत के कारण 60 वर्ष से कम उम्र के लोगों को यह टीका लगाने पर रोक लगा दी थी। फिलीपींस से भारत बायोटेक के टीके के अलावा जॉनसन एंड जॉनसन, फाइजर, रूस के स्पुतनिक-वी और चीन के सिनावैक टीके को भी मंजूरी दे दी है।

आंदोलनकारी किसानों का टेस्ट भी कराएंगी सरकार

राणा ओबराय            
चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमण से उत्पन्न हालातों की समीक्षा करने के साथ ही कोरोना से बचाव के लिए बंदोबस्त करने का फैसला किया है। इस दौरान यह भी तय किया गया कि सरकार नये कृषि कानूनों के विरोध में राजधानी बॉर्डर पर बैठे आंदोलनकारी किसानों से बातचीत करते हुए उनका कोरोना वायरस का टैस्ट कराएगी।
इस दौरान किसानों का कोरोना से बचाव के लिये टीकाकरण भी कराया जाएगा। इस कार्य की शुरुआत अगले एक-दो दिन के भीतर कर दी जाएगी। इसके अलावा आक्सीजन की कालाबाजारी को रोकने के लिए सभी निर्माण प्लांटों पर पुलिस सुरक्षा तैनात की जाएगी। उपयुक्त अधिकारी की जानकारी के बिना प्लांट से ऑक्सीजन का एक भी सिलेंडर बाहर नहीं जा पाएगा।
हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की अध्यक्षता में हुई राज्य स्तरीय माॅनिटरिंग कमेटी की बैठक में कोरोना संक्रमण से निपटने को लेकर एक दर्जन से भी ज्यादा अहम फैसले लिए गए। माॅनिटरिंगकमेटी में अतिरिक्त मुख्य सचिव और प्रधान सचिव स्तर के 10 आईएएस अधिकारियों के अलावा पुलिस महानिदेशक और स्वास्थ्य महानिदेशक स्तर के पांच अधिकारी सदस्य हैं। बैठक में प्रत्येक दिन कोरोना के टेस्ट बढ़ाने पर सदस्यों के बीच सहमति बनी। गौरतलब है कि हरियाणा में मौजूदा समय में रोजाना 30,000 टेस्ट स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना की जांच के लिए किए जा रहे हैं। लेकिन अब राज्य में कम से कम 40000 टेस्ट रोजाना किए जाएंगे।

इंडिया सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट को स्थगित किया

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। इन दिनों कोरोना के कहर से जूझ रहे हैं। जहां देखिए वहीं कोरोना के आंकड़े बढते ही जा रहे हैं। आलम ये है कि जहां भी जाइए अस्पतालों के बेड भरे हुए हैं। नए मिलने वाले संक्रमितों की संख्या में बिल्कुल भी गिरावट देखने को नहीं मिल रही है। अब इसका असर खेलों पर भी पड़ना शुरू हो चुका है। दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इंडिया ओपन सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। भारतीय बैडमिंटन संघ बाई के महासचिव अजय कुमार सिंघानिया ने सोमवार को वर्चुअल प्रेस वार्ता में इसकी जानकारी दी।
सिंघानिया ने कहा कि आप सभी को पता है कि दिल्ली में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगने जा रहा है।  हमें नहीं पता कि आगे स्थिति क्या होगी। ये गंभीर हालात हैं। और सभी साझेदारों से बात करने के बाद हम इस फैसले पर पहुंचे हैं।  कि टूर्नामेंट को आयोजित करना सही नहीं रहेगा। विश्व बैडमिंटन महासंघ ने भी सोमवार को बयान जारी कर कहा है कि टूर्नामेंट के आयोजक बाई ने 11 से 16 मई तक होने वाले इंडिया ओपन 2021 को स्थगित कर दिया है।  उन्होंने कहा कि इस टूर्नामेंट को सुरक्षित वातावरण में कराने के सभी प्रयास किए गए लेकिन कोरोना के अचानक बढ़ते मामले और दिल्ली में हालात को देखते हुए टूर्नामेंट को स्थगित करने के अलावा बाई के पास दूसरा विकल्प नहीं बचा। 
गौरतलब है कि इंडिया ओपन टूर्नामेंट का स्थगित होना कई खिलाड़ियों के लिए भी बहुत ज्यादा नुकसानदायक भी है क्योंकि ये टूर्नामेंट टोक्यो ओलंपिक के क्वालीफिकेशन का हिस्सा था। 

मजदूरों से भरी ओवरलोड बस पलटीं, 2 की मौत

ग्वालियर। प्रसिद्ध जोरासी घाटी पर मंगलवार सुबह एक भीषण सड़क हादसा हो गया। जहां ग्वालियर से डबरा की ओर आ रही पलायन कर रहे मजदूरों से भरी ओवरलोड बस पलट गई। हादसे में 2 लोगों की मौत और महिला और बच्चों सहित कई मजदूरों को गहरी चोट आई है। घटनास्थल राहत व बचाव कार्य जारी है। हादसे का कारण क्षमता से अधिक सवारियों का होना बताया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में 6 दिन के लॉकडाउन के बाद मजदूरों ने घर वापसी कर दी है। इसी कड़ी में कई मजदूर निजामुद्दीन से मध्य प्रदेश के छतरपुर में आ रहे थे जो बिलौआ थाना क्षेत्र के जौरासी घाटी पर हादसे का शिकार हो गए। हादसे में 2 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। घायलों को ट्रामा सेंटर के लिए रेफर किया गया है।

हाईकोर्ट ने स्टेनोग्राफर भर्ती को वैध करार दिया

बृजेश केसरवानी         
प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने महत्वपूर्ण फैसले में कहा है कि यदि भर्ती परीक्षा में अनियमितता की कोई शिकायत नहीं और भर्ती नियमानुसार हुई है तो कुछ अभ्यर्थियों की टाइप टेस्ट के फान्ट को लेकर की गयी शिकायत पर नये सिरे से टेस्ट लेने का आदेश नहीं दिया जा सकता।  कोर्ट ने प्रदेश की अधीनस्थ अदालतों में लिपिक स्टेनोग्राफर भर्ती 2015 को वैध करार दिया है। 
हाईकोर्ट की खंडपीठ ने द्वितीय व तृतीय चरण की परीक्षा रद्द कर नये सिरे से कराने के एकल पीठ के आदेश को रद्द कर दिया है तथा कहा है कि भर्ती प्रक्रिया नियमावली 2013 के अनुसार पूरी की गयी। उसमें अनियमितता की कोई शिकायत नहीं है और पिछले पांच वर्ष से कार्यरत चयनितों के कार्य के खिलाफ किसी जिले से भी शिकायत नहीं है।
यह आदेश न्यायमूर्ति संजय यादव (अब कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश) तथा न्यायमूर्ति प्रकाश पाडिया की खंडपीठ ने निशांत यादव व 28 अन्य, रूपेश कुमार व 133 अन्य, शिव प्रताप सिंह व 12 अन्य व नीलम सेन व 162 अन्य की विशेष अपीलों को स्वीकार करते हुए दिया है। जिसमें एकलपीठ के नये सिरे से टाइप टेस्ट कराने के आदेश की वैधता को चुनौती दी गयी थी।
मालूम हो कि हाईकोर्ट ने 2014 में अधीनस्थ अदालतों में लिपिक व स्टेनोग्राफर के 2341 पद विज्ञापित किये। 2015 में लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों का टाइप टेस्ट लिया गया। लिखित परीक्षा पर कोई आपत्ति नहीं की। केवल स्टेनोग्राफर के टाइप टेस्ट के फान्ट बदलने पर आपत्ति की गयी। मंगल फान्ट से टेस्ट लिया गया। पांच अभ्यर्थियों ने यह कहते हुए याचिका दायर की कि उन्होंने क्रुति देव फान्ट से तैयारी की थी। अचानक मंगल फान्ट में टेस्ट लेने से  उन्हें तैयारी का पर्याप्त समय नहीं मिला। जिससे प्रतियोगिता में समान अवसर के मूल अधिकारों का हनन हुआ है। याचियों का कहना था कि 2220 लोगों ने टाइप टेस्ट दिया और 2369 लोगों को सफल घोषित किया गया है। शून्य व माइनस अंक पाने वाले भी चयनित हुए हैं। जिसे एकल पीठ ने सही नहीं माना और स्टेज दो व तीन की परीक्षा रद्द कर नये सिरे से परीक्षा कराने का निर्देश दिया। जिसे विशेष अपील में चुनौती दी गयी थी।
अपीलार्थियों का कहना था कि विज्ञापन में ही मंगल फान्ट से टाइप टेस्ट की सूचना थी। सभी ने मंगल फान्ट में टेस्ट दिया है। किसी के साथ भेदभाव नहीं किया गया है। भर्ती नियमावली मे कट आफ मार्क नहीं था। इसलिए लिखित व टाइप टेस्ट की मेरिट से चयन किया जाना नियमानुसार है। चयन में धांधली का आरोप नहीं है। ऐसे में परीक्षा रद्द कर नये सिरे से परीक्षा नहीं ली जा सकती। वे पांच साल से कार्यरत है। कार्य भी संतोषजनक है।
कोर्ट ने कहा कि 2015 के चयन मे 2019 के कट आफ अंक रखने के प्रस्ताव लागू नहीं किये जा सकते। भर्ती में नियमो का उल्लंघन नहीं किया गया है। मंगल फान्ट सभी के लिए था, याची विपक्षियों के सिवाय अन्य किसी ने शिकायत नहीं की है। कुछ की शिकायत पर नियमानुसार किये गये चयन को रद्द नहीं किया जा सकता। एकल पीठ ने भी किस  फान्ट से परीक्षा  ली जाय, चयन कमेटी पर छोड़ दिया है। क्रुति देव फान्ट से टेस्ट लेने का आदेश नहीं है। एकलपीठ ने 2019 के प्रस्ताव को 2015 के चयन में लागू कर गलती की है। चयन नियमानुसार किया गया है। ऐसे में चयन का एक भाग रद्द करना सही नहीं कहा जा सकता।

अजय-काजोल ने जन्मदिन पर बेटी को दी बधाईं

मनोज सिंह ठाकुर                 
मुंबई। बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन और अभिनेत्री काजोल ने अपनी बेटी न्यासा को जन्मदिन पर बधाई दी है। अजय देवगन और काजोल की बेटी न्यासा आज 18 साल की हो गई हैं। अजय और काजोल ने न्यासा के 18 साल पूरे होने पर खास अंदाज़ में उन्हें बधाई दी। अजय ने न्यासा के साथ एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, “हैप्पी बर्थडे, सबसे प्यारी न्यासा! इस तरह के तनावपूर्ण समय में इस तरह की छोटी खुशियाँ ही एकमात्र ‘ब्रेक’ हैं। उन सभी के लिए प्रार्थना, जिन्हें स्वस्थ होने की आवश्यकता है। इसके अलावा काजोल ने न्यासा के 18वें जन्मदिन पर बधाई दी है। उन्होंने न्यासा के बचपन की फोटो शेयर कर जन्मदिन की बधाई दी है। काजोल ने बेटी के जन्म को अपनी सबसे बड़ी परीक्षा बताई। वो हर दिन बेटी से कुछ न कुछ सीखती हैं। काजोल ने बताया कि वह हमेशा बेटी का सपोर्ट सिस्टम बनकर उनके साथ रहेंगी।

रेमडेसिवीर इंजेक्शन की यूपी में किल्लत नहीं होगी

अकांशु उपाध्याय    
लखनऊ। कोविड संक्रमित मरीजों के इलाज में कारगर मानी जा रही रेमडेसिवीर इंजेक्शन की प्रदेश में अब कोई किल्लत नहीं होगी। मुख्यमंत्री योगी खुद आइसोलेशन में रहते हुए ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर की उपलब्धता की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। 
अपर मुख्य सचिव 'सूचना' नवनीत सहगल ने बताया कि मंगलवार की शाम तक जुबिलियंट फार्मा की ओर से करीब 25 हजार वायल की आपूर्ति कर दी जाएगी। यही नहीं, अगले दो से तीन दिनों के भीतर प्रदेश में पौने तीन लाख रेमडेसिवीर की उपलब्धता होनी तय है।
सोमवार को टीम-11 के साथ बैठक करते हुए सीएम योगी ने रेमडेसिवीर और ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा की। बताया गया कि जुबिलियंट फार्मा, कैडिला, माइलिन और सिप्ला जैसी निर्माता कंपनियों को 2,75,000 रेमडेसिवीर की डिमांड भेजी गई है। इसमें सर्वाधिक एक-एक लाख वा वायल की आपूर्ति कैडिला और सिप्ला द्वारा होगी, जबकि माइलिन को 25000 और जुबिलियंट को 50,000 वायल की आपूर्ति करनी है। 
सीएम के आदेश पर अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल दवा निर्माता कम्पनियों से सीधे संपर्क में हैं। उन्होंने बताया कि यह आपूर्ति अगले दो से तीन दिनों के भीतर सुनिश्चित हो जाएगी। सीएम योगी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि इनका वितरण पारदर्शितापूर्ण ढंग से किया जाए। सभी आपूर्तिकर्ताओं से संवाद स्थापित कर प्रदेश की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मांग प्रेषित करें। 

यूपी के जिलों में 2 दिन लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू जारी

हरिओम उपाध्याय             
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब यूपी के सभी जिलों में शनिवार-रविवार लॉकडाउन रहेगा। सिर्फ जरूरी सेवाओं को ही छूट रहेगी। इसके अलावा यूपी के सभी जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। वीकेंड लॉकडाउन के दौरान यूपी में बेवजह बाहर निकलने पर मनाही होगी। वहीं सिर्फ जरूरी क्षेत्र से जुड़े लोगों को बाहर निकलने की छूट दी जाएगी। इसके अलावा कोरोना वैक्सीनेशन, मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों को भी छूट दी जाएगी।

रिटायर्ड जजों को नियुक्त करने की अनुमति: एससी

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने विभिन्न हाईकोर्ट में जजों के खाली पड़े पदों पर रिटायर्ड जजों को तदर्थ रूप से जज नियुक्त करने की अनुमति दे दी है। चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि तदर्थ जजों की नियुक्ति की प्रक्रिया हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस मामलों की लंबित संख्या के आधार पर तय करेंगे। कोर्ट इस मामले पर चार महीने के बाद सुनवाई करेगी।
कोर्ट ने कहा कि अगर खास तरह के मामले काफी ज्यादा लंबित होते हैं तो उनके जल्द निपटारे के लिए तदर्थ जजों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तदर्थ जजों की हाईकोर्ट के प्रशासनिक मामलों में कोई भूमिका नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने ये साफ किया कि तदर्थ जजों की नियुक्ति जजों की नियमित नियुक्ति के विरुद्ध नहीं की जाएगी।

राहुल की रिपोर्ट आईं कोरोना पॉजिटिव, सतर्क रहें

अकांशु उपाध्याय        
नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी कोरोना पॉजिटिव हो गए है। ट्वीट कर उन्होंने जानकारी दी है। राहुल गांधी ने कहा कि हल्के लक्षण दिखने के बाद मैंने कोरोना टेस्ट करवाया, मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हाल में जो भी लोग हमारे संपर्क में आए हैं, वो सभी कोरोना प्रोटोकॉल फॉलो करें और सुरक्षित रहें। 
पूर्व पीएम के स्वास्थ्य पर मंगलवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने ट्वीट किया।  हर्षवर्धन ने लिख  डॉ.मनमोहन सिंह जी का स्वास्थ्य टीम स्थिर है। उनके इलाज में लगी। मेडिकल टीम से उनके स्वास्थ्य के संदर्भ में जानकारी ली। हम सभी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करते हैं। आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में लगातार कोरोना का संक्रमण फैलता जा रहा है। और अब हर दिन रिकॉर्ड मामले दर्ज किए जा रहे है। दिल्ली में बीते दिन भी 23 हजार के करीब कोरोना केस दर्ज किए गए थे। 
दिल्ली में हर दिन हजारों की संख्या में कोरोना के मामले आने की वजह से अस्पतालों में बेड्स की कमी हो रही है, जबकि ऑक्सीजन की भी किल्लत है। अब राज्य सरकार की ओर से तेजी से अस्थाई अस्पताल बनाए जा रहे हैं। और बेड्स की संख्या को बढ़ाया जा रहा है। 
कोरोना वायरस के संकट के कारण ही दिल्ली में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया है। जो 26 अप्रैल की सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा।

दिल्ली पुलिस के फिजिकल टेस्ट 17 मई तक टालें

 अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस में सिपाही भर्ती प्रक्रिया के तहत होने वाले फिजिकल टेस्ट को दिल्ली फिलहाल टाल दिया गया है। राजधानी में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते यह फैसला लिया गया है। 
दिल्ली पुलिस द्वारा अब यह फिजिकल टेस्ट अप्रैल की जगह मई महीने में आयोजित किये जायेंगे। इस बाबत डीसीपी रिक्रूटमेंट की तरफ से सर्कुलर जारी किया गया है। 
जानकारी के अनुसार, वर्ष 2020 में दिल्ली पुलिस सिपाही की भर्ती निकाली गई थी। एसएससी द्वारा बीते नवंबर माह में 5800 पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी। इसका परिणाम भी घोषित किया जा चुका है। इसमें पास होने वाले परीक्षार्थियों को अब फिजिकल टेस्ट देना होगा और इसके बाद उनका मेडिकल टेस्ट होगा। इन दोनों टेस्ट को पास करने वालों को मेरिट के आधार पर दिल्ली पुलिस सिपाही के पद पर चयनित किया जाएगा।
17 मई से होंगे फिजिकल टेस्ट
रिक्रूटमेंट डीसीपी श्वेता चौहान की तरफ से जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि बीते मार्च महीने में दिल्ली पुलिस की तरफ से एक सर्कुलर निकाला गया था। इस सर्कुलर में सिपाही भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट 27 अप्रैल से आयोजित करने की बात कही गई थी। इसमें पुरुष और महिला दोनों कैंडिडेट शामिल थे। 27 अप्रैल से यह फिजिकल टेस्ट झरोदा कलां स्थित पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में आयोजित होने थे। लेकिन कोरोना संक्रमण के इस माहौल में फिजिकल टेस्ट करना मुश्किल है। इसलिए फिलहाल इसे टाल दिया गया है। दिल्ली पुलिस द्वारा अब 17 मई से यह फिजिकल टेस्ट आयोजित किए जाएंगे।

लॉकडाउन लगाने के फैसले पर एससी ने लगाईं रोक

 अकांशु उपाध्याय      
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना संक्रमण के फैलाव के चलते उत्तर प्रदेश के पांच जिलों में पूरी तरह से लॉकडाउन लगाने के इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है।
आज सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने राज्य सरकार की तरफ से चीफ जस्टिस एसए बोब्डे की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष इस मामले को मेंशन किया था। तुषार मेहता ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसला कार्यपालिका के अधिकार में दखल है। राज्य सरकार पहले ही अपनी तरफ से ज़रूरी कदम उठा रही है।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पिछले 19 अप्रैल को हाईकोर्ट को आदेश दिया था कि प्रदेश के पांच शहरों लखनऊ, प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी और कानपुर में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि कोरोना की भयावह स्थिति को देखते हुए इन शहरों में लॉकडाउन लगाना जरूरी है। हाईकोर्ट के इसी आदेश को प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

18 जून को साउथम्पटन में शुरू होगा डब्ल्यूटीसी

आबुधाबी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने आश्वस्त किया है कि ब्रिटेन द्वारा भारत को ‘लाल सूची’ में डालने के बावजूद भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 18 जून को साउथम्पटन में शुरू होगा। भारत को ‘लाल सूची’ में डालने का मतलब है कि देश से सभी यात्राओं पर पाबंदी लग गयी है। ब्रिटेन के नागरिकों को भी स्वदेश लौटने पर 10 दिन होटल में पृथकवास पर रहना होगा। ब्रिटेन ने यह कदम भारत में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी के कारण उठाया है।  आईसीसी को हालांकि विश्वास है कि वह जैव सुरक्षित वातावरण में डब्ल्यूटीसी फाइनल का आयोजन करने में सफल रहेगा। आईसीसी ने सोमवार की रात जारी बयान में कहा, ‘ईसीबी (इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड) और अन्य सदस्यों ने दिखाया है कि हम महामारी के बीच कैसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का आयोजन कर सकते हैं और हमें विश्वास है कि हम आगे भी ऐसा करना जारी रख सकते हैं तथा डब्ल्यूटीसी फाइनल पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ब्रिटेन में जून में आयोजित किया जाएगा।  इसमें कहा गया है, ‘हम अभी ब्रिटिश सरकार से ‘लाल सूची’ में डाले गये देशों पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर चर्चा कर रहे हैं। ‘ इस बीच भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) सूत्रों बताया कि अभी इस बारे में कुछ भी कहना असंभव है और बोर्ड को उम्मीद है जब टीम डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिये जून के शुरू में ब्रिटेन की यात्रा करेगी तब तक भारत ‘लाल सूची’ में नहीं रहेगा। सूत्रों ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘हम अभी नहीं जानते कि जून में स्थिति कैसी होगी। यात्रा संबंधी दिशानिर्देश कोविड की स्थिति के अनुसार बदलते रहते हैं।
 भारतीय टीम जून में शुरू में जब ब्रिटेन के लिये रवाना होगी हो सकता है ​कि तब तक देश लाल सूची में नहीं रहे जिसमें 10 दिन के कड़े पृथकवास का प्रावधान है।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन यदि इसकी आवश्यकता पड़ती है तो ऐसा किया जाएगा। वर्तमान की स्थिति में कुछ नहीं कहा जा सकता है। ब्रि​टेन में मीडिया रिपोर्टों के अनुसार यदि इसकी जरूरत पड़ती है तो साउथम्पटन में रोज बाउल और उससे जुड़े होटल को ‘लाल सूची’ के देशों से आगमन के लिये मंजूरी मिल सकती है तथा वहां पिछले सत्र की तरह पूर्ण जैव सुरक्षित वातावरण तैयार किया जाएगा।

जिला स्तर पर ‘हेल्प डेस्क’ शुरु करेगी भाजपा

हरिओम उपाध्याय        
लखनऊ। कोरोना से प्रभावित आमजन को चिकित्सीय व अन्य सहायता मुहैया कराने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर ‘हेल्प डेस्क’ शुरु करेगी। प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला प्रदेश स्तर पर हेल्प डेस्क के समन्वय का कार्य करेंगे।
हेल्प डेस्क में जिलाध्यक्ष, चिकित्सा प्रकोष्ठ का एक पदाधिकारी व एक अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी सम्लित रहेगा, जो स्थानीय प्रशासन, जनप्रतिनिधियों व मंत्री से समन्वय स्थापित कर आमजन की सहायता करेंगे।
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे कोरोना संक्रमण की चपेट में आये मरीजों के उपचार व अन्य चिकित्सीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए कार्य करें। साथ ही 'अपना बूथ कोरोना मुक्त' कैसे हो, इसके लिए भी योजना पूर्वक कार्य करें।
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी  राधा मोहन सिंह की मौजूदगी में सोमवार को पार्टी के सांसदों-विधायकों और जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारियों की वर्चुअल माध्यम से अलग-अलग हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। 

विश्व में संक्रमितों की संख्या-14,20,97,803 हुई

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। दुनिया में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी ने विकराल रूप ले लिया है और हालात लगातार बिगडते जा रहे हैं। दुनियाभर में अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 14.20 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं। जबकि 30.29 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आँकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14,20,97,803 तक पहुंच गयी है।जबकि अभी तक इस संक्रमण से 30,29,811 लोगों की मौत हो चुकी है। वैश्विक महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर थमने को नाम नहीं ले रहा है तथा यहां संक्रमितों की संख्या तीन करोड़ 17 लाख 37 हजार के पार हो गई है। जबकि पांच लाख 67 हजार 690 मरीजों की इस महामारी से मौत हो चुकी है। दुनिया में कोरोना संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे स्थान पर और मृतकों के मामले में चौथे स्थान पर है। यहां संक्रमितों की कुल संख्या 1,53,21,089 तक पहुंच गयी है। इस महामारी के संक्रमण से अभी तक 1,80,530 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है। देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और अभी तक इससे 1,39,73,695 लोग प्रभावित हुए हैं जबकि इसके संक्रमण से 3,74,682 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील कोरोना की मौत के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है। संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है जहां कोरोना वायरस से अब तक 53.57 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 1,01,339 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके बाद रूस में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 46.57 लाख के पार पहुंच गयी है और 1,04,173 लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस प्रभावितों की कुल संख्या 44.06 लाख से अधिक हो गयी है और 1,27,524 लोगों की मौत हो चुकी है।
मृतकों के मामले में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है। तुर्की में कोरोना वायरस से अब तक 43.23 लाख अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 36,267 लाेगों ने जान गंवाई है। इटली में संक्रमितों की संख्या करीब 38.79 लाख हो गई है और 1,17,243 लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों के मामले में इटली छठे स्थान पर है। स्पेन में इस महामारी से अब तक 34.28 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 77,102 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना संक्रमित के मामले में जर्मनी दसवें स्थान पर है और यहां इस वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 31.67 लाख हो गई है और 80,353 लोगों की मौत हो चुकी है।
अर्जेंटीना में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 27.14 लाख के पार पहुंच गयी है और इस वायरस के संक्रमण से 59,476 लोगों को जान से हाथ धोना पड़ा है। पोलैंड में कोरोना वायरस से करीब 26.95 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और इस महामारी से 62,133 लोग जान गंवा चुके हैं। कोलंबिया में कोरोना वायरस से अब तक करीब 26.67 लाख लोग प्रभावित हुए हैं और 68,748 लोगों ने जान गंवाई है। मेक्सिको में कोरोना वायरस से करीब 23.06 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और कोरोना मृतकों के मामले मेक्सिको तीसरे स्थान पर है जहां अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 2,12,466 लोगों की मौत हो चुकी है।

या देवी सर्वभूतेषु सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता: नवरात्रि

माँ दुर्गाजी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं। ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्र-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है। इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है। सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है। ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है।

मार्कंडेय के अनुसार अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, ईशित्व और वशित्व- ये आठ सिद्धियाँ होती हैं। ब्रह्मावैवर्त पुराण के श्रीकृष्ण जन्म खंड में यह संख्या अठारह बताई गई है। इनके नाम इस प्रकार हैं- माँ सिद्धिदात्री भक्तों और साधकों को ये सभी सिद्धियाँ प्रदान करने में समर्थ हैं। देवीपुराण के अनुसार भगवान शिव ने इनकी कृपा से ही इन सिद्धियों को प्राप्त किया था। इनकी अनुकम्पा से ही भगवान शिव का आधा शरीर देवी का हुआ था। इसी कारण वे लोक में 'अर्द्धनारीश्वर' नाम से प्रसिद्ध हुए। माँ सिद्धिदात्री चार भुजाओं वाली हैं। इनका वाहन सिंह है। ये कमल पुष्प पर भी आसीन होती हैं। इनकी दाहिनी तरफ के नीचे वाले हाथ में कमलपुष्प है। प्रत्येक मनुष्य का यह कर्तव्य है कि वह माँ सिद्धिदात्री की कृपा प्राप्त करने का निरंतर प्रयत्न करे। उनकी आराधना की ओर अग्रसर हो। इनकी कृपा से अनंत दुख रूप संसार से निर्लिप्त रहकर सारे सुखों का भोग करता हुआ वह मोक्ष को प्राप्त कर सकता है।

नवदुर्गाओं में

नवदुर्गाओं में माँ सिद्धिदात्री अंतिम हैं। अन्य आठ दुर्गाओं की पूजा उपासना शास्त्रीय विधि-विधान के अनुसार करते हुए भक्त दुर्गा पूजा के नौवें दिन इनकी उपासना में प्रवत्त होते हैं। इन सिद्धिदात्री माँ की उपासना पूर्ण कर लेने के बाद भक्तों और साधकों की लौकिक, पारलौकिक सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति हो जाती है। सिद्धिदात्री माँ के कृपापात्र भक्त के भीतर कोई ऐसी कामना शेष बचती ही नहीं है, जिसे वह पूर्ण करना चाहे। वह सभी सांसारिक इच्छाओं, आवश्यकताओं और स्पृहाओं से ऊपर उठकर मानसिक रूप से माँ भगवती के दिव्य लोकों में विचरण करता हुआ उनके कृपा-रस-पीयूष का निरंतर पान करता हुआ, विषय-भोग-शून्य हो जाता है। माँ भगवती का परम सान्निध्य ही उसका सर्वस्व हो जाता है। इस परम पद को पाने के बाद उसे अन्य किसी भी वस्तु की आवश्यकता नहीं रह जाती। माँ के चरणों का यह सान्निध्य प्राप्त करने के लिए भक्त को निरंतर नियमनिष्ठ रहकर उनकी उपासना करने का नियम कहा गया है। ऐसा माना गया है कि माँ भगवती का स्मरण, ध्यान, पूजन, हमें इस संसार की असारता का बोध कराते हुए वास्तविक परम शांतिदायक अमृत पद की ओर ले जाने वाला है। विश्वास किया जाता है कि इनकी आराधना से भक्त को अणिमा, लधिमा, प्राप्ति, प्राकाम्य, महिमा, ईशित्व, सर्वकामावसायिता, दूर श्रवण, परकामा प्रवेश, वाकसिद्ध, अमरत्व भावना सिद्धि आदि समस्त सिद्धियों नव निधियों की प्राप्ति होती है। ऐसा कहा गया है कि यदि कोई इतना कठिन तप न कर सके तो अपनी शक्तिनुसार जप, तप, पूजा-अर्चना कर माँ की कृपा का पात्र बन सकता ही है। माँ की आराधना के लिए इस श्लोक का प्रयोग होता है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में नवमी के दिन इसका जाप करने का नियम है।

स्तुति

या देवी सर्वभूतेषु मां सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।

अर्थ

हे माँ! सर्वत्र विराजमान और माँ सिद्धिदात्री के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे अपनी कृपा का पात्र बनाओ।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण   
1. अंक-247 (साल-02)
2. बुधवार, अप्रैल 21, 2021
3. शक-1984,चैत्र, कृष्ण-पक्ष, तिथि- नवमी, विक्रमी सवंत-2078। आठवां रोजा, सहरी 04:37, इफ्तार 06:45। 08 रमजान, हिजरी 1442।
4. सूर्योदय प्रातः 06:20, सूर्यास्त 06:50।
5. न्‍यूनतम तापमान -14 डी.सै., अधिकतम-38+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

संजय को कार्यवाही संस्थित कर निलंबित किया

हरिओम उपाध्याय              लखनऊ। आबकारी संजय आर. भूसरेड्डी ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर द...