बुधवार, 8 जून 2022

ट्रायल: 18 रोगियों में कैंसर ट्यूमर को समाप्त पाया

ट्रायल: 18 रोगियों में कैंसर ट्यूमर को समाप्त पाया

सुनील श्रीवास्तव
वाशिंगटन डीसी/एल्बनि। चिकित्सा जगत में एक नए चमत्कार ने सभी को हैरान कर दिया है। रेक्टल कैंसर के कुछ मरीजों पर एक खास दवा का क्लीनिकल ट्रायल किया जा रहा था। इसके नतीजे कैंसर के मरीजों के लिए बड़ी खुशखबरी लेकर आए हैं। परीक्षण में शामिल सभी 18 रोगियों में कैंसर ट्यूमर को पूरी तरह से समाप्त पाया गया। न्यूयॉर्क में मेमोरियल स्लोन केटरिंग कैंसर सेंटर के अध्ययन लेखक और डॉ लुइस ए डियाज ने कहा कि आज तक ऐसा कोई अध्ययन नहीं हुआ है, जिसमें यह दावा किया जा सके कि इलाज ने किसी भी मरीज के कैंसर को पूरी तरह खत्म कर दिया है।
18 मरीजों पर किया गया यह अध्ययन बहुत छोटा था। अध्ययन के सभी रोगियों ने एक ही दवा ली थी। अध्ययन के नतीजे चौंकाने वाले थे। ट्रायल में शामिल हर मरीज के शरीर से कैंसर पूरी तरह से गायब हो गया था। किसी भी मरीज का शारीरिक परीक्षण, एंडोस्कोपी, पीईटी स्कैन या एमआरआई स्कैन में नहीं दिखा। डॉ डियाज ने कहा, ‘मेरे हिसाब से कैंसर के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है।

वरासत दर्ज करने के विशेष अभियान की समीक्षा की

वरासत दर्ज करने के विशेष अभियान की समीक्षा की

हरिशंकर त्रिपाठी

देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बुधवार को वर्चुअल माध्यम से जनपद में चल रहे वरासत दर्ज करने के विशेष अभियान की समीक्षा की और इसकी प्रभाविता बढ़ाने के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्विवादित वरासत दर्ज करना शासन की प्राथमिकता का विषय है। इसमें किसी भी तरह की कोताही क्षम्य नहीं होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में निरंतर भ्रमणशील रहते हुए लेखपालों द्वारा किये जा रहे वरासत दर्ज करने के कार्य का निरंतर पर्यवेक्षण करें। जिन ग्राम पंचायतों में वरासत दर्ज करने के प्रकरण अधिक संख्या में लंबे समय से लंबित हों, उन्हें चिन्हित करते हुए विशेष रणनीति के तहत कार्यवाही करें। डीएम ने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में निर्विवादित वरासत दर्ज करने के संबंध में जन-जागरूकता अभियान चलाया जाए। जिलाधिकारी ने समस्त कृषकों, काश्तकारों व भूस्वामियों से अनुरोध किया है कि वे विशेष अभियान के अंतर्गत अपनी निर्विवादित वरासत लेखपाल से मिलकर दर्ज करा लें। यदि निर्विवादित वरासत दर्ज करने में किसी भी स्तर पर समस्या आ रही हो तो वे संबंधित तहसील के एसडीएम से अथवा स्वयं उनसे संपर्क कर सकते हैं। उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण कर वरासत दर्ज कराया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि 20 जून तक सभी लेखपालों को प्रमाणपत्र देना होगा कि उनके क्षेत्र में निर्विवादित वरासत का एक भी प्रकरण लंबित नहीं है। इसके पश्चात यदि उनके संज्ञान में निर्विवादित वरासत का एक भी लंबित प्रकरण आया तो संबंधित लेखपाल के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।

समीक्षा बैठक में मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद, एसडीएम/ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गुँजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम संजीव उपाध्याय, एसडीएम गजेंद्र सिंह, एसडीएम अरुण कुमार सहित राजस्व विभाग के विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने आज वर्चुअल माध्यम से जनपद में चल रहे वरासत दर्ज करने के विशेष अभियान की समीक्षा की और इसकी प्रभाविता बढ़ाने के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्विवादित वरासत दर्ज करना शासन की प्राथमिकता का विषय है। इसमें किसी भी तरह की कोताही क्षम्य नहीं होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में निरंतर भ्रमणशील रहते हुए लेखपालों द्वारा किये जा रहे वरासत दर्ज करने के कार्य का निरंतर पर्यवेक्षण करें। जिन ग्राम पंचायतों में वरासत दर्ज करने के प्रकरण अधिक संख्या में लंबे समय से लंबित हों, उन्हें चिन्हित करते हुए विशेष रणनीति के तहत कार्यवाही करें। डीएम ने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में निर्विवादित वरासत दर्ज करने के संबंध में जन-जागरूकता अभियान चलाया जाए। जिलाधिकारी ने समस्त कृषकों, काश्तकारों व भूस्वामियों से अनुरोध किया है कि वे विशेष अभियान के अंतर्गत अपनी निर्विवादित वरासत लेखपाल से मिलकर दर्ज करा लें। यदि निर्विवादित वरासत दर्ज करने में किसी भी स्तर पर समस्या आ रही हो तो वे संबंधित तहसील के एसडीएम से अथवा स्वयं उनसे संपर्क कर सकते हैं। उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण कर वरासत दर्ज कराया जाएगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि 20 जून तक सभी लेखपालों को प्रमाणपत्र देना होगा कि उनके क्षेत्र में निर्विवादित वरासत का एक भी प्रकरण लंबित नहीं है। इसके पश्चात यदि उनके संज्ञान में निर्विवादित वरासत का एक भी लंबित प्रकरण आया तो संबंधित लेखपाल के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।समीक्षा बैठक में मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद, एसडीएम/ज्वाइंट मजिस्ट्रेट गुँजन द्विवेदी, एसडीएम सौरभ सिंह, एसडीएम संजीव उपाध्याय, एसडीएम गजेंद्र सिंह, एसडीएम अरुण कुमार सहित राजस्व विभाग के विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।जिलाधिकारी के निर्देश के बाद मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद ने सदर तहसील के ग्राम सेखोउना में वरासत अभियान का सत्यापन किया गया। सीआरओ ने मौके पर मौजूद लेखपाल को प्राथमिकता के आधार पर निर्विवादित वरासत दर्ज करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद मुख्य राजस्व अधिकारी अमृत लाल बिंद ने सदर तहसील के ग्राम सेखोउना में वरासत अभियान का सत्यापन किया गया। सीआरओ ने मौके पर मौजूद लेखपाल को प्राथमिकता के आधार पर निर्विवादित वरासत दर्ज करने का निर्देश दिया।

43 डिग्री सेल्सियस के आस-पास तापमान, पूर्वानुमान

43 डिग्री सेल्सियस के आस-पास तापमान, पूर्वानुमान

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। दिल्ली में बुधवार को अधिकतम तापमान में थोड़ी गिरावट आ सकती है। लेकिन, कुछ इलाकों में लू का प्रकोप जारी रहेगा। दिल्ली की सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहने का पूर्वानुमान लगाया है। दिल्ली के कई हिस्सों में मंगलवार को लगातार पांचवें दिन भीषण लू का प्रकोप था।
दिल्ली के 11 मौसम केंद्रों में से पांच में मंगलवार को लू की स्थिति दर्ज की गई थी। मौसम विशेषज्ञों ने मजबूत पश्चिमी विक्षोभ की कमी और लगातार गर्म तथा शुष्क पश्चिमी हवाओं को मौजूदा गर्मी के लिए जिम्मेदार ठहराया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, मैदानी इलाकों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक या सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस अधिक होने पर गर्म हवाओं को ‘लू’ घोषित किया जाता है। सामान्य से 6.4 डिग्री अधिक तापमान होने पर ‘भीषण लू’ की घोषणा की जाती है।

उत्तराखंड: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कियें

उत्तराखंड: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कियें 

पंकज कपूर  
देहरादून। उत्तराखंड में पेट्रोल-डीजल को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। जहांं पेट्रोल-डीजल में उतार चढ़ाव लगातार देखने को मिलता रहता है। बुधवार को उत्तराखंड में पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी कर दिए गए हैं।
आपको बता दें कि आज बुधवार को राजधानी में देहरादून में पेट्रोल के दाम 4 पैसे और डीजल के दाम में भी 4 पैसे की कमी देखी गई है। जिसके बाद देहरादून में पेट्रोल ₹95.30 प्रति लीटर और डीजल ₹90.34 प्रति लीटर है।
हरिद्वार में आज पेट्रोल और डीजल के दाम में 1 पैसे की मामूली बढ़त हुई हैै। हरिद्वार में पेट्रोल के दाम ₹94.40 प्रति लीटर और डीजल के दाम ₹89.51 रुपए प्रति लीटर हैं।

महत्व: 9 जून को मनाया जाएगा, गंगा दशहरा

महत्व: 9 जून को मनाया जाएगा, गंगा दशहरा

सरस्वती उपाध्याय  
गंगा दशहरे का अपना एक अलग महत्व है। मान्यता है कि गंगा दशहरे के दिन मां गंगा धरती पर अवतरित हुई थी। इस बार गंगा दशहरा 9 जून को मनाया जाएगा। बता दें कि हिंदू पंचांग के अनुसार, गंगा दशहरा 2022 का पर्व ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। पौराणिक मान्यता है कि इस दिन मां गंगा धरती पर अवतरित हुई थी। इस दिन गंगा स्नान करने और दान देने की परंपरा है। कहा जाता है कि इस दिन गंगा में स्नान करने से 10 प्रकार के पाप कट जाते हैं। इस बार गंगा दशहरा का पर्व 9 जून को मनाया जाएगा। हिंदू पंचांग के अनुसार, गंगा दशहरा के दिन चार शुभ योग का निर्माण हो रहा है।

नौकरी में बाधा से मुक्ति के लिए उपाय...

अगर आपको लंबे समय से नौकरी या व्यापार में बाधा का सामना करना पड़ रहा है तो, गंगा दशहरा के दिन एक मिट्टी का घड़ा लें। उसमें गंगा जल की कुछ बूंदें और थोड़ी शक्कर डालें। अब घड़े में पानी भरकर किसी गरीब या जरूरतमंद को दान करें। मान्यता है कि ऐसा करने से नौकरी में आने वाली बाधाएं खत्म होती हैं।

धन प्राप्ति के लिए उपाय...

गंगा दशहरा के दिन स्नान करने के बाद मंदिर में जाकर शिवलिंग का गंगा जल से अभिषेक करें और थोड़ा जल बचा लें। उसी जल से पूरे घर में छिड़काव करने से नकारात्मकता दूर होती है। इसके साथ ही धन आगमन की रुकावटें खत्म हो जाती हैं।

कर्ज से मुक्ति के लिए उपाय...

कर्ज से मुक्ति के लिए गंगा दशहरा के दिन अपनी लंबाई का एक काला धागा लें और उसे नारियल में लपेटकर शिवलिंग के समक्ष रखें। इसके बाद अपनी समस्या की समाप्ति की प्रार्थना करें और शाम को काले धागे से लिपटा नारियल बहते जल में प्रवाहित कर दें। प्रवाहित करने के बाद पीछे मुड़कर न देखें। मान्यता है कि ऐसा करने से समस्या से मुक्ति मिलती है।

9 जून को दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे, राष्ट्रपति

9 जून को दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे, राष्ट्रपति

अकांशु उपाध्याय/इकबाल अंसारी  
नई दिल्ली/श्रीनगर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (गुरुवार) 9 जून को यहां भारतीय प्रबंधन संस्थान के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। आईआईएम के प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि संस्थान का पांचवां दीक्षांत समारोह यहां के कैनाल रोड पर गुलामी बाग स्थित सभागार में गुरुवार को आयोजित किया जाएगा।  कोविंद इस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे तथा दीक्षांत समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते थे। उन्होंने बताया कि उपराज्यपाल मनोज सिन्हा तथा केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह से सम्मानित अतिथि के तौर पर इस समारोह में शामिल होंगे।
भारतीय उद्योग परिसंघ के महानिदेशक डॉ. चंद्रजीत बनर्जी, दलित चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष रवि कुमारा नारा भी इस समारोह में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि आईआईएम जम्मू के बोर्ड ऑफ गवर्नर के अध्यक्ष डॉ. मिलिंद कांबले समारोह की अध्यक्षता करेंगे।आईआईएम जम्मू के निदेशक प्रो. बी.एस. सहाय संस्थान की उपलब्धियों पर निदेशक की रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।प्रो. सहाय ने कहा, “दीक्षांत समारोह का आयोजन एम.बी.ए. प्रोग्राम में स्नातक की उपाधि हासिल करने वाले छात्रों के लिए किया जा रहा है और संस्थान उनका स्वागत करने के लिए उत्सुक है। हमें खुशी है कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद इस मौके पर उपस्थित रहेंगे और स्नातक के छात्रों को संबोधित करेंगे।
” इस साल आईआईएम जम्मू से कुल 214 छात्रों ने एमबीए में स्नातक की उपाधि हासिल की है। इस समारोह का मुख्य आकर्षण यह है कि इस साल 77 छात्राओं को उपाधि प्रदान की जाएगी। इस मौके पर  कोविंद आईआईएम जम्मू के विविधता प्रकोष्ठ का उद्घाटन करेंगे।

आने वाले साल, स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश करने के होंगे

आने वाले साल, स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश करने के होंगे

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि आने वाले साल, स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में निवेश करने के होंगे। उन्होंने पिछले आठ वर्षों में इस क्षेत्र को मजबूत करने की दिशा में अपनी सरकार की ओर से किए गए कार्यों पर गर्व भी जताया। प्रधानमंत्री की यह प्रतिक्रिया एक सरकारी पोर्टल की ओर से स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को रेखांकित करती एक विस्तृत जानकारी को ट्विटर पर साझा करने के साथ दी।
पोर्टल के मुताबिक स्वस्थ भारत के निर्माण हेतु पिछले 8 वर्षों में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवा ढांचों पर अभूतपूर्व निवेश हुआ है, जिससे आज न केवल आयुष्मान भारत से किफायती इलाज संभव हुआ है बल्कि देश आज स्वास्थ्य क्षेत्र में डिजिटल होने की ओर निरंतर अग्रसर है। उसने कहा कि 3.26 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य लाभ मिला, छह नए एम्स क्रियान्वित किए गए और कोविड-19 से मुकाबले के लिए दुनिया का सबसे बड़ा और पहला डिजिटल टीकाकरण अभियान चलाया गया जबकि देश में 2014 के बाद चिकित्सा महाविद्यालयों की संख्या में 55 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।पोर्टल के अनुसार हर जिले में एक चिकित्सा महाविद्यालय खोले जाने का लक्ष्य भी इस सरकार ने निर्धारित किया है। मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘आने वाले साल उन लोगों के होंगे, जिन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश किया है। भारत में स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र को मजबूत करने के लिए हमारी सरकार ने पिछले आठ सालों में जो काम किए हैं, मुझे उस पर गर्व है। प्रधानमंत्री ने नमो एप पर छपा एक आलेख भी साझा किया, जिसमें विस्तार से बताया गया है कि भविष्य में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में क्रांति लाने में कौन सी चीजें ‘‘गेमचेंजर’’ साबित होंगी।
मोदी ने इसके साथ ही ट्वीट किया, ‘‘स्वास्थ्य देखभाल हमारे प्रमुख फोकस क्षेत्रों में से एक है। पिछले 8 साल स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को बढ़ाने, हर भारतीय के लिए सस्ती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करने और इस क्षेत्र के साथ प्रौद्योगिकी को एकीकृत करने के बारे में रहे हैं।’’ ज्ञात हो कि 30 मई को प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने सत्ता में आठ साल पूरे किए थे। प्रधानमंत्री इन सालों में विभिन्न क्षेत्रों में हासिल की गई सरकार की उपलब्धियों का ब्योरा ट्विटर पर साझा कर रहे हैं।

भारतीय प्रोफेशनल मुक्केबाज ने सीएम से मुलाकात की

भारतीय प्रोफेशनल मुक्केबाज ने सीएम से मुलाकात की

दुष्यंत टीकम  
रायपुर। छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बुधवार को यहां उनके निवास कार्यालय में भारतीय प्रोफेशनल मुक्केबाज विजेन्दर सिंह ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ छत्तीसगढ़ में खेलों विशेष रूप से बॉक्सिंग के खेल को बढ़ावा देने की संभावनाओं पर चर्चा की।
श्री विजेंदर सिंह भारत के ऐसे पहले बॉक्सर हैं, जिन्होंने ओलंपिक में कोई पदक जीता है। विजेंदर सिंह ने मुख्यमंत्री से छत्तीसगढ़ में प्रोफेशनल बॉक्सिंग मैच कराने का आग्रह किया, जिस पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने रायपुर में मैच करने की सहमति दी। 
इस मैच में विजेंदर सिंह का मुकाबला अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाज से होगा। विजेंदर सिंह ने वर्ष 2008 के बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था। श्री विजेंदर सिंह ने मुख्यमंत्री श्री बघेल को बॉक्सिंग ग्लव्स भेंट किए। मुख्यमंत्री ने भी श्री विजेंदर सिंह को राजकीय गमछा और स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया।

प्लैटिनम को ज्यादा किफायती बनाने का तरीका, खोजा

प्लैटिनम को ज्यादा किफायती बनाने का तरीका, खोजा

सुनील श्रीवास्तव
सिडनी। वैज्ञानिकों ने उत्प्रेरक के तौर पर प्लैटिनम को और ज्यादा किफायती बनाने का तरीका खोज लिया है। इसे कम तापमान वाले तरल में बदलकर ऐसा किया जा सकता है।
सदियों से प्लैटिनम, सोना, रूथेनियम और पैलेडियम जैसी नोबल धातुओं को रासायनिक प्रतिक्रियाओं के लिए बढ़िया कैटालिस्ट माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अन्य धातुओं की तुलना में वे परमाणुओं के बीच कैमिकल बॉन्ड्स को बेहतर तरीके से तोड़ देते हैं। लेकिन नोबल मेटल दुर्लभ और महंगे होते हैं। इसलिए बड़े पैमाने पर औद्योगिक निर्माता आमतौर पर लोहे जैसे सस्ते विकल्प चुनते हैं।
नेचर केमिस्ट्री जर्नल में प्रकाशित हुए शोध के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के UNSW सिडनी और RMIT के शोधकर्ताओं ने प्लैटिनम परमाणुओं को विभाजित करके, प्लैटिनम को लिक्विड गैलियम है, ताकि प्लैटिनम की थोड़ी मात्रा में ज्यादा उत्प्रेरक क्षमता हो।
प्लैटिनम का मेल्टिंग तापमान आमतौर पर 1,700 ºC होता है, जिसका मतलब यह है कि जब इसे उत्प्रेरक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है तो यह ठोस होता है। प्लेटिनम को गैलियम मैट्रिक्स में डालकर, इसने गैलियम के मेल्टिंग प्वाइंट अपना लिया।
गैलियम एक नरम, चांदी और नॉन-टॉक्सिक मेटल है जो 29.8 डिग्री सेल्सियस तापमान पर पिघलता है। लिक्विड गैलियम की एक खास बात यह है कि यह हर अणु में अलग-अलग परमाणुओं को अलग करके, धातुओं को घोलता है (जैसे पानी नमक और चीनी को घोलता है।
शोधकर्ताओं का कहना है कि इस आविष्कार से ऊर्जा की लागत बचेगी और औद्योगिक विनिर्माण में उत्सर्जन कम होगा। गैलियम लोहे की तरह सस्ता नहीं है, लेकिन इसे एक ही रिएक्शन के लिए बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि प्लैटिनम की तरह, गैलियम रिएक्शन के दौरान निष्क्रिय या टूटता नहीं है।
शोधकर्ताओं का कहना है कि गैलियम में प्लेटिनम को घोलने के लिए कुछ घंटों के लिए तापमान 400 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ाना होता है। टीम को उम्मीद है कि उनकी इस तकनीक से फर्टिलाइज़र से लेकर ग्रीन फ्यूल सेल्स तक, ज्यादा स्वच्छ और सस्ते प्रॉडक्ट तैयार होंगे।

वैज्ञानिकों ने धरती का एक और दुश्मन खोज निकाला

वैज्ञानिकों ने धरती का एक और दुश्मन खोज निकाला

अखिलेश पांडेय     
वाशिंगटन डीसी। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने स्पेस में धरती का एक और दुश्मन खोज निकाला है। पहले यह एस्टेरॉयड हमारे गृह को नुकसान नहीं पहुंचाने वाला था लेकिन अब इसके गति की दिशा बदल चुकी है। यह पृथ्वी के लिए कुख्यात उल्कापिंड है जो धरती से तेजी से टकरा सकता है।
ऐस्टेरॉयड की गति से वैज्ञानिकों को आश्चर्य।
उल्कापिंड एपोफिस के पुराने सारे डेटा बदल गए। इसका कारण उसकी गति की दिशा का बदलना माना जा रहा है। इसके बाद साइंटिस्ट्स ने ऐस्टेरॉ के करीब पहुंचने के दौरान नए सिरे से शुरुआत करनी पड़ी। वैज्ञानिकों ने दिसंबर 2020 से मार्च 2021 में एस्टेरॉयड का अध्ययन किया। जिसमें पता चला कि एस्टेरॉयड धरती के बगल न निकल कर सीधे टक्कर करेगा।

तबाही मचा सकता है 'कुख्यात उल्कापिंड'...
वैज्ञानिकों का दावा है कि एस्टेरॉयड साल 2029 में धरती से टकरा सकता है। पहले इसके नीले ग्रह के बगल से निकलाने की आशंका थी लेकिन अब वैज्ञानिकों का अनुमान है कि इसकी पृथ्वी से भयंकर टक्कर हो सकती है। यह ग्रह जिस गति से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है 13 अप्रैल 2029 तक पृथ्वी की सतर स टकरा सकता है।

18 देशों के 100 से अधिक वैज्ञानिकों ने की स्टडी...
अंतरिक्ष में कई एस्टेरॉयड ऐसे हैं जो पृथ्वी के दुश्मम हैं। पृथ्वी को उल्कापिंडों से होने वाले नुकसान पर सर्वे किया गया। इससे जुड़ा अध्ययन देश के 18 देशों के वैज्ञानिकों ने किया है। जिसमें यह देखा गया कि संभावित रूप से खतरनाक क्षुद्रग्रहों किस तरह धरती को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

48 साथ बाद एक और उल्कापिंड पृथ्वी से टकराएगा...
पृथ्वी पर तबाही मचाने वाले कुख्यात एस्टेरॉयड का नाम एपोफिस है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार एपफिस 1200 फीट चौड़ा है। इसका आकार साढ़े तीन फुटबाल के मैदान के बराबर है। जिस गति से यह धरती की ओर बढ़ रहा है अगर यही गति और दिशा रही तो यह 48 साल बाद 2068 तक पृथ्वी से टकरा सकता है।
2004 में उल्कापिंडों एपोफिस का चला था पता।
 2004 में पहली बार एपोफिस की मौजूदगी का पता चला था। इसको लेकर अंतरिक्ष की वैज्ञानिकों की भविष्यवाणी ने दुनिया में हलचल मचा दी थी। अध्ययन में पता चला कि एपोफिस 2029 में वर्ग एक से शुरू होकर पृथ्वी को प्रभावित नहीं कर रहा था। वस्तु की कक्षा में बड़ी अनिश्चितताएं थीं।

व्हाट्सएप को 3 नए फीचर्स का परीक्षण करते, देखा

व्हाट्सएप को 3 नए फीचर्स का परीक्षण करते, देखा

अकांशु उपाध्याय/सुनील श्रीवास्तव  
नई दिल्ली/वाशिंगटन डीसी। व्हाट्सएप कई नए फीचर्स पर काम कर रहा है। अभी मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप को तीन नए फीचर्स का परीक्षण करते हुए देखा गया है। इसमें जिसमें अंडू बटन, एडिट टेक्स्ट मैसेज ऑप्शन और डबल वेरिफिकेशन फीचर शामिल है। बता दें कि ये सभी फीचर्स अभी विकास स्तर पर है। व्हाट्सएप से संबंधित सभी घटनाक्रमों पर नज़र रखने वाले वाबिटेन्फो ने बताया कि व्हाट्सएप जल्द ही यूजर्स को मैसेज भेजने के बाद उन्हें एडिट करने दे सकता है। इसके अलावा यह एक अंडू बटन और डबल वेरिफिकेशन फीचर पर भी काम कर रहा था, तो आइए व्हाट्सएप के अपकमिंग फीचर्स के बारे में जानते हैं।
व्हाट्सएप एक एडिट बटन पर काम कर रहा है, जो यूजर्स को मैसेज भेजने के बाद उन्हें एडिट करने की सुविधा देगा। वर्तमान सेटअप केवल यूजर्स को भेजे गए मैसेज को हटाने की अनुमति देता है, आपको उन्हें एडिट करने का विकल्प नहीं मिलता है। व्हाट्सएप ने कथित तौर पर पांच साल पहले फीचर पर काम करना शुरू किया था, लेकिन ट्विटर पर इसकी सूचना मिलने के तुरंत बाद इसे बंद कर दिया गया था। ने उस एडिट फीचर का स्क्रीनशॉट शेयर किया है। जिसे अभी डेवलप किया जा रहा है।
व्हाट्सएप एक अंडू बटन भी विकसित कर रहा है। यह सुविधा तब काम आएगी जब आप “डिलीट फॉर मी” विकल्प दबाकर उस चैट को दोबारा से हासिल करना चाहते हैं, जिसे आपने डिलीट कर दिया है। कभी-कभी आप गलती से “डिलीट फॉर मी” बटन दबाते हैं बजाय “डिलीट फॉर एवरीवन” दबा देते है।ऐसे में अंडू बटन आपको अपने गलतियों को ठीक करने में मदद करेगा, लेकिन आप इसे केवल एक निश्चित समय सीमा के भीतर ही इस्तेमाल कर सकते हैं।
व्हाट्सएप अपने यूजर्स की सुरक्षा बढ़ाने के लिए डबल वेरिफिकेशन फीचर पर भी काम कर रहा है। जब भी आप किसी अन्य स्मार्टफोन से अपने व्हाट्सएप अकाउंट में लॉग इन करने का प्रयास करेंगे तो आपको डबल वेरिफिकेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा।

भोग कार्यक्रम में भाग लेने के लिए एकत्रित हुए, लोग

भोग कार्यक्रम में भाग लेने के लिए एकत्रित हुए, लोग

अमित शर्मा  
मानसा। पंजाब के मानसा में सिद्धू मूसेवाला के भोग कार्यक्रम (मृत्यु के बाद की रस्म) में भाग लेने के लिए बुधवार को बड़ी संख्या में लोग यहां अनाज मंडी में एकत्रित हुए। ये लोग पंजाब, हरियाणा और अन्य जगहों से आए थे। इस दौरान कई लोगों ने मूसेवाला की तस्वीरों वाली टी-शर्ट पहन रखी थी। कई बच्चे दिवंगत गायक जैसे कपड़े पहन रखे थे। कई लोगों के हाथों में पोस्टर थे जिन पर ’29 मई काला दिन’ और ‘मूसेवाला अमर रहें’ लिखा था।
कई लोग ‘मूसेवाला के लिए न्याय’ की मांग कर रहे थे। कुछ लोगों के हाथों में गायक की तस्वीरों वाले झंडे थे। इस मौके पर भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे। अंतिम अरदास में भाग लेने आए जालंधर के एक वकील ने मांग की कि राज्य सरकार गायक के परिवार को न्याय दिलाए। उन्होंने कहा, “मूसेवाला की हत्या की जांच जल्दी की जानी चाहिए और हत्या में शामिल लोगों को फांसी की सज़ा मिलनी चाहिए।
राजस्थान के गंगानगर से तीन दोस्त बुधवार सुबह चार बजे मूसेवाला को श्रद्धांजलि देने मानसा पहुंचे। उनमें से एक ने कहा “जब हमें मूसवाला की मौत के बारे में पता चला तो हम स्तब्ध रह गए।” मूसेवाला की तस्वीर वाले पोस्टर लेकर हरियाणा के फतेहाबाद और सिरसा जिलों से युवाओं का एक समूह कार्यक्रम में शामिल होने आया। उन्होंने मांग की कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को जल्द से जल्द सज़ा दी जानी चाहिए। लुधियाना के एक परिवार ने मूसेवाला की तस्वीरों वाले बैज लोगों को बांटे।
गौरतलब है कि पंजाब के मानसा जिले में 29 मई को अज्ञात हमलावरों ने मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मूसेवाला की हत्या के बाद राज्य पुलिस ने इस घटना को आपसी रंजिश का मामला करार दिया। हत्या के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का हाथ बताया जा रहा है।

राजनीति: दो दिवसीय दौरे पर बंगाल पहुंचें, नड्डा

राजनीति: दो दिवसीय दौरे पर बंगाल पहुंचें, नड्डा

मिनाक्षी लोढी
कोलकाता। पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में नेतृत्व और जमीनी स्तर पर पद और दायित्व को लेकर चल रहे अन्तर विरोध के बीच पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा दो दिवसीय दौरे पर बुधवार को पश्चिम बंगाल पहुंचे। वह आगामी पंचायत चुनावों से पहले प्रदेश भर में संगठन को बढ़ावा देंगे। मंगलवार शाम नड्डा के हवाई अड्डे पर पहुंचने राज्य के बड़े नेताओं ने उनका स्वागत किया। इसके बाद अधिकतर नेताओं ने रात में उनसे उसी होटल में मुलाकात की जहां वह ठहरे हुए थे।
पार्टी सूत्रों ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, सांसद दिलीप घोष, अमित मालवीय, लॉकेट चटर्जी और राज्य विधानसभा के विपक्ष के नेता और नंदीग्राम से विधायक सुवेंधु अधिकारी और अग्निमित्र पॉल ने नड्डा से मुलाकात की। इन नेताओं ने इस दौरान अगले 48 घंटों में पार्टी के मामलों और उनके यात्रा कार्यक्रम के संबंध में चर्चा की।इस कार्यक्रम के बीच दिन में नड्डा द्वारा बुधवार दोपहर को राष्ट्रीय पुस्तकालय परिसर में राज्य कार्यकारी समिति की बैठक के एक सत्र का उद्घाटन करने और राज्य नेतृत्व को संबोधित करने की उम्मीद है।

विदेश मंत्री जयशंकर ने समकक्ष हुसैन से मुलाकात की

विदेश मंत्री जयशंकर ने समकक्ष हुसैन से मुलाकात की

अकांशु उपाध्याय/अखिलेश पांडेय
नई दिल्ली/तेहरान। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ईरान के अपने समकक्ष हुसैन आमिर अब्दुल्लाहियन से बुधवार को मुलाकात की। दोनों विदेश मंत्रियों की बैठक में द्विपक्षीय संबंधों के विविध आयामों पर चर्चा होने की उम्मीद है। विदेश मंत्री जयशंकर ने मुलाकात की तस्वीर के साथ ट्वीट किया, ‘‘नयी दिल्ली में ईरान के विदेश मंत्री आमिर अब्दुल्लाहियन का स्वागत। आज हमारी चर्चा में हमारे करीबी एवं मित्रतापूर्ण संबंध प्रदर्शित होंगे।
’’ ईरान के विदेश मंत्री अब्दुल्लाहियन द्विपक्षीय संबंधों को और प्रगाढ़ करने के उद्देश्य से भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं। उनकी भारत यात्रा ऐसे समय हो रही है, जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो पूर्व पदाधिकारियों की पैगंबर मोहम्मद पर की गई विवादास्पद टिप्पणी को लेकर पश्चिम एशियाई देशों में आक्रोश व्यक्त किया जा रहा है। इस मामले में अरब देशों की तीखी प्रतिक्रिया के बाद, इस्लामिक सहयोग संगठन के किसी सदस्य देश के वरिष्ठ मंत्री की यह पहली भारत यात्रा है। विदेश मंत्रालय के अनुसार, अब्दुल्लाहियन नयी दिल्ली में बैठकों के बाद मुंबई और हैदराबाद की भी यात्रा करेंगे।

मेडिकल कॉलेजों में 1,456 सीटें खाली, नाराजगी जताई

मेडिकल कॉलेजों में 1,456 सीटें खाली, नाराजगी जताई 

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। ऑल इंडिया कोटे में मेडिकल कॉलेजों में 1,456 सीटें खाली रहने पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है। सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और केंद्र सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि आप छात्रों के भविष्य से नहीं खेल सकते हैं। आप सीट खाली नहीं छोड़ सकते है। आपको मॉप उप राउंड कराना चाहिए। कोर्ट ने कहा कि जब आप को मई में पता चला गया था कि सीट खाली हैं, तो आपने मॉप उप राउंड क्यों नहीं किया। सुप्रीम कोर्ट ने तीखी टिप्पणी करते हुए आगे कहा कि आपको सीट खाली रखकर क्या मिलेगा, जब आपको डॉक्टरों और सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टर की ज़रूरत है। हम हेल्थ सर्विस के डायरेक्टर जनरल को कोर्ट में तलब करेंगे और आदेश पारित करेंगे।
दरअसल याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि 1456 सीट अभी खाली हैं। इस पर जस्टिस एम आर शाह की बेंच ने कहा कि मेडिकल काउंसिल और केंद्र छात्रों के लिए काउंसलिंग का मॉप अप राउंड नहीं कराकर छात्रों के जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। हमें देश में डॉक्टरों और सुपर स्पेशियलिटी मेडिकल प्रोफेशनल्स की जरूरत है। अगर छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाता है, तो हम आदेश पारित करेंगे और उन्हें मुआवजा भी देंगे।
सुप्रीम कोर्ट ने आज ही हलफनामा दाखिल करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने हलफनामे में ये बताने को कहा है कि सीटें क्यों खाली थीं और वे क्यों नहीं भरी गई। सुप्रीम कोर्ट अब इस मामले में गुरुवार को फिर सुनवाई करने वाला है।

पीड़िता के पिता को 2 दिन की सजा, 500 रूपये जुर्माना

पीड़िता के पिता को 2 दिन की सजा, 500 रूपये जुर्माना

संदीप मिश्र 
इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले की एक अदालत ने दुष्कर्मियो के पक्ष मे बयान देने से नाराज पीड़िता के पिता को 2 दिन की सजा सुनाते हुए 500 रूपये जुर्माना वसूलने के निर्देश दिये है। अभियोजन पक्ष के अनुसार दो दिन की यह सजा न्यायालय विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट कोर्ट संख्या-2 अवधेश कुमार ने सुनाई है। बुलडोजर- जमींदोज किए गए 50 से ज्यादा फार्म हाउस उन्होेने बताया कि न्यायालय विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट कोर्ट संख्या-2 अवधेश कुमार ने मंगलवार को फैसला सुनाते हुए वादी के अपना साक्ष्य बदले जाने व प्रतिवादी के पक्ष में बयान देने पर वादी के खिलाफ ही न्यायालय में मुकदमा चलाने का आदेश दिया और दो दिन की सजा व 500 रुपये का अर्थदंड सुनाया है। विशेष शासकीय अधिवक्ता रमाकांत चतुर्वेदी ने बताया कि थाना ऊसराहार में जागेश्वर दयाल ने 14 अगस्त 2012 को मुकदमा दर्ज कराया था कि गांव के ही रवि व अखिलेश ने उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। इस मामले में पुलिस ने एससीएसटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। न्यायालय में आरोपित रवि व अखिलेश के तलब होने पर जागेश्वर दयाल ने यह साक्ष्य दिया कि गांव वालों के कहने के अनुसार उसने एफआइआर दर्ज कराई थी। इस आधार पर 29 अक्टूबर 2020 को न्यायाधीश ने रवि व अखिलेश को दोष मुक्त मानते हुए उन्हें बरी कर दिया जबकि जागेश्वर दयाल के खिलाफ अपना बयान पलटने को लेकर व आरोपितों के पक्ष में खड़े होने को लेकर मुकदमा चलाने का आदेश दिया था।
इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले की एक अदालत ने दुष्कर्मियो के पक्ष मे बयान देने से नाराज पीड़िता के पिता को दो दिन की सजा सुनाते हुए पांच सौ रूपये जुर्माना वसूलने के निर्देश दिये है। अभियोजन पक्ष के अनुसार दो दिन की यह सजा न्यायालय विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट कोर्ट संख्या-2 अवधेश कुमार ने सुनाई है। बुलडोजर- जमींदोज किए गए 50 से ज्यादा फार्म हाउस उन्होेने बताया कि न्यायालय विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट कोर्ट संख्या-2 अवधेश कुमार ने मंगलवार को फैसला सुनाते हुए वादी के अपना साक्ष्य बदले जाने व प्रतिवादी के पक्ष में बयान देने पर वादी के खिलाफ ही न्यायालय में मुकदमा चलाने का आदेश दिया और दो दिन की सजा व 500 रुपये का अर्थदंड सुनाया है। विशेष शासकीय अधिवक्ता रमाकांत चतुर्वेदी ने बताया कि थाना ऊसराहार में जागेश्वर दयाल ने 14 अगस्त 2012 को मुकदमा दर्ज कराया था कि गांव के ही रवि व अखिलेश ने उसकी पुत्री के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। इस मामले में पुलिस ने एससीएसटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। न्यायालय में आरोपित रवि व अखिलेश के तलब होने पर जागेश्वर दयाल ने यह साक्ष्य दिया कि गांव वालों के कहने के अनुसार उसने एफआइआर दर्ज कराई थी। इस आधार पर 29 अक्टूबर 2020 को न्यायाधीश ने रवि व अखिलेश को दोष मुक्त मानते हुए उन्हें बरी कर दिया जबकि जागेश्वर दयाल के खिलाफ अपना बयान पलटने को लेकर व आरोपितों के पक्ष में खड़े होने को लेकर मुकदमा चलाने का आदेश दिया था।

भाजपा के कारण जोर पकड़ रहा हैं, इस्लामोफाबिया

भाजपा के कारण जोर पकड़ रहा हैं, इस्लामोफाबिया 

भानु प्रताप उपाध्याय 
मुजफ्फरनगर। पूर्व सांसद व उत्तर प्रदेश के पूर्व गृहराज्य मंत्री सईदुज्जमा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा सरकार पर जमकर तंज कसते हुए कहा, कि भाजपा के कारण ही देश में इस्लामोफाबिया जोर पकड़ रहा है।
भाजपा ने हेट स्पीट के मामले में अपने नेताओं पर देर से कार्रवाई की। जिससे दूसरे मुल्कों में देश की बदनामी हुई। उन्होंने कहा कि भारत अपनी सामाजिक तथा सांस्कृतिक विरासत के चलते दूसरे देशों में लोकप्रिया रहा है, लेकिन भाजपा अब देश में नफरत का माहौल पैदा कर इसकी साख पर बट्टा लगाने का प्रयास कर रही है। 
शहीद चौक स्थित अपने आवास पर मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि भाजपा की योगी सरकार एक तानाशाही सरकार है। जिसमें गरीब व मजदूरों की आवाज को दबाया जा रहा है। 
उन्होंने बताया कि प्रदेश में बढ़ती महंगाई ने प्रदेशवासियों की कमर को तोड़ कर रखा हुआ है। बढ़ती मंहगाई के कारण लोगों को अपने परिवार के भरण पोषण के लिए भी लाले पड़े हुए हैं। वही उन्होंने कहा कि प्रदेश का पढ़ा लिखा युवा बेरोजगार घूम रहा है। 
प्रदेश में योगी सरकार सत्ता में युवाओं को रोजगार व बढ़ती मंहगाई पर अंकुश लगाने के मुद्दो को लेकर आई थीं, मगर आज भाजपा की योगी सरकार में ही महंगाई ने आसमान को छू रखा है, जिसके कारण आम जनता को रोजी रोटी कमाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 
इसके अलावा उन्होंने सत्ता पक्ष से भी अपील करते हुए प्रजातंत्र और संविधान की गरिमा रखते हुए देश के 135 करोड नागरिकों को सांप्रदायिक भेदभाव बुलाकर विकास और प्रगति की ओर ले कर चले ताकि हमारे देश वह प्रदेश में खुशहाली का माहौल कायम हो सके। उन्होंने कहा कि नफरत सिर्फ नफरत को जन्म देती है प्यार और भाईचारे का रास्ता ही भारत को प्रगति की दिशा में ले जा सकता है यह भारत जोड़ने का वक्त है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सत्ता को हथियाने के लिए देश व प्रदेश की जनता को जातिवाद एवं बिरादरी वाद के मुद्दों में उलझा कर वोट हासिल करने का काम किया है। वहीं उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश की जनता भाजपा सरकार की कूटनीति को समझ चुकी है।
जिसका खामियाजा जनता के द्वारा आगामी होने वाले चुनाव में भाजपा सरकार को भुगतना पड़ेगा।
पूर्व गृहराज्यमंत्री सईदुज्जमां ने भाजपा की योगी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश के युवा रोजगार की तलाश में भटक रहे हैं मगर अभी तक भी कोई किसी प्रकार का रोजगार प्रदेश के युवाओं को नहीं मिल पाया है। 
प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा सत्ता हासिल करने के लिए प्रदेश की भोली भाली जनता को विभिन्न प्रकार की योजनाओं का लाभ देने का लालच देकर सत्ता हासिल की है। योगी सरकार के द्वारा किए गए वादे अभी तक एक भी पूरा नहीं किया गया है फिर चाहे वह बिजली बिल आधा करने या फिर युवाओं को रोजगार देने की बात कही गई हो। जनता को केवल बहला-फुसलाकर एवं लाभकारी योजनाओं का लाभ देने का लालच दिया गया है।
पूर्व सांसद सईदुज्जमां ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी से भी निवेदन करेंगे कि नफरत की इस राजनीति को खत्म कर भाईचारा व एकता बनाएं। यदि नफरत का माहौल खत्म कर एकता बनाएंगे तो इससे उनका भी देश में वजन बढ़ेगा। जिन लोगों ने समाज में नफरत फैलाई उनका वजूद नहीं बचा। इसलिए भारतीय जनता पार्टी देश में नफरत का माहौल समाप्त कर एकता व मोहब्बत स्थापित करे। मदनमोहन शर्मा, मो. तारिक कुरैशी, अनमोल जैन, सत्य प्रकाश त्यागी, भगवंत सिंह, तेगबहादुर एड. आदि शामिल रहे।

राष्ट्रीय लोक आंदोलन का गठन, ऐलान करेंगे हजारे

राष्ट्रीय लोक आंदोलन का गठन, ऐलान करेंगे हजारे

अकांशु उपाध्याय
नई दिल्ली। वर्ष 2011 के दौरान भ्रष्टाचार के खिलाफ राजधानी दिल्ली में जबरदस्त आंदोलन चलाते हुए कांग्रेसनीत गठबंधन सरकार को सत्ता से बेदखल कर चुके सामाजिक कार्यकर्ता 84 वर्षीय अन्ना हजारे अब एक बार फिर से भ्रष्टाचार के खिलाफ हुंकार भरने की तैयारी में नजर आ रहे हैं। उन्होंने अपने नए संगठन राष्ट्रीय लोक आंदोलन का गठन किया है, जिसका विधिवत ऐलान वह अपने जन्मदिन पर 19 जून को करेंगे। फार्म हाउस दरअसल 84 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे आगामी 19 जून को राजधानी दिल्ली आ रहे हैं। वह यहां पर अपने नए संगठन राष्ट्रीय लोक आंदोलन के कार्यकर्ताओं के एक दिनी प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होंगे। उनका यह संगठन भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चलाते हुए इमानदारी की लड़ाई लड़ेगा। 84 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने लोकायुक्त कानून में देरी को लेकर पिछले दिनों महाराष्ट्र सरकार को चेतावनी दी थी। उन्होंने इस मामले को लेकर पूरे महाराष्ट्र में पब्लिक से आंदोलन करने का आह्वान किया है। बूचड़खाना उन्होंने कहा है कि यदि महाराष्ट्र सरकार की ओर से अगस्त महीने तक लोकायुक्त कानून नहीं बनाया जाता है तो पूरे राज्य में आंदोलन चलाया जाएगा। पिछले महीने की 15 मई को अन्ना हजारे की ओर से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इस बाबत पत्र भी लिखा गया था।
जिसमें उन्होंने कहा है कि देश में कुछ राज्यों द्वारा लोकायुक्त कानूनों को मार्गदर्शक सिद्धांतों के अनुसार अधिसूचित कर दिया गया है लेकिन महाराष्ट्र में यह काम अभी तक नहीं किया गया है। दी बेटे की हत्या-किया गिरफ्तार वर्ष 2019 में पूर्ववर्ती देवेंद्र फडणवीस सरकार के समय मैंने आंदोलन किया था, लेकिन तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा मुझे लिखित आश्वासन दिए जाने के बाद मैंने अपना आंदोलन वापस ले लिया था। इसके बाद महा विकास आघाडी सरकार की ओर से भी लोकायुक्त कानून बनाने का वायदा किया गया था, लेकिन अभी तक इस बाबत कुछ नहीं किया गया है।

सपा के वरिष्ठ नेता मौर्य सहित 4 उम्मीदवारों का नामांकन

सपा के वरिष्ठ नेता मौर्य सहित 4 उम्मीदवारों का नामांकन

संदीप मिश्र
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की 13 सीटों पर आगामी 20 जून को होने वाले चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता स्वामी प्रसाद मौर्य सहित चार उम्मीदवारों ने बुधवार को नामांकन किया। सपा ने मौर्य के अलावा जासमीर अंसारी और कन्नौज के पूर्व विधायक सोबरन सिंह यादव के बेटे मुकुल यादव और शाहनवाज खान ‘शब्बू’ को भी उम्मीदवार बनाया है।
गौरतलब है कि पहले स्वामी प्रसाद मौर्य, मुकुल और अंसारी ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ नामांकन करने के लिये विधान सभा पहुंचे थे। आनन फानन में चौथे उम्मीदवार शाहनवाज खान को भी नामांकन के लिये विधान सभा बुलाया गया।
चारों उम्मीदवारों ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में नामांकन दाखिल किया। इस दौरान सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान के विधायक पुत्र अब्दुल्ला आजम और सपा के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी भी शामिल थे। गौरतलब है कि शाहनवाज खान ‘शब्बू’ को आजम खान का करीबी माना जाता है। सहारनपुर के रहने वाले शब्बू, आजम के निजी सचिव भी हैं। वहीं, पूर्व विधायक अंसारी हाल ही में संपन्न हुए विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ कर सपा में शामिल हुए थे।
विधान परिषद चुनाव के लिये 20 जून को होने वाले मतदान के लिये नामांकन की अंतिम तिथि 09 जून है। नामांकन पत्रों की जांच 10 जून को होगी जबकि नाम वापसी की अंतिम तिथि 13 जून है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण  

1. अंक-243, (वर्ष-05)
2. बृहस्पतिवार, जून 9, 2022
3. शक-1944, ज्येष्ठ, शुक्ल-पक्ष, तिथि-नवमी, विक्रमी सवंत-2079।
4. सूर्योदय प्रातः 05:22, सूर्यास्त: 07:15।
5. न्‍यूनतम तापमान- 34 डी.सै., अधिकतम-44+ डी.सै.। उत्तर भारत में बरसात की संभावना।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु, (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसेन पवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102
http://www.universalexpress.page/
www.universalexpress.in
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।
           (सर्वाधिकार सुरक्षित)

भाजपा से गठबंधन पर कोई बाधा उत्पन्न नहीं की जाएंगी

भाजपा से गठबंधन पर कोई बाधा उत्पन्न नहीं की जाएंगी कविता गर्ग  मुंबई। शिवसेना नेता संजय राउत ने बृहस्पतिवार को कहा कि बागियों ने स्वयं अपना ...