मंगलवार, 7 जनवरी 2020

सारा अली खान की तस्वीरो ने मचाया बवाल

मुंबई। सारा अली खान इन दिनों मालदीव में छुट्टियां बिता रही हैं और उनकी तस्वीरें और विडियो सोशल मीडिया में धमाल मचा रखा है। बीते कई दिनों से सारा की रंगबिरंगी बिकीनी में तस्वीरें सोशल मीडिया भरमार है। अब सारा का एक विडियो सामने आया है जिसमें वह सफेद बिकीनी में स्वीमिंग करती दिख रही है। वाइट बिकीनी में स्वीमिंग करतीं सारा बिल्कुल जलपरी जैसी दिख रही हैं।


आग ने ली एक ही परिवार के तीन की जान

आग की वजह से एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत


सुनील शर्मा 


गाजियाबाद। गाजियाबाद के प्रताप विहार केला खेड़ा के नजदीक 10 मंजिला जीडीए द्वारा बनाए गए फ्लैट में जीडीए के कर्मचारी बच्चू सिंह उम्र 50 वर्ष रानी 47 वर्ष नारायण सिंह 35 वर्ष निवासी बांदा उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे जो यहां 5 महीने से रह रहे थे अचानक से लगी आग में अफरातफरी का माहौल रहा मौके पर पुलिस प्रशासन वह आला अधिकारी पहुंचे दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाया और जब तक लोग वहां पहुंचे वहां तीनों पति पत्नी और उसका भाई मृत अवस्था में पड़े थे जांच में अभी तक शॉर्ट सर्किट का ही मामला प्रकाश में आया है हालांकि मृतक के कमरे से कुछ शराब की बोतल भी मिली है और बिजली हीटर भी मिला है जिससे प्रतीत हो रहा है कि हो सकता है कि पहले तीनों मृतक करंट की चपेट में आए हो उसके बाद घर में आग लगी हो।
बाइट- एस पी सिटी गाजियाबाद
बाइट- पीड़िता की देवरानी


आमरण अनशन पर बैठी दुष्कर्म पीडिता

बांदा। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के अतर्रा थाना क्षेत्र में कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई एक महिला ने मंगलवार से अपने घर में ही अन्न-जल त्यागकर आमरण अनशन शुरू कर दिया है। कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म की शिकार 45 वर्षीय पीड़ित महिला का आरोप है कि दो दिसंबर की रात करीब साढ़े 11 बजे वह अपने खलिहान में फसल की रखवाली कर रही थी, तभी शराब के नशे में चार लोग आए और कथित रूप से उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म करने के बाद बेहोशी की हालत में उसे वहीं छोड़कर भाग गए। पीड़िता का आरोप है कि सुबह घटना की लिखित सूचना थाने में दी तो पुलिस ने उसकी तहरीर बदलकर सिर्फ मारपीट की धारा में एनसीआर दर्ज की है। बकौल पीड़िता, उसने कुछ दिन पूर्व पुलिस अधीक्षक से भेंटकर अपनी फरियाद सुनाई थी, जिसमें उन्होंने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया था, लेकिन अतर्रा पुलिस ने मुकदमा नहीं दर्ज किया और रुपये लेकर समझौते का दबाव बना रही है। पीड़ित महिला ने अपने घर में टांगे बैनर पर लिखा है कि उसने आज (मंगलवार) से अन्न-जल त्याग दिया है, उसकी मौत के जिम्मेदार पुलिस अधीक्षक बांदा और थानाध्यक्ष अतर्रा होंगे। इस मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) रामेंद्र तिवारी का कहना है कि यह घटना उनकी तैनाती से पूर्व की है। पीड़िता की तहरीर के मुताबिक तब मारपीट की धारा में एनसीआर दर्ज कर शांति भंग के आरोप में सीआरपीसी की धारा-151 के तहत उपजिला मजिस्ट्रेट अतर्रा के न्यायालय में आरोपियों का चालान किया जा चुका था। महिला अब सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगा रही है, जिसकी भी जांच चल रही है।


देश में दिल्ली के स्कूलो को प्रथम स्थान

नई दिल्ली। दिल्ली के एक सरकारी स्कूल को देश के सभी सरकारी स्कूलों में पहला स्थान मिला है, वहीं राष्ट्रीय राजधानी के दो अन्य स्कूल भी शीर्ष-10 में जगह बनाने में सफल हुए है। रैंकिंग को पिछले सप्ताह शिक्षा से जुड़े पोर्टल एजुकेशन वर्ल्ड ने ‘इंडियन स्कूल रैंकिंग 2019’ में जारी किया। दिल्ली के राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय (आरपीवीवी), सेक्टर 10, द्वारका को एजुकेशन वल्र्ड द्वारा जारी सूची में पहले स्थान पर रखा गया है। यह पोर्टल शिक्षकों और अभिभावकों के लिए शिक्षा से जुड़े क्षेत्र में काम करता है, जो हर साल स्कूलों के लिए राष्ट्रीय रैंकिंग जारी करता है।


इस वर्ष जारी की गई इस रैंकिंग में जहां आरपीवीवी लाजपत नगर पांचवें स्थान पर पहुंच गया, वहीं आरपीवीवी रोहिणी सातवें स्थान पर रहते हुए शीर्ष-10 में जगह बनाने में कामयाब रहा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इन स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाचार्यों को उनके प्रयासों के लिए बधाई दी। दिल्ली सरकार ने शिक्षा और सरकारी स्कूलों में सुधार को प्राथमिकता दी है।


तेहरान में अमेरिका के खिलाफ मतदान

तेहरान। अमेरिका के हमले में ईरान के शीर्ष मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद से ईरान में गुस्से का माहौल है। इस बीच ईरान की संसद ने पेंटागन (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) के सभी सदस्यों और सुलेमानी की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों को आतंकी ताकतें घोषित करने के समर्थन में मतदान किया है। तेहरान स्थित मेहर न्यूज एजेंसी ने एक रिपोर्ट में कहा है कि तिहरा-आवश्यक प्रस्ताव 23 अप्रैल, 2019 को पहले से पुष्टि किए गए विधेयक का एक संशोधन है, जिसने वाशिंगटन द्वारा ईरान के इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) को आतंकवादी संगठन ठहराए जाने के बाद इसके जवाब के तौर पर अमेरिकी सेंट्रल कमांड को भी आतंकी संगठन घोषित किया था। संसद के अध्यक्ष अली लारिजानी ने मंगलवार को खुले सत्र में कहा कि पिछले अमेरिका विरोधी कानून में अमेरिकी सेंट्रल कमांड को आतंकवादी संगठन के रूप में नामित किया गया था। “आज, जनरल सुलेमानी की हत्या के लिए अमेरिका के क्रूर कदम के बाद, जिसकी जिम्मेदारी अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा स्वीकार की गई है, हम पिछले कानून को संशोधित करते हैं। इसके साथ ही घोषणा करते हैं कि पेंटागन के सभी सदस्य, कमांडर, एजेंट और जो भी जनरल सुलेमानी की शहादत के लिए जिम्मेदार हैं, उन्हें आतंकवादी ताकत के रूप में माना जाएगा।” उन्होंने कहा कि संशोधित कानून अगले दो महीनों के लिए ईरान के राष्ट्रीय विकास कोष से आईआरजीसी को 22.3 करोड़ डॉलर की निकासी की अनुमति देता है। इसके बाद सांसदों ने संसद में अमेरिका विरोधी नारे लगाए। अमेरिका द्वारा तीन जनवरी को किए गए ड्रोन हमले में सुलेमानी, उनके दामाद और इराक के पॉपुलर मोबिलाइजेशन फ्रंट (पीएमएफ) के द्वितीय कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस मारे गए थे। इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपित डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर हुए इस हमले में आठ अन्य लोगों की भी मौत हो गई थी। इस हमले के बाद ईरान ने इसकी व्यापक निंदा की जा रही है। सुप्रीम लीडर खामेनी और राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमेरिका से बदला लेने की कसम खाई है।


जिंदल स्टील ने किया अधिक उत्पादन

नई दिल्ली। जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) ने चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में 16.1 लाख टन इस्पात का उत्पादन किया। यह किसी भी तिमाही में कंपनी का सर्वाधिक उत्पादन है। कंपनी ने मंगलवार को शेयर बाजार को बताया , जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही में किसी भी तिमाही की तुलना में सबसे ज्यादा इस्पात उत्पादन किया है। अक्टूबर – दिसंबर अवधि में जेएसपीएल की रायगढ़ और अंगुल परिचालन ने इस्पात उत्पादन में 8,17,344 टन और 7,92,822 टन का योगदान किया। जिंदल स्टील एंड पावर के प्रबंध निदेशक वी . आर . शर्मा ने कहा , कंपनी ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में मजबूत प्रदर्शन किया। बाजार स्थितियों के प्रतिकूल रहने के बावजूद जेएसपीएल ने यह नतीजे हासिल किए हैं।


आने वाले चैलेंज के लिए पूरी तरह से तैयार

नई दिल्ली। हाल ही में टेस्ट ओपनर की जिम्मेदारी संभालने वाले रोहित शर्मा मानते हैं कि न्यू जीलैंड का घातक फास्ट बोलिंग अटैक अपने घर में और भी ज्यादा कारगर साबित होता है क्योंकि वह अपनी योजनाओं को बखूबी अंजाम देते हैं। लेकिन इसके बावजूद रोहित मानते हैं कि वह आने वाले चैलेंज के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। टेस्ट में ओपनिंग की जिम्मेदारी संभालने के बाद अब तक एक दोहरे शतक समेत तीन शतक ठोक चुके रोहित इस बार न्यू जीलैंड जाकर नई लाल गेंद से नील वैगनर, मैट हैनरी, ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी के मिश्रण वाले पेस अटैक का सामना करेंगे। यहां भारतीय टीम को दो टेस्ट मैच खेलने हैं, जो फरवरी में वेलिंग्टन और क्राइस्टचर्च में खेले जाएंगे।
इस दौरे को लेकर रोहित ने चर्चा करते हुए बताया, क्रिकेट खेलने के लिए न्यू जीलैंड कोई आसान जगह नहीं है। पिछली बार जब हम यहां खेले थे, तो हमने यहां (0-1) से टेस्ट सीरीज गंवाई थी। लेकिन इसके बावजूद हमने उनके सामने अच्छी चुनौती पेश की थी। लेकिन हमारा मौजूदा बोलिंग अटैक पहले के मुकाबले अब बिल्कुल अलग है।
रोहित टेस्ट क्रिकेट में पहली बार नई गेंद से बल्लेबाजी की जिम्मेदारी संभालेंगे। इस पर उन्होंने कहा, निजी रूप से मेरे लिए बिना किसी शक के यह चुनौतीपूर्ण होगा। यहां मुझे नए गेंद का सामना करना होगा। रोहित बखूबी जानते हैं कि भारत से बाहर की इन पिचों पर गेंद कहीं ज्यादा स्विंग और सीम करती है। लेकिन साउथ अफ्रीका के खिलाफ बीते साल खेली गई घरेलू सीरीज भी भारत में स्वागत योग्य वाले बदलाव के साथ खेली गई थी। अब भारत की पिचें अपने पुराने स्वभाव से अलग हो रही हैं, अब ये ऐसी नहीं रहीं जैसा की उपमहाद्वीप की पिचों को माना जाता है।
रोहित ने भारतीय पिचों की तारीफ करते हुए कहा, किसी भी परिस्थिति में नए गेंद का सामना करना आसान नहीं होता। भारत के बाहर तो यह और भी मुश्किल भरा होता है। लेकिन जब हम साउथ अफ्रीका के खिलाफ 3 टेस्ट मैच की सीरीज खेल रहे थे और मैंने इससे पहले कभी भी भारत में बॉल को इतना स्विंग होते नहीं देखा था जितना यह पुणे टेस्ट (दूसरे टेस्ट) में घूम रहा था। शुरुआती कुछ ओवर जो उन्होंने (स््र) फेंके थे, तब पिच पर नमी थी और उन्हें इस पिच बहुत ज्यादा मदद मिल रही थी। रांची में (जहां रोहित ने दोहरा शतक बनाया) भी, हम थोड़े ही समय में तीन खिलाड़ी खो चुके थे। लेकिन मैं जानता हूं कि वहां बैटिंग में क्या उम्मीद की जाती है मैं पिछली बार (2014) भी वहां खेला था। परिस्थितियां आसान नहीं होंगी लेकिन मैं उनके लिए तैयार रहूंगा।


नसबंदी कराने आई महिला के साथ मारपीट

अम्बिकापुर। छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर जिले के मेडिकल कॉलेज में नसबंदी कराने आई महिला के साथ डाक्टरो ने किसी असमाजितक तत्व की तरह व्यवहार किया है। दरअसल नसबंदी कराने आई महिला के साथ डॉक्टरों ने मारपीट करते हुए उसके दांत तोड़ दिए। मामले को लेकर पीडि़ता के पति ने शिकायत दर्ज कराई है। मिली जानकारी के अनुसार अम्बिकापुर के घुटरापारा वार्ड क्रमांक 23 मे रहने वाली महिला संतोषी सिंह को वार्ड मे रहने वाली मितानिन टीटी नसबंदी के लिए लेकर आई थी। लेकिन जब संतोषी को नसबंदी के लिए अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर मे लेकर आया गया। तो डाक्टर जे एक्का ने अपनी ऑपरेशन की फार्मेलिटी के लिए महिला को पेट दबाने के लिए कहा औऱ वो नही दबा पाईं। इस बात से नाराज होकरडाक्टर ने उसे चेहरे पर मुक्के से वार कर दिया। डॉक्टर के हमले से महिला का दांत टूट गया।
पीडि़ता के पति के मुताबिक अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल मे किसी महिला की डाक्टर द्वारा पिटाई के बाद दांत टूटने की घटना अपने आप में पहली घटना होगी। इस मामले मे बिना किंतु परंतु के आरोपी डाक्टर पर कार्रवाई होना चाहिए। मामले में खुद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने जानकारी ली है। उन्होंने कहा है कि सरकार की नसबंदी जैसी प्रतोत्साहन योजनाओं में जिन डाक्टरो को ईमानदारी से काम करना चाहिए, उसी में लगे डाक्टर मरीजों से मारपीट कर रहे हैं। मामले में जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।


मोदी ने ट्रंप को दी बधाई और शुभकामनाएं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ बात की और उन्हें नए साल की बधाई दी। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपति ट्रम्प, उनके परिवार और संयुक्त राज्य अमेरिका के लोगों के लिए नए साल में अच्छे स्वास्थ्य, समृद्धि और सफलता की कामना की।प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत-अमेरिका संबंध विश्वास, आपसी सम्मान और समझ पर बने हैं और इनमें और सुदृढ़ता आई है। प्रधानमंत्री ने पिछले वर्षों के दौरान दोनों देशों के बीच मजबूत होती सामरिक साझेदारी में हुई महत्वपूर्ण प्रगति पर प्रकाश डाला और राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ आपसी हित के सभी क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की दिशा में सहयोग जारी रखने की इच्छा व्यक्त की।
राष्ट्रपति ट्रम्प ने नए साल में भारत के लोगों की समृद्धि और प्रगति की कामना की। उन्होंने पिछले कुछ वर्षों के दौरान संबंधों में हासिल हुई उपलब्धियों पर संतोष व्यक्त किया और द्विपक्षीय सहयोग को और मजबूत करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया।


एसीबी की छापामारी में करोड़ों का खुलासा

दुर्ग। सहकारी बैंक के CEO की करोड़ों की बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है। ACB की छापेमारी में अब तक करोड़ों की संपत्ति का खुलासा हो चुका है, जबकि जांच में और भी कई चौकाने वाले खुलासे का अनुमान है। इस मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। मिली शिकायत की तफ्तीश के बाद ACB ने दुर्ग के जिला सहकारी केंद्रीय बैक के सीईओ एचसी निवसरकर के ठिकानों पर एसीबी की टीम ने छापेमारी की थी। ACB के एएसपी महेश्वर नाग, डीएसपी आरके दुबे के नेतृत्व में 20 से अधिक कर्मचारी व अधिकारी की टीम ने संतोष कुमार निवसरकर के ठिकानों पर छापेमारी टीम ने ठिकानों के साथ-साथ बैंक व दफ्तर में तलाशी के दौरान बड़ी मात्रा में नकद रकम, चल-अचल संपत्ति के दस्तावेज, कार, गाड़ियां मिली है, वहीं बैंक में भी करोड़ों की जमा रकम का खुलासा भी हुआ है। निवसरकर का खुद का एक लाकर जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में मिला, जिसमें सोने-चांदी के जेवहरात भरे हुए थे। निवरसरकर का दुर्ग के सिंधिया नगर में एक करोड़ की लागत की हवेली का भी पता चला है। वहीं साकेत नगर दुर्ग करीब सवा करोड़ रुपये के बंगले का भी पता चला है। वहीं 20 लाख की गाड़ियां भी इनके पास मौजूद हैं वहीं रोनाल्ड डस्टर, मारूति स्वीफ्ट कार के साथ-साथ हीरो प्लेजर जिसकी कीमत 80 हजार रुपये है, वो भी मिला है।


पेड़ से टकराई स्कॉर्पियो 6 लोगों की तुरंत मौत

दंतेवाड़ा। गीदम से बारसूर मार्ग पर स्कॉर्पियो पेड़ से जा टकराई जिसमें बैठे 6 लोगों की तत्काल मौत हो गई है। आपको बता दें स्कार्पियो में कुल 11 लोग सवार थे। 
जिसमें से 4 लोग गीदम हाऊर नारगांव के थे। और लोग जगदलपुर निवासी बताये जा रहे है। घटना में 6 लोगो की अब तक मौत हो गयी है। घायल 2 लोंगो को गीदम अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वही घायल तीन लोंगो को दन्तेवाड़ा अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया है।


पुलिस न सुने तो निदेशक से करें संपर्क

रायपुर । प्रदेश के आम नागरिकों को पुलिस से होने वाली परेशानियों, पुलिस थानों में उनके द्वारा प्रस्तुत शिकायतों-रिपोर्ट पर त्वरित कार्रवाई न करने और थानों में रिपोर्ट कराने जाने पर उनके साथ पुलिस कर्मचारियों द्वारा दुर्व्यवहार करने, अनावश्यक विलंब करने, पुलिस कार्रवाई से असंतुष्ट होने पर राज्य का कोई भी व्यक्ति पुलिस महानिदेशक के समक्ष उपस्थित होकर सीधे आवेदन प्रस्तुत कर सकता है। पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी द्वारा आवेदकों द्वारा प्रस्तुत शिकायत पर त्वरित कार्रवाई के लिए पुलिस महानिदेशक कार्यालय में शिकायत विरूद्ध पुलिस सेल जो पूर्व से संचालित है, इसके प्रभारी अधिकारी राजेश अग्रवाल सहायक पुलिस महानिरीक्षक अपराध अनुसंधान विभाग, पुलिस मुख्यालय रायपुर को नियुक्त किया गया है। आवेदकों द्वारा उपस्थित होकर प्रस्तुत समस्त आवेदनों पर इनके द्वारा विधिवत त्वरित कार्रवाई कराई जाएगी। इस शिकायत विरुद्ध पुलिस सेल का गठन सीएम भूपेश बघेल के द्वारा पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ पुलिस को दिये गए निर्देश कि थानों से आम जनता को और अधिक सहयोग मिले, के परिपालन में इस सेल का गठन किया गया है।


सड़क दुर्घटना में 5 की मौत 3 गंभीर घायल

दंतेवाड़ा। एक बेहद ही दर्दनाक खबर आ रही है। सड़क दुर्घटना में 5 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि 3 लोग गंभीर रुप से घायल हो गये हैं। घटना दंतेवाड़ा के बारसूर-गीदम मार्ग की है, जहां एक तेज रफ्तार स्कार्पियों पेड़ से टकरा गयी। ये टक्कर इतनी तेज थी, कि गाड़ी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गयी। जानकारी के मुताबिक सभी मृतक एक ही परिवार के बताये जा रहे हैं, जो दंतेवाड़ा के हौरनार गांव के रहने वाले हैं। कभी स्कार्पियों पर सवार होकर बारसूर जा रहे थे। इसी दौरान बारसूर-गीदम मार्ग में राममंदिर के करीब एक पेड़ से स्कार्पियों टकरा गयी। हादसे के वक्त स्कार्पियों में 7 लोग सवार थे, जिसमें से 5 लोगों की मौत हो गयी है। 
दो घायलों को गीदम के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां दोनों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। हादसे की पूरी जानकारी अभी तक सामने नहीं आयी है। पेड़ से स्कार्पियों की टक्कर क्यों और कैसे हुई इसकी भी सूचना नहीं है। पुलिस अधिकारियों बताया कि अभी फिलहाल वो घायलों को मदद दिलाने में जुटे हुए हैं। स्कार्पियों जगदलपुर का बताया जा रहा है, जिसका नंबर CG17 KN1549 है।  घटना बारसूर थाना क्षेत्र की बतायी जा रही है।


हज यात्रियों का ड्रा 9 जनवरी को होगा

चंडीगढ़। 7 जनवरी- वर्ष 2020 में हज यात्रा पर जाने वाले हज यात्रियों से प्राप्त आवेदन का ड्रॉ 9 जनवरी, 2020 को जिला उपायुक्त कार्यालय नूंह में बाद दोपहर 2:00 बजे निकाला जाएगा। हरियाणा राज्य हज कमेटी चण्डीगढ़ के कार्यकारी अधिकारी सुभानदीन भट्टी ने इस संबध में जानकारी देते हुए कमेटी को कुल 2838 हज आवेदन प्राप्त हुए थे, जिन में से 500 आवेदनकर्ताओं की आयु 70 वर्ष से अधिक है जिनका यात्रा के लिए चयन बिना ड्रॉ के स्वत: हो जाएगा, जबकि 2247 आवेदन पत्रों का ड्रॉ 9 जनवरी को आम जन उपस्थिति में निकाला जाएगा। अत: ऐसे हज यात्रियों से अनुरोध है कि वे अपने आवेदन का ड्रॉ देखने के लिए वहां पहुंचे।


 


शर्मा को बनाया बाल कल्याण परिषद का अध्यक्ष

राणा ओबरॉय


चंडीगढ़। महामहिम राज्यपाल सत्य देव नारायण आर्य ने परिषा शर्मा को बनाया। हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद प्रदेश का वाइस प्रेसिडेंट इस नियुक्ति पर पारिशा शर्मा ने महामहिम राज्यपाल व हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर केंद्रीय मंत्री राव इंदरजीत सिंह जिला के अध्यक्ष योगेंद्र पालीवाल का आभार व्यक्त किया तथा जो उन्होंने प्रदेश में मुझे जिम्मेवारी दी है मैं उस जिम्मेवारी का सत्य और निष्ठा से पालन करूंगी। इस मौके पर हरियाणा राज्य बाल कल्याण विकास परिषद के जरनल सेक्टरी कृष्ण ढुल भी उपस्थित रहे।


सांसद-विधायक ने चलाया जागरूकता अभियान

कुशीनगर। सांसद विजय दुबे व खड्डा विधायक जटाशंकर त्रिपाठी के साथ भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने खड्डा स्थित सरस्वती देवी महाविद्यालय में छात्र-छात्राओं के बीच CAA व NRC को लेकर जागरूकता अभियान चलाया, साथ ही साथ विस्तृत जानकारी भी दिया। नागरिकता संशोधन कानून 2019 इतिहास के पन्नो पर स्वर्णाक्षरों से लिखा जाएगा तथा यह धार्मिक प्रताणना के पीड़ित शरणार्थियों को स्थायी राहत देगा। इस कानून में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताणना के कारण भारत मे आये हिन्दू , सिख्ख, बौद्ध, जैन, पारसी व ईसाई समुदाय के लोगो को भारतीय नागरिक बनाने का प्रावधान है। यह विधेयक करोङो लोगो को सम्मान के साथ जीने का अवसर प्रदान करेगा। भारत मे रहने वाले अल्पसंख्यकों का इस कानून से कोई अहित नही है।
उक्त बातें कुशीनगर सांसद विजय दुबे व खड्डा विधायक जटाशंकर त्रिपाठी ने ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत पार्टी द्वारा चलाये जा रहे सामाजिक संपर्क कार्यक्रम के तहत खड्डा स्थित सरस्वती देवी महाविद्यालय प्रांगण में विद्यालय के छात्र-छात्राओ के बीच कही। CAA व NRC कि विस्तृत जानकारी देने आए महाविद्यालय में सांसद व विधायक का विद्यालय प्रांगण ने फूल माला पहनाकर भव्य स्वागत किया। उन्होंने कहाकि कांग्रेस व सपा ने इस कानून को गलत ढंग से लोगो मे प्रचारित कर देश व प्रदेश को हिंसा की आग में झोंकने का खड़यंत्र कर रहे थे NRC (नागरिकता संशोधन बिल) नागरिकता छीनने नहीं बल्कि देने का प्रावधान है। प्रदेश की योगी सरकार ने हिंसा फैलाने व सरकारी सम्पतियों को नुकसान पहुचने वालो को चिन्हित कर कार्यवाई करना शुरू कर दिया है। इस हिंसा को फैलाने में किन किन लोगों ने मदद की उनकी भी पहचान हो रही है। देश विरोधी ताकतों के दम पर कांग्रेस व सपा ने हिसा फैलाने का कार्य किया। उन्होंने कहा कि हमारी केंद्र व प्रदेश की सरकार ने रसोई गैस कनेक्शन मुफ्त दिया, सबको आवास देने का काम कर रही है, मुफ्त में बिजली कनेक्शन दिया, किसान सम्मान निधि दिया, आयुष्मान कार्ड दिया तो सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास के संकल्प के साथ किया कोई जाति या धर्म देखकर नही किया। यह पहली बार नही हुआ है कि इस तरह की कवायद हो रही है। CAA व NRC जागरूकता कार्यक्रम में विद्यालय के प्राचार्य श्याम बिहारी अग्रवाल, दीपक शास्त्री, आदि शिक्षक एवं शिक्षिकाओं सहित सैकड़ों छात्र- छात्राएं व भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजूद रहे।


हत्या के आरोपी पीड़ित ने की खुदकुशी

रायगढ़। तमनार थाना अंतर्गत ग्राम झरना में उस वक्त सनसनी फैल गई जब पता चला की गांव का नान्हीं राम सिदार उम्र 45 वर्ष का शरीर टाबेल के सहारे घर से दूर तालाब के किनारे बरगद के पेड़ से फांसी के फंदे से झूल रही है। घटना बीती रात लगभग 3 बजे की बताई जा रही है।फांसी के फंदे में मृत शरीर को झूलता देख परिवार वालो का पैर तले जमीन खिसक गई और आस पास मातम पसर गया। जिसके बाद मामले की जानकारी तमनार थाने में दी गई तमनार पुलिस मौके पर पहुची।मिली जानकारी अनुसार मृतक अभी माह भर पहले 302 हत्या के आरोप में जेल से रिहा हुआ था व उसका मानसिक स्थिति ठीक नही था।फिलहाल तमनार पुलिस मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया है और किस कारण युवक ने फांसी लगाई है इसका पता लगाया जा रहा है।


झारखंड से तस्करी के लिए लाए युवती बरामद

बुलंदशहर। यूपी में बुलंदशहर के अहमदगढ़ थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक गांव नौरंगाबाद से बेचने के लिए झारखंड से लाई गई किशोरी को बरामद किया है। साथ ही पुलिस ने मौके से किशोरी को लेकर आई महिला समेत उसके छह खरीदारों को भी दबोचा है। यहां 20 से 80 साल की आयु तक के लोग जुटे थे। 50 हजार रुपए से 16 साल की किशोरी की बोली शुरू हुई। बोली लगाने वालों का नंबर आता तो वे बिलकुल फिल्म अग्निपथ के दृश्य की तरह ही किशोरी को छूते। वहीं रोते-रोते किशोरी की आंखें लाल हो चुकी थीं, किन्तु किसी की आंखों में न तो शर्म थी और न ही मानवता।


एबीवीपी-एनएसयूआई के बीच झड़प 10 घायल

जेएनयू अहमदाबाद में एबीवीपी और एनएसयूआई के बीच झड़प, 10 घायल  07 जनवरी 2020।


अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद में कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई और आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपी के बीच हिंसक झड़प हुई है।
समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ इस झड़प में 10 लोग घायल हुए हैंँ। एनएसयूआई के कार्यकर्ता रविवार को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा का विरोध कर रहे थे। एनएसयूआई के सदस्य अहमदाबाद के पनाडी इलाक़े में एबीवीपी के दफ़्तर के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने मौक़े पर पहुँचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। दोनों संगठनों ने एक-दूसरे पर हमले का आरोप लगाया है। गुजरात एनएसयूआई के महासचिव निखिल सवानी को सर में चोट आई है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


यूपीटीईटी परीक्षा केंद्र जाने से पहले जाने

यूपीटीईटी कल, परीक्षा केंद्र जाने से पहले जान लें ये बेहद जरूरी नियम


लखनऊ। UPTET 2019: 8 जनवरी यानी कल यूपीटीईटी परीक्षा का आयोजन होगा। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) में इस बार 16,34,249 से ज्यादा अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। एनआईसी से मिले आंकड़ों के मुताबिक प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 10,68,912 और उच्च प्राथमिक स्तर में 5,65,337 अभ्यर्थियों ने फार्म भरा है। 5,78,376 अभ्यर्थियों ने सिर्फ प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए आवेदन किया है जबकि 74,801 अभ्यर्थी उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी में शामिल होना चाहते हैं। 4,90,536 अभ्यर्थियों ने दोनों स्तर की परीक्षा के लिए फार्म भरा है। बीएड अभ्यर्थियों को प्राथमिक की अनुमति मिल जाने के कारण प्राथमिक स्तर की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की संख्या अधिक है। पहली पाली की परीक्षा 10 से 12 और दूसरी पाली की परीक्षा 02:30 से 05:30 बजे तक होगी। अभ्यर्थियों को एक घंटा पहले सेंटरों पर पहुंचना होगा।


ध्यान रखें ये बातें 
 सफेदा (करेक्टिव फ्लूड या व्हाइटनर) लगाया तो आंसर-शीट के रूप में मिली ओएमआर शीट नहीं जांची जाएगी। यानी व्हाइटनर लगाने की एक गलती अभ्यर्थी की पूरी मेहनत पर पानी फेर देगी। 
 परीक्षा केंद्र पर प्रवेश पत्र के साथ अभ्यर्थी को अपने ऑनलाइन आवेदन में अंकित फोटो युक्त पहचान पत्र तथा प्रशिक्षण योग्यता के प्रमाणपत्र या किसी भी सेमेस्टर के अंकपत्र की मूल प्रति साथ लाना अनिवार्य है। 
- अभ्यर्थियों के पास प्रशिक्षण योग्यता के मूल अंक पत्र उपलब्ध न होने की स्थिति में संबंधित प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य या सक्षम अधिकारी द्वारा प्रमाणित इंटरनेट से प्राप्त अंकपत्र की प्रस्तुति करने पर परीक्षा में सम्मिलित हो सकता है। इसके बिना परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं मिलेगी। 
- यही नहीं यदि कोई परीक्षार्थी सादी ओएमआर शीट जमा करता है तो कक्ष निरीक्षक उस पर अभ्यर्थी से क्रॉस कराएंगे। क्योंकि उसका मूल्यांकन नहीं होगा। उत्तर पत्रक (ओएमआर शीट) पर दिए स्थान पर पेन से हल किए गए प्रश्नों की संख्या शब्दों एवं अंकों में लिखना जरूरी है। प्रश्न पुस्तिका और उत्तर पत्रक की कार्बन कॉपी की एक कॉपी अभ्यर्थी परीक्षा के बाद अपने साथ ले जा सकेंगे। 
- अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष के अंदर प्रवेश पत्र व काले बॉल प्वाइंट पेन के अलावा किसी भी प्रकार की पाठ्यसामग्री, कैलकुलेटर, डॉकुपेन, लिखित सामग्री, कागज के टुकड़े, मोबाइल फोन, पेजर या किसी अन्य प्रकार का इलेक्ट्रानिक उपकरण ले जाने की अनुमति नहीं है


UPTET 2019: जानें क्यों रद्द हुई यूपी टीईटी परीक्षा
प्राथमिक स्तर की परीक्षा 
प्राथमिक स्तर तक की कक्षाओं में पढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए प्राथमिक वर्ग में आवेदन करना होगा। इस परीक्षा की अवधि ढाई घंटे होगी। इसमें कुल 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्नों के चार विकल्प होंगे। प्रत्येक प्रश्न के लिए एक अंक निर्धारित होगा। ये प्रश्न हिन्दी व अंग्रेजी दोनों माध्यमों में पूछे जाएंगे। इसमें निगेटिव मार्किंग नहीं है। पूछे जाने वाले प्रश्न पांच सेक्शनों से संबंधित हैं- बाल विकास एवं अभिज्ञान, भाषा-एक (हिन्दी), भाषा-दो (अंग्रेजी, संस्कृत अथवा उर्दू), गणित, पर्यावरणीय शिक्षा आदि। 
उच्च प्राथमिक स्तर का स्वरूप 
उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा उन अभ्यर्थियों के लिए है, जो कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाओं में पढ़ाने के इच्छुक हैं। इसकी भी अवधि ढाई घंटे की होगी तथा पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या 150 होगी। यह परीक्षा प्राथमिक स्तर से थोड़ी भिन्न होती है। इसमें पूछे जाने वाले प्रश्न चार सेक्शनों जैसे- बाल विकास एवं अभिज्ञान, भाषा-एक (हिन्दी), भाषा-दो (अंग्रेजी, संस्कृत अथवा उर्दू), गणित व विज्ञान विषय अथवा सामाजिक अध्ययन विषय से संबंधित हैं।


नाराज आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने किया यज्ञ

सरकार से नाराज आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने किया बुद्धि-शुद्धि यज्ञ


रिपोर्ट- शम्भू प्रसाद
रुद्रप्रयाग। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कार्य बहिष्कार कार्यक्रम आज भी ऊखीमठ तहसील में जारी रहा। केंद्र और राज्य सरकार की अनदेखी से नाराज आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने आज ऊखीमठ तहसील मुख्यालयों में जोरदार नारेबाजी के साथ सरकार की बुद्धि को शुद्ध करने के लिए बुद्धि-शुद्धि यज्ञ कर नाराजगी जताई।


इस दौरान आंगनबाड़ी ब्लॉक अध्यक्ष रोशनी नोटियाल ने कहा कि, सरकार एक तरफ महिला सशक्तिकरण का ढोंग रचा रही है। तो वहीं कई दिनों से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इस बारिश में भी धरने पर बैठी हुई है। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि, सरकार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अनदेखा कर रही है, जो सरकार के लिए अच्छा नही है। इसी लिए आज सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा सरकार की शत बुद्धि के लिए बुद्धि-शुद्धि यज्ञ का आयोजन किया गया है।


इस यज्ञ का उद्देश्य यह है कि, इससे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की बुद्धि का विकास हो सके और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के बारे में सोच सके। वहीं आगे के कार्यक्रम के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि, कल सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा जिला मुख्यालय में सरकार के खिलाफ रैली निकाली जाएगी और साथ ही हाइवे भी बंद किया जाएगा।


कुर्सी पर बैठे भ्रष्ट अधिकारी नहीं करते हैं काम

भ्रष्ट बिजली विभाग के कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर कुर्सी पर बैठकर लोगों को करते हैं परेशान नहीं करते कोई काम


कौशाम्बी। योगी सरकार में बिजली विभाग अधिकारी पूरी तरह से भ्रष्टाचारी पर उतर आये है सिर्फ कुर्सी पर बैठकर वेतन ले रहे हैं और जनता को गुमराह करते हैं  बताना जरूरी होगा कि तिल्हापुर मोड़ के पेरवा पावर हाउस में प्रत्येक बुधवार को बिजली बिल शंसोधन व निस्तारण का उच्च अधिकारियों द्वारा कैंप लगाया जाता है लेकिन महज दिखावा के लिए लगता है कैंप और तो और उच्च अधिकारी कैंप में रहते हैं नदारत जिससे लोगों को काफी यहाँ से वहाँ भटकना पड़ता है  इतना सेम्पल पर्याप्त है कनेक्शन नम्बर 115947 जिसकी खाता सन्ख्या है 731740944519 नाम प्रेम चन्द लोधउर यह व्यक्ति वर्तमान समय झलवा प्रयागराज में रहते हैं और लोधउर का मकान किराये पर दिया है जो कि इनका बिजली बिल नवम्बर 2019 तक जमा था उच्च अधिकारियों की लापरवाही के चलते अचानक बिल  65332 / पैंसठ हजार तीन सौ बत्तीस रुपये की बिल आया अब उपभोक्ता पेरवा पावर हाउस गया और वहाँ पर उच्च अधिकारियों के ना मिलने पर उपभोक्ता सरांय अकिल के पावर हाउस में मौजूद रमेश जो कि बड़े बाबू है और यही  गलत बिल का शंसोधन करते हैं इनको बिल दिया और रमेश बाबू आठ दिन बाद आना कहकर टाल दिया जब एक माह पहले भी यही कहानी हुई थी और फोन भी नहीं उठाते कि लोग कुछ जानकारी ले सके अब उपभोक्ता करे तो क्या करे और कहाँ जाये  इतना ही नहीं इस रमेश बाबू की कुछ नीचे अस्तर के अधिकारी भी फोन करते हैं तो उनका भी फोन नहीं उठाते आखिर क्यों एसे भ्रष्ट अधिकारियों से बिजली उपभोक्ता काफी परेशान है। 


मदन कुमार केशरवानी


आईपीएस शिवदीप ने पकड़ी 12 करोड़ की ड्रग्स

मुंबई। बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी शिवदीप लांडे एक बार फिर अपने कार्रवाई को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। लांडे ने मुंबई में ऑटो ड्राइवर बनकर 12 करोड़ रुपए का ड्रग्स पकड़ा हैं। इसको लेकर उनको ऑटो ड्राइवर बनना पड़ा। बताया जा रहा है कि लांडे को जानकारी मिली थी 12 करोड़ रुपए का हेरोइन लेकर तस्कर कही पहुंचाने वाले हैं। इस जानकारी के बाद लांडे ने ऑटो ड्राइवर का वेश बनाया और यह बड़ी कार्रवाई मुंबई के बांद्रा में की. इसका वीडियो वायरल हुआ है। लांडे फिलहाल महाराष्ट्र में डेपुटेशन पर आए हुए हैं। वो इस वक्त मुंबई के एंटी नारकोटिक्स सेल के DCP हैं। सोमवार को ही इनका प्रमोशन हुआ है वह डीआईजी बने हैं। इससे पहले भी रह चुके हैं चर्चा में लांडे इससे पहले भी अपनी कार्रवाई को लेकर चर्चा में रह चुके हैं। पटना में रहने के दौरान लांडे ने डाकबंगला चौराहे पर वेश बदलकर एक यूपी के इंस्पेक्टर को पकड़ा था। इंस्पेक्टर के बारे में उनको कोई गलत सूचना मिली थी। लेकिन इसको लेकर वह विवादों में आ गए थे। क्योंकि वह इंस्पेक्टर विभागीय काम को लेकर अपना काम कर रहे थे। लेकिन गलत काम जानकर लांडे ने उनको पकड़ा था। इसके अलावे वह अपनी छापेमारी को लेकर भी चर्चा में रह चुके हैं।


डीएम ने तहसील दिवस पर सुनी जन समस्याएं

जिलाधिकारी ने तहसील सदर में सम्पूर्ण समाधान दिवस में सुनी जनता की समस्यायें
समाधान दिवस में आये हुए प्रकरणों को एक सप्ताह के अंदर निस्तारित करने के दिये निर्देश
जनता की शिकायतों को वेवजह लम्बित रखने वाले अधिकारियों पर की जायेगी कार्यवाही-जिलाधिकारी, प्रयागराज
प्रयागराज। जिलाधिकारी प्रयागराज श्री भानुचंद्र गोस्वामी ने तहसील सदर में सम्पूर्ण समाधान दिवस में जनता की समस्याओं को सुना। उन्होंने समाधान दिवस में आये हुए प्रकरणों को एक सप्ताह के अंदर निस्तारित करने के निर्देश दिये। सम्पूर्ण समाधान पर मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह, अपर जिलाधिकारी (नगर) अशोक कुमार कनौजिया, एस0डी0एम0 सदर सहित सभी सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद थे।
सम्पूर्ण समाधान दिवस पर आयी शिकायतों को गम्भीरता से लेते सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो भी आवेदन जिस विभाग से सम्बन्धित है, अधिकारी उसे गम्भीरता से ले और समयबद्ध रूप से शिकायतों का निस्तारण सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहां कि समाधान दिवस में ज्यादातर शिकायतें लेखपाल एवं कानूनगों के स्तर पर आती है, उन्होंने लेखपाल एवं कानूनगों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि उनसे सम्बन्धित प्रकरणों को जमीनी स्तर पर जाकर निष्पक्ष जांच करते हुए प्रकरणों को निस्तारित किया जाये। प्रकरणों को वेवजह लम्बित न रखा जाय, नही ंतो कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहां कि सरकार के द्वारा दिये निर्देशों का अनुपालन करें तथा लोगो की समस्याओं को निस्तारित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार द्वारा चलायी जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी समाज के अन्तिम व्यक्ति तक पहुंचे तथा उसे उसका लाभ मिल सके। तहसील समाधान में मुख्य रूप से राजस्व, बिजली, नगर निगम तथा पुलिस से सम्बन्धित 203 मामले सुनवाई के लिए आये, जिनमें राजस्व के 79, पुलिस के 25 एवं अन्य 99  मामले थे। इनमें से कई मामलों का मौके पर ही निस्तारण सुनिश्चित किया गया। बृजेश केसरवानी


साल 2020 में 365 नहीं 366 दिन होगें

साल में 365 दिन होते हैं वहीं इस साल 2020 में कुल 366 दिन होंगे 


नई दिल्ली। वर्ष 2020 एक ‘लीप यीअर’ है यानी जहां आमतौर पर साल में 365 दिन होते हैं वहीं इस साल में कुल 366 दिन होंगे।  हर चौथे साल में फरवरी के महीने में एक दिन और जुड़ जाता है, जिससे 29 दिन हो जाते हैं। इस साल को ‘लीप यीअर’ और इस दिन को ‘लीप डे’ कहते हैं। फरवरी साल का सबसे छोटा महीना है जिसमें केवल 28 दिन होते हैं इसलिए इस ‘लीप डे’ को इस महीने में जोड़ा गया है। 
ऐसा क्यों होता है? 
दरअसल, पृथ्वी को सूर्य का एक पूरा चक्कर लगाने में 365 दिन, 6 घंटे का समय लगता है। तो ये 6 घंटे 4 साल में जुड़कर 24 घंटे बन जाते हैं जिससे 1 ‘लीप डे’ बन जाता है। अगर हम इस अतिरिक्त दिन को हर चौथे साल में नहीं जोड़ते हैं तो हर साल कैलेंडर से 6 घंटे हट जाएंगे और फिर हर 100 साल में कैलेंडर से 24 दिन ही गायब हो जाएंगे। 
कहानी ‘लीप यीअर’ की
‘लीप यीअर’ के पीछे कई सालों पहले की कहानी है। बात लगभग 2000 ईसा पूर्व की है जब इटली पर जूलियस सीजर का राज हुआ करता था। जूलियस सीजर के समय में जो कैलेंडर प्रयोग किया जाता था, उसमें प्रतिवर्ष में 355 दिनों को शामिल किया गया था। लेकिन इससे उन्हें समस्या होती थी क्योंकि उन्हें अतिरिक्त दिनों का हिसाब अलग से जोडऩा पड़ता था जो काफी जटिल हो जाता था। जूलियस सीजर इस समस्या से बहुत परेशान हो गया और उसने अपने ज्योतिषी से ऐसी व्यवस्था करने को कहा जिससे कालक्रम गड़बड़ हुए बगैर ही यह समस्या सुलझ जाए। 
इसके बाद राज्य के ज्योतिष ने एक साल में 365 दिनों को शामिल किया और हर 4 साल में एक दिन जोडऩे का प्रस्ताव जूलियस सीजर के सामने रख दिया। इसके बाद भी इस कालक्रम में कई बदलाव और सुधार किए गए। अंतिम बार यह सुधार करने वाले थे पोप ग्रेगरी 13 जिन्होंने 29 दिनों के साल को ‘लीप यीअर’ का नाम दिया। आज हम जिस ग्रेगेरियन कैलेंडर का अनुसरण करते हैं वह पोप ग्रेगेरी के नाम पर ही रखा गया है।


चीनी से लदा ट्रक हाईवे पुल से नीचे गिरा

चीनी की बोरियों से लदा ट्रक हाईवे पुल से नीचे गिरा, चालक और क्लीनर घायल, पीजीआई रेफर


अमित शर्मा


चंडीगढ़। जीपीएस स्कूल के पास से गुजरते नेशनल हाईवे पुल पर छह जनवरी की रात करीब 11 बजे चीनी से भरा ट्रक पलट गया। इससे ट्रक चालक और क्लीनर दोनों गंभीर घायल हो गए। घायलों का सिविल अस्पताल मंडी गोबिंदगढ़ में इलाज करवाने के बाद डॉक्टरों ने पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया है। हादसा 6 जनवरी रात करीब 11:00 बजे का बताया जा रहा है।


⚠पुलिस अधिकारी गुरभेज सिंह और बुध सिंह ने बताया कि हादसा ड्राइवर की आंख लगने के कारण हुआ है। ट्रक पुल से लुढ़कता हुआ नीचे स्लिप रोड पर आ गिरा जिसमें बड़ी तादाद में चीनी की बोरियां थी। ट्रक मुरादाबाद से कोटकपूरा (पंजाब) जा रहा था। हादसे में घायल हुए क्लीनर की पहचान सतनाम सिंह पुत्र करतार सिंह निवासी शामली (उत्तर प्रदेश) के रूप में हुई है। चालक की पहचान रणजीत सिंह निवासी तरनतारन गांव बनिया के तौर पर हुई है। दोनों को पीजीआई रेफर किया गया है।


भारत में सिख सुरक्षित नहीं, गहरी चिंता

सिख भारत में सुरक्षित नहीं हैं,टिप्पणी पर गहरी चिंता व्यक्त की:कैप्टन अमरिंदर


अमित शर्मा


चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को अकाल तख्त के जत्थेदार की इस टिप्पणी पर गहरी चिंता व्यक्त की कि सिख भारत में भी सुरक्षित नहीं हैं, और तख्त को केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन के साथ सभी संबंधों को तोड़ने के लिए अकालियों पर दबाव बनाने के लिए कहा, जो था देश में अल्पसंख्यकों के बीच सुरक्षा की भावना सुनिश्चित करने में असमर्थ है।
हालांकि वह खुद अकाल तख्त जत्थेदार की इस टिप्पणी से सहमत नहीं थे कि सिख भारत में सुरक्षित नहीं हैं, मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर पूर्व को ऐसा लगता है तो उन्हें शिरोमणि अकाली दल (शिअद) से बात करनी चाहिए और उनसे पूछना चाहिए केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को छोड़ने के लिए, जिनमें से वे एक हिस्सा हैं। पाकिस्तान के विपरीत, भारत ने हमेशा एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र होने का गर्व किया था, जिसमें धार्मिक आधार पर कोई भेदभाव नहीं था, कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि सिख समुदाय के बीच कोई भी भावना है कि वे यहां सुरक्षित नहीं थे, गंभीर चिंता का विषय था। अगर सिख इस देश में असुरक्षित महसूस कर रहे थे, जैसा कि अकाल तख्त के कार्यवाहक जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा था, तो यह केंद्र पर विवाद था जिसे दोष देना था, उन्होंने जोर दिया। यह देखते हुए कि अकालियों ने सिख धर्म, और समुदाय के संरक्षक होने का दावा किया है, उन्हें इस मुद्दे पर एक स्टैंड लेना चाहिए, और एसएडी प्रमुख सुखबीर बादल को अपनी पत्नी, हरसिमरत कौर बादल से केंद्रीय मंत्री के रूप में तुरंत इस्तीफा देने के लिए कहना चाहिए। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि जहां कुछ घटनाएं यहां और वहां सिखों को भारत में सुरक्षित नहीं होने का मामला माना जा सकता है, वहां धारणा वास्तविकता की तरह महत्वपूर्ण थी। उन्होंने कहा कि सिखों ने 1980 के दशक में बहुत अंधेरे दौर से गुजरा था और किसी भी तरह से अंत तक रहने की भावना को महसूस किया था, जो उनके डर की भावना को पुनर्जीवित करेगा, जो समुदाय के हित के साथ-साथ राष्ट्र के लिए हानिकारक होगा। एक सिख प्रभुत्व वाले राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में, उन्होंने खुद हमेशा यह सुनिश्चित किया कि समुदाय के हितों को न केवल पंजाब में बल्कि अन्य राज्यों में भी संरक्षित किया जाए, कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि सिखों के उत्पीड़न के मामलों में अपने व्यक्तिगत हस्तक्षेप को याद करते हुए, जहां भी यह हो सकता है। सीएए के मुद्दे पर शिरोमणि अकाली दल के पाखंड का हवाला देते हुए, कैप्टन अमरिंदर ने अकालियों को भारत में अल्पसंख्यकों से संबंधित मुद्दों पर एक स्पष्ट रुख अपनाने और ऐसे मामलों पर दोहरा खेल खेलने से रोकने के लिए कहा। उन्होंने महसूस किया कि यह समय केंद्र में गठबंधन का हिस्सा नहीं रह सकता है, जो देश में अल्पसंख्यकों की रक्षा करने में विफल रहे हैं, और फिर भी इन अति अल्पसंख्यकों के संरक्षक होने का दावा करते हैं, उन्होंने कहा।


रात को जल्दी लेटने पर नहीं आती नींद

 रात को जल्दी सोने की करते हैं कोशिश फिर भी लेट आती है नींद, 


दिनभर में हमारे लिए काम जितना जरूरी है उससे ज्यादा जरूरी है नींद का पूरा होना। हमारी पूरी रूटीन इसी चीज पर निर्भर होती है। हेल्थ, फिटनेस और ब्यूटी से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं की वजह भी नींद का पूरा ना हो पाना ही है। आपके लाइफस्टाइल (Lifestyle) के हिसाब से इसके कारण अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन सुबह के वक्त उठने में दिक्कत की समस्या सभी को फेस करनी पड़ती है। सबसे कॉमन समस्या ये है कि कुछ लोगों को बिस्तर पर जाने के काफी समय बाद भी नींद नहीं आती जिस वजह से वह समय पर उठ भी नहीं पाते हैं। हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आपकी ये समस्या दूर हो जाएगी। रात के वक्त जब आप सोचते हैं कि अब सो जाना चाहिए और वो वक्त जब आप सोने जाते हैं, इन दोनों ही स्थितियों के बीच जो अंतर होता है उसे लेटेंसी कहते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक लेटेंसी का असर हर इंसान पर अलग-अलग होता है। यह उसकी बॉडी, लाइफस्टाइल और जिस वातावरण में वह रहता है, उससे प्रभावित होता है। अगर आपको बिस्तर पर जाने के 5 मिनट के अंदर नींद आ जाती है तो इसका मतलब है कि आप कम नींद लेते हैं और अगर आपको बिस्तर पर जाने से नींद आने के बीच का अंतर 20 या इससे अधिक होता है तो इसका अर्थ है कि आप अपने शरीर की जरूरत से अधिक सोते हैं या आपको अपनी पुअर स्लीप हाइजीन को इंप्रूव करने की जरूरत है।


छापामारी कर तीन लोगों को हिरासत में लिया

चंडीगढ़। विदेश से करोड़ों के लेन-देन के मामले में दिल्ली साइबर क्राइम टीम ने हरियाणा के कुरुक्षेत्र  में छापेमारी कर तीन लोगों को हिरासत में लिया है। पूरी कार्रवाई को गुप्त तरीके से अंजाम दिया गया था। दिल्ली पुलिस की एक बस ने कुरुक्षेत्र जाकर एक इंटरनेशनल एजेंसी के एजेंट को अपने साथ लिया साथ ही दो अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया। पुलिस जांच में अभी इस मामले में और भी कई खुलासे हो सकते हैं।


उधर, एक अन्य मामले में हरियाणा पुलिस की एक महिला एएसआई (ASI) को राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कुरुक्षेत्र जिला में तैनात महिला एएसआई कैलाश कौर आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त थी। उसके विरुद्ध जिला कुरुक्षेत्र में पहले भी कई मामले दर्ज हुए हैं। महिला एएसआई पर थाना पल्लू जिला हनुमानगढ़ राजस्थान में गाड़ी नंबर आरजे-49यूए/1307 इनोवा गाड़ी छीनने का मामला दर्ज है। कुरुक्षेत्र अपराध शाखा एक की मदद से राजस्थान पुलिस ने महिला एएसआई (ASI) कैलाश कौर को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।


मुद्दे पर राजनीति करने को बताया शर्मनाक

भेदभाव के शिकार सिखों का भारत में स्वागत, शर्मनाक राजनीति से बाज आएं अकाली : सीएम कैप्टन
कहा- मुस्लिम और दूसरे धर्मों को सीएए से अलग करना ठीक नहीं।


 
चंडीगढ़। पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नागरिकता कानून (CAA) पर बात करते हुए कहा है कि दूसरे देशों में भेदभाव का शिकार हो रहे सिखों का भारत में स्वागत है। उन्होंने अकाली दलों के जरिए पाकिस्तान सिखों और धार्मिक संस्थाओं पर हमले के मुद्दे पर राजनीति करने को शर्मनाक बताया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि वह दूसरे देशों में भेदभाव का शिकार हो रहे लोगों को नागरिकता देने के विरुद्ध नहीं है। लेकिन, मुस्लिम और दूसरे धर्मों को सीएए से अलग करना ठीक नहीं है। कैप्टन ने कहा- ‘अकालियों ने पाकिस्तान में सिखों और धार्मिक संस्थाओं पर हमले के मुद्दे पर राजनीति की, जो बेहद शर्मनाक है।’ उन्होंने कहा- ‘अकाली दल पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति की तुलना भारत में लाए गए असंवैधानिक नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) से कर रहा है। खासकर हरसिमरत कौर बादल निंदनीय बयानबाजी से पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमला कर रही हैं। सिख नौजवान की मौत को कांग्रेस पार्टी के विरुद्ध सियासी लड़ाई में हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रही हैं।


सीएए को लेकर बंगाली भाषा में की गई बुकलेट

कोलकाता। बीजेपी (BJP) द्वारा नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) (CAA) को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए बंगाली भाषा में जारी की गई बुकलेट (Booklet) में लिखा है कि एनआरसी इसके बाद अगला कदम होगा और कोई भी हिंदू डिटेंशन सेंटर  नहीं जाएगा। बतौर बुकलेट, फॉरेनर्स ऐक्ट के चलते असम में 11 लाख हिंदू (Hindu) डिटेंशन सेंटर में हैं और सीएए के तहत वे रिहा हो जाएंगे। पार्टी सूत्रों ने बताया कि सीएए को प्रश्न एवं उत्तर के प्रारूप में सरलता से स्पष्ट किया गया है, ताकि कानून के संबंध में लोगों के भय को दूर किया जा सके।पुस्तिका में ‘इसके बाद क्या एनआरसी लाया जाएगा? इसकी कितनी जरूरत है? और एनआरसी आने पर क्या असम की तरह हिन्दुओं को निरोध केन्द्र में जाना पड़ेगा? जैसे सवाल हैं।’ इनके जवाब में कहा गया है, ‘हां, इसके बाद एनआरसी होगा। कम से कम ऐसी केन्द्र सरकार की मंशा है।’ पुस्तिका में दावा किया गया कि हिन्दुओं को एनआरसी की वजह से नहीं बल्कि विदेशी कानून की वजह से निरोध केन्द्र जाना पड़ा है। पुस्तिका में कहा, ‘उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार और कांग्रेस द्वारा पारित विदेशी कानून के तहत असम में एनआरसी लागू किया गया। असम में बीजेपी सरकार एनआरसी नहीं लाई। बल्कि उसने तो एनआरसी के खिलाफ अदालत में जाने का निर्णय किया था।’ उसने कहा कि सीएए के लागू होने के बाद असम में निरोध केन्द्र में बंद हिन्दुओं को छोड़ दिया जाएगा।


हादसे में शिकार हुए बच्चे ने खोई यादाश्त

सुंदरनगर। तीन सप्ताह पहले सुंदरनगर के ललित चौक पर बाइक हादसे में घायल हुए बच्चे ने पीजीआई में आंख तो खोल दी थी, लेकिन अपनी याददाशत खो चुका था। अब डॉक्टरों ने उसे घर भेज दिया है। डाक्टरों द्वारा हाथ खड़े करने के बाद अब सुंदरनगर के पुंग में रह रहे प्रवासी परिवार गमगीन हो गया है। हादसे में घायल सन्नी के पिता कश्मीर सिंह ने बताया कि हादसे के बाद उनके बेटे का पीजीआई में इलाज चल रहा था। उन्होंने कहा कि कोमा में रहने के बाद जब उसने आंखें खोली तो वह किसी को भी नहीं पहचान रहा है। पीजीआई के डॉक्टरों ने भी बच्चे को वापस घर तो भेज दिया। मगर वह जी पाएगा कि नहीं वह भी कोई आश्वासन नहीं दिया है।


परिवार बच्चे के हादसे के बाद आर्थिक तौर पर भी टूट गया। हालांकि प्रशासन और लोगों ने मदद तो कि मगर डॉक्टरों के हाथ खड़े करने के बाद परिवार भी बेवस हो गया है। वहीं सब से बड़ी बात है कि आरोपी बाइकर पूरी आजादी के साथ घूम रहा है। जबकि पुलिस अभी तक कोर्ट में चालान तक पेश नहीं कर पाई है। इस बारे में जब एसडीएम सुंदरनगर राहूल चौहान से दूरभाष में माध्यम से बात हुई तो उन्होंने कहा कि परिवार उनके पास आया था। प्रशासन से जो भी मदद होगी वह की जा रही है। इस बारे में एसपी मंडी गुरदेव चंद शर्मा से जब दूरभाष के माध्यम से बात हुई तो उन्होंने बताया कि कोर्ट में जल्द ही चालान पेश कर आरोपी पर मुकदमा चलाया जा रहा है। उन्होनें कहा पीड़ित परिवार को नियमानुसार राहत दिलवाई जाएगी।


सेना प्रमुखों का कार्यकाल बढ़ाने को मंजूरी

इस्लामाबाद। नेशनल असेंबली ने मंगलवार को तीनों सेनाओं के प्रमुखों और स्टाफ कमेटी के संयुक्त प्रमुख के अध्यक्ष के कार्यकाल को बढ़ाने के विधेयक को मंजूरी दे दी। यह तीन विधेयक पाकिस्तान आर्मी (संशोधन) विधेयक 2020, पाकिस्तान वायु सेना (संशोधन) विधेयक 2020 और पाकिस्तान नौ सेना (संशोधन) विधेयक 2020 हैं।


असेंबली का सत्र शुरू होने पर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सदस्य अमजद अली खान ने राष्ट्रीय असेंबली की रक्षा मामलों से जुड़ी स्थाई समिति की रिर्पोट पेश की। रक्षा मंत्री परवेज खटाक ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) से “क्षेत्रीय स्थिति को ध्यान” में रखकर संशोधनों विधेयकों की सिफारिशों का समर्थन करने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा,“इससे सदन में एकता और बेहतर स्थिति बनेगी।” इसके बाद पीपीपी के सदस्य नवीद कमर ने पार्टी की तरफ से तीनों विधेयकों पर की गयी सिफारिशों को वापस ले लिया। जमायत उलेमा-ए-इस्लाम-फजल, जमात-ए-इस्लामी और फेडरली एडमिनिस्ट्रेड ट्रायबल एरियास(एफएटीए) ने निचले सदन को ‘फर्जी’ बताते हुए वाकआउट किया और तीनों विधेयक मंजूर हो गए। उत्तर वर्जीस्तान के सदस्य मोहसिन डावर ने सदन से वाकआउट करने से पहले ट्वीट कर लिखा कि उन्होंने पाकिस्तान आर्मी (संशोधन) विधेयक 2020 के विरोध में वोट किया है।


जेएनयू के वीसी-कमिश्नर को करे बर्खास्त

कमल जगाती


नैनीताल​। उत्तराखण्ड के नैनीताल पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय(जे.एन.यू.)में छात्रों के साथ हुई मारपीट मामले में विश्वविद्यालय के वी.सी.समेत पुलिस कमिशनर को बर्खास्त करने की मांग की है । केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि केंद्र सरकार विश्विद्यालयों में पढ़ाई का माहौल खराब कर रही है और उसे राजनीति का अड्डा बनाना चाहती है । उन्होंने कहा कि जो लोग टुकड़े टुकड़े गैंग की बात करते हैं वही आज देश को टुकड़ो में बांट रहे है। उन्होंने आरोप लगाया कि ए.बी.वी.पी.के लोग मुंह में कपड़ा बांधकर जे.एन.यू.में छात्रों के साथ मारपीट कर रहे है। नैनीताल पहुंचे कपिल सिब्बल ने जे.एन.यू.मामले पर कहा कि कॉलेज में पुलिस की निगरानी के बावजूद एम्बुलेंस के टायर पंचर किए गए ताकि कॉलेज में घायल छात्रों को अस्पताल ना ले जाया जा सके इसलिए दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को बर्खास्त करना चाहिए।


बच्चों की मौत पर नहीं जागा प्रशासन

सहारनपुर में केवल एक सीएचसी पर बाल रोग विशेषज्ञ मौजूद 
जिलेभर में शिशु मृत्युदर प्रति एक हजार जन्मपर 32, मातृ मृत्युदर एक लाख जन्म पर 179 
अरविन्द सिसौदिया 
नानौता। राजस्थान और गुजरात में करीब 200 से अधिक बच्चों की मौत के बाद भी सहारनपुर स्वास्थय विभाग नहीं जागा है। केन्द्र और राज्य सरकार की ओर से मातृ एंव शिशु सुरक्षा को लेकर कई योजनाएं चलाई जा रही है अधिकारी प्रभावी माॅनिटरिंग का दावा भी कर रहे है। लेकिन ग्रांउड स्तर पर विशेषज्ञ डाॅक्टरों की नियुक्ति न होने से सालों से ग्रामीण क्षेत्र बेहाल हो रहा है। जिलेभर में संचालित 11 सामुदायिक स्वास्थय केन्द्रों में से मात्र एक पर शिशु रोग विशेषज्ञ मौजूद है जबकि 10 सीएचसी बिना विशेषज्ञों के ही चल रही है। 
सहारनपुर जिला बालरोग विशेषज्ञों की कमी से जूझ रहा है। यदि किसी कारण से राजस्थान और गुजरात जैसे हालात यहां बने तो इसका जिम्मेदार आखिर कौन होगा। सहारनपुर जिले में 11 सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र और करीब 33 प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र है। लेकिन मात्र जिले की देवबंद छोडकर किसी भी सीएचसी व पीएचसी पर बालरोग विशेषज्ञ मौजूद नहीं है। ऐसे में इन स्वास्थय केन्द्रों पर पैदा होने वाले नवजात शिशुओं की हालत बिगडने पर उनके जीवन पर खतरा मौजूद रहता है। यदि किसी नवजात की हालत बिगडती है तो उसे तुंरत जिला अस्पताल के लिए रैफर किया जाता है तो वहीं ग्रामीण क्षेत्रों से जिला अस्पताल लाते समय बच्चों की मृत्यु तक हो जाती है। जिले में शिशु मृत्युदर प्रति एक हजार जन्म पर 32 है। जबिक मातृ मृत्युदर प्रति एक लाख जीवित जन्म पर 179 है। सरकार के आदेश है कि किसी भी क्षेत्र में मृत्यु होने पर 24 घंटे में उसकी सूचना देना जरूरी है। ताकि इससे पांच वर्ष तक के बच्चे, शिशु और नवजात की मृत्यु के कारणों को ढूंढकर उनका समाधान किया जा सके। इसके अलावा कुछ अस्पताल केवल रैफरल बनकर रह गए है। जिनमें कहीं डाॅक्टर नहीं तो कहीं सुविधाओं का अभाव होने के चलते मरीज को रैफर किया जाता है।


मकान दिलाने के बहाने, हिंदू बता कर ठगा

पीडित बोला मकान दिलाने के बहाने पांच ठगों ने दिया अंजाम मकान हिन्दू का बताकर किया बैनामा, जांच में निकला मुस्लिम महिला का 


अरविंद सिसौदिया। 


नानौता। प्रोपर्टी डीलर बनकर पांच ठगों ने मिलकर दिल्ली निवासी एक युवक से धोखाधडी कर चार लाख रूपए की रकम हडपते हुए फर्जी तरीके से एक मकान का बैनामा कर दिया। जांच के दौरान उक्त मकान किसी और का पाएं जाने पर बैनामा लेने वाले युवक के होश उड गए। पीडित ने थाने पर नामजद तहरीर देकर पांचों ठगों पर रिपोर्ट दर्ज कर कारवाई की मांग की है। उधर पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। 
दिल्ली निवासी शुभम् पुत्र श्यामलाल ने बताया कि वह अब काफी समय से नानौता में रह रहा है। उसको एक मकान खरीदना था, जिसके लिए नगर व क्षेत्र के पांच ठगों ने अपने आप को प्रोपर्टी डीलर बताते हुए उसको एक हिन्दू व्यक्ति के नाम से मकान दिखाया और विश्वास दिलाया कि उक्त मकान में किसी प्रकार का कोई झगडा या फसाद नहीं है। जिनकी बातों पर विश्वास करते हुए उसने उक्त मकान का सौदा 4 लाख रूपए में कर लिया। पीडित का आरोप है कि इन ठगों द्वारा आपस में जालसाजी व धोखाधडी करते हुए फर्जी तरीके से अपने साइन कर एक सप्ताह पूर्व मेरे नाम बैनामा कर दिया। मेरे द्वारा बैनामे के दौरान दिया गया 4 लाख का चैक बैनामे के बाद इन लोगों द्वारा वापस लेकर मुझसे नकद रकम प्राप्त कर ली गई। इसके बाद जब बैनामा लेकर वह नगर पंचायत में नामदर्ज कराने के लिए पंहुचा तो पता लगा कि उक्त मकान तो पहले से ही किसी मुस्लिम महिला के नाम दर्ज है। जिसके बाद पीडित के पैरों तले की जमीन निकल गई। पीडित ने इस धोखाधडी में शामिल सभी ठगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कारवाई की मांग की है। उधर इस संबध में थाना पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। यदि नामजद लोगों पर आरोप सही पाएं जाते है तो उनके खिलाफ कानूनी कारवाई अमल में लाई जाएगी।


घर के बाहर खड़ी कार सुबह जली मिली

घर के बाहर खडी कर चालक रात्रि में जाने के बाद सुबह देखा तो जली मिली मैजिक 
अरविंद सिसौदिया
नानौता। संदिग्ध परिस्थितियों में घर के बाहर खडी टाटा मैजिक में आग लगने से जलकर राख हो गई। परिजनों ने सुबह उठकर देखा तो उनके होश गुम हो गए। 
थाना क्षेत्र के गांव खुडाना निवासी गुड्डु पुत्र ज्योतिराम के पास एक टाटा मैजिक (छोटा हाथी) है। बताया जाता है कि सोमवार की रात्रि गुड्डु द्वारा टाटा मैजिक को घर के बाहर खडी की गई थी। जिसके बाद सुबह जब परिजन सोकर उठे और बाहर निकलकर देखा तो मैजिक पूरी तरह से जलकर राख हो गया था। परिजन टाटा मैजिक जलने का कारण शार्ट-शर्किट होना मान रहे है।


सूझबूझ से लुटेरे को किया गिरफ्तार

सहारनपुर। सीओ प्रथम अर्पित विजयवर्गीय के निर्देशन में थाना मण्डी प्रभारी बबलू वर्मा के नेतृत्व में एसआई पवन उज्वल, रईस अहमद ने हेड कांस्टेबल दिलशाद विजय वीर नीरज त्यागी व कांस्टेबल रोबिन ढाका के साथ टीम बनाकर मुखबिर की सूचना पर एक अभियुक्त मुरसलीन को मण्डी समिति के गेट नम्बर एक से गिरफ्तार किया। मुरसलीन की निशानदेही पर मण्डी पुलिस दो चोरी की बाइक दो एक्टिवा व एक अवैध तमंचा कारतूस बरामद किया है। मण्डी पुलिस द्वारा पूछताछ में मुरसलीन ने बताया की पिछले दो माह पहले भी मैंने और मेरे साथियों ने टोल प्लाजा के निकट थाना छपार यमुनानगर से 1 कार को लूटने की घटना को अंजाम दिया था। फिलहाल पुलिस ने मुरसलीन को गिरफ्तार कर लिया है व उसके अन्य फरार साथियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। थाना मण्डी प्रभारी बबलू वर्मा ने बताया कि फरार आरोपी भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


शीतलकालीन सत्र के लिए फिर पंजीकरण शुरू

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में शीतकालीन सत्र के लिए एक बार फिर पंजीकरण शुरू हो गया है। मंगलवार को जेएनयू प्रशासन ने वाईफाई व सर्वर रूम को दुरुस्त करने के उपरांत पंजीकरण आरंभ कर दिया। हालांकि, वहीं दूसरी ओर जेएनयू छात्रसंघ ने छात्रों से पंजीकरण के बहिष्कार की अपील की है। आईसा से जुड़े छात्रों ने जेएनयू वीसी को पूरे घटनाक्रम के लिए जिम्मेदार बताते हुए उनके इस्तीफे की मांग की है। जेएनयू में रविवार पांच जनवरी की रात नकाबपोश हमलावरों ने छात्रों पर हमला किया था। इस हमले में 36 छात्र जख्मी हुए। जेएनयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार वारदात के दो दिन बाद मंगलवार को पहली बार सामने आए। उन्होंने कहा कि वह विश्वविद्यालय में शांति बहाली के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने छात्रों से नई शुरुआत करने की अपील की और कहा कि अब छात्र शीतकालीन सत्र के लिए अपना पंजीकरण करवाएं। इस दौरान जेनयू के कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय अपनी सार्थक बहस के लिए जाना जाता है, हिंसा के लिए नहीं। कुलपति ने छात्रों से कहा कि जेएनयू का पुराना गौरव हासिल करने के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने रविवार रात हुए हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इस प्रकार की हिंसा से कोई समाधान नहीं निकलने वाला है। इससे पहले जेएनयू में सोमवार से होने वाली परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी थीं। परीक्षाओं के अलावा शीतकालीन सत्र के लिए पंजीकरण की व्यवस्था भी विश्वविद्यालय में ठप हो गई थी। विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि अब वाईफाई व पंजीकरण से जुड़ी सेवाएं बहाल हो गई हैं। ऐसे में सभी छात्र 12 जनवरी तक अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।  फीस बढ़ोतरी के विरोध में धरने पर बैठे जेएनयू के कुछ छात्रों ने पंजीकरण केंद्र का वाईफाई कनेक्शन काट दिया था। जिसके चलते कई छात्र सोमवार से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र के लिए अपना पंजीकरण नहीं करवा सके। हालांकि, जिन छात्रों का पंजीकरण हो चुका था, उन छात्रों ने भी सोमवार को आयोजित परीक्षा में हिस्सा नहीं लिया।गौरतलब है कि जेएनयू में सोमवार को पीएचडी, एमएससी, स्कूल ऑफ लाइफ साइंस के छात्रों की परीक्षा होनी थी। रविवार रात हुई हिंसा के बाद अधिकांश छात्रों ने परीक्षा देने से इंकार कर दिया। जेएनयू में विभिन्न संकाय व परीक्षा केंद्रों पर तालाबंदी कर दी गई है। विश्वविद्यालय में अधिकांश अध्यापक भी बिना किसी कार्रवाई के वापस लौट गए। कई अध्यापक इस विषय पर छात्रों के साथ हैं। अध्यापकों का कहना है कि विश्वविद्यालय में सर्वप्रथम छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए। विश्वविद्यालय में सुरक्षित माहौल होने पर ही पढ़ाई व परीक्षाएं शुरू करवाई जा सकती हैं।


चीन 20 साल बाद देगा अनूठी प्रस्तुति

नई दिल्ली। भारत चीन राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर इस साल राजधानी में चीनी नव वर्ष का आयोजन पहले से भव्य होगा और चीन का सबसे बड़ा  20 साल बाद दोबारा भारत की धरती पर अपने अनूठी प्रस्तुति को लेकर आ रहा है। सीरीफोर्ट सभागार में 10 जनवरी को शाम साढ़े छह बजे चाइना ओरिएन्टल परफॉर्मिंग आर्ट्स ग्रुप देश की विविधता पूर्ण संस्कृति के दस अलग-अलग रंगाें वाली दस छोटी प्रस्तुतियों की एक नृत्य एवं गीत माला ‘दि स्प्लेंडर ऑफ चाइना’ पेश करेगा। इस मौके पर भारत में चीन के राजदूत सुन वीडोंग भी उपस्थित होंगे। भारत में चीन के दूतावास में सांस्कृतिक काउंसलर झांग चियानशिन ने यहां संवाददाताओं को बताया कि वर्ष 2020 भारत एवं चीन के रिश्तों में बहुत खास हैं। हम अपने राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इस मौके पर दोनों देश 70 विशिष्ट कार्यक्रमाें का आयोजन करेंगे जिनमें 35 कार्यक्रम भारत में और 35 कार्यक्रम चीन में आयोजित किये जाएंगे। दस जनवरी का कार्यक्रम भी इन्हीं में से एक है। झांग चियानशिन ने कहा कि चीन का नव चंद्र वर्ष 25 जनवरी को मनाया जाएगा। इससे पहले नई दिल्ली में सीरीफोर्ट सभागार में चीनी नव वर्ष के मौके पर देश का सबसे बड़ा सांस्कृतिक एवं ललित कला समूह एक अनूठी प्रस्तुति के साथ भारतीय दर्शकों के सामने आएगा। यह समूह 20 साल बाद भारत आ रहा है। इससे पहले 1990 में भारत-चीन राजनयिक संबंधों की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर इसी समूह ने यहां प्रस्तुति दी थी। ‘दि स्प्लेंडर ऑफ चाइना’ प्रस्तुति चीन के सफेद एवं नीले चीनी मिट्टी के रंगों, चाय की रस्म, बांस, सुलेख, चित्रकारी, पारंपरिक चीनी औषधि आदि पर आधारित है। इन तत्वों को निरुपित करने के लिए भावप्रण नृत्य का सहारा लिया गया है जिसमें कुलीनता एवं आधुनिकता दोनों का समावेश है। इन्हें दस अलग-अलग छोटी नृत्य प्रस्तुतियों की एक माला में पिरोया गया है और ये सभी प्रस्तुतियां एक काव्यधारा के रूप में प्रवाहित होती दिखेंगी।


निर्भया मामले में दोषियों का डेथ वारंट जारी

निर्भया मामले में दोषियों का डेथ वारंट जारी, इस दिन दी जाएगी फांसी


नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी कर दिया। चारों दोषियों को 22 जनवरी सुबह सात बजे फांसी दी जाएगी। अभियोजन पक्ष ने दोषियों की फांसी की सजा के लिए डेथ वारंज जारी करने की मांग की थी। कोर्ट दिल्ली सरकार की उस अर्जी पर सुनवाई कर रहा था, जिसमें निर्भया मामले में चारों दोषियों को फांसी देने के लिए 'डेथ वारंट' जारी करने का अनुरोध किया गया था। पटियाला हाउस कोर्ट के आज के फैसले पर पूरे देश की नजर लगी हुई है। 2012 के दिसंबर में देश की राजधानी दिल्ली में हुए गैंगरेप ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है।


मनाली की सड़कों पर जमकर बर्फबारी

हिमाचल प्रदेश में कई शहरों में हुई बर्फबारी मनाली के मालरोड़ पर चार इंच तक बर्फबारी सैलानियों में खुशी की लहर


अमित शर्मा


कुल्लू - मनाली। कुल्लू की पहाड़ियां बर्फ से सफेद हो गई है। मनाली के मालरोड़ पर चार इंच तक बर्फबारी रिकार्ड दर्ज की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कल शाम से बर्फबारी के कारण मनाली के नेहरूकुंड से लेकर सोलंगनाला तक बर्फ के बीच करीब 300 वाहन फंस गए हैं। हालांकि देर रात तक मनाली प्रशासन, पुलिस और रैस्क्यू दल ने वाहनों में फंसे सैलानियों को रैस्क्यू कर मनाली सुरक्षित पहुंचा दिया है, लेकिन वाहनों को रास्ते में ही छोड़ना पड़ा है। आज सुबह से प्रशासन ने नेहरूकुंड से आगे पर्यटकों के जाने पर रोक लगा दी है जिसके लिए यहां पुलिस ने बैरिकेट लगा दिए हैंं। रास्ते में फंसे वाहनों को निकालने का काम शुरू कर दिया है। नेहरूकुंड से लेकर सोलंगनाला के बीच फंसे वाहनों में हजारों की संख्या में पयर्टक फंस गए थे, जिन्हें कड़ी मशक्कत के बाद देर रात को मनाली पहुंचाया गया है। जबकि सोलंगनाला में 24 सेंटीमीटर से अधिक बर्फ की परत जम गई है।


पटरी से उतरी मालगाड़ी, मचा हड़कंप

कुराली में पटरी से उतरी मालगाड़ी, तो रेलवे अधिकारियों में मचा हड़कंप, मुरम्मत जारी


अमित शर्मा


कुराली-रोपड़। कुराली से गुजरती रेलवे लाइन पर रविवार को दोबारा मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरने से रेलवे विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। इसकी वजह से कई गाड़ियां आज भी प्रभावित हुईं और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। रेलवे के ट्रैक नंबर दो पर मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से नीचे उतरने के बाद दर्जनों मुलाजिमों ने कई घंटों की कार्रवाई के बाद उसे ठीक किया तो रविवार सुबह ट्रैक नंबर 3 पर फिर से दोबारा मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरने के कारण रेलवे के अधिकारियों के होश उड़ गए। मोरिंडा से रूपनगर को जा रही मालगाड़ी जैसे ही बडाली रोड ट्रैक बदलने वाले कांटे से गुजरी तो एक डिब्बा पटरी से नीचे उतर गया। इसी दौरान चालक ने रेलगाड़ी को रोक कर बड़ा हादसा होने से बचा लिया। ट्रैक बदलने वाले कांटे से लगभग एक ही जैसी दूरी पर ही जाकर दूसरी बार मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरने पर आशंका जताई जा रही है कि कांटे में कोई तकनीकी खराबी हो सकती है। दोबारा पटरी पर से नीचे उतरे डिब्बे को लेकर रेलवे के अंबाला डिविजन के अधिकारी और कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच गए। रेलवे की एआरटी की टीम भी मौके पर पहुंची और कार्रवाई में जुट गई। रेलवे के कर्मचारियों की टीम कई घंटे काम में जुटी रही। टीम ने नीचे उतरे डिब्बे को हाइड्रोलिक जैक मशीनों के साथ पटरी पर चढ़ाया। इस दौरान कई रेलगाड़ियां भी बाधित हुईं और लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। डीएमआर अंबाला जीएम सिंह ने भी मौके का जायजा लेते हुए जानकारी ली। इस हादसों को लेकर किसी भी अधिकारी ने इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी। अधिकारियों ने मीडिया से भी दूरी बनाई रखी।


हादसा और हत्या के बीच संयश बरकरार

सुखना लेक में मिला शव, परिजन भड़के- छह फुट का युवक कैसे डूब सकता, हादसा नहीं हत्या है।


अमित शर्मा 


चंडीगढ़। गत 3 अगस्त 2019 को सुखना लेक पर पांच दोस्तों के साथ जन्मदिन मनाने गए राम दरबार निवासी अज्जू की पैर फिसल कर गिरने से हुई मौत के मामले में अब नया मोड़ सामने आया है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि अज्जू की मौत पैर फिसलने से नहीं बल्कि उसकी हत्या की साजिश रची गई है। इस लेकर मृतक के परिजनों ने रविवार को रामदरबार से हल्लोमाजरा चौक तक रोष प्रदर्शन कर केस दर्ज करने की मांग की है। मामले को बढ़ता देखकर सेक्टर-31 थाना प्रभारी राजदीप सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और किसी तरह से मामला शांत करवाया। इस दौरान मृतक अजय कुमार उर्फ अज्जू के भाई अरुण कुमार ने आरोप लगाया कि उनके भाई की लंबाई करीब 6 फुट थी, लेकिन सुखना लेक पर लगे पुराने पीपल के पेड़ के पास जहां अजय की लाश मिली, वहां पर गहराई महज तीन से चार फुट है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर अजय की इतनी कम गहराई वाले पानी में डूबने से कैसे मौत हो सकती है। आरोप है कि दोस्त अजय के गिरने पर उसे बचाने की बजाय पुलिस को घटना के बारे में बताने क्यों पहुंच गए।परिवार उच्चाधिकारियों तक लगा चुका है गुहार
परिवार का कहना है कि उच्चाधिकारियों को शिकायत देकर इंसाफ की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन अब तक उनकी अर्जी को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया है। इसके विरोध में रविवार को परिजनों ने रामदरबार में स्थानीय निवासियों के साथ मिलकर रोष प्रदर्शन निकालते हुए आईजीपी से मामले में दखल देकर जांच कराने की मांग की है। बयान अलग-अलग मृतक के भाई ने बताया कि अजय अपने 5 दोस्तों के साथ सुखना लेक पर जन्मदिन मनाने के लिए गया था। उसके दोस्तों ने भी पुलिस को यही बयान दिया है। पार्टी के दौरान सीढ़ियों के पास मोबाइल फोन पर बात कर रहे अजय का पैर फिसला और वह लेक में गिर गया। इस वजह से उसकी मौत हो गई, लेकिन जब उसके साथ आए दोस्तों में दो लड़कियों और लड़कों के एक-एक कर बयान दर्ज कराए जाने लगे तो सामने आया कि किसी को यह तक नहीं पता कि जन्मदिन किसका है। अलग-अलग बयानों से परिजनों को आशंका है कि अज्जू की मौत हादसे में नहीं बल्कि सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या है।


वीजा के नाम पर लाखों की ठगी,केस दर्ज

कनाडा का वीजा लगवाने के नाम पर 3.80 लाख ठगे, केस दर्ज


अमित शर्मा


खरड़। कनाडा भेजने के नाम पर एक महिला से 3.80 लाख रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।
शमहिंदर कौर निवासी खरड़ ने बताया कि दो ट्रैवल एजेंट मनप्रीत सिंह तथा रविंदर सिंह ने पिछले साल उसे कनाडा का वीजा लगवाने का झांसा देकर उससे अलग-अलग तारीखों में 3.80 लाख रुपये लिए थे। इसके अलावापासपोर्ट समेत अन्य दस्तावेज भी लिए थे। इनमें से एक आरोपी खुद को पंजाब के एक मंत्री का नजदीकी बताता था। आरोपियों ने न तो उसका कनाडा का वीजा लगवाया और न ही उसके पैसे लौटाए। उनके खिलाफ धारा 406, 420, 120-बी आईपीसी तथा पंजाब ट्रैवलर्ज प्रोफेशनज रेगुलेशन एक्ट-2013 के अधीन मामला दर्ज किया गया है।


3 वन्य जीव तस्करों को किया गिरफ्तार

देवबंद पुलिस व स्वाट की सयुंक्त टीम ने वन्य जीव तस्कर की टीम को तेंदुए की खाल सहित किया गिरफ्तार
सहारनपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी० के निर्देशानुसार जनपद में चलाए जा रहे अपराधियों के धरपकड़ अभियान के अंतर्गत अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण व क्षेत्राधिकारी देवबंद के कुशल नेतृत्व में थाना देवबंद प्रभारी यज्ञदत्त शर्मा ने अपनी व स्वाट टीम के साथ मिलकर 3 वन्य जीव तस्करों राकेश धीमान पुत्र कबूल सिंह निवासी टीचर्स कॉलोनी देवबंद,अमित उर्फ अन्नू पुत्र सुरेंद्र निवासी कायस्थवाड़ा निकट शिवचौक देवबंद,अभय टण्डन उर्फ तन्नू पुत्र सत्येंद्र निवासी कायस्थवाड़ा निकट शिवचोंक देवबंद को एक मोटरसाइकिल व तेन्दुए की खाल सहित पकड़ने में सफलता हासिल की।
रिपोर्ट:अंकुर गर्ग/साजिद खान


जेएनयू हिंसा में छात्र भी शामिल, रिपोर्ट

नई दिल्ली। लेफ्ट और एबीवीपी के लोग इस मामले में एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। लेकिन मीडिया को कुछ तस्वीरें मिली हैं जिनमें एबीवीपी से जुड़े लोग भीड़ के साथ दिखाई पड़ रहे हैं। पहली तस्वीर नीचे है, जिसमें दांयी तरफ एक शख्स हाथ में डंडा लिए नजर आ रहा है। जानकारी के मुताबिक यह ABVP का विकास पटेल है जो JNU का छात्र रहा है। इसने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर भी यह परिचय लिखा है और दावा किया है कि वो जेएनयू की ABVP की एग्जिक्यूटिव कमेटी का सदस्य है। पटेल के हाथ में ठीक वैसा ही डंडा है जैसा दिल्ली पुलिस को इस्तेमाल के लिए दिया जाता है। इसी तस्वीर के केंद्र में एक शख्स खड़ा है, जिसने नीले और पीले रंग की स्वेट शर्ट पहनी हुई है। इसका नाम शिव पूजन मंडल बताया जा रहा है जोकि बीए फर्स्ट इयर का छात्र है और ABVP से भी जुड़ा हुआ है। विकास पटेल (दांयी तरफ) और शिव पूजन मंडल (बीच में) हाथों में डंडे लिए हुए एक अन्य तस्वीर में मंडल उन लोगों के हुजुम के साथ नजर आ रहा है जोकि लाठी-डंडों से लैस होकर जेएनयू कैंपस में दाखिल हो रहे थे।


भाजपा का कैराना में जन जागरण का प्रारंभ

शामली-कैराना। प्रदेश सरकार से जिला प्रभारी मंत्री अजीत सिंह पाल ने कैराना में भाजपा के जनजागरण अभियान कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने कई गांवों का दौरा करते हुए लोगों से संवाद किया तथा उन्हें सीएए पर किसी भी भ्रम व अफवाहों से दूर रहने का आह्वान किया गया। सोमवार को प्रदेश सरकार के जिला प्रभारी मंत्री अजीत सिंह पाल ने कैराना में भाजपा के नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019 जनजागरण अभियान कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने गांव डुंडूखेड़ा, ऊंचागांव, झाड़खेड़ी, तितरवाड़ा व सहपत में कार्यक्रम के दौरान लोगों से संवाद किया। जिला प्रभारी मंत्री अजीत सिंह पाल ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून देश के किसी भी धर्म, जाति व नागरिक के विरूद्ध नहीं है। को लेकर कई तरह की अफवाहें फैलाई जा रही है। ऐसे लोग सामाजिक नहीं हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि जनता को सूझ-बूझ का परिचय देते हुए किसी भी भ्रम से दूर रहना चाहिए तथा भाजपा के जनजागरण अभियान से जुड़कर लोगों को जागरूक करना चाहिए। वरिष्ठ भाजपा नेत्री मृगांका सिंह ने कहा कि भाजपा सर्वसमाज को साथ लेकर चलती है। सीएए में कोई भेदभाव नहीं किया गया है और न ही किसी समाज को टारगेट पर लिया है। उन्होंने लोगों से जागरूक होने का आह्वान किया है। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर, मनीष चौहान, कार्यक्रम जिला संयोजक दामोदर सैनी, कंडेला मंडल अध्यक्ष जगदीश चौहान, भूपेंद्र शर्मा, रोशन प्रधान, राजदीप चौहान आदि मौजूद रहे।


छत्तीसगढ़ भवन में श्रद्धालु करेंगे आराम

रायपुर। शिर्डी के सांई बाबा के दर्शन के लिए प्रतिदिन छत्तीसगढ़ से यात्रियों का काफिला महाराष्ट्र जाता है। श्रद्धालुओं की रूकने की व्यवस्था नहीं होने के कारण आम श्रद्धालु वहां पर आवास व्यवस्था के लिए भटकता रहा है। इसे ध्यान में रखकर छत्तीसगढ़ शासन द्वारा छत्तीसगढ़ भवन शिर्डी में जल्द से जल्द बनाये जाने का निर्णय लिया गया है। आम श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए शीघ्र ही छत्तीसगढ़ भवन के लिए भूमि पूजन की तिथि घोषित की जाएगी। 


छत्तीसगढ़ सरकार साईं बाबा की नगरी शिरडी महाराष्ट्र में छत्तीसगढ़ भवन बनाने पर विचार कर रही है इसकी संभावना तलाशने पर्यटन मंत्री तामसू साहू बुधवार को शिर्डी के दौरे पर जा रहे हैं साहू वहां शिर्डी में जिला कलेक्ट्रेट एवं मंदिर ट्रस्ट से छत्तीसगढ़ भवन निर्माण के संबंध में चर्चा करेंगे प्रस्तावित द्वारा कार्यक्रम के अनुसार साहू बुधवार को 9:00 बजे विशेष विमान से प्रस्थान कर 11:00 बजे मुंबई महाराष्ट्र पहुंचेंगे इसके बाद कार से शिरडी जाएंगे वहां श्री साईं बाबा का दर्शन करेंगे साथ ही छत्तीसगढ़ भवन को लेकर स्थानीय प्रशासन से बातचीत करेंगे साहू शिर्डी से रात्रि 8:00 बजे रायपुर लौटेंगे।


एक ही फंदे पर झूल गए पति-पत्नी

धमतरी। जिले के अर्जुनी थाना क्षेत्र के डोड़की गांव में एक दंपत्ति ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। दोनों की लाश पुलिस ने उसके कमरे से बरामद की है। इधर घटना से गांव में सनसनी फैल गई। पुलिस ने मामला दर्ज किया है। डोड़की गांव में उस वक्त सनसनी फैल गई जब लोगों को पता चला कि पति पत्नी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। दोनों की लाश एक ही फंदे पर लटक रही थी। रहवासियों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। 


जिसके बाद मौके पर पहुंची पलिस ने शव को बरामद कर पीएम के लिए भेजा। वहीं, अभी तक खुदकुशी के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस इस मामले में घरवालों और उसके परिचितों से पूछताछ कर रही है।


अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...