सोमवार, 19 जुलाई 2021

वैश्विक साइबर हैकिंग अभियान का आरोप लगाया

वाशिंगटन डीसी। संयुक्त राज्य अमेरिका और सहयोगियों के गठबंधन ने सोमवार को चीन के राज्य सुरक्षा मंत्रालय पर एक वैश्विक साइबर हैकिंग अभियान का आरोप लगाया है। विशेष रूप से इस साल की शुरुआत में बीजिंग की ओर से काम करने वाले हैकर्स के लिए एक बड़े माइक्रोसॉफ्ट हमले का खुलासा किया। सोमवार सुबह जारी व्हाइट हाउस की फैक्ट शीट के अनुसार चीन के साथ तनाव का एक नया क्षेत्र खुल गया है। संयुक्त राज्य अमेरिका आरोप लगाने के लिए नाटो, यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, जापान, न्यूजीलैंड और कनाडा के साथ खड़ा हो गया है।

अमेरिकी वरिष्ठ प्रशासन अधिकारी ने घोषणा से पहले संवाददाताओं से कहा, "संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगी और साझेदार दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधियों के पीआरसी (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के) पैटर्न के और विवरण को उजागर कर रहे हैं और इसका मुकाबला करने के लिए आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।"

हादसा: टैंकर से टकराई बस, 3 लोगों की मौंत हुईं

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के टप्पल यमुना एक्सप्रेस वे आज हुए हादसे में एक महिला समेत तीन लोगों की मृत्यु हो गई, जबकि अन्य कई घायल हो गये।पुलिस सूत्रों के अनुसार आज सुबह भेड़ व बकरों से लदा कैंटर अलीगढ़ के टप्पल यमुना एक्सप्रेस वे पर पलट गया। हादसे के बाद कैंटर चालक मेरठ निवासी भूरा सड़क पर उतर कर वाहन की जांच कर रहा था। उसी समय मथुरा की तरफ से आ रही तेज रफ्तार स्लीपर बस पलटे कैंटर से टकरा गई और जिससे ट्रक चालक मेरठ निवासी भूरा की मौके पर ही मृत्यु हो गई।उन्होंने बताया कुछ देर बाद मथुरा की तरफ से दूसरी स्लीपर बस ने पलटे कैंटर में टक्कर मार दी और पलट गई। 

जिससे भूरा के साथी बुलंदशहर निवासी नन्हे की भी बस की चपेट में आने से मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया बस पलटने के कारण उसपर सवार बिहार के दरभंगा निवासी सुमन यादव की पत्नी मंजू की भी मृत्यु हो गई। हादसे में गंभीर रुप से घायल चार लोगों को बुलंदशहर व जेवर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

लालशा का नेतृत्व, जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

कौशाम्बी। मूरतगंज ब्लाक के ग्राम सभा मलाक नागर में जिला पेयजल समिति के अंतर्गत मलाक नागर में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन ग्राम प्रधान लालता प्रशाद के नेतृत्व में किया गया। जल निगम कौशाम्बी के लीडर मयंक मिश्रा ने ग्रामवासियो को बताया कि आई. एस.ए सपोर्ट एजेंसी -ग्रामीण शोध संस्थान के तहत जिला के समस्त ग्रामो में पानी टंकी लगा कर पानी की सप्लाई दी जाएगी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत अग्रिम 10 वर्ष तक कोई शुल्क नही लिया जायेगा। 
इस योजना के तहत प्रोजेक्ट कवाडेंटर दीपक पांडेय ने ग्रामीणों को बताया कि ग्राम में लगी पानी टंकी में एक आपरेटर की नियुक्त की जायेगी। जिससे आने वाले समय में पानी की समस्या से निदान पाया जा सके। इस कार्यक्रम में दिलीप कुमार,सोनेलाल, विजय कुमार, जयसिंह ,गुलाब सिंह सहित सैकड़ो लोग उपस्थित रहें।

खूबचंद की मूर्ति पर माल्यार्पण कर वृक्षारोपण किया

रायपुर। राजधानी से सटे ग्राम पथरी में आज डॉ. खूबचंद बघेल के जयंती के अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित हुए कार्यक्रम में धरसीवां विधायक अनिता योगेंद्र शर्मा ने डॉ. खूबचंद बघेल के मूर्ति पर माल्यार्पण कर वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर विधायक अनिता शर्मा ने डॉ. खूबचंद बघेल के बारे में विस्तार से ग्राम वाशियों को बताया विधायक श्रीमती शर्मा ने कहा कि डॉ बघेल पेशे से डॉक्टर होने के बावजूद छत्तीसगढ़ को राज्य बनाने में बहुत बड़ा योगदान है।
उनका जीवन देश प्रेम की भावना से ओत-प्रोत था और छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के प्रथम स्वप्नदृष्टा थे। हर छत्तीसगढ़िया के हित को पूरा करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ का निर्माण उनका महान लक्ष्य था। वे कुशल राजनीतिज्ञ के साथ-साथ साहित्यकार, समाज सुधारक और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी थे। उन्होंने कहा कि डाॅ.खूबचंद बघेल की जीवन यात्रा कठिन संघर्ष से भरी रही। 
वे समाज में अन्याय, अत्याचार तथा शोषण के खिलाफ जीवनभर लड़ाई लड़ते रहे। उन्होंने समाज में ऊंच-नीच के भेदभाव को भी नकारा और समाज को एकसूत्र में पिरोने के लिए ’पंक्ति तोड़ो-समाज जोड़ो’ का महत्वपूर्ण नारा दिया। इस तरह कई रचनात्मक और किसान तथा मजदूर हितैषी गतिविधियों से जुड़कर जीवन के अंतिम समय तक वे छत्तीसगढ़ की सेवा करते रहे। उनके योगदान को छत्तीसगढ़ में कभी भुलाया नही जा सकता और यह हमेशा लोगों के स्मरण में रहेगा। 

मौलाना अतीक से अपनी टीम के साथ मुलाकात की

सत्येंद्र पंवार          
रायपुर। बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं कार्यकारी अध्यक्ष पश्चिमांचल जोन प्रभारी एडवोकेट मुकेश कुमार एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे, प्रदेश सचिव अर्जुनेश कुमार, रायपुर बड़े हजरत मौलाना अतीक अहमद साहब से अपनी टीम के साथ मुलाकात की।
मौलाना अतीक अहमद साहब ने बहुजन मुक्ति पार्टी के कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर कहा कि आज भारत देश को इस विचारधारा की सबसे अहम जरूरत है। कुछ आतंकवादी देश द्रोही विचार धारा के आपसी सौहार्द प्यार मोहब्बत को खत्म करने पर तुले हुए हैं।
बहुजन मुक्ति पार्टी समानता समता स्वतंत्रता बंधुता न्याय मानवता इंसानियत के लिए काम कर रही है और बहुजन मुक्ति पार्टी मूल निवासियों को मनुवाद से आजाद कराने के लिए लगी हुई है और इस्लाम मजहब की दरकार भी यही है। इन्ही मुद्दों को लेकर आगे बढ़ रही है। यही आज नहीं हमेशा हमेशा के लिए समाज को जरूरत है। मुकेश कुमार आर डी गादरे अर्जुनेश कुमार इन्जि. पी सिंह आवेश अहमद अशफाक खान ने मुक्ति पार्टी की विचारधारा से अवगत कराया और हजरत ने पूरी तसल्ली से जानकारी ली और बहुजन मुक्ति पार्टी एवं मूल निवासियों के लिए भारतीय संविधान को बचाने की मुहिम को तेज करने का भी सभी को साथ देने के लिए आह्वान किया। 
भारत देश में मूल निवासियों की एकता बनने संगठन कामयाब करने के लिए एक दूसरे का सहयोग देने का भी मशवरा दिया और आज देश के हालात को देखते हुए भारतीय समाज की दुर्दशा पर अफसोस जताया। बहुजन मुक्ति पार्टी के उद्देश्यों को सुनकर बहुत खुश हुए और कहा कि आज भारत को बहुजन मुक्ति पार्टी की अहम जरूरत है और इसका हर वर्ग को साथ देना चाहिए आर डी गादरे ने कहा कि भारतीय मुस्लिमों को हिंदुस्तान कहने से गुरेज करना चाहिए क्योंकि भारत देश में रहने वाले भारतीय कहलाते हैं। इंडिया इंग्लिश भाषा का वर्ड है। इंडिया में रहने वाले इंडियन कहलाते हैं। भारतीय संविधान में इंडिया दैट इज भारत लिखा हुआ है। 
लेकिन हमारा मुस्लिम समाज अपने पैरों पर खुद कुल्हाड़ी मार रहा है। हिंदुस्तान कह के आर एस एस की नींव मजबूत कर रहा है जो बीजेपी कांग्रेस और उसके सहयोगी राजनीतिक पार्टियों का मिशन है। 
मुस्लिम समाज को यह चाहिए कि वह इंडिया या भारत कि अपने देश का नाम अपनी जबान पर न ले और हिंदुस्तान कहने से गुरेज करें। हजरत ने बहुजन मूल निवासियों मुस्लिम सिख ईसाई बौद्ध लिंगायत सभी मूल निवासियों के लिए दुआएं की मोहम्मद साबिर जाकिर अहमद, सतवीर गौतम, आवेश कुलवंत सिंह, मोहन जाटव, मनमोहन गुर्जर चौधरी, इसराइल महमूद खान, ईशांत मुकेश, लवलेश कमल कांत, प्रजापति सतबीर कश्यप, ओम वीर, सत्येंद्र सुरेंद्र आदि लोग मौजूद थे।

मुंबई: घरेलू स्तर पर सोने-चांदी के भाव टूटें, रिकॉर्ड

कविता गर्ग            

मुंबई। विदेशों में पीली धातु में रही नरमी के बीच घरेलू स्तर पर भी सोमवार सोने और चांदी के भाव टूट गये। एमसीएक्स वायदा बाजार में सोना 78 रुपये यानी 0.16 प्रतिशत फिसलकर 47,975 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। सोना मिनी भी 91 रुपये की गिरावट के साथ 47,949 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा। चांदी 531 रुपये यानी 0.78 प्रतिशत टूटकर 67,788 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव बिकी। चांदी मिनी भी 517 रुपये कमजोर हुई और 68,036 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गई। 

अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना हाजिर आज आठ डॉलर की गिरावट के साथ 1,804.30 डॉलर प्रति औंस रह गया। अगस्त का अमेरिकी सोना वायदा भी 11.20 डॉलर फिसलकर 1,803.80 डॉलर प्रति औंस बोला गया। चांदी हाजिर भी 0.28 डॉलर टूटकर 25.38 डॉलर प्रति औंस पर रही।

ईमारत ढहने से 4-5 लोगों के दबे होने की आशंका

राणा ओबराय           
गुरूग्राम। हरियाणा में यहां फर्रूखनगर खंड के ख्वासपुर गांव में रविवार देर रात कारगो डिलक्स कम्पनी परिसर में तीन मंजिला ईमारत ढहने से इसके मलबे में 4-5 लोगों के दबे होने की आशंका है। अभी तक एक व्यक्ति को जिंदा निकाला गया है।
पुलिस ने बताया कि ईमारत में कुछ श्रमिक रह रहे थे। सिक्योरिटी गार्ड के अनुसार ईमारत के मलबे में चार-पांच लोगों के दबे होने की आशंका है। जिला प्रशासन की टीमों ने मौके पर पहुंच कर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है। एक व्यक्ति को जिंदा निकाल लिया गया है। पटौदी के विधायक सत्य प्रकाश जरावता, एसडीएम प्रदीप कुमार सहित अग्नि शमन विभाग की टीमें, एम्बूलेंस और डॉक्टर भी मौके पर मौजूद है। राष्ट्रीय आपदा राहत बल(एनडीआरएफ) की टीम भी मौके पर पहुंच गई है। गुरुग्राम के उपायुक्त डॉक्टर यश गर्ग ने कहा कि घटना का पता चलते ही राहत और बचाव के लिए टीमों को तत्काल मौके पर भेजा गया है।

पीएम के पोस्टर लगाने के लिए गिरफ्तार किया: एससी

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को एक याचिकाकर्ता से कहा कि वह कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कथित तौर पर निंदात्मक पोस्टर लगाने के कारण गिरफ्तार लोगों और ऐसे मामलों के बारे में शीर्ष न्यायालय को जानकारी दे।
न्यायालय ने कहा कि वह पुलिस को केंद्र की टीकाकरण नीति की आलोचना करने वाले पोस्टर लगाने पर प्राथमिकी दर्ज नहीं करने के संबंध में व्यापक आदेश नहीं दे सकता है। 
न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एमआर शाह की पीठ ने याचिकाकर्ता प्रदीप कुमार यादव को ऐसे मामलों की जानकारी जुटाने के लिए एक हफ्ते का वक्त दिया और कहा कि अखबारों की खबरों पर निर्भर रहने के बजाए। उन्हें इस संबंध में जानकारी स्वयं एकत्रित करनी चाहिए थी।
यादव ने कहा कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और लक्षद्वीप में ऐसे मामले दर्ज किए गए हैं और पुलिस को ऐसे मामलों में प्राथमिकी की प्रति याचिकाकर्ता को देने का निर्देश दिया जाए। इस पर पीठ ने कहा, ”अखबार हम भी पढ़ते हैं। लक्षद्वीप का विवाद कुछ अलग था। उसमें महिला को केरल उच्च न्यायालय ने अग्रिम जमानत दे दी है। इस मामले में उस विवाद को लाने की जरूरत नहीं है। दिल्ली और अन्य स्थानों पर कौन से मामले दर्ज हुए हैं, आप उनके बारे में बताएं। न्यायालय ने पुलिस के लिए निर्देश जारी करने से इनकार करते हुए कहा कि यह उन्हें नोटिस जारी करने के समान होगा। इसके साथ ही न्यायालय ने मामले को अगले हफ्ते सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया।
याचिकाकर्ता ने मांग की है कि कोविड रोधी टीकाकरण के सिलसिले में कथित तौर पर मोदी की आलोचना करने वाले पोस्टर लगाने के कारण दिल्ली पुलिस द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकियों को रद्द किया जाए। याचिका में कहा गया कि 19 वर्षीय युवक, 30 वर्षीय ई-रिक्शा चालक और 61 वर्षीय कारीगर समेत 25 लोगों को दिल्ली पुलिस ने टीकाकरण अभियान के सिलसिले में कथित तौर पर प्रधानमंत्री के निंदात्मक पोस्टर लगाने के लिए गिरफ्तार किया है।

नेता सिद्धू को पीपीसीसी का प्रमुख नियुक्त किया

राणा ओबराय                  
चंडीगढ़। चंडीगढ़ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी की पंजाब इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने पर शीर्ष नेतृत्व का आभार जताते हुए सोमवार को कहा कि वह राज्य में पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए और अधिक काम करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू को रविवार रात पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) का प्रमुख नियुक्त किया। 
सिद्धू ने सुनील जाखड़ की जगह ली है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के विरोध के बावजूद सिद्धू को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
सिद्धू ने ट्वीट किया, ”आज से हम सभी को एक ही सपने के लिए आगे बढ़कर काम करना और पंजाब में कांग्रेस के अजेय किले को मजबूत करना है। मैं माननीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का विशेष रूप से आभारी हूं कि उन्होंने मुझ पर विश्वास किया और मुझे यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी।पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष सिद्धू ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘जीतेगा पंजाब’ के मिशन को पूरा करने के लिए मैं पंजाब में कांग्रेस परिवार के प्रत्येक सदस्य के साथ मिलकर काम करूंगा। हमारा उद्देश्य कांग्रेस आलाकमान के 18 सूत्रीय एजेंडे और पंजाब मॉडल के जरिए लोगों की शक्ति को उन्हें वापस लौटाना है। मेरा सफर अभी शुरू हुआ है।
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अगले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सिद्धू के साथ चार कार्यकारी अध्यक्षों की भी नियुक्ति की है। ये नियुक्तियां पार्टी में आंतरिक कलह के बाद हुईं है जिससे पार्टी की प्रदेश इकाई सिंह और सिद्धू के प्रति निष्ठा रखने वाले गुटों में विभाजित हो गई।पंजाब इकाई के नये कार्यकारी अध्यक्ष हैं। संगत सिंह गिलजियां, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल, कुलजीत सिंह नागरा। ये सभी विभिन्न क्षेत्रों एवं जातियों का प्रतिनिधित्व करते हैं।
सिद्धू ने टि्वटर पर अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, ”केवल कुछ लोगों के बीच नहीं बल्कि सभी के साथ समृद्धि, विशेषाधिकार और स्वतंत्रता साझा करने के लिए मेरे पिता जोकि कांग्रेस के एक कार्यकर्ता थे, उन्होंने एक शाही जिंदगी छोड़कर देश के स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा लिया। उन्हें उनके देशभक्ति कार्यों के लिए मौत की सजा दी गई थी, किंग्स एमनेस्टी से राहत मिली और वह डीसीसी अध्यक्ष, विधायक, एमएलसी और महाधिवक्ता बने।

नकवी को राज्यसभा का उप नेता नियुक्त किया गया

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को राज्यसभा का उप नेता नियुक्त किया गया है। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। माना जाता है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता नकवी संसदीय मामलों पर अच्छी पकड़ रखते हैं। वह विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ अच्छे संबंध एवं समन्वय के लिए भी जाने जाते हैं।
इससे पहले उच्च सदन में उप नेता की जिम्मेदारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के पास थी जिन्हें पिछले दिनों राज्यसभा का नया नेता नियुक्त किया गया है। गोयल से पहले थावर चंद गहलोत नेता सदन थे। हालांकि मंत्रिपरिषद विस्तार से ठीक पहले उन्हें कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया।

इस्लामिक सेन्टर ऑफ इंडिया ने एडवाइजरी जारी की

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। कोविड-19 को और अधिक फैलने से रोकने के लिए ईद उल अज़हा के अवसर पर इस्लामिक सेन्टर आफ इण्डिया फरंगी महल एडवाइजरी जारी की। अन्तर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य संगठन की सुरक्षा के उपायों और सरकार के बन्दोबस्त के तहत ये एडवाइजरी बनाई गई है। 
इस्लामिक सेंटर के चेयरमैन मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली बताया की ईद के दिन गुस्ल करना, अच्छे कपड़े पहनना, खुशबू तेल, और सुर्मा लगाना सुन्नत है। इस लिए इन चीज़ों का एहतिमाम किया जाए। ईदगाहों और मस्जिदों में ईद उल अज़हा की जमात में प्रशासन की गाइड लाइन के अनुसार सिर्फ 50 लोग ही नमाज़ अदा करें। नमाज़ में भी मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखें। 
उन्होंने बताया कि ईद की नमाज़ के बाद खुतबा पढऩा सुन्नत है। अगर किसी को खुतबा याद न हो और खुतबे की कोई किताब भी न हो तो वह पहले खुतबे में सूरह फातिहा और सूरह अखलास़ पढ़े और दूसरे खुतबे में दुरूद शरीफ के साथ कोई दुआ अरबी में पढ़े।

पश्चिम बंगाल के एक सांसद को 'बांग्लादेशी' बताया

अकांशु उपाध्याय       
 नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए पश्चिम बंगाल के एक सांसद को सोमवार को कथित तौर पर ”बांग्लादेशी” बताया और इस बारे में सरकार से स्पष्टीकरण की मांग की। इस मुद्दे पर हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।
दो बार के स्थगन के बाद दो बजे जैसे ही सदन की कार्यवाही आरंभ हुई, तृणमूल कांग्रेस के सुखेंदु शेखर रॉय ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी मंत्रिपरिषद के जिन सहयोगियों की सूची आज सदन के पटल पर रखी है ”उनमें एक राज्यमंत्री कथित तौर पर बांग्लादेशी” हैं।
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में एक नोटिस दिया है। खड़गे ने कहा, ”वह बांग्लादेशी हैं या नहीं, यह जानने को मुझे पूरा अधिकार है।” 
सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने इसका कड़ा विरोध किया। सदन के नेता पीयूष गोयल ने विपक्षी सदस्यों के आरोपों को ”बेबुनियाद” करार दिया और इसमें सच्चाई नहीं होने का दावा करते हुए उपसभापति हरिवंश से इसे सदन की कार्यवाही से बाहर निकालने का आग्रह किया।
उन्होंने कहा, ”जिस प्रकार की बेबुनियाद बातें सदन में रखने की कोशिश की जा रही है, उसकी हम घोर निंदा करते हैं। इसमें सत्यता नहीं है।” उन्होंने विपक्षी सदस्यों पर समाज के एक वर्ग विशेष को अपमानित करने का आरोप लगाया और उपसभापति से विपक्षी सदस्यों द्वारा उठाए गए विषय को कार्यवाही में शामिल नहीं करने का अनुरोध किया। इसके जवाब में हरिवंश ने कहा, ”इसका परीक्षण किया जाएगा।

'किसानों' का एक जत्था प्रतिदिन संसद मार्च करेगा

अश्वनी उपाध्याय               
गाजियाबाद। मानसून सत्र के दौरान रोजाना किसानों का एक जत्था संसद मार्च करेगा। हर जत्थे में दो सौ किसान शामिल होंगे। संयुक्त मोर्चा में शामिल सभी 40 किसान संगठनों की संसद में मार्च में बराबर की हिस्सेदारी होगी। हर संगठन से रोजाना पांच सदस्य संसद मार्च में शामिल होंगे। इन पांच सदस्यों में एक टीम लीडर होगा जो अपनी टीम के प्रति पूरी तरह जबाबदेह और उत्तरदायी होगा।
संसद मार्च के लिए जाने वाले सत्याग्रहियों का चुनाव पूरी तरह जांच परख के बाद किया जा रहा है। इसके लिए बाकायदा आधार कार्ड के आधार पर विशेष पहचान पत्र जारी किए जा रहे हैं। इस संबंध में पूरी जानकारी दिल्ली पुलिस के साथ बैठक में उपलब्ध करा दी गई है। मानसून सत्र के दौरान रोजाना दो सौ किसानों का जत्था संसद पर पहुंचेगा और शाम को वापस लौट जाएगा। अगले दिन दूसरा जत्था संसद पहुंचेगा।

बकरीद के मौके पर लॉकडाउन में ढील देने का ऐलान

तिरूवंतपुरम। कोरोना संक्रमण का खतरा न टलने के बावजूद केरल सरकार ने बकरीद के मौके पर लॉकडाउन में ढील देने का ऐलान किया है। केरल सरकार के इस फैसले से इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आपत्ति दर्ज की है और उसने साफ कहा है कि अगर केरल सरकार ने बकरीद पर लॉकडाउन में रियायत देने का आदेश वापस नहीं लिया तो वह सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने को मजबूर होगा। बता दें कि केरल अभी भी उन राज्यों में से एक है जहां हर दिन कोरोना के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हो रहे हैं।
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने अपने बयान में कहाकोरोना मामलों में इजाफे के बीच केरल सरकार का इस तरह का फैसला दुखी करने वाला है। जब जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड जैसे कई उत्तरी राज्यों ने सार्वजनिक सुरक्षा के मद्देनजर परंपरिक और लोकप्रिय तीर्थ यात्राओं को रोक दिया है, तो यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि केरल के विद्वान राज्य ने ऐसा निर्णय लिया है। गौरतलब है कि केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार को ऐलान किया था कि बकरीद के मौके पर राज्य में लगे लॉकडाउन के प्रतिबंधों में छूट दी जाएगी। 
इस बुधवार को होने वाली ईद के लिए रविवार से यह छूट तीन दिन के लिए दी गई है। इस दौरान कपड़े, जूते-चप्पल की दुकान, ज्वैलरी की दुकान, गिफ्ट आइटम की दुकान, घर के सामान और इलेक्ट्रॉनिक्स स्टोर और रिपेयरिंग सेंटर को खोलने की मंजूरी दी गई है। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने फिल्मों की शूटिंग और पूजा स्थलों को भी लॉकडाउन संबंधित छूट देने की घोषणा की है। इसको लेकर विजयन ने तर्क दिया कि प्रतिबंध चाहे कितना भी सीमित क्यों न हो, बड़ी आर्थिक और सामाजिक समस्याएं पैदा कर रहे हैं और इसलिए कोरोना के रोजाना सामने आ रहे मामलों को ध्यान में रखते हुए कुछ रियायतें दी जा रही है।

रेप के आरोपों की जांच अधिकारी से रिपोर्ट मांगीं

तिरुवनंतपुरम। केरल उच्च न्यायालय ने ओलंपिक खिलाड़ी मयूखा जॉनी की मित्र के साथ हुए बलात्कार के आरोपों की जांच कर रहे अधिकारी से सोमवार को रिपोर्ट मांगी। जॉनी की मित्र ने आरोप लगाया है कि एक व्यक्ति ने उसका बलात्कार किया और उसकी नग्न तस्वीरें खींची तथा उसे ब्लैकमेल करने के लिए इन तस्वीरों का इस्तेमाल किया। पीड़िता के वकील ने आरोप लगाया कि जांच आगे नहीं बढ़ी है। 
जबकि मामले में लोक अभियोजक ने तर्क दिया कि राज्य पुलिस प्रमुख के आदेश पर अपराध शाखा को हाल में जांच सौंपी गई, जिसके बाद न्यायमूर्ति शिरसी वी ने जांच अधिकारी को रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया। लोक अभियोजक ने कहा कि यह मामला अपराध शाखा को पांच जुलाई को सौंपा गया और उसने आठ जुलाई को जांच अपने हाथ में ली तथा पीड़िता, उसकी मां और 2016 में हुई घटना के बाद पीड़िता की जांच करने वाले चिकित्सक के बयान दर्ज करना शुरू किया। उन्होंने बताया कि अदालत ने अपराध से जुड़े कई मोबाइल फोन जब्त किए हैं और अपराध शाखा ने 18 जुलाई को मामले की जांच के लिए नए विशेष दल का गठन किया है।
अदालत ने लोक अभियोजक से इन सब बातों को रिपोर्ट में शामिल करने का निर्देश दिया। इस मामले में अब 30 जुलाई को आगे सुनवाई होगी। जॉनी ने पिछले साल एक संवाददाता सम्मेलन में इस मामले की जांच को लेकर केरल पुलिस और राज्य महिला आयोग की एक पूर्व अधिकारी के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे।
उन्होंने आरोप लगाया था कि उनकी दोस्त के साथ चुंगथ जॉनसन नाम के एक व्यक्ति ने बलात्कार किया और उसकी नग्न तस्वीरें लेकर उनका इस्तेमाल उसे धमकाने के लिए किया। जॉनी ने आरोप लगाया था कि शुरुआत में सक्रियता से कदम उठाने वाली पुलिस बाद में आरोपी के पक्ष में उच्च स्तरीय प्रभावशाली लोगों के हस्तक्षेप के चलते निष्क्रिय हो गयी। उन्होंने आरोप लगाया था कि उनकी मित्र को धमकाया जा रहा है।

संक्रमाकम स्वरूप सामने आया तो मामले बढ़ जाएंगे

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। देश में कोविड-19 की दूसरी लहर के लिए कोरोना वायरस का डेल्टा स्वरूप मुख्य रूप से जिम्मेदार था। जिसके कारण संक्रमण के 80 प्रतिशत से ज्यादा नए मामले सामने आए। ‘सार्स-सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम’ के सह अध्यक्ष डॉ एन के अरोड़ा ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अगर वायरस का कोई अधिक संक्रामक स्वरूप आता है तो संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। वायरस का डेल्टा स्वरूप, अपने पूर्ववर्ती अल्फा स्वरूप से 40-60 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक है और ब्रिटेन, अमेरिका तथा सिंगापुर समेत 80 से ज्यादा देशों में पहले ही फैल चुका है।
स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, डॉ अरोड़ा ने कहा कि ‘डेल्टा प्लस’ स्वरूप (एवाई.1 और एवाई.2) अब तक महाराष्ट्र, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश समेत 11 राज्यों में सामने आए 55-60 मामलों में पाया गया है। उन्होंने कहा कि अभी वायरस के इस स्वरूप की संक्रामक क्षमता और टीके के इस पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने कहा, “कोविड-19 के ‘बी1.617.2’ स्वरूप को डेल्टा वायरस के नाम से जाना जाता है। पहली बार भारत में अक्टूबर 2020 में इसका पता चला था। देश में दूसरी लहर के लिए यह मुख्य रूप से जिम्मेदार है। आज कोविड-19 के 80 प्रतिशत से ज्यादा मामले इसके कारण सामने आ रहे हैं। वायरस का यह स्वरूप यह महाराष्ट्र में पहली बार सामने आया था और पश्चिमी राज्यों से होते हुए उत्तर की ओर बढ़ा जिसके बाद मध्य और पूर्वी भारत में इसके संक्रमण के मामले सामने आए। डॉ अरोड़ा ने कहा, “मानव कोशिका पर हमला करने के बाद यह तेजी से खुद को दोहराता है। इससे फेफड़े जैसे अंगों में सूजन आ जाती है।
डेल्टा स्वरूप से उपजी बीमारी अधिक गंभीर है, इसके बारे में कहना कठिन है। भारत में दूसरी लहर के दौरान आयु वर्ग और मौत के आंकड़े लगभग उतने ही थे जितने पहली लहर में थे।”
उन्होंने कहा, “डेल्टा प्लस स्वरूप (एवाई.1 और एवाई.2) अब तक महाराष्ट्र, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश समेत 11 राज्यों में सामने आए 55-60 मामलों में पाया गया है। एवाई.1 स्वरूप नेपाल, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड, पोलैंड, जापान में भी पाया गया है लेकिन एवाई.2 स्वरूप कम पाया गया है। वायरस के इस प्रकार की संक्रामक क्षमता और टीके के इस पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्ययन किया जा रहा है।
डॉ अरोड़ा ने कहा कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा किये जा रहे अध्ययन के अनुसार, वतर्मान में जो टीके दिए जा रहे हैं वह डेल्टा स्वरूप पर प्रभावी हैं।

एफडीआई के प्रवाह में 25.4 प्रतिशत की वृद्धि हुईं

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को लोकसभा में कहा कि भारत में मजबूत बुनियादी तत्व और बाजार का आकार निवेश बाजार को आकर्षित करना जारी रखेंगे। लोकसभा में गिरीश भालचंद्र बापट और राहुल शेवाले के प्रश्न के लिखित उत्तर में सीतारमण ने यह बात कही।
उन्होंने विश्व निवेश रिपोर्ट 2021 का हवाला देते हुए कहा कि वर्ष 2020 में भारत में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) के प्रवाह में 25.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह बढ़कर 64 अरब डालर पहुंच गया जो वर्ष 2019 में 51 अरब डालर था। एफडीआई प्राप्त करने के मामले में भारत वर्ष 2019 में आठवें स्थान से 2020 में पांचवे स्थान पर आ गया। नई ग्रीनफील्ड निवेश घोषणाओं के मूल्य में विकासशील अर्थव्यवस्थाओं में 44 प्रतिशत और विकसित अर्थव्यवस्थाओं में 16 प्रतिशत तक की अपेक्षाकृत तीव्र गिरावट दर्ज की गई । वित्त मंत्री ने रिपोर्ट के हवाले से कहा कि भारत में घोषित ग्रीनफील्ड परियोजनाएं 19 प्रतिशत तक सिकुड़ी जो विकासशील अर्थव्यवस्थाओं में 44 प्रतिशत तक गिरावट के संदर्भ में महत्वपूर्ण है । सीतारमण ने कहा, ”भारत का मजबूत बुनियादी तत्व और बाजार का आकार निवेश बाजार को आकर्षित करना जारी रखेंगे । 

10 दलों के सदस्यों की ओर से 17 नोटिस मिलें: नायडू

अकांशु उपाध्याय       
नई दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडु ने सभी दलों के सदस्यों से मानसून सत्र के सुचारू तरीके से संचालन में सहयोग करने की अपील करते हुये आज कहा कि उनके सचिवालय को नियम 267 के तहत कार्यस्थगन के लिए 10 दलों के सदस्यों की ओर से 17 नोटिस मिले हैं। लेकिन उसमें से मात्र एक नोटिस कोविड को लेकर है।
एम वेंकैया नायडु ने सदन में कहा कि एक ही दल के सदस्य अलग अलग मुद्दों पर नोटिस दिया है। इससे यह प्रतीत होता है कि सदस्य किसी एक मुद्दे की तात्कालिकता पर एकमत नहीं हैं जिस पर कार्यस्थगन नियम के तहत चर्चा कराने की आवश्यकता है। कुल 17 में से मात्र एक नोटिस कोरोना से जुड़ा है। सभापति ने कहा कि इन नोटिसों पर उन्होंने ध्यानपूवर्क विचार किया है और पाया है कि इसमें ऐसा कोई भी मुद्दा नहीं उठाया गया है जिस पर आज सदन की कार्यवाही स्थगित कर चर्चा कराने की जरूरत है। 
इसके मद्देनजर वह किसी भी नोटिस को स्वीकार नहीं कर रहे हैं।एम वेंकैया नायडु ने कहा कि गत शनिवार को उनके द्वारा बुलायी सर्वदलीय बैंक में सदन के सभी पक्षों ने सत्र के दौरान सुचारू संचालन की इच्छा व्यक्त की थी । आम लोगों से जुड़े मुद्दे उठाने पर सहमत हुये थे। उन्होंने सदस्यों को आश्वस्त किया कि आम लोगों से जुड़े मुद्दों पर सत्र के दौरान चर्चा करायी जायेगी।

मंत्रिपरिषद से परिचय, विपक्ष ने हंगामा शुरू किया

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को लोकसभा में विपक्ष के हंगामें के बीच कहा कि कुछ लोगों को केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में दलित, महिलाओं और पिछड़े वर्ग का प्रतिनिधित्व रास नहीं आ रहा है। यह बात उन्होंने तब कही, जब वह अपनी नई मंत्रिपरिषद का परिचय करा रहे थे। हंगामें के चलते उन्होंने लिखित में इसे सदन के पटल पर रखा।
लोकसभा की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे नए सांसदों के शपथ ग्रहण से शुरु हुई। इसके बाद प्रधानमंत्री ने संसद का मंत्रिपरिषद से परिचय कराना चाहा तो विपक्ष की ओर से हंगामा शुरू हो गया। हंगामे के बीच प्रधानमंत्री ने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि उन्हें नई मंत्रिपरिषद का परिचय नहीं कराने दिया जा रहा। उन्होंने कहा कि नई मंत्रिपरिषद में दलित, महिला, और अन्य पिछड़ा वर्ग से आने वालों को बड़ा प्रतिनिधित्व मिला है। 
विपक्ष को इसपर उत्साह जताते हुए इसकी प्रशंसा करनी चाहिए थी। हालांकि विपक्ष इसपर हंगामा कर यह साबित कर रहा है कि उसे पिछड़ों, किसानों और ग्रामीण परिवेश से आने वालों का    मंत्रिपरिषद में प्रतिनिधित्व रास नहीं आ रहा है। 
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने इसे संसद की स्वस्थ  परंपरा के खिलाफ बताया। लोकसभा अध्यक्ष ने यहां तक कहा कि विपक्ष भारतीय लोकतंत्र और संसद की गरिमा गिरा रहा है। बाद में उन्होंने पिछले सत्र और इस सत्र के बीच इस दुनिया में नहीं रहे 40 विशिष्ट लोगों का विषय रखा। इसमें उन्होंने दिवंगत फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार और ओलंपिक खिलाड़ी रहे मिल्खा सिंह का भी जिक्र किया। निधन संबंधित विषय रखे जाने के दौरान भी हंगामा जारी रखने पर बिरला ने कड़ी आपत्ती जताई, जिसके बाद महौल थोड़ी देर के लिए शांत हुआ। इसके बाद प्रश्नकाल में हंगामे को देखते हुए सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। 
प्रश्नकाल से पूर्व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री के मंत्रिपरिषद परिचय के दौरान हंगामे के लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया। उन्होंने कहा कि नियम और पंरपरा के तहत मंत्रिपरिषद में होने वाले हर छोटे-बड़े फेर बदल की जानकारी सदन को दी जाती है। उनके सदन में रहते हुए पिछले 24 वर्षों में कभी इस परंपरा को तोड़ा नहीं गया। यह बेहद दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है और स्वस्थ संदीय परंपरा के खिलाफ है। 

उत्तराखंड में 27 जुलाई तक बढ़ा कर्फ्यू, ऐलान किया

पंकज कपूर                
देहरादून। उत्तराखंड सरकार ने राज्य में कोरोना कर्फ्यू 27 जुलाई तक कुछ छूट के साथ एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया है। राज्य के लोगों के लिए आरटीपीसीआर निगेटिव सहित सभी जांच रिपोर्ट की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। हवाई मार्ग से दोनों टीका लगवा चुके लोगों को राज्य में प्रवेश की छूट दी गई है। इसके साथ ही दुकानों के खुलने के समय को बढ़ाया गया है। 
शासकीय प्रवक्ता और काबीना मंत्री सुबोध उनियाल ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना का प्रभाव कम हुआ है फिर भी सरकार संक्रमण को लेकर पूरी एहतियात बरत रही है। राज्य में एक सप्ताह के लिए कोरोना अवधि को कुछ छूट के साथ 27 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। 
सुबोध उनियाल ने बताया कि अब राज्यवासी को मैदानी जिलों से पर्वतीय जिलों में जाने के लिए आरटीपीसीआर या एंटीजन टेस्ट की जरूरत को समाप्त कर दिया है। राज्य के लोग बिना रोक टोक आवागमन कर सकते हैं।  दुकानों के खुलने के समय में बदलाव किया गया है। अब प्रात:आठ बजे से रात नौ बजे तक प्रतिष्ठान खोलने की छूट दी गई है। सिनेमा हॉल और वाटर पार्क 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ खुल सकेंगे। बाकी पूर्व में लिए गए निर्णय यथावत लागू रहेंगे।

तापसी का प्रोडक्शन, फिल्म ‘ब्लर’ की शूटिंग प्रारंभ

पंकज कपूर                      
नैनीताल। सिने अभिनेत्री तापसी पन्नू के प्रोडक्शन हाउस ‘आउटसाइडर्स फिल्म्स’ के बैनर तले बन रही फिल्म ‘ब्लर’ की शूटिंग रविवार को प्रारंभ हो गई। पहले दिन  बलरामपुर हाउस और वेलवेडियर होटल में शूटिंग की गई। फिल्म की मुख्य किरदार अभिनेत्री तापसी पर ही मुहूर्त शॉट फिल्माया गया। तापसी इस शॉट से पहले फिल्म की स्क्रिप्ट को गहराई से पढ़ती नजर आईं।
फिल्म ब्लर की यूनिट एक- डेढ़ माह तक नैनीताल जिले में रहेगी। 
फिल्म ‘ब्लर’ स्पेनिश कहानी से प्रेरित एक थ्रिलर फिल्म बताई जा रही है। फिल्म की शूटिंग माल रोड, नैनी झील के गिर्द के अलावा भवाली, सातताल, रामगढ़ और भीमताल की खूबसूरत वादियों में होगी। पहाड़ों की कोहरे से ढकती-छुपती खूबसूरती के साथ ही यहां की प्रसिद्ध बाल मिठाई जैसी पारंपरिक पहचानों को भी फिल्म में शामिल किया जाएगा। फिल्म में कई स्थानीय युवाओं को भी छोटी भूमिकाएं मिलने की उम्मीद है।

60 साल में सेवानिवृत्त होने का विकल्प नहीं: एचसी

बृजेश केसवानी                   
प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि सहायक अध्यापक की 60 साल आयु से पहले मृत्यु होने पर इस आधार पर ग्रेच्युटी का भुगतान नहीं रोका जा सकता कि उसने 60 साल में सेवानिवृत्त होने का विकल्प नहीं दिया था।
कोर्ट ने कानपुर देहात के अरविंद कुमार द्विवेदी को सहायक अध्यापिका रही उनकी पत्नी की ग्रेच्युटी की गणना कर दो माह में भुगतान किए जाने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि यदि समय से भुगतान नहीं किया गया तो याची 8 फीसदी ब्याज पाने का हकदार होगा।
यह आदेश न्यायमूर्ति अश्वनी कुमार मिश्र ने दिया है। याची का कहना था कि उसकी पत्नी रस्तपुर विकासखंड मैथा, जिला कानपुर देहात के प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापिका थी। सेवा काल में मौत हो गई। अन्य परिलाभों का भुगतान कर दिया गया, किन्तु ग्रेच्युटी यह कहते हुए रोक ली गई कि अध्यापिका ने सेवानिवृत्ति विकल्प नहीं दिया था।

भारतीय तटरक्षक बल की ताकत में इजाफा हुआ

अकांशु उपाध्याय               
नई दिल्ली। स्वदेशी रिमोट कंट्रोल्ड गन मिलने से भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल की ताकत में शनिवार को और इजाफा हो गया। ऑर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड ने आज एक समारोह में 12.7 मिमी. स्टैबिलाइज्ड रिमोट कंट्रोल्ड गन के 25 सिस्टम नौसेना को सौंप दिए। इसमें 15 एसआरसी गन नौसेना के लिए और 10 भारतीय तटरक्षक बल के लिए हैं। इसे इजराइल की कंपनी एलबिट सिस्टम्स के सहयोग से विकसित किया गया है। जिसके लिए रक्षा मंत्रालय ने इस बंदूक की प्रौद्योगिकी हस्तांतरण का अनुबंध किया है।   
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 अगस्त 2020 को नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए तमिलनाडु की ऑर्डिनेंस फैक्टरी, तिरुचिरापल्ली (ओएफटी) में स्टैबिलाइज्ड रिमोट कंट्रोल्ड गन सिस्टम (एसआरसीजी) लांच किया था। 
12.7 मिमी. की इस स्वदेशी रिमोट कंट्रोल्ड गन को नाटो मानक के अनुरूप जहाजों और छोटी नौकाओं के समुद्री इस्तेमाल के लिए डिजाइन किया गया है। यह स्वदेशी बन्दूक दिन और रात के समय सटीकता के साथ दुश्मन की छोटी नावों, गश्ती नौकाओं और अन्य छोटे जहाजों को दूर से निशाना बना सकती है। एसआरसीजी में स्वचालित लक्ष्य ट्रैकिंग क्षमता है, इसलिए बंदूक प्रणाली की खराबी या बिजली आपूर्ति की विफलता के मामले में मैन्युअल फायरिंग करने में सक्षम है।
एसआरसीजी हथियार प्रणाली के लिए ओएफटी नोडल कारखाना है और आयुध निर्माणी, वरनगांव में इसके लिए गोला-बारूद का उत्पादन किया जाएगा। 2.82 करोड़ रुपये के निवेश से आयुध निर्माणी, तिरुचिरापल्ली में अत्याधुनिक असेंबली और परीक्षण सुविधाएं विकसित की गई हैं। भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल के लिए इस प्रणाली के स्वदेशी निर्माण से लगभग 167 करोड़ रुपये की बचत होगी। साथ ही यह प्रणाली आयुध निर्माणी, तिरुचि और अन्य सहयोगी कारखानों को 255 करोड़ प्रति वर्ष की दर से व्यापार करने का अवसर प्रदान करेगी।

दिलीप व महान धावक मिल्खा को श्रद्धांजलि दी

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के पहले दिन सोमवार को दोनों सदनों ने प्रख्यात अभिनेता दिलीप कुमार और महान धावक मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि दी। उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने दिलीप कुमार एवं मिल्खा सिंह के साथ साथ दिवंगत वर्तमान सदस्यों रघुनाथ महापात्र एवं राजीव सातव तथा दिवंगत 10 पूर्व सदस्यों को श्रद्धांजलि दी।
सदस्यों ने दिवंगत लोगों के सम्मान में कुछ क्षणों का मौन रखा। नायडू ने यूसुफ सरवर खान उर्फ दिलीप कुमार के निधन का जिक्र करते हुए कहा कि उनका अभिनय सफर करीब पांच दशक लंबा रहा और उन्होंने करीब 65 फिल्मों में काम किया। उनकी प्रमुख फिल्मों में ‘देवदास’, ‘नया दौर’, ‘मुगले आजम’, ‘गंगा जमुना’ आदि शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि ”ट्रेजडी किंग” के नाम से मशहूर दिलीप कुमार को कई सम्मान मिले, जिनमें अभिनय के लिए आठ फिल्म फेयर पुरस्कार शामिल है। उल्लेखनीय है कि दिलीप कुमार ने उच्च सदन में महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व किया था। नायडू ने मिल्खा सिंह का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें बचपन में काफी प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करना पड़ा और देश के विभाजन के समय उनके माता-पिता की मृत्यु हो गयी थी और वह अनाथ हो गए।
उन्होंने कहा कि बाद में वह सेना में शामिल हुए और उनके जीवन में नया मोड़ आया। उन्हें 1956 में मेलबर्न ओलंपिक के लिए भारतीय दल में शामिल किया गया और उसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। नायडू ने कहा कि ”फ्लाइंग सिख” के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह को कई सम्मान मिले।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी दिलीप कुमार और मिल्खा सिंह के निधन पर दुख जताया और दोनों हस्तियों के उपलब्धियों का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि सदन दिलीप कुमार और मिल्ख सिंह के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करता है और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता है।
लोकसभा अध्यक्ष ने सदन के दिवंगत 40 पूर्व सदस्यों को भी श्रद्धांजलि दी। सदस्यों ने इन दिवंगत लोगों के सम्मान में खड़े होकर कुछ समय तक मौन रखा। राज्यसभा ने अपने पूर्व सदस्यों एन एम कांबले, भगवती सिंह, बलिहारी बाबू, अजीत सिंह, मतंग सिंह, जितेंद्र भाई भट्ट, रामेंद्र कुमार यादव रवि, जगन्नाथ पहाड़िया व शांति पहाड़िया को भी श्रद्धांजलि दी।

अब कविता को अपनी आवाज देंगें अमिताभ: आनंद

कविता गर्ग                
मुंबई। अभिनेता अमिताभ बच्चन अपनी आगामी रहस्य-रोमांच से भरपूर थ्रिलर फिल्म ‘चेहरे’ के लिए कविता पाठ करने वाले हैं। अभिनेता (78) सोमवार को इस विशेष वीडियो की शूटिंग करेंगे। इस कविता को ‘चेहरे’ के निर्देशक रूमी जाफरी ने लिखा है। इस साल अप्रैल में संगीतकार विशाल शेखर ने प्राग में 107 कलाकारों के साथ फिल्म के शीर्षक गीत को रिकॉर्ड किया था।
‘चेहरे’ के निर्माता आनंद पंडित ने कहा कि बच्चन अब इस कविता को अपनी आवाज देंगे। उन्होंने कहा, ”वह किसी भी काम को पूरी शिद्दत से करते हैं। चाहे वह कैमरे के सामने कोई छोटा काम हो या कोई एक्शन दृश्य या फिर क्लोजअप या किसी गीत को गुनगुनाना हो अथवा खामोश रहना हो।
वह हर पल को अपना बेहतरीन देने की कोशिश करते हैं।” बच्चन इससे पहले साहिर लुधियानवी और जावेद अख्तर की कविताओं का अपनी फिल्मों क्रमश: ‘कभी कभी’ (1976) और ‘सिलसिला’ (1981) में कविता पाठ कर चुके हैं। ‘चेहरे’ में इमरान हाशमी, अन्नू कपूर, क्रिस्टल डिसूजा, धृतिमान चटर्जी, रघुबीर यादव, सिद्धार्थ कपूर और रिया चक्रवर्ती भी हैं।

संसद के मानसून सत्र में तीखे सवाल करने का आग्रह

अकांशु उपाध्याय                
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सांसदों और सभी राजनीतिक दलों से संसद के मानसून सत्र में तीखे से तीखे सवाल करने का आग्रह किया। लेकिन साथ में यह भी कहा कि शांत वातावरण में वह सरकार को जवाब देने का मौका दें। वहीं लोकसभा में पीएम मोदी का संबोधन शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे के बीच  मोदी ने कहा कि खुशी की बात है कि कई दलित भाई मंत्री बने हैं।
जब हंगामा नहीं रूका तो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंत्रियों का परिचय कराने के दौरान कांग्रेस सदस्यों के हंगामे को दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि उन्होंने संसद में ऐसा दृश्य अपने 24 वर्ष के संसदीय जीवनकाल में नहीं देखा। संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन लोकसभा की बैठक शुरू होने पर नव निर्वाचित सदस्यों ने शपथ ली।
हमारे कई मंत्री ग्रामीण परिवेश से है, लेकिन कुछ लोगों को ये रास नहीं आ रहा है, मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, ​आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला। उनका परिचय करने का आनंद होता।
संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से पहले पत्रकारों से चर्चा में प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 सहित सभी मुद्दों पर यह सत्र सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो क्योंकि जनता कई मुद्दों पर जवाब चाहती है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार भी पूरी तरह तैयार है। प्रधानमंत्री ने दोनों सदनों के नेताओं से मंगलवार की शाम कुछ समय निकालने का आग्रह किया और कहा कि वह महामारी के संबंध में सारी विस्तृत जानकारी उन्हें भी देना चाहते हैं।
उन्होंने टीका लगाने वालों को ”बाहुबली” करार दिया और कहा कि अब तक चालीस करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है और आगे भी यह सिलसिला तेज गति से जारी रहेगा। उन्होंने कहा, ”कोरोना ऐसी महामारी है जिसने पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिया हुआ है… पूरी मानव जाति को अपने चपेट में लिया हुआ है। इसलिए हम चाहते हैं कि संसद में भी इस महामारी के संबंध में सार्थक चर्चा हो।
प्राथमिकता देते हुए इस पर चर्चा हो।” प्रधानमंत्री ने कहा कि सार्थक चर्चा से सांसदों के भी कई सारे सुझाव मिलेंगे और महामारी के खिलाफ लड़ाई में बहुत नयापन भी आ सकता है। उन्होंने कहा, ”कुछ कमियां रह गई हों तो उसमें भी सुधार किया जा सकता है। इस लड़ाई में सभी साथ मिलकर आगे बढ़ सकते हैं। मैंने सदन के सभी नेताओं से भी आग्रह किया है कि कल शाम को अगर वह समय निकालें तो महामारी के संबंध में सारी विस्तृत जानकारी उनको भी मैं देना चाहता हूं।” प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के मुद्दे पर वह सभी मुख्यमंत्रियों और अन्य मंचों पर भी लोगों से चर्चा करते रहे हैं। उन्होंने कहा, ”यह सत्र परिणाम देने वाला हो।
सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो। देश की जनता जो जवाब चाहती है, वह जवाब देने की सरकार की पूरी तैयारी है। मैं सभी सांसदों और राजनीतिक दलों से आग्रह करूंगा कि वह तीखे से तीखे सवाल पूछे …हर बार सवाल पूछे…लेकिन शांत वातावरण में सरकार को जवाब देने का मौका भी दें।” उन्होंने कहा कि जनता के पास ”सत्य” पहुंचाने से लोकतंत्र को भी ताकत मिलती है, जनता का भी विश्वास बढ़ता है और देश की प्रगति की गति भी तेज होती है।
उन्होंने कहा कि करीब सभी सांसदों को कोरोना रोधी टीके की दोनों खुराक लग चुकी है और उम्मीद जताई कि संसद की कार्यवाही कवर वाले पत्रकारों ने भी टीके की कम से कम पहली खुराक ले ली होगी। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद सभी सांसदों को कोरोना संबंधी दिशा-निर्देशों का पालन करने में सहयोग देना होगा।
उन्होंने कहा, ”यह टीका जो है। बाहू पर लगता है और जब लग जाता है तो आप सब बाहुबली बन जाते हैं। कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए बाहुबली बनने का एक ही उपाय है कि आप अपनी बाहू पर टीका लगवा दीजिए। अब तक 40 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बाहुबली बन चुके हैं। आगे भी इस काम को तेज गति से आगे बढ़ाया जा रहा है।
जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिपरिषद के नये मंत्रियों का परिचय कराने के लिए उठे तो विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। हंगामे के बीच प्रधानमंत्री ने नये मंत्रियों के परिचय का विवरण सदन के पटल पर रखा। इस संबंध में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि संसद की सबसे बड़ी शक्ति स्वस्थ परंपराएं होती हैं।
संसद की ये स्वस्थ परंपराएं संविधान एवं संसद नियमों पर आधारित होती हैं और संसद की स्वस्थ परंपराओं को बनाकर रखना सत्ता पक्ष, विपक्ष सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा, ”मेरा 24 वर्षों का संसद का अनुभव रहा है और हमेशा से देखा है कि जो भी प्रधानमंत्री होते हैं वह कार्यवाही शुरू होने पर सबसे पहले अपने मंत्रिमंडल विस्तार की जानकारी देते हैं।
सिंह ने कहा कि एक मंत्री हों या अनेक मंत्री हों।प्रधानमंत्री सभी का परिचय कराते हैं और पूरा सदन उनकी बात को शांतिपूर्ण तरीके से सुनता है। उन्होंने कहा, ”मैंने अपने 24 वर्ष के संसदीय जीवन में पहली बार देखा है कि इस परंपरा को तोड़ा गया है। कांग्रेस ने आज जो किया है। वह दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण है।” इस दौरान कांग्रेस सदस्यों को ‘काले कानून वापस लो’ के नारे लगाते सुना गया।

जापान: खेलों से जुड़े तीन नए मामलें सामने आयें

टोक्यो। खेल गांव में रह रहे दो खिलाड़ियों सहित कुल तीन खिलाड़ियों के कोविड-19 के लिये पॉजिटिव पाये जाने के एक दिन बाद सोमवार को खेलों से जुड़े तीन नये मामले सामने आये। लेकिन इनमें कोई खिलाड़ी शामिल नहीं है। जो तीन नये मामले सामने आये हैं।
उनमें खेलों से जुड़ा एक व्यक्ति है जो चीबा में रह रहा है। उसके अलावा एक ठेकेदार और एक पत्रकार का परीक्षण भी पॉजिटिव आया है। इन सभी को 14 दिन के पृथकवास पर भेज दिया गया है। ठेकेदार सैतामा में रहता है।
आयोजन समिति ने कोविड-19 मामलों की अपनी दैनिक सूची में इन तीन नये मामलों का खुलासा किया। इससे खेलों से जुड़े मामलों की कुल संख्या 58 हो गयी है। रविवार को पहली बार खेल गांव में रह रहे दो खिलाड़ियों का परीक्षण पॉजिटिव पाया गया था।
ये दोनों दक्षिण अफ्रीकी फुटबॉल टीम के खिलाड़ी थे। आयोजकों ने उनकी पहचान नहीं बतायी थी लेकिन दक्षिण अफ्रीकी फुटबॉल संघ ने बयान जारी करके स्थिति स्पष्ट कर दी थी। तीसरा संक्रमित खिलाड़ी खेलों के लिये नामित होटल में रह रहा था और उनकी पहचान अभी तक पता नहीं चली है।
रविवार को कुल 10 मामले सामने आये थे जिनमें पांच खेलों से संबंधित व्यक्ति, एक ठेकेदार और एक पत्रकार भी शामिल थे।

यूपी में सोमवार से खुलने के लिए तैयार हैं सिनेमाघर

अकांशु उपाध्याय             
नई दिल्ली। कोविड -19 प्रतिबंधों में और ढील देने की घोषणा के बाद राज्य के सिनेमाघर सोमवार से खुलने के लिये तैयार हैं।
कर्नाटक सरकार ने राज्य के सभी सिनेमाघर कोविड-19 महामारी के कारण करीब तीन महीने तक बंद रहने के बाद आज खुल रहे हैं।
मुख्य सचिव पी रविकुमार की तरफ से जारी एक आदेश के अनुसार, "सिनेमा हॉल / मल्टीप्लेक्स / थिएटर / रंगमंदिरा / सभागार और इसी तरह के अन्य स्थानों को अधिकतम 50 प्रतिशत क्षमता और संबंधित विभागों की तरफ से जारी कोविड दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन के साथ खोलने की अनुमति है।"
कोविड -19 प्रतिबंधों में और ढील के तहत रात के कर्फ्यू के समय को रात नौ बजे से सुबह छह बजे की जगह रात 10 बजे से लेकर सुबह पांच बजे कर दिया गया है।
राजस्व मंत्री आर अशोक ने संवाददाताओं से कहा कि पिछले कुछ महीनों से कोरोना प्रतिबंधों से प्रभावित लोगों की मदद के लिये लॉकडाउन में और ढील दी जा रही है। उन्होंने कहा, "इससे लोगों को, खासकर थिएटर और फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को, मदद मिलेगी।

लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर समेत दो आतंकी मारे

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सोमवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के एक शीर्ष कमांडर समेत दो आतंकवादी मारे गये।
पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने शीर्ष कमांडर इश्फाक डार उर्फ अबू अकरम के मारे जाने पर सुरक्षा बलों को बधाई दी। लश्कर-ए-तैयबा का यह शीर्ष कमांडर 2017 से आतंकवादी गतिविधियों में सक्रिय था।
पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर जम्मू-कश्मीर के विशेष अभियान समूह (एसओजी), राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने संयुक्त रूप से रविवार देर रात शोपियां में घेराबंदी एवं तलाश अभियान शुरू किया।
इस दौरान सुरक्षा बल के जवान जब एक विशेष क्षेत्र की ओर बढ़ रहे थे। 
तब वहां छिपे आतंकवादियों ने उनपर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की और फिर मुठभेड़ शुरू हो गई।
प्रवक्ता ने बताया कि आज सुबह मुठभेड़ के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गये। उन्होंने बताया कि अंतिम रिपोर्ट आने तक सुरक्षा बलों का अभियान जारी था।

घर में आग लगने से परिवार के 4 लोगों की मौंत हुईं

नरेश राघानी                        
जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर शहर में घर में आग लग जाने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, पाल रोड स्थित सुभाष नगर में रविवार शाम सुभाष चौधरी के मकान में आग लगने से बुजुर्ग दंपति सुभाष चौधरी (81) एवं नीलम चौधरी (76) उनकी बड़ी बेटी पल्लवी (50) और छोटी बेटी लावण्या (40) की जलने से मृत्यु हो गई।
परिवार में बुजुर्ग दंपति की एक बेटी दिव्यांग थी और दूसरी बेटी एक स्कूल में अध्यापिका थी। फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।
पड़ोसियों ने घर में धुंआ देख पुलिस को सूचना दी और दमकल गाड़ी ने आग पर काबू पाया। आग घर के एक कमरे में लगी।
पुलिस मामले में जांच कर रही है और एफएसएल टीम मौके पर पहुंची।
बताया जा रहा है कि बुज़ुर्ग मां-बाप एवं दिव्यांग बहन की पल्लवी ही देखभाल करती थी। घटना के बाद प्रशासन एवं पुलिस के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंचकर जायजा लिया।

राष्ट्रीय स्तर पर बहस के लिए विचार करेंगी 'शिवसेना'

कविता गर्ग                         
मुंबई। शिवसेना नेता एवं सांसद संजय राउत ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश सरकार की जनसंख्या नियंत्रण की नीति का असर देखेगी और उसके विश्लेषण के बाद इस पर राष्ट्रीय स्तर पर बहस के लिए विचार करेगी।
गत रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में जनसंख्या को स्थिर करने और मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से एक जनसंख्या नीति बनाने का प्रस्ताव रखा था। असम सरकार ने भी इस संबंध में एक नीति बनाने का प्रस्ताव दिया है। नीति में दो से अधिक बच्चों वाले उन लोगों को सरकारी नौकरियों के लिए अपात्र बनाने का प्रस्ताव है, जो पहले से ही सेवा में हैं, लेकिन पदोन्नति से वंचित और योजनाओं के लाभों से बाहर हैं। नीति के तहत जिन लोगों के दो से अधिक बच्चे हैं। उन्हें भी स्थानीय निकाय चुनाव लड़ने या किसी भी प्रकार की सब्सिडी प्राप्त करने से रोक दिया जायेगा।
दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश सरकार के इस प्रस्ताव पर विपक्षी दलों ने अपना निशाना साधा है और इसे चुनावी प्रचार के रूप में संदर्भित किया है।



पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया

अकांशु उपाध्याय                 
नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आज कोई बदलाव नहीं किया गया। पेट्रोल के दाम लगातार दूसरे दिन रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर स्थिर रहे। डीजल के दाम लगातार चौथे दिन अपरिवर्तित रहे।
अग्रणी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार रविवार को दिल्ली में पेट्रोल 101.84 रुपये और डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर पर टिका रहा। देश के दूसरे शहरों में भी पेट्रोल-डीजल के दाम आज स्थिर रहे।
पेट्रोल-डीजल के मूल्यों की रोजाना समीक्षा होती है और उसके आधार पर हर दिन सुबह छह बजे से नयी कीमतें लागू की जाती हैं।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण 

1. अंक-338 (साल-02)
2. मंगलवार, जुलाई 20, 2021
3. शक-1984,अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि-दसमीं, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:38, सूर्यास्त 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान -24 डी.सै., अधिकतम-38+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेंगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया

वाशिंगटन डीसी/ नई दिल्ली। भारत और अमेरिका ने शुक्रवार को एक मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया। जिसके तहत सहयोगी देशों को कनेक्टिवि...