गुरुवार, 21 जनवरी 2021

इंग्लैंड के खिलाफ शुरू, घरेलू सीरीज का आगाज

नई दिल्ली/ लंदन। भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे का अंत होते ही अब टीम इंडिया अपने अगले मिशन पर जुटने वाली है। पांच फरवरी से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही लंबी घरेलू सीरीज का आगाज हो रहा है। जिसकी शुरुआत चार मैच की टेस्ट सीरीज से होगी। अब खबर आ रही है कि भारत के स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा पूरी टेस्ट सीरीज से बाहर हो चुके हैं। इसके पहले 19 जनवरी को शुरुआती दो टेस्ट के लिए घोषित हुई टीम में भी उन्हें जगह नहीं मिली थी। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चोटिल हुए खिलाड़ियों में जडेजा भी शामिल थे। जिन्हें सिडनी में खेले गए तीसरे टेस्ट की पहली पारी में अंगूठे पर चोट लगी थी। ड्रॉ हुए उस ऐतिहासिक टेस्ट के बाद जड्डू ने ऑस्ट्रेलिया में ही अपने अंगूठे की सर्जरी करवाई थी। ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट से भी वह बाहर थे। 32 वर्षीय़ जडेजा को चोट से उबरने के लिए कम से कम छह हफ्ते का समय लगेगा। बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में वह रिहेब से गुजरेंगे।बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा कि T20I और ODI में जडेजा की भागीदारी पर फैसला बाद में लिया जाएगा। इंग्लैंड को इस दौरे में चार टेस्ट, पांच टी-20 और तीन मैच की वन-डे सीरीज खेलनी है। जिसकी शुरुआत चेन्नई से होगी, यहां दो टेस्ट मैच खेले जाएंगे। टेस्ट सीरीज में भारतीय कप्तान विराट कोहली, हार्दिक पांड्या, चोटिल इशांत शर्मा की वापसी हुई है। ऑस्ट्रेलिया दौरे में दमदाऱ खेल दिखाने वाले मोहम्मद सिराज, वाशिंगटन सुंदर और शार्दुल टाकुर को भी शानदार प्रदर्शन का तोहफा मिला है।

स्मार्ट सिटी मिशन के तहत मानक से कार्य पूर्ण करें

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि लखनऊ में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत लोक निर्माण विभाग की ओर से जो भी कार्य किये जाने हैं। उन्हे शीघ्र से शीघ्र शुरु कराया जाऐ और शहरी विकास मंत्रालय भारत सरकार ने स्मार्ट सिटी मिशन के तहत जो मानक और गाइडलाइन है। उसके अनुसार ही नियमानुसार कार्य कराये जायें। प्रथम चरण में लखनऊ नगर में 102 करोड़ 9 लाख 66 हजार की लागत से 12 मार्गों का लोक निर्माण विभाग ने सुधारात्मक कार्य कराया जाना है। जिसमें सिविल कार्यों की लागत 84 करोड़ 1 लाख 97 हजार तथा विद्युत सम्बन्धी कार्यों की लागत 18 करोड़ 7 लाख 69 हजार है। जिन 12 मार्गों का सुधार किया जाना है। उनमें गौतमबुद्ध मार्ग-बांसमण्डी चैराहा से लाटूश रोड (चैनेज 0.600 से 1.650), शिवाजी मार्ग (हुसैनगंज से लाटूश रोड), हुसैनाबाद मार्ग (गौतमबुद्ध पार्क से टीले वाली मस्जिद), एमजी रोड (डालीगंज चैराहा से रेजीडेन्सी तिराहा, एमजी मार्ग रेजीडेन्सी तिराहा से स्वास्थ्य भवन तिराहा, एमजी मार्ग स्वास्थ्य भवन तिराहा से नेशनल पीजी काॅलेज (राणा प्रताप मार्ग), राजा नवाबअली रोड (स्वास्थ्य भवन तिराहा से कैसरबाग बस स्टेशन चैराहा), यूनिवर्सिटी मार्ग (परिवर्तन चैक से हनुमान सेतु), शाहमीना रोड, एमजी मार्ग (हजरतगंज क्रासिंग से डीएम आवास), एमजी मार्ग (विक्टोरिया मेमोरियल से डीएम आवास) व शाहनजफ रोड सम्मिलित हैं। उपमुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं कि न केवल वाहनों के आवागमन बल्कि पैदल चलने वाले लोगों के लिये फुटपाथ, हाॅकर्स के लिये वेन्डर्स जोन वाहनों के पार्किंग की भी समुचित व्यवस्था की जाए। इसके अतिरिक्त रोड फर्नीचर्स, रोड साइड अमेनिटिस, अन्डरग्राउन्ड यूटिलिटीज, स्ट्रीट एवं पेडेस्ट्रियन लाइट, ड्रेनेज सिस्टम तथा मार्गों के सौन्दर्यीकरण से सम्बन्धित प्राविधान किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया है।

शुभेंदु आपत्तिजनक नारे के आरोप में अरेस्ट किए

चंदननगर। पश्चिम बंगाल में भाजपा के हुगली जिला की युवा इकाई के अध्यक्ष सुरेश शॉ समेत तीन कार्यकर्ताओं को पार्टी नेता शुभेन्दु अधिकारी के रोड शो के दौरान कथित तौर पर ‘गोली मारो’ के आपत्तिजनक नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने बताया कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने बुधवार को हुगली जिला में पार्टी के कार्यक्रम में इस तरह की कथित नारेबाजी की थी। जिसके बाद जिला पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए एक मामला दर्ज किया और तीन लोगों को रात में गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए तीनों लोगों को चंदननगर उप प्रभागीय अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उन्हें 30 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इस बीच भाजपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तार नेताओं की तत्काल रिहाई की मांग करते हुए चंदननगर पुलिस आयुक्त कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। हुगली की सांसद लॉकेट चटर्जी और राज्यसभा सदस्य स्वप्न दासगुप्ता के साथ शुभेन्दु अधिकारी के रथतला इलाके में रोड शो के दौरान उनके ट्रक के पीछे चल रहे आरोपी कार्यकर्ताओं ने भाजपा का झंडा और तिरंगा थाम रखा था। भाजपा प्रवक्ता समिक भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा का झंडा हाथों में थामकर इस तरह की नारेबाजी किए जाने का पार्टी समर्थन नहीं करती है।

सीमा पर एक गांव बसाने के संबंध में प्रतिक्रिया

बीजिंग। चीन के विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को यहां कहा कि ”अपने खुद के क्षेत्र में” चीन की विकास और निर्माण गतिविधियां सामान्य तथा दोषारोपण से परे हैं। मंत्रालय ने यह बात अरुणाचल प्रदेश में चीन के एक नया गांव बनाने की खबरों पर प्रतिक्रिया में कही। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने एक मीडिया ब्रीफिंग में एक सवाल के जवाब में कहा, ”जंगनान क्षेत्र (दक्षिण तिब्बत) पर चीन की स्थिति स्पष्ट और स्थिर है। हमने कभी भी तथाकथित अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं दी।” चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा बताता है। जबकि भारत हमेशा कहता रहा है कि अरुणाचल उसका अभिन्न और अखंड हिस्सा है। चुनयिंग ने कहा कि ”हमारे खुद के क्षेत्र में” चीन की विकास और निर्माण गतिविधियां सामान्य हैं। उन्होंने कहा, ”यह दोषारोपण से परे है क्योंकि यह हमारा क्षेत्र है।” एनडीटीवी ने एक रिपोर्ट में अरुणाचल प्रदेश के क्षेत्र की तस्वीरें दिखाई थीं जिसमें इसने कहा था कि चीन ने एक नए गांव का निर्माण किया है और इसमें लगभग 101 घर हैं। चैनल के अनुसार 26 अगस्त 2019 की पहली तस्वीर में कोई मानव आवास नहीं दिखा। लेकिन नवंबर 2020 में आई दूसरी तस्वीर में आवासीय निर्माण दिखे।

विधान परिषद, सीटों पर जीतने वालों की घोषणा

संदीप मिश्र  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान परिषद की 12 सीटों के लिए नामांकन दाखिल करने वाले इतने ही प्रत्याशी गुरुवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। इनमें भाजपा के 10 और समाजवादी पार्टी (सपा) के दो उम्मीदवार शामिल हैं। रिटर्निंग ऑफिसर बृज भूषण दुबे ने बताया कि नामांकन वापसी की अवधि गुजरने के साथ ही आज विधान परिषद चुनाव के सभी 12 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। उन सभी को प्रमाण पत्र दिये गए हैं। दरअसल, मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच के दौरान निर्दलीय प्रत्याशी महेश चंद्र शर्मा का नामांकन निरस्त होने के बाद बाकी बचे 12 उम्मीदवारों का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया था। दुबे ने बताया कि शर्मा का नामांकन इसलिए निरस्त किया गया क्योंकि उनका कोई प्रस्तावक नहीं था। उन्होंने बताया कि साथ ही नामांकन के लिए जरूरी शुल्क जमा करने की रसीद भी संलग्न नहीं की गई थी। प्रदेश विधान परिषद की 12 सीटों के लिए नाम वापसी की आखिरी तारीख 21 जनवरी थी। जरूरत पड़ने पर 28 जनवरी को मतदान का कार्यक्रम था।

यूएस राष्ट्रपति ने सभी के लिए मास्क अनिवार्य किया

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडन ने शपथ ले ली है। उनके साथ भारतीय मूल की कमला हैरिस उपराष्ट्रपति बन गई हैं। जैसी उम्मीद जताई जा रही थी सत्ता संभालने के बाद बाइडन ने डोनाल्ड ट्रंप के कई फैसलों को पलट दिया है। राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने के बाद बाइडन ने सीधे ओवल ऑफिस में कामकाज संभाला और एक्शन में आ गए।बाइडन ने 15 कार्यकारिणी आदेशों पर हस्ताक्षर किए हैं। इन सभी की अमेरिका में लंबे समय से मांग चल रही थी और उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान इसका वादा भी किया था। दोपहर को बाइडन ने कहा कि कार्यकारी आदेश, ज्ञापन और निर्देश जारी करने में ‘बर्बाद करने के लिए समय नहीं’ है। बाइडन ने कहा, ‘आज मैं जिन कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर करने जा रहा हूं उनमें से कुछ कोरोना महामारी संकट की कार्यप्रणाली को बदलने में मदद करने वाले हैं, हम एक नए सिरे से जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने जा रहे हैं जो हमने अब तक नहीं किया है और नस्लीय भेदभाव को खत्म करने वाले हैं। ये सभी शुरुआती बिंदु हैं।’ सत्ता संभालते ही बाइडन ने निर्णय लिया कि सभी अमेरिकियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए फैसला लिया। आम लोगों को बड़े स्तर पर आर्थिक मदद देने का एलान। जयवायु परिवर्तन के मसले पर अमेरिका की वापसी यानी अमेरिका अब 30 दिन बाद पेरिस जलवायु समझौते में दोबारा शामिल हो जाएगा। नस्लभेद को खत्म करने की ओर कदम। विश्व स्वास्थ्य संगठन से हटने के फैसले को रोका और डॉ. एंथोनी फॉसी को विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का प्रमुख बनाया।जो बाइडन ने मेक्सिको से लगी सीमा पर आपातकाल की घोषणा को वापस लिया, दीवार बनाने के फैसले और फंडिंग को रोका। ट्रंप प्रशासन द्वारा जिन मुस्लिम देशों पर बैन लगाया गया था, उसे वापस लिया और विदेश मंत्रालय को जल्द ही वीजा प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया। छात्र ऋण की किस्त वापसी को सितंबर तक टाला। अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन की प्रेस सेक्रेटरी जेन साकी ने कहा कि पहले दिन लिए गए फैसले शुरुआत भर  हैं। आने वाले दिनों में राष्ट्रपति और भी कई फैसले लेंगे। उन्होंने कहा, ‘आने वाले दिनों और हफ्तों में, हम अतिरिक्त कार्यकारी आदेशों की घोषणा करेंगे जिससे चुनौतियों का सामना किया जाएगा और अमेरिकी लोगों से राष्ट्रपति चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा किया जाएगा।’

अमेरिका: चीन को उम्मीद थी सत्ता परिवर्तन होगा

बीजिंग। चीन को उम्मीद थी कि अमेरिका में हुआ सत्ता परिवर्तन उसके लिए कुछ सुकून लेकर आएगा और इंडो-यूएस के मजबूत संबंध प्रभावित होंगे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने साफ कर दिया है कि भारत उनके लिए अहम साझेदार है और दोनों देशों के रिश्ते मजबूत बने रहेंगे। वहीं, अमेरिका के नए रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि चीन की दादागिरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ‘नए अमेरिका’ के नई दिल्ली के प्रति इस झुकाव से बीजिंग बौखला गया है और इसी बौखलाहट में वह भारत के खिलाफ बयानबाजी कर रहा है। चीन को यह डर भी सता रहा है कि भारत अमेरिका के साथ मिलकर तिब्बत के मुद्दे पर उसे घेर सकता है। इसलिए उसने दबाव की रणनीति के तहत धमकाने का खेल फिर शुरू कर दिया है। चीन की कम्युनिस्ट सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि कुछ भारतीय विशेषज्ञों ने भारत सरकार को अमेरिका के साथ मिलकर तिब्बत कार्ड खेलने का सुझाव दिया है। लेकिन यदि भारत ने ऐसा किया तो दोनों देशों के बीच रिश्ता पूरी तरह खत्म हो जाएगा। अखबार का कहना है कि तिब्बत चीन का हिस्सा है और उस पर किसी की दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ग्लोबल टाइम्स में छपे लेख में कहा गया है, ‘भारत में ब्रह्मा चेलानी जैसे कुछ भूराजनीतिज्ञों ने कहा है कि भारत सरकार को अमेरिका के साथ मिलकर तिब्बत कार्ड खेलना चाहिए। उन्होंने अमेरिका के तिब्बत कानून का लाभ उठाने की भी सलाह दी है। पूर्व भारतीय कूटनीतिज्ञ दीपक वोहरा ने यहां तक लिखा है कि यदि तिब्बत अलग रास्ता चुनता है तो चीन के टुकड़े हो जाएंगे या फिर उसे साम्यवाद छोड़ना होगा और दुनिया अधिक सुरक्षित जगह हो जाएगी। लेकिन हम बताना चाहेंगे कि तिब्बत चीन का हिस्सा है और भारत सरकार लंबे समय से इसे मान्यता देती आई है। यदि नई दिल्ली इन विशेषज्ञों की सलाह को मानती है, तो भारत-चीन के रिश्ते पूरी तरह खत्म हो जाएंगे और नई दिल्ली युद्ध को भड़काएगी’। लेख में आगे कहा गया है कि भारत ने चीन को परेशान करने और व्यक्तिगत लाभ अर्जित करने के लिए तिब्बत कार्ड खेलना छोड़ा नहीं है। भारत के कुछ भूराजनीतिज्ञों को तिब्बत की समझ नहीं है। तिब्बत कार्ड खेलकर कुछ भारतीय चीन को मजबूर करना चाहते हैं कि वो कश्मीर को भारत के हिस्से के रूप में मान्यता दे। लेकिन इन लोगों ने कभी महसूस नहीं किया कि तिब्बत का प्रश्न भारत-चीन संबंधों के लिए कितना संवेदनशील है, ये लोग आग से खेल रहे हैं। धमकी भरे अंदाज में चीनी अखबार ने लिखा है कि बीजिंग इसके बदले में कई कदम उठा सकता है। लेकिन आमतौर पर, हम इन उपायों का उपयोग नहीं करते। उदाहरण के तौर पर कश्मीर वैश्विक मान्यता प्राप्त विवादित क्षेत्र है। चीन एकतरफा यह नहीं स्वीकार करेगा कि यह भारत का हिस्सा है। जैसा कि नई दिल्ली को उम्मीद है। इसके अलावा, भारत के पास कई कांटेदार मुद्दे हैं। जैसा कि धार्मिक मुद्दे और उत्तर-पूर्व भारत में हथियारबंद अलगाववादी। हालांकि, बीजिंग इन मुद्दों के साथ नई दिल्ली पर दबाव बनाने को तुच्छ समझता है।

डीएम ने बैठक की, टीकाकरण विस्तार के आदेश

अश्वनी उपाध्याय       

गाजियाबाद। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में गुरुवार को डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स की बैठक कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में आयोजित हुई। इस दौरान जनपद में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराने पर जोर दिया गया। बैठक में प्रदेश सरकार से प्राप्त कोविड वैक्सीनेशन लगाए जाने के निर्देश के क्रम में विस्तार से चर्चा हुई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि आगामी 22, 28 एवं 29 जनवरी को स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण का सत्र आयोजित किया जाना है। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार के निर्देशों के क्रम में प्राप्त कोविड-19 वैक्सीन की डोज के हिसाब से टीकाकरण सुनिश्चित कराया जाना है। जिसमें 10 प्रतिशत वेस्टेज हटाकर वैक्सीन की डोज जो उपलब्ध है, उससे 50 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण सुनिश्चित कराया जाएगा तथा बाकी की डोज़ उनके सेकंड डोज़ के लिए कोल्ड चैन में सुरक्षित रखी जाएगी।जिन सत्रों पर टीकाकरण शुरू हो चुका है, सर्वप्रथम वहां सभी स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाना है तथा एक सत्र पर एक ही प्रकार की कोविड वैक्सीन उपलब्ध कराई जाएगी। डीएम ने सीएमओ को निर्देशित किया कि जो लोग वैक्सीनेशन लगाए जाने की लिस्ट में शामिल नहीं हो पाए एवं टीकाकरण कराना चाहते हैं, उनको माप-अप राउंड में सम्मिलित कर टीकाकरण की कार्यवाही सुनिश्चित कराई जाए। जनपद में 12,225 स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण कराना है, जिसमें 379 लाभार्थियों को प्रथम दिवस के चरण में 16 जनवरी को प्रतिरक्षित किया जा चुका है। शेष 11,846 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण 31 अस्पतालों में 40 सत्रों द्वारा 22, 28 एवं 29 जनवरी में आयोजित किया जाएगा। डीएम ने सीएमओ को निर्देशित किया की जिन लोगों का प्रथम चरण में 16 जनवरी को टीकाकरण कराया गया था। उसके लाभार्थियों से एक आपसी संवाद वाला सत्र आयोजित किया जाए जिसमें टीकाकरण के दुष्प्रभाव की भ्रांतियों को दूर किया जा सके। इस अवसर पर सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता, डब्लूएचओ से डॉ. अभिषेक आदि मौजूद रहे।

गणतंत्र दिवस: 26 तोपों से राष्ट्रपति को सलामी

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। 26 जनवरी को राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह होना है। जहां तीनों सेनाएं कदम ताल मिलते हुए परेड करेंगी। वहीं राष्ट्रपति को 21 तोपों की सलामी दी जाएगी। भारत में 21 तोपों की सलामी देने की परंपरा कोई नई नहीं है। लेकिन क्यों दी जाती है 21 तोपों की ही सलामी और कब-कब दी जाती है। क्या है इसका इतिहास यह सभी को जरूर जानना चाहिए। तोपों को चलाने का इतिहास मध्ययुगीन शताब्दी से शुरू हुआ, उस समय सेनाएं ही नहीं बल्कि व्यापारी भी तोपें चलाते थे। दरअसल पहली बार 14वीं शताब्दी में तोपों को चलाने की परंपरा उस समय शुरू हुई जब कोई सेना समुद्री रास्ते से दूसरे देश जाती थी और तट पर पहुंचने के बाद तोपों को फायर करके बताते थे कि उनका उद्देश्य युद्ध करना नहीं है। जब व्यापारियों ने सेनाओं की इस परंपरा को देखा तो उन्होंने भी एक देश से दूसरे देश की यात्रा करने के दौरान तोपों को चलाना शुरू कर दिया था। परंपरा यह हो गई कि जब भी कोई व्यापारी किसी दूसरे देश पहुंचता या सेना किसी अन्य देश के तट पर पहुंचती तो तोपों को फायर करके यह संदेश दिया जाता था कि वह लड़ने के उद्देश्य से नहीं आए हैं। उस समय सेना और व्यापारियों की और से 7 तोपों को फायर किया जाता था। तब जहाजों पर सात तोपें हुआ करती थीं क्योंकि ऐसा माना जाता है कि बाइबिल में सात की संख्या को शुभ माना जाता है। जैसे-जैसे विकास हुआ, समुद्री जहाज भी बड़े बनने लगे और फायर करने वाली तोपों की संख्या में भी वृद्धि हुई। 17वीं शताब्दी में पहली बार ब्रिटिश सेना ने तोपों को सरकारी स्तर पर चलाने का काम शुरू किया और तब इनकी संख्या 21 थी। उन्होंने शाही खानदान के सम्मान में तोपों को चलाया था और संभावित रूप से इसी घटना के बाद दुनिया भर में सलामी देने और सरकारी खुशी मनाने के ल‍िए 21 तोपों की सलामी की रीति चल पड़ी। 18वीं शताब्दी में अमेरिका ने इसे सरकारी रूप से लागू कर दिया था। पहली बार 1842 में अमेरिका में 21 तोपों की सलामी अनिवार्य कर दी गई थी और तकरीबन 40 साल बाद इस सलामी को राष्ट्रीय सलामी को सरकारी तौर पर लागू कर दिया गया। 18वीं से 19वीं शताब्दी के शुरू होने तक अमेरिका और ब्रिटेन एक दूसरे के प्रतिनिधिमंडलों को तोपों की सलामी देते रहे और इसे सरकारी तौर पर मान्यता दे दी।

सीएम विंडो पर शिकायतों की समीक्षा, निलंबित

राणा ओबराय 
चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोग कार्यक्रम के परियोजना निदेशक डॉक्टर राकेश गुप्ता ने सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों के समाधान में लापरवाही बरतने पर विभिन्न पांच मामलों में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। राकेश गुप्ता आज यहां हरियाणा निवास पर सीएम विंडो और सोशल मीडिया पर आने वाली शिकायतों की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल भी उपस्थित रहे।
बहादुरगढ़ में बैंक खाते से 88 लाख रुपये निकाले जाने के मामले में स्थानीय निकाय विभाग के एक अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए।
हरियाणा एग्रो इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन (HAIC) के एक मामले मे जूट की 50000 बोरी गायब होने पर चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराने का निर्देश दिए गए। साथ ही 2012 के इस मामले में अब तक ठोस कार्रवाई नहीं होने पर मामले को लम्बित करने के लिए जिम्मेदार अफसरों की जवाबदेही भी तय करने के लिए विभाग को कहा गया। फतेहाबाद के हरको बैंक में हुए 74 करोड़ के लोन गलत तरीके से दिए जाने के मामले में अनियमितता बरतने पर एफआईआर दर्ज कराने और गम्भीरता से मामला जल्द निपटाने के निर्देश दिए गए। कृषि विभाग के सिरसा के एक मामले में कृषि उपकरण खरीदने और बेचने में धांधली करने के मामले में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश देते हुए सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को अगली मीटिंग में मामले की डिटेल प्रस्तुत करने के लिए भी कहा गया। गबन के एक मामले में फाइल समेत भूमिगत होने वाले ईटीओ वीके शास्त्री के खिलाफ केस दर्ज कराने और इस मामले में सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए।सीएम विंडो की शिकायतों के प्रति अति लापरवाही बरतने पर सेक्रेटरी (एचएसवीपी) समेत चार अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। चौटाला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की तत्कालीन एसएमओ कुलविंदर कौर के खिलाफअनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। डबवाली की एक निजी कम्पनी के साथ मिलीभगत करके गलत बिल जमा कराने का इन पर आरोप है।
वन विभाग की कालका और यमुनानगर में जमीन पर कब्जा करने के मामलों में कार्रवाई करने में ढिलाई बरतने के लिए अधिकारियों की जवाबदेही तय करने और कब्जा हटवाने के निर्देश दिए गए। राजस्व विभाग की फरीदाबाद में जमीन पर कब्जे के मामले में ढिलाई बरतने वाले अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के लिए कहा गया।

ओवरलोड लदे ट्रैक्टर को तहसीलदार ने पकड़ा

कौशाम्बी। यमुना नदी के तिल्हापुर बालू घाट से प्रशासन की आंख में धूल झोंक कर बालू खनन में लगे माफियाओं के सहारे कुछ ट्रैक्टर चालक बालू के परिवहन में लगे हैं। ओवरलोड बालू भी इन ट्रैक्टरों में लादे जाते हैं और ट्रैक्टर में लदे बालू का तमन्ना भी ठेकेदारों से लेकर ट्रैक्टर चालक नहीं आते हैं। इतना ही नहीं जिन ट्रैक्टरों की ट्रालियों से बालू का परिवहन किया जा रहा है। उन ट्रालियों का रजिस्ट्रेशन एआरटीओ विभाग में नहीं है। अवैध तरीके से बालू परिवहन में लगे एक ट्रैक्टर को तहसीलदार ने पकड़ कर थाने में खड़ा करा दिया है। जिससे परिवहन में लगे लोगों में हड़कंप मच गया है। जानकारी के मुताबिक गुरुवार की दोपहर अवैध बालू लदा ट्रैक्टर महिंद्रा 415 डीआई से बिना ट्राली रजिस्ट्रेशन की ओवरलोड बालू परिवहन किए जाने की जानकारी तहसीलदार को मिली। जिस पर तहसीलदार ने बिना रवन्ना ओवरलोड लदे बालू को ट्रैक्टर ट्राली सहित पकड़ लिया है। पकड़े गए ट्रैक्टर ट्राली के चालक के पास मौके पर कोई कागज नहीं थे। अवैध बालू परिवहन में लगे ट्रैक्टर को हिरासत में लेते हुए तहसीलदार ने पिपरी थाने की सुपुर्दगी में खड़ा करा दिया है।
अजीत कुशवाहा

हापुड़ः शराब माफिया पर 8 ड्रम बेचने का आरोप

अतुल त्यागी
हापुड़। आपको बता, दें कि थाना धौलाना के अंतर्गत है। यूपीएसआईडीसी पुलिस चौकी प्रभारी बृजेश यादव शराब माफिया को 8 ड्रम अल्कोहल बेचने का आरोप है।बृजेश यादव दरोगा जी नवंबर 2013 से जनपद हापुड़ में तैनात हैं। उसी दौरान दरोगा ने पर्याप्त धन प्रॉपर्टी में निवेश किया है। शराब माफियाओं के गठजोड़ के आरोपी दरोगा बृजेश यादव की डासना जेल में पहली रात करवटें बदल कर कटी। दरोगा बिजेश यादव को जेल में देखकर उन बदमाशों ने आश्चर्य व्यक्त किया। दरोगा ने आरोपों में जेल भेजा था बताते हैं कि बदमाशों ने ही दरोगा से जेल आने का कारण पूछा और हालचाल जाना।

हापुड़: दुकानदारों से की जा रही अवैध वसूली

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
हापुड़। गुरुवार को एससी विभाग कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेश कुमार भाटी दिल्ली रोड स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। नरेश कुमार भाटी ने पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन को बताया कि जनपद हापुड़ में गढ़ रोड स्थित नवीन मंडी में आढ़ती दुकानदारों के बाहर कुछ सब्जी व फल बेचने वाले ठेला लगाते हैं। जहां कृषि मंडी समिति के ठेकेदार द्वारा सब्जी व फल बेचने वाले ठेले दुकानदारों से 50 रुपए रोजाना के हिसाब से अवैध उगाही की जा रही है। आरटीआई ऑफ़ इंडिया एसोसिएशन के जिला उपाध्यक्ष विजय पाल सिंह जाटव ने पत्र के माध्यम से बताया है कि कृषि उत्पादन मंडी समिति द्वारा ठेकेदार को मंडी में केवल आढ़तियों और कैंटीन चलाने वाले दुकानदारों पर उगाही करने के लिए स्वीकृति प्रदान की गई है। आढ़तियों के बाहर सब्जी व फल का ठेला लगाने वाले दुकानदारों से उगाही करने की कोई स्वीकृति कृषि मंडी समिति द्वारा नहीं दी गई है। सब्जी व फल का ठेला लगाने वाले दुकानदार जब इस अवैध उगाही का विरोध करते हैं तो उन्हें मंडी समिति के ठेकेदार द्वारा धमकाया जाता है। यहां तक कि ठेकेदार द्वारा ठेला लगाने वाले दुकानदारों को पीटा भी गया है। इस मामले की शिकायत नजदीकी थाने पर करने पर भी कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। नरेश कुमार भाटी ने  कहा है कि कृषि मंडी समिति के ठेकेदार द्वारा ठेला लगाने वाले दुकानदारों से अवैध उगाही व उन्हें धमकाने पीटने के सम्बन्ध में आवश्यक कार्यवाही की जाएं।
पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार जादौन ने इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए अधिकारियों को निर्देशित कर दिया है और कहा है कि इस मामले में उचित कार्यवाही की जाएगी।

अंतिम चरण के दौर में हैं कूड़ा निस्तारण फैक्ट्री

अश्वनी उपाध्याय 

गाज़ियाबाद। नगर निगम द्वारा कूड़ा निस्तारण की पहली फैक्टरी बनाने का काम अब अंतिम चरण में है। आशा की जा रही है कि अगले माह से यह फैक्टरी चालू हो जाएगी। पूरी क्षमता से काम करने पर इस फैक्टरी में 250 टन कूड़ा निस्तारित किया जाएगा। इस प्लांट में खासतौर पर सिटी जोन का कूड़ा लाया जाएगा। कचरे के निस्तारण के साथ ही यह फैक्टरी कूड़ा बीनने वाले 500 लोगों को रोजगार भी देगी। आपको बता दें कि गाज़ियाबाद शहर में रोजाना 1500 टन कूड़ा निकलता है। अभी इस कूड़े को शाहपुर मोरटा ले जाया जाता है। हालांकि यहाँ कूड़ा निस्तारण के लिए मशीन लगाई गई है, लेकिन बिजली का कनेक्शन न होने के कारण मशीन अभी चालू नहीं हो सकी है। यानी कि शहर में अभी कूड़े के निस्तारण का कार्य बंद है। इस वजह से शाहपुर मोरटा में कूड़े का पहाड़ खड़ा हो रहा है। शहर में कूड़ा निस्तारण के लिए नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने प्रत्येक जोन में एक-एक फैक्टरी पहले चरण में बनाने की तैयारी की है। इसी के तहत सिहानी में पहली फैक्टरी बनाई जा रही है। इस फैक्टरी में कूड़ा बीनने वाले लोग भी काम करते हुए नजर आएंगे, उनको वेतन दिया जाएगा। जिससे कि उनके जीवन में सुधार आएगा। कार्य के लिए कर्मचारियों को वर्दी, हेलमेट, दस्ताने और जूते भी दिए जाएंगे। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि कूड़ा निस्तारण की फैक्टरी में घर-घर से इकट्ठा किया गया कूड़ा लाया जाएगा। यहां पर कार्यरत कर्मचारी गीला और सूखा कूड़ा अलग करेंगे। सूखे कूड़े में से प्लास्टिक, लोहा, स्टील, कांच सहित अन्य को अलग किया जाएगा। जिसे नगर निगम द्वारा रिसाइकल करने के लिए बेचा जाएगा। गीले कूड़े से फैक्टरी के अंदर खाद तैयार की जाएगी। जिसका इस्तेमाल नर्सरियों में किया जाएगा। कूड़ा निस्तारण की पहली फैक्टरी का काम लगभग पूरा हो गया है, जल्द ही फैक्टरी चालू की जाएगी। इससे न केवल कूड़े के निस्तारण की समस्या का समाधान होगा बल्कि कई लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

ट्रांसफार्मर क्वाइल चोरी करने वाले लाइनमैन अरेस्ट

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। बुधवार सुबह लोनी पुलिस ने पुस्ता तिराहा से ट्रांसफार्मर से क्वाइल चोरी करने वाले चार आरोपी लाइनमैनों को गिरफ्तार किया। चारों विद्युत उपकेंद्र रामेश्वर पार्क पर तैनात थे। उपकेंद्र के जेई ने पूर्व में उनके खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया था। एसएचओ ओपी सिंह ने बताया कि रामेश्वर पार्क विद्युत उपकेंद्र पर तैनात अवर अभियंता मनीष ने उन्हीं के उपकेंद्र के लाइनमैन पर ट्रांसफार्मरों से चोरी करने के संबंध में तहरीर दी थी। वही, ट्रांसफार्मर को खुर्द-बुर्द कर तेल को नष्ट करने का भी आरोप लगाया था। एसएचओ ने बताया कि अवर अभियंता की तहरीर पर पुलिस ने नामजद रिपोर्ट दर्ज की थी। इसके बाद पुलिस ने बुधवार सुबह पुस्ता तिराहा से सभी चारों आरोपियों दिनेश निवासी सोनिया विहार दिल्ली, दीपक निवासी नाईपुरा, फिरोज निवासी अशोक विहार और धीरेंद्र निवासी पूजा कॉलोनी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने चोरों की निशानदेही से एक कुंटल क्वाइल बरामद किया है। दूसरी ओर, पुलिस ने मंगलवार रात एसएलएफ वेद विहार से दुकान में चोरी करने का प्रयास कर रहे बदमाश को गिरफ्तार किया है। चोर के दो साथी भाग गए। लोगों ने चोर को पकड़कर पुलिस के हवाले किया था।

गाजियाबाद: आयुक्त ने लीक से हटकर कार्य किया

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। शहर की समस्याओं के समाधान के साथ-साथ गाजियाबाद नगर निगम द्वारा महापौर आशा शर्मा तथा नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर के नेतृत्व में शहीदों के सम्मान में भी अहम भूमिका निभाई जा रही है। इसी क्रम में निगम की मोहन नगर जोन में राजेंद्र नगर स्थित m4u चौराहे पर शहीद मेजर मोहित शर्मा की शहादत व सम्मान में एक बंदूक तथा 6 गार्ड बंदूक की रक्षा करते हुए मनाई गई हैं जो, कि वेस्ट प्लास्टिक से बनाई गई है। इन प्रतीक चिन्हों को बनाने में आर्टिस्ट सरफराज व साक्षी का सहयोग रहा। इसी प्रकार निगम ने तय किया है कि सिटी जोन में जी 142, गांधीनगर स्थित पार्क तथा मार्ग  का नाम भारतीय वायु सेना के जांबाज स्क्वाड्रन लीडर शहीद समीर अब्रोल के नाम पर रखा जाएगा। इसके लिए नगर आयुक्त ने उद्यान प्रभारी डॉ अनुज तथा निर्माण विभाग के अभियंता देशराज को पार्क में जरूरी निर्माण करने के निर्देश दिए हैं। शहर की रोजमर्रा की शिकायतों का समाधान करने के साथ-साथ गाजियाबाद नगर निगम द्वारा किए जा रहे इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा स्थानीय पार्षद तथा आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों द्वारा की गई।

कोल्हू तेल: 10 तरह के तेल का व्यापार किया

गांधीनगर। मामला गुजरात के वडोदरा की रहने वाली शैलजाबेन काले का है। शैलजा शुद्ध घानी तेल का बिजनेस करती हैं। 2018 में उन्होंने तीन लाख रुपए से इस काम की शुरुआत की थी। आज वह मूंगफली, बादाम, नारियल सहित 10 तरह के तेल का बिजनेस कर रही हैं। इससे उन्हें सालाना तीन से चार लाख रुपए की कमाई हो रही है। इस कारोबार की सभी बारीकियां उन्होंने यूट्यूब पर वीडियो देखकर सीखी हैं। शैलजाबेन कहती हैं कि बाजार में मिलने वाले तेल में केमिकल मिला होता है। इसमें फैट की मात्रा भी ज्यादा होती है। इस वजह से डॉक्टर घानी तेल का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। यह सेहत के लिए फायदेमंद होता है। यही कारण है कि अब लोग घानी तेल का इस्तेमाल ज्यादा कर रहे हैं। लोगों में इसको लेकर जागरूकता भी बढ़ रही है। शैलजाबेन मूल रूप से उत्तर प्रदेश की रहने वाली हैं। 10 साल की उम्र में, वह परिवार के साथ वडोदरा शिफ्ट हो गईं थी। 12वीं की पढ़ाई करने के बाद उनकी शादी हो गई। उन्हें एक बेटा और एक बेटी है। बेटा विदेश में है जबकि बेटी बेंगलुरु में पढ़ाई कर रही है। पति राजेश एक पेट्रोलियम कंपनी में काम करते हैं। शैलजाबेन बताती हैं, ‘पहले मैं पापड़ बेचती थीं। इसके बाद गार्डनिंग का काम शुरू किया। इसी बीच यूट्यूब से मुझे घानी तेल के बारे में जानकारी मिली। लोगों के बीच इसकी डिमांड बढ़ रही थी। मेरे मन में तब ख्याल आया कि अगर इस सेक्टर में काम किया जाए तो अच्छा मुनाफा हो सकता है, क्योंकि अब लोगों का रुझान इसकी तरफ हो रहा है।’ शैलजा ने इसके बाद परिवार के लोगों से बात की और सबकी सहमति के बाद घानी तेल का बिजनेस शुरू किया। वह बताती हैं, शुरुआत में हम हर दिन 10 से 12 लीटर तेल निकालते थे। इसके बाद धीरे-धीरे हम अपना दायरा बढ़ाते गए। आज हम हर महीने एक हजार लीटर तेल निकालते हैं।’ शैलजा ने बताया कि पहले मैं केवल मूंगफली का तेल निकालती थी। जैसे-जैसे डिमांड बढ़ती गई मैंने वैरायटी बढ़ाना शुरू किया। आज मैं बादाम, सनफ्लावर, नारियल, राई, कपास सहित 10 वैरायटी के तेल तैयार करती हूं। इसके लिए हम सौराष्ट्र से मूंगफली, कोयम्बटूर से नारियल, इंदौर से सूरजमुखी, राजकोट से तिल और मध्य प्रदेश से राई मंगाते हैं। मुझे अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए किसी तरह के विज्ञापन की जरूरत नहीं होती है। हमारे कस्टमर्स ही ब्रांडिंग कर देते हैं। शैलजाबेन बताती हैं, अब घानी के तेल के लिए मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, बेंगलुरु सहित पूरे देश से डिमांड आ रही है। इसकी सप्लाई के लिए जल्द ही मैं कूरियर सर्विस शुरू करूंगी। इसके साथ ही अब ऑनलाइन भी लोगों तक पहुंचने की कोशिश करूंगी। ज्यादा से ज्यादा लोगों तक मेरा प्रोडक्ट पहुंचे इसकी कोशिश कर रही हूं। सिर्फ मुनाफा कमाना मेरा टारगेट नहीं है। मैं तो लोगों को शुद्ध तेल मुहैया कराना चाहती हूं। मिल से तेल निकालने के बाद बचे हुए चारे को चरवाहे ले जाते हैं और अपने पशुओं को खिलाते हैं। इससे पशुओं का दूध पौष्टिक और शुद्ध होता है। कच्ची घानी का तेल ही सबसे अच्छा माना जाता है, क्योंकि इसमें तेल को निकालते समय उसका तापमान बहुत ज्यादा नहीं होता। इस कारण से तेल में मौजूद पोषक तत्व नष्ट नहीं होते। इसमें फैटी एसिड, प्रोटीन, ओमेगा 3, विटामिन और मिनरल्स मौजूद होते हैं। ये शरीर को सेहतमंद रखते हैं। यह भूख बढ़ाने और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में भी अहम भूमिका निभाते हैं।

सीरीज ‘बुलेट्स’ को लेकर सुर्खियों में हैं लियोनी

मुंबई। सुपर हॉट सनी लियोनी हमेशा अपने हॉट फोटोज व वीडियो को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं। आजकल वह अपनी वेब सीरीज ‘बुलेट्स’ को लेकर सुर्खियों में हैं। इस वेब सीरीज में पहली बार सनी का दमदार एक्शन देखने को मिला है। सनी लियोनी ने फिल्मों में अपने बोल्ड सीन और हॉटनेस को लेकर खुलासा किया। एक अंग्रेजी वेब साइट से इंटरव्यू के दौरान सनी लियोनी) ने अपनी पर्सनल लाइफ के अलावा फिल्मों को लेकर कई बातें साझा की। एक्ट्रेस से उनकी बोल्ड किरदार के बार में भी सवाल किया गया। जिसका जवाब उन्होंने बड़े सरलता के साथ दिया। सनी लियोनी) से पूछा गया कि आपने फिल्मों में बोल्ड किरदार किए हैं।, जो हर किसी के लिए इतना आसान नहीं है। क्या आप अपने आसपास के क्रू सदस्यों के सामने ऐसा करते समय सतर्क रहती हैं। सनी लयनी ने कहा कि बोल्ड किरदार या ऐसे दृश्य करना जो अंतरंग या केंद्रीय हैं मुझे लगता है कि यह पेशे का हिस्सा है। हम सभी ने बहुत सारी फिल्में और शो देखे हैं। जहां बोल्ड सीन निश्चित रूप से सबसे ज्यादा होते हैं। अगर आप डिज्नी शो को नहीं जानते हैं। तो निश्चित रूप से बोल्ड सीन फिल्मों या शो का एक हिस्सा है और मुझे लगता है। कि यह पेशे से जुड़ा हुआ है। जब आप काम करते है। तो यह सुनिश्चित है कि आप सहज महसूस करते हैं। बाकि निश्चित रूप से सेट पर हर कोई आपको सहज महसूस करवाता है।
वहीं सनी लियोनी ने अपने फिल्मी करियर और निजी जिंदगी को लेकर और भी कई सवालों के जवाब दिए हैं। बात करें उनकी वेब सीरीज बुलेट्स की तो इस सीरीज में उनके साथ अभिनेत्री करिश्मा तन्ना मुख्य भूमिका में है। सीरीज में सनी लियोनी और करिश्मा तन्ना टीना और लोलो नाम के किरदार निभा रही हैं। जो दो देशों के बीच होने वाली हथियारों की अवैध डील को रोकने के मिशन पर निकली हैं।

जल-महोत्सव में दहशत फैलाई दो लोगों की मौत

भोपाल। पर्यटकों में दहशत फैल गई है। मध्य प्रदेश के बहुप्रचारित हनुवंतिया जल महोत्सव में बुधवार शाम एक बड़ी दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई। ये दोनों इवेंट कम्पनी के कर्मचारी बताये गए हैं। जो पैराग्लाइडिंग करते वक्त दुर्घटनाग्रस्त हो गए। कलेक्टर ने दुर्घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं। इस घटना से अब यहां पर्यटकों में दहशत फैल गई है और एमपी के गोवा कहे जाने वाले इस पर्यटक स्‍थल पर सुरक्षा प्रबंधों पर भी सवाल उठने लगे हैं। यह दुर्घटना बुधवार शाम 6 बजे के करीब तब हुई जब सनसेट इवेंट कम्पनी के दो कर्मचारी पैराग्लाइडिंग का आसमान में करतब दिखाकर पर्यटकों को लुभाने का प्रयास कर रहे थे। अचानक काफी ऊंचाई पर जाने के बाद ग्लाइडर की रस्‍सी टूट गई और पैराशूट भी नहीं खुला। उसके बाद वह तेजी से जमीन पर आ गिरे। हादसे के बाद लोग तेजी से उस ओर भागे जहां ग्लाइडर गिरा था। उसमे फंसे दोनों कर्मचारियों को बड़ी मुश्किल से ग्लाइडर का जाल काटकर निकाला गया उन्हें फौरन मूंदी के अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन इलाज शुरू होने के पूर्व ही दोनों ने दम तोड़ दिया। मरने वालों के नाम गजपालसिह पिता सुरेन्द्र सिंह राजपूत (28) निवासी बूढा मांगलियान जिला पाली राजस्थान तथा बालचंद दांगी पिता रामप्रताप दांगी (32) निवासी ग्राम भगौरा जिला राजगढ़, ब्यावरा बताए गए हैं। बुधवार को हनुवंतिया जल महोत्सव में पैराग्लाइडिंग के दौरान हुई दुर्घटना के संबंध में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी अनय द्विवेदी ने मजिस्ट्रि‍यल जांच के आदेश दिए हैं। अपर कलेक्टर नंदा भलावे कुशरे ने बताया कि एसडीएम पुनासा इस मामले की विस्तृत जांच करेंगे कि यह घटना किन परिस्थितियों में हुई। इस घटना से संबंधित कोई तथ्य, साक्ष्य, जानकारी, फोटो या वीडियो किसी व्यक्ति के पास उपलब्ध हो तो वो उसे एसडीएम पुनासा को तत्काल उपलब्ध करा सकते हैं। ताकि घटना की जांच में मदद मिल सके।

बर्ड फ्लू: मीट-अंडे खाने में संक्रमण का खतरा नहीं

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं संरक्षा प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने देश में बर्ड फ्लू के मद्देनजर आज दिशा-निर्देश जारी किये हैं। जिसमें कहा गया है कि यदि कुछ सावधानियां बरती जायें तो पॉल्ट्री मीट और अंडे खाने में संक्रमण का खतरा नहीं है। दिशा-निर्देश में कहा गया है कि जिन इलाकों में बर्ड फ्लू फैला हुआ है वहां से पॉल्ट्री उत्पाद लाकर नहीं बेचा जाना चाहिए। साथ ही ग्राहकों को भी चाहिए कि ऐसे पॉल्ट्री उत्पाद न खरीदें। इसके अलावा जिंदा पॉल्ट्री और कच्चे मांस को हैंडल करने वाले लोगों को भी हाथों में दस्ताने और चेहरे पर मास्क पहनने चाहिये तथा साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

आखरी भाषण विशेष, और भी रोचक बनाया

वाशिंगटन डीसी। जो बाइडन के शपथ लेने से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने एक आखिरी बार जॉइंट बेस ऐंड्रूज से देश को संबोधित किया था। यूं तो आखिरी होने की वजह से यह भाषण वैसे ही खास होता, ट्रंप ने इसे और भी रोचक बना दिया था। दरअसल, रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि उन्होंने अपने स्टाफ के लिखे भाषण का इस्तेमाल नहीं किया। यह इसलिए खास है। क्योंकि उन्होंने जाते-जाते चीन पर भी तंज कसा और आने वाले प्रशासन को नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन का नाम लिए बिना शुभकामनाएं दीं जिससे उनकी टीस साफ झलकती दिखी। यही नहीं, उन्होंने अपने भाषण के आखिर में अपने समर्थकों से यह भी कहा-’ यानी हम वापस आएंगे किसी रूप में। वाइट हाउस से निकलते वक्त ट्रंप ने कहा था कि देश का 45वां राष्ट्रपति बनना उनके लिए सम्मान की बात थी और वह बस अलविदा कहना चाहते हैं। इसके बाद अपने आखिरी भाषण में ‘वी लव यू’ के नारों के बीच ट्रंप ने कहा, ‘ये चार साल अविश्वनीय रहे, हमने साथ मिलकर बहुत कुछ हासिल किया।’ ट्रंप ने कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने में दूसरे देशों को पीछे बताया। उन्होंने कहा, ‘हमें महामारी की बड़ी मार पड़ी, हमने जो किया उसे ‘मेडिकल चमत्कार’ कहते हैं- एक वैक्सीन 9 महीने में तैयार कर ली, न कि 5-10 साल में।’ यही नहीं, अपने कार्यकाल के दौरान चीन पर आक्रामक रहे ट्रंप जाते-जाते भी एक बार फिर निशाना साध गए और कोरोना वायरस को ‘चाइना वायरस’ बताया। इसके बाद आने वाले जो बाइडेन प्रशासन को ट्रंप ने शुभकामनाएं दीं और कहा- ‘कुछ बेहतरीन करने के लिए उनके पास मजबूत नींव है।’ हालांकि, लोगों को यह खटका कि चुनाव हारने के बाद लंबे वक्त तक हार न मानने वाले ट्रंप ने जो बाइडेन का नाम नहीं लिया। इससे पहले शपथग्रहण समारोह में शामिल नहीं होने के उनके फैसले से भी लोगों ने खटास का अंदाजा लगा लिया था। ट्रंप के भाषण के बारे में शायद खास बात यह रही कि उन्होंने न टेलिप्रॉम्पटर का इस्तेमाल किया और न ही लिखी हुई स्पीच का। रिपोर्ट के मुताबिक ट्रंप को स्पीच लिखकर दी गई थी जिसमें ज्यादा नम्र भाषा इस्तेमाल की गई थी और शांतिपूर्ण सत्ता हस्तांतरण का वादा भी था लेकिन ट्रंप ने उसका इस्तेमाल नहीं करने का फैसला किया। हालांकि, सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि ट्रंप बाइडेन के लिए एक नोट छोड़कर गए हैं। जिस पर क्या लिखा है, किसी को नहीं पता।

उत्साह: भारतीय शेयर बाजारों ने रचा इतिहास

कविता गर्ग 
मुंबई। जो बाइडन के अमेरिकी राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करने से उत्साहित भारतीय शेयर बाजारों ने गुरुवार को इतिहास रच दिया। बीएसई का सेंसेक्स आज सुबह 200 अंकों की तेजी के साथ पहली बार 50 हजार के पार पहुंच गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 50,126.73 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंचा। बाद में यह 300.09 अंक या 0.60 प्रतिशत की बढ़त के साथ 50,092.21 अंक पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 85.40 अंक या 0.58 प्रतिशत की बढ़त के साथ 14,730.10 अंक पर पहुंच गया। इससे पहले निफ्टी भी 14,738.30 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया। सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फिनसर्व का शेयर सबसे अधिक करीब चार प्रतिशत चढ़ गया। बजाज फाइनेंस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, इंडसइंड बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर भी लाभ में थे। वहीं दूसरी ओर टीसीएस, एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी के शेयर नुकसान में कारोबार कर रहे थे। इससे पहले बुधवार को सेंसेक्स 394 अंकों की तेजी के साथ 49,792 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी भी 14,666 पर था। उल्लेखनीय है कि सेंसेक्स ने 31 साल में 1 से 50 हजार तक का सफर तय किया है। पिछले 6 माह में इसमें 23 हजार अंकों की तेजी आई है।

पीएम एवं सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका

अकांशु उपाध्याय 
नई दिल्ली। वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सभी मुख्यमंत्री को कोरोना का टीका लगेगा।दूसरे चरण में 50 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों को वैक्सीन लगाया जाएगा। वैक्सीन को लेकर मुख्यमंत्रियों की बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि घबराने की जरूरत नहीं है। दूसरे फेज में सभी को वैक्सीनेशन करा दिया जाएगा। जो भी 50 साल के ऊपर होंगे। ऐसे में सभी सांसद और विधायक, जो 50 के ऊपर है। उनको दूसरे चरण में कोरोना का वैक्सीनदिया जाएगा। आपको बता दें कि देश में अभी कोरोना वैक्सीनेशन का पहला फेज चल रहा है। जिसके तहत 7 लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को टीके का पहले डोज दिया जा चुका है। स्वास्थ्यकर्मियों के टीकाकरण के बाद दूसरे फेज शुरू होगा। दूसरे फेज में सेना, अर्धसैनिक बलों के जवानों और 50 साल से ऊपर के लोगों को टीका दिया जाएगा।हालांकि, अभी क्लियर नहीं है कि दूसरा फेज कब से शुरू होगा। लेकिन दूसरे फेज की गाइडलाइन तय है। इस फेज में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अधिकांश राज्यों के मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों समेत कई वीवीआईपी को टीका लगेगा, क्योंकि सबकी उम्र 50 से अधिक है।केंद्र सरकार की ओर से बताया गया है कि किस सेशन में कौन-सी वैक्सीन दी जानी है। ये पूरी तरह से राज्य सरकार पर निर्भर है। अभी तक उत्तर प्रदेश, राजस्थान जैसे राज्य हैं। जहां लक्ष्य को तेजी से पूरा किया जा रहा है। वहीं, दिल्ली, पंजाब समेत कई ऐसे राज्य हैं। जहां स्वास्थ्यकर्मी अभी टीका लगाने से बच रहे हैं। ऐसे कर्मियों की अब काउंसलिंग की जाएगी।

मुंबई एचसी ने सोनू की याचिका को खारिज किया

मुंबई। मुंबई उच्च न्यायालय ने अभिनेता सोनू सूद की उस अपील और अंतरिम याचिका को खारिज कर दिया है। जिसमें उन्होंने जुहू स्थित अपनी आवासीय इमारत में कथित अवैध निर्माण को लेकर बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के नोटिस को चुनौती दी थी। न्यायमूर्ति पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि अदालत अपील और याचिका को खारिज कर रही है। सूद के वकील अमोघ सिंह ने बीएमसी द्वारा जारी नोटिस का पालन करने के लिए 10 सप्ताह का समय मांगा था और अदालत से अनुरोध किया था कि वह नगर निकाय को इमारत ढहाने का कदम नहीं उठाने का निर्देश दे। अदालत ने इस अनुरोध को स्वीकार करने से इनकार कर दिया और कहा कि अभिनेता के पास ऐसा करने का पहले पर्याप्त समय था।

रिलायंस-फ्यूचर ग्रुप के सौदे को सेबी की मंजूरी

वाशिंगटन डीसी। अमेजॉन को झटका देते हुए सेबी यानी भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ने फ्यूचर ग्रुप को रिलायंस को अपनी परिसंपत्ति बेचने की योजना को मंजूर दी है। इस 24,713 करोड़ रुपये के सौदे पर सेबी की मुहर से रिलायंस-फ्यूचर को बड़ी राहत मिलने के साथ बांबे स्टॉक एक्सचेंज में इसके शेयरों में 2 फीसद का उछाल देखने को मिला है। हालांकि इसमें जो बाइडन के अमेरिका का राष्ट्रपति बनने से शेयर बाजारों में आई समग्र उछाल का असर भी शामिल है। अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन लगातार रिलायंस-फ्यूचर सौदे का विरोध कर रही है। सौदे के विरोध में अमेजॉन ने भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी), स्टॉक एक्सचेंजों और अन्य रेगुलेटरी एजेंसियों को कई पत्र लिखे थे। इनमें अमेजॉन ने सौदे को अनुमति नहीं देने का अनुरोध किया था। अमेजॉन के अनुरोध को अस्वीकार करते हुए सेबी ने कुछ शर्तों के साथ इस सौदे को सशर्त मंजूरी दे दी है।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सीनियर टीम को हराया

सैंटियागो। भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने एक गोल से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करके यहां प्रिंस ऑफ वेल्स कंट्री क्लब में चिली की सीनियर टीम को 3-2 से हराया। फर्नांडा विल्लाग्रान ने 21वें मिनट में चिली को बढ़त दिलायी जिसके बाद दीपिका (39वें मिनट), संगीता कुमारी (45वें मिनट) और लालरिंडिकी (47वें मिनट) ने भारत की तरफ से गोल दागे। चिली की सिमोन अवेली ने 56वें मिनट में गोल किया लेकिन इससे वह हार का अंतर ही कम कर पायी।भारत की इस दौरे में यह लगातार तीसरी जीत है। इससे पहले उसने चिली की जूनियर टीम को दो मैचों में हराया था।  भारत ने आक्रामक शुरुआत की और दो बार चिली के सर्किल में पहुंचा लेकिन गोल नहीं कर पाया। चिली को 10वें मिनट में पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन भारतीयों ने इसका अच्छा बचाव किया। चिली की टीम ने दूसरे क्वार्टर में दबदबा बनाया और इससे उसने 21वें मिनट में लगातार दो पेनल्टी कार्नर हासिल किये जिसमें से दूसरे पर विल्लाग्रान ने गोल किया। भारत ने तीसरे क्वार्टर में अच्छी वापसी की और नौ मिनट के अंदर पांच पेनल्टी कार्नर हासिल किये। इसका फायदा उठाकर दीपिका ने 39वें मिनट में टीम को बराबरी दिलायी।

इराक में विस्फोट होने से 8 की मौत, 25 घायल

बगदाद। इराक की राजधानी में बृहस्पतिवार को दो आत्मघाती विस्फोटों में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और 25 से अधिक लोग घायल हुए हैं। पुलिस के तीन अधिकारियों और ‘स्टेट टीवी’ ने यह जानकारी दी।अधिकारियों ने नाम उजागर ना करने की शर्त पर बताया कि मध्य बगदाद में एक व्यावसायिक सेंटर में दो विस्फोट हुए। इराक के सरकारी टेलीविजन की खबर के अनुसार यह आत्मघाती विस्फोट थे। घायल हुए कई लोगों की हालत गंभीर है। सम्पत्ति भी क्षतिग्रस्त हुई है।

अजय देवगन की 'थैंक गॉड' की शूटिंग शुरू हुई

मुंबई। बॉलीवुड के सिंघम स्टार अजय देवगन ने आने वाली फिल्म थैंक गॉड की शूटिंग शुरू कर दी गयी है। अजय देवगन ने पिछले दिनों ऐलान किया था कि उनकी अगली फिल्म थैंक गॉड कॉमेडी ड्रामा फिल्म है। इस फिल्म के जरिए अजय एक बार फिर अपने इश्क डायरेक्टर इंद्र कुमार के साथ एसोसिएट हो रहे हैं।सिद्धार्थ मल्होत्रा और रकुल प्रीत सिंह भी मुख्य भूमिकाओं में हैं। फ़िल्म की शूटिंग शुरू हो गयी है। अजय देवगन ने इसकी तस्वीरें भी शेयर कीं। हालांकि, मुहूर्त की फोटो में अजय नहीं हैं। प्रोड्यूसर भूषण कुमार, इंद्र कुमार और सिद्धार्थ मल्होत्रा देखे जा सकते हैं। अजय देवगन के साथ इंद्र कुमार इससे पहले ‘इश्क’, ‘मस्ती’ और ‘टोटल धमाल’ जैसी हिट फिल्मों में काम कर चुके हैं।

राष्ट्रपति बाइडन ने ट्रंप की अहम नीतियों को पलटा

वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पदभार संभालते ही 15 कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर किए, जिनमें से कुछ पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अहम विदेश नीतियों और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित कुछ फैसलों को पलटने वाले हैं। इन कार्कारी आदेशों में पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते में पुन: शामिल होने, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से अमेरिका को बाहर होने से रोकने, मुस्लिम देशों से लोगों की यात्रा पर प्रतिबंध को हटाने और मैक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण को तत्काल रोकना आदि शामिल हैं। बाइडेन ने बुधवार को कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर के बाद व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में संवाददाताओं से कहा,‘‘ मैं आज के कार्यकारी कदमों से गौरवान्वित हूं, और मैंने अमेरिका की जनता से जो वादा किया किया था, उन्हें मैं पूरा करने जा रहा हूं, अभी लंबी यात्रा करनी है। ये बस कार्यकारी आदेश हैं। वे जरूरी हैं, लेकिन जो हम करने वाले हैं उनके लिए हमें विधेयकों की जरूरत पड़ेगी। ’’

1 जहरीला मेंढक, 10 इंसानों की मौत का सामान

दुनिया के सबसे जहरीले मेंढक के बारे जानते हैं आप? इस मेंढक की दुनिया भर में तस्करी होती है। एक मेंढक में इतना जहर होता है कि वह 10 इंसानों को मौत की नींद सुला दे। इस प्रजाति के एक मेंढक की अंतरराष्ट्रीय ब्लैक मार्केट में कीमत 2000 डॉलर यानी करीब 1.50 लाख रुपए हैं। आइए जानते हैं कि ये कौन से मेंढक हैं? इनकी तस्करी क्यों होती है? अब इन्हें बचाने की कौन सी मुहिम चलाई जा रही है? मेंढक की इस प्रजाति का नाम है पॉयजन डार्ट मेंढक। ये एक लुप्तप्राय प्रजाति का मेंढक है। आमतौर पर ये मेंढक पीले और काले रंग के होते हैं। कुछ हरे-चमकदार नारंगी रंग और कुछ नीले-काले रंग के भी होते हैं। इस मेंढक की जहर की वजह से इसकी पूरी दुनिया में तस्करी की जाती है।
आमतौर पर इन मेंढकों की लंबाई 1.5 सेंटीमीटर होता है लेकिन कुछ 6 सेंटीमीटर तक बड़े हो जाते हैं। औसत वजन 28 से 30 ग्राम होता है। लेकिन इनके अंदर मौजूद जरा सा जहर 10 इंसानों को मौत के घाट उतार सकता है।
पॉयजन डार्ट मेंढक मूल रूप से बोलिविया, कोस्टारिका, ब्राजील, कोलंबिया, इक्वाडोर, वेनेजुएला, सूरीनाम, फ्रेंच गुएना, पेरू, पनामा, गुयाना, निकारागुआ और हवाई के ट्रॉपिकल जंगलों में मिलते हैं। नर मेंढक ही अपने अंडों का ख्याल रखते हैं। इन्हें पत्तों, खुले जड़ों, या गीली सतहों पर छिपा कर रखते हैं।

एमपी: नाबालिग का किया दुष्कर्म, जिंदा दफनाया

भोपाल। मध्यप्रदेश में फिर दो बेटियों के साथ बलात्कार की जघन्य वारदातों से महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई सवाल उठे हैं। बैतूल जिले में 14 साल की नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद आरोपी ने मासूम बच्ची को पत्थर से दफना दिया था। लेकिन वह बच गई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं इंदौर में एक छात्रा को कोचिंग जाते वक्त अगवा किया गया और फिर उसके साथ कथित तौर पर गैंग रेप किया गया।आरोपियों ने विरोध करने पर पीड़ित पर चाकू से वार किया। उसको बोरी में बंद कर रेलवे पटरी पर फेंक दिया। बैतूल में पीड़िता खेत में पंप चालू करने गई थी. जब शाम तक वो वापस नहीं लौटी तो मां-बाप ने उसे खोजना शुरू किया। जब वे लोग एक नाले की ओर गए तो वहां बच्ची के कराहने की आवाज सुनाई दी। आरोपी ने उसे जिदा पत्थर और कांटों के बीच दफन कर दिया था। सारणी थाना प्रभारी ने कहा कि पीड़िता शाम करीब 5 बजे बाहर गई थी। जब कुछ घंटों के बाद वह वापस नहीं लौटी तो उसके परिवार ने उसकी तलाश शुरू कर दी. आरोपी ने उसे नाले में फेंक दिया था और उसे पत्थर से दबा दिया था। उससे पहले उसने पीड़िता के जबड़े पर वार किया था। 35 साल के आरोपी को आईपीसी और पोक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए नागपुर रेफर कर दिया गया है। एडीशनल एसपी शशिकांत कनकने ने बताया कि आरोपियों के मौके से भागने के बाद युवती चिल्लाई और लोगों की मदद से जैसे-तैसे बोरे से बाहर आई। बाद में लोगों ने उसे एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया।फिलहाल पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है।

'आईपीएल' 2021 में नए टीम का हुआ गठन

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग 2021 शुरू होने से पहले ही चर्चा का विषय बन चूका है। अभी टाइम टेबल आया ही नहीं है और लोग अपने-अपने कयास लगाने में जुट गए है। 14वें सीजन से पहले सभी आठ टीमों ने अपने रिटेन और रिलीज खिलाड़ियों की लिस्ट जारी कर दी है। सभी आठ टीमों ने कुल मिलाकर 140 खिलाड़ियों को रिटेन किया है और 55 खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया है। कई टीमों ने बड़े फैसले लेते हुए अपनी टीम के दिग्गज खिलाड़ियों को भी रिलीज कर दिया है। कोलकाता नाइट राइडर्स रिटेन खिलाड़ी- इयोन मोर्गन, शुभमन गिल, दिनेश कार्तिक, आंद्रे रसेल, सुनील नारेन, पैट कमिंस, वरुण चक्रवर्ती, नीतिश राणा, राहुल त्रिपाठी, कमलेश नागरकोटी, कुलदीप यादव, लॉकी फर्ग्युसन, शिवम मावी, प्रसिद्ध कृष्णा, संदीप वॉरियर, टिम सेफर्ट और रिंकू सिंह. रिलीज खिलाड़ी- टॉम बैंटन, निखिल नाइक, क्रिस ग्रीन, सिद्धेश लाड, एम सिद्धार्थ और हैरी गुर्नी। मुंबई इंडियंस रिटेन खिलाड़ी- रोहित शर्मा, क्विंटन डिकॉक, सूर्यकुमार यादव, इशान किशन, क्रिस लिन, अनमोलप्रीत सिंह, सौरभ तिवारी, आदित्य तारे, कीरन पोलार्ड, हार्दिक पांड्या, क्रुणाल पांड्या, अनुकूल रॉय, जसप्रीत बुमराह, ट्रेंट बोल्ट, राहुल चाहर, जयंत यादव, धवल कुलकर्णी और मोहसिन खान। दिल्ली कैपिटल्स रिटेन खिलाड़ी- श्रेयस अय्यर, शिखर धवन, ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, ईशांत शर्मा, रविचंद्रन अश्विन, अजिंक्य रहाणे, अक्षर पटेल, अमित मिश्रा, आवेश खान, मार्कस स्टोइनिस, शिमरन हेटमायर, कगीसो रबाडा, एनरिक नॉर्टजे, प्रवीण दूबे, ललीत यादव, हर्षल पटेल, डेनियल सैम्स और क्रिस वोक्स. रिलीज खिलाड़ी- जेसन रॉय, संदीप लामिछाने, मोहित शर्मा, तुषार देशपांडे, कीमो पॉल और एलेक्स कैरी। राजस्थान रॉयल्स रिटेन खिलाड़ी- संजू सैमसन, बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर, जोस बटलर, रियान पराग, श्रेयस गोपाल, राहुल तेवतिया, महिपाल लोमरोर, कार्तिक त्यागी, एंड्रयू टाई, जयदेव उनादकट, मयंक मारकंडे, यशस्वी जायसवाल, अनुज रावत, डेविड मिलर, मनन वोहरा और रोबिन उथप्पा। सनराइजर्स हैदराबाद रिटेन खिलाड़ी- डेविड वॉर्नर, केन विलियमसन, मनीष पांडे, प्रीयम गर्ग, विराट सिंह, ऋद्धिमान साहा, जॉनी बेयरस्टो, श्रीवस्तव गोस्वामी, विजय शंकर, मोहम्मद नबी, शॉन मार्श, जेसन होल्डर, अभीषेक शर्मा, मोहम्मद समद, भुवनेश्वर शर्मा, राशिद खान, टी नटराजन, संदीप सिंह, खलील अहमद, सिद्धार्थ कौल, बसिल थंपी और शहबाज नदीम। किंग्स इलेवन पंजाब रिटेन खिलाड़ी- केएल राहुल, क्रिस गेल, निकोलस पूरन, मोहम्मद शमी, क्रिस जॉर्डन, मंदीप सिंह, मयंक अग्रवाल, रवि बिश्नोई, प्रभसिमरन सिंह, दीपक हुड्डा, सरफराज खान, अर्शदीप सिंह, मुरुगन अश्विन, इशान पोरल, हरप्रीत सिंह. रिलीज खिलाड़ी- ग्लेन मैक्सवेल, शेल्डन कॉटरेल, के गौतम, मुजीब उर रहमान, करुण नायर और जेम्स नीशम।

पिछले 67 सालों से नहीं नहाया है यह आदमी

तेहरान। सर्दियों में तो नहाना एक बड़ा खतरनाक टास्क लगता है। पर फिर भी बंदा 3-4 बजे तक सोचने लगता है कि यार नहा ही ले। पर कभी ऐसा सुना है कि कोई शख्स 67 वर्षों से नहाया ही ना हो? ऐसे एक जनाब हैं जो बीते 67 वर्षों से नहाए ही नहीं हैं।

ईरान के रहने वाले हैं वो... 

इंडिया टाइम्स के मुताबिक, शख्स का नाम अमो हाजी है। उम्र उनकी 87 वर्ष है। वो ईरान के रहने वाले हैं। दक्षिण ईरान के फार्स प्रांत के देजगाह गांव में रहते हैं। पर ऐसा क्यों कर रहे हैं?... तेेेहरान टाइम्स के अनुसार, हाजीको लगता है कि अगर वे साफ-सफाई से रहेंगे तो वो बीमार हो जाएंगे। इसी कारण उन्‍हें पानी से नफरत है। नहीं खाते ताजा खाना... सिर्फ पानी ही नहीं, हाजी को ताजा खाने से भी दिक्कत है। उन्हें ताजा खाना भी पसंद नहीं है। सड़े-गले पॉर्क्‍यूपाइन का मांस उनका फेवरेट फूड है। आपको सुनकर हैरत होगी कि तनाव दूर करने के लिए हाजी जानवरों के मल को तंबाकू की तरह के पाइप में डालकर धुआं फूंकते हैं। अब सवाल उठता है कि वो आखिर ऐसा क्योंकर कर रहे हैं? भावनात्‍मक रूप से जिंदगी में उनके कुछ परेशानियां आई थी, जिसके बाद उन्होंने लाइफ में जीने का ये तरीका सीख लिया।बालों को आग लगाकर काटते हैं... दिन में 5 लीटर पानी पीते हैं। जब भी उनके बाल बढ़ जाते हैं तो वे उन्‍हें जला देते हैं। एक हेलमेट से वो सर्दियों में खुद को गर्म रखने की कोशिश करते हैं, इसका इस्‍तेमाल युद्ध के दौरान किया गया था।

भूपतवाला में साधु की हत्या होने से मचा हड़कंप

हरिद्वार। हरिद्वार के भूपतवाला में एक साधु की हत्या का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है। यहां सप्त सरोवर मार्ग पर त्रिदंड़ी सेवा आश्रम के पास एक साधु का शव मिला है। मौके पर पहुंची हरिद्वार पुलिस ने साक्ष्य जुटाए और जांच में लग गई है। फिलहाल साधु की पहचान नहीं हो पाई है। वहीं इस घटना से आसपास के क्षेत्र में भय का माहौल बन गया है। शव को पत्थरों से बुरी तरह कुचला हुआ है और घटना बुधवार देर रात की बताई जा रही है। गुरुवार को स्थानीय लोगों ने फक्कड़ साधु का शव देखा तो पुलिस को सूचना दी।

अयोध्या में राम मंदिर की नींव खुदाई का काम शुरू

अयोध्या। अयोध्या के राम जन्मभूमि में रामलला के गर्भ गृह स्थल पर आज से नींव की खुदाई का कार्य शुरू हो गया। वैदिक आचार्य द्वारा कार्य प्रारम्भ से पूर्व पूजन-अर्चन किया गया। अभी तक रामलला के गर्भगृह स्थल के चारों तरफ का मलबा हटाया जा रहा था। गुरुवार से मुख्य गर्भगृह स्थल पर नींव के निर्माण का काम प्रारम्भ कर दिया गया है। राम जन्मभूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि रामलला के गर्भगृह स्थल के पास भी कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। इससे पूर्व वहां पूजन-अर्चन किया गया। उन्होंने बताया कि बीते पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूमि पूजन किए जाने के बाद से ही प्रतिदिन गर्भ गृह स्थल पर हवन व दीप जलाने का क्रम चलता आ रहा है।मकर संक्रांति के साथ सूर्य के उत्तरायण होने के बाद रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के निर्देश के बाद कार्यदायी संस्था लार्सन टूब्रो ने नींव की खुदाई आज सुबह शुरू करा दी । काम को तेज करने के लिये एक अतिरिक्त पोकलैंड भी लगा दिया गया है ताकि काम जल्द से जल्द पूरा हो। इस बीच ट्रस्ट की मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक आज शुरू हो रही है।

संक्रमण: 5.33 करोड़ से अधिक लोग ठीक हुए

वाशिंगटन डीसी। विश्व में जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी के संक्रमण से 5.33 करोड़ से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं 9.68 करोड़ से अधिक संक्रमित हुए हैं तथा अभी तक 20 लाख 73 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। हालांकि इससे निजात पाने के लिए कई देशों में कोरोना टीकाकरण प्रक्रिया शुरू हो गयी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक विश्व के 191 देशों में कोरोना वायरस से अभी तक पांच करोड़ 33 लाख 30 हजार 393 लोग ठीक हो गए है और इस महामारी से 20 लाख 73 हजार 938 लोगों की मौत हो चुकी है। नौ करोड़ 68 लाख 29 हजार 359 लोग संक्रमित हुए हैं। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 2.44 करोड़ के पार हो चुकी है। जबकि करीब चार लाख से अधिक मरीजों की मौत हुई है। भारत में कोरोना के संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या एक करोड़ दो लाख 65 हजार 706 तक पहुंच गयी है और संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ छह लाख 10 हजार 883 पहुंच गया है। जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,52,869 तक पहुंच गया है। ब्राजील में कोरोना वायरस के संक्रमण से 76.18 लाख ठीक हो गए है। जबकि इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 86.38 लाख के पार हो गयी और इस महामारी से 2.12 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 35.95 लाख से अधिक हो गयी है जबकि 65,632 लोगों की मौत हो गई है। ब्रिटेन में 35.15 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 93,469 लोगों की मौत हुई है। फ्रांस में करीब 30.23 लाख से अधिक लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं और 71,792 मरीजों की मौत हाे चुकी है। इटली में अब तक 24.14 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं और 83,681 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन एक बार फिर संक्रमितों के मामले में तुर्की से आगे निगल गया और यहां इस महामारी से अब तक 24.12 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 54,637 लोगों की मौत हुई है। तुर्की में कोविड-19 से अब तक करीब 24.06 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 24,487 लाेग काल के गाल में समा गए हैं। जर्मनी में इस वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 20.90 लाख के पार पहुंच गयी है तथा 49,499 लोगों की मौत हुई है। कोलंबिया में इस जानलेवा वायरस से अब तक करीब 19.57 लाख लोग प्रभावित हुए हैं तथा 49,792 लोगों ने जान गंवाई है। अर्जेंटीना में कोविड-19 से 18.31 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 46,216 लोगों की मौत हो चुकी है। मेक्सिको में कोरोना से करीब 16.89 लाख लोग संक्रमित हुए हैं और 1,44,371 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। पोलैंड में संक्रमण के करीब 14.50 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं तथा 34,141 लोगों की मौत हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना से संक्रमित मामले 13.69 लाख के पार पहुंच गये हैं और तथा 38,854 लोग काल के गाल में समा गए हैं। ईरान में इस महामारी से अब तक करीब 13.48 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 57,057 लोगों की मौत हो गई है। यूक्रेन में 12.10 लाख से ज्यादा लाेग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं जबकि 22,264 लोगों की मौत हो चुकी है। पेरू में इस वायरस से अब तक 10.73 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 39,044 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से 9.40 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 13,350 लोगों की मौत हुई है। इंडोनेशिया में कोरोना से करीब 9.40 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं और मृतकों का आंकड़ा 26,857 तक पहुंच गया है। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 9.09 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 14,820 लोगों की मौत हुई है। कनाडा में अब तक 7.30 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि 18,416 लोगों की मौत हुई है। रोमानिया में कोरोना से सात लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 17,485 लोगाें की मौत हो चुकी है। बेल्जियम में 6.84 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 20,572 लोगाें की मौत हो चुकी है। चिली में कोविड-19 से 6.80 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 17,594 लोगों ने जान गंवाई है। इराक में संक्रमितों की संख्या 6.10 लाख के पार हो गई है और मृतकों का आंकड़ा 12,968 तक पहुंच गया है। पुर्तगाल ने संक्रमितों के मामले में इजरायल को पीछे छोड़ दिया है और यहां इस महामारी से 5.81 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 9,465 लोगों की जान जा चुकी है। इजरायल में संक्रमितों की संख्या 8.75 लाख से अधिक हो गयी है जबकि मृतकों की संख्या 4,181 हो गयी है। स्वीडन भी संक्रमितों के मामले में बंगलादेश से आगे है और यहां इस महामारी से करीब 5.38 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 10,797 लोगों की मौत हुई है। बांग्लादेश में कोरोना में 5.29 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 7,950 लोगों की मौत हो चुकी हैं। पाकिस्तान में कोरोना से अब तक करीब 5.27 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 11,157 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलीपींस में 5.05 लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में हैं तथा 10,042 लोगों की मौत हो चुकी है। स्विट्ज़रलैंड में इस महामारी से करीब पांच लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 8,924 लोगों की मौत हो चुकी है। मोरक्को में इस महामारी से 4.62 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 8,043 लोगों की जान जा चुकी है। ऑस्ट्रिया में कोरोना से 3.98 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 7,237 लोगों की मौत हो चुकी हैं। सऊदी अरब में कोरोना से 3.65 लाख लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 6,338 लोगों की मौत हो चुकी हैं। कोरोना वायरस से इक्वाडोर में 14,437, बोलीविया में 9764, मिस्र में 8,747, ग्वाटेमाला में 5,343 तथा चीन में 4801 लोगों की मौत हो चुकी है।

संकट से उबरने हेतु, एकजुट होने की अपील: कमला

वाशिंगटन डीसी। कमला देवी हैरिस ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करने के बाद पहली बार देश को संबोधित करते हुए ‘‘अमेरिकी आकांक्षाओं’’ को रेखांकित किया और इस बात पर जोर दिया कि देश के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अमेरिकियों से संकट से उबरने और एकजुट होने के प्रयास करने की अपील की है। भारतीय मूल की कमला देवी हैरिस ने ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह के दौरान बुधवार को अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। हैरिस (56) अमेरिका की 49वीं उपराष्ट्रपति हैं। वह इस पद पर पहुंचने वाली पहली अश्वेत एवं पहली एशियाई अमेरिकी भी हैं।हैरिस ने लिंकन मेमोरियल के बाहर कहा, ‘‘कई मायनों में यह क्षण एक देश के रूप में हमारे चरित्र को दर्शाता है। यह दिखाता है कि मुश्किल समय में भी हम कौन हैं। हम केवल सपने ही नहीं देखते, उन्हें साकार भी करते हैं। हम केवल यह नहीं देखते कि क्या हो रहा है, हम यह भी देखते हैं कि क्या हो सकता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम चांद पर जाते हैं और वहां अपना ध्वज फहराते हैं। हम बहादुर, निडर और महत्वाकांक्षी हैं। हम अपने इस भरोसे को लेकर अडिग हैं कि हम चुनौतियों से पार पाएंगे और उठ खड़े होंगे। यह अमेरिकी आकांक्षा है।’’ उन्होंने असैन्य युद्ध के दौरान पूर्व राष्ट्रपति इब्राहिम लिंकन की उपलब्धियों का हवाला दिया और कहा कि उन्होंने ‘‘बेहतर भविष्य देखा और बड़े कॉलेजों एवं अंतरमहाद्वीपीय रेलमार्गों’’ के साथ इसका निर्माण किया। हैरिस ने इस बात का भी जिक्र किया कि मार्टिन लूथर किंग जूनियर ने किस प्रकार नस्ली एवं आर्थिक न्याय के लिए लड़ाई लड़ी। बड़े प्रयोग के लिए दृढ़ संकल्प की आवश्यकता होती है। इसके लिए काम करने, उसके बाद उसमें सुधार करते रहने की आवश्यकता है। अमेरिका में आज इसी दृढ़ संकल्प के साथ काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यह दृढ़ संकल्प भविष्य को बदल रहे वैज्ञानिकों में दिखता है। मुझे यह उन अभिभावकों में दिखता है, जो आगामी पीढ़ियों का लालन-पालन कर रहे हैं, मुझे यह उन नवोन्मेषकों, उन शिक्षकों में दिखता है, जो अपने, अपने परिवार और अपने समुदायों के लिए बेहतर जीवन बना रहे हैं।’’ हैरिस ने कहा, ‘‘यह भी अमेरिकी आकांक्षा है। राष्ट्रपति जो बाइडेन ने हमसे इसे अपनाने की अपील की है। उन्होंने संकट से परे देखने का साहस करने, मुश्किल काम करने, अच्छा काम करने, खुद पर भरोसा करने, हमारे देश पर भरोसा करने, हम मिलकर जो काम कर सकते हैं, उस पर भरोसा करने की अपील की है।’’

ज्वैलरी शॉप से उड़ा ले गए आरोपी 13 करोड़ के गहने

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने फिल्मी अंदाज में एक ज्वेलरी शॉप से चोरी करने वाले आरोपी को धर दबोचा है। दक्षिणी दिल्ली के कालका जी में पिछले दिनों अंजली ज्वेलर्स में पीपीई किट पहनकर दाखिल हुए चोरों ने करीब 13 करोड़ के गहने चोरी कर लिए थे। पुलिस ने मामले में तेजी दिखाते हुए आरोपी मोहम्मद शेख नूर को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से 13 करोड़ रुपये की कीमत का 25 किलो सोना बरामद किया गया है। पिछले मंगलवार को शेख नूर पीपीई किट पहनकर शोरूम में चोरी को अंजाम दिया था। वह दूसरी इमारत की छत से शोरूम में घुसा था। उस वक्त शोरूम के आगे पीछे हथियारबंद पांच गार्ड तैनात थे। फिर भी किसी भनक नहीं लगी थी। चोर चोरी करने के बाद सोने के आभूषणों को बैग में भरकर ऑटो से ले गया था। फ़िल्मी अंदाज़ में की गई यह इस साल की अब तक की सबसे बड़ी चोरी थी। आरोपी मोहम्मद शेख नूर मूल रूप से पश्चिम बंगाल के हुबली जिले का रहने वाला है। जो कालका जी में ही इलेक्ट्रिशियन के तौर पर काम करता था। देशबंधु कॉलेज के पास है और पुलिस चौकी से भी बिल्कुल नज़दीक है। मंगलवार की रात कुछ बदमाश गहनों के शोरूम के पास किसी दूसरी इमारत के ग्राउंड फ़्लोर से घुसे और फिर छत के रास्ते 3-4 मकान छोड़कर शोरूम की इमारत में दाखिल हो गए। इसके बाद ग्राउंड और फर्स्ट फ्लोर पर बने अंजली ज्वैलर्स में आराम से चोरी कर निकलते बने।दक्षिणी पूर्वी दिल्ली के डीसीपी आरपी मीणा के मुताबिक शोरूम के मैनेजर ने बुधवार सुबह 11 बजे इस चोरी की जानकारी पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी में दिखाई दिए एक संदिग्ध के आधार पर जांच शुरू की तो परत खुलती चली गई और आरोपी जल्द धरा गया।

ऑस्ट्रेलिया में श्रृंखला जीतकर स्वदेश लौटी 'टीम'

नई दिल्ली/ सिडनी। कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में आस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के अधिकतर सदस्य गुरुवार को स्वदेश पहुंच गये। रहाणे, मुख्य कोच रवि शास्त्री, स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा, तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर और सलामी बल्लेबाज पृथ्वी सॉव मुंबई जबकि ब्रिसबेन टेस्ट के नायक ऋषभ पंत तड़के दिल्ली पहुंचे। पहले नेट गेंदबाज के रूप में चुने गये लेकिन बाद में एक दौरे के दौरान तीनों अंतरराष्ट्रीय प्रारूपों में पदार्पण करने वाले पहले क्रिकेटर बने तेज गेंदबाज टी नटराजन बेंगलुरू गये जहां से वह तमिलनाडु में अपने गांव सलेम जाएंगे। चेन्नई के रहने वाले अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, युवा आलराउंडर वाशिंगटन सुंदर और गेंदबाजी कोच भरत अरुण अभी दुबई में हैं और उनके शुक्रवार की सुबह स्वदेश पहुंचने की संभावना है। रहाणे, शास्त्री, रोहित, शार्दुल और सॉव का मुंबई पहुंचने पर मुंबई क्रिकेट संघ के अधिकारियों ने स्वागत किया। रहाणे ने टीम की जीत का जश्न मनाने के लिये केक भी काटा। कई खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद भारत ने मंगलवार को ब्रिसबेन में चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हराकर श्रृंखला 2-1 से जीती और इस तरह से बोर्डर-गावस्कर ट्राफी अपने पास बरकरार रखी।


1 दिन के लिए बाल मुख्यमंत्री हरिद्वार की गोस्वामी

देहरादून। 24 जनवरी को बालिका दिवस पर सृष्टि गोस्वामी एक दिन के लिए बाल मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालेंगी। इस दौरान विधानसभा के कक्ष नंबर 120 में बाल विधानसभा आयोजित की जाएगी। जिसमें एक दर्जन विभाग अपनी प्रस्तुति देंगे। इसकी स्वीकृति और निर्देश मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से दिए गए हैं। उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बुधवार को इस आशय का पत्र मुख्य सचिव ओमप्रकाश को प्रेषित किया। उन्होंने बताया कि 24 जनवरी को बालिकाओं के सशक्तीकरण के लिए आयोग ने एक होनहार छात्रा को मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी है। बतौर मुख्यमंत्री सृष्टि गोस्वामी उत्तराखंड के विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी। इसके लिए नामित विभाग के अधिकारी बाल विधानसभा में पांच-पांच मिनट अपनी प्रस्तुति देंगे। बाल विधानसभा दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक आयोजित होगी। हरिद्वार जनपद के बहादराबाद के दौलतपुर गांव की रहने वाली सृष्टि गोस्वामी बीएसएम पीजी कॉलेज, रुड़की से बीएससी एग्रीकल्चर कर रही हैं। मई 2018 में बाल विधानसभा में बाल विधायकों की ओर से उनका चयन मुख्यमंत्री के रूप में किया गया था। बाल विधानसभा में हर तीन वर्ष में बाल मुख्यमंत्री का चयन किया जाता है।

बाइडन का प्रशासन, बेहद सक्रिय व सकारात्मक

वाशिंगटन डीसी। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के प्रवक्ता ने अंतरराष्ट्रीय लक्ष्यों को पूरा करने में अमेरिका की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करते हुए बुधवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन ‘‘बेहद सक्रिय और सकारात्मक’’ तरीके से मिलकर काम करेंगे। प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि गुतारेस सही समय आने पर अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन से बात करेंगे। दुजारिक ने कहा, ‘‘ शांति और सुरक्षा के मामलों पर अंतरराष्ट्रीय लक्ष्य पूरे करने में अमेरिका की एक अहम भूमिका है। हम सतत विकास के लिए और दुनिया के सभी लोगों के लिए मानवाधिकारों को सुनिश्चित करने के लक्ष्य से बाइडन प्रशासन के साथ काम करने को उत्साहित हैं।’’दुजारिक ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने जलवायु, वैश्विक स्वास्थ्य, विश्व स्वास्थ्य संगठन और कोरोना वायरस के मुद्दों पर बाइडन प्रशासन के कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करने से जुड़ी खबरें देखी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ हम इन खबरों का स्वागत करते हैं। हम इन घटनाक्रमों का स्वागत करते हैं। इन कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर होने के बाद इनके नीति बनते ही हम इसका आधिकारिक रूप से भी स्वागत करेंगे।’’ दुजारिक ने कहा कि महासचिव और नया बाइडन प्रशासन ‘‘ बेहद सक्रिय और सकारात्मक तरीके से’’ मिलकर काम करेगा।


भारत: 24 घंटे में कोरोना के 15,223 नए मामले

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोविड-19 के 15,223 नए मामले सामने आने के बाद बृहस्पतिवार को देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,06,10,883 हो गए। जिनमें से 1,02,65,70 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, वायरस से 151 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,52,869 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, अभी तक कुल 1,02,65,706 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 96.75 प्रतिशत हो गई। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.44 प्रतिशत है। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या दो लाख से कम है। अभी 1,92,308 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.81 प्रतिशत है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में 20 जनवरी तक कुल 18,93,47,782 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। उनमें से 7,80,835 नमूनों की जांच बुधवार को की गई।

रोनाल्डो के गोल से जुवेंटस ने 9वीं बार जीता सुपर कप

मिलान। क्रिस्टियानो रोनाल्डो के गोल की मदद से युवेंटस ने नैपोली को 2-0 से हराकर रिकार्ड नौवीं बार इटालियन सुपर कप फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब जीता। रोनाल्डो ने 64वें मिनट में गोल करके युवेंटस को बढ़त दिलायी। नैपोली के पास मैच को अतिरिक्त समय तक खींचने का मौका था लेकिन उसके कप्तान लोरेंजो इनसाइन आखिरी क्षणों में मिली पेनल्टी पर गोल नहीं कर पाये।

कंगना की बढ़ीं मुश्किलें, अभिनेत्री को किया तलब

मनोज सिंह ठाकुर 

मुंबई। मुंबई पुलिस ने जाने माने लेखक-गीतकार जावेद अख्तर द्वारा दायर मानहानि के एक मामले में अभिनेत्री कंगना रनौत को तलब किया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि कंगना को शुक्रवार को जुहू पुलिस के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। अख्तर ने अभिनेत्री पर टेलीविजन साक्षात्कारों में कथित रूप से उनके खिलाफ मानहानि करने वाली और निराधार टिप्पणियां करने पर पिछले साल नवंबर में अंधेरी मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष आपराधिक शिकायत दर्ज करायी थी। अख्तर ने दावा किया कि पिछले साल जून में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद टीवी साक्षात्कारों में बॉलीवुड में ‘‘गुटबाजी’’ का उल्लेख करते हुए कंगना ने उनका नाम इसमें घसीटा था।

व्हाट्सएप को चेतावनी, नीति बदलो या भारत छोड़ो

मोदी सरकार का व्हाट्सएप को कड़ा अल्टीमेटम पॉलिसी बदलो या भारत छोड़ो’
आकाश उपाध्याय   
नई दिल्ली। व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी नीति को लेकर काफी हो हल्ला मच रहा है। और भारत भी इससे अछूता नहीं है। हाल ही में केंद्र सरकार ने व्हाट्सएप को अपने दिशा निर्देश में एक स्पष्ट चेतावनी दी है।.अलग अलग देशों के लिए अलग अलग नीतियाँ नहीं चलेंगी, और यदि व्हाट्सएप अपनी हरकतों से बाज नहीं आया, तो केंद्र सरकार उसका हाल टिक टॉक से भी बुरा कर सकती है। मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने व्हाट्सएप को एक लंबे पत्र में कहा, “विगत है कि व्हाट्सएप की नई पॉलिसी के अनुसार यूजर के चैट का डेटा फ़ेसबुक के बिजनेस अकाउंट के साथ शेयर किया जा सकता है। इसमें हिस्सा न लेने पर यूजर के व्हाट्सएप अकाउंट हटने का भी खतरा है। यदि ऐसा लागू होता है। तो न केवल यूजर की निजता खतरे में आएगी, बल्कि डेटा का दुरुपयोग भी होगा, जिससे राष्ट्र की सुरक्षा भी खतरे में आ सकती है।
इसका अर्थ है। कि व्हाट्सएप यूजर्स का डेटा फ़ेसबुक क्या, भविष्य में किसी के साथ भी शेयर कर सकता है। और यदि यूजर इससे सहमत नहीं, तो उसका अकाउंट निरस्त कर दिया जाएगा। यह न केवल सरासर तानाशाही प्रतीत होता है।.बल्कि ये व्हाट्सएप की संकुचित सोच को भी दर्शाता है। जन विरोध के चलते टेलीग्राम और सिग्नल जैसे एप की लोकप्रियता के बढ़ रही है।.ऐसे  में हाल के लिए  व्हाट्सएप ने इस नीति को मई तक के लिए स्थगित कर दिया है।
परंतु बात यहीं पर नहीं रुकती। व्हाट्सएप की नीतियां  यूरोप के लिए अलग हैं। और भारत जैसे देशों के लिए अलग। इस पर आक्रामक रुख अपनाते हुए मंत्रालय ने पत्र में आगे कहा यदि इस नीति को आप अपनाने को इतने ही उत्सुक है। तो या तो सबके साथ अपनाइए, या फिर किसी के ऊपर लागू मत कीजिए। यह अलग अलग देशों के लिए अलग अलग नीति नहीं चलेगी”। बता दें कि व्हाट्सएप की नीतियां यूरोप में पर लागू नहीं होंगी।
लेकिन इस पत्र की जो सबसे महत्वपूर्ण बात थी।वह थी केंद्र सरकार की चेतावनी। उनके अनुसार भारत व्हाट्सएप के लिए सबसे बड़ा यूजर बेस है।.लेकिन जिस प्रकार के पक्षपाती नीतियों को व्हाट्सएप अपना रहा है। उससे स्पष्ट है कि भारतीय नागरिकों के प्रति व्हाट्सएप के मन में कोई सम्मान नहीं है। व्हाट्सएप को स्मरण रहे कि सरकार के पास संवैधानिक रूप से पूर्ण अधिकार है। अपने नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने का, जिससे वह पीछे नहीं हटने वाली। 
इसका मतलब स्पष्ट है। यदि व्हाट्सएप अपने पक्षपाती नीतियों से पीछे नहीं हटा, तो केंद्र सरकार उसे टिक टॉक की शैली में समझा सकती है। यानि टिक टॉक का भारत में भारी यूजर बेस होने के बावजूद राष्ट्र हित से समझौता होने के कारण उसे प्रतिबंधित कर दिया गया था। जिससे टिक टॉक को करोड़ो रुपये का नुकसान हुआ। इसके अलावा जिस प्रकार से सिग्नल और टेलीग्राम के लिए भारतीय यूजर्स में उत्सुकता बढ़ रही है। उससे भारत को ऐसा कोई निर्णय लेने में जरा भी हिचकिचाहट नहीं होगी। ऐसे में व्हाट्सएप के लिए भारत ने स्पष्ट संदेश दिया है। या तो हमारी नीति से चलो,या टिक टॉक की तरह बैन होने के लिए तैयार रहो।

सालों से खुद को जिंदा साबित करने का संघर्ष

15 सालों से खुद को ज़िंदा साबित करने के लिए संघर्ष कर रहा बुज़ुर्ग, जानिए क्या हैं पूरा मामला

मिर्जापुर। कुछ दिन पहले खबर मिली थी कि एक वृद्ध ‘साहब मैं जिंदा हूं, साहब मैं आदमी हूं भूत नहीं’ का बोर्ड थामे, जिला कलेक्ट्रेट के बाहर बैठा हुआ है। वह बीते 15 वर्षों से खुद को जिंदा साबित करने में जुटा हुआ है। मामला सामने आते ही खुद मुख्यमंत्री योगी ने संज्ञान लिया था। और अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे। सीएम निर्देश के बाद मिर्जापुर के जिलाधिकारी ने मामले की जांच कराई जांच में वृद्धि को उनके द्वारा बताए गए एड्रेस पर अमोई गांव ले जाया गया। किन्तु वह जिन रिश्तेदारों के बारे में बता रहे थे। वही रिश्तेदार उन्हें नहीं पहचान सके।
जानकारी के अनुसार, खुद को भोला बताने वाले इस शख्स की शिनाख्त श्याम नारायण के रूप में हुई है। अब प्रशासन तथ्यों को स्पष्ट करने के लिए श्याम नारायण की डीन ऐ जांच कराने जा रहा है। बुजुर्ग ने बताया था कि वह बीते 15 सालों से खुद को जिंदा साबित करने के लिए जद्दोजहद कर रहा है।उसने बताया कि जमीन के लिए परिवार वालों से मिलकर राजस्व निरीक्षक और लेखपाल ने खतौनी में उसे मरा हुआ घोषित कर दिया है। दस्तावेज़ पर उसे मरा हुआ दिखा कर जमीन परिवार वालों के नाम कर दी गई है। डीएम ऑफिस के सामने खुद को जिंदा होने का प्रमाण देने के लिए बैनर लेकर बुजुर्ग एक बार फिर इंसाफ की आशा में बैठकर प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रहा था।
मामला सदर तहसील के अमोई गांव के रहने वाले 56 वर्षीय भोला सिंह का है. वह जिलाधिकारी कार्यालय के सामने हाथों में खुद के जिंदा रहने का बैनर लेकर बैठा. मामला मीडिया में आने के बाद जिला प्रशासन में अफरा-तफ़री मच गई है। बुजुर्ग भोला सिंह का कहना है। कि उन्हें राजस्व निरीक्षक और लेखपाल ने मरा हुआ बताकर उनके हिस्से की भूमि भाई राज नारायण के नाम कर दी गई है। बार-बार शासन-प्रशासन से गुहार लगाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की

अकांशु उपाध्याय      नई दिल्ली। बिजनेस सॉफ्टवेयर फर्म फ्रेशवर्क्स इंक ने बुधवार को अमेरिकी एक्सचेंज नैसडैक पर शानदार एंट्री की है। अपने शानद...