बुधवार, 5 अप्रैल 2023

'जेपीसी' गठित किए जाने की मांग, सदस्यों का हंगामा 

'जेपीसी' गठित किए जाने की मांग, सदस्यों का हंगामा 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। संसद में कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने अडाणी समूह से जुड़े मामलें की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) गठित किए जाने की मांग करते हुए बुधवार को भी हंगामा किया। जिसके कारण दोनों सदनों में गतिरोध जारी रहा। हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दोपहर दो बजकर पांच मिनट पर जबकि राज्यसभा एक बार के स्थगन के बाद अपराह्न दो बजकर 18 मिनट पर पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई। दोनों ही सदनों में शून्यकाल एवं प्रश्नकाल हंगामे की भेंट चढ़ गए। बजट सत्र के 13 मार्च से शुरू हुए दूसरे चरण में दोनों सदनों में लगातार गतिरोध बना हुआ है।

लोकसभा की कार्यवाही आज पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होते ही कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्य जेपीसी की मांग को लेकर नारेबाजी करने लगे और आसन के निकट पहुंच गए। उन्होंने काले कपड़े पहन रखे थे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी को 23 मार्च को लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए जाने के बाद से कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्य विरोध स्वरूप काले कपड़े पहनकर संसद पहुंच रहे हैं। विपक्षी सदस्यों ने हाथों में तख्तियां ले रखी थीं और उन्होंने ‘वी वांट जेपीसी’ के नारे लगाए। पीठासीन सभापति राजेंद्र अग्रवाल ने सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और सदन की कार्यवाही चलने देने की अपील की।

हंगामा नहीं थमने पर उन्होंने 11 बजकर एक मिनट पर ही सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सदन की बैठक अपराह्न दो बजे आरंभ हुई तो स्थिति ज्यों की त्यों बनी रही। विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के निकट पहुंच गए। विपक्षी सदस्यों के शोर-शराबे के बीच ही, पीठासीन सभापति रमा देवी ने आवश्यक कागजात सदन के पटल पर रखवाए। हंगामे के बीच ही केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने ‘तटीय जलकृषि प्राधिकरण (संशोधन) विधेयक, 2023’ को सदन में पेश किया। रमा देवी ने विपक्षी सदस्यों से शांत होने और सदन चलने देने की अपील की। हंगामा नहीं थमने पर उन्होंने अपराह्न दो बजकर पांच मिनट पर कार्यवाही बृहस्पतिवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

उधर, राज्यसभा की सुबह बैठक शुरू होने पर सभापति जगदीप धनखड़ ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाना शुरू किया। इसी बीच विपक्षी सदस्यों ने अडाणी समूह से जुड़े मुद्दों की जांच के लिए जेपीसी गठित करने की मांग को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी। सभापति ने बताया कि उन्हें नियम 267 के तहत नोटिस मिले हैं। इसी बीच, विपक्ष के कुछ सदस्य आसन के निकट आकर नारेबाजी करने लगे।आम आदमी पार्टी (आप) के संजय सिंह ने अडाणी मुद्दे पर जेपीसी गठित करने की मांग की। सभापति ने उन्हें अपनी सीट पर लौटने को कहा लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो उन्होंने कार्रवाई की चेतावनी दी। हंगामा थमता नहीं देख सभापति ने सदन की कार्यवाही शुरू होने के करीब चार मिनट के भीतर ही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी। दोपहर दो बजे बैठक फिर शुरू होने पर सदन में वही नजारा देखने को मिला।

सभापति धनखड़ ने सदस्यों को सदन में शांति बनाये रखने को कहा ताकि वह नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खरगे द्वारा 13 मार्च को उठाये गये व्यवस्था के एक प्रश्न पर अपनी व्यवस्था दे सकें। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने एक महत्वपूर्ण मुद्दा उठाया है जिस पर व्यवस्था सुनाने के लिए सदन में सामान्य स्थिति बहाल होनी चाहिए। हंगामे के बीच ही सभापति ने नेता प्रतिपक्ष खरगे को अपनी बात रखने का अवसर दिया।

खरगे ने कहा कि उन्होंने नियम 267 के तहत अपनी बात रखने का प्रयास किया किंतु सरकार उन पर कोई ध्यान नहीं दे रही हैं। उन्होंने मांग की कि अडाणी समूह से जुड़े मामले में संयुक्त जांच समिति गठित की जाए। सदन के नेता पीयूष गोयल ने उनकी बात का विरोध करते हुए दावा किया कि खरगे ऐसी बात कर रहे हैं जिसका सदन से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस के एक नेता ने देश, सदन और आसन का अपमान किया है।

गोयल ने राहुल गांधी का नाम लिये बिना कहा कि देश, लोकतंत्र और न्यायपालिका को बदनाम करने के लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। इसके बाद सभापति धनखड़ ने हंगामे के बीच ही अपनी व्यवस्था दी जिसमें उन्होंने खरगे द्वारा उठाये गये व्यवस्था के प्रश्न को खारिज कर दिया। व्यवस्था के प्रश्न के तहत खरगे ने आसन से राज्यसभा की कार्यवाही में से सदन के नेता गोयल के वक्तव्य के उन अंशों को हटाने की मांग की थी जिसमें राहुल गांधी का नाम लिये बिना उनसे माफी मांगने को कहा गया था। खरगे ने कहा था कि गांधी चूंकि अन्य सदन के नेता हैं, इसलिए उनका परोक्ष रूप से भी उल्लेख नहीं हो सकता है। धनखड़ ने अपनी व्यवस्था में कहा कि सदन के नेता पीयूष गोयल ने अपने वक्तव्य में किसी का भी नाम नहीं लिया था, अत: खरगे की आपत्ति निराधार है। सभापति द्वारा व्यवस्था सुनाये जाने के बाद सदन में हंगामा फिर तेज हो गया।

हंगामा थमते नहीं देख उन्होंने बैठक को दोपहर दो बजकर 18 मिनट पर पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया। दोनों सदनों में बजट सत्र के दूसरे चरण में अडाणी समूह से जुड़े मामले में जेपीसी गठित करने की मांग पर विपक्ष के हंगामे के कारण कार्यवाही लगातार बाधित रही है। संसद में इस दौरान जम्मू कश्मीर का बजट, वित्त विधेयक 2023 और प्रतिस्पर्धा संशोधन विधेयक को बिना चर्चा के ध्वनिमत से पारित किया गया। बजट सत्र का पहला चरण 31 जनवरी को राष्ट्रपति के अभिभाषण से शुरू हुआ था। बजट सत्र का दूसरा चरण कल यानी छह अप्रैल तक निर्धारित है।

भारत के 3 प्रमुख राज्यों का दौरा करेंगे 'पीएम' 

भारत के 3 प्रमुख राज्यों का दौरा करेंगे 'पीएम' 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आठ से नौ अप्रैल के बीच चुनावी राज्य कर्नाटक सहित दक्षिण भारत के तीन प्रमुख राज्यों का दौरा करेंगे। इस दौरान वह तेलंगाना में 11,300 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे, तमिलनाडु में कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और कर्नाटक में कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में यह जानकारी दी। पीएमओ के मुताबिक, प्रधानमंत्री आठ अप्रैल को सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन से सिकंदराबाद-तिरुपति वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे और इसके बाद हैदराबाद के परेड ग्राउंड में एक सार्वजनिक समारोह में भाग लेंगे।

इस समारोह में वह बीबीनगर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखेंगे। वह पांच राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं और सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास की आधारशिला रखेंगे और रेलवे से संबंधित अन्य विकास परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।पीएमओ ने कहा कि इसी दिन प्रधानमंत्री अपराह्न करीब तीन बजे चेन्नई हवाई अड्डे पहुंचेंगे और वहां नए एकीकृत टर्मिनल भवन का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद वह एमजीआर चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर चेन्नई-कोयंबटूर वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाएंगे। पीएमओ ने कहा कि वह कार्यक्रम के दौरान अन्य रेल परियोजनाओं का उद्घाटन और हरी झंडी भी दिखाएंगे।

प्रधानमंत्री चेन्नई में श्री रामकृष्ण मठ की 125 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह में भाग लेंगे और चेन्नई के अलस्ट्रॉम क्रिकेट ग्राउंड में एक सार्वजनिक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। इस दौरान वह कुछ सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और कुछ की आधारशिला रखेंगे। पीएमओ के मुताबिक, अगले दिन नौ अप्रैल को प्रधानमंत्री कर्नाटक में कई कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। वह सुबह लगभग सवा सात बजे बांदीपुर बाघ अभयारण्य का दौरा करेंगे। वह मुदुमलाई बाघ अभयारण्य में थेप्पाकाडु हाथी शिविर का भी दौरा करेंगे। इस दौरान वह कर्मचारियों से संवाद भी करेंगे।

प्रधानमंत्री 'प्रोजेक्ट टाइगर के 50 वर्ष पूरे होने' पर आयोजित कार्यक्रम का भी उद्घाटन करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान वह प्रकाशन 'बाघ संरक्षण के लिए अमृत काल का विजन', बाघ अभयारण्यों के प्रबंधन के पांचवें चक्र की सारांश रिपोर्ट जारी करेंगे, बाघों की संख्या घोषित करेंगे और अखिल भारतीय बाघ अनुमान (पांचवें चक्र) की सारांश रिपोर्ट जारी करेंगे। प्रोजेक्ट टाइगर के 50 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री एक स्मारक सिक्का भी जारी करेंगे। 

किसी के मामा या किसान नहीं हो सकतें कमलनाथ

किसी के मामा या किसान नहीं हो सकतें कमलनाथ

मनोज सिंह ठाकुर 

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे किसी के मामा या किसान हो ही नहीं सकतें और जनप्रतिनिधियों की हैसियत तो संविधान ने भी बताई है। चौहान ने संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा कि उन्हें कमलनाथ पर तरस आता है, कई बार लगता है उनकी उम्र अब हावी हो रही है। अब कमलनाथ कह रहे हैं कि विधायकों की कोई जरूरत नहीं है। लोकतंत्र में चुने हुए जनप्रतिनिधि की हैसियत भी संविधान में बताई गई है, और कांग्रेस भी जानती है कि मुख्यमंत्री विधायक ही चुनते हैं। उन्होंने कमलनाथ के संदर्भ में कहा कि वे शायद पहले भी कहते थे कि उन्हें जरूरत नहीं, तो लोग कांग्रेस से निकल कर आ गए अब फिर अभी से कह रहे हैं कि उन्हें किसी की जरूरत नहीं है।

वे अपने आप को भावी मुख्यमंत्री, अवश्यंभावी सीएम कहलवाते हैं और ये भी कहते हैं कि विधायकों की जरूरत ही नहीं है। अब कांग्रेस का भगवान ही मालिक है। यह उनका अहंकार भी है। मुख्यमंत्री ने इसी संदर्भ में कहा कि कल शायद  कमलनाथ ने कहा कि न वे चाय बेचने वाले हैं और न ही मामा हैं। उन्होंने कहा कि मामा तो तुम हो ही नहीं सकते, मामा तो वह होता है, जिसके दिल में बहनों और बेटियों के लिए इज्जत होती है। किसान हो नहीं सकते, क्योंकि किसानों के वादे कभी पूरे नहीं किए, कर्जमाफी का वादा करके मुकर गए। माटी की सौंधी सुगंध वे जानते नहीं। चाय वाला तो कोई गरीब ही हो सकता है।

सोने की चम्मच मुंह में लेकर पैदा होकर कॉरपोरेट राजनीति करने वाले और मौका मिलते ही पूरे प्रदेश को लूटने वाले कैसे चाय वाला हो सकता है। मुख्यमंत्री चौहान समूचे प्रदेश में 'मामा' के संबोधन से पहचाने जाते हैं। विरोधी अक्सर चौहान को निशाने पर लेने के लिए इसी संबोधन का इस्तेमाल करते हैं। 

'मसौदा राष्ट्रीय डेटा संचालन' नीति पर विचार-विमर्श पूरा

'मसौदा राष्ट्रीय डेटा संचालन' नीति पर विचार-विमर्श पूरा

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकार ने बुधवार को लोकसभा को बताया कि इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) ने मसौदा राष्ट्रीय डेटा संचालन नीति पर सार्वजनिक विचार-विमर्श पूरा कर लिया है। जिसका मकसद उभरती हुई प्रौद्योगिकी जरूरतों के अनुरूप डेटा की पहुंच, गुणवत्ता और उपयोग को बढ़ाना है। लोकसभा में श्याम सिंह यादव के प्रश्न के लिखित उत्तर में इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह जानकारी दी। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि प्रस्तावित राष्ट्रीय डेटा संचालन नीति का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि सरकारी और निजी क्षेत्रों की संस्थाओं के गैर व्यक्तिगत और अज्ञात डेटा नवाचार और अनुसंधान को बढ़ावा देने के मकसद से शिक्षाविदों और स्टार्टअप को सुरक्षित रूप से सुलभ होने चाहिए।

वैष्णव ने बताया कि यह डेटा पहुंच और उपयोग को नियंत्रित करने, अंतर-सरकारी डेटा पहुंच को सुव्यवस्थित करने, डेटा की गुणवत्ता और मेटा डेटा मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करने एवं गुमनाम दिशानिर्देश तैयार करने के लिए एक संस्थागत ढांचा प्रदान करता है। उन्होंने बताया कि डेटा किसी भी कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) आधारित प्रणाली के लिए एक महत्वपूर्ण इनपुट होता है, जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने एक ओपन गवर्नमेंट डेटा प्लेटफार्म विकसित किया है।

वर्तमान में विभिन्न केंद्रीय और राज्य विभागों के 6,01,059 डेटा संसाधन इस प्लेटफार्म पर उपलब्ध हैं। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि भारत कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर वैश्विक गठजोड़ (जीपीएआई) का संस्थापक सदस्य है जो 15 जून 2020 को इस पहल में शामिल हुआ था। मंत्री ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) ने मसौदा राष्ट्रीय डेटा संचालन नीति पर सार्वजनिक विचार-विमर्श पूरा कर लिया है। जिसका मकसद उभरती हुई प्रौद्योगिकी जरूरतों के अनुरूप डेटा की पहुंच, गुणवत्ता और उपयोग को बढ़ाना है।

'वंदे भारत एक्सप्रेस' ट्रेन का विशेष लघु मॉडल प्रदर्शित 

'वंदे भारत एक्सप्रेस' ट्रेन का विशेष लघु मॉडल प्रदर्शित 

कविता गर्ग 

मुंबई/पुणे। महाराष्ट्र में पुणे स्थित ‘जोशीज़ म्यूजियम ऑफ मिनिएचर रेलवे’ में 'वंदे भारत एक्सप्रेस' ट्रेन का एक विशेष लघु मॉडल प्रदर्शित किया गया है। यह मॉडल ट्रेन के बारे में लोगों को जानकारी उपलब्ध कराता है। पुणे के अभिभावक मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने संग्रहालय की स्थापना के 25 साल पूरे होने के मौके पर मंगलवार को संग्रहालय में ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ मॉडल का अनावरण किया।

वर्तमान में संग्रहालय का संचालन करने वाले रवि जोशी ने कहा कि उन्होंने भारतीय रेलवे के वास्तविक चित्रों के आधार पर मॉडल बनाया है। उन्होंने कहा, “ इस स्थिर मॉडल का डिजाइन तैयार करने के दौरान सभी विवरण पर ध्यान दिया गया। ” जोशी के बेटे देवव्रत ने बताया कि 'वंदे भारत' का स्थिर मॉडल तैयार करने में उन्हें तीन महीने लगे। वंदे भारत ट्रेन का संचालन देश में कई मार्गों पर हो रहा है।

पाटिल ने कहा, “ संग्रहालय में दुनिया भर से रेल से संबंधित आकृतियों को प्रदर्शित किया गया है, जो आगंतुकों को काफी ज्ञान प्रदान करता है। 'वंदे भारत' मॉडल का अनावरण विशेष महत्व रखता है क्योंकि भविष्य अब इसी का है।” यह संग्रहालय एक अप्रैल 1998 में शुरु हुआ था।

20 मई से रोजाना एक नई उड़ान शुरू होगी: एयरलाइंस

20 मई से रोजाना एक नई उड़ान शुरू होगी: एयरलाइंस

अकांशु उपाध्याय/कविता गर्ग/अखिलेश पांडेय 

नई दिल्ली/मुंबई/हनोई। वियतनाम एयरलाइंस 20 मई से भारत के वित्तीय केंद्र मुंबई को वियतनाम से जोड़ने वाली रोजाना एक नई उड़ान शुरू करने जा रही है। वियतनाम एयरलाइंस प्रति सप्ताह सात उड़ानों की आवृत्ति के साथ सेवा शुरू करने जा रही है। एयरलाइन मुंबई-हनोई मार्ग पर प्रति सप्ताह 04 उड़ानें, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार और रविवार को और मुंबई-हो ची मिन्ह मार्ग पर प्रति सप्ताह 03 उड़ानें सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को संचालित करेगी।

इस अवसर पर, वियतनाम एयरलाइंस ने वियतनाम और भारत के बीच बिना रुके सेवा के लिए विशेष किराये की घोषणा की है। वियतनाम एयरलाइंस के टिकट कार्यालयों और एजेंटों से टिकट खरीदने वाले ग्राहकों के लिए टैक्स और शुल्क सहित आने-जाने का टिकट 22,972 रुपये से शुरू होगा। ऑफ़र इस साल 28 मई तक खरीदे गए और इसी तिथि को यात्रा करने वाले टिकटों पर नियमों और शर्तों के साथ लागू होगा। वियतनाम एयरलाइंस का नया मार्ग दोनों देशों के बीच व्यापार, सांस्कृतिक, सामाजिक और पर्यटन संबंधों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण योगदान देगा।

मुंबई महाराष्ट्र की राजधानी है और नई दिल्ली के बाद भारत में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। मुंबई को भारत की वित्तीय, वाणिज्यिक और मनोरंजन राजधानी माना जाता है। इसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल - छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, गेटवे ऑफ इंडिया, एशियाटिक सोसाइटी जैसे कई आकर्षणों के साथ सपनों का शहर भी कहा जाता है।

संजय को गिरफ्तार करने के कारण, डीजीपी से पूछताछ 

संजय को गिरफ्तार करने के कारण, डीजीपी से पूछताछ 

इकबाल अंसारी 

हैदराबाद। केन्द्रीय पर्यटक मंत्री जी. किशन रेड्डी ने बुधवार को तेलंगाना के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) अंजनी कुमार को फोन कर करीमनगर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष बंदी संजय कुमार को गिरफ्तार करने के कारणों के बारे में पूछताछ की। केंद्रीय मंत्री ने डीजीपी से यह भी पूछा कि उन्होंने संजय को बिना कारण बताये आधी रात को क्यों गिरफ्तार किया ?

उनके सवाल पर डीजीपी ने जवाब दिया कि गिरफ्तारी के विवरण का खुलासा कुछ समय बाद किया जाएगा। रेड्डी ने अपने बयान में कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि तमाम हंगामे के बावजूद, डीजीपी को भी नहीं पता कि किस मामले में संजय को गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि तेलंगाना में पुलिस तंत्र किस तरह काम कर रहा है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि पुलिस को मुख्यमंत्री केसीआर के परिवार के गुलाम की तरह काम नहीं करना चाहिए।

कार्यक्रम: समस्तीपुर जिले ने प्रथम स्थान प्राप्त किया 

कार्यक्रम: समस्तीपुर जिले ने प्रथम स्थान प्राप्त किया 

अविनाश श्रीवास्तव 

पटना/समस्तीपुर। भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय एवं पेयजल और स्वच्छता विभाग द्वारा कराए गए जल जीवन कार्यक्रम के सर्वेक्षण के बाद जारी की गई जनवरी 2023 की राष्ट्रीय रैंकिंग में बिहार के समस्तीपुर जिले ने पूरे देश मे प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इस कार्य की सफलता के लिए जल शक्ति मंत्रालय ने समस्तीपुर के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह को एक पत्र भेज कर उन्हें बधाई दी है।

जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने इस सफलता के लिए अपनी पूरी टीम के प्रति आभार जताते हुए कहा कि उनकी प्राथमिकता समस्तीपुर जिले को विकास के मानचित्र पर अव्वल बनाना है। उल्लेखनीय है कि मंत्रालय द्वारा देश स्तर पर ग्रामीण परिवारों के घरों मे नल के जल की उपलब्धता, जल की गुणवत्ता, जल की मात्रा और पेयजल से सम्बंधित शिकायतों का निष्पादन करने समेत अन्य विन्दुओं पर सवेँक्षण कराया गया था, जिसमे समस्तीपुर जिला जनवरी माह में पूरे देश मे अव्वल रहा।

21 अक्टूबर 2022 को उपराष्ट्रपति द्वारा जल जीवन सर्वेक्षण- 2023 कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया था। जिला स्तर पर जल जीवन सर्वेक्षण का यह कार्य मुख्य रूप से लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग एवं पंचायती राज विभाग के द्वारा संयुक्त रूप से किया किया जा रहा है। 

सुरक्षा संबंधी मंजूरी देने से केंद्र का इनकार, खारिज 

सुरक्षा संबंधी मंजूरी देने से केंद्र का इनकार, खारिज 

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मलयालम समाचार चैनल मीडिया वन को सुरक्षा संबंधी मंजूरी देने से केंद्र के इनकार को बुधवार को खारिज कर दिया और बिना तथ्यों के ‘‘हवा में’’ राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी दावे करने को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय पर अप्रसन्नता जाहिर की। प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली पीठ ने मीडियावन के प्रसारण पर सुरक्षा आधार पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फैसले को बरकरार रखने संबंधी केरल उच्च न्यायालय के आदेश को रद्द कर दिया।

शीर्ष अदालत ने कहा कि सरकार की नीतियों के खिलाफ मीडियावन चैनल के आलोचनात्मक विचारों को सत्ता-विरोधी नहीं कहा जा सकता क्योंकि मजबूत लोकतंत्र के लिए स्वतंत्र प्रेस आवश्यक है। पीठ ने कहा, राष्ट्रीय सुरक्षा के दावे हवा में नहीं किए जा सकते। इन्हें साबित करने के लिए ठोस तथ्य होने चाहिए। केरल उच्च न्यायालय ने चैनल के प्रसारण पर सुरक्षा आधार पर रोक लगाने के केंद्र के फैसले को बरकरार रखा था। समाचार चैनल ने केरल उच्च न्यायालय के इस आदेश के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की थी।

भारत: कोरोना संक्रमितों की संख्या-4,47,33,719 हुई

भारत: कोरोना संक्रमितों की संख्या-4,47,33,719 हुई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,435 नए मामले आने के बाद देश में अभी तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 4,47,33,719 हो गई है। पिछले 163 दिन में सामने आए ये सर्वाधिक दैनिक मामले हैं। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 23,091 पर पहुंच गई है। देश में पिछले साल 25 सितंबर को कोविड के 4,777 दैनिक मामले सामने आए थे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से महाराष्ट्र में चार और छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, पुडुचेरी तथा राजस्थान में एक-एक मरीज की मौत के बाद देश में मृतक संख्या बढ़कर 5,30,916 हो गई।

वहीं, संक्रमण से मौत के आंकड़ों का पुन:मिलान करते हुए केरल ने वैश्विक महामारी से जान गंवाने वाले मरीजों की सूची में चार नाम और जोड़े हैं। अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक, देश में अभी 23,091 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.05 प्रतिशत है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.76 प्रतिशत है। देश में संक्रमण की दैनिक दर 3.38 प्रतिशत और साप्ताहिक दर 2.79 प्रतिशत है।

अभी तक कुल 4,41,79,712 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, जबकि कोविड-19 से मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है। स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, भारत में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 220.66 करोड़ खुराक लगाई जा चुकी हैं।गौरतलब है कि भारत में सात अगस्त 2020 को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी। संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे।

देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ से अधिक हो गए थे। चार मई 2021 को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी। पिछले साल 25 जनवरी को संक्रमण के कुल मामले चार करोड़ के पार चले गए थे। 

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-174, (वर्ष-06)

2. बृहस्पतिवार, अप्रैल 6, 2023

3. शक-1944, चैत्र, शुक्ल-पक्ष, तिथि-पूर्णिमा, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 06:40, सूर्यास्त: 06:23। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 19 डी.सै., अधिकतम- 24+ डी.सै.।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू

विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र शुरू  पंकज कपूर  देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का पांच दिवसीय बजट सत्र राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गय...