बुधवार, 24 जून 2020

सेना प्रमुख ने हालात का जायजा लिया

नई दिल्ली। भारतीय सेना के प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने बुधवार को लेह और पूर्वी लद्दाख में सीमावर्ती इलाकों का दौरा कर हालात का जायजा लिया। जनरल नरवणे ने उच्च मनोबल और साहस के लिए सैनिकों की प्रशंसा की और उन्हें इसी जोश और उत्साह के साथ काम करते रहने के लिए कहा। बढ़ते तनाव के बीच, चीन की आक्रामकता जारी रहने पर भारत एक प्रतिक्रिया के रूप में सभी संभावित सैन्य विकल्पों की खोज कर रहा है। भारत ने लद्दाख में अपनी तरफ के वास्तविक नियंत्रण रेखा के 826 किलोमीटर के मोर्चे पर भी तैयारी की है। मंगलवार को उन्होंने बेस हॉस्पिटल में घायल सैनिकों से बातचीत की। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों किए गए हमले में कुल 76 सैनिक घायल हुए और 20 शहीद हो गए। उन्होंने सैनिकों से बात की और उन्हें हर कदम पर पूरी एकजुटता का आश्वासन दिया।जनरल नरवणे का यह दौरा पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चीन के साथ बढ़े तनाव के मद्देनजर हुआ है, जहां हजारों भारतीय सेना के जवान पीएलए से खतरे का सामना कर रहे वास्तविक नियंत्रण रेखा से कुछ मीटर की दूरी पर तैनात किए गए हैं।उन्होंने सैन्य बल की तैयारियों के साथ ही एलएसी पर तैनाती की भी समीक्षा की।


पृथ्वी से टकरा सकता है 'उल्का पिंड'

अंतरिक्ष से धरती की तरफ तेजी से बढ़ रही है मौत! कल पृथ्वी से टकरा सकता है एफिल टॉवर जितना बड़ा उल्का पिंड




जाने 2020 में ऐसा क्या हो गया है कि एक के बाद एक सिर्फ तबाही की खबरें ही सामने आ रही हैं। दुनिया जहां कोरोना से लड़ रही है, वहीं एक के बाद एक ऐसी आपदाएं पृथ्वी पर आ रही हैं कि लोग त्रस्त हो गए हैं। माया कैलेंडर मुताबिक, 21 जून को दुनिया खत्म होने की अफवाह अभी झूठी साबित हुई ही थी कि अब 24 जून को पृथ्वी के नजदीक से विशालकाय उल्कापिंड गिरने की खबर सामने आ रही है। नासा ने कंफर्म किया है कि ये उल्कापिंड 1 हजार 46 फीट बड़ा है। यानी एफिल टावर जितना। इसके पृथ्वी से टकराने की संभावना काफी कम है। अगर पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण उसे खींच लें, तभी कोई अनहोनी हो सकती है। इस खबर के सामने आने के बाद लोगों में एक बार फिर खौफ का माहौल है…


नासा एक विशालकाय उल्कापिंड को ट्रैक कर रहा है, जो एफिल टावर जितना बड़ा है। ये 24 जून को पृथ्वी के पास से गुजरेगा। स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने इसका नाम रॉक 441987 (2010 NY65) रखा है। कहा जा रहा है कि इसका साइज 140 से 319 मीटर तक हो सकता है। नासा ने इसे अपोलो उल्कापिंड कहा है। जो पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरते हैं। साइंटिस्ट्स के मुताबिक  पृथ्वी से इसके टक्कर की उम्मीद काफी कम है। फिर भी वो लगातार इसपर नजर बनाए हुए हैं।


बुधवार को सुबह 11:44 में ये उल्कापिंड पृथ्वी के नजदीक से गुजरेगा। ये अंतरिक्ष से पृथ्वी की तरफ एक सेकंड में 12.89 किलोमीटर की रफ़्तार से आ रहा है।




शक्तिशाली भूकंप, अब सुनामी का अलर्ट

मैक्सिको सिटी। दक्षिणी मेक्सिको के तट पर मंगलवार सुबह एक शक्तिशाली भूकंप महसूस किया गया है। इससे मध्य अमेरिका के साथ प्रशांत तटीय क्षेत्रों के लिए सूनामी का अलर्ट जारी किया गया है। दक्षिणी मेक्सिको के ओक्साका राज्य में तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे (USGS) का कहना है कि मैक्सिकों के ओक्साका में आए भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.4 दर्ज की गई है।


भूकंप आने का कारण शहर में कई इमारतें कागज की तरह हिलने लगी थी। जिसके कारण हजारों लोग दहशत से घरों से बाहर निकल कर सड़कों पर आ गए। भूकंप का केंद्र ओक्साका के प्रशांत तट पर बताया जा रहा है। द यूएस नेशनल ओसनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन ने भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी दी है। द यूएस नेशनल ओसनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार मैक्सिको, दक्षिणी मैक्सिको, ग्वाटेमाला, अल साल्वाडोर और होंडुरास में भूकंप के बाद सुनामी आ सकती है।


ग्वाटेमाला की राष्ट्रीय आपदा एजेंसी ने अपने दक्षिणी प्रशांत तट के लिए एक मीटर ऊंची लहरों के साथ सुनामी की चेतावनी जारी की है। साथ ही लोगों को समुद्र से दूर जाने की सलाह दी गई है। वहीं मेक्सिको के कुछ तटों पर 3 से 9 फीट तक की सुनामी लहरें के उठने की संभावना है। जबकि इक्वाडोर में 3 फीट तक की सुनामी लहरें संभावना है। पीटीडब्ल्यूसी के अनुसार, मध्य अमेरिका के बाकी हिस्सों में, प्रशांत तट के पास एक फुट तक की सुनामी लहरों की संभावना है।


विश्व में 92 लाख का आंकड़ा किया पार

नई दिल्ली। दुनिया भर में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर जारी है। चीन के वुहान से पिछले साल दिसंबर में शुरू हुए इस खतरनाक वायरस का फैलाव दुनिया के लगभग हर देश में फैल चुका है। दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। दुनिया में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या मंगलवार को 92 लाख का आंकड़ा पार कर गई, जबकि 4.74 लाख लोगों की जान जा चुकी है। महामारी के चपेट में आए 49.61 लाख लोग इससे उबरे भी हैं। वहीं रूस में संक्रमण की स्थिति लगातार गंभीर होती जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार विश्व भर में इस बीमारी से संक्रमितों की संख्या 92 लाख से अधिक हो गई है, जबकि इससे होने वाली मौतों की संख्या 476,900 हो गई है। कोविड-19 के मामलों की संख्या बुधवार की सुबह तक 92,39,794 थी, जबकि घातक वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 476,945 हो गई। यह खुलासा विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग(सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में किया।


सीएसएसई के अनुसार, अमेरिका 2,346,937 मामलों और 121,224 मौतों के साथ प्रभावित देशों की सूची में शीर्ष पर बना है, जबकि ब्राजील 1,145,906 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है, जबकि यहां मरने वाले लोगों की संख्या 52654 है। सीएसएसई के आंकड़ों के अनुसार, मामलों में रूस तीसरे (598,878), उसके बाद भारत (440,215), ब्रिटेन (307,682), पेरू (260,810), चिली (250,767), स्पेन (246,752), इटली (238,833), ईरान (209,970), फ्रांस (197,804), जर्मनी (192,480), तुर्की (190,165), मैक्सिको (191,410), पाकिस्तान (185,034), सऊदी अरब (164,144), बांग्लादेश (119,198), कनाडा (103,767) और दक्षिण अफ्रीका (106,108) का स्थान आता है। वहीं 10,000 से अधिक मौत वाले देश ब्रिटेन (43,011), इटली (34,675), फ्रांस (29,723), स्पेन (28,325), मैक्सिको (23,377) और भारत (14,011) हैं।


मिस्र में 24 घंटे में 1576 नए मामले :


मिस्र में 24 घंटे में 1576 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 56 हजार से अधिक हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 24 घंटे में 85 लोगों की मौत हुई है। देश भर में संक्रमण से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 2,278 हो गई।


डिजिटल तरीके से गैस-सिलेंडर की बुकिंग

प्रताप सिंह सुवाणा

 

डिजिटल तरीके से ही होगी गैस सिलेंडर की बुकिंग और भुगतान

 

मनोज सिंह ठाकुर 

नई दिल्ली। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय ने गैस एजेंसियों को डिजिटल बुकिंग का निर्देश दिया है। इसके साथ सिलेंडर घर पहुंचने पर डिलिवरी ओथेंकेटिंग (प्रमाणीकरण) कोड (डीएसी) भी जरूरी होगा। इसलिए, गैस एजेंसियों पर डिजिटल बुकिंग करने का दबाव है।

 

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों की तरफ से दिए गए डिजिटल बुकिंग लक्ष्य के मुताबिक गैस एजेंसियों को जुलाई से कम से कम अस्सी फीसदी बुकिंग डिजिटल तरीके से करनी होगी। मतलब बुकिंग के लिए एमएसएम, आईवीआरएस या व्हाट्सएप के साथ मोबाइल एप के जरिए सिलेंडर बुक करना होगा। एजेंसियों से कहा गया है कि सिलेंडर की डिलिवरी करने वाले कर्मचारी को अपने मोबाइल एप पर उपभोक्ता के मोबाइल पर आए डिलिवरी ओथेंकेटिंग कोड (डीएसी) को दर्ज करना होगा।

कंपनियों का कहना है कि एप पर डीएसी दर्ज करने से लोकेशन भी दर्ज हो जाएगी ताकि सिलेंडर सही व्यक्ति तक पहुंच जाए।

इसके साथ तेल कंपनियों ने गैस एजेंसियों को डिजिटल पेमेंट (भुगतान) का भी लक्ष्य दिया है। बड़े शहरों में एक जुलाई से कम से कम 60 फीसदी उपभोक्ताओं का डिजिटल पेमेंट होना चाहिए। छोटे शहरों में सितंबर से कम से कम पचास फीसदी डिजिटल पेमेंट होना चाहिए। इसमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थी शामिल नहीं हैं।

डिलिवरी करने वालों को आ रही दिक्कत

पेट्रोलियम कंपनियों की तरफ से जारी इन दिशानिर्देशों की वजह से घर पर सिलेंडर पहुंचाने वाले कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ गई है। एक गैस एजेंसी के प्रबंधक ने कहा कि कोरोना की वजह से लोग सिलेंडर भी घर के बाहर रखवा लेते हैं। ऐसे में डिलिवरी बॉय को उपभोक्ताओं को डिजिटल बुकिंग और पेमेंट के बारे में समझाना मुश्किल हो रहा है।

जागरूकता के लिए शेयर अवश्य करें

जनोपयोगी,कानूनी,तकनीकी, सरकारी योजनाओ, आपसे सरोकार रखने वाली नौकरियों व व्यवसाय की उपयोगी जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने व्हाट्सएप ग्रूप में नीचे दिए नंबर को जोड़े या ऊपर  दिए गए लिंक पर क्लिक करके भी आप सीधे मुझसे जुड़ सकते है।

मीना को पार्षद चुनने पर समाजिक बधाई

मीना शर्मा (विश्वकर्मा) जी को मनोनीत पार्षद चुने जाने पर विश्वकर्मा समाज ने दी बधाई

 

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश शासन एवं भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा नगर पालिका परिषद लोनी श्रीमति मीना शर्मा ( विश्वकर्मा ) जी को पार्षद मनोनीत होने पर विश्वकर्मा समाज की युवा टीम ने बड़े ही जोर शोर के साथ श्रीमती मीना शर्मा  (विश्वकर्मावंशी) जी को उनके निवास स्थान राजीव गार्डन संगम विहार पर पहुंचकर फूल मालाओ एवं विश्वकर्मा समाज जिंदाबाद के नारों के साथ स्वागत किया। श्रीमति मीना विश्वकर्मा ने संगठन व समाज के युवाओं का धन्यवाद करते हुए। युवाओ में समाज और राजनीति के प्रति नई सोच और राजनीतिक में भाग्य दारी आवश्यक होनी चाहिए एवं विश्वकर्मा समाज को आगे बढ़ने के लिए युवाओं से काफी चर्चा की गई।

मुख्य रूप से कपिल पांचाल प्रदेश महासचिव विश्वकर्मा महासभा उत्तर प्रदेश.मंडल मंत्री अंकुश पांचाल जिलाध्यक्ष विश्वकर्मा महासभा मंडल महामंत्री सचिन जांगिड़ विश्वकर्मा कमलदेव विश्वकर्मा आदित्य विश्वकर्मा  सुनील विश्वकर्मा आकाश विश्वकर्मा अनीश विश्वकर्मा राहुल विश्वकर्मा आदि मौजूद रहे।

कोरोना पर भक्ति की आस्था पड़ी भारी

संकरा बाबा में पूरी होती हैं मांगी मुरादे

मंगलवार को कौशाम्बी जिले से ही नही अपितुआसपास के जिलों के हजारो भक्तों का लगता है जमावड़ा

संक्रामक बीमारी  कोरोना पर भक्ति की आस्था भारी

आज भी बदहाली का शिकार है संकरा बाबा धार्मिक देवस्थल

 

अझुवा कौशाम्बी। सिराथू तहसील के नगर पंचायत अझुवा से डेढ़ किमी की दूरी पर भैरों बाबा(संकरा बाबा) का  प्रसिद्ध देवस्थान है जो हजारो वर्ष पुराना लोगों के आस्था का केंद्र है।

मान्यता के अनुसार यहाँ जो कुछ भी भक्ति भाव से मांगों उसे  संकराबाबा पूरा जरूर करते हैं बरसात हो या तपन यहां भक्तों का रेला लगा रहता है भैरों बाबा देवस्थान पर मंगलवार को हजारों की संख्या में भक्त यहाँ पहुँच कर बाबा से अपनी फरियाद करते है। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए पुलिस कप्तान और जिलाधिकारी के आदेशानुसार  किसी भी मंदिर में भीड़ नही लगनी चाहिए मास्क और सोसल डिस्टेंसिंग का हर हाल में पालन किये जाने के निर्देश है 

जिस किसी को धार्मिक अनुष्ठान पूजा आदि करना हो अपने अपने घरों में रहकर करे उसी के अनुपालन में रास्तों से  ही अझुवा पुलिस चौकी इंचार्ज ने अपने हमराहियों के साथ भक्तों को अपने अपने घरों में रहकर पूजा पाठ करने का अनुरोध किया 

 

सुबह से ही  अझुवा चौकी पुलिस भैरों बाबा के दरबार मे पहुंच गई थी !दूसरे जनपदों से आये हुए तमाम श्रद्धालु अपनी मनौती पूरी होने पर ही आये थे जिन्हें कोरोना वारियर्स रूपी पुलिस ने अपने  अपने घर जाने का अनुरोध करते हुए लोगों से मास्क और अंगौछा के साथ साथ सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करवाते हुए मंदिर प्रांगड़ के नीचे से  दर्शन करवाकर वापस कर दिया ।.वहीं फतेहपुर जिले के सेमौरी से आये एक बुजुर्ग श्रद्धालु  रामप्यारे ने बताया  उसके बुजुर्गों ने बताया था कि संकरा क्यों चढ़ाते हैं इसकी एक बहुत पुरानी कहानी है इस स्थान के बगल से मुख्य रेलमार्ग है एक दिन अचानक रेलवे की मालगाड़ी भैरों बाबा के स्थान पर आकर बंद हो गयी उस मालगाड़ी को स्टार्ट करने बड़े बड़े इंजीनियर आये परन्तु किसी को सफलता नही मिली। ये तमासा देखने के लिए गांव से कुछ आदमी आये उन लोगों ने इंजीनियरों से कहा बग़ल में देवस्थान है वहां जाकर संकरा चढा दो मालगाड़ी स्टार्ट हो जाएगी उपस्थित सारे लोगों ने हंसी में टाल दिया तब एक इंजीनियर ने कहा चलो पूजा कर ही लेते हैं देवस्थान में पहुंच कर इंजीनियरों ने अनुरोध किया नाम लेकर मालगाड़ी स्टार्ट किया ,स्टार्ट हो गयी तभी रेलकर्मियों ने उस देवस्थान में हर साल संकरा चढ़ाने की मन्नत मांग ली कथानुसार आज भी रेल विभाग वहां संकरा अवश्य चढ़ाते हैं।

 

नगर पंचायत के ही तमाम समाज सेवी और स्वच्छ हवा का आंनद लेने वाले सुबह भ्रमण के लिए देवस्थान में जाकर योगा से लेकर तमाम तरह की शारीरिक क्रियाएं करते हैं उनमें से एक वरिष्ठ समाजसेवी ने संकरा बाबा देव स्थान पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से मिलकर चार पांच कमरों का धर्मशाला बनवाने की मांग रखी थी जिस पर मंत्री महोदय ने जिलाधिकारी को आदेशित किया था जिस पर अझुवा के संबंधित अधिकारी ने यह कहकर मामले को ठंडे बस्ते में डलवा दिया कि संकरा बाबा धार्मिक स्थान धुमाई ग्राम सभा मे लगता है!

नियमों को ताक पर रखकर चंद महीनों के अंतराल पर एक ही सड़क के लिए दो बार सरकारी धन स्वीकृत किया गया था और दुर्भाग्य देखिए कि नगर पंचायत के वार्ड नं 3 काली माता मंदिर से भैरों बाबा (संकरा बाबा) तक जाने वाली सड़क के लिए जनप्रतिनिधि की निधि से 25लाख रुपये की लागत से इंटर लॉकिंग सड़क का निर्माण कराया गया था बावजूद इसके डूडा द्वारा कुछ महीनों के अंतराल पर इसी सड़क के लिए लगभग 92  लाख रुपये लागत से नाली सहित इंटर लॉकिंग सड़क एवम नाली निर्माण के लिए धन स्वीकृत कराया गया  था यह है कौशाम्बी के परम् भ्रस्टाचारियो का खेल जिसमे एक ही विकास कार्य के लिए भिन्न विभागों से धन स्वीकृत कराकर जनता को बेवकूफ बनाकर खून चूस रहे हैं! लोग कहते हैं संकरा बाबा की ख्यातिनुसार उस क्षेत्र को धार्मिक स्थल के रूप में विकसित नही किया जा रहा इस देव स्थान में प्रत्येक मंगलवार पचासों ट्रैक्टर छोटा हाथी पिकअप चार पहिया कारें सैकड़ों मोटरसाइकिल से भक्त दर्शन करते हैं। यदि ग्राम पंचायत धुमाई और नगर पंचायत अझुवा के जिम्मेदार, जनप्रतिनिधि समाजसेवी ठान ले तो हजारों लाखों भक्तों के आस्था का केंद्र भैरों बाबा  स्थान का एक बेहतर विकास किया जा सकता है !जिससे सैकड़ों हजारों परिवार को परिवार चलाने में सहूलियत और रोजगार भी मिल सकता है!

सन्तलाल मौर्य

मैन्युफैक्चरिंग 'चीन दुनिया की फैक्ट्री'

अकांशु उपाध्याय

बिजिंग। चीन दुनिया की फैक्ट्री है। क्या हमारे कारखाने उस क्वालिटी का और उतना माल बनाने के लिए तैयार हैं ? एक फैक्ट्री मालिक होने के नाते मेरा अनुभव यह है कि हम लोग इंजीनियरिंग और खासकर मैन्युफैक्चरिंग के मामले में दुनिया से बहुत पिछड़े हुए हैं।

अपनी फैक्ट्री में एक छोटी सी मशीन बनवाने, या किसी डाई को रिपेयर कराने के लिए मुझे जो संघर्ष करना पड़ता है, वह मुझे हैरान करता है कि हर साल करोड़ों ग्रैजुएट्स उगलने वाले इस देश के महान शिक्षा संस्थान क्यों कुछ ऐसे लोग नहीं दे पाते जो ठीक से एक डाई भी बना सकें। पिछले 20 सालों की आर्थिक तेजी में जो थोड़ा बहुत कमाल हमने दिखाया है, वह बस सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में है, मैन्युफैक्चरिंग के मामले में हम निकम्मे हैं।

क्या ऐसा इसलिए है कि भारत चिंतन करने वालों का देश रहा है। हाथ से काम करने को यहां नीची निगाह से देखा जाता है, इसलिए हमारी आबादी के सारे तेज दिमाग लोग किसी ऐसे पेशे में नहीं जाते जिसमे हाथ का काम हो। वे सिर्फ पढ़ते, सोचते हैं ! एक अमूर्त कंप्यूटर प्रोग्राम को डिकोड करना हमारे लिए अधिक आसान है बजाएं रंदा चलाकर एक लकड़ी को सीधा करने से हमारे सारे शिक्षा संस्थान सिर्फ सोचना सिखाते हैं, करना नहीं। ऐसे में उस चीन से हम कैसे जीतेंगे जो आठवीं क्लास पास करने के बाद ही बच्चे को सीधे ही कोई हुनर सिखाते हैं। वोकेशनल कोर्स कराते हैं। अपनी चीन यात्रा के दौरान मैंने जाना था कि चीन ने अपने हुनरमंदों की इज्जत की। उन्हें उद्यमी बनाया। दूसरी तरफ हमारी सरकार ने इनफॉरमल इकोनामी कह कर उनकी बेइज्जती की। सरकारी अफसरों ने उन्हें इतना डराया धमकाया कि वे बड़े होने से डरने लगे। हमारे देश में परंपरा से जो हुनरमंद आते हैं उनकी कद्र बड़ी इंजीनियरिंग इंडस्ट्रीज़ ने भी नहीं की। सिर्फ इसलिए क्योंकि ये हुनरमंद एक अलग भाषा में बात करते हैं। उनकी शब्दावली उनकी दुनिया की है। इसलिए हमारे यहां ये दोनों दुनियाऐं अलग अलग समानांतर चलती रहीं और एक दूसरे को कोई फायदा नहीं पहुंचा पााईं। अगर पढ़े -लिखे इंजीनियर अपना अहंकार छोड़ कर इन दोनों दुनियाओं के बीच में पुल बनाने की कोशिश करते तो आज हम मैन्युफैक्चरिंग के मामले में इतने पिछड़े ना होते।हबेशक हमारे युवा संख्या में बहुत हैं, पर एक बार उनकी क्वालिटी पर भी नजर डालिये। स्कूल कालेजों से कच्ची पक्की परीक्षाएं पास किए ये लोग अब खेती करने में बेइज्जती महसूस करते हैं और उनके पास ऐसा कोई ज्ञान या हुनर नहीं है जो फैक्ट्रियों के काम का हो। बारहवीं पास बच्चा किराने की दुकान पर सामान का हिसाब भी ठीक से नहीं जोड़ सकता। हमारे स्कूलों के पाठ्यक्रमों में ऐसा कुछ नहीं है जो बाजार के काम का हो। हमें इस बारे में गम्भीरता से विचार करना होगा।

चीन से बराबरी करने का सपना देखने वालों को वहां काम करने वाली महिलाओं की संख्या भी देखना चाहिए। हमने देश की 50% आबादी को बेकार घर पर बिठा रखा है। पिछले कुछ सालों की कालेजों की मेरिट लिस्ट उठा कर देखिए। ज्यादातर गोल्ड मेडल लड़कियों ने हासिल किये हैं। वे लड़कियां मैन्युफैकचरिंग सैक्टर में क्यों दिखाई नहीं देतीं ?

जिस समय हमारी महिलायें कथा कीर्तन में व्यस्त होती हैं चीन की महिलायें अपनी फैक्ट्री चला रही होती हैं।

चीन से बराबरी के सपने देखता भारतीय समाज चीन की कार्य संस्कृति को क्यों नहीं देखता ? हमारे कारखानों में कामगारों के साल के औसत कार्य दिवस दुनिया के मुकाबले बहुत कम हैं।

कारपोरेट के हमारे मैनेजर इंनइफिशिएंट हैं। हमने मैनेजर बनने की एकमात्र योग्यता टूटी-फूटी अंग्रेजी बोलना बना रखी है। ज्यादातर मैनेजर बस यही एक काम जानते हैं। चीन के लोग आज भी अपनी मातृभाषा में काम करते हैं।

अब वे भी उसी भ्रष्टाचार और अक्षमता के शिकार हो गए हैं। वे रिश्वत नहीं लेते, पर मोटी तनख्वाह लेकर बस अपनी खीज अपने मातहत कर्मचारियों पर उतारते हैं। यह बात मैं किसी किताब में पढ़कर नहीं अपने व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर कहता हूं। आप सोचेंगे यदि भारतीय समाज में इतनी बुराइयां हैं तो फिर 20 -30 सालों में हमने इतनी तरक्की कैसे की है ???

मेरे विचार में इसकी एक बड़ी वजह है ज़मीन का पैसा। 1991 में पी वी नरसिम्हा राव की सरकार ने आर्थिक सुधार लागू किए। उससे विदेशी निवेश आया, फिर अटल सरकार ने बड़े राजमार्ग बनाए, होमलोन सस्ते हुए। इन वजहों से जमीन के दामों में बहुत बड़ा उछाल आया। इसने बड़ी मात्रा में काला धन पैदा किया। यह धन किसी मेहनत या हुनर से कमाया हुआ धन नहीं था। यह जमीन के सट्टे की फसल थी। इस काले धन ने जो डिमांड पैदा की उसके लिए हमारी सप्लाई साइड तैयार नहीं थी। क्योंकि उसके पहले के 20- 25 साल देश में मंदी की वजह से नई फैक्ट्रीयां, नए कारोबार उस तादाद में नहीं लग पाए थे। रातों रात नई फैक्ट्रियां लगना संभव नहीं थी, इसलिये सप्लाई साइड की इनएफिशिएंसी के बावजूद बाजार उछलता रहा। तो हमें चीन की तरफ जाना पङा। बाप दादाओं के खेत बेचकर स्कॉर्पियो खरीदने वाला एक नया वर्ग पैदा हुआ जो जमीनों की दलाली में धनकुबेर बना। 

 अपने देश की परिस्थितियों और गरीबी के हिसाब से कोई नयी सस्ता मकान या अन्य कोई तकनीक ढूंढ़ने में किसी का ध्यान नहीं था।

कोरोना इस तरह से वरदान है कि ईजी मनी के नशे में ग़ाफ़िल हमारे देश की प्रतिभाओं को शायद यह नींद से जगा दे। मजबूरी में ही सही हम अपने कंफर्ट जोन से बाहर आएं।

कुछ दिन पहले जो N95 मास्क 100 रूपये से अधिक में मिलता था आज हमने चीन से मशीनें मँगा कर अपने यहाँ बनाना शुरू किया तो यहाँ पर उसकी कीमत मात्र 30 रूपये आ रही है।

केवल मुंह बनाकर अंग्रेजी बोलना सिर्फ भाषाई योग्यता है, तरक्की के लिए मेहनत भी करनी होती है।

 शायद हमें एहसास हो कि धर्म और जाति नहीं गरीबी और भुखमरी अधिक महत्वपूर्ण है। और इस वक्त हमें एक दूसरे का हाथ पकड़कर इस मुसीबत से पार पाना है।

दूसरे विश्व युद्ध के बाद जब दुनिया ने जर्मनी का बहिष्कार कर दिया, तब वहां के इंजीनियरों ने लगभग हर मामले में अपने देश को आत्मनिर्भर बना लिया। यदि हम वास्तव में चीन का बहिष्कार करना चाहते हैं तो तो पहले हमें अपने मेहनतकश समाज को मजबूत करने के साथ-साथ देशहित को सर्वोपरि रखकर आगे बढ़ना होगा।

अभिनन्दन के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट स्थित उदयन

डीएम मनीष वर्मा एवं एसपी अभिनन्दन के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट स्थित उदयन


कौशाम्बी। सभागार में आगामी बकरीद एवं काँवड़ यात्रा के सम्बंध में धर्मगुरुओ के साथ बैठक का किया गया आयोजन।कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर इस बार काँवड़ यात्रा पर रहेगी रोक।मंदिर में एक साथ 05 लोगो के प्रवेश पर रहेगी रोक। डीएम ने सोशल डिस्टेंस का अनिवार्य रूप से पालन करने एवं मास्क का प्रयोग करने का दिया निर्देश।बकरीद त्यौहार को लेकर सामूहिक कुर्बानी की जगह इस बार घर में दी जाएगी कुर्बानी।एसपी अभिनदंन ने समस्त प्रभारी निरीक्षकों को अपने अपने क्षेत्र में निरन्तर भृमण कर विक्रय स्थल पर विशेष सतर्कता एवं सावधानी बरतने का दिया निर्देश।


विमलेश कुमार मौर्या


4 माह का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जाए

सुनील पुरी


फतेहपुर। उपायुक्त उद्योग, जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र फतेहपुर, विकास सिंघल ने बताया कि स्पेशल कंपोनेंट योजनांतर्गत वर्ष 2020-21 में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के व्यक्तियों को स्व-रोजगार युक्त बनाने हेतु गत वर्षों के भांति इस वर्ष भी पुरुषों को इलेक्ट्रिशियन एवं महिलाओं को कम्प्यूटर साफ्टवेयर ट्रेड में प्रशिक्षण प्रदान किया जाना है, जिसमे एक माह का सैद्धान्तिक तथा तीन माह का व्यवहारिक एवं पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) जाति के व्यक्तियों को स्व-रोजगार युक्त बनाने हेतु पुरुषों को कम्प्यूटर साफ्टवेयर में प्रशिक्षण प्रदान किया जाना है जिसमे एक माह का सैद्धान्तिक एवं चार माह का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। उक्त प्रशिक्षण के लिए आयु 18 वर्ष से 45 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। गैर तकनीकी प्रशिक्षण हेतु लिखने -पढ़ने का ज्ञान आवश्यक है, तथा तकनीकी प्रशिक्षण हेतु कम से कम 8वीं पास होना आवश्यक है। इच्छुक अभ्यर्थी उक्त प्रशिक्षण हेतु निर्धारित आवेदन पत्र दिनाँक 25.07.2020 तक जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र , आबूनगर, फतेहपुर में प्राप्त एवं जमा कर सकते है। योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी हेतु किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय में संपर्क कर सकते है।


विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2020-21 में पारम्परिक कारीगरों बढई, नाई, लोहार, कुम्हार, हलवाई के प्रशिक्षण हेतु गठित चयन समिति के द्वारा साक्षात्कार दिनाँक 25.06.2020 को ट्रेड बढ़ई, 29.06.2020 को ट्रेड नाई, 01.07.2020 को ट्रेड लोहार, 03.07.2020 को ट्रेड कुम्हार एवं 06.07.2020 को ट्रेड हलवाई का प्रातः 11:00 बजे से कार्यालय जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र, आबूनगर, फतेहपुर में उक्त ट्रेडों में आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों का साक्षात्कार/चयन किया है।


विमलेश कुमार मौर्या


मजिस्ट्रेट ने हॉस्पिटलों को किया सील

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने बिना रजिस्ट्रेशन व मानक के अनुरूप संचालित न होने वाले हॉस्पिटलों को किया सील

 

गोरखपुर। जिलाधिकारी गोरखपुर के विजयेंद्र पांडियन के निर्देशानुसार शहर में बिना रजिस्ट्रेशन व मानक के अनुरूप अपना हॉस्पिटल न संचालित करने की सूचना पर जॉइंट मजिस्ट्रेट/उप जिलाधिकारी सदर गौरव सिंह सोगरवाल अपने टीम के साथ  शहर के कूड़ाघाट क्षेत्र में कई हॉस्पिटलों जैसे शुभांगी डायग्नोस्टिक सेंटर एवं गिरीजा चाइल्ड केयर मानवी हॉस्पिटल हरदेव हॉस्पिटल व जया हॉस्पिटल का औचक निरीक्षण किया  जिसमें  पाया गया कि हॉस्पिटल बिना रजिस्ट्रेशन के व आवश्यक मानकों का उल्लंघन करते पाया गया। बिना रजिस्ट्रेशन के पाए गए हॉस्पिटल को सील किया गया व बिना मानक के पाए गए हॉस्पिटल में मरीजों के प्रवेश पर रोक लगाया गया तथा हॉस्पिटल को 7 दिन के भीतर जवाब देने को बोला गया। निरीक्षण में उप जिलाधिकारी  सदर, अपर जिला स्वास्थ्य अधिकारी व तहसील सदर के कर्मचारी गण मौजूद रहे।

लखनऊः जवानों की पॉजिटिव संख्या बढ़ती

लखनऊ। केजीएमयू के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में कोरोना के लक्षण वाले 2,373 सैंपल की कल हुई जांच में 91 पाॅजिटिव मिले हैं, इनमें अकेले लखनऊ के ही 72 लोग हैं। ये जांच रिपोर्ट आज सुबह जारी की गई है। चिंता की बात ये है कि पीएसी जवानों की पाॅजिटिव रिपोर्ट की संख्या लगातार बढ़ रही है।
लखनऊ में मिले 72 पाॅजिटिव में 5, 8 एवं 9 वर्षीय तीन बालक एवं सात महिलाएं हैं तथा दो छोटी बच्चियों को भी पाॅजिटिव पाया गया है, जिसमें एक बच्ची तो केवल एक साल की है तथा दूसरी बच्ची की उम्र 7 वर्ष है। 60 पुरुष पाॅजिटिव मिले हैं जिसमें कई युवक व 60, 75 एवं 80 वर्षीय तीन बुजुर्ग भी शामिल हैं। जहां केजीएमयू की रिपोर्ट में 72 नए पाॅजिटिव की बात की गई है तो सीएमओ आफिस की ओर से लखनऊ में 62 मामले बढ़ने की बात कही गई है। इनमें नाका क्षेत्र स्थित डीएवी कॉलेज परिसर ठहराए गए पीएसी के 24 जवान, हजरतगंज में एक इंश्योरेंस कंपनी के 11 कर्मचारी, वृंदावन में स्टेट बैंक के कर्मचारियों के 8 परिजन, कानपुर रोड स्थित एलडीए कालोनी के 5, ब्लंट स्कावयर के 3, महानगर के 2 एवं काकोरी, राम स्वरूप विवि, चिनहट के कमता, तेलीबाग के एक-एक तथा एक नर्स शामिल है। अन्य 4 मरीजों का व्यौरा जुटाया जा रहा है।
इसके अलावा केजीएमयू की रिपोर्ट में कहा गया है कि संभल में 4, हरदोई में 3, शाहजहांपुर में 6, कन्नौज में 5, उन्नाव में एक मरीज की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है।


विजय आनंद वर्मा


अभियंता की गाड़ी नहर में डूबी, मौत



रेलवे अभियंता की गाड़ी नहर में डूबी,ड्राइवर बचे इंजीनियर की मौत



अयोध्या। जिले के रुदौली तहसील क्षेत्र के राष्ट्रीय मार्ग पर मवई चौराहा के पास पंजाब से पटना जाते समय रेलवे के इंजीनियर का इनोवा वाहन शारदा सहायक नहर में गिर गया।जिसमें तीन लोग सवार थे।



दो ड्राइवरों की तो किसी तरह जान बच गई। लेकिन इनोवा सहित इंजीनियर लापता हो गए थे।हालांकि स्थानीय प्रशासन व ग्रामीणों के सहयोग से मौके पर गोता खोरों द्वारा वाहन व इंजीनियर का पता लगा लिया गया है। नहर से इंजीनियर के शव को बाहर निकाला गया है। ड्राइवर के अनुसार गाड़ी नहर में गिरने के लगभग 50 मीटर दूर जाकर डूबने लगी दोनों निकलने में कामयाब हो गए। लेकिन इंजीनियर साहब नहीं निकल पाए और वाहन डूबकर लापता हो गया। मौके पर एसडीएम सीओ सहित अन्य अधिकारी पहुंच कर बचाव कार्य करवाने लगे। 

 ग्राम प्रधान का कसारी  तौकीर अहमद उर्फ कल्लन ने बताया कि तहसील रुदौली के पास मवई में आज रात लगभग 3 बजे एक innova गाड़ी जो कि पंजाब से पटना के लिए जा रही थी।कार अनियंत्रित होकर शारदा सहायक नहर में कूद गई, जिसमें 2 लोग सकुशल बच गए व एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई थी।जिसका शव नहर से निकाला गया है।मृतक इंजीनियर रेलवे विभाग के सहायक मंडल अभियंता बताये जा रहे हैं।


पदाधिकारियों ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

रामपुर। लालपुर पुल के निर्माण की मांग को लेकर कांग्रेस पदाधिकारियों ने ज़िला अधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा। ज्ञापन में कहा गया लालपुर पुल का निर्माण जनहित में बहुत आवश्यक हैं पुल के कारण जनपद के करीब 10 लाख लोगो को पुल ना होने की वजह परेशानी का सामना करना पड़ता हैं।

लोगो को आने जाने में काफी परेशानी होती हैं कांग्रेस की मांग हैं की लालपुर पुल पर राजनीति ही हैं लेकिन परेशानी जनता को हो रही हैं लालपुर का पुल एक गाव का मामला नहीं हैं यह जिले की 10 लाख आबादी को जोड़ने वाला पुल हैं।नवाबी दौर का बना पुल इतना मजबूत था जो 20-30 साल और चल सकता था नया पुल बनने के बाद भी पुराना पुल तोड़ा जा सकता था। लेकिन नफरत की राजनीति ने पुराना पुल को धाराशाही करा दिया लेकिन आज फिर से वहीं हो रहा हैं पुल को राजनीति का अड्डा बनाया जा रहा हैं लेकिन इसमें जनता का क्या कसूर हैं जनता को सिर्फ परेशानी का सामना करना पड़ रहा है अस्थाइ पुल टूटने से लोगो की परेशानियां और बढ़ गई हैं लोगो को राहत मिलने के बजाए उनकी परेशानी बढ़ रही हैं।

हम ज़िला अधिकारी रामपुर से अनुरोध करते हैं की पुल का निर्माण केवल आप ही करा सकते हैं इस प्रकड़ पर जोर देते हुए इसका निर्माण शीघ्र अतिशीघ्र कराने का कष्ट करें। ज्ञापन पर ज़िला अध्यक्ष धर्मेन्द्र देव गुप्ता, शहर अध्यक्ष मामून शाह खां, युवा कांग्रेस के ज़िला अध्यक्ष नौमान खां, एजाज खां एडवोकेट, आमिर मियां एडवोकेट, शैजी खां एडवोकेट, अमित कुमार एडवोकेट, रईस अहमद एडवोकेट, अराफात खां एडवोकेट, रघुवीर सिंह मौजूद रहे।

खरीद जांच प्रकरण में योगी को भेजा पत्र

रामपुर। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने धान और गेहूं खरीद की जांच प्रकरण में जिला अध्यक्ष समेत कई पदाधिकारियों को मुजफ्फरनगर बुलाया| पदाधिकारियों ने धान और गेहूं खरीद में गड़बड़ी के सारे साक्ष्य उपलब्ध कराए| राष्ट्रीय प्रवक्ता नेआश्वासन दिया कि इस लड़ाई में पूरी यूनियन उनके साथ है| बाद में टिकैत ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर धान और गेहूं खरीद की जांच कराने की मांग की|

राष्ट्रीय प्रवक्ता के बुलावे पर जिला अध्यक्ष हसीब अहमद और बिलासपुर ब्लॉक अध्यक्ष मनजीत सिंह अटवाल समेत कई पदाधिकारी धान और गेहूं खरीद में गड़बड़ी के सारे सुबूत लेकर बुधवार  मुजफ्फरनगर पहुंचे|राष्ट्रीय प्रवक्ता ने सारे मामले की जानकारी ली| पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय प्रवक्ता को सारे साक्ष्य उपलब्ध कराएं|  टिकैत ने आश्वासन दिया कि चाहे कोई कितने ही आरोप लगाए पीछे हटने की जरूरत नहीं|इस लड़ाई में पूरी यूनियन उनके साथ है|जरूरत पड़ी तो  किसानों के हक की आवाज दबाने वाले अधिकारियों के खिलाफ बड़े स्तर पर आंदोलन भी किया जाएगा|बाद में राष्ट्रीय प्रवक्ता ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर धान और गेहूं खरीद की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की|उन्होंने पदाधिकारियों को बताया कि वह 10 या 11 जून को रामपुर आकर अधिकारियों से बात भी करेंगे| इस मौके पर राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक इतिहासकार अशोक बालियान गुरप्रीत सिंह अटवाल, नासिर आदि उपस्थित रहे।

नवीनीकरण व मरम्मत करवाने की मांग

अतुल त्यागी

हापुड़। पूर्व विधायक श्री गजराज सिंह जी ने लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता से मुलाकात की,पूर्व विधायक गजराज सिंह ने हापुड़ विधानसभा की विभिन्न ग्रामीण जर्जर सड़कों जैसे, बाबूगढ़ से बीबी नगर मार्ग, हापुड़ से अयाद नगर मार्ग, श्यामपुर से धनोरा मार्ग, हापुड़ से दोयमी,धनोरा, वझीलपुर, खड़खड़ी मार्ग इत्यादि के नवीनीकरण हेतु ठीक करवाने की मांग की। श्री गजराज सिंह जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की गड्ढा मुक्त योजनाओं द्वारा हापुड़ विधानसभा में विभिन्न ग्रामीण जर्जर मार्गों का विकास नहीं कराया जा रहा है। हापुड़ विधानसभा में ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें बदहाल स्थिति में है उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सड़कों को गड्ढा मुक्त कराने के दावे तो बहुत किए जा रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर सड़कें बद से बदतर स्थिति में है। श्री गजराज सिंह जी ने यह भी कहा कि अपने कार्यकाल में उन्होंने हापुड़ विधानसभा में ग्रामीण सड़कों को दो बार नवीनीकरण हेतु ठीक भी कराया है। वर्तमान समय में हापुड़ विधानसभा में ग्रामीण सड़कों के जर्जर अवस्था में होने से वहां के लोगों को बेहद कठिनाईयों का सामना करना पड़ा है तो वहीं उन्हीं मार्गों पर बच्चे भी अपने स्कूलों को काफी कठिनाई से पहुंच पाते हैं। पूर्व विधायक जी ने लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता से जल्द से जल्द जर्जर ग्रामीण सड़कों के नवीनीकरण हेतु ठीक कराने के लिए निवेदन किया है। अधिशासी अभियंता ने भी पूर्व विधायक जी की आश्वाशन दिलाते हुए कहा है कि हापुड़ विधानसभा के जर्जर ग्रामीणों मार्गों को जल्द से जल्द ठीक कराया जाएगा।

 

गौरव गर्ग

संगठनों ने धूमधाम से मनाया 'जन्मदिवस'

अश्वनी उपाध्याय

गाजियाबाद। हिंदू जागरण मंच के नगर अध्यक्ष सागर शर्मा जी का जन्मदिवस उनके अावास पर बनाया सभी हिंदू संगठनों ने धूमधाम से मनाया जन्मदिवस जिसमें मुख्य रुप से हिंदू जागरण मंच जिला अध्यक्ष पवन चौधरी, प्रचार प्रमुख पंकज शर्मा, युवा वाहिनी जिला  अध्यक्ष प्रेमपाल वर्मा, नगर अध्यक्ष लोनी नितिन शर्मा,निधि शर्मा प्रचार प्रमुख, युवा वाहिनी अध्यक्ष गौरव पाराशर, मंयक पंडित उपअध्यक्ष,शिवम पंडित महामंत्री,पवन राजपूत कोषअध्यक्ष,अमित शर्मा नगर मंत्री, बजरंग दल से जिला संयोजक गुलशन राजपूत,

निधि गुप्ता मोदीनगर,हिंदू रक्षा दल से जिला सह संयोजक राजू पंडित, ब्लॉक अध्यक्ष श्रेय अरोरा  जी रहे सागर शर्मा जी जन्म दिवस पर बोला मै सदैव हिंदुत्व की लडाई लड़ते आ रहा हू 7 सालो से लड़ते आ रहा हू  आगे भी लड़ते रहूंगा मै रहू़ू या ना रहू लेकिन मेरा हिंदू धर्म रहना चाहिए  और जन्मदिवस पर हिंदू बहनो ले  Gift के रूप मै कुछ मांगता हू tiktok जैसे website पर ना जाये इनका बाहिष्कार करे और लव जिहाद से दूर रहे।

कार्रवाई को अंतिम रूप दिया जाएः योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के प्रसार को रोकने के मेडिकल स्क्रीनिंग को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि एक लाख से अधिक मेडिकल स्क्रीनिंग टीम के गठन की कार्रवाई को अन्तिम रूप दिया जाय। योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को यहां लोक भवन में एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा की।


उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने में मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इसके लिये एक लाख से अधिक मेडिकल स्क्रीनिंग टीम के गठन की कार्रवाई को तत्काल अन्तिम रूप दिया जाय। टीम के सदस्यों को प्रशिक्षण दिया जाय। उन्हें सभी आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराई जाए। मेडिकल स्क्रीनिंग टीम को इंफ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराया जाए। टीम के सदस्यों के लिए मास्क, ग्लव्स तथा सेनिटाइजर की व्यवस्था भी की जाए। टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लिए जाएं। सबसे अधिक प्रभावित 11 नोडल अधिकारी के तौर पर तैनात प्रशासनिक अधिकारियाें तथा वरिष्ठ चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ शासन स्तर से निरंतर संवाद रखा जाए। इनके फीडबैक के आधार पर आवश्यकतानुसार जरूरी कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि सभी जिलों के लिए नामित विशेष सचिव स्तर के अधिकारियों को आवंटित जिले के कोविड एवं नाॅन कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं का नियमित जानकारी ली जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि लक्षणरहित कोरोना संक्रमित को कोविड हाॅस्पिटल में रखा जाए। ऐसे व्यक्तियों के स्वास्थ्य का नियमित परीक्षण किया जाए। अस्वस्थ होने की दशा में इन्हें उपचार के लिये तत्काल कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाए। चिकित्साकर्मियों को मेडिकल इंफेक्शन से सुरक्षित रखने के लिए इनके प्रशिक्षण कार्यक्रम निरंतर जारी रखे जाएं। पुलिस व पी.ए.सी. कर्मियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी सावधानियां बरती जाएं। योगी अदित्यनाथ ने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती रोगियों के परिजनों से संवाद रखते हुए उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की प्रतिदिन जानकारी दी जाए। रोगियों को सुपाच्य भोजन तथा पीने के लिए गुनगुना पानी उपलब्ध कराया जाए। कोविड-19 के उपचार कार्य में ‘108′, ‘102′, ए.एल.एस. तथा निजी अस्पतालों की एम्बुलेंस का उपयोग किया जाए।


यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी एम्बुलेंस में ऑक्सीजन उपलब्ध रहे। एम्बुलेंस में पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाए। ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में सेनिटाइजेशन का कार्य निरंतर जारी रखा जाए। उन्होंने कहा कि कामगारों/श्रमिकों को केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने की कार्रवाई निरंतर जारी रखी जाए।


कामगारों/श्रमिकों को आवश्यकतानुसार बैंक से ऋण उपलब्ध कराने में एमएसएमई विभाग द्वारा मदद की जाए। योगी आदित्यनाथ ने पर्यावरण, प्राकृतिक संतुलन एवं जल संरक्षण के लिए वृक्षारोपण की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि 25 करोड़ वृक्षारोपण के लिए कार्य योजना तैयार करते हुए स्थलों को चिन्ह्ति कर लिया जाए। लक्ष्यों के आवंटन के अनुसार कार्यों का अनुश्रवण भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि वृ़क्षारोपण कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए।


प्रदेश के 20 लाख कर्मचारियों की लड़ाई

अखिलेश यादव की विडीयो काल से गद गद सपाई लड़ेंगे प्रदेश के १७ लाख कर्मचारियों की लड़ाई

 

अकांंशु उपाध्याय

गाजियाबाद। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव इन दिनों तमाम शहरों के कार्यकर्ताओं से लगातार विडीयो कॉल कर संपर्क कर रहे हैं। महानगर मीडिया प्रभारी सै०मो०अस्करी ने बताया की प्रयागराज के युवा नेता देव बोस से अखिलेश यादव ने विडीयो काल कर जनपद के माजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं व खास तौर से फूलपूर विधान सभा क्षेत्र में पार्टी की गतिविधयों की जानकारी ली। देव बोस ने अखिलेश यादव को प्रदेश सरकार के इशारे पर कर्मचिरीयों के उत्पीड़न की जानकारी दी वहीं असमा जैसे काले क़ानून के अन्तर्गत कर्मचारियों के हक़ मे चलाए जा रहे आन्दोलन को दबाने के लिए यूनियन के पदाधिकारीयों के उत्पिड़न और जेल भेजने की धमकी से भी अवगत कराया।अखिलेश यादव ने सपा कार्यकर्ताओं को निर्देशित करते हुए कहा की आप सब एक जूट हो कर प्रदेश के १७ लाख सरकारी कर्मचारियों की लड़ाई लड़ें।देव बोस ने आज एक बैठक कर युवाओं से आहवाहन किया की बहोत जल्द ही सपाई सरकारी कर्मचारियों की हक़ की लड़ाई लड़ने को सड़को पर उतरेंगे।आप सब आन्दोलन के लिए तय्यार रहें।समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यक सभा के प्रदेश सचिव मो०शारिक़ ने बैठक में आबकारी,शिक्षा,बिजली विभाग,जल संस्थान समेत सभी प्रदेश सरकार के अधीन कर्मचारियों के भत्ते समाप्त करने आदि मुद्दे को को गम्भीर मानते हुए आनदोलन को व्यापक स्तर पर चलाने की बात कही।कहा प्रदेश सरकार जन विरोधी हो कर कार्य कर रही है।विडम्बना यह है की लॉकडाउन के दौरान सेवा भाव वाले सपाईयों पर महामारी एक्ट मे मुक़दमे लादे जा रहे हैं और भाजपाईयों को हर तरहा की छूट दी जा रही है। वहीं आबकारी विभाग के कर्मचारियों को लगभग ढ़ाई वर्षो से वेतन न दे कर उनका उत्पिड़न किया जा रहा है और जो अपनी आवाज़ उठा रहे हैं उनका जबरन स्थानान्र्तण कर दिया जा रहा है जो हम लोग बरदाश्त नहीं कर सकते।बैठक में पूर्वांचल विधुत कर्मचारी यूनियन के अमल डे सहित युनियनों के नेता शामिल रहे और अखिलेश यादव के कर्मचारियों की लड़ाई लड़ने और सर्मथन व्यक्त करने पर आभार व्यक्त किया।इस मौक़े पर सै०मो०अस्करी,मो०शारिक़,पीयुष श्रीवास्तव,रोहित यादव,सै०आबिद अली,पंकज पाण्डेय,शिव यादव,अधिवक्ता रुपनाथ यादव,औन ज़ैदी आदि उपस्थित रहे।

डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट देगें

प्रयागराज। यूपी बोर्ड 2020 की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को पहली बार डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट देने जा रहा है। 27 जून को 12.30 बजे परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर रिजल्ट तो अपलोड कर दिया जाएगा। लेकिन सचिव नीना श्रीवास्तव के डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट अपलोड होने में दो-तीन का समय लगेगा। सूत्रों के अनुसार हर साल रिजल्ट के समय इंटरनेट से जो अंकपत्र बच्चों को मिलता है उसकी कोई कानूनी मान्यता नहीं होती।


लेकिन डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट प्रवेश से लेकर नौकरी तक में मान्य होती है। यही कारण है कि पहले इंटरमीडिएट के बच्चों को ये विशेष रूप से तैयार अंकपत्र देने की तैयारी है ताकि उन्हें आगे स्नातक या अन्य प्रवेश में किसी तरह की परेशानी न हो। बाद में हाईस्कूल के बच्चों को उपलब्ध कराई जाएगी। इसे स्कूलों के माध्यम से बच्चों को देने पर विचार चल रहा है। ताकि प्रधानाचार्यों की जिम्मेदारी तय की जा सके।प्रधानाचार्य बोर्ड की वेबसाइट से डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट डाउनलोड कर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए उसे बच्चों को बांटेंगे। बाद में हालात सामान्य होने पर अंकपत्र सह प्रमाणपत्र छपवाकर पहले की तरह स्कूलों से बंटवाया जाएगा। दरअसल कोरोना के कारण अंकपत्र सह प्रमाणपत्र छपवाने में भी परेशानी हो रही है। हर साल रिजल्ट घोषित होने के 15 दिन बाद बच्चों को स्कूलों के माध्यम से मार्कशीट उपलब्ध कराई जाती है। लेकिन इस बार बोर्ड की समयसीमा के अंदर अंकपत्र सह प्रमाणपत्र छपवाने में भी कठिनाई आ रही है। अब तक स्कूलों के खुलने की कोई तारीख भी तय नहीं हो सकी है।


यूपी बोर्ड रिजल्ट आप www.livehindustan.com पर भी देख सकेंगे। अगर आप चाहते हैं कि रिजल्ट घोषित होती ही आपके मोबाइल पर अलर्ट आ जाए तो उसके लिए आप ऊपर दिए गए बॉक्स में अपनी डिटेल्स डालकर रजिस्ट्रेशन कराएं। जैसे ही यूपी बोर्ड 10वीं 12वीं रिजल्ट जारी होगा, आपके मोबाइल पर अलर्ट आ जाएगा जिसमें दिए गए लिंक पर क्लिक कर रिजल्ट चेक कर सकेंगे।


1 जुलाई से बदल जाएंगे बैंकिंग रूल्स

नई दिल्ली। 1 जुलाई से कई बैंकिंग रूल्स बदलने वाले हैं। जिनके बारे में जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने का नियम बदलने जा रहे हैं।  तो वहीं Loan Moretorium, बचत खाते में Minimum Balance की सीमा हटाने जैसे चीजें शामिल हैं। अब 30 जून के बाद से बैंक ये सभी रूल्स बदलने वाले हैं। ऐसे में यह जान लेना आपके लिए जरूरी है की क्या-क्या चीजें बदल रही है क्योंकि एक छोटी सी गलती अपको भारी पड़ सकती है।


PNB घटा रहा है सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने बचत खाते (सेविंग अकाउंट) पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की है। 1 जुलाई से बैंक के बचत खाते पर अधिकतम 3.25 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा। पीएनबी के बचत खाते में 50 लाख रुपए तक के बैलेंस पर 3 फीसदी सालाना और 50 लाख से ज्यादा के बैलेंस पर 3.25 फीसदी सालाना की ब्याज दर के हिसाब से ब्याज मिलेगा। इससे पहले देश का सबसे बड़े बैंक एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक ने भी बचत कहते पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की थी।


1 जुलाई से बदल जाएगा ATM से कैश निकालने का नियम
लॉकडाउन और कोरोना के कारण 1 जुलाई से एटीएम से कैश निकालने के नियम में बदला होने जा रहे हैं, जो आपकी जेब पर बोझ बढ़ाएंगे। एटीएम कैश विड्रॉल 1 जुलाई से आपके लिए महंगा होने जा रहे हैं। वित्त मंत्रालय ने एटीएम से कैश विड्रॉल करने के लिए सभी ट्रांजैक्शन चार्जेस हटा लिए थे। सरकार ने तीन महीनों के लिए एटीएम ट्रांजैक्शन फीस हाटकर लोगों को कोरोना संकट के बीच बड़ी राहत दी थी। ये छूट सिर्फ तीन महीनों के लिए दी गई थी, जो कि 30 जून 2020 को खत्म होने वाली है।


औसत न्यूनतम बैलेंस रखने की मियाद खत्म
कोरोना काल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि किसी भी बैंक में बचत खाते Saving Account में औसत न्यूनतम बैलेंस (Average Minimum Balance) की अनिवार्यता नहीं होगी। यह आदेश अप्रेल से जून महीने तक के लिए था। ऐसे में खाते में मिनिमम बैलेंस ना होने पर भी लोगों को किसी तरह का जुर्माना नहीं चुकाना था। लेकिन अब 30 जून को इस फैसले की मियाद खत्म होने वाली है और इसका सीधा असर आप पर होने वाला है।


संक्रमित विधायक की मौत, खेद व्यक्त

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस पार्टी के विधायक तमोनाश घोष की बुधवार को मौत हो गई है। वो मई महीने के आखिर में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उनकी उम्र 60 साल थी। उनका कोविड-19 का इलाज चल रहा था। उनकी बुधवार को अस्पताल में ही मौत हो गई। वो पार्टी में पिछले 35 सालों से थे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर शोक जताया है।


ममता ने एक ट्वीट कर लिखा, ‘बहुत दुखद, फल्टा से तीन बार विधायक रहे और 1998 पार्टी के ट्रेजरी रहे तमोनाश घोष नहीं रहे। वो हमारे साथ 35 सालों से थे। वो पार्टी और लोगों के प्रति समर्पित रहे। अपने सामाजिक कार्य से उन्होंने बहुत योगदान दिया। ममता ने एक दूसरे ट्वीट में उनके परिवार को संवेदना व्यक्त करके हुए लिखा, ‘उनके जाने से कभी न भर सकने वाली क्षति हुई है। मैं हम सबकी तरफ से उनकी पत्नी झरना, उनकी दो बेटियों और उनके शुभचिंतकों के सामने संवेदना प्रकट करती हूं।’


अब पाएं अंडरआर्म्स से छुटकारा

अक्सर हम अपने चेहरे की सुंदरता पर तो बहुत ध्यान देते हैं और इनकी देखभाल के लिए तमाम उपाय अपनाते हैं। मगर इस बीच हमारे अंडरआर्म्स ऐसे ही रह जाते हैं। डार्क अंडरआर्म्स की याद तब ही आती है जब हमें स्लीवलेस कपड़े पहनने होते हैं। दरअसल, हम जो कॉस्मेटिक्स इस्तेमाल करते हैं उनमें मौजूद केमिकल्स आदि की वजह से भी अंडरआर्म्स की स्किन काली पडऩे लगती हैं और बेजान सी हो जाती है। ऐसे में अन्य अंगों की तरह इनकी भी देखभाल किए जाने की जरूरत है। कुछ घरेलू उपाय अपना कर डार्क अंडरआर्म्स की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। हम आपको बताते हैं डार्क अंडरआर्म्स से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाय।


नींबू एक एंटीऑक्सीडेंट होने के साथ-साथ नेचुरल ब्लीच का काम भी करता है, वहीं शहद स्किन को हाइड्रेट करके उसे मुलायम बनाता है। अंडरआर्म्स को साफ करने के लिए नींबू के छिलके लें. इन छिलकों पर कुछ बूंदें शहद की डालें। इसके बाद इसे डार्कअंडरआर्म्स की स्किन पर रगड़ें। कुछ देर बाद इसे साफ कर दें। लगातार कई सप्ताह तक यह तरीका अपनाने से अंडरआर्म्स की डार्क स्किन साफ होने लगेगी।


इसके अलावा बेसन और गुलाब जल के पैक में थोड़ा सा दही मिला कर भी पेस्ट तैयार किया जा सकता है। इसको भी अंडरआर्म्स की स्किन को साफ करने के काम में लिया जा सकता है। इसे कुछ देर स्किन पर लगा रहने दें और इसके सूख जाने पर हल्के हाथ से धीरे-धीरे इसे रगड़ कर साफ कर लें और सादी पानी से धो लें। सप्ताह में कम से कम चार दिन इस तरीके को अपनाएं और इससे अपनी स्किन को साफ करें. कुछ ही समय में फर्क नजर आने लगेगा।


ब्रिगेडियर सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया

चंडीगढ़। बेहतर प्रशिक्षण और कौशल से लैस स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप को और मजबूत करने के लिए पंजाब सरकार ने तीन साल के लिए उप महानिरीक्षक की रैंक पर ब्रिगेडियर गौतम गांगुली (सेवानिवृत्त) को सुरक्षा सलाहकार (प्रशिक्षण और संचालन) नियुक्त किया है।


गांगुली ने सशस्त्र बलों में 33 से अधिक वर्षो तक सेवा दी, जिसमें 2015-19 से राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के साथ प्रतिनियुक्ति पर चार साल और आतंकवाद रोधी अभियानों का बतौर कमांडर संचालन किया। वह पंजाब, जम्मू एवं कश्मीर और गुजरात में कई ऑपरेशनल डिप्लॉयमेंट में भी शामिल रहे, जिसमें ऑपरेशन धांगू (पठानकोट आईएएफ बेस पर हमला) भी शामिल था। एक सरकारी बयान में कहा गया है कि उनकी ऑपरेशंस में विशेषज्ञता से स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप, आतंकवाद रोधी बल के संचालन और प्रशिक्षण को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि गांगुली के बंधक स्थितियों को संभालने के अलावा ऑपरेशंस और रेड्स की अगुवाई करने की उम्मीद है।


दंपत्ति ने खाया ज़हर, पत्नी की मौत

लखीमपुर। लखीमपुर जिले में एक नव-विवाहित दंपती ने अपनी शादी के 15 दिन बाद ही मीट पकाने को लेकर हुए झगड़े के बाद जहर खा लिया। मंगलवार को इलाज के दौरान पत्नी की मौत हो गई, वहीं पति की हालत गंभीर बनी हुई है।घटना सोमवार को इसानगर इलाके में हुई। यहां रहने वाले 22 साल के गुरु दयाल की 12 जून को 19 साल की रेशमा से शादी हुई थी। शाकाहारी रेशमा ने अपने पति के किचन में मीट बनाने पर आपत्ति जताई लेकिन पति के न मानने पर झगड़ा बढ़ गया। बाद में रात में दोनों ने कुछ जहरीला पदार्थ खा लिया।


इसानगर पुलिस स्टेशन के स्टेशन हाउस अधिकारी सुनील सिंह ने बताया, “दंपति ने रसोई में नॉनवेज पकाने को लेकर हुए झगड़े के बाद आत्महत्या का प्रयास किया। पत्नी की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई और पति की हालत गंभीर है। अभी तक हम बयान दर्ज नहीं कर पाए हैं। मामले में कोई प्राथमिकी भी दर्ज नहीं की गई है।” उसी जिले में ऐसी ही एक घटना में 26 साल के व्यक्ति ने पत्नी से विवाद के बाद आत्महत्या कर ली। बरेली जिले के रहने वाले अवधेश अवस्थी रविवार को अपनी पत्नी अंशु के साथ लखीमपुर के देवरिया गांव में अपने ससुराल आए थे। सोमवार की रात पत्नी से झगड़े के बाद अवधेश ने जहर खा लिया और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। अवधेश के परिवार ने अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है।


यूपी में मिलेंगा 1 करोड़ लोगों को रोजगार

लखनऊ। कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर एक दिन में एक करोड़ से ज्यादा रोजगार देने का रिकार्ड बनाने जा रहे हैं। 26 जून को इसे लेकर एक बड़ा आयोजन रखा गया है। जिसमें खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ऑनलाइन मौजूद रह कर योगी की हौसला अफजाई करेंगे। एक साथ एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाला उप्र पहला और इकलौता राज्य होगा।


मुख्यमंत्री कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार योगी खुद इस योजना की हर रोज समीक्षा कर रहे हैं। टीम -11 की की बैठक में भी उन्होंने इस मेगा शो को लेकर गहन समीक्षा की। प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से इस कार्यक्रम को लेकर स्वीकृति मिल चुकी है। लॉकडाउन के बाद से पीएम मोदी पहली बार किसी राज्य से जुड़े ऐसे किसी आयोजन में शिरकत करेंगे।


दरअसल मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश में प्रवासी कामगारों की आमद के साथ ही हर हाथ को काम, हर घर में रोजगार की तैयारी कर ली थी। राज्य सरकार इसी सूत्र वाक्य के साथ आगे बढ़ी। यही वजह है कि राज्य में प्रवासी कामगारों के आने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने सभी की स्किल मैपिंग कराने के निर्देश जारी किए थे। श्रमिकों को सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के दौरान उनके भोजन और स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था की। साथ ही क्वारटींन सेंटर में ही उनके स्किल मैपिंग का भी इंतजाम किया गया। आज उप्र सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है। योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ भी चुकी है। अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंचने वाला है। यही वजह कि योगी सरकार अब एक करोड़ रोजगार के इस आंकड़े को एक उदाहरण के तौर पर प्रस्तुत करना चाहती है।


मुख्यमंत्री लगातार यह कहते रहे हैं कि दूसरे प्रदेशों से लौटने वाले श्रमिक कामगार हमारी पूंजी है। हम इनको इनके हुनर के अनुसार स्थानीय स्तर पर रोजगार देंगे। इसीलिए जो भी श्रमिक घर आए हैं स्किल मैपिंग के जरिए उनकी दक्षता का पूरा ब्यौरा एकत्र किया गया। विभिन्न विभागों से यह पूछा गया कि वह अपने यहां किस दक्षता के कितने लोगों को रोजगार दे सकते हैं? हर एमएसएमई इकाई से कहा गया कि वह अपने यहां कम से कम एक अतिरिक्त रोजगार का अवसर सृजित करें। क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के पांच मई को 57 हजार से अधिक इकाईयों को ऑनलाइन लोन दिया गया। 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई को लोन दिया जाए।


मंत्रिमंडल का जल्दी विस्तार होगाः चौहान

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य के मंत्रिमंडल का जल्दी ही विस्तार हो जाएगा। इसके लिए राज्य में संगठन से उनकी चर्चा हो गई है और जल्दी ही दिल्ली भी जाएंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार को संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार जल्दी होगा। इसके लिए उनकी प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा व महामंत्री सुहास भगत के साथ बैठक हुई, इसका मुख्य विषय था मंत्रिमंडल का विस्तार, शीघ्र ही मंत्रिमंडल का विस्तार होने वाला है। मंत्रिमंडल विस्तार के सभी पहलुओं पर विस्तार से चर्चा हुई, दिल्ली में चर्चा होना है और उसके बाद मंत्रिमंडल का जल्दी विस्तार कर लिया जाएगा।


ज्ञात हो कि राज्य में ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने और उनके साथ तत्कालीन 22 विधायकों द्वारा सदस्यता से इस्तीफा दिए जाने के चलते कांग्रेस की कमल नाथ के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई थी और 15 माह बाद फिर भाजपा की सरकार बनी। 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान ने बतौर मुख्यमंत्री शपथ ली थी, उसके लगभग एक माह बाद पांच मंत्रियों को शपथ दिलाई गई, उसके बाद से मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा चल रही है।


पोंजी घोटाले में शामिल अधिकारी की मौत

बेंगलुरु। करोड़ों रुपये के आईएमए पोंजी घोटाले में शामिल वरिष्ठ आईएएस अधिकारी बी.एम. विजयशंकर ने अपने घर में आत्महत्या कर ली। वह 59 वर्ष के थे। एक अधिकारी ने बताया, “विजयशंकर को देर शाम शहर के दक्षिणी उपनगर जयनगर में उनके आवास की पहली मंजिल पर उनकी पत्नी ने एक कमरे में फांसी पर लटका देखा।”


घटना तब सामने आई जब विजयशंकर की पत्नी जो नीचे थीं, वह उनसे मिलने के लिए ऊपर गईं। परिवार ने पुलिस को सूचित किया और फिर उनके शरीर को शव परीक्षण के लिए राजकीय अस्पताल भेजा गया। विजयशंकर को 2018-19 के दौरान शहर में करोड़ों रुपये के आईएमए घोटाले में शामिल होने के बाद गिरफ्तार किया गया था और जेल भेजा गया था।अधिकारी ने आगे बताया, “कर्नाटक कैडर के इस अधिकारी को सेवा से निलंबित कर दिया गया था, जब बेंगलुरु शहरी जिले के उपायुक्त रहने के दौरान उन्होंने आईएमए घोटाले के मोहम्मद मंसूर खान से 1.5 करोड़ रुपये रिश्वत लेने की बात स्वीकार की थी। हालांकि उन्होंने बाद में 5 करोड़ रुपये की मांग की थी।”


राज्य सरकार ने हाल ही में विजयशंकर के निलंबन को रद्द कर दिया था और उन्हें नागरिक संबंधी सेवाएं प्रदान करने के लिए सकला योजना के आयुक्त के रूप में तैनात किया। उन्होंने आगे कहा, “विजयशंकर तब से ही दबाव में थे जब से उन्हें पता चला था कि राज्य सरकार ने घोटाले की जांच कर रही सीबीआई को उनसे पूछताछ करने और उनके खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी है।”भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम में संशोधन से राज्य सरकार की सरकारी कर्मचारी की आपराधिक जांच के लिए मंजूरी अनिवार्य है। बता दें कि जून 2019 में 4,000 करोड़ रुपये के घोटाले में उनकी कथित संलिप्तता सामने आने के बाद खान और आई- मौद्रिक सलाहकार (आईएमए) के 5 निदेशकों को पिछले साल गिरफ्तार कर लिया गया था।


9 सीटों पर 6 जुलाई को होगा मतदान

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने बिहार में द्विवार्षिक विधान परिषद चुनाव के लिए दो टिकट घोषित किए हैं। पार्टी ने पूर्व मंत्री सम्राट चौधरी और संजय प्रकाश को चुनाव मैदान में उतारा है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देश पर पार्टी महासचिव अरुण सिंह ने बुधवार को यह सूचना जारी की।


भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद दोनों उम्मीदवारों के नाम घोषित हुए हैं। सम्राट चौधरी बिहार सरकार में मंत्री रह चुके हैं। वह कुशवाहा समाज से आते हैं। बिहार विधान परिषद की खाली हुई नौ सीटों के लिए 6 जुलाई को मतदान होगा। चुनाव आयोग के मुताबिकए 18 जून से 25 जून तक नामांकन पत्र दाखिल होंगे, वहीं 26 जून को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 29 जून तक नामांकन पत्र वापस लिए जाएंगे।


लश्कर के चार आतंकी किए गिरफ्तार

बारामूला। जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षा बलों के संयुक्त अभियान में लश्कर-ए-तैयबा के चार आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी।


उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों की उपस्थिति की सूचना मिलने के बाद सोपाेर के अथोरा, चानपोरा, पुथकाह मुकाम समेत विभिन्न जगहों पर तलाश अभियान चलाया। इस दौरान चार आतंकवादियों- इरफान खान, कैसर रहमान, सुहैल अहमद और इरफान मीर को गिरफ्तार किया गया। सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार आतंकवादियों ने कबूल किया है कि वे लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहे थे और कई ग्रेनेड एवं अन्य तरह के हमलों में शामिल रहे हैं।


तीन राज्य संक्रमण से अधिक प्रभावित

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) से महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु और गुजरात सबसे अधिक प्रभावित हैं और राष्ट्रीय राजधानी एवं इन तीन राज्यों में संक्रमण के कुल 2,98,586 मामले सामने आए हैं जो देशभर में अब तक इस वायरस से संक्रमित कुल आबादी का 65.45 फीसदी हैं।


केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 15,968 नये मामले सामने आये हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,56,183 हो गई है। देश में अब तक इस महामारी से कुल 14,476 लोगों की मौत हुई है तथा 2,58, 685 लोग स्वस्थ हुए हैं। देश में इस समय कोरोना वायरस के 1,83,022 सक्रिय मामले हैं।


वित्तीय वर्ष में वेतन नहीं लेंगे अंबानी

मुंबई। एशिया के सबसे अमीर इंसान एवं रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के मालिक मुकेश अंबानी ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण चालू वित्त वर्ष में कंपनी से वेतन नहीं लेने का निर्णय लिया है। आरआईएल की 2019-20 की सालाना रिपोर्ट में बताया गया है कि अंबानी ने 2020-21 वित्त वर्ष में कोरोना महामारी के चलते वेतन नहीं लेने का फैसला किया है।


मुकेश अंबानी ने आरआईएल के हाल ही में लक्ष्य से नौ महीने पहले पूरी तरह कर्जमुक्त होने का ऐलान किया था। कंपनी की मंगलवार को जारी 2019-20 की रिपोर्ट के अनुसार अंबानी का अपनी मुख्य कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज से वार्षिक वेतन पिछले 12 सालों के बराबर 15 करोड़ रुपये ही रहा। अंबानी का 2008-09 में वेतन,भत्ता और कमीशन सभी मिलाकर वार्षिक 15 करोड़ रुपये था और तब से लगातार वह इतना ही वेतन ले रहे हैं हालांकि कंपनी के सभी पूर्णकालिक निदेशकों के वेतन-भत्तों आदि में पिछले वित्त वर्ष के दौरान खासी बढ़ोतरी हुई। रिपोर्ट के अनुसार कोविड-19 की वजह से अंबानी ने इस वर्ष अप्रैल के अंत में ही अपना वेतन छोड़ने का निर्णय किया था । कोविड-19 के कारण लाॅकडाउन को देखते हुए इसी दौरान कंपनी के अधिकतर कर्मचारियों के वेतन में दस प्रतिशत से लेकर आधे वेतन की कटौती करने का फैसला भी किया गया था। कंपनी के मुताबिक अन्य कार्यकारी निदेशकों ने भी अपना मेहनताना 50 प्रतिशत तक छोड़ने का फैसला किया है।


रिपोर्ट के मुताबिक समाप्त वित्त वर्ष में अंबानी को मिले कुल मिली वेतन में 4.36 करोड़ वेतन और भत्तों की मद में थे, जो पहले के वित्त वर्ष में 4.45 करोड़ रुपये से कम था। अंबानी को 2019-20 में कमीशन से मिलने वाली राशि पहले के बराबर 9.53 करोड़ रुपये ही रही, जबकि ऊपरी लाभ 31 लाख से बढ़कर 40 लाख रुपये हो गए। अंबानी को वित्त वर्ष में सेवानिवृत्ति लाभ के रूप में 71 लाख रुपये मिले हैं। सोमवार को ही रिलायंस इंडस्ट्रीज को बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देश की पहली 150 अरब डालर की कंपनी होने का श्रेय मिला। अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज बहुत जल्द दुनिया की टॉप-50 कंपनियों की सूची में भी शामिल हो सकती है। फिलहाल विश्व में रिलायंस अभी 58वें स्थान पर है। कंपनी का बाजार पूंजीकरण 151 अरब डॉलर है। वह इस मामले में यूनिलीवर, चाइना मोबाइल और मैकडोनाल्ड्स जैसी कंपनियों से ऊपर है। यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 146 अरब डॉलर है और वह दुनिया में 60वें स्थान पर है जबकि चाइना मोबाइल 143 अरब डॉलर के साथ 61वें और मैकडोनाल्ड्स 141 अरब डॉलर के साथ 62वें स्थान पर है।


अंबानी हाल में दुनिया के सबसे अमीर 10 अमीर लोगों की सूची में शामिल हुए थे। उनकी कुल संपत्ति 64.5 अरब डॉलर है। कुछ माह पहले कंपनी के शेयरों में आई गिरावट से अंबानी से एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का तमगा छिन गया था और अलीबाबा के जैक मा उनसे आगे निकल गए थे। रिलायंस के शेयरों के दाम इस वर्ष 23 मार्च की तुलना में दोगुने हो चुके हैं। रिलायंस का बाजार पूंजीकरण महज 40 माह में चार लाख करोड़ से 11 लाख करोड़ रुपये के ऊपर पहुंच गया और वह देश की यह श्रेय हासिल करने वाली पहली कंपनी है। रिलायंस का शेयर फिलहाल रिकार्ड ऊंचाई पर है।


पहाड़ व मैदान में बरसात का कहर

मोटाहल्दू। विगत दिनों से पहाड़ व मैदानी क्षेत्र में रुक रुक कर हो रही बरसात ने अब कहर बरपाना शुरू कर दिया है । बरसात से गौला नदी उफान पर आ गई है। आज सुबह गौला खनन निकासी गेट गोरापडाव में खनन कार्य को गई गाड़ियां पानी के तेज बहाव में आकर बह गई।प्राप्त जानकारी के अनुसार हर रोज की भांति गौला नदी में खनन कार्य को जाने वाली गाड़ियां आज भी गई थीं। अचानक गौला नदी का जलस्तर बढ़ जाने से आधा दर्जन गाड़ियां पानी के तेज बहाव की चपेट में आ गई। इस दौरान 2 डम्फर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए है। कई गाड़ियों को वाहन स्वामियों व चालकों ने तत्परता दिखाते हुए नदी के किनारे सुरक्षित स्थान पर रोक दिया है। उक्त घटनाक्रम की सूचना पर डीएलएम मौके पर पहुंच चुके हैं, वाहन स्वामियों में अफरा तफरी मची हुई है।


कांग्रेस के कारण हजारों एकड़ जमीन गवाई

नई दिल्ली। भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर सत्ता पक्ष और कांग्रेस में घमासान जारी है। दोनो ही पार्टियों की तरफ से आरोप-प्रत्यारोप जारी है। कांग्रेस के आरोपों का जबाव देते हुये भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सीधे-सीधे कांग्रेस को कटघरे में खड़े करने की कोशिश की है।


भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ट्वीट कर कांग्रेस पार्टी पर बड़ा आरोप लगाया और कहा कि एक शाही परिवार और उनके चाटूकार दरबारियों की दुर्गति की वजह से हम अपनी हजारों एकड़ जमीन गंवा चुके है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस शाही परिवार और उनके चाटुकार दरबारी चीन के मुद्दे पर गलत बयानी कर रहे हैं। हाल ही में हुए सर्वदलीय बैठक की ओर इशारा करते हुये नड्डा ने कहा कि बैठक में स्वस्थ और खुलकर चर्चा हुई । सभी विपक्षी दलों के नेताओ ने बहुमूल्य सुझाव दिया। बैठक में सरकार को इस मसले पर समुचित करवाई करने का अधिकार भी दिया गया। लेकिन बैठक में एक परिवार की अलग राय थी। नड्डा ने पूछा कि क्या आप अनुमान लगा सकते है कि ऐसा क्यों था।


नड्डा ने व्यंग कसते हुये कहा कि सत्ता से बेदखल और जनता द्वारा रिजेक्ट की गयी एक पार्टी पूरे विपक्षी दलों की बराबरी नही कर सकता। उन्होंने कहा कि एक परिवार का हित देश का हित नही हो सकता है। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश एकजुट है और सेना के साथ खड़ी है। यह समय एकता और ²ढ़ता दिखाने का है।


नड्डा ने आरोप लगाया कि एक परिवार की दुर्गति की वजह से हम हजारों किलोमीटर अपनी भूमि खो चुके हैं। सियाचिन ग्लेशियर लगभग गंवा चुके है। शायद यही वजह है कि जनता ने उस पार्टी को नकार दिया है। नड्डा ने आज कई ट्वीट कर कांग्रेस पर जोरदार प्रहार किये। उन्होंने लिखा ,” एक नकार दिया वंश पूरे विपक्ष के बराबर नहीं है। एक वंश का हित देश का हित नहीं हैं। आज, देश एकजुट है और हमारे सशस्त्र बलों का समर्थन कर रहा है। यह एकता और एकजुटता का समय है।”


24 घंटे में 15968 नए संक्रमित मिलें

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलाें में लगातार वृद्धि के बीच पिछले 24 घंटों में 15,968 नये मरीज सामने आने के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 4.56 लाख के पार हो गया तथा अब तक इससे 14,476 लोगों की मौत हो गयी है।


केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस के संक्रमण के 15,968 नये मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,56,183 हो गयी है। पिछले 24 घंटों के दौरान इस बीमारी से 465 लोगों की मौत के साथ कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 14,476 हो गयी है। दूसरी तरफ इस बीमारी से निजात पाने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है और इसी अवधि में 10,495 रोगी ठीक हुए हैं , जिन्हें मिलाकर अब तक कुल 2,58,685 मरीज रोगमुक्त हो चुके हैं। देश में अभी कोरोना संक्रमण के 1,83,022 सक्रिय मामले हैं।


कोरोना की महामारी से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के संंक्रमण के 3214 मामले दर्ज किये गये और 248 लोगों की मौत हुई। इसके साथ ही राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,39,010 और मृतकों की संख्या बढ़कर 6531 हो गयी है। इस दौरान राज्य में 1925 लोग रोगमुक्त हुए हैं जिसके बाद स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 69,631 हो गयी है।


रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा तेल का मूल्य

नई दिल्ली। तेल विपणन कंपनियों ने डीजल की कीमत में बुधवार को लगातार 18वें दिन बढ़ोतरी की जबकि 17 दिन बाद पेट्रोल के दाम स्थिर रहे जिससे राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में डीजल, पेट्रोल से महँगा हो गया है। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 79.76 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर रही जो 28 अक्टूबर 2018 के बाद का उच्चतम स्तर है।


वहीं, डीजल का मूल्य 48 पैसे बढ़कर 79.88 रुपये प्रति लीटर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच गया। करीब 12 सप्ताह्र तक तेल विपणन कंपनियों की ओर से पेट्रोल-डीजल की मूल कीमतों में बदलाव नहीं किया गया था जबकि उस दौरान अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में गिरावट जारी थी। दिल्ली और मुंबई में हालाँकि राज्य सरकारों द्वारा वैट बढ़ाने से दाम बढ़े थे। तेल विपणन कंपनियों ने 07 जून से कीमतों की समीक्षा दुबारा शुरू की। पिछले 17 दिन में दिल्ली में पेट्रोल 8.50 रुपये यानी 11.93 प्रतिशत महँगा हुआ। लगातार 18 दिन में डीजल की कीमत 10.49 रुपये यानी 15.12 प्रतिशत बढ़ाई गई है। कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में भी आज पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ। पेट्रोल की कीमत कोलकाता में 81.45 रुपये, मुंबई में 86.54 रुपये और चेन्नई में 83.04 रुपये प्रति लीटर रही। डीजल कोलकाता में 43 पैसे महँगा होकर 75.06 रुपये, मुंबई में 46 पैसे महँगा होकर 78.22 रुपये और चेन्नई में 39 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 77.17 रुपये प्रति लीटर बिका।


बैंक कर्मी से मारपीट वित्त मंत्री सख्त

नई दिल्ली। गुजरात के सूरत में महिला बैंक कर्मी के मारपीट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। एक महिला बैंक कर्मचारी के ऊपर बैंक परिसर में हमला के मामले में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पुलिस प्रमुख से त्वरित कार्रवाई करने को कहा। निर्मला सीतारमण ने जिले के कलेक्टर को मामले में तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। महिला पर हाथ उठाने वाला आरोपी सूरत सिटी पुलिस का सिपाही है। जानकारी के अनुसार, यह घटना मंगलवार को हुई। मंगलवार देर रात आरोपी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है। बुधवार को वित्त मंत्री ने बताया कि उन्होंने कर्मचारियों की सुरक्षा और इस मामले में समय पर कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए पुलिस आयुक्त सहित संबंधित अधिकारियों से बात की है। पुलिस के अनुसार इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है और आगे की जांच चल रही है।


केनरा बैंक (तत्कालीन सिंडिकेट बैंक) में एक महिला बैंक कर्मचारी पर सोमवार शाम गुजरात के सूरत में उसकी सरोली शाखा में हमला किया गया। घटना के बाद, अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ ने मंगलवार को सीतारमण को एक पत्र लिखा, जिसमें बैंक कर्मचारियों को ऐसी स्थिति से बचाने की अपील की गई। बता दें महिला बैंककर्मी के साथ बैंक परिसर में मारपीट से जुड़ा सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि महिला पर हाथ उठाने वाला आरोपी सूरत सिटी पुलिस का सिपाही है। बुधवार को वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि मेरे कार्यालय ने पुलिस आयुक्त श्री ब्रह्म भट्ट (आईपीएस)से बात की। उन्होंने हमें आश्वासन दिया है कि वह स्वयं बैंक की साखा में जाएंगे और कर्मचारियों को उनकी सुरक्षा का आश्वासन देंगे। साथ ही उन्होंने आश्वासन दिया कि आरोपी कांस्टेबल को तत्काल निलंबित कर दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक सूरत के कैनरा बैंक के सरोली ब्रांच में पासबुक प्रिंटिंग को लेकर पुलिसकर्मी का कथित तौर पर महिला बैंककर्मी से विवाद हो गया। इसके बाद पुलिसकर्मी काउंटर का दरवाजा खोलकर अंदर चला गया और महिलाकर्मी को पहले तो थप्पड़ मारा और फिर उसे गिरा दिया। मंगलवार को घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो गया और #ShameSuratPolice ट्रेंड करने लगा।


रिटायर्ड डीएसपी ने कर ली आत्महत्या

पटना। बिहार राज्य के एक रिटायर्ड उप पुलिस अधीक्षक और पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट कृष्णा चंद्रा ने पटना स्थित अपने आवास पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। 67 वर्षीय कृष्णा चन्द्रा ने मौत से पहले दो पन्नो का सुसाइड नोट भी लिखा है। इसमें उन्होंने लंबे वक्त से जूझ रहे अवसाद और पड़ोसी की हरकतों को बड़ी वजह बताई है। पुलिस ने शव और नोट को कब्जे में ले लिया है।


बता दे कि बिहार पुलिस में पूर्व डीएसपी रहे कृष्णा चंद्रा एनकाउंटर स्पेशलिस्ट रहे है। उन्होंने 40 से ज्यादा एनकाउंटर को अंजाम दिया था। वे लंबे समय से डिप्रेशन में थे। इसके अलावा पड़ोसी के साथ उनका विवाद भी चल रहा था। सुसाइड नोट में उन्होंने परिवार को बहुत से अन्य बातें भी कही है जिसका खुलासा पुलिस ने नही किया है।


बीएसएफ के 15 जवान कोरोना संक्रमित

भिलाई/कांकेर। छत्तीसगढ़ के नक्सल मोर्चे में पदस्थ बीएसएफ के 15 जवान कोरोना संक्रमित मिलने से हड़कंप मच गया। सभी जवान कांकेर जिले के अंतागढ़ और बांदे में पदस्थ हैं। मिली जानकारी के अनुसार इन सभी जवानों की रिपोर्ट मंगलवार देर शाम जारी हुई है। जिसके बाद बीएसएफ के भिलाई स्थित फ्रंटीयर ऑफिस में हड़कंप मच गया है। कांकेर के अलावा छुट्टी से लौटे नौ जवान भिलाई में भी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। जिनका उपचार कोविड अस्पताल में चल रहा है।


कांकेर सीएमएचओ डॉ. उइके ने 15 बीएसएफ जवानों के कोरोना संक्रमित पाए जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि इन सभी जवानों को उपचार के लिए कोविड अस्पताल शिफ्ट किया जा रहा है। संक्रमित जवानों में पांच अंतागढ़ और दस जवान बांदे में पदस्थ हैं। वहीं जवानों के संपर्क में आए अन्य जवानों को भी क्वारंटाइन किया जा रहा है।


सेप्टिक टैंक की सफाई करते 4 की मौत

सैप्टिक टैंक की सफाई करते जहरीली गैस की चपेट में आने से चार की मौत 


बिलासपुर। मुंगेली जिले के ग्राम मर्राकोना में मंगलवार को सैप्टिक टैंक की सफाई के दौरान नगर पालिका के एक सफाई कर्मचारी समेत चार लोगों की जहरीली गैस की चपेट में आने से मौत हो गई। टैंक से सभी का शव निकाल लिया गया है। घटना की सूचना के बाद पुलिस समेत प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया है।


हादसा शाम पांच बजे के करीब हुआ है। ग्राम मर्राकोना निवासी अखिलेश्वर कौशिक पिता लखन कुमार के पुत्र की शादी 29 जून को होनी है। इससे पहले उन्होंने सैप्टिक टैंक की सफाई के लिए नगर पालिका से सफाई कर्मचारी सुभाष डागौर पिता मूलचंद डागौर बुलाया था। शाम को वह टंकी की सफाई के लिए उतरा। काफी देर तक उसके बाहर नहीं निकलने पर मकान मालिक अखिलेश्वर कौशिक टंकी में उतर गए। दोनों का कुछ पता नहीं चलने पर उनकी तलाश करने ग्रामीण गौरीशंकर कौशिक पिता मनसाराम(28 वर्ष) व रामखिलावन कौशिक पिता मनसाराम(45 वर्ष) भी टंकी में उतर गए। सभी के टंकी से बाहर नहीं आने पर हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने टंकी को तोड़वाकर चारों शव को बाहर निकलवाया। सभी शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया गया है। बताया जा रहा है जहरीली गैस की चपेट में आने से चारों की मौत हुई है। बहरहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।


प्राधिकृत प्रकाशन विवरण

यूनिवर्सल एक्सप्रेस    (हिंदी-दैनिक)


  जून 25, 2020, RNI.No.UPHIN/2014/57254


1. अंक-317 (साल-01)
2. बृहस्पतिवार, जूूून 25, 2020
3. शक-1943, अषाढ़, शुक्ल-पक्ष, तिथि- पंचमी, विक्रमी संवत 2077।


4. सूर्योदय प्रातः 05:31,सूर्यास्त 07:28।


5. न्‍यूनतम तापमान 26+ डी.सै.,अधिकतम-41+ डी.सै.।


6.समाचार-पत्र में प्रकाशित समाचारों से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहीं है। सभी विवादों का न्‍याय क्षेत्र, गाजियाबाद न्यायालय होगा। सभी पद अवैतनिक है।
7. स्वामी, प्रकाशक, संपादक राधेश्याम के द्वारा (डिजीटल सस्‍ंकरण) प्रकाशित। प्रकाशित समाचार, विज्ञापन एवं लेखोंं से संपादक का सहमत होना आवश्यक नहींं है।


8.संपादकीय कार्यालय- 263 सरस्वती विहार, लोनी, गाजियाबाद उ.प्र.-201102।


9.संपर्क एवं व्यावसायिक कार्यालय-डी-60,100 फुटा रोड बलराम नगर, लोनी,गाजियाबाद उ.प्र.,201102


https://universalexpress.page/
email:universalexpress.editor@gmail.com
संपर्क सूत्र :-935030275


(सर्वाधिकार सुरक्षित)


टीकाकरण को लेकर प्रशिक्षित करने के निर्देश जारी

पंकज कपूर          नैनीताल। डॉ. बीसी कर्नाटक ने जनपद के समस्त पशु चिकित्साधिकारियों को ब्लॉक स्तर पर अपने अधीनस्थ स्टाफ को टीकाकरण को लेकर प...