रविवार, 23 मई 2021

येरुशलम: पवित्र स्थल पर जाने की अनुमति मिलीं

येरूशलम। इजराइली पुलिस ने रविवार को करीब 50 यहूदी श्रद्धालुओं को सुरक्षा प्रदान करते हुए यरुशलम के उस पवित्र स्थल पर जाने की अनुमति दी। जहां पुलिस की कार्रवाई के बाद हाल के सप्ताहों में प्रदर्शन शुरू हो गए थे और हिंसा बढ़ने के बाद गाजा में इजराइल और हमास के बीच संघर्ष हुआ। पवित्र स्थल की निगरानी करने वाले इस्लामिक प्राधिकरण ने यह जानकारी दी।

वक्फ ने कहा कि पुलिस ने अल-अक्सा मस्जिद परिसर में युवा यहूदियों को प्रवेश करने की अनुमति दी। जबकि 45 साल से कम उम्र के मुस्लिमों को अंदर जाने नहीं दिया गया। जिन मुस्लिमों को प्रवेश करने की अनुमति दी गई। उन्हें प्रवेश द्वार पर पुलिस को अपने पहचान-पत्र जमा कराने पड़े। उन्होंने कहा कि एक गार्ड समेत तीन मुस्लिमों को गिरफ्तार किया गया।

हादसा: 2 बाइकों की भिड़ंत में 3 लोगों की मौंत हुईं

शाहजहांपुर। कटरा-जलालाबाद रोड पर शनिवार शाम दो बाइकों की आमने-सामने भिड़ंत हो गई। इस हादसे में दोनों वाहनों पर सवार ममेरे-फुफेरे भाई समेत तीन लोगों की मौत हो गई। घटना के बाद पुलिस ने तीनो के शव पोस्टमार्टम को भेजे गए। वहीं दोनो बाइके भी पुलिस ने कब्जे में ले लीं हैं। उधर घटना के बाद परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है। थाना मदनापुर के गांव जौराभूड़ निवासी रनपाल कश्यप(19) पुत्र जदुनाथ कश्यप के मौसेरे भाई विमल पुत्र ऋषिपाल जलालाबाद के गांव सिकंदरपुर में रहते हैं। विमल की शनिवार को शादी थी। इसी बारात में शामिल होने के लिए रनपाल शनिवार शाम सिंकदरपुर जाने के लिए बाइक से गांव के ही अपने ममेरे भाई हम उम्र पप्पू पुत्र रामदास के साथ निकला था।

पीलीभीत: ब्लैक फंगस से एक शिक्षिका की मौंत

बृजेश केसरवानी            

पीलीभीत। कोरोना के साथ ब्लैक फंगस ने भी पीलीभीत में दस्तक दे दी है। अब तक पीलीभीत में ब्लैक फंगस के दो मरीज मिले थे। लेकिन आज बरेली के एक प्राइवेट अस्पताल में एक शिक्षिका की ब्लैक फंगस की वजह से मौत हो गई। शिक्षका काफी दिनों से कोरोना संक्रमित चल रही थी। 

प्राथमिक शिक्षक संघ अमरिया के अध्यक्ष मोहम्मद मियां मनाजिर की धर्मपत्नी गौहर जमाल मनाजिर भी शिक्षिका है और अमरिया ब्लॉक में ही तैनात हैं। वह मोहल्ला फीलखाना में रहते हैं। गौहर जमाल मनाजिर को कुछ दिन पहले बुखार आया तो पहले उनका इलाज पीलीभीत में कराया गया। उसके बाद हालत बिगड़ने पर उन्हें तुरंत बरेली ले जाया गया।

लोगों की मदद करने से नदारद दिखे, मंत्री: सरकार

हरिओम उपाध्याय              

लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने गरीब कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियुक्ति पाने वाले राज्य के बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई के मामले को आपदा में अवसर बताते हुए कहा है कि प्रदेश सरकार के मंत्री कोरोना महामारी के संकट काल में आम लोगों की मदद करने से तो नदारद दिख रहे हैं। लेकिन आपदा में अवसर हड़पने में वह जरा सी भी पीछे नहीं हैं। रविवार को अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर की चपेट में आकर लोग लगातार बीमार हो रहे हैं। अस्पतालों में बेड की कमी है तो ऑक्सीजन व दवाओं की किल्लत से लोगों को इधर से उधर धक्के खाने पड़ रहे हैं। कोरोना महामारी के इस संकट काल में उत्तर प्रदेश के मंत्री आम लोगों की मदद करने से नदारद दिख रहे हैं। लेकिन वह आपदा में अवसर हड़पने में जरा से भी पीछे नहीं हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सिद्धार्थनगर में गरीब कोटे से असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियुक्ति पाने वाले बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी के भाई अरूण द्विवेदी को इसका जीता जागता उदाहरण बताया है। उन्होंने बताया असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य अभ्यर्थियों का चयन होना था। लेकिन इस पद के लिए इटावा सीट से विधायक एवं राज्य के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी के भाई अरुण द्विवेदी आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य अभ्यर्थियों के कोटे में मनोविज्ञान विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नियुक्ति पा गए हैं।

उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश के लाखों युवा रोजगार की बाट जोह रहे हैं। लेकिन नौकरी आपदा में अवसर तलाशने वालों को मिल रही है। उन्होंने कहा कि मंत्रीगण गरीबों के साथ-साथ आरक्षण का भी मजाक बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि मंत्रियों की मनोदशा का इसी बात से पता चलता है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में डयूटी करने वाले कोरोना शिक्षकों की मौत की संख्या को नकारते हुए उन्होंने इसे विपक्ष की साजिश करार दे दिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री से उम्मीद जाहिर की है कि क्या वह इस साजिश पर कोई एक्शन लेंगे।

12वीं की परीक्षाएं रद्द, विचार कर रहीं हैं सरकार

अकांशु उपाध्याय            

नई दिल्ली। सीबीएसई और अन्य राज्यों की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के अलावा अन्य विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं को लेकर आयोजित की गई हाईलेवल मीटिंग समाप्त हो गई है। जिसके चलते अब दिल्ली सरकार 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने पर विचार कर रही है।

रविवार को आयोजित की गई बैठक में भाग लेने के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया से बातचीत करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से आयोजित की गई बैठक में हुई बातें उजागर की। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार समेत अन्य कई राज्यों ने केंद्र सरकार को सुझाव दिए हैं कि परीक्षाएं रदद की जाएं। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने राज्यों के सामने दो प्रस्ताव रखे हैं। जिसमें पहला कुछ चुने हुए प्रमुख विषयों की ही परीक्षाएं कराई जाए। जिनके आधार पर बाकी विषयों का मूल्यांकन किया जाए। दूसरे प्रस्ताव में 12वीं की परीक्षाएं छात्रों के ही स्कूल में कराते हुए उसकी अवधि 3 घंटे की बजाय डेढ़ घंटा की जाय और परीक्षाओं की कॉपियां स्कूलों में ही चेक की जाएं। इसमें एक ऑप्शन यह भी था कि छात्रों से पूछा जाए कि उन्हें सभी विषयों की परीक्षाओं के बजाय कौन से तीन या चार विषयों की परीक्षाएं देनी है। बैठक के दौरान दिल्ली सरकार की ओर से सुझाव रखा गया कि 12वीं की परीक्षाएं कराना छात्र-छात्राओं के लिए मौजूदा हालातों में सुरक्षित नहीं होगा। जिसके चलते दो-तीन वर्षों के एकेडमिक के रिकॉर्ड के अनुसार ही 12वीं के छात्रों का रिजल्ट तैयार कराया जाए। इसके अलावा कई अन्य बिंदुओं पर भी बैठक के दौरान विचार किया गया और सुझाव रखे गए।

गाजियाबाद में कोरोना के 159 नए संक्रमित मिलें

अश्वनी उपाध्याय            

गाज़ियाबाद। जिलें में संक्रमण की रफ्तार कम होती जा रही है। राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दैनिक बुलेटिन के अनुसार, गाज़ियाबाद में 159 नए मरीज मिले हैं और कोई मृत्यु दर्ज नहीं की गई है। जिले में अब 2160 सक्रिय मरीज हैं।

गौतम बुद्ध नगर में 146 नए संक्रमित मिले और 594 को डिस्चार्ज किया गया। यहाँ 3 मरीजों की मौत के बाद सक्रिय संक्रमितों की संख्या 4177 हो गई है। मेरठ जिले में 297 नए मरीज मिले और 809 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। यहाँ 9 मरीजों की मौत के बाद सक्रिय संक्रमितों की संख्या 5525 हो गई है।


सोशल वैल्फेयर बोर्ड के सदस्यों की नियुक्तियां की

राणा ओबराय             
चंडीगढ। कोरोना महामारी के दौरान हरियाणा सरकार ने सोशल जस्टिस एवं इम्पॉवरमेंट विभाग में हरियाणा राज्य सोशल वैल्फेयर बोर्ड के सदस्यों की नियुक्तियां की है। यदि यह कुछ समय के बाद होती तो सरकार की वाही वाही होती। सरकार की तरफ से इसके लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। इस में आठ अलग अलग सदस्यों की नियुक्तियां की गई है। हरियाणा सरकार ने चऱखी दादरी से डॉ. बलवान सिंह सांगवान, करनाल से सुरेंद्र गर्ग, रोहतक से सुनील फौगाट, रेवाड़ी से इंद्रपाल, महेंद्रगढ़ से सुरेश शर्मा, पलवल से भगत सिंह बैनीवाल, सिरसा से सरोज डूडी और अंबाला से दलजीत बच्चई को सदस्य नियुक्त किया है।

बाइक सवार 2 युवको को ट्रक ने कुचला, 1 की मौत

कौशाम्बी। कोखराज थाना क्षेत्र के मूरतगंज चौकी अंतर्गत मूरतगंज चौराहे पर ओवर लोड बालू से लदी ट्रक ने बाइक सवार दो युवको को आधी रात में जोर दार टक्कर मार दी है। हादसे में एक युवक की मौके पर मौत हो गयी है। दूसरे युवक की हालत नाजुक है। मृतक युवक के शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और हादसे में घायल युवक को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।
घटना क्रम के मुताबिक, अजय कुमार पुत्र श्याम लाल निवासी बलीपुर टाटा थाना चरवा कंधई लाल निवासी बदले पुर के साथ बाइक से भीखमपुर गांव मे शादी समारोह मे निमन्त्रण खाने गए थे। निमन्त्रण खाने के बाद दोनों युवक बाइक से वापस जा रहे थे। जैसे ही बाइक सवार मूरतगंज चौराहे के पास पहुँचे बालू लदे ट्रक ने बाइक सवार को रौंद दिया। हादसे में कंधई लाल की मौके पर मौत हो गयी है। दुर्घटना में अजय को गम्भीर चोट लगी है। हादसे के बाद ट्रक खड़ी कर चालक मौके से फरार हो गया है। पुलिस ने खड़ी ट्रक को अपने कब्जे मे लेकर थाना ले गयी। मौके पर पहुंचे मूरतगंज चौकी इंचार्ज कामता प्रसाद सिंह ने घायल को 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल भेजवाया है। जहां उसका उपचार चल रहा है और मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
विजय कुमार 

नगर पालिका सफाई अभियान बड़ी लापरवाह बनीं

गोपीचंद                     
बागपत। जिले में बड़ौत नगरपालिका की स्थिति थी, नम्बर वन पर बनी हुई थी। परन्तु वर्तमान कार्यशैली के चलते अब शायद पिछड़ती जा रही हैं। शहर के बीचो-बीच नुक्कड़ व चौराहों पर पड़े कूड़े के ढेर इस बात का प्रमाण दे रहें है। जिसकी कोई सुनवाई करने को राजी नहीं है। नगर की इस समस्या से नगर पालिका के सम्बंधित अधिकारियों व जिम्मेदार अधिकारियों से कई बार इस विषय के प्रति अवगत कराया जा चुका है और सफाई निरीक्षक को तो कई बार शिकायतें भी स्थानीय लोगों द्वारा की गयी हैं।
नगर में जहां एक और कूड़े का ढेर लगा हुआ है। वहीं पर कुछ दूरी पर पूर्व चेयरमैन केपी मलिक और 84 खाप के चौधरी सुरेंद्र सिंह का आवास है और वहां पर 24 घण्टे गंदगी का अंबार लगा रहता है। 
कोरोना जैसी घातक बीमारी ने जहां एक ओर प्रशासन की नींद हराम कर रखी है। वहीं दूसरी और नगर पालिका सफाई अभियान की और लापरवाह बनी हुई है और अस्थानिय लोगों के शिकायत करने पर झूठ आस्वासन देकर वापस भेज दिया जाता है। 
सड़कों पर पड़ा कूड़ा कचरा हवा वह बारिश या अन्य आवारा पशुओं के द्वारा नालो में चला जाता हैं। जिसकारण नालों की सफाई के बाद भी हल्की सी बरसात में ही सड़कों पर गन्दे पानी से लबालब भर जाती हैं। सड़कों पर गंदगी के जमाव से बदलते मौसम में टाइफाइड, मलेरिया जैसे घातक बुखार फैलाने वाले मखी मच्छर पैदा होते हैं। परन्तु नगरपालिका की और से कर्मचारी सफाई अभियान के प्रति लापरवाह बने हुये हैं।  स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि यदि करोना जैसी मांहामारी और  ब्लैक फंगस से बचा के लिये साफ सफाई की अधिक आवश्यकता होती है। इस मामले में ईओ नगर पालिका ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही कूड़े के ढेर को उठवा लिया जायेगा और आने वाले समय में लगातार कूड़े को गिरते ही उठाकर शहर के बाहर भिजवाया जाएगा।

ग्रामीणों द्वारा समझाने पर भी असर नहीं: शराबी

अतुल त्यागी, मुकेश सैनी            
हापुड़। मामला जनपद के थाना धौलाना क्षेत्र के गांव ककराना का है। जहां एक व्यक्ति शराब पीकर मोहल्ले वाले लोगों को रोज परेशान कर रहा है, गाली गुप्तार कर रहा है। ग्रामीणों द्वारा समझाने पर भी शराबी पर कोई असर नहीं है। ग्रामीणों द्वारा मिल रही जानकारी के अनुसार हद तो तब हो गई। जब आज रविवार को शराबी ने दूसरे पक्ष के लोगों गाली गुप्तार करते हुए उनके साथ मार पिटाई कर दी। इतना ही नहीं बेकाबू हुए शराबी ने मंदिर में साफ सफाई करने वाले बाबा को भी नहीं बख्शा, उसके साथ भी मार पिटाई कर दी।
इसी दौरान शराबी द्वारा लगातार रोज हो रहे झगड़ों की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दे दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने काफी देर तक समझाने का प्रयास किया नहीं मानने पर दोनों पक्षों को पुलिस थाने ले आई और देखना यह है। गाली गुप्तार करने वाले व्यक्ति पर पुलिस क्या कार्रवाई करती है ?

सीएम योगी का सुरक्षा चक्र तोड़ना पड़ा भारी, जांच

आकाश राठौर   
झांसी। सुरक्षा चक्र तोड़कर कुछ लोग मेडिकल कॉलेज सभागार के बाहर चीफ मिनिस्टर से मिलना चाह रहे थे, जूनियर डॉक्टर जैसे लग रहे यह लोग मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें ज्ञापन देना चाहते थे। झांसी पुलिस ने मेडिकल कालेज प्राचार्य कार्यालय के पास ही जब इन लोगों को खड़ा देखा तो उनसे पूछताछ की इस पूछताछ में जूनियर डॉक्टर्स ने माकूल जवाब नहीं दिया। 
इस बात की जानकारी एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी को दी गई, विवेक त्रिपाठी ने मौके की नजाकत देखते हुए जूनियर डॉक्टर को जीप में बैठा दिया। एक-एक पल पहले से ही तय है कि प्रदेश के मुखिया का किसी भी जिले में जाने के पहले पूरा मिनट 2 मिनट कार्यक्रम तय होता है, किसके साथ उनकी मुलाकात होगी, कितनी देर चीफ मिनिस्टर किस जगह पर वार्ता करेंगे, कितना वक्त उनके पास आरक्षित है, एक एक सेकंड का हिसाब पहले से ही तय होता है। बावजूद इसके इन डॉक्टर के पास कोई वक्त आरक्षित नहीं था, यह सुरक्षा चक्र तोड़कर सीएम से मुलाकात करना चाहते थे, सिक्योरिटी रीजंस को देखते हुए इनका ज्ञापन एसपी सिटी ने ले लिया और इनको जीप में बैठा दिया। 
अब यह जांच की जा रही है कि यह लोग वाकई जूनियर चिकित्सक है या नहीं या फिर किसी षड्यंत्र के तहत यह लोग चीफ मिनिस्टर के के करीब जाना चाहते थे। क्योंकि सुरक्षा चक्र तोड़ना बेहद खतरनाक माना जाता है, एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी ने बताया कि पूछताछ के बाद जूनियर डॉक्टर्स को छोड़ कर दिया गया है। यह साबित हो गया है कि जूनियर डॉक्टर ज्ञापन देने के लिए ही आए थे। लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते कुछ देर के लिए जूनियर डॉक्टर्स को पूछताछ की जद में रहना पड़ा।

1 परिवार के 5 लोगों की गला रेत कर निर्मम हत्या

संत लाल मौर्य  
अयोध्या। अयोध्या में एक ही परिवार के पांच लोगों की गला रेत कर हत्या कर दी गई है। इस घटना से आस-पास के इलाके में सनसनी फैल गई है। हत्या की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। वहीं वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया है। आरोपी कोई और नहीं मृतक का सगा भांजा है। शुरुआती जांच में घटना के पीछे संपत्ति विवाद बताया जा रहा है।
भांजे ने शनिवार देर रात अपने मामा-मामी सहित उनके तीनों बच्चों की धारदार हथियार से हत्या कर दी। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की पांच टीमों ने कई जगह दबिश दी है और उसके परिजनों से भी कड़ी पूछताछ कर रही है। घटना अयोध्या के इनायत नगर थाना क्षेत्र के बरिया निसारु गांव का है। यहां रमेश कुमार और उनका भांजा एक ही मकान में रहते थे। जमीन को लेकर मामा-भांजे के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा था। शनिवार की देर रात भांजे ने अपने मामा राकेश कुमार एवं मामी ज्योति सहित उनके तीनों बच्चों (एक बेटी और दो बेटे) की धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गया।

सूचना मिलने के लगभग एक घंटे बाद प्रभारी निरीक्षक राहुल कुमार दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की छानबीन में जुट गए। एसएसपी शैलेश पांडे ने बताया कि पांच लोगों की हत्या का आरोपी भांजा और मामा एक ही मकान में रहते थे। प्रथम दृष्टया संपत्ति का विवाद सामने आया है, गांव वाले यही बता रहे हैं। आरोपी के परिजनों को उठाकर कड़ी पूछताछ की जा रही है तथा पुलिस की पांच टीमें आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही हैं।

जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि पूरे प्रकरण की जांच की जाएगी। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंच रहे हैं। हर दृष्टिकोण से जांच के बाद कार्रवाई होगी जांच में कोई ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

50 से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान

श्री राम मौर्य  
काशीपुर। पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रक्तदान शिविर का किया आयोजन साथ ही उन्होंने गरीब व्यक्तियों को सब्जी सैनिटाइजर आदि सामान भी वितरण किया है बता दें कि भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की 30 वी पुण्यतिथि पर कांग्रेसियों द्वारा नव चेतना भवन कांग्रेस कार्यालय मैं विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।तथा साथ ही मास्क सेनीटाइजर और सब्जी का भी वितरण किया गया। द्रोणा सागर रोड स्थित कांग्रेस नवचेतना भवन में भारत रत्न आधुनिक युग के निर्माता स्वर्गीय राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर समस्त कांग्रेस जनों द्वारा उनके चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई।
कार्यक्रम में विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया। जिसमें लगभग 50 से अधिक कांग्रेस जनों एवं नागरिकों ने ब्लड डोनेट किया । कार्यक्रम में महानगर अध्यक्ष संदीप सहगल एडवोकेट ने कहा कि आज के दिन स्वर्गीय राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर हम सब कांग्रेस जन एकजुट होकर कोरोना महामारी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया है।
महानगर कांग्रेस अध्यक्ष संदीप सहगल ने कहा कि देश और प्रदेश कोरोना महामारी से ग्रस्त है। मरीजों को खून की कमी ना हो इसी उद्देश्य के साथ कांग्रेस जनों ने रक्तदान किया।कार्यक्रम में लगातार पिछले कई दिनों से महानगर कांग्रेस कमेटी काशीपुर कोविड सहायता एवं पूछताछ केंद्र के संयोजक डॉ रमेश कश्यप एवं इलियास माहिगीर द्वारा लगातार लोगों को समय-समय पर कोरोना कि जानकारी एवं समस्याओं का निराकरण करने पर समस्त कांग्रेस जनों द्वारा शॉल उड़ाकर सम्मानित भी किया गया।
कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा मास्क व सैनिटाइजर एवं गरीब बेसहारा लोगों के लिए सब्जियों का भी वितरण घर घर जाकर किया गया। तो वही कांग्रेस नेत्री मुक्ता सिंह ने कहा कि आज पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता एकजुट होकर कोरोना वायरस महामारी के समय में गरीब असहाय व्यक्तियों की मदद को लेकर जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि सभी को एकजुट होकर कार्य करना है भेदभाव ना करते हुए गरीब और असहाय लोगों की मदद के लिए तैयार रहना है और कोरोनावायरस को भारतवर्ष से खत्म करना है।
इस दौरान पूर्व सांसद महेंद्र पाल सिंह, संदीप ,सहगल एडवोकेट , इंदर सिंह एडवोकेट, मनोज जोशी एडवोकेट, मुक्ता सिंह ,आशीष अरोरा बॉबी, दीपिका गुड़िया, अलका पाल, प्रीत बंम, ब्रह्मा सिंह पाल, विमल गुड़िया दीपिका गुड़िया आत्रे,
इंदूमान अरूण चौहान,उमा वात्सलय ,अब्दुल सलीम एडवोकेट ,सूर्य प्रताप सिंह चौहान, मंसूर अली मेंफेयर,उमेश जोशी एडवोकेट, मंसूर अली मंसूरी, अनीश अंसारी, अफसर अली, सुभाष पाल, महेंद्र बेदी, नितिन कौशिक, राजेश शर्मा एडवोकेट,मौहित चौधरी, नौशाद हुसैन, राशिद फारुकी, संजय सेठी, तरुण लोहनी ,कमल गुजराल , रवि ढींगरा, अब्दुल अजीज कुरैशी ,गौतम मेहरोत्रा सफीक अहमद अंसारी ,जफर मुन्ना ,अब्दुल कादिर , चेतन अरोरा, राकेश नरूला, प्रभात साहनी ,जय सिंह गौतम, जितेंद्र सरस्वती, माजिद अली, रोशनी बेगम ,शाह आलम, वसीम अकरम, फिरोज हुसैन,इकवाल अदीव,मीनू सहगल, सचिन नाडिग एडवोकेट ,विकल्प गुड़िया, हैदर अली, चंद्रभूषण डोभाल आदि तमाम कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

टूलकिट मामले में भाजपा प्रवक्ता को नोटिस जारी

दुष्यंत सिंह टीकम   
रायपुर। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा की मुश्किलें बढ़ने वाली है। टूलकिट मामले में मामले में राजधानी की सिविल लाइन पुलिस ने नोटिस जारी किया है। पुलिस ने नोटिस भेजकर 23 मई की शाम 4 बजे तक थाने में पेश होने को कहा है। इसके अलावे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़ने के लिए कहा है। पेश नहीं होने और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से नहीं जुड़ने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।
पूछताछ के लिए जारी किया नोटिस

22 मई को भेजे नोटिस में पुलिस ने कहा कि आपके खिलाफ आईपीसी की धारा 504 ,505(1)BC ,469,188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आपसे रविवार को शाम 4 बजे पूछताछ की जाएगी। शाम चार बजे थाने में व्यक्तिगत रूप से अथवा वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए उपस्थित हों। नोटिस का पालन नहीं करने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह से सोमवार को होगी पूछताछ

इस मामले में रायपुर पुलिस ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का बयान दर्ज करने के लिए 24 मई को उन्हें अपने आवास पर मौजूद रहने के लिए नोटिस जारी किया है। रायपुर पुलिस ने दोपहर 12 बजे पूर्व सीएम को घर में रहने के निर्देश दिए हैं। टूलकिट मामले में एनएसयूआई ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ 19 मई को एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद प्रदेश के 52 अलग-अलग पुलिस थानों में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष समेत तमाम नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। एफआईआर के विरोध में बीजेपी ने शनिवार को प्रदेशभर में जेलभरों आंदोलन किया था।

एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने दर्ज कराई थी एफआईआर

रायपुर के सिविल लाइन थाने में छत्तीसगढ़ एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने टूलकिट को फर्जी बताते हुए सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई। मामले में भाजपा के कई राष्ट्रीय नेता समेत पूर्व सीएम रमन सिंह पर भी एफआईआर दर्ज किया गया था। पात्रा ने इस मामले को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। भाजपा नेता संबित पात्रा ने ट्विटर पर भी टूलकिट को लेकर कई ट्वीट्स किए थे। मामले में छत्तीसगढ़ बीजेपी ने शनिवार को प्रदेश स्तरीय जेल भरो आंदोलन किया था। जिसमें विधायक बृजमोहन अग्रवाल सहित भाजपा के कार्यकर्ता सिविल लाइन थाना में गिरफ्तारी देने पहुंचे थे। दिनभर सियासत गरमाई रही वहीं अब इस मामले में पुलिस ने संबित पात्रा को भी नोटिस जारी किया है।

पति-पत्नी की पत्थरों से कुचल कर निर्मम हत्या

दुष्यंत सिंह टीकम   

धमतरी। जिले के कुरूद इलाके में पति-पत्नी की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है। वारदात के दौरान दंपती के दोने बच्चे सो रहे थे। सुबह उठने के बाद वे मम्मी पापा को खोजने लगे। फिर वे छत पर पहुंचे। यहां दोनों की लाश देखकर वे पड़ोसियों के पास पहुंचे और घटना की सूचना दी। मामला कुरूद थाना इलाके के श्रीराम टाउन कॉलोनी का है। दंपती के चेहरों को पत्थरों से कुचला गया है। उधर, डबल मर्डर की सूचना के बाद रायपुर से डॉग स्क्वायड,फॉरेंसिक की टीम की टीम मौके पर पहुंची है। पुलिस के बड़े अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं। फिलहाल हत्या के कारणों और हत्यारों की तलाश की जा रही है।

सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही पुलिस
पुलिस के मुताबिक, तुलेश चंद्राकर (32) और सुमित्रा चंद्राकर (29) की हत्या 22-23 मई की दरमियानी रात करीब 2 से 3 बजे के बीच की गई है। तुलेश धमतरी जिले के एक ट्रेनिंग सेंटर में मास्टर ट्रेनर का काम करता था और उसकी पत्नी कुछ साल पहले तक स्कूल में टीचर थी। दंपती के दो बच्चे हैं, जो वारदात के वक्त नीचे सो रहे थे।
सुबह जब उनकी नींद खुली तो देखा कि घर पर उनके मम्मी-पापा नहीं है। इसके बाद उन्होंने आस-पास जाकर देखा, जहां दोनों की लाश सुबह घर के छत पर मिली। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस के मुताबिक हत्या की वजह का पता अब तक नहीं चल सका है लेकिन मामले में जल्द खुलासा कर दिया जाएगा। वहीं पुलिस मामले को लेकर आसपास के लोगों से भी पूछताछ कर रही है और आस-पास के सीसीटीवी कैमरे भी खंगाल रही है। शव के पास ही पुलिस को खून से सना पत्थर भी बरामद हुआ है।

एक दिन पहले भी इसी तरह की वारदात

इससे एक दिन पहले बिलासपुर में भी कोनी घाट पर रेत मुंशी का काम करने वाले युवक की हत्या भी इसी तरह की गई थी। उसकी लाश आसपास के लोगों ने देखा था जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई थी। उसकी पहचान उसके कपड़ों से मिले दस्तावेजों से हो सकी थी। फिलहाल पुलिस उस मामले में भी जांच कर रही है।

गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण पर जद्दोजहद

अकांशु उपाध्याय  

नई दिल्ली। स्वास्थ्य सेवा विशेषज्ञों ने कहा है कि गर्भवती महिला बच्चे को जन्म देने के बाद कभी भी कोविड-19 टीका लगवा सकती है। विशेषज्ञों ने गर्भवती महिलाओं को भी टीकाकरण की मंजूरी देने की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि उन्हें संक्रमण से बचाया जा सके। सरकार ने स्तनपान कराने वाली मांओं के टीकाकरण को हरहाल में मंजूरी दी है।

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी. के. पॉल ने हाल में स्पष्ट किया था कि बच्चों को स्तनपान कराने वाली महिलाओं का भी टीकाकरण कराया जा सकता है। उन्होंने कहा था, ‘‘इस तरह की खबरें थीं कि टीका लगवाने वाली माताओं को कुछ दिनों के लिए अपने बच्चों को स्तनपान नहीं कराना चाहिए। लेकिन मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि स्तनपान नहीं रोकना चाहिए और इसे जारी रखना चाहिए। किसी भी हालत में एक घंटे के लिए भी स्तनपान नहीं रोका जाना चाहिए।’’इस बीच दिल्ली स्थित गुरु तेग बहादुर (जीटीबी) अस्पताल और विश्वविद्यालय चिकित्सा विज्ञान महाविद्यालय में ‘कम्युनिटी मेडिसिन’ विभाग में प्रोफेसर डॉ. खान आमिर मारूफ ने कहा कि टीकाकरण करा चुकी मां के स्तनपान कराने से नवजात शिशु को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘प्रसव के बाद टीकाकरण में देरी करने का कोई कारण नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि स्तनपान कराने वाली मां को टीकाकरण के मद्देनजर कोई विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता नहीं है और उन्हें केवल वे सावधानियां बरतनी हैं, जो आम लोगों को बरतनी चाहिए। फोर्टिस ला फाम, रोजवॉक अस्पताल और अपोलो क्रैडल रॉयल में वरिष्ठ सलाहकार, स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ लवलीना नादिर ने कहा कि मासिक धर्म के दौरान भी टीकाकरण कराया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना वायरस से संक्रमित होने का यह अर्थ नहीं है कि प्रसव ऑपरेशन के जरिए ही होगा, लेकिन संक्रमण की वजह से मां के बीमार होने के कारण समय से पूर्व प्रसव और ऑपरेशन के जरिए प्रसव की संभावना बढ़ जाती है। यदि कोई महिला संक्रमण के बाद ठीक हो चुकी है, तो उसे संक्रमण से उबरने के तीन महीने बाद ही टीकाकरण कराना चाहिए।’’

नादिर ने कहा कि यदि मरीज ने पहली खुराक ले ली है और इसके बाद उसके गर्भवती होने का पता चलता है, तो उसे इसकी वजह से गर्भपात कराने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘गर्भवती होने से सार्स-सीओवी-2 से संक्रमित होने का खतरा बढ़ता नहीं है, लेकिन संक्रमित गर्भवती महिला का उपचार उस महिला की तुलना में जटिल है, जो गर्भवती नहीं है।’’

विशेषज्ञों ने गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण की आवश्यकता पर बल दिया है, ताकि उन्हें संक्रमण से बचाया जा सके। मारूफ ने कहा कि सरकारी दिशा-निर्देशों में गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण की अभी कोई सलाह नहीं दी गई है। उन्होंने कहा, ‘‘इसका कारण यह है कि कोविड-19 टीकों का गर्भवती महिलाओं पर परीक्षण नहीं किया गया है और उनकी सुरक्षा एवं टीके के उन पर असरदार होने संबंधी आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं। फेडरेशन ऑफ ऑब्स्टेट्रिक एंड गाइनकोलॉजिकल सोसाइटीज ऑफ इंडिया ने गर्भवती महिलाओं के भी टीकाकरण की सलाह दी है, क्योंकि इस वैश्विक महामारी में संक्रमित होने और मौत होने का खतरा अधिक है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह खतरा टीकों के दुष्प्रभावों से अधिक खतरनाक प्रतीत होता है।’’ खाद्य और पोषण सुरक्षा गठबंधन (सीएफएनएस), नई दिल्ली के कार्यकारी निदेशक डॉ सुजीत रंजन ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के दिशानिर्देशानुसार गर्भवती महिलाओं और स्तनपान करानी वाली मांओं का भी टीकाकरण हो सकता है, लेकिन भारत में गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण अभी विचाराधीन विषय है।

फेडरेशन ऑफ ऑब्स्टेट्रिक एंड गाइनकोलॉजिकल सोसाइटीज ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष एवं इनफर्टिलिटी सेंटर ऑफ रेनबो आईवीएफ के पूर्व अध्यक्ष डॉ. जयदीप मल्होत्रा ने भी गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण की सलाह दी।

सफल कप्तानों की सूची में चौथे नंबर पर काबिज

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। विराट कोहली न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल में उतरते ही सर्वाधिक टेस्ट मैचों में भारत की अगुवाई करने वाले कप्तान बन जाएंगे और इस मैच में जीत पर दुनिया के सबसे सफल कप्तानों की सूची में चौथे नंबर पर काबिज हो जाएंगे। कोहली ने अब तक 60 टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया है और वह महेंद्र सिंह धोनी की बराबरी पर हैं। इंग्लैंड के साउथम्पटन में 18 अक्टूबर से शुरू होने वाले डब्ल्यूटीसी फाइनल में उतरते ही भारत की तरफ से सर्वाधिक टेस्ट मैचों में कप्तानी करने का रिकार्ड कोहली के नाम पर दर्ज हो जाएगा।
कोहली इस साल के शुरू में इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दौरान ही यह रिकार्ड अपने नाम कर देते लेकिन वह अपने पहले बच्चे के जन्म के कारण आस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट मैचों में नहीं खेल पाये थे। इन मैचों में अजिंक्य रहाणे ने टीम की अगुवाई की थी।पहली बार 2014 में टेस्ट टीम की कमान संभालने वाले कोहली अब तक जिन 60 मैचों में कप्तान रहे हैं उनमें से 36 में भारत ने जीत दर्ज की है जो भारतीय रिकार्ड है।धोनी 60 मैचों में 27 जीत के साथ दूसरे स्थान पर हैं।भारतीय टीम दो जून को साढ़े तीन महीने के ब्रिटिश दौरे पर रवाना होगी जिसमें वह डब्ल्यूटीसी फाइनल के अलावा मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला भी खेलेगी। इस दौरान एक जीत से कोहली सर्वाधिक मैचों में जीत दर्ज करने वाले कप्तानों की सूची में वेस्टइंडीज के दिग्गज क्लाइव लायड को पीछे छोड़ देंगे।लॉयड की अगुवाई में वेस्टइंडीज ने 74 मैच खेले जिनमें से 36 में उसने जीत हासिल की थी।

कप्तान के रूप में सर्वाधिक मैचों में जीत का रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ (109 मैचों में 53 जीत) के नाम पर है। उनके बाद आस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (77 मैचों में 48 जीत) और स्टीव वॉ (57 मैचों में 41 जीत) का नंबर आता है।ग्रीम स्मिथ के नाम पर सर्वाधिक टेस्ट मैचों में कप्तानी करने का रिकार्ड भी है। उनके बाद आस्ट्रेलिया के एलन बोर्डर (93 मैच), न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग (80), पोंटिंग (77), लायड (74), धोनी और कोहली का नंबर आता है।

पर्वतीय मैराथन में भाग लेने वाले 21 की मौत हुईं

बीजिंग। उत्तरपश्चिम चीन में बेहद खराब मौसम के कारण 100 किलोमीटर क्रॉस-कंट्री पर्वतीय मैराथन में भाग लेने वाले 21 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने रविवार को इसकी जानकारी दी।सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि गांसु प्रांत में एक पर्यटक स्थल ‘येलो रिवर स्टोन फॉरेस्ट’ में दौड़ में भाग लेने वाले लोगों को तेज हवाओं और बर्फीली बारिश का सामना करना पड़ा।

पर्वतीय मैराथन में कुल 172 लोगों ने भाग लिया था। आधिकारिक मीडिया की खबर के अनुसार, शनिवार सुबह साढ़े नौ बजे तक मृतकों की संख्या बढ़कर 21 हो गयी। मैराथन में भाग लेने वाले अन्य 151 लोगों के सुरक्षित होने की पुष्टि हुई है। इनमें से आठ को मामूली चोटें आयी हैं और उनका एक अस्पताल में इलाज किया गया। बचाव मुख्यालय के अनुसार, शनिवार दोपहर एक बजे दौड़ वाले इलाके में ओलावृष्टि एवं बर्फीली बारिश हुई तथा तेज हवाएं चलीं।

वायुमंडलीय तापमान में अचानक गिरावट के कारण लोगों को दिक्कत होने लगी। दौड़ में भाग लेने वाले कुछ लोगों के लापता होने के बाद स्पर्धा रोक दी गई। बाइयिन शहर के मेयर झांग शुचेन ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि स्थानीय सरकार ने लापता लोगों की तलाश के लिए उपकरणों से लैस 1,200 से अधिक बचावकर्ताओं को काम में लगाया। इलाके में रात को फिर से तापमान गिर गया, जिससे तलाश एवं बचाव अभियान और मुश्किल हो गया।

1,649 नए संक्रमित, 189 मरीजों की मौत: दिल्ली

सत्येंद्र ठाकुर  

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 1,649 नए मामले सामने आए हैं, जोकि 30 मार्च के बाद एक दिन में संक्रमण के सबसे कम मामले हैं। इस दौरान 189 मरीजों की मौत हो गयी। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को एक बुलेटिन जारी कर इस बात की जानकारी दी।

राजधानी में कोरोना संक्रमण की दर में भी लगातार गिरावट देखी जा रही है, जोकि अब घटकर 2.42 प्रतिशत हो गयी है। इससे पहले दिल्ली में शनिवार को कोविड-19 के 2,260 नए मामले सामने आए थे जबकि 182 मरीजों की मौत हुई थी।

नेपाल: उच्चतम न्यायालय आस-पास सुरक्षा कड़ी की

हरिओम उपाध्याय  

काठमांडू। नेपाल के प्राधिकारियों ने रविवार को उच्चतम न्यायालय की इमारत के आस-पास सुरक्षा कड़ी कर दी। मीडिया में आई खबर के मुताबिक अधिकारियों ने यह कदम राष्ट्रपति द्वारा प्रतिनिधि सभा को ‘असंवैधानिक’ तरीके से भंग करने के खिलाफ विपक्षी गठबंधन के नेताओं द्वारा शीर्ष अदालत में रिट याचिका दायर करने की तैयारी के बीच उठाया।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने शनिवार को पांच महीने में दूसरी बार प्रतिनिधि सभा को भंग करने का आदेश जारी किया। उन्होंने अल्पमत की सरकार का नेतृत्व कर रहे प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की सलाह पर नवंबर में मध्यावधि चुनाव कराने की घोषणा की। उन्होंने प्रधानमंत्री ओली और विपक्षी गठबंधन के सरकार बनाने के दावे को खारिज कर दिया। ओली और विपक्षी नेता शेर बहादुर देउबा ने अलग-अलग राष्ट्रपति से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था।हिमालयन टाइम्स ने खबर दी कि विपक्षी गठबंधन के नेता अदालत का रुख करने की तैयारी कर रहे हैं, सुरक्षा बलों ने उच्चतम न्यायालय सिंहदरबार इलाके में निगरानी बढ़ा दी है। नेपाली पुलिस ने कहा कि इलाके में भीड़ और प्रदर्शन को रोकने के लिए सुरक्षा बढ़ाई गई है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने कुछ राजनीतिक समूहों के लोगों को गिरफ्तार किया है जो सरकार के कदम के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन करने उतरे थे।

खबर के मुताबिक नेपाली कांग्रेस, माओवादी केंद्र, उपेंद्र यादव नीत जनता समाजवादी पार्टी-नेपाल और राष्ट्रीय जनमोर्चा के नेता रिट याचिका दायर करने के लिए सांसदों के हस्ताक्षर एकत्रित कर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर सत्तारूढ़ सीपीएन-यूएमएल के माधव नेपाल, झालानाथ खनाल गुट के नेताओं के भी याचिका पर हस्ताक्षर करने की उम्मीद है। विपक्षी गठबंधन ने शनिवार को आगे की रणनीति पर चर्चा करने के लिए बैठक की थी और एकजुट होकर सरकार के कथित अंसवैधानिक, पीछे ले जाने वाले, अधिनायकवादी कदम का राजनीतिक और कानूनी तरीके से विरोध करने का फैसला किया था।

16.67 करोड़ से अधिक संक्रमित, 34.54 लाख मौत

अकांशु उपाध्याय  
वाशिंगटन,रियो डि जेनेरो,नई दिल्ली। विश्वभर में कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है और इससे दुनियाभर में अब तक 16.67 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हुये हैं जबकि 34.54 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16 करोड़ 67 लाख नौ हजार 528 हो गयी है, जबकि 34 लाख 54 हजार 220 लोगों की मौत हो चुकी है।

विश्व महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कोरोना वायरस की रफ्तार थोड़ी धीमी पड़ी है तथा यहां संक्रमितों की संख्या तीन करोड़ 31 लाख चार हजार से अधिक हो गयी है और 5.89 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया में कोरोना संक्रमितों के मामले में भारत दूसरे स्थान पर और मृतकों के मामले में तीसरे स्थान पर है। पिछले 24 घंटों में 2,40,842 नये मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर दो करोड़ 65 लाख 30 हजार 132 हो गया।इस अवधि में तीन लाख 55 हजार 102 मरीज स्वस्थ हुए हैं और देश में अब तक 2,34,25,467 लोग इस महामारी को मात दे चुके हैं और जिससे रिकवरी दर 88.30 फीसदी हो गई है। इस दौरान सक्रिय मामले 1,18,001 कम होकर 28 लाख पांच हजार 399 हो गये हैं। इसी दौरान 3,741 मरीज अपनी जान गंवा बैठे और इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,99,266 हो गयी है। ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है।
इस देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर से बढ़ रहे हैं और अभी तक इससे 1.60 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं, जबकि 4.48 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ब्राजील कोरोना से मौतों के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है। संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है जहां कोरोना वायरस से अब तक 59.79 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 1.08 लाख से अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोरोना प्रभावित के मामले में तुर्की रूस से आगे निकल गया है और यहां कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 51.78 लाख से ज्यादा हो गयी है और 46,071 की मौत हो चुकी है। रूस में कोरोना संक्रमितों की संख्या 49.35 लाख हो गई है और इसके संक्रमण से 1.16 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस प्रभावितों की कुल संख्या 44.76 लाख से अधिक हो गयी है और 1.27 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। मृतकों के मामले में ब्रिटेन पांचवें स्थान पर है।

इटली में कोरोना प्रभावितों की संख्या 41.88 लाख से अधिक हो गयी है और करीब 1.25 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना से प्रभावित होने के मामले में जर्मनी ने स्पेन को पीछे छोड़ दिया है। यहां इस वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या 36.53 लाख से अधिक हो गई है और 87,385 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन में इस महामारी से 36.36 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 79,620 लोगों की मौत हो चुकी है।

अर्जेंटीना में कोरोना संक्रमितों की संख्या 35.14 लाख से अधिक हो गयी है और इसके संक्रमण से 73,688 लोगों की जान जा चुकी है। कोलंबिया में कोरोना वायरस से 32.10 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 84,228 लोगों ने जान गंवाई है। पोलैंड में कोरोना से 28.64 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और इस महामारी से 72,882 लोग जान गंवा चुके हैं। ईरान ने कोरोना संक्रमितों के मामले में मेक्सिको को पीछे छोड़ दिया है यहां कोरोना वायरस से 28.23 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 78,381 लोगों की मौत हो चुकी है।

मैक्सिको में कोरोना से 23.95 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यह देश मृतकों के मामले विश्व में चौथे स्थान पर है जहां अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 2.21 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। यूक्रेन में संक्रमितों की संख्या 22.39 लाख से अधिक है और 51,349 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। पेरू में संक्रमितों की संख्या 19.20 लाख के पार पहुंच गयी है, जबकि 67,807 लोगों की जान जा चुकी है।इंडोनेशिया में भी कोरोना संक्रमण के मामले 17.58 लाख के पार पहुंच गये हैं जबकि 48,887 लोगों की मौत हो चुकी है। नीदरलैंड में कोरोना से अब तक 16.49 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और यहां इस महामारी से 17,810 लोगों की मौत हो चुकी है। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से 16.32 लाख से अधिक लोग प्रभावित हो चुके हैं और 55,772 लोगों की मौत हो चुकी है।

पड़ोसी देश पाकिस्तान में अब तक कोरोना से नौ लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 20,251 मरीजों की मौत हो चुकी है। पड़ोसी देश बंगलादेश में भी कोरोना का प्रकोप जारी है जहां 7.87 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 12,348 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दुनिया में अन्य देशों में भी कोरोना वायरस से स्थिति खराब है।

सोनीपत में सरपंच की 7 गोलियां मारकर हत्या की

राणा ओबरॉय   

सोनीपत। जिलें के करेवड़ी गांव में सरपंच की सात गोलियां मारकर हत्या कर दी है। बताया जा रहा है बाइक सवार तीन-चार बदमाशों ने सात राउंड फायरिंग की थी जिससे सरपंच की मौत हो गई है। घटना के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची है। जानकारी के मुताबिक देर शाम को करेवड़ी गांव के सरपंच नरेश उर्फ नेशी अपनी बाइक पर हरा चारा काटकर ला रहे थे, उसी वक्त बाइक पर सवार होकर आए तीन चार बदमाशों ने फायरिंग कर दी। बताया जा रहा है कि सरपंच नरेश को बाइक से पहले उतारा गया था और उसके बाद गोली मारी। इसके बाद जब सरपंच ने भागने की कोशिश की तो हमलावरों ने पीछे से भी रेलवे लाइन पर गोलियां मारी।

गोलीबारी की आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो उन्हें सरपंच नरेश खून से लथपथ बेसुध पड़ा था। ग्रामीण उन्हें उठाकर तुरंत खानपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गए, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया।मामले की सूचना के बाद मोहाना थाना प्रभारी सुखबीर सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। वहीं घटनास्थल रेलवे लाइन के आसपास होने के चलते रेलवे पुलिस की टीम भी मौके पर बुलाई गई है। पुलिस टीम मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि परिजनों के बयान के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

निवर्तमान सरपंच नरेश कुमार पर 20 अप्रैल, 2015 को भी गोली चलाई गई थी। जिसका आरोप कुख्यात अजय उर्फ कन्नू पर था। चुनाव में भाई की हार के बाद अजय उर्फ कन्नू पर कई लोगों की हत्या करने समेत सरपंच पर जानलेवा हमला करने का मुकदमा दर्ज हुआ था। हालांकि बाद में बठिंडा में पुलिस से हुई मुठभेड़ में कुख्यात अजय उर्फ कन्नू मारा गया था।

ब्लैक फंगस के पीछे मास्क की नमी 1 बड़ा कारण

कविता गर्ग   

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर में संक्रमण और मौतों में तो बेतहाशा बढ़ोतरी हुई ही है। साथ ही नई बीमारियां भी कहर ढा रही हैं। म्‍यूकोर मायकोसिस यानी कि ब्‍लैक फंगस के कारण कई लोग अपनी आंखें खो चुके हैं, तो कई जान गंवा चुके हैं। इस बीमारी के मामले बढ़ते देख कई राज्‍य इसे महामारी घोषित कर चुके हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ब्‍लैक फंगस के मामलों में हो रही बढ़ोतरी के पीछे बड़ा कारण मास्‍क में नमी का होना है।

मास्‍क की गंदगी से आंख में फंगस

ब्‍लैक फंगस के पीछे मास्‍क में लगी गंदगी बड़ा कारण है, इसी कारण से इसके मामले बढ़ रहे हैं। खबर के मुताबिक वरिष्ठ नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ.एस.एस.लाल ने कहा है कि म्यूकोर मायकोसिस होने के पीछे लंबी अवधि तक इस्तेमाल किया गया मास्क भी हो सकता है। मास्क पर जमा होने वाली गंदगी के कणों से आंखों मे फंगस इन्फेक्शन होने की संभावना बनी रहती है। साथ ही मास्क में नमी होने पर भी इस तरह का इन्फेक्शन हो सकता है।

ऑक्‍सीजन-स्‍टेरॉयड भी जिम्‍मेदार

डॉ.लाल कहते हैं कि कोविड-19 मरीज को इलाज के कविता गर्ग नई दिल्ली। दौरान लंबे समय तक ऑक्सीजन देने के कारण भी यह फंगल इन्फेक्शन हो सकता है। चूंकि कोविड मरीज को स्टेरॉयड की हाई डोज दी जाती है, इससे उसका शुगर लेवल बढ़ने से उसे ऐसे संक्रमण होने की आशंका खासी बढ़ जाती है।

आंखों की लाली, डिस्‍चार्ज हैं शुरुआती लक्षण

इस बीमारी के आंख तक पहुंचने के शुरुआती लक्षण आंखें लाल होना, आंखों से पानी आना और कंजक्टिवाइटिस होने जैसे लक्षण हैं। बाद में आंखों में दर्द होता है और रोशनी चली जाती है। वैसे इस फंगस से इंफेक्‍शन होने की शुरुआत नाक से होती है। इसके कारण नाक से ब्राउन या रेड कलर का म्यूकस बाहर निकलता है। फिर यह आंखों में पहुंचता है और इसके बाद ब्रेन, नर्वस सिस्टम तक पहुंचने से मरीज की मौत हो जाती है।

बरसात में संक्रमण की आशंका ज्‍यादा

चूंकि यह फंगस वातावरण में पाया जाता है, लिहाजा बरसात के मौसम में ब्लैक फंगस फैलने की आशंका ज्‍यादा है। लिहाजा जरूरी है कि कोविड-19 से उबरे लोग रोजाना मास्क को डेटॉल में धोकर धूप में सुखाकर या प्रेस करके ही पहनें। इसके अलावा मास्‍क को अन्‍य कपड़ों के साथ न धोएं।

341 बच्चें संक्रमित मिलें, तीसरी लहर का आगाज

नरेश राघानी   

दौसा। राजस्थान में कोरोना की तीसरी लहर के संकेत मिल रहे हैं। इसकी वजह ये है कि दौसा में 341 बच्चे कोरोना संक्रमित पाए गये हैं। दौसा में 1 मई से 21 मई के बीच 18 साल से कम उम्र के 341 बच्चों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे प्रशासन के होश उड़ गये हैं और जिले के अस्पताल को एलर्ट कर दिया गया है। इससे पहले प्रदेश के डूंगरपुर जिले में भी 10 दिनों में 325 बच्चों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। रविवार को बाड़मेर में भी 8 साल के एक बच्चे के संक्रमित होने की जानकारी सामने आई। उसके फेफड़ों में संक्रमण मिला है। यानी राजस्थान में अब युवाओं और बुजुर्गों के मुकाबले, बच्चों में कोरोना का ज्यादा देखने को मिल रहा है।

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी थमी भी नहीं है और संभावना जताई जा रही है कि इसकी तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। दौसा के जिला कलेक्टर के मुताबिक यहां 341 बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। लेकिन इनमें से एक भी बच्चा अस्पताल में एडमिट नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए जिला अस्पताल को अलर्ट कर रखा है। साथ ही इस पर काबू पाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं।

इस बीच राजस्थान सरकार इस महामारी से निपटने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारी में जुट गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांव-गांव और डोर-टू-डोर जाकर लोगों का कोविड टेस्ट करने का अभियान शुरू करने जा रही हैं। इसके अलावा गांव में ही कोविड सेंटर बनाकर उनका इलाज भी करने की व्यवस्था पर काम किया जा रहा है।

वैसे राजस्थान में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है। पिछले कुछ दिनों से यहां कोरोना पॉजिटिव होने की दर 19 फीसदी से ज्यादा थी, लेकिन शनिवार को यह घटकर 9 फीसदी रह गई। यानी अब 100 में से 9 लोग ही कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद माना जा रहा है कि प्रदेश में लगा लॉकडाउन अगले 15 दिन और बढ़ाया जाना तय है।

सुशील को पुलिस की स्पेशल सेल ने अरेस्ट किया

अकांशु उपाध्याय   
नई दिल्ली। कई दिन से एक हत्या मामले में फरार चल रहे ओलंपिक मेडल विजेता और पहलवान सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पहलवान सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है, मिली जानकारी के अनुसार स्पेशल सेल ने सुशील के साथी को भी गिरफ्तार कर लिया है। ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार को पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने की खबर सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने इसे अफवाह बताया है।
दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि, "पहलवान सुशील कुमार को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। दिल्ली पुलिस की एक टीम पंजाब में मौजूद है। "सुशील छत्रसाल स्टेडियम में एक पूर्व अंतरराष्ट्रीय पहलवान की हत्या में शामिल होने के आरोपों का सामना कर रहे हैं और पिछले कुछ दिनों से फरार चल रहे थे।
दिल्ली की एक अदालत ने हाल में उन्हें अग्रिम जमानत देने से भी इनकार कर दिया था। सुशील ने मंगलवार को रोहिणी की जिला अदालत में अग्रिम जमानत के लिए आवेदन दिया था, जिसे अदाल ने खारिज कर दिया था।
सुशील काफी दिनों से फरार थे। पहलवान सागर धनखड़ की हत्या में आरोपी बनाए जाने के बाद चार मई से ही उनका कोई अता-पता नहीं था और इसी बारे में फीडबैक और सूचना पाने के लिए दिल्ली पुलिस ने एक लाख रुपये के नकद पुरस्कार की घोषणा की थी। इसी के बाद सुशी ने जमानत की अर्जी दी थी।
अदालत ने 15 मई को सुशील कुमार के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था। पिछले हफ्ते दिल्ली पुलिस ने कुमार के लिए लुक आउट नोटिस जारी किया था।

पीएम की एनडीएमए के अधिकारियों के साथ बैठक

अकांशु उपाध्याय   

नई दिल्ली। तूफान ताउते के बाद अब तूफान यास के बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने और 26 मई को ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों को पार करने की आशंका है। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11 बजे राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के अधिकारियों के साथ बैठक की और तूफान से निपटने की तैयारियों पर चर्चा भी की।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि चक्रवात यास के उत्तर, उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है, जो 24 मई तक एक चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है और अगले 24 घंटों में बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है।" मौसम विभाग ने कहा कि 26 मई की सुबह तक पश्चिम बंगाल के पास बंगाल की उत्तरी खाड़ी और उससे सटे उत्तरी ओडिशा और बांग्लादेश के तटों तक पहुंच जाएगा।
बंगाल में सभी एहतियाती कदम उठाए गए- ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल सरकार ने चक्रवात 'यास' के मद्देनजर सभी एहतियाती कदम उठाए हैं और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हालात का जायजा लेने के लिए खुद नियंत्रण कक्ष में मौजूद रहेंगी। ममता ने कहा कि संवेदनशील क्षेत्रों के लिए राहत सामग्री रवाना कर दी गयी है और अघिकारियों को तटवर्ती और नदी क्षेत्रों के आसपास के लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाने को कहा गया है।
नौसेना ने तैनात किए चार युद्ध पोतबंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान 'यास' के संभावित खतरे से निपटने के लिए भारतीय नौसेना ने अपने चार युद्धपोतों के अलावा कई विमानों को भी तैनात किया है। इस सप्ताह की शुरुआत में देश के पश्चिमी तट पर आए भीषण चक्रवात 'ताउते' के बाद भारतीय नौसेना ने बड़े पैमाने पर राहत और बचाव अभियान चलाया था। चक्रवात के कारण महाराष्ट्र, गुजरात, केरल, कर्नाटक और गोवा में भारी तबाही हुई थी। नौसेना ने कहा कि तूफान के संभावित खतरे से निपटने के लिए बाढ़ राहत और बचाव की आठ टीमों के अलावा गोताखोरों की चार टीमों को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भेजा गया है।
चक्रवात 'यास' से निपटने को तैयार है तटरक्षक
भारतीय तटरक्षक देश के पूर्वी तट पर विकसित हो रहे चक्रवातीय तूफान 'यास' के कारण उत्पन्न हो सकने वाली संभावित चुनौतियों से निपटने की तैयारी में जुटे हैं। ईस्टर्न सीबोर्ड में तटरक्षक स्टेशन, जहाज और विमान हाई अलर्ट पर हैं।

महिला-पुरुषों को कच्चा राशन वितरण: लॉकडाउन

हरिओम उपाध्याय                 
लखनऊ। स्वर्णकार समाज द्वारा आज अपने कार्यालय राजामंडी आगरा पर आज महिलाओं व पुरुषों को कच्चा राशन वितरण किया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष पूरन चंद वर्मा भूपेंद्र वर्मा मोनू वर्मा पूर्व प्रधान लादू खेड़ा तहसील खेरागढ़ के द्वारा आज 10 कच्चा राशन किट राजामंडी कार्यालय पर भूपेंद्र वर्मा ने अपने हाथों से समाज के गरीब महिला और पुरुषों को अपने हाथों से राशन की किट प्रदान की।
इस अवसर पर विजय वर्मा कोषाध्यक्ष, गजेंद्र वर्मा मंडल उपाध्यक्ष, राजकुमार वर्मा मंडल महामंत्री, राजकुमार वर्मा ने भूपेंद्र वर्मा लादू खेड़ा को नेम प्लेट भेंट की पटका सुआफा माला पहना कर स्वागत सत्कार किया जिला अध्यक्ष आगरा पूरन चंद वर्मा ने बताया लॉकडाउन जैसी महामारी चल रही है। लोग घर में बैठे हुए हैं और आर्थिक तंगी से जूझ रहे। उनको हमारा संगठन हर संभव मदद करने के लिए तैयार।

सीएम ने दिल्ली में 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन

अकांशु उपाध्याय           

नई दिल्ली। ​देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार आ रही गिरावट के बावजूद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने लॉकडाउन की समय अवधि 31 मई, 2021 तक बढ़ा दी है। ऐसा इसलिए है कि सीएम कोई भी रिस्क अब नही लेना चा​हते। उनका सीधा कहना है कि हमें हर हाल में अनुशासित रहना होगा, क्योंक कोरोना से अभी जंग जारी है। 

रविवार को सीएम केजरीवाल ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाते हुए इसे एक हफ्ते और लागू रहने के आदेश जारी कर दिये हैं। अब राजधानी में 31 मई तक तमाम पूर्व बंदिशें जारी रहेंगी। ज्ञातव्य हो कि यह लॉकडाउन दिल्ली में 18 अप्रैल से लागू हुआ था और 24 मई को समाप्ति थी, लेकिन अब यह जारी रहेगा।

18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का होगा टीकाकरण

हरिओम उपाध्याय              
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक जून से सभी जिला मुख्यालयों में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का कोविड टीकाकरण किया जाएगा। राज्‍य सरकार के प्रवक्ता ने रविवार को यह जानकारी दी। प्रवक्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अगले चरण में आगामी एक जून से सभी जिला मुख्यालयों पर 18-44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण किये जाने का निर्देश दिया है। 
प्रवक्ता ने कहा कि कोविड से बचाव के मद्देनजर टीकाकरण अत्यंत महत्वपूर्ण है और वर्तमान में प्रदेश के 23 जिलों में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण का कार्यक्रम चल रहा है। राज्‍य सरकार ने एक मई से 18-44 आयु वर्ग के लोगों के लिए पहले चरण में लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज, मेरठ और बरेली जिले में टीकाकरण अभियान शुरू किया।
इसके बाद दूसरे चरण में 10 मई से राज्य के सभी नगर निगम वाले 17 जिला मुख्यालयों समेत गौतमबुद्ध नगर जिले (कुल 18 जिले) में टीकाकरण शुरू किया और तीसरे चरण में इसे 23 जिलों में विस्‍त‍ारित कर दिया गया। मुख्यमंत्री ने अब प्रदेश के सभी जिलों में 18-44 आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण के निर्देश दिये हैं। सरकारी बयान के अनुसार राज्‍य के सभी जिलों में 45 वर्ष से ऊपर के लोगों का टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है और शनिवार तक कोविड टीके की 1 करोड़ 62 लाख से अधिक खुराक दी जा चुकी है।

सीएम के आदेश पर तत्काल हटाया डीएम, नियुक्त

दुष्यंत सिंह टीकम           
रायपुर। घर से लॉकडाउन में बीमार पिता के लिए दवा ​लेने निकले युवक का पहले मोबाइल सड़क पर पटका, फिर उसके गाल पर जोरदार चांटा जड़ दिया। इतने में भी मन नही भरा तो पुलिस से कह उसे डंडे भी पड़वाये। यह हरकत छत्तीसगढ़ के कलेकटर रणबीर शर्मा ने की थी। जिसके बाद सोशल मीडिया में मचे बवाल के बाद उन्हें सीएम के आदेश पर तत्काल हटाते हुए नए कलेक्टर की नियुक्त कर दी गई है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के दौरान देश भर से उच्च प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस कर्मियों द्वारा आम जनता के साथ बत्तमीजी व मारपीट करने की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। जबकि सभी सरकारों ने कोरोना कर्फ्यू लगाने के दौरान यह स्पष्ट कर दिया है कि अति आवश्यकीय कार्य से बाहर आने वालों पर किसी किस्म की कार्रवाई नही की जायेगी। इसके बावजूद विभिन्न राज्यों व जनपदों में डीएम, एसडीएम लेवल के अधिकारियों द्वारा आये दिन आम जनता के साथ बदसलूकी करने अथवा उन पर झूठे मुकदमे दर्ज करके उत्पीड़न करने के मामले लगातार प्रकाश में आ रहे हैं।दरअसल, आज छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कलेक्टर रणबीर शर्मा को हटाने के आदेश जारी कर दिये हैं। उनके स्थान पर गौरव कुमार सिंह को नियुक्त कर दिया गया है।
हाल ही में एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। जिसमें कलेक्टर रणबीर शर्मा एक युवक के साथ बत्तमीजी से पेश आते दिखाई दिये। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि युवक को कलेक्टर रोकते हैं। वह युवक बताता है कि वह अपने ​बीमार पिता के लिए दवा लेने निकला है। दवा की पर्ची भी दिखाने का प्रयास करता है, पर कलेक्टर पहले उसका मोबाइल सड़क पर पटकते हैं, फिर उसे जोरदार थप्पड़ मारते हैं। उसके बाद पुलिस वालों को भी युवक को पीटने का निर्देश देते हैं।

यूके: महिला एएसआई की सड़क दुर्घटना में मौंत हुईं

पंकज कपूर             

उधम सिंह नगर। उत्तराखंड के उधम सिंह नगर में दर्दनाक हादसा। एसएसपी नैनीताल आफिस में तैनात महिला एएसआई की घर लौटते समय किच्छा के पास सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। महिला एएसआई की मौत से जहां उसके परिजनों में कोहराम मचा है। वही पुलिस विभाग में शोक की लहर है।

प्राप्त समाचार के अनुसार, खटीमा के टनकपुर रोड निवासी महिला एएसआई कंचन सामंत आयु 39 वर्ष पुत्री शोभन सिंह नैनीताल एसएसपी कार्यालय में में तैनात थी। शनिवार की शाम ड्यूटी करने ले बाद वह स्कूटी से अपने घर खटीमा को निकली। रात नौ बजे के आसपास किच्छा तीसरी मिल के पास उसकी स्कूटी अज्ञात वाहन की चपेट में आ गई। दुर्घटना स्थल के पास स्थित ग्रामीणों की सूचना पर कोतवाल चंद्र मोहन सिंह मय फोर्स के मौके पर पहुंच गए। मृतका के मोबाइल में डायल नंबर पर फोन करने पर मौके पर पहुंचे। उसके भाई ने उसकी शिनाख्त कंचन सामंत के रूप में की।

भारत: 24 घंटे में 2.4 लाख नए मामलें सामने आएं

अकांशु उपाध्याय              

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में 2.4 लाख नए मामले आए हैं। इसी के साथ संक्रमण के रोज आने वाले मामले लगातार सातवें दिन तीन लाख से नीचे रहे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,65,30,132 हो गई है।

मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, 3,741 और लोगों के संक्रमण से जान गंवाने के बाद इस संक्रामक रोग से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 2,99,266 हो गई है। देश में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 28,05,399 रह गई है। जो संक्रमण के कुल मामलों का 10.57 प्रतिशत है। जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर 88.30 प्रतिशत हो गई है।

सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

 सार्वजनिक सूचनाएं एवं विज्ञापन

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

1. अंक-281 (साल-02)
2. सोमवार, मई 24, 2021
3. शक-1984, बैसाख, शुक्ल-पक्ष, तिथि-त्रयोदशी, विक्रमी सवंत-2078।
4. सूर्योदय प्रातः 05:58, सूर्यास्त 07:07।
5. न्‍यूनतम तापमान -14 डी.सै., अधिकतम-35+ डी.सै.। बरसात की संभावना बनी रहेगी।
6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7.स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं हैं। पीआरबी एक्ट के अंतर्गत उत्तरदायी।
8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।
9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.-20110
http://www.universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :- +919350302745  
                     (सर्वाधिकार सुरक्षित)

शराब: डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेंगा आस्ट्रेलिया

सिडनी/ बीजिंग। ऑस्ट्रेलिया ने कहा है कि वो उनके यहाँ बनी शराब पर चीन के शुल्क बढ़ाने के खिलाफ डब्ल्यूटीओ में शिकायत दर्ज करेगा। चीन ने पिछले...