छत्तीसगढ़ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
छत्तीसगढ़ लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, 5 अगस्त 2021

छत्तीसगढ़: 20 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की

दुष्यंत टीकम              
रायपुर। प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के रायपुर ग्रामीण जिलाध्यक्ष नरोत्तम धृतलहरे ने बताया कि सतनाम धर्मशाला मड़वा गिरौदपुरी में विभिन्न विकास कार्यो के लिए भुवनेश्वर बघेल अध्यक्ष अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण छग द्वारा एवं चन्द्रदेव राय विधायक बिलाईगढ एवं संसदीय सचिव छग शासन के अनुशंसा पर 20 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की गई है। अध्यक्ष भूनेश्वर बघेल एवं चन्द्रदेव राय विधायक बिलाईगढ को इस पुनीत विकास कार्य के लिए 20 लाख की स्वीकृति प्रदान करने के लिए प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के पदाधिकारी प्रदेश अध्यक्ष एल.एल. कोशले, संघर्ष समिति सदस्य अश्वनी बबलू त्रिवेंद्र, कार्यकारिणी सदस्य युवा प्रकोष्ठ हेमंत बंजारे, कृष्णा कोशले, पप्पू बंजारे, द्वारा रायपुर सर्किट हाउस पहुंच कर भुनेश्वर बघेल को धन्यवाद सहित आभार व्यक्त किया है।

बुधवार, 4 अगस्त 2021

कृषि कानून: आंदोलन कर रहें वो किसान नकली हैं

दुष्यंत टीकम            
रायपुर। राज्यसभा सांसद सरोज पांडे कहती है कि पिछले कई महिनों से दिल्ली में किसान केन्द्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे वो किसान नकली है। इस बयान पर कटाक्ष करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वंदना राजपूत ने कहा कि किसान यदि मोदी का गुणगान करते तो असली, तीन काले कानून का विरोध कर रहे है, तो नकली इनके सोच पर तरस आता है। भारतीय जनता पार्टी के विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेख किसानों को मवाली कहती है, कि इधर सरोज पांडे किसानों को नकली बोल कर देश के अन्नदाताओं का अपमान पे अपमान कर रहे है। किसान भाई बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने अधिकार के लिए तीन काले कृषि कानून का विरोध पिछले कई महीनों से कर रहे है। जिसमें लगभग 300 किसान भाईयों ने जान गंवाई है। जिसमें महिलाएं भी शामिल है। अपने पूरे परिवार के साथ आंदोलन कर रहे है। किसान परिवार जिसमें छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल है, इसे नकली बता रहे है। जमीर को जिंदा रखो कितना नीचे गिरोगे किसानों से सरोज पांडे को माफी मांगना चाहिए।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता वंदना राजपूत ने कहा कि लगभग 70 प्रतिशत भारतीय लोग किसान है और अन्नदाताओं के आर्शीवाद से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद पर काबिज हुआ। पीएम मोदी ने वादा किया था देश का प्रधानमंत्री बनने के बाद वे अच्छे दिन आएंगे, किसानों की दुगुनी आय करेंगे और महंगाई कम करेंगे। बावजूद इसके आज 7 साल बाद साजिशन किसानों के खिलाफ तीन काले कानून बनाकर सरकार उन्हें बर्बादी की ओर धकेलने का काम कर रही है। 
सरकार 28 संशोधन की बात कर उन्हें बरगलाने में लगी है। कोरोना काल में जिस अन्नदाता की कृपा से देश जीवित रहा। आज सरकार ने उन्हें ही सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया है। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के नेता कोई किसानो को नकली बता रहे है तो कोई खालिस्तानी तो कोई मवाली इस प्रकार अन्नदाताओं का अपमान पे अपमान कर रहे है। अभी सत्ता के नशे में चूर हो और देखना इस घमंड को किसान भाई ही तोड़ेगें।

दुर्गेश साहू को ₹5 हजार के अर्थदण्ड से दण्डित किया

राणा ओबराय                      
मुंगेली। दुर्गेश साहू को धारा 366, 376 (2), 506/2 भादवि के आरोप में क्रमशरू पांच-दस-दो वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2000-2000-1000 रूपए कुल 5 हजार रूपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। आरोपियां को धारा 366,376(2),109,372,506 एवं धारा 4,6 पास्को एक्ट भादवि के आरोप में क्रमशरू पांच-दस-दो वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2000-2000-1000 रूपए कुल 5 हजार रूपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया।
विशेष लोक अभियोजक गिरिराज शर्मा ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि थाना सिटी कोतवाली मुंगेली के अंतर्गत शहर से लगे ग्राम
में वर्ष 2017 को नाबालिग के पिता कमाने खाने लखनऊ गये थे।
नाबालिग पीड़िता अपने मां के साथ रहती थी। आरोपी दुर्गेश साहू का। प्रतिदिन उसके घर आना-जाना था मार्च 2017 को रात्रि में आरोपी आया।
और पीड़िता को जबरदस्ती उठाकर कमरे में ले गया। पीड़िता जब इधर-उधर भागने की कोशिश करने लगी तो उसकी मां आरोपियां ने आरोपी एवं पीड़िता को कमरे में बंद कर दिया। तब आरोपी ने पीड़िता के साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया। आरोपी ने आरोपियां को दरवाजा खोलने के लिए बोला तो आरोपियां ने दरवाजा खोल दी। उसके बाद आरोपी दुर्गेश साहू ने आरोपियां को पैसा देकर चला गया। पीड़िता द्वारा घटना की संपूर्ण जानकारी अपने पिता के लखनऊ से वापस आने के बाद अपने पिता को दी। पीड़िता द्वारा थाना सिटी कोतवाली मुंगेली में दुर्गेश साहू एवं आरोपियां अपनी मां के विरूद्ध धारा 366 (क), 376,109, 372 एवं 506 भादवि एवं धारा 4, 6 पास्को एक्ट के तहत अपराध क्रमांक 504ध,17 प्रथम सूचना पत्र दर्ज कर विवेचना की गई। आरोपीगण के विरूद्ध विशेष न्यायालय पास्को न्यायधीश पीएस मरकाम के न्यायालय में आरोपीगण के विरूद्ध अभियोग पत्र प्रस्तुत किया गया। न्यायालय में सुनवाई पश्चात आरोपीगण को दोष सिद्ध होने पर आरोपी दुर्गेश साहू को धारा 366, 376 (2), 506/2 भादवि के आरोप में क्रमश पांच-दस-दो वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2000-2000-1000 रूपए कुल 5000रूपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया एवं आरोपियां को धारा 366, 376,109, 506,2 भादवि के आरोप में क्रमशरू पांच-दस-दो वर्ष के सश्रम कारावास एवं 2000-2000-1000 रूपए कुल 5000 रूपएके अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। अर्थदण्ड की राशि नही पटाये जाने पर आरोपीगण को क्रमश 2-2-1 माह का साधारण कारावास की सजा भुगतनी होगी। उक्त मामले में विशेष लोक अभियोजक (पास्को) गिरिराज शर्मा ने पैरवी की।

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

मंडलों में हुई नियुक्तियों को लेकर विवाद शुरू हुआ

दुष्यंत टीकम                           
रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से हाल ही में आयोग, निगम और मंडलों में हुई नियुक्तियों को लेकर विवाद शुरू हो गया है। इन नियुक्तियों को नियम विरुद्ध बताते हुए हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। जनहित याचिका में कहा गया है कि इनके अध्यक्ष पदों पर मनमर्जी से सिर्फ राजनीतिक व्यक्तियों को बैठाया गया है। याचिका पर आने वाले दिनों में जल्द सुनवाई हो सकती है।
अभिषेक चौबे ने एडवोकेट योगेश्वर शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में जनहित दायर की है। इसमें बताया गया है कि छत्तीसगढ़ शासन ने विभिन्न संवैधानिक आयोग जैसे बाल अधिकार संरक्षण आयोग, अनुसूचित जनजाति आयोग आदि में अध्यक्ष पद पर पिछले दिनों नियुक्ति की गई थी। नियुक्त लोगों के चयन में कोई पारदर्शिता नहीं बरती गई और न ही विज्ञापन के जरिए भर्ती हुई है।
याचिकाकर्ता ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि बाल अधिकारों के संरक्षण में कार्य किए हुए व्यक्ति और अनुसूचित जनजाति के मामलों की जानकारी रखने वाले व्यक्ति का चयन इन पदों पर करना था। चेयरमैन की नियुक्ति चयन समिति द्वारा होनी थी। उसके विपरीत छत्तीसगढ़ शासन ने ही सारी नियुक्तियों की जानकारी मात्र प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी। जबकि सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे पदों पर नियुक्ति के लिए चयन प्रक्रिया को वेबसाइट पर सार्वजनिक करने को कहा था।

सोमवार, 2 अगस्त 2021

प्रफुल्ल को 'रसायन विज्ञान का जनक' माना जाता है

दुष्यंत टीकम                          
रायपुर। प्रफुल्ल चंद्र राय का जन्म 2 अगस्त 1861 को पूर्वी बंगाल के खुलना जिले के राढुली गाँव में हुआ था। प्रफुल्ल चंद्र राय को 'रसायन विज्ञान का जनक' माना जाता है। प्रफुल्ल चंद्र राय को जुलाई 1889 में प्रेसिडेंसी कॉलेज में 250 रुपए मासिक वेतन पर रसायनविज्ञान के सहायक प्रोफेसर के पद पर नियुक्त किया गया। यहीं से उनके जीवन का एक नया अध्याय शुरू हुआ। 1911 में वे प्रोफेसर बने। 
उसी वर्ष ब्रिटिश सरकार ने उन्हें ‘नाइट’ की उपाधि से सम्मानित किया। 1916 में वे प्रेसिडेंसी कॉलेज से रसायन विज्ञान के विभागाध्यक्ष के पद से सेवानिवृत्त हुए। फिर 1916 से 1936 तक उसी जगह एमेरिटस प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत रहे। 1933 में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्थापक पण्डित मदन मोहन मालवीय ने आचार्य प्रफुल्ल चंद्र राय को डी.एस-सी की मानद उपाधि से विभूषित किया। वे देश विदेश के अनेक विज्ञान संगठनों के सदस्य रहे।

छत्तीसगढ़ में संक्रमण का खतरा एक बार फिर बढ़ा

दुष्यंत टीकम                           
रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर बढ़ गया है। रविवार को प्रदेश में 214 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इनमें से आधे से अधिक मरीज दुर्ग, रायपुर और बिलासपुर जिलों में ही मिले हैं। शनिवार को प्रदेश में नए मरीजों की संख्या केवल 102 थी। एक दिन के अंतराल पर यह अंतर से दोगुने से अधिक हो चुका है। संक्रमण के इन आंकड़ों ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। अधिकारियों ने कहा, अगर संक्रमण के यह आंकड़े एक-दो दिन स्थित रह गए तो गंभीर खतरे की बात हो सकती है।
स्वास्थ्य विभाग की ओर से देर रात जारी आंकड़ों के मुताबिक रविवार को कोरोना के 22,412 नमूनों की जांच हुई। इस बीच 214 लोगों में संक्रमण की पुष्ट हुई है। दुर्ग जिले में सबसे अधिक 70 मरीज मिले हैं। रायपुर में 39, बिलासपुर में 19, जांजगीर-चांपा में 12, रायगढ़ में 9 और कांकेर के 8 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। रविवार को आए आंकड़े पिछले एक सप्ताह के दौरान एक दिन में मरीजों की सर्वाधिक संख्या है। इससे पहले 22 जुलाई को 217 नए मरीज मिले थे। इसके बाद संक्रमण दर बढ़कर 0.9 प्रतिशत हो गई है। शनिवार को यह 0.2 प्रतिशत तक घट गई थी।
कोरोना की दूसरी लहर में भी दुर्ग जिला हॉट स्पॉट बना हुआ था। अब एक बार फिर जिले में तेजी से संक्रमण बढ़ने लगा है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि यह 4 दिन की पेंडिंग रिपोर्ट के कारण हुआ है। इसमें 29, 30 व 31 जुलाई और 1 अगस्त की रिपोर्ट शामिल है। आरटीपीसीआर रिपोर्ट देरी से जारी हुई है। इसलिए आंकड़ा अधिक दिख रहा है। जिले में अभी एक्टिव केस बढ़कर 148 हो गए हैं। वहीं तीन दिन से वैक्सीनेशन भी बंद है। इसके कारण चिंता और भी बढ़ गई है।
रायपुर के इन क्षेत्रों में मिले मरीज खम्हारडीह, संतोषी नगर, कटोरा तालाब, शिवानंद नगर सेक्टर-2, अग्रोहा कॉलोनी, धरमपुरा, आईआईआईटी, नवा रायपुर परिसर, सीआरपीएफ पुलिस लाइन, सीएएफ माना, जागृति नगर, काठाडीह, काली नगर पंडरी, नयापारा, श्याम प्लाजा के पीछे, मोवा, टाटीबंध, शंकर नगर, देवेंद्र नगर, टैगोर नगर, अवंति विहार, ओल्ड राजेंद्र नगर, ब्रह्मपुरी, सुंदरनगर, बिरगांव, कचना, आमासिवनी, तेलीबांधा और ऐश्वर्या किंगडम कचना।
बीते 24 घंटों में एक मरीज की मौत हुई इन आंकड़ों के बीच संतोषजनक यह है कि शनिवार रात से रविवार रात 8 बजे तक प्रदेश में केवल एक कोरोना मरीज की मौत दर्ज हुई है। यह रायगढ़ जिले का मामला है। इसको मिलाकर प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हजार 525 हो गई है। पिछले एक सप्ताह में 11 लोगों की मौत हो चुकी है।
अब 1919 एक्टिव केस कोरोना संक्रमण शुरू होने से अब तक प्रदेश के 10 लाख 2 हजार 222 लोग महामारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 9 लाख 86 हजार 778 लोग ठीक हो चुके हैं। 157 लोगों को कल ही डिस्चार्ज किया गया। प्रदेश में अब एक्टिव मरीजों की संख्या 1 हजार 919 हो गई है। एक दिन पहले तक यह संख्या घटकर 1 हजार 863 रह गई थी।

शनिवार, 31 जुलाई 2021

छत्तीसगढ़ में मौसम विभाग ने हाईअलर्ट जारी किया

दुष्यंत टीकम       

रायपुर। अगले 4 घंटे प्रदेश में मौसम विभाग ने हाई अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक प्रदेश के इन जिलों में बाढ़ जैसे हालात भी बन सकते है। मौसम विभाग ने कहा कि सरगुजा संभाग में पूर्व में ही अच्छी बारिश हो चुकी है। आज भारी बारिश की वजह से बलरामपुर, जशपुर, कोरिया में बाढ जैसे हालात बनने की सम्भावना है।

मौसम विभाग के मुताबिक एक चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र झारखण्ड और उससे लगे गंगेटिक पश्चिम बंगाल के ऊपर स्थित है। इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रवात घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसके पश्चिम उत्तर पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की प्रबल संभावना है। एक निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिणी मध्य उत्तर प्रदेश के ऊपर स्थित है। इसके साथ चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। मानसून द्रोणिका गंगानगर, नरनौल, उत्तर प्रदेश में स्थित निम्न दाब के केंद्र, गया, चिन्हित निम्न दाब के केंद्र और उसके बाद दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर बंगाल की खाड़ी तक स्थित हैं।

रविवार, 25 जुलाई 2021

7 दिवंगत पूर्व विधायकों को श्रद्धांजलि दी जायेगी

दुष्यंत टिकम          
रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में कल से शुरू हो रहा है। विधानसभा में कल सात दिवंगत पूर्व विधायक व सांसदों को श्रद्धांजलि दी जायेगी। इनमें से कईयों का निधन कोरोना की वजह से हुआ है। कल जिन जनप्रतिनिधियों को श्रद्धांजलि दी जायेगी, उनमें गुलाब सिंह, सोमप्रकाश गिरि, बालाराम वर्मा, करूणा शुक्ला, बद्रीधर दीवान, शक्राजीत नायक और रामाधार कश्यप हैं। हालांकि परंपरा दिवंगतों को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन स्थगित करने की रही है, लेकिन कल विधानसभा की कार्यसूची में कई विधायी कार्य भी दर्ज कराये गये हैं।

शासन जमीन पर अवैध कब्जा, महिला ने फिनाइल पिया

दुष्यंत टिकम                  
कोरबा। छत्तीसगढ़ जिले में जमीन विवाद के कारण एक महिला ने फिनाइल पी लिया। घटना मानिकपुर चौकी क्षेत्र के डिपरापारा-मानिकपुर की है। फिनाइल पीने से महिला की हालत बिगड़ गई और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
मिली जानकारी के मुताबिक मानिकपुर चौकी प्रभारी अशोक पांडेय ने बताया कि वहां रहने वाली महिला दसमत भारद्वाज 34 पति जोगिंदर भारद्वाज शासकीय जमीन पर बेजा कब्जा कर मकान निवासरत है। उसके घर मनीराम सोनवानी समेत कुछ अन्य लोग पहुंचे थे। इन्होंने जमीन पर अपना कब्जा बताते हुए महिला की बाड़ी तोड़कर घर में घुसकर गाली-गलौज की। इसके बाद महिला ने फिनाइल पी लिया। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की विवेचना की जा रही है।

शनिवार, 24 जुलाई 2021

12वीं बोर्ड के नतीजे जारी करने का ऐलान किया

दुष्यंत टीकम                 
 रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने आज 12वीं बोर्ड के नतीजे जारी करने का ऐलान कर दिया है। माशिमं ने बताया कि परीक्षा परिणाम 25 जुलाई को घोषित किया जाएगा। दोपहर करीब 12 बजे रिजल्ट जारी होगा।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऑनलाइन 12वीं बोर्ड के नतीजे जारी किए जाएंगे। परीक्षार्थी पर देख सकते हैं। बता दें कि इस बार ओपन बुक पैटर्न पर 12वीं बोर्ड की परीक्षा आयोजित की गई थी।

शुक्रवार, 23 जुलाई 2021

भारतीय मजदूर संघ के स्थापना दिवस की बधाई दी

दुष्यंत टीकम             
रायपुर। भारतीय मजदूर संघ छत्तीसगढ़ के प्रदेश महामंत्री नरोत्तम धृतलहरे ने प्रदेश के समस्त श्रमिकों व प्रदेशवासियों को भारतीय मजदूर संघ के 66वां स्थापना दिवस की बधाई दी है। उन्होंने बताया कि भारत के सबसे बड़े केंद्रीय श्रमिक संघठन भारतीय मजदूरों संघ की 66वां स्थापना दिवस पूरे प्रदेश में सभी संघो एवं महासंघों व उद्योगों में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। श्री धृतलहरे ने आगे कहा कि भारतीय मजदूर संघ की स्थापना भोपाल में महान विचारक स्व. दत्तोपन्त ठेंगड़ी द्वारा प्रख्यात स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के जन्मदिवस 23 जुलाई 1955 को हुई थी।
भारतीय मजदूर संघ राष्ट्रवादी श्रम आन्दोलन का अग्रणी संगठन है। भारतीय मजदूर संघ पूरे भारत में श्रमिकों की आवाज़ बनकर उभरा है। भारतीय मजदूर संघ के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने समय-समय पर विपदा के समय में बढ़-चढ़कर कर अपनी दायित्वों का निर्वहन किया है। स्थापना के समय से ही भारतीय मजदूर संघ ने देशहित, उधोग हित व श्रमिकों के हित में कार्य करना प्रारम्भ कर दिया था। जो आज भारत का सबसे बड़ा स्वतंत्र केंद्रीय श्रमिक संगठन बना है।

सीजी: हथिनी के बच्चे का वन विभाग ने रेस्क्यू किया

दुष्यंत टीकम                 
जशपुर। दलदल भरे कुएं में फंसी हथिनी और उसके बच्चे का वन विभाग ने सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया है। करीब 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद वन विभाग ने जेसीबी की सहायता से हथिनी और शावक दोनों को सुरक्षित निकाल लिया। घटना जशपुर के रेंगारघाट स्थित बिलासपुर गांव का है। जहां दुमरडांड बस्ती में बने पुराने कुएं में देर रात करीब 1 बजे हथिनी अपने शावक के साथ गिर गया था।
ग्रामीणों के मुताबिक कुनकुरी वन रेंज के दुमरडांट बस्तर में देर रात हाथियों का दल घूम रहा था, इसी दौरान एक बड़े गड्ढेनुमा कुएं में एक हथिनी और उसका बच्चा गिर गया। हाथी के गिरते ही हाथियों का दल चिघाड़ने लगा। आधी रात को हाथियों के इस चिघाड़ को सुनकर ग्रामीण सहम गये थे।

बुधवार, 21 जुलाई 2021

प्रदेशवासियों को ईद-उल-अजहा पर्व की बधाई दी

दुष्यंत टीकम                  
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को ईद-उल-अजहा पर्व की बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि यह पर्व ईश्वर के प्रति समर्पण एवं त्याग का प्रतीक है। इससे ईश्वर के प्रति प्रेम और समाज में भाईचारा एवं एकजुटता की भावना बढ़ती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों से परस्पर सद्भाव, एकता व भाईचारे की गौरवशाली परंपरा के अनुसार पर्व मनाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि पर्व मनाते समय कोरोना गाइडलाइन का पालन करना भी जरूरी है।

छत्तीसगढ़ में जून से अब तक 409.7 मिमी वर्षा दर्ज

दुष्यंत टीकम                
रायपुर। राज्य भर में जून महीने से अब तक 409.7 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। कंट्रोल रूम के मुताबिक 1 जून से अब तक तक राज्य में 409.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में जून से आज तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सुकमा जिले में सर्वाधिक 777.1 मिमी और 307.6 राजनांदगांव जिले में सबसे कम 301.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। 
राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 316.7 मिमी, सूरजपुर में 437.3 मिमी, बलरामपुर में 384.9 मिमी, जशपुर में 399.5 मिमी, कोरिया में 358.5 मिमी, रायपुर में 376.6 मिमी, बलौदाबाजार में 467.0 मिमी, गरियाबंद में 411.5 मिमी, महासमुंद में 350.9 मिमी, धमतरी में 390.7 मिमी, बिलासपुर में 413.5 मिमी, मुंगेली में 307.6 मिमी, रायगढ़ में 335.4 मिमी, जांजगीर चांपा में 412.3 मिमी, कोरबा में 612.3 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 384.6 मिमी, दुर्ग में 402.4 मिमी, कबीरधाम में 341.2 मिमी, कबीरधाम में 341.2 मिमी, बालोद में 323.6 मिमी, बेमेतरा में 503.6 मिमी, बस्तर 357.0 मिमी, कोण्डागांव में 414.1 मिमी, कांकेर में 365.4 मिमी, नारायणपुर में 484.3 मिमी, दंतेवाड़ा में 376.5 और बीजापुर में 466.1 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।

मंगलवार, 20 जुलाई 2021

कांग्रेसी नेता कर रहे हैं सत्ता का दुरुपयोग: छत्तीसगढ़

दुष्यंत सिंह टीकम         
रायपुर। जब से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनी है। तब से कांग्रेसी नेता कर रहे हैं सत्ता का दुरुपयोग। छोटे कार्यकर्ता भी अपने आप को इतना महान बताते हैं और हर जगह पर जा जाकर अवैध वसूली करते हैं। कुछ दिन पहले ही एक मामला आया था कि कांग्रेस की महिला सचिव उषा श्रीवास शीत श्रीवास के साथ मिलकर कंटिन्यू कर रही थी अवैध वसूली। गाड़ी पर महिला प्रदेश सचिव का बोर्ड लगा कर दे रही थी। लोगों को धमकी कई बार उषा श्रीवास ने लोगों को झूठे केस में फंसाने के आरोप तक लगा डाले थे। जब यह बात की जानकारी समाजसेवी अन्नू सिंह को हुई उन्होंने तुरंत ही इस को संज्ञान में लेते हुए बात की कांग्रेस महिला उपाध्यक्ष उषा रंजन श्रीवास्तव से तब उन्होंने जानकारी दी कि उन्होंने उनको इसी शिकायत की वजह से पार्टी से निष्कासित कर दिया है। 
अब अगर उन्होंने पार्टी से निष्कासित कर दिया है। फिर कांग्रेस की नेता होने का इतना दम भरना और गरीब मजदूरों को सताना और अवैध वसूली करना उन्होंने अभी भी नहीं छोड़ा है। उनका पूरा साथ कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी शीत श्रीवास भरपूर देते हैं। अनु अरुण सिंह का कहना है कि अगर कांग्रेसी जनता से अवैध वसूली करेंगे और अपने कार्यकर्ताओं को समझाइश नहीं देते तो हो सकता है। उग्र आंदोलन जब से कांग्रेस आई है। सिर्फ लोगों को प्रताड़ित ही कर रही है।

सोमवार, 19 जुलाई 2021

खूबचंद की मूर्ति पर माल्यार्पण कर वृक्षारोपण किया

रायपुर। राजधानी से सटे ग्राम पथरी में आज डॉ. खूबचंद बघेल के जयंती के अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित हुए कार्यक्रम में धरसीवां विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा ने डॉ. खूबचंद बघेल के मूर्ति पर माल्यार्पण कर वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर विधायक अनिता शर्मा ने डॉ. खूबचंद बघेल के बारे में विस्तार से ग्राम वाशियों को बताया विधायक श्रीमती शर्मा ने कहा कि डॉ बघेल पेशे से डॉक्टर होने के बावजूद छत्तीसगढ़ को राज्य बनाने में बहुत बड़ा योगदान है।
उनका जीवन देश प्रेम की भावना से ओत-प्रोत था और छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे। हर छत्तीसगढ़िया के हित को पूरा करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ का निर्माण उनका महान लक्ष्य था। वे कुशल राजनीतिज्ञ के साथ-साथ साहित्यकार, समाज सुधारक और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी थे। उन्होंने कहा कि डाॅ.खूबचंद बघेल की जीवन यात्रा कठिन संघर्ष से भरी रही। 
वे समाज में अन्याय, अत्याचार तथा शोषण के खिलाफ जीवनभर लड़ाई लड़ते रहे। उन्होंने समाज में ऊंच-नीच के भेदभाव को भी नकारा और समाज को एकसूत्र में पिरोने के लिए ’पंक्ति तोड़ो-समाज जोड़ो’ का महत्वपूर्ण नारा दिया। इस तरह कई रचनात्मक और किसान तथा मजदूर हितैषी गतिविधियों से जुड़कर जीवन के अंतिम समय तक वे छत्तीसगढ़ की सेवा करते रहे। उनके योगदान को छत्तीसगढ़ में कभी भुलाया नही जा सकता और यह हमेशा लोगों के स्मरण में रहेगा। 

मौलाना अतीक से अपनी टीम के साथ मुलाकात की

सत्येंद्र पंवार          
रायपुर। बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं कार्यकारी अध्यक्ष पश्चिमांचल जोन प्रभारी एडवोकेट मुकेश कुमार एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे, प्रदेश सचिव अर्जुनेश कुमार, रायपुर बड़े हजरत मौलाना अतीक अहमद साहब से अपनी टीम के साथ मुलाकात की।
मौलाना अतीक अहमद साहब ने बहुजन मुक्ति पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर कहा कि आज भारत देश को इस विचारधारा की सबसे अहम जरूरत है। कुछ आतंकवादी देश द्रोही विचार धारा के आपसी सौहार्द प्यार मोहब्बत को खत्म करने पर तुले हुए हैं।
बहुजन मुक्ति पार्टी समानता समता स्वतंत्रता बंधुता न्याय मानवता इंसानियत के लिए काम कर रही है और बहुजन मुक्ति पार्टी मूल निवासियों को मनुवाद से आजाद कराने के लिए लगी हुई है और इस्लाम मजहब की दरकार भी यही है। इन्ही मुद्दों को लेकर आगे बढ़ रही है। यही आज नहीं हमेशा हमेशा के लिए समाज को जरूरत है। मुकेश कुमार आर डी गादरे अर्जुनेश कुमार इन्जि. पी सिंह आवेश अहमद अशफाक खान ने मुक्ति पार्टी की विचारधारा से अवगत कराया और हजरत ने पूरी तसल्ली से जानकारी ली और बहुजन मुक्ति पार्टी एवं मूल निवासियों के लिए भारतीय संविधान को बचाने की मुहिम को तेज करने का भी सभी को साथ देने के लिए आह्वान किया। 
भारत देश में मूल निवासियों की एकता बनने संगठन कामयाब करने के लिए एक दूसरे का सहयोग देने का भी मशवरा दिया और आज देश के हालात को देखते हुए भारतीय समाज की दुर्दशा पर अफसोस जताया। बहुजन मुक्ति पार्टी के उद्देश्यों को सुनकर बहुत खुश हुए और कहा कि आज भारत को बहुजन मुक्ति पार्टी की अहम जरूरत है और इसका हर वर्ग को साथ देना चाहिए आर डी गादरे ने कहा कि भारतीय मुस्लिमों को हिंदुस्तान कहने से गुरेज करना चाहिए क्योंकि भारत देश में रहने वाले भारतीय कहलाते हैं। इंडिया इंग्लिश भाषा का वर्ड है। इंडिया में रहने वाले इंडियन कहलाते हैं। भारतीय संविधान में इंडिया दैट इज भारत लिखा हुआ है। 
लेकिन हमारा मुस्लिम समाज अपने पैरों पर खुद कुल्हाड़ी मार रहा है। हिंदुस्तान कह के आर एस एस की नींव मजबूत कर रहा है जो बीजेपी कांग्रेस और उसके सहयोगी राजनीतिक पार्टियों का मिशन है। 
मुस्लिम समाज को यह चाहिए कि वह इंडिया या भारत कि अपने देश का नाम अपनी जबान पर न ले और हिंदुस्तान कहने से गुरेज करें। हजरत ने बहुजन मूल निवासियों मुस्लिम सिख ईसाई बौद्ध लिंगायत सभी मूल निवासियों के लिए दुआएं की मोहम्मद साबिर जाकिर अहमद, सतवीर गौतम, आवेश कुलवंत सिंह, मोहन जाटव, मनमोहन गुर्जर चौधरी, इसराइल महमूद खान, ईशांत मुकेश, लवलेश कमल कांत, प्रजापति सतबीर कश्यप, ओम वीर, सत्येंद्र सुरेंद्र आदि लोग मौजूद थे।

रविवार, 11 जुलाई 2021

छत्तीसगढ़िया के सपनों को पूरा करने का कार्य शुरू

दुष्यतं टिकम               
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आकाशवाणी से प्रत्येक माह प्रसारित होने वाली ''लोकवाणी'' की 19वीं कड़ी में श्रोताओं से बातचीत करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के हर क्षेत्र में भरपूर विकास हमारी सरकार की प्राथमिकता में है। यही वजह है कि प्रदेश में ढाई वर्ष में विकास का एक नया स्वरूप नजर आ रहा है। यहां हर छत्तीसगढ़िया के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने का कार्य हो रहा है। 
इस तरह से ''ये बात है अभिमान की, छत्तीसगढ़िया स्वाभिमान की'' के महत्वपूर्ण संकल्प के साथ हम ''नवा छत्तीसगढ़'' गढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री बघेल आज लोकवाणी में ''विकास का नया दौर'' विषय पर प्रदेशवासियों से बात-चीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के विकास के लिए पुरखों से लेकर नई पीढ़ी तक सबका भरपूर उत्साह है। यह खुशी की बात है कि इसे पूरा करने और उनके सपनों में रंग भरने का अवसर हमें मिला है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी बात वहां से शुरू करना चाहता हूं। 
जहां से हमारे पुरखों डॉ. खूबचंद बघेल, पंडित सुन्दर लाल शर्मा, बैरिस्टर छेदीलाल, मिनीमाता, चंदूलाल चंद्राकर, पवन दीवान, डॉ. टुमन लाल, बिसाहू दास महंत, डॉ. राधा बाई, बी.आर. यादव, ठाकुर प्यारे लाल सिंह जैसे अनेक हमारे नेताओं ने, समाज सुधारकों ने, राजनेताओं ने, साहित्यकारों और कलाकारों ने पृथक छत्तीसगढ़ राज्य का सपना देखा था, इसके लिए संघर्ष किया था। वास्तव में यह भारत के नक्शे में सिर्फ एक अलग राज्य के रूप में एक भौगोलिक क्षेत्र की मांग नहीं थी, बल्कि इसके पीछे सदियों की पीड़ा थी। ये छत्तीसगढ़िया सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने की मांग थी। राज्य में हमारी सरकार द्वारा इसे पूरा करने का कार्य किया जा रहा है।

गुरुवार, 1 जुलाई 2021

दर्ज शिकायत के आधार पर केस की छानबीन शुरू की

दुष्यंत टीकम               
रायपुर। राजधानी रायपुर के मौदहापारा थाना में साल 2016 में पीएसीएल कंपनी और उसके डायरेक्टर सुखदेव सिंह के खिलाफ जालसाजी और धोखाधड़ी के मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी। आरोप था कि चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर सुखदेव सिंह ने उनके साथ आर्थिक धोखाधड़ी की है और उनके करोड़ों रुपए लेकर वह फरार हो गया है।
दर्ज शिकायत के आधार पर मौदहापारा पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की। शिकायत की पुष्टि होने पर डायरेक्टर सुखदेव सिंह के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर उसकी तलाश शुरू की गई। लेकिन बीते पांच सालों तक उसकी कोई खबर पुलिस को नहीं मिल पाई।
ताजा जानकारी के मुताबिक रायपुर पुलिस को इस बात की जानकारी मिली कि आरोपी सुखदेव को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है और उसे पंजाब के रूपनगर जेल दाखिल किया गया है। इसके बाद रायपुर पुलिस ने इस मामले में सक्रियता दिखाई और उसे प्रोटक्शन वारंट पर रायपुर लाया गया।

गुरुवार को आषाढ़ के 'कृष्ण-पक्ष' की सप्तमी तिथि

दुष्यंत टीकम            
रायपुर। गुरुवार को आषाढ़ मास के कृष्ण-पक्ष की सप्तमी तिथि है। इस दिन उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र दिन भर रहेगा। गुरुवार को उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र होने से छत्र नाम का शुभ योग इस दिन बन रहा है। बुधवार की रात से चंद्रमा राशि बदलकर कुंभ से मीन में आ चुका है। गुरुवार को सभी राशियों पर इसका प्रभाव देखने को मिलेगा। जानिए कैसा बीतेगा आपका दिन मेष राशिफल-कार्यक्षेत्र में भी आपके पक्ष में कुछ परिवर्तन हो सकते हैं। इससे व्यथित होकर साथियों का मूड कुछ खराब हो सकता है। 
क्योंकि आपको दूसरों की मदद करने से सुकून मिलता है। इसलिए आज का दिन परोपकार में व्यतीत होगा। किंतु आप अपने अच्छे व्यवहार से माहौल को सामान्य बनाने में कामयाब रहेंगे। रात्रि में पत्नी का स्वास्थ्य खराब होने के कारण कुछ परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वृष राशिफल- आज का दिन परिजनों के साथ सुखद बीतेगा। भाग्यवश दोपहर तक हर्षवर्धक शुभ समाचार भी मिलेगा। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। 
सांयकाल के समय चिर प्रतीक्षित अतिथि के आगमन का हर्ष होगा। रात्रि में किसी मांगलिक कार्य में सम्मिलित होने से आपका सम्मान बढ़ेगा।
मिथुन राशिफल-पिता के आशीर्वाद तथा उच्चाधिकारियों की कृपा से किसी बहुमूल्य वस्तु अथवा संपत्ति की प्राप्ति की अभिलाषा आज पूरी होगी। व्यस्तता अधिक रहेगी, व्यर्थ व्यय से बचें। सांयकाल से लेकर रात्रिपर्यन्त शीघ्रगामी वाहनों के प्रयोग से सावधानी बरतें। प्रिय एवं महान पुरुषों के दर्शन से मनोबल बढ़ेगा। पत्नी पक्ष से भी वांछित सिद्धि हो सकती है।

संपर्क करने की अनिच्छा से परेशान हुआ पाकिस्तान

इस्‍लामाबाद/ वाशिंगटन डीसी।  अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की प्रधानमंत्री इमरान खान से टेलीफोन पर संपर्क करने की अनिच्छा से पाकिस्‍तान परेशा...