सोमवार, 30 सितंबर 2019

मां चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता

दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन-आराधन किया जाता है। इस दिन साधक का मन 'मणिपूर' चक्र में प्रविष्ट होता है।


चंद्रघंटा-सिद्धियां
चंद्रघंटा - नवदुर्गाओं में तृतीय
संबंध-हिन्दू देवी
अस्त्र-कमल
जीवनसाथी-शिव
सवारी-सिंह
माँ चंद्रघंटा की कृपा से अलौकिक वस्तुओं के दर्शन होते हैं, दिव्य सुगंधियों का अनुभव होता है तथा विविध प्रकार की दिव्य ध्वनियाँ सुनाई देती हैं। ये क्षण साधक के लिए अत्यंत सावधान रहने के होते हैं।


श्लोक:-पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||


स्वरूप:-माँ का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इनके मस्तक में घंटे का आकार का अर्धचंद्र है, इसी कारण से इन्हें चंद्रघंटा देवी कहा जाता है। इनके शरीर का रंग स्वर्ण के समान चमकीला है। इनके दस हाथ हैं। इनके दसों हाथों में खड्ग आदि शस्त्र तथा बाण आदि अस्त्र विभूषित हैं। इनका वाहन सिंह है। इनकी मुद्रा युद्ध के लिए उद्यत रहने की होती है।


कृपा साधना:-हमें चाहिए कि अपने मन, वचन, कर्म एवं काया को विहित विधि-विधान के अनुसार पूर्णतः परिशुद्ध एवं पवित्र करके माँ चंद्रघंटा के शरणागत होकर उनकी उपासना-आराधना में तत्पर हों। उनकी उपासना से हम समस्त सांसारिक कष्टों से विमुक्त होकर सहज ही परमपद के अधिकारी बन सकते हैं।हमें निरंतर उनके पवित्र विग्रह को ध्यान में रखते हुए साधना की ओर अग्रसर होने का प्रयत्न करना चाहिए। उनका ध्यान हमारे इहलोक और परलोक दोनों के लिए परम कल्याणकारी और सद्गति देने वाला है।


प्रत्येक सर्वसाधारण के लिए आराधना योग्य यह श्लोक सरल और स्पष्ट है। माँ जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में तृतीय दिन इसका जाप करना चाहिए।


उपासना:- या देवी सर्वभू‍तेषु माँ चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।


अर्थ :- हे माँ! सर्वत्र विराजमान और चंद्रघंटा के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है। या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूँ। हे माँ, मुझे सब पापों से मुक्ति प्रदान करें।


इस दिन सांवली रंग की ऐसी विवाहित महिला जिसके चेहरे पर तेज हो, को बुलाकर उनका पूजन करना चाहिए। भोजन में दही और हलवा खिलाएँ। भेंट में कलश और मंदिर की घंटी भेंट करना चाहिए।


उपवास का महत्व और प्रभाव

उपवास में कुछ दिनों तक शारीरिक क्रियाएँ संचित कार्बोहाइड्रेट पर, फिर विशेष संचित वसा पर और अंत में शरीर के प्रोटीन पर निर्भर रहती हैं। मूत्र और रक्त की परीक्षा से उन पदार्थों का पता चल सकता है जिनका शरीर पर उस समय उपयोग कर रहा है। उपवास का प्रत्यक्ष लक्षण है व्यक्ति की शक्ति का निरंतर ह्रास। शरीर की वसा घुल जाती है, पेशियाँ क्षीण होने लगती हैं। उठना, बैठना, करवट लेना आदि व्यक्ति के लिए दुष्कर हो जाता है और अंत में मूत्ररक्तता (यूरीमिया) की अवस्था में चेतना भी जाती रहती है। रक्त में ग्लूकोस की कमी से शरीर क्लांत तथा क्षीण होता जाता है और अंत में शारीरिक यंत्र अपना काम बंद कर देता है।


1943 की अकालपीड़ित बंगाल की जनता का विवरण बड़ा ही भयावह है। इस अकाल के सामाजिक और नैतिक दृष्टिकोण बड़े ही रोमांचकारी हैं। किंतु उसका वैज्ञानिक अध्ययन बड़ा शिक्षाप्रद था। बुभुक्षितों के संबंध में जो अन्वेषण हुए उनसे उपवास विज्ञान को बड़ा लाभ हुआ। एक दृष्टांत यह है कि इन अकालपीड़ित भुखमरों के मुँह में दूध डालने से वह गुदा द्वारा जैसे का तैसा तुरंत बाहर हो जाता था। जान पड़ता था कि उनकी अँतड़ियों में न पाचन रस बनता था और न उनमें कुछ गति (स्पंदन) रह गई थी। ऐसी अवस्था में शिराओं (वेन) द्वारा उन्हें भोजन दिया जाता था। तब कुछ काल के बाद उनके आमाशय काम करने लगते थे और तब भी वे पूर्व पाचित पदार्थों को ही पचा सकते थे। धीरे-धीरे उनमें दूध तथा अन्य आहारों को पचाने की शक्ति आती थी।


इसी प्रकार गत विश्वयुद्ध में जिन देशों में खाद्य वस्तुओं पर बहुत नियंत्रण था और जनता को बहुत दिनों तक पूरा आहार नहीं मिल पाता था उनमें भी उपवसजनित लक्षण पाए गए और उनका अध्ययन किया गया। इन अध्ययनों से आहार विज्ञान और उपवास संबंधी ज्ञान में विशेष वृद्धि हुई। ऐसी अल्पाहारी जनता का स्वास्थ्य बहुत क्षीण हो जाता है। उसमें रोग प्रतिरोधक शक्ति नहीं रह जाती। गत विश्वयुद्ध में उचित आहार की कमी से कितने ही बालक अंधे हो गए, कितने ही अन्य रोगों के ग्रास बने।


उपवास पूर्ण हो या अधूरा, थोड़ी अवधि के लिए हो या लंबी अवधि के लिए, चाहे धर्म या राजनीति पर आधारित हो, शरीर पर उसका प्रभाव अवधि के अनुसार समान होता है। दीर्घकालीन अल्पाहार से शरीर में वे ही परिवर्तन होते हैं जो पूर्ण उपवास में कुछ ही समय में हो जाते हैं।


हरियाणा भाजपा की फाइनल लिस्‍ट

राणा ओबराय


नई दिल्ली । भाजपाने सोमवार को विधानसभा चुनाव के लिए 78 प्रत्याशियों कीपहली सूची जारी कर दी।मुख्यमंत्रीमनोहर लाल खट्‌टरकरनाल से, योगेश्वर दत्त बरोदा, सुभाष बराला टोहाना से, संदीप सिंह पिहोवा, बबीता फोगाट दादरी से उम्मीदवार होंगे।रविवार को केंद्रीय चुनाव समिति ने देर रात तक टिकटों पर मंथन किया और नामों को अंतिम रूप दे दिया था। लेकिन हां-नां के बीच सूची जारी नहीं हो पाई थी। सूची जारी न होने के पीछे एक बड़ा कारण राव इंद्रजीत द्वारा बेटी के लिए टिकट की डिमांड करना भी बड़ा कारण माना जा रहा था।


सीट प्रत्याशी
1 कालका, लतिका शर्मा
2 पंचकूला, ज्ञान चंद गुप्ता
3 अंबाला कैंट, अनिल विज
4 अंंबाला सिटी, अशीम गोयल
5 मुलाना (एससी), राजीव बराडा
6 सधौरा (एससी), बलवंत सिंह
7 जगाधारी, कंवरपाल गुर्जर
8 यमुनानगर, घनश्याम दास अरोड़ा
9 रादौर(एससी), करणदेव कम्बोज
10 लाडवा, पवन सैनी
11 शाहाबाद(एससी), कृष्णा बेदी
12 थानेसर, सुभाष सुधा
13 पिहोवा संदीप सिंह (पूर्व हॉकी खिलाड़ी)
14 गुहला (एससी) रवी तारनवाली
15 कलायत कमलेश ढांढा
16 कैथल लीला राम गुर्जर
17 पूंडरी वेदपाल एडवोकेट
18 नीलोखेड़ी (एससी) भगवानदास कबीरपंथी
19 इंद्री रामकुमार कश्यप
20 करनाल मनोहर लाल खट्टर
21 घरौंडा हरविंदर कल्याण
22 असंध बख्शी सिंह गिल
23 पानीपत ग्रामीण महिपाल ढांढा
24 इसराना (एससी) कृष्ण पवार
25 समालखा शशिकांत कौशिक
26 राई मोहनलाल कौशिक
27 सोनीपत कविता जैन
28 गोहाना तीरथ सिंह राणा
29 बरोदा योगेश्वर दत्त (पूर्व ओलिंपियन)
30 जुलाना परमेंदर धुल
31 सफीदों बच्चन सिंह आर्य
32 जींंद कृष्ण मिड्ढा
33 उचाना कलां प्रेम लाला
34 नरवाना (एससी) संतोष दानोदा
35 टोहाना सुभाष बराला
36 रतिया (एससी) लक्ष्मण नापा
37 कालांवाली (एससी) बलकौर सिंह
38 डबवाली आदित्य देवीलाल
39 रानियां रामचंद्र कम्बोज
40 सिरसा प्रदीप रतूसारिया
41 ऐलनाबाद पवन बेनीवाल
42 उकलाना (एससी) आशा खेदार
43 नारनौंद कैप्टन अभिमन्यु
44 हांसी विनोद भयाना
45 बरवाला सुरेंदर पुनिया
46 हिसार कमल गुप्ता
47 नलवा रणवीर गंगवा
48 लोहारू जेपी दलाल
49 बाढड़ा सुुखविंदर मंडी
50 दादरी बबीता फोगाट (महिला रेसलर)
51 भिवानी घनश्याम शराफ
52 बवानी खेड़ा (एससी) बिश्मभर बाल्मीकि
53 गढ़ी सांपला किलोई सतीश नंदाल
54 रोहतक मनीष ग्रोवर
55 कलानौर (एससी) रामअवतार बाल्मीकि
56 बहादुरगढ़ नरेश कौशिक
57 बादली ओमप्रकाश धनकड़
58 झज्जर (एससी) राकेश कुमार
59 बेरी विक्रम काद्यान
60 अटेली सीताराम यादव
61 महेंद्रगढ़ रमबिलास शर्मा
62 नारनौल ओमप्रकाश यादव
63 नांगल चौधरी अभय सिंह यादव
64 बावल बनवारी लाल
65 पटौदी (एससी) सत्यप्रकाश जरावट
66 बादशाहपुर मनीष यादव
67 सोहना संजय सिंह
68 नूह जाकिर हुसैन
69 फिरोजपुर झिरका नसीम अहमद
70 पुन्हाना नौकशाम चौधरी
71 हथीन प्रवीण डागर
72 होडल (एससी) जगदीश नायर
73 पृथला सोहनपाल चौहक्कर
74 फरीदाबाद एनआईटी नागेंद्र भड़ाना
75 बड़खल सीमा तिरखा
76 बल्लभगढ़ मूलचंद शर्मा
77 फरीदाबाद नरेंद्र गुप्ता
78 तिगांव राजेश नागर


विश्व की दूसरी शक्ति रूस, सयंमित

रूस को दुनिया का दूसरा सबसे शक्तिशाली देश माना जाता है और इस दुनिया का सबसे बड़ा परमाणु संपन्न में देश भी माना जाता है। रूस एक शक्तिशाली देश होने के साथ-साथ एक अमीर देश भी है आज हम आप लोगों को और उसके बारे में ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिसे शायद आप नहीं जानते हैं।
1. आपकी जानकारी के लिए बता दे रूस दुनिया का सबसे बड़ा देश माना जाता है रूस का क्षेत्रफल प्लूटो ग्रह से भी ज्यादा है। रूस में 11 प्रकार के अलग-अलग टाइम जोन है। रूस दुनिया का दूसरा शक्तिशाली देश है।
2. रूस के पास प्राकृतिक संसाधनों का खजाना है जिसके कारण रूस एक अमीर देश है। रूस के पास जितना पेट्रोलियम, खनिज तत्व आदि है, उसका मूल्य करीब 75 ट्रिलियन डॉलर से भी अधिक है।
3. दुनिया का सबसे बड़ा बम Tsar Bomba रूस के पास है। यह एटॉमिक बम से 1400 गुना अधिक शक्तिशाली है।
4. रूस की साक्षरता दर काफी अधिक है। यहां पर 99% लोग साक्षर हैं।
5. साइबेरिया में विश्व का लगभग 25% से अधिक जंगल है। साइबेरिया का विस्तार 5.2 मिलियन वर्ग मील है, जो लगभग 9 प्रतिशत पृथ्वी के शुष्क भूमि के बराबर है।
6. आपको जानकर हैरानी होगी कि रूस में प्रति वर्ष 5,00,000 से अधिक मृत्यु अल्कोहल से होती है।
7. सऊदी अरब के बाद रूस दुनिया में तेल का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है, जो प्रति दिन औसतन 9,900,000 बैरल कच्चे तेल का उत्पादन करता है।


प्रशासन कुछ-कुछ फीका पड़ रहा है

पुलिस प्रशासन,परिवहन विभाग अभियानों की शुरुआत तो करता है लेकिन कुछ आंदोलनों के सामने फीका पड़ जाता 


तस्लीम बेनकाब
मुजफ्फरनगर। सरकार द्वारा जब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के अंतर्गत जनपद मुजफ्फरनगर को भी सम्मिलित किया गया था तो उस वक्त बड़ी उम्मीद  और आशाएं बनी थी तथा दावे प्रति दावे भी किए गए थे मुजफ्फरनगर को वह सभी सुविधाएं विकास आदि उपलब्ध कराए जाएंगे जो एनसीआर के तहत अन्य जिलों को मिल रहे हैं लेकिन उस समय सब कुछ ठीक-ठाक तरीके से चला राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के नाम पर जनपद मुजफ्फरनगर में जबरदस्त वाहन चेकिंग अभियान चला था जिस पर दस साल के पुराने डीजल के वहांन वह पंद्रह साल पुराने पेट्रोल के वाहनों के खिलाफ एआरटीओ एवं पुलिस प्रशासन द्वारा गतिशील तरीके से अभियान चलाया गया था ओर काफी गाड़ियों को बंद किया गया था लेकिन अब धीरे-धीरे यह अभियान भी मंद होता चला गया आज स्थिति यह है कि 10 साल तथा 15 साल पुराने वाहन सड़कों पर पूरी गति के साथ बिना किसी रोक-टोक के दौड़ रहे हैं एनसीआर का कुछ भी फायदा जिले को नहीं हुआ है जबकि आशाओं और उम्मीदों में पूरे पुलिंदा बांधे गए थे आज हालात यह है कि कहीं दूर तक भी ऐसा कुछ नजर नहीं आता कि जनपद मुजफ्फरनगर जिला एनसीआर में शामिल होकर कुछ स्पेशल सुविधाएं विकास या उन्नति पा रहा हो। पहले की भांति ही सब कुछ चल रहा है बदला है तो केवल यह नाम की जिला एनसीआर में शामिल है जबकि शामिल होने के नाम पर कुछ भी नहीं मिला है आखिर ऐसा क्यों बहुत से ऐसे सवाल हैं जिन पर चिंतन एवं मंथन किया जा सकता है नए-नए यातायात संबंधी नियम बनाए जा रहे हैं तथा उनको लागू भी किया जा रहा है फिर ऐसा क्या कारण है कि सड़कों पर 10 साल तथा 15 साल पुराने वाहनों की गति पर कोई रोक नहीं लग पा रही है पुलिस प्रशासन द्वारा जो अभियान चलाया गया था वह भी किसानों के आगे दब कर रह गया क्योंकि उस वक्त टैक्टर तथा रेल के पुराने इंजन पुरानी जिप्सी सरकारी गाड़ियों को लेकर किसान आंदोलन से जुड़े नेताओं ने यह भी मांग रखी थी कि पहले इन वाहनों पर रोक लगे उसके बाद दूसरे वाहनों को रोका जाए इस पर आंदोलन भी हुए ट्रेन के इंजन सरकारी गाड़ियां बंधक बनाई गई धरना प्रदर्शन हुए इसके बाद यह अभियान धीरे-धीरे मंद होता चला गया जिसका नतीजा यह रहा कि आज के समय में इस अभियान के कहीं कोई सार्थकता किसी को कहीं नजर नहीं आ रही है यातायात नियमों के प्रति सचेत किया जाता है जागरूक किया जाता है लेकिन सड़कों पर अवैध रूप से चल रहे हैं वाहनों की संख्या पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है उदाहरण के तौर पर 10 साल और 15 साल पुराने यदि वाहनों को रोका जाए तो सड़कों पर लोड काफी कम होगा तथा यातायात के नियम भी प्रभावी रूप से सार्थक होते नजर आएंगे तथा दिन प्रतिदिन दूषित हो रहा पर्यावरण भी काफी हद तक सुधरेगा प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी लेकिन इस संदर्भ में अभी तक कोई भी ठोस एवं प्रभारी कदम नहीं उठाए गए हैं पुलिस प्रशासन एआरटीओ विभाग अभियानों की शुरुआत तो करता है लेकिन कुछ आंदोलनों के सामने फीका पड़ जाता है जिसका परिणाम यह रहता है कि ऐसे अभियान अंत में शून्य ही बनकर रह जाते हैं जैसा कि अक्सर होता आया है बेहतर हो कि पुलिस प्रशासन एवं परिवहन विभाग मिलकर एक बार पुनः मजबूती के साथ ऐसे अभियान को पुनः चलाएं ताकि सड़कों पर दबाव कम हो प्रदूषण कम हो और यातायात के नियम भी प्रभावी हो सके तो इसके लिए अति आवश्यक है कि ऐसे अभियानों को हर हाल में चलाया जाना चाहिए तथा सरकार इस मसले पर गंभीरता दिखाए आंदोलन कर्मियों को भी इस बारे में अवगत कराएं उनकी बातों को सुनें तथा समझाए की ऐसे अभियान जनता के लिए कितने सार्थक हैं जो मसले विवादित हैं उन पर मिल बैठकर बात भी की जा सकती है लेकिन यह कोई औचित्य नहीं है कि जरा से दबाव में आकर पूरे अभियान को ठुश करके रख दिया जाए स्थानीय प्रशासन तभी द्रढ़ इच्छाशक्ति दिखाता है जब पीछे से शासन सत्ता और सरकार सहयोग प्रदान करें।


महिला पुलिस सिपाही ने रची साजिश

अपनी पत्नी का फोन नंबर दोस्त को देकर चाहता था हो जाए दोस्ती और  फिर


बागपत। अपने ससुराल पक्ष के लोगों को फंसाने के लिए महिला सिपाही ने ऐसा कदम उठाया, जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो सकते हैं। हालांकि महिला सिपाही ने जिस साजिश को रचा था, उसका खुलासा जिले की पुलिस ने कर दिया। पुलिस ने इस मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है। बीते गुरुवार को पुलिस ने इस सनसनीखेज मामले का खुलासा किया।


दरअसल, महिला सिपाही ने ससुरालियों को फंसाने के लिए स्कूटी समेत, दो लाख रुपये की लूट और खुद पर जानलेवा हमले का ड्रामा रचा था। महिला सिपाही ने अपने प्रेमी से ही खुद गोली चलवाई थी। बीते गुरुवार को पुलिस ने आरोपी महिला सिपाही व उसके प्रेमी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया, साथ ही उनकी निशानदेही पर जली हुई स्कूटी, तमंचा और कारतूस बरामद कर लिया।


सीओ (सीटी) ओमपाल सिंह ने बताया कि 16 सितंबर को नैथला गांव के पास महिला कांस्टेबल रेणु पत्नी अनुज निवासी लुहारी घायल अवस्था में मिली थी। इस दौरान उसके हाथ में गोली भी लगी हुई थी। महिला सिपाही ने अज्ञात दो युवकों पर गोली मारकर स्कूटी व दो लाख रुपये लूटने का आरोप लगाया था। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी। इस दौरान पुलिस को सर्विलांस से काफी मदद मिली। महिला सिपाही ने ससुराल वालों को फंसाने के लिए खुद ही साजिश रची थी। पुलिस ने गुरुवार को महिला सिपाही रेणु, उसके प्रेमी मनीष उर्फ मोनू और विकास को गिरफ्तार कर लिया।  


 


बाल्मीकि संगठन ने निकाला कैंडल मार्च

मध्य प्रदेश के शिवपुरी में वाल्मीकि बच्चों की निर्मम हत्या पर श्रद्धाजंलि सभा संपन्न


वाल्मीकि नवयुवक संघ ने गांधी पार्क में निकाला कैंडल मार्च सरकार से उक्त घटनाओं की रोकथाम करने की मांग


फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश के ज़िला फिरोजाबाद-वाल्मीकि नवयुवक संघ के जिलाध्यक्ष विनय वाल्मीकि के नेतृत्व में मध्य प्रदेश के शिवपुरी (ग्राम-भावखेड़ी) में वाल्मीकि बच्चों की लाठियों से पीटकर निर्मम हत्या करने के विरोध में श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन हुआ। पदाधिकारियों ने कहा कि देश में बढ़ रही इस प्रकार की घटनाओं पर जनता में भारी आक्रोश है। साथ ही सरकार से उक्त घटनाओं की रोकथाम करने की मांग की गयी। ताकि देश में भाईचारे एवं सौहार्द की भावना जाग्रत हो। इसी क्रम में कैंडल मार्च गांधी पार्क में जिलाध्यक्ष विनय वाल्मीकि के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ। श्रद्धाजंलि देने वालों में समाजसेवी भुवनेश चन्द्रा, पार्षद अवधेश वाल्मीकि, किताब सिंह, पप्पू केशव, मोनू जाटव, सौरभ, प्रवीन वाल्मीकि, रिंकू वाल्मीकि, शहंशाह भाई, विशन वाल्मीकि, सौरभ वाल्मीकि, शिवम वाल्मीकि, छोटू वाल्मीकि, प्रशान्त वाल्मीकि, अभिषेक वाल्मीकि, मुकेश वाल्मीकि, रिषभ पचैरी, डीके, गोलू, निकेत वाल्मीकि, अमन शेखर, सुरजीत वाल्मीकि, रितिक वाल्मीकि, सुशान्त वाल्मीकि, कार्तिक वाल्मीकि, राहुल वाल्मीकि सहित काफी संख्या में पदाधिकारी मौजूद रहे।


रिपोर्टर-रिहान अली


सरोकार के प्रति समर्पित नगर-निगम

मां दुर्गा की पूजा अर्चना के साथ अजमेर के पटेल मैदान पर नवरात्र महोत्सव शुरू। 
सामाजिक सरोकारों से जुड़ी है नगर निगम की पहल। 

अजमेर। शहर के सबसे बड़े नवरात्र महोत्सव की शुरुआत पटेल मैदान पर मां दुर्गा की पूजा अर्चना के साथ हुई। नगर निगम द्वारा आयोजित महोत्सव में शुभारंभ के मौके पर मुझे आमंत्रित किया गया। मेरे परिवार के साथ मेयर धर्मेन्द्र गहलोत ने भी सपत्नीक मां दुर्गा की विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की। इस मौके पर महोत्सव के संयोजक पार्षद समीर शर्मा भी अपने परिवार के साथ मौजूद रहे।  इसके साथ ही निगम के उपायुक्त गजेन्द्र सिंह रलावता पार्षद एवं निगम के अधिकारी भी उपस्थित रहे। मां दुर्गा की पूजा पटेल मैदान पर रोजाना सायं सात बजे होगी। इसमें शहरवासी भी भाग ले सकते हैं। निगम ने सामाजिक सरोकारों के तहत नवरात्र में मां दुर्गा की पूजा अर्चना की विशेष व्यवस्था की है। मां दुर्गा की आकर्षक प्रतिमा के साथ साथ लक्ष्मी, गणेश आदि की प्रतिमाएं भी स्थापित की है। विद्वान पंडित रोजाना पूरे विधि विधान से पूजा करवाएंगे। मेयर धर्मेन्द्र गहलोत ने बताया कि पूजा अर्चना के बाद पटेल मैदान पर डांडिया का कार्यक्रम भी रखा गया है। प्रतिदिन बेस्ट कपल को पारितोषिक दिया जाएगा। इसके साथ ही गरबा डे्रस के लिए एक दम्पत्ति का चयन होगा। डांडिया के लिए पटेल मैदान पर आर्केस्ट्रा का इंतजाम भी किया गया है। शहरवासियों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा के इंतजाम भी किए गए हैं।  निगम के उपायुक्त रलावता ने बताया कि नवरात्र महोत्सव में जवाहर रंगमंच पर प्रतिदिन रामलीला का मंचन हो रहा है। नवरात्र के अंतिम दिन पटेल मैदान पर रावण दहन का आकर्षक कार्यक्रम होगा। 
एस.पी.मित्तल


डेयरी विकास में कांग्रेसी भी भागीदार

अजमेर डेयरी के विकास में कांग्रेसी भी बनेंगे भागीदार। 
डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी को भरोसा दिलाया। 

अजमेर दुग्ध डेयरी की वार्षिक आमसभा स्थानीय जवाहर रंगमंच पर हुई। इस सभा में जिले भर के दुग्ध उत्पादकों के साथ-साथ सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं ने भाग लिया। डेयरी अध्यक्ष रामचन्द्र चौधरी ने कांग्रेस के नेताओं को डेयरी के विकास में आने वाली बाधाओं से अवगत कराया। चौधरी ने बताया कि किन परिस्थितियों में डेयरी का संचालन किया जा रहा है। 300 करोड़ रुपए से भी अधिक की लागत का नया प्लांट डेयरी में लगाया जा रहा है। जिसमें अगले वर्ष उत्पादन शुरू हो जाएगा। चौधरी ने कहा कि वे पिछले तीस वर्षों से डेयरी में अध्यक्ष पद पर हैं और अजमेर डेयरी को देश की प्रथम डेयरी बना दिया है। दुग्ध संग्रहण केन्द्रों पर जो अत्याधुनिक उपकरण अजमेर में लगे हैं, वैसे देश की किसी भी डेयरी में नहीं है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस की सरकार बनते ही पशुपालकों को दो रुपए प्रति लीटर का अनुदान देना शुरू कर दिया। इससे पशुपालकों को बड़ी राहत मिली है। दुग्ध उत्पादकों की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात भी की है। जिले भर के पशु पालकों के परिवारों में समृद्धि लाने के लिए अजमेर डेयरी लगातार प्रयास रहत है, वहीं कांग्रेस के पूर्व विधायक रामनारायण गुर्जर, नाथूराम सिनोदिया, डॉ. श्रीगोपाल बाहेती, महेन्द्र गुर्जर, श्रीमती नसीम अख्तर, ब्रह्मदेव कुमावत, पूर्व सांसद प्रभा ठाकुर, पूर्व जिला प्रमुख रामस्वरूप चौधरी, सहकारिता आंदोलन से जुड़े अजीत जैन आदि ने चौधरी को भरोसा दिलाया कि डेयरी के विकास में पूरा सहयोग किया जाएगा। कांग्रेस के नेताओं ने माना कि चौधरी पूर्ण ईमानदारी और मेहनत के साथ डेयरी का संचालन कर रहे हैं, इसलिए पिछले तीस वर्ष से अजमेर डेयरी के अध्यक्ष हैं। चौधरी ने अपने राजनीतिक हितों से ज्यादा पशुपालकों के हितों का ख्याल रखा है। चौधरी की वजह से ही आज पूरे देश में अजमेर डेयरी का नाम है। इसमें कोई दो राय नहीं की चौधरी पशुपालकों के साथ साथ उपभोक्ताओं का भी ध्यान रखते हैं। कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि डेयरी के विकास में आने वाली सभी बधाओं को सरकार के माध्यम से जल्द से जल्द दूर करवाया जाएगा। वार्षिक आम सभा में अनेक दुग्ध उत्पादकों को बोनस की राशि भी वितरित की गई। पशु पालकों का भी मानना रहा कि चौधरी की वजह से उन्हें दुग्ध का समय पर भुगतान होता है तथा पशुओं को लेकर जब भी कोई समस्या होती है तो चौधरी उसका तत्काल निवारण करते हैं। पशु पालकों के हितों का भी पूरा ख्याल रखा जाता है, इसलिए जिले भर के पशुपालकों के बीच चौधरी की लोकप्रियता बनी हुई है। चौधरी पशुपालकों के परिवारों के सुख-दु:ख में भी साथ रहते हैं। वार्षिक सभा में डेयरी के एमडी गुलाब भाटिया ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की और सभी अतिथियों तथा दुग्ध उत्पादकों का आभार प्रकट किया गया। 
एस.पी.मित्तल


ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

मोहित श्रीवास्तव


गाज़ियाबाद। साहिबाबाद थाना क्षेत्र अंतर्गत पुलिस ने दिल्ली एनसीआर व गाज़ियाबाद में लोन दिलाने व टावर लगवाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने सोमवार को यानी आज लोन दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले 7 अभियुक्तों को 80 फूटा रोड विक्रम इन्क्लेव में डॉ लाल पैथ लैब के नीचे सुबह 7:15 बजे गिरफ्तार कर लिया। जिनके कब्जे से पुलिस ने 35 अदद मोबाइल, 1 टैबलेट, 1 लैपटॉप, 5 एटीएम, 6 रजिस्टर, 4 मोहर व 3 आधार कार्ड बरामद कर ली है।


पकड़े गए अभियुक्तों के नाम मुकेश पुत्र मिट्ठन लाल, मिनकल पुत्र सुभाष, नीरज छावड़ा पुत्र नरेंद्रपाल, मनीष पुत्र किशनपाल, ललित पुत्र सोहनलाल व विपिन पुत्र ओम प्रकाश है। पुलिस द्वारा पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वे लोन दिलाने व टावर लगवाने के नाम पर अखबार में विज्ञापन छपवाते थे और मोबाइल नंबर भी विज्ञापन में ही छपवा देते थे।


विज्ञापन पढ़कर लोन एवं टावर लगवाने के लिए कॉल करने वाले व्यक्तियों से उनकी आईडी एवं अन्य जरूरी कागजात भी वाट्सएप पर मंगवा लेते थे। फिर टावर का फर्जी लीज एग्रीमेंट एवं लोन पास होने के लैटर फर्जी तरीके से तैयार कर उन्हें ग्राहकों के वाट्सएप नंबर पर भेज दिया करते थे। जिसपर विश्वास कर ग्राहक प्रोसेस शुक्ल के नाम पर मांगी गई धनराशि को उनके फर्जी पता पर देकर खुलवाए गए बैंक खाता में ट्रांसफर करा लेते थे। घटना को अंजाम देने के बाद ये अपना मोबाइल नंबर बदल दिया करते थे।


जीडीए करेगा मानव रहित नक्शे की जांच

अविनाश श्रीवास्तव


गाज़ियाबाद। जीडीए में सभी प्रकार के भवनों के नक्शों के लिए सोमवार यानि आज से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। सॉफ्टवेयर नक्शे की जांच करेगा। उसमें जरा भी मानव हस्तक्षेप नहीं होगा। 300 वर्ग मीटर तक के नक्शे 24 घंटे में स्वीकृत हो जाएंगे। बड़े नक्शों की स्वीकृति में अधिकतम 30 दिन का वक्त लगेगा। कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने 154वीं बोर्ड बैठक में इसकी जानकारी दी।


पायलट प्रोजेक्ट के रूप में पहले 300 वर्ग मीटर तक के भवनों के नक्शों को ऑनलाइन स्वीकृत करने की प्रक्रिया शुरू की गई थी। उसमें केवल आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन थी। नक्शे की जांच और स्वीकृति प्रदान करने का कार्य नियोजन अनुभाग के विशेषज्ञ करते थे। बड़े नक्शे मैन्युअली स्वीकृत किए जाते थे। मानव हस्तक्षेप ज्यादा होने के कारण नक्शों की स्वीकृति में काफी वक्त लगता था। बड़े नक्शों की स्वीकृति में महीनों लग जाते थे। इसे देखते हुए शासन ने ऑनलाइन नक्शा स्वीकृति के लिए पूरी प्रणाली विकसित कराई। अलग सॉफ्टवेयर तैयार कराया। प्रदेश के सभी प्राधिकरणों के बिल्डिग बायलॉज को एक समान किया गया। सॉफ्टवेयर से जुड़ी नई वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट यूपीओबीपीएस डॉट इन तैयार कराई गई। जीडीए को इसके माध्यम से नक्शा स्वीकृति शुरू करने से पहले बोर्ड की अनुमति लेना जरूरी था। इसे बोर्ड ने मंजूरी प्रदान कर दी है। तय किया है कि सोमवार से सभी प्रकार के नक्शे ऑनलाइन ही स्वीकृत किए जाएं।


बता दें कि वेबसाइट के जरिए नक्शे का आवेदन होते ही साफ्टवेयर काम शुरू कर देगा। नक्शे को बायलॉज पर परखेगा। सही होने पर स्वीकृति प्रदान कर देगा। सॉफ्टवेयर की रिपोर्ट में कोई बदलाव संभव नहीं होगा। केवल नक्शा स्वीकृति के लिए दिए गए तथ्यों की जांच संबंधित क्षेत्र के अवर अभियंता को मौके पर जाकर करनी होगी। जिसमें वह भूमि, भू-उपयोग, विवाद की जांच करेगा। इसके लिए उसे अधिकतम एक सप्ताह का समय मिलेगा। सात दिन में अवर अभियंता की रिपोर्ट न मिलने पर नक्शा जारी कर दिया जाएगा। सॉफ्टवेयर नक्शे को बायलॉज मुताबिक नहीं पाता तो उसे अस्वीकार कर देगा।


कर्मचारियों की प्रबंधक के खिलाफ नारेबाजी

गाजियाबाद,मोदीनगर। दयावती मोदी पब्लिक स्कूल कर्मचारी यूनियन के तत्वाधान में कर्मचारियों ने स्कूल प्रांगण में अपनी नौ सूत्रीय मांगों को लेकर प्रबंधकों के विरूद्ध जमकर नारेबाजी की और हाथ पर काली पट्टी बांध कर अपना विरोध प्रकट किया।यूनियन के अध्यक्ष जयपाल शर्मा ने बताया कि जब तक स्कूल के प्रबंधकगण हमारी नौ सूत्रीय मांगों को नही मानेंगे जब तक सभी कर्मचारीगण हाथ में काली पट्टी बांध कर रोजआना विरोध प्रकट करेंगे। उन्होंने कहा कि 14 अप्रैल 11 के समझौते के अनुसार अभी तक स्कूल प्रबंधकों ने छठा वेतन लागू नही दिया है। प्रबंधकों की हठ धर्मिता के कारण कर्मचारियों को तीज त्यौहार आदि पर मिलने वाली छुटट्यिों को भी  घटा दिया गया है। प्रतिवर्ष कर्मचारियों को दस प्रतिशत वेतन वृद्धि को घटा कर आठ प्रतिशत कर दिया  है। विद्यालयों में हजारों की संख्या में बच्चे पढ़ रहे है। सैकड़ों कर्मचारियों व स्टाफ होने के बावजूद अप्रिय स्थितियों में मानकों के  अनुरूप प्राथमिक चिकित्सा सुविधा एवं एम्बुलेंस सुविधा शुन्य है।


इस अवसर पर ओमवीर, श्यामदत्त, हरपाल, राकेश कुमार, मन्नू सिंह, आशा, नवनीत कुमार, ओमपाल, रामवीर, छोटे लाल सहित काफी संख्या में कर्मचारी मौजूद थे।


यातायात सुगमता के लिए आगे आएं

जनपद के यातायात को सुगम बनाने के लिए जिलाधिकारी बीएन सिंह की समस्त वाहन चालकों के लिए एडवाइजरी


गौतमबुध नगर। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने जनपद के समस्त जन सामान्य का आह्वान करते हुए जनपद गौतमबुद्धनगर के यातायात को और अधिक सुगम बनाने एवं वाहन चालकों को समन शुल्क से बचाने के उद्देश्य से एक एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि यातायात की दृष्टि से जनपद गौतमबुद्धनगर बहुत ही महत्वपूर्ण जनपद है और यहां पर अत्यधिक वाहन होने के कारण यातायात को सुगम बनाने में सभी नागरिकों की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। उन्होंने समस्त जनपद वासियों का आह्वान किया है कि सभी नागरिक वाहन चलाते हुए अपने जनपद के यातायात को सुगम बनाने एवं बढ़े हुए समन शुल्क से बचने के लिए प्रत्येक नागरिक यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा है कि वाहन चालक ओवर स्पीड वाहनों का संचालन न करें, रॉन्ग साइड ड्राइव न करें, रेड लाइट जंपिंग ना करें, सीट बेल्ट बांधकर अपनी सुरक्षा के लिए यात्रा करें, सभी टू व्हीलर चालक हेलमेट पहनकर यात्रा करें ताकि जनपद का यातायात और अधिक सुगम बन सके तथा सभी वाहन चालक बढ़े हुए समन शुल्क के दंड से बच सकें। वही दूसरी ओर दुर्घटनाओं में होने वाली जनहानि को रोका जा सके। इस कार्य में सभी जनपद के नागरिकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। अतः सभी नागरिक यातायात के दौरान यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करें ताकि जनपद गौतमबुद्धनगर का यातायात और अधिक सुगम बन सके और सभी नागरिकों को यातायात के दौरान किसी प्रकार की असुविधा ना होने पाए। उन्होंने यहां पर यह भी स्पष्ट किया है कि जिला प्रशासन की ओर से, परिवहन विभाग की ओर से तथा पुलिस विभाग की ओर से निरंतर रूप से यातायात को कंट्रोल करने के उद्देश्य से अभियान संचालित किए जा रहे हैं। अतः यदि कोई नागरिक यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित नहीं करेंगे तो उन्हें दंड का भागी बनना पड़ेगा। उन्होंने समस्त नागरिकों को यातायात के दौरान यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए आह्वान किया है। जिला सूचना अधिकारी गौतम बुद्ध नगर।


महिला ने बच्चे सहित लगाई आग,मौत

जालौन। गोहन थाना क्षेत्र के मडोरी गांव में अज्ञात कारणों के चलते डेढ़ साल के मासूम बच्चे के साथ महिला खुद को किया आग के हवाले। मासूम की मौके पर मौत महिला को गंभीर हालत में कराया गया अस्पताल में भर्ती। जहां डॉक्टरों ने किया मृत घोषित। ग्रामीणों के अनुसार महिला का मानसिक संतुलन नहीं था। ठीक सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष गोहन विनोद कुमार पांडे मौके पर पहुंचे।


रक्षा मंत्री ने आईएनएस से चलाई गोलियां

हिंद महासागर। उस देश को किसी दुश्मन से डरने की क्या जरूरत जिस देश का रक्षामंत्री ही दुश्मनों के छक्के छुड़ाने का हुनर रखता हो। जी हां! कुछ ऐसा ही संदेश देशवासियों को उस वक्त मिला जब देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भारी भरकम मशीन गन से तड़ातड़ गोलियां बरसाते नजर आए। हाल ही में लड़ाकू विमान तेजस की सवारी करके आसमान नापने वाले राजनाथ सिंह ने बीच समंदर मशीन गन चलाई।


दरअसल राजनाथ सिंह नौसेना की समुद्री निगरानी का जायजा लेने के लिए आईएनएस विक्रमादित्य पर पहुंचे थे। जहां रक्षामंत्री ने मशीनगन थामी और कई राउंड फायरिंग करके अपना नया हुनर दिखाकर सबको चौंका दिया। उन्होंने आईएनएस विक्रमादित्य पर 24 घंटे का समय गुजारा। इस दौरान राजनाथ सिंह के साथ वायुसेना के अधिकारी भी मौजूद थे। राजनाथ के मशीन गन से फायरिंग करने का वीडियो भी सामने आया है। राजनाथ ने समंदर में नौसेना के अधिकारियों के साथ योग भी किया। राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर नौसेना के जवानों की तारीफ की तो आईएनएस विक्रमादित्य को समंदर का सिकंदर बताया। इससे पहले शनिवार को रक्षामंत्री ने मुंबई के माजागोन डॉक्स में एक समारोह में भारत की दूसरी स्कॉर्पियन क्लास युद्धक पनडुब्बी आईएनएस खंडेरी को भारतीय नौसेना में शामिल किया। इस पनडुब्बी के फ्लैगपोस्ट पर तिरंगा फहराकर नौसेना के बेड़े में शामिल किया गया। इस दौरान नौसेना अध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह और नौसेना के अन्य सीनियर अफसर मौजूद रहे।


बालियान ने दिया विवादित बयान

सम्‍भल। केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का विवादित बयान, 370 और 35 A पर बोले कि हिंदुस्तान के लोगों की मेमोरी होती है शार्ट इसलिए इन्हें जिंदा रखने के लिए किए जा रहे हैं जन जागरण कार्यक्रम, जन जागरण/ प्रबुद्ध गोष्ठी में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सम्भल के चंदौसी में पहुंचे थे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, मीडिया से वार्ता के दौरान दिया था विवादित बयान।


रूट डायवर्ट से होगी कम परेशानी

गाजियाबाद। कोतवाली क्षेत्र में राम बारात यात्रा को दृष्टिगत रखकर, सायं 5 बजे से निम्नवत डायवर्जन देर रात्रि तक रहेगा। लाल कुआं से मोहननगर जाने वाले भारी वाहन साजन मोड़ से हापुड़ चुंगी, एएलटी होकर जा सकेंगे।


हापुड़ चुंगी से भारी वाहन पुराना बस अड्डा की तरफ न जाकर एएलटी मेरठ तिराहा होकर जा सकेंगे ।
मेरठ तिराहा से भारी वाहन घण्टाघर की तरफ न जाकर
घुकनामोड पुराना बस अड्डा या सीधे एएलटी होकर गन्तव्य को जा सकेंगे। छोटे वाहन जिन्हें पटेलनगर से पुराना बस अड्डा जाना है ,संजय गीता चौक होकर जा सकेंगे।
घण्टा घर की तरफ छोटे वाहन केवल ओवर ब्रिज से जा सकेंगे। पुराना बस अड्डा से छोटे वाहन हापुड़ तिराहा ठाकुर द्वारा मन्दिर की तरफ न आकर घुकनामोड होकर गन्तव्य को जा सकेंगे। पुराना बस अड्डा से छोटे बड़े सभी वाहन जिन्हें मोहन नगर जाना है घुकनामोड होकर जा सकेंगे। समस्या से बचने के लिए वैकल्पिक मार्गो का प्रयोग करें।


भूपेश ने अमिताभ-स्मृति को पछाड़ा

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का नाम भारत के 100 शक्तिशाली लोगों की सूची में शामिल हो गया है। देश के मशहूर अख़बार द इंडियन एक्सप्रेस  द्वारा जारी की गयी इस सूची में भूपेश बघेल 54वें स्थान पर हैं। आपको बता दें कि मशहूर अभिनेता अमिताभ बच्चन और केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी जैसे दिग्गजों को पछाड़कर बघेल ने अपना स्थान बनाया है।


इंडियन एक्सप्रेस की सूची में शामिल करने को लेकर लिखा कि “पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बाद भूपेश बघेल ही कांग्रेस के ऐसे मुख्यमंत्री हैं। जिन्होंने प्रदेश में पूर्ण बहुमत से सरकार बनायीं है। इंडियन एक्सप्रेस भूपेश बघेल को इस सूची में शामिल करने का कारन बताते हुए लिखा कि बहुमत हासिल करने के बाद प्रदेश के कई वरिष्ठ और दिग्गज नेताओं के दौड़ में शामिल होने के बावजूद उन्हें छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री चुना गया। साथ ही अपने नारुवा गरुवा घुरवा बारी के नारे के साथ भूपेश छत्तीसगढ़ की ग्रामीण जनता के दिलों में जगह बनाने में सफल रहे हैं।“


आपको बता दें कि इस सूची में प्रधानमंत्री मोदी पहले स्थान पर हैं इनके अलावा अमित शाह, नितिन गड़करी, जेपी नड्डा, मुकेश अम्बानी जैसे दिग्गजों का नाम शामिल है।


रानी को मिला नेशनल रेसलिंग में गोल्ड

ग्वालियर। चंबल की जिस महिला रेसलर रानी राणा को कुश्ती में करियर बनाने को लेकर उसके गांव वालों ने ताना दिया था, आज उसने इतिहास रच दिया है। जी हां, मध्य प्रदेश को आज अपनी इस बेटी पर फख्र हो रहा है। रानी ने नेशनल रेसलिंग प्रतियोगिता के 55 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड मेडल जीता है। महाराष्ट्र के शिरडी में आयोजित नेशनल वुमन रेसलिंग चैंपियनशिप में रानी राणा ने मध्य प्रदेश को यह गौरव दिलाया है। इस कामयाबी के साथ ही रानी ने एशियन और वर्ल्ड चैम्पियनशिप खेलने की पात्रता हासिल कर ली है।
एमपी की पहली गोल्ड मेडलिस्ट:-ग्वालियर की रहने वाली रानी राणा (Rani Rana) ने महाऱाष्ट्र के शिरडी में आयोजित नेशनल वुमन रेसलिंग चैम्पियनशिप में धमाकेदार प्रदर्शन किया। रानी ने क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल में विरोधी महिला पहलवानों को 10-0 की करारी शिकस्त दी। खिताबी मुकाबले में रानी का सामना उत्तर प्रदेश की नंबर एक रेसलर मानसी से हुआ। फाइनल में रानी शुरू से ही मानसी पर हावी रही और आखिर में 6-2 से शिकस्त देकर रानी ने गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। ये पहला मौका था जब मध्य प्रदेश को महिला रेसलिंग की नेशनल प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल मिला है। इस खिताब के साथ ही रानी नेशनल रेसलिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाली मध्य प्रदेश की पहली महिला रेसलर बन गई है।


चंबल का नाम करेगी रोशन:-नेशनल वुमन रेसलिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही रानी को वर्ल्ड लेबल पर खेलने की पात्रता भी मिल गई है। अब वह एशियन और वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भारत की तरफ से रिंग में उतर सकेगी। इसी साल अक्टूबर में रानी वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भाग लेने वाली है। वर्ल्ड चैम्पियनशिप हंगरी के वुडापेस्ट में होगी, जिसमें रानी भारतीय वुमन रेसलिंग टीम का प्रतिनिधित्व करेगी। वर्तमान में रानी राणा इंदौर कुश्ती अकादमी में ट्रेनिंग ले रही है। रानी के गोल्ड मेडल जीतने और वर्ल्ड चैम्पियनशिप का टिकट मिलने के बाद उनकी सहयोगी रेसलर भी खुश हैं।
जो ताने मारते थे, कर रहे तारीफ:-रेसलर रानी राणा ग्वालियर जिले के जखौरा गांव की रहने वाली है। छोटे से गांव में जहां बेटियों के लिए स्कूल जाना तक संभव नहीं होता। उन्हें घर में रहकर चूल्हा-चौका करना पड़ता है। इन परिस्थितियों में भी रानी ने कुश्ती में करियर बनाया। जिद और धुन की पक्की रानी को शुरुआत में घरवालों के विरोध का ही सामना करना पड़ा, लेकिन उसने हार नहीं मानी। अपने स्तर से कुश्ती की तैयारी करती रही। स्कूल स्तर पर खेलना शुरू किया, तो गांव के लोग उसके परिवार वालों को ताना मारने लगे। लेकिन वक्त के साथ-साथ रानी की शोहरत बढ़ी, तो गांव के लोग भी इस बेटी के दम-खम की तारीफ करने लगे। आज रानी सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं, बल्कि देश में जाना-माना नाम हो गई है। गांव वालों का मानना है कि रानी ने उनके गांव का मान बढ़ाया है। रानी की कामयाबी से प्रेरित होकर गांव की अन्य लड़कियां भी अब पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में आगे आने लगी हैं।


हीरोइनों को कड़ी टक्कर देगी 'सुहाना'

न्यूयॉर्क। शाहरुख खान की बेटी सुहाना की पहली फिल्म का टीजर सोशल मीडिया पर सामने आ चुका है। अब तक इस स्टार किड की सिर्फ स्कूल और कॉलेज में प्ले के दौरान की तस्वीरें और विडियो सामने आए थे। लेकिन अब पहली बार वह फिल्म में ऐक्ट करती नजर आने वाली हैं। सोशल मीडिया पर सामने आए, इस विडियो के बारे में बताया गया है कि यह टीजर शॉर्ट फिल्म 'द ग्रे पार्ट ऑफ ब्लू' का है।


इस शॉर्ट विडियो को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिर क्यों सुहाना को अपने पुराने कॉलेज में उनकी ऐक्टिंग के लिए अवॉर्ड दिए जाते थे। यह भी कहना गलत नहीं होगा कि अगर यह स्टारकिड बॉलिवुड में आती है तो ऐक्टिंग के मामले में वह दूसरी न्यू ऐक्ट्रेसेस को कड़ी टक्कर दे सकती है। वैसे बता दें कि, फिलहाल सुहाना लंदन से पढ़ाई पूरी करने के बाद न्यूयॉर्क में ऐक्टिंग कोर्स कर रही हैं।


भारी बारिश से नदियों ने बदले रास्ते

कोरबा। बीते 48 घंटो की बारिश जिलेभर के लिए आफत साबित हुई है। जिले का ऐसा कोई इलाका नहीं है जहां जनजीवन प्रभावित न हुआ हो। बारिश ने आबादी क्षेत्रो के साथ ही खदान इलाको में भी भारी तबाही मचाई है। आलम यह है की बिलासपुर से कटघोरा का जोड़ने वाला मुनगाडीह का पुल धराशाई हो गया। लेकिन तबाही का यह सिलसिला इससे पहले दीपका क्षेत्र में नजारा आया।


भारी बारिश से उफान पर बह रही लीलागर नदी ने अपनी दशा ही बदल दी जिससे नदी का पानी दीपका खदान में प्रवेश कर गया। नदी की धार खदान में समाहित होने से देखते ही देखते कोयला उत्पादन क्षेत्र का एक फेस भर गया।खदान में काम कर रही करोड़ों रुपये के सावेल, डंपर, ड्रिल समेत अन्य मशीन डूब गए। प्रबंधन ने तत्काल रेस्क्यू कर यहां काम कर तीन कर्मचारियों को किसी तरह सुरक्षित बाहर निकाला, खदान में उत्पादन ठप हो गया है। मूसलाधार बारिश से हदसेव भी प्रचंड होइ चुकी है। बांगो डैम प्रबंधन यहाँ के कई गेट खोलने की तैयारी में है। दूसरी तरफ दरी बराज के दो गेट पहले ही खोले जा चुके है। इसी तरह कोरबा की छोटी सभी नदिया बौराई हुई है। राहत और बचाव दलों को अलर्ट पर रखा गया है।


आमरण अनशन कर रहे छात्रों को हटाया

छात्र संघ की र्नसरी को कुचलने के लिए दमनात्मक व्यव्हार कर रही योगी की पुलिस


कृष्णमूर्ति सिंह यादव


प्रयागराज। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली को लेकर आमरण अनशन कर रहे छात्र नेताओं को आज सुबह पुलिस ने लाठी के बल पर अनशन तुड़वा कर और जबरन गाड़ियों पर लाद ले गए और स्वरूप रानी अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया है। उक्त घटना को सुनकर समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष एवं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रहे श्री कृष्ण मूर्ति सिंह यादव उनके साथ जिला महासचिव श्री दूधनाथ पटेल नाटे चौधरी डॉक्टर देवी सिंह पटेल सहित तमाम समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने स्वरूप रानी अस्पताल पहुंचकर सभी छात्र नेताओं का हालचाल जाना और उक्त घटना की घोर निंदा करते हुए प्रशासन से मांग की है कि लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन कर रहे छात्र नेताओं को जिस तरीके से बर्बरता पूर्वक लाठी के बल पर उन्हें प्रताड़ित किया गया है। यह घोर निंदनीय है। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली को लेकर आमरण अनशन कर रहे छात्र नेताओं को आज सुबह पुलिस ने लाठी के बल पर अनशन तुड़वा कर और जबरन गाड़ियों पर लाद ले गए। स्वरूप रानी अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया है। लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन कर रहे छात्र नेताओं को जिस तरीके से बर्बरता पूर्वक लाठी के बल पर उन्हें प्रताड़ित किया गया है। यह घोर निंदनीय है। गिरफ्तार छात्र नेताओं में प्रमुख रूप से निवर्तमान छात्रसंघ अध्यक्ष उदय यादव, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अवनीश यादव, निवर्तमान उपाध्यक्ष अखिलेश यादव, अविनाश विद्यार्थी, अजय यादव, सम्राट दुर्गेश सिंह,भूपेन्द्र सिंह यादव,शिवम सिंह,सत्यम सिंह सनी तथा पूर्व उपाध्यक्ष आदिल हमजा, आदि प्रमुख हैं।स्वरुपरानी अस्पताल जाकर दमन का शिकार बने छात्रों का हाल चाल जानने कृष्णमुर्ति सिंह यादव,दूधनाथ पटेल,नाटे चौधरी,सै०मो०अस्करी आदि पहुचे और बर्बरतापूर्ण कार्यवाही की घोर निन्दा की।


नई मिनी एसयूवी,6 कलर्स में उपलब्ध

नईदिल्ली। 10 से ज्यादा सेफ्टी फीचर्स के साथ Maruti suzuki ने नई मिनी एसयूवी S-Presso को भारत में लॉन्च कर दिया है।  इसमें 4 वेरियंट मिलेंगे जिनमें Standard, LXI, VXI, and VXI+ शामिल हैं। दिल्ली में एक्स-शो रूम कीमत 3.69 हजार रुपये से शुरू होती है। यह 6 कलर्स में उपलब्ध है। मारुति एस प्रेसो 4 वेरियंट में उपलब्ध है, जिनमें Standard, LXI, VXI, and VXI+ शामिल हैं। कार में 10 से ज्यादा सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। मारुति की इस छोटी एसयूवी की टक्कर रेनॉ क्विड से होगी।


मारुति एस-प्रेसो (Maruti Suzuki S-presso) में 1.0 3-सिलेंडर बीएस6 पेट्रोल इंजन दिया गया है। इस में इंजन के साथ 5-स्पीड मैनुअल और एएमटी गियरबॉक्स का विकल्प मिलेगा। साइज की बात करें तो यह कार रेनो क्विड से ज्यादा ऊंची है, हालांकि लंबाई, चौड़ाई व्हीलबेस के मोर्चे पर यह क्विड से छोटी होगी। इस में टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और सेंट्रल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर (ऑरेंज बैकलाइटिंग के साथ) जैसे फीचर मिलेंगे। पैसेंजर की सुरक्षा के लिए इस गाड़ी में एबीएस, ईबीडी, रियर पार्किंग सेंसर, हाई स्पीड अलर्ट, फ्रंट सीटबेल्ट प्रीटेंशनर और लोड लिमिटर जैसे फीचर मिलेंगे।


नशे के खिलाफ पंजाब पुलिस सख्त

लुधियाना। डीजीपी पंजाब और एआईजी एसटीएफ श्री सनेहदीप शर्मा के दिशनिर्देशों पर नशे के खिलाफ़ और नशा तस्करो पर कड़ी कारवाई के चलते एसटीएफ टीम के इस्पेक्टर हरबंस सिंह की अगुवाई के अंदर गहिलेवाल रोड टी प्वाइंट नंदा कॉलोनी बस्ती जोधेवाल पर गुप्त सूचना के आधार पर स्पेशल नाकाबंदी के दौरान टीवीएस स्कूटी सवार दो व्यक्तियो से 712 ग्राम हेरोइन बरामद की। आरोपियों की पहचान फिरोज़ आलम और नरेश कुमार न्यू सिमला कॉलोनी बस्ती जोधेवाल लुधियाना के रूप में हुई। इस संबंधी जानकारी देते हुए एसटीएफ इंचार्ज इंस्पेक्टर हरबंस सिंह ने बताया कि दोनों आरोपी पिछले करीब 1 साल से हेरोइन बेचने का गैर कानूनी धंधा करते थे। उन्होंने कहा कि एक गुप्त सूचना मिली थी कि दो आरोपी नंदा कॉलोनी में नशे की सप्लाई देने के लिए आ रहे हैं जब नाकाबंदी के दौरान चैकिंग की तो आरोपियों से 712 ग्राम हेरोइन के इलावा एक इलेक्ट्रॉनिक वजन नापने वाली मशीन और 90 प्लास्टिक के छोटे लिफाफे बरामद हुए। इंस्पैक्टर हरबंस सिंह ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ थाना एसटीएफ मोहाली में मामला दर्ज कर और आरोपियों को अदालत में पेश करके रिमांड हासिल कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ के बाद और बड़े खुलासे हो सकते। अनुमान है कि पकड़ी गई हेरोइन की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 3:30 करोड़ के आसपास है।


मानव तस्कर गिरोह के 11 सदस्य गिरफ्तार

लड़कियों की तस्करी एवं फर्जी शादी कराने वाले गिरोह के ग्याहर सदस्य गिरफ्तार


प्रयागराज। खुल्दाबाद एवं अपराध शाखा की संयुक्त पुलिस टीम ने रविवार दोपहर अन्तर्राज्जीय लड़कियों की तस्करी एवं फर्जी बाल विवाह और शादी करके लूट करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए तीन महिलाओं समेत ग्यारह सदस्यों को गिरफ्तार किया। गिरोह के कब्जे से दो अपृहता तथा अन्य कई फर्जी दस्तावेज बरामद किया है। 
   उक्त जानकारी देते हुए नगर पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पकड़े गिरोह के सदस्यों में सिमरन पत्नी जानू सोनकर निवासी हिम्मतगंज खुल्दाबाद प्रयागराज, सोनी उर्फ स्नेहा पाण्डेय पुत्री नीरज पाण्डेय निवासी लोकनाथ चैराहा थाना कोतवाली प्रयागराज, नीतू साहू पत्नी शिव बाबू साहू निवासी काशीराम कालोनी एडीए कालोनी नैनी प्रयागराज और प्रदीप कुमार पुत्र भगवती दीन निवासी आनन्द नगर थाना नैनी प्रयागराज, जानू सोनकर निवासी हिम्मतगंज थाना खुल्दाबाद, डब्लू साहू पुत्र गम्भीर निवासी चाटवली गली नया पुरवा थाना करेली प्रयागराज, अमित कुमार पुत्र श्यामलाल निवासी दनामण्डी गोकुण्डा थाना चन्दोरी जिला चित्तोड़गढ़ राजस्थान, दिलवर हबीब निवासी शंकरगढ़ रोड नारीबारी प्रयागराज, लकी श्रीवास्तव पुत्र श्यामजी सिन्हा निवासी राजरूपपुर थाना धूमनगंज, विकास सिंह पुत्र समर बहादुर निवासी बैरहना थाना कीडगंज, संतोष साहू पुत्र ननकू साहू निवासी नई बस्ती छाया क्लीनिक के सामने गली थाना करेली प्रयागराज मूलपता कन्जापार थाना करारी कौशाम्बी है। 
   गिरोह के कब्जे से लूट का एक मोबाइल,पुलिस की फर्जी चार आईडी, चार फर्जी आधार कार्ड, दो निर्वाचन कार्ड फर्जी, जिलाधिकारी इलाहाबाद की मोहर, पुलिस उप महानिरीक्षक पीएचक्यू इलाहाबाद की मोहर, एक बाल विवाह अधिकारीकी आईडी, शादी की नोटरी व काफी संख्या में लड़कियों के आधार कार्ड समेत अन्य कई दस्तावेज तथा ग्यारह मोबाइल एवं उन्नीस सौ रूपया बरामद किया गया है। पुलिस अधीक्षक अपराध आशुतोष मिश्रा ने बताया कि पूंछताछ के दौरान आरोपितों ने बताया कि गिरोह में शामिल तीन लड़किया राजस्थान, दिल्ली, गुजरात सहित विभिन्न शहरों में फर्जी शादी करके वहां से दूल्हे का जेवरात लेकर भाग निकली है।
   इसके साथ रेलवे स्टेशनों पर लावरिस या फिर घर से भागी लड़कियों को अपने झांसे में लेकर दूसरे प्रान्त में ले जाकर मोटी रकम लेकर बेंचने का कारोबार करते है। इस पूरे गिरोह में पचास से अधिक महिला एवं पुरूष सम्मिलित है। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश से एक युवक अपनी प्रेमिका के साथ भागकर कुछ दिन पहले शहर में पहुंचा और रेलवे जंक्शन इलाहाबाद पर उसकी मुलाकात डब्बू से हो गई। वह उसके प्रेमी को दिल्ली कमाने के लिए जाने कहा और लड़की को अपने घर रख लिया। जब उसके प्रेमी को आशंका हुई तो उसने पुलिस से शिकायत की। 
 मामले की जांच खुल्दाबाद थाना एवं करेली पुलिस को दी गई। उन्होंने बताया कि जनपद में मिली लावारिश महिलाओं के शवों की पहचान एवं अपहरण, गुमशुदगी जिले के आस-पास जिलों में हुई उसकी जांच कराने के लिए निर्देश जारी किए गए है। गिरोह के सदस्य फर्जी शादीकर राजस्थान भेजता है और जहां से वह गहने एवं मोटी रकम लेकर बहाने से भाग निकली है। इस तरह यह पूरा गिरोह कई गोरख धन्धे में शामिल है। अबतक यह गिरोह सैकड़ो फर्जी शादिया करा चुका है।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


वैदिक मंत्रो के साथ कलश स्थापना

गोरखपुर। शारदीय नवरात्र के प्रथम दिन श्रीगोरखनाथ मन्दिर में परम्परागत रूप से गोरक्षपीठाधीश्वर महन्त योगी आदित्यनाथ जी महाराज ने देर शाम वैदिक मन्त्रों के बीच कलश स्थापना किया। सर्वप्रथम नाथ जी की पूजा गोरक्षपीठाधीश्वर जी द्वारा की गई। तत्पश्चात मन्दिर मे स्थापित दुर्गा जी के मन्दिर मे कालभैरव की पुजा हुई तथा वहाॅ रखे गये त्रिशुल आदि शस्त्रों को गोरक्षपीठाधीश्वर ने साधु-सन्त एवं संस्कृत विद्यापीठ के छात्रो को दिया। इसके बाद एक शोभा यात्रा मठ के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ नेतृत्व में शख, घंट-घड़ियाल एवं नागफनी (वाद्य-यंत्र) के साथ भीम सरोवर की परिक्रमा की तथा सरोवर मेे अस्त्र शस्त्रों को स्नान कराया गया एवं कलश में जल भरे। तत्पश्चात पुनः अस्त्र-शस्त्रों को दुर्गा मन्दिर मे स्थापित किया गया।
आज प्रतिपदा के दिन माॅ शैलपुत्री की पूजा हुई। पूजा मे गोरक्षपीठाधीश्वर ने सभी देव विग्रहो का षोडशोपचार पूजन के साथ श्रीदुर्गा सप्तशती एवं देवी पुराण का पाठ मठ पुरोहित पं0 रामानुज त्रिपाठी के नेतृत्व 11 पंडितों द्वारा सम्पन्न हुआ। उसके बाद भव्य आरती सम्पन हुई। आरती के पश्चात् प्रसाद वितरित हुआ एवं गोरक्षपीठाधीश्वर ने उपस्थित जनसमूह को आर्शीवाद दिया।
रिपोर्ट-बृजेश केसरवानी


भीष्म शयन नाभि कुंभ ज्योति अनुष्ठान

निम्बोड़ा में अयोध्यादास महाराज का भीष्म शयन नाभि कुम्भ ज्योत प्रज्ज्वलन अनुष्ठान प्रारम्भ


भीनमाल, (निसं)। निकटवर्ती निम्बोड़ा गांव में जुनागढ़ गुजरात के गिरनारी संत, रामस्नेही सम्प्रदाय के अनुयायी और सांलगपुर हनुमान के अनन्य भक्त संत अयोध्यादास महाराज के द्वारा रविवार को नवरात्रि स्थापना के साथ ही भीष्म शयन नाभि कुम्भ ज्योत प्रज्ज्लवन अनुष्ठान प्रारम्भ हुआ। लगातार दस दिनों का यह अनुष्ठान प्रतिपदा से दशहरा तक चलेगा। दशहरा के दिन प्रात: शुभ वेला में महाराज का यह अनुष्ठान पूर्ण होगा। इस अनुष्ठान में भीष्म शयन यानि कि तीर की शैय्या पर शयन करके माँ बुट भवानी की आराधना करनी होती है।  इसके तहत तीन गुणा छह फीट की एक मोटे प्लाईबोर्ड पर करीब छह छह इंच के सैकड़ों सरिये लगाये गये। महाराज अब दस दिनों तक इन्हीं नुकीले सरियों पर शयन करेगें। अनुष्ठान के तहत निम्बोड़ा गांव की लोबड़ा नाड़ी पर स्थित अयोध्यापुरी आश्रम में रविवार को प्रात:काल से ही माँ भगवती, बुट भवानी, श्री राम, हनुमान की पूजा अर्चना का कार्यक्रम शुरू रहा। दोपहर में करीब साढे बारह बजे के करीब महाराज ने अनुष्ठान के तहत भीष्म शयन किया। उसके बाद उनकी नाभि पर मिट्टी के साथ ज्वारा रोपण किया गया व कुम्भ की स्थापना की गई। कुम्भ के ऊपर एक बड़े दीपक में अखण्ड ज्योत का प्रज्ज्वलन किया गया। 


अनूठा अनुष्ठान
वैसे तो भारत देश के अध्यात्म जगत में माँ भगवती को विभिन्न नामों से पुकारा जाता है तथा उनकी आराधना के तौर तरीके भी सैकड़ों की संख्या में अलग अलग है। जब साधक खुद के शरीर को असहनीय कष्ट पहुंचाकर माता की आराधना करते है तो माना जाता है कि उन्हें यथेष्ट सिद्धि प्राप्त होती है। महाभारत काल में जब पाण्डवों और कौरवों में युद्ध हुआ तो उनके भीष्म पितामह ने असहनीय कष्ट सहकर तीरों की शैय्या पर शयन किया। इसी तर्ज पर महाराज नवारात्रि की आराधना के तहत प्लाईबोर्ड पर लगे सैकड़ों नुकीले सरियों पर शयन कर रहे है। मात्र सिर के नीचे एक तकिया रखा गया है जबकि कमर के नीचे मात्र एक अंगोछा लपेटे हुए है जबकि बाकी शरीर बगैर वस्त्रों के है


पूर्व में भी किये कष्ट अनुष्ठान
एडवोकेट निरंजन व्यास ने बताते है कि भारत के अध्यात्म जगत में त्याग और तप का अपना विशिष्ट महत्व रहा है। दर्जनों प्रकार के मतों पर चलने वाले विभिन्न साधु संत समूहों की त्याग और तप के लिए अपनी विशिष्ट शैली भी रही है। व्यास ने बताया कि त्याग और तप की मूर्ति अध्योध्यादास महाराज ने वर्ष 2017 में नाभि कुम्भ कष्ट अनुष्ठान भी किया था। जिसमें महाराज के सिर व दो हाथों को छोड़कर पूरा शरीर मिट्टी में दबा हुआ था जिस पर ज्वारा रोपण किया गया था। उसके बाद महाराज ने लगातार 41 दिनों तक रात्रि में खड़े रहकर भगवान शिव की भी आराधना की। उसके बाद महाराज ने जून की गर्मी में धूप में लगातार पांच पांच घण्टे तक बैठकर भगवान विष्णु की पंचधूणी आराधना अनुष्ठान भी संपूर्ण किया। गत वर्ष नवरात्रि में महाराज द्वारा त्रिकुम्भ आराधना भी की गई। जिसमें दोनों हाथों में व एक सिर पर तथा एक नजरों के समक्ष कुम्भ की स्थापना होती है और लगातार नौ दिनों तक यह आराधना करनी पड़ती है। महाराज द्वारा पूर्व में गुजरात राज्य के सांलगपुर के पास खाम्भा में और सूरत के पास भीलड़ में यही अनुष्ठान दो बार किया जा चुका है।


रविवार को महाराज के अनुष्ठान प्रारम्भ होने पर चन्द्रपालसिंह, रामपालसिंह, गणपतसिंह धनवाड़ा, निरंजन व्यास, भवसिंह निम्बोड़ा, प्रतापसिंह निम्बावास, पंडित नारायणलाल दवे, गौपुत्र छगनाराम चौधरी, इन्द्रसिंह राणावत, जेताराम देवासी, दीपाराम चौधरी, तेजाराम माली, भूराराम चौधरी, पृथ्वीराज गोयल, खीमाराम सेन सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।


गाजे-बाजे के साथ हेड वार्डन की विदाई

जेल अधीक्षक एके सक्सेना व जेलर कमलेश सिंह ने हेड वार्डन को दी भावभीनी विदाई


मुजफ्फरनगर। जिला जेल में तैनात एक हेड वार्डन सेवानिवृत्त हुए, हेड वार्डन विक्रम सिंह त्यागी को जेल अधीक्षक अरुण कुमार सक्सेना व जेलर कमलेश सिंह व समस्त जेलकर्मियों ने भावभीनी विदाई दी। 
विदाई समारोह में जेल के मुख्य गेट पर जेल अधीक्षक सक्सेना व जेलर सिंह एवं जेल के डॉक्टर चन्द्र गुप्त ने हेड वार्डन विक्रम सिंह त्यागी को माला पहनाकर उनके उज्वल भविष्य की कामना की। इस मौके पर जेल अधीक्षक सक्सेना ने हेड वार्डन त्यागी की सराहना करते हुये कहा कि कर्मी सेवाओं से तो सेवानिवृत्त हो सकता है, लेकिन अपने व्यवहार से कभी निवृत्त नहीं हो सकता। वहीं जेलकर्मियों ने हेड वार्डन त्यागी को फूल-मालाओं से लाद दिया।
तथा भांगड़े के साथ सभी खूब झूमे भी तथा जेल अधीक्षक सक्‍सेना व जेलर सिंह ने विदाई समारोह में हेड वार्डन त्यागी का मुंह मीठा कराया। ढोल नगाड़ों के साथ उनके आवास तक पैदल चलकर त्यागी के परिवार से भी मिले।


डीएमसी:डॉक्टर को सुनाई अनोखी सजा

डॉक्टर को चिकित्सकीय लापरवाही के लिए दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) ने अनोखी सजा


नई दिल्ली। राजधानी के मूलचंद मेडसिटी में कार्यरत एक डॉक्टर को चिकित्सकीय लापरवाही के लिए दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) ने अनोखी सजा सुनाई है। मरीज के इलाज में लापरवाह मानते हुए, उन्हें 15 घंटों के लिए कार्डियोवैस्कुलर और वक्ष से संबंधित सर्जरी की सीएमई (कन्टिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) में शामिल होने के आदेश दिए हैं। केवल इतना ही नहीं 15 दिनों के लिए दोषी डॉक्टर का नाम डीएमसी के रजिस्टर से हटाने के भी निर्देश दिए गए हैं। 


चिकित्सकीय लापरवाही साबित होने के बाद किसी चिकित्सक को दी गई इस तरह की सजा अपने आप में अनोखी है। कार्रवाई देवली एक्सटेंशन निवासी रमेश चंद्र शर्मा की शिकायत पर की गई। शर्मा ने अस्पताल के डॉक्टर शैलेश जैन पर उपचार में लापरवाही के कारण मरीज की मौत का अरोप लगाया था। 
यह था मामला : शिकायतकर्ता ने अपनी मां लीलावती को सीने में दर्द की शिकायत के साथ 16 अगस्त 2012 को लाजपतनगर स्थित मूलचंद मेडसिटी में भर्ती कराया था। डॉक्टर ने उन्हें बाइपास सर्जरी कराने की सलाह दी थी। जिसके बाद 25 अगस्त को उनकी सर्जरी की गई लेकिन 27 अगस्त को उनकी तबियत बिगडऩे लगी। उनके शरीर से किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं मिल रही थी। नतीजतन, उन्हें वेंटिलेटर पर रख दिया गया। बाद में 31 अगस्त को मरीज की मौत हो गई। रमेश चंद्र शर्मा ने आरोप लगाया कि उनकी मां के उपचार में लापरवाही बरती गई, जिसके कारण उनकी मौत हो गई। शिकायतकर्ता ने मामले की शिकायत पहले दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य सेवा निदेशालय से की थी। जिसे आगे की कार्रवाई के लिए डीएमसी को भेज दिया गया।


डासना-हापुड़-पिलखुआ,6 लेन का लोकार्पण

गाजियाबाद। पिलखुवा स्थित राजपूताना रेजीमेंट इंटर कॉलेज में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी आज सोमवार को 1700 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 6 लेन डासना-हापुड़-पिलखुआ (दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के तीसरे चरण) का लोकार्पण करेंगे।नितिन गडकरी दोपहर करीब साढ़े 12 बजे कार्यक्रम में पहुंचकर करेंगे शिरकत। कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, लोकसभा सांसद राजेंद्र अग्रवाल, राज्यसभा सांसद अनिल अग्रवाल और विजय पाल सिंह तोमर भी मौजूद रहेंगे।डासना और हापुड़ के बीच सड़क का विस्तार, जो एक्सप्रेसवे का हिस्सा नहीं है, वह टोल फ्री होगा। इस एक्सप्रेसवे से दिल्ली से महज एक घंटे में मेरठ पहुंचा जा सकेगा। एक्सप्रेसवे का पहला खंड, दिल्ली के सराय काले खां से गाजियाबाद में यूपी गेट तक जून 2018 में पूरा हो चुका है,


जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। दिल्ली से मेरठ तक 59.78 किलोमीटर लंबा छह लेन वाला डबल कैरिज एक्सप्रेसवे होगा और टोल चुकाने के बाद इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। इस खंड के साथ, सराय काले खां से डासना तक की दूरी पर चार लेन की सड़क पर बिना किसी शुल्क यात्रा की जा सकेगी। वहीं डासना से हापुड़ तक 22.23 किलोमीटर लंबी सड़क पर भी यात्रियों को मुफ्त सुविधा मिलेगी।


एक्सप्रेसवे पर तीन टोल प्लाजा होंगे
एनएचएआई के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबकि,'एक्सप्रेसवे पर तीन टोल प्लाजा होंगे। इसमें सराय काले खां और यूपी गेट के बीच तीन प्रवेश और निकास बिंदु होंगे। इसी के साथ गाजियाबाद से यूपी गेट व डासना के बीच तीन अतिरिक्त प्रवेश और निकास द्वार बनाए जाएंगे।डासना से मेरठ तक एक्सप्रेसवे का 31.78 किलोमीटर लंबा हिस्सा, जोकि परियोजना का अंतिम चरण है, उसका काम 52 फीसदी हो चुका है। इस खंड के साथ लगभग 0.48 हेक्टेयर भूमि को वन विभाग की मंजूरी का इंतजार है।


आज होंगे देश में सात बड़े बदलाव

नई दिल्ली। 1 अक्तूबर यानि आज से भारत में 7 बड़े बदलाव होने वाले है। इस बदलावों का आपकी जिंदगी पर सीधा असर पड़ेगा। नए नियमों से जहां एक ओर आपको राहत मिलेगी, वहीं अगर आपने कुछ बातों का ध्यान नहीं रखा तो आपको आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। इनमें रसोई गैस सिलिंडर के दाम, लोन, पेंशन, जीएसटी काउंसिल का फैसला, ड्राइविंग लाइसेंस, होटल का किराया, आदि शामिल है।


रसोई गैस के बदल जाएंगे रेट : सरकार 1 अक्तूबर से रसोई गैस के दाम में भी बदलाव करने जा रही है। बीते महीने एक सितंबर को बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस के दाम में 15.50 रुपए का इजाफा किया था। राजधानी दिल्ली में इसकी कीमत 590 रुपए प्रति सेलेंडर (14.2 किलो) पहुंच गई है।


केंद्रीय कर्मियों के पेंशन नियम बदलेंगे : केंद्र सरकार ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के पेंशन नियमों में बदलाव किया है, जो 1 अक्तूबर से लागू हो जाएंगे। मौजूदा नियमों के तहत केंद्रीय कर्मी की सेवा अगर 7 साल पूरी होती है तो उनकी मौत की स्थिति में परिवार को अंतिम वेतन के 50 फीसदी के बराबर पेंशन दी जाती है। बदलाव के तहत अगर कर्मचारी को लगातार सेवा के सात साल पूरे नहीं हुए हैं, तो भी उसके परिवार को पेंशन का लाभ दिया जाएगा।


दिनदहाड़े पीडब्ल्यूडी ठेकेदार को मारी गोली

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में फिर गोली चलने की सूचना है। बताया जा रहा है कि गोलियों की गूंज से वाराणसी का सदर तहसील इलाका उस वक्त दिनदहाड़े गूंज उठा। जब कुछ बदमाशों ने पल्सर पर सवार होकर फॉर्च्यूनर सवार एक पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार को गोली मार दी। मौके पर पहुंची पुलिस उन्हें गंभीर अवस्था में दीनदयाल हॉस्पिटल ले गई । जहां से डॉक्टर ने गंभीर हालत देखते हुए, उन्हें ट्रामा सेंटर बीएचयू रेफर कर दिया। बताया जा रहा है कि दिनदहाड़े चली गोली के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बदमाशों ने सदर तहसील में कुछ काम से आए पीडब्ल्यूडी ठेकेदार नितेश सिंह बबलू को टारगेट बनाते हुए 7 गोली मारी, जिसके बाद वो गिर पड़े आनन-फानन में पहुंची पुलिस उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाए जहां पर हालत गंभीर बताई जा रही है। साथ ही पहुंची पुलिस छानबीन में लग गई। जानकारी के अनुसार सोमवार की दोपहर करीब 12:00 बजे नितेश सिंह बबलू लोहिया नगर सारनाथ के निवासी हैं जो पीडब्ल्यूडी में ठेकेदारी का कार्य किया करते हैं। नितेश सिंह बबलू पूर्व में उदय प्रताप कॉलेज के छात्र भी रहे हैं। साथ ही बता दें कि नितेश सिंह बबलू का भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं में काफी अच्छी पैठ भी है। साथ ही यह कई नेताओं के करीबी माने जाते हैं। अभी तक बदमाशों द्वारा गोली मारने की उपयुक्त कारण पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है, मौके पर भारी पुलिस बल बुला कर क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। मौके पर वाराणसी के एसएसपी सहित अन्य आलाअधिकारी भी पहुंच चके है। मूल रूप से चंदौली जनपद के सकलडीहा तहसील के ओदरा गांव निवासी थे। बतादे कि इनका बस का कारोबार भी था। प्राइवेट बस चलवाने का कारोबार भी बड़े पैमाने पर किया करते थे। सहेली बस नाम से बस चलवाने का कारोबार करते थे।


जहां भी रहे भारत को याद रखें:मोदी

दीक्षांत समारोह में छात्रों से बोले पीएम मोदी, जहां भी रहें भारत को याद रखें


चेन्नई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज चेन्नई दौरे पर हैं। वह आईआईटी मद्रास में आयोजित कई कार्यक्रमों में आज हिस्सा ले रहे हैं। पीएम मोदी ने आईआईटी मद्रास पहुंचकर वहां आयोजित सिंगापुर-भारत हैकथॉन 2019 में भाग लिया। इसके बाद पीएम मोदी आईआईटी के 56वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए। इस दौरान पीएम ने छात्रों को संबोधित भी किया। पीएम ने युवाओं को अपनी मातृभूमि भारत से जुड़े रहने की अपील की। पीएम मोदी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास के 56वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में पहुंचे।आईआईटी मद्रास के 56वें दीक्षांत समारोह में पीएम मोदी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, 'मैं अभी अमेरिका से लौटा हूं। इस यात्रा के दौरान, मैं बहुत से राष्ट्राध्यक्षों, नवप्रवर्तकों और निवेशकों से मिला।हमारी चर्चाओं में एक बात कॉमन थी, वह था नए भारत के बारे में हमारा दृष्टिकोण और भारत के युवाओं की क्षमताओं पर विश्वास।


पीएम ने तमिलनाडु की भाषा का जिक्र करते हुए कहा कि यहां पहाड़ चलते हैं और नदियां स्थिर होती हैं। हम तमिलनाडु में हैं, जिसे एक विशेष गौरव प्राप्त है, यह दुनिया की सबसे पुरानी भाषा का घर है और यह भारत में सबसे नई भाषा में से एक है, आईआईटी-मद्रास लिंगो।


रेपिस्ट भाई के लिए पत्नी का गला रेता

रायपुर। सरस्वती नगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत कोटा इलाके में पति ने पत्नी की गला घोटकर की हत्या कर दी। जानकारी के मुताबिक देर रात पति पत्नी मे विवाद हुआ था जिसके बाद पति ने इस घटना को अंजाम दिया। बता देकि इस घटना के बाद सरस्वती नगर पुलिस ने आरोपी मोहम्मद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया है।


देवर ने बेटी से किया था दुष्कर्म, मृतका चाहती थी इंसाफ


मृतिका अपनी बेटी के साथ हुए इंसाफ के लिए पति से दरख्वाश्त कर रही थी। उसी बात को लेकर दोनों मे विवाद बढ़ा और पति ने पत्नी को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल मृतका के देवर ने उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया था जिसके बाद मृतका का पति आरोपी भाई को बचाना चाहता था।पुलिस से जानकारी के मुताबिक मृतिका की 11 वर्षीय बेटी के साथ उसका देवर सिकन्दर (आरोपी का भाई) ने करीब एक साल पहले रेप किया था। जिसकी रिपोर्ट थाना खुर्सीपार (भिलाई) जिला दुर्ग में करने पर आरोपी जेल बंद है। इसी केस में समझौता करने के लिए आरोपी मृतिका पर दबाव बनाता था व झगड़ा-विवाद करता था। बता दे कि आरोपी बेरोजगार और शराबी प्रवृत्ति का है उनके चार बच्चे भी हैं। बस इसी समझौते की बात को लेकर आरोपी शेख यूसुफ ने पत्नी शबाना बेगम का 11.30 बजे रात गला दबाकर हत्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की जांच कर रही है।फिलहाल पुलिस ने सरस्वती नगर थाना पुलिस ने आरोपी मोहम्मद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ की बाद पुलिस खुलासा करेगी की किबाड़ पर हुए विवाद पर युसूफ ने ये कदम उठाया।


भाजपा का सब्जी बेचने वाला प्रत्याशी

लखनऊ। हमीरपुर उपचुनाव के बाद भारतीय जनता पार्टी ने बाकी बची 10 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। इनमें सबसे ज्यादा चर्चा मऊ की घोसी सीट की हो रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि बीजपी ने इस सीट से सब्जी बेचने वाले के बेटे को अपना उम्मीदवार बनाया है। घोसी सीट से बीजेपी के प्रत्याशी विजय राजभर हैं। विजय राजभर को फागू चौहान के बेटे का टिकट काटकर उम्मीदवार बनाया गया है। बीजेपी से टिकट मिलने पर विजय राजभर ने कहा, ''संगठन ने मुझे एक बड़ी जिम्मेदारी दी है, मेरे पिता मुंशी पुरा के पास फुटपाथ पर सब्जियां बेचते हैं, मैं पूरी कोशिश करूंगा कि उम्मीदों पर खरा उतरूं।


इंडिगो फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग

नई दिल्ली। गोवा में देर रात इंडिगो फ्लाइट की इमरजेंसी लैडिंग कराई गई। ये विमान दिल्ली से आ रहा था। बताया जा रहा है कि विमान के इंजन में अचानक आग लगने के बाद डाबोलिम एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। 
रिपोर्ट्स के अनुसार, फ्लाइट के लेफ्ट इंजन में आग की लपटें देखी गईं, जिसके बाद ऐन वक्त पर इसकी उड़ान रोक दी गई। इस विमान में गोवा के पर्यावरण मंत्री निलेश काबराल, कृषि निदेशक और ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी भी सवार थे। फिलहाल हादसे में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। इस विमान में कुल 114 यात्री सवार थे।


गोद से गिरा मासूम बेटा,नाले में बहा

मां की गोद से अचानक फिसलकर गिरा मासूम बेटा नाले के तेज बहाव में बहा, मायके से पति के साथ लौटते समय हुआ हादसा


अंबिकापुर। एक महिला अपने मायके से पति के साथ शनिवार की शाम घर लौट रही थी। गोद में उसने अपने दूधमुंहे बेटे को पकड़ा था। रास्ते में तीनों बारिश के पानी से भरा नाला पार कर रहे थे। इसी बीच उसकी गोद से फिसलकर मासूम बेटा नाले में गिर गया। पानी का बहाव इतना तेज था कि पल भर में मासूम उनकी आंखों से ओझल हो गया।


माता-पिता मासूम बेटे को ढूंढने गुहार लगाते रहे लेकिन संभवत: उनका बेटा इस दुनिया से हमेशा के लिए दूर चला गया है। हालांकि घटना के 24 घंटे बाद भी उसका पता नहीं चल सका है, ऐसे में माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है।


सोच-समझ कर कार्य करें:वृश्चिक

राशिफल


वृषभ-ग्रह-नक्षत्र आपको आरंभिक संघर्ष के बाद सफलता दिलाएंगे। कोई नया आर्डर अथवा कॉन्ट्रेक्ट मिलने की संभावना है। शत्रु बलहीन रहेंगे। उन्नतिकारक दिन है, परिश्रम से अधिक सफलता मिलेगी। आय-सम्पत्ति में वृदधि के लिए शुभ दिन है।


मिथुन-बुद्धि और चतुराई का लाभ आपको जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में प्राप्त होगा। आज अपनी प्रतिभा का पूर्ण लाभ ले सकेंगे। नई योजनाओं पर काम कर सकते हैं, लाभ मिलेगा। मनोरंजन कार्य पर खर्च होगा। प्रेम प्रसंग में सफलता मिलेगी। पारिवारिक जीवन आनंदपूर्ण रहेगा। भक्ति भाव से मन ओत-प्रोत रहेगा। 


कर्क-आज वाणी और क्रोध पर नियंत्रण रखें। अनावश्यक वाद-विवाद से बचें। किसी कारण से मन बेचैन हो सकता है। स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। सुनी-सुनाई बातों पर विश्वास और अमल न करें। कुमारी कन्या की पूजा करना शुभ रहेगा। 
सिंह-आज आपके पराक्रम और उत्साह में वृद्धि होगी और आपका मनोबल बढ़ेगा। लंबे समय से अटका काम आज पूरा कर सकते हैं। सामाजिक क्षेत्र में मान-प्रतिष्ठा की वृद्धि होगी। पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा। धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। कुछ खरीदारी कर सकते हैं।


कन्या-किसी बात को लेकर आपका मन दुविधा में रहेगा। स्वास्थ्य कुछ नरम रह सकता है। लेन-देन के कार्यों में सावधान रहें। आज किसी को उधार न दें, क्योंकि आज दिए हुए धन को वापस आने की संभावना कम है।


तुला-आपकी राशि में ग्रहों का अच्छा संयोग बना है। आज प्रयास अथवा स्वयं कोशिश करने से प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी। मंदिर या धार्मिक स्थल की यात्रा कर सकते हैं। मनोरंजन कार्यों पर खर्च होगा। पारिवारिक जीवन में आपसी तालमेल बढ़ेगा। 
वृश्चिक-आज खर्च की अधिकता रहेगी। मन को संयमित रखें नहीं तो कुछ अनावश्यक खर्च भी हो सकता है। छोटी दूरी की यात्रा हो सकती है। सोच-समझकर ही कार्य-व्यवहार करें। ऑनलाइन खरीदारी करते समय बुद्धि और विवेक से काम लें। 


धनु-आज आपका मन प्रसन्न रहेगा। किसी प्रिय व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है। मंदिर या तीर्थस्थल की यात्रा कर सकते हैं। काम-काम में रुचि रहेगी। किसी करीबी व्यक्ति से मिलकर आनंदित होंगे। आर्थिक मामलों में दिन अनुकूल रहेगा।


मकर-आपके लिए आज का दिन उत्साहवर्धक है। आप ऑनलाइन खरीदारी कर सकते है। घर में सुख के साधन बढेंगे। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। आपकी रुचि का काम मिलने से आप प्रसन्न रहेंगे। किसी योजना पर काम शुरू कर सकते हैं।
कुंभ-आज धर्म-कर्म में आपकी रुचि रहेगी। दिन का आरंभ आध्यात्मिक चिंतन से हो सकता है। समाज में मान-प्रतिष्ठा की वृद्धि होगी। विरोधी परास्त होंगे और यात्रा लाभकारी रहेगी। कुल मिलाकर दिन मंगलकारी रहेगा।


मीन-आज आपको किसी प्रकार का जोखिम लेने से बचना चाहिए। महत्वपूर्ण कार्यों को ध्यान से करें, नहीं तो बाद में परेशानी होगी। यात्रा की योजना हो सके तो आज टाल दें और वाहन सावधानी से चलाएं। मां दुर्गा की पूजा करें और कवच का पाठ करें, यह आपके लिए शुभ रहेगा।


औद्योगिक विवाद का समाधान-निर्णय

इस अधिनियम के तहत औद्योगिक विवादों के समाधान और निर्णय के लिए एक सांविधिक तंत्र का गठन किया गया है। इसमें निम्‍नलिखित शामिल हैं।


अधिनियम में उपयुक्‍त सरकार द्वारा 'समझौता अधिकारियों' की नियुक्ति का प्रावधान, जिन्‍हें औद्योगिक विवादों के निपटारे में मध्‍यस्‍थता करने और उसका समर्थन करने का कार्य सौंपा गया है। उन्‍हें किसी विशेष क्षेत्र अथवा विशेष क्षेत्र में विशेष उद्योगों अथवा एक अथवा एक से अधिक विशेष उद्योगों के लिए स्‍थायी तौर पर अथवा सीमित अवधि के लिए नियुक्‍त किया जाएगा। कर्मचारियों और नियोजकों को मिलाना तथा उनके मतभेदों का निवारण करने में उनकी मदद करना इन अधिकारियों का कर्त्तव्‍य है। यदि विवाद का निपटारा हो जाता है तो वह इस आशय की सूचना उपयुक्‍त सरकार को देगा।उपयुक्‍त सरकार अवसर आने पर एक समझौता बोर्ड का गठन करेगी जिसमें एक अध्‍यक्ष और दो या चार जैसा कि उपयुक्‍त सरकार उचित समझेगी, अन्‍य सदस्‍य शामिल होंगे। अध्‍यक्ष एक स्‍वतंत्र व्‍यक्ति होगा और अन्‍य सदस्‍य विवाद में पक्षों का प्रतिनिधित्‍व करने के लिए एक समान संख्‍या में नियुक्‍त किए गए व्‍यक्ति होंगे। जहां विवाद बोर्ड को भेजा गया हो तो बोर्ड बिना विलम्‍ब किए, विवाद की छानबीन करेगा और ऐसी हर कार्रवाई करेगा जो वह पक्षकारों को विवाद का न्‍यायसंगत और शांतिपूर्ण निपटारा करने के लिए प्रेरित करने के प्रयोजन से उचित समझेगा।उपयुक्‍त सरकार अवसर आने पर ऐसी किसी मामले जो औद्योगिक विवाद से संबंधित अथवा संगत प्रतीत हो, की जांच पड़ताल करने के लिए 'जांच न्‍यायालय' का भी गठन करेगी। तत्‍पश्‍चात यह सामान्‍यतया शुरू होने के छह माह की अवधि के अंदर इसकी सूचना सरकार को देगा इस न्‍यायालय में एक स्‍वतंत्र व्‍यक्ति अथवा उतने स्‍वतंत्र व्‍यक्ति होंगे जितने उपयुक्‍त सरकार उचित समझेगी और जहां इसमें दो अथवा दो से अधिक सदस्‍य निहित होंगे उनमें से एक की नियुक्ति अध्‍यक्ष के रूप में की जाएगी।उपयुक्‍त सरकार एक अथवा एक से अधिक 'श्रम न्‍यायालयों' का गठन करेगी जो दूसरी अनुसूची में विनिर्दिष्‍ट किसी मामले से संबंधित औद्योगिक विवादों जैसे कि स्‍थायी आदेशों, कर्मचारियों की सेवा मुक्‍त अथवा बर्खास्‍त करने, गैर कानूनी रूप से अथवा अन्‍यथा की गई हड़ताल अथवा तालाबंदी, प्राप्‍त हो रहे किसी लाभ को वापस लेने, आदि से संबंधित मुद्दों पर निर्णय लेंगे और उन्‍हें इस अधिनियम के तहत सौंपे गए किन्‍हीं अन्‍य कार्यों का निर्वहन करेंगे। श्रम न्‍यायालय में केवल एक व्‍यक्ति शामिल होगा जिसकी नियुक्ति उपयुक्‍त सरकार द्वारा की जाएगी।उपयुक्त सरकार एक अथवा एक से अधिक 'औद्योगिक अधिकरणों' का गठन करेगी जो किसी भी मामले के संबंध में चाहे वह दूसरी अनुसूची में विनिर्दिष्‍ट हो अथवा तीसरी अनुसूची में, हुए औद्योगिक वि‍वादों पर निर्णय लेंगे और इस अधिनियम के तहत उन्‍हें सौंपे गए किन्‍हीं अन्‍य कार्यों का निर्वहन करेंगे। इस अधिकरण में केवल एक ही व्‍यक्ति शामिल होगा जिसकी नियुक्ति उपयुक्‍त सरकार द्वारा की जाएगी। तीसरी अनुसूची में वेतन, बोनस, भत्ते और कुछ अन्‍य लाभ, कार्य की दशाएं, अनुशासन, यौक्तिकीकरण, छंटनी और प्रतिष्‍ठान की समाप्ति जैसे मामले शामिल हैं।


केन्‍द्र सरकार सरकारी राजपत्र में अधिसूचना द्वारा एक अथवा एक से अधिक राष्‍ट्रीय औद्योगिक अधिकरणों का गठन करेगी जो उन औद्योगिक विवादों पर निर्णय लेंगे जो केन्‍द्र सरकार की राय में राष्‍ट्रीय महत्‍व के प्रश्‍नों से संबंधित हों अथवा इस किस्‍म के हों कि उनसे एक से अधिक राज्‍यों में स्थित औद्योगिक प्रतिष्‍ठानों का हित जुड़ा हो अथवा वे ऐसे विवादों से प्रभावित हो सकते हों। ऐसे अधिकरण में केवल एक व्‍यक्ति शामिल होगा जिसकी नियुक्ति केन्‍द्र सरकार द्वारा की जाएगी।


अधिनियम में नियोक्‍ता के लिए यह अनिवार्य है कि वह किसी ऐसे औद्योगिक प्रतिष्‍ठान में जहां पिछले बारह महीनों में पचास अथवा इससे अधिक कर्मचारियों को नियुक्‍त किया गया है, एक 'शिकायत निपटान प्राधिकरण (जीएसए)' की स्‍थापना करें। उस प्रतिष्‍ठान में नियुक्‍त हर कर्मचारी के औद्योगिक विवादों को निपटाना उस प्राधिकरण की जिम्‍मेदारी होगी।


कागभूषडं-लोमस क्रियाकलाप

गतांक से...
 तो देखो विचार यह चल रहा है कि आज हम अग्नि का आधान करना चाहते हैं। अपने में अग्नि को धारण करना चाहते हैं। वह जो ज्ञान रूपी अग्नि है वही तो मानव का कल्याण करने वाली है। क्योंकि ज्ञान ही संसार में मानवीय तत्व पर निहित रहता है। वही अग्नि है जो ब्रह्मा अग्नि बन करके देखो धौ लोक में प्रवेश करती है। अंतरिक्ष में रत रहने वाली है। मानव जैसे शब्दों का उच्चारण करता है शब्द के साथ में चित्र, चित्रों के साथ में उसका क्रियाकलाप अंतरिक्ष में विद्यमान रहता है। विचार यह देने जा रहा था कि इस अग्नि का आधान करते हुए कागभूषडं जी और लोमस मुनि महाराज दोनों अपने विद्यालय में अध्ययन करते रहे। इसी अग्नि को लेकर के महाराजा संपाती और दोनों विधाता, गरुड़ जी उनकी दोनों कृतियों में वह भी अनुसंधान करते थे। समुद्र के तट पर उनका सुख संसार राज्‍य था जो राजाराम ने उनके राष्ट्र को विजय कर लिया था। काग भूषडं जी तो देखो ऋषि लोमस के आश्रम में प्रवेश कर गए थे और संपाती समुद्र के तट पर काग भूषडं जी के पिता जो कहलाते थे। शंभूक ऋषि महाराज वह उनके आश्रम में चले गए थे। उनकी प्रतिक्रिया उनका राष्ट्र समाप्त हो गया था। परंतु वैज्ञानिक थे अपने में अनुसंधान करते रहते थे। विचार-विनिमय करते रहते थे आज तुम्हें मैं साहित्यिक चर्चा प्रकट करने नही आया हू।विचार देने आया हूं कि प्रत्येक मानव को प्राण को जानना है। प्रत्येक प्राणी परमपिता परमात्मा के राष्ट्र मे मानव शिशु के रूप में रहना चाहता है। चाहे कोई धीराज हो, राजा हो, ज्ञानी को, योगी हो, प्राण सूत्र में रमण करने वाला हो । परंतु देखो माता की लोरीयो का जब पान करने  लगता है। लोरियों का पान करने वाला शिशु कहलाता है। मेरे को ज्ञान है जब उसके अंतिम छोर पर जाता है तो वैज्ञानिक हो, चाहे किसी भी प्रकार का अध्यात्मिक विज्ञानवेता हो, चाहे भौतिक विज्ञानवेता हो, वह मोन हो जाता है और जहां मोन हुआ। वहीं शिशु बन जाता है जैसे बालक माता की लोरीयो का पान करके शिशु बना हुआ है। वह रहता है लोरीयो के आनंद को प्रकट नहीं कर सकता। इसी प्रकार बेटा प्रभु के गर्भ में प्रभु के ज्ञान और विज्ञान को जानता हुआ। उसका वर्णन साकार रूप में नहीं कर सकता। इसी प्रकार शिशु बना हुआ है मैंने चर्चा की है योगाभ्यास करते हुए अध्यात्मिक बाद में प्रवेश करते हुए भौतिक विज्ञान में प्रवेश करते हुए। परमाणु वाद को जानते हुए उन्होंने यही कहा मैं शिशु बना हुआ हूं। मैं बालक हूं प्रभु के राष्ट्र में कोई बलवती नहीं है। कोई मानव विशाल नहीं है। प्रभु के ज्ञान और विज्ञान में प्रत्येक प्राणी शिशु के रूप में ही रहता है। क्योंकि प्रभु का ज्ञान और विज्ञान इतना नितांत है, इतना महान है। कि अंत में प्राणी मोन हो जाता है और वह अपने में कोई वाक्‍य  वर्णन नहीं कर सकता। बेटा आज का वाक्य यह है आज के वाक्य उच्चारण करने का अभिप्राय हमारा यह है कि हम परमपिता परमात्मा की आराधना करते हुए। देव की महिमा का गुणगान गाते हुए इस संसार सागर से पार होने का प्रयास करें। अब हमारा वाक्य समाप्त होने जा रहा है। यदि समय मिलेगा तो कल चर्चा करेंगे। अब वेद मंत्रों का पठन-पाठन होगा।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 01, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-58 (साल-01)
2. मंगलवार, 01अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,शुक्‍लपक्ष,तिथि -तीज, विक्रमी संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 6:14,सूर्यास्त 6:10
5. न्‍यूनतम तापमान -24 डी.सै.,अधिकतम-32+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी।
6. समाचार पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है! सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


यूपी: पदाधिकारियों द्वारा एक बैठक आयोजित की

हरिओम उपाध्याय              गदरपुर। तीन काले कृषि कानूनों को समाप्त करवाये जाने की मांग को लेकर 27 सितंबर को प्रस्तावित भारत बंद को समर्थन द...