गुरुवार, 20 जुलाई 2023

कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण, दिशा-निर्देश दिए 

कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण, दिशा-निर्देश दिए 

भानु प्रताप उपाध्याय 

मुजफ्फरनगर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रस्तावित जनपद आगमन के दृष्टिगत अपर पुलिस महानिदेशक मेरठ जोन, मेरठ, आयुक्त सहारनपुर मण्डल, पुलिस उपमहानिरीक्षक सहारनपुर परिक्षेत्र, सहारनपुर, जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर द्वारा कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया गया। तैयारियों की समीक्षा करते हुए सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते हुए सम्बन्धित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गए।

गौरतलब है कि जनपद मुजफ्फरनगर में थानाक्षेत्र भोपा स्थित शुक्रताल में दिनांक 22.07.2023 को प्रस्तावित कार्यक्रम को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु अपर पुलिस महानिदेशक मेरठ जोन, मेरठ राजीव सभरवाल, आयुक्त सहारनपुर मण्डल डा0 ऋषिकेश भास्कर यशोद पुलिस उपमहानिरीक्षक सहारनपुर परिक्षेत्र, सहारनपुर अजय साहनी, जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर अरविन्द मलप्पा बंगारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर संजीव सुमन द्वारा पुलिस व प्रशासनिक अधिकारीगण के साथ आज दिनांक 20.07.2023 को शुक्रताल स्थित कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया, तथा पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती के सम्बन्ध में अधिनस्थों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

साथ ही सुरक्षा उपकरणों को चेक करते हुए पुलिस बल को सतर्कता के साथ डियूटी करने, असामाजिक तत्वों/सौहार्द बिगाडने वालों पर तत्काल कार्यवाही करने, छोटी-बड़ी सूचना से उच्चाधिकारियों को तत्काल अवगत कराने सहित अन्य निर्देशों से अवगत कराया गया। दिनांक 22.07.2023 को उक्त कार्यक्रम में मुख्यमन्त्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ महोदय के प्रस्तावित जनपद आगमन कार्यक्रम को सकुशल सम्पन्न कराने तथा इस दौरान सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था को चाक-चौबंद रखने के लिए अधिकारीगण द्वारा तैयारियों की समीक्षा करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। अधिकारीगण द्वारा कार्यक्रम स्थल पर बैरिकेडिंग, वाहनो की पार्किंग, साफ-सफाई, मोबाईल टॉयलेट की समुचित व्यवस्था तथा सभा में वीवीआईपी एवं मीडिया हेतु गैलरी तथा परिसर में आने-जाने हेतु रास्तों तथा चिन्हित किये गये सभी चेकिंग प्वाइंट का बारिकी से स्थलीय निरीक्षण करते हुए सम्बन्धित को निर्देशित किया गया कि निर्धारित पार्किंग स्थलों पर ही गाड़ियां पार्क हो। 

आपात स्थिति से निपटने को लेकर फायर ब्रिगेड और चिकित्सक टीम सहित एंबुलेंस के लिए चिन्हित स्थानों का भी निरीक्षण किया गया। तत्पश्चात अधिकारीगण द्वारा हेलीपेड व कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण करते हुए साफ-सफाई व बैरिकेडिंग को चेक करते हुए सम्बन्धित को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अतुल कुमार श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक यातायात कुलदीप सिंह सहित अन्य पुलिस व प्रशासनिक अधिकारीगण मौजूद रहे।

प्रमुख रहीम को 30 दिन की पैरोल मिली

प्रमुख रहीम को 30 दिन की पैरोल मिली

राणा ओबरॉय 

हिसार। सिरसा डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को 30 दिन की पैरोल मिल गई है। वह कुछ समय में रोहतक की सुनारिया जेल से बाहर आएगा। राम रहीम इस बार भी UP के बागपत स्थित बरनावा आश्रम में रहेगा। उसे सिरसा डेरे में जाने की इजाजत नहीं है। इससे पहले उसके लिए सिरसा से घोड़े और गाय पहुंचाए गए हैं और वहां पर सुरक्षा बढ़ाई गई है।

राम रहीम का 15 अगस्त को जन्म दिन है, इसलिए सजा मिलने के बाद वह पहली बार जेल से बाहर अपना जन्म दिन प्रेमियों के बीच मनाएगा। राम रहीम को इसी साल जनवरी में 40 दिन की पैरोल मिली थी। कैद के 30 महीने में राम रहीम की यह 7वीं पैरोल है।

वहीं राम रहीम की बुधवार रात को एक वीडियो वायरल हुई। इस वीडियो में राम रहीम बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए भगवान से दुआ मांग रहा है और डेरा प्रेमियों से राहत कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की अपील कर रहा है। हालांकि, यह वीडियो राम रहीम की पिछली पैरोल की है। उस समय वह बागपत में गया था, तब असम में बाढ़ आई हुई थी। वीडियो वायरल होने के बाद डेरा प्रेमियों के प्रबंधन के पास फोन पहुंचने शुरू हो गए हैं। तब डेरा प्रबंधन ने उन्हें सूचित किया कि यह पिछला वीडियो नहीं है। डेरा प्रवक्ता जितेंद्र इंसां का कहना है कि यह वीडियो पुरानी है।

राम रहीम को फरवरी 2022 में जब पैरोल मिली तो पंजाब और यूपी में विधानसभा चुनाव थे। तब भी सरकार के इस फैसले को लेकर विवाद हुआ था। जिस पर सरकार को सफाई देनी पड़ी थी। राम रहीम की पैरोल पर बाहर आते ही भाजपा नेता कतार में लगकर आशीर्वाद लेते हैं। हरियाणा सरकार के मंत्री समेत सांसद और कई भाजपा नेता राम रहीम के दरबार में नतमस्तक हो चुके हैं। इसमें हरियाणा के डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा, राज्यसभा सांसद कृष्ण लाल पंवार और CM के पूर्व राजनीतिक सलाहकार कृष्ण बेदी, हिसार निगम के मेयर गौतम सरदाना, पानीपत की मेयर अवनीत कौर आदि आशीर्वाद ले चुके हैं।

राम रहीम ने पिछली पैरोल के दौरान ऑर्गेनिक सब्जियों के टिप्स देते समय तिरंगा पैटर्न की बोतल यूज की। इसे यूज करके नीचे फेंक देता है। जिस पर विवाद हुआ था। जिसके बाद उसने खुद ही सफाई देता हुए कहा था ये तिरंगा नहीं है, केवल रंग है।

डेरा सच्चा सौदा चीफ राम रहीम की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत के इंस्टाग्राम पर एक मिलियन फॉलोअर हो गए हैं। राम रहीम और हनीप्रीत ने यूपी के बरनावा आश्रम में इस मौके को सेलिब्रेट किया। दोनों ने एक दूसरे का हाथ पकड़कर केक काटा। राम रहीम ने हनीप्रीत को केक खिलाया।

सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा चीफ राम रहीम पैरोल पर बाहर आते ही सुर्खियां बटोरने लगा। राम रहीम ने सोमवार को तलवार से केक काटा। मौका था डेरे के दूसरे संत शाह सतनाम के जन्मदिन का। उसी को राम रहीम ने अपनी गद्दी सौंपी थी। केक काटने का वीडियो बागपत स्थित बरनावा डेरे का है।

भारत तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था: वुल्फ

भारत तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था: वुल्फ

अकाशुं उपाध्याय 

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था निश्चित रूप से दुनिया में‘तेजी से एक बड़ी ताकत’ बनने की ओर अग्रसर है और 2050 तक इसका आकार अमेरिका के बराबर होगा। प्रसिद्ध अर्थशास्त्री और टिप्पणीकार मार्टिन वुल्फ ने यह बात कही है। वुल्फ ने इसके साथ ही कहा कि पश्चिमी देशों के नेता सोच-विचार कर भारत पर दांव लगा रहे हैं। वुल्क ने ‘द फाइनेंशियल टाइम्स’ में लिखे लेख में कहा, ‘‘मैं मानता हूं कि भारत 2050 तक प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि को पांच प्रतिशत या इसके आसपास बनाए रख सकता है। बेहतर नीतियों से वृद्धि इससे ऊंची भी रह सकती है। हालांकि, यह इससे कुछ कम भी रह सकती है।’’ 

उन्होंने कहा कि भारत ‘चीन प्लस वन’ रणनीति को अपनाने वाली कंपनियों के लिए एक प्रमुख गंतव्य है। बड़े घरेलू बाजार की वजह से इस मामले में अन्य प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में भारत लाभ की स्थिति में है। भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। क्रय शक्ति के मामले में यह तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि 2050 तक देश की जनसंख्या 1.67 अरब पर पहुंच जाएगी। अभी भारत की आबादी 1.43 अरब है। वुल्फ ने कहा कि देश के बैंकों का बही-खाता बेहतर हो गया है। ऋण वृद्धि भी अब बेहतर आकार ले रही है। 

उन्होंने लिखा कि आगामी दशकों में देश की अर्थव्यवस्था और आबादी दोनों तेजी से बढ़ेगी। इससे भारत, चीन को टक्कर देगा। भारत के पश्चिमी देशों के साथ भी अच्छे संबंध हैं, जो एक अच्छी बात है। वुल्फ ने कहा, ‘‘ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कभी प्रतिबंधित रहे नरेन्द्र मोदी का वॉशिंगटन में गर्मजोशी से स्वागत किया। पेरिस में इमैनुएल मैक्रों ने भी भारतीय नेता को उतनी ही गर्मजोशी से गले लगाया। यह एक ऐसे देश के साथ नजदीकी संबंधों को दर्शाता है, जो चीन के लिए शक्तिशाली प्रतिद्वंद्वी साबित हो सकता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘क्या यह पश्चिमी ताकतों का अच्छा दांव है? हां, निश्चित रूप से भारत तेजी से बढ़ती ताकत है। उनके हितों में भी सामंजस्य है।’’

नोएडा सीईओ के पद से ऋतु को हटाया, राहत 

नोएडा सीईओ के पद से ऋतु को हटाया, राहत 

किसानों के धरने पर सीएम योगी हुए थे नाराज, सुप्रीम कोर्ट में होनी थी सुनवाई, 200 एफडी में अनियमित की जांच शुरू

नोएडा सीईओ के पद से रितु को हटाया 

अश्वनी उपाध्याय   

गौतम बुध नगर। ऋतु महेश्वरी के हटाए जाने को लेकर तीन कारण सामने निकल के सामने आ रहे हैं। पहला मामला है।किसानों को मुआवजे का भुगतान न किए जाने पर हाई कोर्ट के द्वारा ऋतु महेश्वरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। फिलहाल इस मामले में आईएएस ऋतु महेश्वरी को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली। सुप्रीम कोर्ट में मामले की जल्द सुनवाई करने की अपील की थी। इस पूरे प्रकरण की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में चल रही है।दूसरा मामला नोएडा अथॉरिटी के बाहर किसानों के दो महीने से अधिक समय तक चले धरने को समाप्त कराने को लेकर प्राधिकरण स्तर से किसी तरह का कोई प्रयास नहीं किया गया था। किसानों की मांगों को हल करने के लिए भी किसी प्रकार का कोई ठोस प्रयास नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री योगी भी गौतमबुद्ध नगर दौरे पर रहे थे। उससे एक दिन पहले किसानों का धरना समाप्त कराया गया था। माना जाता है प्राधिकरण के तरीके से मुख्यमंत्री खासे नाराज थे। इसके बाद अटकलें लगाई जा रही थी जल्द ही हटाया जा सकता है। तीसरा मामला नोएडा स्थित बैंक ऑफ इंडिया की ब्रांच में प्राधिकरण के द्वारा 200 करोड़ की एफडी से अनियमित तरीके से 3करोड़ 80 रुपए ट्रांसफर किए जाने का है। फिलहाल इस पूरे मामले में अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी समेत तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई थी इसकी जांच की जा रही है। इस मामले में भी ऋतु महेश्वरी का नाम सामने आया है।

कौन हैं ऋतु महेश्वरी, पति भी आईएएस

रितु माहेश्वरी का जन्म 14 जुलाई 1978 को पंजाब में हुआ था। भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) में शामिल होने से पहले, उन्होंने पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। रितु माहेश्वरी ने गाजियाबाद के जिला मजिस्ट्रेट के रूप में काम किया था। वह आगरा विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष भी रह चुकी हैं। वह यूपी के अमरोहा, गाजीपुर, पीलीभीत और शाहजहांपुर की डीएम रह चुकी हैं। वह यूपी कैडर की आईएएस अधिकारी हैं।

रितु माहेश्वरी ने कानपुर इलेक्ट्रिक सप्लाई कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक के रूप में भी काम किया था। रितु माहेश्वरी के पति भी आइएएस अधिकारी हैं। उनका नाम मयूर माहेश्वरी है। वह यूपी कैडर के आईएएस अधिकारी भी हैं।

महिला आयोग, मणिपुर घटना का संज्ञान लिया   

महिला आयोग, मणिपुर घटना का संज्ञान लिया   

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने मणिपुर घटना का संज्ञान लिया है। महिला आयोग ने घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए घटना की निंदा की और मणिपुर के डीजीपी को तुरंत उचित कार्रवाई करने के लिए कहा।

घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य और भाजपा नेता खुशबू सुंदर ने कहा कि ये बिल्कुल चौंकाने वाली बात है। एनसीडब्ल्यू ने इस घटना पर स्वत: संज्ञान लिया है। चेयरमैन रेखा शर्मा ने ट्वीट किया है। एक मानवीय समाज के रूप में हमारा सिर शर्म से झुक जाना चाहिए।

खुशबू सुंदर ने कहा कि हम सभी को राजनीतिक दोष को एक तरफ रखना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि इस तरह की घटनाएं दोबारा न हों। हमें महिलाओं के खिलाफ अपराध से सामूहिक रूप से लड़ने की जरूरत है। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।

बृंदा करात ने पूछा- जवाबदेह कौन होगा?

मणिपुर की घटना पर सीपीआई (एम) नेता बृंदा करात ने कहा कि घटना 4 मई की है। अब तक मणिपुर सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। पीएम मोदी कह रहे हैं कि पूरे देश को इस घटना की निंदा करनी चाहिए, लेकिन जवाबदेह कौन होगा? पीएम और केंद्र सरकार को शर्म आनी चाहिए। पूरा देश मणिपुर सरकार, केंद्र सरकार और गृह मंत्री को जिम्मेदार ठहराएगा।

ओवैसी बोले- न्याय तभी होगा, जब पीएम सीबीआई जांच के आदेश देंगे

मणिपुर पर बोलते हुए एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी कहते हैं,पीएम को वीडियो पर प्रतिक्रिया देने के लिए मजबूर होना पड़ा क्योंकि यह अब वायरल हो गया है। वहां नरसंहार हो रहा है। न्याय तभी होगा जब सीएम को हटाया जाएगा और पीएम सीबीआई जांच के आदेश देंगे।

संसद का मानसून सत्र हंगामे की भेंट चढ़ा 

संसद का मानसून सत्र हंगामे की भेंट चढ़ा   

अकाशुं उपाध्याय 

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र का आगाज हो गया है। मणिपुर में जारी हिंसा के चलते मानसून सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं। हिंसा के बीच मणिपुर से विचलित करने वाला एक वीडियो सामने आया है, जिसमें दो महिलाओं को निर्वस्त्र घुमाया जा रहा है और कथित तौर पर गैंगरेप का भी आरोप है। इस वीडियो के सामने आने के बाद विपक्ष ने मणिपुर मामले पर प्रधानमंत्री की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं। लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही कल तक स्थगित कर दी गई है। मणिपुर मामले पर हंगामे के चलते संसद की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक स्थगित की गई थी लेकिन हंगामा जारी रहने पर अब कार्यवाही शुक्रवार सुबह 11 बजे तक स्थगित कर दी गई है।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने आरोप लगाया है कि विपक्षी पार्टियां मणिपुर की घटना को राजनीतिक तौर पर इस्तेमाल कर रही हैं। ठाकुर ने कहा कि हमने सदन में कहा है कि हम चर्चा के लिए तैयार हैं लेकिन विपक्ष इससे भागना चाहता है। विपक्षी राज्यों में भी ऐसी कई घटनाएं हुई हैं लेकिन विपक्ष इन घटनाओं पर मूकदर्शक बना हुआ है। मानसून सत्र के पहले दिन गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के बीच लोकसभा कक्ष में संक्षिप्त बातचीत हुई।

दिन का सत्र शुरू होने से पहले, पीएम मोदी ने कई नेताओं का अभिवादन किया और इस बातचीत के दौरान, वह विपक्षी बेंच पर सोनिया गांधी के साथ थोड़ी बातचीत करने के लिए रुके। संसद सत्र के पहले दिन नेताओं द्वारा एक-दूसरे को बधाई देने की प्रथा है।

पशु की तरह गाय के साथ अप्राकृतिक कुकर्म

पशु की तरह गाय के साथ अप्राकृतिक कुकर्म

श्रीराम मौर्य   

अल्मोड़ा। पिछले माह हल्द्वानी में हुई घटना की तरह अब अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट में गाय के साथ अप्राकृतिक कुकर्म करने की घटना सामने आई है। गाय के मालिक ने जेरुद्दीन अंसारी नाम के आरोपित को खुद पशु बनकर पशु की तरह ऐसा अमानवीय कृत्य करते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया। इसके बाद जेरुद्दीन को पुलिस के हवाले कर दिया गया। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है। इस घटना से हिंदुओं में भारी आक्रोश नजर आ रहा है। इस मामले में हिंदूवादी संगठनों ने प्रदर्शन कर दुकानें बंद करवाईं और बाजार में आक्रोश रैली निकाली।

आरोप लगाया कि बाजार की ही एक गौशाला में घुस कर एक आरोपित व्यक्ति ने गाय से अप्राकृतिक अमानवीय कृत्य किया है। इसकी शिकायत पशु स्वामी ने द्वाराहाट थाने में की है। गाय के साथ अप्राकृतिक अमानवीय कृत्य का विरोध कर आक्रोश रैली के दौरान आरोपित के धर्म के लोगों की दुकानों को बंद कराया गया। इसके बाद पुलिस ने अमानवीय कृत्य करने वाले आरोपित व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

गाय स्वामी ने पुलिस से शिकायत की है कि द्वाराहाट में उसकी गौशाला में घुस कर एक युवक ने बीती रात्रि वहां बंधी गाय के साथ कुकृत्य किया। इसकी भनक लगते ही सुबह हिंदूवादी संगठन द्वाराहाट के त्रिमूर्ति चौक पर एकत्र हुए और गौ माता के साथ हुए इस अमानवीय कृत्य के विरोध में नारेबाजी की। जिसके बाद वहां पर बड़ी संख्या में लोग जुट गए।

गाय स्वामी के अनुसार पिछले कुछ समय से गाय के साथ इस प्रकार का कृत्य किया जा रहा था। लेकिन कोई पकड़ में नहीं आ रहा था। बीती रात्रि को गाय स्वामी ने आरोपित युवक को रंगे हाथ पकड़ा और पुलिस के हवाले किया। मामले में हिंदूवादी संगठनों ने कहा कि इस कृत्य को किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

द्वाराहाट के थाना प्रभारी राजेश यादव ने बताया कि गाय स्वामी कुंदन लाल साह ने मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गाय के साथ कुकृत्य करने वाला युवक बिहार के कठवोलिया बेतिया चंपारन निवासी जेरुद्दीन अंसारी पुत्र सलीम अंसारी है। उसका मेडिकल कराया गया। जिसके बाद उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 377 एवं पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 11क के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है।

दलितों का मंदिर में प्रवेश वर्जित, चक्का जाम  

दलितों का मंदिर में प्रवेश वर्जित, चक्का जाम  

दुष्यंत टीकम

धार। एक मंदिर के सामने फ्लैक्स लगा दिया गया, जिसमें एक समाज विशेष के लिए लिखा है। मंदिर में आना सख्त मना है। विरोध में ग्रामीणों ने बुधवार रात 10 बजे चक्काजाम कर दिया। उनका कहना है, दलित समाज के लोगों को मंदिर में जाने से रोका गया है। मामला कुक्षी विकासखंड के ग्राम लोहारी का है।

चक्काजाम से मनावर-कुक्षी मार्ग पर दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गईं। कुक्षी पुलिस ने ग्रामीणों से चर्चा करने की कोशिश की, लेकिन यहां मौजूद जयस संगठन ने वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाने के लिए कहा। ग्रामीणों से बात करने के बाद प्रशासन की टीम ने फ्लैक्स को तुरंत हटवा दिया।

मनावर विधायक डॉ. हीरालाल अलावा भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को प्रशासनिक अधिकारियों से बात करने का आश्वासन दिया। करीब ढाई घंटे तक चर्चा के बाद रात करीब 12:30 बजे लोग सड़कों से हटे। एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि फ्लैक्स लगाने वाले प्रहलाद विश्वकर्मा के खिलाफ मारपीट सहित एससी-एसटी एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ फ्लैक्स

गांव में श्री नर्मदेश्वर महादेव मंदिर का निर्माण तीन माह पहले हुआ है। ग्रामीण यहां रोजाना दर्शन के लिए जाते हैं। बुधवार शाम को एक फ्लैक्स का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें लिखा था कि यह मंदिर सार्वजनिक नहीं है। यह संपदा व्यक्तिगत निजी है। ऐसे में निवेदन है कि ……..(समाज विशेष) का मंदिर में आना सख्त मना है। धन्यवाद जागिरदार।

चक्काजाम खोलने के बाद रात करीब 1 बजे गांव का रहने वाला धनराज कुछ लोगों के साथ पुलिस के पास पहुंचा। धनराज ने पुलिस को बताया कि प्रहलाद विश्वकर्मा ने मंदिर को लेकर फ्लैक्स लगाया था। हमने प्रहलाद से जाकर कहा कि फ्लैक्स लगाने से समाज की भावना आहत हुई है। इस पर प्रहलाद ने गालियां देते हुए कहा कि यह मेरा निजी मंदिर हैं। साथ ही जान से मारने की धमकी भी दी थी।

निजी मंदिर में समाज भी नहीं जाना चाहता

जय आदिवासी संगठन (जयस) कार्यकर्ता महेंद्र कन्नौज का कहना है कि किसी की निजी जमीन पर समाज भी नहीं जाना चाहता, लेकिन फ्लैक्स लगाकर समाज की भावना को आहत किया गया है। आदिवासी देश के मूल निवासी हैं, समाज के लोगों को परेशान करने, प्रताड़ित करने के लिए इस प्रकार की हरकत की गई है।

जमीन को लेकर हो जांच

फ्लैक्स में जमीन को निजी संपत्ति बताया गया है। जिसे लेकर ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रहलाद विश्वकर्मा ने शासकीय भूमि पर कब्जा कर रखा है। जिस जमीन पर मंदिर बना है उसकी भी जांच होनी चाहिए। ग्रामीणों ने अधिकारियों से जमीन का सीमांकन करवाने की मांग की है। इसे लेकर जल्द ही बलाई समाज के लोग बड़ा प्रदर्शन करेंगे।

एएसपी बोले- अज्ञानतावश ऐसा किया

एएसपी देवेंद्र पाटीदार ने कहा- प्रारंभिक पूछताछ में बोर्ड लगाने वाले ने अज्ञानतावश ऐसा करना स्वीकार किया है। पुलिस ने एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर बोर्ड लगाने वाले को हिरासत में लिया है। मंदिर सभी के लिए है।

विदेशी युवती ने फंदा लगाकर, आत्महत्या की   

विदेशी युवती ने फंदा लगाकर, आत्महत्या की   

दुष्यंत टीकम 

रायपुर। रायपुर में एक विदेशी युवती की खुदकुशी कर ली है। विदेशी युवती कीर्गिस्तान की रहने वाली थी। वो पिछले कुछ सालों से रायपुर में रहकर काम कर रही थी। रायपुर के अशोका रतन में कमरा लेकर रहती थी। जानकारी के मुताबिक विदेशी युवती का नाम नीना बेदिनिस्को है, जो रायपुर में टैटू बनाने का काम करती था।

खबर ये भी आयी है कि सुसाइड से पहले उसने अपने प्रेमी को वीडियो कॉल भी किया था। फिलहाल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। जानकारी के मुताबिक युवती ने फांसी पर लटककर अपनी जान दी है।

महिलाओं को नग्न कर परेड निकालना, वीभत्स   

महिलाओं को नग्न कर परेड निकालना, वीभत्स   

इकबाल अंसारी   

नई दिल्ली। मणिपुर में दो महिलाओं को नग्न कर उनकी परेड निकाले जाने की वीभत्स घटना ने पूरे देश को हिला दिया है। सोशल मीडिया पर लोग गुस्से में हैं तो मणिपुर में सड़कों पर आंदोलन भी हो रहे हैं। विपक्ष इस मसले पर संसद में हंगामे की तैयारी में है तो वहीं सरकार भी अब ऐक्टिव नजर आ रही है। यही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने भी घटना का स्वत: संज्ञान लिया है और राज्य एवं केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। अगली सुनवाई 28 जुलाई को होगी। वहीं मॉनसून सेशन में जाने से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस घटना से वह पीड़ा और गुस्से से भरे हुए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यह घटना भले ही मणिपुर में हुई, लेकिन इससे पूरे देश की बेइज्जती हुई है और 140 करोड़ लोग इससे शर्मसार हैं।

पीएम मोदी ने साफ कहा कि इस घटना में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। पूरी शक्ति और सख्ती के साथ इनके खिलाफ ऐक्शन होगा। उन्होंने देश के सभी मुख्यमंत्रियों से अपील की है कि वे कानून-व्यवस्था को मजबूत करें ताकि महिलाओं के साथ कोई अन्याय न हो सके। यही नहीं इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने भी घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए तीखी टिप्पणी की है। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की बेंच ने कहा कि यदि इस मामले में सरकार कार्रवाई नहीं करती है तो फिर हम ऐक्शन लेंगे। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार से जवाब मांगा है कि अब तक क्या ऐक्शन हुआ है। अब अगली सुनवाई 28 जुलाई को होगी।

मुख्य न्यायाधीश की बेंच ने कहा कि हिंसा के माहौल में महिलाओं का इस्तेमाल करना स्वीकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि यह स्वीकार्य नहीं हो सकता। यह संवैधानिक और मानवाधिकारों का उल्लंघन है। यदि सरकार चुप रहती है तो फिर हम ही ऐक्शन लेंगे। वहीं होम मिनिस्टर अमित शाह ने मुख्यमंत्री बीरेन सिंह से बात की है। उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा है कि वीडियो वाले मामले में अब तक क्या ऐक्शन लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि होम मिनिस्टर अमित शाह ने मुख्यमंत्री से इस घटना में सख्त ऐक्शन लेने और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने को कहा है।

इस घटना के मुख्य आरोपी को थाउबल से अरेस्ट किया गया है। इसके अलावा अन्य लोगों को दबोचने के लिए रेड मारी जा रही हैं। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अगले कुछ घंटों के अंदर ही अन्य आरोपियों को भी दबोच लिया जाएगा। इस मामले में पहले से ही रेप और मर्डर की धाराएं दर्ज हो चुकी हैं। गौरतलब है कि मणिपुर की हिंसा को लेकर देश भर में गुस्सा हैं। वहीं किसी भी तरह की अफवाह से बचने के लिए सरकार ने इससे जुड़े वीडियो को शेयर करने पर रोक लगा दी है।

भीषण बरसात से भयंकर हादसा, 7 शव मिलें 

भीषण बरसात से भयंकर हादसा, 7 शव मिलें   

कविता गर्ग   

मुंबई। महाराष्ट्र के कई जिलों में भीषण बारिश से हालात खराब हैं। मुंबई में भी भारी बारिश का दौर जारी है। इस बीच बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित रायगढ़ जिले में भीषण हादसा हुआ है। बुधवार की रात को जिले की खालापुर तहसील का इरशालवाड़ी गांव भूस्खलन से धंस गया। यह हादसा उस वक्त हुआ, जब लोग गहरी नींद में सो रहे थे। इसके चलते लोगों को भागने का मौका तक नहीं मिला और घर जमीन में समा गए। फिलहाल बचाव कार्य तेजी से चल रहा है और अब तक 7 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं। मरने वालों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है। रात में हादसा होने की वजह से बचाव कार्य देरी से शुरू हुआ और एनडीआरएफ टीम 2 बजे पहुंच सकी, जबकि हादसा 11 बजे के करीब हुआ था।

यह हादसा इतना भीषण था कि बचाव में जुटे एक शख्स की भी हार्टअटैक से मौत हो गई। कई लोग जख्मी भी हैं, जिन्हें अस्पताल में एडमिट कराया गया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे भी फिलहाल रायगयढ़ के दौरे पर हैं और राहत एवं बचाव कार्यों की निगरानी कर रहे हैं। इसके अलावा नए बने डिप्टी सीएम अजित पवार भी ऐक्टिव हैं और कंट्रोल रूम पहुंचे हैं। उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि अब तक 75 लोगों को बचाया जा चुका है, जो लैंडस्लाइड में दब गए थे। कहा जा रहा है कि गांव में बड़ी संख्या में कच्चे मकान थे, जिसके मलबे में दबने के बाद भी बड़ी संख्या में मौतें नहीं हुईं।

अब भी 50 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका

गांव में कुल 160 घर हैं, जिनमें से कुछ को कम नुकसान पहुंचा है। अब भी 50 से ज्यादा लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है, जिन्हें निकालने के लिए अभियान चल रहा है। रायगढ़ जिले में पहले से ही एनडीआरएफ की टीमों को तैनात कर दिया गया था। इसके अलावा लोगों को भी बचाव रखने की एडवाइजरी जारी की गई थी। अब तक जिन लोगों को बचाया गया है, उनमें तीन बच्चे भी शामिल हैं। यह गांव इरसाल किले की तलहटी पर बसा है, जो चौक से 6 किलोमीटर की दूरी पर है। ठाकुर समुदाय के लोगों की ही इस गांव में अधिक आबादी है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक गांव के 90 फीसदी घर बर्बाद हो गए हैं।

सीएम एकनाथ शिंदे मौके पर, बोले- 80 लोग निकाले गए

यह संकट इसलिए और बढ़ गया, क्योंकि सुबह एक बार फिर से भूस्खलन होने लगा। इसके चलते बचाव का काम रोक दिया गया। यही नहीं सुबह अंधेरा होने की वजह से भी बचाव कार्य में बाधा आ रही थी। यह हादसा इतना भीषण था कि डर के मामले बड़ी संख्या में लोग जंगल की ओर भाग गए। बचाव में जुटे लोगों का कहना है कि गांव से भागे लोगों के लौटने पर ही पता लगेगा कि कितने लोग दबे हैं। मौके पर पहुंचे सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा कि 18 से 20 घरों पर भूस्खलन हुआ है। उन्होंने कहा कि अब तक 80 लोगों को निकाला जा चुका है और 7 लोगों की दर्दनाक हादसे में मौत हुई है।

रेलवे: जनरल कोच में ₹20 में भरपेट खाना 

रेलवे: जनरल कोच में ₹20 में भरपेट खाना 

अकाशुं उपाध्याय   

नई दिल्ली। रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए कई अहम घोषणाएं की हैं। नए फैसले के तहत अब जनरल कोच के यात्रियों के लिए किफायती भोजन और पैकेज्ड पानी उपलब्ध कराया जाएगा। रेलवे बोर्ड द्वारा जारी एक आदेश के अनुसार, इन भोजन परोसने वाले काउंटरों को जनरल डिब्बों के अनुरूप प्लेटफार्मों पर रखा जाएगा। भोजन को दो श्रेणियों में बांटा गया है। टाइप वन में 20 रुपये की कीमत में सूखे ‘आलू’ और अचार के साथ सात ‘पूरियां’ शामिल हैं। टाइप दो भोजन की कीमत 50 रुपये होगी और यात्रियों को चावल, राजमा, छोले, खिचड़ी, कुल्चे, भटूरे, पाव-भाजी और मसाला डोसा परोसा जाएगा।

काउंटरों का स्थान रेलवे जोन तय करेंगे

रेलवे बोर्ड ने संबंधित अधिकारियों को जनरल सिटिंग कोचों के पास प्लेटफॉर्म पर रखे जाने वाले काउंटरों के माध्यम से किफायती भोजन और किफायती पैकेज्ड पेयजल का प्रावधान करने के निर्देश जारी किए हैं। आदेश में कहा गया है, ‘भोजन की आपूर्ति आईआरसीटीसी की रसोई इकाइयों से की जानी है। इन काउंटरों का स्थान रेलवे जोन द्वारा तय किया जाना है।’

नई सुविधा अब तक 51 स्टेशनों पर लागू 

प्लेटफार्मों पर इस खास काउंटर का प्रावधान छह महीने की अवधि के लिए प्रायोगिक आधार पर किया गया है। अब तक, यह प्रावधान 51 स्टेशनों पर लागू किया गया है और गुरुवार से यह 13 और स्टेशनों पर उपलब्ध होगा। अधिकारियों ने बताया कि इन काउंटरों पर 200 एमएल के पीने के पानी के गिलास उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि इसे यात्रियों की सुविधा के लिए शुरू किया गया है, खासकर इन कोचों में जहां अक्सर भीड़भाड़ रहती है।

क्या हैं जीएस कोच?

जीएस कोच सामान्य सीटिंग कोच कहलाते हैं। यह द्वितीय श्रेणी का अनारक्षित कोच है। आम तौर पर मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों सहित प्रत्येक ट्रेन में कम से कम दो जीएस कोच होते हैं, एक लोकोमोटिव के पास और एक ट्रेन के अंत में।

मनोरंजन: प्रभास के नए लुक के दीवाने हुए दर्शक   

मनोरंजन: प्रभास के नए लुक के दीवाने हुए दर्शक   

कविता गर्ग   

मुंबई। सामने आए फोटो में भारी बॉडी, जानदार लुक के साथ प्रभास ने दर्शकों दीवाना बना दिया है। इसके पहले से दीपिका पादुकोण को फर्स्ट लुक शेयर किया गया था जो बेहद प्रभावी था।

प्रोजेक्ट k के पोस्टर में प्रभास एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं। अपना फर्स्ट लुक सोशल मीडिया पर शेयर करने के साथ ही उन्होंने ट्रेलर की रिलीजिंग डेट भी बताई है। यह फिल्म इंडिया में फिल्म का ट्रेलर 21 जुलाई को जारी किया जाएगा। नाग अश्विन के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म के पोस्टर पर लोगों बेहद पसंद आया है।

पहली बार बनेगा इतिहास

साइंस-फिक्शन मूवी ‘प्रोजेक्ट के’ का ट्रेलर अमेरिका में सैन डिएगो कॉमिक कॉन में लॉन्च किया जाएगा। इस दौरान फिल्म की पूरी टीम वहां मौजूद रहेगी। ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी इंडियन मूवी का ट्रेलर लॉन्च सैन डिएगो कॉमिक कॉन में होगा।

बता दें कि प्रोजेक्ट K को तेलुगू, हिंदी, तमिल, मलयालम, कन्नड़ और इंग्लिश भाषा में रिलीज किया जाएगा। ये फिल्म 12 जनवरी 2024 को सिनेमाघरों में दस्तक देगी।

मलमास: पूजा-पाठ, जप-तप, दान का महत्व

मलमास: पूजा-पाठ, जप-तप, दान का महत्व

सरस्वती उपाध्याय

अधिकमास का हिंदू धर्म में विशेष महत्व होता है। इसे पुरुषोत्तम मास या मलमास भी कहते हैं। मान्यता है कि अधिकमास में सभी देवी-देवता देवलोक से आकर पृथ्वीलोक पर वास करते है। वहीं इस साल अधिकमास सावन महीने में लगा है, जिससे इसका महत्व और अधिक बढ़ जाता है। अधिकमास की शुरुआत मंगलवार 18 जुलाई 2023 से हो गई है और इसका समापन बुधवार 16 अगस्त 2023 को होगा। अधिकमास में भले ही शुभ-मांगलिक कार्यों को वर्जित माना गया है। लेकिन इस दौरान पूजा-पाठ, जप-तप और दान का खास महत्व होता है।

ज्योतिष के अनुसार, अधिकमास में अगर आप अपनी राशि के अनुसार दान करेंगे तो इससे ग्रह-दोषों से भी मुक्ति मिलेगी। जानते हैं राशि के अनुसार, अधिकमास में किन चीजों का करें दान।

मेष राशि : मालपुआ, घी, चांदी, लाल वस्त्र, केला, अनार, तांबा, मूंगा और गेंहू का दान मेष राशि वाले कर सकते हैं।

वृषभ राशि : आप अधिकमास पर सफेद वस्त्र, चांदी, सोना, मालपुआ, मावा, शकर, चावल, केला, मोती आदि दान करें।

मिथुन राशि : मिथुन राशि वालों को पन्ना, मूंग दाल, तेल, कांसा, केला, सिंदूर और साड़ी का दान करना शुभ रहेगा।

कर्क राशि : अधिकमास पर कर्क राशि वाले लोग मोती, चांदी, मटका, तेल, सफेद वस्त्र, गाय, मालपुआ, मावा, दूध, चावल आदि दान में कर सकते हैं।

सिंह राशि : सिंह राशि के स्वामी सूर्य देव हैं। अधिकमास पर लाल वस्त्र, तांबा, पीतल, सोना, चांदी, गेंहू, मसूर दाल, माणिक्य रत्न, धार्मिक पुस्तकें और अनार का दान देना बहुत शुभ रहेगा।

कन्या राशि : अधिकमास में भगवान की कृपा प्राप्त करने के लिए हरी मूंग दाल, सोना, केले का दान करें। इसके साथ ही आप गौशाला में घास का दान करें या गाय को हरी घास खिलाएं।

तुला राशि : तुला राशि वाले लोग सफेद वस्त्र, मालपुआ, मावा, चीनी या मिश्री, चावल और केले का दान कर सकते हैं।

वृश्चिक राशि : वृश्चिक राशि वाले लोगों को लाल वस्त्र, मौसमी फल, अनार, तांबा, मूंगा और गेंहू का दान करना उत्तम रहेगा।

धनु राशि : धनु राशि वाले लोगों को अधिकमास में पीले कपड़े, चने की दाल, लकड़ी का सामान, घी, तिल, अनाज और दूध आदि का दान करना चाहिए।

मकर राशि : मकर राशि वाले तेल, दवाइयां, नीले कपड़े, औजार, लोहा, मौसमी फल का आदि का दान कर सकते हैं।

कुंभ राशि : कुंभ राशि के स्वामी शनि देव हैं। ऐसे में आप तेल, दवाइयां, नीले कपड़े, औजार, लोहा, मौसमी फल का आदि का दान कर सकते हैं।

मीन राशि : मीन राशि वाले लोग पीले वस्त्र, चने की दाल, घी, दूध और दूध से बनी मिठाईयां दान कर सकते हैं।

रफ्तार का कहर, 9 की मौत, 13 घायल हुए 

रफ्तार का कहर, 9 की मौत, 13 घायल हुए   

इकबाल अंसारी 

अहमदाबाद। अहमदाबाद में एक फ्लाईओवर पर तेज रफ्तार से आ रही कार एक दुर्घटनास्थल पर खड़ी भीड़ में घुस गई, जिससे नौ लोगों की मौत हो गई और 13 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सरखेज-गांधीनगर राजमार्ग के इस्कॉन पुल पर दो वाहनों के बीच टक्कर के बाद लोगों की भीड़ एकत्र थी, तभी तेज गति से आ रही एक लग्जरी कार भीड़ में घुस गई जिससे नौ लोगों की मौत हो गई और 13 अन्य लोग घायल हो गए। घटना की सूचना पर मौके पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया है। मृतकों की पहचान की जा रही है।

सीएम संगमा ने बयान जारी किया: मेघालय 

सीएम संगमा ने बयान जारी किया: मेघालय 

सुनील श्रीवास्तव

शिलांग। मणिपुर में दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर उनकी परेड कराने का वीडियो सामने आने के एक दिन बाद मेघालय के मुख्यमंत्री सी. संगमा ने बृहस्पतिवार को इस घटना को ‘अपमानजनक’ बताया। 

उन्होंने दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की। संगमा ने ट्वीट किया, ‘‘मणिपुर में हाल की घटना से बहुत व्यथित हूं। किसी भी व्यक्ति की गरिमा भंग करना सबसे अपमानजनक तथा अमानवीय कृत्य है। मैं ऐसे कृत्यों की कड़ी निंदा करता हूं। दोषी को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए।’’ 

चार मई का यह वीडियो बुधवार को सामने आने के बाद से मणिपुर के पहाड़ी क्षेत्र में तनाव व्याप्त हो गया है। इस वीडियो में दिख रहा है कि विरोधी पक्ष के कुछ व्यक्ति एक समुदाय की दो महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमा रहे हैं।

विपक्ष ने धोखा देने का आरोप लगाया

विपक्ष ने धोखा देने का आरोप लगाया

विकास कुमार 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बृहस्पतिवार को विधानसभा में राज्य सरकार पर संविदा कर्मचारियों की सेवाओं को नियमित करने के अपने चुनावी वादे को पूरा नहीं कर उन्हें धोखा देने का आरोप लगाया। इस मुद्दे पर हुए हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित की गई। 

प्रश्नकाल के बाद इस मुद्दे को उठाते हुए विपक्ष के नेता नारायण चंदेल तथा विधायक धरमलाल कौशिक, बृजमोहन अग्रवाल और अजय चंद्राकर ने कहा कि पिछले 15 दिनों से सरकारी विभागों के 145 संगठनों के चार लाख से अधिक संविदा और दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस द्वारा किये गये वादे के अनुसार अपनी सेवा को नियमित करने की मांग को लेकर राज्य भर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये कर्मचारी नया रायपुर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और हड़ताल के कारण शासकीय कामकाज ठप हो गया है, लेकिन सरकार उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। 

विधायकों ने कहा कि सरकार ने उन्हें नियमित करने के बजाय सिर्फ वेतन बढ़ाकर उन्हें 'झुनझुना' थमा दिया है। भाजपा सदस्यों ने इस विषय पर काम रोककर चर्चा कराए जाने की मांग की और कहा कि संविदा कर्मचारी और उनके परिवार खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। विपक्ष की मांग को पीठासीन अधिकारी ने यह कहते हुए खारिज कर दिया कि विपक्षी सदस्यों को भाजपा द्वारा पेश किए जाने वाले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान पर्याप्त समय मिलेगा। इसके बाद भाजपा विधायकों ने इस मुद्दे पर तत्काल चर्चा की मांग।

गुजरात फिल्म फेयर अवार्ड की मेजबानी करेगा 

गुजरात फिल्म फेयर अवार्ड की मेजबानी करेगा 

अखिलेश पांडेय  

अहमदाबाद। गुजरात सरकार 2024 में फिल्मफेयर अवॉर्ड्स के 69वें संस्करण की मेजबानी करेगी और उसके पर्यटन निगम ने राज्य में फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देने तथा इस पुरस्कार समारोह की मेजबानी करने के लिए ‘वर्ल्डवाइड मीडिया’ के साथ एक समझौते ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि गांधीनगर में बुधवार को राज्य के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और ‘टाइम्स ग्रुप’ के प्रबंध निदेशक विनीत जैन की मौजूदगी में ‘टूरिज्म कॉरपोरेशन ऑफ गुजरात लिमिटेड’ (टीसीजीएल) और मनोरंजन तथा लाइफ स्टाइल क्षेत्र की कंपनी डब्ल्यूडब्ल्यूएम के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

राज्य सरकार द्वारा बुधवार को जारी एक आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, गुजरात भारत के हिंदी भाषी फिल्म उद्योग की प्रतिभाओं को सम्मानित करने के लिए पहली बार इस वार्षिक पुरस्कार समारोह की मेजबानी करेगा और इसके जरिए फिल्मों की शूटिंग के लिए राज्य का प्रचार किया जाएगा। समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर के लिए आयोजित कार्यक्रम में बॉलीवुड अभिनेता टाइगर श्रॉफ भी मौजूद रहे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री पटेल ने कहा कि अपने आप को फिल्मों की शूटिंग के लिए सबसे उपयुक्त राज्य के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहे गुजरात के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड्स, 2024 की मेजबानी एक और उपलब्धि होगी। जैन ने कहा कि गुजरात में फिल्मफेयर अवॉर्ड्स का आयोजन करने का उद्देश्य न केवल गुजरात पर्यटन को बढ़ावा देना बल्कि राज्य की फिल्म पारिस्थितिकी को मजबूत करना भी है।

पत्नी सहित दो बेटियों की निर्मम हत्या की

पत्नी सहित दो बेटियों की निर्मम हत्या की

संदीप मिश्र  

महोबा। 17 जुलाई की रात लगभग 9 बजे आरोपी देवेंद्र विश्वकर्मा द्वारा अपनी दो बेटियों सहित पत्नी की सिलबट्टे से कूटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। ऐसा बताया जा रहा है कि आरोपी नशे का आदि था। मिली जानकारी के अनुसार, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है व उस आधार पर कार्यवाई की जाएगी। यह मामला महोबा जिले के तहसील व कोतवाली महोबा मोहल्ला समद नगर का है।

मायके वालों का आरोप है कि जब से दूसरी बेटी हुई तब से आए दिन लड़का ना होने का ताना देता था और झगड़ा भी करता था। मृतक के भाई और भाभी ने आरोप लगाया है कि लगभग 15 साल हो गए शादी के कुछ ही दिन तक अच्छे से सब चला उसके बाद बहनोई देवेंद्र ने झगड़ा काना शुरू कर दिया। हम लोग आते थे समझा-बुझाकर चले जाते थे कि इनका घर ना बर्बाद हो। हमें यह नहीं पता था कि इतनी बड़ी घटना हो जाएगी।

हमारी बहन को अच्छे से नहीं रखने की बात पर कई बारी हमने पुलिस कम्प्लेन भी किया। पुलिस भी समझा-बुझाकर साथ में रहने की बात कहती थी। हम चाहते हैं कि कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

एस.पी अपर्णा गुप्ता ने बताया कि शाम में सूचना आई थी जिसमें मौके पर पुलिस को भेजा गया और टीमें भी लगा दी गई थी। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों मां-बेटी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण


1. अंक-278, (वर्ष-06) पंजीकरण:- UPHIN/2010/57254

2. शुक्रवार, जुलाई 21, 2023

3. शक-1944, श्रावण, शुक्ल-पक्ष, तिथि-चतुर्थी, विक्रमी सवंत-2079‌‌।

4. सूर्योदय प्रातः 05:16, सूर्यास्त: 07:11। 

5. न्‍यूनतम तापमान- 22 डी.सै., अधिकतम- 35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।

6. समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है। 

7.स्वामी, मुद्रक, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम व शिवांशु  (विशेष संपादक) श्रीराम व सरस्वती (सहायक संपादक) संरक्षण-अखिलेश पांडेय, ओमवीर सिंह, वीरसैन पंवार, योगेश चौधरी आदि के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।

8. संपर्क व व्यवसायिक कार्यालय- चैंबर नं. 27, प्रथम तल, रामेश्वर पार्क, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102। 

9. पंजीकृत कार्यालयः 263, सरस्वती विहार लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102

http://www.universalexpress.page/ www.universalexpress.in 

email:universalexpress.editor@gmail.com 

संपर्क सूत्र :- +919350302745--केवल व्हाट्सएप पर संपर्क करें, 9718339011 फोन करें।

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए

गर्मी में 'गुलकंद' खाने के अनेक फायदे, जानिए  सरस्वती उपाध्याय  बेहद सुंदर और सुगंधित फूल 'गुलाब' गुणों की खान है और इसकी पं...