गुरुवार, 24 अक्तूबर 2019

भाजपा के सब मंत्री हारे, टूटा घमंड

चंडीगढ़। हरियाणा में विधानसभा चुनावों के नतीजे आ रहे हैं। शुरुआती रुझानों के मुताबिक हरियाणा में सत्ताधारी बीजेपी को बड़ा झटका लगता दिखाई दे रहा है। शुरुआती रुझानों के मुताबिक बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला और विधानसभा अध्यक्ष कंवर पाल गुर्जर के अलावा प्रदेश की मौजूदा बीजेपी सरकार के पांच मंत्री कैप्टन अभिमन्यु (वित्त मंत्री), ओपी धनखड़ (कृषि मंत्री), रामबिलास शर्मा (शिक्षा मंत्री), कृष्ण लाल पंवार (परिवहन मंत्री), कृष्ण कुमार बेदी (समाजिक न्याय और आधिकारिता राज्य मंत्री), मनीष ग्रोवर (सहकारिता राज्य मंत्री) हार गए हैं।
इस तरह से देखें तो प्रदेश बीजेपी के 8 बड़े नेताओं की राजनीतिक प्रतिष्ठा दांव पर लगी थी। इसके अलावा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला ने इस्तीफा दे दिया है। बबिता फोगाट, सोनाली फोगाट ओर योगेश्वर दत्त हार रहे है।


मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्यपाल से मांगा मिलने का समय, जेजेपी के साथ मिलकर बना सकते है सरकार।
हरियाणा में भाजपा सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है। 


आपकों बता दें कि हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 21 अक्टूबर यानी सोमवार को वोट डाले गए थे। जिसमें कुल 1 करोड़ 83 लाख 90 हजार 525 वोटर थे। लेकिन मतदान में महज 68.30 फीसदी वोटर्स ने ही हिस्सा लिया। यानी करीब 1 करोड़ 25 लाख 60 हजार 728 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।


विकासखंड भोजपुर की वार्षिक बैठक

अविनाश श्रीवास्तव


गाजियाबाद। विकासखंड भोजपुर में क्षेत्र पंचायत की वार्षिक बैठक का आयोजन अध्यक्ष माननीय प्रमुख कृष्ण चौधरी के सानिध्य में हुआ। जिसमें मंच का संचालन एडीओ पंचायत राजेंद्र प्रसाद शर्मा ने किया तथा सदन में कई बीड़ी सदस्यों ने अपने विचार रखे। जिसमें प्रमुख रूप से आशीष चौधरी सदस्य क्षेत्र पंचायत वार्ड संख्या 47 ने वृद्धा पेंशन विधवा पेंशन एवं विकलांग पेंशन के बारे में तथा ग्रामीण आवास योजना के बारे में अपने ग्राम की समस्याओं को रखते हुए। उनके निदान हेतु सुझाव माननीय प्रमुख कृष्ण चौधरी को दिए। जिसमें उन्होंने ग्रामीण आवास योजना के मानकों में आमजन हेतु अपना सुझाव दिया तथा वृद्ध पेंशन हेतु ग्रामीण अंचल में जाकर कैंप लगाने की बात रखी। मौके पर समस्त बीडीसी गण एवं ग्राम प्रधान गण मौजूद रहे।


ट्रक ने बाइक को मारी टक्कर, गंभीर

तेज रफ्तार ट्रक ने मारी युवक को टक्कर


हैदर अली संवाददाता


गाजियाबाद। गाजियाबाद क्षेत्र में रफ्तार का कहर जारी है। आए दिन सड़क पर घटने वाली घटनाओं में इजाफा होता जा रहा है। ऐसा ही एक मामला साहिबाबाद थाना क्षेत्र के इंडियन एयरफोर्स चौकी पर अनियंत्रित होकर तेज रफ्तार से आ रहे ट्रक ने एक मोटरसाइकिल पर सवार युवक को कुचला। जिसमें युवक की हालत नाजुक देखते हुए नरेंद्र मोहन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां डॉक्टरों द्वारा उसका उपचार किया जा रहा है। दूसरी ओर मौके पर पुलिस ने ट्रक ड्राइवर को व ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया है। युवक के परिवार का आरोप है कि ट्रक ड्राइवर ने बिना लाइसेंस के और शराब पीकर इस दुर्घटना को अंजाम दिया है।


छापेमारी में मिलावटी मावा बरामद

मोहित श्रीवास्तव


गाजियाबाद,मोदीनगर l दीपावली के त्यौहार के मद्देनजर मुरादनगर मोदीनगर के गांवों में एसडीएम सौम्या पांडे के नेतृत्व में खाद विभाग की टीम ने पुलिस बल के साथ मिलकर छापेमारी कर भारी मात्रा में मिलावटी मावा ज़ब्त किया हैlप्राप्त जानकारी के अनुसार एडीएम सौम्या पांडे के नेतृत्व में खाद्य विभाग की टीम ने पुलिस बल के साथ मोदीनगर थाना क्षेत्र के सैदपुर गांव में एक डेयरी संचालक के घर में छापा माराl जहां से टीम ने 2 कुंतल मिलावटी मावा जब्त करने का दावा किया हैl इसके अलावा मुरादनगर थाना क्षेत्र के गांव नेकपुर में भी एक मकान पर छापेमारी की गई, जहां से करीब 200 किलो मिलावटी मावा जब्त किया गया हैl प्रशासन की इस कार्रवाई से मिलावटी मावा बेचने वालों में हड़कंप मच गयाl इस दौरान खाद विभाग की टीम ने सैंपल भरकर जांच के लिए भेज दिए हैंl इस दौरान एसडीएम मोदीनगर सौम्या पांडे ,सीओ सदर अंशु जैन, मुरादनगर थाना प्रभारी ओपी सिंह वह खाद्य विभाग की टीम मौजूद रहीl


गैंगस्टर किस जेल में शादी के आदेश

पटियाला। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की ओर से एक ऐसे आदेश जारी किए गए हैं, जो शायद आपने कभी सुने नहीं होंगे। हाईकोर्ट की ओर से नाभा की मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल में बंद गैंगस्टर की शादी जेल अंदर बने गुरुद्वारा साहिब में कराने के आदेश दिए गए हैं जिसके लिए जेल प्रशासन की ओर से प्रबंध शुरू कर दिए गए हैं।
दरअसल मनदीप सिंह नाम का गैंगस्टर डबल मर्डर केस में नाभा की मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है। गैंगस्टर की ओर से अपनी शादी कराने के लिए हाईकोर्ट में एक महीने की छुट्टी के लिए अर्जी दी गई थी। अदालत से छुट्टी तो मंजूर नहीं हुई, पर जेल अंदर ही शादी के सारे प्रबंध पूरे करने के  आदेश दे दिए गए। 
गैंगस्टर की ओर से शादी के लिए साल 2016 में भी छुट्टी की मांग की गई थी। पुलिस की रिपोर्ट पर छुट्टी नामंजूर हो गई थी। अब एक महीने पहले फिर से मनदीप की ओर से दी गई छुट्टी संबंधी अर्जी पर यह फैसला दिया गया है। हाईकोर्ट की ओर से नाभा जेल प्रशासन से इस शादी के लिए प्रबंध करने के लिए पूछा गया था।
इस पर जेल प्रशासन की ओर से अपनी रिपोर्ट में जेल के अंदर सारे प्रबंध करने का भरोसा दिया गया था। गैंगस्टर मनदीप सिंह के परिवार के सदस्यों की ओर से हाईकोर्ट को अपील की गई थी कि शादी एक शगुन वाला दिन होता है, जो जेल अंदर सही नहीं लगता है। इस पर जेल के बाहर शादी करने की अनुमति दी जाए। साथ ही परिवार ने सुरक्षा व सारा खर्च उठाने की भी अपील की।
जेल प्रशासन की ओर से जेल में गुरुद्वारा साहिब सुशोभित होने का हवाला देकर अंदर ही शादी कराने की अपील की। इसे हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया। जेल के अंदर बने गुरुद्वारा साहिब में शादी के लिए मनदीप सिंह को छह घंटे बाहर आने की इजाजत होगी। शादी किस दिन होगी, यह तय नहीं हुआ है।
नाभा जेल के सुपरिंटेंडेंट रमनदीप सिंह भंगू ने कहा कि हाईकोर्ट ने जेल के अंदर शादी कराने संबंधी पूछा था, जिस पर सारे प्रबंध पूरे करने का भरोसा दिया था। उन्होंने कहा कि फिलहाल शादी संबंधी कोई तारीख तय नहीं हुई, लेकिन जेल प्रशासन की तरफ से सारे प्रबंध किए जा रहे हैं।
10 वर्षों से जेल में बंद है गैंगस्टर:-
हाईकोर्ट की ओर से जिस कैदी की शादी का प्रबंध नाभा जेल में करने के आदेश दिए गए हैं, वह मोगा जिले से संबंधित एक सरपंच व उसके गनमैन के डबल मर्डर केस में उम्रकैद की सजा काट रहा है। वह पिछले 10 वर्षों से जेल में बंद है।
हाईकोर्ट की ओर से दिए इस फैसले को कैदियों के सुधार से जोड़कर देखा जा रहा है। समाज सेवकों ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि जब कोई व्यक्ति शादी के बंधन में बंध जाता है, तो उसके अंदर सुधार की इच्छा और बढ़ जाती है।


मेधावी छात्र-छात्राओं को किया सम्मानित

शामली। गढीपुख्ता क्षेत्र के गांव भैंसवाल में स्थित प्राथमिक विद्यालय नंबर 1 में स्टूडेंट इवेंट कराया गया। जिसकी अध्यक्षता बाबा सूरजमल ने की इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नेम पाल सिंह हरबीर मलिक देवेंद्र सिंह सरोहा एडवोकेट मनीष जैन कुलदीप मलिक रहे कार्यक्रम का संचालन बाबू राम सिंह  ने किया। इस कार्यक्रम में कक्षा 10 एवं 12 के मेधावी छात्रों को ट्रॉफी मैडल, चेक धनराशि देकर सम्मानित किया गया।वहीं अधिकतर मेधावी छात्र छात्राओं को हर पढ़ाई एवं स्कूल ड्रेस के लिए महीने धन राशि देने का प्रस्ताव किया गया । इस दौरान वंश तोमर अमर पवार तनु शर्मा अरुण कुमार आदित्य आसिफ अली वासिफ को छात्रवृत्ति प्रदान की गई। इस कार्यक्रम का  आयोजन रजत पंवार, योगेंद्र सिंह मास्टर धर्मेंद्र मास्टर पप्पू, कृष्ण पाल, जयपाल सिंह, सोरम प्रधान,धर्मेंद्र सिंह,सतबीर मूंछ आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।


दिल्ली में 1000 करोड़ का कर चोरी

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने दिल्ली के एक व्यापारिक समूह पर छापा मारा। इस दौरान करीब 1,000 करोड़ रुपए की कर चोरी का पता लगा है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने बताया कि करोड़ों रुपए के वीवीआईपी हेलिकॉप्टर सौदे में हवाला लेन-देन की आशंका के चलते आयकर विभाग ने इस समूह पर नजर बनाए रखी थी। ताजा टैक्स चोरी हेलिकॉप्टर घोटाले से संबद्ध हो सकती है।


सीबीडीटी ने कहा- जिस व्यापारिक समूह पर छापे मारे गए, वह कई ई-गवर्नेंस प्रोजेक्टों से जुड़ा है और वित्तीय सेवाएं भी प्रदान करता है। विभाग ने कहा, “समूह पर छापे और जब्ती की कार्रवाई के दौरान बड़े पैमाने पर कर चोरी, हवाला कारोबार और मनी लॉन्ड्रिंग के सबूत मिले हैं।” सीबीडीटी ने इस व्यापारिक समूह के नाम का खुलासा नहीं किया है।


जांच एजेंसी के मुताबिक, इस समूह ने बेहिसाब रकम के लेन-देन के लिए दिल्ली और कोलकाता की शेल कंपनियों का इस्तेमाल किया। विभाग ने कहा कि इस मामले में पहले उर्वरक खरीदी करने वाली कई संस्थाओं पर छानबीन की गई थी। दुबई का ऑपरेटर राजीव सक्सेना शेल कंपनियों के जरिए कमीशन के तौर पर बहुत बड़ी रकम इकठ्ठा कर रहा था। सक्सेना वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में भी आरोपी है।


सक्सेना को 3,600 करोड़ रुपए के वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार के मामले में दुबई से भारत लाया गया था। विभाग को सक्सेना द्वारा बड़ी राशि की कर चोरी किए जाने की आशंका है। प्राथमिक स्तर की जांच के मुताबिक, हवाला कारोबार और अवैध तरीकों से धन लाने में चोरी किए गए टैक्स की राशि 1,000 करोड़ रु. से ज्यादा हो सकती है।


इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं: इमरान

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने विपक्ष जमीयत उलेमा इस्लाम फज्ल और मौलानाओं के विरोध पर जवाब दिया। इमरान ने कहा कि मौलानाओं की समस्या और विपक्ष का एजेंडा समझ से परे है। वे किसी के दबाव में इस्तीफा नहीं देंगे। विपक्ष ने इमरान सरकार के खिलाफ विरोध जताते हुए अगले महीने में आजादी मार्च निकालने का ऐलान किया है।
इमरान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ''मेरे इस्तीफा देने का सवाल नहीं है और मैं इस्तीफा दूंगा भी नहीं। विपक्ष और मौलानाओं का धरना एक साजिश है, जिसे विदेशी नेताओं का समर्थन मिल रहा है।''
इमरान ने कहा, ''मुझे मौलानाओं की समस्या और विपक्ष का एजेंडा बिल्कुल समझ नहीं आता। विपक्ष के नेता फजलुर रहमान का विरोध एक साजिश है, जिसे दूसरी ताकतों का समर्थन मिल रहा है।'' रहमान ने आरोप लगाया था कि फर्जी चुनाव के कारण ही इमरान सरकार बनी है। मीडिया रिपोर्ट्स को मुताबिक, इमरान सरकार ने विपक्ष से साफ शब्दों में कहा है कि मार्च के दौरान कानून का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं होगा।


नमाज गंभीर, मरियम को इजाजत नही

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की हालत फिर से गंभीर हो गई है। उनकी तबियत में सुधार का दावा किया गया था। हालांकि बताया गया कि शरीफ की तबियत तेजी से बिगड़ रही है। नवाज की बेटी मरियम पिता से मिलना चाहती थीं, लेकिन अफसरों ने इसकी इजाजत नहीं दी। दूसरी तरफ, प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि नवाज को अच्छा इलाज मुहैया कराया जा रहा है। नवाज को कई बीमारियां हैं। उन्हें चौधरी शक्कर मिल केस में भ्रष्टाचार का दोषी ठहराया गया है। वो 7 साल की सजा काट रहे हैं।


'द ट्रिब्यून' अखबार ने खबर दी कि नवाज का ब्लड प्लेटलेट काउंट 7 हजार के खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। फिलहाल, उन्हें लाहौर के सर्विस हॉस्पिटल में रखा गया है। रिपोर्ट में डॉक्टरों के हवाले से कहा गया है कि नवाज को कई तरह की बीमारियां हैं और उनको इस्लामाबाद या देश से बाहर किसी अच्छे अस्पताल में इलाज की जरूरत है। दूसरी तरफ, इमरान खान ने इस बारे में ज्यादा बात नहीं की। सिर्फ इतना कहा कि नवाज को हरसंभव उपचार मुहैया कराया जा रहा है।


नवाज की बेटी मरियम भी कोट लखपत जेल में हैं। उन्हें पेशी के लिए कोर्ट में पेश किया गया। यहां उन्होंने अफसरों से गुजारिश में कहा कि वो पिता को देखना चाहती हैं। अफसरों ने कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए इसकी मंजूरी देने से इनकार कर दिया। बाद में मरियम को वापस जेल भेज दिया गया। खुद मरियम भी बीमार हैं। उन्होंने कहा- मैं एक बार पिता को देखना चाहती हूं लेकिन इसकी भी इजाजत नहीं दी जा रही।


हाईवे पर लूट से पुलिस में मचा हड़कंप

डीसीएम चालक से 1.20 लाख की लूट,मचा हडकंप
 
यूपी सीमा से सटे दिल्ली कैंप के समीप हुई घटना
बिहार का रहने वाला है डीसीएम चालक, बिहार की नौरंगिया पुलिस कर रही जांच


कुशीनगर। पनियहवा-छपवा राष्ट्रीय राजमार्ग सं. 727 पर यूपी सीमा के सटे बिहार के दिल्ली कैंप के समीप एक डीसीएम चालक से दो बाइकों पर सवार रहे चार बदमाशों द्वारा एक लाख बीस हजार रूपये लूट लिये जाने की सूचना मिलते ही खड्डा व बिहार की नौरंगिया पुलिस में हडकंप मच गया। घटना स्थल पर दोनो प्रांत की पुलिस ने निरीक्षण कर छानबीन मे जुटी हुई है।


गुरूवार की शाम खड्डा थाने के सालिकपुर पुलिस चौकी पहुंचे बिहार के करमा बारी थाना वाल्मिकिनगर निवासी मुन्ना मंसूरी पुत्र नवी रसूल मंसूरी ने बताया कि वह बुधवार की शाम डीसीएम लेकर आलू लोड करने यूपी की तरफ आ रहा था। यूपी सीमा से पहले ही बिहार के नौरंगिया थानाक्षेत्र के दिल्ली कैंप नामक स्थान पर दो बाइकों पर सवार चार बदमाशों ने डीसीएम में चढ़कर उसे मारपीट कर पास में रखे एक लाख बीस हजार रूपये लूटकर चंपत हो गये। मंसूरी ने बताया कि भय की वजह से ससुराल चला गया और इलाज कराने के बाद सूचना सालिकपुर पुलिस चौकी को दी। यह सूचना जैसे ही थाने पहुंची हडकंप मच गया। मौके पर प्रभारी निरीक्षक रामअशीष यादव, चौकी प्रभारी पीके सिंह, उपनिरीक्षक राजेश कुमार, जीतबहादुर पहुंच गये। बिहार के नौरंगिया थाना प्रभारी राजकुमार भी मयफोर्स पहुंच गये। घटनास्थल की छानबीन की गई तो वह बिहार मे होने का मामला उजागर हुआ। बिहार पुलिस जांच में जुट गई है। इस घटना को लेकर खड्डा पुलिस यूपी-बिहार सीमा पर आने जाने वाले वाहनों की सघन तलाशी कर रही है।
मामले की तहकीकात कर रहे बिहार के नौरंगिया के थाना प्रभारी राजकुमार ने बताया कि लूट की सूचना देने वाला व्यक्ति सही जानकारी न देकर पुलिस का ध्यान भटका रहा है। इससे घटना संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। फिर भी छानबीन की जा रही है। यूपी पुलिस से भी सम्पर्क किया जा रहा है।


अनिल विज हो सकते हैं नए मुख्यमंत्री

राणा ओबराय
अनिल विज भी हो सकते हैं हरियाणा के नए मुख्यमंत्री!
चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा चुनाव में जो परिणाम सामने आए हैं। उसे देखते हुए मुख्यमंत्री पद का दावेदार को कोई नया चेहरा होगा? निजी सूत्रों के अनुसार हरियाणा भाजपा और केंद्रीय नेतृत्व मुख्यमंत्री पद को लेकर कई नामों पर विचार कर रहा है यदि सूत्रों की माने तो अनिल विज भी हरियाणा मुख्यमंत्री पद के हो सकते हैं?


जेल में बंद छात्र नेताओं से मिले रामगोविंद

विधायक मनोज पारस व जेल में बन्द छात्र नेताओं से नैनी जेल में मिले रामगोविन्द चौधरी


जौनपुर। नेता विरोधी दल राम गोविन्द चौधरी ने जौनपुर शाहगंज से विधायक व पूर्व मंत्री ललई यादव के साथ नैनी जेल में बन्द विधायक मनोज पारस व छात्र नेताओं से मुलाक़ात की।ज़िलाध्यक्ष कृष्णमूर्ति सिंह यादव व महानगर अध्यक्ष के साथ नैनी जेल में बन्द सपा विधायक व छात्र नेताओं से मुलाक़ात के बाद सर्किट हाउस में योगी सरकार पर हमला बोला।कहा योगी सरकार बदले की भावने से कार्य कर रही है।सपा कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न किया जा रहा है।सपा सड़क से लेकर विधानसभा तक भाजपा की चूलें हिलाने में सक्षम है।तानाशाही और साम्परदायिक्ता को लोगों ने नकार दिया है।उनहोने कहा छात्र छात्राओं ने विश्वविद्धायल के तुग़लकी फरमान छात्र परिषद को नकार दिया तो छात्र नेताओं का उत्पीड़न शुरु हो गया उनहें फर्ज़ी मुक़दमे में फंसा कर जेल मे डाल दिया।उन्होने अवनीष यादव व अदील हमज़ा तथा अन्य छात्र नेताओं के आन्दोलन को छात्र संघ पाठशाला की जीत बताया।उनहोने विधान सभा चूनाव में सपा की जीत पर बधाई देते हुए कहा की यह चूनाव 2022 में सपा सरकार बनने की प्रष्ठभूमि तय्यार करने वाला चूनाव था।कार्यकर्ता मेहनत करें तो उत्तर प्रदेश मे अखिलेश यादव की सरकार बनने से अब कोई रोक नहीं सकता ।जनता का योगी सरकार की तानाशाही से मोह भंग हो गया है।नैनी जेल व सर्किट हाऊस में नेता विरोधी दल से मिलने वालों में कृष्णमूर्ति सिंह यादव,सै०इफ्तेखार हुसैन,पूर्व सांसद नागेन्द्र पटेल,पूर्व विधायक सत्यवीर मुन्ना,पूर्व विधायक हाजी परवेज़ अहमद,पंधारी यादव,,दूधनाथ पटेल,महबूब उसमानी,किताब अली, बृजेश केसरवानी सै०मो०अस्करी आदि थे।
रिपोर्ट बृजेश केसरवानी


विराट को आराम,युवाओं को मिलेगा मौका

नई दिल्ली। बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 और टेस्ट सीरीज के लिए गुरुवार को भारतीय टीम इंडिया का चयन हो गया। भारतीय टेस्ट टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया है जबकि टी-20 टीम में युवाओं को शामिल किया गया है। टी-20 टीम में नए चेहरों के रूप में युवा विकेटकीपर संजू सैमसन की जगह मिली है तो चोटिल चल रहे हार्दिक पांड्या की जगह ऑलराउंडर शिवम दुबे को भी डेब्यू का मौका दिया गया है। कुलदीप यादव को बाहर का रास्ता दिखाते हुए वाशिंगटन सुंदर को 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है। शार्दुल ठाकुर की भी टीम में वापसी हुई है।


ऋषभ पंत के लिए कवर के तौर संजू सैमसन को शामिल किया गया है। सैमसन ने हाल में विजय हजारे ट्रॉफी में केरल के लिए दोहरा शतक जड़ा था। कलाई के स्पिनरों की जोड़ी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल में से सिर्फ चहल को चुना गया है क्योंकि राहुल चाहर और वाशिंगटन सुंदर को एक और मौका देना बनता था।


तीन नवंबर से दिल्ली में शुरू होने वाली तीन मैच की टी-20 सीरीज (दो अन्य मैच राजकोट और नागपुर में) के अलावा बांग्लादेश की टीम विश्व चैम्पियनशिप के अंतर्गत दो टेस्ट खेलेगी। टेस्ट मैच इंदौर और कोलकाता में खेले जाएंगे।


बांग्लादेश के खिलाफ भारत की टी-20 सीरीज के लिए टीम: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, संजू सैमसन, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), वाशिंगटन सुंदर, क्रुणाल पंड्या, युजवेंद्र चहल, राहुल चाहर, दीपक चाहर, खलील अहमद, शिवम दुबे, शार्दुल ठाकुर।


बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारत की टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, साहा (विकेटकीपर), आर जडेजा, आर अश्विन, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, इशांत शर्मा, शुभमन गिल, ऋषभ पंत। बता दें कि  भारत ने अक्टूबर 2018 से सभी प्रारूपों में 56 मैच खेले हैं, जिसमें से 48 मैच में बतौर कप्तान मौजूद रहे विराट कोहली को टी-20 सीरीज में आराम दिया गया है। कोहली की गैरमौजूदगी में उपकप्तान रोहित शर्मा टीम की कमान संभालेंगे।


मोदी-शाह की लोकप्रियता घट रही है

नई दिल्ली। हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव परिणामों पर भी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी-शाह की जोड़ी की देश में लगातार लोकप्रियता घट रही है। भाजपा की खरीद फरोख्त और दल बदल की राजनीति के दिन अब खत्म हो रहे है। हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव परिणामों के संकेत स्पष्ट है। हरियाणा में भाजपा की जो छीछालेदर हुई है वह किसी से छिपी नहीं है। महाराष्ट्र में भी तमाम बड़े-बड़े दावे थोपे निकले। सर्जिकल स्ट्राइक राफेल के नीचे नीबू, शीजिनपिंग और ट्रंप की मिक्सवेज परोसना, सावरकर को भारत रत्न और धारा 370 खत्म करने को भूनाने की भाजपा की कोशिशो को जनता ने सिरे से खारिज कर दिया। आर्थिक मोर्चे पर विफलता के कारण भी भाजपा के वोट कम हुये है। आर्थिक मंदी के चलते करोड़ों लोग बेरोजगार हो गए हैं, देश की आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है। 45 वर्ष में सबसे ज्यादा अधिक बेरोजगारी की दर 8.1 प्रतिशत तक पहुंच गई है और मूलभूत जरूरतों की चीजों के दाम बढ़ रहे हैं और देश का बैंकिंग सिस्टम ही नष्ट हो रहा है। देश की बिगड़ी आर्थिक स्थिति को देखते हुये केंद्र की भाजपा सरकार की गलत आर्थिक नीतियों को लेकर पूरे देश में नाराजगी है।


आपात लैंडिंग मे सवार जवान घायल

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में सेना के हेलीकॉप्टर ने आपातकालीन लैंडिंग की है। सेना का एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (एएलएच) ने पुंछ जिले के मंडी में यह लैंडिंग की है। इस हेलीकॉप्टर में उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह भी सवार थे। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि इस हादसे में सेना के आठ जवान और एक नागरिक घायल हो गया है। हालांकि सेना ने घायलों को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है। सेना के प्रवक्ता ने बताया कि तकनीकी खराबी के कारण हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग करनी पड़ी। उन्होंने कहा कि हेलीकॉप्टर में मौजूद चालक दल और सभी यात्री सुरक्षित हैं।


खलबली: मनोहर को दिल्ली बुलाया

नई दिल्ली। हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों के नतीजों के लिए मतगणना जारी है और अब तक के रुझानों के अनुसार कांग्रेस और भाजपा में कांटे की टक्कर चल रही है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया है और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भाजपा आलाकमान ने दिल्ली बुलाया है। वहीं कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फोन पर हरियाणा कांग्रेस के नेता भूपेंदर सिंह हुड्डा से बात की है। इस बीच जेजेपी ने कांग्रेस को सशर्त समर्थन देने का फैसला किया है। तेजी से बदलते घटनाक्रम पर भाजपा अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह नजर रखे हुए हैं। उन्हें आज ग्रेटर नोएडा में आईटीबीपी के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने जाना था। हालांकि ऐन वक्त पर अमित शाह कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बने। वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भाजपा आलाकमान ने दिल्ली बुलाया है। अभी तक हरियाणा में रुझानों में किसी भी पार्टी को बहुमत मिलता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है।


विश्व बिजनेस रैंकिंग में भारत की छलांग

नई दिल्ली। वर्ल्ड बैंक ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रैंकिंग जारी कर दी है। इस रैंकिंग में भारत ने इस साल 14 पायदान की ऊंची छलांग लगाई है और अब 63वें स्थान पर पहुंच गया है। माना जा रहा है कि इससे भारत को और ज्यादा विदेशी निवेश आकर्षित करने में मदद मिलेगी। पिछले साल भारत इस सूची में टॉप 77वें नंबर पर आ गया था। भारत को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की सूची में 77वां स्थान मिला था। वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक 10 मुल्कों की अर्थव्यवस्थाओं में सुधार हुआ है। इनमें भारत के अलावा सऊदी अरब, जॉर्डन, टोगो, बहरीन, ताजिकिस्तान, पाकिस्तान, कुवैत, चीन, और नाइजीरिया शामिल हैं।
आपको बता दें कि वर्ल्ड बैंक हर साल आसान कारोबार वाले देशों की सूची जारी करता है। इसमें कुल 190 देश होते हैं। मोदी सरकार का सपना इस सूची में भारत को टॉप 50 में लाने का है। इस बार रैंकिंग में भारत का स्थान बहुत महत्वपूर्ण होगा। उल्लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी सरकार 2014 में सत्ता में आई थी। उस समय भारत ईज ऑफ डुइंग बिजनेस की 190 देशों की सूची में 142वें स्थान पर था। 2017 में 100वें स्थान पर था जबकि 2018 में भारत ईज ऑफ डुइंग बिजनेस की लिस्ट में 77वें स्थान पर पहुंच गया था।सरकार का लक्ष्य इज ऑफ डुइंग बिजनस के मामले में टॉप 50 में स्थान बनाना है।


इनेलो के खाते में केवल 3 सीट

नई दिल्ली। हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के वोटों की गिनती के रूझान आ गए हैं। हरियाणा में चौधरी देवीलाल की पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल यानी इनेलो का पत्ता पूरी तरह साफ होता दिखाई दे रहा है। इनेलो से अलग होकर देवीलाल के ही परिवार के दुष्यंत चौटाला ने जननायक जनता पार्टी, जेजेपी बनाई और इस चुनाव में बड़े किंगमेकर बनते हुए दिखाई दे रहे हैं। दुष्यंत चौटाला की जेजेपी हरियाणा में 10 विधानसभा सीटों पर आगे चल रही है। वहीं ओमप्रकाश चौटाला और अभय चौटाला की पार्टी इनेलो के खाते में मुश्किल से 3-4 सीटें आती दिख रही हैं।


किशोरी से 5 दिन लगातार दुष्कर्म

सूरजपुर। एक साल पूर्व एक किशोरी रात में अपने घर से दूसरे घर में बाबा के लिए खाना पहुंचाने गई थी। इस बात की जानकारी गांव के ही एक युवक को थी। इसी बीच मौका पाकर वह किशोरी के आने का इंतजार करने लगा। जैसे ही उसने किशोरी को रास्ते में आते देखा, झाडिय़ों में छिप गया। फिर जैसे ही वह वहां पहुंची, युवक ने उसका मुंह दबाकर अगवा कर लिया और घर ले गया। यहां उसने किशोरी को डरा धमकाकर 4-5 दिन तक दुष्कर्म (Minor girl raped) किया।


मामले में पुलिस ने युवक के खिलाफ अपराध दर्ज कर न्यायालय में पेश किया था, जहां से उसे जेल भेज दिया गया था। 22 अक्टूबर को मामले की सुनवाई जिला एवं सत्र न्यायाधीश सूरजपुर के यहां हुई। उन्होंने आरोपी को आजीवन कारावास व अर्थदंड से दंडित किया है।सूरजपुर जिले के प्रतापपुर थानांतर्गत ग्राम मरहट्टा निवासी एक किशोरी एक साल पूर्व रात को अपने घर से खाना लेकर अपने बाबा के घर गई थी। किशोरी जब बाबा के घर से लौटने लगी तो ग्राम दुरती निवासी युवक शिवकुमार उर्फ बालेश्वर यादव ने उसे देख लिया। इसके बाद वह झाडिय़ों के बीच जाकर छिप गया।


जैसे ही किशोरी वहां पहुंची उसने उसका अपहरण कर साथ ले गया। इसके बाद वह उसे डरा धमकाकर 4-5 दिन तक अनाचार (Rape with girl) करता रहा। मामले की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के विरूद्व धारा 363, 366, 506, 376 भादवि 3(2-व्ही) एसटी/एससी एक्ट व पॉक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत् अपराध दर्ज किया गया था।प्रकरण की विवेचना एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार द्वारा की गई। प्रकरण में साक्ष्य संकलित कर उन्होंने आरोप पत्र माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश किया था।


आजीवन कारावास की सजा:-इस मामले की सुनवाई विद्धान न्यायाधीश हेमंत सराफ जिला एवं सत्र न्यायाधीश सूरजपुर के यहां हुई। न्यायालय ने मामले की सुनवाई 22 अक्टूबर 2019 को पूरी करते हुए पीडि़ता व गवाहों के बयान, डॉक्टरी रिपोर्ट के आधार पर आरोपी ग्राम दुरती थाना प्रतापपुर निवासी शिवकुमार उर्फ बालेश्वर यादव को आजीवन कारावास और 3300 रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है।


दुष्कर्म पीड़ित नन ने लगाई गुहार

तिरुवनंतपुरम। केरल की एक नन से दुष्कर्म मामले में अगली सुनवाई 11 नवंबर को होगी। इस मामले में आरोपी पूर्व बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ नन अनुपमा लगातार विरोध प्रदर्शन कर रही हैं और न्याय की मांग कर रही है। फ्रेंको मुल्क्कल को केरल के कोट्टायम की एक अदालत ने 11 नवंबर को पेश होने के लिए समन भेजा है।
न्यूज एजेंसी एएनआइ से बातचीत करते हुए नन अनुपमा ने कहा कि हम उम्मीद करते है कि कोर्ट से उन्हें न्याय मिलेगा। बता दें कि 43 साल की नन से दुष्कर्म मामले में जालंधर डायोसिस के पूर्व बिशप फ्रेंको मुलक्कल को 2018 में गिरफ्तार किया गया था। उन पर आरोप है कि उन्होंने साल 2014 से 16 के बीच एक नन के साथ 13 बार दुष्कर्म किया। फिलहाल वह जमानत पर बाहर है।
इससे पहले एक नन ने केरल महिला आयोग को एक शिकायत दर्ज की थी। अपनी शिकायत में उन्होंने बताया कहा कि मुलक्कल और उसके लोग उसे बदनाम करने के लिए लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं।


जेजेपी किंग मेकर की भूमिका में उभरी

नई दिल्ली। हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के परिणाम के अब तक के जो रुझान आए हैं उसके मुताबिक जन नायक जनता पार्टी (जेजेपी) किंग मेकर की भूमिका में उभरती दिख रही है। जेजेपी को इस चुनाव में चाभी निशान मिला था। यह सियासी चाभी किस पार्टी का ताला खोलेगी, यह बड़ा सवाल है। वो कांग्रेस और बीजेपी में से किसे चुनेगी? राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि दुष्यंत चौटाला कांग्रेस के साथ जाना पसंद करेंगे।


हरियाणा भाजपा को लगा बड़ा झटका

नई दिल्ली। हरियाणा में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला को तत्कालीन चुनाव में मिली हार और असंतोष जनक प्रदर्शन के कारण सुभाष बराला ने अभी हाल ही में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को अपना इस्तीफा दे दिया है। वही हरियाणा में भाजपा की सियासी जमीन शक्ति भी नजर आ रही है और भाजपा के बड़े बड़े कद्दावर नेता फिलहाल पीछे चलते हुए दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में सुभाष बराला का इस्तीफा देना भाजपा के लिए एक बड़ी समस्या भी साबित हो सकता है।


हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की सरकार खतरे में है। मतगणना के रूझान यह बता रहे हैं कि मनोहर लाल खट्टर की सरकार कड़े मुकाबले में फंसी है। भाजपा का अबकी बार 75 पार का नारा फेल हो चुका है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, जिन्हें संगठन में बड़ा ओहदा देकर जाटों को साधने की जिम्मेदारी दी गई थी, वह खुद टोहना सीट पर पीछे चल रहे हैं। अमित शाह के फटकार लगाने के बाद बराला ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है।
बराला ने हरियाणा में पार्टी के मन मुताबिक नतीजे नहीं आने के बाद इसकी जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी हाईकमान को अपना इस्तीफा भेज दिया है। बताया जाता है कि बराला ने यह कदम पार्टी के खराब प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के जोरदार फटकार लगाने के बाद उठाया। गौरतलब है कि हरियाणा में भाजपा ने अबकी बार 75 पार का नारा दिया था। मतगणना के ताजा रूझानों में भाजपा 39 और कांग्रेस 31 सीटों पर आगे चल रही है।


प्रदेश की सियासत के क्षेत्रीय क्षत्रप चौटाला परिवारा में विघटन के बाद अस्तित्व में आई जननायक जनता पार्टी 10 और 10 सीटों पर अन्य आगे चल रहे हैंं। टोहाना सीट पर बराला जननायक जनता पार्टी के देवेंद्र सिंह बबली से 25 हजार से अधिक वोटों से पीछे चल रहे हैं।


तेंदुए के शिकारी किए गिरफ्तार

बिलासपुर। प्रदेश के अचानकमार टाइगर रिजर्व की घोषणा केंद्र सरकार ने बाघों के संरक्षण के लिए की थी। लेकिन सरकार ने जिस उद्देश्य से अचानकमार टाइगर रिजर्व की घोषणा की सिर्फ वो कागजों में ही दिखाई दे रही है। जिसका उदाहरण अचानकमार टाइगर रिजर्व में लगातार वन्य प्राणियों का शिकार हो रहा है। साथ ही कीमती इमारती लकड़ियों की कटाई कर तस्करी की जा रही है।


अभी कुछ दिन पहले मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बॉर्डर से तेंदुए का शिकार किया गया है। जिसमें 17 आरोपियों को डॉग स्काॅयड की मदद से गिरफ्तार किया गया है। विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक तेंदुए का शिकार शनिवार को हुआ था। जिसकी जानकारी विभाग को सोमवार हुआ, जानकारी मिलते ही विभाग के अधिकारी ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए छानबीन शुरू की जिसमें दो लोगों की गिरफ्तारी हुई और पूछताछ के दौरान पकड़ लिए गयें है।


आरोपियों के द्वारा आरोपियों के नाम भी बताए। जिसके बाद 17 लोगो को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि हम लोग जंगली सुअर का शिकार करने के लिए बिजली का फंदा लगाए थे। जिसमें तेंदुआ फंस कर मर गया तेंदुए के मरने के बाद सभी आरोपी शव को वहीं छोड़कर भाग निकले थे। विभाग को जानकारी मिलने के बाद आरोपियों से शिकार में तार के साथ बाकी हथियार भी जप्त किये गए है।


6 दिन मे 13 लोग 150 जानवरों की मौत

बैंगलोर। कर्नाटक में हो रही बारिश के कारण आई बाढ़ में मरने वालों की संख्या 13 पहुंच गई है। दरअसल, 18 अक्टूबर से राज्य में बारिश हो रही है। राज्य सरकार द्वारा इक्ट्ठा किए गए आंकड़ों के अनुसार, करीब 150 जानवरों की इस दौरान मौत हो गई है। पिछले छह दिनों से हो रही बारिश के कारण लगभग 10,000 घर बर्बाद हो गए हैं। जिसमें से 9832 आंशिक रुप से डैमेज हुए हैं और 206 घर पूरी तरह से तबाह हो गए हैं।
राज्य सरकार ने लोगों की मदद के लिए बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों में राहत शिविर लगाए हुए है। अकेले बागलकोट में 3,734 लोगों को सात राहत शिवरों में रखा गया है। आंकड़ों के अनुसार, लगभग 7,220 लोगों को करीब 28 राहत शिवरों में पनाह दी गई है। कर्नाटक में स्थिति गंभीर होती जा रही है ऐसे में लोगों की मदद के लिए सेना ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है।
भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से सबसे ज्यादा बेलगावी, कलबुर्गी, बागलकोटे, रायचूर, शिवमोगा धारवाड और विजयपुरा, प्रभावित है। यहां घरों और स्कूलों में पानी भर गया है। इतना ही नहीं यादगिर में नारायणपुर छाया भगवती मंदिर में भारी बारिश के बाद पानी भर गया ।
बैंगलुरू के रक्षा प्रवक्ता ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि बुधवार सुबह सेना की इंजीनियर्स की चार टीमों को नाव के साथ रायचुर जिले में पुर्नवास सामान के साथ सक्रिय कर दिया गया है। साथ ही प्रभावित जिलों में सेना की कई टीमों को अलर्ट पर रखा गया है। भारी बारिश के कारण होसुरू गांव में आज सुबह एक मकान छह गया। हालांकि अभी तक इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। बता दें कि भारी बारिश के कारण कर्नाटक, केरल और आंध्र प्रदेश के कई जिले भीषण बाढ़ की चपेट में आ गए हैं।


विषैला जल लील रहा ग्रामीणों की जान

रायपुर। छत्तीसगढ़ का एक गांव ऐसा है, जहां का भूमिगत पानी जहरीला है। लोग इस पानी को मजबूरी में पीते हैं और अपनी जान गंवाते हैं। एक अभिशाप की तरह लोग इस जहरीले पानी के शिकार हो रहे हैं। लोगों की मजबूरी है कि इन्हें पीने के लिए यही पानी उपलब्ध है। लोगों को पता है कि यह पानी अंदर-अंदर उनकी किडनी गला रहा है और जिस्म को खोखला बना रहा है, बावजूद इसके लोगों के पास अपनी प्यास बुझाने का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। धीरे-धीरे यहां की आबादी सिमट रही है। लोग या तो गांव छोड़कर पलायन कर रहे हैं या फिर मौत के मुंह में समा रहे हैं। इस गांव में रह रहे युवक-युवतियों की शादियां भी नहीं हो रहीं, जिसकी वजह से यहां की जनसंख्या बढ़ने की बजाय कम हो रही हैं।
गरियाबंद के सुपेबेड़ा गांव के लोग एक ऐसी बीमारी का शिकार हो रहे हैं, जिसकी वजह से यहां की आबादी घटती जा रही है। सुपेबेड़ा में किडनी की बीमारी को लेकर इस कदर दहशत है कि लोग पलायन कर रहे हैं। गरियाबंद जिले के इस 900 की आबादी वाले गांव में सन 2005 से लगातार किडनी की बीमारी से मौत का सिलसिला जारी है। अब तक यहां 68 मौतें हो चुकी हैं। साल 2005 में ही सुपेबेड़ा में मौतों का सिलसिला शुरू हो गया था, लेकिन सरकार ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया। साल 2017 में यहां 32 लोगों की मौत हुई। यह खबरें जब अखबारों की हेडलाइन बनीं, तब सरकार जागी। तत्कालीन मंत्रियों ने दौड़ लगाई। कैंप लगाए गए, डॉक्टरों को भेजा गया। कई गंभीर मरीजों को इलाज के लिए रायपुर लाया गया। गांव में अस्पताल खोला गया और अब राज्यपाल ने गांव का दौरा कर वहां प्रभावित मरीजों के एम्स और रायपुर के अन्य सुपर स्पेसिलिटी अस्पताल में मुफ्त उपचार का आश्वासन दिया है।
रायपुर स्थित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने सुपेबेड़ा की मिट्टी का परीक्षण किया था। मुम्बई के टाटा इंस्टीटयूट और दिल्ली के डॉक्टर भी अपने स्तर पर जांच कर चुके हैं। जबलपुर आइसीएमआर की टीम भी यहां जांच के लिए पहुंची। पीएचई विभाग ने पानी की जो जांच की थी, उसमें उन्हें फ्लोराइड और आरसेनिक की मात्रा ज्यादा मिली थी। उसके समाधान के लिए गांव में फलोराइड रिमुवल प्लांट लगा दिया गया था, मगर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा की गई मिट्टी की जांच में हैवी मैटल पाए गए थे, जिसमें कैडमियम और क्रोमियम भी ज्यादा मात्रा में शामिल है।
वर्तमान में कांग्रेस की सरकार ने सुपेबेड़ा में शुद्घ पेयजल पहुंचाने के लिए योजना बनाई है। करीब दो करोड़ रुपये की इस योजना से पास में बहती तेल नदी से पानी पहुंचाया जाएगा। तेल नदी पर पुल निर्माण और वाटर फिल्टर प्लांट के लिए 24 करोड़ रुपये भी स्वीकृत किए गए हैं। यहां के लोगों को शुद्ध पेयजल पहुंचाने के लिए पूर्व में जो वाटर फिल्टर और आर्सेनिक रिमुवेबल प्लांट स्थापित किए गए हैं, इनकी कार्यक्षमता पर सवाल उठते रहे हैं। प्लांट में पानी ठीक तरीके से शुद्ध नहीं हो पाने के कारण स्थिति में विशेष सुधार नहीं हुआ।


पैसेंजर ट्रेन को एक्सप्रेस में किया तब्दील

 भिण्ड। कोटा-भिण्ड पैसेंजर ट्रेन को एक्सप्रेस में तब्दील करते हुए इटावा तक  शुरू किया जा चुका है। इस ट्रेन को भिण्ड-दतिया सांसद संध्या राय ने भिण्ड रेलवे स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रेलवे ने कोटा पैंसेजर को न केवल एक्सप्रेस ट्रेन में तब्दील किया है, बल्कि इसे इटावा तक के लिए भी शुरू करा दिया है। इससे पहले यह ट्रेन भिण्ड-कोटा के बीच चलती थी और अब यह इटावा और कोटा के बीच शुरू कर दी गई है। मंगलवार को पहले दिन यह ट्रेन सुबह 11:40 बजे कोटा से भिण्ड की ओर रवाना हुई और बुधवार को दोपहर 1:30 बजे इटावा पहुंची। बता दें कि कोटा-इटावा एक्सप्रेस के 49 स्टापेज रखे गए है। इसके अलावा रेलवे ने ग्वालियर से भिण्ड के बीच चलने वाली ग्वालियर-भिण्ड ट्रेन का भी इटावा तक विस्तार कर दिया्र है। ये गाड़ी अब सुबह 6 बजे ग्वालियर से चलकर 9:30 बजे इटावा पहुंचेगी और फिर इटावा से 10 बजे ग्वालियर के लिए प्रस्थान करेगी। हालांकि एक साथ दो ट्रेनों का विस्तार किए जाने से यात्रियों में खुशी का माहौल है।


आधुनिकता में जल उपयोगी बिंदु

भिण्ड। रौन जनपद के अंतर्गत गौरई गांव मे गुरूवार दोपहर युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के अधीन नेहरू युवा केन्द्र संगठन एवं रामजानकी युवा मण्डल द्वारा रौन क्षेत्र के गौरई गांव मे जल शक्ति अभियान कार्यक्रम के तहत ग्रामीण युवाओं को जल बचाने के लिये जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  जिसमे रामजानकी युवा मण्डल की अध्यक्ष रेखा सिहं, सचिव सतेंन्द्र सिहं चौहान, कोषाध्यक्ष महावीरसिंह आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे। इस दौरान मण्डल अध्यक्ष रेखा सिहं ने कहा कि जल की अधिकाधिक बर्बादी होने से हमारे बीच का जलस्तर घटता है इसे व्यर्थ न करें। इन्द्र सिंह  चौहान ने कहा कि वास्तव में आज की स्थिति में जल हमारे लिये बहुत ही उपयोगी बिंदु है जिसे हमे सहज के रखना होगा। युवा समाजसेवी जितेन्द्र सिंह चौहान जीतू भैया गौरई ने संबोधित किया।


स्वच्छ भारत अभियान के तहत रैली

इंदौर। प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान के तहत, प्रतिभा सिंटेक्स लिमिटेड और विचार फाउंडेशन ने बुधवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक दशहरा मैदन से नीलकंठ मंदिर, सागौर में स्वच्छता अभियान सह रैली का आयोजन किया। प्रतिभा सिंटेक्स और विचार फाउंडेशन की इस 2 किलोमीटर लंबी रैली में सरस्वती शिशु मंदिर के छात्र और शिक्षक, नगर पालिका टीम के सदस्य और ग्रामीण उपस्थित रहे। बच्चों ने स्वच्छता के नारे लगाए, जबकि प्रतिभा के कर्मचारियों, ग्रामीणों और नगर पालिका के सदस्यों ने प्लास्टिक के थैलों, पॉलीथिन और रैपरों को एकत्र कर लोगों को प्लास्टिक के उपयोग से दूर रहने और सागौर को स्वच्छ व सुव्यवस्थित बनाने के लिए प्रेरित कदम। मदन सिंह भंडारी ने कहा की स्वच्छता का ये अभियान सागौर के लोगो को स्वच्छता रखने के लिए प्रेरित करेगा | इस अभियान को रामनारायण चौधरी ने भी सराहा |


 यह अभियान प्रतिभा के सीएसआर प्रोग्राम के सात मॉड्यूलों में से एक था, जिसे विचार फाउंडेशन द्वारा कार्यान्वित किया गया था। सीएसआर कार्यक्रम के तहत, एक अन्य मॉड्यूल शिक्षा को लेकर भी है। नैतिक शिक्षा पर शिक्षा मॉड्यूल कार्यशाला का आयोजन किया गया है और सागौर और बरदरी के विभिन्न स्कूलों में नैतिक मूल्यों पर फिल्में दिखाई गई हैं।  इस महीने महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाते हुए, महात्मा गांधी के जीवन पर एक फिल्म अगली पीढ़ी को महात्मा के जीवन के उपाख्यानों के बारे में सूचित करने के लिए प्रदर्शित की गई थी। सितंबर के महीने में, शहीद भगत सिंह की जयंती को चिह्नित करने के लिए, स्वतंत्रता सेनानी पर विचार फाउंडेशन द्वारा बनाई गई फिल्म को विभिन्न स्कूलों में प्रदर्शित किया गया था। फिल्मों की स्क्रीनिंग के बाद बच्चों की फिल्म से सीखने के बारे में उनकी समझ को परखने के लिए एक एक छोटी परीक्षा का आयोजन भी किया जाता है।


सरस्वती शिशु मंदिर की प्रधानचार्य श्रीमती रेखा शर्मा ने कहा की इस तरह की कार्यशालाए बच्चो में नैतिक मूल्यों को रोपित करने में बहुत ही सहायक है | विद्यालय के संयोजक  प्रह्लाद रघुवंशी ने कहा की ये मोड़युल बच्चो को सर्वागीण विकास के लिए बहुत ही जरूरी है|


हिम तेंदुआ की गणना के लिए प्रोटोकॉल

नई दिल्ली। केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने हिम तेंदुओं की रक्षा और संरक्षण को बढ़ावा देने की दिशा में प्रमुख पहल करते हुए अंतर्राष्ट्रीय हिम तेंदुआ दिवस के अवसर पर भारत में हिम तेंदुए की संख्या का आकलन करने के लिए आज प्रथम राष्ट्रीय प्रोटोकॉल का शुभारंभ किया। देश में हिम तेंदुओं की गणना का अपने किस्म का पहला कार्यक्रम वैज्ञानिक विशेषज्ञों द्वारा उन राज्यों/संघ शासित प्रदेशों, के सहयोग से विकसित किया गया है, जहां हिम तेंदुए पाए जाते हैं। इन राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश शामिल हैं।


वैश्विक हिम तेंदुआ एवं पारिस्थितिकी संरक्षण (जीएसएलईपी) कार्यक्रम की संचालन समिति की चौथी बैठक में प्रमुख भाषण देते हुए आज श्री जावड़ेकर ने इस रेंज में आने वाले देशों से प्रकृति के संरक्षण तथा हिम तेंदुओं की संख्या की गणना में सामूहिक रूप से कार्य करने की दिशा में विचार करने का अनुरोध किया। पर्यावरण मंत्री ने कहा, 'आने वाले दशक में हम दुनिया में हिम तेंदुओं की आबादी को दोगुना करने का प्रयास करेंगे। यह दो दिवसीय सम्मेलन महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस दौरान होने वाला विचार-विमर्श, चर्चाएं, सहयोग और एक-दूसरे से सीखना और सर्वोत्तम पद्धातियों को साझा करना हम सभी के लिए लाभदायक होगा। इसलिए, हम प्रकृति को बेहतर तरीके से संरक्षित कर सकते हैं और हम सामूहिक रूप से सकारात्मक कार्य कर सकते हैं।'
             श्री जावड़ेकर ने बाघों की आबादी के संबंध में भारत की सफलता के बारे में भी जानकारी दी। इस समय 2967 बाघ हैं, यानी 77 प्रतिशत बाघों की आबादी भारत में निवास करती है, उनकी तादाद का लगभग सटीक आकलन करने के लिए 26000 कैमरों का इस्तेमाल किया गया। भारत में 500 से अधिक शेर, 30000 से अधिक हाथी, 2500 से अधिक एक सींग वाले गैंडे भी हैं।
            श्री जावड़ेकर ने यह विश्वास भी व्यक्त किया कि यह विचार-विमर्श व्यावहारिक कार्यक्रम तैयार करने में सफल होगा और इसकी बदौलत प्रकृति के संरक्षण और उसमें सुधार लाने के जरिए जलवायु परिवर्तन के खिलाफ जंग जीतने तथा तेंदुए, बाघ, शेर, हाथी, गैंडे और समस्त पशु साम्राज्य सहित पारिस्थितिकी के प्रतीकों की संख्या में वृद्धि होने का मार्ग प्रशस्त होगा। श्री जावड़ेकर ने कहा, “हमें क्षमता निर्माण, आजीविका, हरित अर्थव्यवस्था और तो और हिमालयी क्षेत्र के हिम तेंदुएं वाले इलाकों में और हरित मार्ग के बारे में देशों के बीच सहयोग के बारे में विचार मंथन करना चाहिए। यह उन सभी देशों के लिए आधार बनता है, जहां हिम तेंदुए पाए जाते हैं।"
               पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में सचिव  श्री सी.के. मिश्रा ने उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए पारिस्थितिकी तंत्र के लिए हिम तेंदुए की अहमियत के बारे में जागरूकता फैलाने और उसे समझने की आवश्यकता पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा, “ये सम्मेलन अन्य देशों की सर्वोत्तम पद्धातियों के बारे में जानने का अवसर प्रदान करते हैं। चर्चाएं पर्यावास और पारिस्थितिकी तंत्र पर केंद्रित होनी चाहिए। हमें बेहतर पारिस्थितिकी तंत्र और बेहतर पर्यावास बनाने का प्रयास करना चाहिए।”


यहां इस बात का उल्लेख करना महत्वपूर्ण होगा कि हिम तेंदुएं 12 देशों में पाए जाते हैं। उन देशों में भारत, नेपाल, भूटान, चीन, मंगोलिया, रूस, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं। पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा 23-24 अक्टूबर, 2019 को नई दिल्ली में जीएसएलईपी कार्यक्रम की दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बैठक आयोजित की जा रही है।
जीएसएलईपी की संचालन समिति की चौथी बैठक में नेपाल, रूस, किर्गिस्तान और मंगोलिया के मंत्रियों के साथ-साथ हिम तेंदुओं की आबादी वाले नौ देशों के वरिष्ठ अधिकारी भी भाग ले रहे हैं। जीएसएलईपी की संचालन समिति की बैठक की अध्यक्षता नेपाल और सह-अध्यक्षता किर्गिस्तान कर रहे हैं। इस बैठक में हिम तेंदुए और उसके पारिस्थितिकी तंत्र के संरक्षण के लिए सहयोगपूर्ण प्रयासों में तेजी लाने के लिए अपने अनुभवों को साझा करेंगे। प्रतिनिधि हिम तेंदुए के पर्यावासों के विकास के लिए निरंतर किए जाने वाले प्रयासों पर भी चर्चा करेंगे।


आज मनाया जाएगा आयुर्वेद दिवस

नई दिल्ली। राजस्थान के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर में 25 अक्टूबर, 2019 को चौथा आयुर्वेद दिवस आयोजित किया जाएगा। इस संस्थान में धनवंतरी पूजन और 'राष्ट्रीय धनवंतरी आयुर्वेद पुरस्कार-2019' समारोह आयोजित किया जाएगा, जिसमें लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिड़ला मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं रक्षा मंत्रालय में राज्य मंत्री श्री श्रीपद येस्सो नाइक भी उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर, 24 अक्टूबर, 2019 को एक राष्ट्रीय सम्मेलन 'दीर्घायु के लिए आयुर्वेद' भी आयोजित किया जाएगा। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत मुख्य अतिथि होंगे।
भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने 2016 से प्रत्येक वर्ष धनवंतरी जयंती (धनतेरस) के दिन आयुर्वेद दिवस मनाने का निर्णय लिया था। इस अवसर पर, मंत्रालय 3-4 आयुर्वेद विशेषज्ञों को 'राष्ट्रीय धनवंतरी आयुर्वेद पुरस्कार' से भी सम्मानित करता है, जिसमें प्रशस्ति-पत्र, ट्राफी (धनवंतरी की मूर्ति) और पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार शामिल हैं। आयुर्वेद एक व्यापक कार्यक्रम में भरोसा करता है, जिसमें जागरुक भोजन (आहार), रहन-सहन (विहार), नींद (निद्रा), दीर्घायु (स्वस्थ्य जीवनकाल) के विस्तार के लिए व्यवहारात्मक एवं मनोवैज्ञानिक क्रियाकलाप शामिल हैं। रसायन तंत्र, आयुर्वेद की आठ शाखाओं में एक है, जो कायाकल्प, ऊर्जा संचार, रोग प्रतिरक्षण, स्वस्थ रूप से जीवन बढ़ाने और दीर्घायु बनाने के लिए समर्पित है।
आयुष मंत्रालय के संगठन यानी अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए) नई दिल्ली, केंद्रीय आयुर्वेदिक विज्ञान अनुसंधान परिषद (सीसीआरएएस), आयुर्वेद स्नातकोत्तर प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान (आईपीजीटी एंड आरए) जामनगर, भारतीय औषधि एवं होम्योपैथी फार्माकोपिया आयोग (पीसीआईएम एंड एच) गाजियाबाद और पूर्वोत्तर आयुर्वेद एवं होम्योपैथी संस्थान (एनईआईएएच) शिलांग भी इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी कर रहे हैं।


फांसी की सजा, मुठभेड़ में ढेर

 गौतम बुध नगर। उत्तर प्रदेश के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की नोएडा यूनिट ने प्रतापगढ़ जिले में मंगलवार को देर रात मुठभेड़ के दौरान 50 हजार रुपये के एक इनामी बदमाश को मार गिराया। इस बदमाश पर हत्या, हत्या के प्रयास, डकैती और लूटपाट के 15 से ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में दर्ज हैं।
एसटीएफ के एसएसपी राजीव नारायण मिश्रा ने बुधवार को बताया कि मंगलवार रात को पश्चिमी उप्र एसटीएफ (नोएडा यूनिट) और प्रतापगढ़ जिले की थाना रानीगंज पुलिस को सूचना मिली कि कुछ बदमाश किसी बड़े अपराध को अंजाम देने के लिए रानीगंज थाना क्षेत्र में आ रहे हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू कर दी।
एसएसपी ने बताया कि कुछ देर बाद कुछ संदिग्ध लोग आते दिखाई दिए। उन्हें रुकने का इशारा किया गया। उन्होंने खुद को घिरा देखकर गोली चलानी शुरू कर दी। एसटीएफ ने जवाबी कार्रवाई की और एक गोली एक बदमाश को लगी। मिश्रा ने बताया कि उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


अजनबी लोगों पर विश्वास न करें:मेष

राशिफल


मेष-राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। आज अजनबी लोगों पर विश्वास न करें। संतान संबंधित समाचार मिल सकता है। पुराने दोस्तों के साथ मुलाकात हो सकती है। नए दोस्त भी बन सकते हैं। कारोबारिक और आर्थिक रूप से लाभ मिलेगा।


वृषभ-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज दिन लाभदायक साबित होगा। कारोबार में इनकम बढ़ेगी। धन लाभ की पूरी संभावनाएं हैं। दोस्तों के साथ मेलजोल बढ़ेगा।


मिथुन-राशि के लोगों के साथ तालमेल बैठेगा। उच्च अधिकारियों के साथ वाणी और व्यवहार में संभलकर चलें। कारोबरा में कोई बाधा आ सकती है। आर्थिक नजर से लाभ मिलेगा।


कर्क-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा. अनजाने में कोई बड़ी गलती हो सकती है। क्रोध और वाणी पर संयम रखें। सेहत भी संभालकर रखें। परिजनों के साथ कलह हो सकती है।


सिंह-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आज आप समय से पहले अपने काम पूरे करेंगे। भागीदारों के साथ संबंध अच्छे होंगे! सेहत खराब हो सकती है। अचानक खर्चा हो सकता हैं ।


कन्या-राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। संतों के दर्शन से लाभ मिलेगा। पारिवारिक जीवन में सुख-शांति आएगी। स्वभाव में उग्रता रहेगी, बेहतर होगा वाणी पर संयम बरतें।


तुला-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। घर के बड़े-बुजुर्गों का आशिर्वाद जरूर लें। परिवार में कुछ अनबन हो सकती है। दफ्तर में नई जिम्मेदारियां आपको मिल सकती हैं।


वृश्चिक-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। आर्थिक हालत में सुधार होगा। नए अवसरों को जल्द भुनाने की कोशिश करें।ऑफिस में महिलाओं का विशेष सम्मान होगा।


धनु-राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा। सेहत थोड़ी नरम रह सकती है. विदेश जाने का योग बनेगा। विचार और कार्य में स्थिर करने का प्रयास करें। किसी बीमारी की चपेट में आ सकते हैं थोड़ा ध्यान रखें।


मकर-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा। बने बनाए काम बिगड़ सकते हैं। गुस्से और वाणी पर काबू रखें। नकारात्मक विचार मन में आ सकते हैं। खान-पान में संयम बरते।


कुंभ-राशि के लोगों का दिन सामान्य रहेगा. आज आप दूसरों के प्रति आकर्षित होंगे। नए कार्यों की शुरुआत के लिए समय अच्छा है। परिजनों के साथ समय अच्छा बीतेगा।


मीन-राशि के लोगों का दिन शुभ रहेगा! आज मेहनत का फल मिलेगा। अधिक लाभ के चक्कर में कहीं फंस न जाएं। कोर्ट-कचहरी से दूर ही रहे बेहतर।


खरहा-खरगोश की असमानताए

खरहा, लेपस वंश और शशक प्रजाति के स्तनधारी जीव हैं। खरहों की चार विशेष प्रजातियों को लेपस वंश से बाहर वर्गीकृत किया जाता है। खरहे बहुत तेज दौड़ाक होते हैं, यूरोपीय भूरा खरहा तो 72 किमी/घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता है। ये आम तौर पर एकाकी जीव होते हैं या फिर जोड़ों में रहते हैं, पर कुछ प्रजातियाँ झुंडों में भी रहती हैं। बहुत तेज भागते समय या फिर परभक्षियों को चकमा देते समय उत्पन्न होने वाले गुरुत्व बल को इनका शरीर अवशोषित करने में सक्षम होता है।आमतौर पर खरहा एक शर्मीला जीव है पर समागम के मौसम में इनका व्यवहार बदल जाता है और यह एक दूसरे के पीछे भागते देखे जा सकते हैं। यह एक दूसरे को ऐसे मारते हैं जैसे मुक्केबाज़ी का अभ्यास कर रहें हों। कुछ समय पहले तक तो यह माना जाता था कि प्रतिद्वंदी नर एक दूसरे को मारते हैं पर अब यह स्पष्ट हो गया है कि संभोग के लिए अनिच्छुक मादा, नर को मारती है।


खरगोश और खरहे में अंतर:- आकार में खरगोश से बड़ा होता है। कान भी खरगोश की तुलना में बड़े होते हैं। आकार में खरहे से छोटा होता है। कान भी खरहे की तुलना में छोटे होते हैं।
आवास जमीन के उपर उथले गड्ढों में घास और तिनकों का घोंसला बना कर रहते है। जमीन के नीचे बिलों में रहते हैं।
शिशु जन्म के समय शिशुयों के शरीर रोएंदार होते हैं, आँखें भी खुली होती है। जरूरत पड़ने पर भागने में भी सक्षम होते हैं। जन्म के समय शिशुयों की आँखे बंद होती हैं और शरीर पर रोयों का आभाव होता है। पूरी तरह से माता/पिता पर आश्रित होते हैं।
गति खरगोश की तुलना में अधिक तेज दौड़ते हैं। खरहे की अपेक्षा धीमे दौड़ते हैं।
पालतू खरहे जंगली जीव है और इन्हें आज तक पालतू नहीं बनाया गया है। खरगोशों को दुनिया के विभिन्न देशों में पालतू जीवों की तरह पाला जाता है।


वायुमंडल का उष्मा संतुलन

वायुमंडल का उष्मासंतुलन 
भूतल तथा वायुमंडल को गरमी लगभग पूर्णतया सूर्यविकिरण से ही मिलती है। अन्य आकाशीय पिंडों से गरमी बहुत ही कम मात्रा में मिलती है। सौर ऊर्जा की मापें स्मिथसोनियन संस्था की तारा-भौतिकी-वेधशाला में तथा अन्य कई पर्वतशिखरों पर स्थित वेधशालाओं में नियमित रूप से की जाती है और इन मापों की यथार्थता एक प्रतिशत से उत्कृष्ट होती है। पृथ्वी और सूर्य की मध्यमानसौर दूरी पर यह सौर आतपन ऊर्जा वायुमंडल में प्रविष्ट होकर अंशत: अवशेषित होने के पहले लगभग 1.94 ग्राम कलरी प्रति मिनट वर्ग सेंटीमीटर होती है; यहाँ प्रतिबंध यह है कि सूर्य की किरणें उस वर्ग सेंटीमीटर पर अभिलंबत: पड़ें। इस मात्रा को सौर नियतांक (सोलर कॉन्स्टैंट) कहते हैं। सौर नियतांक के मान में पाई गई अनियमित घट बढ़ एक प्रतिशत से भी कम रहती हैं; ये प्रेक्षणत्रुटियों के कारण हो सकती हैं। इन अनियमित उच्चावचनों के अतिरिक्त एक वास्तविक और बड़ा उच्चावचन भी पाया गया है जो ग्यारह वर्षीय सूर्य-कलंक-चक्र में लगभग प्रतिशत तक का दीर्घकालिक उच्चावचन और भी हो सकता है। परंतु ये सब उच्चावचन इतने लघु हैं कि वायुमंडलीय उष्म संतुलन के संबंध में यह मान लिया जा सकता है कि पृथ्वी पर सौर ऊर्जा 1.94 ग्राम कलरी प्रति वर्ग सेंटीमीटर प्रति मिनट पड़ती है। अनुमान किया गया है कि सौर ऊर्जा का 43 प्रतिशत भाग परावर्तित तथा प्रकीर्णित तथा प्रकीर्णन करने की सम्मिलित शक्ति को ऐलबेडो कहते हैं। यह 43 प्रतिशत है। शेष 57 प्रतिशत ऊर्जा, जो प्रभावकारी आतपन है, भूतल तथा वायुमंडल को औसतन 57 उष्मा इकाइयाँ प्रदान करता है। इन 57 उष्मा इकाइयों में से केवल एक लघु भाग का (अधिक से अधिक 14 इकाइयों का) वायुमंडल, मुख्यत: निचले स्तरों में जलवाष्प द्वारा और कुछ कम परिमाण में ऊपरी समताप मंडल (स्ट्रैटोस्फ़ियर) में ओज़ोन द्वारा, अवशोषण कर लेता है।


लेखन में अक्सर गलती होती है

कोई उद्धरण देने के अतिरिक्त कहीं भी आत्मकथात्मक शैली में न लिखें। हमेशा प्रथम पुरुष (third person) शैली में ही लिखा जाना चाहिये।


लेखन में अशुद्धियाँ टालने का प्रयत्न करें। हिन्दी में वर्तनी की विविधता, गलत वर्तनियों का प्रिण्ट मीडिया में पाया जाना तथा टाइपिंग टूल के कारण होने वाली गलतियाँ (टाइपो) अक्सर देखी जाती हैं। कुछ सर्वाधिक प्रचलित गलतियों के बारे में जानने हेतु यह लेख देखें - विकिपीडिया:हिन्दी में सामान्य गलतियाँ।
सामान्य हिन्दी - शुद्ध हिन्दी: हिन्दी विकिपीडिया पर लेख रोजमर्रा की सामान्य हिन्दी अर्थात खड़ीबोली (हिन्दुस्तानी अथवा हिन्दी-उर्दू) में लिखे जाने चाहिये। हालाँकि तकनीकी तथा विशेष शब्दावली हेतु शुद्ध संस्कृतिनष्ठ हिन्दी के ही प्रयोग की संस्तुति की जाती है। हालाँकि बहुत जटिल उर्दू-फारसी शब्दों से परहेज किया जाना चाहिये जैसे Upper House of Parliament को संसद का उच्च सदन लिखा जाय न कि उर्दू का मिजिलस का ऐवान-ए-बाला, Foreign Minister को विदेशमन्त्री न कि उर्दू वज़ीर-ए-ख़ारिजा; knowledge/science को ज्ञान/विज्ञान, न कि इल्म। नामों के पश्चात आदरसूचक जी न लगायें यह अविश्वकोषिक है अर्थात कृष्ण/श्री कृष्ण परन्तु कृष्ण जी नहीं। आदरणीय व्यक्तियों के बारे में लिखते समय आप तथा इसके समकक्ष प्रथम पुरुष शब्द-संयोजन का प्रयोग करें जैसे श्री वाजपेयी मध्य प्रदेश में जन्मे थे न कि वाजपेयी मध्य प्रदेश में जन्मा था परन्तु "आप" सर्वनाम का प्रयोग आत्मकथा के अंशों में न करें।
अंग्रेजी का उपयोग आवश्यक होने पर ही करना चाहिये यदि उसके समकक्ष शुद्ध हिन्दी शब्द उपलब्ध न हो अथवा बहुत कठिन एवं सामान्यतया प्रयोग में न आने वाला हो या अंग्रेजी शब्द किसी अभारतीय व्यक्ति/स्थान/शब्दावली/शीर्षक का समुचित नाम हो या यदि प्रयोक्ता को समुचित अनुवाद बारे उच्च आशंका हो। लिप्यन्तरण हेतु ब्रिटिश अंग्रेजी तथा इसके मूल उच्चारण का उपयोग करें। आप लेख लिखने के दौरान अंग्रेजी से हिन्दी अनुवाद हेतु शब्दकोश.कॉम, गूगल शब्दकोश एवं गूगल अनुवाद की सहायता ले सकते हैं। हर अंग्रेजी शब्द हेतु उस विकल्प का प्रयोग करें जो कि रोजमर्रा की बोलचाल वाली में प्रयुक्त होता हो तथा प्रसंग के अनुसार हो। नये पाला पड़े शब्दों के लिये बुद्धिमतापूर्ण अनुमानित शब्दों का प्रयोग भी किया जा सकता है जैसे कि हिन्दी में डब की गयी टीवी डॉक्यूमेण्ट्रीज, हॉलीवुड फिल्मों आदि के अनुवाद में देखा जाता है। जैसे en:Dementor (डब की गयी हैरी पॉटर फिल्मों में प्रयुक्त) के लिये दमपिशाच आदि।


पन्ना या हरा कबूतर

पन्ना कबूतर या कॉमन एमरल्ड् डव् उष्ण तथा उपोष्ण कटिबन्धीय भारतीय उपमहाद्वीप, म्याँमार, थाइलैंड, मलेशिया, इंडोनेशिया तथा उत्तरी व पूर्वी ऑस्ट्रेलिया में पाया जाने वाला एक कबूतर का प्रकार है। इसे हरा कबूतर या हरित-पक्ष-कबूतर के नाम से भी जाना जाता है। यह भारत के तमिलनाडु राज्य का राज्यपक्षी है।


इसकी अनेक उपप्रजातियाँ हैं, जिनमें तीन ऑस्ट्रेलिया में पायी जाती हैं।


यह वर्षा वनों आर्द्र घने वनों, कृषिक्षेत्रों, उद्योनों, ज्वारीयवनों तथा तटीय दलदल में पाये जाने वाली आम प्रजाति है। यह डंडियों से पेड़ों पर अनगढ़ सा घोंसला बनाता है और दो मलाई-रंग के अंडे देते हैं। ये तेजी से और तुरन्त उड़ान भरते हैं, जिसमें परों की नियमित ताल तथा तीखे झटके भी होते हैं, जो कबूतरों की सामान्य विशेषता है। ये प्रायः घने वनों के खंडों में नीचे-नीचे उड़ते हैं, लेकिन कभी कभी छेड़े जाने पर उड़ने के बजाय दौड़कर भी दूर हो जाते हैं।


इनका स्वर धीमी कोमल दुखभरी सी कूक जैसा होता है, जिसमें ये शांत से शुरू करके उठाते हुए छः से सात बार कूकते हैं। ये अनुनासिक "हु-हू-हूँ" की आवाज भी करते हैं।


साग, सब्जी और चारा भी

शलजम (अंग्रेज़ी: Turnip, वानस्पतिक नाम:Brassica rapa) क्रुसीफ़ेरी कुल का पौधा है। इसकी जड़ गांठनुमा होती है जिसकी सब्ज़ी बनती है। कोई इसे रूस का और कोई इसे उतरी यूरोप का देशज मानते हैं। आज यह पृथ्वी के प्राय: समस्त भागों में उगाया जाता है।इसकी जड़ मोटी होती है, जिसको पकाकर खाते हैं और पत्तियाँ भी शाग के रूप में खाई जाती हैं। पशुओें के लिए यह एक बहुमूल्य चारा है। कुछ स्थानों में मनुष्यों के खाने के लिए, कुछ पशुओें को खिलाने के लिए और कुछ स्थानों में इन दोनों कामों के लिए यह उगाया जाता है। इसमें ठोस पदार्थ ९ से १२ प्रतिशत और कुछ विटामिन, विशेषत: "बी' और "सी' रहते हैं।


विशेषताये:-यह शीतकालीन पौधा है। अधिक गरमी यह सहन नहीं कर सकता। पौधे लगभग १८ इंच ऊँचे और फलियाँ एक से डेढ़ इंच लंबी होती हैं। इसके फूल पीले, या पांडु, या हलके नारंगी रंग के होते हैं। शलजम का वर्गीकरण इसकी जड़ के आकार पर, अथवा जड़ के ऊपरी भाग के रंग पर, किया गया है। कुछ जड़ें लंबी, कुछ गोलाकार, कुछ चिपटी और कुछ प्याले के आकार की होती हैं। कुछ किस्म के शलजम के गुद्दे सफेद और कुछ के पीले होते हैं। भारत में उपर्युक्त सब ही प्रकार के शलजम उगाए जाते हैं।


कृषि:-शलजम बोने के लिए खेतों की जुताई गहरी और अच्छी होनी चाहिए। अच्छी सड़ी गोबर की खाद प्रति एकड़ १०-१५ टन और नाइट्रोजन, फ़ॉस्फ़ोरस और पोटैश वाला उर्वरक ८६० पाउंड डालने से पैदावार अच्छी होती है। इसका बीज छिटकावा, या ड्रिल द्वारा, कतार में बोया जाता है। ए एकड़ के लिए छह से आठ पाउंड तक बीज की आवश्यकता पड़ती है। आधे इंच की गहराई पर बीज बोया जाता है। यदि मिट्टी कड़ी या मटियार हो, तो मेंड़ों पर भी बीज बोया जा सकता है। बीज शीघ्र ही जम जाता है। जम जाने पर पौधों को विरलित करने की आवश्यकता पड़ती है, ताकि वे चार से छह इंच की दूरी पर ही रहें। पौधे शीघ्र ही बढ़ते हैं। लंबे समय तक अच्छी नरम जड़ की प्राप्ति के लिए, एक साथ समस्त खेत को न बोकर १०-१५ दिन के अंतर पर बोना अच्छा होता है। आषाढ़ सावन में बीज बोया जाता है।


दूसरी बार फरवरी से जून के आरंभ तक बोया जाता है। बरसात में सिंचाई की आवश्यकता नहीं होती, पर अन्य मौसम में प्रत्येक ८.१० दिनों में सिंचाई आवश्यक होती है। ठंढे देशों में गरमी में भी इसकी बोआई होती है। भारत में पैदावार प्रति एकड़ सामान्यत: २०० मन होती है, पर पूरी खाद और उर्वरकों की सहायता से सरलता से, ड्योढी और दुगुनी की जा सकती है। पौधों में कुछ कवक (तना गलना आदि) और कुछ कीड़े (घुन, पिस्सू, गुबरेले, सूँडी आदि) भी लगते है, जिनसे बचाव का उपाय करना आवश्यक होता है।


राम का राष्ट्रवाद उपदेश

गतांक से...
 भगवान राम बेटा प्रातः कालीन अपने आसन से निवृत्त होकर के प्राणायाम करते थे! वह प्राण के संबंध में अच्छी प्रकार जानते थे कि जो प्रकृतिवाद को जानने लगता है! वह नाना प्रकार के और भी रूपों में रत हो जाता है! मैं विशेष विवेचना देने नहीं आया हूं! भगवान राम प्रातः कालीन पंचवटी पर यज्ञ करते थे! नाना प्रकार का साकल्य एकत्रित करना, उस साकल्य में रत रहना ,उस साकल्य को अपने में, अनुकृतियों में रत करके उस आभा में निहित रहना जानते थे! विचार केवल यह है कि प्राण-अपान दोनों का मेल मिलाना है! दोनों का संगतिकरण करना है! दोनों को एक दूसरे में पिरोने की चर्चाएं आती रहती है! परंतु जब मैं यह विचारता रहता हूं कि हे प्रभु तू कितना महान और पवित्र कहलाता है! तू कितना ओजस्वी और आभा में नियुक्त होने वाला है! परमात्मा तू महान  सखा है! भगवान राम प्रातः कालीन यह प्रार्थना करते रहते थे! निस्वार्थ होकर के विचरण करते थे! मेरे प्यारे देखो, प्रत्येक मानव के हृदय में, प्रत्येक प्राणी के हृदय में एक महानता की अनुपम ज्योति जागरूक हो जाती है! अंत में यह ज्योति मानव के जीवन का मूल बनकर के इस सागर से पार करा देती है! भगवान राम का जीवन मैं प्रारंभ कर रहा था! भगवान राम की प्रतिभा में रत रहने के लिए नाना राजा उनके समीप आते! उनके राष्ट्र के संविधान की चर्चाएं भी की है! उन्होंने कहा है कि राष्ट्र अपने में जब महान बन करके रहता है यदि प्राणी मात्र के हृदय में एक हृदयग्रह मैं एक महानता की अपनी अनुपम ज्योति जागरूक हो जाती है! और अंत में वह ज्योति मानव के जीवन का मूल बनकर के इस सागर से पार करा देती है! तो देखो आभा ब्रहे वाचनम् ब्रह्म राजब्रहे:, राजा को प्रणायाम करना चाहिए! क्योंकि प्राण एक शाखा है! प्राण को ऋषि लोमस मुनि जानते थे! प्राण का कितना महत्व है बाल काल में विद्यालय में भगवान राम जब अध्ययन करते थे! तो बेटा विद्यालय में प्राण की पवित्र विद्या उनके समीप आती रहती है और उसमें अपने को प्राप्त करते रहते हैं! प्राण देखो ऐसी विचित्र आभा में नियुक्त रहने वाला एक अनुपम सखा हैं! जिसको जानकर मानव अमरावती को प्राप्त हो जाता है! आज मैं क्या उच्चारण करने चला हूं कि राजा कौन है? बेटा राजा के राष्ट्र में विज्ञान होना चाहिए! विज्ञान को नाना प्रकार की तरंगे होनी चाहिए! जिस विज्ञान का आयु प्रबल होता है वही सार्थक होता है! अधिक विवेचना न देते हुए आज मैं तुम्हें उस क्षेत्र में ले जा रहा हूं! जिस क्षेत्र में हमें राष्ट्रीयता और मानवता का दर्शन होता रहा है! भगवान राम अपने में विचारते रहते थे कि हिंसा नहीं होनी चाहिए, मैं अहिंसा की चर्चा उनके जीवन काल की चर्चाएं प्रकट कर रहा था! परंतु पुन:- पुन: वह वाक्य मुझे स्मरण आते रहते हैं! हम विचारते रहते हैं, अपने में अन्वेषण करते रहते हैं कि भगवान राम का जीवन सदैव आज्ञाकारी रहा है! उनके जीवन में एक महानता की ज्योति अपने में प्रतिष्ठित होकर के आत्मतत्व कि आभा में निहित रही हैं!


विज्ञापन एवं सार्वजनिक सूचनाएं


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


October 25, 2019 RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-82 (साल-01)
2. शुक्रवार ,25 अक्टूबर 2019
3. शक-1941,अश्‍विन,कृष्णपक्ष, तिथि- द्वादशी, संवत 2076


4. सूर्योदय प्रातः 06:21,सूर्यास्त 05:55
5. न्‍यूनतम तापमान -21 डी.सै.,अधिकतम-30+ डी.सै., हवा की गति धीमी रहेगी।
6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा।
7. स्वामी, प्रकाशक, मुद्रक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
cont.935030275
 (सर्वाधिकार सुरक्षित)


शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...