गुरुवार, 14 जनवरी 2021

कश्मीर की डल झील, 30 वर्ष बाद वही मंजर

श्रीनगर। कश्मीर की प्रसिद्ध डल झील और कई अन्य जलाशयों के अधिकांश हिस्सों में बृहस्पतिवार को पानी जम गया और पूरी घाटी में शीतलहर का प्रकोप जारी है। वहीं श्रीनगर में बीती रात पिछले 30 वर्षों में सबसे ठंडी रात रही। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 8.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। जो 30 वर्षों में शहर का सबसे कम तापमान है। उन्होंने बताया कि 1995 में श्रीनगर में तापमान शून्य से नीचे 8.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जबकि 1991 में तापमान शून्य से नीचे 11.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। श्रीनगर में अब तक का सबसे कम तापमान 1893 में शून्य से 14.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था। घाटी के बाकी हिस्सों में भी ठंड काफी बढ़ रही है। दक्षिण कश्मीर में वार्षिक अमरनाथ यात्रा के लिए एक आधार शिविर के रूप में कार्य करने वाले पहलगाम पर्यटन रिसॉर्ट में न्यूनतम तापमान शून्य से 11.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। यह रिसॉर्ट जम्मू-कश्मीर में सबसे ठंडा स्थान रहा। गुलमर्ग पर्यटक स्थल में न्यूनतम तापमान शून्य से 7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.7 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि दक्षिण में कोकेरनाग में शून्य से 10.3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। भयंकर ठंड के कारण डल झील सहित कई जलाशयों का बहुत बड़ा हिस्सा जम गया। न्यूनतम तापमान में गिरावट से जलापूर्ति पाइपों में पानी जमने लगा है। शहर की कई सड़कों पर बर्फ की मोटी परत बिछी हुई है। जिससे लोगों के लिए गाड़ी चलाना मुश्किल हो गया है। वर्तमान में कश्मीर ‘चिल्लई-कलां’ की चपेट में है।

लचर प्रदर्शन के कारण तीन बार हार का सामना

बेंगलुरू। बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन से उत्तर प्रदेश को सैयद मुश्ताक अली ट्राफी टी-20 टूर्नामेंट के ग्रुप 'ए' में गुरुवार को लगातार तीसरी हार का सामना करना पड़ा। जबकि पंजाब ने अपना विजय अभियान जारी रखकर नाकआउट में जगह बनाने की तरफ मजबूत कदम बढा।जम्मू कश्मीर ने मुज्तबा युसुफ (14 रन देकर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी और अब्दुल समद (नाबाद 54) के अर्धशतक की मदद से उत्तर प्रदेश को 30 गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट से करारी शिकस्त दी।पहले बल्लेबाजी के लिये बुलायी गयी। उत्तर प्रदेश की टीम निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट पर 124 रन ही बना पायी। सुरेश रैना खाता भी नहीं खोल सके। कप्तान प्रियम गर्ग ने सर्वाधिक 35 रन बनाये। जम्मू कश्मीर ने 15 ओवर में दो विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। समद ने शुभम खजूरिया (नाबाद 34) रन के साथ तीसरे विकेट के लिये 89 रन की अटूट साझेदारी की। उधर पंजाब ने अभिषेक शर्मा (62 गेंदों पर 107) के शतक तथा हरप्रीत बरार के चार विकेट की मदद से रेलवे को 117 रन से पराजित किया। पंजाब को पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर अभिषेक और प्रभसिमरन सिंह (39 गेंदों पर 63) ने पहले विकेट के लिये 129 रन जोड़कर टीम को शानदार शुरुआत दिलायी। अभिषेक ने अपनी पारी में पांच चौके और नौ छक्के जबकि प्रभसिमरन ने दो चौके और छह छक्के लगाये। पंजाब ने चार विकेट पर 200 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया और फिर रेलवे को 17.1 ओवर में 83 रन पर ढेर कर दिया। हरप्रीत बरार ने 22 रन देकर चार और अर्शदीप सिंह ने 16 रन देकर तीन विकेट लिये। पंजाब की यह लगातार तीसरी जीत है। जिससे उसके 12 अंक हो गये हैं और वह ग्रुप ए में शीर्ष पर है। जम्मू कश्मीर, कर्नाटक और रेलवे के आठ-आठ अंक हैं। कर्नाटक ने एक अन्य मैच में त्रिपुरा को 10 रन से हराया।

बेसहारा गोवंश हेतु चारा वाहन का संचालन किया

गोपीचंद सैनी
बागपत। कल्याण भारती सेवा संस्थान के तत्वावधान में मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर बड़ौत नगरपालिका स्थित बेसहारा गोवंश हेतु एक चलती-फिरती चारा सेवा वाहन का संचालन किया गया। बड़ौत नगरपालिका के बेसहारा गोवंशो को चारा और गुड़ खिलाया गया। सेवा के माध्यम से समाज और सरकार से बेसहारा गोवंश की सुरक्षा हेतु अपील का प्रयास किया गया। बड़ौत नगर की गरीब बस्तियों में एक अस्थायी चलता-फिरता खिचड़ी भण्डारे का आयोजन किया गया और गरीब बच्चों को कपड़े वितरित किये गए। आयोजित कार्यक्रमों का संचालन संस्थान के प्रबंधक निदेशक गोपी चन्द सैनी ने संस्थान के सदस्यों की सहायता से संस्थान के आजाद नगर बड़ौत कार्यालय से किया। जिसमें प्रमोद कुमार, चौधरी रोताश सैनी,  हरिभूषण उपाध्याय, राहुल तोमर, मास्टर पवन कुमार सैनी, नीतू जैन, श्रीमती चन्द्र प्रभा, श्रीमती हेमचंद जैन,  सिमा और विनीत कुमार, मुख्य रूप से सहयोगी रहें।

सुबह 4 बजे से गंगा व यमुना घाट पर भीड़ जुटी

कौशांबी। मकर संक्रांति के पावन पर्व पर जिले के गंगा यमुना के विभिन्न घाटों पर लाखों भक्तों ने गंगा यमुना नदी के पवित्र जल में डुबकी लगा कर स्नान किया है।स्नान के दौरान गंगा यमुना के घाटों पर भक्तों की भारी भीड़ लगी रही प्रशासन ने सुरक्षा को लेकर जगह-जगह पर पुलिस के जवानों को ड्यूटी पर तैनात किया था। मकर संक्रांति के दिन भोर 4:00 बजे से ही गंगा और यमुना के घाटों पर स्नान करने भक्त पहुंचने लगे हैं।दोपहर बाद भी गंगा यमुना के घाटों पर स्नान करने वालों की संख्या लगातार मौजूद रहे लाखों भक्तों ने विभिन्न गंगा यमुना के घाटों में स्नान किया है। गंगा के कड़ा घाट संदीपन घाट, पल्हाना घाट, बदनपुर घाट, फतेहपुर घाट, काकरा बाद घाट, उमरछा घाट के साथ यमुना के महेवा घाट पभोषा घाट नंदा का पुरवा घाट सेवढा घाट रसूलपुर ब्यूर घाट औधन घाट तिल्हापुर घाट सहित विभिन्न गंगा यमुना के घाटों पर स्नान करने वाले भक्तों की भीड़ लगी रही।
सुशील केसरवानी 

विद्यार्थी मोर्चा ने किसानों के समर्थन के संदेश दिए


मेरठ। किसान किसान अध्यादेश पूरे समाज के लिए भारत देश के हर नागरिक के लिए एक अभिशाप साबित हो रहा है। बल्कि एक बड़े नाग के रूप में सामने लाया जा रहा है। जो पूरे भारतीय किसानों को मूल निवासियों को गरीबों को मजदूरों को मजदूरों को रोटी से मोहताज कर देगा। भारतीय विद्यार्थी मोर्चा की एक बैठक डॉक्टर जाकिर हुसैन कॉलोनी में मोहम्मद राशिद सैफी जी के यहां आयोजित की गई। जिसमें भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के उत्तर प्रदेश उपाध्यक्ष एडवोकेट राहुल कुमार ने अपने वक्तव्य में कहा कीजिए सरकार आज एक नाग के रूप में बैठी हुई है। जो पूरे भारत को 10 रही है और अब किसान अध्यादेश लाकर समस्त समाज को डसने का काम कर रही है। हिंदू हिंदुत्व के नाम पर यह सरकार लोगों को गुमराह कर रही है और आपसे प्यार मोहब्बत को खत्म करने पर तुली हुई है। यह भारत को खोखला कर दिया है। इस सरकार ने और लगातार आतंकवादी लोगों का सहयोग कर रही है। हमें इससे बचना होगा अपने देश को भारत संविधान को बचाना होगा।
बहुजन मुक्ति पार्टी के पश्चिमांचल महासचिव एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष ने अपने वक्तव्य में कहा कि आज भारत देश में जो स्थिति बनी हुई है। यह हमारे समाज के लिए बहुत खतरनाक सिद्ध हो रही है और आने वाले वक्त में हर गरीब व्यक्ति मजलूम पसमांदा वर्ग सबके लिए बड़ी दुखदाई खबर लेकर आएगी और आ रही है। जो आज किसान अपने लिए नहीं बल्कि हमारे लिए गरीबों के लिए लड़ रहा है। हमें उनका साथ देना चाहिए और मोदी सरकार को किसान अध्यादेश वापस ले लेने चाहिए लेकिन यह इतनी निकम्मी सरकार है कि जो भी इसके विपक्ष में बोलता है तो उसको जेल में डालने का काम करती है। लेकिन बहुजन मुक्ति पार्टी कभी इनसे जेलों से या इनके अत्याचारों से नहीं डरती है और बामसेफ की विचारधारा पर काम करने वाली एकमात्र पार्टी है। जो हमें और हमारे भारतीय संविधान को हमारे हक अधिकारों को बचाने का काम करते हैं। अन्यथा आज तक बहुजन के नाम पर अनेक बहुत सारे राजनीतिक दल बने हुए हैं और लोगों को गुमराह कर रहे हैं। केवल दलाली तक सीमित रह गए हैं और लोगों को लूटने का छूटने का काम कर रहे हैं, जो हमें बचना होगा। हमें समझना होगा कि हमारे हक में हमारा दुश्मन से लड़ने वाली पार्टी केवल एक मूलनिवासी और विदेशी की लड़ाई लड़ रही है। जो डीएनए में साबित हो चुका है तो ब्राह्मण विदेशी हैं और यह आज 80 परसेंट पूरे भारतीय लोगों पर अत्याचार और अपने आप को हुक्मरान साबित कर रहे हैं। ओबीसी वर्ग को हिंदू बनाकर मुस्लिमों से लगाया जाता है। जबकि ओबीसी को आज तक गिनती तक नहीं होने दिए आने वाले वक्त में जो आज 2021 में ओबीसी की गिनती होनी थी। अध्यादेश से उसको लारी में रखकर उसको खत्म करना चाहते हैं और आने वाले वक्त में इसको गिनती तक नहीं होने देना चाहती ओबीसी का हक अधिकार मारना चाहती है। मोदी वैसे बनिया समाज से है। उच्च श्रेणी से है लेकिन उसको ओबीसी वर्ग का इन्होंने साबित करके दिखाया पेश किया लेकिन वह लूटने वाला बनिया वर्ग है। हमें इस को समझना होगा संजय कुमार ने अपने वक्तव्य में कहा यह आजादी हमारी देश की आजादी नहीं है। हमारा देश आज भी इन ब्राह्मणों के कब्जे में है। हम लोगों को गुलाम बनाकर रखा गया है। उस आजादी को आम लोगों तक पहुंचने से रोका गया इन ब्राह्मणों ने अपना कब्जा आजादी के बाद भी साबित करके रखा हुआ है। आज भी हमें एक दूसरे को आपस में लड़ा कर अपने आप का हमें गुलाम बनाना चाहती हैं। हमें इससे बचना होगा। बैठक मे एड राहुल कुमार भारतीय विद्यार्थी मोर्चा उपाध्यक्ष उ. प्र संजय कुमार आर डी गादरे बहुजन मुक्ति पार्टी के पश्चिमांचल जोन महासचिव एवं मेरठ मंडल अध्यक्ष आर डी गादरे अहमद काजिम मा राशिद आदि ने विचार रखे। बैठक में रहीम मनोज, मो. अली, कासिद शालीम, मोहसिन फैसल, फरमान सुहैल, वाहिद सिकन्दर, प्रदीप फरमान, मोईन, अर्श अरशद, शहजाद समीर, सुएब अनीस शाहिद आदि मौजूद रहे।

बेरोजगारी के दौर में नौकरी के नाम पर की लूट

राधेश्याम शास्त्री  
कुशीनगर। बेरोजगारी के दौर में नौकरी चाहे सरकारी हो या गैर सरकारी उसके नाम पर कभी भी लूटा जा सकता है। भले ही नौकरी आफिस में बैठकर लिखा-पढ़ी करने की है। साहब की जी हजूरी करने की है या गांव शहर की सड़कों और गलियों के सफाई करने की ही क्यों न हो।बस! इसकी भनक भर लग जाय। नौकरी पाने वालों की कतार लग जायेंगे। वह भी मुफ्त नहीं, बल्कि भरी हुई जेब के साथ। छोटी-बड़ी सरकारी नौकरी के बैकैंसी की अभी घोषणा हुई ही नहीं कि छोटे-बड़े सफेद पोशधारी नौकरी का‌ ठेका लेकर घूमने लग जाते हैं और नेता या बड़े अधिकारी से काम करने की गारंटी पर 20 हजार रुपए से लाखों रुपए तक इन बेरोजगारों से ऐंठने में कामयाब हो जाते हैं। पूर्व में जनपद के सभी गांवों में सफाई कर्मी के रूप में बाल्मिकी समाज के लोगों को आथि॔क रुप से राहत पहुंचाने के हेतु सरकारी पद की घोषणा बसपा सुप्रीमों व सूबे के मुखिया बहन मायावती द्वारा की गई। परन्तु आवेदन में कोई प्रतिबंध नहीं करके समस्त वर्गों के लोगों को आवेदन देने की छूट दे दी गयी।न जिसका परिणाम यह निकला कि सरकार के मंशा के अनुरूप कोई भी गरीब, मजदूर या बाल्मिकी समाज का व्यक्ति नौकरी  नहीं पा सका। अलबत्ता पैसे के बल पर समाज के अन्य वर्गों के लोग नौकरी हथिया लिए और जरूरत मंद हाथ मलते रह गए। आलम यह है कि गांवों में तैनात सफाई कर्मी स्वयं काम न करके महीने में दो चार दिन मजदूर रखकर काम की खानापूर्ति कर अपना वेतन प्रतिमाह लेते जा रहें हैं। जनपद के कई गांवों का   दौरा करने पर पाया गया कि एक तरफ़ जहां सड़कों और गलियों में कचड़ा भरा हुआ है। वहीं दूसरी ओर नालियां गन्दगी से बजबजा रही है। जिससे संक्रामक बिमारियां फैल रही है। किसी भी सफाई कर्मी का नाम पता व गांवों में आने का समय, दिन निश्चित नहीं है।इसकी‌ जानकारी केवल ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी को होता है। गांव के किसी भी‌आदमी को कुछ भी मालूम नहीं होता है। उधर जिसके लिए यह योजना लागू की गई वह बाल्मिकी समाज आज भी ग़रीबी की मार झेलते हुए नरक की जिंदगी जीने को बेबस है। आधुनिक युग में फाइबर, प्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक संसाधनों के आ जाने से उनका समूचा कारोबार भी चौपट हो गया है। आखिर वो करें तो क्या? जगह -जगह धरना प्रर्दशन और हड़ताल करने पर भी दलितों की दम्भ भरने वाली सरकार उनकी सुध नहीं ले रही है बल्कि खुद आरक्षण को लेकर महिला-पुरुष, सामान्य, पिछड़ी, अनुसूचित जाति वर्ग अनुसूचित जनजाति के भंवरजाल में फंस गई है। जनपद के कई ब्लाकों के कई गांवों से जहां ब्राह्मण, सिंह, यादव आदि संबल वर्ग के लोगों को नियुक्त कर लिया गया है वहीं सांस बहुओं को नहीं बेटियों को भी सफाई कर्मी के रूप में नियुक्त करके सारी पारदर्शी की धज्जियां उड़ा दी गई है। ये नियुक्त कमी॔ स्वयं  तो जाते नहीं हैं बल्कि गांव के ही किसी आदमी को आधा -तिसरी मजदूरी देकर कोरम पूति॔ करवा लेते हैं। सरकारी महकमे के पास इतना भी समय नहीं है कि वह जाने कि  सम्बन्धित गांव का सफाई कर्मी काम भी कर रहा है या मुफ्त में वेतन ले रहा है। इसका जीता जागता प्रमाण जनपद के दुदही विकास खंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत सोरहवां, शाहपुर माफी,अराजी बुन्देलगिरी में मौके पर जाकर देखने को मिला। सफाई कर्मियों द्वारा वर्षों से गांवों के नालियों की सफाई नहीं किया गया है। तथा फर्जी तरीके से पेरोल बनाकर हर माह अपना वेतन उठाते जा रहे हैं। कर्मचारी फर्जी तरीके से संस्तुति करते जा रहे हैं।ऐसा क्यों! इसमें राज क्या है? क्षेत्र में चर्चा है कि तमाम सफाई कर्मी गांवों में इसलिए नहीं जाते हैं कि वे या तो किसी नेता के भाई -भतीजा हैं या  किसी सता पक्ष के‌ नेता के रिश्तेदार बताते हैं। 
वास्तव में यह ‌निषपक्ष व निर्भीक रुप से जांच-पड़ताल का विषय है। यदि वह सफाई कर्मी के पद पर नियुक्त हैं चाहे जैसा भी हुआ है। वह गांवों में जाकर सफाई कर्मी में लग जायें। अन्यथा गरीबों के खून-पसीने की गाढ़ी कमाई को वैसे ही  न डकार जाय। चर्चा है कि विकास खंड के सहायक विकास अधिकारी पंचायत श्री रामविलाश गोंड व आफिस के बाबुओं द्वारा सफाई कर्मियों पर दबाव व निर्देश देने के बावजूद भी इन सफाई कर्मियों पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। क्यों? चर्चा है कि जब भी कार्यवाही की बात आती है तो सफाई कर्मियों द्वारा अधिकारियों व  क्षेत्र के प्रभावशाली लोगों द्वारा अधिकारियों पर‌ जबरन दबाव बनाया जाता है। उधर विभागीय अधिकारियों जिला पंचायत राज अधिकारी जनपद-कुशीनगर के पास फोन किए जाने पर फोन हमेशा स्वीच ऑफ रहता है। लगता है कि इन्हीं माननीय का संरक्षण प्राप्त है। क्योंकि इनके द्वारा कभी भी ज़िले में दौड़ा करने का समाचार प्राप्त नहीं हुआ है। यदि ऐसी बात नहीं है तो वर्षों से लापरवाह व अनुशासनहीन कमियों के खिलाफ जांच पड़ताल करके कार्यवाही क्यों नहीं की जाती है। 

प्रदेश के भविष्य निर्माण के प्रति सरकार बेपरवाह

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
हापुड़। जहां पर यूपी सरकार नौनिहालों के विद्यालयों पर दे रही है। पूरी तरह से शक्ति से ध्यान कर रही है। आदेश पर आदेश, कर रही है। लाखों करोड़ों रुपए खर्च देश के नौनिहालों का भविष्य बनाने में नहीं है यूपी सरकार पीछे, वही देखा जाए तो यूपी सरकार के नौनिहालों पर खर्च होने वाला पैसा जमीनी स्तर पर नहीं चमक रहा। क्योंकि जनपद हापुड़ के तहसील गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के अंतर्गत कई विद्यालय ऐसे हैं। जहां पर देश के भविष्य शिक्षा तो ले रहे हैं। मगर विद्यालयों की बिल्डिंग पर एक पल का भी भरोसा नहीं है, जो बिल्डिंगए काफी समय से जर्जर हालात में खड़ी हैं वो आज भी इसी तरह से खड़ी हैं, जिन बिल्डरों का छूट रहा है बिना हाथ लगाए सीमेंट भी, विद्यालयों के रूम की छत में लगा रखे हैं बिल्डिंग की छत को रोकने के लिए ईटों के पोल, अब आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि जिस विद्यालय की छत के नीचे पोल लगे हैं बीच में खड़े हैं तो उन विद्यालयों पर आम जनता या कोई अधिकारी यह सरकार कितने समय का भरोसा कर सकते हैं, क्षेत्रीय विद्यालयों का मामला है बड़ा, उठते हैं क्षेत्रीय खंड शिक्षा अधिकारी पर कई सवाल, क्या वो क्षेत्रीय विद्यालयों का दौरा नहीं करते, या दोहरा कर आश्वासन देकर कार्य खत्म हो जाता है, आते हैं क्षेत्रीय खंड शिक्षा अधिकारी सवालों के घेरे में, आखिर जिन विद्यालयों में बच्चे शिक्षा ले रहे हैं उन विद्यालयों का दौरा नहीं कर पाते, नहीं तो जितने समय से शिक्षा अधिकारी क्षेत्र में हैं विद्यालय के हालात इतने जर्जर बेकार क्यों हुए, विद्यालय के हालात है राम भरोसे आखिर किस विश्वास पर बच्चे इतने समय से कर रहे हैं अपनी शिक्षा पूरी इन खस्ता हालात के विद्यालयों में, क्या योगीराज में इसी तरह के विद्यालयों में बच्चे शिक्षा लेते क्षेत्रीय अधिकारियों को अच्छे लग रहे हैं या उनकी जिंदगी पर कोई बड़ी ग्रह घूमती हुई सही लग रही है, गाजियाबाद के मुरादनगर हादसे से हुई हापुड़़ शिक्षा विभाग के अधिकारी नहीं ले पाई सबक, मामला हुआ हाईलाइट तो संज्ञान बता डाला तथा जांच का आश्वासन भी दिया गया, जहां पर श्मशान घाट के मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने तत्काल दिए बड़े आदेश पड़ा भारी श्मशान घाट को बनाने वालों पर देखना पड़ा सलाखों का चेहरा लगी सख्त धाराएं, फिर भी हापुर के शिक्षा अधिकारी बैठे हैं आराम से कुर्सी पर, आखिर बच्चों के अभिभावक भी होंगे परेशान ऐसे विद्यालयों को देखकर जिनमें उनके आंखों के उजाले लेते हैं शिक्षा नौनिहाल, मगर वो बिल्डिंग नहीं है एक पल की भरोसे की भी जहां पर आए हैं उनके बच्चे उनका नाम रोशन करने के लिए शिक्षा लेने, गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के अंतर्गत लगभग कई स्कूल ऐसे पाए गए हैं जहां पर आम व्यक्ति भी बैठना पसंद नहीं करेगा उन विद्यालयों के हालातों को देखते हुए, आखिर क्षेत्रीय शिक्षा अधिकारी इतनी समय से क्या कर रहे हैं।जिन्हें विद्यालयों के मामलों में संज्ञान हैं या नहीं, बना हुआ है। गढ़ क्षेत्र में नौनिहालों की जिंदगी पर बड़ा खतरा विद्यालयों की बिल्डिंग को देखते हुए। जहां पर आप ने देखा कि गढ़मुक्तेश्वर क्षेत्र के अंतर्गत गांव लुहारी , गांव शेरपुर आलापुर, गांव अनूपपुर डिबाई वार्ड नंबर 1 तथा इन सबसे ज्यादा भुरी और खस्ता हालात में खड़ा है। गांव हशूपुर का विद्यालय पूर्व माध्यमिक विद्यालय, आखिर इन विद्यालयों का इतना मामला क्यों हुआ खस्ता, मामला बना रहेगा काफी बड़ा सवाल है। बहुत ज्यादा मगर जवाब किसी के पास नहीं, अब देखना यह होगा कि क्षेत्रीय खंड शिक्षा अधिकारी इन सभी विद्यालयों के विषय में कितनी जल्द करते हैं। कार्यवाही या इसी तरह रह जाएंगे। सब आश्वासन पर आश्वासन रखे हुए।

'राम' मंदिर निर्माण हेतु जागरूकता रैली निकाली

भानु प्रताप उपाध्याय
शामली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ गुरुवार को श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए एकत्र की जाने वाली धनराशि के लिए जनजागरूकता रैली निकालेगा। इस संबंध में बुधवार को संघ के जिला कार्यालय पर बैठक हुई। इसमें आरएसएस और उसके आनुषांगिक संगठन विश्व हिदू परिषद, बजरंग दल, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, विश्व हिदू परिषद, भारतीय जनता पार्टी आदि संगठनों के कार्यकर्ता मौजूद रहे। बाइक रैली दोपहर 12 बजे वीवी इंटर कालेज से शुरू होकर नगर के मुख्य मार्गों कबाड़ी बाजार, बड़ा बाजार, शिव चौक, भिक्की मोड़, माजरा रोड, टंकी रोड, धीमानपुरा, पुराना डाकखाना, रेलवे रोड, हनुमान धाम, शिव चौक से होकर वीवी इंटर कालेज तक संपन्न होगी। अभियान 15 जनवरी शुक्रवार से 31 जनवरी रविवार तक चलाया जाएगा।

ऑपरेशन 420, फर्जी कॉल सेंटर संचालक अरेस्ट

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। ऑपरेशन 420 के तहत गाज़ियाबाद पुलिस की साइबर क्राइम सैल व कोतवाली पुलिस ने सूचना के आधार पर फर्जी कॉल सेंटर संचालन करके नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वालों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 20 मोबाइल फोन, दो आधार कार्ड, 225 रिज्यूम लैटर, 13 डाटा शीट, एक लैपटॉप, 14 रजिस्टर, 40 हजार रुपए नगद, 10 एम्पलॉयमेंट ट्रेनिंग लैटर बरामद किए है। सीओ प्रथम अभय कुमार मिश्र ने बताया कि सूचना के आधार पर फर्जी कॉल सेंटर चलाकर लोगों को जॉब दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले तीन शातिर ठगों को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में आरोपियों की पहचान प्रियंका, निखिल, व अनूप के रूप में हुई है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि फर्जी नंबरों से कॉल करके लोगों को विभिन्न संस्थानों में लोन दिलाने के नाम पर उनके साथ ठगी किया करते थे। पैसे मिलने के बाद नंबर बंद कर उन नंबर को बंद कर देते थे।

गाजियाबाद को मंडल में सर्वाधिक खुराक मिलीं

अश्वनी उपाध्याय 

गाजियाबाद। केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई कोरोना वैक्सीन की पहली खेप आज मेरठ से गजियाबाद पहुँच गई है। मण्डल में सबसे अधिक 28 हजार 840 वैक्सीन की डोज गाजियाबाद को मिली है। आज सुबह साढ़े दस बजे अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. रेनू गुप्ता की मौजूदगी में कोरोना वैक्सीन की खेप पुलिस सुरक्षा के दायरे में मेरठ से रवाना की गयी। डीएम गाज़ियाबाद ने दोपहर में कोरोना वैक्सीन की पहली खेप रिसीव कर ली है। 16 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी टीकाकरण का शुभारंभ होगा। अपर निदेशक कार्यालय में जिलेवार वैक्सीन की डोज की खेप को वाहनों से रवाना किया गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कोरोना वैक्सीन की गाड़ी अपर निदेशक कार्यालय से स्वास्थ्य विभाग की ओर से गठित सचल दस्ते के साथ रवाना हुई। खेप को केंद्रो पर पहुंचाया जायेगा। 16 जनवरी को प्रधानमंत्री के टीकाकरण अभियान की शुरूआत को लेकर प्रशासन से लेकर सरकारी महकमे के लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे है। कोल्ड चेन पर पुलिस की एक गारद 24 घंटे तैनात कर दी गई है। इसमें एक सब इंस्पेक्टर व चार कांस्टेबल सशस्त्र हर वक्त पहरा देंगे। कोल्ड चेन के भीतर दो सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। बाहर की सुरक्षा पुलिस संभालेगी। भ्रमण कर कोल्ड चेन की सुरक्षा परखीं। प्रत्येक वाहन में एक पुलिसकर्मी मौजूद रहेगा।

परिवार ने खाया जहरीला पदार्थ, एक की मौत

अश्वनी उपाध्याय  

 गाजियाबाद/मुरादनगर। मुरादनगर स्थित उखालसी कालोनी में एक परिवार के सभी सदस्‍यों की एक साथ अचानक हालत बिगड़ गई है। इनमें कुणाल नाम के 14 वर्षीय एक बच्‍चे की मौत हो गई। जबकि उसके पिता रामपाल, मां अनीता और बहन शगुन की भी हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें आईटीएस सूर्या अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। रहस्यमय बीमारी की वजह अभी स्‍पष्‍ट नहीं हो पाई है। पुलिस को आशंका है कि परिवार के सभी सदस्‍यों ने एक साथ कोई जहरीला पदार्थ खा लिया या फिर उनके भोजन में कुछ ऐसा था। जिससे फूड प्‍वाइजनिंग हो गई। थाना प्रभारी निरीक्षक अमित कुमार के नेतृत्‍व में पुलिस मौके पर जांच में जुटी है। फिलहाल मकान पर ताला लगा दिया गया है। पुलिस ने फोरेंसिक टीम को जांच के लिए बुलाया है। घटना की सूचना पाकर आसपास के लोग घर के आसपास जुट गए हैं। लोगों के अनुसार मारे गए 14 वर्षीय कुणाल का किसी बीमारी का इलाज चल रहा था।

बिजली की चपेट में आने से 'राष्ट्रीय' पक्षी की मौत

कौशाम्बी। नगर पंचायत के अयोध्या का पूरा में हाई टेंशन तार की चपेट में आने से राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौत हो गई। शिव बाबू यादव की सूचना पर पहुंच कर चरवा पुलिस सहित वन विभाग को जानकारी मिली। मौके पर इंस्पेक्टर और पशुचिकित्साधिकारी ने जांच किया और तत्पश्चात अयोध्या का पूरा वासियो के सहयोग से तिरंगे मे लपेट कर राष्ट्रीय पक्षी को अंतिम विदाई दी गई। वन विभाग का कोई भी जिम्मेदार सूचना के बाद भी मौके पर नहीं पहुंचा। इस मौके पर शिव बाबू यादव,पिंटू यादव, छमा यादव, हरवन यादव,राहुल यादव मोती यादव अनिल संजय वीरेंद्र,रोहित यादव, संधू यादव सहित तमाम लोग शामिल हुए।
गणेश साहू 

हापुड़ः वैक्सीन का जनपद वासियों ने स्वागत किया

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
हापुड़। दस माह से कोरोना की मार झेल रहे हापुड़ वासियों के लिए गुरुवार का दिन राहत लेकर आया हैं। जनपद में गुरुवार दोपहर सीएमओ कार्यालय में वैक्सीन आ गई। जिसका फूलों से स्वागत किया गया। सरकार द्वारा कोरोना को लेकर लड़ी जा रही लड़ाई व संघषों के बाद गुरूवार की दोपहर मेरठ से एक सरकारी गाड़ी हापुड़ सीएमओ आफिस में कोरोना वैक्सीन लेकर पहुंची। जहां सीएमओ डा.रेखा शर्मा, डिप्टी सीएमओ डा.प्रवीण शर्मा की मौजूदगी में कोरोना वैक्सीन के बाक्स को सीएमओ आफिस में रखवा गया। इस दौरान लोगों ने फूलों से स्वागत किया।

हापुड़ः मोबाइल शॉप पर चोरों ने किया हाथ साफ

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी
हापुड़। मामला जनपद के पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के नेशनल हाईवे 9 पर स्थित बस स्टैंड के पास का है। जहां एसएस बॉबी मोबाइल की दुकान में चोरों ने बोला धावा मोबाइल बैटरी के कवर सहित जरूरी सामान को चुरा ले गए चोर। शाम के समय दुकान मालिक मुबारक अली अपनी दुकान के ताले लगाकर गया था। जब सुबह आकर खोला सटर तो देखकर उड़े होश हजारों रुपए के माल पर चोरों ने हाथ साफ किया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस जांच पड़ताल में जुटी।
दुकान मालिक मुबारक अली का कहना पांचवीं बार चोरों ने दुकान को निशाना बनाया। अब से पहले भी चार बार दुकान का ताला तोड़कर घटना को अंजाम दे चुके हैं चोर आज फिर दुकान में कूमल कर घटना को अंजाम दिया। 

सहारनपुर: 5 जगहों पर लगेगा कोरोना का टीका

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पांच जगहों पर कोरोना का टीका लगाया जायेगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी बीएस सोढ़ी ने बताया कि 16 जनवरी को सहारनपुर जिले में पांच स्थानों पर स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। पहले 11 स्थानों पर टीकाकरण लगाने का कार्यक्रम बनाया गया था लेकिन उसमें अब बदलाव करते हुए पांच स्थानों पर ही टीके लगाए जाएंगे।उन्होंने कहा कि राजकीय मेडिकल कालेज, जिला अस्पताल, जिला अस्पताल महिला सहारनपुर नगर, सीएचसी सरसावा और गंगौह में टीके लगाये जायेंगे।उन्होंने कहा कि टीका लगवाने के लिए स्वास्थ्यकर्मियों को सामाजिक दूरी का पालन करना होगा और केंद्र पर प्रवेश से पहले उनकी थर्मल स्क्रेनिंग होगी। उनके हाथों को सेनेटाइज कराया जाएगा साथ ही मास्क लगाना भी अनिवार्य होगा।

पुलिस ने 4 वारंटियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा

भानु प्रताप उपाध्याय  

मुजफ्फरनगर। पुलिस के हाथ बहुत लंबे होते है जो देर-सवेर गुनहगार की गर्दन तक पहुँच ही जाते है। जनपद की बुढाना पुलिस ने पिछले काफी समय से पुलिस से आंख बचाकर रह रहे चार वारंटियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। एसएसपी अभिषेक यादव के दिशा-निर्देशन में अपराध और अपराधियों के विरूद्ध जोरदार अभियान चला रही जनपद की बुढाना पुलिस ने गुरुवार को अलग-अलग स्थानों से 4 वांछित बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। बुढ़ाना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मगनवीर सिंह गिल द्वारा गठित टीम में शामिल कस्बा इंचार्ज विजयपाल सिंह काजला, उप निरीक्षक जगपाल सिंह, उप निरीक्षक राकेश कुमार शर्मा, कांस्टेबल सौबीर, कांस्टेबल गजेन्द्र सिंह व कांस्टेबल सुधीर सिंह ने एक मामले में फरार चल रहे अभियुक्त जयसिंह पुत्र छज्जू निवासी मौहल्ला कांशीराम आवास कस्बा बुढ़ाना को मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार कर लिया।

थाने में तैनात एसएसआई की हार्टअटैक से मौत

बाबू अंसारी 
बिजनौर।
 स्योहारा थाने में तैनात एसएसआई रफल सिंह सैनी की आज सुबह 7 बजे दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। दो साल से थाने में तैनात एसएसआई रफल सिंह सैनी सुबह उठे और टहल रहे थे कि अचानक हार्ट अटैक हो गया। रफल सिंह सैनी सहारनपुर के रहने वाले थे। 

फर्जी वोटर बनाने पर दो बीएलओ बर्खास्त किए

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के फाजिलनगर विकास खंड के सुमही बुजुर्ग गांव की मतदाता सूची में बीएलओ ने सैकडों फर्जी नाम जोड़ दिए। इसके लिए आधार कार्ड के फर्जी नंबरों की फीडिंग करा दी। शिकायत पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया ने लेखपालों को लगाकर जांच करायी तो फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। प्रथम दृष्टया दोषी पाये जाने के बाद संयुक्‍त मजिस्ट्रेट ने दो बीएलओ को बर्खास्त करते हुए विधिक कार्यवाही का आदेश दिया है। उन्‍होंने खंड विकास अधिकारी फाजिलनगर से पूरे प्रकरण में विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी है। सुमही बुजुर्ग निवासी मधुबन सिंह, शेषनाथ मिश्र व सुनील कुमार सिंह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कसया को प्रार्थना पत्र देकर शिकायत की थी कि उनके गांव में बीएलओ ने चौदह वर्ष से लेकर सत्रह साल तक के सैकड़ों बच्‍चों को भी मतदाता बना दिया है। मतदाता सूची में स्‍कूल में पढ़ने वाले नाबालिग बच्‍चों की भरमार है। आरोप यह भी लगाया गया कि उक्त बीएलओ अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाना चाहता है। बीते चुनाव में वह ग्राम प्रधान पद का प्रत्याशी भी रह चुका है। बीएलओ द्वारा अपने मजरे के तीन वार्डों से करीब चार सौ नए मतदाताओं का नाम निर्वाचक नामावली में जोड़ दिया गया है। इनमे कई नाम पड़ोसी गांव और पड़ोसी प्रदेश बिहार के हैं। इसके लिए बीएलओ ने आधार कार्ड नंबरों की फर्जी फीडिंग कराई है। यह आरोप सामने आने के बाद उपजिलाधिकारी ने बीते सप्ताह आरोपी बीएलओ को हटाकर नए की नियुक्ति कर दी। इसके बावजूद आरोपी बीएलओ ने नए बीएलओ को झांसे में लेकर अपना काम जारी रखा था। सोमवार की देर शाम जांच के दौरान पता चला कि फर्जी आधार नम्बर, नाम और पते से उक्त बीएलओ ने करीब चार सौ मतदाता बनाये हैं। इसमें से कई मतदाता छठवीं और सातवीं के विद्यार्थी हैं। इस सम्‍बन्‍ध में उपजिलाधिकारी पूर्ण बोरा ने कहा कि मामले की जानकारी तीन दिन पहले हुई थी। राजस्वकर्मी द्वारा की गई शिकायत की जांच की गई है। जांच के दौरान शिकायत सही पाई गई। इसके बाद बीएलओ को बर्खास्त करने की कार्यवाही के साथ शांति भंग की धारा में कार्रवाई की जा रही है। इसके अलावा विकास खंड से भी विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी गई है। खंड विकास अधिकारी रमाकांत ने बताया कि संयुक्‍त मजिस्ट्रेट के आदेश पर एडीओ पंचायत के अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की गई है।

कचहरी: अधिवक्ताओं ने महिला की जमकर पिटाई की

लखनऊ। जिले की कचहरी में कुछ अधिवक्ताओं ने एक महिला की जमकर पिटाई कर दी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में कुछ वकील एक महिला की पिटाई करते हुए दिख रहे हैं। बीच बचाव करने पुलिस वाले आते हैं परंतु वह वकीलों से महिला को बचा नहीं पाते और जब महिला जमीन पर गिर जाती है तो उसे उठा कर भगा देते हैं। पुलिस अधीक्षक (नगर) संजय कुमार ने हमारे संवाददाता को बताया कि महिला किसी कार्य से कचहरी आई थी इसी बीच उसका विवाद किसी अधिवक्ता से हो गया। जिसके बाद यह घटना घटी। दोनों पक्षों की जानकारी की जा रही है जो विधिक कार्यवाही होगी वह की जाएगी। वही सेंट्रल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अनंत कुमार सिंह ने बताया कि लड़के तथा लड़की का एक मामला था। जिसमें लड़की पक्ष की महिला ने लड़के पक्ष के अधिवक्ता पर हमला कर दिया तथा अभद्रता की, जिसके चलते यह घटना हुई। बाद में दोनों में सुलह समझौता होने के बाद मामले को खत्म करा दिया गया है। फिलहाल मारपीट की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के कारण चर्चा का केंद्र बना हुआ।

किसान समस्याओं को लेकर इंसाफ सेना का प्रदर्शन

विनोद मिश्रा
बांदा। धान खरीद केंद्र में क्षेत्र के दर्जनों किसान अपना धान बेचने के लिए एक-एक सप्ताह से डटे हुए हैं। लेकिन धान खरीद में जमकर मनमानी की जा रही है। इसके अलावा अन्य मुद्दों को लेकर बुंदेलखंड इंसाफ सेना पदाधिकारियों ने तहसील में प्रदर्शन किया और उप जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर किसानों की समस्या का निस्तारण किए जाने की मांग की है। एसडीएम को दिए गए ज्ञापन में सेना के अध्यक्ष एएस नोमानी ने बताया कि धान खरीद केंद्र में बबेरू क्षेत्र के तमाम किसान एक पखवारे से अपने धान को किराए के ट्रैक्टर में लेकर बेचने के लिए पड़े हुए हैं। इस भीषण ठंड में भी कुछ किसानों की हालत गंभीर है। ऐसी स्थिति में धान बिक्री न होने के कारण किसान सदमे में है। खेत में किसानों की फसलें नष्ट होती जा रही है। जबकि किसान द्वारा केंद्र प्रभारी से शीघ्र धान खरीदने के लिए कहता है तो प्रभारी द्वारा धमकी दी जाती है। इसलिए बबेरू क्षेत्र के किसान मांग करते हैं कि ऐसे दबंग प्रभारी को तत्काल निलंबित किया जाए। साथ ही ऐसे ईमानदार प्रभारी को नियुक्त किया जाए जो किसानों की परेशानियों को समय पर निस्तारण कर सके। इंसाफ सेना अध्यक्ष ने किसानों के साथ उप जिलाधिकारी से मांग की है कि किसानों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए संबंधित अधिकारी को धान खरीद केंद्र पर भेजकर समस्याओं का समाधान कराया जाए। इस मौके पर शैलेंद्र सिंह, जितेंद्र सिंह, सहदेव पाल, रेनू पटेल, राजेश तिवारी, रामसिंह, राममिलन, राजेंद्र प्रसाद, प्रदीप सिंह, कमलेश, अरविंद कुमार, जुगल किशोर, जयकरण, विनोद, रामानुज, प्रतिभा देवी, कालका चैकीदार, सागर, संजय सिंह मौजूद रहे।



किसानों के हित में काम कर रही सरकार: सांसद

विनोद मिश्रा 

बांदा। ब्लाक परिसर में आयोजित किसान कल्याण मिशन व प्रधानमंत्री आवास योजना मिशन तथा कृषि मेला तथा प्रमाण पत्र वितरण में मुख्य अतिथि हमीरपुर महोबा तिंदवारी सांसद पुष्पेंद्र सिंह चन्देल और विशिष्ट अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद ने फीता काटकर व दीप प्रज्वलित कर मेला में लगे स्टालों का अवलोकन किया। पुष्टाहार विभाग की स्टाल में सांसद ने लोगों को जरूरी जानकारी दी। सासंद ने वन विभाग की स्टाल में उपस्थित रेंजर से रेंज क्षेत्र के वन विभाग द्वारा किए गए जानकारी मांगी तो रेंजर ने गलत जवाब दिया। इस पर सांसद ने कड़ी फटकार लगाई। वहीं मंच में जिले से शैलेन्द्र कुमार वर्मा भूमि संरक्षण अधिकारी ने उपस्थित किसानों को सरकार द्वारा चलाई जा रही भूमि सुधार कार्यक्रमों के बारे में बताया। विश्व विद्यालय बांदा की कृषि वैज्ञानिक डाक्टर दीक्षा पटेल ने बताया कि एक सरकारी सर्वे में देश की किसान की औसतन वार्षिक आय 42 हजार रुपये हैं। किसान अपनी आय को और अधिक बढ़ाएं, इसके लिए सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाओं को लागू करती है। भाजपा के जिला अध्यक्ष श्री निषाद ने कहा कि देश में किसानो की एक मात्र हितैषी सरकार सिर्फ भाजपा सरकार हैं। बाकी सभी सरकारों ने किसानों के साथ धोखा किया है। सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि देश के किसान खुशहाल रहे। इसलिए खेती किसानी से उद्योगपतियों को हटाने के लिए किसान बिल बनाया गया। देश के जो पूंजीपति वर्ग हैं, वह किराये के लोगों को लेकर देश की छवि को पूरे विश्व मे धूमिल कर रही हैं। इस देश मे चंद किसान हैं जो इन बिलों की चपेट में आ रहा है, जो लोग विरोध कर रहे हैं वह देश के 130 करोड़ लोगों का अपमान कर रहे हैं। तीनो बिलो में देश के 130 करोड़ लोगों के मत का प्रयोग किया गया है। इसके बाद प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र दिए गए। इस दौरान कृषि विभाग, विकास खण्ड के अधिकारी कर्मचारी व भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू ने अदालत में किया समर्पण

आगरा। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट ने बुधवार को अंतरिम जमानत दे दी। अजय कुमार लल्लू के खिलाफ 7 जनवरी को गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। कांग्रेस नेता अजय लल्लू कोर्ट के बुलाने पर नहीं पहुंचे थे जिसके बाद गैर जमानती वारंट जारी हुआ था। अजय कुमार लल्लू से एबीपी गंगा ने बातचीत की। बातचीत के दौरान अजय लल्लू ने कहा कि कोर्ट का सम्मान करते हुए वो बुधवार को हाजिर हुए हैं और उन्हें कोर्ट ने जमानत दी है। दरअसल, मई महीने में लॉकडाउन के दौरान मजदूरों को घरों तक पहुंचाने के लिए योगी सरकार और कांग्रेस के बीच बस सियासत जबरदस्त तरीके से देखने को मिली थी। ऐसे में भरतपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन के दौरान अजय कुमार लल्लू के खिलाफ लॉकडाउन के उल्लंघन का मुकदमा थाना फतेहपुर सीकरी में दर्ज हुआ था। एक अन्य मामले में लखनऊ ले जाकर उन्हें जेल भेज दिया गया था। एक महीने तक वो जेल में भी रहे। उसी मामले में गैर जमानती वारंट जारी होने पर एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट में आज उन्होंने आत्मसमर्पण किया, जिसके बाद उन्हें जमानत मिल गई।

अश्विन ही ले सकते हैं 800 विकेट: मुरलीधरन

सिडनी। महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का मानना है कि मौजूदा पीढ़ी के स्पिनरों में सिर्फ रविचंद्रन अश्विन ही 700-800 विकेट तक पहुंच सकते हैं और आस्ट्रेलिया के नाथन लियोन वहां तक पहुंचने के काबिल नहीं हैं। मुरलीधरन के नाम टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक 800 विकेट हैं जबकि शेन वॉर्न (708) दूसरे और अनिल कुंबले (619) तीसरे स्थान पर हैं। अश्विन के पास मौका है क्योंकि वह बेहतरीन गेंदबाज है। उनके अलावा कोई और गेंदबाज 800 तक नहीं पहुंच सकता। नाथन लियोन में वह काबिलियत नहीं। वह 400 विकेट के करीब है लेकिन वहां तक पहुंचने के लिये काफी मैच खेलने होंगे।” अश्विन ने 74 टेस्ट में 377 विकेट लिये हैं जबकि लियोन 99 टेस्ट में 396 विकेट ले चुके हैं।मुरलीधरन ने कहा ,” टी20 और वनडे क्रिकेट से सब कुछ बदल गया। जब मैं खेलता था तब बल्लेबाज तकनीक के धनी होते थे और विकेट सपाट रहते थे। अब तो तीन दिन में मैच खत्म हो रहे हैं। मेरे दौर में गेंदबाजों को नतीजे लाने और फिरकी का कमाल दिखाने के लिये अतिरिक्त प्रयास करने पड़ते थे।” उन्होंने कहा ,” आजकल लाइन और लैंग्थ पकड़े रहने पर पांच विकेट मिल ही जाते हैं क्योंकि आक्रामक खेलते समय बल्लेबाज लंबा नहीं टिक पाते।”

मंदे रूझान में सेंसेक्स 200 से ज्यादा अंक टूटा

अकांशु उपाध्याय  
मुंबई। घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को आरंभिक कारोबार के दौरान कारोबारी रुझान मंद बना हुआ था। बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स 200 अंकों से ज्यादा टूटा और निफ्टी भी 14,500 के नीचे फिसला। सेंसेक्स सुबह 9.37 बजे पिछले सत्र से 232.57 अंकों यानी 0.47 फीसदी की कमजोरी के साथ 49,259.75 पर कारोबार कर रहा था जबकि निफ्टी 66.70 अंकों यानी 0.46 फीसदी टूटकर 14,498.15 पर बना हुआ था। मुनाफा वसूली के चलते शेयर बाजार में कारोबारी रुझान कमजोर बना हुआ था। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 59.49 अंकों की कमजोरी के साथ 49,432.83 पर खुला और 49,255.55 तक फिसला जबकि उपरी स्तर 49,487.86 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र से 14.80 अंकों की कमजोरी के साथ 14,550.05 पर खुला और आरंभिक कारोबार के दौरान 14,489.30 तक फिसला जबकि इसका उपरी स्तर 14,562.80 रहा।

सीएम योगी ने मंदिर में चढ़ाई पहली खिचड़ी

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर में मकर संक्रांति के दिन आज परम्परा के अनुसार खिचड़ी चढ़ाई जा रही है। गोरक्ष पीठ के पीठाधीश्वर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले खिचड़ी चढ़ा कर इसकी शुरूआत की। गोरखनाथ मंदिर में मकर संक्रांति के दिन सदियों से खिचड़ी चढ़ाने की परम्परा चली आ रही है। मान्यता है कि बाबा गोरखनाथ हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा से ज्वाला देवी के मंदिर से गोरखपुर आये औा मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी चढ़ाने की परम्परा शुरू की। आज लगभग दस लाख लोगों के खिचड़ी चढ़ाने का अनुमान है। इसके लिये उत्तर प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, बिहार, नेपाल, झारखंड, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश से लोग आये हैं। पहले लोग मंदिर परिसर में भीम सरोवर में स्नान करते हैं और उसके बाद खिचड़ी चढ़ाते हैं। सरोवर में देश की सभी नदियों का पवित्र जल डाला गया है। खिचड़ी चढ़ाने के साथ ही मंदिर परिसर के पास एक माह तक चलने वाला मेला भी शुरू हो गया है। मेले में दिल्ली, बिहार और कोलकाता से दुकानदार आये हैं।

मायके जाने से नाराज पति ने पत्नी की हत्या की

मालवा। पति-पत्नी का रिश्ता अटूट और जन्मों-जन्मों तक एक-दूसरे का साथ निभाने वाला होता है। उनकी हर सुख-दुख में भागीदारी होती है। लेकिन जब पति अपनी पत्नी को  बेरहमी से मौत के घाट उतारने की कोशिश करे तो हैरत होती है। ऐसा ही मामला सामने आया मध्‍य प्रदेश के आगर मालवा जिले में जहां विद्यानगर बिरलाग्राम थाना क्षेत्र में पति ने कसाई बन कर अपनी पत्नी पर तलवार से अंधाधुंध वार किये। वार इतने खतरनाक थे कि उसकी नाक और स्तन कट गए। मायके जाने की बात से बिफरे पति ने पत्नी को मौत के घाट उतारने के इरादे से तलवार से ताबड़तोड़ वार किए। महिला के चेहरे समेत गुप्त अंगों पर भी बेरहमी से वार किया।

सर्दी के बावजूद भक्तों ने गंगा में लगाई डुबकी

हरिद्वार। हरिद्वार में मकर संक्रांति पर्व पर कुंभ वर्ष का पहला स्नान चल रहा है। आज सुबह भयंकर ठंड के बावजूद भक्तों ने मां गंगा में डुबकी लगाई। स्नान सुबह चार बजे ही शुरू हो गया था। पूरे उत्तराखंड से श्रद्धालू इस पावन स्नान के लिए हरिद्वार पहुंचे है। इसके अलावा देश के अन्य प्रांतों से भी लोग हरिद्वार पहुंचे हैं। हिमाचल और उत्तराखंड की देव पालकियां भी स्नान के लिए गंगा के तटों पर पहुंची हैं। जैसे-जैसे दिन चढ़ रहा है वैसे वैसे गंगा घाटों पर भक्तों की संख्या में इजाफा हो रहा है। एक अनुमान के अनुसार अब तक पांच लाख लोग गंगा स्नान कर चुके हैं। दूसरी ओर प्रशासन भी कुंभ वर्ष के पहले स्नान को लेकर सतर्क है। जगह जगह पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी तैनात किए गए हैं।

गजब: सीएम की मीटिंग में घुस लेती एसडीएम

रिश्वतखोर अफसरों का चेहरे बेनकाब: सीएम की मीटिंग मे एसडीएम मोबाइल फोन पर ले रही थी। घूस, फिर हुआ ये जिसके बाद सैल्यूट करने वाले हुए हैरान
नरेश राघानी  
जयपुर। भ्रष्ट अफसरों के हौंसले कितने बुलंद हैं। इस बात का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है। कि जिस वक्त राजस्थान में भ्रष्ट अफसरों के हौंसले कितने बुलंद हैं। इस बात का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है। कि जिस वक्त राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कलेक्टर कांफ्रेंस में भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कदम उठाने पर बोल रहे थे। उसी वक्त, उसी मीटिंग में बैठी एक एसडीएम फोन पर रिश्वत ले रही थी। राजस्थान की एंटी करप्शन ब्यूरो ने राजस्थान के दौसा जिले के दो एसडीएम और पूर्व एसपी के दलाल को घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम द्वारा आईपीएस और दौसा के पूर्व एसपी मनीष अग्रवाल के दो मोबाइल फोन को भी जब्त कर लिया गया है। एसपी भी एंटी करप्शन ब्यूरो टीम के सिकंजे में आ सकते हैं।
दरअसल मामला ये है। कि राजस्थान के दौसा जिले से एक नेशनल हाईवे गुजर रहा है। जहां पर किसानों की भूमि के अधिग्रहण का काम चल रहा है। दौसा जिले के दो एसडीएम एक बांदीकुई की पिंकी मीणा और दूसरे दौसा के पुष्कर मित्तल को कंपनी के लिए जमीन अधिग्रहण करवाने का काम दिया गया था। अधिग्रहण को लेकर हुए विवादों की वजह से कंपनी पर मुकदमा चल रहा था। जिसकी सुनवाई एसपी मनीष अग्रवाल कर रहे थे। लेकिन इस मामले की सुनवाई के संबंध में भ्रष्टाचार की शिकायत आने लगीं, इसके बाद एसपी को दौसा जिले से हटा दिया गया, मगर इसके बावजूद एसपी का दलाल नीरज, अधिग्रहण करने वाली कंपनी पर घूस देने के लिए दबाव बना रहा था। दलाल नीरज, एसपी मनीष अग्रवाल के लिए कंपनी से 30 लाख रुपए की मांग कर रहा था। जिसे एंटी करप्शन की टीम द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है।
दूसरी तरफ बाँदीकुई की एसडीएम पिंकी मीणा की पहली पोस्टिंग हुई थी। पिंकी मीणा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ कलेक्टर कांफ्रेंस में बैठी हुई थीं। तभी जमीन अधिग्रहण के लिए 10 लाख रुपये घूस देने के लिए कंपनी वालों का फोन आया, एसडीएम ने फोन पर कहा कि ''कंपनी के लायजनिंग अधिकारी को दे दो मैं मीटिंग से निकलने के बाद ले लूंगी।'' एसडीएम को रंगे हाथों पकड़ने के लिए एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम दो घंटे तक बैठी रही, जैसे ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मीटिंग से एसडीएम बाहर निकलीं और पैसे लिए, तभी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।
इसी प्रकार दौसा के एसडीएम पुष्कर मित्तल ने कंपनी के अधिकारियों को कहा था कि पैसे देने के लिए घर आ जाओ। मामले पर पहले से ही पैनी नजर रखी हुई एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम एसडीएम के घर पहुंच गई और रंगे हाथों एसडीएम को पकड़ लिया। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने दौसा के एसपी के जो मोबाइल जब्त किए हैं। उन दोनों मोबाइल में उनकी लोकेशन दौसा आ रही है। सूत्रों के मुताबिक एसपी को दौसा से बाहर भेज दिया गया था। फिर भी रिश्वत मांगने के लिए वे दौसा पहुंच गए थे। एसडीएम और दलाल की गिरफ्तारी के बाद, आईपीएस मनीष अग्रवाल भाग कर जयपुर स्थित अपने श्याम नगर आवास पर पहुंच गए, फिलहाल एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम उनके घर पहुंच रही है। जहां उनसे इस मामले के बारे में गहन पूछताछ होगी।

गावस्कर के साथ वाकयुद्ध मे पड़ने का इरादा नहीं

सिडनी। आस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन का सुनील गावस्कर के साथ वाकयुद्ध में पड़ने का कोई इरादा नहीं है और उन्होंने कहा कि उनकी कप्तानी को लेकर भारत के इस महान बल्लेबाज के आकलन से वह रत्ती भर भी चिंतित नहीं हैं। सिडनी टेस्ट के दौरान पेन ने रविचंद्रन अश्विन पर छींटाकशी की थी जिसके बाद गावस्कर ने कहा था कि राष्ट्रीय टीम के कप्तान को यह शोभा नहीं देता और बतौर कप्तान पेन के दिन गिनती के बचे हैं। यह पूछने पर कि क्या उन्होंने गावस्कर की टिप्पणी सुनी है, पेन ने कहा ,” मैने सुना लेकिन मैं इसमें पड़ना नहीं चाहता। मेरा सुनील गावस्कर के साथ वाकयुद्ध का कोई इरादा नहीं है।” उन्होंने कहा,” वह अपनी राय रखने के लिये स्वतंत्र हैं लेकिन मुझे रत्ती भर भी फर्क नहीं पड़ता। सनी को जो कहना है, वह कहते रहें लेकिन आखिर में मेरा इससे कोई लेना देना नहीं है।” पेन ने अपने आचरण के लिये सार्वजनिक तौर पर माफी मांग ली थी। उन्होंने कहा कि अब आगे से वह चेहरे पर मुस्कुराहट लिये खेलते रहेंगे। उन्होंने कहा,” अपने पूरे कैरियर में 99 प्रतिशत मैं इत्मीनान से रहा हूं। उससे ही मैं सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाता हूं। उस दिन मैं आवेग में आ गया था।” उन्होंने कहा ,” मैने दर्शकों की तरफ देखा और मुझे महसूस हुआ कि मैं टेस्ट मैच में टीम की कप्तानी कर रहा हूं। मैने हमेशा इसका सपना देखा था। मैं काफी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलूंगा और जीतने के इरादे से ही खेलूंगा।”

सीबीआई अधिकारी के घर पर सीबीआई की रेड

सीबीआई अधिकारी के घर पर सीबीआई की रेड, चारों तरफ से अधिकारियों ने घेरा
अश्वनी उपाध्याय 
गाजियाबाद। जनपद के सीबीआई अकादमी में तैनात एक अधिकारी के घर छापेमारी चल रही है। यह छापेमारी अधिकारी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर की जा रही है। सूत्रों की मानें तो पूर्व अधिकारी के फ्लैट को चारों तरफ से घेर के सीबीआई तलाशी कर रही है। अधिकारी का नाम आर के ऋषि बताया जा रहा है। वह सीबीआई अकादमी गाजियाबाद में डीएसपी के पद पर तैनात हैं। सूत्रों की मानें तो उनके ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। शिकायत के बाद सीबीआई की एक टीम अधिकारी के कौशांबी इलाके में स्थित घर पहुंच
सुबह पहुंची टीमटीम शिवालिक टावर के फ्लैट नंबर 402 में पहुंची। बताया जा रहा है कि बिना किसी को भनक लगे टीम सुबह करीब 8:30 बजे शिवालिक टावर पहुंच गई थी। टीम में बारह लोग शामिल बताए जा रहे हैं। टीम के सदस्य फ्लैट के बाहर से लेकर अंदर तक मौजूद हैं। छापेमारी की कार्रवाई चल रही है।

होममेड आई मास्क से बढ़ाएं आंखों की खूबसूरती

इन 3 आसान होममेड आई मास्क से बढ़ाएं आंखों की खूबसूरती जानिए
चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा मायने रखती हैं। खूबसूरत आंखें। खासतौर पर लडकियां आंखों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए कई तरह के उत्पादों का इस्तेमाल करती हैं। और मेकअप से आंखों को खूबसूरत बढ़ाती हैं। लेकिन मेकअप से आंखों की खूबसूरती कुछ ही देर तक कायम रहती है।
आंखों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए प्राकृतिक चीज़ों का इस्तेमाल करना बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। घर में आसानी से उपलब्ध हो जाने वाली चीज़ों से तैयार होने वाले आई मास्क से आँखों के नीचे के डार्क सर्कल और झाइयों से छुटकारा पाया जा सकता है। आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे होममेड आई मास्क के बारे में जिनसे आप अपनी आंखों को खूबसूरत बना सकती हैं।
दूध और बेकिंग सोडा का आई मास्क
दूध का इस्तेमाल आँखों की थकान दूर करने का एक कारगर नुस्खा है। दूध में बेकिंग सोडा मिलाकर आई मास्क तैयार किया जाता है। 
आवश्यक सामग्री 
कच्चा दूध – 4 बड़े चम्मच 
बेकिंग सोडा – 2 बड़े चम्मच 
बनाने का तरीका 
एक छोटे बाउल में दोनों सामग्रियों को डालें। 
दोनों सामग्रियों को आपस में अच्छी तरह से मिलाएं हुए पेस्ट तैयार करें। 
तैयार पेस्ट को थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रख दें। 
आई मास्क इस्तेमाल के लिए तैयार है। 
इस्तेमाल का तरीका 
तैयार मास्क को आँखों के नीचे के भाग में लगाएं। 
20 मिनट तक लगा रहने दें और आँखें बंद करके लेट जाएं। 
फ्रिज में रखने की वजह से ये आँखों को ठंडक प्रदान करेगा।  
20 मिनट बाद चेहरा और आँखें पानी से धो लें। 
इस मास्क का हफ्ते में दो बार इस्तेमाल करें इससे आँखों के नीचे की झुर्रियों से राहत मिलेगी। 
पाइन एप्पल और हल्दी का आई मास्क
पाइन एप्पल यानी कि अनानास में त्वचा को खूबसूरती प्रदान करने वाले कई गुण पाए जाते हैं। साथ ही हल्दी में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण त्वचा के कई विकारों को दूर करते हैं। इन दोनों के मिश्रण से तैयार आई मास्क आंखों के नीचे की सूजन को कम करके आंखों को खूबसूरत बनाता है। 
आवश्यक सामग्री 
अनानास का रस – 4 चम्मच 
हल्दी पाउडर -1 चम्मच 
बनाने और इस्तेमाल का तरीका 
ये आई मास्क बनाने के लिए दोनों सामग्रियों को आपस में अच्छी तरह मिलाएं। 
तैयार पेस्ट को आँखों के नीचे वाले भाग पर अच्छी तरह से लगाएं। 
लगभग 25 मिनट तक इसे त्वचा पर लगा रहने दें जिससे ये त्वचा में अवशोषित हो जाए। 
आई मास्क सूखने पर चेहरा पानी से अच्छी तरह से धो लें। 
ठंड के मौसम में चेहरा हल्के गुनगुने पानी से धो लें। 
इस आई मास्क के हफ्ते में एक दिन इस्तेमाल से आँखों के नीचे की सूजन कम हो जाएगी। 
कॉफी और शहद का आई मास्क
कॉफी और शहद से बने इस होममेड आई मास्क से आँखों की खूबसूरती तो बढ़ाई ही जा सकती है। आँखों के नीचे के काले घेरों से भी छुटकारा मिलता है।
आवश्यक सामग्री 
कॉफी पाउडर – 1 चम्मच 
शहद -1 चम्मच 
विटामिन ई कैप्सूल- 4 -5 
बनाने का तरीका 
ये आई मास्क बनाने के लिए कॉफी पाउडर और शहद को आपस में अच्छी तरह मिलाएं। 
विटामिन ई कैप्सूल से तेल बाहर निकाल लें और कॉफी और शहद के मिश्रण में मिलाएं। 
सारी सामग्रियों को आपस में अच्छी तरह मिलाएं। 
आई मास्क इस्तेमाल के लिए तैयार है। 
इस्तेमाल का तरीका
तैयार मास्क को आँखों के नीचे लगाएं या कॉटन पैड को मिश्रण में डिप करके बंद आंखों में रखें। 
लगभग 15 मिनट तक आंखों को बंद रखें और आराम की मुद्रा में लेटे रहें। 
15 मिनट बाद कॉटन पैड को आंखों से हटाएं। 
यदि आपने आंखों के नीचे आई मास्क लगाया है तो चेहरा पानी से धुलें। 
इस मास्क को हफ्ते में दो बार इस्तेमाल करने से आंखों की थकान दूर हो जाती है। 
ये सभी आई मास्क पूरे तरह से प्राकृतिक हैं। और इनका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है लेकिन संवेदनशील त्वचा पर इसके इस्तेमाल से पहले पैच टेस्ट कर लें या विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

14 वर्षीय नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म किया

दूध लेकर घर लौट रही 14 साल की लड़की के साथ गैंगरेप, तीन बदमाशों ने वारदात को दिया अंजाम
ग्वालियर। दूध लेकर वापस घर जा रही 14 साल की नाबालिग को अगवा कर तीन बदमाशों ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है। यह वारदात गिरवाई थाना क्षेत्र के अमर मैरिज गार्डन के पास की है। घटना की शिकार हुई नाबालिग ने अपने माता पिता को बताई। जहां उन्होंने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने गैंगरेप का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
दरअसल गिरवाई थाना क्षेत्र के वीरपुर बांध इलाके में रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी नौवीं कक्षा की छात्रा है। वह शाम के समय घर से दूध लेने के लिए निकली थी। और दूध लेकर वापस घर आते समय उसका रास्ता प्रदीप, राजकुमार और राकेश नाम के युवकों ने रोक लिया और उसका मुंह दबाकर उसे अमर मैरिज गार्डन के पास एक अन्त स्थान पर ले गए। जहां उसके साथ तीनों ने सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया
वारदात के दौरान तीनो आरोपियों ने नाबालिग के विरोध करने पर उसकी मारपीट की जिससे वहां छात्रा घायल हो गई और वह किसी तरह नाबालिग ने उनके चंगुल से छूटने के बाद अपने घर पहुंची और अपने माता-पिता को घटना के बारे में बताया। जहां माता-पिता घायल हालत में बच्ची को लेकर थाने पहुंचे और उन्होंने अपनी बेटी के साथ हुई घटना के बारे में पुलिस को बताया। पुलिस ने घायल छात्रा को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। और उनकी शिकायत पर पास्को एक्ट सहित दुष्कर्म का और अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

विश्व में मृतक संख्या-19.77 लाख से अधिक हुई

वाशिंगटन डीसी। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा। विश्वभर में अब तक 19.77 लाख से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी हैं। जबकि बीते एक दिन में सात लाख 40 हजार से अधिक नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9.23 करोड़ से अधिक हो गई है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक विश्व के 191 देशों में कोरोना वायरस से अब तक नौ करोड़ 23 लाख 13 हजार 199 लोग संक्रमित हुए हैं तथा 19 लाख 77 हजार 893 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 2.30 करोड़ हो गयी है, जबकि 3.84 लाख से अधिक मरीजों की मौत हुई है। संक्रमण के मामलों में दूसरे सबसे बड़े देश भारत में संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ पांच लाख 12 हजार से अधिक हो गया। कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या एक करोड़ एक लाख 46 हजार 763 हो गयी है जबकि मृतकों का आंकड़ा 1,51,727 हो गया है। ब्राजील में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 82.56 लाख से ज्यादा हो गयी है जबकि इस महामारी से 2.05 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 34.34 लाख हो गयी है जबकि 62,463 लोगों की मौत हो गई है। ब्रिटेन में 32.20 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 84,910 लोगों की मौत हुई है। फ्रांस में 28.88 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं और 69,168 मरीजों की मौत हाे चुकी है। तुर्की में कोविड-19 से अब तक 23.55 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 23,325 लाेगों की मौत हुई है।इटली में अब तक 23.19 लाख से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं और 80,326 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन में इस महामारी से अब तक 21.76 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 52,878 लोगों की मौत हुई है। जर्मनी में इस वायरस की चपेट में 19.81 लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं तथा 42,618 लोगों की मौत हुई है। कोलंबिया में इस जानलेवा वायरस से अब तक 18.31 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 47,124 लोगों ने जान गंवाई है। अर्जेंटीना में कोविड-19 से 17.57 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं तथा 44,983 लोगों की मौत हो चुकी है। मेक्सिको में कोरोना से 15.71 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 1.36 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। पोलैंड में संक्रमण के 14.04 मामले सामने आए हैं तथा 32,074 लोगों की मौत हो गई है। ईरान में इस महामारी से अब तक 13.05 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं तथा 56,360 लोगों की मौत हो गई है। दक्षिण अफ्रीका में 12.78 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 35,140 लोग काल के गाल में समा गए हैं। यूक्रेन में 11.66 लाख से ज्यादा लाेग इस वायरस से प्रभावित हुए हैं जबकि 21,121 लोगों की मौत हो चुकी है। पेरू में इस वायरस से अब तक 10.40 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं और 38,399 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से 9.01 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं तथा 12,786 लोगों की मौत हुई है। इंडोनेशिया में संक्रमितों की संख्या 8.58 लाख हो गयी है और मृतकों का आंकड़ा 24,951 तक पहुंच गया है। चेक गणराज्य में कोरोना से अब तक 8.55 लाख लोग प्रभावित हुए हैं तथा 13,656 लोगों की मौत हुई है। कनाडा में अब तक 6.86 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं, जबकि 17,404 लोगों की मौत हुई है। रोमानिया में कोरोना से 6.81 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 16,969 लोगाें की मौत हो चुकी है। बेल्जियम में करीब 6.70 लाख लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 20,250 लोगाें की मौत हो चुकी है। चिली में कोविड-19 से 6.52 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 17,204 लोगों ने जान गंवाई है। इराक में संक्रमितों की संख्या 6.05 लाख और मृतकों का आंकड़ा 12,915 तक पहुंच गया है। बंगलादेश में संक्रमितों की संख्या 5.24 लाख को पार कर गयी है और 7833 लोगों की मौत हो चुकी है। इजरायल में इस महामारी से 5.20 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 3,817 लोगों की जान जा चुकी है। स्वीडन में इस महामारी से 5.12 लाख लोग संक्रमित हुए हैं तथा 9,834 लोगों की मौत हुई है। पाकिस्तान में कोरोना से अब तक 5.08 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं तथा 10,818 लोगों की मौत हो चुकी है। पुर्तगाल में कोरोना में 5.07 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 8236 लोगों की मौत हो चुकी हैं। फिलीपींस में 4.92 लाख लोग इसकी चपेट में हैं तथा 9699 लोगों की मौत हो चुकी है। स्विट्ज़रलैंड में इस महामारी से 4.90 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 8521 लोगों की मौत हो चुकी है। मोरक्को में इस महामारी से 4.55 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं और 7810 लोगों की जान जा चुकी है। ऑस्ट्रिया में कोरोना से 3.85 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 6868 लोगों की मौत हो चुकी हैं। सऊदी अरब में कोरोना से 3.64 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 6304 लोगों की मौत हो चुकी हैं। कोरोना वायरस से इक्वाडोर में 14,229, बोलीविया में 9493, मिस्र में 8362, ग्वाटेमाला में 5117 तथा चीन में 4,796 लोगों की मौत हो चुकी है।

उपचुनाव: भाजपा का एहसान चुकाएगी बसपा

यूपी विधान परिषद चुनाव- क्या बसपा अपना कैंडिडेट न उतारकर चुकाएगी भाजपा का एहसान ! जानिए पूरा गुणा-गणित
संदीप मिश्रा  
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानपरिषद यूपी एमएलसी इलेक्शन की 12 रिक्त हुई सीटों पर एमएलसी चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों की जोर आजमाइश शुरू हो चुकी है। एमएलसी की इन 12 सीटों के लिए 11 जनवरी से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। जो 18 जनवरी तक चलेगी। 19 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच और 21 जनवरी तक नाम वापसी का समय होगा, जबकि 28 जनवरी को सुबह 9:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक मतदान का समय है। उसी दिन शाम 5:00 बजे के बाद मतगणना भी शुरू हो जाएगी।
अब अगर उत्तर प्रदेश की सियासी गणित को देखें तो इन 12 सीटों के चुनाव में भाजपा और सपा ही सबसे बड़ी पार्टियां बन सकती हैं। भाजपा मौजूदा विधायकों की संख्या और अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर 12 में से 10 सीटें जितने का दम रखती है। वहीं समाजवादी पार्टी भी अगर अपने सारे तिकड़म आजमा लेती है। और अपने सहयोगी दलों के साथ समाजवादी विचारधारा में विश्वास रखने वाली राजनीतिक पार्टियों को अपने साथ मिला लेती है। तो वह भी 2 सीट जीतने की हकदार हो सकती है।
ये है समीकरण
बता दें कि यूपी की विधान परिषद में 1 सीट जीतने के लिए 32 वोटों का होना जरूरी है।और अगर सीटों की गणित को देखा जाए तो भारतीय जनता पार्टी के पास 310 विधायक हैं। जिनके आधार पर वह सीधे-सीधे अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर 10 सदस्यों को विधान परिषद पहुंचा सकती है। क्योंकि अपना दल की विधायकों की संख्या भी भारतीय जनता पार्टी के साथ ही जाएगी। सदन में अपना दल के 9 विधायक हैं। यानी भाजपा की संख्या बढ़कर 319 हो जाती है। 319 के आधार पर भाजपा अपने 9 विधायक तो आसानी से विधानपरिषद में पहुंच लेगी और 10वी के लिए उसे बहुत कम मशक्कत करनी पड़ेगी।

बिहार: करोड़ों की हेरोइन व अफीम बरामद की

बिहार में करोड़ों की हेरोइन, अफीम बरामद, पुलिस की भनक लगते ही तस्कर फरार
अविनाश श्रीवास्तव  
 मादक पदार्थो की कीमत करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये आंकी गई है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बरामद मादक पदार्थ की जांच की गई है, जो सही पाया गया है।

औरंगाबाद। बिहार के औरंगाबाद जिले के बारूण थाना क्षेत्र से पुलिस ने एक घर में छापेमारी कर 660 ग्राम हेराइन और एक किलोग्राम अफीम जब्त की है। इस मामले में हालांकि किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है। औरंगाबाद के पुलिस उपाधीक्षक अनूप कुमार ने बुधवार को बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी। कि सीरिस गांव के एक घर से मादक पदार्थो की तस्करी की जा रही है। इसी आधार पर घर में छापेमारी कर 660 ग्राम हेरोइन और 1 किलोग्राम अफीम बरामद किया गया है।
पुलिस गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही हैं।
पुलिस की भनक लगते ही तस्कर फरार हो गए। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। बरामद मादक पदार्थो की कीमत करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये आंकी गई है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि बरामद मादक पदार्थ की जांच की गई है। जो सही पाया गया है। बता दें कि पिछले महीने ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भी बड़े ड्रग सिंडिकेट का पर्दाफाश करते हुए 2 लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों के पास से 5 किलो हेरोइन बरामद की है। जिसकी इंटरनेशनल मार्केट में कीमत करीब 20 करोड़ रुपये है। पुलिस ने इनके पास से मोबाइल फोन और कुछ सिम कार्ड भी बरामद किए थे। पुलिस को ये भी जानकारी मिली कि ये गैंग मणिपुर से आपरेट हो रहा था।

सीएम त्रिवेंद्र ने मकर संक्रांति की बधाईयां दी

पंकज कपूर 

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को मकर संक्राति पर्व की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी है। अपने शुभकामना संदेश में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने इस पर्व पर सभी प्रदेशवासियों के लिए सुख, शांति एवं समृद्धि की कामना की है। उन्होंने कहा कि यह त्यौहार जीवन में सकारात्मक सोच के साथ सदैव कर्म के पथ पर आगे बढ़ने की भी प्रेरणा देता है। यह पावन पर्व माँगलिक कार्यों के शुभारम्भ से भी जुड़ा है। मुख्यमंत्री ने कामना की कि भगवान सूर्य की आराधना का यह पर्व हम सबके जीवन में नई ऊर्जा और उत्साह का संचार करे।

सलाह: सीमा से हटे तो नाकाबंदी करेगी सरकार

शिवसेना की किसानों को सलाह- सीमा से हटे तो नाकाबंदी करेगी सरकार, जो हो अभी हो जाए
मनोज सिंह ठाकुर  
मुंबई। किसान आंदोलन को लेकर अब शिवसेना भी सरकार पर हमलावर हो गई है। अपने मुखपत्र सामना में शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार और सुप्रीम कोर्ट दोनों पर निशाना साधा है। संपादकीय में दावा किया गया है। कि सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के कंधे पर रखकर बंदूक चलाई है। अखबार में लिखा गया है। कि सरकार अदालत को आगे कर के आंदोलन को खत्म करने की कोशिश कर रही है। खास बात है कि केंद्र और किसान पक्ष शुक्रवार को 9वीं बार आमने-सामने आ रहे हैं।
सामना में लिखा है ‘सर्वोच्च न्यायालय ने तीन कृषि कानूनों को स्थगनादेश दे दिया है।फिर भी किसान आंदोलन पर अड़े हुए हैं. अब सरकार की ओर से कहा जाएगा, ‘देखो, किसानों की अकड़, सर्वोच्च न्यायालय की बात भी नहीं मानते.’ सवाल सर्वोच्च न्यायालय के मान-सम्मान का नहीं है। बल्कि देश के कृषि संबंधी नीति का है. किसानों की मांग है। कि कृषि कानूनों को रद्द करो। निर्णय सरकार को लेना है। सरकार ने न्यायालय के कंधे पर बंदूक रखकर किसानों पर चलाई है लेकिन किसान हटने को तैयार नहीं हैं। 
इसके अलावा शिवसेना ने किसानों को चेताया भी है। उन्होंने लिखा ‘एक बार सिंघू बॉर्डर से किसान अगर अपने घर लौट गया तो सरकार कृषि कानून के स्थगन को हटाकर किसानों की नाकाबंदी कर डालेगी इसलिए जो कुछ होगा, वह अभी हो जाए। गौरतलब है। कि अदालत ने तीनों नए कानूनों को लागू किए जाने पर फिलहाल रोक लगा दी है। वहीं, मामले के निपटारे के लिए 4 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। शिवसेना ने इस समिति में शामिल सदस्यों पर भी सवाल उठाए हैं. संपादकीय में लिखा गया कि चारों सदस्य कल तक कानूनों का समर्थन कर रहे थे।
सरकार पर देशद्रोह का रूप देने के आरोप
शिवसेना ने आरोप लगाए हैं। कि सरकार आंदोलन खत्म नहीं होने देना चाहती है। सामना में लिखा ‘आंदोलनकारी सरकार की बात नहीं सुन रहे इसलिए उन्हें देशद्रोही, खालिस्तानवादी साबित करके क्या हासिल करनेवाले हो? चीनी सैनिक हिंदुस्थान की सीमा में घुस आए हैं. उनके पीछे हटने की चर्चा शुरू है लेकिन किसान आंदोलनकारियों को खालिस्तान समर्थक बताकर उन्हें बदनाम किया जा रहा है। अगर इस आंदोलन में खालिस्तान समर्थक घुस आए हैं। तो सरकार की असफलता है। सरकार इस आंदोलन को खत्म नहीं करवाना चाहती और इस आंदोलन पर देशद्रोह का रंग चढ़ाकर राजनीति करना चाहती है।
किसानों और सरकार के बीच 8 बार की बातचीत बेनतीजा रही है. आज किसान आंदोलन का 50वां दिन है। माना जा रहा है। कि किसान आज बातचीत को लेकर बड़ी घोषणा कर सकते हैं। वहीं, अब तक हुई बातचीत में बड़े मुद्दों को छोड़कर केवल पराली जलाने और सब्सिडी के मुद्दे पर ही सहमति बन पाई है। हालांकि, सरकार ने शुक्रवार को होने वाली बातचीत को लेकर बड़ी उम्मीद जताई है।

आज लॉन्च, पीएम कौशल योजना का तीसरा चरण

कल लॉन्च होगा प्रधानमंत्री कौशल योजना का तीसरा चरण, जानें इससे जुड़ी महत्वपूर्ण बातें
 हरिओम उपाध्याय   
नई दिल्ली। शुक्रवार को देश के सभी राज्यों में स्थित 600 जिलों में प्रधानमंत्री योजना के तीसरे चरण को लॉन्च किया जाएगा। विकास उद्यमिता मंत्रालय ( एमसीडी द्वारा इसका प्रायोजन किया गया है। इस चरण में कोरोना से संबंधित कौशल योजना पर ध्यान केंद्रित रहेगा।
प्रधानमंत्री कौशल योजना का तीसरा चरण कल यानी 15 जनवरी को लॉन्च होगा। देश के सभी राज्यों के 600 जिलों में यह योजना लॉन्च की जाएगी। कौशल विकास उद्यम एमएसडी जी) द्वारा इसका प्रायोजन किया गया है। इस चरण में कोरोना से संबंधित कौशल योजना पर ध्यान केंद्रित रहेगा। रिपोर्ट के मानें तो इस बार इस योजना में जिला स्तरीय कौशल समितियों को मजबूत करने पर जोर दिया जाएगा। ताकि स्थानीय कौशल जरूरतों को पूरा किया जा सके।
2015 में पहले चरण की हुई थी शुरुआत
गौरतलब है कि सरकार ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का पहला चरण 2015 और दूसरा चरण 2016 में शुरू किया था। इसके तहत 2020 तक एक करोड़ लोगों के कौशल विकास का लक्ष्य रखा गया था। बता दें कि साल 2015 में शुरू की गई इस योजना के माध्यम से लाखों लोगों को प्रशिक्षित किया गया है।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने साल 2015 में यह योजना शुरू की थी। और 2020 तक एक करोड़ लोगों को कुशल बनाने के लक्ष्य के साथ इसमें 2016 में सुधार के लिए बदलाव किए गए थे। मीडिया रिपोर्ट के मानें तो 11 नवंबर तक प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत देशभर में 69 लाख से अधिक लोगों को प्रशिक्षित किया गया है।
देश के युवाओं को उद्योगों से जुड़ी ट्रेनिंग देना है। लक्ष्य
बता दें कि प्रधानमंत्री कौशल योजना का लक्ष्य देश के युवाओं को उद्योगों से जुड़ी ट्रेनिंग देना है। जिससे उन्हें रोजगार पाने में सहायता मिल सके। युवाओं को ट्रेनिंग देने की फीस का सरकार खुद भुगतान करती है। इस योजना के माध्यम से सरकार कम पढ़े लिखे या 10वीं, 12वीं कक्षा ड्राप आउट (बीच में स्कूल छोड़ने वाले) युवाओं को कौशल ट्रेनिंग मुहैया कराती है।

कड़ा हो सकता है कोरोना का अगला पड़ाव

डब्ल्यूएचओ की चेतावनी पहले साल के मुकाबले ज्यादा मुश्किल हो सकता है कोरोना का अगला पड़ाव
वाशिंगटन। कोरोना की वैक्सीन तैयार होने के बाद अब दुनिया भर में लोगों ने राहत की सांस ली है। कई देशों में वैक्सीनेशन का काम शुरू हो गया है। और भारत में 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा। अभी कोरोना के पहले फेज से दुनिया को छुटकारा नहीं मिला है। इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ ने एक चेतावनी दी है जो परेशान करने वाली है। डब्ल्यूएचओने चेतावनी देते हुए कहा कि कोरोना महामारी का अगला फेज पहले साल के मुकाबले ज्यादा मुश्किल हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के कार्यकारी निदेशक माइकल रेयान के अनुसार कोरोना महामारी का दूसरा साल ट्रांसमिशन डायनामिक्स पर पहले की तुलना में ज्यादा कठिन हो सकता है।
जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 11 मार्च को कोविड-19 के कहर को महामारी घोषित किया था। अब तक दुनिया में 9.21 करोड़ लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं। और 19.7 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है।
वहीं, वैश्विक शोधकर्ताओं की एक टीम गुरुवार को चीन के वुहान शहर पहुंची, जहां कोरोना वायरस महामारी का पहली बार पता चला था। टीम वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए जांच करेगी। टीम यह भी पता करेगी कि क्या चीन ने वायरस से संबंधित खोजों को रोकने की कोशिश की है।
इस 10 सदस्यीय टीम को महीनों के राजनयिक टाल-मटोल के बाद राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सरकार ने मंजूरी दे दी थी। एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि इस सप्ताह वे चीनी वैज्ञानिकों के साथ ‘विचारों का आदान-प्रदान’ करेंगे, लेकिन उन्होंने इस बात का कोई संकेत नहीं दिया कि क्या उन्हें सबूत इकट्ठा करने की अनुमति दी जाएगी या नहीं। उन्हें दो सप्ताह के क्वारंटाइन के साथ-साथ गले के स्वैब परीक्षण और कोविड-19 के लिए एक एंटीबॉडी परीक्षण से गुजरना होगा।
हालांकि 10 सदस्यीय टीम क्वारंटाइन में रहते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चीनी विशेषज्ञों के साथ काम करना शुरू करेंगा डब्ल्यूएचओ की इस टीम में संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, जापान, ब्रिटेन, रूस, नीदरलैंड, कतर और वियतनाम के वायरस और अन्य विशेषज्ञ शामिल हैं। वैज्ञानिकों को शक है। कि चीन के दक्षिण पश्चिम में वायरस ने चमगादड़ या अन्य जानवरों के जरिए मनुष्यों के शरीर में प्रवेश किया होगा। 2019 से अब तक वायरस के कारण 1.9 मिलियन लोगों की मौत हो गई है। ऐसी शिकायत हैं। कि सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने यह बीमारी फैलने की अनुमति दी। उधर, चीन का कहना है। कि वायरस विदेश से आया था। संभवतः आयातित समुद्री भोजन से, लेकिन वैज्ञानिक इस तर्क को स्वीकार नहीं करते हैं।

मध्य-प्रदेश में सीएम शिवराज का एक्शन जारी

भोपाल। मुरैना जहरीली शराब कांड में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एक्शन लगातार जारी है। कलेक्टर-एसपी को हटाने के बाद उन्होंने मुरैना के बागचीनी थाने के सभी पुलिसकर्मियों को हटाने के निर्देश जारी किया है। इस थाने के अंतर्गत जहरीली शराब का कारोबार सालों से चल रहा था, जिसमें अभी तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है। गौरतलब है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को सीएम हाउस में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई थी। इसमें प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा समेत तमाम आला अधिकारी मौजूद थे। बैठक में मुरैना केस को गंभीर मामला बताते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना के कलेक्टर अनुराग वर्मा और एसपी अनुराग सुजानिया को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश जारी किया था। साथ ही एसडीओपी सुरजीत भदौरिया को सस्पेंड करने का निर्देश दिया था।

मकर सक्रांति के साथ माघ मेले का आगाज

मकर संक्रांति के साथ माघ मेले का आगाज, श्रद्धालु लगा रहे पुण्य की डुबकी
बृजेश केसरवानी  
प्रयागराज। मकर संक्रांति से शुरू होकर महाशिवरात्रि तक चलने वाला आस्था का मेला ‘माघ मेला’ कोरोना महामारी के बीच गुरुवार से संगम की रेती पर शुरू हो गया। संक्रमण और ठंड व कोहरे पर आस्था भारी पड़ रही है। इस दौरान श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पुण्य डुबकी लगाती नजर आ रही है। माघ मेला के पहले स्नान पर्व यानी मकर संक्रांति पर संगम सहित गंगा तथा यमुना के सभी स्नान घाटों पर ब्रह्म मुहूर्त से ही श्रद्धालुओं के स्नान का सिलसिला शुरू हो गया।
सुबह के समय संगम व आसपास के घाटों पर श्रद्धालु कम नजर आए। लेकिन सुबह सात बजे के बाद से श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ रही है।
संगम के अलावा गंगा के अक्षयवट, काली घाट, दारागंज, फाफामऊ घाट पर भी स्नान चल रहा है।
माघ मेले के दौरान छह प्रमुख स्नान होंगे। इसकी शुरूआत मकर संक्रांति से होती है।
श्रद्धालु कोरोना संक्रमण से बेफिक्र नजर आ रहे हैं। आधी-अधूरी तैयारी के बीच पहले स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं का उत्साह देखने लायक है। मेला क्षेत्र में साधु संतों के पंडाल में भजन पूजन का दौर भी शुरू हो गया है। वैसे माघ मेला 27 जनवरी के आसपास रंग में आएगा। 28 जनवरी को पौष पूर्णिमा है। और इस दिन से एक महीने का कल्पवास शुरू हो जाता है।
प्रशासन का अनुमान है कि इस बार साढ़े तीन करोड़ श्रद्धालु प्रयागराज आएंगे। मेला क्षेत्र में कोरोना की गाइडलाइन को पूरा कराने के लिए सभी तैयारियां की हुई हैं। सभी तीर्थ पुरोहितों से आने वाले कल्पवासियों का ब्योरा लेकर इसे वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। माघ मेला में कोविड-19 गाइडलाइन के चलते इनकी संख्या पिछले स्नान पर्व से कम है। पर, आस्था में कहीं कोई कमी नहीं दिखी। उधर, इसी तरह कानपुर, वाराणसी, फरुर्खाबाद और गढ़मुक्तेश्वर में भी श्रद्धालु सुबह से ही पुण्य की डुबकी लगाने स्नान घाटों पर पहुंचने लगे।
हर-हर गंगे, जय मां गंगे के जय घोष के साथ मकर संक्रांति पर्व का पुण्य प्राप्त करने को गंगा में डुबकी लगा रहे हैं। इस दौरान कई स्नान घाटों पर स्नान के मद्देनजर कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन होता नजर नहीं आ रहा है। मेले में हर साल की तरह इस बार 5 पांटून ब्रिज, 70 किमी चेकर्ड प्लेटें बिछाई गई है। कोरोना को देखते हुए 16 पॉइंट्स बनाये गए है। हर जगह पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात है। मेले में बिजली, पानी और स्वच्छता के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। मेलाधिकारी विवेक चतुवेर्दी के अनुसार, मेले में हर तरह से तैयारी पूरी है। सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक इंतजाम हैं। कोविड संक्रमण को देखते हुए तैयारी और बेहतर की गई है। सभी को गाइडलाइन जारी की गई है।
उधर 14 जनवरी के बाद मलमास के कारण रूके हुए मांगलिक कार्य शुरू होते हैं। इस बार गुरु शुक्र अस्त के चलते विवाह आदि मांगलिक कार्य अप्रैल से होंगे। सूर्य सुबह 8.30 बजे उत्तरायण हुआ और मकर राशि में प्रवेश कर गया।

पंजाबः सीएम अमरिंदर ने बुलाई कैबिनेट की बैठक

राणा ओबराय
चंडीगढ़। कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को बड़ा झटका दिया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने मंगलवार को अगले आदेश तक कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि ‘हम कृषि कानूनों की वैधता को लेकर चिंतित हैं इसका समाधान जरूर निकलना चाहिए।’ बता दें कि कोर्ट ने अब इस मसले को सुलझाने के लिए एक कमेटी का गठन कर दिया है लेकिन कोर्ट के अंतरिम आदेश के बावजूद दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है। उधर, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज कैबिनेट की बैठक बुलाई है, जिसमेंआदेश की पेचीदगियों पर चर्चा की जाएगी और अहम फैसला लिया जाएगा। किसानों ने कहा है कि कानूनों के अमल पर रोक कोई हल नहीं है। किसान संगठन इस उपाय की मांग नहीं कर रहे थे। ये रोक कभी भी हट सकती है और फिर बात वहीं रहेंगी जहां आज है।

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव किया पारित

वाशिंगटन डीसी। डेमोक्रेटिक नेताओं के नियंत्रण वाली अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने पिछले सप्ताह कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में हुई हिंसा के मद्देनजर अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पारित कर दिया। इसके साथ ही ट्रंप अमेरिका के इतिहास में पहले ऐसे राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ दो बार महाभियोग चलाया जा रहा है। इस प्रस्ताव को 197 के मुकाबले 232 मतों से पारित किया था। रिपब्लिकन पार्टी के भी 10 सांसदों ने इसके समर्थन में मतदान किया। इस महाभियोग प्रस्ताव में निर्वतमान राष्ट्रपति पर अपने कदमों के जरिए छह जनवरी को ‘‘ राजद्रोह के लिए उकसाने’’ का आरोप लगाया गया है। इसमें कहा गया है कि ट्रंप ने अपने समर्थकों को कैपिटल बिल्डिंग (संसद परिसर) की घेराबंदी के लिए तब उकसाया, जब वहां इलेक्टोरल कॉलेज के मतों की गिनती चल रही थी और लोगों के धावा बोलने की वजह से यह प्रक्रिया बाधित हुई। इस घटना में एक पुलिस अधिकारी समेत पांच लोगों की मौत हो गई। चार सांसदों ने मतदान नहीं किया। चारों भारतीय अमेरिकी सांसदों एमी बेरा, रो खन्ना, राजा कृष्णमूर्ति और प्रमिला जयपाल ने महाभियोग के समर्थन में मतदान किया। अब इस प्रस्ताव को सीनेट में भेजा जाएगा, जो ट्रंप को कार्यालय से हटाने के लिए सुनवाई करेगी और मतदान करेगी। सीनेट 19 जनवरी तक के लिए स्थगित है। इसके एक दिन बाद 20 जनवरी को जो बाइडन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे।

पीएम ने देशवासियों को मकर सक्रांति की बधाईं दी

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को मकर संक्रांति, पोंगल और माघ बिहू के अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं और कामना की कि ये पर्व हर किसी के जीवन में सुख एवं समृद्धि के साथ नयी ऊर्जा और उत्साह का संचार करें। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘देशवासियों को मकर संक्रांति की बहुत-बहुत बधाई। मेरी कामना है कि उत्तरायण सूर्यदेव सभी के जीवन में नई ऊर्जा और नए उत्साह का संचार करें। पोंगल की शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह त्योहार तमिल संस्कृति की सर्वश्रेष्ठ झलक प्रस्तुत करता है। उन्होंने कहा, ‘‘यह त्योहार हमें प्रकृति के साथ तालमेल बैठाकर जीने की प्रेरणा देता रहे और हर किसी में करुणा एवं दया का भाव मजबूत करता रहे।’’ माघ बिहू पर प्रधानमंत्री ने देशवासियों के सुख एवं समृद्धि की कामना की। उन्होंने गुजरात के लोगों को उत्तरायण की शुभकामनाएं दीं। मकर संक्रांति एक ऐसा त्यौहार है जो अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम और तरीकों से मनाया जाता है। उत्तर भारत में इसे मकर संक्रांति कहा जाता है। इसे तमिलनाडु में पोंगल के नाम से जाना जाता है। असम में इसे माघ बिहू और गुजरात में इसे उत्तरायण कहते हैं। पंजाब और हरियाणा में इस समय नई फसल का स्वागत किया जाता है और लोहड़ी पर्व मनाया जाता है।इस दिन पतंग उड़ाने का भी विशेष महत्व होता है और लोग बेहद आनंद और उल्लास के साथ पतंगबाजी करते हैं। गुजरात में इस दिन पतंगबाजी के बड़े-बड़े आयोजन किए जाते हैं। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने नागरिकों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं प्रेषित की हैं। उन्होंने ट्वीट के माध्यम से लिखा है ‘सुख, शांति एवं समृद्धि की मंगल कामनाओं के साथ सभी देशवासियों को मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं।’ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “ सभी देशवासियों को मकर संक्रांति, पोंगल एवं उत्तरायणी के पावन पर्व की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। यह पर्व आपके जीवन में सुख-समृद्धि एवं सौभाग्य लेकर आएं। ईश्वर से कामना है कि आप खुश रहें, स्वस्थ रहें।” कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, “फसलों की कटाई का समय खुशी और उत्सव का अवसर होता है। सभी को मकर संक्रांति, पोंगल, बिहू, भोगी और उत्तरायण की शुभकामनाएं। हक के लिए शक्तिशाली लोगों के खिलाफ लड़ रहे किसान, मजदूरों के लिए विशेष प्रार्थना और शुभकामनाएं।” कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, “समस्त देशवासियों को मकर संक्रांति, पोंगल, बिहू और भोगी की हार्दिक शुभकामनाएं। फसलों से जुड़े इन त्यौहारों के उल्लास के बीच ईश्वर से मेरी प्रार्थना है कि फसल उगाने वाले अन्नदाताओं को न्याय मिले।

पेट्रोल-डीजल में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी हुई

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने गुरुवार को पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी की। देश के चार बड़े महानगरों में आज डीजल 24 से 26 पैसे और पेट्रोल 22 से 25 पैसे प्रति लीटर तक मंहगा हुआ। बुधवार को पांच दिन स्थिर रहने के बाद दोनों ईंधन के दाम बढ़े थे। वाणिज्यिक नगरी मुंबई में पेट्रोल का दाम आज रिकार्ड भाव से मात्र दो पैसे कम 91.32 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। यहां पेट्रोल का रिकार्ड भाव चार अक्टूबर 2018 को 91.34 रुपये प्रति लीटर था। दिल्ली में आज पेट्रोल 25 पैसे बढ़कर 84.70 रुपये और डीजल भी इतना ही बढ़कर 74.88 रुपये प्रति लीटर हो गया। दिल्ली में पेट्रोल रोज नये रिकार्ड बना रहा है। वाणिज्यिक नगरी मुंबई में पेट्रोल के दाम 25 पैसे बढ़कर 91.32 रुपये और डीजल के भाव 26 पैसे बढ़कर 81.60 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए हैं। कोलकाता में पेट्रोल के भाव 23 पैसे बढ़कर 86.15 रुपये और डीजल के भाव 25 पैसे बढ़कर 78.47 रुपये प्रति लीटर हैं। चेन्नई में भी पेट्रोल-डीजल के दाम में इजाफा हुआ है।

देश में कोरोना के 16,946 नए संक्रमित मिलें

अकांशु उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारत में कोविड-19 के 16,946 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,05,12,093 हो गए। जिनमें से 1,01,46,763 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में वायरस से 198 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,51,727 हो गई। आंकड़ों के अनुसार कुल 1,01,46,763 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 96.52 हो गई। वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.44 प्रतिशत है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या अब भी तीन लाख से कम है। अभी 2,13,603 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 2.03 प्रतिशत है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में अभी तक कुल 18,42,32,305 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। उनमें से 7,43,191 नमूनों की जांच बुधवार को की गई।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

दुनिया में सबसे अधिक परेशान देश है 'अमेरिका'

वाशिंगटन डीसी। कोरोना महामारी की शुरुआत के साथ ही दुनिया भर में सबसे अधिक परेशान देश अमेरिका है। वैश्विक मामलों का आंकड़े की लिस्ट में पहले ...