मंगलवार, 11 मई 2021

संपूर्ण लॉकडाउन व संक्रमण 'संपादकीय'

संपूर्ण लॉकडाउन व संक्रमण     'संपादकीय'   
देश में शराब खुलेआम बिक रही है। देश में संपूर्ण लॉकडाउन क्यों नहीं लगाया जा रहा हैं ? क्या खुलेआम शराब सरकार बिकवा रहीं है ?
देश में कोरोना के हालातों को देखकर संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का समय है। अस्पतालों के सामने सड़कों पर कोरोना संक्रमितों के शव पड़े हैं। श्मशान घाट में शवों को जलाने के लिए लंबी लाइन लगी हुई हैं। ऐसी स्थिति में जिंदगी चुनें या मौत ? 
पीएम मोदी ने मौत को चुना। जो भी लोग मरेंगे, तो मर जाने दो।  वैक्सीन बनने के बाद भी कोरोना क्यों बढ़़ रहा है ? क्या नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बनकर जीवन से तंग आ गए हैं ? क्या देश के पीएम कोरोना से लोगों को मरवा रहे हैं ? एक राजा का कर्तव्य यें होता है, कि वह अपनी प्रजा को सुखी रख सकें। बल्कि यह नहीं, कि अपनी प्रजा की जान से खिलवाड़ करें, राजनीति, राजनीति और बस राजनीति। अगर राजा का मकसद यह है, कि भ्रष्टाचार और अत्याचार करें, तो उस राजा को अपना पद नैतिकता के आधार पर छोड़ देना चाहिए। यह भारतीय लोकतंत्र की व्यवस्था के अनुसार संविधानिक अधिनियम है। 
'फेसबुक' एकमात्र दुनिया की सबसे बड़ी चोर संस्था हैं। जिससे भारत का व्यापार अंबानी ग्रुप से जुड़ा हैं। साथ में गूगल भी एक ऐसा यंत्र है, जो सरकार के निर्देशानुसार काम करता है। अगर किसी आदमी को राजा ही बनना है, तो उसे सन्यासी बनने की इच्छा को त्याग देना चाहिए। दाढ़ी बढ़ाने से कोई तपस्वी नहीं बनता। तपस्वी बनने के लिए भक्ति-भावना और प्रेम चाहिए।

शराब बेकता हूं खुलेआम, क्योंकि नहीं कोई दीवार, 
एक बात बोलूंगा, तो नखरें हो जाएगें तार-तार, 
कोविड़-19 तो बुखार हैं, पर बोलूंगा बार-बार।

चंद्रमौलेश्वर शिवांशु 'निर्भयपुत्र'

24 घंटे में 999 ने कोविड़-19 संक्रमण को मात दी

अश्वनी उपाध्याय            
गाजियाबाद। राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटों की अवधि में गाज़ियाबाद में 999 संक्रमितों ने कोरोना को मात दी। इस अवधि में जिले में 7 संक्रमितों की मौत दर्ज की गई। इस अवधि में 817 ये संक्रमित भी मिले हैं। पिछले 2 दिनों से गाज़ियाबाद में नए संक्रमितों की संख्या 600 से नीचे ही रही थी। संख्या बढ़ने का कारण टेस्ट की संख्या बढ़ना भी हो सकता है। दरअसल राज्य के अन्य जिलों की भांति गाज़ियाबाद स्वास्थ्य विभाग यह जानकारी नहीं देता है कि 24 घंटों में कुल कितने टेस्ट किए गए। वर्तमान में सक्रिय सक्रिय कोरोना संक्रमितों की संख्या 5275 हो गई है।

ट्रेक्टर व मशीन ने समस्त गाँव को सेनिटाइज किया

अतुल त्यागी                
हापुड़। जिस तरह समस्त देश और अपना गाँव एक अदृश्य संक्रमण से जूझ रहा हैं। जो कई परिवारों की खुशियां छिन चुका है। उस को हम सभी की सतर्कता और सुरक्षा से हराया जा सकता है। जो वादा आप सभी से था, हर घर सैनिटाइजर, हर घर सुरक्षित का। आज दूसरे सप्ताह भी समस्त गाँव को सेनिटाइज किया गया। जिसमें गाँव के नवनिर्वाचित प्रधान कुलदीप त्यागी खुद निकले। ट्रैक्टर और मशीन लेकर, और घर-घर गली-गली को सेनिटाइज किया।

यूपी: 24 घंटे में 306 कोरोना संक्रमितों की मौंत हुईं

हरिओम उपाध्याय            

खनऊ। उत्तर प्रदेश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 20,463 नये मामले आये और 306 मरीजों की मौत हो गई। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 20,463 नये मरीज आने के बाद कुल मामले 15,45,212 पहुंच गए हैं। जबकि राज्य में 306 और मौतें होने से कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 16,043 हो गई है। अपर मुख्‍य सचिव (स्‍वास्‍थ्‍य) अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि राज्य में पिछले दस दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में 94 हजार से अधिक की कमी आई है। यहां जारी स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे में लखनऊ में अधिकतम 23 मौतें हुई हैं। जिसके बाद कानपुर में 16, मेरठ में 15, झांसी और गौतमबुद्ध नगर में 12- 12, आगरा और आजमगढ़ में 11-11, बस्ती में 10 तथा वाराणसी में आठ मुत्यु हुई हैं।

दिल्ली में कोरोना मृतकों की संख्या-20,010 हुईं

अकांशु उपाध्याय                     
नई दिल्ली। दिल्ली में एक दिन में कोविड-19 के 12,481 नए मामले सामने आने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 13,48,699 हो गई। वहीं, 347 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 20,010 हो गई।
दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण की दर अब 17.76 प्रतिशत है। बुलेटिन के अनुसार, पिछले 24 घंटे में 70,000 से अधिक नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई। इस दौरान 1.40 लाख से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीका भी लगाया गया। वहीं, अस्पतालों में 22,953 बेड (बिस्तर) में से 3,890 बेड खाली हैं।

कोरोना संक्रमितों में ब्लैक फंगस का खतरा बडा

अकांशु उपाध्याय         

नई दिल्ली। कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच कई लोग म्यूकोरमाइकोसिस नाम के फंगल इन्फेक्शन की चपेट में आ रहे हैं। यह दुर्लभ फंगल इन्फेक्शन है। जो किसी व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर होती है। कोविड-19 और डायबिटीज के मरीजों के लिए यह इन्फेक्शन और ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। इस संक्रमण को क्वब्लैक फंगस के नाम से भी जाना जाता है। म्यूकोरमाइकोसिस आम तौर पर उन लोगों को तेजी से अपना शिकार बनाती है। जिन लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम होती है। कोरोना के दौरान या फिर ठीक हो चुके मरीजों का इम्यून सिस्टम बहुत कमजोर होता है इसलिए वो आसानी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। खासतौर से कोरोना के जिन मरीजों को डायबिटीज है। शुगर लेवल बढ़ जाने पर उनमें म्यूकोरमाइकोसिस खतरनाक रूप ले सकता है। यह संक्रमण सांस द्वारा नायक से व्यक्ति के अंदर चला जाता है। जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता काम होती है।उनको यह जकड़ लेता है।

1 रुपए की कीमत पर ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर उपलब्ध

विजय भाटी                
गौतमबुद्ध नगर। चैलेंजर्स ग्रुप एवं वॉइस ऑफ स्लम द्वारा कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए एक बेहतर पहल की शुरुआत की गई है। दोनों संस्थाओं द्वारा संयुक्त रुप से कोरोना संक्रमित व आर्थिक रूप से कमजोर एवं असहाय लोगों को मात्र एक रुपए की कीमत पर ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर उपलब्ध कराया जाएगा। मरीज के सही होने पर उन्हें ऑक्सीजन कंसंट्रेटर संस्था को वापस लौटाना होगा। वॉइस ऑफ स्लम के संस्थापक देव प्रताप के मुताबिक अभी 50 कंसन्ट्रेटर मंगाए गए हैं। इसके अलावा और कंसन्ट्रेटर के ऑर्डर किये जा चुके हैं। चैलेंजर्स ग्रुप के अध्यक्ष प्रिंस शर्मा ने बताया कि कंसन्ट्रेटर के लिए जरूरतमंद लोग संस्था की ईमेल आईडी के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्राप्त करने के लिए दस्तावेजों के तौर पर मरीज का आधारकार्ड, ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल रिपोर्ट, कोरोना रिपोर्ट, चिकित्सक का पर्चा और परिवार के किसी सदस्य का पहचान पत्र व मोबाइल नंबर देना होगा। दस्तावेजों की जांच के बाद उपकरण को मात्र एक रुपए में 10 से 15 दिनों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। संस्था का उद्देश्य इस दर्दनाक महामारी में प्रत्येक जरूरमंद तक हर संभव सहायता पहुंचाना है। इस मौके पर मौजूद चांदनी ने कहा कि ऐसे समय में हम सबको आगे आकर एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। इस मौके पर रोशनी कुमारी, हृदेश सिंह, गीतिका आर्या, शैलेंद्र चौहान, शुभम गुप्ता, सूरज झा आदि मौजूद रहे।

कोरोना के साये में तृतीया का त्योहार मनाया जाएंगा

उज्जैन। एक बार फिर इस वर्ष कोरोना के साये में अक्षय तृतीया का त्योहार मनाया जाएगा। 14 मई को अक्षय
तृतीया है लेकिन न बैंड की आवाज आएगी और न ही ढोल की गूंज सुनाई देगी क्योंकि मांगलिक कार्यो
पर प्रतिबंध लगा हुआ है। गौरतलब है कि आखातीज को अबूझ मुर्हूत माना जाता है तथा इस अवसर पर
बड़ी संख्या में वैवाहिक आयोजन होते है वहीं सामाजिक स्तर पर भी सामूहिक रूप से वैवाहिक कार्यक्रम
संपन्न किए जाते है लेकिन इस वर्ष ऐसा कुछ नहीं हो सकेगा। अक्षय तृतीया के दिन यहां के बाजारों में करोड़ों का कारोबार होता है। इसमें शादी विवाह के साथ सोना चांदी कारोबार, वाहन समेत अन्य कारोबार से भी जुड़ा हुआ है। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव का ही असर है इस वर्ष भी पिछले वर्ष की भांति इसको लेकर कारोबार नहीं हो पाएगा। कहते है कि अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त रहता है। इस दिन कोई भी शुभ कार्य बिना मुहूर्त देखे किया जा सकता है। इस दिन दान पुण्य करने से अक्षय फल (कभी न समाप्त होने वाला) की प्राप्ति होती है। इस दिन लोग सोने चादी से बनी चीजों की विशेषतौर पर खरीददारी करते हैं मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई चीज में हमेशा बढ़ोत्तरी होती है और सोना खरीदने से सुख-समृद्धि आती है।
इस पावन तिथि पर भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से घर में धन-धान्य आता है। इसको लेकर भले भी इसके आयोजकों में भले ही उत्साह हो परंतु कारोबारियों को निराशा हाथ लग रही है। कई फूल कारोबारियों ने कहा कि इस दिन कई मंडल सजाने के लिए फूलों का पहले से आर्डर देकर मंगाता था। इस वर्ष तो पहले के आर्डर भी रद्द करना पड़ा है। महिलाएं अपने परिवार की समृद्धि के लिए व्रत करती हैं।इस दिन ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नान करना चाहिए। यदि नदी पर नहीं जा सकते तो घर पर ही स्नान करें। इसके बाद मा लक्ष्मी और नारायण की प्रतिमा पर अक्षत अíपत करेंभगवान के सामने धूप दीप प्रज्वलित करें। चंदन, श्वेत कमल के पुष्प या श्वेत गुलाब आदि से पूजन करें। इसके बाद अपने घर में सुख-समृद्धि की प्रार्थना करें। यदि अक्षय तृतीया पर पर बैंक में नया खाता खोला जाए या पुराने खाते में धन जमा कराया जाए तो धन में निरंतर वृद्धि होती है।इस बार अक्षय तृतीया पर ग्रहों का ऐसा संयोग बना है जो इस दिन को और शुभ और प्रभावशाली बना रहा है। सूर्य इस दिन मेष राशि से वृष राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य के राशि परिवर्तन से इस दिन वृष राशि में सूर्य बुध के संयोग से बुधादित्य योग बनेगा। इस दिन शुक्र स्वराशि वृष में रहेंगे। इस पर शुभ संयोग यह भी बना है इस दिन चंद्रमा उच्च राशि होंगे। अक्षय तृतीया पर चंद्रमा का शुक्र के साथ शुक्रवार को वृष राशि में गोचर करना, धन, समृद्धि और निवेश के लिए बहुत ही शुभ फलदायी है। अक्षय तृतीया पर चंद्रमा संध्या काल में मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे।

दिव्यांगों को डोर-टु-डोर कोरोना वैक्सीन देने की मांग

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर देश भर के सभी नागरिकों खासकर बुजुर्गों, दिव्यांगों और वंचितों को डोर-टु-डोर कोरोना वैक्सीन देने की मांग की गई है। यूथ बार एसोसिएशन की याचिका पर वकील मंजू जेटली ने कहा है कि अभी समय की मांग है कि घर-घर जाकर वैक्सीन दी जाए। याचिका में कहा गया है कि वैक्सीन से ही लोगों का कोरोना से बचाव हो सकता है। वैक्सिनेशन सेंटर पर जाने से लोगों को कोरोना के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 

याचिका में कहा गया है कि भारत एक लोक कल्याणकारी राज्य है। देश के सभी नागरिकों के हितों का ख्याल रखना सरकार की जिम्मेदारी है। कोरोना वैक्सीन मुफ्त देना सरकार की जिम्मेदारी बनती है। याचिका में समाज के वंचित तबकों, दिव्यांगों और बुजुर्गों को वैक्सीन देने के लिए वैक्सीन बूथ, मोबाइल वैन और वाहनों की व्यवस्था की मांग की गई है।  


राजस्थान और गुजरात की सीमा 24 तक सील की

अहमदाबाद। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए अधिकांश राज्य सरकारें लॉकडाउन की ओर बढ़ रही हैं। राजस्थान सरकार में 14 दिन की तालाबंदी को देखते हुए राजस्थान और गुजरात की सीमा को 10 मई से 24 मई तक पूरी तरह से सील कर दिया गया है।
राजस्थान जाने वाले लोगों को आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट नकारात्मक होने पर ही प्रवेश दिया जा रहा है।
दरअसल, राजस्थान की गहलोत सरकार ने राज्य में 14 दिन के लिए तालाबंदी कर दी है। बनासकांठा के तीर्थ स्थल अंबाजी के पास केवल छह किमी दूरी पर राजस्थान की सीमा है। राजस्थान सीमा चेक पोस्ट पर आज से सीमा सील कर दी गई है। सभी वाहनों को अंबाजी के पास छपरी चेकपोस्ट पर रोक दिया गया था। गुजरात एसटी कॉर्पोरेशन की बसों को भी राजस्थान में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। हालांकि, आवश्यक माल वाहनों और निजी वाहनों के यात्रियों को राजस्थान में प्रवेश करने से पहले अपने कोरोना आरटी-पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य कर दिया गया है। ऐसा न करने पर उन्हें 15 दिन के लिए राजस्थान में एकांतवास में रहना होगा।

लखनऊ के अस्पताल का निरीक्षण करेंगे राजनाथ

हरिओम उपाध्याय              
लखनऊ। देश के रक्षा मंत्री व लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह एक दिवसीय दौरे पर मंगलवार 11 मई को लखनऊ आएंगे। लखनऊ में बने दो कोविड अस्पतालों का रक्षामंत्री निरीक्षण करेंगे।
भाजपा महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा के अनुसार रक्षामंत्री राजनाथ सिंह 11 मई को प्रातः 11:30 बजे लखनऊ अमौसी एयरपोर्ट पहुंचेंगे। उसके बाद वहां से 11:45 बजे हज हाउस सरोजनी नगर में तैयार एचएएल कोविड हॉस्पिटल के लिए प्रस्थान करेंगे। वहां पहुंचकर एचएएल व राज्य सरकार के सहयोग से हाल ही में तैयार 255 बेड के कोविड-19 अस्पताल का निरीक्षण करेंगे। 
उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्री 12:35 बजे अवध शिल्पग्राम पहुंच कर वहां शुरू हो चुके अटल बिहारी वाजपेई कोविड अस्पताल का भी निरीक्षण करेंगे। अपराह्न 01:05 अवध शिल्पग्राम से चलकर राजनाथ सिंह सीधे एयरपोर्ट पहुंचेंगे और 01:30 बजे दिल्ली एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे।

तेलांगना में 12 मई से लॉकडाउन लगाने का फैसला

हैदराबाद। तेलांगना सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मंगलवार को राज्य में 12 मई से लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार राज्य मंत्रिमंडल ने 12 मई (बुधवार) सुबह 10 बजे से अगले 10 दिनों के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। विज्ञप्ति के अनुसार, ”हालांकि सुबह छह बजे से सुबह 10 बजे तक सभी दैनिक गतिविधियों में छूट रहेगी।” सोमवार को तेलंगाना में कोविड-19 से संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर करीब 50 हजार हो गया और 4,826 नए मामले आये। जबकि संक्रमण से 35 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 2,771 हो गयी। विज्ञप्ति में कहा गया है कि मंत्रिमंडल ने कोविड-19 रोधी टीका खरीदने के लिए वैश्विक कंपनियों को भी आमंत्रित करने का फैसला किया है।

उपकरणों को कानूनी दायरे लाने की मांग, नोटिस

अकांशु उपाध्याय            
नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने कोरोना की दवाइयां और मेडिकल उपकरणों को आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3 के तहत लाने की मांग करनेवाली याचिका पर दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है। जस्टिस विपिन सांघी की अध्यक्षता वाली बेंच ने नोटिस जारी किया।  
याचिका मनीषा चौहान ने दायर की है। याचिकाकर्ता की ओर से वकील संजीव सागर और नाजिया परवीन ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कोरोना दवाइयां, ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसेंट्रेटर समेत दूसरे उपकरणों की जमाखोरी और कालाबाजारी हो रही है। इनकी कालाबाजारी होने से जरूरतमंद लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस कालाबाजारी को रोकने के लिए इन दवाइयों और उपकरणों को आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3 के तहत लाने का दिशानिर्देश जारी किया जाए। 

यूपी: कोरोना के रिकवरी रेट में सुधार दर्ज किया

हरिओम उपाध्याय               
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना के रिकवरी रेट में उत्तरोत्तर सुधार दर्ज किया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में राज्य में कोरोना के 21,331 नये मामले सामने आये हैं जबकि 29,709 मरीज स्वस्थ भी हुये हैं। इस अवधि में 278 मरीजों ने अपनी जान गंवायी है।
स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार मेरठ में कोरोना के नये मामलों में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में 2269 नये मामले सामने आये जो राज्य के किसी भी जिले की अपेक्षा सबसे अधिक है। इस अवधि में 959 मरीज स्वस्थ हुये जबकि नौ की मृत्यु हो गयी। मेरठ के अलावा लखनऊ में 1269 नये मामले आये हालांकि यहां स्वस्थ होने वालों की तादाद 2915 थी। नोएडा में 1026,गोरखपुर में 1031,सहारनपुर में 961,बरेली में 856, वाराणसी में 864,मुरादाबाद में 663,गाजियाबाद में 532,बलिया और कुशीनगर में 491-491,झांसी में 460,प्रतापगढ़ में 459, कानपुर में 430 और मथुरा में 337 नये संक्रमितों की पहचान की गयी।
इस अवधि में सबसे अधिक 30 मौतें कानपुर में हुयी जबकि लखनऊ में 26,झांसी में 16,आजमगढ में 15, हरदोई और गाेंडा में 12-12 और नोएडा में 10 मरीजों ने दम तोड़ दिया।
राजधानी लखनऊ में अभी भी कोरोना के सबसे अधिक 21,941 मरीज उपचाराधीन है जबकि मेरठ में यह संख्स 14,007 है। इसके अलावा वाराणसी में 9101,नोएडा में 8240,कानपुर में 8119,गोरखपुर में 8019 और प्रयागराज में 5511 मरीज कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं।
पिछले 24 घंटे में के दौरान दो लाख 14 हजार 977 कोरोना टेस्टिंग की गयी है जिसे मिलाकर अब तक राज्य में चार करोड़ 31 लाख् से अधिक कोरोना टेस्ट किये जा चुके हैं।

हवाई हमले में केवल 1 इमारत को निशाना बनाया

गाजा सिटी। इजराइल ने मंगलवार सुबह गाजा की ओर हवाई हमले किए और एक इमारत को निशाना बनाया।जिसमें हमास के चरमपंथी रहते थे। इन हमलों में सीमा पर स्थित दो सुरंगों को भी निशाना बनाया गया, जिन्हें चरमपंथियों ने खोदा था। वहीं हमास तथा अन्य हथियारबंद समूहों ने भी इजराइल की ओर अनेक रॉकेट दागे। गाजा के स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि सोमवार शाम सीमापार लड़ाई शुरू हो गई थी जिसमें नौ बच्चों समेत 24 फलस्तीनी मारे गए।
ज्यादातर की मौत हवाई हमलों के कारण हुई। इजराइल की सेना ने कहा कि मृतकों में से 15 चरमपंथी थे। गाजा के चरमपंथियों ने 200 से अधिक रॉकेट इजराइल की ओर दागे, जिनके कारण इजराइल के छह आम नागरिक घायल हो गए। इससे पहले सोमवार को फलस्तीनी लोगों और इजराइल के सुरक्षा बलों के बीच कई घंटों तक संघर्ष हुए थे। बीते 24 घंटों में यरूशलम और वेस्ट बैंक क्षेत्र में इजराइल के सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में 700 से अधिक फलस्तीनी घायल हो गए।

पीएम को अपने उस गुलाबी चश्मे को उतारना चाहिए

अकांशु उपाध्याय             

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना महामारी की गंभीर स्थिति को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि उनको अपने उस गुलाबी चश्मे को उतारना चाहिए।जिससे ‘सेंट्रल विस्टा’ परियोजना के अलावा कुछ और नहीं दिखाई देता। उन्होंने ट्वीट किया, ”नदियों में बहते शव, अस्पतालों में लंबी लाइनें, जीवन सुरक्षा का छीना हुआ हक़। प्रधानमंत्री, वो गुलाबी चश्मा उतारिए जिससे सेंट्रल विस्टा के सिवा कुछ दिखता ही नहीं।” राहुल गांधी ने लोगों का आह्वान किया कि वे कोरोना महामारी के इस मुश्किल समय में एक दूसरे की मदद करें। उन्होंने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के मकसद से चलाए गए सोशल मीडिया अभियान ‘स्पीकअप टू सेव लाइव्स’ के तहत लोगों से इस वक्त एकजुट होने की अपील की।


विश्व: कोरोना संक्रमितों की संख्या-15.89 करोड़ हुईं

वाशिंगटन डीसी। विश्वभर में कोरोना के लगातार बढ़ते प्रकोप के बीच इसके संक्रमितों की संख्या 15.89 करोड़ से अधिक हो गई और करीब 33.4 लाख लोगों की मौत हुई है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15 करोड़ 89 लाख 57 हजार 220 हो गयी है। जबकि 33 लाख 03 हजार 877 लोगों की मौत हो चुकी है। वैश्विक महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस की रफ्तरा थोड़ी धीमी पड़ी है तथा यहां संक्रमितों की संख्या तीन करोड़ 27 लाख 44 हजार 100 हो गयी है। जबकि 5.82 लाख से ज्यादा मरीजों की इस महामारी से मौत हो चुकी है।

हम गर्व के साथ 1998 के परीक्षण को याद करते हैं

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस’ पर पोखरण परमाणु परीक्षण की असाधारण उपलब्धि के लिए देश के वैज्ञानिकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि हम गर्व के साथ 1998 के पोखरण परीक्षण को याद करते हैं।
मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर ट्वीट कर कहा, “राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर, हम अपने वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत और दृढ़ता को सलाम करते हैं। हम गर्व के साथ 1998 के पोखरण परीक्षण को याद करते हैं, जिसने भारत के वैज्ञानिक और तकनीकी कौशल का प्रदर्शन किया।” उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस-2021 की थीम "सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी" है।
मोदी ने कोविड-19 के बीच भारतीय वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत की भी सराहना की। उन्होंने कहा, ''किसी भी चुनौतीपूर्ण स्थिति में, हमारे वैज्ञानिक और नवप्रवर्तनकर्ता (इनोवैटर) हमेशा इस अवसर पर पहुंचे और चुनौती को कम करने के लिए काम किया। पिछले वर्ष के दौरान, उन्होंने कोविड-19 से लड़ने के लिए औद्योगिक रूप से काम किया है। मैं उनकी भावना और उल्लेखनीय उत्साह की सराहना करता हूं।
उल्लेखनीय है कि 1998 में आज ही के दिन तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में भारत ने सफल परमाणु परीक्षण किया था। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस उसी परमाणु परीक्षण की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है।

समाजवादी पार्टी के पूर्व राज्य मंत्री का निधन हुआ

आदर्श श्रीवास्तव               
लखीमपुर खीरी। धौरहरा से समाजवादी पार्टी के पूर्व राज्य मंत्री रहे कद्दावर नेता यशपाल चौधरी की सोमवार की रात हार्ट अटैक से लखनऊ के एक अस्पताल में मौत हो गई। वह कोरोना से संक्रमित भी हुए थे। हालांकि कुछ दिन चले इलाज के दौरान रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी थी। सपा के कद्दावर नेताओ में गिने जाने वाले यशपाल चौधरी की आकस्मिक मौत के बाद पूरे धौरहरा क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है।
सपा के पूर्व विधायक यशपाल चौधरी धौरहरा क्षेत्र से दो बार विधायक रहे हैं। उन्होंने 1993 और 2002 विधायकी जीत कर 2003 में यूपी के लघु सिंचाई विभाग के राज्य मंत्री रहे थे। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में काफी कार्य किया था। यशपाल चौधरी सबसे पहले पंडित तेज नारायण त्रिवेदी के संपर्क में आकर राजनीति शुरू की थी। राजनीतिक कैरियर के दौरान सबसे पहले यशपाल चौधरी ब्लाक प्रमुख बने थे।

नड्डा ने लोगों को ‘गुमराह’ करने का आरोप लगाया

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने मंगलवार को कांग्रेस पर कोविड-19 के खिलाफ जारी देश की लड़ाई में लोगों को ‘गुमराह’ करने और भय का ‘झूठा माहौल’ पैदा करने का आरोप लगाया और कहा कि संकट के इस दौर में राहुल गांधी सहित उसके नेताओं के व्यवहार को छल कपट और ओछेपन के लिए याद किया जाएगा। नड्डा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे चार पन्नों के एक पत्र में यह आरोप लगाए हैं।
ज्ञात हो कि सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई थी जिसमें कोविड-19 प्रबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आड़े हाथों लिया गया था। भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों सहित पार्टी के अन्य नेताओं पर टीकों को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा करने का आरोप लगाया।
उन्होंने कहा कि यह स्थिति ऐसे समय में पैदा की गई जब देश संकट से जूझ रहा है और वह भी सदियों में एक बार आने वाली महामारी से। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में विज्ञान में अटूट विश्वास, नवोन्मेष को समर्थन, सहकारी संघवाद के साथ वैश्विक महामारी से निपटा जा रहा है। नड्डा ने कहा कि वह संकट के इस काल में कांग्रेस के रवैये से दुखी हैं लेकिन आश्चर्यचकित नहीं हैं।
कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने देश में कोरोना महामारी की गंभीर स्थिति पर चिंता प्रकट करते हुए सोमवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी ‘गलतियां’ स्वीकार करना चाहिए और इस महामारी से लड़ने के लिए पूरी तरह समर्पित होना चाहिए। सीडब्ल्यूसी की डिजिटल बैठक में पारित प्रस्ताव में यह आरोप भी लगाया गया था कि केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया तथा टीकाकरण एवं दूसरे कदमों का पूरा उत्तरदायित्व राज्यों पर छोड़ दिया।

क्रिकेट टीम का जून के बाद कार्यक्रम काफी व्यस्त

लंदन। इंग्लैंड क्रिकेट टीम का जून के बाद कार्यक्रम काफी व्यस्त है और अगर आईपीएल के बचे हुए मैच इस साल नये सिरे से आयोजित होते हैं तो इंग्लैंड के क्रिकेटर नहीं खेल सकेंगे। ईसीबी के क्रिकेट निदेशक एशले जाइल्स ने यह जानकारी दी।
आईपीएल बायो बबल में कोरोना संक्रमण के मामले आने के बाद लीग पिछले सप्ताह अनिश्चितकाल के लिये स्थगित कर दी गई। अब इसे या तो सितंबर के आखिर में टी20 विश्व कप से पहले या नवंबर के मध्य में आयोजित किया जा सकता है।
इंग्लैंड के शीर्ष क्रिकेटर दोनों समय व्यस्त होंगे। उन्हें सितंबर और अक्टूबर में बांग्लदेश और अक्टूबर जाना है जबकि टी20 विश्व कप के ठीक बाद एशेज श्रृंखला खेली जायेगी। जाइल्स ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से कहा ,‘‘हमारा एफटीपी शेड्यूल काफी व्यस्त है ।पाकिस्तान और बांग्लादेश का दौरा है।’’आईपीएल की विभिन्न टीमों में इंग्लैंड के 11 क्रिकेटर भाग ले रहे हैं।
जाइल्स ने कहा ,‘‘हमें नहीं पता कि आईपीएल के बाकी मैचों का शेड्यूल क्या होगा और ये कब और कहां होंगे। इस सत्र में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैचों से हमारा कार्यक्रम काफी व्यस्त है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ हमें टी20 विश्व कप और उसके बाद एशेज श्रृंखला खेलनी है। अपने खिलाड़ियों के कार्यभार का भी ध्यान रखना है।’’
जाइल्स ने इन सुझावों को खारिज किया कि ईसीबी ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है जिसने पहले कहा था कि आईपीएल खेलने के कारण उसके खिलाड़ी जून में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला से बाहर रह सकते हैं। जाइल्स ने कहा ,‘‘ न्यूजीलैंड का परिदृश्य अलग था। उस श्रृंखला का कार्यक्रम जनवरी के आखिर में बना था और तब तक खिलाड़ियों को आईपीएल खेलने के लिये अनापत्ति प्रमाण पत्र मिल चुके थे।

100 बेड का कोविड अस्पताल बनवाएंगी कुरैशी

कविता गर्ग              

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री हुमा कुरैशी कोरोना महामारी संकट के समय लोगों की मदद के लिये आगे आयी हैं और वह दिल्ली में 100 बेड का कोविड अस्पताल बनवाने जा रही हैं। कोरोना महामारी से देश भर में हाहाकार मचा हुआ है। इस कठिन समय में बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के कलाकार लोगों की मदद के लिये आगे आ रहे हैं। हुमा कुरैशी भी लोगों की मदद के लिए आगे आई हैं। हुमा एक एनजीओ के साथ मिलकर दिल्ली में 100 बेड की कोविड मेडिकल फेसिलिटी बनवाएंगी। हुमा कुरैशी ने ग्लोबल चाइल्ड राइट्स ऑर्गनाइजेशन ‘सेव द चिल्ड्रन’ के साथ हाथ मिलाया है। इस संस्था के साथ हुमा दिल्ली में एक अस्थाई अस्पताल बनाने में जुटी हुई हैं। इस अस्थाई अस्पताल में 100 बेड और एक ऑक्सीजन प्लांट होगा। इस प्रोजेक्ट में घर पर इलाज करा रहे कोविड -19 मरीजों के लिए मेडिकल किट्स भी दी जाएंगी। इसमें डॉक्टर का कंसल्टेशन और सायको सोशल थेरेपिस्ट शामिल है। जिससे रोगी पूरी तरह से ठीक हो सके।

देश में संक्रमण के कुल मामलें 2,29,92,517 हुए

अकांशु उपाध्याय                  
नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के दैनिक मामलों में मंगलवार को गिरावट आई और एक दिन में कोविड-19 के 3.29 लाख मामले सामने आए। इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,29,92,517 हो गए। स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार को सुबह आठ बजे तक अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 3,29,942 मामले सामने आए तथा 3,876 और लोगों की संक्रमण के कारण मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,49,992 हो गई।दो महीने तक उपचाराधीन मामलों में लगातार वृद्धि के बाद, उपचाराधीन मामले कम होकर 37,15,221 हो गए। जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.16 प्रतिशत है। जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर 82.75 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार, अब तक 1,90,27,304 लोग संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि मृत्युदर 1.09 प्रतिशत है। भारत में कोविड-19 के मामले पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे।इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वैश्विक महामारी के मामले पिछले साल 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे। भारत में महामारी के मामले चार मई को दो करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, 10 मई तक 30,56,00,187 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से 18,50,110 नमूनों की जांच सोमवार को की गई।

फिल्म फायर में काम करते नजर आ सकते हैं सैफ

कविता गर्ग                          
मुंबई। बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान फिल्म फायर में काम करते नजर आ सकते हैं। सैफ अली खान के हाथ ‘आदिपुरूष’ के बाद एक और बड़ा प्रोजेक्ट हाथ लगा है। एक्सल एंटरटेनमेंट की अपकमिंग फिल्म ‘फायर’ में सैफ मुख्य किरदार निभाते नजर आ सकते हैं। इस फिल्म में वह मुंबई के एक फायर फाइटर का किरदार निभाते देखे जाएंगे।फायर सच्ची घटनाओं से प्रेरित एक एक्शन-थ्रिलर फिल्म होगी। इसमें मुंबई के एक शख्स तुकाराम की कहानी दिखाई जाएगी। बताया जा रहा है कि फिल्म फायर का निर्देशन राहुल ढोलकिया कर सकते हैं। यदि सबकुछ ठीकठाक रहा, तो इस प्रोजेक्ट की शूटिंग 2022 में शुरू हो जाएगी।

कश्मीर: सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 3 आतंकी ढ़ेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में मंगलवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये। पुलिस प्रवक्ता ने बताया, कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर राष्ट्रीय राइफल्स, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और पुलिस के विशेष अभियान समूह ने सुबह अनंतनाग से करीब 30 किलोमीटर दूर वैलू कोकरनाग के जंगल इलाकों में संयुक्त घेराबंदी और तलाश अभियान छेड़ा। वैलू में सभी निकासी स्थलों को सील करने के बाद सुरक्षा बल के जवान लक्षित इलाके की ओर बढ़ रहे थे। तभी वहां छुपे आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने भी गोलियां चलायी। दोनों पक्षों के बीच मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये। उन्हाेंने बताया कि किसी कानून एवं व्यवस्था की गड़बड़ी को रोकने के लिए इलाके में अतिरिक्त सुरक्षा बल और पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। अंतिम रिपोर्ट मिलने तक इलाके में तलाश अभियान जारी था।

पीएम और सीएम अरविंद को इस्तीफा दें देना चाहिए

अकांशु उपाध्याय                

नई दिल्ली। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जयकिशन ने आज जारी एक बयान मे देश मे राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करते हुए कहा, कि करोना प्रबंधन में जिस तरह से केंद्र व दिल्ली सरकार पूरी तरह विफल रही है। इसलिए पीएम मोदी और सीएम केजरीवाल को नैतिकता के आधार पर तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। जयकिशन ने कहा कि केंद्र और दिल्ली सरकार तुरत दो दिन के अंदर सर्वदलिय बैठक बुलाएं और देश को पूरी जानकारी दें कि करोना के प्रबंधन में वो कैसे विफल रही है। जयकिशन ने कहा कि आज न्यायपालिका सरकार चला रही है। नेता को केवल अखबारी और वटसअप सोशल मीडिया की बयानबाजी कर रहे है। चंद अधिकारियों, न्यायपालिका, मीडिया की सक्रियता से देश बचा हुआ है। जयकिशन ने केंद्र पर आरोप लगाते हुए एक अखबार द्वारा जारी उस खबर का जवाब देने के लिए कहा जिसमें खुलासा हुआ है कि जब देश मे करोना से लोग मर रहे है। ऐसे मे पिछले तीन महीने मे 93 देशों को वैक्सीन क्यो बेची गई। साथ ही उन्होने दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी करोना के मामले में लापरवाह बताते हुए कहा कि वो राधा स्वामी और गुरुद्वारा रकाबगंज के कोविड सेंटर का तो दौरा करते है।लेकिन दिल्ली के उन सरकार अस्तपालों और कोविड सेंटरों का दौरा क्यो नहीं करते जहां सैंकड़ो मरीज रोजाना मर रहे है। दवा, गैस से लेकर उपकरणों तक की कालाबाजारी हो रही है। ऐसे लोगो पर क्या एक्शन किया सरकार ने ?

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर सीएम की शुभकामनाएं

हरिओम उपाध्याय            
लखनऊ। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश में प्रौद्योगिकी से जुड़े लोगों को शुभकामनाएं दी। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि आपके परिश्रम एवं पुरुषार्थ से ही 'आत्मनिर्भर भारत' की संकल्पना सुफलित हो रही है।
योगी ने कहा कि राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। राष्ट्र के विकास के लिए सतत प्रयत्नशील सभी वैज्ञानिकों, इंजीनियरों तथा समस्त तकनीशियनों को हृदय से साधुवाद।
उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी कहा कि देश के समस्त वैज्ञानिकों, तकनीकी विशेषज्ञों तथा समस्त देशवासियों को "राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस" की हार्दिक शुभकामनाएं। वहीं उन्होंने , आज के दिन 1998 में हुए पोखरण परमाणु परीक्षण को भी याद किया। 

कोरोना नियंत्रण पर यूपी की तारीफ: डब्ल्यूएचओ

हरिओम उपाध्याय       
लखनऊ। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को भारत के उत्तर प्रदेश में कोविड पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर उठाये गए कदम के लिए जमकर तारीफ की है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रदेश में योगी सरकार द्वारा घर-घर जाकर कोरोना संक्रमण को लेकर जानकारी इकट्ठा करना, त्वरित समाधान को लेकर उठाये गए कदम का डब्ल्यूएचओ कायल हो गया है। संगठन मान रहा है कि संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार का कदम अत्यंत महत्वपूर्ण है। वहीं, सरकार के माइक्रो प्लानिंग का भी समर्थन किया है।  
बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर कोविड-19 से संक्रमितों को खोजा जा रहा है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए गांव-गांव टेस्टिंग का महाअभियान चल रहा है। निगरानी समितियां घर-घर जाकर स्क्रीनिंग कर रही हैं। होम आइसोलेशन मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराए जा रहे हैं। लक्षणयुक्त लोगों के बारे में आरआरटी को सूचना देकर उनका एंटीजन टेस्ट कराया जा रहा है।

इटली में युवती को कोरोना वैक्सीन के 6 डोज दिएं

रोम। दुनिया में कोविड-19 महामारी को शुरू हुए एक साल से ज्यादा समय हो चुका है। इस दौरान कई देशों में लगे लॉकडाउन, आर्थिक संकट, मेडिकल रिसर्च, फ्रंट लाइन वर्कर्स की मेहनत समेत कई पहलुओं पर ढेरों खबरें आईं। वहीं इस बार एक अजीबो-गरीब खबर आई है, जो कोविड वैक्सीनेशन से जुड़ी है। कोविड से लडऩे के लिए जहां ज्यादातर वैक्सीन के 2 डोज पर्याप्त हैं।वहीं इटली में एक युवती को वैक्सीन के 6 डोज दिए गए हैं।
23 साल की इस युवती को हाल ही में पीफाईजर बॉयोनटेक वैक्सीन के 6 डोज दिए गए, वो भी एक ही बार में। महिला को इतने सारे डोज गलती से दे दिए गए। दरअसल, नर्स ने वैक्सीन की शीशी से एक डोज देने की बजाय पूरी शीशी ही गलती से युवती को इंजेक्ट कर दी थी। वैक्सीन की यह मात्रा 6 डोज के बराबर थी। राहत की बात यह रही कि 6 डोज लेने के बाद भी युवती ठीक है। उस पर वैक्सीन ओवरडोज का कोई बुरा असर नहीं हुआ है। हालांकि, वैक्सीन ओवरडोज के बाद उसे तत्काल फ्लुडीस और पेरासिटामल दे दिए गए थे। एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक देश की मेडिसिन रेगुलेटरी को घटना की सूचना दे दी गई है। बता दें कि वर्तमान में यह वैक्सीन 90 देशों में लोगों को दिया जा रहा है। जल्द ही कंपनी सिंगापुर में भी वैक्सीन का उत्पादन शुरू करने जा रही है।

लगातार दूसरे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमत में इजाफा

अकांशु उपाध्याय                 

नई दिल्‍ली। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों ने लगातार दूसरे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमत में इजाफा किया है। पेट्रोल की कीमत में जहां 27 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, डीजल के दाम भी 30 पैसे प्रति लीटर बढ़े हैं। इसी के साथ मंगलवार को देश के कई शहरों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार कर गया है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक देश चारो महानगरों दिल्‍ली, मुंबई, चेन्‍नई और कोलकाता में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 91.80 रुपये, 98.12 रुपये, 93.62 रुपये और 91.92 रुपये प्रति लीटर हो गया है। वहीं, इन महानगरों में डीजल के दाम भी उछलकर क्रमश: 82.36 रुपये, 89.48 रुपये, 87.25 रुपये और 85.20 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। 

तेल की कीमत बेतहाशा बढ़ोतरी से देश के इन चार शहरों श्रीगंगानगर में पेट्रोल 102.70 रुपये प्रति लीटर हो गया है। अनूपपुर में पेट्रोल 102.40 रुपये प्रति लीटर, जबकि रीवा में पेट्रोल 102.04 रुपये प्रति लीटर हो गया है। वहीं, परभणी में पेट्रोल 100.50 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। 

भारत में मिलें कोरोना के वेरियेंट को खतरनाक बताया

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। भारत में कोविड-19 वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि भारत का कोविड-19 वायरस का वेरियेंट बेहद खतरनाक है। यह विश्व की चिंता बढ़ाने वाला है।
ज्ञात रहे कि भारत में इस समय कोरोना वायरस के दूसरे लहर से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कहा था कि भारत में फैल रहा कोविड-19 वेरिएंट काफी संक्रामक है। यह वैक्सीन को भी बेअसर कर सकता है। एक साक्षात्कार में सौम्या स्वामीनाथन ने कहा था कि जो आज हम भारत में देख रहे हैं, वह संकेत दे रहा है कि यह एक तेजी से फैलने वाला वेरिएंट है। भारत में इस वेरियेंट को पिछले साल अक्टूबर में वेरिएंट बी.1.617 पहचाना गया था।
सौम्या स्वामीनाथन ने कहा था कि बी 1.617 एक चिंतित करने वाला वेरिएंट है क्योंकि यह म्यूटेट करता है। इससे इसका प्रसार तेजी से होता है। यह वायरस वैक्सीन से तैयार एंटीबॉडीज को बेअसर कर सकता है। डब्ल्यूएचओ के अलावा, ब्रिटेन भी भारत में मिले कोरोना के इस वेरिएंट को लेकर अपनी चिंता व्यक्त कर चुका है। ब्रिटेन के पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड डिपार्टमेंट ने बीते शुक्रवार को कहा था कि यह अन्य वेरिएंट्स की तुलना में तेजी से फैलने वाला स्वरूप है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी अधिकारियों से इस बारे में जानकारी ले चुके हैं।

कज़ान में गोलीबारी, 11 लोगों की मौंत, 4 घायल

मास्को। रूस के शहर कज़ान के एक स्कूल में मंगलवार को हुई गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो गई और चार अन्य जख्मी हो गए। रूस की सरकारी आरआईए नोवोस्ती समाचार एजेंसी ने स्थानीय आपात सेवा के हवाले से खबर दी है। इंटरफैक्स समाचार एजेंसी के मुताबिक, दो बंदूकधारियों ने स्कूल में गोलीबारी कर दी। बंदूकधारियों में से एक को पकड़ लिया गया है। उसकी उम्र 17 वर्ष है। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि कुछ बच्चों को स्कूल से निकाल लिया गया है। लेकिन अन्य अब भी इमारत में हैं। अधिकारियों ने बताया कि कज़ान के सभी स्कूलों में सुरक्षा के अतिरिक्त उपाय किए गए हैं। कज़ान रूस के ततारस्तान क्षेत्र की राजधानी है जो मास्को से करीब 700 किलोमीटर दूर है। पुलिस ने घटना की आपराधिक जांच शुरू कर दी है। रूस में स्कूलों में गोलीबारी होना अपेक्षाकृत दुर्लभ हैं लेकिन हाल के सालों में स्कूलों में कई हमले हुए हैं जो अधिकतर छात्रों ने किए हैं।

हाईकोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर सुनवाई टाली

अकांशु उपाध्याय           
नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर सुनवाई टाल दी है। केंद्र सरकार की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि सरकार की तरफ से विस्तृत हलफनामा दायर किया गया है। इस मामले पर अगली सुनवाई कल यानि 12 मई को होगी।
10 मई को हाईकोर्ट सेंट्रल विस्टा में निर्माण कार्य रोकने की मांग करने वाली याचिका पर जल्द सुनवाई करने को तैयार हो गई थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 10 मई को वकील सिद्धार्थ लूथरा ने इस मामले को चीफ जस्टिस डीएन पटेल की अध्यक्षता वाली बेंच के समक्ष जल्द सुनवाई के लिए मेंशन किया था।
दरअसल पिछले 7 मई को सुप्रीम कोर्ट ने सेंट्रल विस्टा में निर्माण कार्य रोकने की मांग वाली याचिका पर आदेश दिया था कि याचिकाकर्ता के वकील सिद्धार्थ लूथरा खुद या किसी और वकील के ज़रिए 10 मई को दिल्ली हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस से जल्द सुनवाई के लिए निवेदन करें। लूथरा का कहना था कि मामले में तत्काल सुनवाई ज़रूरी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली हाईकोर्ट इस पर विचार करे और मामले को सुनकर आदेश दे।
वकील सिद्धार्थ लूथरा ने कहा कि हर दिन की देरी से मज़दूरों पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। लूथरा ने कहा था हम ऐसी स्थिति में हैं, जहां स्वास्थ्य व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। लोग मर रहे हैं। लूथरा ने कहा था दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकार ने सारा निर्माण कार्य रोकने का आदेश दिया हुआ है। लेकिन सेंट्रल विस्टा में काम जारी है। लूथरा ने कहा कि निर्माण कोई अनिवार्य गतिविधि नहीं है। इसे रोका जा सकता है। 

‘स्टीम थेरपी’ की भाप लेने से कोई लाभ नहीं होता

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। भाप लेना ऐसा एक उपाय था। जिसे विशेषज्ञ, संक्रमण से सुरक्षा देने वाले उपायों में से एक मान रहे थे। लेकिन हाल ही में हुए एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि दुनियाभर में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए प्रयोग में लाई जा रही ‘स्टीम थेरपी’ की भाप लेने से कोई लाभ नहीं होता है। अध्ययन के मुताबिक, ”दुनियाभर में प्रचार किया जा रहा है कि नाक और मुंह के माध्यम से भाप लेने से कोरोना वायरस के प्रभाव को कम किया जा सकता है। यदि सभी लोग एक हफ्ते तक स्टीम ले लें तो इस गंभीर महामारी को आसानी से खत्म किया जा सकता है।” इस धारणा को सिरे से खारिज करते हुए रॉयटर्स में छपी एक रिपोर्ट कहती है कि यह सलाह न सिर्फ गलत है बल्कि लोगों के लिए यह खतरनाक भी हो सकता है। न तो यूएस सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) और न ही विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) कोरोनावायरस के उपचार के रूप में स्टीम लेने की सलाह देता है।

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण    
1. अंक-269 (साल-02)
2. बुधवार, मई 12, 2021
3. शक-1984, बैसाख, कृष्ण-पक्ष, तिथि- पूर्णिमा, विक्रमी सवंत-2078। 
सहरी 04:00, इफ्तार 07:10। 28 रमजान, हिजरी 1442।
4. सूर्योदय प्रातः 06:04, सूर्यास्त 07:05।
5. न्‍यूनतम तापमान -13 डी.सै., अधिकतम-37+ डी.सै.।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

अभियान, सैकड़ों अरब डॉलर की परियोजनाएं: मंजूर

वाशिंगटन डीसी। दुनिया के सबसे संपन्न सात देशों (जी 7) के शिखर सम्मेलन में शनिवार को चीन मुख्य मुद्दा रहा। चीन की विस्तारवादी नीतियों के खिला...